तमिल बीएफ फुल एचडी

छवि स्रोत,डबल सेक्सी सेक्सी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स बनाम कामुकता: तमिल बीएफ फुल एचडी, तो जगत अंकल बोले- अरे उठते समय वन्द्या का सर कार की छत से लग गया था.

nachoonga सेक्सी

रूपा ने अपने हाथ बढ़ाए और मेरे लंड को अपनी मुट्ठी में लेकर सहलाने लगी. पंजाबी सेक्सी वीडियो इंग्लिश पिक्चरजब तुम्हारे लंड से चुदकर इतना मज़ा आता है तो 2 लंड के साथ चुदने के मज़े के बारे में सोचकर मुझसे रहा ही नहीं गया इसलिए मैं सारी तैयारी पहले से ही करके बैठी हूँ.

‌ मुझे पता था कि स्खलित के‌ बाद भाभी तो अब कुछ करने‌ से रहीं, इसलिए मैंने‌ अब खुद ही कमान‌ सम्भाल‌ ली. लड़कियों कुत्ता का सेक्सी वीडियोभाभी चुपचाप नीचे चली गई लेकिन उनको मेरे मोटे लंड की फीलिंग पूरी हो चुकी थी.

अनिल अब मीनाक्षी का पूरा मुँह चोदने के बाद उससे बोला- अब कुतिया बन जा.तमिल बीएफ फुल एचडी: उसकी बात से मैं डर गया, लेकिन मुझे अपने लंड पर पूरा यकीन था, तो मैं बहुत देर तक उसके बदन को चूमता रहा और सहलाता रहा.

मैं- बोला न सॉरी … गलती हो गई, चाहो तो कोई सजा दे दो, लेकिन उन्हें मत बताओ … बहुत मार पड़ेगी.जैसे ही मैंने उसे देखा, मेरा मन खिल उठा।अगली दो रातें कब कैसे निकल गईं, पता भी नहीं चला.

हिंदी सेक्सी वीडियो प्रियंका - तमिल बीएफ फुल एचडी

वह दर्द से कराहने लगी लेकिन मैंने सोचा कि अब अगर रुक गया तो फिर दोबारा डालने में इसको और ज्यादा परेशानी होगी इसलिए मैंने एक झटका और मारा तथा 7.मैं उसे गले पर चुम्बन करते हुए बोला- तो आ जाएं … क्या होगा उसको भी यहां तुम्हारे साथ ही चोद दूँगा.

चूत का पानी चाट लेने के बाद भी वो मेरी चूत को चाटता रहा, जिससे मैं फिर से गरम हो गई. तमिल बीएफ फुल एचडी मेरे दोनों हाथों में भाभी के मम्मे आ गए और भाभी बिल्कुल मेरे ऊपर गिरी और सामान भाभी के पांव पर गिर गया.

अगले ही पल उसने उठ कर मेरी जीन्स भी उतार दी और अंडरवियर में तना हुआ मेरा लौड़ा देखने लगी.

तमिल बीएफ फुल एचडी?

मुझे देखते हुए देख कर भाभी बोली- ऐसे क्या देख रहे हो राजा?मैंने खा- भाभी की चूत का मूत देख रहा हूँ. बहरहाल प्रशांत ने नीना का मन टटोला- आज क्या इरादा है मैडम?इस बात पर प्रशांत को उलाहना देते हुए नीना बोली- आज न तो बारिश हो रही है और न बाइक धोने की जरूरत है. ओह माई गॉड … क्या कसी हुई चिकनी चूत है तेरी!” राजीव ने हैरान होकर कहा.

उसने मेरी टांगों को खोला और मेरी गर्म गीली चूत में सीधे अपनी जीभ डाल दी. मुझे लगा था कि यदि उन्हें गलत लगेगा तो वे मुझे दूर कर देंगी, लेकिन उस सूरत में मुझे ये जताने का बहाना रहेगा कि मैंने तो उनको चुप कराने का प्रयास किया था. मैंने उसे वापस बुलाया, उससे बात की और उसे समझाया कि कोई परेशानी की बात नहीं है, मैं किसी को कुछ भी नहीं बताने वाला हूँ.

कार चल रही थी और सुनील मेरी चूत के अन्दर लंड डाले धक्के मारने में लगा रहा. लगभग 5 मिनट तक हम ऐसे ही दोनों किस करते रहे और भाभी की कामुकता बढ़ने लगी. फिर मैं भाभी को अपने नीचे लेकर उनके ऊपर आ गया और भाभी के कान और गले पर किस करने लगा.

वंदना ने खुद अपने पेट पर मेरा हाथ को पकड़ लिया और मेरी तरफ देखने लगी. इधर नीना कॉफी सिप करने लगी तो प्रशांत आज की चुदाई का रास्ता साफ करने में जुट गया.

धीरे धीरे अन्दर घुसाते हुए आधी उंगली, फिर धीरे धीरे पूरी उंगली सोनल की चूत के अन्दर पेल दी.

उन्होंने मेरा 6 इंच का लंड अपने मुँह में भरा और अन्दर लेकर लंड चूसना आरम्भ कर दिया.

मैंने जानबूझ कर उससे कहा- दीदी दरवाजा बंद किया करो, आप डायरेक्ट इस तरफ बाहर आती हो, कोई दूसरा होता तो न जाने क्या हो जाता. मैं कुछ बोलती कि वे ड्राइवर को बोले- एक मिनट के लिए थोड़ा गाड़ी वहीं पर बगल से लगा लो. मैंने देखा देविका मैडम छाते के साथ हाथ में टिफिन लिए मेरे गेट पे खड़ी थी.

ये सोच तू कितनी गरम और चुदासी है कि इतने बड़े मोटे विदेशी नीग्रो के लंड तेरी गांड और तेरी चूत में डले हैं. सेक्टर 17 में मुझे लोन लेने वाले के बारे में जानकारी करनी थी। जब मैं वहाँ गया तो दरवाजा एक नौकरानी ने खोला।मैंने मालिक के बारे में पूछा तो वो मुझे ड्राइंगरूम में बिठा कर मालिक को बुलाने चली गई।कुछ देर बाद एक बहुत खूबसूरत औरत बाहर आई. हम दोनों एक दूसरे की बांहों में लिपटे हुए कुछ मिनट तक ऐसे ही चूमते रहे.

मैं कह सकता हूँ कि मेरा लंड किसी को भी संतुष्ट करने के लिए एकदम परफेक्ट है.

शायद उसके शौहर ने आज तक उसकी चूत नहीं चाटी थी, इसीलिए वो इस मदहोशी से पागल सी हो गयी. वो भी एक चाची और भतीजे के बीच सब हो रहा था, जो शायद जल्दी से कहीं नहीं होता होगा. भाभी मादक स्वर में कराह रही थीं- आआह … ओह … देवर जी आज मुझे अपनी बीवी बना लो!फिर मैं भाभी के दूध पीने लगा.

मेरी यह कहानी मेरी पिछली कहानीवो मुझे भावनाओं में बहा ले गईको आगे बढ़ाती है. सोये नहीं?तभी नानाजी ने हमारी तरफ अपनी टॉर्च चमकाई और बोले- लव भी आ गया तेरे साथ. मैं अकेला खड़ा होकर, बड़ा अजीब सा महसूस कर रहा था, लेकिन कर भी क्या सकता था.

इस बार मेरे खूब जकड़े रहने के बावजूद भी वो नहीं माना और उसने फिर से अपना लंड चूत से बाहर निकाल लिया.

अब गमछा जो मेरी जांघ पर था, उसे अपनी तरफ़ ले लिया और मेरे कान में धीरे से बोले कि वन्द्या तुम थोड़ा सा उठो ऐसे खड़े हो कि किसी को कुछ समझ न आए. उसकी चूत गीली थी सो एक ही धक्के में मेरा लंड उसकी चूत में चला गया और वो कराह उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो कराहने के साथ साथ मुस्कुरा भी रही थी और कह रही थी कि आज इस फौलादी लंड से चुदवाने का मज़ा आएगा.

तमिल बीएफ फुल एचडी मैंने सोनू के टॉप में से उसके चूचों पर हाथ रखा तो पता लगा सोनू ने ब्रा पहन रखी थी. कसम से दोस्तों, मैंने बहुत सी लड़कियों व औरतें से सम्बन्ध बनाये हैं … मगर आज तक प्रिया के जैसी कोई नहीं मिली थी.

तमिल बीएफ फुल एचडी मैंने तुरंत जगत अंकल को कान में बोली- जगत छोड़ जल्दी से … बगल वाले अंकल ने सब देख लिया है. मैं शुक्रवार के दिन उसके घर गया था, तब मेरा दोस्त कहीं बाहर गांव गया हुआ था.

और मैं किचन में दूर से देखने लगा कि चाची की साड़ी उसकी गांड को टाइट कसे हुए थी और कमर का हिस्सा साफ नज़र आ रहा था.

xxx की कहानियां

जब वो स्कूल से कॉलेज गयी, तो हर महीने कोई न कोई लड़का उसको चोदता रहता था. मन तो मेरा भी है, लेकिन करूँ क्या?तब मेरे मित्र ने मुझे सुझाव में कहा- देख यार, कोई भी पराई औरत खुद तुझे नहीं कहेगी कि आओ और मुझे चोद दो, इसके लिए तुम्हें ये जानना होगा कि तुम्हारा स्पर्श उसे अच्छा लगता है या नहीं … अगर कोई आपत्ति नहीं है, तो फिर मजे ले लो. चूत चाहे किसी भी हो, काली हो या गोरी हो, बस उसकी चुदाई में मज़ा आना चाहिए.

फिर मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और घोड़ी बना दिया और पीछे से अपना लंड उसकी चूत में डाल कर चोदने लगा. उन सबकी चुदाई के बारे में बाद में बताऊंगा, फिलहाल इस कहानी के बारे में बात करता हूं. रिक्शे वाले को बोल कर कि किसी अच्छे होटल में ले चले … हम फिर से अपनी चुम्मा चाटी में मस्त हो गए.

कहानी का पिछला भाग:अपने चोदू को माँ का पति बनवाया-3अमीषा ने माँ से कहा- माँ, तुम को यह तो सोचना चाहिए था कि घर पर एक जवान लड़की है.

मेरी शादी हो चुकी है, मेरी बीवी बहुत सुंदर है और मेरी 8 साल की एक लड़की भी है. इसके पहले की उसकी चड्डी उसके लंड को ढकती, मैंने तेजी से आगे बढ़कर उसे अपने मुंह में ले लिया. इन दो घंटों में हेमा भाभी मुझे कई बार अपने छोटे मोटे काम के बहाने अपने घर नीचे बुला लेती थी.

फिर भाभी ने मेरे से पूछा- मैंने सुना है कि आपकी बहुत सारी जीएफ हैं. टॉयलेट में जाते ही हम दोनों ने देर न करते हुए अपने अपने कपड़े उतार दिए. साथ ही कॉफी खत्म कर चुकी नीना की पीठ पर अपने हाथों की प्यारी सी झप्पी देते हुए बोला- मेरीजान, आ जा.

अब मैं खड़ा हुआ और वंदना की पैंटी देख कर कहा- यह तो बहुत गीली हो गई है. दस मिनट बाहर खड़ा रहकर आया और उससे फिर से पूछा कि आपको कोई तकलीफ़ है, तो बताइए.

मेरी नाभि के नीचे का हिस्सा सारा दिख रहा था क्योंकि ब्लाउज लो-कट था और पीछे से बाकी का सारा सब कुछ दिख रहा था. तेरे लिए ही तो तेरे साले इस पति के भागता फिर, इसे मनाया … इसे अपनी गाड़ी में घुमाया … सिर्फ तेरे लिए. वो बोली- अच्छा तो कैसी लगी मेरी?मैं बोला- क्या?तो वो बोली- मेरी बुर?मैं बोला- अच्छी है.

वो दूध सी गोरी और चिकने बदन की मालकिन थी, परंतु उसमें अपनी सुन्दरता पे बहुत घमण्ड था.

मैंने भी अब एक लम्बी सी सांस अन्दर खींची और तेज़ी से अपनी पूरी जीभ उसकी चूत में डाल कर अन्दर बाहर करने लगा. मैंने अपने लौड़े को हाथ में लेकर सहलाना शुरू कर दिया और ज्योति के पास चिपक कर रगड़ने लगा. एकता बोली- क्यों तेरा शोना नहीं मिला क्या इतने दिन?ये कह कर वो मुस्कुराने लगी.

मैं उस पल को एहसास को कभी नहीं भूलना चाहता जब मैंने धीरे धीरे अपने लंड को आंटी की चूत की गहराई में उतारा था; मानो मैंने लंड चूत में नहीं किसी गर्म भट्टी में झोंक दिया हो!जैसे ही मैंने लंड अंदर किया, एक आह चाची के मुख से निकली जिसमें सुकून भरा दर्द था. जब मेरी टांगें पुंछ गईं, तब तक तो कोई बात नहीं थी, लेकिन जब मैं उसका लहंगा उठा कर ऊपर का शरीर पौंछने लगा तो मेरा लंड उसकी गांड से टच कर गया.

मैँ एक गठीले बदन का मालिक हूँ। इसके पीछे का राज़ भी आपको बता देता हूँ। मैं नियमित रूप से जिम जाता हूँ। मैं एम. सच तो यह है कि अभी तक मैंने आपका ठीक से चेहरा भी नहीं देखा है कि कैसे दिखते हो आप … और घूम के देख भी नहीं सकती हूं. अजय का लंड तो मोटा था ही लेकिन उसके हाथों की मांसल उंगलियां भी लंड जैसी ही फील दे रही थीं.

फास्ट नाइट

तभी मुझे कुछ अजीब सा लगा, मैंने अपने हाथों को और अच्छी तरह से सहला कर देखा तो पाया कि प्रिया ने पेंटी भी नहीं पहनी हुई थी, इसका मतलब था कि वो पूरी तैयारी के साथ ही मेरे पास आई थी.

तभी उसने कहा- सर … हैलो सर … क्या हो गया …? आप इतनी गौर से मुझे देख रहे हैं?मैडम ने ये थोड़ा इतरा कर बोला, तो मैंने हकलाते हुए कहा- नहीं नहीं … कुछ नहीं. अन्दर दादाजी शांति से सोये हुए थे और सोनल उनके बेड के पास स्टूल पर बैठी हुई थी. सैक्स कहानियों के शौकीन मेरे प्यारे मित्रो, मैं निशा शर्मा हूँ, मेरी काफी कहानियां अन्तर्वासना पर प्रकाशित हो चुकी हैं। आपने भी मेरी कहानियों को पढ़ा होगा.

चाची के विशाल चूतड़ों को दोनों हाथों से मसलते हुए मैं शान्ति चाची को धकापेल चोदने लगा. हम दोनों ही अब अपने अपने पूरे शवाब पर थे और हम दोनों में अपनी अपनी मंजिल पर पहुंचने की जैसे कोई प्रतियोगिता सी शुरू हो गयी थी. सेक्सी पिक्चर सेक्सी सेक्स सेक्सईई … ईईई …” सिसयाते हुए उसने‌ मुझे रोकने की कोशिश तो की, मगर तब तक मैंने उसको बिस्तर पर गिरा लिया था.

मम्मी के मुँह से इतना सुनते ही जगत अंकल की तो जैसे बिन मांगे मुराद ही पूरी हो गई थी. उसको देखते ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया और मेरे दिमाग में शैतानी आने लगी.

इसी सोच में शाम हो गयी, फिर मैंने रात का खाना बनाया और खा कर साफ सफाई की. दो छत्तीस साइज़ के मम्मे और दो बत्तीस साइज़ के सख्त बूब्स आज़ाद हो गए. साली अनु ने मेरा लंड कभी भी इस तरह से नहीं चूसा था … और आंड तो आज तक नहीं चाटे थे.

वो टांगें फैला कर गांड उठाते हुए बोली- दो उंगली से करो न!मैंने वैसे ही किया और उसकी चूत के दाने को मसलने लगा, तो वो ज़ोर ज़ोर से उम्म्ह… अहह… हय… याह… करने लगी. चुदाई के बाद कुछ देर रुक कर वहां से उठ कर ऊपर रूम में जा कर सो गया. मैंने धीरे से उसकी चूत पे किस किया और फिर मेरे होंठ उसकी चूत की साइड पे चलने लगे.

वो अपनी जाँघों की दम पर मुझे भी धक्के से थोड़ा उठा देता, फिर नीचे करता.

शायद मैडम को पता था कि आज मेरा नौकर छुट्टी पे है, इसलिए उसने आज मेरे लिए भी डिनर बना लिया था. मैं गुजरात का रहने वाला हूँ और कंप्यूटर इंजीनियर के पद पर काम करता हूँ.

जैसे ही उन्हें पता चला कि मैं भी शादी में जाने के लिए आया हूँ, तो वो बहुत खुश हुईं. शर्म के मारे उन्होंने अब तुरन्त ही अपनी साड़ी व पेटीकोट से अपनी चुत को छुपा लिया और उठकर बिस्तर पर बैठ गईं. मेरी पिछली कहानी पढ़ने के बाद मुझे एक लड़की का मेल भी आया है कि वह हमारे साथ सेक्स करना चाहती है.

वो अजीब अजीब सी आवाजें निकालने लगी- ऊई आआआईई … उम्म्ह … हह …मैं उसकी टांग उठा कर घमासान चुदाई करने लगा. मैं घर से निकल गया, रास्ते में मैंने मेडिकल स्टोर से दो कॉन्डोम के पैकेट लिए और बैग में रख लिए, फिर रेलवे स्टेशन जा कर टिकट ली और ट्रेन में बैठ गया, क्योंकि कोटा जाने के लिए हमारे मन्दसौर से ही सीधे ट्रेन चलती है. मैं सोच रहा था कि अभी उनके पास चला जाऊं और उनकी मैक्सी उठा कर उनकी गांड में अपना लंड डाल दूं.

तमिल बीएफ फुल एचडी मेरी मॉम को सेक्स चढ़ चुका था, दो मिनट लंड चुसवाने के बाद नामित ने उन्हें अपनी बांहों में उठा लिया और सीधे ले जा कर बेड पर पटक दिया. खिड़की की तरफ ध्यान देने के कारण मैं नेहा की चुत को भूल ही गया था, जिसका अहसास नेहा ने अपनी चुत को मेरे चेहरे पर जोर से रगड़कर करवाया.

जवानी की चुदाई

जब भाभी ब्लाउज बदलकर बाहर आई तो पूछने लगी- मुन्ना कहां गया है और ये कुंडी किसने बंद की है?उस वक्त मुझे पता नहीं कौन सा भूत सवार था, मैंने भाभी को अपनी बांहों में भर लिया और उसके बूब्स को दबा दिया. अरे …! मैं इस दवाई की बात थोड़े ही कर रहा था … म मैं …” मैं अभी उससे ये सब बोल ही रहा था. चाची के बाद अब तक मैं 2 कुंवारी लड़कियों और दो शादीशुदा महिलाओं के साथ सेक्स कर चुका हूँ.

मेरे पास अपनी वासना को शांत करने के विकल्प बहुत हैं, पर समय और स्थान का अभाव था. सलोनी- उफ्फ … आह्ह!सिसकारियों की गूंज ट्रेन के शोर में दब सी गई पर मैं सुन सकता था. माता सेक्सी फोटोवह एकदम से कुतिया बन गई और फिर उसकी गांड मेरे सामने हिलने लगी जिसके कारण मेरे लंड से पानी निकलने को तैयार हो गया.

गीली नाइटी में आंटी की मोटी मदमस्त गांड और उनकी ब्लैक पेंटी कहर ढा रही थी.

मन में तो आया कि कह दूं कि आप जाइये तो बस … फिर ऊषा का और घर का मैं बराबर ध्यान रखूंगा. तैयार होकर मैं चाची के घर पर पहुंचा और मैंने दरवाज़े पर जाकर घंटी बजाई.

जिस कारण से थोड़े टाइम के बाद रुबीना का परिवार दिल्ली छोड़ कर चला गया. पता नहीं कब मेरी जान का चुदाई का मूड बन जाए और वे मुझ पर चढ़ने को आतुर हो जाएं. मैंने बारी बारी से दोनों के मम्मों को मुँह में भर कर और हाथों से दबा कर मजे लेने लगा.

उसने गाड़ी चलाना शुरू किया और एक गली से होता हुआ गाड़ी शहर से बाहर ले आया.

अगर उनके फिगर की बात करूँ तो उनकी हाइट 5 फीट 4 इंच की है और उनका साइज़ 40-34-42 है. तभी अनुप्रिया ने कामवासना से प्रेरित होकर मेरी मैक्सी उठा दी और मेरी चूत को चाटने लगी. सरोज चाची का चेहरा मेकअप के बाद इतना क्यूट लग रहा था कि मुझे लगा कि अभी सरोज चाची को पकड़ लूँ और अपना खड़ा लंड निकाल कर उनके मुँह में घुसा दूँ.

सेक्सी वीडियो अंग्रेजों की हिंदी मेंखैर अपने कपड़े सही करने‌ के बाद सुलेखा‌ भाभी ने हम दोनों के‌ प्रेमरस से भीगी उस पेंटी को बिस्तर से उठाकर अपने‌ ब्लाऊज में छुपा‌ लिया और फिर धीरे से कमरे का दरवाजा खोलकर पहले तो‌ इधर उधर देखा और फिर झटके में कमरे से बाहर निकल गईं. ‘तेरी चुचियां अच्छी हैं, थोड़ी छोटी हैं, पर चिंता न कर, रोज़ दबवाएगा मेरे से तो बड़ी हो जाएंगी.

सेक्सी नहाने वाला

मैं भी उसको किस करने लगा और दो मिनट चुम्मी करने के बाद मैंने उसके मम्मों पर हाथ लगाया तो उसने मेरा हाथ अपने मम्मों से हटा दिया. वह बोली- तुम्हारा भी चल रहा है क्या किसी के साथ?मैं उसकी आंखों को देख रहा था और मैं समझ गया था कि अब माल तो हाथ आने ही वाला है. तभी मामी ने उसको बेड पर लेटने के लिए कहा और मामी उसके लण्ड को चूत में सेट करके उसके लण्ड पर उछलने लगी और चुदने लगी.

अन्दर मेरे दादा जी मेरी सहेली सोनल के पास बैठे थे और अपना हाथ उसकी पैंटी के अन्दर डाल दिया था. वह डिल्डो लेने में इतनी मस्त हो चुकी थी कि उसकी हालत खराब होने लगी थी. मैं उसकी टी-शर्ट को ऊपर करते हुए उसकी चिकनी और गोरी गोरी गर्दन पर अपने होंठों से हल्की हल्की पप्पी दिए जा रहा था.

जेठ जी उन्हें बारी बारी चूस कर अपनी कमर से एक लय में धक्के दे रहे थे. लेकिन मेरे इस कहानी के पात्र मेरे स्कूल के सह शिक्षक श्रीमान शंकर कुमार झा हैं. उनके मर्दाना हाथों से हो रही मेरे स्तनों की मालिश की वजह से मेरी चुत पूरी गीली हो गई थी.

अमित- नेहा, तुम्हारा जिस्म बहुत मस्त है यार … मैं आज पूरी रात तुम्हें चोदना चाहता हूँ।मैं- मैं तो तुम्हारी ही हूँ जान … आज पूरी रात के लिए. ट्रेन प्लटफार्म पर लगी और मैं अपनी सीट वाले कम्पार्टमेंट में चला गया.

मैंने जब किसिंग करते-करते उसके मम्मों पर हाथ फेरा तो वो और भी मस्त हो गई और मेरे कपड़े उतारने लगी.

सुमन ने मुझे देखा तो वो मेरे से चिपक गई और मैं भी उससे चिपक गई और हम दोनों एक-दूसरी को किस करने लगी. सेक्सी ब्लू पिक्चर हिंदी में चलने वालीमैंने भाभी के गोरे बदन को हर जगह चूमा और उनके हुस्न की मुक्त कंठ से तारीफ की. राजस्थान की नंगी फोटोझड़ने के बाद जैसे जैसे वो आगे पलंग पर लेटती गयी, मैं उसके ऊपर लेट गया और फ़िर साइड में लुढ़क गया. उनको भी वही चाहिए था, उन्होंने मुझे पलट कर नीचे लिटाया और मेरी जांघों के बीच में आ गए.

फिर एकदम से उसने मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चूत पर ज़ोर से दबाया और उसकी चूत से रस की धार बह निकली.

स्कर्ट इतनी छोटी थी कि जब वह चेयर पर बैठी तो उसकी स्कर्ट और थोड़ी पीछे हो गई और उसके पट और ज्यादा दिखाई देने लग गए. मैं सहेली के भाई से बात कर रही थी कि तभी उसने मुझसे मेरा नंबर माँगा. मैंने घूमकर बाजू में सोई सोनल के बदन पर हाथ डाला तो पता चला कि वह बेड पर नहीं है.

शादी में व्यस्त होने के कारण मेरी वंदना से बात नहीं हुई, लेकिन दीदी को विदा करने के बाद हम सबने खूब एन्जॉय किया. इससे पहले मेरी एक कहानीमॉम की सौतेले बेटे से चुदाई की तमन्नाअन्तर्वासना पर आ चुकी है. तब मैंने देखा कि उसकी सीट पर उसका कॉलेज वाला आईडी कार्ड गिर गया था.

मस्तराम की सेक्सी वीडियो

मेरी छाती के उभार लड़कियों जैसे ज्यादा बड़े नहीं थे, पर फिर भी छोटी चुचियां थीं. उनकी चुत चुसाई से मेरी कामवासना भड़क रही थी और वह सिर्फ चुसाई से शांत नहीं होने वाली थी. आज मैं जो अपनी बात आपसे शेयर करने जा रहा हूँ, वो घटना फरवरी महीने की ही है.

चुदाई के मौके पर लंड का चौका नाम की यह कहानी एक घमंडी औरत ललिता जो कि एक काल्पिनक किरदार है, उसकी चुदाई की है.

मैं- बोला न सॉरी … गलती हो गई, चाहो तो कोई सजा दे दो, लेकिन उन्हें मत बताओ … बहुत मार पड़ेगी.

पहले तो मैंने अपने देवर को मना कर दिया, लेकिन बाद में मैं अपने देवर के मनाने पर मान गयी. कहानी के पिछले भागदेहाती मामा के साथ मेरे अरमान-1में आपने पढ़ा कि रवि मामा के लंड की तलब ने मुझे पागल सा कर दिया था और कई साल के इंतज़ार के बाद मैं उनसे अपने दिल की बात कह पाया था. सेक्सी ब्लू फिल्म वीडियो कॉममैंने भाभी से कहा- कोई बात नहीं, मैं एक बार सोनू को भी चोद देता हूँ, परंतु इस काम में आपको मेरी हेल्प करनी होगी.

मेरे पति ने अपना लंड सुपारे तक बाहर निकाला और फिर गांड में घुसाने लगे. दो मिनट लिपटे रहने के बाद मियां उठ गया और अपने कपड़े पहन कर अनवर से बोला कि अब तू भी जल्दी से निपटा दे. वह मेरी पहली कस्टमर थी और जब उनको यकीन हो गया कि मैं सही बन्दा हूँ तो मैंने अपने ट्रेवल का चार्ज 2000 रूपये बताया.

मैंने पूछा- क्यों?वह बोली- उनको चूत चाटकर बहुत मज़ा आता है।मैंने मज़ाक में कहा- दीदी आपकी चूत तो अब काफी बड़ी हो गई है. मम्मी ने राज अंकल और ड्राइवर अंकल को देख कर हाथ हिलाया कि गाड़ी आगे ले जाओ.

फिर अनवर ने अपने लंड को मेरी चूत में घुसा घुसा कर लंड को अन्दर बाहर किया तो अचानक से मेरा पूरा दर्द अपने आप गायब होने लगा.

शाम को सुनीता फिर से आई और मुझे देखते हुए दीदी को बोली कि मेरे वो आज भी नहीं आएंगे, घर में सब्जी ही नहीं है. अब मैंने उसे पलंग के किनारे पर करके उसकी चुचियों को पकड़ कर धक्के लगाने शुरू कर दिए. मुश्किल से पांच मिनट के भीतर नीना लौड़े को चूत में उड़ेल देने के लिए चीखने लगी.

लड़की और बकरे की सेक्सी अब वह दादाजी के सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थी, ब्रा पैंटी तो मेरे बेड पर ही पड़ी थी. मैंने उन्हें धक्का देकर पेट के बल बेड पर गिरा दिया और उन्हें पीछे से अपने नीचे दबा कर गुलाल रगड़ता रहा.

चूंकि पहला दिन था इसलिए मैं बड़ा संभल-संभलकर और उसकी सहमति ले लेकर कदम उठा रहा था और कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहता था. वो तो मैंने धीरे धीरे उस आदमी को मौसी के मन से निकाला है और बड़ी मुश्किल से तैयार किया है इस सबके लिए!”मौसी ने दुबारा शादी क्यों नहीं की?”पहले तो मौसी उसका इंतज़ार करती रही और अब वो करना नहीं चाहती … कहती है कि उम्र हो गई … अब क्या करना शादी करके. मैं भी मुस्कुरा दिया फिर हमने अपनी अपनी यूनिफार्म ली और अपनी अपनी ड्यूटी पर पहुँच गए। उसने अपनी ड्यूटी मेरे फ्लोर पर ही लगवाई थी.

మరాఠీ సెక్స్ వీడియో

भाभी बोली- हर रोज़ सुबह-सुबह ऊपर खड़े हो कर यही देखते हो न, आज अच्छी तरह से देख लो. यह सुन कर सुनील ने तुरंत अपना पैंट और अंडरवियर उतारा और नंगा हो गया. सुनीता मेरी इस बात पर मुस्कुरा दी और गांड हिलाते हुए अपने घर चली गई.

इस चूची काटने के दर्द के दौरान उसे यह नहीं पता चला कि उसकी चुत में मैंने पूरी उंगली डाल दी. चुत के रस का स्वाद तो मैं काफी बार ले चुका था मगर आज अपने ही वीर्य को स्वाद लेना ये कुछ अजीब सा लग रहा था.

ये सुनते ही, मेरी तो मानो सांस रुक गयी, मैं बोला- सच?सबीना आंटी बोलीं- हां आ जाओ जल्दी से.

वंदना ने खुद अपने पेट पर मेरा हाथ को पकड़ लिया और मेरी तरफ देखने लगी. ”आज मैं ख़ुशी ख़ुशी अपने घर को निकल गया, आज मैं बहुत खुश था, मेरी कौशल्या से जो वासना की इच्छा थी, उस पर में एक सीढ़ी ऊपर चढ़ गया था. मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि सुलेखा भाभी इतनी जल्दी कैसे गर्म हो गयी थीं.

मैंने उससे पूछा पर वो इठलाती हुई वहां से अपने कपड़े ले कर दूसरे कमरे में भाग गयी. मुझे मेरे लंड पर नाज था, जिसने आज वंदना की सील तोड़ दी थी और वंदना की चुत से खून आने लगा था. पर मैं कहां रुकने वाला था, मैंने उसे करीब 10 से 15 मिनट तक यूं ही बांहों में जकड़े रखा.

अपने दोनों हाथों से उसकी दोनों चूचियों को मसलते हुए मेरी जीभ भी उसकी चूचियों की दरारों को ऊपर से नीचे तक चाटने लगी, जिससे प्रिया जोश में भर गयी और बड़े मज़े से अपनी आंखें बंद करके मुँह से मादक सिसकारियां निकालने लगी.

तमिल बीएफ फुल एचडी: तभी मामी ने उस किराने वाले का अंडरवियर उतारा और उसके लण्ड को हाथ से सहलाने लगी. फिर उन्होंने अपने घर और मैंने अपने घर फोन कर दिया कि आज घर नहीं आएंगे … फ्रेंड के यहां हैं.

आइए आइए मास्टर जी, घर वाले आ गए?”जी कौशल्या जी, बस आपके जाने के कुछ देर बाद ही आ गए थे. तभी मेरे मुँह से उनका मुँह एक पल के लिए छूटा कि वो बोल उठीं- आह … आज फाड़ ही डाल मेरी चूत को … वो तुम्हारे जैसा ही लंड मांगती है. वो मेरी रसोई में चला गया और उधर जाकर उसने मुझसे पूछा कि लिक्विड चॉकलेट कहाँ रखी है?मैं समझ गई कि ये क्या करने वाला है.

शॉल को फिर से ओढ़ लिया और मेरे लौड़े को पकड़कर अपनी चूत पर सैट किया, आराम से अन्दर डाला और आगे की सीट पे झुकाव किया.

मेरे पति अपने काम में इतने अधिक व्यस्त रहने लगे थे कि उनको अब मुझसे कोई मतलब नहीं रह गया था. वो मुझसे करीब से मिलीं, थोड़ी बातों के बाद हम सब शादी में जाने के लिए रेडी हो गए और शादी में चले गए. मुझे खुद को उम्मीद है कि अन्तर्वासना पर मेरी लेस्बियन कहानी को पढ़ कर कोई न कोई पाठिका जरूर मुझे मौका देगी.