बीएफ चुदाई देसी

छवि स्रोत,xxxइंग्लिश सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

क्सक्सक्स हिंदी: बीएफ चुदाई देसी, इंडियन आंटी पोर्न कहानी एक ऐसी महिला की है जिसके पति उससे अक्सर दूर रहते हैं.

मर्दों की सेक्सी वीडियो

उसने भी कह दिया कि कोई दिक्कत नहीं है।उसके ये कहते ही सारा उस पर टूट पड़ी और चूम चूम कर उसे निहाल कर दिया. इंग्लैंड इंग्लैंड सेक्सी वीडियोदीदी की चूत की चिकनाई से सराबोर मेरा लंड अब जब दीदी की चूत में जाता तो उसकी चूत फच फच की आवाज कर रही थी.

ओमी अंकल मुझे देख कर बोले कि तुम तो 8 बजे बोल रही थीं … और यहां तो साढ़े सात बजे से इतनी भीड़ हो रखी है. ব্লাক সেক্স ভিডিওरमेश अंजलि के बदन को चाट चूम रहा था और अंजलि रमेश के लंड को आगे पीछे कर रही थी.

मैंने चुपके से दीदी की चूत पर होंठ रख दिये और दीदी की चूत को चाटने लगा.बीएफ चुदाई देसी: क्योंकि अगर कोई इंसान गुस्सा हो और उस गुस्से में भले सारी गलती उसी की हो, लेकिन अगर आप उसको गलत बताओगे, तो फिर वो किसी की नहीं सुनेगा.

ज्योति भाभी दिखने में इतनी प्यारी थीं कि मैं खुद सोचता था कि इतनी प्यारी और खूबसूरत औरत मुझे कैसे पसंद कर सकती है.मैंने सोचा चलो कम से कम और कुछ ना सही पास में सोने का ही सुख मिलेगा।उसके बाद वह ऊपर चढ़कर आ गई और मेरे बगल में लेट गई।अब स्लीपर तो इतनी चौड़ी होती नहीं है कि बीच में गैप रहता.

सेक्सी गर्ल xxx - बीएफ चुदाई देसी

मेरी दूल्हा दुल्हन सेक्स कहानी के पहले भागशादी के बाद सुहागरात की तैयारीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने अपनी बीवी के ब्लाउज को खोलने लगा था.सीमा ने कहा- अब देर न करो राजा, पहले एक बार मेरी चुत में लंड पेल दो … बाकी का मजा हम दोनों अगले राउंड में करेंगे.

दरवाजा बंद करके वो दरवाजे से ही अपनी पीठ लगा कर मेरी तरफ कामुकता से देखने लगी. बीएफ चुदाई देसी कुछ पल के बाद मैं अपने दोनों हाथों से उसकी दोनों चूचियों को दबाने लगा.

उसने मुझे कुछ और दूसरे डायरेक्टर्स से मिलवाने की बात भी कही थी, जो पोर्न एक्ट्रेस बनने के मुझे दस से बीस लाख तक दे सकते थे.

बीएफ चुदाई देसी?

उसने अपने बेटे रोहन के लंड के सुपारे पर एक बार जीभ फेरी और लंड के प्रीकम का स्वाद लेकर एकदम भूखी शेरनी की तरह लंड पर झपट पड़ी. रोहन को ये सब देख कर विश्वास ही नहीं हो रहा था कि ये सब क्या हो रहा है. जैसे ही मुझे मेरी भतीजी की चुदाई का मौका मिलेगा मैं आप लोगों को जरूर बताऊंगा.

आज मैं आपको एक सच्चा दोस्त बनाना चाहता हूं, जिसमें कोई लिमिट ना हो. उसके इस धक्के में आधा लंड मेरी चूत के अन्दर आसानी से घुस गया क्योंकि अभी मेरी चूत एकदम गीली थी, जिसमें से मेरा पानी टपक रहा था. वो उस किताब पढ़ने में इतनी मस्त थी कि उसे ये भी ध्यान नहीं रहा कि मैं उसके कमरे में आ चुका हूँ.

शुरू में मेरा कोई ऐसा इरादा नहीं था, पर बाद में सब कुछ होता चला गया. अब मैं उसको क्या बोलता कि तुम्हारी मम्मी ने अपनी चूत चुदवा कर मेरी रात बहुत शानदार बना दी. फिर मैंने उसको बेड पर लिटा दिया और उसके सामने से आकर उसका लौड़ा चूसने लगी.

अब वो समय आया, जब रोमी ने सरिता से कहा- आओ, अपनी गांड मेरी तरफ करो. अब कुसुम ने बोलना शुरू किया- देखो रोहन … जो हम लोग आज करने वाले थे, वो एक तरह का पाप है.

प्रिया ने मेरे अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड को सहलाया और फिर कच्छे में अंदर हाथ दे दिया.

पहले मैंने सत्यम के लंड को अपने दोनों हाथों में लेकर खूब मसला और खूब प्यार से सहलाया.

मैं मस्त होने लगी और मेरे मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं- आह इईईई … ऊऊऊह … ऊमम्म!अब मैं गर्म सिसकारी भर रही थी और रमेश मेरे जिस्म के मजे ले रहा था; मेरे मम्मों को चूस रहा था और मेरी गांड पर थप्पड़ लगाए जा रहा था. बड़ी बड़ी चुचियां, गोल गोल बाहर को निकलते हुए चूतड़, पतली कमर, गोरा रंग … बड़ी मस्त माल लगने लगी थी मैं!सुरेश और मैं कभी कभी स्कूल से तालाब पर चले जाया करते थे. उसका खिलखिलाता हुआ चेहरा, उसकी मुस्कराहट मुझे आन्दोलित किये जा रही थी.

उसने मुझे किस करने के बाद हल्का सा पीछे की ओर झुका दिया और मेरे रसीले मम्मों का रस दबा दबा कर पीने लगा. मैं काम भरी सिसकारियां ले रहा था- आहा अहा … चूसो और चूसो!पूजा बोली- मज़ा आ रहा है ना आकाश!मैंने बोला- हां यार, बहुत मज़ा आ रहा है … तुम कितनी अच्छी हो, काश मुझे तुम्हारे बारे में पहले क्यों नहीं पता चला. रोज सवेरे कपड़े सुखाने जब वो छत पर आती, तो मैं उसे काम पिपासु नजरों से ताड़ता रहता.

फिर क्या हुआ?रानी से अफेयर चलते हुए कई महीने हो चुके थे, लेकिन अभी तक हमें ऐसा कोई मौका नहीं मिला था कि हम टूट कर एक दूसरे से प्यार कर सकें.

जब जब मामा का लंड मामी की चूत में जा रहा था तो मैं उनके लंड को अपनी चूत में जाता हुआ महसूस कर रही थी।मैं सोच रही थी कि कोई मेरी चूत में भी ऐसे लंड डाल दे।अब मामा तेजी से मामी को चोद रहे थे. आंटी ने लंड को वापस अपनी चूत में ले लिया और जोर जोर से नीचे से धक्के देने लगीं. जब मैंने मटन ले लिया, तब रमेश से पूछा- क्या हॉट ड्रिंक लेना है?वो बोला- हां व्हिस्की ले ली जाए और लेडीज के लिए कोकाकोला ले लेते हैं.

कुछ ही समय में मैं उसके घर आ पहुंचा और हम दोनों पहली बार रूबरू हुए थे. बाद में मैंने उसकी टांगें ऊपर उठा दीं और उसकी गांड के छेद में जीभ लगा दी. मैंने उनसे ना कहा लेकिन वे नहीं माने और सीधे जाकर मेरी चूत को चूसने लगे.

उस वक्त जब किसी ग्राहक को सामान देने के लिए जब आंटी उठती थीं, तो मेरे मुँह के सामने अपनी बड़ी सी गांड मटकाते हुए जातीं.

हुआ ऐसा था कि दिल दिल ही मेरी किराएदार भाभी मुझे पसंद करने लगी थीं, जिसकी मुझे थोड़ी सी भी भनक नहीं थी. उसको लगा कि अगर अब ये सब तुरंत बंद नहीं हुआ तो सारा अगले कुछ मिनटों में उनके और अपने कपड़े उतार फेंकेगी.

बीएफ चुदाई देसी मैंने भी मौके की नज़ाक़त को समझते हुए उसकी चूत पर लंड रख दिया और एक जोर से धक्का मारा तो आधा लंड अन्दर चला गया. उसकी गांड फट गई थी तो वो थोड़ा चीख रही थी मगर मैंने उसे हचक कर चोदा और दस मिनट तक उसकी गांड मारी.

बीएफ चुदाई देसी मैं अपनी बेहन की टांगों में बीच में आ गया और उसकी चुत पर लंड सैट कर दिया. मैंने ध्यान से उसके गोरे पैर को अपने हाथों में लिया और ध्यान से देखा.

शेखर उस दिन अपने ऑफिस में ही रुक गया था, जिससे कुसुम और रोहन को स्पेस मिल सके.

बीपी व्हिडिओ गुजराती

मैंने देखा कि उनके रूम का टीवी चालू था और वो पलंग पर लेटी हुई अपने पैरों के बीच में अपने हाथ से कुछ कर रही थी. वो अपनी मोटी उंगलियों और हब्शी लंड, दोनों से जेठजी मेरी चूत को चोद रहे थे. मैं सोनू के साथ ही ऊपर वाले रूम में उसके बेड पर सोया था और सोनू का छोटा भाई मोनू भी उसी कमरे में हमारे साथ बेड पर सोया था.

मैंने इसके जवाब में उसको लिखा- हां क्यों नहीं, जब तुम्हारा मन करे, तब चोद लेना. सामने वाली भाभी अपने पैर की उंगलियों से मेरी उंगलियों को टच कर रही थी और मेरी तरफ अलग ही नज़र से देख रही थी. मेरे साथ दिक्कत ये होने लगी कि मैं की-बोर्ड और माउस और सारा ध्यान सामने एक साथ तीनों चीजों पर नहीं कर पा रही थी, इसी लिए मैं जल्दी ही हार गई.

जेठजी के सामने नंगी होकर अपने अंगों का प्रदर्शन कर जेठजी को आकर्षित कर रही थी.

उसके होंठ भी एकदम सूख चुके थे, लेकिन मैंने फिर भी उसके होंठों को नहीं छोड़ा था. उसके उठते ही सारा ने उसे चूमा और पूछा- रात क्या खाकर आये थे? इतनी जबरदस्त चुदाई की और मम्में तो लाल कर दिए चूस चूस कर. मेरे धक्कों की रफ्तार धीरे धीरे बढ़ने लगी और उसके पूरे बदन पर मेरे हाथ और होंठ घूमने लगे.

कुछ देर बाद मैं सत्यम के लंड से हटी तो मम्मी सत्यम का लौड़ा चूसने लगीं और मुझे भी अपने साथ सत्यम को लौड़ा चुसवाने लगीं. सुरीली मोटे लंड के कारण बार बार दर्द की वजह से तड़फ रही थी और बार-बार ऊपर उठे जा रही थी. मेरी दोस्ती फेसबुक पर एक लड़की से हुई। एक दिन मैंने उससे बूब्स दिखाने को कहा।प्रिय मित्रो, मैं बनारस के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ का छात्र हूं।मैं आपको अपनी एक कामुक घटना बताना चाहता हूं क्योंकि मैंने इससे पहले कभी इस तरह की कोई रचना नहीं की और न ही किसी से इस तरह की बातें शेयर की हैं।उस वक्त में बी.

लकी ने टोका तो सारा बोली- यहाँ नोएडा में दो तीन महीने रह लो, तुम भी साले, बहनचोद, फट गयी जैसे शब्दों के बिना बात नहीं करोगे. जेठजी अपने एक हाथ को नीचे लाए और अपने लंड को बीच में पकड़ कर सुपारे की चमड़ी को पीछे कर दिया जिससे उनका बैंगनी रंगत वाला सुपारा पूरा नंगा हो गया.

फिर घर आकर जब शीना ने वो पैंटी पहनी, तो उसको अपनी गांड में अजीब सा लगा. मेरे ईमेल पर मैसेज में अपनी राय दें।आप कहानी पर कमेंट्स में भी अपना फीडबैक दे सकते हैं।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]. मैंने देखा तो कंडक्टर के साथ एक लड़की थी।कंडक्टर बोला- भाई, आपका केबिन बड़ा है और बस में सीट खाली नहीं है, मैडम को भी अजमेर जाना है।तभी वो लड़की बोली- मैं पुलिस में हूं.

जब उससे नहीं रहा गया, तो उसने मेरे लंड के टोपे को अचानक से अपने होंठों से छू लिया.

आंटी एक पैग पीने के बाद मुझे अपने मायके और अपने बचपन के बारे में बताने लगीं. मैंने उन्हें बेड पर सीधा लिटाया और उनकी चुत को धीरे धीरे मसलने लगा. जोरदार धक्के लगाते हुए मैं उसकी पीठ को काटने लगा और उसके गांड दबाने लगा.

अब मेरा नंबर था तो मैंने उसके सिर को पकड़ा और अपने लौड़े को उसके मुँह में अन्दर तक घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा. मैं- तो फिर तूने अपने कॉलेज में क्यों किया?वो बोली- अब तुम इस बात को भूल जाओ.

यह स्टोरी मेरी और छोटी (बदला हुआ नाम) के बीच हुए सेक्स की है। यह कहानी जुलाई 2019 की है।छोटी की उम्र 25 साल, रंग गोरा, कद पांच फीट और पांच इंच है. रिट्ज हद से ज़्यादा गोरी थी और इस सफेद रंग की फ्रॉक में वो एकदम सेक्स डॉल लग रही थी. नानी के घर हम दोनों साथ सो रहे थे कि उसने मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया.

समलैंगिक अश्लील

मैं, छोटे मामा, मेरी छोटी मौसी और मीनू हम चारों छत पर सो रहे थे।रात को 12 बजे के करीब मेरी आंख एकदम से खुल गयी.

मैंने पहले से ही कई सपने देख रखे थे कि मेरी होने वाली बीवी ऐसी होगी, वैसी होगी. ये हम दोनों का दूसरा राउंड था, इसलिए हम दोनों में से कोई भी जल्दी झड़ने वाला नहीं था. तो मैंने फोन उठाया तो उसकी आवाज आई- मैं बोल रही हूँ, तुम मेरे कमरे में आ सकते हो.

तभी अचानक से पापा बोले- अरे सपना, तुम्हारा इंटरनेट खराब हो गया है, तो अंकल के साथ चली जाओ. मैंने फिर से दूध चूसना शुरू किया तो उसने कोल्डड्रिंक की कैन को खोल कर अपने दूध पर गिराना शुरू कर दिया. ब्लैक लैंड से चुदाईअब मेरा भी होने वाला था तो मैंने उसके मुँह से अंडरवियर निकाला और किस करके उससे पूछा- बेबी, मैं आने वाला हूँ … बताओ कहां निकालूं?वो बोली- मेरा भी होने वाला है राज … तुम अपना वीर्य मेरी चूत में ही निकाल दो.

मैंने अपना लौड़ा उसके मुँह में दे दिया और मैं उसकी चूत को चूसने लगा. निशा भाभी- अह अह अह ओह ओहीई मां मज़ा आ गया, चूसो इसे मेरी जान जोर से पी जाओ इसका सारा का सारा रस … अ आहा चाटो इसे … बहुत मज़ा आ रहा है ओह.

ज्यादा से ज्यादा बीस सेकंड ही बहन ने अपनी चुत की चटाई के लिए टांगें फड़फड़ाईं, फिर खुद ही चुत खोल कर मेरे मुँह में देने लगी. उन्होंने एक ग्लास में मेरे लिए कोल्डड्रिंक निकाली और अपने लिए पैग बना लिया. अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली सेक्स कहानी है और यह मेरे साथ घटी हुई सच्ची सेक्स कहानी है, जो सन 2007 में घटी थी.

वो भी मेरी तरह बहुत जोर-जोर से चूस रही थी जैसे आज लौड़े को खा ही जाएगी।मेरे मुँह से आह्ह … आह्ह के अलावा कुछ नहीं निकल रहा था।मैं जैसे सातवें आसमान पर था।इतना मजा लंड को इससे पहले कभी नहीं मिला।अब मुझसे भी रुका न जा रहा था. इतना बोलते ही मैं फिर से उसकी चूचियों पर टूट पड़ा और उसकी चूचियों को बुरी तरह से चाटने चूसने लगा. दूसरे ही हफ्ते मैंने कल्पना की गांड की चुदाई भी की और हम दोनों ने एक दूसरे का पानी का स्वाद भी ले लिया.

उसने तुरंत अपना लंड बाहर निकाल लिया और अपनी मॉम को पलट कर उसके चेहरे के पास लंड ले आया.

मैं नवीन की बातों में आकर्षित होने लगी और उसके साथ रोज चैट करने लगी. पर वो उठीं और दरवाजे के पास जाकर कुंडी लगा कर पीछे मुड़ कर मुस्कुराने लगीं.

अब चूंकि कमल नशे में नहीं होता तो सारा चैटिंग नहीं कर पाती और मजबूरी में उसे कमल से चिपक कर सोना पड़ता था. मैं सोच रहा था कि काश इस डंडे की जगह मेरा लंड मामी की चूत में जा रहा होता. इस पर मैंने पूछा- मगर क्यों?वो बोली- मम्मी-पापा कल शाम को आएंगे। तब तक हम दोनों चुदाई करेंगे।मैंने उसको बोला- अगर मैं लेबर की छुट्टी कर दूंगा तो मेरी कमाई कैसे होगी?वो बोली- तुम उसकी चिंता न करो।वो उठी और अलमारी में से पांच हजार रुपये निकाल कर मुझे देने लगी।इस पर मैंने पूछा- ये रुपये किसलिए?वो बोली- ये रुपये तुम रखो.

कुछ देर मेरे स्तनों से खेलने के बाद मैंने सत्यम की शर्ट को उतार कर उसके पूरे बदन पर खूब चूमा और काटा. इसी तरह चार बजे तक हम दोनों मां बेटी एक साथ एक ही लंड से बारी बारी से चुदे और झड़ कर अलग हो गए. ये देखकर रोहन के मुँह में पानी आ गया और तभी कुसुम रोहन का नाम लेते हुए झड़ गई.

बीएफ चुदाई देसी मेरे हर धक्के पर उसके मुँह से एक आह निकल रही थी, वह भी अब वासना के नशे में मुझे जगह जगह से काट रही थी. दोस्तो, मैं रोहित अग्रवाल एक बार फिर से अपनी एक और सच्ची कहानी लेकर हाजिर हूँ.

xxxहिंदीवीडियो

उस समय भी भाबी को लंड नहीं मिलता था और वो अपनी चुत के लिए लंड की तलाश करने लगी थी. तो सारा ने कमल से कहा- तुम्हारा अपनी किसी ऑफिस की लड़की से चक्कर तो नहीं है?कमल हंस कर बोला- तुम छोड़ती कहाँ हो इस लायक कि किसी से चक्कर चला सकूँ!सारा ने फिर चूसने की स्पीड बढ़ाते हुए उससे कहा- मुझे तो बुरा नहीं लगेगा अगर तुम बेड पर किसी और लड़की को भी ले आओ. अभी मुझे जाने दो मेरे राजा … मैं जल्द ही अपनी चूत तुमको देने आऊंगी.

मैंने भाभी के मम्मों को चूसते हुए ही उनके पेटीकोट का नाड़ा खोल कर गिरा दिया, जिससे भाभी अब सिर्फ ब्रा और पैंटी में आ गई थीं. वो बार बार उसके लोहे जैसे लंड को अपनी चूत पर महसूस कर रही थी जिससे उसकी चूत दिन भर गीली बनी रहती थी. ब्लू पिक्चर दिखाएं वीडियो सेक्सीआगे से रमेश का लंड चूत फाड़ रहा था, पीछे से दीवार, मेरी गांड में चांटे मार रही थी.

मुझे बस ऐसा लग रहा था कि अभी के अभी इसकी गांड में अपनी जीभ डाल कर चाटने लग जाऊं.

उसके मुँह में पानी आ गया और वो बुदबुदाने लगा- आह आज तो तेरे इन रस भरे संतरों को पूरा निचोड़ डालूंगा. मैंने ट्रेन एसी फर्स्ट में अपनी सीट बुक कराई थी, जिसमें मैंने मेरा पर्सनल केबिन बुक कर रखा था.

मैं वहीं रुक गयी।उन सबके जाने के बाद मैं समीर के रूम में गयी।वो लेटा हुआ था. वहां जा कर मैंने दरवाजा लॉक करके उसको बांहों में भर लिया और अब वो भी मेरा साथ दे रही थी. थोड़ी देर बाद जब अचानक आंखें खोलीं, तो उसने पाया कि मैं उसके बोबों को घूर रहा हूं.

लेकिन मुझे इसी वीक पक्के में जाना है … अब चाहे कोई भी चले मेरे साथ … चाहे तो मम्मी ही चली चलें.

कुछ ही पलों के बाद शेखर धीरे से नीचे सरक गया और उसकी साड़ी और पेटीकोट को ऊपर उठा कर अपना मुँह उसकी चूत के पास लगा दिया. उनकी उम्र 43 साल है, लेकिन दिखने में वो 30-32 से ज्यादा की नहीं लगती हैं. दोस्तो, मेरी फंतासी के पहले शिकार के रूप में मेरे भाई का दोस्त मिला था.

लड़ाई वाला सेक्सी वीडियोन्यूड भाबी चुदाई कहानी में पढ़ें कि दूध वाला अपने गाँव चला गया तो भाबी को लंड मिलना बंद हो गया. फिर एकदम से मामा ने उसकी चूत में उंगली दे दी और अंदर बाहर करने लगे।दीदी मदहोश सी होने लगी थी.

झांसी आईपीएस

मेरी बहन ने जैसे ही अपनी चुत पर लंड का गर्म अहसास किया, वो अपनी गांड उठाने लगी और लंड कि अन्दर पेलने की कहने लगी. मैं समझ गया कि लौंडिया आज चुदाई के मूड में ही आयी है और पूरे मजे लेना चाहती है. आह क्या बताऊं … उस वक़्त वो इतनी सेक्सी लग रही थी कि अगर उसकी मम्मी न होतीं … तो उसको वहीं पटक कर चोद देता.

ये चुम्बन काफी देर तक होता रहा, जिसके बाद रिट्ज ने अपने ऊपर के कपड़े उठा कर मेरे मुँह में अपनी चुचियां भर दीं. कुछ देर मेरे स्तनों से खेलने के बाद मैंने सत्यम की शर्ट को उतार कर उसके पूरे बदन पर खूब चूमा और काटा. मैं भी अपने हाथों को पहले उनके कंधे पीठ कमर पर लाया फिर उनकी मोटी मोटी गांड पर सहलाते हुए मसलने लगा.

वो एकदम से चिहुंक गई और अपने चेहरे से मेरे लंड से निकले रस को साफ़ करने लगी. इंडियन सेक्सी भाभी चुदाई का मौक़ा मुझे मिला तो मैंने देर नहीं की और भाभी को नंगी करके चोद दिया. पांच मिनट बाद भाभी झड़ने वाली थीं तो उन्होंने मुझे पीछे को किया और झड़ गईं.

मैंने उससे कहा- तू कम्बल में घुस जा … ताकि वो आई तो उसे लगेगा मैं मुठ मार रहा हूँ और तू सो रही है. मधु वासना से बोली- आह डार्लिंग और मत तड़पाओ … अब मुझसे रूका नहीं जा रहा है … प्लीज अन्दर डाल दो.

आह कसम से … उसके लाल लाल होंठों को देखकर मैं अपने होश खोने लगा और इच्छा तो ऐसी हुई कि अभी ही उसके सुर्ख और जबरदस्त सेक्सी होंठों को अपने दांतों से चबा जाऊं.

कुछ देर तक अपनी चूत चुसाने के बाद मैं उठ गई और उसको चूमते हुए उसके कपड़े उतारने लगी. मोनालिसा के सेक्सी वीडियो भोजपुरीमैंने आने के लिए टाइम पूछा, तो वो बोलीं- आप दोपहर को कभी भी आ सकते हैं. సెక్స్ వీడియోస్ teluguमैंने रिप्लाई लिखा- कैसी भी शर्त हो … मुझे सब मंजूर है, तुम मिलो तो सही. मैं आप सबको बताना चाहता हूँ कि मेरी कहानी 100% सत्य घटनाओं पर आधारित होती है।बात तब की है जब मैं 12वीं में पढ़ता था और आगरा वाले घर में आया ही आया था.

वो मेरी गांड पर हाथ फिराते हुए मेरे लंड को पूरे जोश में चूस रही थी.

वैसे नासिर जी की बीवी को पहले से दमा की बीमारी थी इसलिए उनका बचना नामुमकिन हो गया था. मैंने हल्के हाथ से उसकी ब्रा उतार दी और उसके मम्मों को आजाद कर दिया. कोमल- इस समय मुझे एक डर का सा अहसास हो रहा है, फिर भी कोशिश करूंगी कि आपको शिकायत का मौका न मिले.

मैं पहले दिन की तरह आज भी उनसे काफी देर तक बातचीत करके दुकान बढ़वा कर ही घर अपने आया. उनका पानी और मेरा पानी दोनों मिल चुके थे जो मेरे लंड और उनकी चुत को लिसलिसा कर रहा था. कुछ देर तक यूं ही हम दोनों ने एक दूसरे के कामुक शरीर का नापतौल किया और उसके बाद नवाब मेरे ऊपर झपट पड़ा.

पीके सॉन्ग

तुम्हारी इतनी कसी चूत तो किसी बिना चुदी हुई लड़की की ही होगी, जो अभी मिलना मुश्किल है. जेठ से चुदाई का मजा कहानी के पिछले भागजेठानी के कमरे में जेठजी संग सेक्समैंने पति को बताया कि जेठ जी के मोटे लंड का सुपारा मेरी आंखों के सामने आया तो मैं इतना मोटा सुपारा देख कर घबरा गई थी. आज ये मेरे लिए सबसे ज्यादा खुशी का दिन था, जो मैं राज़ से चुद रही थी.

इस पर शीना ने एक कातिलाना मुस्कराहट दे दी और बोली- नहीं भैया, ऐसा कुछ नहीं है.

अब आगे न्यूड भाबी चुदाई कहानी:सरिता भाभी ने रोमी को देखा तो उससे कहा- क्यों बे … मुझे चोदने आया है?रोमी को भाभी के मुँह से इतनी खुली बात सुनकर साहस आ गया और वो बोला- हां … मैं तुमको खूब चोदना चाहता हूँ.

फिर 10-15 मिनट बाद उनका फिर से चुत चोदने का मन करने लगा लेकिन मैं तैयार नहीं थी. मैं तो इधर इसीलिए रहने आई हूँ ताकि उसे भरोसा हो सके कि मैं परिचितों के बीच रहती हूँ. औरत की योनि कितनी गहरी होती हैजेठजी ने अपने बड़े मुँह को खोल कर मेरी पूरी की पूरी चूची को अपने मुँह में ले लिया और चूची को अन्दर तक ले जा कर जोर जोर से चूसने लगे.

लड़की जब उलटा बैठ कर जोर जोर गांड ऊपर नीचे करती है, तो उसी गांड को देखने में बहुत मजा आता है. हमारी बातें बढ़ने लगीं, तो वो बोली- तुझे पता है, तू मेरा पहला क्रश था. इससे वो गुस्सा हो गईं और बोलीं- निकाला क्यों?मैंने कहा- मेरा होने वाला है, कहीं अन्दर निकाला तो गड़बड़ हो जाएगी.

मैंने कहा- पूजा, तूने पंकज को मना कर दिया था मगर मैं तो तेरा भाई हूँ. सत्यम जब मम्मी के साथ होता, तो वो उनका पति लगता … और मुझे तो सब सत्यम की पत्नी ही मान रहे थे.

हालांकि आज भी अभय उसका बॉयफ्रेंड है, लेकिन मैं उसके ज्यादा करीब हूँ.

मैं नीचे बाथरूम की जमीन के ऊपर टब के साथ पीठ लगा कर बैठ गया और दोनों पैर आगे की ओर कर दिए. उसके घर और मेरे घर के बीच में जो छत थी, वो एक खाली घर था, उस घर में कोई रहता नहीं था. नवाब ने अपना टोपा मुँह में रखा और पीछे से मेरा सर अपनी तरफ खींच दिया जिससे उसका पूरा लौड़ा मुँह में घुस गया.

काजल अग्रवाल नंगे फोटो करीब 10 मिनट बाद आंटी झड़ गईं और उन्होंने अपनी चुत टाईट करके मेरे लंड को जकड़ लिया. तकरीबन दस मिनट तक जानलेवा बुर चटाई करवाने के बाद मैं पूरी अकड़ गई और अपनी गांड उठाते हुए उसके मुँह में झड़ गयी.

लेकिन उन मादरचोदों ने मेरी चूत के अन्दर माल छोड़ दिया था, जो मैं नहीं चाहती थी. वो दवाई ढूंढ रही थी और मैं उसको पीछे से पकड़ कर उसकी चुच्चियों को दबा रहा था. एक दिन मैंने काफी सारी ब्लू फिल्म्स डाउनलोड कर लीं, जिसमें मुझे कुछ अलग सा मसाला मिला.

वीडियो चोदा चोदी

इकबाल खुश होकर बोला- वाह रे अंजलि, तू आज इतने दिन बाद यहां कैसे आयी?मैंने उसे अपनी आपबीती सुनाई. आई लव यू सुनील!मैंने भी दीदी को बांहों में भर लिया और फिर से हम दोनों एक दूसरे से लिपट गये. मैंने दीदी को बोला- देखो, क्या आपको ऐसा ही लड़का चाहिए था?उसने मेरी तरफ देखा.

मैंने कहा- क्यों तुम्हें क्या लगता है क्या मैं किसी काम का नहीं हूँ. भाभी बोलीं- क्यों नहीं बनाई जीफ!मैंने कहा कि मुझे लड़कियों से बात करने में बहुत शर्म आती है.

मैं अच्छे से ड्रेसअप करके आऊंगी और तुम भी शरीफों का सा ही व्यवहार करना.

वो हाथ को रखे रही और मैं भी बैठा रहा लेकिन मेरा लंड खड़ा होने लगा था. तो उसने क्या खेल खेला?दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का पुराना पाठक हूं और आपको एक सेक्सी गर्ल हॉट स्टोरी कहानी बताना चाहता हूं. सारा को नीचे लिटा कर लकी तो उसकी चूत में उंगली देकर उसको चिकनी करने लगा.

दस मिनट के बाद रमेश ने अंजलि की गांड में से लंड निकाल लिया और मंजू को बोला- अब मैं तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ. दीदी को भी लंड का मजा मिल रहा था और वो मेरे पूरे बदन पर हाथ फिराते हुए चुदने का मजा ले रही थी. मैं तुरंत ही बोला- अपने पति की तरह नामर्द समझी हो क्या? जब तक तू आह आह से बाप बाप तक नहीं बोलना शुरू नहीं करेगी, तब तक छोड़ने वाला नहीं हूँ.

तभी मेरी बहन ने अपने बैग से रूमाल निकाला और अपनी चूत को पौंछते हुए नीचे रूमाल लगा दिया.

बीएफ चुदाई देसी: ऐसा मैंने पॉर्न वीडियोज में देखा था तो आज सोचा कि लंड मुँह में लेकर देखता हूँ. ऐसा कहते हुए मैंने पूरा लंड चुत में पेल दिया और तेजी से अन्दर बाहर करने लगा.

उसने मुझे कुछ और दूसरे डायरेक्टर्स से मिलवाने की बात भी कही थी, जो पोर्न एक्ट्रेस बनने के मुझे दस से बीस लाख तक दे सकते थे. मेरी बहन बोली- जब भी तुम्हें भाभी की याद आती है, तो क्या तुम ऐसे ही करते हो?मैंने उसकी बात समझ ली कि ये मुठ मारने की बात कर रही है. वह लंड को जैसे चूस रही थी, उसे मैं शब्दों में बयान ही नहीं कर सकता.

वो मेरी फुद्दी में लंड पेल कर कभी मेरी गांड पर थप्पड़ मारता और उनको दबाता.

थोड़ी देर बाद शीना अपना एक हाथ पीछे करके पीयूष के लौड़े को, जिसको वो चूहा समझ रही थी … हटाने लगी, तो उसका हाथ सीधा अपने भाई के लौड़े से टकरा गया. दोस्तो, ये मॉम एंड सन Xxx कहानी आपको कितना उत्तेजित कर पाई है, प्लीज़ मेल करें. फिर बताना।प्रिया बहुत जोर से हँसने लगी।फिर हमने दो दिन बाद मेरे फ्लैट पर मिलने का प्रोगाम तय किया।वो निर्धारित टाइम पर आ गई.