सील टूटते हुए बीएफ

छवि स्रोत,फिल्म बीएफ वीडियो में

तस्वीर का शीर्षक ,

मुलींची सेक्सी बीपी: सील टूटते हुए बीएफ, फिर उसने आंटी की चूत पर अपना थूक लगाया और अपने लन्ड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा।आंटी- अब चोद भी दे … तड़पा मत!ये सुन हर्षदीप ने अपना पूरा लन्ड उसकी चूत में डाल दिया.

कॉल गर्ल की बीएफ

मेरा चेहरा अपने हाथों में लेकर मेरे होंठों से होंठ लगा कर किस करने लगे. भोजपुरी भाषा सेक्सी बीएफमैं पूरा जोर लगाकर धक्का मार रहा था और मेरा लंड उसकी बच्चेदानी तक जा रहा था.

मेरी पिछली कहानी थी:वासनामयी भाभी की चुदाई की ख्वाहिशआज मैं अपनी नयी देसी मेड सेक्स कहानी के साथ हाज़िर हूँ. बहन को चोदने वाली बीएफभाभी ने पूछा- जब कुछ करना नहीं है तो क्यों मिलना है?मैंने कहा- बस यूँ ही मिलने का मन है.

इस दौरान भाभी मुझसे अपनी बहुत सी फ़ोटो और हॉट वीडियो शेयर करने लगी थीं.सील टूटते हुए बीएफ: इधर मैं धक्के पर धक्के देते हुए उससे कहा रहा था- आह बेबी … अभी मजा आने लगेगा … हहह.

आह अल्लाह मैं तेरा शुक्रिया अदा करती हूँ आह सनम चोद दो मुझे … आह मुझे रोज तुमसे ही चुदवाना है.उसी समय रूबी भी घर पर आ गई और शायद उसने हम दोनों की बातचीत सुन ली थी.

भोजपुरी बीएफ सेक्सी दिखाओ - सील टूटते हुए बीएफ

फिर मैंने उसका पेटीकोट उतारा तो देखा गांड पर बेल्ट मारने के लाल निशान पड़ गये थे.करीब आधे घंटे के बाद हम दोनों फिर जोश में आए और मैंने उसका लन्ड खड़ा किया.

इसलिए मुझे पूरा नंगा लेट कर चाची की चड्डी को अपने बदन में रगड़ने से एक अजीब सी मस्ती छा रही थी. सील टूटते हुए बीएफ तो मैंने उसकी गांड में बहुत सा थूक लगाया और लंड को भी लिसलिसा कर लिया.

भाभी ने भी ये देख लिया, मगर वो कुछ नहीं बोलीं और अपने काम में लग गईं.

सील टूटते हुए बीएफ?

मैंने सोच रखा था कि अगर आज आदित्य आगे नहीं बढ़ा तो मैं खुद उससे सेक्स के लिए कहूंगी. प्रेमा के अच्छे बर्ताव के कारण ही शालू अब तक इस घर में टिकी हुई थी. उसके बाद मुंह उसकी गांड के पास ले जाकर उसकी गांड में मुंह डाल कर चूसने लगा.

जब वो अपनी कमर मटका कर चलती है, तो उसकी उठी हुई गांड हिलती हुई ऐसे लगती है कि कसम से लंड तन कर खड़ा हो जाता है. फिर जब सारा माल मेरे गले में अंदर जा चुका तो उन्होंने लंड को बाहर निकाल लिया. अब मेरी जांघें अपने आप ही खुलकर उसके हाथ को अच्छी तरह से रास्ता देने लगीं ताकि उसकी उंगलियां मेरी चूत में और अंदर तक जा सकें.

उस वक़्त भी मेरी नजर फ़रज़ाना दीदी पर ही थी और उसने भी ये देख लिया।फिर हम चाय पीने लगे. मैंने एक ड्रम बाहर रखा हुआ था, जिसमें नल आने पर भाभी को सिर्फ नल खोलना होता था. वहीं तैयार हो जाना तुम दोनों!मैं अपने घर का सारा काम करके जल्दी से तैयार हो गयी.

वो कुछ उठने का प्रयास करने लगी, पर ठाकुर के चंगुल से निकल भागना संभव नहीं था. क्या बताऊं दोस्तो … इतनी भीड़ में भी वो इतना हसीन पल था कि ये लग था कि ये पल कभी खत्म ही ना हो.

पहले मैंने एक उंगली, फिर दो उंगलियों को सर की गांड में करके उसे ढीली की.

एक बार एक मर्द मुझे बस में सफर के दौरान मिला जिसके साथ मेरी गांड की पहली चुदाई हुई.

मैं नहा लिया और मेरे पास मेरी भीगी हुई ब्लू टी-शर्ट और काले पजामे के अलावा कुछ नहीं था. इतना कहते हुए मैंने मॉम का पेटीकोट उठाकर उसकी गांड पर एक बेल्ट मारी. और मेरी दोनों चूचियों को मसलते हुए मुझे ठोकने लगा।अभी ये कुतिया चुद ही रही थी कि मेरी दीदी का फ़ोन आ गया.

तब तक आंटी ने अपनी नाइटी के ऊपर के तीनों बटन खोल दिए थे और उनकी गदराई हुई चूचियां बाहर निकली हुई दिख रही थीं. चाची ने अपने हाथ से मेरी जींस की चैन नीचे खोली और मेरे खड़े गर्म लंड को बाहर निकाल कर अपने हाथ से मेरे लंड की खाल को ऊपर नीचे करने लगीं. क्यों न रात में भाभी की चुदाई करके उसको मनाया जाये?वैसे भी भैया भाभी को तो साथ लेकर नहीं जायेंगे क्योंकि उनकी खेत वाली चूत चुदाई का सारा मजा खराब हो जायेगा.

फिर जब कोई सुंदर सी लड़की या कोई सेक्सी भाभी आती थी तो मैं बैग को हटा लेता था.

जब भी कोई जवान लड़का अपने से बड़ी उम्र की लड़की, औरत, भाभी या आंटी को चोदता है तो उसको फिर चूत के अलावा कुछ और दिखाई नहीं देता. मैं कहा- क्यों मेरे लंड में क्या कांटे लगे हैं?वो जरा हंस कर बोली- कांटों की परवाह नहीं है मुझे, वो तो मैं सह लूंगी. जिम वाले सर बोले- आज बहुत बारिश हो रही है … तो हम भी जल्दी ही निकल जाते हैं.

इसलिए मुझे पूरा नंगा लेट कर चाची की चड्डी को अपने बदन में रगड़ने से एक अजीब सी मस्ती छा रही थी. नूपुर- क्यों नहीं बनायीं!मैं- आज तक तेरी जैसी कोई हॉट सेक्सी दिखी नहीं … इसलिए!फिर हम दोनों ही हंसने लगे. उनके छत्तीस इंच के मम्मे देख कर मुझे रहा नहीं गया और मैंने अगले ही पल अपना मुँह उनके ब्लाउज के ऊपर से ही उनके मम्मों पर लगा दिया.

और मैं रागिनी को मनाने में लग गयी कि उसने जो कुछ भी देखा वो किसी को मत बताए.

कुछ देर सहलाने के बाद मैंने उसके ब्लाउज के हुक खोल दिये और उसको अलग कर दिया. वो मेरी गांड को दबाते हुए बोले- तुझे लंड पकड़ना पसंद है क्या?मैंने हां में गर्दन हिला दी.

सील टूटते हुए बीएफ वो बोला- मेरी जान उदास क्यों हो रही हो … तुम डरो मत बेबी … पहली बार में ऐसा होता ही है. फिर मेरी गर्दन को लटका कर अपना लौड़ा मेरे मुँह में घुसा दिया।जैसे ही मैंने साहिल का लन्ड अपने मुँह में लिया, उसमें अभी भी रानी के चूत के पानी की खटास थी.

सील टूटते हुए बीएफ तो मेरा मुंह उसके कान से टकरा गया जैसे मैंने उसे किस किया हो।मैंने बहुत जल्दी से खुद को पीछे किया और सॉरी बोला।तो प्रिया ने अपना हाथ से मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- कोई बात नहीं. सलोनी- और बताओ, तुम्हें कैसी लड़की पसंद है?मैं कुछ बोल ही नहीं पा रहा था.

मैं लाइब्रेरी में उसके पास जाकर बैठा … क्योंकि मुझे उससे बात करे 5-6 दिन हो गए थे.

सनी लियोन फुल वीडियो

अब उसने मेरी चड्डी भी नीचे कर दी और मेरा लंड उसके सामने उछल कर बाहर आ गया. विशाल ने एक हाथ मेरे पेट के आगे से ले जाते हुए मेरे पेट पर हाथ रख लिया और दूसरा हाथ पीछे गर्दन पर रखते हुए मुझे झुका दिया. मेरी आवाज सुनकर भाभी आई और उसने बिजली का पंखा चला कर देखा, तो वो संतुष्ट हो गई.

मैं तो बस ‘आह्ह् अहा हम्म चोदो और मुझे चोदो … मेरी गांड को फाड़ दो … आह अपने लंड से. हम सब खेल करके निकल ही रहे थे कि भाभी ने मुझे रोते हुए गले लगा लिया. एक बार फिर से मैंने उसको नीचे पटक लिया और उसकी चूचियों को ब्रा के ऊपर से ही जोर जोर से मसलने लगा.

हम दोनों उस बाथटब में चिपक कर लेटे रहे और एक दूसरे से चूमा-चाटी की मस्ती करते रहे.

मगर मैं उससे कमरे में आने का बोल कर अपने रूम में चला गया और उसका इंतजार करने लगा. वो मेरी बांहों में झूल गई और मादक स्वर में बोली- मुझे उठा कर ले चलो. लेकिन आज पता नहीं कैसे वो भूल कर चले गए!तभी कुछ देर बाद उस पे फ़ोन आने लगा.

मैंने अपनी फ्रॉक पहन ली और विजय ने तुरंत कमरे का दरवाजा खोला और बाहर झांक कर देखा. भाई की शादी में मैंने उसकी चूत भी देख ली थी लेकिन उसने चूत चुदवाने से मना कर दिया. मैंने कहा- ब्रा तो है ही नहीं इसमें?लड़का बोला- इस टॉप में ब्रा की जरूरत नहीं होती है.

पहली बार सेक्स की स्टोरी में पढ़ें कि कैसे ट्रेन में एक लड़की का फोन रह गया जो मेरे हाथ लगा. मैंने मस्ताने अंदाज में हेमा चाची से कहा- चाची, आप चाहो तो क्या मैं आपकी थकान मिटा दूं?हेमा चाची हंस पड़ीं और बोलीं- क्या भास्कर … ये भी कोई पूछने की बात है? मैंने मेरी थकान और इतने दिनों की प्यास बुझाने के लिए ही तो तुम्हें यहां बुलाया है.

मुझे तो यकीन नहीं हो रहा था कि मैं रानी जैसी कच्ची कली स्कूल गर्ल की चूत मार रहा हूं. फिर मैंने अपने लण्ड पर थूक लगा कर उसकी गांड में लंड को अंदर कर दिया।वो सिसकारने लगी और कहने लगी- चोदो मुझे प्लीज़ … फक मी … आह्ह … फक मी … जोर से।ऐसे कहते हुए वो अपनी गांड आगे पीछे करने लगी।मैं झटकों के साथ साथ उसके कूल्हों पर हल्के थप्पड़ मार रहा था।थोड़ी देर में मेरा भी होने ही वाला था. इस रस के बहाव को देख कर ठाकुर ने तुरंत आसन बदला और मंजू को बेड के सहारे झुका दिया.

इस बार अंकिता की आवाज थोड़ी तेज निकली क्योंकि मेरा लंड थोड़ा मोटा था.

ब्रा पैंटी में वो गजब का पटाखा लग रही थी जैसी कि पोर्न स्टार्स होती हैं. और वो फिर से चीखने लगी और मुझे अपने ऊपर से हटाने के लिए धक्का देने लगी।परन्तु मैं उसके ऊपर चढ़ा हुआ था, मैंने उसे कस के जकड़ रखा था ताकि वो कहीं जा न सके. नमस्कार दोस्तो, मैं सुनीता अपनी कहानी का अगला भाग लेकर आप लोगों के पास हाजिर हूँ.

फिर मैंने अपने लंड पर भी थूका और अपने लंड का सुपारा उनकी गांड के छेद पर रगड़ने लगा. आह … पारदर्शी स्किन कलर की जालीदार ब्रा में उनके आधे से अधिक दूध बाहर फुदकने को बेताब दिख रहे थे.

मैंने हांफते हुए कहा- चाची, उस समय मुझे याद ही नहीं रहा तय कि आपसे कुछ पूछ सकूं. उसने अपना हाथ पीछे किया लेकिन ज़्यादा नहीं बल्कि अपने हाथों को रानी की कमर को पकड़ लिया. शबाना बोली- अन्नू, मेरी जान तुम आज मुझे इतना चोदो कि मेरी जन्मों की प्यास बुझ जाए.

एनिमल्स बर्फ

साहिल अपनी कुर्सी पर बैठा था और रानी एक स्टूल पर उसी के बिल्कुल आगे थी।कुछ देर बाद जब रानी ने कुछ गलती की तो साहिल अपनी कुर्सी एकदम रानी के स्टूल से सटा कर बैठ गया और खुद माउस पकड़ कर बताने लगा.

मैंने उसकी टांगें हवाई में उठाईं और बोला- आह्ह … मेरी रंडी, आज तुझे इतनी जोर से चोदूंगा कि तू अपने पति की चुदाई को भूल ही जायेगी. आठ महीने बाद मनजीत ने मुझे बताया कि सुमन ने एक लड़के को जन्म दिया है. शुभम फ़ोटो क्लिक कर रहा था उन दोनों का। वीडियो भी बना रहा था।शुभम: वाह … टैक्सी, तू तो नंगी होकर एकदम बवाल लगती है,अंजलि: आह्ह … और जोर से चाटो, खा जाओ मेरी चूत को!ऐसा कहते हुए वो आदित्य के मुंह में झड़ गयी और आदित्य ने बहन को बेड पर उल्टा पटक दिया.

चाची ने कहा- हम दोनों अब अकेले में एक दोस्त की तरह हैं। अगर तुम मुझे अपना दोस्त मानते हो तो बता सकते हो. दीदी हंसते हुए बोली- नहीं रे पागल, सॉरी क्यूं? ये तो मैं पहले से ही जानती थी. हिंदी बीएफ चुदाई व्हिडिओअलीमा भी इस दबाव को महसूस कर रही थी और कामुक आवाज निकाल रही थी- आआहह … ओओहह … अंकल!वह सोच रही थी कि अब से चुदाई का भरपूर आनन्द लेना है और अपनी सहेलियों से बिल्कुल पीछे नहीं रहना है.

अगले दिन सुबह मैं जल्दी उठ गया और जल्दी जल्दी तैयार होकर घर से निकला. हम पार्क और रेस्टोरेंट में कई बार साथ जा चुके थे लेकिन मैं कभी उसके घर नहीं गया था.

अगली नजर में उसने मेरे लंड पर नजर फैंकी, तो वो शर्माकर अपने शर्ट को व्यवस्थित करके अपने काम में लग गई. मैंने कहा- दीदी, खड़ा हो गया।दीदी बोली- अरे भाई, चल अब अंदर डाल दे।मैंने अपना लंड अंदर डाल दिया और धक्के लगाने लगा. वो बोली- कैसी शर्त?मैंने कहा- उसके बाद तुम्हें मेरे लिए एक नयी चूत का इंतजाम करवाना होगा.

उसने उंगली से करीब आने का इशारा किया, तो मैं उठा और सुलेखा के दोनों हाथों से हाथ मिलाकर उसे दीवार से टिका दिया और उसके शरबती होंठों को चूसने लगा. तीनों ही थोड़े असहज भी हो रहे थे क्योंकि मैं लड़का था और वो दोनों लड़की. इसके कुछ देर बाद उसकी एक सहेली आ गई और मैं उसे छोड़ कर अपने घर आ गया.

हमने मिलने के लिए एक कॉफ़ी शॉप चुना।जब वो मुझसे मिलने आयी थी तो नीले रंग का सूट सलवार पहनकर आयी थी।वो उस सूट में कमाल की लग रही थी। मैं उसको देखता ही रह गया था।तब उसने मुझे हाथ से हिला कर कहा- कहाँ खो गए?मैंने कहा- कही नहीं … बस आपको देख रहा था.

वो चौपाया बन गईं और मैंने पीछे से लंड चुत में पेल कर उनकी ताबड़तोड़ चुदाई चालो कर दी. फिर सोनू बूब्स टटोलने लगा। थोड़ी देर बाद जब सोनू ने कोमल का पूरा शरीर छू लिया तब हम दोनों को एक रूम में ले गया।वो रूम बहुत बड़ा था.

मैं और सुलेखा उस दिन अकादमी की क्लास से बंक मारकर सुनील और उसकी गर्लफ्रेंड याशिका के साथ घूमने के लिए चोखीढानी आ गए. मुझे ये सब देख कर बहुत गुस्सा आ रहा था … मगर मैंने सोचा कि अगर ऐसा करने से बच्चा हो जाए, तो मोना की जिन्दगी खुशगवार हो जाएगी. पता नहीं क्यों, मुझे उसकी नज़रें थोड़ी अजीब लगीं और मैंने भी उसकी आँखों में आखें डालकर देखना शुरू कर दिया.

मैंने पूछा- कहां निकालूं?बुआ- तेरा क्या विचार है?मैं- तुझे अपने बच्चे की मां बनाना चाहता हूं. मेरा उसकी चुत के दाने को काटने का इरादा नहीं था, वो बस उत्तेजना में ऐसा हो गया था. मैंने मुठ मार कर अपनी मुठ के पानी को बाहर टपकने से रोकने के लिए हेमाचाची की चड्डीसे पौंछ लिया.

सील टूटते हुए बीएफ जय ने तीसरा गिलास हलक से नीचे उतारा और बोला- चल साली, पहले लंड चूस मादरचोद … बहन की लौड़ी. फिर वो तीनों ही जिद करने लगे और फिर मैं भी अपने लिये एक गिलास ले आयी.

पुना सेक्सी

फिर भी मैंने कुछ नहीं कहा।मैं सही मौके के इंतजार में थी।उस रात उसके जाने के बाद मैंने भी पोर्न वीडियो लगाया और अपनी टॉप उतार दी. अब गपागप गपागप लंड चूत के अंदर बाहर करने लगा।मैंने मामी को घोड़ी बनाया और अपना लौड़ा उसकी चूत में डाल दिया और तेज़ तेज़ लंड से झटके मारने लगा।मामी अपनी गांड को आगे पीछे करने लगी और लंड लेने लगी. मेरे वहां पहुंचते ही हेमा चाची बिस्तर से खड़ी होकर मेरे पास आईं और मेरे गले लग गईं.

मैं उस वक्त एकदम नंगा था और मैंने कमर से नीचे तौलिया को बांधा हुआ था, जिसमें से मेरा लंड फनफनाने की पोजीशन में खड़ा होने लगा था और तौलिया के ऊपर से ही अपना डीलडौल दिखा रहा था. जिसके बाद वो थोड़ा आगे होकर खड़ी हो गयी जिससे साहिल का लौड़ा उनके मुँह पे छुए।अब बार बार हो भी यही रहा था।कुछ देर बाद जब साहिल अपने दोनों हाथों से कुछ करने लगा. काजल राघवानी की बीएफ सेक्सबात तब की है जब मैं रायपुर से गांव गया था बड़े पापा के यहाँ। उनके घर में बड़े पापा, बड़ी मम्मी और भैया-भाभी और उनके 2 बच्चे रहते हैं.

मैंने कहा- जब तेरे जैसी रांड चुदने को मिल गई हो तो लंड की क्या मजाल तो खड़ा होकर सलामी न दे.

मैंने उसको लंड चूसने को बोला तो वो मेरे लंड को मस्ती में चूसने लगी. कैसे?नमस्कार दोस्तो, मैं आपका दोस्त सुमित एक बार फिर से एक देसी चूत की गर्म कहानी के साथ हाजिर हूँ.

अब एक तरफ मेरा हाथ उसकी चूची मसल रहा था और मेरे होंठ उसके होंठों को सहला रहे थे. तो उसने अपना हाथ हटा लिया और मेरी तरफ देखने लगी।तो मैंने अपना हाथ उठा कर अपने पैर पर रख लिया और प्रिया को बोला कि वो अब हाथ रख सकती है।पर उसने सुना नहीं तो मैंने उसके कान के पास जाकर बोला. मैं भी पूरी तरह से कामुक हो चुकी थी और ससुर जी की निगाह मेरे गोरे बदन और मम्मों पर ही टिकी थी.

चाची Xxx स्टोरी के पिछले भागपड़ोसन चाची के साथ मस्ती भरी रंगरेलियाँमें अब तक आपने पढ़ा था कि चाची और मैं एक दूसरे से वासना भरा प्यार करने लगे थे और चुदाई होने से पहले ही हम दोनों स्खलित हो गए थे.

हम पार्क और रेस्टोरेंट में कई बार साथ जा चुके थे लेकिन मैं कभी उसके घर नहीं गया था. मैंने कभी किसी की चूत नहीं चोदी थी तो मेरी चूत चोदने की तड़प बढ़ रही थी. मैं- नहीं, मेरा फ्लैट टू बीएचके का है और तुम्हारी वाइफ भी अभी अपने मायके गई है.

बीएफ सेक्सी मसाला सेक्सीमेरी बीवी मान गयी और कहने लगी कि जब तक मैं वापस नहीं आती हूँ, तब तक आप उसके साथ में रह लेना. मैं बोला- आप ये सब क्या बोल रही हो?आंटी ने आंखें तरेरी और बोलीं- चुपचाप रहो, जो मैं बोलती हूं, वो करो … समझ गए.

क्रांति मूवी

तो मुझे भरोसा हो गया था कि मेरी अम्मी मुझसे चुदने के लिए राजी हो जाएंगी. उसके बाद मैंने पीछे हाथ ले जाकर उसे अपने सीने से चिपकाया और उसके होंठों को चूमते हुए ब्रा के हुक खोल दिया. अगर मुझसे लिखने में कोई चूक हो जाए, तो बुरा मत मानिएगा … बस नजरअंदाज करते हुए इस सेक्स कहानी का मजा लीजिएगा.

उस दिन उसे अपने बेटे को भी लेने जाना था, तो वो मुझसे स्कूल छोड़ते हुए जाने की बोली. वो अपने ससुराल में थी। उसकी सबसे छोटी बेटी अभी 19 साल की हुई थी।रेखा आंटी की चुदाई की कहानीमैं आप लोगों को बता चुका हूं. फिर मेरी गर्दन को लटका कर अपना लौड़ा मेरे मुँह में घुसा दिया।जैसे ही मैंने साहिल का लन्ड अपने मुँह में लिया, उसमें अभी भी रानी के चूत के पानी की खटास थी.

मेरे पहुंचने के बाद मैं उनसे मिला और कुछ देर रुकने के बाद मैं अपने कमरे में जाकर सो गया. अंटी सेक्स की कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन के दौरान मैं सब्जी मंडी गया तो वहां एक गरीब औरत को गन्दी सब्जी उठाते देखा. फिर मैंने उसके चेहरे को ऊपर उठाकर अपने होंठों को उसके होंठों से चिपका दिया और किस करने लगा.

मैंने दोनों हाथों से उसके चूचे पकड़ लिए और लंड को फिर से अन्दर डालकर धक्के देने शुरू कर दिए. मैं उनसे चिपका रहा और कुछ देर में मेरा लंड सिकुड़ कर फुद्दी से बाहर आ गया.

10 मिनट तक वो बिना रुके चूसती रही और लंड को पूरा गले तक ले जाती थी.

अब मैंने आंख को अधखुला रख कर उन दोनों की कारगुजारी को देखना शुरू कर दिया. सेक्सी बीएफ वीडियो फुल सेक्सीऐसे घूमते घूमते मेरी नज़र स्कूल पर कम पर नूपुर की गांड पर ज्यादा थी. बीएफ भेजो फुल एचडी मेंवो खड़े खड़े ही मदहोश हो उठी और कहने लगी- आह … जल्दी से मेरी आग बुझा दो. मैंने थोड़ी रिक्वेस्ट की कि बाबा का तो चूस रही थी, मेरा लौड़ा चूसने में क्या जाता है.

मैंने उसका हाथ हटाया और उसकी पैंटी के अंदर झांक कर चूत के दर्शन किये.

मेरी एकदम से आह्ह निकल गयी और वो बोला- अभी तो कुछ किया भी नहीं मैंने जी. मैंने दी के बूब्स पकड़े और उन पर लण्ड रगड़ने लगा।वो अपने बूब्स पकड़ कर और टाइट करने लगी. मेरे वहां पहुंचते ही हेमा चाची ने मुझे कसकर गले लगा लिया और कहा- भास्कर, मैंने तुम्हें बहुत मिस किया इतने दिनों तक तुमसे नहीं मिली तो मेरा मन बेचैन हो गया था.

उसने उंगली से करीब आने का इशारा किया, तो मैं उठा और सुलेखा के दोनों हाथों से हाथ मिलाकर उसे दीवार से टिका दिया और उसके शरबती होंठों को चूसने लगा. जब वो सेक्स सीन आया तो तीनों की नजर लैपटॉप स्क्रीन पर ही गड़ी हुई थी. अब जब भी मैं उसके पास जाती तो वो मुझे अपने गले से लगा लेता और मेरे होंठों को भी चूमने लगा।एक दिन रात में हम दोनों ने थोड़ी अश्लील बातें की.

पोर्न मिया खलीफा

वो थोड़ा सा ऊपर को हो गई और लेटे हुए बलविंदर के मुँह के पास अपनी चूत ले जाकर बोली- यह रहा इसका एड्रेस!बलविंदर ने अलीमा की चूत की महक लेकर एक आनन्द भरी आवाज निकाली. वो मस्त होकर सिसकारियां लेने लगी- आह्ह … सनी … आह्ह … जोर से … आह्ह … चोद … और चोद … आआ … आहह … आईई …. अलीमा भी इस दबाव को महसूस कर रही थी और कामुक आवाज निकाल रही थी- आआहह … ओओहह … अंकल!वह सोच रही थी कि अब से चुदाई का भरपूर आनन्द लेना है और अपनी सहेलियों से बिल्कुल पीछे नहीं रहना है.

ये देखकर मैं हैरान हो गया और उसे हटाने के लिए जल्दी से यहां-वहां रिमोट ढूंढने लगा.

अभी मैं और सुमन अगले सात दिनों तक चुदाई का खेल खेलने के लिए घर से निकल चुके थे.

वो लंड के पानी को पीना नहीं चाहती थीं … पर मैंने सारा पानी उनके मुँह में गिरा दिया, तो उन्हें वीर्य पीना ही पड़ा. फिर कल्पना मुझसे बोली- तुम दोनों जाओ अंदर, मैं यहीं पर तुम्हारा इंतजार करूंगी. साड़ी में सेक्सी बीएफ वीडियोमैं आए दिन पेपर में विज्ञापन डालता रहता हूं कि घर बैठे कंप्यूटर और लैपटॉप रिपेयरिंग करवाए.

वो कभी उसकी चूत को देख रहा था तो कभी उसके बूब्स को।फिर हम वहां से निकल लिये. रुखसार दीदी से कह रही थी- तूने बताया नहीं कभी कि तेरा भाई भी है?दीदी बोली- सगा भाई नहीं है, मेरे मामा का बेटा है. उसने मेरी तरफ देख कर पूछा- हां कहिए?मैंने उससे कहा कि मैं बिजली का काम करने आया हूं.

मेरी रंडी जैसी मादर चोद मम्मी ने सारा मॉल लौड़े से चाट चाट कर साफ कर दिया. मैंने भी झट से अपनी पैंट की जिप खोल दी और अपना लंड बाहर निकाल लिया.

जब धीरे धीरे शालू को प्रमोद की आदतों और उसके बर्ताव के बारे में पता लगने लगा तो वो परेशान रहने लगी.

मैं बोल पड़ा- क्या कर रहे हो?उन्होंने कहा- अब कुछ मत बोलो और जो हो रहा है उसे होने दो. रानी घुटनों के बल बैठ गई और लड़के की जींस की बेल्ट और चेन को खोलने लगी. तो भाभी अब मेरे अंडरवियर में से लंड के आकार को देख रही थी।पर उन्हें ज्यादा डर नहीं दिखा.

भाई ने बहन को जबरदस्ती चोदा बीएफ जैसे ही मैं उसकी छत से अंदर सीढ़ी पर गया तो मुझे आदीबा की मकान मालकिन ने देख लिया. कुछ होता भी है या नहीं?कुसुम समझ गई- हाँ बाबा, करते तो हैं पर बच्चा नहीं होता है।बाबा- कितने दिन में करते हो?कुसुम- दो चार दिन में हो ही जावे।बाबा- कितनी बार करते हो?कुसुम- एक बार करे।बाबा- कितनी देर तक होता है।कुसुम- पता नहीं बाबा.

मैं बोला- क्या हो रहा है मेरी रानी … खुलकर बताओ ना … मुझे अपना ही समझो जान!वो बोली- मेरा मन कर रहा है. फिर वो कहने लगा कि मैं किसी को नहीं बताऊंगा अगर तुम मुझे भी चुदाई का मजा लेने दो?रानी के पास कोई रास्ता नहीं था; वो मान गई. फिर रानी की एक टांग उठा कर उसकी गर्म चूत में अपनी जीभ घुसा घुसा कर रानी की सिसकारियां निकालने लगा।कुछ देर चूत चाटने के बाद साहिल ने रानी को उल्टा कर दिया.

जापानी एक्सएक्सएक्स

लेकिन फिर दीदी ने मुझे कहा- तुम भी तो रोज़ साहिल से अपनी चुदाई करवाती हो?तब मैंने तुरन्त साहिल को गुस्से से देखा. आंटी तो पागल सी हो गईं और मादक सिसकारियां भरने लगीं- आआह ईईई उई उम्म … जल्दी से चोद दो गोलू … उउइ आह!मुझे भी अब और जोश चढ़ने लगा था. मुझे ये सुनकर बहुत खुशी हुई कि वो मेरे लंड से चुदकर इतनी संतुष्ट हुई.

मेरा हाथ हेमा चाची की चूत पर आ गया था, जिस पर मैं हल्के से बाल महसूस कर रहा था. पर संतो खुश नहीं थी क्योंकि उसने सेठ के साथ सेक्स तो किया पर बिना इच्छा के।और फिर सेठ ने भी बिना उसे गर्म किये सलवार उतरवा कर उसकी चूत में लौदा डाला, दो मिनट गुच गुच की और झड़ गया.

आँखें बंद करके मैं लेटा हुआ था लेकिन जब मैंने उसकी आवाज़ सुनी तो मैंने तुरंत अपनी आँखें खोलीं.

फिर हम तीनों ने एक साथ खाना खाया और मैं थोड़ी देर रुक कर घर आ वापस गया. कविता- अच्छा जी? तो आप मेरे चक्कर में दुबले हो रहे हैं? चिंता मत करो, किसी दिन फ़ुर्सत से आपको प्रोटीन और केल्शियम दूँगी. वो अब गर्म होने लगी और जोर जोर से चिल्लाने लगी- आह अन्दर पेल पहले … आह क्यों तड़फा रहा है आह उह उइ मां अब चोद भी दे.

मैंने फिर से उसका हाथ पकड़ लिया और बोला- ऐसे तो आप रोज़ बहाना करती रहेंगी और मैं आपके इंतज़ार में दुबला होता जाऊंगा. एक लड़का मेरे पास आया और बोला- क्या काम है?मैंने कहा- हमें सोनू ने भेजा है. मैं आंटी की चूत में जीभ फिराने लगा और दोनों हाथों से दोनों चूचों को मसले जा रहा था.

मेरे पास आकर उसने कहा- देवू तेरे साथ कोई बैठा है क्या?मैं कुछ नहीं बोला क्योंकि मैं तो उसे ताड़ने ने बिजी था.

सील टूटते हुए बीएफ: मंजू ने शर्माते हुए लंड को देखा और धीरे धीरे प्यार से लंड को सहलाने लगी. दोस्तो, आगे भी मैं अपनी चुदाई की कहानियां सोनम के माध्यम से आप लोगों को बताती रहूंगी.

उस ब्लू फिल्म में एक लड़के ने अपना लंड उस लड़की की चूत में डाल रखा था और दूसरे लड़के ने अपना लंड उस लड़की की गांड में डाल रखा था. भाई उस टाईम मेरे अन्दर सेक्स का ऐसा भूत सवार था कि मेरा खुद पर कोई बस नहीं था. अब मैंने उनको डॉगी के पोज में खड़ा किया और उनके चूतड़ों के बीच से चुत में लंड पेलने लगा.

मैंने भी देर न करते हुए उसकी पैंटी खींच कर निकाल दी और गुलाबी कोमल चिकनी चूत को चाटना शुरू कर दिया.

वे जब ऐसा कर रहे थे, तो मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं तो स्वर्ग में हूं और मुझे इतना आनन्द आ रहा था कि मैं बता नहीं सकता. जिसमें वो अपनी चुत में कभी शैम्पू की गोल शीशी डाल कर दिखातीं, तो कभी अपनी झांटों को साफ़ करते हुए वीडियो दिखातीं. जब वापस आते थे तो डोले और छाती फूली होती थी जिसको देखकर मेरीगांड में कुलबुलाहटसी होने लगती थी.