बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,चिल्लाने वाली बीएफ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ 1 साल की: बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी, गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 7में अब तक आपने पढ़ा था कि गीता को मुखिया ने अपना लंड चुसवाने के लिए रोक लिया था.

जॉनी सिंह बीएफ

आह … मेरी तौबा, मेरी मां की तौबा … प्लीज़ इसे लौड़े को बाहर निकाल लो. सेक्सी वीडियो बीएफ मूवी सेक्सीवो बोली- दीदी को बता दूं?मैंने कहा- तुम क्या बताओगी जानेमन, मैं ही बता देता हूँ.

उन्होंने फ़ोन कॉल पर मुझे बताया था और कहा था कि तुम सीधे अन्दर आ जाना, दरवाज़ा खुला होगा. बीएफ ब्लू फिल्म न्यूफिर जब बीच रात में मेरी नींद खुली तो मैंने पाया कि बाहर बारिश का शोर हो रहा था और मामी मेरे रूम में अंदर लेटी हुई थीं.

सुमन- नहीं, अब सोएंगे बस, वैसे भी आपका लंड अब जल्दी खड़ा नहीं होगा.बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी: रूपांगी बेटा, क्या हुआ तू तो इतनी जल्दी झड़ गयी?” मौसा जी मुझे चूमते हुए बोले.

वे दोनों अन्डरवियर में आ गए थे और दोनों के खड़े लंड टनाटन दिख रहे थे.मैं बोला- आप सीधे सीधे पूजा भाभी से मत कहना। उनको कैसे पटाना है वो सब मैं देख लूंगा ।आप तो बस समय समय पर मदद कर देना।उन्होंने कहा- हां, ठीक है.

18 साल की लडकी का बीएफ - बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी

अब आगे की रोमांटिक सेक्स स्टोरी:टीवी पर न्यूज देखते हुए उसने कहा- अब मैं 21 दिन तक क्या करूं?मैंने कहा- अभी सो जाते हैं, कल बात करेंगे.अब उसको सिर्फ़ लंड दिख रहा था मगर ये नहीं पता था कि वो उसके भाई का लंड है.

वो बोला- साली बड़ा मस्त मजा देती हैं तू, बोल मेरे अड्डे पर काम करेगी. बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी मैं बोला- आपकी ननद तो पढ़ रही थी ना शायद? अभी तो सितंबर चल रहा है, उसकी पढ़ाई खराब नहीं होगी?भाभी बोली- हाँ, बी.

दीक्षा- टेंशन मत ले बे … मैं मज़ाक कर रही हूँ, जब टाइम आएगा तब इसे भी ले लूंगी.

बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी?

मैंने तुरन्त अपने होंठ उनके होंठों से लगा लिए और उनका हाथ पकड़कर अपने पैन्ट के ऊपर से ही लंड पर रख दिया, जो कि अब तक रॉड जैसा सख्त हो गया था. मैं भी उनकी बात से सहमत था, तो मैं भी थोड़ा अपने आपको कंट्रोल करके हॉल में जाकर बैठ गया. तो मैंने देखा कि भैया और भाभी पुणे वापस जाने के लिए अपने बैग लेकर हमारे घर आए हुए थे.

मैंने उसे टीवी में लगा दी और जैसे टीवी को ऑन किया, तो न्यूज चल रही थी और कर्फ्यू के बारे न्यूज़ आ रही थी. कॉलेज की लाइफ कुछ अलग और बिंदास थी यहां लड़के और प्रोफेसर सब के सब लड़कियों को कामुक और प्यासी नजर से देखते थे. मगर कुछ दिन पहले लोगों से सुना गधे का लंड बड़ा होता है, तब पता लगा कि उसको लंड कहते हैं.

फिर मैंने अपना एक हाथ भाभी की कमीज के अन्दर डाल दिया और ऐसे ही मम्मों को सहलाने लगा. वो जानबूझ कर मेरे सामने दो बार अपने दूध दिखाने झुकी भी थी, मगर मैं सीधा बना रहा. थोड़ी देर बाद भाभी मुझसे बोली- मेरी देवरानी कब आयेगी?मैंने कहा- पता नहीं भाभी, अभी तो लॉकडाउन है.

मेरी बीवी बोली- मैं भी चलूंगी और वहां पर हम लोग ताजमहल भी देख आएंगे. मेरी अम्मी देखने में हमारी मां कम, बड़ी बहन ज्यादा लगती हैं और वे अपनी उम्र से 8-10 साल कम की लगती हैं.

मैं पैंटी को मुँह में दबा कर मुठ मारता था, उससे लाख दर्जे सीधे चुत की चुसाई में मजा आ रहा था.

उसका लंड अब बड़ा होना शुरू हो गया था और मॉम की गांड में सटा हुआ था.

वो वहां से मिट गया तो हमारे काम का क्या होगा?मुखिया- अरे हां, ये तो मैंने सोचा ही नहीं. सबसे पहले मैं अपने बारे में संक्षिप्त में बताना चाहूंगा कि मैं हापुड़ का रहने वाला हूं और मेरी उम्र 30 वर्ष है. [emailprotected]हॉट किस स्टोरी इन हिंदी का अगला भाग:भाभी के साथ रोमांस भरे सेक्स की कहानी- 2.

पोर्न वीडियो में जबरदस्त चुदाई चल रही थी और इधर मैं भाभी की चुदाई के पगला गया था. धीरज के मुँह से गर्म आवाजें निकलने लगीं- आह … आह … बड़ी मस्त मालिश करती हो आंटी. मैं- मुझे तो वो तेरा बीएफ ही लगता है, बता न, मैं किसी को नहीं बताऊंगा.

हम दोनों को थकान कुछ ज्यादा ही थी और ऊपर से तेज बियर का नशा भी हावी हो रहा था, तो हम दोनों ऐसे ही नंगे चिपक कर सो गए.

दोस्तो, मैं आरव फिर से अपनी पाठिका रीमा की सीलपैक चुत चुदाई की कहानी को रीमा के शब्दों में ही आगे लिख रहा हूँ. उनकी पैंट और शर्ट में जो फॉर्मल लुक आ रहा था उसको देखकर मन कर रहा था कि यहीं खुले में उनके सामने नंगी हो जाऊं और आउटडोर चुदाई का मजा लूं. मैंने कहा- हां … अगर और किसी के बारे में पूछना है, तो वो भी पूछ लो.

बर्तन धोने ले जाने के लिए मैं उठा, तो उसने कहा- मैं भी तुम्हारी हेल्प करती हूं. ये सोच कर मैंने अपना सामान उठाया और रूम पर जाने के लिए स्टेशन से बाहर लगा. फिर उसके एग्जाम खत्म होने के बाद मैंने उससे बाहर मिलने का प्लान बनाया और हमने एक होटल बुक किया.

वो बोली- अच्छा? पक्का नहीं गये थे?फिर से मैंने कहा- नहीं, मैं तो नहीं गया था.

मैं दौड़कर उसकी ओर लपका लेकिन वो तब तक फर्श पर थी और बैग उसके ऊपर था. सुरेश के मुँह से लंड चुत और चुदाई की बातें सुनकर मीनू थोड़ी शर्मा रही थी.

बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी उससे चला नहीं जा रहा था।हैंगओवर का असर अभी भी सिर में चढ़ा हुआ था। मैंने होटल में नींबू पानी मंगाकर उसे पिलाया और उसके होस्टल के लिए ओला कैब बुक की। उसके फोन से मैंने उसकी सहेली का नंबर लेकर कॉल करके उसकी तबियत खराब होने की बात बता दी।फिर हम कैब से निकल गये. उसको चूत फटने की खबर न लगे इसलिए मैं उसके होंठों को फिर से चूसने लगा और उसके बदन को सहलाने लगा.

बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी मां ने जल्दी शादी कर ली थी तो हम मां बेटी की उम्र का अंतर भी कम ही है. मुझे लगता है कि किसी के साथ की हुई पहली चुदाई बहुत महत्वपूर्ण होती है.

इन सब के ब्लाऊज के पतले कपड़े उन बड़े-बड़े बूब्स को थामने में असमर्थ थे.

बड़ी चूत वाली भाभी की चुदाई

मेरी नंगी चूत से रस की धार बह रही थी जिस पर जीभ टिकाने में मेरे चोदू पति सोनू ने देर न की. अगले दिन फिर से दोपहर में पूजा भाभी नहाने के लिए बाथरूम में गई। मैं भाभी पर नज़र डाले बैठा था। कुछ देर के बाद भाभी ने मामी को आवाज लगाई. ये सुनकर मैंने उसको दूसरी साइड आने का कहा और करवट लेकर लेटने को कहा.

हैलो फ्रेंड्स, मैं सोनू सैम अपनी रोमांटिक सेक्स स्टोरीलॉकडाउन में मिली अनजान लड़की- 2का अगला भाग लिख रहा हूँ. जब तक मेरी चूत फट न जाये, खून से लथपथ न हो जाये और मैं बेहोश न हो जाऊं तब तक मुझे पेलते रहना. कालू- मैं जानता हूँ मैडम जी, मुखिया जी का कोई राज़ मुझसे छुपा नहीं है.

अभि- हां, लेकिन मैं आज तक जिससे भी मिला हूँ, सबसे चुदवा भी चुका हूँ और सबको चोद भी चुका हूँ.

मैंने उनको तुरंत हाथों में भर लिया और दोनों हाथों से दबाते हुए एक को चूसने लगा. मैं बाहर आया और पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- जीजू मुझे डर लग रहा है, नींद नहीं आ रही है. उन्होंने साफ-साफ बोल दिया कि मैं उनकी फैमिली के स्टेटस के साथ मेल नहीं खाता हूं.

सबसे बड़ी बात ये थी कि सुमन भाभी की खूबसूरत जवानी उनके एक बच्चे होने पर भी कहर बरपाती थी. शायद वो पहले भी चुद चुकी होगी क्योंकि जिस तरह से वो मजा लेना चाह रही थी उससे पता चल रहा था कि वह लंड का स्वाद ले चुकी है. मामी- तो तू कौन सा साठ साल का बुड्ढा है?मैं- तभी तो कह रहा हूं मामी.

घर की बात घर में रहे तो ठीक है इसलिए कुछ भी करो मगर इनको (भाईसाहब को) पता नहीं लगना चाहिए. एक बात और कि आज तक मेरी पत्नी को ये सब पता नहीं है कि आज भी मेरी सास मेरे लंड की दीवानी हैं.

फिर भाभी बोलीं- तुम्हारा माल तो बहुत ज्यादा निकलता है और बहुत गाढ़ा और टेस्टी भी है. बस आपको देखा, तो आपकी आंखों में वासना नज़र आई … और मैं खुद प्यासी थी, तो आपसे चुदवा ली. रघु का लंड अब अकड़ कर दर्द करने लगा था, तो उसने मीनू के मुँह में घुसा दिया और उसके मुँह को चोदने लगा.

मुखिया- तू बड़ा होशियार है रे कालू … मेरी आधी से ज़्यादा मुश्किलें तू आसान कर देता है.

मौसी एक हाथ से मेरा सिर पकड़ कर मेरे होंठों को चूस रही थी और दूसरे हाथ से मेरे लंड को कसकर मसल रही थी. इसलिए आप सामाजिक रिश्ते के बारे में तो सोचो ही मत।वो बोली- नहीं, ये नहीं हो सकता है. हॉट चाची सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी माल चाची चुदाई का सोच कर मुठ मारता था.

मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मैं बारिश के मौसम में खुले आसमान के नीचे चुद रही थी. फिर दिल में एक ख्याल आया कि यह सही नहीं रहेगा, क्यूंकि रात में कोई लेडी कांस्टेबल तो होती नहीं है.

शायद सिमरन को लगा होगा कि मैं सो रहा हूँ तो वो बेधड़क कमरे में आ गई. करीब 40 मिनट बाद जब एक्ट्रेस की थोड़ी सी चुदाई वीडियो, जो मेरे साथ मैंने बनाई थी, उसे देखी … तब मैं झड़ने की कगार पर आ गया. वो मस्ती में मेरे लंड को चूसने लगी और मैं जैसे जन्नत की सैर करने लगा.

एक्स एक्स एक्स एक्स व्हिडीओ

Xxx भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी मुलाक़ात भाभी की बड़ी दीदी से हुई.

फिर हम दोनों ने अपने अपने कपड़े जल्दी से पहन लिए और पहनकर बेड पर लेट गए।मौके की नज़ाकत को देखते हुए मैं आपा से बोला- आपा, आप सोनिया को बुलाकर उसे समझा दो, नहीं तो वो किसी से बाहर इस बारे में बोल देगी. उसने घर फोन कर दिया और कह दिया कि वो दूसरे शहर में घूमने के लिए चली गई है और सुबह आएगी. वो हॉट गर्ल सेक्स भरी नशीली अदा से सोफे के नीचे बैठी और मेरे लंड को मुँह से चूसने लगी.

फिर मैंने आंटी को पेट के बल लिटा लिया और उसकी गांड में तेल की बूंदें डाल दीं. मैं स्वयं से बोला- आंनद मेहता … 50 साल के हो गए हो लेकिन जवानी अभी गई नहीं तुम्हारी. बीएफ चुदाई होते हुएतीसरे दिन सुबह मैं सोकर उठा, तो मैंने देखा, रुक्मणी भाभी बाहर सोफे पर बैठी टीवी देख रही थीं.

मुखिया- आ गया तू … क्या हुआ वहां?कालू- आप अन्दर चलो मैं सब बताता हूँ. मैंने बुआ से कहा- बुआ मुझे खाने में मजा नहीं आ रहा है, कुछ स्वाद ही नहीं आ रहा.

फिर धीरे धीरे करके मैंने पूरा लंड गांड में पेल दिया और गांड चोदने लगा. कहानी में मैं बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी बहन की चूत की आग को ठंडा किया. कुछ ही देर में वो नीचे से चूत को ऊपर उकसाने लगी तो मैं समझ गया कि अब इसका दर्द मिट गया है और ये चुदने के लिए तैयार है.

मैंने सफेद कुर्ता पहना था, उन्होंने उसको ऊपर कर दिया और मेरी चुचियों को चूसने लगे. लेकिन आपने मुझे इतना मज़ा दिया कि पूछो मत, मेरा तो मन कर रहा है कि अगर अभी आप पास में होते, तो मैं आपको रात भर चूसती रहती और आपका लंड पूरी रात अपने चूत और मुँह में भर के रखे रहती. जब मामी पूरी तरह से तड़प गयी तो मैंने उनकी चूत से उंगली को बाहर निकाल लिया और चाट लिया.

मैं पानी भरकर मेरे लन्ड को मसलता हुआ वापस आ गया। भाभी को इस तरह अधनंगी हालत में देखकर मेरा लन्ड फुफकार मार रहा था। अब मैंने सीमा मामीजी को अकेली देखकर ताबड़तोड़ उनके बड़े बड़े बोबों को मसल डाला।फिर थोड़ी ही देर बाद मैंने मामी की चूत में उंगली घुसा दी। मामी के साथ थोड़ा सा मजा लिया और फिर बाड़े में जाकर उनकी चूत चोद दी.

सुरेश धीरे से बड़बड़ाने लगा ‘इतनी कमसिन कली को इस चूतिया अनाड़ी ने खराब कर दिया. वो अपने होंठों पर जीभ फेरते हुए बोला- आह आंटी … आपकी चुत का रस बड़ा नमकीन है.

धीरज हंसने लगा और अपना लंड मेरी गांड में अन्दर बाहर करते हुए गपा गप मेरी गांड चुदाई करने लगा. भाभी- आह कितना सता रहे हो जान … मेरी चुत आपके लंड की गर्मी महसूस कर रही है जानू … अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है, जल्दी से इसे मेरे भूखी चूत में अन्दर डाल दो. फिर मैंने उसके पुराने स्कूल से पता किया, तो मालूम चला कि वो किसी सर के साथ सैट थी.

मैं शुरू से सेक्सी मिज़ाज का था, तो बहुत लड़कियों और नर्सों की चुदाई के मज़े लिए … लेकिन ज़्यादा दवा लेने से साइड इफेक्ट्स हो गए और धीरे धीरे लंड ने उठना बंद कर दिया. एकाएक राहुल ने मुझे पेट के बल पलट दिया और मेरी पीठ पर किस करने लगा. अब लंड महाराज कहां सोते हैं, उनको तो खड़े होने का मौका चाहिए होता है.

बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी कुछ ही धक्कों में कासिब का पूरा लंड मेरी चूत में समा गया और मुझे भी दर्द के साथ साथ मजा आने लगा. कुछ मिनट बाद जब हम फिर से सीधे हुए, तो वो बोली कि युवराज अब और सहन नहीं हो रहा है.

ब्लू फोटो सेक्सी

बालों से भरी हुई रसीली और गीली चूत बहुत ही शानदार लग रही थी लेकिन बहुत बड़ी थी. मेरे पति मुझे चुदवाने को तैयार थे पर अपने सामने … बॉस अकेले में चोदना चाहते थे!हैलो फ्रेंड्स, मैं शिल्पा एक बार फिर से आपके लौड़ों को खड़ा करने के लिए आ गयी हूं. वो बोली- छोड़ दे राज, रात का टाइम है, अगर किसी ने ऐसे हमें ये सब करते हुए देख लिया तो बहुत गड़बड़ हो जायेगी.

कुछ देर बाद जब मेरी आंखें खुलीं, तो देखा कि भाभी आंखें बंद करके अपना नंगा बदन मेरी बांहों में दिए हुए हैं. अब लंड महाराज कहां सोते हैं, उनको तो खड़े होने का मौका चाहिए होता है. अंग्रेज ने की बीएफउसके बदन में इतनी गर्मी थी दोस्तो … कि उसे चोदने से पहले ही मेरा वीर्य निकल गया.

मैंने सोचा कि कार्ड्स खेलने या बातें करने के बहाने से यहीं सोफे पर ही विराजमान हो जाता हूं.

तू एक काम कर बलराम के पास जा, उसका हाल चाल पूछ कर आ और उसकी कोई सेवा भी कर आना. काफी देर आंटी के बूब्स को चूसने के बाद मैंने उनकी साड़ी को खोलना शुरू कर दिया.

अम्मी कासिब और अब्बू का लंड चूसना छोड़ कर बोलीं- दिलकश मेरी प्यारी बिटिया, अब तू भी अपने भाई और अब्बू का लंड चूस, वरना ये दोनों तेरी चूत को ऐसे फाड़ेंगे कि फिर तू कभी चुदने की बात भी नहीं सोचेगी. फिर साले ने पूछताछ करके पता लगा लिया कि वो कौन है, कहां रहती है … और तो और उसको अपने हवेली दी, ये भी उसको पता है. Xxx भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी मुलाक़ात भाभी की बड़ी दीदी से हुई.

उन्होंने भाभी को बुला लिया और कमरे को बंद करके टीवी की वॉल्यूम बढ़ा दी.

वो मुझे चोदते हुए मेरे मम्मों को काटने लगता, तो मैं ‘आआआह … साले दूध मत काट हरामी … प्यार से चोद ऊऊह … आआआह. मैं भाभी के चूतरस से भीगी उंगली को चूसता हुआ बोला- भाभी, मजा आया?वो नशीली आवाज में बोलीं- बहुत ज्यादा. यही क्रिया लगभग छह मिनट तक चली।फिर वे बिस्तर पर लेट गए और अपनी गंजी को खोलने लगे.

पेशाब करती हुई सेक्सी बीएफदोस्तो, आप सोच रहे होंगे कि मीता ऐसे किसी कहने के साथ ही नंगी हो जाती है. मैं जल्दी से मुठ मारकर नीचे गया और कागज खोलकर देखा तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा.

सेक्सी वीडियो देखकर

फिर ऐसे ही देखते देखते मैंने उसकी चूत में लंड चलाते हुए पूरा अंदर सरका दिया. आशा करता हूं कि आप लोगों मेरी यह पहली ट्रेन सेक्स कहानी पसंद आयेगी. इस समय मैं अपने ही भाई की बीवी यानि अपनी भाभी को चोदने के बारे में सोच रहा था.

मैंने उनको अब सामने की ओर से फिर से पलटा और उनकी चूत मेरे लंड के सामने थी. बाहर थोड़ी देर टहलने के बाद आकर लेट गया और थोड़ी देर में गहरी नींद में सो गया. अबकी बार उसने जरा सा भी विरोध नहीं किया और बहुत ही सहजता से मेरे होंठों से अपने होंठ मिलने दिये.

दोस्तो, गीता का कलर गेहुंआ था, नाक नक्शा तो अच्छा था ही, ऊपर से बला का फिगर था. मगर मैंने उनको और ज्याद जोर से दबोच लिया और कसकर उनके होंठों पर अपने होंठों को चिपका दिया. वह तेज़-तेज़ सिसकारियां लेने लगी और कहने लगी- भाई जान, अब मत तड़पाओ, अपना लंड मेरी चूत में डाल दो.

भाभी- आह कितना सता रहे हो जान … मेरी चुत आपके लंड की गर्मी महसूस कर रही है जानू … अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है, जल्दी से इसे मेरे भूखी चूत में अन्दर डाल दो. अब तू रोज ऐसे ही मेरी मालिश किया कर … और सुन, अबकी बार पूरे बदन की करना, ठीक है.

एकदम मस्त माल है जिसको अगर कोई देख ले तो चोदने के लिए पागल हो जाये.

वो जब मेरी चूत के दाने को दांतों से हल्के-हल्के काटते तो मैं लन्ड अंदर लेने को तड़प उठती. वीडियो बीएफ जबरदस्तअब हरी का देसी लंड भी आग की तरह जल रहा था, जिसे सुमन मज़े से चूस रही थी. बीएफ वीडियो2021आंटी की सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … राज … आह्ह … आराम से … आई … आह्ह … अम्म … आहिस्ता।आंटी मेरे सिर के बालों को सहलाने लगी थी. मुखिया समझ गया, उसने भी जल्दी से धोती ऊपर की और अपना लंड सुमन के सामने कर दिया, जिसे देख कर सुमन खुश हो गई और लंड के सुपारे को खीर में डुबो कर चूसने लगी.

इसलिए मैं पूरी कोशिश कर रहा था कि वो इतनी गर्म हो जाये कि मेरा लंड लेने के लिए खुद ही बोले.

मेरा पूरा का पूरा लन्ड उनकी चूत की दीवारों को खोलता हुआ उनकी चूत की गहराई में उतर गया. फिर मैं कपड़े लेकर आया तो तब तक चाची ने ब्रा उतार ली थी और वो दूसरी तरफ मुंह करके खड़ी थी. मैं अवनी को बार बार चोदकर एक विवाहित जीवन और शारीरिक सुख का आनंद लेना चाहता था। मुझे उस प्रेमरस का अनुभव बार बार घर की ओर आकर्षित कर रहा था।समय व्यर्थ न करते हुए मैंने सीधे घर की ओर प्रस्थान किया.

10 बजे के करीब चाची किचन का सारा काम निबटा कर आई और काफी थकी हुई सी लग रही थी. मगर मैंने सोचा कि कोई बात नहीं, जब वो सायं को आने के लिए कह गया है तो रात में मजे कर लेंगे. फिर एकाएक मेरे लंड से वीर्य निकल पड़ा और मैंने सारा माल भाबी को पिला दिया.

मारवाड़ी ओपन सेक्स वीडियो

उसके नॉर्मल होते ही मैंने एक ओर ज़ोरदार झटका दे मारा, मेरा पूरा का पूरा 6 इंच का लौड़ा उसकी छोटी सी चूत में घुस गया. फिर भाभी ने बेक्रफास्ट बनाकर डाइनिंग टेबल पर रख दिया और हम तीनों साथ में बेक्रफास्ट करने लगे. भाभी की टांगें हवा में उठ गई थीं और उनके मुँह से मादक सिसकारियां माहौल को और भी मस्त कर रही थीं.

शबाना- सोच लो, जैसा मैं चाहूँगी, वैसा होगा!मैंने हां में सर हिलाया.

जल्दी जल्दी काम ख़त्म करने के बाद मौसी ने कहा कि ठण्ड ज्यादा है, अब जल्दी से बिस्तर पर चलते हैं.

मैं बगल में बैठ कर मोबाइल चला रहा था, पर उन दोनों की सब बातें सुन रहा था. आप जल्दी से पेलो न!मैंने कहा कि ओके, तू अपने हाथ से अपने छेद पर लंड को फिट कर. जवान भाभी की चुदाई बीएफउसका डरा हुआ चेहरा देख कर मैंने उससे बोला- रुक जा साली इतना टेंशन मत ले.

यह सोच कर मैं खूब बन संवर कर रहने लगी मौसा जी के आसपास ही मंडराती रहती उनसे बार बार बहाने से बात करती; कभी झुक कर झाडू लगाने के बहाने अपने मम्मों की झलक उन्हें दिखाने का बार बार प्रयास करती. कच्ची कली के हाथों से मालिश का मज़ा लेते हुए उसका लंड एकदम तन गया था, जो धोती में साफ खड़ा दिखाई दे रहा था. मैं समझ गया और थोड़ी देर रुकने के बाद मैंने फिर से धक्के देने शुरू कर दिए.

अब तक की इस विलेज गर्ल की चूत कहानी में आपने पढ़ा था कि गांव के महामादरचोद मुखिया जीवन परसाद के सामने से एक कमसिन लौंडिया गीता अपनी गांड मटकाती हुई जा रही थी. कामवाली बाई की चुदाई की कहानी सुनकर तो नीरज के लिए मेरी दीवानी जवानी और चूत और ज्यादा मचलने लगी थी.

तभी वो बोला- अंदर आऊं या दरवाज़े से ही भगाओगे?तब मुझे होश आया और मैं बोला- आ जा जानी … आज याद आयी है मेरी? कहाँ रहते हो आजकल? न मिलना, न कोई मुलाकात?उसने उदास होकर कहा- क्या बोलूं यार … घर की स्थिति ठीक नहीं है.

राहुल- मैंने आज ही तुम्हें प्रपोज़ किया और पहले ही दिन इतना आगे बढ़ना मुझे अच्छा नहीं लगा. हम दोनों खुल कर सेक्स करना चाहते थे, पर चुदाई करने के लिए जगह नहीं मिल रही थी. मेरे पति अभी भी अपने हाथ से ही अपने लंड की मुट्ठ मारने में व्यस्त थे.

स्कूल की लड़कियों के साथ बीएफ फिर एक स्थिति ऐसी आई की मौसा जी का लंड मुरझा गया और उसे मेरी चूत ने सिकुड़ कर बाहर धकेल दिया. उसके चुचे एकदम से फूले फूले से थे, जिनके निप्पल एक छोटे चने जैसे थे.

मुझे बस अपनी गर्लफ्रेंड और कुछ अन्य लड़कियों के साथ सेक्स करने मिल जाता था, तो क्या रिलेशनशिप की ज़रूरत थी. फिर एक एक करके उसके सारे कपड़े निकाल दिए और नीचे बैठ कर लंड को मुँह में भर कर चूसना शुरू कर दिया. बस सोच रहा था कि कैसे किसी लंड या चूत के साथ इंज़ॉय किया जाये?पढ़ाई में मेरा बिल्कुल भी मन नहीं लग रहा था.

छोटी वाली चुदाई

फिर पूछने पर उसने बताया कि ग्वालियर में उसके किसी जान पहचान वाले का एक्सीडेंट हो गया है और वो उसी को देखने के लिए जा रही है. उसने मुझे फोन किया- हैलो, क्या तुम यहां आ सकते हो, मैं बोर हो गई हूँ. मगर उसके बाद मैंने जो अपनी गांड उठा उठा कर उसका साथ दिया, वो आश्चर्यचकित था कि दो मिनट पहले मैं चिल्ला रही थी और अब गांड उठा उठा कर साथ दे रही हूँ.

मुखिया- देख गीता, तुझे तेरे घर वालों की ख़ुशी चाहिए या नहीं? अब फैसला तेरे हाथ में है. इधर सुरेश भी कोई तगड़ा मर्द नहीं था, वो तो पहले ही बहुत ज़्यादा उत्तेजित था.

फिर मैं एक घंटा और वहां पर रुका और इस दौरान मैंने एक बार बाथरूम में फिर से उसकी चुदाई की.

दोस्तो, मेरी बहू की चुदाई की कहानी का ये पहला भाग यहीं रोक रहा हूँ. कालू बिना कुछ बोले अन्दर चला गया और उन दो आदमियों को बाहर भेज दिया. इस वाले कॉलेज में सबसे अच्छी बात ये हुई कि मेरी मौसी की लड़की रूचि को भी यहीं एडमिशन मिल गया था और हम दोनों कॉलेज के पास ही एक पी जी में रूम लेकर रहने लगीं थीं.

वो रुक गयी और अजीब सी आवाज में बोली- हाथ हटा लीजिये, ये मेरा पैर है. अम्मी ने कहा- एलिसा अगर बुरा ना मानो, तो तुम्हारी पैसों की तंगी दूर हो सकती है. उनको तो खेतों में कच्ची कलियां देख कर जोश आता है, तब कहीं घर आकर मेरी चुत से ठंडे होते हैं.

फिर मैंने भाभी को मैंने हौले से अपनी बांहों में ले लिया, उनके जिस्म से इतनी मस्त खुशबू आ रही थी कि मैं दीवाना हो गया.

बीएफ हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी: उसके बाद मैं तुंरत किचन में आ गया, जहां पर भाभी बेक्रफास्ट बना रही थीं. तू अपनी पत्नी दांव पर लगा दे, जीत गया, तो कर्जा चुका देना और यदि हार गया तो तेरी पत्नी कुछ समय के लिए ही तो हमारे साथ रहेगी.

थोड़ी देर बाद सीमा मामी बाड़े में से आ गई।मामी ने मेरे चेहरे की मुस्कुराहट देखी और वो समझ गयी कि पूजा की चूत का काम हो गया है. मुझे उस वक्त उनके चूचे अपनी आंखों के बिल्कुल सामने दिख रहे थे, जिससे मेरा लंड एक बार फिर तन गया. दोस्तो, अब अपनी इस हॉट किस स्टोरी के अगले भाग में मैं आपको अपनी भाभी की चुदाई की कहानी को पूरा लिखूंगा.

उस वक्त उसने नीले रंग की सलवार कमीज पहनी थी, जिसमें उसके चूचे बेहद गोल मटोल लग रहे थे.

मेरा भी फिर मन करने लगा था कि एक बार नीरज मिल जाये तो मैं उसके लंड से अपनी चूत की चटनी एक बार तो बनवा ही लूं. कहानी में मैं बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी बहन की चूत की आग को ठंडा किया. दूसरे दिन मैं 8 बजे उठा और अपना नित्यकर्म पूरा करके उसके घर के पास वाले स्टैंड के सामने दुकान पर सिगरेट पीने लगा.