वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म

छवि स्रोत,छोटी आनंदी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मराठि झवाझवि: वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म, इतना कहकर उसने मेरी दोनों बांहें कलाई के पास से पकड़ लीं और बोली- यह पकड़ ली लगाम और चल मेरे घोड़े टिक टिक टिक.

सेक्सी बीएफ हिंदी लड़की का

कुछ देर बाद उसने अपना लंड शिवानी के मुँह में डाल कर उससे चुसवाने लगा. वीडियो सेक्स हिंदी बीएफमैंने बिना देर किए उन्हें जल्दी से अपनी बांहों में भर लिया और जोर से उनके गालों को चूम लिया.

मैंने कहा- अरे जिस काम के लिए हम ये सब कर रहे हैं वो किया कि नहीं?वो बोला- अभी तीसरा पैग शुरू होने दो, तुम्हारी बीवी गर्म हो जायेगी. काला लंड बीएफ वीडियोदोस्तो, हालत ये थी कि हम दोनों इतने गर्म थे कि अगर मैं उसके दूध ना चुसूँ, तो वो ख़ुद टपकने जैसे थे.

जब मनु आयी और उसने मुझे देखा तो वो बोली- अरे, तुम्हारे बॉस ने तो तुम्हारा पूरा रस ही पी लिया.वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म: फिर कुछ देर बाद उपासना उठी और सारा समान फ्रिज में और रसोई में सेट किया और फिर दोनों के लिए पानी और चाय बना कर लायी.

मेरे पस्त होते ही चारू भी एकदम पस्त होकर बेड पर पड़ गयी थी और अपनी सांसों को कंट्रोल कर रही थी.और दोनों टांगों के बीच भाभी की चिकनी चुत को देखते ही मैं अवाक रह गया, बिल्कुल कुंवारी लड़की की तरह गुलाबी होंठ आपस में चिपके हुए पानी से तरबतर थे और बिल्कुल संतरे की फांक की तरह ऐसे लग रहे थे जैसे इनका रस कभी चूसने से भी खत्म नहीं होगा.

सेक्सी बीएफ साड़ी वाली देसी - वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म

शाम को जैसे ही उन्होंने मुझे देखा, वो एकदम मचल गए और घर में घुसते ही मुझे जोर से बांहों में कस लिया.फिर मैंने उससे पूछा- तुम दोनों ने कभी कुछ किया भी है क्या?एक बार तो उसने जवाब नहीं दिया लेकिन फिर वो कहने लगी- हाँ, एक बार उसने मुझे पॉर्न मूवी दिखा कर गर्म कर दिया था तो मैंने उसके साथ एक बार कर लिया था.

आंटी के मम्मे बत्तीस इंच साइज़ के रहे होंगे और उनकी गांड का तो मत पूछो यार … एकदम ऐसे कि सबको घायल कर दे. वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म मैं उनको बोली- अपनी आँखें बंद करिए!भैया ने अपनी आँखें बंद की और मैंने उनके गाल पर एक किस दी.

नीलम ने अपनी गांड को महेश के लंड के चंगुल से छुड़ाने की बहुत कोशिश की लेकिन महेश की ताकत के सामने वो कुछ नहीं कर पा रही थी.

वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म?

लेकिन कुछ देर बाद उसने मुझसे कहा- अब सब ठीक है, अब जैसे चाहते हो, चोदो मुझे।मैंने पूछा- क्यों दर्द नहीं रहा क्या?जो होना था … हो गया. राहुल ज्यादा नहीं पीता था तो उसने एक छोटा सा पेग केवल साथ देने के लिए ले लिया और रजनी डिनर लगाने चल दी. मुझे बहुत दिनों बाद जबरदस्त लंड का मज़ा मिल रहा था और दर्द भी हो रहा था.

मेरे पैर छूते हुए बोली- मेरा रिजल्ट आ गया, मेरी 17वीं रैंक आई है, मुझे मनचाहा कॉलेज मिल जायेगा. अपनी आँखों में भूख और होंठों पर मुस्कान लिए शबनम ने उसकी तरफ देखा- थैंक्स!उसके दिल की धड़कन रुक सी गयी जब उसने उसकी सलवार को थोड़ा सा ऊपर किया और थोड़ा ऊपर मसाज करने लगा. मुझे डर लग रहा था कि कहीं कोई हम दोनों को घर के अन्दर देख लेगा तो दिक्कत हो जाएगी.

तभी अंकल ने ममता को नीचे बैठा दिया और मेरी चूत से निकला हुआ लंड उसके मुँह में दे दिया. मेरा लंड तो कह रहा था कि आज तो दीदी की चूत मार ही ले लेकिन मैं दीदी को परखना चाह रहा था कि वो भी मेरे लंड को लेना चाहती है या नहीं. उन्होंने एक बार मेरे होंठों को जोर से चूसा और फिर मेरे चूचों को दबाते हुए मेरे पूरे बदन को चाटने लगे.

आआहह … उनके दांत मेरे दोनों निप्पलों पर गड़ने से मेरे मुँह से सिसकारियां निकलने लगीं. वो अपने होंठों को मेरे होंठों पर सटा कर पूरे जोर से मुझे चूसने लगे.

मैं- यहां कितने लोग रहते हैं?वो- हम दो लोग रहते हैं?मैं- क्या आप मुझे एडजस्ट कर सकते हो? रेन्ट भी शेयर हो जाएगा, तो पर हैड कम लगेगा.

मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था, मेरी गांड अब पूरी तरह से उनके लंड को अपने अन्दर समा चुकी थी.

थोड़ी देर बाद उन्होंने खाँसने की आवाज की, तो हम दोनों ठीक होकर बैठ गए. मैंने पूछा- क्या हुआ?इधर दोस्त भी घबरा गया और उसकी पत्नी भी।उसकी पत्नी ने मेरी बीवी की चूत से उसके हाथ हटाकर उसकी चूत को खोलकर देखा तो पता पड़ा कि उसकी चूत में काफी अंदर तक समुद्र की रेत चली गई है!हमने भी देखा कि उसकी चूत में काफी ज्यादा रेत भर गई थी और उसे तकलीफ हो रही थी. मैंने अपना लंड उनके मुँह की तरफ बढ़ाया, तो जैसे कोई छोटा बच्चा लॉलीपॉप चूसने के लिए मचलता है, वैसे ही भाभी मेरे लंड को अपने मुँह में रख कर चूसने लगीं.

लंड चूत में घुसते ही वो मस्त होकर चुदने लगी थी और आहें भरने लगी थी. आंटी ने उठने की कोशिश की तो उनके पैर में अभी भी बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था. अब ऊपर से सीमा उसके ऊपर उछल रही थी और नीचे से मुश्ताक उछाल मार कर उसे चोद रहा था.

कुछ देर बाद उसने अपना लंड शिवानी के मुँह में डाल कर उससे चुसवाने लगा.

क्या हुआ बेटी?” मुकुल राय ने लंड थोड़ा सा और अंदर बाहर करते हुए पूछा. एक बार लंड से चुदने के बाद मेरी चूत का मुँह उसके लंड के साइज़ में खुल गया था. इस कामुक कहानी में आप लोग पढ़ेंगे कि किस तरह मैंने अपनी कुंवारी भांजी की सील तोड़ चुदाई की.

मुझे इस पोज में बहुत ज्यादा मजा आता था इसलिए अब मेरा झड़ना पक्का था. आपको पता है … ये सब क्यों करते हैं?चाची- नहीं … क्यों?मैं- औरत ज़्यादा देर तक झड़ती नहीं है. यही बात मेरा प्लस पॉइंट हो गयी उसे पाने के लिए।अब बारी थी हमारे मिलने की … हमने एक जगह और समय प्लान किया और इंतज़ार करने लगे उस दिन का जिस दिन हमें मिलना था।वो दिन भी आ गया और हम मिले.

अब राहुल को भी नशा चढ़ा … उसने ऊपर होकर अपना लंड सारिका के मुंह में अंदर कर दिया.

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मेरी बिल्डिंग में रहने वाली औरत के साथ मेरी दोस्ती हो गई थी. हम लोग अब रोजाना सेक्स और लंड चूत की बात करने लगे थे, पर अब भी हम दोनों ने फोन पर कभी बात नहीं की थी.

वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म फिर मैंने उसे कुतिया बना दिया और उसके पीछे जाकर अपना लंड एक ही शॉट में पूरा अंदर डाल दिया. मैं समझ गया कि क्या करना है, मैंने उनकी चुत के ऊपर दाने को चाटना शुरू कर दिया.

वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म मैंने कहा- कोई बात नहीं, अगर दोस्त नहीं तो मैं हूं न? दोस्त का दोस्त!वो बोली- हां, यह दोस्ताना तो मुझे बहुत पसंद आया. तभी मेरा दायां हाथ उनकी पैंटी में उतर गया। अंदर कामरस से भीगी चिकनी हुई चूत पर मैंने उंगलियाँ फेरनी शुरू की और भाभी मचलने लगी।मैंने गले, गर्दन, होंठ बूब्स और चूत पर चौतरफा हमला बोल दिया था। हम दोनों पागल हुए जा रहे थे।फिर थोड़ा रुककर भाभी को गाउन उतार कर बेड पर सीधे लिटा दिया। उनकी खूबसूरती देखने लायक थी.

मैं चाहता तो सुमिना से बहाना बनाकर काजल के बारे में पूछ सकता था लेकिन एक बड़ी बहन और उसके छोटे भाई के बीच मर्यादा की दीवार सी थी जिसको लांघने के लिए अभी आकर्षण के और अधिक प्रबल वेग की आवश्यकता थी.

বাংলাদেশbf

नित्या- तो फिर क्या प्रॉब्लम है?मैं- प्रॉब्लम ये है कि अगर किसी वजह से हमारी शादी नहीं हो पाई, तो हम दोनों एक दूसरे को बेवफ़ा समझेंगे और मैं नहीं चाहता ऐसा हो. मैंने तीन-चार जोर के शॉट लगाये और मीनू की चूत में अपना पानी भर दिया. लेकिन चाची ने मेरे पानी छोड़ रहे लंड पर रहम नहीं किया और उन्होनों लंड को मुंह में नहीं लिया.

पाँचों मर्द अपनी अपनी बीवी को पैरों के बीच बिठाकर अधलेटे होकर मूवी देखने लगे. हम सोच रहे थे कि पास में कोई भी नहीं है लेकिन पास ही में एक बोलेरो गाड़ी खड़ी हुई थी जिसका गेट अचानक से खुला और उससे चार लोग निकल कर बाहर आये. चाची- उसको भी कोई चाटता है क्या? कैसी अजीब अजीब हरकतें करने लगा है तू ? पहले तो तूने नाभि को चाटा और अब चूत? बिल्कुल पागल हो गया है.

मैं जानती थी कि वो पांच दिन मेरी चूत के बिना रहे हैं इसलिए उनका लंड मेरी चूत में जाने के लिए बेताब होगा.

मेरे चेहरे पर थकान देख कर दीदी ने मुझसे कहा कि आकाश तुम अब आराम कर लो, हम कल बात करेंगे. फिर रात के 12 बजे तक चैटिंग का दौर चला और जब धीरे-धीरे सबके रिप्लाई आने बंद हो गये तो मैंने भी मैसेंजर बंद कर दिया. मेरा आधा लंड गप से उसकी गांड में घुस गया और एक जोर की चीख चारू के मुँह से निकल गई जो उसने तकिये पर अपने मुँह ढक कर दबा दी.

वो साथ में ये भी बोल रही थी कि सच में आज मुझे सेक्स का सही आनन्द मिला है. उनको हैंडल करना थोड़ा मुश्किल होता है जबकि बड़ी उम्र की औरतें तो खुद ही लंड पकड़ लेती हैं और मुंह में भी आराम से ले लेती हैं इसलिए मुझे उनके साथ सेक्स करना बहुत पसंद है. उसने बोला- मेरी गांड में ही निकाल दो … मैं इसको और इस पल को महसूस करना चाहती हूं.

अंदर बेडरूम में ले जाने के बाद मैंने आंटी को धीरे से बेड पर बैठा दिया. आंटी सिसयाने लगीं- वरुण आराम से करो … बहुत दिन से नहीं लिया … और तुम्हारा तो मेरे पति से भी बहुत मोटा है.

ज्योति ने जैसे ही अपने बड़े भाई के लंड को अपने मुंह में लिया उसे अजीब किस्म की गंध और ज़ायक़ा आने लगा।भैया आपके लंड से अजीब गंध और ज़ायक़ा आ रहा है. ”मेरी बात वो समझ तो गई थी लेकिन वो ऐसे रिएक्ट कर रही थी जैसे उसे कुछ समझ ही न आ रहा हो. कुछ देर के बाद उसके कराहने की आवाज आने लगी तो मैं उठ कर उसके कमरे में गया.

अब तो मेरी सास की हालत बहुत खराब हो गई, वो ज़ोर ज़ोर से ‘आह आह आह ऊह ऊई …’ करने लगीं.

मैंने उसका मन बहलाया, मैंने कहा- यार, तेरा भी मस्त है।मैं उसका मरोड़ दिया, बोला- अभी वह लौंडिया चुद कर मस्त हो गई. वो मेरे सामने वाली सीट पर बैठ गई, तो मैंने उसे पानी की बोतल थमा दी. काफी दिनों तक हम दोनों फेसबुक के जरिए एक दूसरे से अपने मन की बात कह लेते थे.

उसने कहा- मैं तुमसे प्यार करती हूँ … इसलिए आज तुम्हें मेरी आग शांत करनी होगी … मैं कब से तुम्हारा इंतजार कर रही थी. अब समस्या ये थी कि पार्ट्नर कहां से खोजा जाए क्योंकि साथ के लड़के इतने हरामी थे कि साले सबको बता सकते थे.

ये सब कुछ मुझसे अनजाने में गलती हो गयी है … प्लीज़ माफ कर दे, इसमें जीशान की गलती नहीं है. मैं रात 11:20 पर घर पहुंचा, फ्रेश होकर बेड पर लेट कर ज्योति के साथ बिताए हुए समय के बारे में सोच रहा था. उसको समझते देर नहीं लगी कि मैं उन दोनों के साथ फोन सेक्स कर रही थी.

செக்ஸ்ய் வீடியோ செக்ஸ்ய் வீடியோ

कभी होटल में सेक्स करते हैं और कभी कहीं सुनसान इलाके में खुले में चुदाई कर लेते हैं.

पर मैंने उसके होठों को दबाते हुए दूसरा धक्का दिया और इस बार मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया. अब देखते हैं इनके धमाल …सबसे पहली कॉटेज थी शबनम की … शबनम यानि फुलझड़ी … राजीव ने जैसे ही कॉटेज का गेट नोक किया तो गेट खुला हुआ था. पहले मैंने उसके स्तनों को जोर से दबाया और फिर बारी-बारी से मुंह में लेकर उनका रस चूसने लगा.

वो बोली- इसको मत डालना वरना बहुत दर्द करेगा।मैं मन ही मन सोच रहा था कि आज मैं बहनचोद बन जाऊँगा. मैंने भी उनको देखते ही उनकी तारीफ कर दी- वाह क्या बात है … यू आर लुकिंग गॉर्जियस … (आप तो बड़ी ही सुन्दर दिख रही हैं. बीएफ एक्स एक्स एक्स एक्स इंग्लिशउसने घड़ी देखी, अभी शाम के 5:30 हो रहे थे; उसने कहा- मूवी देखने में कोई प्रोब्लम नहीं है.

वो असल में उसी दिन से सागर के लंड पाने की कोशिश करने लगी, जिस दिन उसने कहा था कि उसने ख्याल ही छोड़ दिया है. ”और सुन आज कपड़े धोकर प्रेस कर लेना दिन में। मैं दो बजे तक आ जाऊँगी आज से तुम्हारी नियमित रूप से पढ़ाई शुरू करनी है बहुत छुट्टी मार ली तुमने!”हओ.

मगर मैंने उसको दिलासा देते हुए कहा- बस जान, थोड़ी देर तक ही दर्द होगा और उसके बाद तुम्हें जन्नत का मजा आना शुरू हो जायेगा. अनीता को लंड चूसने का बहुत शौक है तो वो तो नीचे होकर विशाल का लंड मुंह में ले चुकी थी. अचानक भाई ने जोर से लंड को मेरी चूत में दोगुनी ताकत से धकेलना शुरू कर दिया.

हम दोनों ऐसे ही मजाक करते हुए एक दूसरे को छेड़ रहे थे कि तभी मीनू हम दोनों को ढूंढती हुई आ गयी. चयन ने भी मेरे लंड को तकलीफ न हो, इसलिए वो भी दोनों पैर ऊपर करके मेरा पूरा साथ देने लगा. हम दोनों शॉवर के नीचे खड़े गए और एक दूसरे से अठखेलियां करते हुए नहा कर बाहर आ गए.

मैंने उनकी चूत को चाट चाट कर साफ कर दिया और वापिस उनके ऊपर आकर उनके होंठ चूसने लगा.

अब मुझे वियाग्रा का असर भी होने लगा था … जिससे मुझे अपना लंड फूलता सा लगने लगा था. जब उसका चेहरा मेरी तरफ घूमा तो उसकी पलकों ने उसकी काली चमकीली आंखों को ऐसे ढक लिया जैसे छुई मुई को छू लिया हो मेरी नज़रों ने। वो नीचे देखने लगी और मैं अपने कमरे में अंदर घुस गया और धीरे से दरवाजा बंद कर लिया.

इतना सब होने के बाद उसने मुझसे कुछ नहीं कहा लेकिन अब उसका बर्ताव थोड़ा बदल गया था. फिर बोली- आप ये सब भी देखते हो? मैंने तो आपको बहुत ही शरीफ इन्सान समझा था. वो चिल्लाने लगी उम्म्ह… अहह… हय… याह…फिर मैंने बाहर करके धीरे धीरे अन्दर बाहर किया.

जब मैं रूम में घुस रहा था तो पहली बार मेरी नजर आंटी के आधे नंगे पैरों पर गई. मैंने अपनी बीए की पढ़ाई पूरी कर ली है, अब मैं अपना खुद का काम करता हूँ. वह खाना छोड़ कर उस पर झपट पड़ा और एक कोने में ले जाकर खड़े खड़े ही उसकी चड्डी नीचे कर पूरा लंड पेल दिया.

वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म लेकिन मैंने कभी उसको मौका नहीं दिया था कि वो मेरे साथ कुछ आगे बढ़ सके. फिर शिवानी ने उसको कॉफी दी और बोली- पीजिए … आपका लंड तो बहुत उछल कूद कर रहा है.

सेक्स वीडियो गर्ल सेक्स वीडियो

” महेश अपने लंड का सुपारा डाले हुए ही अपनी बहू के ऊपर झुक गया और अपने हाथों से उसकी गोरी गोरी चूचियों को सहलाने लगा।पिता जी. मेरे हाथ आंटी की जांघों तक पहुंच रहे थे और आंटी मेरे हाथों की मालिश के मजे ले रही थी. ” समीर ने मायूस होते हुए कहा।भैया आप चिंता मत करो, सब कुछ ठीक हो जायेगा.

तभी अचानक से वो मुझे रोकने लगे, लेकिन मैं नहीं रुका और उनके लंड का सारा पानी मेरे मुँह में निकल गया, जिसको मैं पी गया. शराब के नशे और चुदाई के नशे में हम लोगों को ठण्ड का अहसास ही नहीं था। जो थोड़ी बहुत ठण्ड थी वो हीटर दूर कर दे रहा था।संतोष जी अपना लण्ड मेरी चूत पर घिसने लगे। मैं पूरी तरह लण्ड के लिए तड़प रही थी। मैंने संतोष जी से कहा- अब मत तड़पाओ, अब डाल दो।मेरे कहने पर उन्होंने अपने लण्ड को मेरी चूत पर कई बार पटका. बीएफ बनियाप्रिया के साथ मैंने जो मजे लिये उसकी शुरूआत खुद उसने की थी लेकिन जब फिर मैंने आगे बढ़ने की कोशिश की तो वो खुद पीछे हट गयी.

वो मेरी चूत का मलीदा बना देख कर बोली- साली हब्शी औरत … बड़े लंड का इतना लालच है कि अपनी चुत का क्या हाल करवा लिया है … ये भी होश नहीं रखा.

तभी अचानक से वो मुझे रोकने लगे, लेकिन मैं नहीं रुका और उनके लंड का सारा पानी मेरे मुँह में निकल गया, जिसको मैं पी गया. अपनी सासू जी की सेक्स कथा सुनकर मेरे अन्दर पूरे शरीर में करंट सा दौड़ रहा था.

मेरा खुद को दोनों पैरों पे संभालना मुश्किल हो गया, तो मैंने बाइक का सहारा ले लिया. तभी पंकज आ गया और सारिका से बोला- तुम कॉफ़ी लाओ … हम लोग बेड पर बैठे हैं. थोड़ा जोर देने पर वो बोली कि रात को सब सो जाएं, तब तुम मेरे पास आ जाना, मैं आपका लंड चूस कर आपको शान्त कर दूंगी.

क्या मैं अच्छी नहीं लग रही हूँ?मैंने कहा- नहीं ऐसी बात नहीं … आप बहुत अच्छी लग रही हो, तब ही तो देख रहा हूँ.

अनिल पहले तो ये सुनकर बहुत शॉक हो गया लेकिन फिर बाद में वो बोला कि कोई बात नहीं। किसी पराये मर्द के साथ सेक्स करना इतनी बुरी बात भी नहीं है. आपके कमेंट्स और राय ईमेल और इंस्टाग्राम पर बताइये[emailprotected]Instagram: @handsome_hunk2307कहानी जारी रहेगी. ससुर का लंड नीलम की चूत में घुस चुका था और उसे अब भी यकीन नहीं हो रहा था कि उसके साथ खुले आसमान के नीचे दिन दहाड़े ये सब हो रहा है.

वीडियो में बीएफ ब्लू फिल्मचूचियां रगड़ते रगड़ते उसने अपना हाथ मेरे लोअर में डाल दिया और मेरा लण्ड मसलने लगी. मेरे दो तीन बार कोशिश करने के बाद भी मैं उसके चूत में अपना झण्डा नहीं गाड़ पाया।अब रहम करने की बारी नहीं थी.

घोड़ों का सेक्सी वीडियो

रजनी के पति विजय एक एम एन सी में मार्केटिंग में थे, तो रात को लेट ही लौटते थे और अक्सर बाहर के दौरे पर रहते थे. आंटी ने मेरे लंड के टोपे को अंदर ही अंदर ही अंदर अपने मुंह में खोल लिया और तेजी के साथ लंड के टोपे पर जीभ फिराने लगी. रीतिका ने फोन रख दिया, तो चाची मुझसे बोली- अब क्या ख्याल है दामाद जी?मैंने लंड सहलाते हुए प्रीति से कहा- आपकी गांड को देख कर मुँह में पानी आ रहा है.

मेरी उम्र उस समय 19 साल और 4 महीने की हो चुकी है। मैं आशीष से एक बार मिल चुकी थी उसकी बुआ के घर में. मां की आवाज को सुन कर हम दोनों हड़बड़ा गये और उसने झट से अपने शार्ट्स को ऊपर कर लिया. जब मैं पैंट पहन रहा था तो दीदी मेरे कच्छे में तने हुए मेरे लौड़े की तरफ ही देख रही थी.

उसकी काले रंग की काबुली चने जैसी घुंडियों को अपनी उंगलियों में दबा कर मसला. शबनम निहाल हो गयी … क्या मजा आ रहा था … दूसरे से चुदवाने का आनंद ही कुछ और हैपूरा कमरा कामुकता भरी सीत्कारों से भर गया … दस पंद्रह मिनट के घमासान के बाद राजीव ने शबनम से पूछा- मेरा होने वाला है … कहाँ गिराऊं?शबनम बोली- अंदर ही गिरा दो, हम सबने पिल ले रखी है. हर्ष मेरी हालत देखकर बोला- कोई नहीं दीदी, रात को छत पर आ जाना!यह कहकर उसने अपना नंबर मुझे दिया और अब मैं रात का इंतज़ार करने लगी।हल्का-हल्का अंधेरा होने लगा था.

तभी मैंने फैसला कर लिया था कि मुझे तुम्हारी निशानी चाहिए और इसीलिए मैंने ये सब किया।फिर हमारी कुछ और दिन बात हुई और फिर हम हमेशा के लिए अलग हो गए।आज मुझे उससे अलग हुए तीन साल हो गए है लेकिन आज भी जब मैं अकेला होता हूँ तो मुझे उसकी याद तड़पा के चली जाती है। ऐसा लगता है वो यहीं कहीं मेरे आसपास ही है और अभी कहीं से आकर मुझे अपने गले से लगाकर बोलेगी- बाबू आई लव यू शोना।पर यह महज़ एक ख्याल है. विवान भैया मुझे चोदते चोदते कभी कभी अपना लंड बाहर निकाल ले रहे थे और उसके बाद मेरी चूची को चूस रहे थे.

” महेश ने अपनी बहू की हल्के बालों वाली भूरी चूत को घूरते हुए कहा।पिता जी, जल्दी से देख लो। मैं ज्यादा देर तक आपके सामने नंगी नहीं रह सकती.

उसकी चूचियों के निप्पलों को अपनी दोनों हाथों की उंगलियों में दबा कर मींजता रहा. कॉलेज का सेक्सी बीएफ वीडियोमेरी चुत से जोरदार खुजली उठ रही थी … मुझसे अब इंतज़ार नहीं हो रहा था. एक्स एक्स एक्स बीएफ लोकल”शराब शुरू हो गयी, हल्की फुल्की बातें चलती रही।सबको थोड़ा नशा हो गया तो अंशु बोली- उपिंदर, अब आगे क्या प्रोग्राम है?प्रोग्राम क्या, हम दोनों के पास बीवी भी है, साली भी है, मज़े लेंगे. सभी जोरों से हंस पड़ी और नीता के पीछे पड़ गयी कि वो अपना एक कपड़ा उतारे.

फिर एक दिन उसके पति की गैरमौजूदगी में मैं रात को उसके घर रुका हुआ था और मैंने उसके फोन में पॉर्न साइट के लिंक देख लिये थे.

पहले राउंड में जब भी बोतल का मुंह किसी की ओर आता है तो वो और सामने वाला पार्टनर बदल लेता है. फिर कुछ देर बाद उपासना उठी और सारा समान फ्रिज में और रसोई में सेट किया और फिर दोनों के लिए पानी और चाय बना कर लायी. सीमा ने सुइट का दरवाजा लॉक किया और आगे के प्रोग्राम का खुलासा किया.

कभी कभी वो मेरे खड़े होते लंड को भी हिला देते … बीच में मेरे बॉल्स को भी सहला देते. महेश- वाह बहू! कितनी सुशील है तू बेटी … अपने ससुर से ऐसे खुले में चुदाई करवा रही है. उन्होंने मुझे देख के ‘प्लीज’ कहा तो मैंने उनका हाथ छोड़ दिया और वो बाहर निकल गयी।[emailprotected].

लड़कियों के दूध बढ़ाने की दवा

मां को तो मैंने कुणाल के बारे में नहीं बताया था लेकिन मैं अच्छी तरह जानता था कि काजल, कुणाल और सुमिना के बीच में क्या खिचड़ी पक रही है. मुकुल राय धीरे धीरे परीशा के कपड़े निकालने लगता है। वह अपनी बेटी परीशा को पूरी नंगी कर देता है. तभी मैंने उनसे पूछा कि आपको ससुरजी के साथ सबसे ज्यादा मज़ा कब आया था.

मैंने अपने होंठों का ढक्कन उनके होंठों में लगा दिया और धीरे धीरे लंड को आगे पीछे करता रहा.

मॉम घर का काम खत्म खत्म करके नहाने चली गईं, बाथरूम से निकल कर जब वो अपने रूम में जा रही थीं, तो मैं भी पीछे पीछे उनके रूम में चला गया.

फिर एकदम से उसके लंड से पिचकारी छूट कर मुझे मेरी बच्चेदानी के पास महसूस होने लगी. ऐसे ही एक बार जब वो मेरे घर पर आया हुआ था तो हम साथ में बैठ कर पढ़ाई की बातें कर रहे थे. बीएफ सेक्सी एसएसचाची- हां रे चोद दे जीशान … मेरे हाथ से खाना खाता था … आह और अब मेरी चुत मार रहा है.

पति की जीभ मेरी चूत में घुस गई और मैंने उनका सिर पकड़ कर अपनी चूत में दबा दिया. क्या वो कभी उसको आकर्षित कर पायेगी?दो दिन बाद उसके घर की घंटी बजी तो वो दरवाज़ा खोलने गयी. ज्योति ने उस दिन हरे रंग की साड़ी पहनी हुई थी और साथ ही बैकलेस ब्लाउज, जो कि उसकी सुंदरता पर चार चांद लगा रहा था.

मैंने पैंट को खोल दिया और अंडवियर को देखा तो अंडवियर के बीच वाला पूरा हिस्सा मेरे लंड के कामरस से भीग चुका था. अब आगे:सुमिना और कुणाल की चुदाई देखने के बाद मैंने अपनी बहन पर नजर रखना बंद कर दिया था.

” मैंने हँसते हुए कहा।उसने कुछ कहा तो नहीं लेकिन मैं उसके मन में चल रही उथल-पुथल का अनुमान अच्छी तरह लगा सकता था।अरे भई मैंने कहा ना डरो मत … कुछ नहीं होगा.

सीमा ने उसके गले में हाथ डाल कर उसे अपने नजदीक खींचा और अपना एक पैर उठा कर उसके लंड पर रगड़ दिया. फिर उसने भी सूट को नीचे किया और गांड को उठाकर सलवार को फिर से बांधने लगी. जब मैं आफिस से लौटा तो उनकी बेटी को खाना खिलाने के बहाने वहीं रुक गया.

बीएफ भोजपुरी वीडियो हिंदी तभी अंकल ने मुझे कुतिया बना दिया और मेरी चूत में लंड लगा कर मुझे रगड़ने लगा. ” ज्योति ने सिसक कर अपने चूतडों को अपने भाई के लंड पर उछालते हुए कहा।समीर अपनी बहन को एक चुम्बन होंठों पर देते हुए उसकी चूचियों को अपने हाथों से पकड़ते हुए उसकी चूत में हल्के धक्के लगाने लगा। ज्योति अपने भाई के लंड को अपनी चूत में जड़ तक महसूस करके मज़े से बहुत ज़ोर से सिसकते हुए अपने भाई के होंठों को चूमने लगी.

अब मुझसे भी नहीं रहा जा रहा था तो मैंने बोला- अब मुझे डालना है, तुम तैयार हो?ठीक है लेकिन आराम से डालना।” उसने हवस भरी आवाज में जवाब दिया. मैंने कहा- मैं क्या बताऊं, मैं भी बहुत टाइम से बिना (सेक्स) किये रह रहा हूं. मैं कपड़े पहनते वक्त भी सोच रहा था कि कल तो परवीन आंटी की मोटी गांड मिलने वाली है ही.

सेक्सी सेक्सी पिक्चर मराठी

शाम को विनय मेरे घर आया और पूछने लगा- कॉलेज क्यूं नहीं आई?मैंने कहा- मेरी तबियत बहुत खराब हो गई थी. अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली कहानी है अगर मुझसे कोई गलती हो जाए, तो पहले ही माफी चाहता हूँ. उसके पति के जाने के बाद वो अपने बच्चों को खुद ही पाल रही थी और एक दिन उसने मुझे अपने घर बुलाया जब उसके बच्चे भी घर पर नहीं थे और हम दोनों ही घर में अकेले थे.

मेरी गांड की आग शांत हो चुकी थी, पर मेरे लंड की प्यास अभी रह गई थी. मगर चूंकि अंतर्वासना एक हिंदी साईट है इसलिए उस लड़की से हुई बात मैं आपको हिंदी में ही लिख कर बताऊंगा.

मैं लॉक को खोलने लगा और उन्हें ऊपर उठा कर हग कर लिया, मैं आंटी को चूमता रहा.

”हम सब हँस पड़े।अंशु ने शैली की चुचियाँ पकड़ीं और ज़ोर से मसली- तू पहले से उपिंदर का लेती है?अंशु, उपिंदर तो तबसे मेरा जीजा है जब दीदी उसकी गर्लफ्रेंड थी, और जीजा के साथ तो आपको पता ही है. इस मसाज की वजह से मैं कामुक से कामुक परिस्थितियों में भी खुद को सम्भाल लेता हूँ. वो बोला- क्या हुआ?मैंने कहा- ये सब गलत है भैया!वो बोला- अभी तो तुमने ही सब किया है मेरे साथ तो फिर गलत कैसे हो गया.

भाभी के मुँह से मेरे लंड के रस का स्वाद आ रहा था, जिसे आज मैंने पहली बार चखा था. फिर उसने अपना हाथ बढ़ा कर मेरी चुत पर रख दिया और चुत पर हाथ घुमाने लगा. अगर मुझे पता भी लग गया, मैं कभी भी उससे इस बात का जिक्र नहीं करूँगी.

उसका लंड बिल्कुल एक सांप की तरह फन फैलाए मेरे बिल में घुसने का इंतजार कर रहा था.

वीडियो बीएफ हिंदी फिल्म: मैं पीछे से परवीन आंटी के चूतड़ बजाने लगा … उनसे फट फट की आवाज आ रही थी- आआआह ऊऊम्म्म्म. रात में मैंने उसे सॉरी का मैसेज किया, लेकिन उसने कोई जवाब नही दिया.

फिर शुरू हुआ हमारी बातों का सिलसिला और हम कभी मैसेज में तो कभी फोन पे घंटों बातें करने लगे. इसी तरह धीरे धीरे खिसकते हुए स्वाति भाभी अब बगल में ही रखे पटरे पर चढ़ गयी, मैं तो उसके पीछे पीछे था ही और उससे लिपटा भी हुआ था. मेरे पूछने पर पूजा ने बताया कि पवन के माता-पिता यानि कि उसके सास-ससुर भी किसी प्रसिद्ध मंदिर में दर्शन के लिए गये हुए हैं.

उसने डांस करते करते धीरज कि शर्ट के ऊपर के दो बटन खोल कर उसकी चौड़ी चाटी पर अपने लम्बे नेल्स से खरोंचना शुरू कर दिया.

जिसने मेरी चूमने की ताक़त को दुगना कर दिया और मैं उसके होंठों पर ऐसे टूट पड़ा, जैसे भूखा भेड़िया अपने शिकार पर टूटता है. मुझे प्रिया के बारे में अपने मन के अंदर इस तरह के ख्याल नहीं लेकर आने चाहिएं. कॉलेज में दिन बहुत जल्दी बीत जाता था और कब घर जाने का वक्त नजदीक आ जाता था कभी ध्यान जाता ही नहीं था क्लास में.