एक्सएक्सएक्स बीएफ video

छवि स्रोत,माझी पुच्ची

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी का वीडियो: एक्सएक्सएक्स बीएफ video, वहां काफी देर इधर उधर की बात करने के बाद उस ने बताया कि मैं आज भी तुमसे बहुत प्यार करती हूँ, पर अब इस रिश्ते को आगे नहीं चला सकती.

बिहारी बीएफ फिल्म

वैसे तो मैं सभी के भेजे गए ईमेल का हरसंभव जल्दी जवाब देने की कोशिश करता हूँ, फिर भी यदि देर होती है तो देर से ही सही, पर सभी के मेल का जवाब मैं अवश्य देता हूँ. इंडियन सेक्सी छूटपूरी चूत पर एक भी बाल नहीं। झांट भले आज ही साफ़ की गयी हो, मगर इतनी साफ़.

!फिर जैसे ही मैंने उनको हां कहा, उन्होंने मुझे कसके पकड़ कर अपनी बांहों में भर लिया और ज़ोर से हग करने लगीं. ब्लू पिक्चर सेक्सी वाली वीडियो मेंमुझे भी तेरा लंड बहुत पसंद है और मैं भी जान बूझकर तुम्हारे सामने झुककर अपने चूचे दिखाती हूं.

मैंने भी अपने मन में सोच लिया था कि आज भाभी की गांड भी ज़रूर मारूँगा.एक्सएक्सएक्स बीएफ video: पहली नजर में कोई भी उसे देखता था तो बस यही सोचता था कि काश ये माल उसे चोदने के लिए मिल जाए.

धीरे धीरे मैं और वो आपस में बात करने लगे और दोस्ती अब प्यार का रूप ले चुकी थी.भाबी का इस तरह लंड चूसना मानो कोई परमसुख की प्राप्ति हो, भाबी जिस तरह मेरे लंड को पकड़ कर मुँह में आगे पीछे कर रही थीं उससे लग रहा था कि वे मेरा सारा रस पी जाने को व्याकुल थीं.

ब्ल्यू फ़िल्म - एक्सएक्सएक्स बीएफ video

मेरे लिए क्या शायद अंजलि के लिए भी यह किसी जवान लड़के का यह पहला चुम्बन ही था.बहुत नाराज़ थी कि उसके बाद वाली रानियों की तो कहानी लिख के छप भी गयीं लेकिन उसकी अभी तक नहीं छपी.

इसी तरह उसने मेरे दोनों हाथों को भी फैला कर इधर उधर से खीच कर बाँध दिए. एक्सएक्सएक्स बीएफ video लंच आर्डर करने से पहले मैंने ड्रिंक्स का पूछा तो उसने मना कर दिया यह कहा कर- मैं बहुत ही कम कभी भूले भटके ले लेती हूँ.

आंटी ने कहा- मैंने अपना रस बहुत बार पिया है, पर आज जिस तरह से तुमने पिलाया है, उससे बहुत मज़ा आया है.

एक्सएक्सएक्स बीएफ video?

मैं मीठे दर्द से चिल्ला उठी, लेकिन मेरी चीख उसे बिल्कुल सुनाई नहीं दी. मैं- मैं भी उसी साइड रहता हूँ!भाभी- अच्छा, कहाँ पर?मैं- रोहिणी में!इतने में दूसरा प्लेटफार्म आ गया. मैंने सोच लिया कि अब तो संजय से अपनी प्यासी चूत की सेवा करवानी ही है.

मैं पढ़ाई के साथ साथ बचपन से ही पहलवानी किया करता था, जिससे मेरा 5 फीट 10 इंच का शरीर काफी सुडौल और आकर्षक बन गया है. मैंने सोचा वो मेरे पास ही आ रहा है पर वो आगे निकल गया और वो टॉयलेट में घुस गया. तो भाभी बोली- कुछ नहीं होगा, इसे अच्छे से पौंछ लो, थोड़ी देर में सूख जायेगा.

वो मुस्कुरा कर बोली- ये लोग 20-25 दिन के लिए अपने बेटे के यहाँ गए हैं. अचानक रोशनी ने अपनी गांड को एक झटका देकर ऊपर उठा लिया, उसका भी स्पॉट मैंने छू लिया था. यह फ़ोन पर साफ़ बताएंगी, ‘मैं आपसे मिलूंगी पर मुझे आप गिफ्ट दोगे? कितने का गिफ्ट दोगे?’अरे भाई, ऐसे ‘कांटेक्ट’ के लिए एजेंसी की क्या ज़रूरत थी? ऐसी उपहार मांगने वाली आइटम तो कहीं भी मिल जाती.

वो मेरे और नजदीक आ गए और मुझे अब साफ साफ अपने चूतड़ पर लंड की गर्माहट, महसूस हो रही थी. मैं कंबल के अन्दर उसके पाँव सहला रहा था जिससे उसकी आँखों में छा रही मदहोशी साफ दिख रही थी.

मैंने आज तक़ कभी आपके लिए ऐसा महसूस नहीं किया, पर आज जो देखा वो कभी भुला नहीं सकता.

जब मैं अपना पैसा गंवा बैठा तो इस सब पर मैंने गम्भीरता से विचार किया और इस पूरे मामले की तहकीकात करने का तय किया.

जब मैं उठी तो रात भर की चुदाई से मेरी टाँगें पूरी तरह से खड़ी नहीं हो पा रही थीं. मैंने दीदी से कहा- जानू, सभी लड़के अपनी गर्लफ्रेंड को छोड़ कर तुम्हारे बदन का मज़ा ले रहे हैं. इतना कह कर मैं नीचे फर्श पर बैठ गया और रानी के सेट होने का इंतज़ार करने लगा.

यह कहते हुए उन्होंने मेरे लंड पर हाथ रख कर लंड को अपनी मुट्ठी से मसल दिया और बोलीं- देखो ये है मेरा नसीब… अपनी मांद में जाने के लिए फूल रहा है. मैंने पूछा- ताई जी कहां हैं?वह बोली- वो कहीं गई हुई हैं, शाम को 5:00 बजे से पहले नहीं आने वाली हैं. कुछ ने तो मुझसे मिलने की इच्छा भी जाहिर की, लेकिन मेरी पहली कहानी की घटना के बाद तो जैसे लाइफ ही बदल गई.

मैंने नाक और भीतर घुसाने के कोशिश की तो कुछ सख्त सख्त सा महसूस हुआ.

मॉम नवीन का लंड हाथ से पकड़ कर हिलाने लगीं और बोलीं- उस दिन तू मुझे गलियां दे रहा था, मुझे बहुत मज़ा आया. अब जब वो पानी लेने मेरे रूम के सामने आतीं तो थोड़ा हंसतीं और अक्सर बिना दुप्पटे के आ जातीं, जिससे जब वो झुककर बाल्टी भरतीं, तो उनके सोने के रंग के चुचे मुझे अपनी और बुलाते. मैंने जल्दी से बोतल को पिंकी की चूत पे रखा, उसकी चूत से टप टप करके जूस गिरता जा रहा था.

जब सुबह मैं जागी तो वो मुझसे बोलीं- तुम अपने पापा से कुछ ना बोलना, मैं सब संभाल लूँगी. मैंने और भी देर करना उचित नहीं समझा और दो सेकेण्ड के अन्दर ही मैंने अपने तने हुए लंड को चाची की चूत में प्रवेश करवा दिया. नहीं तो शिमला में एक बार फिर से तुम्हारे साथ गिरती हुई बर्फ के बीच चुदने मजा कहाँ छोड़ने वाली थी।हम दोनों एक साथ वाशरूम में जाकर फ्रेश हुए और मैंने उसके स्तन और बुर को खूब चूसा, फिर पहले गांड की बीस मिनट तक… फिर बुर की लम्बी चुदाई की.

काफी देर तक उसके मम्मे चूसने के बाद उसने मुझे अलग किया और बोलने लगी कि सिर्फ चूचों के पीछे ही लगे रहोगे या आगे भी कुछ करोगे.

मैंने उसकी चूत को चूम लिया और उसकी चूत को अपने होंठों से चूसने लगा. पर मेरे फ्रेंड ने बोला- पूजा का 5 दिन पहले एक्सीडेंट हुआ था और उसकी मौत हो गई थी.

एक्सएक्सएक्स बीएफ video अलका रानी के पैर कितने सुन्दर हैं ये फिर से बताने की आवश्यकता नहीं है. मैं दीदी को भी खूब गरम करने के लिए उसका दूध पीने लगा और जल्द ही दीदी की चुत भी लंड लंड चिल्लाने लगी.

एक्सएक्सएक्स बीएफ video कुछ देर यूं ही चोदने के बाद जब लंड सटासट चुत में अन्दर बाहर होने लगा तो मैंने उसकी टांगों को उठा कर अपने कंधों पर रख लीं और उसकी चुदाई जमकर करने लगा. उनसे बात करते करते ही बारिश तेज होने लगी, तो हम दोनों बस स्टॉप के अन्दर शेड के नीचे खड़े हो गए.

मैंने उसके लंड को पकड़ा और उसकी मुलामियत महसूस करते ही समझ गया कि अभी उसका लंड खड़ा नहीं हुआ है.

बफ फुल फॉर्म इन हिंदी

मेरा उनके घर बहुत आना जाना था, मैं जब भी भाभी को देखता और सोचता कि कब इनको चोद पाऊँगा. मैं नहीं माना, मैंने हाथ बेड से ऊपर बाँध दिए और उनकी आँखों पर पट्टी भी कस दी. जैसे ही मेरी चुत का दाना खींचा, वैसे ही मेरे मुँह से आवाज निकल पड़ी- उन्म्म… मोहन जी प्यार से प्लीज!पर मोहन मेरी बात सुनने के मूड में नहीं था, उसने मेरी टांगों को फैला कर चुत में मुँह डाल दिया और कुत्ते के जैसे मेरी चुत पर टूट पड़ा.

फिर मैं चुत चाटने लगा और एक फिंगर भाभी के गांड में डाल के आगे पीछे करने लगा. मैंने फिर पूछा- भाभी, क्या हुआ?भाभी- देवर जी, तुम्हारी ये शु शु नहीं, अब लण्ड हो गया है तुम बड़े हो गए हो!इतने में भाभी ने लण्ड को पकड़ा तो उनके हाथ की मुठ्ठी में आधा आया और आधा बाहर ही था. जब वो नॉर्मल हुई तो मैं धीरे धीरे धक्के लगाने लगा और वो भी चूतड़ उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी.

अभी तक आपने मेरी सेक्स कहानी में पढ़ा कि मुझे अपने पापा और पड़ोस की आंटी के बीच सेक्स संबंधों के बारे में पता चला.

तभी मैंने देखा कि अब दोस्त की लंड पेलने की स्पीड बढ़ गई और वो झड़ गया. मौका ताड़ के मैंने कहा- आपके हाथों में तो जादू है अलका जी… आपकी बनाए हुए पकवान खाकर तो जी करता है कि आपकी उंगलियां चूम लूँ… चूमूँ और बस चूमता ही जाऊँ. तो दोस्तो… कैसी लगी दो भाभी की एक साथ चुदाई की ग्रुप सेक्स स्टोरी? प्लीज़ मेल कीजिएगा.

हम लोग तीन लड़कियां थीं तो हमने सोचा रात में यहीं रूक जाती हैं, सुबह जब कोई गाड़ी मिलेगी तब अपने घर जाएंगे. उन अंग्रेजों में एक था विलियम जो मेरी वाइफ को देख रहा था बार बार… मेरी वाइफ भी उसे देख मुस्करा रही थी. मेरा रिसपोंस मिलते ही उसने मेरी कमर में हाथ डाला और मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों को चूसने लगा.

अगर कही चुदाई कर ली तो मिलने के बाद सबसे पहले चुदाई की मस्ती पर चर्चा करते हैं. उसको देखते ही मेरे दिल ने कहा ‘हे भगवान… काश आज ये ही मुझसे मिलने आई होती…!’कार से उतर कर शायद वो भी किसी को ढूँढ रही थी, तभी वो वापिस कार में बैठते हुए मुझे दिखी, और तभी मेरे फोन की घंटी बजी और देखा तो आरुषि का ही काल था,आरुषि- कहाँ हो आप संचित…??मैं- जहाँ आपने बुलाया था.

मैंने मौसी से मौसा जी के बारे में पूछा तो मौसी बोली- तुम्हारे मौसा भी एक अन्य निमंत्रण में गए हुए हैं. वो पहली नज़र में भी हो सकता है और कुछ मुलाकातों के बाद भी हो सकता है. उस दिन पता नहीं क्यों मुझे मेरी बहन के बारे में अजीब अजीब से ख्याल आने लगे थे.

हम सब वहां पहुँचे… तुरंत ही उन्होंने तिजोरी खोली, पचास हजार रुपए निकाले और उनको दे दिए- अब निकलो यहां से और कभी वापस मत आना!भाभी ने गुस्से में बोला.

फिर मैं पढ़ने में लग गया लेकिन मेरा ध्यान तो उसकी खूबसूरती को देखने के बाद लग ही नहीं रहा था पढ़ाई में… और मेरी अंदर की वासना भी जाग रही थी. अब आगे…विवेक के गिफ्ट किए गए फ्लैट में शिफ्ट होने के बाद विवेक का आना कम हो गया. एक बार मैं अपने दोस्त के साथ अवंतिका से मिलने गया, तब अवंतिका के साथ उसकी फ्रेंड रीटा भी आई थी.

उसने अबकी बार मेरी गांड पर लंड लगाकर धक्का लगाया और उसका लवड़ा मेरी गांड फाड़ अन्दर घुस गया. तो छुट्टी लेकर मैडम के साथ हो लिया।नीना को सजते संवरते दो घंटे लग गए और हम लोग हॉस्पिटल करीब एक बजे पहुंचे। डॉक्टरों के हर केबिन में खचाखच भीड़ थी.

वहां क्या हुआ?पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…जो लोग xxx पोर्न फिल्मों जैसा सेक्स करना चाहते हैं, पर शर्मिंदगी की वजह से या गंदे सीन की घृणा की वजह से यदि ऐसा नहीं कर पाते हों. फिर धीरे से एक ही बार मेंपूरा लंड भाभी की गांड मेंउतार दिया, वो ‘आआ आआहह. फिर मैं चुत चाटने लगा और एक फिंगर भाभी के गांड में डाल के आगे पीछे करने लगा.

कैटरीना की bf

मैं- पक्का प्रॉमिस आपकी कसम!भाभी- जा मेन गेट लगा कर आ!मैं दौड़कर मेन गेट लगा कर आया और मन ही मन खुश हुआ कि एक और शानदार चूत मिली.

मैं भाभी के शर्ट के अंदर हाथ डालने ही वाला था कि कश्मीर गेट मेट्रो स्टेशन आ गया, मैंने जल्दी से ज़िप बंद करके शर्ट बाहर निकाल ली ताकि खड़ा लंड छुपा सकूँ. मैंने भी इस बार फिर वही प्रश्न पूछा, वो बोली- हाँ आया, बहुत आया!मैंने फिर उसे बोला- विलियम को फिर से फील करो!तो वो न नुकर करने लगी. अब तक आपने पढ़ा था कि कुसुम ने मुझे रंडी बनने की ट्रेनिंग देना शुरू कर दी.

मेरे बहुत कहने पर उसने ये सब मेरी मम्मी को भी बताया तो मम्मी भी थोड़ा गुस्सा हुईं लेकिन उसको अपने कमरे में ले गईं. मैं फिर से उसके गालों पर किस करने लगा और धीरे धीरे गालों पर से गले पर किस करने लगा. राम रहीम का सेक्सी वीडियोमैंने कहा- क्या हुआ अभी दिल नहीं भरा क्या?वो बोली- इतना करने के बाद कौन सी लड़की होगी जो दोबारा करवाएगी.

मगर आप तो जानते ही हैं ना कि जब लंड चुत में चला जाता है तो फिर वो जंग के मैदान में होता है, वहाँ प्यार नहीं बंदूक चलती है. मैं बोला- शीनू?उसने हाँ में जवाब दिया और पूछा- आपकी तबियत कैसी है?मैंने कहा- मैं ठीक हूँ, आप बताओ.

क्या करें… हमारा रिश्ता था ही ऐसा! दोस्तों जैसे!लेकिन मुझे लंड की बहुत जरूरत थी, मेरे पति जॉब पर चले गए थे और मुझे चुदवाने का बड़ा मन कर रहा था. रोशनी ने भी पिंकी के गोल रसभरी जैसे निप्पल को चूसा और पिंकी का रस तेजी से निकलने लगा. भाभी- रिक्की, अपने कपड़े उतारो!मैंने फुर्ती से पैन्ट और अंडरवियर उतार दी, मेरा लण्ड फनफनाता हुआ सलामी देने लगा.

दीदी बहुत सेक्सी तरीके से गांड हिलाते हुए मेरे पास आईं और पूछा- कैसी लग रही हूं?तो मैंने कहा- बहुत सेक्सी माल लग रही हो. मैं जैसे ही चाय लेकर पहुँचा, मैंने देखा उसकी माँ भी साथ में खड़ी थी. उस वक़्त जितना गुस्सा मुझे अपने आप पर आ रहा था उतना गुस्सा मुझे आज तक किसी पर नहीं आया होगा.

भाबी की मैक्सी के ऊपर से ही मैंने उनके बड़े बड़े चुचे मसले और मैक्सी उतार कर उनको दोनों चूचों को आज़ाद कर दिया.

कहते है जितना गहरा मेहँदी का रंग उतना गहरा प्यार!मैं- पर हमारा प्यार तो सिर्फ कुछ इंच गहराई तक पहुँच सकता है!इतना बोल कर उसके चूत में उंगली डाल दी और वो उचक कर मेरे गले लग गयी. बिंदु माँ ने मेरी चूत के होंठों को खोल कर अपने बेटे को परोसा और उसका बेटा मेरी चूत की फांकों में अपना लंड रख कर सहलाने लगा.

दस मिनट तक उसी स्पीड में दौड़ने के बाद वो मेरे करीब आईं, मशीन को बंद किया और मुझको सहारा देकर चेयर पे बिठाकर बोलीं- बैठो यहां पे… मैं तुम्हारे लिए प्रोटीन शेक लाती हूँ. फिर अपना एक हाथ उनकी दोनों जाँघों के बीच उनकी मुलायम नर्म चूत को छूते हुए उनकी गांड की तरफ से निकाल कर उनको दीवाल के सहारे ऊँचा कर दिया. अर्पी, मेरी जान, अपनी गांड को थोड़ा ढीला छोड़ो, सिर्फ एक बार दर्द होगा, फिर मजा ही मजा!”जैसे ही अर्पिता ने थोड़ी गांड ढीली करी, मैंने एक जोरदार झटका मारा, क्योंकि इस बार नहीं डालता तो फिर शायद कभी नहीं डाल पाता.

वहां ठीक पंखे के नीचे उनको खड़ा कर दिया और हैंडकफ से उनको बाँध दिया. थोड़ी देर की चुदाई के बाद उसकी चूत गीली होने लगी और अब लंड आराम से उसकी चूत के अन्दर जा रहा था. मैं जब उनके कमरे में गयी तो वहाँ उसकी सेक्टरी एक कोने में बैठकर रो रही थी और अनुज उसे मनाने की कोशिश कर रहा था.

एक्सएक्सएक्स बीएफ video और सुनो जैसे ही लंड का पानी लगे कि निकलने वाला है, उसे चुत से बाहर निकाल कर गीता के मम्मों और मुँह पर झड़वा देना. जब मेरा दोस्त मुंबई से आ गया, मेरे दोस्त ने मुझे बताया- मेरी एक गर्लफ्रेंड यहीं पास के गाँव की है.

ओपन सेक्स वीडियो अंग्रेजी

मतलब मेरे लंड ने भी अपनी पिचकारी दिशा के मुँह में छोड़ दी जिससे दिशा का मुँह मेरे बीज से भर गया, जिसे दिशा पूरा निगल गई और चूस चूस के एक एक बून्द निचोड़ ली और तब तक चूसती रही जब तक मेरा लंड दुबारा नहीं तन गया. कई बार दोनों को डिनर पर आमंत्रित भी किया ताकि बातचीत इनफॉर्मल हो जाए. ”ऊऊऊ स्सस्सस्स… कोमल तेरे ये चूचे बहुत मस्त हैं… किस किसने चूसे हैं.

पापा का नाम सुनते ही बोली- नहीं नहीं उनसे कुछ ना कहना, मैं आज ही उसका किसी होटल में इंतज़ाम कर देती हूँ. उसने झट से कहा- तो ठीक है आप वादा करो कि जब भी मेरा दिल होगा, मैं आपके साथ लेट सकता हूँ. रीना राय की बीएफमैं- वह तो ठीक है, पर वह मानेगी कैसे? मुझे नहीं लगता कि वह मेरे साथ कभी सेक्स के लिए राजी होगी.

दादा भी झांसी बस स्टैंड में भी बहुत प्रतिष्ठित थे, बहुत सारे लोग उन्हें सलाम राम राम कर रहे थे.

इसके मुंह में तुम्हारा लंड घुसा था, नहीं ये रो रो के चिल्ला चिल्ला कर पागल कर देती. प्रिया ने हौले-हौले अपनी आँखें खोली तो मुझे सीधे अपनी काली कज़रारी आँखों में झांकते पाया।झट से प्रिया ने मेरी ही आँखों पर अपना हाथ रख दिया- आप मुझे ऐसे ना देखो प्लीज़… मैं तो शर्म से ही पिघल जाऊँगी.

अब आंटी भी मेरा पूरा साथ दे रही थी, मैं उनके होंठों को चूसता काटता जा रहा था. मैंने कई बार हटाया, बाद में तंग आकर मैंने उसके पैर को हटाना छोड़ दिया. अब वो धक्के मार रहा था, इधर मुझमें थकान भर गई थी क्योंकि मैं अभी एक मिनट पहले ही बुरी तरह से चंदर से चुदी थी इसलिए मैं निढाल पड़ी रही और वो मुझे चोदता रहा.

जरा खुल कर बताओ न कि तेरी किस में आग लगी है?वो इठला कर बोली- तुमको नहीं मालूम कि मेरी किस जगह आग लगी है?मैंने कहा- मुझे तो मालूम है, पर तुम अपने मुँह से कहो न कि तुम्हारी किसमें आग लगी है.

मनोरमा ने अन्दर जा कर सब कपड़ों को उतार कर एक सिंगल पीस गाउन, जो ऑलमोस्ट पारदर्शी था, पहन कर बाहर आ गई. मैं किचन में गया, कोल्ड ड्रिंक की बोतल लेकर आया तो देखा कि भाभी ने टेबल के ऊपर दो गिलास और एक वाइन की बोतल रखी हुई है. मॉम- गांव जाने के लिए बहुत खुश है तू??नवीन- नहीं ऐसी बात नहीं है मालकिन.

इंडियन विलेज पोर्न वीडियोमैं- नहीं नहीं अलका जी… मैं तो ग्यारह से पहले नहीं सोता… बोलिये क्या बात है? कैसे इस वक़्त फोन किया? सब ठीक ठाक है ना?अलका- नहीं राज जी सब ठीक है… मैंने तो सिर्फ यह बताने को फोन किया था कि आपकी दो कहानियां पढ़ ली हैं… बहुत रोचक तरीके से लिखते हैं आप… दोनों कहानियां बहुत अच्छी लगीं. आप सभी की मेल पढ़ कर मुझे बहुत अच्छा लगा और उसी के चलते आज मैं अपनी एक और कहानी लिख रही हूँ.

ऐश्वर्या राय बच्चन xxx

हम पहली बार मिले थे लेकिन होटल के कमरे में बिस्तर पर नंगे लेटे ऐसे बातें कर रहे थे जैसे हम पति पत्नी हों या प्रेमी प्रेमिका. मैंने नताशा को अपने हाथों में उठा लिया और बेडरूम की तरफ ले जाने लगा. थोड़ी देर बाद भैया के साथ चाचा जी और श्याम भैया भी ड्यूटी के लिए निकल गए.

भाबी इस तरह से लंड चूस रही थीं, जैसे मानो लंड चुसाई में बहुत एक्सपर्ट हों. यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, इस कहानी का अनुभव अगर अच्छा रहा तो आगे की अन्य कहानियां भी प्रस्तुत करता रहूँगा. तभी मैं एलर्ट हो गया कि कुछ गड़बड़ी है, वैसे भी वन्द्या यहां की बहुत फेमस आइटम है, किसी ना किसी को फंसा के ये रखती है, वन्द्या भले उम्र में कम कम है पर बहुत चालू आइटम है।और फिर धीरे से परदे के पीछे से जो नजारा दिखा उसे देखकर तो मैं पागल हो गया तब तुम वन्द्या की पैंटी उतार रहे थे और जैसे तुम वन्द्या की चूत चाटने लगे मैं फोटो और वीडियो बनाने लगा और सोच लिया कि आज वन्द्या को बिना चोदे नहीं जाऊंगा.

ऋतु- ओके रवि!ऑफिसर- तुम लोग कहीं मेरा स्टिंग ऑपरेशन तो नहीं कर रहे हो ना? क्योंकि बहुत आसानी से तुम मान गईं, भाई इतनी सुंदर और सेक्सी लड़की, जो हम जैसे से बात भी ना करे, वो चुदने को रेडी हो गई. मेरी पत्नी ने उसकी इस क्रिया को समझते हुए आर्थर के फनफनाते हुए लंड को अपनी योनि में घुसवाते हुए अपने फैले हुए पैरों को आर्थर के शरीर से लिपटाते हुए उसे अपने पैरों द्वारा जकड़ लिया. क्या किया जाए? शत प्रतिशत कामयाबी बहुत कठिन है, इसलिए सत्तर फीसदी में ही खुश रहना सीख लिया है.

एक दिन मकान मालिक ने मुझसे बोला कि वो मुझे आज शाम को शॉपिंग करवाना चाहता है. एक दिन मकान मालिक ने होटल में ले जाकर मुझे दारू पिला कर मेरी गांड भी मारी थी.

आंटी ने पूछा- हो गया शांत?मैंने कहा- क्या मतलब?उन्होंने कहा- मतलब फ्रेश हो गया.

लेकिन हम दोनों ने लव करते समय ये तय किया था कि कभी भी किसी भी संदेह वाली बात को मन में न रख कर सीधे एक दूसरे से इस बात को पूछ कर स्पष्ट कर लिया जाएगा. मुस्लिम लड़की के साथ सेक्स वीडियोइसके अलावा मुझे आज पहले उसका रिएक्शन भी देखना चाहता था कि कहीं ऐसा न हो कि भड़क जाए. जंगल में चुदाई हिंदीमैं अवाक रह गई और अपनी बड़ी सी आंखें फाड़ कर उनके चेहरे को देखने लगी. थोड़ी देर इधर उधर की बात करते करते ही मैंने अनायास ही उन से पूछ लिया- मौसी जी, शादी के इतने साल बाद भी आपको अभी तक बच्चा क्यों नहीं हुआ?मेरी बात सुन कर मौसी काफी उदास हो गयी और रूआंसी सी बोली- क्या बताऊँ राजीव बेटा, तुम्हारे मौसा जी के स्पर्म में ही कोई कमी है.

अब नीलम भाभी नीचे बैठ गईं और पूनम खड़ी हो कर अपनी चुचियां चुसवाने लगी.

मैंने भाभी की गांड पर थूक लगाया और फिर लंड को टिका कर दबाव बनाता गया. रमन किसी कुत्ते की तरह मेरी पूरी मुनिया को चाटने लगे, मेरा फर्स्ट टाइम था ये. इसके साथ ही मैंने अपने हाथ को नीचे ले जाकर उसकी सलवार को नाड़ा खोलना चाहा.

जैसे ही मेरे चूमने लगे, उनके मुंह से हल्की हल्की दारू की महक आ रही थी, मैं बोली- महक आती है आपके मुंह से वाइन की!तो बोले- अभी बहुत मजा आएगा तुझे!और फिर उन्होंने मेरे स्कर्ट को ऊपर किया और नीचे बैठ गए, मकान मालिक बोले- बहुत मस्त माल है तू वन्द्या, तुझे कैसे छोड़ता, तू आ गई वरना मैं तेरे घर आ ही जाता।मैं कुछ नहीं बोली. तब तक बिंदु माँ ने उसके सुपारे को अपने मुँह में ले कर चाटा और बहुत सारा थूक उसके लंड पर लगा कर बोलीं- अब मार साले जोर का झटका. मेरी बहू बोली- पापा जी, बहुत गुदगुदी हो रही है और अब मैं काफी गीली हो गई हूँ नीचे!मैं बोला- पूजा बेटा, चुदाई भी एक कला है। अच्छी तरह से पहले एक दूसरे के बदन से खेलना चाहिए जिससे दोनों जने खूब गर्म हो जायें। उसके बाद ही हमने आगे सेक्स की शुरुआत करनी चाहिए.

बुड्ढी की चुदाई

मैं भी जानता था कि दीदी गर्भ ठहर जाने के डर से कह रही है कि वो चुदाई से प्रेग्नेंट ना हो जाए. तब से लेकर मैं और मौसी लगातार फोन पर सम्पर्क बनाए रहे, मौसी ने डेढ़ महीने बाद ही मुझे बता दिया था कि वे पेट से हैं. मोहन हंसते हुए बोला- हां छिनाल, आज तुझे चोद के मेरी रखैल बना लूँगा और मेरे बच्चे की माँ भी बना दूँगा.

मैं घर पर वापिस आई और घर पर बोला कि एक नौकरी मिल रही है जिसमें सेलरी भी डबल होगी… करनी तो यहीं है पर कम्पनी इसका इंटरव्यू दूसरे शहर में ले रही है.

मैंने मोहन को बांहों में लिया था और मोहन मुझे बाजारू रंडी के जैसे चोद रहा था.

हल्के हल्के काले भूरे बाल उसकी बुर को मानो सबकी वासना भरी नजर से उसे बचाने के लिए पहरा दे रहे थे. अब हम लोग बाथरूम से बाहर निकले और सीढ़ियों से नीचे आ गये और वह फिर से शिशु वार्ड में चला गया और मैंने अपना रास्ता पकड़ लिया. बिहारी बीएफ सेक्सी बिहारी बीएफ सेक्सीतो मैंने ‘हाँ’ कर दी और थोड़ी देर में उसके पास आकर मिलने के लिए कहा।आधा घंटे बाद मैं तैयार होकर उसे लेने चला गया और फिर हम घूमने चले गए। बाहर बहुत गर्मी होने की वजह से हम दोनों ने ही मूवी देखने का प्लान बना लिया। उस समय हिट मूवी ‘राउडी राठौर’ आई हुई थी.

करीब 15 मिनट बाद वो अपने चरम पे पहुंचने वाली थी, वो चिल्लाने लगी- एम कमिंग बेबी… फक हार्ड आह… हाँ ऐसे ही आ… अहह… आआहह… अह…वो झड़ने लगी, लेकिन मैं नहीं रुका. अब तक मेरी सेक्स स्टोरी ले पिछले भाग में पढ़ा था कि मेरी सौतेली माँ बिंदु ने मेरी चुत की सील तोड़ने के लिए अपनी मेरे सौतेले भाई को कह दिया था. तभी सब लोगों की बातें ख़त्म हो गई और सबको सोना था तो मेरी मम्मी पापा और भाई तो उसी रूम में सोने चले गये, मामी, मामा जी और उनके बच्चे मेरे रूम में आ गये, एक्सट्रा बेड भी लगा दिया था.

मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागमेरे घर में मेरी चालू बीवी को उसके बॉस ने चोदामें आपने जाना था कि मेरी बीवी अपने बॉस के साथ पूरी रात कमरे में चुदवाती रही. विवेक ने उसको ऐसे ही काफी देर उछालने के बाद उसको पलट कर बेड पे डाल दिया और उसकी एक टांग कंधे पे रख कर उसकी चूत में धक्के देने शुरू कर दिए.

कभी वह मेरे मुँह में अपनी जीभ देते, कभी मैं उनके मुँह में अपनी जीभ दे देता.

उसमें से मनोरमा के बूब और निप्पल और चुत की लकीर भी साफ़ नज़र आ रही थी. मेरा फ्रेंड अवंतिका को लेकर गार्डन में एक कोना देख कर चूमाचाटी करने लगा और मुझे रीटा से मिलवा कर उसके साथ घूमने के लिए भेज दिया था. एक दिन जब मैं उनके घर गया तो वो अपने बच्चे को दूध पिला रही थीं, मुझे देख कर उन्होंने दुपट्टे से अपना स्तन छुपा लिया और मुझे बैठने के लिए बोला.

2021 की ब्लू सेक्सी खैर रात को मैंने पढ़ाई करने के बाद उसके उसके नाम की मुठ मारी और सो गया. कहते है जितना गहरा मेहँदी का रंग उतना गहरा प्यार!मैं- पर हमारा प्यार तो सिर्फ कुछ इंच गहराई तक पहुँच सकता है!इतना बोल कर उसके चूत में उंगली डाल दी और वो उचक कर मेरे गले लग गयी.

उन्होंने बताया कि वो अपने पति से सन्तुष्ट नहीं हैं और सेक्स का पूरा मजा लेना चाहती हैं. आते ही वो फिर से मेरे से लिपट गई और एड़ियाँ उठाकर मुझे होंठों पे किस करने लगी। उसकी हाइट कम होने के कारण उसे थोड़ा परेशानी हो रही थी, मैंने उसे उठा कर टेबल पर बिठा दिया और हम फिर से किस करने लगे। मैं उस की कमर पर हाथ फिरा रहा था और वो मेरी कमर पे। हम दोनों ही एक दूसरे के भीतर समा जाने को आतुर थे. वह तड़पने लगा और बोला- ले ले जान मुंह में… ले ले… चूस दे… तेरी जुबान ने तो वीर्य बिल्कुल लंड के कोने पर ला दिया है… निकल जायेगा जान…अब मैंने शरारत बंद की और एक झटके में उसका लंड अपने गले तक ले गया और दिल खोलकर और जान छोड़कर उसके लंड को बेइंतेहा चूसने लगा जिससे मेरे बालों पर उसकी मुट्ठी की पकड़ और मज़बूत हो गयी.

ब्लू पिक्चर लगा दो

वो अलमारी से एक जोड़ी सैंडल लेकर आया जो बहुत ऊंची हील वाले थे और नीचे उनका डायामीटर एक इंच का ही था. मगर मैंने उनसे इस जंगली चुदाई की चाहत की वजह जानने की कोशिश की तो उन्होंने मुझे अपनी आपबीती की बात कही. तीसरे दिन जब मैं खाना खा कर सोने के लिए गया तो मैंने देखा भाबी के कमरे से कुछ आवाज़ आ रही है.

अब मैं ससुराल में जैसे अकेली रह गई थी और अब तो मैं जैसे पूरा दिन बिल्कुल फ्री रहती थी क्योंकि घर का कोई काम मुझे नहीं करना पड़ता था. मेरी रोमांटिक कहानी के पहले भागमेरी स्टूडेंट ने मुझे दुनिया दिखाई-1में आपने पढ़ा कि मुझे अपनी एक स्टूडेंट से प्यार हो गया था.

मैं दर्द से चिल्लाया ‘आ… आ… ब… स…’वो जरा रूक गया और मेरे चिल्लाने से चौंक गया.

अब मैं आपको सिर्फ बिंदु ही कहूँगा क्योंकि आंटी को चोदना ठीक नहीं लगता. तो वो मुझसे कहने लगी कि आप जो बोलोगे मैं वो करूंगी, पर आप प्लीज़ ये बात हम दोनों तक ही रखना. मैं यह सोच कर तो झड़ते झड़ते बचता था कि अगर बगल के बाल इतने खूबसूरत हैं, तो नीचे चूत की रेशमी झांटों का क्या मस्त नजारा होगा.

उसके बाद गेस्ट हाउस, फिर क्लब और उसके बाद सड़क के दायीं तरफ फैक्ट्री के इंचार्ज यानि मेरा बंगला; और उसके सामने यानि सड़क के बायीं तरफ बच्चों का खेल कूद का मैदान जिसमें छोटे बच्चों के लिए झूले इत्यादि लगे हैं, एक बड़ा सैंड पिट, एक स्केटिंग रिंक है, एक बैडमिंटन कोर्ट, एक टेनिस कोर्ट और एक बड़ा सा प्लेग्राउंड हैं. मकान मालिक मेरी चूत को बहुत देर तक चाटता रहा और उसी दौरान मैं झड़ गई. इस सब फिल्म को बीच बीच में मुझे फास्ट फॉरवर्ड मोड पर भी दिखाया गया.

मॉम तेज़ तेज़ सीत्कारें लेते हुए अपने आप को खुद ही चोद रही थीं ‘आह आह आह.

एक्सएक्सएक्स बीएफ video: उसने कुर्ती के नीचे कुछ नहीं पहना हुआ था क्योंकि उसने उस समय जल्दी जल्दी में सिर्फ कुर्ती ही पहन पाई थी. राजू- ठीक है मेमसाब मैं जा रहा हूं… जब किसी को कुछ करवाना ही नहीं है… तो मैं चला.

वो मेरे दूध दबाता हुआ बोला- जब तक इस लंड का पानी ना निकले, इसको चूसती रहो. कुछ लड़के लड़कियां कोनों में खड़े चूमने और एक दूसरे के जिस्म से खेलने में मगन थे. कुछ देर बाद मैं बिंदु के पास लड़खड़ाते हुए गई और बोली- या तो चंदर को अभी यहाँ से जाने के लिए बोलो या फिर मैं पापा से कुछ कहूँ.

अशोक जी आप यह बताइए कि आपको बालों वाली चाहिए या क्लीन शेव चाहिए?”उधर से जवाब आया- मैं खुद उसकी हजामत बनाऊंगा.

एक दिन मुझे उसका फोन आया- हैलो मैगी, कैसे हो?मैं- मैं ठीक हूँ दीदी. मैं अब भाभी के नाम की रोज़ मुठ मारता था और उनको चोदने के सपने देखता था. वो जैसे ही बेड पर लेटने को हुई, मैंने उसे पकड़ लिया और कहा- ऐसे नहीं जान पहले पूरे कपड़े उतारो.