हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी भाई बहन

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ मूवी विदेशी: हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में, भाभी के जिस्म के स्पर्श को महसूस करके मैंने अपना पानी निकाला और फिर मैं शांत हो गया.

पिक्चर नंगी फिल्म

अब मेरा लौड़ा पूरा अन्दर उसकी बच्चेदानी तक जाने लगा।उसने अपनी चूत को टाईट करना शुरू कर दिया और तेज़ तेज़ लंड के झटकों से उसकी सिसकारी निकल पड़ी और इसी दौरान उसके मुंह से सीत्कार फूटे- आह्ह … आह्ह … ओह्ह …ऐसे करके वो झड़ गई और उसकी चूत के पानी से मेरा लंड पूरा गीला हो गया. सेक्सी फोटो गैलरी देखिएइस बार फूफा ने अम्मी की चुत में लंड पेला और सटासट अन्दर बाहर करने लगे.

हर धक्के के साथ उसके स्तन उछल जाते, तो मैंने अपना एक हाथ उसके स्तनों पर रखकर मसलने लगा. तमिल सेक्सी चुदाईथोड़ी देर बाद मैंने लंड निकाल लिया और थूक से गीला करके फिर से घुसा दिया.

शाम को खाना आदि हुआ और रात को सब सोने के लिए अपने अपने कमरों में चले गए.हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में: चूंकि बोर्ड के एग्जाम थे, बस पढ़ाई करने की धुन सवार थी कि कैसे भी करके एग्जाम अच्छे नम्बरों से पास करना था.

लेकिन उसके अलावा मुझे किस किस के सामने अपना सेक्सी बदन पेश किया?आपने अब तक की सेक्स कहानीबेटे के भविष्य के लिए कई मर्दों से चुदी-1में पढ़ा कि मैं अपने बेटे की ख़ुशी के लिए एक पुलिस इंस्पेक्टर से चुदवाने के लिए राजी हो गई थी.”आपको खुश करना होगा? कैसे खुश करना होगा?”वैसे ही, जैसे एक औरत एक मर्द को करती है.

సెక్స్ వీడియోస్ హీరోయిన్ - हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में

कुछ देर के बाद उसने फिर तेजी से धक्के लगाते हुए अंदर पानी छोड़ दिया और फिर वो उठ गया.बुआ बोलीं कि और हम लोग दूध निकालने जाते हैं … लेकिन इतनी जल्दी जाने में हमें डर लगता है.

मैंने जब बारहवीं पास की, तो मुझे दूसरे शहर में सिविल इंजीनियरिंग में एड्मिशन मिल गया. हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में सुमन की शादी को तीन साल पहले हो गई थी और खुशबू की शादी को एक साल हुआ है.

उस दिन सागर भी था हमारे घर पर!जब सब प्रोग्राम खत्म हो गया तो सागर भी जाने लगा.

हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में?

मैंने कहा- क्या तुमको लड़कों की तरफ देखना पसंद नहीं है या तुम लड़कियों को भी नहीं देखती हो?वो हंस दी और बोली- मैं इस शहर में अकेली रहती हूँ और शायद मेरे मन में लड़कों को लेकर कुछ डर सा रहता है. फिर मुझे नीची आवाज़ में बोली- मेरे जानू, जब भी मुझे टाइम मिलेगा तो मैं तुम्हें कॉल कर दूँगी. कुछ देर बाद उन्होंने मुझे पलंग पर पेट के बल लेटा दिया और गर्दन पीठ को चूमते हुए मेरे चूतड़ों को चाटने लगे.

मैंने सलोनी भाभी को देखते हुए कहा- हां ठीक है मम्मी, मैं चला जाऊंगा. तो मैं निढाल होकर बेड पर लेट गई और अपने बदन को टाइट करके उसके धक्कों का सामना करने लगी. मेरी ननद गर्म ही चुकी थी। ननदोई ने अपने लंड उनकी चूत के ऊपर सेट कर दिया और धक्का देने लगे तो उनकी चीख निकल गई ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’लेकिन साथ ही ननदोई उनके मुंह पर हाथ रख दिया और चुदाई की गति को तेज करने लगे.

उधर से हम सब सीधे मैरिज गार्डन में आ गए … जहां शादी का प्रोग्राम था. मैंने सोच लिया था कि अब तो सावधानी हटती रहेगी और इसी तरह कई बार दुर्घटना घटती रहेगी. वैसे तो उसका एक 3-4 साल का एक बच्चा है, लेकिन देखने में वो एक कॉलेज गर्ल जैसी थी.

जैसे मॉम को 4 आदिवासियों से चुदवा दिया, मॉम की सहायता से बुआ को चोदा, ये सब बारी बारी से अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा. और इस तरह से अलग अलग काफी देर तक चोदा।जब उसका जूस निकलने वाला था तभी धीरे से वो मेरे कान में फुसफुसाया- ईशानी, मेरा जूस निकलने वाला है, बताओ कहाँ निकालूँ?तो मैंने कहा- अभी मुझे कोई खतरा नहीं है इसलिए आप मेरी चूत में ही झड़ जाओ.

कुछ देर बाद उसने अपनी टांगें पूरी हवा में उठा दीं और मैंने भी उसकी चूत की जड़ तक लंड की ठोकर देना शुरू कर दिया.

उसकी कोमल और मुलायम जांघों पर हाथ फिराते हुए मेरे हाथ उसकी पैंटी तक पहुंच गये थे.

उसकी पैंटी को उतारते ही मैंने बिना वक़्त गंवाए अपना मुँह उसकी चूत पर रख दिया. तभी मैंने एक जोर का झटका दिया और मेरा पूरा लंड एक ही बार में भाभी की टाइट चूत में घुस गया. नहाने के बाद मैं कमरे में गया और टी-शर्ट पहन ही रहा था कि वो कमरे में आई और मेरी चूची पर जोरदार दाँत काट कर भाग गई.

और उसने मुझे वो सोने की चैन वापस दे दी, बोली- भैया, इसे आप रखे रहिये, बाद में कोई मौका देखकर मुझे दे दीजियेगा।इसके बाद वो अपने रूम में चली गयी और मैं बिस्तर पर सो गया।सुबह मेरी नींद तब खुली जब मेरी जान पीहू मेरे लिए चाय लेकर आई और मुझे जगाया।मैंने प्यार से उसे चूमा और उसके हाथों से चाय ले ली. मैं नींद में था तो रोज की आदत की तरह मैंने उसे अपनी पत्नी का हाथ समझ कर पकड़ लिया और साथ ही मेरी आंख खुल गयी। अपने हाथ में मीनाक्षी का हाथ देख मैं तो डर ही गया कि भाभी मुझे गलत समझ कर मेरी मम्मी से मेरी शिकायत करेगी लेकिन वो तो मुझे देख कर मुस्कुरा दी।मेरी पत्नी सुषमा को मायके गए हुए अभी तीन दिन ही हुए थे और चुदाई के बिना मेरा हाल खराब था. अब मैं भी अपने आप को संभाल नहीं पाया और उसे अपनी बांहों में भर लिया.

अब वो बहुत सेक्सी आवाजें निकाल रही थी- अह भाई ऐसे ही मस्त मजा आ रहा है और जोर से चोदो … आह!मैं धकापेल चुदाई करता रहा.

उसका कमरा काफी बड़ा था, कमरे के ठीक बीचों-बीच एक राउंड डबलबेड था और चारों तरफ सब कुछ अच्छे से सजाकर रखा हुआ था. उसकी चुत की दरार अभी भी खुली पड़ी थी और उसकी चूत के अंदर की लाली दिखाई दे रही थी. फिर मैंने एक कुर्सी को सीधी किया और उसको स्लाइड करते हुए उस पर थोड़ा सा साफ किया और बैठ गया.

उसी समय मैंने उसकी चूची को मसलते हुए कहा- बेबी गधे का पसंद आया!वो अब समझी कि गधा कितने काम का होता है. दिल कह रहा है कि बस मेरी आंखों में तेरे ही सपने हों, पर दिमाग रोक रहा है. मुझे बता दिया होता … शायद मैं आपकी मदद कर पाता?वो बोली- ये क्या बकवास कर रहे हो तुम? जाओ यहां से … मैंने कपड़े भी नहीं पहने हैं.

उसकी चूत मेरी आंखों के सामने नंगी थी और मैं उस पर भूखे कुत्ते की तरह टूट पड़ा.

मगर इस बार कोरोना के चलते लॉकडाउन हुआ तो वो बिल्कुल ही घर नहीं आ पा रहा था. मुझे पूरा यकीन था कि बहुत से लोग मेरी मॉम के बारे में सोचकर मुठ भी मारते होंगे.

हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में इधर मेरे प्यारे से नुन्नू ने भी अपना माल समीर के मुँह में छोड़ दिया और अज़ीम ने मेरी गांड से सारा वीर्य चाट कर साफ़ कर दिया।कुछ देर हम ऐसे ही लेटे रहे और फिर सब ने अपने अपने कपड़े पहन लिए. उन्होंने एक बार वापस जाते समय मुझे पलट कर देख लिया था, जब मैं उनकी गांड देख रहा था.

हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में चूंकि वो केवल पूजा के लिये ही आयी थी इसलिए उसको उसी दिन वापस लौटना था. हम दोनों आ गए और किराए पर रहने लगे।मैं घर की जरूरत का सामान ले आया और रुबीना बाजी को बोला- बाजी आज से मैं आपका शौहर हूं, कोई पूछे तो ये ही बताना.

उसने ये सुना तो बोला- मैं भी आपके साथ चलूं?मेरे बोलने से पहले ही सपना ने कह दिया- हाँ तुम साथ चले जाओ.

गांड की चुदाई वीडियो बीएफ

उसे देख कर ऐसा लग रहा था जैसे कोई विदेशी पोर्न स्टार सामने खड़ी हो।उसके बूब्स उसकी टीशर्ट के अंदर बिल्कुल फिट थे. तभी मेरे बेटे के क्लास टीचर भी आ गया और वो मेरी बगल वाली कुर्सी में बैठ गया. उसने लंड का अहसास पाते ही ज़ोर से एक आह भरी, जिससे मुझे समझ आ गया कि वो झड़ चुकी थी.

मुझे तब बहुत मज़ा आता, तब भैया का कॉल आता और भाभी फोन पर बात करतीं. मेरी नर्म जीभ भी मेघा को सिसकारियां निकालने पर मजबूर कर रही थी।वह लेट कर उम्म्म् … आआह्ह. मेरी बेटी- मतलब?मैं- अब देखो जब तक तुम्हारे पापा थे, वो मेरे साथ कुछ नहीं करते थे.

कुछ ही पलों में मैंने ज़िप पूरी नीचे तक सरका दी और उसको रोकते हुए उसकी ड्रेस को ऊपर की तरफ से उतारा.

मेरे हाथ पैरों ने काम करना करना बंद कर दिया था और मेरी चुत से खून आने लगा … आंखों से आंसू बहने लगे थे. मैंने सोचा कि बहुत देर हो गई है, कोई आ जाए, इससे पहले भाभी का काम उठा देता हूँ. मैं उनके टेबल के पास पहुंची, तो आहट पाकर उन्होंने अपना सर ऊपर किया.

अब मेरे सामने एकदम संगमरमर की मूर्ति की माफिक, हुस्न की मल्लिका, मेरी रानी चारू बिल्कुल नंगी थी. उसने भी ख़ुशी ख़ुशी मुझे पहले वो हिस्सा दिखाया, जिसमें उसका कॉमन रूम, किचन, बेटे का कमरा, गेस्ट का कमरा, डाइनिंग रूम और एक बड़ी से बालकनी थी. मैं एक घंटे ही सो पाई होऊंगी कि तभी मुझे लगा कि कोई मेरी चूत चाट रहा है.

मैंने अपने कपड़े पहने और इंस्पेक्टर से पूछा- मेरे बेटे के लिए क्या कहते हो?उसने बोला- अब आप निश्चिंत हो कर जाइए … अब आपके बेटे को कुछ नहीं होगा … लेकिन बस इसी तरह मेरा ख्याल रखती रहिएगा. कुछ देर बाद बुआ गांड साफ करके जाने लगीं, तो मैं जल्दी से अपनी जगह आ गया.

मैंने फिर से एक हाथ से रजाई पकड़ी और खींचने लगा तो मेरा हाथ उनकी नंगी कमर को छू गया. मजार पर दुआ करने के बाद सेवादार ने ज़ोहरा को कहा- बेटी, तेरी तमन्ना बहुत जल्द पूरी हो जाएगी. अभी मैं यही सब सोच रहा था कि मां ने बुलाया और कहा- बड़े पापा और बड़ी मां बाहर गांव गए हैं.

वो पागलों की तरह मुझे किस किए जा रही थी और मुझसे लिपट लिपट कर अपनी वासना जाहिर कर रही थी.

मैं नंगा ही गया और उसे आवाज देकर बाथरूम का दरवाजा खोलने के लिए कहा. यह बात सन 2013 की है, जब मैं 12वीं की परीक्षा देने के बाद जयपुर आ गया था. इसी तरह सुबह ग्यारह बजे से ले कर दोपहर के दो बजे तक दो राउंड हुए जिसमें सबकी भरपूर चुदाई हुई.

कुछ देर बाद मैंने उसको घोड़ी बना दिया और पीछे से उसकी चुत में अपने लंड को एक बार में ही पेल दिया. मैं जानता था कि वो चुदना चाहती है लेकिन खुद से नहीं बोल रही थी।एक दिन की बात है कि उसका पति काम से दो दिन के लिए बाहर गया।उसने मैसेज में ये बात मुझे बता दी थी.

फिर उसने मेरे सिर को पकड़ कर मेरे होंठों को अपने दूधों पर रखवा दिया. एक दिन मेरे दोस्त का एक आखिरी मैसेज मुझे मिला जिसमें उसने लिखा था- मैं जानता हूं कि तुम पीने के आदी हो और ये सब तुमने नशे की हालत में किया है, फिर भी मैं तुम्हें माफ नहीं कर पा रहा हूं. मॉम ने कहा- हां आज से एक हफ्ते के लिए मैं तुम्हारी रंडी दासी सब हूँ.

इंग्लिश बीएफ चुदाई इंग्लिश

अब मुझे याद आया कि कल ही मेरे मोबाइल में मैंने सिम चेंज कर ली थी और रिंकी को नम्बर नहीं दिया था.

क्योंकि मुझे उससे मिलने जाने के लिए कुछ ना कुछ बहाना बनाकर घर से निकलना था।आखिरकार वह दिन भी आ ही गया जब ऊपर वाले ने हमारा मिलन करवा दिया. हम लोग रात का खाना 8 बजे तक खा लेते हैं, फिर मेरी पत्नी नींद की दवा खाकर 10 बजे तक सो जाती है. फिर उमेश सर ने बेड के बगल की दराज़ से तेल की शीशी निकाली और मुझसे घोड़ी बनने को कहा.

अंकल ने यहां भी मेरी मदद की और अपने हाथ से उसकी चूत के छेद को को थोड़ा सा खोल दिया जिससे मेरा छोटा सा लंड उसकी चूत में समा गया. मुझे क्या प्रॉब्लम हो सकती है बल्कि मुझे तो खुशी होगी कि तुम्हारी वजह से किसी दूसरे को भी खुशी मिल रही है … और हां मैं तो वहां मजाक कर रही थी. कुत्ता और लड़की का सेक्सी पिक्चरमैं पहले भी उन दोनों के साथ नंगा हो चुका था इसलिए मुझे जरा भी समय नहीं लगा और मैं नंगा हो गया.

मैंने बेल बजाई और जैसे ही उसने दरवाज़ा खोला, मेरा तो दिमाग़ घूम गया. जैसे ही मेरे ठोस मम्मे उसके सीने से छुए, मैंने खुद ही उसको अपनी बांहों में कसके जकड़ लिया.

इस चुदाई में मुझे हमेशा से ज्यादा मजा आया क्योंकि मेरे मन में था कि मैं किसी दूसरे की दुल्हन को चोद रहा हूँ जो अगली रात को सुहागरात मना रही होगी. तो अम्मी ने शकील को फोन किया और सारी बात समझाई और कहा- मैंने कोशिश कर ली. अब हम लोग एक दूसरे को किस करने लगे और वह गर्म होती गई और तड़पने लगी.

फिर मैंने अपना चेहरा अमित के रूमाल से साफ़ किया और अमित भी अपने कपड़े ठीक करने लगा. मैंने भी उन दोनों से पूछ लिया कि उनका कोई ब्वॉयफ्रेंड है क्या तो उन्होंने भी मना कर दिया. भाभी मुझे बाहर लेकर आना चाह रही थी मगर पता नहीं नशे में मैं कुछ और बड़बड़ा रहा था.

सोनिया भाभी ने मुझे जैसे ही मेल पर अपनी समस्या बताई, मैं समझ गया कि क्या करना है.

हो सकता था कि किसी अन्य से अपने जिस्मानी सम्बन्ध बना लेतीं, जो कि शायद हम सभी के लिए बेहद गलत होता. भाभी मेरे लंड की तरफ देखते हुए कहा- अच्छा … दिखते तो मस्त हो … फिर क्यों नहीं है?मैंने कहा- ऐसी बात नहीं है … वो क्या है कि मुझे आज तक कोई ढंग की लड़की मिली ही नहीं.

बीस मिनट तक बड़ी बुआ की गांड मारने के बाद वैसे ही छोटी बुआ की गांड मारनी शुरू कर दी. फिर मैंने दो उंगलियों को अन्दर डाला, तो उसकी आंखों में दर्द का अहसास झलका, लेकिन वो उंगलियों का मजा लेती रही. भाभी ने मेरे लंड को पकड़ा और अपने हाथों से उनकी चूत पर सेट कर के ऊपर नीचे होने लगी.

उसकी चूत में लंड लेकर एक सुकून सा पहुंचा जिसके बदले में उसने मेरे हाथों को चूम लिया और चूत को और ऊपर करके मेरे लंड को अंदर तक लेने की कोशिश करने लगी. मैंने भी उसका इशारा समझ लिया और लंड को धीरे धीरे उसकी चूत में अंदर बाहर करने लगा. कुछ ही पलों में दोनों एक साथ बह गए और राजीव ने अपना माल मेरी बीवी की चूत में निकाल दिया.

हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में मगर अचानक कुछ दिन के बाद उसका फोन आया और उसने मेरे ऊपर वही आरोप लगाने शुरू कर दिये. उसमें अम्मी बोल रही थीं- शकील क्या कर रहे हो … छोड़ दो, कोई देख लेगा.

बंगाली बीएफ फुल मूवी

इस सबके फलस्वरूप मेरी दिनचर्या भी बदल गई और अब धीरे धीरे मैं अपना ज्यादा समय उनके यहां ही बिताने लगा. उसने अपनी मामी की कमर में हाथ डाल और कहा- मेरी जान, इसको सब पता है. सीने को चूमने के बाद मम्मी मेरे बायें और दायें निप्पल को मुंह में लेकर चूसने लगी। उसके बाद वो मेरे सामने घुटनों के बल पर बैठ गई और मेरे लोवर और अंडरवियर को मेरे पैरों में से निकाल कर मुझे पूरा नंगा कर दिया।फिर मेरे दोस्त की मम्मी मेरे लन्ड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी।कुछ देर मेरा लन्ड चूसने के बाद उन्होंने अपनी पैंटी उतारी और सोफे पर बैठ गयी.

मैंने बात को आगे बढ़ाया- आपका नाम क्या है?उसने बोला- गुड़िया।मैं बोला- नाम तो आप ही तरह सुंदर है. नहाने के बाद मैं कमरे में गया और टी-शर्ट पहन ही रहा था कि वो कमरे में आई और मेरी चूची पर जोरदार दाँत काट कर भाग गई. रामगढ़ का सेक्सी वीडियोलंड उसकी चूत में था और उसकी चूत की गर्मी से लंड को जो सुकून मिल रहा था वो शब्दों में बयां किया ही नहीं जा सकता.

आंटी एकदम से कुलबुलाने लगीं- अंह … अरे अब तुम मेरी गांड मारोगे क्या?मैं- क्यों आपने कभी गांड नहीं चुदवाई है?आंटी बोलीं- नहीं … मेरे पति ने कभी मेरी गांड में कुछ नहीं डाला … और मैं भी ऐसा नहीं करती.

मनीष है … वो गांव वालों को पता नहीं चलने देंगे और यह बात मनीष जी तक ही रहेगी।मां- वो मांस बेचने वाले की लुल्ली लूंगी मैं अपनी शुद्ध फुद्दी में … पागल है तू?मौसी- दीदी, लुल्ली नहीं, लौड़ा बोलते हैं उसे! एक बार देखेगी ना तब पता चलेगा। और वैसे भी तेरे इस भरे हुए शरीर को सिर्फ एक बड़ा लौड़ा ही झेल सकता है. फूफा जी ने अम्मी को अपनी बांहों में भरा और उनके होंठों से होंठों को मिला दिया.

फिर वापिस मैं उनको पकड़ कर उनके बेडरूम में लेकर गया। वहाँ पर मैं बुरी तरह से भाभी को चूमने लगा. मगर उसका कमीज थोड़ा सा टाइट था स्तनों के पास से … तो दोनों हाथ मैंने साइड से सूट के अंदर किये और ऊपर को करने लगा।इतने में उसकी ब्रा पर हाथ पहुँच गया. वो मुस्कराकर बोली- अब तो तुम मेरे बच्चे के बाप भी बन गए, तो शौहर तो खुद ही हो गए।किराए के कमरे में आने के बाद मैं और बाजी शौहर बीवी की तरह रहने लगे.

मैंने अंकल को थैंक्स बोला और फिर अंकल चले गए।उनके जाने के बाद मैं अपना सामान कमरे में रखने लगा और सोच रहा था कि अच्छा किया कि मैं यहां आ गया.

मैंने उनसे बोला कि हम इसके बाकी दो तरफ एक मोटे कपड़े से पर्दे बना देंगे, तो आड़ हो जाएगी. मैं भी जोश में आकर और तेज़ तेज़ चोदने लगा।अब दोनों की सिसकारियां निकलने लगीं और हम चुदाई में खो गये. अब भाभी ने मुझे फिर से बेड के ऊपर धक्का दे दिया और लंड को चुत में लेकर भाभी घूम गईं और मेरी तरफ होकर बोलीं- इतनी जल्दी थक गए क्या?मैंने उनसे कहा- नहीं … साली रंडी … अभी और बहुत जोर है मुझमें.

देसी गांव की भाभी की सेक्सी वीडियोउनके जाते ही मैंने उल्फ़त को पकड़ कर बेड पर लिटाया उसकी चूत में लंड डालकर चुदाई करने लगा. फिर एक दिन मेरा जन्मदिन था तो उस दिन हम लोगों ने बस कुछ लोगों को बुलाकर घर पर जन्मदिन मनाया.

सेक्सी बीएफ वीडियो फ्री

करीब तीस मिनट तक वो मेरी चुदाई करते रहे इस बीच मेरा दो बार पानी निकल चुका था लेकिन उनका निकलने का नाम नहीं ले रहा था मैं सोच रही थी कि काश मेरे पति भी ऐसी चुदाई करने लगे तो मैं रोज ऐसे ही चुदूँ. वो चिल्ला उठी- हाय मैं मर गयी … आह्ह्ह आह्ह्ह ऊओह ओह्ह इतना दर्द प्यार में होता है … पता ही नहीं था. कुछ ही देर में वो नीचे से नंगी हो चुकी थी और मैं भी मेरे लौड़े को बाहर निकाल चुका था.

जैसे ही मेरे ठोस मम्मे उसके सीने से छुए, मैंने खुद ही उसको अपनी बांहों में कसके जकड़ लिया. हम अचानक बाजार में मिले लंबे समय के बाद; तो मैंने इन्हें चाय के लिए घर बुलाया था. कुछ देर छोटी बुआ के जिस्म की गर्मी लेने के बाद मैंने उनसे बाहर चलने को कहा.

जब अज़ीम ने हाथ निकाल कर अपना लंड डाला तो कुछ आराम मिला। फिर वह दोनों बहुत जोश में आ गये. सही में ये आकार इतना मस्त लगता है कि कोई भी उस तरह के शेप को देख कर मचल जाए. तो मोनिका ने ही बोला- विजु, एक बात बोलूं?मैं- बोलो क्या हुआ?मोनिका- मेरा दूध पियेगा?मैं- बिल्कुल … आप नाराज नहीं हो तो.

भाभी के साथ बेडरूम में नंगी मूवी चला कर टीवी पर भाभी के साथ मस्ती करते हुए चुदाई देखना …सेक्स कहानी पढ़ते हुए भाभी के बदन से खेलना …सारे घर में भाभी को उठा उठा कर चोद देना …भाभी की मोटी चूचियां पी पी कर गांड चोद देना …इस सबमें मुझे जरूरत से ज्यादा मजा आता था. कुछ देर तक पैंटी के अंदर ही चूत को सहलाने के बाद वो सिसकारने लगी थी.

अब मैं धीरे धीरे उसकी कमर पर किस करता हुआ, उसकी पीठ को चाटता हुआ उसके ऊपर अपने शरीर को रगड़ने लगा.

उधर उमेश सर बार बार बोल रहे थे कि आंह … मजा आ रहा है मेरी जान … लंड को और अन्दर तक लो. जादू वाली सेक्सीउसने अपने दोनों हाथों में मेरी चूचियों को भर लिया और ब्लाउज के ऊपर से ही उन्हें गूंथने सा लगा. राखी सावंत का सेक्सीमैं हंस पड़ा और भाभी की चूची मसलते हुए कहा- सच में भाभी, आपकी चुत चुदाई के लिए मैं न जाने कब से तड़फ रहा था. अब मम्मी आप ही बताओ, शादी के बाद से इन्होंने मुझे बस दो चार बार छुआ है.

एक दिन मैं अपनी चचेरी बहन सोनल कि चूत चुदाई उसी के घर में कर रहा था तो मैंने मेरी कजिन से चुदाई के वक्त कहा- यार सोनल, मुझे तेरे मामा की लड़की काजल को भी चोदना है.

मैं जब भी मौका देखता तो बहाने से उसकी गांड, उसके मम्मों पर अपने हाथ का स्पर्श कर दिया करता था. साथ ही महिला पाठकों की जानकारी के लिए लिख रहा हूँ कि मेरा औजार भी अच्छा खासा है. धीरे धीरे करके मैंने मेहंदी से भाभी के मम्मों, चूतड़ों और योनि स्थल के आसपास डिजायन बना दीं और बाकी सब जगह वाटर कलर से पेंटिंग कर डाली.

पहले अंकल ने सुपारा मेरी गांड के छेद में फंसाया, तो मेरी आंखें फटने लगीं. वो कॉमर्स की स्टूडेंट्स थी, आगे की पढ़ाई के लिए हमारे शहर में डिग्री के लिए कोई अच्छा कॉमर्स वाला कॉलेज नहीं था. बीच रास्ते में ही बारिश शुरू हो गयी और फिर…!नमस्कार दोस्तो, मैं प्रिंस एक बार फिर से आपका स्वागत करता हूँ अंतर्वासना पर। मैं आप लोगों के लिए अपनी एक नयी कहानी लेकर आया हूं.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी बीएफ

उसकी चूत ने लंड को अब आराम से रास्ता दे दिया था और वो भी ऊपर नीचे होने की कोशिश कर रही थी. मुझे मेल करके जरूर बताएं कि भाई बहन के रिश्तों में चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी. वो बोली- इतना मस्त लड़के को कैसे पटा लिया मम्मी आपने!मैंने कहा- तुम्हारी मम्मी किसी से कम है क्या?वो खुश हो गई और चुदने के मचलने लगी.

मेरे घर का दरवाजा खुला हुआ था और मेरी छोटी बहन अपने कमरे में सो रही थी.

उनकी जवानी का नमकीन रस उनकी चूत से निकल पड़ा और मैंने उस रस का पूरा आनंद लिया.

मेरी सहेलियां अक्सर मुझे अपनी चुदाई की कहानियाँ सुना कर बेचैन कर देती थी. ’ अब तो मैं मस्ती में न जाने क्या क्या बोले जा रही थी, मुझे खुद भी कुछ पता नहीं था. सेक्सी व्हिडीओ गर्ल सेक्सी व्हिडीओचारू- मैं तो चाहती हूं कि वो मुझे खूब प्यार करें, मगर वो तो एक ही झटके में निबट जाते हैं और मैं अधूरी सी तड़पती रह जाती हूँ.

इस समय मेरे मन में बड़ी बुआ घुसी थीं … क्योंकि उनकी गांड और चुचे बड़े थे. मैं उसकी चूत चुदाई करना चाहता था पर रिश्तों में चुदाई में डर लगता है. फिर भाभी ने मुझे साइड में किया और उन्होंने अपनी गांड के नीचे दूसरा तकिया रख दिया.

कुछ देर तो मैं धीरे धीरे चोदता रहा मगर फिर मैं तेज़ तेज़ झटकों से चोदने लगा. बाबा बोले- बाहर जाकर देख, कोई है तो नहीं पास में?मैं गांड मटकाते हुए बाहर गयी और देखने लगी.

उनको देख कर मेरे तो पैंट में लंड ने आन्दोलन करना शुरू कर दिया था, लौड़ा पैंट फाड़कर बाहर आने को मचलने लगा था.

मैं उसको अपनी अच्छी दोस्त मानता रहा लेकिन उसने फिर किसी और से शादी कर ली. हम दोनों ने पहले तो किस किया और फिर वो मुझे लिटा कर मेरे चूचे दबाने लगा. मैंने अंकल को थैंक्स बोला और फिर अंकल चले गए।उनके जाने के बाद मैं अपना सामान कमरे में रखने लगा और सोच रहा था कि अच्छा किया कि मैं यहां आ गया.

भोजपुरी सेक्सी गेम मैंने उसे कुछ इस तरह से उठाया कि लंड चुत में ही रहा और वो मेरी गोद में आ गई. दूसरे, जैसा मैंने ऊपर बताया था कि ये जैली कुछ ऐसी थी कि इससे गांड चिकनी के साथ साथ सुन्न भी हो जाती है.

मैंने अपने लंड के सुपारे पर बहुत सारी क्रीम लगाई और उसकी चूत पर भी क्रीम लगा दी. दोस्तो, ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, अगर कोई गलती हो गयी हो, तो माफ़ कर देना. मैं उठी और उनके पास गयी और जाते ही नीचे बैठ कर उनके पैर पकड़ कर रिक्वेस्ट करने लगी.

सेक्स बीएफ 2020

दस मिनट पेलने के बाद वो पूरी तेजी से कमर हिलाने लगे और ‘आह आह …’ करते हुए मेरी गांड में झड़ गए. खैर चलो … एक एक करके सब कर दूँगा, अपने सेक्स जीवन की शुरुआत प्रिया (नाम बदला हुआ) की चुदाई से की थी. जैसे ही थोडा़ उठी उसने पीछे से मेरे दोनों स्तनों को पकड़ लिया और कस कस कर मसलने लगा.

ऐसे ही एक दिन उनकी बातों को रिकॉर्ड किया और बाद में वो रिकॉर्डिंग सुनी, तो मैं हैरान रह गया. सर्दी से बचने के लिए मैंने कहीं रुकने का सोचा क्योंकि इतनी तेज बारिश में बाहर तो नहीं रहा जा सकता था.

मगर राजीव यीशा के होंठ पकड़ कर चूसने लगा, इससे यीशा को थोड़ी राहत मिल गई और वो चुप हो गई.

कभी अपनी पत्नी के सामने भी इस बारे में बात करने की मेरी हिम्मत नहीं हुई क्योंकि मैंने काम ही ऐसा किया था. तो मैंने भी जबाव में पूछा- हैलो आप कौन?भाभी- मैं सोनिया … पहचाना!मैंने तुरंत उन्हें पहचान लिया और जबाव में उन्हें भाभी जी नमस्ते की. उसको किस करना शुरू किया मैंने और धीरे धीरे करके उसकी चूत में आधा लंड घुसा दिया.

आज उसको मम्मी ने रोक लिया रात में अपने ही घर!तो मैं और मामी खुश हो गये. उन्होंने मुझे किस करने के बाद मेरी मैक्सी को निकाल दिया और मैं ब्रा और पेंटी में हो गयी. स्खलित होने के बाद वे मुझे पढ़ाते भी थे और मुझे बहुत खाने पीने की चीजें दिया करते थे.

फिर माँ को नहीं है इसकी जरूरत? वो तो नहीं करती ऐसा!मौसी- बेटा, उसमें भी बहुत गर्मी है.

हिंदी बीएफ चुदाई वाली हिंदी में: पूरे पन्द्रह मिनट तक मैंने भाभी जी की टाँगें छत की ओर ताने रखी और अपना माल भाभी की चूत में ही छोड़ दिया. हॉट सेक्सी लेडी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी मम्मी को पापा के दोस्तों से चुदाई करवाते अपनी आँखों से देखा था.

मैं जब घर में जाकर सोफे पर बैठ गया तो भाभी जी ने पूछा- पानी पिओगे?तो मैंने बोला- नहीं अभी पानी नहीं पीना. धीरे धीरे मेरा मन डोला और मैंने उससे सेक्स की बातें करना शुरू कर दिया. रास्ते में मैंने बुआ से बोला कि मैं मेडिकल स्टोर से कंडोम ले आता हूं, जिससे कोई खतरा ना रहे.

वो बोलीं- लेकिन हम अब चूत में लंड नहीं ले पाएंगे … गोली ली थी तो भी दर्द कर रही है.

उस रात में वहीं रुका और पूरी रात मैंने और भाभी ने 3 बार सेक्स किया. देर रात को मैंने कुछ आहट सुनी और मन किया कि सुना जाए क्या बातें चल रही हैं. तभी मैंने उसको बोला- प्लीज अब आप मुझे मत तड़पाओ और मेरी चूत में अपना मूसल डाल दो.