भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी फुल मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

सनी लियॉन की सेक्स: भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ, हम दोनों लोग अपने गांव से दूर शहर में कई सुनसान जगहों पर घूमने जाते थे और किसी पार्क में बैठकर एक दूसरे से सेक्स की बातें करते रहते थे.

सोफिया की बीएफ

उसके अंगड़ाई लेने से उसके चिकने पेट और खमदार पतली कमर की मादकता और बढ़ गयी और उसके पेट के पोर पोर पर मैंने अपने चुम्बनों की छाप अर्पित कर दी. देहाती भाभी का सेक्स वीडियोअब तक की मेरी सेक्सी कहानी के पहले भागमेरे दोस्त ने मेरी भाभी को चोदा-1में आपने पढ़ा था कि मेरे दोस्त ने उनको चोदने का पूरा तय कर लिया था.

इतना कहने के बाद मैं पूजा की चूत के अन्दर झड़ गया और पूजा की चूत ने भी मेरे साथ साथ अपना पानी छोड़ दिया. সেক্স মেয়েअब मैंने पैरों को फैला कर अंकल को अपने ऊपर लिटा कर लंड को बुर के पास रगड़ने लगी.

फिर हम लोग बातें करने लगे, वो अपने बारे बातें करते करते अपनी सेक्स लाइफ के बारे में बात करने लगीं और बात करते करते रोने लगीं.भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ: वो किस मेरी जिंदगी का पहला किस था, वो भी उसके साथ, जिसे मैं अन्दर ही अन्दर प्यार करने लगा था.

जैसे ही उसने अपनी टाँगें कुछ ढीली की तो मैं उसकी टांगों के बीच में आ गया और अपने होंठ उसकी चूत के मुँह पे रख दिए। वो हम्म करने लगी.’ कहते हुए उसने मुझे अपनी लोई पे लपेट दिया और मुझे उठा कर वापस चलने लगा।ढिल्लों अपनी गाड़ी समेत बाहर ही खड़ा था और अगले ही पल मैं मादरजात नंगी सिर्फ एक लोई में ढिल्लों के साथ फ्रंट सीट पर बैठी थी और काला हब्शी (मैं उसे इसी नाम से पुकारती हूँ) पीछे बैठा था। गाड़ी हवा को चीरती हुई बढ़ने लगी।कुछ देर के बाद गाने बंद करा कर अचानक काला बोला- ढिल्लों यार, बड़ा करारा माल लाया है इस बार, इसमें तो आग ही बड़ी है.

लड़के लड़के की बीएफ - भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ

मैंने कहा- लगता है आज आपकी महिला पार्टी है, आप लोग मज़े कीजिए, मैं चलता हूँ.चाची की नगाड़े जैसे चूतड़ों को मसलते हुए उनकी एक चुची को मुँह भर भर के चूसने लगा.

एक बार हम ऐसे ही बात कर रहे थे और जैसे ही मैंने उसकी दीदी का जिक्र किया, वो कहने लगी कि आप दीदी के बारे में बात न किया करें. भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ मैंने कहा- रहने दे यार … तुझे फिर दर्द होगा और मैं तेरा दर्द नहीं देख पाऊंगा और सारा मूड खराब हो जाएगा.

माइक भी धक्के मार मार कर पसीने पसीने होने लगा था, पर मैं उसका साथ नहीं दे पा रही थी.

भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ?

प्रिया को देखते ही मैं थोड़ा घबरा सा गया और तुरन्त उठकर बैठ गया, जिससे प्रिया के चेहरे पर हल्की मुस्कान सी आ गयी. तभी रास्ते में सुनसान सी जगह में एक अकेले से अध-बने घर के सामने गाड़ी रोक दी. मेरी पत्नी ने तुरंत मेरा लंड अपनी चूत में घुसा लिया और ऊपर बैठकर ताबड़तोड़ धक्के लगाने शुरू कर दिए.

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मैंने उसकी सलवार को खोल दिया और उसे नीचे कर दिया. वे समझ रही थीं कि ये भैया के लंड के बारे में ताना मार रही है कि ऐसा क्या खा लिया. उसकी गांड थी ही इतनी सुंदर … मुझे चूत से ज्यादा उसकी गांड देखकर मजा आ रहा था.

उसने अपने दोनों हाथों की उँगलियों को अपनी गांड के छेद के गिर्द रख लिया. मैंने भी अपना हाथ उसके कन्धों पर रख दिया और उसे अपनी तरफ थोड़ा और खींच लिया और वह चुपचाप कन्धों पर सर रखकर बैठी रही. गोरी चिट्टी तो वो बचपन से ही थी … जवान होते होते उसके बदन ने जो आकार लिया, तो लोग बस देख कर अपना लंड मसलते ही रह जाते थे.

मैं कराहते हुए उठ बैठने जैसी हुई और मैंने फिर से दोनों हाथों और टांगों से पूरी ताकत से उसे पीछे धकेल कर रोकना चाहा. मैं- चाची लंड चूसने में कैसा लग रहा है?चाची मुँह से लंड निकाल कर मेरे लंड को जोर जोर से हिलाते हुए बोलीं- जैसा तुमको मेरी चूत चाटने में मजा आ रहा था, मुझे तेरा लंड चूसने में वैसा ही मजा आ रहा है.

अब चलो मेरी बगल में अपने पैरों को फैलाकर लेट जाओ, मैं तुम्हारे ऊपर चढ़कर तुम्हें चोदता हूँ.

फिर मैंने उसके दोनों दुद्दुओं को झट से दबोचा और निकल लिया वो अरे अरे ही करती रह गयी.

आह दीदी, बहुत मज़ा आ रहा है, ऐसे ही करती रहो।तकरीबन 15-20 मिनट लंड हिलाने के बाद उसका लंड फूल गया. उसने यह बात अपनी सहेली सुमन को बतायी तो उसकी सहेली ने अपने भाई से ही अमीषा की विर्जिन बुर चुदवा कर उसकी वासना शांत कर दी थी. चुदाई से पहले बस 2-4 चुम्मियां की, कपड़े उतारे और अपना काम कर लेते थे.

सोनाली को अब दर्द हो रहा था, वो मेरे पीठ पे नाखून गड़ा रही थी, नोंच रही थी. मैं- चाचा का लंड कभी चूसा है आपने?चाची- नहीं … लेकिन दीदी को (बड़ी चाची) जेठ जी का लंड चूसते देखा है. मैं बोला- मेरे को कोई दिक्कत नहीं है, आप मेरे को इवनिंग में कॉल कर लेना.

उसे मजा आया तो उसने मेरे लंड को अन्दर तक लंड लेकर जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया.

मैं जब मूतने गया तो मैंने पीछे से तीनों की बातें सुन लीं, जिससे मेरे लंड ने अपना कण्ट्रोल खो दिया. मैं लड़की थी तो इसलिए मैंने कभी उससे नहीं कहा कि मैं उससे चुदना भी चाहती हूँ।ऐसा करते-करते बहुत दिन हो गए थे लेकिन मेरी प्यास हर दिन बढ़ती जा रही थी. डार्लिंग, मैं भी तुम्हारे बॉयफ्रेंड की तरह जड़ तक अन्दर घुसेड़ना चाहता हूँ…” कहते हुए मैंने अपनी पत्नि का सिर पकड़कर लंड को जड़ तक उसके हलक में ठेल दिया.

इतना कह कर मैं उसे किस करने लगा और वो भी मुझे पागलों की तरह किस करने लगी. मेरी पत्नी ने मुझसे कहा- इसकी चूत बहुत छोटी है और बिल्कुल बंद है, इसमें रास्ता बनाना पड़ेगा. नहीं तो मजा कैसे लोगी? एक बार शुरू में थोड़ा सा दर्द सहन कर लो, फिर अपन तीनों को रोजाना मिलकर खूब मजे करा करेंगे! तूने देखा नहीं कि मेरी चूत में कैसे लंड को एक बार में ही पूरा ले लिया था और मैं कितना मजा लेकर उछल रही थी.

लेकिन वो बहुत ही सुंदर और सेक्सी है।हम दोनों भाई बहन आपस में बहुत क्लोज हैं एक दूसरे के और बहुत बातें किया करते हैं! उसके सीने पर बड़े-बड़े बूब्स हैं, फिगर उसका इतना मस्त कि क्या बताऊँ दोस्तो! उसे देखकर मेरा लण्ड हमशा खड़ा हो जाता था.

मुझे जब तक कुछ समझ में आता, तब तक उस चुदासी लड़की ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए. शीतल- देखो… मैंने कुछ ऐसा इंतजाम किया है कि अगर तुम्हारे पापा को हमारे चुदाई के बारे में पता चल भी गया या हम लोगों को आपस में सेक्स करते हुए देख भी लिया तो वो कुछ बोल नहीं पाएंगे.

भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ जीजू ने कुछ देर तक मेरी चूत को चाटने के बाद अपना लंड मेरी चूत में अन्दर पेल दिया और मजे से अन्दर बाहर करने लगे. मुझे लंड चूसते हुए बोली- मैं पहली बार किसी आदमी का लंड चूस रही हूँ.

भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ चाची भी उठकर बैठ गईं और मेरा लंड पकड़ कर पहले कुछ देर तक मसलती रहीं, फिर उन्होंने जैसे ही अपने मुँह में मेरा सुपारा लिया, मैं एकदम से गनगना उठा. स्कूल से ही उन लड़कियों के साथ मेरी दोस्ती थी, जो मुझसे बड़े घर से थीं.

मैंने उन्हें लिख कर संदेश दिया कि मैं खाना कर आऊँगी, तब तक वो भी थोड़ा सुस्ता लें.

भोजपुरी सेक्सी इंडियन

उधर मेरे पिछवाड़े में समाली अंकल ने आकर, मेरे कूल्हों को अपने हाथों से पकड़ा और सहलाने लगे. अपने कपड़े पहने, अपना बैग लगाया और जाते जाते उसकी गांड में साड़ी ऊपर से उंगली की. तभी नीरू ने मेरा टी शर्ट और बनियान भी उतार कर मुझको बिल्कुल नंगा कर दिया और मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी और एक मिनट बाद ही मेरा लंड अपने मुंह से निकाल कर पायल से बोली- इसको चूसने में कितना मजा है! इतना मजा किसी चीज में नहीं!और फिर नीरू ने 4-5 मिनट मेरे लंड को चूसा, फिर लंड मुंह से निकाला कुछ दूरी पर बैठी पायल को मेरे पास बुला लिया.

मैंने बोला कि अगर मैंने बताया तो हमारा ये भाई बहन का रिलेशन खत्म हो जाएगा. जाने-पहचाने छेद में हलक तक पहुंचाते हुए मैंने कुछ धक्कों में ही नताशा की सांस फुला दी और वो छूटने के लिए तड़पने लगी. रहने दो अगर तुम्हें डर लगता है! अरे अंकल तुम बस चुपचाप गेट खोल देना, हम लोग ऊपर चले जाएंगे.

मैं आप सबको सेक्स क्लब में चुदाई की अपनी रियल स्टोरी बताने जा रही हूं, यह कुछ महीनों पहले की ही बात है.

सिसकारी सुन कर उसके साथ की सीट वाला पीछे देखने लगा, सुशीला भी।मेरा भी पानी छुट गया और मेरे मुँह से सिसकारी भी निकली मगर कोई कुछ समझ नहीं पाया. जब वो उठीं, तो उनकी चूत से ढेर सारा रस निकलने लगा, जिसे मैंने पास पड़े तौलिये से साफ किया. अब देखो ना तुम्हारी चूत और गांड दोनों ने मेरा लंड पूरा का पूरा खा लिया और कुछ नहीं हुआ.

नीरू ने कहा- जीजू, अभी इसकी ब्रा नहीं उतारो, पहले इसकी सलवार निकालो!मैंने उसकी सलवार को भी निकाल दिया. मैंने क़ातिल सी नजर से उनको देखते हुए कहा- छोड़ोगे अब मुझे … या अभी भी दीदी के नशे में हो?वो बोले- तुम्हारी आंखों में कौन सा कम नशा है … रागिनी मेरी साली साहिबा. और अगर बापू को पता चला तो वो मेरी गांड में डंडा जरूर डाल देगा।मैंने कहा- अबे कुछ नहीं होगा.

मुझे डॉक्टर की दवा की जरूर नहीं है मेरी दवाई तो‌ तुम्हारे पास है, मगर तुम हो कि देती ही नहीं हो. अब मैं अपने कॉलेज में अब ब्वॉयफ्रेंड के चक्कर में नहीं पड़ती थी और इस तरह की सब प्यार मोहब्बत से मेरा विश्वास खत्म हो गया था.

इतना कह कर चाचा चाची की चूत को अपने मुट्ठी में भर कर जोर से मसलने लगे, इससे चाची गनगना उठीं और अपने चूतड़ों को ऊपर की तरफ उठाने लगीं. मैं तुम्हें मॉर्निंग में भी ले आया करूंगा और पहले तुम्हें तुम्हारी फैक्ट्री छोड़ दिया करूँगा. तब मनीष ने पूछा- यहीं सो जाऊं भाभी?भाभी बोलीं- हां सो जाओ और लाइट बंद कर दो.

मैं अब साली की चूत में लंड डालकर रुका हुआ था, धक्के मारने बंद कर दिए थे तो अब नीरू का दर्द कुछ कम हुआ.

प्रिया ने भी अपनी पूरी ताकत से मुझे धकेलकर अलग कर दिया‌ और मुझसे दूर होकर खड़ी हो गयी. चूत में लंड घुस जाने की वजह से मैं चीखी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मार डाला … साले बहुत दर्द हो रहा है. तो उसने बोला- मुझे समझ में नहीं आया, तुम क्या बोल रहे हो?मैंने कहा- इससे ज्यादा मैं और क्या बताऊं?तो उसने कहा कि मुझे एक बार और देखना है.

काफी देर सोचने के बाद मैंने कहा- सच में तू इसके बारे में किसी को नहीं बताएगी?इतने में भाभी कुछ काम से अन्दर आ गईं. माइक ने अपना वजन घुटनों और कोहनियों पर डाला, मेरे हाथ से हाथ मिलाकर मेरी हामी को स्वीकारते हुए हौले हौले अपने लिंग को मेरी योनि में धकेलने लगा.

इसके साथ साथ ही मुझे एक बुरी खबर भी मिली, प्रिया और उसके भाई कुशल की तो छुट्टियां चल ही रही थीं, अगले दिन से नेहा की भी छुट्टियां होने वाली थीं … इसलिये वो सब अगले दिन ही कुछ दिनों के लिये गांव जाने वाले हैं और उसके लिये ही वो सब बाजार से कपड़े वगैरह खरीदने बाजार जा रहे थे. मैंने उसे चुप कराया और कहा- अगर मुझे मजे लेने होते तो पूरा अन्दर करता, न कि बीच में रुक जाता और दर्द केवल झिल्ली के मारे हो रहा था, क्योंकि तू कुँवारी है. मैं सोचने लगी कि अरे इनके अलावा और भी है कोई क्या?तभी मैंने देखा दो अंकल और लगभग 65 साल के आसपास आए.

सेक्सी मूवी सेक्सी पिक्चर

अब मैं पूरी नंगी गैब्रियल के ऊपर लेटी थी और मैक मेरे पीठ और कूल्हों को चाट रहा था.

उधर अपनी चूत की फांकों में मेरे लंड की गर्माहट से नीता आंटी कामुक सिसकियां लेने लगीं- ह्ह्ह अह्ह्ह ह्ह्ह ओह्ह्ह!मैंने भी अपना लंड उनकी चूत में सैट किया और धीरे से उनकी चूत में डाल दिया. दीमा ने नताशा को आलिंगनबद्ध करते हुए उसके गाल पर चुम्बन अंकित किया और फिर मुझसे हाथ मिलाया. अशोक अपनी बात जारी रखता है- तो अब जो मैं बात बोलने जा रहा हूँ… उस से इस घर की किस्मत बदलने वाली है… और इसके बाद सब कुछ हमेशा के लिए बदल जायेगा… जिसे चाहकर भी कभी वापिस नहीं लाया जा सकेगा.

मुझे उसने संभलने का एक मौका भी नहीं दिया और पूरा लिंग मेरी योनि की गहराई में घुसा दिया. उनके मुंह से साथ ही कुछ इस तरह की आवाज़ें भी निकल रही थीं- उम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआह्हह!मुझे यह सब देखकर बड़ा मज़ा आ रहा था. हिंदी बीएफ सेक्सी जबरदस्त चुदाईमेरे दोस्त ने हम दोनों को अन्दर किया, फिर दस मिनट में वो अपनी दुकान पर चला गया.

हम दोनों में ऐसी कोई बात नहीं थी लेकिन वो दिखने में माल थी उसका फिगर 34-32-34 का है। कोई भी लड़का ऐसी गदरायी हुई जवान लड़की को चोदना चाहेगा। लेकिन मैं उसे दोस्त की बहन समझ कर उस पर अपनी कामुक दृष्टि नहीं डालता था. पर माइक की गति में तब तक बदलाव नहीं आया, जब तक तारा पूरी तरह झड़ कर ढीली नहीं हुई और माइक के ऊपर निढाल होकर न गिर पड़ी.

इतने में एक अंकल मेरी गांड में बहुत सारा थूक लगा दिया और चूतड़ खोल कर गांड चाटने लगे, अन्दर जीभ डालने लगे. एक दिन हम बस में बैठे तो उसमें का एक शीशा टूटा हुआ था, जिससे काफी ठण्डी हवा आ रही थी. मैंने भाभी को जकड़ा और गोदी में उठा कर उन्हें अपने रूम में ले जाकर बेड पे गिरा दिया और पूरी नाइटी आगे से फाड़ दी.

मेरी मस्ती में कोई बाधा न हो, इसलिए उसने शायद खुद को एक सीमा तक रोक रखा था. लड़की के साथ जब लड़का बिस्तर में होता है, तब उसमें तुझे ज्यादा देखना क्या पसंद है?” दी ने अब भी चुदाई वगैरह जैसे शब्द नहीं बोले थे. तू आज सुबह स्कूल में क्या घूर रहा था और तेरे लंड पर भी सुबह में जानबूझ कर ही अपना हाथ मारा था.

मैं अच्छा नहीं पढ़ाती क्या?मैं- नहीं मैडम, ऐसी कोई बात नहीं है, मैं पहले से ही बायोलॉजी में थोड़ा वीक हूँ.

मेरी गांड की अंदरूनी दीवारों की वो मसाज मुझे गे सेक्स के सुख के चरम पर ले जा रही थी. तभी उन्होंने हाथों से तेज़ी से ऊपर नीचे कर सुपारे की चमड़ी को पूरी नीचे कर उस पर अपना थूक गिराया और दोनों हाथों से लंड को मसलने लगीं.

मैं माम्न्सी की मम्मी की गांड में उंगली को आगे पीछे करने लगा और वो आँखें बंद करके सिसकारियां छोड़ने लगी. सभी कहते हैं कि तेरी चूत अन्दर बहुत गर्म रहती है … वो भी आग की तरह. मुझे आपके जवाब का इंतजार रहेगा कि आपने मेरे उपाय को करके कैसा अनुभव प्राप्त किया.

करीब 5 मिनट चोदने के बाद सुनील ने मेरी गांड में अपना लंड पूरा डालकर मुझे जकड़ लिया. मैंने कपड़े पहने और आराम से रसोई में आ गई और उससे बोली- कहां है चाय?मुझे गुस्से में ना देख कर उसकी भी सांस में सांस आई. वो अपनी गांड को हिलाते हिलाते उचक रही थीं और मुँह से तरह तरह की आवाजें निकाल रही थी- ह्म्म्म्म म आहह बेटा आअहह ओह…फिर मैं उनके पास पलंग पे आकर बैठ गया और उन्हें भी उठाकर बिठा दिया.

भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ बहुत नियंत्रण है खुद पे। सामने लड़की का जिस्म देख कर भी टूट नहीं पड़ रहे।”उम्र और मैच्योरिटी इंसान को समझदार बना देती है. जब भी कभी मुझे जग की याद आती है तो मैं उन दो महीनों को याद कर लेती हूँ.

పాపులర్ సెక్స్ వీడియోస్

सोनाली ने मेरे लंड का पानी अपने मुँह से किस करते हुए ख़ुशी के मुँह में दे दिया. मैं ना जाने क्यों, ना चाहते हुए भी उन दोनों के रंग में रंगने लगी और मेरा पूरा विरोध अपने आप खत्म हो गया था. 5 इंच मोटा है … जिससे मैंने बहुत सी भाभियों और लड़कियों को संतुष्ट किया है.

मेरे साथ भी यही हुआ, कुछ दिन बाद मेरी किस्मत चमकी और मेरे रूम के बगल में एक मेरे से सीनियर लड़की रहने के लिए आ गयी. रिश्तेदारी के इस तरह के फर्ज निभाना भी जरूरी था मैंने वो भी पूरा कर दिया था. ब्लू मूवी एचडी मेंरजत- हाँ दीदी… आज हम दोनों भाई तुम्हें इतना चोदेंगे कि तुम्हें अपनी जवानी की प्यास बुझाने के लिए किसी और का चेहरा और लंड देखने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

हिंदी सेक्स कहानी की दुनिया की सबसे बड़ी और पसंद की जाने वाली साईट अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली कहानी है.

तो दोस्तो, कैसी लगी आपको ये हॉट कहानी … मुझे मेल से बताएं या मेरे लिए कोई सुझाव या परामर्श हो, तो जरूर भेजें. इसके बाद तो पीछे गांड का दर्द सच में ऐसे गायब हुआ कि मुझे पता ही नहीं चला कि कब दर्द गायब हो गया.

जब कई मिनट तक मैं उससे प्यार करती रही तो मैंने कमलेश की पैंट में देखा कि उसका लंड खड़ा हो चुका था. उसने मेरे निप्पल चूसे और काटे, उसकी रंडीपने की अदाओं से मैं जन्नत में पहुंच गया था. नाश्ते की टेबल पर जब हम मिले तो जग ने कहा कि अगर बुरा ना मानो तो एक बात कहूँ?मैंने कहा- तुम्हारी बातों का मैं कबसे बुरा मानने लगी? और तुम कब से मुझसे इज़ाज़त लेने लगे?फिर जग बोला- क्या मुझे आपकी ज़िन्दगी का एक दिन मिल सकता है?मैंने कहा- क्या.

चूंकि अब मेरे और चांदनी जी के बीच अच्छे सम्बन्ध बन चुके थे, तो मैं उनके घर जाता रहता था और उनका बाजा बजाता रहता था.

हम वैसे ही वहीं ढेर हो गये। मैं … मेरे ऊपर सुशीला … उसके ऊपर दीपक!थोडी देर बाद मैं बोला- उठ मादरचोद साली रंडी … अच्छा गद्दा पाया है। मैं नीचे दब रहा हूँ।दीपक ने आहिस्ते से लंड को निकाला सुशीला की गाण्ड से और ढेर हो गया बेड पर … बोला- साली मेरी कमसिन नर्सों से तो ज्यादा ये साली गर्म है. मैं अपने बिस्तर पर आकर बैठा ही था कि तभी प्रिया ने मेरे कमरे के दरवाजे पर आकर पूछा- क्या हुआ? क्यों शोर कर रहा है?उसने नीचे स्कर्ट … स्कर्ट तो नहीं थी वो क्योंकि स्कर्ट घुटनों तक ही लम्बी होती है … मगर वो जो भी था, उसके पंजों तक की लम्बाई का था. अचानक से तेज़ी से सिसकारते हुए मैंने अपनी पीठ को बिस्तर में एक धनुष की तरह तान दिया और मेरी कमर का हिस्सा झटके लेने लगा था.

बिहारी लड़की की चुदाई दिखाओइसलिए मेरा इशारा समझते हुए उसने अब खुद ही धीरे से अपनी जांघों को थोड़ा सा खोल दिया. हो सकता है कि यह मेरी चूत मारने से डर रहा हो कि कहीं मैं प्रेग्नेंट न हो जाऊं.

नेहा नैर की नागि फोटो

मैं अब उन लड़कों को देखकर स्माइल करने लगी, जो लड़के मुझे देखकर स्माइल देते थे. दीपक तो रुकने वाला नहीं था, उसने थोड़ा लंड बाहर निकाल के फिर धक्का लगाना शुरु कर दिया. पूजा कभी कभी मेरे सुपारे को अपने आंखों से लगाती या फिर उसे अपने मुँह से निकालकर अपने गालों पर रगड़ती.

अब वो और खुल कर मुझसे बात करने लगीं और हँसी मज़ाक़ में हम दोनों एक दूसरे को छूने भी लगे. माल निकल जाने के बाद से अंकल के ढीले पड़ चुके लंड के किनारों से वीर्य बाहर उबल रहा था. फिर मैंने अपना हाथ आगे लाकर जैसे ही लोअर के ऊपर से उनकी चूत पर रखा, वो एकदम से उछल गईं.

दोस्तो, सबसे पहले अन्तर्वासना का धन्यवाद जिसकी कृपा से सभी को लंड को खड़ा करने वाली और चूत में उंगली डालने को मजबूर करने वाली कामुक कहानियाँ पढ़ने और लिखने को मिल जाती हैं।मैं आप सबको अपने बारे में बता दूँ, मैं मेरा नाम प्रतोष सिंह है और मैं कोलकाता में रहता हूं. मैं दोनों हाथों से चाची की दोनों चुची मसलते हुए उनकी नाभि में जीभ को ठेलने लगा. मैंने अभी तक माइक के लिंग को हाथ नहीं लगाया था, मैं इतनी डर गयी थी.

उस दिन रात को दस बजे तक मैं उसके घर पर रुका और चार बार मैंने अपने पानी से उसकी चूत को भर दिया. क्योंकि उसे चुदाई में होने वाले दर्द के बाद मिलने वाले सुख के बारे में कुछ मालूम ही नहीं था.

मुझे गर्म होती देख जीजू मेरी चूची को दबाते हुए बोले- बहुत रस भर रखा है इनमें.

क्या तुझे यह पसंद है? नीरू ने तुरंत हामी भर दी और बोली- जीजी, आप जो भी कहोगे, मैं करूंगी लेकिन जीजू से कहो कि मेरी चूत में लंड डालकर मेरी चूत की गर्मी शांत करें. गांड चुदाई गांड चुदाईमैं तैयार हो गयी मैंने उस दिन ब्लू जीन्स और स्काई शर्ट पहनी, और पैरों में जूती डाली ही थी कि तभी संजय का कॉल आ गया। जब मैं हॉस्टल से बाहर आई तो देखा संजय मेरा इंतजार कर रहा था। मैं जाकर उसके साथ बाइक पैर बैठ गयी, और सिनेमा पहुंच गए।जब मूवी शुरू हुई तो संजय ने मेरी सीट के पीछे हाथ रख लिया और धीरे धीरे मेरे कन्धे पर हाथ रख दिया। मुझे अजीब सा लगा परन्तु मैंने कुछ नही कहा. सेक्सी बीएफ फुल एचडी हिंदीउसने अपना नाम साधना बताया। मैंने नोटिस किया कि उसका कद 5’6″ तो होगा. उस दिन दर्द के मारे मैं इतना ज़ोर ज़ोर से रोई और चिल्लाई थी कि बता नहीं सकती हूं.

वो बोली- रुको केशव, दरवाज़ा तो बंद कर लो! अब 5-6 दिन मैं तुम्हारी ही हूँ, दिन और रात अब सब तुम्हारे हैं.

वे दोनों नीग्रो भी नीचे उतरे और सब लोगों के साथ अंकित भी नीचे उतर आया. मयूरी के आनन्द की चरमसीमा आ चुकी थी… वो इतनी देर में कम-से-कम पांच बार झड़ चुकी थी. यह हमारा अंतिम और शायद हमारे साथ के प्यार का भी आखिरी दौर था और एक दूसरे से हमारा वादा था कि हम दोनों शादी के बाद एक दूसरे की जिन्दगी में सदा दूरी बना कर रखेंगे.

मैं भी तो ये ही चाहती थी और मेरी सहेली की बताई हुई चीज अब काम आ गयी थी. इस सेक्स स्टोरी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि होटल में एक अनजान हसीना पूजा मेरे साथ चुदने को राजी हो गई थी. अगले दिन सबको यह पता था कि घर की लाड़ली बेटी का जन्मदिन है तो सबने अपने-अपने काम से छुट्टी ले ली थी.

चेहरे के लिए कौन सी क्रीम अच्छी है

धीरे धीरे मनीष अपने हाथ पीठ से होते हुए नीचे बूब्स की मालिश करने लगा. सोनू ने रसगुल्ले मसल दिए, जिससे उनका सारा रस मेरी सफ़ेद हॉट पेंट में साफ़ नज़र आने लगा और मेरी जांघों से उसका रस टपकने लगा, जिसे मेरा बेटा चाटने लगा. बिस्तर पर मुझे गिराने के बाद उसने अपने सारे कपड़े निकाल दिए, बस अंडरवियर नहीं निकाली, जिसमें उसका तंबू बना हुआ लंड साफ़ साफ़ दिख रहा था.

देखो किस तरह से तुम्हारा सीना धड़क रहा है, तेरे दूध ऊपर नीचे हो रहे हैं.

कुछ ही समय में मैं अपने सारे कपड़े उतार कर नंगी हो गई और बेड पर लेट कर होल से मैंने अपनी टांगें कमर तक बाहर निकाल लीं.

एक बारी तो ऐसा आया कि बहन ने पीछे मुड़ कर देखा और वो कुछ बोलने ही वाली थी तो मैंने मुँह पर हाथ रख कर चुप कराया और वहां से कमरे में ले गया, जहां हम पहले बैठे थे. मैं बाहर से उनके कमरे का दरवाजा बंद कर आया हूं, बिल्कुल खुलकर आराम से करो, जो मन पड़े! कोई दिक्कत नहीं होगी. एक्स एक्स एक्स एचडी वीडियो हॉटइसको दर्द क्यूं हो रहा है? कहीं फीवर तो नहीं आ जाएगा?राज अंकल- बोले अरे कुछ नहीं होगा, अभी ठीक हो जाएगी डोंट वरी.

कुछ ही देर में हम दोनों के बीच में चरम जैसी स्थिति आ गई और हम एक दूसरे को किस करते हुए जल्दी जल्दी चुदाई करने लगे. विक्रम की बात सुन लेने के बाद ख़ुशी से अपने दोनों भाइयों का लंड अपने एक-एक हाथ में भरते हुए मयूरी बोली- हाँ मेरे भाइयो… मुझे पता था… तुम दोनों मेरी जवानी की प्यास को ऐसे तड़पने के लिए नहीं छोड़ोगे… मुझे पता था कि तुम मेरी राखी का कर्ज जरूर उतारोगे. उसकी स्कर्ट के नीचे चड्डी नहीं दिख रही थी और जैसे ही मैंने उसके नितम्ब छुए, वह एकदम से झनझना गई.

आज मैंने उससे कहा तो उसने कहा- आज तुम अपना लंड मेरी चुत में धीरे से अन्दर डालना. वो बोला- उठने की कोशिश करो!मैंने उठना चाहा, पर नाटक करते हुए फिर से बैठ गई और बोली- ऊंह … नहीं उठा जाता, सहारा दो मुझे.

मेरी सासू माँ के कड़े दूध मेरी छाती से टकराए, तो मैंने उन्हें कसके बांहों में भर लिया और उनके गालों पे किस करने लगा.

चूत के पानी से नहाए हुए लंड को मैंने जानबूझ कर खिड़की की तरफ कर दिया ताकि बड़ी चाची आराम से मेरा पूरा लंड देख सकें. चूत में उंगली घुसते ही सविता उछल पड़ी, बोली- अरे नीरू, क्या कर रही है दर्द हो रहा है!नीरू बोली- हय रे छिनाल … अभी तुझे दर्द हो रहा है, जो लोड़ा तू अपनी इस छोटी सी चूत में लेगी, वह तो बहुत मोटा होगा, उसको लेते वक्त तो अपनी गांड उछाल उछाल कर मजे लेगी. तभी वो बोली- ओके तुम टेंशन मत लो … मैं किसी से कुछ नहीं कहूंगी, पर मेरी एक शर्त है?मैंने बोला- मुझे तुम्हारी हर शर्त मंजूर है … पर प्लीज़ किसी को मत बोलना.

सेक्सी बीएफ चाहिए अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, जो मेरे साथ कुछ महीने पहले घटी थी. उसने कहा- अब में और तब में बहुत फर्क है … अब तुम जो गई हो, वो मेरे लिए, मेरी रिक्वेस्ट पर गई हो और तब तुम जहां जातीं, वो बस ऐसे ही घूमने के लिए पहले से ही तैयारी करके जातीं तो वो अचानक वाला मज़ा नहीं आता, जो अब आया है.

ऐसी स्थिति में पूजा जैसे ही अपनी कमर को उठा कर अपनी चूत से मेरा लंड बाहर करती, मैं उसकी चूंची को जोर से दबा देता. जब उसने मेरे मुँह की तरफ देखा तो आनन्द से मेरी आंखें बंद थी।मैं बात को बदलाने के लिये बोला- शहर आ गया।पर सुशीला की गुस्से भरी नजर कभी मुझे और कभी मानसी को देखती जा रही थी. मेरी जगी हुई चिंगारी शांत हो गयी थी, मैं बहुत असमंजस में थी, मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या कहूं.

सेक्सी अंग्रेजी वीडियो सेक्सी

मैंने उनसे कमरे के बारे में बातचीत की और बताया के मुझे कमरा 3-4 साल के लिए चाहिए. इस बार नेहा शर्मायी नहीं बल्कि मेरी तरफ देखती रही, जैसे कि वो पूछना चाह रही हो कि मैं रुक क्यों‌ गया? उसकी आंखों में उत्तेजना की तड़प अब साफ दिखाई दे रही थी. फिर मैंने उसके दोनों दुद्दुओं को झट से दबोचा और निकल लिया वो अरे अरे ही करती रह गयी.

मैं उसके मुँह पर मुँह डाल दिया और उसके होठों को चूसने लगा, जीभ मुख के अंदर तक घुसाने लगा और उसकी जीभ को चूसने लगा। साथ में मैं उसकी चूचियाँ भी मसलता जा रहा था।दीपक ने फिर एक जोर का धक्का लगाया तो सुशीला की आँखों से आँसू निकल आये. चाची- मेरी चूत तुम को बहुत पसंद है?मैं- हाँ चाची, आपकी चूत दुनिया भर की सबसे सुन्दर चूत है.

मैं समझ गया कि भाभी झड़ गईं, लेकिन मनीष चोदता रहा और पलट कर भाभी पे चढ़ गया.

मादरचोद मेरी चूत में लंड डाल कर खुद का पानी छोड़ कर अलग हो जाता है और मैं अधूरी ही प्यासी रह जाती हूँ. मयूरी की चूत गीली हो चुकी थी… उसने अपने होंठ और जीभ से मयूरी के चूत का स्वाद लेना शुरू कर दिया. तभी कोई एक अंकल मेरे होंठों के पास अपने लंड को ले आए और मेरे होंठों पर अपने लंड को रगड़ने लगे.

तुम कोई ऐसी वैसी बात ना कर देना क्योंकि वो वही ऑफीसर है जिससे मैं कई बार चुदती हूँ, वो ही है, जिसने तुम्हारी रिपोर्ट भी बनाई है. मैंने फिर पूछा- आपने पहले भी कभी ऐसा किया है क्या?माँ ने कहा- हां, तेरे मामा जब आते थे तो उनके साथ करती थी. उसने मुझे सीधे कह डाला- मैं आज औरत बनना चाहती हूँ, क्या तुम मुझे औरत बना सकते हो.

तो इस पर वो बोलीं- वैसे भी बेटा … अब इस उम्र में मेरे पास तुम्हें दिखाने लायक कुछ है भी नहीं.

भोजपुरी सेक्सी ब्लू बीएफ: कुछ देर बाद मैंने रेवती से कहा- मैं अपने कमरे में जा रहा हूं, तुम आ जाना. मैं- मुझे तो लंड चुसवाना पसंद है, आप तो बताओ आपको किस में मजा आता है?मीतू- जब घोड़ी बना के पीछे से चोदता है ना.

फिर एक दिन चिराग ने मुझे हग करते हुए मुझसे कहा कि वो मुझे पसंद करता है. मैं उसकी तरफ मुड़ा अपने हाथ से उसका कमीज ऊपर किया, फिर ब्रा के ऊपर से थोड़े उसके चुचे मसले. प्रिया को देखकर मेरे शरीर में अब जान सी आ गयी थी और मेरी नींद भी कोसों दूर भाग गयी.

मैंने मन ही मन कहा कि अब तो मेरा लंड आंटी की चूत में घुसा कर इनकी चूत का पानी पीकर ही रहूँगा.

जब मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने कहा- जानू, प्लीज़ इसे मेरी बुर में डाल दो. मुझे ऐसा आभास हो रहा था, जैसे कोई रुई का लिंग मेरी योनि से मैथुन कर रहा हो. ‘अअह … औय …’ की आवाज करते हुए नेहा ने अपने दोनों हाथों से मेरे हाथ को पकड़ लिया और‌ उसे खींचकर अपने लोवर से बाहर निकालने की कोशिश करने लगी.