बीएफ चुदाई की चुदाई

छवि स्रोत,बीएफ बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

xxx मिया खलीफा: बीएफ चुदाई की चुदाई, इस तरह उस रात उस विदेशी लड़के रॉन ने मेरी बीवी की चूत सुबह छह बजे तक चोदी.

यूपी बिहार सेक्सी बीएफ

मैंने उससे पूछा कि क्यों आज ऐसा क्या हुआ है … पूरा इंस्टीट्यूट खाली क्यों है?उसने कहा- मैडम आज संडे है न … तो इंस्टीट्यूट खाली ही रहेगा. कॉलेज बीएफ पिक्चरमैं उन दोस्तों का तो बहुत शुक्रगुजार हूं, जिन्होंने कई बार लौंडिया चोदने का मौका होने पर भी गांड से मुँह नहीं फेरा.

उन्होंने मेरे कागजात देखे और कहा- आपका नाम?मैंने उन्होंने अपना नाम मन्नत बताया. सेक्स पिक्चर सेक्स बीएफकमरे में मेरे पैरों की पायल की झनझनाहट गूंज रही थी, बस शुक्र यही था कि मेरी सास सो रही थीं.

भाभी धीरे धीरे मेरी तरफ झुक कर बैठ गई और अपना एक हाथ उन्होंने बीच में रख लिया.बीएफ चुदाई की चुदाई: और तेज़ जानु … आहह आहह … मजा आ गया … आह।इसके साथ ही सुनील की आवाजें भी बहुत तेज़ हो गयी.

वो मेरी गांड को किसी नर्म आटे की तरह गूँथने लगा। मेरी गांड से खेलते हुए वह बीच बीच में मेरे निप्पल्स मरोड़ देता, मेरी तो जान ही निकल जाती पर उसी सिसकारी में सेक्स का सारा मजा होता है।मेरी गांड से खेलते हुए उसने मैक्सी को पीछे से ऊपर उठा दिया और मेरी गदरायी हुई नर्म गांड को कसी हुई गुलाबी पैंटी के ऊपर से ही चूमने लगा.सभी को सोने की जल्दी थी, बहुत सारी नर्स गांड मरवाने को बेकरार थीं और सबकी सबने अपना अपना लंड सिलेक्ट कर लिया था.

बीएफ सेक्सी करने वाली - बीएफ चुदाई की चुदाई

मैंने कहा- बिल्कुल ठीक है, तुम मेरे कमरे में जब भी आओ तो अपनी पैंटी निकाल कर आना जिससे मैं जल्दी से लण्ड अन्दर पेल सकूँ.मुझे ऐसे लगने लगा था कि मेरे साथ काम करने वाली लड़की या औरत, एक बार मेरी बिस्तर पर जरूर आ जाए.

फिर उस धोती वाले आदमी ने मुझे कान में धीमे स्वर में अपने पीछे आने को बोला. बीएफ चुदाई की चुदाई उस समय मुझसे रहा नहीं गया, तो मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खींच दिया और उसकी जालीदार पैंटी पर दो उंगलियां रख के सहला दिया.

हो सकता है कि मैं उसे बिकनी टाइप की ड्रेस में अपनी तरफ आकर्षित कर सकूं और उसका लंड मुझे मिल सके.

बीएफ चुदाई की चुदाई?

उन्होंने कहा- नहीं बहू, ये चादर मैं संदूक में ताला लगा कर रखूंगा, तू चिंता मत कर. रमेश ने रीता की गाँड पर ढे़र सारा गाढ़ा थूक गिरा दिया और अपने हाथ से उसकी गांड के छेद पर थूक को मलने लगा. आप बोलीं कि हां हां मेरे पागल आशिक … ये तो बहुत बड़ा लौड़ा है … मेरे पति का लंड तो इसके सामने सुई सा है, तुम्हारा तो लोहे की सब्बल है … मेरे लौड़े.

तो उसने कहा कि काम में व्यस्त रहती थी इसलिए किसी का फोन नहीं उठा पाती थी. तब अम्मी उस पर चिल्ला कर बोलीं- तुम दोनों सगे भाई बहन हो, तुम्हें शर्म ही आती है या नहीं!मेरी बहन बोली- तो आप कौन सी दूध की धुली हैं. भाभी के बड़े और गुदाज़ हिप्स इतने सेक्सी थे कि उनके स्पर्श से ही मेरा लण्ड तनकर खड़ा हो गया.

जीजाजी आई लव यू टू … यू आर माय फर्स्ट लवर कम हस्बैंड इन ऐ वे; आई एम् आल योर्स एंड विल बी आल माय लाइफ, फ़क मी एनी टाइम यू लाइक!” साली जी बोली और मेरा लंड पूरी तन्मयता के साथ चूसने लगी. इस सबसे मुझे जीवन जीने में तो किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं हो रही थी. 30 हो चुके थे मुझे नहा धोकर अपने चूत की चुदाई के लिए तैयार होने में!जिम लास्ट फ्लोर पे थी मेरे फ्लोर से 5 फ्लोर ऊपर! मैंने लिफ्ट का गेट खोला और उसमे बैठे स्टाफ से जिम के फ्लोर पे ले जाने को बोला.

मैरिड कपल की चुदाई का नजारा कौन नहीं लूटना चाहेगा? रात में हम लोग लाइट जलाकर सेक्स किया करते थे. रॉन भी उसके सिर को पकड़ कर याह्ह … याह्ह … करता हुआ अपना लंड मेरी बीवी के मुंह में पेलता रहा.

अभी बाथरूम के गेट तक ही पहुंची थी कि ‘स्टॉप चाहत … वहीं रुको!”तो मैं रुक गयी- क्या हुआ जान?मैं पलटी तो वहाँ का नजारा देखकर मेरी चूत अपना पानी निकालने लगी, मेरे जिस्म का पानी अन्दर कहीं छुप गया.

पिछली कहानी में आपने जो पढ़ा था, आज उसी कड़ी की एक और चूत म लंड की कहानी लिख रहा हूँ.

उसकी टांगों ने मेरे चूतड़ों इतनी तेज़ी से जकड़ा कि मेरा भी सब कुछ रुक गया. उसके लंड की ताकत के आगे मेरी चुत अब तक दो बार रो चुकी थी … मगर उसकी शैतानी ताकत कम होने का नाम ही नहीं ले रही थी. थोड़ी देर बाद मैंने सना की टी-शर्ट ऊपर कर दी और उसके मम्मों को दबाने लगा.

उसने साड़ी पहन ली और फिर मैंने उसके हाथों में हरे रंग की चूड़ियां पहनाईं. मगर बहुत सोचने के बाद फिर वो सेक्स फॉर कैश के लिए तैयार हो गयी क्योंकि उसको पैसों की जरूरत थी. श्लोक के लंड को पकड़ कर वीना ने अपनी चूत पर लगाते हुए सेट किया और बैठने लगी.

अपनी चूचियों को मसलते हुए वो सिसकारने लगी- आह्ह … यस्सस … आह्ह … ओह्ह … याहह … आह्ह … वाऊ … अम्म … ओहह … करते हुए वो चुदने लगी.

गुड़िया रानी, हिंदी में बताओ क्या करवाना है?” मैंने कहा और उसके निप्पलस चुटकी में भर कर हौले हौले मसलने लगा जिससे उसकी वासना और भड़क उठी. एक हाथ से मेरी एक चूची को मसलते हुए बॉस मेरी दूसरी चूची को चूस रहे थे. मैं लेटी रही, मेरे जिस्म में बहुत कम जान लग रही थी लेकिन अर्जुन का लंड मेरे दिमाग से नहीं उतर रहा था.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा हैल्लो! मेरा नाम विकास है और मैं देहरादून का रहने वाला हूँ. मम्मी ने मुझे पीछे बैठने को कहा और मम्मी खुद आगे अंकल के बराबर में बैठ गयी. अब मैं थॉमस के सामने बेड पर बिल्कुल नंगी लेटी हुई थी और थॉमस मुझे देख कर मुस्कुरा रहा था.

बस अगली बार उसकी अन्तर्वासना की कहानी लिख कर आपके लंड चुत को भी पानी पानी कर दूंगा.

इस पर उन्होंने शरमाते हुए कहा कि मुझे याद नहीं है कि उस रात क्या क्या हुआ था. दो मिनट ताबड़तोड़ लंड पेलने के बाद जुनैद का पानी मेरी बुर में ही निकल गया.

बीएफ चुदाई की चुदाई सिगरेट के कश लेते हुए उन्होंने पूछा- एक बात बता … तू मुझे चोदते हुए दीदी दीदी क्यों कह रहा था?उनके इस सवाल से मैं खांस पड़ा और सोचने लगा कि इन्हें क्या बताऊं कि मैं दीदी को पिछले तीन सालों से चोद रहा हूँ. भाईसाब ने मुझे सम्भालते हुए कुछ ऐसा किया कि मैं उनकी गोद में बैठ गया.

बीएफ चुदाई की चुदाई मेरी बहन निकिता पापा के साथ दिल्ली में रहती है, भाई पंजाब में जॉब करते हैं. रास्ते भर मैं उसकी जांघ को सहलाता रहा और वह मेरे लंड को पैंट के ऊपर से ही हाथ रखे रही और उसको दबाती रही.

साली जी के मुंह से दर्दभरी कराह निकल गयी; आखिर नयी चूत में दूसरी बार ही तो लंड घुस रहा था सो थोड़ा दर्द तो होना ही था.

सेक्सी आंटी वीडियोस

रमेश- क्या हुआ होश उड़ गए ना? मेरा हाल भी ऐसे ही हुआ था इसको देख कर। रतन ने सच ही कहा था बहुत ही कड़क माल है. और फिर कहती हो पैरों को हाथ क्यों लगाते हो?”नहीं … ऐसा नहीं है … वो … मेले पैर गंदे होंगे? इसलिए बोला. मैंने सख्त लहज में कहा- बिल्कुल नाराज नहीं होओगी? मैं बांह मरोडूं तब भी नहीं? बांहों में भर लूं … तब भी नहीं?नेहा ने सपाट उत्तर दिया, मगर उसके शब्दों में नाराजगी स्पष्ट थी- हां सर तब भी नहीं.

इस हिन्दी सेक्सी कहानिया में प्रतिभा के साथ गरम रासरंग को अगले भाग में पूरे विस्तार से लिखूंगा. दोस्तो, मेरी पहली चुदाई की गर्म कहानी के पहले भागकुवारी जवान बुर की चुदाई की लालसा-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी मौसी के घर गयी हुई थी. कुछ दूर खेत में से एक ओर से आवाजें आ रही थीं, तो हम उसी तरफ को चलने लगे.

ममा मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल देतीं, तो कभी मेरी जीभ को चूसने लगतीं.

मैं मुस्कुराती हुई थॉमस की गोद में बैठ गयी और हम तीनों बातें करने लगे. वो- अच्छा तुम दो दिन बाद आ सकते हो?मैं- नहीं यार दो दिन मैं फिर से आऊंगा तो लोग शक करेंगे. उसकी चूत का छेद इतना तंग था कि कोई नहीं कह सकता कि वह एक बच्चे की माँ है.

अब रश्मि भी रिया और रेहाना की तरह होटलों में जाकर ग्राहकों को खुश करने लगी. कुछ देर तक पीछे से मेरी चूत में लंड पेलने के बाद सर ने मुझे सीधे किया और मेरे सारे कपड़े उतार तक अलग रख दिए. कुछ देर बाद मुझे याद आया कि मेरी स्कर्ट बहुत छोटी है और मैं इस तरह से बैठी हूँ कि मेरी गांड साफ़ दिख रही होगी.

मुझे अपना परिचय देने की जरूरत नहीं है, आप सभी लोग मुझे अच्छे से जानते हो. फिर वो थोड़ी सी झुकी और उसके मोटे बूब्स की वो घाटी और उसके मस्त मोटे तने हुए निप्पल्स का नज़ारा मुझे दिखाने लगी.

एक रात मैंने विन्नी से कहा- कल मैं श्रीनगर गढ़वाल यूनिवर्सिटी आ रहा हूँ, मुझे कुछ काम है. पार्क में जाने की वजह यही थी कि वहां पर कोई न कोई अंकल ऐसा मिल ही जाता था जो जवान लड़कों में रूचि रखने वाला होता था. बाद में नेहा से पता लगा कि उसने कपड़े तो पहन लिए थे लेकिन चादर नहीं उठाई जिसे उसकी मम्मी ने देख लिया था और वो मुस्करा कर चली गई.

सनम भी पागल हुई जा रही थी, उसने नीचे बैठकर राजू का लंड अपने मुंह में ले लिया.

कुछ मिनट बाद थॉमस एक तेज आवाज के साथ मेरे मुँह में ही झड़ने लगा और मैंने उसका सारा रस पी लिया. मैं अब झांटें कम ही साफ करती थी … क्योंकि अभिषेक मुझमें रूचि ही नहीं लेते थे. मुझे उठा देख कर इसहाक भी उठ बैठा और वो उसे डांटने लगा- क्यों बे, लौंडे के साथ ये क्या कर दिया?फिर इसहाक से उसके गले से तौलिया लेकर मेरी गांड पौंछने लगा.

धीरे धीरे मेरे लंड ने मुझे जागृत करना शुरू किया … तो ये एहसास होता चला गया कि अब मुझे अपने एयरोप्लेन को किसी एयरपोर्ट पर लैंड करवाना ही पड़ेगा, नहीं तो ये कहीं क्रॅश हो जाएगा. मैं मां से बोला- अब तक का सफर कैसा लगा अदिति?तो वो मुझे चूमते हुए बोलीं- हर्षद क्या बताऊं तुझे … मैं तो शब्दों में बयान ही नहीं कर सकती.

चाची के घर में गर्लफ्रेंड को चोदागर्लफ्रेंड को दोस्त के खेत पर दबा के चोदाकोटा कोचिंग की लड़की का बुर चोदनमुझे आप सभी के ईमेल भी आए बहुत सारों ने लड़कियों के मोबाईल नम्बर भी मांगे, लेकिन मैंने साफ मना कर दिया. मेरी बहन निकिता पापा के साथ दिल्ली में रहती है, भाई पंजाब में जॉब करते हैं. वीर्य ने उनकी दोनों टांगों को घुटनों तक लबेड़ दिया और फर्श पर टप टप गिरने लगा.

गांव वाली भाभी के सेक्सी

मैं अपने हाथों को उसकी पैंटी में घुसा कर उसकी चूत के होंठों पर अपना नशा चढ़ाने की कोशिश कर रहा था.

मेरे कुछ ही दोस्त ऐसे थे, जिन्होंने उस सामूहिक चुदाई में उपस्थित रहते हुए भी बिना कोई कारण बताए लौंडिया चोदने से मना कर दिया था … जबकि वे उन लौंडों में सबसे मस्त लौंडे होते थे. फिर सर ने बोला- मेरी जानू को दर्द हो रहा है?मैं मरी कुतिया सी बोली- हां. वैसे मैं खुद यह जान कर खुश सा था कि वे मेरी कमउम्र समझ कर ये मान रहे थे कि वे एक चिकने अनचुदे फ्रेश लौंडे की गांड मार रहे हैं.

मैं अब सोच रही थी कि मेरी खुली हुई गांड और चुत देख कर उसका लंड झनझना गया होगा. साथ ही यह भी सोच रहा था कि जब ये कोमलांगी मेरा लंड ही आराम से नहीं झेल पाती तो इसकी टाइट चूत में से बच्चे का बड़ा सा सिर फिर बाकी शरीर कैसे बाहर निकल पाएगा?पर मुझे पता था कि प्रकृति की अपनी लीला है वक़्त आने पर सब संभव हो जाता है. ट्रिपल एक्स इंडियन बीएफथोड़ी ही देर में हम दोनों में वो वाली बातें आ गईं, जैसे फोन पर हुआ करती थीं.

तो बोले- हम्म … मजा आ रहा है न!मैं मुस्करा दिया तो वे और जोरदारी से गांड पर पिल पड़े. इस पर भाभी ने मुझसे प्रॉमिस लिया कि ये एक ही बार होगा और किसी को पता नहीं चलेगा.

तब नसीम ने … जो हमारे ग्रुप के लड़कों से बड़ी उम्र के थे, ने दो लड़कों की गांड मार दी थी. इसमें मेरे 32 इंच के चूचों को दूर से ही कोई देख कर मस्त हो सकता था. पर सुहाना जैसी कमसिन कलि के साथ ऐसा नहीं किया जा सकता था।मेरे थोड़े प्रयास के बाद मुझे लगा सुहाना की बुर ने थोड़ा रास्ता देना शुरू कर दिया है और मेरा लंड थोड़ा अन्दर सरकने लगा है।आआईईई … आमी मर जाबे … आह …” सुहाना अपना हाथ बढ़ाकर अपने बुर को टटोलने की कोशिश करने लगी और अपना एक हाथ मेरे सीने पर लगाकर मुझे दूर हटाने की कोशिश करने लगी।बस मेरी जान … हो गया.

लेकिन मैंने उन्हें ऐसा करने से मना कर दिया और कहा कि केवल 15 मिनट मुझे कुछ करने दें. कुछ देर वो मेरी चूत में उंगली करता रहा और मैं चुदने के लिए तड़प उठी. मैंने पूछा- तुमने झूठ क्यों बोला कि वो बाहर जा रहा है, आ जाओ?तो बोली- जाने की तैयारी की, फिर आधे रास्ते से लौट आया, बोला कि आज काम नहीं होगा.

com/chudai-kahani/general-lingeshwar-ki-kal-bhairvi-1/नामक कथा जिसमें सलोनी नामक कमसिन बाला के प्रेम प्रसंग का वर्णन था।ओके … कोई बात नहीं … तुम्हें जैसे पसंद हो वैसे ही करेंगे.

देसी Xxx सेक्स कहानी में पढ़ें कि जेठ जी से चुदकर उनके लम्बे मोटे लंड से दुबारा चुदने का मन था मेरा. रश्मि के मुंह से सच सुन कर रमेश हँसने लगा और बोला- तो झूठ बोलने की कोई वजह?रमेश ने उसे गोद से नीचे उतार कर कहा।रश्मि- पैसे ज़्यादा मिल रहे थे, इसलिए बोल दिया था.

एक दो मिनट की चुदाई के बाद मुझे मजा आने लगा था और मैं गांड हिलाते हुए अपने छोटे भाई का मोटा लंड अपनी कमसिन बुर में लेने लगी थी. लेकिन एकदम से मैंने जाकर सनम के मुंह पर अपनी चूत रख दी जिससे उसका मुंह बंद हो जाए. कुछ देर तक मोटे लंड से खेलने के बाद मैं बेड से नीचे उतर गयी और थॉमस को बेड के दोनों तरफ पैर कर बैठा दिया.

उसने जोरदार तरीके से लंड को अन्दर बाहर करते हुए मेरी चुदाई करना शुरू कर दिया. पहले तो मैं बहुत डर रही थी कि तुमसे ये सब बातें कैसे कहूँ, लेकिन जब से मैंने तुम्हारा मोटा लंड देखा था, तभी से मेरा दिल तुमसे चुदवाने को मचल रहा था. जो फालतू के नम्बर हों, उन्हें डिलीट कर दो और बाकी सारे नम्बर की ब्लॉकिंग हटा दो.

बीएफ चुदाई की चुदाई तो दोस्तो, इस इंडिया सेक्स गर्ल चुदाई स्टोरी को लिखा मैंने है लेकिन बताया अर्पित और अदिति ने ही है. बुर को खोल कर देखा तो अंदर के गुलाबी छेद के बाहर दो गुलाब की छोटी पंखुड़ियों जैसी पत्तियां खड़ी थी.

भूतिया सेक्सी

फिर रोहन बोला- अंजलि चलो अब मुझसे रहा नहीं जा रहा, मुझे अब तुम्हें चोदना है. मैंने देखा कि मामी सामने ही मिरर के सामने एक स्टूल पर बैठ कर अपने नीचे कुछ कर रही थीं. ऐसा मर्द पाकर मेरी चूत सातवें आसमान पर थी।अर्जुन, मैं 2 मिनट में आई!”क्यूँ जान?” उसने मुझे बेड पे खींच लिया.

ये सुनकर मैंने मन ही मन सोचा कि मौका मिलने पर सब चौका मारते ही हैं. अब रॉन ने कहा- सक इट …! (चूस लो इसे!)नेहा ने शर्म के मारे एक बार मेरी ओर देखा. बीएफ सेक्स वाली हिंदी मेंफिर वो आराम से मेरे ऊपर झुक अपने लंड को मेरी चुत में अन्दर बाहर करने लगे.

कभी कम … कभी ज्यादा … चूत के अन्दर जब झिल्ली फटती है, तो लड़की को दर्द होता है और उसकी चीख निकल ही जाती है.

साली जी, ये वो क्या साफ साफ गंदी भाषा में बताओ क्या करना है? कहां करना है? तभी करूंगा मैं!” मैंने उसे सताया. मैं रूम के लिए निकला और ऑटो स्टैंड पर दिल की सवारी के इंतज़ार में खड़ा हो गया था.

उसका गर्म लंड मेरे हाथ में आते ही मेरे अन्दर एक झनझनाहट सी महसूस हुई. मैंने गुरजीत से कहा कि पलटकर टाइग्रेस बन जाओ तो मेरा काम जल्दी हो जायेगा. उसकी ड्रेस के अंदर से ही उसके तने हुए निप्पल साफ साफ उभरे हुए दिख रहे थे.

कोई चार पांच मिनट ही हम 69 पोजीशन में रहे होंगे कि साली जी ने लंड मुंह से बाहर निकाल दिया और बोली- बस अब चुदाई करो जल्दी से.

मैं दुबारा पलट गयी और थॉमस के बाल पकड़ कर उसकी गर्दन को अपनी चुत के पास ले आयी. पर प्राची भाभी की खुली हुई चूत में भी लंड दीवारों को रगड़ता हुआ अन्दर गया. बिन्दू ने गहरी सांस ली और अपने दोनों हाथों को मेरी कमर पर जकड़ लिया.

एक्स एक्स सेक्स वीडियो बीएफउसका दरवाजा खुला और अंदर से वही मामा के दोस्त अंकल ने हमें गाड़ी में बैठने के लिए कहा. तो बोले- हम्म … मजा आ रहा है न!मैं मुस्करा दिया तो वे और जोरदारी से गांड पर पिल पड़े.

सेक्सी कहानी या

उन्होंने एक सुंदर चमकीला पिंक साटन का लंहगा और स्लीवलेस टॉप पहने थे. मैंने भाभी की चूत के दाने को अपने होठों से चूस लिया तो भाभी का सारा शरीर इकठ्ठा हो गया. तुम बहुत ड्रिंक भी किये हो, क्या हुआ?मैंने रोहन से कहा- हां सॉरी रोहन … मैं दरअसल अपनी फ्रेंड्स के साथ डिस्को चली गयी थी, इसलिए वहां मुझे पता ही नहीं चला कि आपने मुझे फ़ोन किया है.

एक पॉइंट बच्चेदानी का मुंह भी होता है जो लेडी की क्लिटोरियस से भी अधिक सेंसिटिव होता है. पॉपकॉर्न खत्म हो गये तो मैंने गुरजीत का अपने हाथों में ले लिया और हौले हौले से सहलाने लगा. नसीम भाई का लंड एक दूसरे माशूक लौंडे को, जो उन्हें पंसद था … उसे अपनी गांड में डलवाना पड़ा.

” उसने मुंडी झुकाए हुए ही उत्तर दिया।ज़रा सोचो! अगर तुम्हारे मम्मी-पापा को इन सब बातों का पता चल जाए तो?”नहीं सर … प्लीज … मैं आपके पैर पकड़ लेती हूँ मुझे माफ़ कर दो मैं दुबारा ऐसी गलती नहीं करूंगी. मानो वो लन्ड का स्वाद लेना चाह रही हो!एक बार फिर उसने अपनी आँखें बंद कर ली और अपना मुँह खोल मेरे लन्ड के सुपारे को अपने होंठों के बीच में लेकर जीभ से रगड़ दिया और फिर बाहर निकाल दिया. अब उस ध्यान मेरे मोबाइल पर गया।ओह … सर … ये क्या कर रहे हो … ओह … नो.

कुच्ची बार बार बोलता कि खड़े लंड पर धोखा देगी क्या … और हंसी उड़ाता. उसके बाल बिल्कुल काले थे और पीछे उसने बालों की एक लम्बी पॉनीटेल बनाई हुई थी.

फिर सर ने मेरी पैंटी एक तरफ हटा कर मेरी गांड के छेद में अपनी जीभ डाली और गांड गीली करने लगे.

” कहते हुए मैं लैला के ऊपर से हट गया।की होच्चे?” (क्या हुआ) लैला हैरानी से मेरी ओर देखने लगी।मैंने उसकी कमर को पकड़ते हुए उसे थोड़ा घुमाया और फिर दोनों हाथों से उसकी कमर पकड़ कर उसे डॉगी स्टाइल में कर दिया. अक्षरा सिंह का सेक्सी वीडियो बीएफउसको नहीं पता था कि ये मस्ती कुछ ही पलों में दर्द और चीख में बदलने वाली है. हिंदी फुल एचडी बीएफ वीडियोदोस्तो, मैं सोनल पात्रा हूं और कहानी के पिछले भाग में मैंने आपको बताया था कि शादी से पहले ही मैं चुद चुकी थी. मैंने सोचा कि देखते हैं ये कितने दिन तक मुझसे नए नम्बर के बारे में नहीं बताती है.

’ की मस्त और मदहोश कर देने वाली आवाजें मुझे कामातुर किए जा रही थीं.

मैंने उसको पहले ही बोल दिया था कि उसकी चूत में लंड देते हुए मैं अबकी बार कॉन्डम का यूज़ नहीं करूंगा. फिर मैंने भाभी के ऊपर चढ़कर पीछे से हाथ डालकर स्तनों को पकड़ा और मथने लगा. पिछले मार्च 2020 से लगभग चार माह के लॉकडाउन का अब तक का समय आप सबके साथ साथ मुझ पर भी बहुत भारी रहा; समय काटे नहीं कटता था.

जब मैं खलिहान में रुकता, तो सुबह से सब लोग अपने अपने काम में लग जाते थे. कुछ दिनों बाद ही मामा ने बच्चों को पास के एक स्कूल में एड्मिशन दिलवा दिया और फिर जॉब पर जाने लगे. वो बोला- आप तो मुझसे भी ज्यादा शरारती हो भाभी!इतना बोलकर वो फिर से मेरी चूत पर लगे केक को खाने लगा.

डॉट कॉम सेक्सी वीडियो डॉट कॉम

मैं उम्मीद करता हूं कि आप सब पाठकों को इंडियन बीवी की चुदाई की ये स्टोरी पसंद आयेगी. मुझसे रहा नहीं गया और मैं अपनी चुत को थपथपाते हुए लंड को सांस की रफ्तार से चूसने लगी थी. यह अभी सिर्फ तीन साल पहले की बात है जब मेरी शादी एक देहात में हुई थी.

मैं छुड़ाने का नाटक करती रही लेकिन मैं बहुत गर्म हो रही थी और मुझे मजा आ रहा था.

एएसआई ने घर पर छोड़ते हुए मुझसे हाथ मिलाया और सरोज और नेहा को सॉरी बोला.

दोस्तो, आपको यह सेक्स कहानी कैसी लग रही है? आप मेल करके मुझे बता सकते हैं।आप सबके मेल का इंतज़ार रहेगा।[emailprotected]पर आप अपने विचार भेज सकते हैं।कहानी का अगला भाग:मम्मी चुद गई फार्म हाउस पर-2. उसके बाद उसे पोर्न वीडियो भी दिखाए, जिससे मेरी कुंवारी गर्लफ्रेंड भी बहकने लगी. हिंदी में बीएफ फिल्म एचडी मेंअर्जुन बड़बड़ा रहा था- आह जान … क्या चूसती हो … उम् अह्ह्ह फ़क!ऐसा हो भी क्यों न … मेरे मुँह में जो लंड जाये और आहें न भरे? ऐसा हो ही नहीं सकता.

मुझे अपने पति के सामने अपने यार के बड़े लंड से चुदकर बहुत मजा आ रहा था. बस फिर क्या था, सब काम साइड में रखकर मैं दूसरे दिन भी पौने 4 बजे पहुंच गया और उसके आने का इंतज़ार करने लगा. तुम तो मेरी जान हो। तुम नाराज़ हो जाओगी तो ऐसा लगेगा कि मेरी जान ही मुझसे नाराज़ हो गयी और अगर जान नाराज़ हो जाए तो मैं तो मर ही जाऊंगा।वो रमेश के मुंह पर हाथ रखते हुए बोली- छी! ऐसा मत कहो.

जबकि सत्यता ये थी कि सलीम का लंड मेरी जांघों में ही उछलकूद करके झड़ गया था. चूंकि अम्मी के पास इसको मानने के अलावा दूसरा कुछ विकल्प ही नहीं था.

वो उदास होते हुए बोलीं- काश मैं उस टाइम अपने घरवालों से लड़ी होती, तो आज मेरी ज़िंदगी खुशहाल होती.

सनम की आंखों में आंसू आ चुके थे जिन्हें देखकर मेरी गांड फट रही थी कि अब अगला नंबर मेरा ही था. एसएचओ ने एएसआई और उस लेडी कांस्टेबल से पूछा- इनको किस से पूछ कर बुला कर लाए हो?एएसआई ने कहा- इन लोगों के खिलाफ रोहित ने शिकायत दी थी. जैसे ही मैं ऊपर पहुंचा उसी समय घर की बेल बजी और नेहा की मम्मी सरोज आ गई थी.

बीएफ सनी लियोन का बीएफ आहह … करन … प्लीज करन … आहह।सुनील एक पल के लिए रुका और बोला- चाट तो रहा हूँ! और हाँ, करन नहीं सुनील बोलो ना प्लीज! मुझे और जोश आयेगा। चिकनी चूत चाटने का मजा ही कुछ और है!मेरा ध्यान टूटा और मैंने मुस्कुराते हुए कहा- ओह सॉरी सुनील … और फिर बस उमम्ह सुनील … उम्महह … प्लीज. वो भी खुश होते हुए बोलीं- अच्छा क्या बात है … नया फोन किसने दिलाया है?मैंने कहा- मामी … अपनी कमाई के पैसे से ही खरीदा है.

मैंने उसको तौलिया दे दिया और उसको बाहर वाला बाथरूम इस्तेमाल करने को बोल दिया. पर सोच रहा था ट्रेनिंग पर बंगलुरु जाते समय एक दिन मुंबई भी मिल आऊँ. मैंने चुदाई करते हुए उसके दोनों मम्मे दोनों हाथों में पकड़ लिए और चूसने लगा.

गुजराती सेक्सी कहानियां

मैंने नेहा को धीरे से कहा- फ्रेंडशिप करोगी?नेहा ने फिर किचन की तरफ देखा और अपनी आंखें बंद करके गर्दन को हिला कर सहमति दे दी. ये मुझसे बर्दाश्त नहीं होगा।कुसुम- सॉरी यार माफ कर दो! पर तुम इतना अधीर कैसे हो सकते हो!मैंने कहा- कुछ लोग कुछ ना होकर भी बहुत कुछ होते हैं, मेरे लिए वो लड़की क्या मायने रखती है मैं बता नहीं सकता।इतना कहते हुए मैंने आगे लिखा कि चलो कल बात करते हैं, आज मुझे आराम करने दो।और मैंने मैसेज करना बंद कर दिया. लेकिन इस बार चुदाई डबल बैड पर हो रहीं थीं तो भैया ने 69 पोजीशन बना ली.

जैसे ही मेरा नंबर आने वाला था, पीछे से आवाज आई- राज, दो टिकट ले लेना, एक मेरी भी ले लेना. और कुछ समय या कुछ दिन बाद मैंने बेनतीजा ही सोचना छोड़ दिया।हमारी बातचीत शालीनता से होती थी.

और पनीर नहीं लाना क्या?” मैंने पूछानहीं जीजू, आप दूध लाओगे न तो उसी में से पनीर तो मैं अपना खुद बना लूंगी, मार्केट का पनीर शुद्ध नहीं होता.

अब वह ही बतायेगी कि क्यों देर हो रही है? मगर जल्द क्लियर न करने से हमें बहुत नुकसान हो सकता है क्योंकि आगे वह हमारे साथ काम नहीं करना चाहेंगे।रमेश- आई सी। (मैं देखता हूं). मामी मुझे गरम करते हुए बोलीं- किसकी में पेल रहा है?मैंने कहा- मामी, आपकी चुत में पेल रहा हूँ. कुछ ही देर में जब उन्होंने आंखें खोली तो ड्रेसिंग टेबल के शीशे में से उन्होंने मुझे देख लिया और एकदम मेरी तरफ घूम गई.

बड़े संतरों के आकार की चूचियां जब मेरे सीने के बालों से रगड़ खाने लगीं तो बड़ी मादक आवाज में गुरजीत बोली- विजज … जजय. शालिनी के मुँह से मादक आवाजें निकल रही थीं, जो मुझे और जोश दिला रही थीं. मैं थॉमस के लंड पर एक दो बार उछली और उसके लंड को पूरा अन्दर तक ले लिया.

बिन्दू कहने लगी- क्यों आप को मम्मी ने कुछ कहा है?मैंने कहा- हां, तुम्हारी मम्मी ने मुझसे यह बात कही है कि बिन्दू की किसी के साथ फ्रेंडशिप है, तो मैंने तुम्हारी मम्मी को विश्वास दिलवा दिया था कि मैं बिन्दू को समझा दूंगा और वह अब किसी से बात नहीं करेगी.

बीएफ चुदाई की चुदाई: मम्मी अस्पताल जाएगी भाभी और बाबू को लेकर!”ओह … पर क्यों?”बाबू को टीका लगवाना है. विभिन्न चुतों की चुदाई की कहानी के साथ बने रहकर आप चुदाई का आनन्द लेते रहिए.

मैं अब झांटें कम ही साफ करती थी … क्योंकि अभिषेक मुझमें रूचि ही नहीं लेते थे. बस इसी सोच के चलते लगा कि शाजिया की चुदाई करने का कुछ मौका मिल सकता है. पर अगर आपने मेरी गांड नहीं मारी ना … तो आपकी चूत तो क्या … गांड भी मार मार कर खून निकाल दूंगा मादरचोद.

मैंने फैसला किया था कि प्राची भाभी के हर अंग को अपने लंड से चोदूंगा.

प्रतिभा दास की चुत चोदने के बाद अब नेहा मेरे साथ प्रेम की बात कर रही थी. शेफाली- अंकुश ये रोमा है, मैंने तुम्हें बताया था न कि ये मेरे साथ स्विमिंग के लिए जाती है. साली जी के मुंह से दर्दभरी कराह निकल गयी; आखिर नयी चूत में दूसरी बार ही तो लंड घुस रहा था सो थोड़ा दर्द तो होना ही था.