एचडी बीएफ चाहिए बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ वीडियो सोंग लिरिक्स ऑफ 2

तस्वीर का शीर्षक ,

गांव की नंगी औरत: एचडी बीएफ चाहिए बीएफ, फिर मैंने उसकी नाइटी को पूरा ऊपर उठाते हुए निकालकर साइड में रख दिया.

गुजराती भाई बहन सेक्सी वीडियो

मैंने बगल में पड़ा एक स्केचपेन उठाया और चुत चोदते हुए उनकी गांड पर दिल के आकार की डिज़ाइन बनाने लगा. बीएफ फिल्म सेक्सी हिंदी देहातीखाने के बाद हम दोनों फिर से बिस्तर में आ गए और रात भर मैंने भाभी को खूब चोदा.

जैसे जैसे मैं एक हाथ से ज़िप खोल रहा था, वैसे वैसे दूसरे हाथ से उसके नंगे होते जिस्म को सहलाता जा रहा था. बीएफ वीडियो सेक्सी भोजपुरीउन्होंने मुझे देख कर स्माइल पास की, तो मैं समझ गयी कि अभी अंकल भी मुझे चोदेंगे.

चाची ने भी मेरा साथ दिया।मैंने भी जल्दी से अपने सारे कपड़े निकाले और पूरा नंगा हो गया.एचडी बीएफ चाहिए बीएफ: मैंने ये सुना तो बाथरूम से बॉडीलोशन की शीशी ले आया और उसमें से कुछ लोशन निकाल कर उसकी चूत और लंड पर लगा लिया.

दो दिन के बाद मैं दीदी के घर गया तो अवनीत ने कहा- मामा जी, आप डैडी को समझाइये कि हमारी शादी हो जाने दें.कमर से होते हुए मैं उनकी चूचियों पर ऊपर से ही हाथ फिरा रहा था।मामी ने बहुत ही मस्त और एक हार्ड मैटीरियल की ब्रा पहनी हुई थी.

बीएफ गर्ल चुदाई - एचडी बीएफ चाहिए बीएफ

आप मुझे[emailprotected]पर ईमेल कर सकते हैं। जल्द ही आपसे एक नई अन्तर्वासना कहानी के साथ मुलाकात होगी.मैंने भी ज्यादा टाइम ना लगाते हुए अपना मूसल आराम से उसकी चुत में उतारने लगा.

हम पुलिस के चक्कर में नहीं पड़ेंगे।नजमा बाजी बिल्कुल निराश हो गई। मगर मैं और रुबीना बाजी बहुत खुश थे. एचडी बीएफ चाहिए बीएफ जब दोनों ओर से सब शांत हो जाये तो फिर से लौट आना।संदीप- यार तुम कह तो सही रहे हो, परंतु अलग घर में जाकर रहूंगा तो मां-बाप को कैसा लगेगा? रिश्तेदार, आस-पड़ोस वाले क्या सोचेंगे कि बुढ़ापे में माँ-बाप को छोड़ गया!मैं- यार फिलहाल तुम अपने बारे में सोचो, कोई क्या कहेगा वो विषय नहीं है.

उसको ब्रा पैंटी में देखते ही मेरे छक्के छूट गए … क्योंकि आज से पहले मैंने कभी उस जैसी लड़की नहीं देखी थी.

एचडी बीएफ चाहिए बीएफ?

उसके मुंह को अपने हाथ से बंद कर लिया और तेज तेज उसकी चूत को चोदने लगा. इतना भरा फिगर होने के बाद भी मम्मी अभी भी बहुत सेक्सी साड़ी बहुत सेक्सी तरीके से पहनती हैं।मेरी मामी भी हमारे साथ रहती है और उनका फिगर 36-22-36 का है. हमने कपड़े से अपने अपने यौन अंगों को साफ किया और एक दूसरे से बहुत देर तक ऐसे ही नंगे चिपके रहे.

आखिरकार एक चरम पर पहुंच कर उसने मेरी चूत में रस भर दिया और मुझसे अलग हो गया. तभी उमेश सर ने आ कर मुझे पीछे से पकड़ लिया और वो अपने दोनों हाथों से मेरे पेट को पकड़ कर डांस में मेरा साथ देने लगे. मैंने उससे ऐसे ही बातें चालू कर दीं और उससे पूछा- तुम्हारा बॉयफ्रेंड कौन है?उसने जवाब नहीं दिया … उलटे मुझसे ही पूछ लिया कि तुम्हारी गर्लफ्रेंड कौन है … पहले वो बताओ, फिर मैं बता दूंगी.

गांड मरवाने की कहानी शुरू करने से पहले मेरे बारे में थोड़ा जान लें. करीब बीस मिनट तक उन दोनों की चुत में लंड बारी बारी से चुदाई करता रहा. एक बार में सत्यम के लंड से हम दोनों चुदे और दूसरे राउंड में ममता और सुमेधा चुदीं.

वो मान गये और ननदोई जी ने मुझे चित लिटा दिया और मेरी बुर के आगे अपना खड़ा लंड लेकर मेरी चुदाई के लिए तैयार हो गये. और थोड़ी देर बाद तो पूरा का पूरा अंदर लेने लगी। अब उसके मुंह से आह जैसी आवाजें निकल रही थी।हम खुले में थे क्योंकि ऊपर रास्ता भी था तो मैंने उसके मुंह पर मुंह लगाकर उसकी आवाज को रोक लिया और आराम से धक्के लगाने लगा.

मैंने बोला- नहीं यार, कुत्ता कुतिया स्टाइल में चुत में लंड पेलूंगा.

खाना खाने के बाद फिर से बची हुई चुदाई हमने पूरी की।उसको चोदते हुए मैंने अपने लंड की सारी मलाई उसकी गांड में उड़ेल दी.

फिर पांच मिनट के बाद बाबा ने बेरहमी से चोदने के बाद मेरी चूत में ही अपना पानी निकाल दिया. मैं दोपहर में लेटा हुआ था और मेरी भतीजी सोनिया बाहर हॉल में टीवी देख रही थी. मैंने उनसे पूछा- मां, आप मुस्कुरा क्यों रही हैं?मां ने कुछ नहीं कहा.

अब तक सागर ने अपनी शॉर्ट उतार दिया और मामी को कस के पीछे से पकड़ लिया. अब वो छटपटा रही थी लेकिन मैं रूकने वाला नहीं था।वो बेहोश हो गई लेकिन मैं उसे चोदता रहा. भाभी ने हंसते हुए कहा- क्या हुआ … आप चुप क्यों हो गए?मैंने कहा- भाभी आपको देख कर मेरे तो छक्के छूट गए.

मैंने जैसे ही ये देखा तो समझ गया कि इसको लंड देखना अच्छा लग रहा है.

फिर धीरे-धीरे मैं उसकी जांघों से ऊपर होते हुए उसकी चूत पर जीभ लगाने लगा. चूंकि ये सेक्स कहानी अन्तर्वासना की चुदाई की कहानी थी, इसलिए मुझे पढ़ने में मजा आ रहा था. मैंने उनको तसल्ली दी- जीजा जी, मैं अवनीत को समझाने की कोशिश करता हूँ.

आपको मेरी देसी इंडियन सेक्स स्टोरी पसंद आ रही है ना? तो मुझे मैसेज के द्वारा बतायें. उसने मुझे बताया कि उसे सेक्स के बारे में उसके मामा की बेटी ने बताया था. मुझे असीम आंनद की प्राप्ति हो रही थी, मैं स्वर्ग में सैर कर रहा था मानो चोदने का बड़ा मजा आ रहा था और वो मुझे जबरदस्त किस कर रही थी।फिर मैंने उसके मुँह से मुँह हटाया और धक्के तेज तेज देने लगा.

लेकिन मैंने एक बात नोट की कि काजल जितनी भी देर उधर बैठी, वो बार बार मुझे ही देख कर स्माइल कर रही थी.

पहली बार मोटे लंड से चुद कर मजा ले ले … पता नहीं तेरे नसीब में किसका लंड लिखा होगा. रात को जब मेरी नींद खुली, तो मैंने देखा कि राजीव मेरे ही पलंग पर यीशा की दूसरी साइड में लेटा हुआ है और धीमे धीमे यीशा के दूध दबा रहा है.

एचडी बीएफ चाहिए बीएफ आज मेरी शादी हो चुकी मेरे बीवी के साथ मेरे अच्छे संबंध हैं और मेरी एक बेटी है. हम कॉलेज के तीन पक्के दोस्त थे- मैं, संदीप और अमित।हम दोस्तों में सबसे पहले मेरी शादी हुई थी.

एचडी बीएफ चाहिए बीएफ वो हंस रही थी और अपनी उंगलियों से मेरे लंड रस को अपने गालों पर क्रीम के जैसे मल रही थी. आंटी मेरे सर को पकड़ कर अपने चूचों पर दबाए जा रही थीं और मैं उन दोनों रसीले आमों को जी भरके पी रहा था.

लेकिन मैंने अपनी भांजी की चूत में धक्के मारना जारी रखा और अन्ततः अवनीत की चूत मेरे वीर्य से भर गई.

लड़की की नंगी बीएफ

मैंने छत पर जाकर इधर उधर देखा, मुझे अंधेरे में कुछ दिखाई ही नहीं दे रहा था. अब मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी चिकनी गुलाबी मखमली चूत में अपनी उंगली घुसा दी. वो मेरे कमरे में आई, तो क्या मस्त माल लग रही थी … मैं तो उसे देखता ही रह गया.

उस वक्त अंजलि बर्तन साफ कर रही थी।मेघा से थोड़ी देर बात की और मैंने उसे अपनी गोद में बिठाया और उसका दर्द कम किया।उसके बाद वो अपने रूम में लेटकर सो गयी. आंटी की बलखाती कमर, थिरकते हुए बड़े बड़े चूचे एकदम दूध से भरी हुई मटकी जैसे गोल गोल हैं. सुबह खाना बनाने के बाद वो मुझे खाना देने आयी, तो मैं उससे बात करने लगा- ससुराल में सब कैसे हैं?खुशबू- सब अच्छे हैं, तू बता, तेरी गर्लफ्रेंड कैसी है?मैं- कहाँ यार, मेरी कोई गर्लफ्रेंड ही नहीं है, तू बनवा दे.

और वह मेरा पर्स भी नहीं दे पाई क्योंकि सारे लोग उसकी एक्टिविटी को देख रहे थे और शक कर रहे थे.

कोई पांच मिनट चूत चोदने के बाद मैंने उसे अपनी गोद में बिठा लिया और लंड को चूत में डालकर उसकी चूचियों को मसलने लगा. कुछ देर बाद मैंने अपने लंड को बाहर निकाला और फिर से एक तेज धक्का दे मारा. उसकी कोमल और मुलायम जांघों पर हाथ फिराते हुए मेरे हाथ उसकी पैंटी तक पहुंच गये थे.

मैंने उससे कहा- यह क्या हो रहा है? मैं तुम्हारी यह करतूत अम्मी को बताऊंगा. मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रखा और उसे चूमते हुए फिर से एक धक्का मार दिया. मैं उसके लंड को एक स्टेचू बनी देखती ही रह गई और मैंने उससे उसकी सभी जानकारी ले ली।उसने मुझे बताया- मैं उस फीमेल को बड़े प्यार से चोदता हूँ जिसकी चूत पर एक भी बाल ना हो क्योंकि मुझे झांट वाली चूत पसंद नहीं है.

मुझे बस ब्रा खोलने में थोड़ी परेशानी आई जिसमें अंकल ने मेरी मदद की हुक खोलने में!चड्डी उतारते समय मैंने बहुत नजदीक से दीदी की चिकनी चूत को देखा और महसूस किया. प्रशांत- रुको यार … मुझे प्यास लगी है … तुम यहीं पेशाब करो और मेरी प्यास बुझाओ.

ज़ाफिरा अपने मुँह से कामुक सिसकारियां लेने लगी- उउई ओउउउई मां मर अअअआ मां मर गई … और तेज और तेज और तेज फाड़ दो … आज मेरी चूत को … और तेज चुदाई करो. जैसे ही उसका हाथ मेरे लंड पर लगा तो तुरंत ही उसके मुंह से निकला- अरे तुम्हारा लन्ड तो खड़ा है!उस समय मुझे उसके द्वारा लंड पकड़े जाने से अच्छा लग रहा था. मेरी कामवाली का नाम शांता है और वो हमारे घर में काफी समय से काम कर रही है.

फिर उन्होंने मुझे अपनी मेज पर सीधे लिटा दिया और मेरी पेंटी को उतार कर मेरे चूत को चाटने लगे.

उनकी जवानी का नमकीन रस उनकी चूत से निकल पड़ा और मैंने उस रस का पूरा आनंद लिया. मैं उसे फिर से किस करने लगा, जिससे अब वो बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गई. वह यह है कि इंसान में सेक्स की शुरुआत किस उम्र से हो जाती है यानि कि सेक्स क्रिया, कामक्रीड़ा से पहला परिचय कब होता है.

मैंने कहा- इतना सब बता दिया, कर भी लिया और अब मैदान छोड़ कर भाग रही हो … लगता है तू डर गई है. मैं अब उसकी पैंट के अंदर हाथ डालकर अमित के लंड को अच्छे से पकड़ने की कोशिश कर रही थी.

फिर मैंने धीरे से चादर में से झांक कर देखा कि मामी अपनी साड़ी खोलने लगी. इसी के साथ मैं धीरे धीरे एक हाथ नीचे ले जाकर उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी फुद्दी को सहलाने लगा. मगर मैं चुदाई में मशगूल था और नीता मेरा लंड लेने में।अब मुझे किसी चीज का ख्याल नहीं रह गया था.

फिल्म बीएफ फिल्म बीएफ फिल्म बीएफ फिल्म

हालांकि वो इस वक्त चरम पर आने को थे लेकिन तब भी वो मुझे पूरा जोर लगा कर चोद रहे थे.

मैंने कहा- हां मेरी जान, ये बताओ जी कि सुहागदिन की चुदाई के लिए मेरी जानेमन तैयार है?ज्योति ने मुझको कसके अपनी बांहों में भरते हुए कहा- हाँ मेरी जान, मैं तैयार हूँ।उसके बाद मैं उसको गोद में उठाकर बेडरूम में लेकर आया और बिस्तर पर बैठा दिया।मैंने उसके घूंघट को उठाया और कहा- ज्योति, तुम सच में बहुत ही खूबसूरत हो। आज तुम एक अप्सरा लग रही हो. मैं अकेला रह गया था क्योंकि मुझे पेपर के बाद किसी काम से कुछ दिन रूम पर ही रुकना पड़ा।एक दिन मेरे पापा का मुझे फोन आया तो उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे पहले ही दिल्ली आ जाना चाहिए था. मैं एक घंटे ही सो पाई होऊंगी कि तभी मुझे लगा कि कोई मेरी चूत चाट रहा है.

मैंने कहा- यह डील मामा और भांजी के बीच नहीं बल्कि एक मर्द और और एक औरत के बीच हो रही है. मैं समझ गया और एकदम से बात को घुमाकर बोला- अरे पगली … मैं तो तुम्हारे साथ मज़ाक कर रहा था. मां के बीएफ वीडियोअब बाबा लंड को धीरे धीरे धकेलने लगे थे और मैंने फिर एकदम से पीछे हाथ ले जाकर बाबा की कमर को पकड़ा और अपनी गांड पर उनके बदन को सटा लिया.

क्या तुम किसी मैकेनिक को जानते हो?मैंने भाभी से कहा- हां भाभी मैं कल सुबह एक मैकेनिक को बुला दूंगा. धीरे धीरे चुदते हुए अब वो भी गर्म हो गई थी और फिर से आह्ह … आह्ह … करते हुए मेरे लंड को गपागप गपागप अंदर बाहर लेने लगी.

वो बोला- 24 घंटे के अंदर इसको कभी भी खा लेना, तुम्हें गर्भ नहीं ठहरेगा. रुहाना बहुत तेज चिल्लाने लगी और कहने लगी- चूत में जलन हो रही है … निकालो इसे … आह्ह … बहुत दर्द हो रहा है. मैंने गाड़ी रोकी और उनसे पूछा- क्या हुआ मैम, आप यहां क्या कर रही हो?मैम बोलीं- मेरी स्कूटी खराब हो गई है.

ये बोलकर मैंने रमेश को बांहों में भर लिया और उसके लंड को सहलाते हुए उसके गालों पर चूमने लगी. मैं अकेला रह गया था क्योंकि मुझे पेपर के बाद किसी काम से कुछ दिन रूम पर ही रुकना पड़ा।एक दिन मेरे पापा का मुझे फोन आया तो उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे पहले ही दिल्ली आ जाना चाहिए था. फिर श्रुति ने अपने घर वैशाली को बुला कर मेरी बात उनसे फोन पर करवायी.

तेरे बदन पर कहां कहां क्या निशान हैं वो तो मैं अच्छी तरह से देख चुका ही हूं.

अब तो वो 15 दिन तक बिना चुदाई के रहने के लिए बोलने लगी थी … ताकि उसकी हालत ठीक हो जाए. तभी मैं मम्मी से बोला- मम्मी मुझे भी प्यास लगी है, मुझे भी अपनी पेशाब पिला दो.

उस वक्त मैं यही सोच रहा था कि सच में आंटी हॉट माल हैं, इनको पकड़ कर अभी चोद चोद कर ऐसी हालत कर दूं कि वो दो दिन तक चल ही ना पाएं. कुछ देर तक लंड चुसवाने के बाद मैंने अपने लौड़े पर कॉन्डोम पहन लिया. मगर आज यह सत्य था कि चारू मेरे सामने है और मैं जैसे चाहूं उसे भोग सकता हूँ.

कामवाली बाई की चुदाई की ये कहानी आपको कैसी लगी मुझे इस बारे में अपना फीडबैक जरूर दें. मैंने फिर से उसके होंठों से होंठ लगा दिए और इस बार मैं अपने हाथ बढ़ा कर उसके एक बूब को दबाने लगा. फिर भाभी नाईटी पैंटी लेकर नंगी ही गांड हिलाते हुए अपने कमरे में चली गईं.

एचडी बीएफ चाहिए बीएफ नीता अपनी नाइटी ठीक करके वापस से जाने लगी तो मैंने उसका हाथ पकड़़ कर कान में फुसफुसाया- मैंने जो कहा था वो काम कब करेगी?वो मेरे कान में फुसफुसाते हुए बोली- मैं अब जाकर शिल्पी को गर्म करूंगी और उसको किसी बहाने से बाहर भेजूंगी. इधर मैंने भी उल्फ़त की अधूरी चुदाई की थी तो मेरा लंड भी एकदम लोहे की तरह सख्त था.

सेक्सी वीडियो बीएफ चाहिए सेक्सी

अब तक मैंने संजना आंटी के बारे में कुछ भी गलत नहीं सोचा था लेकिन एक दिन कुछ ऐसा हो गया, जो हम दोनों करीब आ गए. मम्मी बीच बीच में पाद रही थीं और उनकी गांड की खुशबू मुझे घायल कर रही थी. हालांकि मुझे अपनी बीवी के किसी दूसरे लंड से चुद जाने से कोई गिला नहीं था.

भाभी मेरे लंड को मादक निगाहों से घूरने लगीं और अपने होंठों पर अपनी जुबान फेरने लगीं. वो हर वक्त सेक्स के लिए तैयार रहने वाली लड़़की थी इसलिए मुझे उसके साथ बहुत मजा आता था. क्सक्सक्स बिहारीफिर उसने हमारा नाम पूछा और जैसे ही हमने नाम बताया उसकी त्यौरियाँ चढ़ गई.

उसकी चूत के छेद से चड्डी साइड में सरकाई और चूत के छेद में टोपा टच कर दिया.

आधा घंटे की इस मस्त सेक्सी चैट में मैंने भाभी जी को स्खलित करवा दिया था. ये सोच कर डर रहा था कि कहीं मेरे जिगरी दोस्त को उस रात की घटना के बारे में पता न चल गया हो.

इससे अच्छा मौका मेरे लिए नहीं हो सकता था तो मैं इतना कहते ही चाची को एक किस करने लग गया. दोस्तो, आप लोग को तो पता ही है पेपर डांस में कितना चिपकना पड़ता है. उसने तुरंत अपना लंड दीदी के मुँह में पेल दिया और दीदी के मुख चोदन में लग गया.

मुझे उसके बारे में ये सब बताते हुए शर्म आ रही है, पर मैंने खुद अपनी आंखों के सामने अपनी शादीशुदा बहन को कई गैर मर्दों के साथ चुदवाते हुए पकड़ा था.

जब मैं अपनी बहन की चुत चूसने लगा तो वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ़्फ़्फ़. किस्मत से वो भी बेटी ही थी और कुछ दिन बाद नजमा बाजी का फोन आया और उन्होंने मुझे पास के ही सरकारी अस्पताल में बुलाया. हम पुलिस के चक्कर में नहीं पड़ेंगे।नजमा बाजी बिल्कुल निराश हो गई। मगर मैं और रुबीना बाजी बहुत खुश थे.

गुजराती चोदने वाला वीडियोमैंने कहा- आप अपने सूट पर पानी डालकर साफ़ कर लो, वरना दाग लग जाएंगे. मैंने भी उसकी चूत में लंड की ठोकर देते हुए बारी बारी से उसकी दोनों चूचियों को खूब चूसा.

हिंदी सेक्सी बीएफ पिक्चर चाहिए

मेरी सहेलियां अक्सर मुझे अपनी चुदाई की कहानियाँ सुना कर बेचैन कर देती थी. दस से पांच की मेरी क्लास रहती और शाम को मम्मी के साथ जाती।एक दिन मुझे इंस्टीट्यूट से अपना आई डी कार्ड बनवाना था तो अपनी टीचर से पूछा. करीब दस मिनट के बाद मैं झड़ने वाला था, तो मैंने लौड़ा बाहर ही निकालने वाला था.

और कब सामान्य बातों से हम प्यार की बातों पर आ गये, हमें पता ही नहीं चला और हम बस कॉलेज और उसके बाहर बस प्यार की बातें ही किया करते थे।कॉलेज में जब हम साथ होते थे तो मौक़ा पाकर मैं कभी कभी उसकी जाँघ या पीठ पर हाथ फेर देता था जिससे वो सिहर जाती थी।अब वो मेरी गर्लफ्रेंड बन गयी थी. मैंने मां से पूछा- मां मौसी कहां गई हैं?तो मां ने जवाब दिया- वो हॉस्पिटल में एडमिट हैं. छोटी वाली सुरेखा बुआ का 35-33-40 का फिगर था और रचना बुआ का 40-32-42 का था.

मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?वो ज्यादा कुछ नहीं बोली तो मैं समझ गया कि ये घर से दूर रहने आई है इसलिए दुखी है. मैं सोच में पड़ गया कि क्या करूं, पर दीदी का सवाल था, तो सोचा कुछ भी हो जाए, फिर से देखता हूँ. नहाने के बाद मैं कमरे में गया और टी-शर्ट पहन ही रहा था कि वो कमरे में आई और मेरी चूची पर जोरदार दाँत काट कर भाग गई.

मैं अभी ये सब सोच ही रहा था कि पीछे से किसी ने मेरे कंधे पर हाथ रखा. तो मैंने उनसे बोला- बुआ, आप दोनों से एक बात पूछ सकता हूँ?बड़ी बुआ बोलीं- हां पूछ न!मैं बोला- आप बुरा तो नहीं मानोगी?वो बोलीं- नहीं मानेंगे … तू बोल.

बहन चोद सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मामा के घर गया तो उनकी बेटी जवान हो चुकी थी, गजब माल लग रही थी.

उसने भी ख़ुशी ख़ुशी मुझे पहले वो हिस्सा दिखाया, जिसमें उसका कॉमन रूम, किचन, बेटे का कमरा, गेस्ट का कमरा, डाइनिंग रूम और एक बड़ी से बालकनी थी. बंगाली सेक्सी पिक्चर बीएफमैंने गिना तो नहीं लेकिन जब भी हम दोनों को मौका मिलता है … हम दोनों चाची के घर पर या ऐसे ही किसी होटल में चुदाई का मजा ले लेते हैं. देसी एक्स एक्स एक्स इंडियनएक घंटे बाद जब मैं अपने घर जाने लगा, तो सर ने बोला कि जो मैंने पढ़ाया है, उसको घर पर जा कर रिवाइज़ करना और कल होमवर्क करके आना … वरना सज़ा मिलेगी. बस तू तैयार रहना।”मैं उनसे अलग हुई और अपने कपड़े ठीक करके बोली- अच्छा.

मैं रसोई से तेल ले आया और मैं मां से कहा- मां, आप अपने कपड़े थोड़े ऊंचे कर लो.

मैं उसके होंठों से गर्दन तक चूसते चूसते उसके मम्मों तक आ गया।उसके मम्में बहुत ही उभरे हुए थे, लगभग 40″ के होंगे; एकदम गोलमटोल चूचे थे।मैं उन्हें ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने और चूसने लगा।अब मैंने ब्लाउज का पहला बटन खोला फिर दूसरा बटन खोला। शांता की धड़कनें तेज हो गयीं. यीशा ने कुछ नहीं कहा … तो उसने यीशा की दोनों चूचियों को अपने हाथों से पकड़ कर एक जोर का धक्का मार दिया. मैंने अपना एक हाथ भाभी के पेट के ऊपर से सरकाते हुए पहले नाभि में उंगली चलाई, फिर नीचे साड़ी में घुसेड़ कर चुत की ऊपरी हिस्से में घिसने लगा.

उसने अपनी मामी की कमर में हाथ डाल और कहा- मेरी जान, इसको सब पता है. तभी दूसरी तरफ से प्रिन्सिपल भी आ गया, उसने भी मेरी जांघ पर हाथ रख दिया. अब दोनों पूरे गर्म हो गए थे, मैं अपनी फुल स्पीड से चोदने लगा।आहह आहह ऊईई ऊईई सीईई सीईई आहह करके वो लंड ले रही थी।फिर मैंने उसे घोड़ी बना कर जमकर चोदा।उसके बाद उसकी टांगों को चौड़ा करके चोदने लगा और थोड़ी देर बाद दोनों एक साथ पानी छोड़ दिया और चिपक कर लेट गए।20 मिनट बाद मैंने उसकी गान्ड में लन्ड रगड़ना शुरू कर दिया.

बीएफ वीडियो सील तोड़

राजीव भी समझ गया कि अब यीशा की चूत को मजा आने लगा, वो जोर जोर से लंड अन्दर बाहर करने लगा. फिर उसने मुझे गोली का एक पत्ता दिया, उसके साथ ही एक गोली अलग से दी और बोला- इसे खा लो. मेरी दीदी शादीशुदा होते हुए भी रोज जिम जाती हैं … योगा करती हैं और अपने आपको सेक्सी दिखाने के लिए डांस भी करती हैं.

जब किस करने से भाभी ने कुछ नहीं कहा तो मैंने अगला निशाना उनके कान और गर्दन को बनाया.

बड़ी बात तो ये थी कि उसने अपना सिन्दूर मिटा दिया था … मंगलसूत्र भी उतार दिया था.

मुझे पता नहीं था और ना ही उसने बताया कि चुदवाने से आठ दिन पहले उसकी एमसी बंद हुई थी. मैंने उसका नाड़ा खोल दिया और उसकी चूत को पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा. हिंदी में बीएफ एचडीमेरे मुंह से भी आह्ह … आह्ह … की आवाज निकलने लगी लेकिन किसी तरह मैंने खुद को रोका और उसको लंड चुसवाता रहा.

मैं उसके मचलते बोबों को मसल रहा था, साथ में धीरे धीरे उसकी पीठ से उसे ऊपर नीचे होने में मदद भी कर रहा था. अंकल मॉम की चुदाई जोर जोर से कर रहे थे और मॉम के मुंह से आह्ह … आह्ह … की तेज तेज चीखें निकल रही थी।मुझे मॉम की चूत में जाता हुआ लंड साफ साफ दिखाई दे रहा था और मुझे ये देखकर बहुत मजा आ रहा था. मैंने उनसे कहा- अब देर न करो, पहले मेरी प्यास बुझा दो, मैं अभी कुँवारी हूँ, बाद में में मेरे जिस्म से खेल लेना.

फिर मेरी बड़ी बहनों नजमा और आसिफा बाजी के आ जाने के बाद घर में भीड़ हो गई।हमारे घर में अब चूत तो बहुत थीं मगर चोदने का मौका नहीं था। हम काफी दिन तक चुदाई नहीं कर सके. जिसको वो पहले तो पूरा पी गया और फिर उनकी चूत पूरी चाट चाट कर साफ कर दिया।अब मामी उठी और सागर की गोद में बैठ कर उसको बहुत प्यार करने लगी और साथ ही साथ बोली- आज पहली बार किसी ने मेरी चूत चाट कर मेरा पानी पिया है.

आप लोगों को तो पता ही होगा कि अकेले रूम में इंजीनियरिंग का स्टूडेंट रहता है, तो क्या होता है.

उधर ज़ोहरा अपना ने कभी भी अपनी चूत अपने शौहर रफ़ीक़ से नहीं चुसवाई थी. आपबीती सुनने के बाद मैंने उससे पूछा- अब कहाँ जाओगी?वो बोली- पता नहीं. मैं भाभी को किस करते करते नीचे आ गया और अपना मुँह उनकी चूत पर लगा दिया.

सनी लियोन एचडी एक्स एक्स एक्स कुछ दिन बाद मेरी माहवारी के समय पर माहवारी नहीं हुई तो मैं बहुत खुश हो गयी. उसका एकदम गोरा बदन, इस समय ब्रा पैंटी में वो किसी ब्लू फिल्म की रंडी से कम नहीं लग रही थी.

मुझको 10 साल पुरानी बात आज भी याद है कि मैं सेक्स प्रति कितना उत्तेजित हुआ करता था. पांच छह जोर के चांटे मारने के बाद वो मेरे ऊपर ही ऐंठने लगीं और वो मेरे ऊपर ही निढाल होकर गिर गईं. लेकिन मैंने सोचा हुआ था कि मैं अपनी शादी के बाद ही अपनी चूत को अपने पति से ही खूब चुदवाऊँगी और सेक्स का मजा लूंगी.

अंग्रेजी बीएफ सेक्स बीएफ

सागर ने अपनी शर्ट निकाल दी और वहीं पर टंगी अपनी शॉर्ट्स पहनकर वो वहीं सोफे पर लेट गया. फिर वो सहलाते हुए बोली- जिन्दगी में पहली बार मुझे सेक्स में ऐसी संतुष्टि मिली है।मैंने पूछा- मौसी तुम कब झड़ीं?वो बोली- जब तू मेरे होंठों को चूसते हुए मेरी चूत को तेजी से चोदने में लगा हुआ था. बीच बीच में मैं हल्का हल्का धक्का मारने लगा। 5 मिनट के बाद लण्ड का सुपाड़ा पहली बार अंदर गया। उसे दर्द हो रहा था।मैंने शांता को कहा- अभी प्लीज हिलना मत … बड़ी मुश्किल से अंदर गया है।वो बोली- साहब, धीरे धीरे ही अंदर डालना।मैंने कहा- अगर ऐसा ही चलता रहा तो पूरे दिन में भी लण्ड अंदर नहीं जायेगा। तुम थोड़ी देर के लिए सहन कर लेना.

अब वो पूरा लंड आराम से ले रही थी।फिर मैंने उसे अलग अलग एंगल से चोदा और उसकी चूत में वीर्य छोड़ दिया।उस रात मैंने उसे 4 बार जमकर चोदा और सुबह 4 बजे मैं चुपचाप अपने घर आ गया।दिन में मैं 12-1 बजे उठा. इसी तरह दस मिनट के बाद जब मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूं तो मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उनके मम्मों के ऊपर सारा पानी डाल दिया.

मैं आपको कैसे भूल सकती हूं।मैं उसकी बातों को अनसुना कर और तेज़ी से धक्के लगाकर उसे चोदने लगा.

आंटी मेरे सर को पकड़ कर अपने चूचों पर दबाए जा रही थीं और मैं उन दोनों रसीले आमों को जी भरके पी रहा था. तो माँ ने हंस कर कहा- ठीक है।माँ के मुंह से लण्ड चुसवाते मैं झड़ने वाला था और पापा भी।पूर्वी पलंग से नीचे घुटनों के बल बैठ गयी तो मैंने कहा- माँ आप भी आ जाइये न!तो माँ भी वहीं पूर्वी के बाजू में घुटनों के बल बैठ गयी. दुनिया के बारे में ज्यादा मत सोचो, कुछ महीनों के लिए अलग घर में जाओगे तो सब ठीक हो जायेगा।आखिरकार फिर दोनों ने अलग घर में रहने का निर्णय कर लिया।उनके इस निर्णय से मेरी तो जैसे लॉटरी ही लग गई.

इतनी चिकनी चूत होने के बादजूद लण्ड आधा ही घुसा लेकिन मेघा ऐसे चीखी मानो किसी हाथी का लण्ड घुस गया हो उसकी चूत के अन्दर।मैंने किस करते हुए उसकी आवाज रोकी और चोदना जारी रखा. आज की इस भाभी जी की चुत चुदाई कहानी की नायिका सोनिया (बदला हुआ नाम) है. हम सब काफी देर तक अपने बिस्तर पर बैठ कर बातें करते रहे। शादी में काफी महिलाएं भी आईं थी मगर मैं किसी को जानता ही नहीं था।मैं बस अपने मामा के बच्चों के साथ ही लगा रहता था लेकिन वो भी ज्यादा देर तक साथ नहीं रह पाते थे.

आप परेशान क्यों हो रही हो?उसके बाद उसने जो कहा, उसे सुनकर मेरे होश उड़ गए.

एचडी बीएफ चाहिए बीएफ: वो बोली- मगर साब … आज तक मैंने अपनी गांड में उंगली तक नहीं डाली तो ये गधे जैसा लंड कैसे जायेगा?उसकी गांड पर हाथ फिराते हुए मैंने कहा- तू उसकी चिंता न कर!ये कहकर मैंने शांता के मम्मों को दबाना चालू किया. वो मुझे किस करने लगे मेरी गालों पर … कानों पे!और मैं उनका लंड हाथ से आहे पीछे करके सहलाने लगी.

कभी रानी की चूचियों को दबा रहा था तो कभी पिंकी की चूचियों को दबा रहा था. कुछ देर की चूसा चुसाई के बाद मैंने उसको पटका और उसकी चूचियों पर टूट पड़ा. इसके बाद शकील ने अपना हाथ अम्मी की चुत पर रख दिया, जिसे अम्मी की सिसकारी निकल गई.

फिर मैं नीचे बैठा और अपना लंड उसके मुँह के ऊपर सटाकर अपना माल छोड़ दिया.

उस पर वो बोली- दामाद जी, धीरे धीरे करो, अब तो मैं तुहारी ही हूं।फिर मैंने सासु माँ को बेड पे लेटा दिया और नीचे हाथ ले गया तो मेरा हाथ उनकी चूत से निकले पानी से गीला हो गया. इसीलिए मैं उसके सिलसिले में बैंक में चली गयी।जब मैं बैंक में गई तो मुझे वहां पर अमित जी मिल गए और उन्होंने मुझे पहचान लिया. उसकी नज़र भी इसी चीज़ पर थी।कुछ देर इसी तरह देखने के बाद दरवाज़े किसी ने खटखटाया तो अब मेरी और मामी की दोनों की एक साथ फटी की कहीं मम्मी या सपना तो नहीं आ गए।मामी उठी और थोड़ा सा ही दरवाज़ा खोल कर देखा तो बगल वाली आंटी को मम्मी से कुछ काम था.