चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो बीएफ वीडियो चाहिए

तस्वीर का शीर्षक ,

ಗುಜರಾತಿ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ: चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड, अगले दिन जब मैं फ्रेश होकर अपने रूम में बैठी यही सब सोच रही थी, तभी मम्मी जी मुझे आवाज देते हुए मेरे रूम में ही आ गईं- क्या हुआ कल्पना? तू मुझसे दूर क्यों भाग रही है?मैं- न … नहीं मम्मी जी, मैं आपसे कहा भाग रही हूँ … वो तो काम में बिजी थी, बस इस वजह से बात करने का टाइम नहीं मिला.

मराठी बीएफ सेक्स मूवी

फिर आंटी ने मुझे अपने ऊपर से हटा दिया और अपने कपड़े सही करके बाथरूम में चली गईं. बीएफ पिक्चर सेक्सी हिंदी ब्लूलेकिन मैं ये तो भूल ही गई थी कि पुराने घर में कुछ रिनोवेशन (मरम्मत) का काम चल रहा है और मेरे पति अपने दोस्तों के साथ बाहर गए हुए हैं.

फिर मैंने उसकी पेंटी पर हाथ फिराना शुरू कर दिया तो उसने मेरा हाथ फिर से हटा दिया. बीएफ सेक्सी 16 सालउसके होंठ खुले थे, जिनमें से अब हल्की कामुक सिसकारियों की आवाज सुनाई पड़ रही थी.

उसका मूत मेरे सर में बालों से होते हुए माथे में … और माथे से होते हुए नाक में … और नाक से मुँह में जाने लगा.चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड: वैसे मुझे डर था कि कैसे बहन को गर्लफ्रेंड बता कर जाऊंगा साथ में?लेकिन वो न तो मेरे शहर का था और न बहुत ख़ास दोस्त.

जैसे ही वह कपड़े पहनने लगी तो मैंने सोनू से कहा- सोनू, अभी कपड़े मत पहनो, तुम मेरा तो काम पूरा कर दो.लड़की का दिया हुआ पहला चुम्बन और फिर उसके हाथ से लंड पर पहला स्पर्श! मेरा दिल सरपट दौड़ने लगा.

पंजाबी बीएफ सेक्सी पंजाबी सेक्सी - चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड

मैंने उनको अपने लंड की सवारी करवाई, जिससे उनकी कमर की मालिश भी होती रहे और चूत चुदाई भी होती रहे.फिर जब वह मेरे ऊपर से उठी तो मैंने उसको अपनी गोद में उठाया और उसके बेडरूम में ले जाकर उसके बेड पर पटक दिया.

तब मैंने ख़ुद ही अपने लिंग को पकड़ा और सारा की चूत में डालने की कोशिश की. चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड एक दिन मैं शाम को ऑफिस से घर जा रहा था, तब मुझे भाभी बस स्टॉप पर दिख गईं.

थोड़ी देर बाद मेरा लंड फिर खड़ा हो गया; मैंने चंचल से कहा- तुझको चोदने का मन फिर से हो रहा है.

चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड?

अब मैं उसको उसी जोश के साथ चोद रहा था; उसके बूब्स हिल रहे थे झटकों के साथ साथ! आह आह आह की भी आवाजें आ रही थी।बहुत शानदार मूड था कमरे का भी. फिर मैंने उसकी चूत की चुदाई धीरे से शुरू की और कुछ ही देर में वो मस्ती के साथ मेरी चुदाई में खोने लगी. मैडम ने सिगरेट का कश खींचा और मेरी तरफ सिगरेट बढ़ाते हुए मम्मों की नुमाइश की और कहा- इनको देखने से कुछ नशा बढ़ा … मजा आया?मैं हंस दिया और बस सिगरेट का कश खींच कर न जाने कैसे उनकी चूचियों पर धुंआ छोड़ दिया.

मैंने सोचा था कि इसकी चूत में दर्द जैसा कुछ होगा, लेकिन मेरा पूरा लंड सरसराता हुआ चूत की जड़ तक पहुंच गया. आह्ह्ह …फिर मैंने जांघों के बीच में चाटा और वंश को बोला- बेटा गुड मॉर्निंग!यह कहते ही मैंने उसके लंड को गप से पूरा अन्दर ले लिया और पूरे मन से उसके लंड को ऐसे चूसने लगी, जैसे लॉलीपॉप चूसते हैं. अब आगे:अगले हफ्ते एक शनिवार को कुछ यूं हुआ कि मॉर्निंग को मेरा कैंटीन पे जाना हुआ और दीदी का उसी वक्त वहां पे आना हुआ.

जब मैंने पूछा कि मैं कब आ सकता हूँ?तो वह बोली- जब आप चाहो, आप बेशक कल से ही आ जाओ, हमें कोई ऐतराज़ नहीं है. मैं- ये बता मजा आया कि नहीं?वो- मजा तो बहुत आया, पर अब जलन हो रही है, शायद मेरी चूत छिल गयी है. खड़े-खड़े चूचीपान करते हुए प्रशांत ने अगली तैयारी में एक झटके से नीना को लंगड़ी मारकर बेड में डाल दिया और साथ ही पैंटी भी निकाल फेंका.

दस बीस धक्के के बाद भाभी भी अकड़न के साथ झड़ गईं और मैं भी 8-10 धक्कों में भाभी की चूत में झड़ गया. एक ही बार में पैग खाली होते देखा, तो मीरा मैडम ने बैक टू बैक दो पैग और बना दिए.

फिर हम दोनों ने मिल कर एक प्लान बनाया कि आज मैं ऑफिस नहीं जाऊँगी और यहीं कहीं छुप कर रहूंगी और जब वो आकर आरती को पूरी नंगी करके अपना खड़ा लंड उस की चुत में डालने लग़े तो मैं अंदर आ जाऊँगी.

कैसे हुआ ये ऐसा?मैंने कहा- तुमको याद कर करके मुठ मारने से ऐसा हो गया है.

मैंने उसे बताया, तो वो बोली- कोई बात नहीं, वो अपने पालने में सो रहा है. जिस वजह से उसके स्तन मेरे मुँह पर कभी दबाव बनाते, तो कभी दबाव हटाते. फिर धीरे-धीरे मेरे सिर को पकड़ कर अपनी जांघों के बीच ऐसे खींचा कि मेरे होंठ उनकी बुर से जा लगे.

मैं कुछ समझी नहीं, तो मैंने अंकल से पूछा- क्यों अंकल, क्या करना है?आज का भाग अभी तक पूरा नहीं हुआ, उसे तो पूरा करते हैं. उसने अपने होंठ मेरे होंठों के नजदीक लाकर अपनी जीभ अपने होंठों के बाहर निकाली. इंदु मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी जैसे कोई छोटा बच्चा लोलिपोप चूसता है.

दस मिनट हम दोनों उठे और एक दूसरे की बांहों में बाहें डाल के बाथरूम से बाहर आ गए.

एक ही बार में पैग खाली होते देखा, तो मीरा मैडम ने बैक टू बैक दो पैग और बना दिए. वैसे मेरे मन में अपनी पहली चुदाई को लेकर उत्सुकता था, मेरी उत्तेजना भी बढ़ चुकी थी, फिर भी बड़े लंड को देख कर मेरे मन में दर्द का भी उत्पन्न हो गया था. भाभी मुझे आप अपनी चूत की छतरछांव में रख लो।इतना कहकर मैं मुँह खोल कर नीचे लेट गया।भाभी ऊकड़ू मेरे मुँह पर चूत टिका कर बैठ गयी और मूतने लगी, साथ ही गाली देते हुए बोलने लगी- ले कर ले अपने मन की मुराद पूरी साले गटर के कीड़े.

फिर थोड़ी देर मैंने उसकी चूत चाटने के बाद उसकी चूत में एक उंगली डाली, तो वो जगह बनाते हुई अन्दर घुस गई. फिर मेरा भी कण्ट्रोल छूट गया और मैं धीरे से उसकी गर्दन के पास अपना मुँह ले आया. मेरी उत्तेजना और अधिक बढ़ने लगी और मैं पूरी तरह से उसका सहयोग देने लगी.

खैर मैं नहाकर तौलिया कमर पे लपेट के बाहर निकला और अपने रूम में गया तो वो बिलकुल सीधी स्टेचू बन के बैठी हुई थी और मुझे देखते ही अपनी आंखें अपने हाथो से छुपा के बोली- कपड़े पहन के आओ.

इसी के चलते मैंने अपनी लुल्ली निकाल कर दिखा दी और इसके बाद बड़ी ही उम्मीद के साथ रवि मामा से अपना लंड खोलकर दिखाने को कहा. मैंने लंड से चूत के छेद का रास्ता खोजा, तो आंटी ने खुद से मेरा लंड पकड़ कर मेरा लंड अपनी चूत पर लगा दिया.

चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड उसके बाद जब भी हम दोनों को कभी मौका मिला हमने एक दूसरे की सेक्स की प्यास को बुझाया. मुझे सेक्स का पूरा पता था, बहुत से सेक्स वीडियो देखे थे, लंड भी हिलाना जानता था, मेरा लंड तब शायद 4-5 इंच का ही रहा होगा.

चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड उन्होंने ब्लैक कलर की शिफोन की साड़ी पहनी थी और काले रंग का गहरे गले वाला ब्लाउज, उसमें से उनके चूचों की बीच की लाइन साफ दिखाई दे रही थी. उससे चला नहीं जा रहा था, तो मैं उसे अपनी गोद में उठाकर बाथरूम ले गया.

फिर विनय जीजू के लन्ड से सफेद रस निकलकर दीदी के मुंह पर गिरा और विनय जीजू अलग हट गये.

निधि की सेक्सी

कुछ बेसब्री के इंतजार के बाद वो दिन भी आ गया, जिसका मैं बड़ी बेसब्री से इंतजार कर रहा था. इसलिए आपकी इस ख्वाहिश को पूरा करने के लिए मैं आपको आज एक ऐसी ही हिन्दी फिल्मों की हिरोइन की कहानी बताने जा रहा हूँ. मैं और आरती दोनों ही अपने अपने पति की नज़रों में सती सावित्री बनी हुई हैं.

मैं कुछ बोलती, उससे पहले ही उसने अपना मुँह मेरे मुँह पर रखकर मुझे मुँह खोलने भी नहीं दिया. मैंने रिप्लाई में पूछा- तुम्हारा लैपटॉप का काम हो गया या और करना बाकी है?उसने बताया कि लैपटॉप का काम तो हो गया लेकिन उसे एक कॉन्सेप्ट समझ नहीं आ रहा है. मामी भी अन्दर आ गईं, वो मुझे नहलाने लगीं, मैंने मना किया पर वह नहीं मानी.

मैं उसका लंड अपने हाथों में लेकर सहलाने लगा, फिर उसका लंड अपने लंड से लगा कर उसे पूरी तरह लिपट गया.

इस बार सपने में भाभी को पकड़ कर ऐसे पकड़ा, किस किया और फिर उनको सपने में चाटने लगा, बोलने लगा- भाभी आप ऐसी हो, वैसी हो. तीन बार लगातार चुदाई के बाद मैं भी थक गया था और वह भी काफी थकी हुई लग रही थी. फिर मैंने उसकी चूत की चुदाई तेज कर दी और वह उछल-उछल कर मेरा साथ देने लगी.

मेरी माँ भी नीचे से अपनी गांड को उछाल-उछालकर मेरे लंड से अपनी चूत को चुदवा रही थी. हमारे बंगलो में एक गेस्ट क्वार्टर में उनके रहने की व्यवस्था की गई है. दोस्तो, लंड चुसाने में जो मजा है, उसे मैं लफ्जों में बयान नहीं कर सकता.

मैंने मेरी दीदी के गले में हार डाल दिया और दीदी ने मेरे गले में हार पहना दिया. आकर उसने अपना लॅपटॉप खोला और एक पिक्चर दिखाने लगा, उसमें चुदाई का पूरा नंगा डॅन्स था.

खैर उसने शाम में मुझे अपने फ्लैट में बुलाया और मैंने भी उसको तड़पाने की सोची. तेज झटको के साथ मैंने इंदु भाभी में मुख में अपना गर्म गर्म वीर्य उम्म्ह… अहह… हय… याह… करते हुए छोड़ दिया. जैसा कि मैंने पिछले भाग में बताया था कि वहां के लोगों के किराए को अपनी आमदनी का साधन बना रखा है तो यह बिल्डिंग भी वैसी ही बनाई गई थी.

इसके बाद के स्टेज पर नीना अपनी चूचियों की घाटी में लंड को समेटकर अप-डाउन करने लगी, जो प्रशांत के लिए सेक्सी फोरप्ले का अद्भुत नजारा था.

कुछ देर बाद उनको अच्छा लगने लगा तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और पूरे लंड को अन्दर बाहर करने लगा. मेरे ससुर जी को एक अच्छी समझदार बहू चाहिए थी, इसलिए उन्होंने बड़े घराने की बिगड़ैल लड़कियों से बेहतर मुझे समझा. मैं तो हमेशा ही तैयार रहता था कि किसी तरह कुछ जुगाड़ हो और मुझे रवि मामा का लंड देखने को मिले.

मैं घबरा गया, मैंने मना कर दिया, फिर भी वो बहुत ही चुड़क्कड़ स्वभाव की थी, भाभी ने मेरा लंड चूसना चालू कर दिया, मैं नहीं नहीं करता रहा मैं किसी और के साथ सेक्स नहीं करना चाहता था. हम दोनों पूरे पसीने में भीगे हुए थे लेकिन हमारी वासना अभी पूरी नहीं हुई थी.

अगले दिन जब मैं फ्रेश होकर अपने रूम में बैठी यही सब सोच रही थी, तभी मम्मी जी मुझे आवाज देते हुए मेरे रूम में ही आ गईं- क्या हुआ कल्पना? तू मुझसे दूर क्यों भाग रही है?मैं- न … नहीं मम्मी जी, मैं आपसे कहा भाग रही हूँ … वो तो काम में बिजी थी, बस इस वजह से बात करने का टाइम नहीं मिला. उसने तो पता नहीं उसके कितने मजे लिए होंगे मगर हम और आप तो कहानी के जरिए उसके पूरे मजे ले सकते हैं. बनाऊँ?”जी … तलाशी ले लीजिये … पर प्लीज़ … केस मत बनाना!” मैंने याचना सी करते हुए कहा।वो तो मैं तलाशी लेने के बाद सोचूँगा.

ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियो हिंदी मूवी

मैं भी बेशरम होकर बोला- तुझे तो मैं जिस दिन यहाँ आया था उसी दिन से चोदने की फिराक में था पर रिश्तों का लिहाज कर रहा था.

वो खुश हो गई क्योंकि वो घर से कपड़ों के लिए अपनी माँ से 500 रुपए मांग कर लाई थी और वो भी अंडरगारमेंट्स के लिए लाई थी. तभी मामा ने मुझे बहुत जोर से अपनी बांहों में कसके दीवार में पीछे चिपका दिया और अपने हाथ से अपने लंड को पकड़ कर मुझसे बोले- बंध्या तू अब कुछ मत कहना … मेरे पास कोई कंडोम भी नहीं है … पर अब बर्दाश्त नहीं हो रहा … मैं क्या करूं. अब मेरे वंश ने अपने लंड मेरी चूत में डाल कर मुझे चोदना चालू कर दिया.

मैंने कहा- तुम क्या मुझे पागल समझती हो जो इस तरह की बात किसी को बताऊँगी? मैं मिल बाँट कर खाने वाली हूँ. मैंने उसके मम्मों को कसके दबाया और उससे पूछा- आज से पहले तूने किसी का लंड अपनी चुत में लिया है?तो उसने मना कर दिया. सलोनी सेक्सी बीएफदीदी की ससुराल तो पास में ही थी और मेरा लगाव तो था ही दीदी और विनय जीजू से तो मैं अक्सर दीदी के घर जाती रहती थी।धीरे-धीरे एक साल बीत गया.

लेकिन मैं उसे बहुत उत्तेजित करना चाहता था इसलिए मैं अब उसके पेट होते हुए उसके बड़े बड़े दोनों कबूतरों को मसाज देने लगा. अब मैंने भाभी की टांगें खोलीं और उसकी चूत देखी, भाभी की चूत पर एक भी बाल नहीं था, शायद नहाने से थोड़ी देर पहले ही भाभी ने चूत शेव की थी.

मेरे लंड के धक्कों के साथ उसकी आवाज़ें और ज्यादा तेज होती जा रही थीं. मैं उसके नंगे बदन को देखना चाहता था, मैंने उसके और अपने सारे कपड़े उतार दिए, फिर मैंने उसकी नंगी टाईट चूत धीरे धीरे से सहलाई. मैं समझ गया कि ये मुझे ऐसे तड़पा के और मेरे खड़े लंड की हालत देख के (जब मैं उसे सैट कर रहा था) बहुत खुश हुई हो.

और वह झांसी से बाहर का रहने वाला है, तो वह अपना काम करके वापिस चला जाएगा. मैंने अपनी फुल स्पीड कर दिया, जिससे मिसेज पाटिल की आवाजें तेज़ हो गई थीं. वो बोली- तुम सिगरेट भी पीते हो?तो मैंने कहा- मैं तो और भी बहुत कुछ पीता हूँ.

मैंने ये सब मम्मी को बताया, तो मम्मी बोलीं- ठीक है, रह आना … कोई दिक्कत नहीं.

वो समझ गए और मुझे बेड के किनारे पे लेकर मेरी टांगों को और खोलकर जोरदार धक्के लगाने लगे।मैं आज दुनिया के सबसे हसीन मज़े को महसूस कर रही थी और अपने प्यारे पापा से चुद रही थी।लगभग 20 मिनट तक मेरी लगातार चुदाई करने के बाद पापा मेरी चुत में ही झड़ गए और बेड पर लेटकर मुझे अपने ऊपर लिटा लिया और मेरी पीठ और चूतड़ों को सहलाने लगे. इससे उसको भी जोश चढ़ना शुरू हो गया और फिर नीचे से लंड को मेरी चूत में घुसाने की कोशिश करने लगा.

रिया अभी 25 साल की है और उसकी फिगर 32-30-38 की है उसकी 38 इंच की गांड बड़ी ही मारू है, हर किसी की निगाह उसकी इस फाड़ू गांड पर ही ठहर जाती थी. अब्बू ने अम्मी को, भाई ने भाभी को और बैडमैन ने मेरे को!अब्बू ने अम्मी के कपड़े सीधे उतार दिए और उनकी ब्रा में हाथ डाल कर उनके चूचे दबाने लगे और उनके गले में और कान में किस करने लगे. मैं धीरे से बाहर लंड निकालता और फिर पूरी ताकत के साथ अन्दर पेल देता.

वहां भैया ने तो जम कर पी, लेकिन मैं बिल्कुल लिमिट में ही पीता रहा क्योंकि मेरे दिमाग में एक ही बात चल रही थी कि घर जा कर भाभी के साथ होली के बहाने मस्ती करनी है. कुछ देर बाद माला ने विजय का लौड़ा चाट कर साफ किया और लंड को दुबारा शॉट लगाने को खड़ा कर दिया. जब मेरी नजर उसकी लुंगी पर पड़ी तो उसका लिंग मुझे अलग से दिखाई देने लग गया था.

चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड इसके बाद मैंने उसकी कुर्ती और ब्रा निकाल दिए और उसकी छोटी छोटी चूचियों को चूसने लगा. बाहर आकर कहने लगे कि सपना तुम भी अपने आप को बाथरूम में जाकर साफ कर लो.

पोलैंड की सेक्सी वीडियो

धीरे धीरे वो मेरी तरफ बढ़ने लगा और बड़ी ही उत्सुकता से मुझे आगे से पीछे से घूर घूर निहारने लगा. मैंने अपना वीर्य उसके मुँह में छोड़ दिया और उसने भी मेरा पूरा वीर्य पी लिया. मैं उस बिना आर्म की कुर्सी पर बैठ गया और भाभी को लंड के ऊपर बैठने के लिए कहा.

मगर जब उसने हाई स्कूल पास कर लिया तो वो आगे की पढ़ाई के लिए हमारे यहाँ ही आकर रहने लग गया क्योंकि कॉलेज हमारे घर से बहुत ही नज़दीक था और उसके घर से बहुत दूर. एक दिन आफिस में कुछ ज्यादा काम की वजह से हम दोनों को घर जाने में देर हो गई. बीएफ सेक्स फुल सेक्सपर वो चुदे बिन मानने वाली नहीं थी, वो पूरी नंगी हो गयी थी मुझे भी पूरा नंगा कर दिया था भाभी ने.

जब मेरी आहें निकलने लगी तो प्रेम और आदिल ने एक साथ मेरे मुंह में लंड डाल दिए.

दोस्तो, इस कहानी में यहीं तक!अब आपको लोगों से सवाल पूछना चाहता हूँ कि क्या मुझे अपनी बिटिया को चोदना चाहिए. मैंने उसकी जीन्स के अंदर ही उसकी गांड को सहलाना शुरू किया और वह मज़े से मेरे लंड को चूस रही थी.

इसका मस्त चुदाई की कहानी का अगला भाग मैं आपको बाद में बताऊंगा कि कैसे मेरी पत्नी आशा ने मेरे दोस्त का लंड अपनी चूत और गांड में लिया. मेरी इस हरकत पर वह कामुक होकर अह्ह्ह ह्ह्ह अह्ह ह्ह्ह्ह हाह्हाह अहहः ऊउम्म जैसी आवाज़ें करने लगी. कोई भी पुरुष यदि आपसे अपनी बीवी को चुदवाना चाहता है, तो इसका मतलब है कि उसे आप पर यकीन है.

उन्होंने भाभी के मम्मों को लाल कर दिया था और बुरी तरह से मम्मों को मसल रहे थे.

इससे उसको भी जोश चढ़ना शुरू हो गया और फिर नीचे से लंड को मेरी चूत में घुसाने की कोशिश करने लगा. मैंने उसकी दोनों टांगें फैला के उसके घुटनों को उसकी चुचियों पे लगा दिया, तो उसकी छोटी सी बुर ने अपना छोटा सा मुँह खोल दिया. मैं अपने लब उसके लबों पर रख कर किस्सिंग करने लगा और स्पीड के साथ उसको चोदने लगा.

सेक्सी बीएफ यूट्यूब परमैंने हां कहा और हम दोनों एक चादर में आ गए और ऊपर से एक और चादर डाल ली. मैंने फिर से तीन-चार बार बेल बजाई मगर दरवाजा कोई खोल ही नहीं रहा था.

ओपन सेक्सी पिक्चर भेजो

बता मुझे अपनी चेली बनाएगी ना?उसने हंस कर कहा- ठीक है, तू आज से मेरी चेली बन गई. अनन्त ने अपने हाथों को पीछे लाकर दीदी के चूचों पर टिका लिया और उनको पकड़ने के साथ उनको दबाना और मसलना भी शुरू कर दिया. ममता ने उतावलेपन से पूछा- उसके बाद क्या हुआ?सुधा- अरे बता तो रही हूँ.

मेरा लंड मेरे अंडरवियर में खड़ा था और ट्रैक पैंट उतरते ही उसने जोर का झटका दिया और मेरे अंडरवियर को उछाल दिया. थोड़ी देर बाद रूपा आई और टेबल पर पड़ी प्लेट को उठा कर किचन में ले गयी. ननकू और मीना की एक बेटी 18 साल की हो चुकी थी और उसकी शादी करने के जुगाड़ में थी.

सच यह था कि उसके पहले वह शादी की रात वाली और आशीष के साथ रंगे हाथों पकड़े जाने वाली बात हो चुकी थी. चूंकि ये मेरा पहला कॉल था, तो मैं थोड़ा एक्साईटेड भी था और थोड़ा नर्वस भी था. उसकी मुस्कराहट के तो क्या कहना; यारों कुल मिलाकर एक नपुंसक भी यदि उसके सामने आ जाए, तो वो भी मर्द बन जाए.

अपने लंड को हाथ में लेकर हिलाते हुए मैंने कहा- खेलो इससे!वो उठी और फिर उसने मुझे होठों पर स्मूच करना शुरू कर दिया. उस वक़्त मुझे तो कुछ समझ में ही नहीं आया कि जो मैंने सुना, क्या वो सच है या मैंने कुछ गलत सुन लिया.

वह तड़पने लगी; उसने मेरे मुंह को अपनी चूत पर दबा लिया और अपनी चूत को मेरे होंठों की ओर धकेलने लगी.

मैंने सोनू के मुंह को अपने हाथ से जोर से दबा कर, एक झटके में सोनू की नई और कुंवारी चूत में अपना 8 इंच का लौड़ा ठोक दिया. हिंदी बीएफ चोदा चोदी हिंदीया तो आप यहीं पर गाँव में कोई काम करो… या फिर बच्चों को और मुझको लेकर कानपुर चलो, सब चल कर तुम्हारे साथ रहेंगे. हॉस्पिटल के बीएफ वीडियोबात एक साल पुरानी है मेरी बीवी और बेटी सर्दियों में छह महीने मेरे साथ रहने के लिए गांव से दिल्ली आए हुए थे. पैंटी उतार कर अपने हाथों में लेकर उल्टी तरफ से मेरी पैंटी को दिखाया कि देख तेरी चुत का रस कितना गिरा है.

ये सारी चीजें प्रीति में थीं, केवल उन्हें निखारे जाने की आवश्यकता थी.

जैसे ही मेरा लंड मामी जी की गांड से बाहर आया … तो मामी जी सीधी हुईं और उन्होंने घूम कर मुझे चूम लिया. उसने भी होंठों पर कटीली मुस्कान लाते हुए फिर कहा- हंस क्यों रहे हो … बताओ न क्या लोगे?मैंने भी कह दिया- जो चाहे पिला दो?वो आंखें झुका कर हंसते हुए ये कहते हुए अन्दर जाने लगी कि मैं चाय लाती हूँ. मेरा लंड देख कर चाची ने भी अपनी नाइटी उतार फेंकी और मेरा लंड चूसने लगीं.

प्लान के मुताबिन ऊषा को पानी का गिलास लेकर अंदर जाना था और चौखट पर पैर लग कर गिरने की एक्टिंग करनी थी. मैं बड़बड़ाने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… सुखबीर जी … बस भी करो अब आ जाओ, वरना मैं झड़ जाऊंगी. दीदी अनन्त के सिर को अपनी जांघों के बीच में दबोचने की नाकाम कोशिश कर रही थी क्योंकि अनन्त ने उसकी जांघों को पकड़ कर अपने मजबूत हाथों से विपरीत दिशाओं में फैला रखा था.

ब्लू सेक्सी फिल्में भेजो

आखिर शक मन में लिए एक रोज अचानक ननकू नौकरी से छुट्टी ले गाँव आ गया. मैं जिस जगह पर काम करता था वहाँ पर मेरी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए बहुत ही कम पैसा मिलता था इसलिए मैंने अपने दोस्त से दोबारा संपर्क किया और उसको अपनी परेशानी के बारे में बताया. उसने पूछा- क्या हुआ?मैंने कहा- मैं तुम्हें घोड़ी की पोजीशन में चोदना चाहता हूँ.

इस बार मैंने सुपारे तक धीरे धीरे लंड को बाहर निकाला और मामी जी के दोनों स्तनों को कसके पकड़ के फिर से एक जोरदार धक्का देकर एक बार में ही पूरा अन्दर तक पेल दिया.

कुछ देर बाद मैंने किताब को पढ़ना शुरू किया तो मुझे ऐसा लग रहा था कि मुझे बुखार चढ़ने लग गया है और मेरे बूब्स जो अभी तक पूरी तरह से विकसित भी नहीं हुए थे, उनमें और बुर में पता नहीं क्या होने लगा.

उसका लंड ज्यादा मोटा तो नहीं था लेकिन संजीव से लगभग 2 इंच ज्यादा लम्बा था. फिर मैं उसकी नाभि पर चूमने लगा और अपने मुंह व दांतों से पहले उसका लोवर नीचे खींचा और पेंटी के ऊपर से ही उसकी कुंवारी चुत पर चुम्बन करने लगा. बीएफ सेक्सी एक्शनमैंने रफ़्तार बढ़ा दी और थोड़ी ही देर में दोनों हांफते हुए एक दूसरे में समा जाने को कसरत कर रहे थे.

और घर में इतनी अच्छी चूत बंट रही हो, तो उसे पाने के लिए कुछ तो करना ही पड़ेगा ना. उन्होंने तुरंत मुझसे पूछा- दो दिन से सोनू तुम्हारे पास आ रही है, तुमने उससे बात की?मैंने भाभी को बताया कि आप मस्त रहो वह कभी भी यह नहीं बताएगी कि हम पिक्चर देखने गए थे, मैंने शॉर्ट में भाभी को बता दिया कि मैंने उसकी चूत में लंड डाल दिया है. उसके बाद भाभी ने वहीं बोल दिया- क्यों देवर जी, तुम्हारा पेट बहुत खराब होता है?मैं कुछ नहीं बोला, बस स्माइल ही करके रह गया.

ऑनलाइन फ्रेंड बना कर उनका ये पहिला तजुर्बा था, जो कि बहुत अच्छा रहा. आप लोगों से ये गुजारिश है कि जब भी कोई मेल करें, कृपया करके गाली गलौज का प्रयोग न करें.

उसने ब्लैक आर पार दिखने वाली ब्रा पहनी हुई थी, जो उसके बर्थ डे पर मैंने दिलाई थी.

आपको मेरी कहानी कैसी लगी, इस बारे में आप मुझे मेल करके जरूर बतायें. ये देख के पायल बोली- अरे जीजू थोड़ा तो सब्र करो, मैं आप ही के लिए तो आयी हूं, लेकिन कल जैसा मत करो, मैं आपके प्यार की प्यासी हूँ. अब ले … और चोद ले अपनी मर्जी से!” कहते हुए प्रशांत के हाथ कभी न आने की धमकी देने लगी.

बीएफ सेक्सी डायलॉग उन्होंने तुरंत मुझसे पूछा- दो दिन से सोनू तुम्हारे पास आ रही है, तुमने उससे बात की?मैंने भाभी को बताया कि आप मस्त रहो वह कभी भी यह नहीं बताएगी कि हम पिक्चर देखने गए थे, मैंने शॉर्ट में भाभी को बता दिया कि मैंने उसकी चूत में लंड डाल दिया है. मामी ने मुस्कराते हुए कहा- क्या तू अब खुद नहाने लग गया, मैंने सोचा कि मुझे आवाज देगा.

उसने कहा- मुझे रास्ते से रिसीव कर लेना!फिर मैं गया और उसको मेन रोड से लेकर आया. इसलिए मैं पानी पीने जब अन्दर गया, तो सरोज भाभी और उनके साथ दो भाभियां और थीं, जो आपस में बातें कर रही थीं. उंगली आज़ाद होते ही मैडम ने मेरी पैंट खोल के नीचे घसीट कर टखनों तक कर दी.

देवर भाभी का सेक्सी वि

फिर वो शर्माती हुई अपने कपड़े उतारने लगी।सारा वाकयी में बहुत सुंदर थी।लेकिन मैं अब कहाँ रुकने को था, मेरे लिए इसकी चूत यानि कि मेरी जन्नत का दरवाजा खुल गया था. फिर मैं उसकी टांगें फैलाकर उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा, जिससे वो बेकाबू होकर मेरे बाल नोंचने लगी. मैंने ये सब मम्मी को बताया, तो मम्मी बोलीं- ठीक है, रह आना … कोई दिक्कत नहीं.

मैंने अपने दोस्त को रोकने के लिए बहुत बहाने किये लेकिन वह नहीं माना. जरा बच के रहना! जिस पर उसका दिल आ जाता है उसको वह पार के घाट उतार कर ही दम लेती है.

फिर मैंने उसकी पेंटी को उसकी टांगों से बिल्कुल ही अलग कर दिया और उसकी नंगी चूत पर अपने होंठ रख दिये.

मुझे रहा नहीं गया, मैंने उसके अंडरआर्म्स को किस करने लगा, पागलों के जैसे उधर काटने लगा. कई बार तो मैडम ने जीभ पूरी मुंह के भीतर देकर लपलप की और कई बार मेरे होंठों के अंदरूनी भाग पर जीभ घुमाई. अंकल- बराबर … क्या तुमने देखा है किसी को किस करते हुए?मैं थोड़ा शर्माते हुए बोली- अंकल फिल्मों में देखा है और एक दो बार गलती से मम्मी पापा को भी करते हुए देखा है.

उसकी दर्द भरी सिसकारियों के कारण मैं भी तीन-चार धक्कों के बाद ही उसकी चूत में झड़ने लगा. उसके बाद जीजा जी ने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और खुद ही मुझे बाथरूम में लेकर गये. मेरे मामा जी को विदेश में किसी प्रोग्राम में जाना था इसलिए उनको यहाँ पर महीने भर के लिए छोड़ कर गए हैं.

फिर एक दिन मैंने उससे बोला कि क्या हम आगे नहीं बढ़ सकते?उसने कहा- उससे बच्चा होने का डर है और मेरी अभी सील भी नहीं टूटी है.

चोदा चोदी बीएफ डाउनलोड: इस हिंदी सेक्स कहानी की रसीली घटना पर अपने विचार प्लीज भेजना न भूलें. मामी ने अपने दांतों से होंठों को दबा दिया, आंखें बन्द कर दीं और मेरी पीठ पर नाखून रगड़ने लगीं.

वह बोली- पागल हो गये हो क्या? मरवाओगे मुझे?शिखा ने मना कर दिया तो मेरा मन उदास हो गया. संजय- पहला सवाल, कोमल क्या तुम्हें हम दोनों के साथ अच्छा लगता है?कोमल ने नशे की पिनक में कहा- हां अच्छा लगता है. फिर प्रसंग अपने खड़े लंड को हाथ में लेकर मेरी चूत पर रख कर बोला चल- बेटा, आज मस्त कर इसको!और यह कहते हुए उसने एक ही वार में पूरे का पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया.

वो उत्तेजित होने लगी लेकिन डर भी था पति का … फ्लैटमेट का … दुनिया का!उसकी आवाज में कशिश सी आने लगी और अपने चूचे मेरे हाथ में अपनी चेस्ट आगे कर के और दबवाने लगी जैसे कह रही हो कि मेरे मम्मों को जोर से मसलो.

धीरे धीरे हम दोनों खुलने लगे थे और मुझे प्रीति की चिंता होती थी, इसलिए जहां एक तरफ प्रीति को सुझाव देती, वहीं दूसरी तरफ खुद से भी प्रयास करती कि सुखबीर, प्रीति की भावनाएं समझ जाए. उसने मेरे हाथ में कंडोम का पैकेट थमा दिया और बोली- पहन लो और तैयार हो जाओ मेरी सवारी करने के लिए. उसने मेरी छाती को अपने हाथ से ऐसे मसला मानो कोई संतरा निचोड़ रहा हो.