xxx.com सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,आदिवासी संभोग

तस्वीर का शीर्षक ,

সেক্সি বিপি ভিডিও: xxx.com सेक्सी बीएफ, मैंने अपनी स्पीड और चाची ने अपनी बढ़ा दी और थप थप थप की आवाज़ तेज हो गई.

सेक्स ब्लू फिल्म सेक्स फिल्म

वो बोली- बेबी, बिना कंडोम से चोदो … मैंने बहुत दिनों से लंड नहीं लिया है. अमरीकन सेक्सी बीएफवो मुझे तड़पना चाहते थे इसलिए रुक गए और बोले- थोड़ा रुकूँ या ठुकाई चालू कर दूँ?मैंने भी मजाक करते हुए कहा- मुझे क्या मतलब … जिन्न नाराज हो जाएगा, जल्दी से उसकी ठुकाई चालू कर दीजिये.

कहानी के पहले भागगाँव में मिली दो सेक्सी भाभीमें आपने पढ़ा कि गाँव में शादी थी, मैं वहां गया हुआ था. सेक्स सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्सीउसी समय मैंने फिर से एक हल्की सी सीत्कार सुनी ‘आह …’उसके मुँह से ही ये आवाज निकली थी.

उसने मेरी अंडरवियर के अन्दर हाथ डालकर मेरे लंड को बाहर निकाला और उसको हिलाने लगी.xxx.com सेक्सी बीएफ: ऐसे बैठे बैठे पार्क में कुछ लड़कियों को, भाभियों को, आंटियों को देख कर आंखें सेंकने लगा.

मैं भी पूरी ताकत से झटके दे दे कर चुदाई करवा रही थी पर मुझे कहीं न कहीं यह डर था कि अमन मुझे बिना कंडोम के चोद रहा था.मुझे तेज दर्द हुआ पर अब्दुल ने अपनी उँगलियाँ मेरी गांड से निकाल कर उधर अपना लंड फंसा दिया.

ಕನ್ನಡ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಆಂಟಿ - xxx.com सेक्सी बीएफ

मैं अपनी पढ़ाई के चलते शहर में रहने लगा था और वो गांव में ही रह रही थी.शायद कुछ लोगों को नजर मेरे तम्बू पर पड़ गई थी इसीलिए वो सब मुझ पर हंस रहे थे.

किसी जवान लड़की के मस्त मम्मों का दूध पीने का अपना सपना भी साकार किया. xxx.com सेक्सी बीएफ अगले दिन सुबह आपा मेरे सामने आई तो मैं शर्म के मारे उनसे नजरें नहीं मिला पा रही थी.

कुछ देर बाद मैंने सामने रखी टेबल पर बुआ को उल्टा लिटा दिया और उनकी गांड में लंड घुसा कर चोदने लगा.

xxx.com सेक्सी बीएफ?

इस समय तक दीदी की हालत बहुत बुरी हो गयी थी, बस वो किसी लंड को अपनी चूत में घुसवाना चाहती थी. चुदाई की गति बढ़ने के साथ मिष्टी ‘हू … हू …’ की आवाजें निकाल रही थी. वो तो सारा दिन लड़ता रहता है और जब अन्दर करता भी है, तो पांच मिनट में झड़ कर सो जाता है.

दोस्तो, दरअसल एक बात मैंने आपसे नहीं बताई, वो ये थी कि माधुरी का जो अफेयर चल रहा था उस गांव वाले के साथ, उससे उसका झगड़ा हो गया था. मेरे दिल पर जादू कर दिया है तुमने!उस वक्त 3 ही बजे थे और मैं मन ही मन घबरा रही थी कि पता नहीं आज मेरे साथ क्या क्या होने वाला है. हम लोग देर रात तक बातें करते और एक दूसरे को छूने और गुदगुदी करने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे.

मैंने उसका हाथ पकड़ कर रोका और कान पकड़ कर सॉरी बोल कर उठक बैठक करने लगा. ऐसे ही करीब पांच मिनट तक मैं उसकी चूचियां चूसते चूसते उसको अपने लंड पर कुदवाता रहा. मैंने उसकी शंख जैसी चूचियों को पीने लगा था और वो अपनी गांड मेरे लंड पर घिसने लगी थी.

तब ख्याल आया कि मैं उससे मिलने के चक्कर में बिना कुछ खाए हुए ही चला था और अब तेज भूख लग रही थी. उस समय मेरे घर वाले शादी में कुछ 14-15 दिनों के लिए गांव जाने वाले थे.

मैंने डरते हुए धीरे धीरे उसकी चूत की तरफ हाथ बढ़ाया और उसके लोवर में अन्दर हाथ डाल दिया.

अब मेरा लंड फनफनाता हुआ चूत में अन्दर बुआ की बच्चेदानी तक जाने लगा था.

चाचाजी के साथ जैसे कमरे में घुसा तो पाया कि शबाना और भाभी जी एक केक को काटने की तैयारी कर रही थीं. मेरे लंड का सारा माल मम्मी की साड़ी पर ही गिर गया था और मैं शांत हो गया था. और ज़ोर से चोद आआह हहमम आहह हहम उई माँ … क्या चुदाई करता है तेरा लंड … मुझे बहुत मज़ा आ रहा है और ज़ोर से चोद.

मेरी एक आदत है कि मैं छुट्टी के पहले दिन की शाम और अगले दिन जब मेरी छुट्टी रहती है, तब दोपहर को ड्रिंक जरूर करता हूं. उसने मेरी अंडरवियर के अन्दर हाथ डालकर मेरे लंड को बाहर निकाला और उसको हिलाने लगी. फिर मैं नाइटी के ऊपर से अपने दोनों हाथों से उनकी कमर की गलियां नापने लगा.

मैं उनकी बात से हल्का सा खुश हो गया था कि मम्मी पूरा प्यार करने वाली बात से नाराज नहीं हुई थीं.

मुझे यहां एक महीने के लिए रखा गया था और अभी तो तीन चार दिन ही हुए थे. मेरे हाथों और पैरों पर लाल रंग से डिज़ाइन बनाए गए, खूबसूरत तरीके से मेरे बालों को संवारा गया. मैंने उससे कहा- नहीं ऐसा मत करो, तुम जो भी बोलोगी मैं करूंगा, पर ऐसा मत करो.

मुझको चुदाई करते करते अभी कुछ मिनट ही हुए थे कि भाभी की चूत का पानी निकल गया और उनकी फुद्दी बहने लगी. जलालुद्दीन साहब बोले- हाँ जान, आज की चुदाई तुम सारी जिंदगी नहीं भूलोगी. भाभी से मेरी दोस्ती कैसे हुई? वो कैसे चुदी?दोस्तो, मैं एक 21 साल का लड़का हूँ.

मैं आकर बिस्तर पर लेट गया और कुछ देर बाद भाभी मेरे और अपने बेटे के लिए दो गिलास दूध लेकर आ गईं.

मगर यह बात जरूर है कि हमने आज तक अपनी लिमिट्स कभी क्रॉस नहीं की थी. दूसरा हिजड़ा एक हाथ से मेरी जांघों को मसलते मसलते दूसरे हाथ से मेरी गुच्छी (जो अब भोसड़ा बन चुकी है) पर हल्के हल्के थप्पड़ मारने लगा.

xxx.com सेक्सी बीएफ छेद पर लंड सैट होते ही मैंने हल्का सा ज़ोर लगाया मगर उसका छेद बहुत छोटा सा था. उसकी चूत लगातार बह रही थी और लंड के अन्दर बाहर होने से फच फच की आवाज आने लगी थी.

xxx.com सेक्सी बीएफ हॉट माँ Xxx कहानी मेरी मौसी जो मेरी मम्मी बन चुकी थी, उनकी और उनकी बेटी की चूत चुदाई की है. मैं और Xxx स्टेप मॉम एक साथ लेटे हुए बिल्कुल पति पत्नी की तरह लग रहे थे.

समीर मेरा दर्द कम होने तक वैसे ही चूत में लंड डाले रुका रहा और मुझे किस करता रहा.

सिंपल लड़की का फोटो

ये सुनकर हम सब लड़कियां हंस दीं क्यूंकि हम सब जानते थे कि आज इनकी कैसी सैर होने वाली थी. इसी डर से मैं ऑफिस के बाहर आया, तो सामने से उसी वक़्त माधुरी भी झाड़ू लगाने बाहर निकली. आपको ये सेक्सी सिस्टर की सेक्स कहानी कैसी लगी, ये आप मेल करके बता सकते हैं.

चूत चूसते हुए मैं कोमल की चूत के अन्दर एक उंगली को भी चलाने लगा था. उसकी गर्म सांसें मेरी सांसों को भड़काने लगी थीं और मेरी गर्म सांसें उसके चेहरे पर पड़ने लगी थीं. बातों बातों में मैं आपको आंटी के फ़िगर के बारे में बताना ही भूल गया.

मेरे ऊपर तो पहले से उत्तेजना सवार थी, तो मैं धीरे से अपना हाथ ले जाके उसकी जांघ पर रख के सहलाने लगा.

जैसे ही पुलकित मेरे पास आया तो मैंने उसे पकड़कर किस करना शुरू कर दिया. मेरी पूरी उंगली गीली हो चुकी थी और चूत अन्दर से बहुत गर्म हो रही थी. मैं बोली- सालों रंडी की औलादों, ऐसे भी कोई चोदता है क्या? अब मेरे बॉयफ्रैंड को क्या मुंह दिखाऊँगी?अभी मैं उठ ही रही थी कि अब्दुल ने मुझे गर्दन पकड़ कर दबा दिया और घोड़ी बना दिया.

मगर उधर कोई नहीं था जो कोई भी आया था, वो मेरे देर से आने से बाहर से ही वापस चला गया था. कुछ मिनट चूत को उंगली से चोदने के बाद मैं फिर से कोमल के दोनों चूचों पर आ गया. चूत पर बहुत हल्के हल्के से सुनहले बालों के सिर्फ रोंए से थे, जो कि अभी काले भी नहीं हुए थे.

मैंने उसकी आंखों में आंखें डाल कर देखा तो माधुरी अपनी कातिल नजरों से अपने होंठ अपने दातों तले दबाए हुए थी और मुझे आंख मारती हुई इशारे करने लगी थी. मैं- कोमल आप मुझ पर कम से कम टैक्सी वाले से ज्यादा बिलीव कर सकती हैं.

फिर मैंने सोचा कुछ देर मैं मॉम के साथ लेट कर उनके जिस्म के मज़े ले लेता हूँ. फिर मैंने दरवाजा बंद किया और उसको अपनी बांहों में उठा कर अपने रूम में ले गया. मालिश के बाद मैं बेड से खड़ा हुआ और चाची को बेड पर ही कुतिया बना दिया.

इससे मेरी थोड़ी हिम्मत बढ़ गई और मैं बहाने से कभी उनकी गोल-मटोल गांड पर अपना हाथ टच कर देता.

मैं- रचना, मेरा मन कर रहा है कि तुम्हें पूरी नंगी कर दूँ, मेरा तुम्हारी नंगी जवानी देखने का मन है. मैंने महसूस किया कि मोहित मुझे बहुत देर से चोद रहा था और ये अभी तक झड़ा भी नहीं था और थका भी नहीं था. पर दिक्कत ये थी कि सैट किसे और कैसे करूं?पूरे कॉलेज में हर लड़की किसी न किसी के साथ भिड़ी हुई थी.

दोनों एक-दूसरे को चूमने लगे और थोड़ी देर में मैं कपड़े पहनकर उनके साथ नीचे आ गया. कई बार खाना बनाने के वक्त वो अपनी साड़ी पेट के नीचे दबा लेती हैं और उस वक्त उनकी नाभि साफ झलकती है.

दोस्तो, जितना मज़ा मुझे गांड चोदने में आता है, मेरी चाची को उससे ज्यादा आता है. X भाभी की हिंदी कहानी मेरे ऑफिस के सामने एक बुटीक चलने वाली बेहद खूबसूरत सेक्सी बिल्कुल कामदेवी जैसी भाभी की है. उस वक़्त आंटी मेरे लिए बिल्कुल रसमलाई का 65 किलो का थाल जैसी थीं जिसे मुझे अकेले ही खाकर खत्म करना था.

जबरदस्त सेक्सी बीएफ

मगर एक बात बता, लड़कियों को गांड मराने में डर क्यों लगता है?मैंने उसके दूध दबाते हुए कहा- साली, तेरी गांड भी तो फट रही थी.

थोड़ी देर सोचने के बाद बुआ बोलीं- मेरी जान, आज अपनी बबली को बिना कंडोम के चोद दे. उसकी तरफ से साफ़ साफ़ चुदाई का निमन्त्रण पाते ही मेरा तो दिल बाग़ बाग़ हो गया, जो बात मैं कहना चाहता था, वो उसने ही कह दिया. भाभी के गहरी नींद में सोते ही मैंने अपना हाथ भाभी की कमर पर रख दिया.

अब मुझे आश्चर्य हुआ कि पीछे से रंजीत ने वंदना की स्कर्ट में अपना हाथ डाला और वह उसके चूतड़ मसलने लगा।अब वंदना सेक्सी महसूस कर रही थी और वह अपने हाथ से रंजीत के लंड को उसकी पैंट पर सहला रही थी. फिर बुआ बोलने लगीं- राज, मेरी सहेली ने मुझसे बच्चों को संभालने के बदले तुमसे चुदवाने की शर्त रखी है. बीएफ खूबसूरतअब उसको मज़ा आने लगा और वो भी चूतड़ों उठा उठा कर पूरे ज़ोर से चुद रही थी.

मुझे चुदाई में ज्यादा अच्छा लगा जब आलिम ने चार दिन बाद मुझे दोबारा चोदा. बाहर बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही थी और मेरे मन के अन्दर सेक्स का सूखापन मुझे आंटी के इस रूप पर मोहित किए जा रहा था.

माधुरी ने कहा- चलो अब और बताओ कि क्या क्या सोचते हो मेरे बारे में? मैं तुम्हें कैसी लगती हूँ?उसकी ये बात सुनकर मेरे दिमाग में हलचल मच गई कि इसका मतलब ये हुआ कि माधुरी को भी मेरे मुँह से अपनी तारीफ़ सुनने का मन है या वो भी मेरी उस सोच से खुश थी जिसमें मैंने उसे चोदने की बात कही थी. निशा ने मेरी बात सुनकर मुझसे नजरें हटा दीं और वो उन दोनों को देखने लगी. रिया ने अकड़ कर कहा- मादरचोदो, तुमसे लेटने को कहा था न … तो अब क्या तुम सबकी बहन यहां आकर लेटेगी … यहां क्या अपनी बहन चुदाने आए हो?सब लड़कों को ये लग रहा था जैसे रिया ये सब गुस्से में बोल रही थी.

मेरी नजरें अपनी मामी और दोस्त की चाची के चूचों से हट ही नहीं रही थीं. काफी बड़े बड़े चूचे थे और बहुत मुलायम भी निप्पल को चूसते ही रहा था।उनकी सिसकारियां काफी बढ़ गई थीं- आहह … आहह … उमम … उइई ईईई. अब हमें जब भी सेक्स की इच्छा होती है, तो सही मौका देखकर सेक्स कर लेते हैं.

फिर एक दिन घर पर मेरी चाची की बहन का लड़का आया जो चाची की बहन के रिश्ते के चलते मेरे मौसेरे भाई थे.

उसके बाद वो मुझसे और खुल कर बात करने लगी और उस दिन के बाद हम दोनों में सेक्स की बातें होने लगीं. इसी डर से मैं ऑफिस के बाहर आया, तो सामने से उसी वक़्त माधुरी भी झाड़ू लगाने बाहर निकली.

गरिमा बोली- तो छोड़ उसे … तुझे तो बहुत मिल जाएंगी, तू है ही इतना हैंडसम!मैं हंसने लगा और वो भी!फिर उसने बताया- यार मेरा ब्वॉयफ्रेंड आ रहा है. उसकी चूचियां ऐसे ऊपर नीचे हो रही थीं मानो कोई सिपाही जंग में खड़ा ललकार रहा हो. मेरी नज़र नीचे गयी तो मैंने देखा कि उसके पेट का वो हिस्सा जो कमर के नीचे होता है, मुझे दिखने लगा.

मैंने उसकी चूत में पहले एक उंगली डाली और बहुत देर ऐसे ही अंदर बाहर करने लगा. तो मैंने कहा- मुझे क्या पता था कि तुम इतनी बड़ी रंडी निकलोगी और एक ही दिन में पट जाओगी. मम्मी की चुदाई के बाद मैं उनके ऊपर ही लेट गया और उन्हें किस करने लगा.

xxx.com सेक्सी बीएफ मेरी छोटी चाची मुझसे सात साल बड़ी हैं यानि कि अभी मेरी उम्र 25 है और उनकी 32 साल है. वो चिल्लाने लगीं- निकाल ले … आंह फट गई मेरी … आंह … बर्दाश्त नहीं हो रहा है मुझसे … आह मेरी लेट्रिन निकल ज़ाएगी.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ

फिर सीधा मैं शाम को ऑफिस में रिपोर्टिंग करने जैसे ऑफिस के बाहर अपनी बाइक से उतरा. अचानक हुए इस हमले के लिए आयेशा तैयार नहीं थी तो वो एकदम चीख पड़ी लेकिन पुलकित ने उस पर कोई रहम नहीं दिखाया. मुझे भाभी को चोदने का मौका एक दिन अनायास ही मिल गया, जब एक दिन मैं मित्र के घर गया था.

मैंने उससे लंड हिलाने की बात कही थी तब शायद उसे अन्दर तक चुनचुनी हो गई थी. उन दिनों सभी के घरों में सभी लोग नाइट में पहनने वाले कपड़ों में ही सारे दिन रहते थे. बीएफ ब्लू पिक्चर देसीमेरी अम्मी रोने लगी तो जलालुद्दीन आलिम ने कहा- घबराओ मत, इधर अच्छे अच्छे जिन्नातों को पेला गया है.

मीनू ने कहा- कोमल की फुद्दी आराम आराम से पेलो, अभी इसकी कुंवारी है.

मैंने कहा- कुछ कुछ क्या होने लगता है?वो बोली- अब ऐसे कैसे बताऊं?मैंने कहा- जब हीरो हीरोइन को किस करता है, तब कैसा लगता है?वो बोली- तब तो समझो ऐसा लगता है कि काम ही हो गया है. ’‘आप‌ दोनों ने अपने सारे टेस्ट वगैरह तो करवाए ही होंगे ना, तो टेस्ट के मुताबिक दिक्कत क्या आ रही है, जो बेबी नहीं हो रहा है?’आंटी थोड़ी मायूस होती हुई बोलीं कि बेटा तेरे अंकल में ही कुछ दिक्कत है, तभी तो मैंने बोला कि‌ शादी करने‌‌ में देर मत कर वर्ना आगे और सारी दिक्कतें आने लगती हैं.

फ्रेंड्स मेरी चुदाई कहानी आपको कैसी लगी?अगर लंड से पानी निकल गया और चूत में उंगली चल चुकी हो तो मैं समझूंगी कि मेरी कहानी ठीक है. कोमल के अन्दर स्खलित होते हुए वो भी छूटने लगी और उसने मुझे कसके पकड़ लिया. कुछ देर तक मैं पान खाती रही और आलिम साहब मुझे देखकर मुस्कुराते रहे.

मैंने चाची से पूछा- कैसा लगा सफ़र चाची?चाची हंस कर बोलीं- तेरे साथ आने में बहुत मज़ा आया.

बड़ा ही गाढ़ा और नमकीन रस चाटने से मुझे नशा सा होने लगा था और भाभी की कसमसाहट लगातार बढ़ रही थी. अब मैंने उसकी गांड में नारियल का ज्यादा सा तेल टपकाया और लंड अन्दर बाहर करने लगा. वो नजारा देख मेरे लंड की बुरी हालत हो गई और वो लुंगी के अन्दर से ही तंबू बना कर अकड़ गया.

बीएफ खलीफामेरी मामी की शादी की 6 साल हो चुके हैं और उनको अभी तक कोई बच्चा नहीं है. सोनी- यार रवि सॉरी, मुझे बहुत जोश आ गया था, मैं जल्दी झड़ गया, अगली बार ये कमी पूरी कर दूंगा.

इंडियन सेक्सी चुदाई वाली

उसने हिना से कहा- यार हिना थैंक्स … मुझे मेरे गिफ्ट को मिलाने के लिए. मैंने लंड चूसने से मना किया तो वो जबरन मेरे मुँह में लंड ठेलने लगे. अब शेखर की स्पीड तेज होने लगी और उत्तेजना के मारे मेरे हाथ भी शेखर के चारों तरफ कसने लगे.

दोस्तो, आपको क्या बताऊं, लेकिन मेरा लंड साक्षी की गांड में सच में फंस सा गया था क्योंकि साक्षी की गांड कुंवारी थी और बहुत ज्यादा टाइट थी. वो खामोश थी तो मैं अपने हाथ को धीरे धीरे उसकी पीठ से लेकर उसके मुलायम चूतड़ों तक घुमा रहा था. मैंने हंसते हुए कहा- मनीषा मैडम, अब चिल्लाने से कुछ नहीं होगा, चुदाई ऐसे ही होगी और दिनभर रातभर हर दिन होगी.

फिर मैंने लंड को उनकी गांड की दरार में अच्छे से सैट किया और रगड़ने लगा. जैसे मैं झड़ते समय थोड़ा अकड़ सा गया था और मुझे उत्तेजना में होश ही नहीं रहा था तो मेरा सारा माल मैंने उनकी चूत में ही डाल दिया था. उसके बाद मैंने अपनी दूसरी उंगली डाली और अपनी उंगली की गति को थोड़ा तेज किया.

तुम बोलो तो मैं कल ही अपना थोड़ा सामान लेकर तुम्हारे साथ रहने आ जाता हूँ?मैं- हां, कल से ही आ जाओ. मैं बोली- काश मैं भी टेक्सी से जा पाती! लेकिन इतना लम्बा सफर अकेले तय करना मेरे बस में नहीं है.

चाची बेसुध होकर बेड पर लेट गईं पर मैंने फिर भी चाची की चूत को चूसना जारी रखा.

हल्का मीठा और पीले रंग का और थोड़ा गाढ़ा… और कभी कभी हल्का सा पतला होता है. बहू की चूत चुदाईमैं ऐसा इसलिए किया क्योंकि मैं जानती थी कि सुरेंद्र जी मुझसे मिलने किस लिए आ रहे हैं. देसी सेक्सी दिखाइए वीडियोउसने जो ब्लाउज पहना हुआ था वो गहरे गले का था, जिससे उसके सामने से उसके चूचों का आधा हिस्सा दिखाई दे जाता था. मेरी टांगें टूटी जा रही थीं, चूत के चीथड़े हुए जा रहे थे और दर्द के मारे मेरे आंसू निकल रहे थे.

तभी अचानक से अर्चना का ध्यान मुझ पर गया और वो एकदम से सकपका कर शर्मा गई.

वो पूरी ताकत से धक्के मारते थे और मेरे बदन के सारे पुर्जे हिला डालते थे. मैं सोच रहा हूँ, क्या हम दोनों साथ रह सकते हैं? मैं खाना अच्छा बना लेता हूँ. मैं नियमित रूप से कसरत करता हूँ, इसलिए मेरी बॉडी थोड़ी स्लिम फिट है.

मैं चुपचाप चूचियों को चूसने लगा और चाची की चूत में अपनी उंगली से मालिश करने लगा. लेकिन आज जैसे ही जलालुद्दीन कमरे में आये तो मैं दौड़ कर उनसे लिपट गई और जोर जोर से रोने लगी. क्योंकि चुदाई के नशे में मैं तो ये भूल ही गया था कि बीवी की भतीजी भी घर में है और हम कमरे का दरवाजा बंद किए बिना ही चोदा चोदी में मस्त हो गए थे.

कुंवारी लड़की की चुदाई दिखाइए

अभी हमारी ये बातें हो ही रही थी कि सोनी के मोबाइल पर किसी का फ़ोन आया. तब तक एक बात मैं जरूर कहना चाहूँगा कि सोशल मीडिया पर दोस्ती करने से पहले बहुत सजग रहने की जरूरत है. मुझे भी अब लग गया था कि ये भी गर्म हो गई है, इसलिए तो इतनी हिम्मत से ऐसा कर रही थी.

उसने उसके उलटे हाथ को मेरे फड़फड़ाते लंड पर रख दिया और सीधे हाथ को मेरी छाती पर रख कर मेरे एक निप्पल को सहलाने लगा.

उन्होंने मुझे देखते ही खुश होते हुए कहा- मैंने ही तुम्हें यहां बुलाया है.

फिर मैंने चाची को गले लगा लिया और मैं उनके पीछे पीठ पर हाथ फेरने लगा. मेरा लंड कोमल की चूत के अन्दर जड़ हो गया था और अब सुपारा चूत की दीवारों से रगड़ खाकर चुदाई का मजा देने लगा था. बंगाली बीएफ सेक्सी वीडियोमुझे उम्मीद है लड़कों को अपने लंड पर हाथ रखने की व लड़कियों को अपनी उंगली चूत में डालने की जरूरत पड़ेगी.

उन्होंने अपनी जेब से दो नीली गोलियां निकाली और दूध के साथ निगल लीं. इतने में भाभी से सबर नहीं हुआ और उन्होंने मुझसे कहा- फाड़ दो मेरी ब्रा को और आजाद कर दो इन्हें!मैंने वैसा ही किया, उनकी ब्रा फाड़ दी. मैं बस से सुबह नहीं गया था पर जब शाम को ट्यूशन क्लास से वापिस आया तो आंटी मुझे देख कर एकदम खुश हो गईं और मुझसे सुबह ना आने का कारण पूछने लगीं.

एक दिन मैं अपने घर के आंगन में खड़ा था, तभी मुझे सामने के घर से कपड़े धोने की आवाज़ आई. मैंने जल्दी से नाश्ता किया और मैं अपनी छोटी बहन के साथ टीवी देखने लगा.

शुभा- राहुल मुझे कभी छोड़ कर मत जाना, मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ.

आपको मेरे Xxx गे पोर्न स्टोरी के लिए क्या कुछ कहना है, प्लीज़ मेल करें. काफी देर तक मैंने उनकी चूत चोदी और उनकी चूत में ही अपना सारा माल निकाल दिया. मैं उससे लंड चूसने का इशारा कर रहा था पर उसने लंड चूसने से मना कर दिया.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो कॉम उसने जानबूझ कर अपना पल्लू कुछ ऐसा कर दिया था कि मुझे उसके दूध साफ़ दिखाई दे जाते थे. मैं आपको बता दूँ कि ये मेरी पहली सेक्स कहानी है तो कोई गलती होना लाजिमी है तो माफ़ कर दीजिएगा.

मैंने चाची की तरफ देखा तो वो बातों का लुत्फ़ ले रही थीं; उनकी नजरें मुझसे मिल ही नहीं रही थीं. अब बुआ के मुँह में मेरा लंड जा चुका था और वो माहिर रांड की तरह लंड को जबरदस्त चूसने लगीं. आंटी की गोरी लम्बी टांगें देखकर मेरा लंड पूरी तरह से टाइट होने लगा था.

क्सनक्सक्स तीन

मेरी बीवी भी उस पर बहुत विश्वास करने लगी थी और उसे घर का सदस्य ही मानती थी. मैं भी आंखें मूंदे चाची को चोदता जा रहा था, तो चाची दो बार झड़ गई थीं. मॉम भी नशे में कुछ कुछ बड़बड़ा रही थीं लेकिन मैंने उन पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया.

पूरी तरह नंगी होकर मैंने सामान का पैकेट खोला, तो पहले ब्रा पैंटी का पैक निकाला जिसमें एक गहरी गुलाबी रंग की और एक लाल कलर की प्रिंटेड ब्रा पैंटी थी. बोल के मैं सोफे पर आ गया और एक पेग बना कर लेने लगा।करीब 10 मिनट बाद अंजलि भी नार्मल हो गई.

पास की एक मोबाइल शॉप पर गया और एक बढ़िया सा मोबाइल फोन खरीदा, सिम खरीदा एवं उसमें एक साल वाला रिचार्ज कराया, तत्पश्चात फ़ोन को गिफ्ट पैक कराया और घर चल पड़ा.

थोड़ी बाद जब कोमल शांत हो गई तो मैं कोमल आंखों से निकलते हुए आंसुओं को अपने होंठों से चूसने लगा. मैंने उसे बताया- मैं यहां पर अपने ऑफिस के काम से आया हूं और आज और कल मैं जयपुर ही रहूंगा. दो पल तक मुझे टकटकी लगाकर देखते रहने के बाद उनको होश आया तो बोले- सुभानल्ला, ये हुस्न किसी आदमी की जात का नहीं हो सकता, तुम तो सच में कोई हूर परी हो.

जब मेरी बात खत्म हुई, तो मैंने उससे कहा- ये मेरी दिली ख्वाईश है माधुरी, जो मैंने तुमसे साफ़ साफ़ कह दी है. वेश्या ने कपड़े उतारे, थोड़ी देर चूचे दबाने दिए, फिर पलंग पर पैर फैलाकर लेट गयी और बोली ‘बैठ’ (उनकी भाषा में चोद) का. अगले शनिवार को तापोश अकेले ही फार्म हाउस में दो दिन के लिए रहने आया.

उसने बैग को खोला तो वो उसके अन्दर देख कर अचम्भित हो गयी क्योंकि मैं उसमें बियर और वोडका की बोतल लाया था.

xxx.com सेक्सी बीएफ: तभी अचानक ने मुझसे मामी की साइड वाली टेबल पर रखा फ्लावरपॉट गिर गया. मैं अपना लंड आधा बाहर निकालकर जोर से अन्दर ठोंकते हुए मम्मी की दोनों चूचियां अपनी मुठ्ठियों में दबोचते हुए चोदने लगा.

डिंपी- फिर भी देखो मेरी किस्मत में कोई नहीं है, क्या फायदा ऐसी हॉटनेस का?मैं- फिर तो सिंगल रह कर ही मजे करो. स्टेप मदर सन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुझे पता लगा कि मेरे पापा मेरा माँ को सेक्स का पूरा मजा नहीं पाते. उनका हल्का सा पेट भी था, जो उनकी ख़ूबसूरती को कम करने की जगह बढ़ा देता था.

मुझे पापा मम्मी के उठने का डर भी लगा हुआ था तो मैंने चुदाई तेज़ की और जल्दी ही उसकी चूत में वीर्य झाड़ दिया.

करीब चार मिनट के फोर प्ले के बाद शबाना के सब्र का बांध टूट गया और वो हाथ जोड़कर बोली- प्लीज अब अगला राउंड. मैंने उसकी चूत में लंड को अन्दर बाहर अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया था. हमारे ग्रुप के लड़के सब लड़कियों को जबरदस्त तरीके से रंग लगा रहे थे और मौका देखकर वो लड़कियों के बूब्स चूतड़ सब दबा रहे थे.