हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी

छवि स्रोत,सेक्सी माधुरी दिक्षित सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

అనిత సెక్స్: हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी, मैं ये सुनकर सिहर गयी किंतु उसने कहा- अगर आप को कोई परेशानी है तो मैं बाहर ही रहूंगा.

मां और बेटे का सेक्सी वीडियो देहाती

मैं समझ गयी, मैंने भी वो आधा टुकड़ा अपने होंठों में ले लिया और उसे हम दोनों चूसने लगे. लड़की का सील तोड़ने का सेक्सी वीडियोभाभी को जब मैंने पहली बार ही देखा तो एक ही नज़र में मैं उनका दीवाना हो गया.

पहले तो मैं शर्म से लाल हो गया, पर फिर मैंने सोचा कि मंजू का रिएक्शन तो अजीब है. सेक्सी फोटो डॉट कॉम वीडियोग्रेजुयेशन करने के बाद मैंने काम ढूँढना शुरू किया जिससे देहली, नॉएडा के बहुत चक्कर लगाए पर सफलता ना मिली.

दूसरे दिन मैं दीदी के साथ शॉवर के नीचे सेक्स करना चाहता था, लेकिन उसने दीदी ने ना बोला.हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी: ज्यादातर में साड़ी ही पहनती हूं, लेकिन कभी कभी विलायती पहनावे वाले कपड़े जैसे जींस शर्ट, लॉन्ग स्कर्ट, लॉन्ग वन पीस ड्रेस, भी पहन लेती हूं.

उन्होंने अपना मुंह खोला तो मैं उनके मुंह को चोदने लगा और 3-4 मिनट चोदने के बाद में अपना माल गिरा दिया, उन्होंने बड़े चटकारे लेकर सब पी लिया.मैं- हैलो!सामने से किसी महिला की आवाज आई- हैलो, आप आर्यन बोल रहे हैं?मैं- हां, मैं आर्यन बोल रहा हूँ, पर आप कौन?महिला- हाय, मैं कल्पना (काल्पनिक नाम) बोल रही हूँ, अँधेरी से.

ओपन सेक्सी डाउनलोडिंग - हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी

आय हाय मेरा तो जी कर रहा था कि साली को कस के पकड़ लूँ और चुची मुँह में लेकर तब तक चूसता और दबाता रहूँ, जब तक कि वो अपने मुँह से ‘आहह अब बस करो.उसने मुझे अपनी कहानी लिख कर अन्तर्वासना पर भेजने का कहा, तो मैंने उसकी कहानी को शब्द देने का प्रयास किया है.

पर निहाल नहीं रूका और लहंगे के नीचे घुस कर उसने सीधे मेरी पेंटी को वहां से पकड़ लिया जहां चूत थी. हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी मेरा लंड एक बार फ़िर से एकदम खड़ा और कड़क हो कर बुर को दहाड़ मार मार कर बुलाने लगा था.

मुझे मेरी योनि में उसका लिंग फिसलता हुआ बहुत मजा दे रहा था और मैं उत्तेजना की शिखर पर बढ़ती हुई आगे चली जा रही थी.

हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी?

इस तरह की बहुत सारी खबरें यहां के समाज में एक मुंह से दूसरे कान और दूसरे मुंह से तीसरे कान में पहुंचती रहती हैं. उस दिन मैंने उसके दूध दबा कर कह दिया था- हां यार, अब इसको कोई नई चूत चाहिए. मैंने खाला से पूछा- ज़रीना के लिए क्या सोचा है?तो खाला बोलीं- अभी सोच रहे हैं … सोचती थी कि तुमसे इसका निकाह करवा दूँगी.

महेश बोला- क्या हुआ वन्द्या?तो मैंने आंखों के इशारे से उसे बोला- और जोर से करो. जिस दिन मेरे हस्बैंड मेरे साथ सेक्स नहीं करते थे, उस दिन मुझे ऐसा लगता था कि कोई आए और मुझे खूब जोर से चूसे. उत्तेजना से वो इधर उधर पलटी मारने की कोशिश कर रही थीं, पर खुद ही सीधी भी हो जाती थीं.

टी से बात की तो उसने भरोसा दिलाया- सर, आप चिंता न करें, हम आपकी वाइफ को एडजस्ट कर देंगे. ये सब देखते हुए मैंने सुखबीर को उन्हें भगाने को कहा, तो उसने एक पत्थर मारा. थोड़ी दूर जाने पर ही एक फार्म हाउस के बाहर उनकी गाड़ी रुकी और मेरी बीवी और बॉस अन्दर चले गए.

उसने मुझे कुतिया बनाकर अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मेरी चूत को चोदने लगा. उनके हाथ और पाँव की नाजुक पतली और गुदाज उंगलियों में बहुत सुन्दर नेल पोलिश लगी हुई थी.

मैंने उसे बाद में फ़ोन लगा कर पूछा- क्या तुम प्रीति हो?उसने कहा- नहीं, प्रीति मेरी बड़ी बहन है.

उसने पूछा तो मैंने बताया कि मोबाइल कम बैटरी की वजह से स्विच ऑफ़ हो गया है.

आह्ह … उम्म … करते हुए मैं आंटी के चूचों को मसलते हुए उनके होंठों को चूसता जा रहा था. मैं सिसयाते हुए राहुल का हाथ पकड़ कर अपनी चूचियों पर रखकर दबाने लगी।मेरा इशारा समझते ही राहुल मेरी चूचियाँ दबाते हुए मेरी चूत को पूरी तरह खींच-खींच कर चाट रहे थे।राहुल का जब मन भर गया मेरी चूत चाटते हुए तब राहुल ने कहा- भाभी खड़ी हो जाओ. अंधेरा तो था ही, रंजना मेरी तरफ घूम कर बोलीं- सोनू, तुझे क्या हो गया?आपके कमेंट्स का इन्तजार रहेगा.

मैं सीधी लेटी, टांगें चौड़ी करके ऊपर उठाईं और उपिंदर ने चुचियां पकड़ के मसलते हुए मेरी गांड मारी. अंदर जाकर अपना सारा सामान रखा और चूंकि सितम्बर का महीना था तो गर्मी भी थी तो मै पंखा चला कर हवा में लेट गया. रिशु इधर-उधर देखते हुए मिशिका के मुंह में लंड को अंदर बाहर कर रहा था.

उधर नीना की शर्महया भी रफू चक्कर हो चुकी थी क्योंकि उसे तो कब से इस घड़ी का बेसब्री के साथ इंतजार था.

अभी मेरा आधा ही लंड अन्दर घुसा था कि सीमा आंटी दर्द से करहाने लगीं. मेरे पतिदेव बहुत व्यस्त थे इसलिए उन्होंने कहा- तुम अकेले ही चली जाओ. थोड़ी देर बाद मैंने उसे अपनी ओर घुमाया और उसके रसीले होंठों के जाम पीने लगा.

मैं एकदम से चिल्ला उठी- आईई … मांआआआ … मर गई …मेरी आंखें चौड़ी गई थीं. मयूर- अपनी भाभी को प्यार कर रहा हूं … और वैसे भी मेरे अलावा यहां पे कौन है, जो आपको और मुझे देखेगा. मैंने उसके गीले लंड को पोंछा और खुद उठ कर बाथरूम चली आई, जहां फिर से मैंने अपनी सफाई की।वापस आई तो हर्ष मुझे यूँ ताक रहा था जैसे अपनी प्रेमिका को देख रहा हो। मैं उसके पास चिपक कर लेट गयी और उसके ठंडे पड़े लंड को सहलाने लगी.

अब तक आपने पढ़ा कि सारा की चुदाई के बाद मेरी छोटी बीवी जरीना गरमा गई थी और मैं उसको चोदने की तैयारी में था.

मैं अपना लंड अपनी कजिन की कुंवारी बुर में लंड घुसेड़ कर कुछ देर ऐसे ही रुक गया. इसके बाद हमारी कुछ फॉर्मल बातें हुईं और एक दूसरे को बाय बोल कर मैं अपने काम में लग गया.

हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी उसका लण्ड उफान मार रहा था और हर्षिल ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… स्स’ करने लगा। मुझे बड़ी घिन्न सी आ रही थी शुरू में … पर फिर अच्छे से चूसने लगी. क्या हुआ मेरे सील तोड़ राजा … थक गए क्या … अभी तो रात बाकी है न … हेहेहै …”अरे मेरी मिष्टी डोई … मैंने आज तक तेरी जैसी गुद गुद औरत नहीं देखी … तुझे चोद कर परम आनन्द आ गया.

हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी पर जो कशिश जो मजा आशीष के चुत चाटने पर मदहोशी मुझे छाई, उसे मैं शब्दों में बता नहीं सकती. मैंने बोला- तुम अपनी बात उनसे बिन डरे रखो, तुम्हारा कॉन्फिडेंस तुम्हारा प्यार देख कर वो समझ जाएंगे और तुम्हें भरपूर प्यार देंगे.

मुझे डर भी बहुत लग रहा था कि कहीं प्रीतम मुझे यह न कह दें कि उसके घर छोड़ देता हूं.

फोन क्यों काट दिया

आखिर शिखा ने ऐसे बिहेव क्यों किया आज?रात को जब दस बजे का टाइम हो गया तो दीदी की आवाज आई कि खाना रेडी हो गया है. आदाब दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागआपा के हलाला से पहले खाला को चोदा-2पर आप सबकी ढेर सारी ईमेल मिलीं … आप सबके इस प्यार के लिए बहुत शुक्रिया. भैया की हालत ना कुत्ते जैसी थी कि हड्डी मिली, पर उठा के रख लिए हो और खा ना सके.

हम दोनों को जब भी मौका मिलता था, तो हम दोनों एक दूसरे से बात करने के लिए अपने घर के पीछे के बगीचे में मिलते थे. फ़िर एकदम से गीता ने वाणी की एक चुची को मुँह में ले लिया और चूसने लगी. वो बराबर दोनों तरफ की पंखुड़ियों को मुँह में भर बारी-बारी से चूसता और एक हाथ के अंगूठे से योनि के ऊपर के दाने को सहलाते जा रहा था.

जैसा कि बाकी कहानियों में पढ़ने को मिलता है कि 8 इंच के लंड, 9 इंच के लंड या फिर कुछ बकचोद तो 10 और 11 इंच के लंड भी लिख देते हैं.

मौका मिले तो मुझे घूर लेता था, मगर जहां वो बात रोक कर गया था, वो बात ना अब तक उसने की थी और ना मैंने. उसने अपना मुँह सीधे मेरी चूत में रख दिया और अपनी जीभ से चूत चाटने लगा. ज़रीना चीखी- उफ्फफ … सारा आपा इतना बड़ा तगड़ा मेरे अन्दर कैसे जाएगा?सारा बोली- ज़रीना चिंता मत कर बहुत मजे करेगी … तू बस देखती रह और मजे लेने के लिए तैयार हो जा.

लेकिन मुझे नहीं पता था कि वो पहली लड़की तू होगी तो इसलिए बस थोड़ा सा अपने भाई के लिए सहन कर ले. इसके बाद तो उसकी सेक्स लाइफ में हमेशा-हमेशा के लिए बंसती बयार बहने लगी. फिर उसने नज़रें नीचे की और फिर बोलने लगा- एक बात और कहूंगा, शायद आपको अच्छी ना लगे … काश कि आप मेरी फूफी ना होतीं.

मैं इसी के साथ प्रमिला की गांड के छेद पर थूक लगा कर उसको उंगली से सहलाने लगा. इस छोटी सी बात को भी प्रशांत ने खास अंदाज में लिया और सामने पड़ी टावेल उठा कर नीना के चेहरे और बालों पर कुछ ऐसे फेरा, जैसे वह उसे रानी बनाकर चोदना चाह रहा हो.

कुछ देर बाद हम दोनों लोग ओरल सेक्स करने के बाद झड़ गए और अब वो मुझे किस करने लगा. दिन तो जैसे तैसे नौकरी और घर के काम में निकल जाता था, पर एक एक रात काटना मुश्किल हो चुका था. फिर अंकल मेरे से बोले- लंबे सफर में गाड़ी जमती नहीं और ये भाई ही तो है.

कमरे में मेरी मीठी चीखें गूंज रही थीं उधर अजय मेरे थूक से गीला लंड निकाल कर मेरे गालों पर मल देता, कभी आंखों पर लगा देता.

इस पर गीता बोली- अरे वाह … जब वाणी जा रही थी तो उसे नहलाने जा रहे थे. मैं बोला- ऐसा क्या? तो उसको भी अपने पास बुला लो न … आप दोनों का टाइम पास हो जाएगा. अब मैं क्या करता? तो मैंने उसे ज़बरदस्ती घोड़ी बनाया, उसकी गांड को काफी देर तक सहलाया, फिर अपने लौड़े पर नारियल का तेल लगाया, उसकी गांड पर भी ढेर सारा तेल लगा दिया.

मेरी टांग उठ जाने से मैं और चुदासी हो गयी थी और अपने बॉयफ्रेंड से खुल कर चुदवा रही थी. मैंने उसे फिर से गोद में उठा लिया और बैठे बैठे उसकी चुदाई करने लगा.

बेबी को सासू माँ के साथ रहने की आदत थी, वो ज्यादा वक्त उसी के साथ होती थी. मेरी जो 20 साल वाली बहन है उसका नाम मिशिका है और जिसकी उम्र 22 साल है उसका नाम राशिका है. मैं कुछ भी कहने की हालत में नहीं थी और वह मेरे पिछवाड़े में जोर से रगड़ने लगे.

लड़कों के नाम हिंदी में 2019

उसके जाते ही वाणी की वाणी मचलने लगी- भैनचोद … इतना गरम कर दिया है कि अब रहा ही नहीं जा रहा है.

बनाने वाला भी अपने खिलौनों से किस तरह का खेल खेलता है, ये किसी को आज तक न समझ आया है और न ही आएगा. भाभी- अरे तुम भी ना चिंता मत करो … तुम इतने अच्छे हो, तो मेरा भी मन लग जाया करेगा … और खाने की दिक्कत भी नहीं है, मेरे यहां ही खा लिया करना. जब वे अपनी चुदाई की किस्से बतातीं, तो मन मेरा भी बहुत करता कि मैं भी एक ब्वॉयफ्रेंड बना लूँ और उससे चुदवाया करूँ.

बुआ- आआहह …अभी चुत में लंड पूरा गया भी नहीं था कि उन्होंने मुझे अपने पास बुलाया, जैसे ही मैंने अपना मुंह उनके पास किया उन्होंने मेरे माथे पर किस कर लिया, मैंने अपने एक हाथ से उनके मम्में दबाते हुए उनके मुंह में अपना जीभ घुसा दिया. मेरा लंड अपने पूरे आकार में आ चुका था और 7 इंच लम्बा हो चुका था जिसे आंटी पूरा का पूरा अपने गले में उतार रही थी. देसी सेक्सी गांव की चुदाईफ़िर एकदम से गीता ने वाणी की एक चुची को मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

इस बार भाभी मेरे ऊपर आ गईं और उनकी झूलती चूचियों को पीते हुए मैंने उनकी चूत में नीचे से ठोकरें लगानी शुरू कर दीं. मेरी चूची को चूस कर और मेरे निप्पल्स को बाईट करके वो मुझे चोद रहा था.

कुछ दिनों बाद मैंने कुछ गलत फील किया, तो मैं डॉक्टर को चैक कराने गई. पर जब भी मैं उसे सेक्स के बारे में कहता, तो वो डर जाती और मना कर देती थी. फोरप्ले तो उसके बस का था ही नहीं और मैं तड़पती सुलगती और उसे गालियां देती रह जाती थीं।साल भर बाद मैंने कोई भी नौकरी करने की ठानी.

मैंने धीरे-धीरे उसकी गांड को सहलाया और धीरे-धीरे उसका लोअर नीचे की ओर सरकाने लगा. उसके मुँह से अब ‘आआहहह … ऊउम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… आईईईई सीईईईसीई … आआआ …’ की आवाजें निकल रही थीं. मेरे पास आया और बोला- मैडम सेकेण्ड क्लास में तो कोई जगह खाली नहीं है, आपको मैं फर्स्ट क्लास में एडजस्ट कर देता हूँ.

मैंने उसका लोअर उसके घुटने तक सरका दिया और फिर उसकी पैंटी की इलास्टिक को अपने दांतों से पकड़ कर नीचे खींचने लगा.

मैंने मौका देखकर अपनी रसीली स्वीट जीभ उसके मुँह में डाल दी और थोड़ी सी सलाइवा अन्दर डाल दी. मैंने उसे 2 बार फिर प्रपोजल भेजा और उसे हग भी किया, लेकिन अब भी वो सीरियस नहीं था.

इस कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने जिगरी दोस्त की बीवी को उसकी शादी की रात को चोदा. मैंने अपने लंड को धीरे से उसकी चूत पे टिकाया और उसे हल्के हल्के ऊपर नीचे करने लगा. आज अपने लंड का पूरा जलवा उसको दिखा कर ज़रा भी सांस ना लेने देना ताकि सुबह उसे लंगड़ा के चलना पड़े.

वो पेंटी खोल कर मुझे दिखाने लगा, फिर बोला- मैडम अगर आपको ना पसंद आए हों, तो दूसरी ला दूँ. इसके बाद उसने मेरे होंठों के बीच सिगरेट फंसा दी मैंने एक लम्बा कश खींचा तो मुझे खांसी आ गई. रात के वक्त सास-ससुर खाना खाकर सोने चले गए और मैं तथा भाभी सब काम खत्म करके अपने बेडरूम में सोने चले गए.

हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी मैं इन लोगों की परेशानी समझ गयी, पर मेरी परेशानी कौन समझेगा, यही सोचते हुए मैंने बात की- ये सब तो ठीक है मम्मी जी पर वंश कैसे बढ़ेगा आपका … जब हितेश कुछ करेगा ही नहीं तो?सासू माँ ने लंबी सांस लेते हुए कहा- ये जरूरी तो नहीं ना बेटा कि हितेश ही कुछ करे, तो ही हमारा वंश आगे बढ़ेगा. फिर वो भी कुतिया बनकर बोली- मेरी गांड और चूत का भी भला कर दो लंडराज.

bhutnath चार्ट

शायद वो मेरे साथ थ्रीसम भी कर लेती, लेकिन उन्हीं दिनों मेरे दोस्त ने पूनम से शादी करने का फैसला कर लिया. ठाकुर बोले कि वन्द्या मेरा लंड चलेगा न … अगर मैं अभी पूरा डाल दूं?मैं बोली- आपको जो भी करना है राजा जी … जल्दी से कर लीजिए. मैं अपना हाथ नीचे करके उसकी चूत को सहलाने लगा, तो वो मीठे दर्द से सिसकारने लगी.

थोड़ी देर बाद वो बोली- लेकिन अगर किसी को कुछ पता चल गया, तो हम दोनों का क्या होगा?मैंने कहा- किसी को कुछ पता नहीं चलेगा और हम दोनों बिना शादी किए काफ़ी खुश रहेंगे. उसके बाद मैंने कहा- ठीक है, जैसे तुम पहले हाथ से कर रही थी वैसे ही कर दो. हिंदी सेक्सी वीडियो छोटी बच्ची कीइतने बड़े लंड से चुदकर कोई भी औरत प्रेग्नेंट हुए बिना कैसे रह सकती थी.

मैं- हां मेरी जान, आज तो मैं तुम्हारे इन संतरों को खाकर ही दम लूँगा.

मैंने बोला- क्या जादू करता है ये … बोलो ना?भैया बोले- सच में जानना है, तो एक काम करो, इसे अपने हाथ में लेकर मसलो और इसका जादू देखो. उन्होंने अब अपना हाथ मेरे हाथ से हटाया और मेरे लंड पर रख दिया जो एकदम गर्म लोहे के रॉड जैसा खड़ा था.

मैंने उनकी भावनाओं को पढ़ने की कोशिश की और उनकी आँखों में देखता रहा. अपनी बनियान और कच्छा उतार कर मैं नंगा दोनों के नज़दीक जाकर उनकी चूचियां दबाने लगा. ऐसे ही हमने अंगूर और संतरा खत्म कर दिया। उसे खत्म करते ही राहुल ने मुझे बेड पर सीधा लिटा लिया और मेरे ऊपर आ गए.

कुछ देर बाद चुदास फिर से चढ़ गई, तो मैंने अपना लंड निकाल लिया, जिसे वो देखती रह गई.

ज़रीना बोली- छी: यह कोई मुँह में लेने की चीज है? घिन नहीं आएगी क्या?इससे पहले मैं कुछ कहता, सारा बोली- इसको मुँह में लेने का तो अपना अलग ही मजा है मेरी बहन. उसने डॉगी स्टाइल में मुझे काफी देर तक चोदा और फिर खड़ा हो कर भी चोदा. हम दोनों लोग ओरल सेक्स करने लगे वो मेरी चूत को चाटने के बाद मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोला और मैं उसका लंड चूसने लगी.

अमेरिका सेक्सी फुल एचडी वीडियोइसके बाद हमारी कुछ फॉर्मल बातें हुईं और एक दूसरे को बाय बोल कर मैं अपने काम में लग गया. काफी देर लंड चूसने के बाद वो अपनी टांगें फैला कर बोलीं- आ जा जमाई राजा.

सट्टा किंग गली में क्या खुला है

मैं भैया के पास गया, भैया को बोला- आप जाओ न भाभी को लेने यार … मेरे ऊपर मामला आ रहा है. हाय … मार दिया … मार दिया … इतना बड़ा लंड … इतना मोटा … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैंने पहली बार लिया है. मैं उसकी तरफ देखती रही, तो उसने अपने लंड को सहलाते हुए पूछा- तुम्हारा नाम क्या है?मैं अचकचा कर बोली- निशा … और तुम्हारा?तो उसने बोला- मेरा नाम डेविड है और मैं नामित का बॉस हूँ.

आंटी दस मिनट तक मेरे लंड पर बैठ कर कूदती रही और जब थकने लगी तो आंटी ने उठते हुए मेरा लंड उनकी चूत से निकाल लिया. फिर मैंने सोचा कि एक मैसेज करके देखता हूँ कि दीदी को क्या लगा होगा. उसकी ऐसी हरकतें देख के मुझे कुछ अजीब तो लगता था लेकिन मुझे भी अच्छा लगता था.

इधर पीछे पुनीत भी रगड़ के मेरी पीठ पकड़ कर मेरी गांड के अन्दर तेजी से लंड चलाने लगा और तीन चार मिनट बाद ही वो भी छूटने को हो गया. मेरी एक ही साली है शिल्पा, उससे मेरी शादी की बात हुई, तो उसने अकेले में मुझे बताया कि वो किसी और से प्यार करती है. तभी मैंने मौके का फ़ायदा उठाते हुए पूछा कि फिर उसके बाद कभी तुम्हें ऐसी कोई ज़रूरत महसूस नहीं हुई?धारा- ज़रूरत तो होती है लेकिन दुबारा ऐसा कुछ हो जाए, उसके डर से शादी करने से डरती हूँ और मेरी इसी ज़िंदगी को अपना भाग्य मान के ज़ीने का फ़ैसला कर लिया है.

बाद में उसने मेरी चुत का खून पौंछा और मेरी चुत में लंड फिर से डाल कर आगे पीछे होने लगा. जब उसका लिंग मेरी योनि से स्वयं ही बाहर आ गया तो उसने उठते हुए अपने मोबाइल में टाइम देखा.

चलो कोई बात नहीं मेरे गोलू मोलू अभी लिख कर भेजती हूँ, तुम भी अब एक काम करो अपने लंड पर मेरा नाम लिखो और फोटो भेजो.

उसने भी उत्तर दिया- वाओ क्या लौड़ा है यार तेरा … उममुआआह … मैं चूस लूँ इसे. साउथ की सेक्सी भाभीदोस्तो, मैं आपकी माया मेरी पिछली कहानीगान्ड बची तो लाखों पायेको पढ़ कर तारीफ़ भरे मेल करने के लिए दिल से धन्यवाद. देहाती हिंदी ब्लू फिल्म सेक्सीवो बोली- चोद कुतिया जोर से चोद … तेरे खसम ने चोदना नहीं सिखाया क्या. इस वक्त भी मुझे इतना जम के गर्मी और करवाने घुसवाने का मन हो रहा था कि जल्दी से बस कोई लंड डाल दे और रगड़ कर चुदाई करे.

इस तरह से पहली बार जब से मैं मौसी के यहां से चली थी, तब से पहली बार मेरी चूत को सेटिस्फेक्शन मिला था.

आगे की कहानी: पति से परेशान सलहज की चुत मारी-2पति से परेशान सलहज की चुत मारी-2. मेरी सास एक हाथ से मेरा लंड सहला रही थीं और दूसरे हाथ से मेरे बाल पकड़ कर सिर पर हाथ फेर रही थीं. उसका लंड सिकुड़ कर छोटा सा हो गया था और मेरी चूत से उसका वीर्य बहने लगा था। हम दोनों के ही शरीर से पसीना बह रहा था। उस रात राहुल ने मुझे सुबह 5 बजे तक कई बार चोदा।वो सब मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगी कि राहुल ने उस रात और क्या-क्या किया.

मेरा बॉयफ्रेंड मेरी टांग को उठाकर मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा. उसने जब आते वक्त लाईट और कुंडी लगाने का कहा, तो मैं समझ गया कि वो मुझे बेडरूम में चुदाई के लिए बुला रही है. मैंने अंकित से बड़ी रिक्वेस्ट की, तब मुश्किल से वो माना और हम दोनों वहां से निकल आए.

डबल्यूडबल्यूडबल्यू गूगल काम

इसका नतीजा ये हुआ कि कुछ देर आराम करने के बाद हम दोनों दुबारा चुदाई के लिए तैयार हो गए. उसके बाद आंटी ने मेरे अंडरवियर को नीचे खींच दिया और मेरा लंड नंगा हो गया. फिर मैंने अपना लंड निकाला और उसकी गांड पे टिका दिया, वो थोड़ी डर गयी.

उसे तेज उछलता देख कर रमेश जी भी उसकी चुदाई करने के लिए काफ़ी तेज झटके मारने लगे.

सबसे पहले आप सभी का धन्यवाद कि मेरी प्रकाशित पंजाबी चुदाई कहानीनौकर से जवानी की प्यास बुझाईको आप सभी ने खूब पसंद किया और मेरी कहानी को प्यार दिया.

आंटी ने मुझे अंदर बुलाया और मैंने देखा कि अंकल भी खाने की टेबल पर बैठकर खाना खा रहे थे. दो मिनट बाद रिशु ने मिशिका की चूत पर लंड को रखा और एक धक्का दे दिया. सेक्सी जल्दी-जल्दीहम सीट पर अच्छी तरह से नहीं कर पा रहे थे तो उन दोनों ने हमें नीचे बैठा दिया.

उन्होंने मेरी जीएफ के बारे में पूछा तो मैंने मना कर दिया कि मेरी कोई जीएफ नहीं है. परिवार में पिता निगम में निचले स्तर का कर्मचारी था और एक नंबर का दारूबाज था और मां इधर उधर कुछ न कुछ काम करती थी। म्हाडा के एक सड़ल्ले से फ्लैट में हम छः जन का परिवार रहता था। एक आवारा भाई सहित हम तीन बहनें. उसके बाद बॉस ने मेरी बीवी की जांघों को हाथ फेरते हुए उसकी पेंटी उतार दी.

यह बात आज से 2 साल पुरानी है, उस समय मैं अपने मामा के घर पर रहता था. पहले तो मुझे समझ नहीं आया, फिर मैंने अपने गले की तरफ देखा तो मुझे समझ आया कि वो मेरे बूब्स देख रहा था, जो कमीज के गहरे गले से दिख रहे थे.

पुनीत मेरी गांड से बहुत जोर से चिपक गया और हांफते हांफते गांड में अपने लंड से धक्के भी मारते जा रहा था.

अपनी आंखें मैंने बन्द कर लीं, एक मिनट के बाद मुझे शॉवर चलने की आवाज़ आयी और तभी उन दोनों ने बोला- अब खोल लो आखें!मैंने आंखें खोली तो देखा दोनों एक दूसरी के ऊपर 69 की पोजीशन में थीं और एक दूसरी की चुत चूस रही थीं. फोन उठाया तो उसने बताया कि वह मेट्रो स्टेशन पर मेरा इंतजार कर रही है. जब मैंने ध्यान से देखा तो वह भी समझ गया कि मैं उसकी पैंट में बन रही उस आकृति को देख रही हूँ.

सेक्सी चुत की मैंने स्कर्ट में पीछे हाथ लगाया तो सच मेरी स्कर्ट गीली सी लगी और चिपचिपा रही थी. बोला- यह पकड़ ले … अपने लिए 2-3 अच्छी-अच्छी पैंटी और जो भी तुम्हें लेना हो, अपनी पसंद का ले लेना.

उसके कबूतर (बूब्स) बत्तीस इंच के रहे होंगे जो उसकी सुंदरता में चार चाँद लगाते थे. मैं कुछ मूवीज़ की सीडी लेने आपके रूम में गया और वहीं पर मूवी देखने लगा लेकिन उसमें पॉर्न मूवी थी और मुझे आपके बेड पर कपड़े बिखरे पड़े हुए दिखे और कपड़े ठीक करते वक़्त उसमें से मुझे आपकी पेंटी मिली और मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैं पेंटी में मुट्ठ मारने लगा और तभी अचानक आपने मुझे ऐसा करते हुए देख लिया. फिर जब मैंने अपना मुँह हटाया तो वो भूखी शेरनी की तरह उठी, उसने मुझे नीचे गिराया और मेरे ऊपर चढ़ गयी.

कन्नड सेक्स

यह देख उसने अपना लण्ड मुझे मेरे हाथ में दे दिया। मैं भी जोश में आ गयी और लण्ड को पूरे जोर से दबा कर मसलने लगी।हम दोनों एक-दूसरे के शरीर से खेलने लगे। कभी वो मुझे चूमते, कभी मैं उन्हें. उसने एक पतली सी झीनी सी नाइटी पहन रखी थी जिसके अंदर उसकी लैस वाली ब्रा और पेंटी साफ-साफ दिखाई दे रही थी. मैंने अमित के अंडरवियर को खींचना चाहा किंतु इस बार भी कामयाबी नहीं मिली.

कुछ देर के बाद माँ मेरे पास आई और बोली- तुम्हें रेलवे स्टेशन तक जाना पड़ेगा. उसकी चूत चाटते हुए जो कामरस बाहर निकल रहा था उसका स्वाद मेरे मुंह में आना शुरू हो गया था.

घर पहुंचा तो पाया दरवाजे में अन्दर से कोई लॉक नहीं लगा था, मैं बैडरूम में गया तो देखा कि शंकर जी और मदन दोनों नंगे एक दूसरे से लिपट कर मस्त सोए हुए थे.

निहाल की हिम्मत बढ़ती जा रही थी तो उसने अपनी हाथ की हरकत को और तेज कर दिया. मैंने अपने लंड की जगह बनाना शुरू किया, ऊपर नीचे किया और अब धीरे धीरे स्पीड बढ़ा दी और मजे से चोदने लगा. फिर मैंने देखा जब मम्मी उठी तो उनकी चूत से सफेद सफेद गाढ़ा सा कुछ निकल रहा था, जिसे मम्मी ने पास में रखे हैंड टॉवल से साफ किया.

उसकी चुत टाइट होने से केवल थोड़ा ही लंड अन्दर गया और वो एकदम से चिल्ला उठी और बोली- उई माँ मर गई … बाहर निकालो इसे. मैं दोनों को मस्त कर रहा था और एक एक हाथ से दोनों के बूब्स को दबा भी रहा था. मैंने अपने लंड को धीरे से उसकी चूत पे टिकाया और उसे हल्के हल्के ऊपर नीचे करने लगा.

इससे पहले कि वो कोई जवाब देता, कमरे में इनविजाइलेटर्स (निरीक्षक)आ गये.

हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ एचडी: थोड़ी देर बाद जब मेरी बीवी की नींद खुली तो वह सोचकर परेशान होने लगी कि रात के 2:00 बज रहे हैं और बॉस कहां गए. रिशु ने मिशिका की पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर किस कर दिया तो मिशिका ने रिशु का मुंह अपनी पैंटी में घुसा दिया.

बारात में आए लड़कों ने उन लड़कियों को देखकर सीटी मारना शुरू कर दिया. बड़े बड़े गोल गोल बूब्स, गुलाब की पंखुड़ी जैसे होंठ, चिकनी गर्दन, सुडौल नितंब चलते चलते बारी बारी से दोनों हिलते थे. अजय को जब जब टाइम मिलता था, तब तब वो सुजाता की चुदाई करने आ जाता था, लेकिन आज तक सुजाता ने और किसी दूसरे का लंड नहीं लिया था.

इस बार उसने बार-बार मुझे रोका क्योंकि वो झड़ गई थी, और झड़ने के बाद वो चुदाई कर नहीं पाती थी.

मैं उनको देख ही रहा था कि उन्होंने कहा- कहां खो गए हो अमित?मैंने कहा- कहीं नहीं!फिर उन्होंने मुझे बैठने के लिए कहा और पूछा- क्या लोगे?मैंने कहा- जो आप खिलाएंगी और पिलाएंगी वही ठीक है मेरे लिए. और अपनी कमर उछाल-उछाल कर मेरा मुँह अपनी योनि में घुसाए जा रही थी कोमल. उसकी कमर को चूस करके मैंने लाल कर दिया और फिर धीरे धीरे में उसके चूचों को दबाने लगा.