मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,हरियाणा की सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेकसविडिओ: मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो, पूरी रात बेचारी कभी अपने मुँह से कभी अपनी गांड से और कभी अपनी पूरी तरह भोसड़ा बन चुकी चूत से चिन्ना अंकल को खुश करती.

सेक्सी बीएफ वीडियो ब्लू वीडियो

’मैंने कहा कि मैं आर्यन हूँ … मुझे आपका नम्बर पंकज ने दिया है, आप कल्पना बोल रही हो ना?उसने कहा- हां हां बोलो ना. मौसी वाली बीएफ सेक्सीपूरा दिन यूँ ही बीत गया पता ही नहीं चला, रात के करीब 9 बजे खाना खाने के बाद सिम्मी की भाभी ने हम दोनों को मिलाया.

साली वैसे तो हमेशा मुझे पिटवाने के चक्कर में रहती थी, आज इसे क्या हो गया है. ब्लू पिक्चर फिल्म भेजिएयह प्रक्रिया विशु ने चार पांच बार करी और हर बार मां का रिएक्शन एक जैसा ही था.

10 मिनट तक हम दोनों वहीं बाहर आंगन में एक दूसरे के होंठों को चूसते रहे.मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो: वो जोर जोर सिसकारते हुए कह रही थी- आह्ह … कमॉन, फक मी हार्ड … आह्ह और तेजी से चोदो.

तभी उसने अपने हाथ पीछे ले जाकर लहंगे में डाल दिए और मेरे चूतड़ पकड़ कर कहा- तेरे चूतड़ बड़े सालिड हैं.उस दिन जब मैं बीच में ही चुपके से वापस आया तो वैसे ही पहले की तरह घर के सभी खिड़की और दरवाजे बंद थे.

सनी लियोन की बीएफ एचडी - मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो

हम दोनों मां बेटे अब भाभी की चूत को पापा से चुदवाने की प्लानिंग कर रहे थे.मेरी यह तमन्ना पूरी हुई या नहीं?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम निहाल सिंघानिया है.

तभी मोहन ने मुझे खींचा और मेरी सीधे हाथ वाली चुची मुँह में ले कर चूसने लगा. मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो थोड़ी थोड़ी देर बाद मैं अपना लंड उसकी गांड से निकल लेता और जब ममैं लंड निकालता तो मेरे लंड पर उसकी टट्टी लगी होती और उसकी गांड का छेद मेरे लंड के साइज का खुल जाता.

कभी वो मेरे लंड के टोपे पर जीभ को अंदर अंदर फिरा रही थी और कभी पूरे लंड को मुंह में पूरा गले तक उतार कर चूसने लग जाती.

मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो?

हम एक दूसरे के होंठों को बड़े जोर जोर से चूस रहे थे। हम दोनों का बुरा हाल था. वो मेरा पूरा का पूरा 7 इंच का मोटा लंड अपने मुँह में डालकर चूस रही थी. मैंने कुछ देर बाद एक वेटर को चुपके से अपने पास बुलाया और उससे दारू के लिए पूछा, तो उसने बताया कि वो पीछे चल रही है.

मैंने उनकी चूचियों को खा जाने वाली निगाहों से देखा और कहा कि सब कुछ … आपकी स्माइल, आंखें, आपका नेचर सब!वो मम्मे उठाते हुए बोलीं- बस … और कुछ नहीं?मैंने फिर से चूचों की नोकें निहारते हुए कहा- भाभी आप तो ऊपर से नीचे तक पूरी ही बहुत अच्छी हो. सबके सामने तो मैं कुछ नहीं कर पाया उसके साथ उसी की ही तरह उससे गले लगा रहा. फिर उसका खुद पर से जब बांध टूटा, वो मुझे ज़ोर से पकड़ते हुए और कांपने लगी और झड़ गई.

पाठकों की कुछ बातें बहुत ही शर्मनाक अप्राकृतिक सेक्स जैसी होती हैं जिनको वहां लिखने में और उसका समाधान पूछने में ही शर्म आती है. मैं उसके चेहरे और उसके होंठों को पागलों की तरह चूमने लगा और वो अपने मुँह से ‘सीई ससीईई सससीईईई. ऐसी गर्म आइटम को मैं कभी चोद सकूँगा, ये मैंने सपने में भी नहीं सोचा था … क्योंकि एक तो वो मेरी दोस्त की बीवी थीं … दूसरे अब तक मुझे ऐसा कोई सिग्नल भी नहीं दिखाई दिया था कि भाभी मेरे लौड़े के नीचे आ जाएंगी.

सिम्मी के गाल पर बार-बार बालों के लट आते जिसे वो प्यार से अपने कान के पीछे ले जाती. एक डाइनिंग टेबल है उसके सामने किचन … किचन के बगल में एक कमरा, उसके बगल में जेठ जी का बैडरूम!रीना धीरे से बैडरूम की तरफ जाने लगी.

मैं- मुझे पता है कि तुम्हें क्या बोलना है … तो हम जब इस रूम से बाहर निकल जायेंगे तब बात करेंगे उस बारे में … अभी बस मजे करते हैं.

वो मेरे साथ बिल्कुल चिपक गई और मेरे होंठों को अपने होंठों का रस पिलाने लगी.

जैसे ही सुपारा उसकी गांड के छेद में घुसने लगा तो वो दर्द से तड़पने लगी. दीदी- बोल कि फोल्डर में कहां रखी है … सब बता दूँ मम्मी को!मैं- सॉरी दीदी. चुदाई के लिए और क्या चाहिए?मम्मी अपने कमरे में चली गईं और मैं चुदाई का तान बाना बुनने लगा.

उधर नसरीन आपा की बात सुन कर अन्दर ही अन्दर शर्माने के साथ डर भी रही थी. मैं अपने हाथ से माया के शरीर को सहला रहा था और उसे बेहताशा पागलों की तरह चूम भी रहा था. अब जब भी वो किसी काम के लिए झुकतीं, मैं अपना खड़ा लंड उनकी गांड में रगड़ देता.

अगले दिन वो पति-पत्नी की चुदाई के बारे में मुझे बताया करता था कि कैसे उसने अपनी बीवी की चूत मारी.

धीरे धीरे उसकी सहेलियों को भी मेरे बारे में पता चल गया, तो कैसे उसने मुझे अपनी 5 सहेलियों से मिलवाया … कैसे हमने क्या क्या किया … कहां-कहां किया … वो सब आपको मैं अपनी अगली सेक्स कहानी में लिखूँगा. उसके पेट को चूमते हुए जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी नाभि में डाली तो वो तेज सी आह्ह के साथ उचक गयी. उसके अगले दो मिनट बाद अम्मी खुद अपनी गांड को हिला हिला कर अपनी चूत को मेरे लंड के टोपे पर रगड़वाने लगी.

मेरा लंड इस समय बंदूक की नाल की तरह तना हुआ था और अप-डाउन कर रहा था. इस प्रहार को वो बर्दाश्त नहीं कर पाई और अपने मुंह में बेड की चादर को ही फंसाने लगी. मैंने चुपके से अपना लंड निकाला और उसकी दाल की कटोरी में मुठ मार दी.

तब से ही मेरा भी मस्ती करने का बहुत मन कर रहा था। फिर तुम मुझे अच्छे लगने लगे.

एक हाथ से मैंने उसको दबोचा हुआ था और दूसरे हाथ से उसके कोमल से चेहरे पर उंगलियां फिरा रहा था. भाभी मेरे नजदीक आईं और घुटनों के बल बैठते हुए मेरे लंड से खेलने लगीं.

मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो मैं अपने लंड महाराज को उसकी चुत के द्वार तक ले जाने के लिए उसके दोनों पैरों के बीच में बैठ गया और उसके दोनों पैरों को अपनी कमर पर टिका दिया. अनिल बोला- और पल्लवी, कॉलेज का पहला दिन कैसा गया?मैंने कहा- न ज्यादा अच्छा न बेकार, तुम बताओ बीवी वापस आई या नहीं?अनिल बोला- वो मादरचोद आना होगा तो आयेगी, मुझे उसकी जरूरत नहीं.

मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो जब तक उसके नाम से रात में अंडवियर को अपने वीर्य से गीला न कर लेता था मुझे चैन नहीं मिल पाता था. फिर मैंने मौका पाकर घर के सभी खिड़की और दरवाजों में एक-एक छेद कर दिया ताकि मैं किसी तरह से पापा और मां की चुदाई का मजा ले सकूं.

मैं उसको अपनी बांहों में लेकर करीब पांच मिनट तक चूमता रहा, चाटता रहा.

बीएफ सेक्सी भोजपुरी भाषा

बोला ना तुझे कि बहुत दिनों बाद लंड रही हूं। तू भी तो कुछ समझा करता बस तुझे तो चूत दिखी और तूने फाड़ डाली।”चल कोई नहीं। ऐसा कर … मेरे ऊपर आ जा, थोड़ी देर मेरी चूचियों को चूस।”मैंने ऐसे ही किया. जब मेरी तरफ से कोई भी प्रतिक्रिया नहीं हुई, तो आकांक्षा ने आंखें खोल कर मेरी तरफ देखा और मुझे मुस्कुराता हुआ देख कर वो और शर्मा गयी. उसने चमन को कहा- चोली पर दोनों साइड में आधा आधा इंच तुरपाई कर दे, तब तक मैं इसके लहंगे की फिटिंग देखता हूं.

चूंकि मैं कविता को चोदना चाहता था, लेकिन मैंने इस बात को उसे अभी तक नहीं बताया था. हनी इतनी जोर से चिल्लाई कि एक बार तो मैं भी डर गया लेकिन अब छोड़ने का कोई मतलब नहीं था. कुछ देर बाद नवीन जी मेरे बगल में लेट गए और मैं नंगी ही उठ कर डिनर गर्म करने चली गई.

मेरी उम्र 40 साल है, मेरे लंड का साइज 6 इंच है।मैं एक कॉल बॉय हूं मुझे आंटियां भाभियाँ और अकेली रह रही लड़कियां या फिर कोई भी विधवा कॉल करके बुलाती हैं.

मैं अन्तर्वासना पर रोज हिंदी सेक्स कहानी पढ़ती हूं और इन मस्त कहानियों को पढ़ने के बाद मुझे भी लगने लगता है कि मैं भी अपनी सेक्स कहानी आप सब लोगों को बताऊं. उसकी गर्दन पर किस, एक हाथ से चूची को सहलाना … और तीसरे चुत को सहलाना. इसलिए जब मैंने उसकी झांटों की बीच से उसकी चुत की फांकों पर जब हाथ लगाया, तो उसने मेरा हाथ बाहर निकाल दिया.

मुझे इस बात पर गुस्सा आ गया क्योंकि बात मशीन की नहीं थी, बात अब मेरे शहर की थी. पुरूष कलाकारमहिला कलाकार के साथ आप नग्न अवस्था में अधिक सहज महसूस करेंगी. मैंने फिर लंड सेट किया और हल्का धक्का दिया इस बार भी लंड फिसल गया क्योंकि अभी तक वह चुदी नहीं थी.

मेरी इससे दोस्ती हो गयी थी और तभी से हम दोनों …रानी की बात मैंने पूरी कर दी- तभी से तुम दोनों चुदाई कर रहे हो. क्या कयामत थी, जैसे भगवान ने उसके हर एक अंग को फ़ुर्सत से बनाया हो.

अब इस तरह से काम चलने वाला नहीं था, सो मैं अपने आपको ठीक करके बैठ गया. और ये पैसे मैं तुझे इस लिए नहीं दे रहा हूँ कि मुझे तेरे साथ वो सब करना है. मेरी एक जांघ रचना की दोनों जांघों के बीच में फंसी थी और उसकी चूत को दबा रही थी.

गीता बोली- एक बार जब बाहर का खाना खाने की आदत लग जाती है तो घर का खाना बेस्वाद लगने लगता है.

जवान लड़की देखकर …हाय दोस्तो, मैं आपकी अंजलि फिर से नयी सेक्स कहानी साथ हाजिर हूँ. मुझे तो शालिनी और रानी से जलन हो रही है कि वो रोज आपके साथ मज़ा करती हैं. मैंने लाइफ में डिलडो पहली बार देखा था- ये क्या है रानी?वो बोली- बाबूजी, ये नकली लंड है जिसे आपकी बहू हमेशा अपनी चूत में लेती है.

धीरे-धीरे मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई।अब मेरा लंड उसकी चूत में तेजी से अंदर बाहर हो रहा था. मैंने पूछा- बहू, दर्द हो रहा है तो निकल लूं?बहू बोली- डैडी, आपका लंड काफ़ी अंदर तक जा रहा है इसलिए थोड़ा दर्द हो रहा है.

मैंने उसको घुमाकर पीछे से अपनी बांहों में भर लिया और अपने दोनों हाथों से उसकी चूचियों को साड़ी के ऊपर से ही दबाते हुए उसकी गर्दन को चूमने लगा।निधि के मुख से सिसकारी निकलने लगी. पापा को भी यह बात समझ आ चुकी थी कि यह बाल गीले क्यों हैं … पर वो मुझसे पूछने लगे- क्या हुआ बहू … तुम्हारी योनि इतनी गीली क्यों है. वो साँस लेते लेते मेरे ऊपर गिर गयी और मैंने उसके मम्मों को अपने अपने मुँह में भर लिया.

इंडियन बीएफ सेक्सी में

फिर उसके दोनों चूचे जोर से दबाओ, बूब्स को किस करो, निप्पलों को हल्के से खींचते हुए काटो.

उनकी चूची सच में ही बहुत मोटी थी जो किसी बड़ी फुटबाल के जैसे झूलती हुई दिख रही थीं. मेरा दिन तो दुकान पर कट जाता था लेकिन रात को बिस्तर पर जाते ही अनु की याद आने लगती और मेरा लण्ड टनटनाने लगता. कामवाली मेरे लंड को कुल्फी के जैसे मस्ती में चूसने लगी और अम्मी ने उसके कपड़े उतार कर उसको नंगी करना शुरू कर दिया.

एक हाथ से मैंने दीदी की टांगों को उठाया हुआ था और नीचे से मैं दीदी की चूत में लंड को पेल रहा था. वैसे तो मुझे कोई इस तरह देखे तो अच्छा नहीं लगता मगर मैं भी उसकी जानदार बॉडी को देख रही थी. सेक्स तमिळ सेक्सअंधेरा होने के कारण कुछ ज्यादा दिखाई नहीं पड़ रहा था लेकिन मां की चूचियां लटकती हुई दिख गयी थीं.

मैं अपनी लाल रंग की नेट वाली साड़ी लाई थी, तो मैंने भी नहा-धो कर अपनी तैयारी शुरू कर दी. उसने उंगली के इशारे से मुझे अपनी तरफ बुलाया और बेड पर बिठा कर कहा- कोई बात नहीं आर्यन … डरो मत मैं सब सिखा दूंगी.

मैंने मामी की ब्रा निकाल दी और मैं उनकी नंगी चूचियों पर किस करने लगा. रचना को कहा- इसके नीचे तकिया लगाओ!उसने बिना देर किए हुए आगे से तकिया लिया और अपनी गांड के नीचे लगा लिया. फिर मैं सीधा नीचे उतर कर बिस्तर से भाभी के गोरे-गोरे पैर की खुशबू लेने लगा और उन्हें चाटने लगा.

ऐसी स्थिति में तो मेरा मन कर रहा था कि मैं उसको वहीं दरवाजे पर टांग उठवाकर चोद दूं. वैसे तो मुझे कोई इस तरह देखे तो अच्छा नहीं लगता मगर मैं भी उसकी जानदार बॉडी को देख रही थी. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि उसके इस जवाब पर मैं कैसे प्रतिक्रिया दूं.

बहू बोली- डैडी जी, आप हफ्ते में एक बार तो आ सकते हैं ना मेरे लिए?मैंने कहा- बहू, अगर मैं हर हफ्ते आऊंगा तो बेटे को शक हो जायेगा कि पापा हर हफ्ते क्यों आते हैं.

चूंकि मैं कविता को चोदना चाहता था, लेकिन मैंने इस बात को उसे अभी तक नहीं बताया था. मैंने भी रचना का साथ दिया और वो बोली- जाओ!और मैं अपने कमरे में आ गया.

बहू बोली- तो क्या आप गाँव में भी किसी औरत के साथ करते हैं?मैंने कहा- बहू इस शरीर की जरूरत के आगे झुकना ही पड़ता है. अब मैं हूँ तो आखिर मर्द ही … लंड फिर से उसके कोमल चूतड़ों से सट कर खड़ा हो गया. तो मैं उसके होठों को चूसने लगा।कुछ देर बाद जब उसे थोड़ा आराम मिला तब मैंने फिर से एक जोरदार झटका दिया।अब मेरा पूरा लंड उसकी बुर में चला गया और वह दर्द के मारे चिल्लाने लगी और अपने नाखून मेरे पीठ पर गढ़ाने लगी। मैं कुछ देर वैसे ही उसके ऊपर लेटा रहा.

आखिअर मैंने अपने कूल्हे ऊपर को उचकाये तो उनके लंड का सुपारा मेरी चूत के छेद में फंस गया. ऐसा कम से कम दो महीने तक चलता रहा।एक दिन अचानक उनकी रिलेशान में किसी की डेथ हो गई तो उसके मम्मी पापा को अचानक से दिल्ली जाना पड़ा. मैं सोच रहा था कि दीदी भी मेरे लंड को पकड़ लेगी लेकिन उसने ऐसा कुछ नहीं किया.

मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो पहले मैंने ऊपर ऊपर से उसकी गांड के फूल को सहलाया, जिससे उसकी गांड ने शर्माना छोड़ दिया. तनु की जिज्ञास को शांत करने के लिए मैंने कहा- मेरी जान … अब मजे लेने की बारी है.

भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ

मैंने उसे पूरी नंगी कर दिया और देरी ना करते हुए उसकी चुत पर अपना मुँह रख दिया. मेरा खड़ा लंड देख कर सीमा मुस्कुरा कर बोली- वाह, काफी मस्त है तुम्हारा. मानी तो ठीक नहीं तो उसके स्तनों को देख कर ही हिला लूंगा।मैंने उसको रिक्वेस्ट की- प्लीज़ मुझे चूत दिखा दो, नहीं तो मेरा लंड बैठेगा नहीं।वो मान गयी, उसने कॉल किया और बोली-जल्दी से देख लो, मैं बाथरूम में हूँ।ओह हो … क्या चूत थी उसकी! बस देखते ही चाटने का मन कर रहा था.

फिर मैंने एकदम से मैम की चूत पर अटैक कर दिया और उनकी चूत को चाटने लगा किस करने लगा. उसको डरा हुआ देख कर मैं भी थोड़ा हिचक गया कि कहीं ये सच में ही चिल्लाने न लगे और आस पास के लोगों को पता लग जाये कि मैं जवान लड़की को छेड़ रहा था. सेक्सी बीएफ एचडी वीडियो मेंइधर मैंने भी मन ही मन ठान लिया था कि रात में इनका लेस्बियन सेक्स देखने के बाद आज मैं भी कुछ ना कुछ तो सुख ले सकता हूँ.

उस दिन के बाद आकांक्षा के पीरियड शुरू हो गए थे, तो 4-5 दिन सूखे ही गुजारना था.

जिस एरिया में मैं रहता था वहां से थोड़ी ही दूरी पर मेरी मौसी की लड़की का घर भी है. उसके बाद मैंने उसको उल्टा कर दिया और उसकी पीठ से लेकर उसकी जांघों तक किस करने लगा.

लेकिन शायद उन औरतों को तैरना नहीं आता था इसलिए वे किनारे ही नहा रही थीं।उस दिन तब तक हम उन औरतों को दिखा दिखा कर नहाते रहे जब तक की वो नहाकर चली नहीं गयीं।अब तो यह रोज का काम हो गया था हम लोग रोज निर्धारित समय पर नहाने जाते और वो भी उधर से नहाने आती. दोस्तों आपको सीमा की चुदाई की कहानी अच्छी लगी हो, तो मैसेज जरूर करना. तो मैं भी आराम से उसकी गोदी में लेट गया और वो मेरे बालों में हाथ फिरा रही थी.

कुछ समय बाद वह दिन भी आ गया और रात भी … मैंने सब तैयारियां कर ली थी, बस मुझे वहां जाना था.

अब तक भाभी ने अपनी सलवार को पूरी तरह से उतार दिया था और उनकी ब्रा भी खोल दी. तो बाकी के रसगुल्ले मैंने अपनी भांजों को खिला दिया।शाम को मम्मी पापा आये. उसने कहा- ब्रा लैस चोली में चूचुक खड़े होते हैं … वर्ना फिटिंग सही नहीं आती.

ब्लू पिक्चर सेक्सी बीएफ हिंदीसेजल अपने ससुर के अंडों को दबा रही थी जिससे कि उसका ससुर आराम से सिसकारियां ले रहा था. इन छह महीनों में हम स्टडी रिलेटेड नोट्स अदला बदली करते थे, तो घर आना जाना लगा रहता था.

सूरत के बीएफ

साथ ही मुझे ये भी पता था कि ट्रायल के बहाने वो मुझे चोदने के लिए भी आएगा. जब वो अपनी गांड मटका कर चलती, तो अच्छे अच्छे के लौड़े भी खड़े हो जाते. मैंने मन में सोचा कि हाथ से बहुत अच्छा मौका चला गया … अब मेरी हिम्मत नहीं हुई कि मैं फिर से पलट कर उसकी करीब जाऊं.

आज मैंने थोड़ी हिम्मत करके लंड को पजामे से बाहर निकाला और मुठ मारने लगा. इतना बोल कर पापा ने उसकी चूचियों को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. उसने कहा- ये सब मैं तेरी मां की वजह से कर रहा हूं … वरना वापस भेज देता.

फिर वो भी हल्के से मुस्कराई और तब तक अजय ने फिर से उसकी गर्दन को अपनी ओर घुमा लिया. गोलाकार ऊपर को उठे हुए प्राकृतिक मम्मे और उन पर भूरे रंग के बड़े से निप्पल … आह लाजवाब सीन था. एक बार उसने मेरी आंखों में देखा और फिर मेरी आंखों में देखते हुए ही मेरे तपते हुए लौड़े को पूरा का पूरा अपने मुंह में भर लिया.

वैसे भी मेरा लंड इस नकली लंड से ज्यादा अच्छा है!बहू मुझे देखकर हंसने लगी. लेकिन अब मुझे इस बात से कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि अब मुझ पर सब वैसे भी फिदा हो जाते हैं.

अगर आपका रेस्पोन्स ठीक रहा तो फिर मैं दिल्ली में चुदाई की घटनाएं भी आप लोगों के साथ शेयर करूंगा.

लेकिन मैं भी जवान लड़का … भाभी को दीवार में रगड़ रगड़ के चूसा मैंने. सनी सनी लियोन का सेक्सी वीडियोउसके बाद …लगभग 40 साल पहले जब मेरी शादी हुई तो मेरी उम्र 23 साल थी और मेरी पत्नी की 19 साल. সেক্স সেক্স ব্লু ফিল্মकिसी लड़की का आपकी बांहों में समा जाना एक बहुत ही सुखद अहसास होता है. उसने पूछा- भैया आपके सुसु पर बाल नहीं हैं … ऐसा क्यों!तो मैंने बोला- ऐसा क्यों पूछ रही हो?उसने बोला कि मेरी सुसु के ऊपर तो बहुत सारे बाल हैं.

मैंने कहा- क्या हुआ बहू? हंस क्यों रही हो?तो वो बोली- कुछ नहीं डैडी जी!उसके बाद बहू ने शावर लिया और मैं सोफे पर बैठकर टीवी देख रहा था.

वैसे गुस्से का तो पता नहीं … मगर तुम्हें उस तरह देखकर उनका लंड जरूर खड़ा हो गया होगा. उसकी वक्षरेखा पर रुकी हुई पानी की बूंदें देख कर मेरा मन भी उन बूंदों पर जीभ से चाटने के लिए कर गया. उसको अच्छे से मसाज करने के बाद मैंने उसके दूध जैसे सफेद बदन से चॉकलेट साफ़ करना शुरू किया, तो इससे वो और तड़पने लगी.

तीन-चार मिनट लगे उसको नॉर्मल होने में, तब जाकर मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किये. कभी कभी वे मेरे समूचे नंगे जिस्म को मुलायम रस्सी से उत्तेजक अवस्था में बांध देते हैं. मैंने अपनी एक उंगली से आईसक्रीम निकाल कर उसकी चूत पर रखी, तो कल्पना के मुँह से जोर ‘आह … हह.

बीएफ इंग्लिश नंगी फिल्म

हम दोनों ने साथ में डिनर किया और फिर उसने हम दोनों के लिए दो बिस्तर लगा दिये. वे सब हल्की आवाज में हंसने लगीं और इसी तरह की बातों के कुछ देर बाद वे तीनों सो गईं. जो लड़कियां इस कहानी को पढ़ रही हैं वो नेहा की हालत को समझ पा रही होंगी, जब किसी के साथ पहला चुम्बन होता है तो कैसा लगता है.

अब वो दिन आ गया जब मुझे मेरी मां के नंगे बदन का मजा मिलने वाला था और उनको सेक्स करते हुए देखने का मजा मिलना था.

इतना सब हो चुकने के बाद भी वह बंदा अब तक भी खुद के कपड़े नहीं खोल रहा था.

हालांकि उनके हाथों ने मेरी छाती को रोकते हुए मुझे ठहरने का संकेत दिया. मगर ये सेक्स कहानी तब की है जब मैंने कुंवारी थी और मेरी चुत में न तो उंगली गई थी और न ही किसी का लंड मैंने देखा था. हॉट सेक्सी बीएफ फुल एचडीउसने मेरे सारे माल को अपनी चूत में ले लिया और लंड को अंदर ही अपनी चूत में दिये रखा.

पर मैडम ने मेरे खड़े लंड को नोटिस कर लिया था। वो बार बार मुझे झुक कर अपने बूब्स दिखा रही थी और मैं पागल हुआ जा रहा था।बातों बातों में उन्होंने बताया कि वह अपने हस्बैंड को बहुत मिस करती हैं. हनी की टांगें अपने कंधे टर रखकरमैंने हनी की कमर पकड़कर उसे अपनी ओर खींचा तो उसके चूतड़ बिस्तर से ऊंचे हो गये. आख़िर में मैंने ढेर सारी चॉकलेट उसकी चूत पर डाली और फिर अपनी जीभ अन्दर डाल डालकर उसको चूसने लगा.

उस दिन पहली जनवरी के दिन मैंने नैनीताल में मस्ती करते हुए फिर से उसकी चूत मारी. मैंने और जोर जोर से उसके चूचे दबाए और ब्लाउज के ऊपर से ही उनको काट लिया.

फिर अपनी दीदी के घर आकर उसे फ़ोन पर बात कर पूछा- आज का दिन कैसा बीता? आपको कैसा लगा?तो उसने बताया- विकी, आज बहुत दिन के बाद ऐसा परम सुख मिला है.

थोड़ी देर बाद मैंने एक और करवट ली और इस बार मैंने एक पैर मामी को भी टच किया, जिससे मामी मेरी तरफ देखने लगें. नहीं कर सकती क्या?अनिल बोला- नहीं यार, ऐसी बात नहीं, चार्जेज वाली लिस्ट नीचे रखी है, आओ मैं तुम्हें दिखता हूँ. ये बात अभी 3 महीने पहले की है, मैं घर का काम कर रही थी और आपकी बहू बोली- रानी काम हो जाये तो चली जाना गेट बंद करके!मैंने कहा- ठीक है भाभी.

क्सक्सक्स+बफ पापा तो जैसे तैयार बैठे थे, मेरे ये कहते ही पापा ने हां कर दी और बोल पड़े- ठीक है बहू, मैं अभी तुम्हारी झांटें साफ कर देता हूं. तो मैंने भी अपने पैर की उँगलियों से उनकी पैर की उँगलियों को छेड़ना शुरू कर दिया।हम दोनों का सर कम्बल के बाहर था और कमरे की लाइट जल रही थी। हम दोनों के पैर आपस में मस्ती कर रहे थे।मैंने अपने पैर से उनके पैर को फंसा लिया तो दीदी को दर्द होने लगा.

अम्मी और अब्बू दोनों दुकान पर रहते हैं इसलिए घर में हमने काम करने के लिए कामवाली को रखा हुआ है. नताशा मुझसे जोर से लिपट गयी और बोली- जय अब डॉगी स्टाइल में करो ना!मैंने कहा- ठीक है. अंदर ही अंदर उसकी चूत से निकल रहे पानी की गर्म गर्म धार को मैं अपने लंड पर लगता हुआ महसूस भी कर सकता था.

सेक्सी बीएफ अच्छा-अच्छा

मैंने उठ कर देखा, तो मेरा और भाभी का वीर्य एक साथ भाभी के चूत से बह रहा था. बालों के बीच में गुलाबी सी चूत देख कर मेरे लंड का तनाव और ज्यादा हो गया. मैंने जोर से उनको मसला, तो कल्पना के मुँह से फिर से आह … की आवाज निकल गई.

क्या बताऊं दोस्तों … उसकी बुर का अमृत जीभ से लगते ही मुझे तो मानो जैसे उसकी जवानी का नशा छा गया था. फिर मैंने पानी की बाल्टी जोर से गिरा दी और चिल्लाया कि ‘आआआ मैं गिर गया.

जब मैं चाची के रूम में पहुंचा तो वो पहले से ही बेड पर पेट के बल लेटी हुई थी.

उसके बाद माया ने किस तरह अपनीसहेली को भी मुझसे चुदवाया, वो अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा. फ़िर थोड़ी देर चूत पर लंड रगड़ने के बाद उसने मुझे उल्टा घुमाया और मेरे पीछे से चिपक गया. उसने रेड कलर की टी-शर्ट पहनी हुई थी और मैचिंग लिपस्टिक लगाई हुई थी.

उसने मेरे पैर ऊपर किये और मेरी गांड में लंड को घुसाने की कोशिश करने लगा. मैंने पूछा- भाभी आप इस टाइम?उन्होंने कहा- आपके भैया ऑफिस चले गए हैं. हाथ से चुत में उंगली और होंठों से चुम्बन का सुख हम दोनों की चुदास को लगातार बढ़ाता जा रहा था.

मैंने कहा- आप मुझे बहुत अच्छे लगे हैं, आप मुझे जितना मर्जी चोद लीजिए।मेरी ऐसी गरम बातें सुनकर फिर उनको मजा आने लगा.

मां बेटे की चुदाई बीएफ वीडियो: मैंने कहा- अगर तुम्हें दर्द हुआ तो?वो बोली- चाहे फट जाये लेकिन तुम अंदर डाल दो प्लीज … जल्दी. उसे देख कर मैं बेड से खड़ा हुआ और सीमा के पास आकर उसके हाथों को चूमा.

इसलिये होटल के कमरे में जाते समय मैंने सारिका के लिए दो पेप्सी ले लीं. हालांकि मैं मजा नहीं ले पा रहा था तो मैंने उन्हें सीधा लेटा कर अपनी ओर किया. आकांक्षा फिर से चीख उठी- आआईईई मां उफ़्फ़ ओहह हह उईईई मार डाला … आराम से कुणाल.

तीसरे दिन सभी के जाने के बाद मैं उसके पास गया और डांटते हुए उसे खड़े होने का कहा.

तभी शायद उसको दारू की महक आ गयी और उसने सख्ती से दरवाज़ा खोलने का कहा. प्रिय पाठको और पाठिकाओ, क्या आपने कभी अपनी बहन या भाई के साथ सेक्स किया है … या आपने किसी के साथ सेक्स किया है … प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं. फिर भाभी ने मुझे नीचे लिटाया और मेरे चेहरे पर अपनी चूत रखकर बैठ गई और मुझे चाटने को बोला.