बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली

छवि स्रोत,सुपरहिट हिंदी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

क्सक्सक्स वफ: बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली, रिया की गांड चुदाई करते हुए रमेश उसकी गांड पर थप्पड़ मार मार कर पूरी लाल कर देता था.

एक्स एक्स वीडियो हिंदी सेक्स

इसी बीच राजेश ने जोर देकर मुझे अपने ऊपर से उतार दिया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी. एक्स वीडियो बाथरूमजब इतने से मन नहीं भरता, तो कूल्हों को फैला देता, इससे उसके गांड का बादामी-भूरा छेद भी खुलकर सामने आ जाता.

मैंने उसकी साड़ी कमर तक उठा दी और उसकी मखमली गोरी टांगें मेरी आंखों के सामने आ गईं. नंगी पिक्चर गुजरातीवो गर्म मूत पूरा मेरी गांड के अन्दर नहीं जा रहा था, कुछ बूंदें ही मेरी गांड के कोमल हिस्से पर लग रही थीं.

कॉलेज गर्ल सेक्सी कहानी में पढ़ें कि मेरी पड़ोसन की जवान बेटी मेरे पास प्रोजेक्ट के लिए आयी.बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली: उस समय शाम के साढ़े सात ही बजे थे और मैंने जल्दबाजी में ये सब कर दिया था.

मैंने भी मौके की नज़ाकत को समझते हुए उससे बोला- मैं फ़्रेश हो कर आता हूँ … फ़िर तुम फ़्रेश हो लेना.मम्मी- डॉक्टर साहिब, कई तो शादी के बाद भी नहीं छोड़ती हैं?डॉक्टर- ये वो होती हैं जिनको पति का संसर्ग नहीं मिलता, वे औरतें बाहर अपनी इच्छा पूरी करती हैं.

ब्लू पिक्चर सेक्सी हिंदी में एचडी - बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली

वो भी अच्छी तरह से चाट रहे थे क्योंकि उसके अलावा उनसे अब कुछ और नहीं होने वाला था.इसका लंड कितना लम्बा होगा! क्या 7 इंच का होगा? क्या खूब रसीला लंड होगा जो किसी भी जवान औरत की चूत को चोद-चोदकर उसे फाड़ डाले … मैं मन ही मन ये सब बातें सोचने लगी.

मेरा काम है कि जो क्लेम आते हैं, उन्हें जाचूं और सही होने पर उसका क्लेम अपने ग्राहक को दिलाऊं. बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली एक बात और बताना चाहता हूँ कि मैं कोई साहित्यकार नहीं हूँ, बस अपनी बात अपने शब्दों में लिखने की कोशिश करता हूँ.

फिर रमेश को देख रिया बोली- ये देखो डैड, तुमको ये देखकर अच्छा लगेगा।रमेश- क्या?रिया ने अपनी चूत फैला कर दिखा दी.

बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली?

मैंने उसकी लंड चुसाई से आनंद में आकर अपनी आंखों को बंद कर लिया और उसके सिर को अपने लंड की तरफ धकेलने लगा. मैं भैया से चुदवाकर बहुत थक गयी थी इसलिए मुझे नहाने के बाद तुरंत नींद लग गयी. एक दूसरे को चूमते चूमते हम अन्दर सोफ़े तक पहुंचे, तो पता चला कि हम दोनों के ऊपर एक धागा भी नहीं बचा था.

मुझको बिना जगाए मेरे सारे कपड़े उतारता है मेरे ऊपर चढ़ते ही झटके मारने लगता है. अब आगे जब बेटी ने बाप से गांड मरवाई:गांड चुदाई के लम्बे दौर के बाद रमेश और रिया दोनों थक कर लेट गये थे. भाभी सारा रस पी गईं और अब उन्होंने अपनी चूत की तरफ इशारा करके कहा- तुम्हारी बारी.

इसके बाद कहने को कुछ ख़ास नहीं है, इन्टर पास करने के बाद अंकल जी की सहायता से मैंने कॉमर्स में ग्रेजुएशन किया साथ ही मैं पूरी मेहनत से कम्पटीशन की तैयारी करती रही. मेरे दोनों हाथ उसके दोनों चुचे मसल रहे थे और वो मादक सिसकारियां ले रही थी. जाने के वक्त मैंने उसे दर्द की दवा और गर्भनिरोधक दवा खिलाई और घर भेज दिया.

फिर पूनम की नजर मुझ पर पड़ी पर उसने शर्ट सही नहीं किया बल्कि मझे देखकर एक कुटिल सी हंसी हंस दी. मैंने अर्चना को देखते ही कह दिया- मैडम, आज तो आप बहुत ही अच्छी दिख रही हो.

उसने एक हाथ से मेरे लंड को सहलाना और दबाना जारी रखा जिससे मेरा लौड़ा पूरा तन गया और मेरे अंदर की हवस का शैतान जाग गया.

झुकाने के बाद मैंने फिर से उसकी चूत में लंड को सेट किया और उसके बाद अपने लंड को अंदर धकेलने की कोशिश करने लगा.

मैं समझ गया कि ये बुर का पानी नहीं बल्कि उसकी झिल्ली फटने के कारण निकलने वाला रक्त गिर रहा है. आई लव यू प्रतोष!मैंने भी कहा- सेम टू यू डार्लिंग।तो दोस्तो कैसी लगी मेरी यह कहानी आप सब अन्तर्वासना पाठकों को?मुझे आपके जवाब का इंतजार रहेगा।आप सबका दोस्त प्रतोष सिंह फिर अगली बार हाज़िर होऊंगा एक भाभी की चुदाई के साथ! और आशा करता हूं कि आप सब मुझे आप अपना प्यार[emailprotected]पर जरूर भेजेंगे।तब तक के आप सब अपना ध्यान रखिए और पढ़ते रहिये कामुक और मजेदार कहानियां![emailprotected]. जब वो मेरे बदन के साथ चिपक कर लगी हुई थी तो मेरे अंदर की हवस और ज्यादा जागने लगी थी.

”अंशु और मैं बैठ के शराब पीने लगे और उपिंदर ने मम्मी को बिस्तर पे दबोच लिया, उसके ऊपर लेट के होंठों को खूब चूसा। ब्रा उतार दी। चुचियाँ को तबियत से दबाया। फिर पेटीकोट और चड्डी भी उतार दी, अपने से चिपका के मम्मी के उभारों को मसलता रहा।अंशु ने मेरे पल्लू के अंदर हाथ डाला और मेरे उभार दबाए।ये क्या कर रही हो?”ये तो मेरा हक है. बस उसका इतना कहना ही था कि मैंने आव देखा न ताव लंड को गांड में एक ही झटके में पेबस्त कर दिया. मैंने पूछा- क्या तुम्हें यह सब करना अच्छा लगता है?बिन्दू कुछ नहीं बोली.

ठीक है अंकल जी मैं किसी सहेली से बात करूंगी इस बारे में!” मैंने अनिश्चितता से कहा.

इस घड़ी को दिल में संजो कर के तो मैं सदियों-सदियों नर्क की आग में ख़ुशी-ख़ुशी जल जाऊं. बाकी दिनों में तो जब मैं घर में जब थकी हुई आती थी तो पति ठुकाई कर देते थे और मेरी सारी थकान उतर जाती थी. मैंने किसी तरह उसे चोदने की कोशिश की लेकिन जब नहीं हो पाया तो हम वहां से निकल पड़े।बाहर निकलने के बाद अनिता ने बताया कि उसके घर वाले बाहर गये हुए हैं.

मैंने धीरे-धीरे करके दोनों उंगली पूरी की पूरी उसकी बुर में घुसा दीं और फिर दोनों उंगलियों को चौड़ी कर लिया और उसकी बुर में चलाने लगा. अब आशीष को क्या पता था कि मैं रियल में ही अपने जीजा का लंड चूसने में लगी हुई हूं. मुझे सिर्फ उल्टी होनी बाकी थी, पर अंकल ने मेरे सिर को कस कर पकड़ा हुआ था.

मैं उनके पास भी नहीं जा सकती थी, क्योंकि अभी वंश की पढ़ाई भी चल रही थी और मुझे पति का बिज़नेस भी देखना था.

आओ चलो रसोई चलते है, वो खाना खाते भी है, पीते भी हैं और …ये कहकर उसने बात अधूरी छोड़ दी और दो बियर केन उठाकर गांड मटकाते हुए रसोई की तरफ चल दी. मैंने भी मजा लेते हुए कहा- बस दोस्ती ही बढ़ानी है या और भी आगे जाना है?वो मुस्कराते हुए बोली- वो तो वक्त बताएगा.

बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली इस बीच हरकेश बाथरूम गया हुआ था और वहां से वापस आकर वह भी सुमन की चूत चाटने लगा. फ़िर दो दिन बाद हम वापस आ गए और मैंने विनीता को फ़ोन करके सब बताया, तो वो बहुत ज़ोर से हंसी.

बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली नहाने के बाद मैंने चाय नाश्ता किया उनके साथ और फिर मैं मोबाइल में गेम खेलने लगा और वो नहाने चली गई. मुझे उसकी इस अदा पर उस पर बड़ा प्यार आया और मैं उससे चिपक गया, जिससे मेरे लंड का रस हम दोनों के सीनों में रगड़ गया.

रमेश- क्या चाहिए कुत्ती खुलकर बोल? रमेश उसके बाल खींचते हुए बोला।रिया- लण्ड … आपका लण्ड मुझे मेरी गांड में चाहिए डैडी। मुझे अपने लंड का ईनाम दे दो डैडी।रमेश- भीख मांग लण्ड के लिए।रिया- प्लीज डैडी, मैं आपके लंड की भीख मांग रही हूं.

जलेबी की सेक्सी वीडियो

कुछ देर में मैं भी झड़ गया और सारा ने दिलिया की जीभ चूसनी शुरू कर दी जिससे उसकी चूत ने मेरे लण्ड को निचोड़ दिया. दस मिनट की लंड चुसाई के बाद मैं एकदम से कड़क हो गया और मैंने उनके मुँह में ही अपने लंड का सारा माल निकाल दिया. मुझे कल का ही मंजर दिखाई दे रहा था कि मैंने सुधा के साथ रूम में क्या कर रहा था.

प्लीज अगर आगे भी आप मेरी और उसकी चुदाई स्टोरीज पढ़ना चाहते हों, तो मुझे जरूर बताएं. तभी तेरा पति आया और मुझे पीछे से पकड़ कर पीछे से मेरे गालों को किस करने लगा. तत्काल वसुन्धरा की आँखें नशीली होने लगी और एक सिहरन की लहर वसुन्धरा के पूरे शरीर में से गुज़र गयी.

मैं मम्मे मसल रहा था, मुझे ये राधिका लग रही थी, इसलिए मैं एक पल के लिए रुक गया.

भाभी से कभी कभार थोड़ी बहुत बात हो जाती थी लेकिन भाभी के बारे में मेरे मन में कभी चोदने के विचार नहीं थे. उसकी टाईट पेंटी में क्या खूबसूरत गांड और फूली हुई चूत साफ़ दिख रही थी. ये कहते हुए उसने मेरे हाथ से मोबाइल ले लिया और उसे आगे की सीट पर मोबाइल चार्जिंग के लिए लगा कर रख दिया.

उनके चूचे वैसे ही 32 साइज़ के हैं और उन्होंने अन्दर ब्रा भी नहीं पहन रखी थी. दीपाली दर्द और कामुकता के वजह से ‘आऔऊउच स्स्स्स स्स्स्स आआह्ह्ह …’ करके शांत हो गयी. मेरे पास पहुंचते ही उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मुझे अपने आगोश में ले लिया.

वह बात करके तो आ गया मगर उसने आकर मुझे कुछ भी नहीं बताया कि आखिर डॉक्टर से उसकी क्या बात हुई. भाभी ने अन्दर ले जाकर मुझे पूरा नंगा कर दिया और शावर चला कर हम दोनों नहाने लगे.

तुषार की बात सुनकर मैंने कहा- ठीक है … मैं भी देखती हूँ कि तुममें भी कितना पावर है. फिर क्यों यार मैं यहां आया?मैंने 5 मिनट तक गर्लफ्रेंड को समझाया और उसे वापस विश्वास दिलाया कि मैं उसे कभी नहीं छोडूंगा, हमेशा साथ रहूंगा. छुट्टी होने पर मैं उससे मिली और उसे बताया कि मुझे आपके साथ आपके घर चलना है.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:पड़ोस की भाभी की गर्म चूत में मेरा लंड-2.

रिया- हा हा हा … कुछ भी बोलते हो डैड। सूसू साथ में करने में क्या मज़ा?रमेश- तू देख तो सही रंडी कि मैं क्या करता हूँ? मज़ा ना आए तो कहना!रिया- जो करना है जल्दी करो डैड. मैंने सोचा भाभी तो चुद कर थक गई हैं, इसलिए मैंने धीरे से भाभी के ऊपर हाथ फेरना चालू किया. तेरी गांड में जो खीर है वो मुझे तेरी गांड चुदाई का और ज्यादा मजा दे रही है.

दस मिनट की चुदाई के बाद भाभी मेरे ऊपर आ गई, चूत में लंड खुरस कर बोलीं- देख साले … कैसे चुदाई करते हैं … चूत कैसे चोदते हैं, तू देख भोसड़ी के. तब मैं उन्हें दीदी बुलाता था, मगर अब 5 साल बाद उनकी शादी पड़ोस के फ्लैट वाले भैया से हो गई है, इसलिए वे मेरी बहन कम भाभी बन गई हैं.

नितिन का लंड खड़ा होने के बाद कम से कम आधा घंटे के पहले वीर्य नहीं छोड़ता था, ये उसकी खासियत थी. उसने लंड का सुपारा फंसते ही मेरी चूत में अपने लंड को डालते हुए एक करारा धक्का दे मारा, जिससे उसका आधा लंड मेरी चूत में चला गया. ” और गिलास जांघों के बीच लगाया।नहीं अंशु मैं गिलास में नहीं … डायरेक्ट पिलाऊंगी। आ जा कामिनी!”और उसने अपनी पैंटी उतार दी।मैंने डॉक्टर आशा की चूत पे मुंह लगाया और वो धीरे धीरे मूतने लगी। मैंने पूरा पिया।अंशु तू भी इसकी प्यास बुझा दे!”नहीं आशा, मैं यहाँ से जाने से पहले इसे नहला दूंगी.

सेक्सी मूवी फिल्म चुदाई वाली

कुछ देर में उसने 69 की पोज़िशन बनाने को कहा और हम एक दूसरे को चूसने लगे.

अमित की गर्म सांसों मैं भी थोड़ी थोड़ी गर्माने लगी थी … और कसमसाने लगी थी. मैंने चैक करने का पक्का इरादा कर लिया और रात को सबको खाना खिला कर मैं और मेरी ननद सुमीना टीवी देखने लगी. उसके मम्मों के ऊपर बहुत ही छोटे छोटे लगभग न के बराबर गुलाबी निप्पल और उनके चारों ओर गुलाबी रंग का छोटा सा घेरा बना हुआ था.

बीस मिनट बाद मैंने उसकी चूत में ही रस छोड़ दिया और अपने कपड़े पहनने के बाद अपने घर वापस आ गया. मीता- ठीक है, पर आप क्या मदद करोगे?मैं- यदि तुम चाहो, तो मैं तुम दोनों के लिए एकांत की व्यवस्था कर सकता हूं. जंगल की सेक्सी बीएफ हिंदीवो मेरे एकदम पास आकर झाड़ू लगा रही थी और स्तनों के दर्शन करवा रही थी.

वो वन पीस सिल्की नाइटी पहन कर आई थी, जो सामने से खुली रहती है और एक तरह से सुविधाजनक ही रहती है. उसे नहीं पता था कि मैंने कामवर्धक गोली खा रखी है और मेरा लंड दो घण्टे तक नहीं बैठेगा.

नाड़ा खोलकर सलवार को कमर से थोड़ा नीचे करके उसकी नाभि पर अपने होंठ फिराने लगा। मेरी इस हरकत पर सिसयाते हुए वो बोली- मैंने कहा था न कि मेरे से दोस्ती करेगा तो तुझे ज्यादा मजा आयेगा और तू है जो किताब पढ़कर अपने लौड़े को मरोड़ रहा था!मेरे मन में अब तक की जो शुभ्रा थी, वो कहीं खो चुकी थी. उनका एक हाथ मेरे छाती पर था और वह मेरे स्तन मसल रहे थे, दूसरा हाथ मेरी चुत पर रख कर मेरी चुत के दाने को छेड़ रहे थे. वो अपनी 2 उंगलियां भी मेरी मेरी चुत में कर रहा था, जिससे मुझे बहुत ही ज्यादा मदहोशी छाने लगी थी.

वो हंसते हुए मुझे धक्का देकर अलग करते हुए बोली- तूने मेरे दूध दबाने की अपनी इच्छा पूरी कर ही ली. मैं- ठीक है भाई हंस ले … जिस दिन उसके साथ सेक्स करूँगा, तब मैं हसूंगा. रात के 10-11 बजे के करीब मुझे नींद आने ही लगी थी कि जीजा जी मेरे बिस्तर आकर मेरे ऊपर लेटते हुए मुझे अपनी बांहों में भरने लगे.

दो घंटे बाद चाची उठ कर बोलीं- आज से मैं तेरी हो गई हूँ, जब भी तेरा चोदने का मन हो, मुझे चोद लेना.

मैं मम्मी मौसी के पास बैठकर बात करने लगा, वो कमरे में अपने कपड़े रख रही थी. मगर चाची के चूचों को चूसते ही वो मुझे चोदना शुरू कर देती थी और मैं उनकी चूत के रसपान से वंचित रह जाता था.

जब मैं छत पे गया और लाइट फेंक कर मारी, तो देखा की वहां तो दीदी कम भाभी, मेरा मतलब चाँदनी भाभी खड़ी थीं. मैंने इंदौर से ही अपने लिए जीन्स टी-शर्ट, चुस्त टॉप, बिकनी वाले शॉर्ट्स ले कर आई थी. इस बार उसे दर्द नहीं हो रहा था तो दोनों एक इस चुदाई का भरपूर मजा लिया.

चांदनी भाभी- अरे विपुल कैसे हो … कब आए?मैं- मैं ठीक हूँ … मैं आज ही आया. हम लगातार किस किये जा रहे थे, तभी मैंने हल्का सा धक्का उसकी चुत पे लगा दिया. मैंने घुटने मोड़े … और उनके पैरों पर मुँह के बल लेट गया, जिससे कि मेरा पेट उनके घुटनों पर आ जाए.

बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली फिर वो ये कह कर किचन में चली गई। थोड़ी देर बाद वह खाना लेकर आई और हम दोनों ने साथ में भोजन किया. दोपहर के बाद जब मैं स्कूल से घर वापस आया तो वह मेरे घर पर बैठी हुई थी.

मुसलमान सेक्सी वीडियो मुसलमान सेक्सी

कहानी के पिछले भागदो जवान बेटियों की मम्मी की अन्तर्वासनामें आपने पढ़ा कि मेरे घर के पास रहने वाली भाभी अपनी जोरदार चुदाई के बाद मुझे अपनी पहली चुदाई की कहानी बता रही थी. उसने मेरी एक ना सुनते अपना लंड मेरी गांड में लगा दिया और डालने की कोशिश करने लगा. मैंने भी सवाल किया- सिर्फ बोली अच्छी लगती है? मैं नहीं लगता?तब उसने भी कह दिया- अगर अच्छे न लगते तो हाथ पकड़कर क्यों बिठाती?फिर हमरी प्यार की कहानी शुरू हो गयी.

मेरे साथ लिपटी वसुन्धरा ज़ार-ज़ार रोये जा रही थी और मैं कर्तव्यविमूढ़ सा उसके सर और पीठ को सहलाये जा रहा था. दोस्तो, आपको मेरी भाभी की चुत की सेक्स कहानी पसंद आई या नहीं, प्लीज़ कमेंट जरूर कीजिए. ब्लू नंगी सेक्समैं सीधा लेट गया और पूनम ने मेरे सोये हुए लंड को अपने मुंह में भर कर फिर से चूसना शुरू कर दिया.

उसके तने हुए मम्मों को देख कर मेरे दिल की धड़कनें अचानक बहुत ज्यादा बढ़ने लगीं.

एक दो मिनट तक उसके चूचों को अपने मुंह में भर कर उनका आनंद रस लेता रहा. डॉक्टर- तुम्हारी मम्मी बता रही थी कि तुम अभी से सेक्स करने लगी हो, क्या तुम्हें यह करना बहुत अच्छा लगता है?मैं- जी, बहुत दिल करता है.

भाभी के मुंह से यह बात सुनकर मेरा लंड तो वहीं पर टाइट होने लगा और कुछ ही पल में मेरी पैंट में तन कर एक तरफ निकल आया. उसने भी लंड को हाथ से पकड़ लिया और मुँह में भरने की कोशिश करने लगी. थोड़ी देर बाद रेखा मेरे ऊपर से उतर गयी और फिर दोनों लोग हाफ करवट लेकर एक दूसरे से चिपककर सो गए.

मैं समझ गया कि मौसी खुद से कुछ नहीं करने वाली हैं, मुझे ही पहल करनी पड़ेगी.

मैंने अमीषी को पूछा- तुम्हारे भाई का छोटा है, पर आज मेरा कैसा लगा?वो बोली- सही कहूँ, मुझको तुमसे कोई प्यार नहीं, बस मुझको अपनी वो आग बुझवानी थी, जो मेरे भाई ने पिछले 3 साल से मेरी चूत में लगा रखी थी. जब मेरा लंड अच्छे से दोनों के मिले हुए माल से गीला हो चुका था, तो वो मेरे ऊपर से उतर गईमेरे मुरझाये हुए लंड के तरफ देखते हुए नम्रता बोली- अब इसका फड़कना बंद हो चुका है. ऐसा इस लिए भी समझ लीजिए क्योंकि मैं उसकी पढ़ाई में उसका पूरा साथ देता हूं.

क्सक्सक्स भाभी वीडियोजब उसकी चुत का पानी खलास हो गया तो उसने मुझे ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों पर होंठ रख कर अपनी चुत का पानी चाटने लगी. आशीष बोला- वाह बंध्या, तुम तो ऐसे कर रही हो जैसे रियल में ही लंड चूस रही हो.

सनी लियोन एचडी सेक्सी पिक्चर

मैंने धीरे-धीरे अपनी कमर चला कर शलाका को दोबारा चोदना शुरू कर दिया. कुछ ही देर में उनका लंड खड़ा होकर टाईट हो गया, वो झट से मेरे ऊपर आ गए और लंड को मेरी चूत के अन्दर पेल दिया और फिर धक्के मारने लगे. क्योंकि बाहर के देशों में इससे भी कम उम्र की लड़कियां लंड का मजा ले चुकी होती हैं.

मैं सच में चिल्लाए जा रही थी और आशीष समझ रहा था कि मैं फोन पर रोने की एक्टिंग कर रही हूं. मेरे होंठ चूसते हुए, मेरी चूत में उंगली करते हुए उसका दूसरा हाथ मेरे बूब्स को मसल रहा था. आपके मजे की अगली किश्त के साथ में एक बार फिर से आप लोगों के बीच में हूं.

काफी देर तक हम दोनों के बीच यही चलता रहा, इस बीच मैं झड़ चुकी थी, लेकिन मैं राजेश का साथ दिए जा रही थी और फिर अन्त में, राजेश मेरी चूत के अन्दर झड़ गए. मैंने उसे रूम पर ही थोड़ी देर चलाया जब उसकी चाल थोड़ा ठीक हुई, तो मैंने उससे कहा- सरिता अगर मम्मी ने पूछ लिया लंगड़ा क्यों रही है, तो बात देना आज गली में फिसल गई थी, पर ये चुदाई की की बात बिल्कुल भी मत बताना. उसकी चूत ने जल्दी ही मेरे लंड को पूर्ण रूप से आत्मसात कर लिया और अब मेरा लंड बड़े आराम से सरपट अन्दर बाहर होने लगा था.

मैंने गोद में उठाये हुए ही उसको होंठों पर हल्का सा चुम्बन किया। उसने भी आँख बंद करके मेरा वेलकम किया। फिर बाथरूम में जाकर हम साथ में नहाये. वो मेरा सर अपनी चूत पे दबा रही थी और साथ साथ अपनी गांड को भी मेरी जीभ के साथ साथ हिला रही थी, साथ में वो बड़बड़ा रही थी- अर्पित … यू आर सो गुड … मैं मर जाऊंगी … मुझे कुछ हो रहा है.

मैं उनके पीछे पीछे … वो आगे आगे … भागते भागते कभी रूम में, कभी हॉल में … फाइनली भाभी अपने रूम का दरवाजा बन्द ही कर रही थीं कि मैंने उन्हें धकेल कर पकड़ लिया.

मूत्र विसर्जन के बाद वो किचन में गया और वहाँ से दूध की मलाई ले के आया. बीएफ सेक्सी सनी लियोन कीमैंने निहारिका से पूछा- तुम भिवानी कब आओगी?उसने कहा- जानू, मेरा बस चले तो अभी आ जाऊं. वीडियो नंगी वीडियो नंगी वीडियोकोई कमी नहीं रहने दूंगा। अपनी रंडी की हर ख्वाइश पूरी करेंगे। तेरी गाँड ने पहले से ही लण्ड को जकड़ रखा है, जैसे उसे अंदर खींच रही है. हां बीच-बीच में एक-दूसरे के जिस्म में समाने जाने का मौका मिल जाता था.

कार में वसुन्धरा ने मुझसे कोई बात नहीं की अपितु सारे रास्ते वसुन्धरा अधमुंदी आँखों के साथ मंद-मंद मुस्कुराती रही, शायद उन लम्हों को मन ही मन दोहरा रही थी.

लेकिन खाते समय मैंने नोटिस किया कि वो आज रोटी देने के लिए कुछ ज़्यादा ही झुक रही है. आओ चलो रसोई चलते है, वो खाना खाते भी है, पीते भी हैं और …ये कहकर उसने बात अधूरी छोड़ दी और दो बियर केन उठाकर गांड मटकाते हुए रसोई की तरफ चल दी. चाची इतनी जोर से और मजा लेकर लंड को चूस रही थी कि मैं पांच मिनट भी उनके सामने टिक नहीं पाया.

वो मेरे चेहरे को देख कर हंसने लगी और बोली- मेरे चोदू भैया, तुझ पर तो मेरी नजर तब से थी जब तेरा ये लौड़ा खड़ा होना शुरू ही हुआ था. वो मुझे कहने लगी- पापा, आप यह क्या कर रहे हैं?मैंने कहा- वही जो एक मर्द और औरत आपस में करते हैं. मैंने अब तक कभी भी सेक्स नहीं किया था लेकिन हस्तमैथुन जरूर कर लेता था.

वीडियो में सेक्सी वीडियो चाहिए

तुम साहित्यकार हो, इसलिए थोड़े अलग अंदाज में बात कह दी थी कि प्रतिभा निशा के संग आएगी. मेरी चूचियों पर लगे अपने वीर्य से मेरे मम्मों की अच्छे से मालिश करके मेरी गांड पे हाथ मार कर संतोष जी बोले- चूत के बाल छोटे छोटे कर लेना, एकदम साफ मत करना. मैंने मौसी की तरफ देखते हुए और अपना मुँह बनाते हुए कहा- मेरा नहीं हुआ अभी तक.

जब बाल कैंची से कटना बंद हो गए, तब मैंने उसकी चूत को रूई से पैक किया और रिमूवर को अच्छे तरह से लगाकर कुर्सी को एक किनारे हटा कर नम्रता को घुमा कर उसके कूल्हे को चितोरने लगा.

मैंने उसकी चूत में अपना लंड पूरा धकेल दिया और उसके ऊपर लेट कर उसके होंठों को पीने लगा.

वसुन्धरा का अपने माँ-बाप से इतर रहना, उसके व्यक्तित्व में समायी तमाम बत्तमीज़ी, दबंगई, ख़ुद-पसंदगी और उसके तनहाई-पसंद होने का और मेरे प्रति अनबूझे अनुराग़ का और अभी तक अविवाहित होने का कारण उसके पिता जी का उसकी मुझसे शादी के ख़िलाफ़ लिया गया एक फ़ैसला ही था. कुछ दिनों बाद मेरा रिजल्ट आया और अब मैं स्कूल की अंतिम क्लास में आ गया था. बी ए पास सेक्सी मूवीये बात उसने मुझे खुद बताई थी कि उसका गुजरात में 4 लड़कों के साथ चक्कर था जिन्होंने उसे खूब चोदा था.

मैंने अपना हाथ मौसी के ब्लाउज में डाल कर उनके चूची को मुट्ठी में भर लिया और उससे खेलने लगा, कभी चूची को दबा देता तो कभी मसल देता और बीच बीच में निप्पल को भी मसल देता. जी भर के कूल्हे को मसलने के बाद मैंने उसके कूल्हों को फैलाया, तो उसकी काली-भूरी गांड का छेद खुलकर सामने आ गया. सीमा और नील की चुदाई की कामुक स्टोरी ने वाकई मेरा लिंग कड़ा कर दिया था.

मैंने तेजी से उंगली चलाते हुए अपनी चूत को रगड़ डाला और मेरी चूत से पानी निकल गया. मैंने कहा- अगर आप सभी को ठीक लगे तो इस राउंड में सभी लड़कियों की गांड में लंड डाले जाएँ?मुस्कान बोली- नहीं यार, दर्द होगा और मज़ा भी नहीं आयेगा.

ऊपर से तुम्हारा वो लम्बा तगड़ा हथियार, जो किसी तलवार से कम से नहीं है.

ये सेक्स कहानी आपको रोमांचित कर रही है या नहीं … आप अपनी राय इस पते पर दे सकते हैं. भाभी ने कुछ ही मिनटों में मेरे लंड का वीर्य अपने मुंह में निकलवा दिया. मुझे कुछ समझ नहीं आया, तो मैंने उसकी कमर में हाथ डाल कर उसे अपने पास खींचा और उसकी सलवार में हाथ डाल कर उसकी गीली चुत को मसलते हुए सहलाने लगा.

देसी चूत चुदाई का वीडियो मेरा लौड़ा पूरी तरह से शीना की गांड के अन्दर घुस गया था और आगे पीछे हो रहा था. फिर कुछ दिन बाद निहारिका की शादी भिवानी के पास किसी गाँव में हो गई थी.

मेरे चुत पर घुंघराले बाल थे, मैंने सहेलियों से सुना था कि वो सब वहां पर उगे हुए बाल साफ़ करती हैं, पर मैंने कभी प्रयास नहीं किया था. मैंने अब लंड पर उछलना चालू किया … भैया मेरी गांड को पकड़ कर ऊपर नीचे करने में लग गए. फिर लंड को उसकी गांड में घुसा कर उस की जोरदार चुदाई चालू कर दी।सुमन की आंखें मुझे ही देखे जा रही थी और मैं भी सुमन को ही देख रहा था.

एशिया की सेक्सी पिक्चर

इसके बाद उस दिन मैंने रश्मि को दो बार और चोदा … और उसको बार बार अपनी रखैल रंडी बोलने लगा … कभी कुतिया कहता, कभी कुछ. मैंने भी मजाक करते हुए कहा कि दिखने में तो पहले जितने ही बड़े दिखते हैं, लेकिन दबा कर देखने से सही मालूम चलेगा. अब तक उसके दोनों हाथ में पाना पकड़ा हुआ था अब उसने एक हाथ का पाना रख दिया और मेरी कमर पर ले आया और धीरे-धीरे कमर और मेरे नंगे हिप्स पर घुमाने लगा.

वो बहुत जोर जोर से मेरे चुचे दबा रहा था मुझे दर्द भी हो रहा था और मजा भी आ रहा था. या यूं भी कह सकते हैं कि अपनी अपनी बीवियों की चूत खोलने की चाबी किसी और को दी।सब निकल गए और केवल नील और मैं ही आखिर में हमारा नया खेल खेलने के लिए बाकी रह गए।सबके जाने के बाद… (नील और राजवीर का संवाद)राज- नील! तुम्हें बुरा तो नहीं लगा कि अदला बदली के लिए तुम्हें कोई नया साथी नहीं मिला?नील- नहीं राजवीर। मैं इस याराना में हूं यही बड़ी बात है। वैसे भी आज नहीं तो कल, हम सब एक साथ मिल ही लेंगे.

शायद वह अपने शरीर पर बॉडी लोशन लगा रही थी। मेरे अंदर आने की आहट को उसने समझा कि मैं राजवीर हूं.

वो किसी तरह मुझे छुपते-छुपाते अपने घर तक ले गई और जाते ही मैंने पहले खुद से ही गेट लाक करके अपने जूते और मोजे उतार कर अलग साइड में रख दिये. थोड़ी देर तक टीवी देखते रहने के बाद, नम्रता अपनी बुर पर हाथ फेरते हुए बोली- शरद, अपने कपड़े उतारकर पीठ के बल लेट जाओ, तुम्हारी गांड में कुप्पी डालकर मुझे मूतना है. मुझे वो मैगजीन दिखाते हुए बोली- तू ये सब गंदी किताबें कब से पढ़ रहा है?मैं- बहुत दिन हो गये.

साथ साथ लौड़े को पुचकारती भी जाती थी- हाय मेरे सण्ड मुसण्ड … कितना सख्त है तू … अब लूट अपनी मालकिन की चुसाई का मज़ा. मुझे तो उसकी चूत की आदत पड़ गयी थी, इसलिए उसकी शादी के बाद उसके बिना मुझसे रहा नहीं गया. मैं अनजान बनते हुए बोली- कब और क्यों?दीदी बोली- इसलिए तो पूछ रही हूं ना कि तुम दोनों का सेक्स रिलेशन कैसा है.

मेरी चूचियों को पीने के बाद वो मेरी चूची को बहुत जोर से दबा रहे थे.

बीएफ ब्लू पिक्चर देखने वाली: मुझे यह बाद में रानी ने बताया कि चुदाई के बाद अक्सर लड़कियों को सुस्सू आने लगती है. जीजा जी मेरे साथ ही लेटे हुए थे और देखते ही देखते उनके लंड में जो थोड़ी बहुत कसावट थी वो भी चली गई.

अब मेरा मन बेकाबू हो चुका था, मैं पलंग से नीचे उतरकर उसके पास पहुंचा और उसके कूल्हे को कसकस कर मसलने लगा. जीजा जी की जीभ मेरी चूत की खुदाई करने में लगी हुई थी और कुछ ही देर के बाद मेरी चूत से कामरस का फव्वारा फूट पड़ा. चलिये इस कहानी का मजा लीजिये, सोनल के ही शब्दों में।दोस्तो, मैं सोनल पात्रा हूं और मैं 28 साल की सेक्सी औरत हूं.

अगले हफ्ते रक्षाबंधन है और मुझे अहमदाबाद जाना है, पर तुमको तो कुछ पता ही नहीं है.

वे कभी मेरी घुमटी को अपने दांतों के बीच लेकर काटते, उसके बाद अपनी उंगलियों के बीच मेरी घुमटी को फंसाकर उस पर अंगूठे के नाखून से खरोंच करने लगते. ”अंकल के कहने के मुताबिक मैं पेट के बल लेट गयी, अंकल भी मेरे पास बैठ गए. मैं भी उसको चोदने लगा, लेकिन यह क्या, फिर वही कहानी, 10-12 धक्के के बाद वो अलग हुई और जमीन पर नागिन की भाँति लेटकर रेंगने लगी और अपनी जीभ को छत पर भर चुके पानी पर चलाने लगी.