पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी

छवि स्रोत,इंडिया सेक्सी वीडियो दिखाओ

तस्वीर का शीर्षक ,

ट्रिपल एक्स सेक्स कॉम: पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी, भाबी- हा हा … अब तो इसकी ही गांड प्यारी लगेगी तुम्हें … मेरी गांड से तो बोर ही चुके हो न.

सब्जी कैसे बनाता है

यहां यह बताना जरूरी होगा कि हमारे साथ हमारी बीवियां निहायत उत्तेजक लग रही थीं. మధుర్ మట్కాमैंने अपनी गांड पर भैया का लंड महसूस किया तो मैं घबरा गया- आ … आप ये क्या कर रहे हैं भैया?भैया- अरे कुछ नहीं रे … बस देख रहा हूँ कि तुझ गांडू की गांड ज्यादा प्यारी है या इस टके टके पर बिकने वाली रंडी की.

मैंने उसे सिगरेट उठाने का कहा, तो उसने खुद मुझे एक सिगरेट जला कर दी. मराठी व्हिडिओ सेक्सी मराठी” नीलम ने अपने आप को अपने ससुर से छुड़ाकर सोफ़े पर जाकर बैठते हुए कहा।नीलम की साँसें ज़ोर से चल रही थी.

वह बहुत ही कामुक होकर सिसकारियां भर रही थीं ‘ईईईई आआआ उउउ आ आ आह …’कुछ देर बाद मैंने परी मैम को घोड़ी बनने के लिए बोला.पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी: मैंने बीवी को नीचे लिटाया, उसके पैर घुटनों से मोड़कर फैला दिए और मैं बीवी के चूत के सामने घुटनों के बल बैठ गया.

तभी जॉली ने अपने हाथ से रिया के हाथ को दबोच लिया और एक सिसकारी भरते हुए उसने अपनी जिप खोल दी.उसकी चुत से पानी निकलने लगा, जिसे मैं चाट चाट कर साफ ही कर रहा था कि वो बोली- राज अब रहा नहीं जाता … कुछ करो जल्दी प्लीज … तुम अपना मस्त लंड मेरी चुत में डाल दो जल्दी से … अब मुझसे और इन्तजार नहीं होता प्लीज.

पाली दुबे का सेक्सी वीडियो - पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी

तभी से उसके मन में एक ललक थी कि एक साथ दो लंडों का मजा कैसा होता होगा.आज तेरे इस बदन को चाट चाट के चुदाई करूँगा। आज तेरी पहली चुदाई है मेरी रानी … इसको तू हमेशा याद रखेगी कि कोई अंकल मिले थे जिसने तेरी बुर की सील तोड़ी थी।”दर्द भी होगा न?”हां होगा तो … मगर बस एक बार! उसके बाद तो तू जिंदगी के मजे लेने लगेगी.

अब मेरी धड़कनें तेज हो गईं … क्योंकि मेरी ख्वाहिश अब पूरी होने जा रही थी. पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी मैं उसके दोनों चूचे बारी बारी से चूसने लगा और एक हाथ उसके चूत पर फिराने लगा.

इन सबको सोचते सोचते कब मेरा हाथ मेरे स्तनों पर चला गया, मुझे पता भी नहीं चला.

पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी?

मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं और क्या नहीं क्योंकि उसकी तरफ से मुझे कोई इशारा भी नहीं मिल रहा था. फिर उसने अपने लंड के टोपे को मेरी चूत के छोटे से द्वार पर रखा और वो अपने लंड को चूत के अन्दर डालने ही वाला था कि तभी एक धमाका हो गया. मेरे हस्बैंड इस बीच झड़ने वाले थे, उन्होंने ऐसे ही मेरी चूत में अपना वीर्य छोड़ दिया और वो मुझे और अपने बॉस को छोड़कर अलग हो गए.

मैंने हामी भरते हुए लंड को चूत में पेलने के लिए मोना के मुँह से निकाल कर हिलाया. मगर बाहर आने के बाद मैंने उसके कान में कहा- तुम वॉशरूम में जाओ तो अपने चूत रस से भीगी हुई पैंटी को निकाल कर अपने पर्स में रख कर ले आना. मैंने भी तुरंत उनकी दोनों चूचियों को अपने हाथों में भर कर भींचना शुरू कर दिया.

सुबह सुबह अपने बड़े घर के बैठक खाने में बैठी हुई, मैं एक उपन्यास पढ़ रही थी. शायद वो भी समझ गई थी कि आज उसकी सिसकारियां निकलने वाली हैं और वो मस्त चुदने वाली है. कुछ देर तक चोदने के बाद उसके पिताजी ने अपना लंड ज्योति की चूत से बाहर खींचा और उसके मुँह में डाल दिया.

उसने आधे से ज्यादा लंड एक बार में ही गटक लिया, उसे देख कर यही लगा कि जैसे ये काम परमीत रोज ही करती हो. एक दिन उसने मुझे पार्टी के लिए बुलाया- मेरे पास पार्टी के लिए दो टिकट्स हैं, तू चलेगा?मैं- लेकिन मैं अभी तक पार्टी में गया नहीं हूँ.

मैंने उठ कर अपना टॉप उतार दिया और विनय ने जल्दी से मेरी स्कर्ट के साथ ही मेरी पेंटी को निकाल दिया.

महेश का मन हो रहा था कि अभी जाकर अपने लंड को अपनी बेटी की गांड में घुसेड़ दे.

मर्दों को तो सुहागरात में अपने मन और अपने लंड की शांति के लिए जो भी करना होता है वो सब करते हैं. उसका खुद पर कोई नियंत्रण नहीं रह गया था और वो लगातार वहीं देख रही थी. मैं अपने एक हाथ से बीवी की गांड दबाते हुए दूसरा हाथ ऊपर मम्मों की तरफ ले गया.

मैंने कहा- चलो हम दोनों सेक्स की स्थिति से पहले तक का प्यार तो कर ही सकते हैं. राहुल ने एक पूरा विलेज यानि पाँचों बुक करवा लिए, जिससे उन्हें कोई डिस्टर्बेंस न हो. ऐसे भी परमीत अपने झगड़ालू स्वभाव के कारण चैलेंज वाली चीजों में पीछे नहीं रहती थी, लेकिन आज की शर्त थी कि हारने वाले को एक बार में ही बीयर की बोतल पूरी पी कर खाली करनी होगी और परमीत ने खाना खाने के बाद भी ये शर्त मान ली थी.

वो अपनी चूत को अपने हाथ से मसलने लगी और अपनी उंगलियों से अपनी चूत के दाने को रगड़ने लगी.

इस पर मैंने पूछा- क्या हुआ?तब उसने नजर झुका कर कहा- मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है. आज जितनी फोटो खींची, उनमें अधिकतर में दीपा सुनील से चिपट कर खड़ी थी. अब भाई ने उस रस्सी को बेड के साथ बांध दिया और फिर मेरे पास आकर नीचे से मेरी टीशर्ट को भी निकाल दिया.

ससुर हैरानी से मेरी ओर देखने लगे और अपनी बहू की और भी ऐसे देखने लगे … जैसे वो उनसे पर्मिशन ले रहे हों कि दूसरा भी डाल दूं?मैंने शराब के नशे में कहा- अबे भोसड़ी के क्या देखता है … डाल दे बे इसकी चुत में लंड … और हो जा तू भी शुरू. बाप बेटी की चुदाई मुझे अच्छी लगी, यह बात सुन कर पापा के चेहरे पर स्माइल आ गयी. रोहित संजू की चूत में लंड घुसाये हुए ही उसके पेट पर बैठ गया और अपने कमर को आगे पीछे करने लगा.

लंड सैट होते ही शान ने एक झटका मारा और उसका मोटा लंड मेरी माँ की चुत में घुस गया.

वो अपने दोनों पैर घुटने से मोड़ कर कुतिया की भाँति अपनी गांड को ऊपर उठा कर कुतिया सी बन गई. फिर उस दिन भी शाम को उसने पहले की तरह मुझे अपने घर पर बुला कर चाय पिलाई.

पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी मैं खुद पेड़ के सहारे टिक कर बैठ गया और सबा को अपने लंड के ऊपर अपने तरफ मुँह करके बैठा दिया. मैंने उसे थोड़ा किनारे खींच साफ़ जगह पर लिटाया और उसकी चूत पर लगे पेशाब को उसके सलवार से साफ़ करने लगा.

पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी मैंने हैरान होते हुए कहा- उस साले बुड्डे का लंड अब खड़ा भी होता है?वो हंस कर बोली- साले का लंड दबा खा कर ही खड़ा हो पाता है … फिर भी उसने मेरी चुत में आग लगा कर मुझे छोड़ दिया था. वो मना करने जैसे इशारा भी किये जा रही थी और अपने हाथ उठा कर अपने कपड़े भी उतरवाती जा रही थी.

तभी जीजा बोले- साली नाराज हो गई क्या, एक बार उठ कर देख तो कौन आया है तेरे पास! ये यहां के सबसे बड़े ठेकेदार हैं.

ओपन में सेक्सी वीडियो

श्वेता दीदी- अरे … पागल डर क्यों रही हो … मैं हूं ना! पहले तुम रिलैक्स हो जाओ. उत्तेजना में उन्होंने अपनी टांगें फैला दी और मेरे बालों को पकड़ कर खींचने लगी. उसके बाद वो दोनों उठे और अपने कपड़े पहनते हुए भाभी कहने लगी कि अब उनको घर जाना होगा.

मैंने भाई की निक्कर की जिप को खोल कर उसका लंड बाहर निकाल लिया और उसको मुंह में लेकर मजे से चूसने लगी. अब जब उसके बाप का हथौड़े जैसा लंड उसकी कुंवारी गांड में घुसा तो उसे मालूम हुआ कि गांड की चुदाई करवाना बच्चों का खेल नहीं है. उसने तभी लंड को फिर से बाहर निकाल लिया और मेरी चूत में फिर से लंड को घुसा दिया.

मैंने फिर उससे हाँ करके अपने प्यार का इज़हार कर दिया- तुम मुझे अच्छे लगते हो.

मैं कभी कभी बाजार भी उसके साथ ही चली जाती या घर का कोई काम होता, तो भी उसे बुला लेती थी. पहली बार इतने हट्टे कट्टे मर्द का लंड अपनी गांड पर लगते हुए मैंने महसूस किया था. उसने मेरा सर पकड़ लिया और मेरे मुँह को चोदने लगा और मेरे मुँह में ही झड़ गया.

मेरी ब्रा जैसे ही उनको दिखाई दी उन्होंने मेरे कबूतरों को अपनी उंगलियों में दबोच लिया और मुझे बेड पर लेकर गिर गये. वो कुछ ही देर में लंड को ऐसे चूसने लगी, जैसे कोई लॉलीपॉप चूस रही हो. सब तरफ शांति का माहौल था, बस हमारी चुदाई की पचपच, खचपच, पचर पचर, फटफट की आवाज गूंज रही थीं.

अब चाची से बर्दाश्त नहीं हुआ तो वो गाली बकने लगीं- दीपू साले हरामी जल्दी से डाल भी दे, मादरचोद … मुझसे अब बर्दाश्त नहीं हो रहा. मैंने उससे कहा कि तुम मुझे यहीं उतार दो, मैं तुमको 7 बजे के करीब फोन करूँगा.

हमारे यहां शादी में दुल्हन के साथ कोई एक आदमी जाता है जो कि दुल्हन को दो दिन के बाद वापस लेकर आ जाता है. वो गांड उठाते हुए कहने लगीं कि आह … साले भड़वे … तेरा लंड तो बड़ा मोटा है … मजा आ गया. मैंने उसके चूत में ढेर सारा थूक लगाया और सीधा हो कर उसकी चूचियों को चूसने लगा.

एक घंटे के बाद अंकल ने आवाज लगाई तो हम दोनों उठे और कपड़े पहन कर ऊपर चले गये.

मैंने कहा- चाची प्लीज अब ये रट छोड़ दो और मुझे भी पता है कि आपकी चुत भी मेरा लंड मांग रही है. अब पापा ने मुझे अपने नीचे कर लिया और मुझे जोर से चूमने और काटने लगे. उसी वक्त उसने एक धक्का मार दिया और उसका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया.

मैं बोली- क्यों नहीं, अगर आपको अच्छा लगता है तो मुझे कोई प्रोब्लम नहीं!बॉस खुश हो गए और मेरे होंठों पे एक चुम्मा किया और कहा- तुम कितनी अच्छी हो यार!सब लोगों को बॉस ने वहीं रोका और सबके लिए एक एक गिलास वाइन और बनाई और अब इस बार बॉस सोनम के पास चले गए, अपने हाथ से उसको वाइन पिलाने लगे और उनका दोस्त मेरे पास आ गया और मुझे वाइन पिलाने लगा. 6 दिन के बाद अमृता की छुट्टी खत्म हो गयी और वो पटियाला वापस चली गयी.

मैंने एक वेबसाइट से उस लड़की से बात की शुरुआत की थी और उसको पटा कर अपने छोटे लंड की प्यास बुझाई थी. सच कहूँ तो उनकी छेड़खानी से मेरी चूत भी गीली हो जाती थी, पर मैं ऐसे ही कहीं भी अपनी जवानी तो नहीं लुटा सकती ना!लेकिन अब मैंने उनके गाने बंद कराने के लिए काजल लगाना शुरू कर दिया. मैं बोली- क्यूँ अब क्या करोगे?कुछ नहीं … अब तुम्हें गांड से चोदना है.

भाभी की सेक्सी मूवी

तब तक के लिए अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पढ़ते रहें और मजा लेते रहें जिन्दगी का और सेक्स का।[emailprotected].

मैं चाची के चूचों को छोड़ कर धीरे धीरे उनके सूट को ऊपर करने लगा और उनके नंगे पेट पर हाथ फेरने लगा. नायरा ने भी हुंकारा भर दिया- इस बार फ्रेंच किस का डेमो वो दूसरे के साथ दे देगी. सोनिया- आह्ह्ह आह्हह आह्ह्ह … जानू, अपने लंड को और तेज तेज आगे पीछे करके उसकी आवाज सुनाओ ना मुझे.

मैं अगली सेक्स स्टोरी भी बहुत जल्द भेजूंगा, जिसमें मेम की एक सहेली को मैं अपने लंड के लिए कैसे तैयार किया और उनकी चूत की चुदाई की. जब वह जाने लगी, तब मैंने पहली बार देखा कि उसकी सेक्सी गांड कितनी बड़ी थी. एक्स एक्स सनी लियोन की सेक्सी वीडियोवो कहने लगी कि पारिवारिक संकोच के कारण वो पार्लर में नहीं आ सकती है.

जैसे जैसे सुनील स्पीड बढ़ता वैसे वैसे ही दीपा मनोज का लंड लप लप करती. गोली खाने के कुछ समय बाद ही मेरी चूत से गन्दा खून निकलना शुरू हो गया.

वो एक दूसरे से हमेशा बात करते थे और एक साथ बैठ कर बात करने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं थी. वैसे भी मैं अपनी फैमिली के साथ रहती थी तो घर में रहते हुए कुछ होने वाला भी नहीं था. मैंने कॉल कट करके अपना गाउन उतार कर उसकी दी हुई ब्रा और पैंटी पहन ली, जो कि बहुत टाइट थी.

यहाँ तक कि दिवाली के दिन उसने अपने परिवार से छिप कर रात को मुझे विश किया तो बहुत अच्छा लगा. ध्यान से देखा कि उनकी मालदार कमर, सुडौल और उभार लिए भारी चूचे और मटकती गांड. मैंने स्थिति को समझा और बोला- आप लोग एंजाय करो, मैं बेडरूम में जाता हूँ.

इस बीच शबनम ने एक और सुलगा ली तो नायरा बोली- बस कर वर्ना मर जायेगी.

मैंने विजय को सारी बता दी कि कैसे आशीष और मैं बिना कपड़ों के पहली बार पकड़े गये और फिर कैसे आशीष ने सतना में पहली बार मेरी चूत की चुदाई की थी. शायद यह उन सब लंडों से ज्यादा लम्बा और मोटा था, जो मैंने आज से पहले अपनी चूत में लिए थे.

अब मेरी समझ में ये नहीं आ रहा था कि मैं जेठजी को कैसे बताऊं कि जो कुछ हुआ, वो मुझे भी अच्छा लगा. मुझे देख कर वो मुस्कराई और कहने लगी- इतनी देर से पीछा कर रहे हो, क्या बात है?इससे पहले कि मैं उसको कुछ जवाब देता हमारे पास वेटर आकर खड़ा हो गया. यहाँ तक कि दिवाली के दिन उसने अपने परिवार से छिप कर रात को मुझे विश किया तो बहुत अच्छा लगा.

कुछ ही पल में मैं फिर से गर्म हो चुकी थी।अब उन्होंने मेरी बुर को छोड़ दिया और अपनी चड्डी को उतारने लगे. लेकिन मेरे ऊपर अब भूत सवार हो चुका था- रांड कहीं की … अपने खसम को छोड़ कर दूसरे के लंड से चूत चुदवा रही है, तो क्या सती सावित्री है … साली रंडी ही तो है … चल रंडी देख कैसे तेरी चूत के चीथड़े बनाता हूँ. रात में बिजली कड़कने लगी थी और थोड़ी ही देर के बाद बारिश भी शुरू हो गई थी.

पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी भाभी को बहुत मजा आ रहा था और राहुल था कि भाभी की चूत को चूसने में लगा हुआ था. उसके बाद डॉक्टर ने अपनी टांगों को और अच्छे तरीके से एडजस्ट किया और मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर रख लिया.

हिस्टीरिया बीमारी क्या है

तभी सुखविन्दर बोले- चुप मादरचोद साली … इतने में फट रही है? अभी तो खेल शुरू किया है हमने!और सुखविन्दर ने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया और मुँह को चोदने लगे।अभिजीत मेरी फुद्दी को पेलने लगा और करीब 5 मिनट में सुखविन्दर ने पूरा पानी मेरे मुँह में भर दिया, न चाहते हुये भी मुझे पूरा पानी गटकना पड़ा।कुछ देर में अभिजीत भी झड़ गया. दोनों बहनें सिसकारियां ले ले कर एक दूसरे की चूत चाट रही थी क्योंकि दोनों ही पहली बार किसी औरत से चूत चटवा रही थी तो दोनों ही एक साथ झड़ गयी. शान के लंड की लम्बाई भले ही कम थी, लेकिन मोटाई उसके लंड को खासियत देती थी.

वो आज भी बहुत सेक्सी दिख रही थी।महेश ने अपनी बेटी को अपनी बांहों में भर लिया और अपनी बेटी के रसीले होंठों को चूसना शुरू कर दिया।फिर महेश अपनी बेटी की पेंटी को सूंघने लगा।पिताजी, आपको किसकी गंध ज़्यादा अच्छी लगी, मेरी पेंटी की या चूत की?” ज्योति बोली।अरे बेटी, दोनों ही बहुत मादक हैं. अच्छी बात ये थी कि अब मेरी चुत में लंड ठीक से घुसने का समय आ गया था. सेक्सी मूवी हिंदी बॉलीवुडसामने की तरफ भी प्रिन्स ने नीता के पैरों से मसाज शुरू की और घुटने से होते हुए जांघों पर पहुच गया.

मैं ये जानकर बहुत खुश हो गया और मैंने उसके हाथ पर अपना हाथ रख दिया.

मगर मैं वादा करती हूं कि उससे शादी करने के बाद भी मैं तुम दोनों अपनी चूत को चुदवाना बंद नहीं करूंगी. तभी राजीव फ्लोट करके नायरा के पास आ गया और मुश्ताक फ्लोट करके पिंकी के पास चला गया.

वो दोनों आपस में एक दूसरे के होंठों को चूसने में लगे हुए थे और लड़के ने उस लड़की की लैगिंग में हाथ डाला हुआ था. परी मैम ने गालियां निकालनी शुरू कर दीं- आआआ माँ मर गई … मादरचोद फाड़ डाली रे मेरी … साला कमीना …मैंने उनकी चिल्लपौं पर कोई ध्यान नहीं दिया और परी मैम को ताबड़तोड़ चोदता रहा. वो मेरे सामने आ गया और मेरी गालों पर हाथ रख कर बोला- मेरी जान बंध्या, मेरे सामान को ऐसे मत घूरो, यह तुम्हारा है.

उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और वो मुझे बांस के कई झुंडों के बीच में एक टीले पर ले गई, जहां आसपास कोई नहीं था.

इतने में रीमा मेरे पास आई और मुझे सलाह देने लगी- काहे तड़फ रही हो जानेमन … आज चुदवा लो यार … लंड लेने में सच में बड़ा मजा आता है. मैंने उसे आंख भर कर वासना से देखा, तो उसने अपने दोनों हाथ ऊपर कर दिए. वो मुझसे उम्र में बड़ा है और जिस कंपनी में मैं हूँ वो उसमें मुझसे सीनियर पोस्ट पर है.

मोटी मोटी लुगाई की सेक्सी पिक्चरइधर संजू ने फिर से अपने बाल सुखाए और बालों को संवार कर पॉवडर-क्रीम की और लिपस्टिक लगाई. मैंने दोनों के पेग में जूस बहुत कम डाला था।वन्दना- उम्म … बहुत कड़वा है, इसमें थोड़ा जूस डाल दो।मैं- नहीं मेरी जान, ऐसे ही पियो, तभी तुम्हारी शर्म दूर होगी.

भोजपुरी सेक्सी देहाती वीडियो

मैंने सोचा कि अब जो भी बात थी, वो पता चल जाएगी कि वो मुझसे चुदना चाहती थीं कि नहीं. कुछ ही पल में पूजा एक बार फिर आनन्द के सागर में डूबने लगी उसकी मादक सिसकारियाँ सुन कर अमित भी अपने लन्ड को हिलाने लगा. उसके बाप ने जैसे ही बेटी की गांड से अपना लंड बाहर खींचा, वीर्य गांड में से निकल कर ज्योति की चूत और जांघों पर बहने लगा.

परमीत लाल रंग की शॉर्ट स्कर्ट और काले रंग की गहरे गले वाले टॉप में आई थी. दीदी ने दो घूंट नीट दारू खींची और इसके बाद तीसरा घूँट ले कर मेरे मुँह से मुँह लगा कर मुझे भी पिला दी. मैंने इशारे से अपने लंड का टोपा उसकी तरफ कर दिया और उसको लंड चूसने के लिए कह दिया.

मैं समझ गयी कि जेठजी चूत का छेद थोड़ा और ऊपर की ओर चाहते हैं इसलिए मैंने खुद ही थोड़ा और ऊपर की ओर सरकते हुए अपनी चूत का छेद उनके लंड के सामने कर दिया. फिर ससुर ने थोड़ा थूक लगाया और धीरे धीरे अपना लंड चुत में पूरा डाल दिया. फिर वो बोली- मुझे आज तुम्हारे लंड की सैर करनी है जानू … मुझे अपने लंड की सवारी करवा दो।मैंने कहा- हां मेरी जान … अभी करवाता हूं.

ससुर ने बिल्कुल ऐसा ही किया और मेरे लंड को मेरी दीदी की भीगी चुत के मुहाने पर सैट कर दिया. लेकिन इतनी मेहनत करने के बाद चुदायी में हमदर्दी जताने का तो कोई सवाल ही नहीं था.

मैंने देखा कि माँ की साड़ी का आंचल ढलक गया था और उनके ब्लाउज से उनको चूचियां बड़ी तेजी से उठ-बैठ रही थीं.

मैं- फिर भी यार उसे पता चलेगा, तब वो क्या सोचेगा मेरे बारे में?कुमार- उसे कुछ पता नहीं चलेगा … प्रॉमिस. बच्चे पैदा करने की विधिगुलाबी चूत के होंठों पर मेरे लंड का चिकना सुपाड़ा लगते ही उसकी भी सिसकारी निकल गई. माधुरी दीक्षितxxx” नीलम ने एक क़ातिल मुस्कान के साथ समीर को देखते हुए कहा।सॉरी बेटी, मैं अगली बार ख़याल रखूँगा. इस घूमने और मस्ती को चुदाई तो नहीं कह सकते हैं, लेकिन इस सब में थोड़ा बहुत चूमना-चाटना तो हो ही जाता था.

उन्होंने मेरे सिर के बालों को कस कर पकड़ लिया और अपनी छाती पर दबा दिया.

उसने मेरी चुत में 2-3 झटकों में ही अपना पूरा लंड पेल दिया और धक्के लगाने लगा. चूंकि मुझसे जब मोना का मन लगने लगा, तो वो भी भाभी के घर कुछ ज्यादा ही आने लगी थी. मैंने धीरे से पूजा के लोअर में हाथ डाल दिया और उसकी चूत को पेंटी के ऊपर से मसलने लगा.

इस वक्त मेरा ध्यान भाभी की चुदाई से ज्यादा उनके मुँह से निकलने वाली चीखों पर था. उसके बाप ने जैसे ही बेटी की गांड से अपना लंड बाहर खींचा, वीर्य गांड में से निकल कर ज्योति की चूत और जांघों पर बहने लगा. इससे पहले मैं उसको बाहर निकालने के लिए हाथ बढ़ाती, मैं बेड पर पटकी जा चुकी थी.

कोलकाता सेक्सी वीडियो एचडी

15 दिन में तो हम प्रेमियों की तरह बातें करने लगे और तीन हफ्ते में हम दोनों ने एक दूसरे से अपने प्यार का इज़हार कर दिया. विनय ने अपना टी-शर्ट को निकाल दिया और मैंने उसके पैंट को खोल दिया, तो उसने वो भी निकाल दिया. जब मेरे हस्बैंड यहां नहीं होते हैं, तो मुझे ही उसकी देखरेख करनी होती है.

थोड़ा और आगे बढ़ने पर मैंने देखा बांस के पेड़ के झुंडों के इर्द-गिर्द मिट्टी के टीले से बने थे और उन टीलों के बीच में बांस के पेड़ लगे हुए थे.

आख़िरकार उससे और मुझसे रहा ही नहीं गया … और हम दोनों ने सररर्रर की आवाज़ के साथ एक दूसरे के मुँह में सूसू कर दी.

उस दिन ऑफिस में कुछ नया या रोचक नहीं हुआ … वही रोज की तरह पूरा दिन काम करते हुए ही गुजरा. उनके ससुर भी अपनी बहू के दूध पी रहे थे और होंठों पर किस भी करते जा रहे थे. जोधा के भाई का नाममेरी बीवी ने बिना कुछ समझे कांमांध रांड की तरह रोहित के वीर्य से सने हुए लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

भाभी जी पूछने लगीं- मिस्टर आप यहां कैसे?मैंने कहा- भाभी जी मेरा नाम मिस्टर नहीं बल्कि करन है … और मैं तो इसी होटल में रुका हूँ. उनके मुँह से ये सुनकर मेरा भेजा समझ गया कि आज मेम मस्ती के मूड में हैं. रास्ते में जाते हुए मैंने अपने एक स्कूल के दोस्त को फोन करके कह दिया कि एक कंडोम का पैकेट ले लेना.

जब उनका सब चेंज हो गया, तो मैं वहां से निकल कर हॉल में आकर बैठ गया. मैं उसके होंठों को एक बार फिर से चूसने लगा और हाथ से उसकी चूचियों को सहलाने लगा.

” ज्योति ने कराहते हुए कहा क्योंकि महेश के मोटे मूसल ने ज्योति की चूत को बुरी तरह से फैला कर चौड़ा कर दिया था.

मैंने बुआ की टांगों को फैलाया और फिर अपना विशाल लंड उसकी चूत के मुहाने पर रख कर एक धक्का दे दिया. उसके दूध के निप्पल एकदम गुलाबी थे, लग रहा था किसी ने आज तक छुआ तक नहीं!अब बॉस से रहा नहीं जा रहा था, वो तुरंत उठे और सोनम को अपनी गोद में उठाकर अपने रूम की तरफ चल दिए!ऐसा देख उनके दोस्त बोले- क्या हुआ? कहाँ चल दिए?बॉस बोले- ये बेचारी अभी कली है, इसको आराम से रूम में फूल बनाऊंगा!ऐसा सुनकर उनके दोस्त ने भी मुझे गोद में उठा लिया और बॉस से बोले- तुम उसको कली बनाओ और मैं इसकी चूत का भोंसड़ा बनाता हूँ. उसके बाद उसने मेरे चेहरे को पकड़ा और अपना चेहरा करीब लाते हुए मेरे होंठों पर होंठ रख दिए.

नेपाली भाषा सेक्सी मैंने जीजा से उनकी शर्त के बारे में पूछा तो वो कहने लगे कि तुमको मेरे सेठ दोस्तों से चूत चुदवानी होगी. नीरू के चूसने से मेरा लन्ड बिल्कुल तन गया था जिसे देख कर वन्दना के मुंह में पानी आ गया.

उसकी एक बात बहुत ही अच्छी थी कि वो और मेरे पति आपस में बहुत ही अच्छे दोस्त थे, तो मयूर कभी भी हमारे घर आ जा सकता था. उसने मेरी जांघ को पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और मुझे अपने ऊपर लिटा लिया. अभय ने मेरी चूत में लंड को पेल दिया और विवेक ने पीछे से मेरी गांड में लंड को डाल दिया था.

भोजपुरी गर्ल्स सेक्स

जब मैं खड़ा हुआ, तो चाची मेरा 6 इंच का लंड देख रही थीं, जो कि पूरा तना हुआ था. तो मैं बोला- सुबह प्रिन्स चला जाएगा; अभी टाइम है; चाहो तो एक बार और मज़ा ले लो. अब दोनों को विश्वास हो गया था कि मैं बेडरूम में सो गया हूँ जबकि मैं स्टडी रूम की विंडो से सब कुछ देख सुन रहा था और उनको डिस्टर्ब करना मैंने ठीक नहीं समझा.

इस बात के बाद हमारी कुछ दिन बात नहीं हुई और मुझे लगा कि एक ही लड़की मिली थी, वो भी गयी. उषा को देख कर प्रीति ने उषा से कहा- मुझे मालूम है कि यहाँ क्या हुआ है.

मुझे ताज़्ज़ुब हुआ कि दिन में जिस जगह इतनी चहल पहल होती है, वहां इस समय सन्नाटा था.

इस बात पर कोमल ने पास आते ही कहा- ये मेरे पहचान के हैं, इनका जो भी इंट्रो लेना हो, वो सब मुझसे ले लेना. क्या मैं आपके यहाँ नहा सकती हूँ? मुझे अपनी सहेली के यहाँ पार्टी में जाना है।मैंने कहा- हाँ नहा लो।पूजा अन्दर आई और मैंने दरवाजा बन्द किया. कई बार गलती से रात को जब चूचों पर हाथ चला जाता था तो मैं उनको अपने हाथों से ही दबाने लगती थी.

” सानिया ने हंसते हुए मेरा धन्यवाद किया।यह ‘थैंक यू’ तो ठीक था पर उसका मुझे अंकल संबोधन बिलकुल अच्छा नहीं लगा। मैंने ध्यान दिया इस आपाधापी में उसके होंठों पर लगी लिपस्टिक भी थोड़ी फ़ैल सी गयी है और गालों पर भी जो रंग रोगन किया हुआ है वह भी फ़ैल सा गया है।मेरे लिए तो यह सुनहरी मौक़ा था।मैंने सानिया को अपने पास आने का इशारा करते हुए कहा- अरे सानिया, यह तुम्हारी लिपस्टिक तो लगता है खराब हो गई है. मेरा मन कर रहा था कि जेठजी को बेड पर धकेल कर उनके ऊपर चढ़ जाऊं और पहली राउंड में जो ख्वाहिशें अधूरी रह गयी थीं, उन्हें पूरा कर लूं. ’मैंने मैसेज का जवाब दिया- मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि मैं आज दुनिया की सबसे खूबसूरत औरत से मिला था.

उस रात बिस्तर पर जाते हुए शबनम के दिमाग में केवल अंकित का ही ख्याल था.

पंजाबी सेक्सी बीएफ मूवी: मुझे ज्यादा दर्द तो नहीं हुआ, लेकिन मैं थोड़ा चिल्लाई … ताकि उसे लगे कि मेरी चुत टाइट है. फ़ोन सेक्स अब वीडियो सेक्स में बदल चुका था और हमारी एक दूसरे से मिलने की कामुकता और जोर काटने लगी थी। बहुत कोशिशों के बाद भी हर मौका नाकामयाब साबित हो रहा था।एक दिन उनके घर में गेस्ट आये थे तो उसकी मौसी और अमृता दोनों साथ सो रहे थे। इतने में मेरा वीडियो कॉल आया तो अमृता ने कॉल काट कर मेसेज में अपनी मौसी के पास होने की बात कही। वो अन्जान कहाँ जानती थी कि उसी की मौसी का खेल है जो हम साथ में हैं.

तब साकेत भैया ने अपने पैर फैला कर बीच में दीदी को बिठा लिया और दीदी का सर को पकड़ कर अपने लंड के तरफ झुकाया. उनकी चुदाई की कल्पना मैंने किस तरह से बुनी थी, ये भी काफी रसीली घटना है. ये कहते कहते उन्होंने मेरा एक हाथ अपने मम्मों पर रखा और मेरे हाथों के ऊपर अपना हाथ रखकर अपने मम्मों को जोर से दबा दिया.

उसने कहा- तो मुझे अब कब मौका मिलेगा मेरी जान?मैं बोली- अभी तो मुश्किल है, विक्की आ गया है.

तभी मैंने देखा कि विनय ने भी अपना लंड बाहर निकाल लिया था और वो लंड हिला रहा था. मैंने सोचा कि उससे भी पूछ लेता हूं कि वो भी ऑफिस पर जायेगा या साइट पर जायेगा. वो बोले जा रही थी- ये सब गलत है … ये पाप है, किसी को पता लगा … तो बदनामी हो जाएगी.