सेक्स बीएफ आंटी

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

16 साल की लडकी: सेक्स बीएफ आंटी, यह बोलते ही मैंने उसे गले से लगाया और उसके होंठों पर अपने होंठ टिका दिए.

हिंदी फिल्म इंग्लिश बीएफ

लेकिन वही सेक्स समस्या सबसे ज्यादा परेशान करती है जो शर्मनाक हो और व्यावहारिक ना हो. साउथ बीएफ बीएफमैंने एक हाथ से उसके बूब्स को दबाना शुरू किया और दूसरा हाथ उसकी पेंटी में डालकर उसकी चुत में एक उंगली डाली तो उसकी चूत से पानी आना शुरू हो गया था.

मेरे बेटे विशाल के जन्म लेने के बाद डॉक्टर ने मेरे लिए सेक्स के लिये मनाही कर दी थी. विलेज गर्ल फोटोउसने तौलिये से मेरी हेल्प की और मैंने भी इसी बीच अपना लंड कई बार उसके टच किया.

हनी का स्कर्ट, ब्लाउज, ब्रा और पैन्टी उतारकर सोफे पर फेंक दिया और उसे पूरी नंगी कर दिया.सेक्स बीएफ आंटी: रानी को मैंने बैड के किनारे खींच लिया और उसकी सलवार उसके पैर से निकाल दी.

हम दोनों ने अलग होने का फैसला कर लिया और अब फिलहाल मामला कोर्ट में चल रहा है.उसने पीछे से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और एक ही झटके में पूरा अन्दर तक पेल दिया.

हिंदी हिंदी सेक्सी ब्लू फिल्म - सेक्स बीएफ आंटी

खैर … दूसरी सुबह जब वो काम वाली घर पर आई दोस्तो … मैं क्या बताऊं … मैं तो बस उसे देखता रह गया.डबल रोटी की तरह फूली हुई गुलाबी रंग की चूत के चिथड़े उड़ने का समय करीब आ गया था.

मैं मन ही मन खुश हो रहा था मैं एक ठकुराइन की चूत चुदाई करने में कामयाब हो गया था. सेक्स बीएफ आंटी और बोली- लेकिन आप बुरी तरह करते हो! पूरा बदना और बदन के सारे जोड़ हिला कर रख दिए.

कॉफ़ी शॉप से निशा ने मुझे घर ड्राप किया, तब ही मम्मी और आंटी (यानि मेरी मम्मी की बहन व मेरी मौसी) कहीं बाहर से आ रही थीं.

सेक्स बीएफ आंटी?

मैंने भी रचना का साथ दिया और वो बोली- जाओ!और मैं अपने कमरे में आ गया. मेरा 9 इंच का लंबा लंड तोप की नाल की तरह सीधा नसरीन कीकुंवारी चुत की सीलतोड़ने के लिए लपलप कर रहा था. कहानी अच्छी लगी या नहीं? अपने दोस्तों को इस कहानी का लिंक शेयर करें.

धीरे उसके जिस्म के हर हिस्से को सहलाते और रगड़ते हुए मैंने उसको पूरी तरह नंगा कर दिया. 1 घंटे टहलने के बाद में घर गया तो बेटे की दी हुई चाबी से गेट खोला और अंदर आके सोफ़े पर बैठ गया. मैंने जोर से उनको मसला, तो कल्पना के मुँह से फिर से आह … की आवाज निकल गई.

ऐसा करने से कल्पना मुझे और जोर से कसके अपने गले लगा कर लंड पर धीरे धीरे अपनी चूत रगड़ने लगी. उन्हें मुठ मारते देखा, तो मैंने भी अपना लंड निकाल लिया और उन्हें देखते हुए मुठ मारने लगा. फिर मैंने दोबारा से उसके मुंह के पास लंड को किया और उसने मेरे लंड को मुंह में ले लिया.

धीरे धीरे हम तीनों आपस में बातें करने लगे और एक दूसरे से खुलने की कोशिश करने लगे. क्या मस्त अहसास था मुलायम बुर का … वो भी अपनी छोटी बहन की बुर का अहसास मुझे अन्दर तक मजा दे रहा था.

लंड को अंदर डाले हुए ही झुक कर उसकी कमर से हाथ ले जाते हुए उसकी चूत के दाने को रगड़ने लगा.

जवान लड़की देखकर …हाय दोस्तो, मैं आपकी अंजलि फिर से नयी सेक्स कहानी साथ हाजिर हूँ.

अगले दिन सुबह मेरी ट्रेन पहुंच गई और मैं वहां से सीधे अपनी सहेली शालिनी के घर चली गयी. रात को तकरीबन 12 बजे कविता मुझे उठाने लगी और कहने लगी- मामा, प्लीज़ एक बार और मेरी चूत रगड़ दो. उस टाइम बहू ने सिर्फ एक टॉप पहना था जो उसके बड़े बूब्स पे अटका हुआ था.

कल्पना भी जोर जोर से मुझे एक छोटे बच्चे की तरह प्यार करते हुए सीत्कार करने लगी- आह … हाय … आउच … मुझे खा जाओ प्लीज़ जल्दी से मुझे अपने लंड का पानी दे दो … मैं बहुत प्यासी हूँ. कम्प्यूटर सीखने के टाइम जब भी मैं उसके पास जाता, वो खुद से मेरा लंड निकाल कर चूसने लगता और घर जाने से पहले अगर दोनों अकेले होते, तो वो मुझसे गांड भी मरवा कर जाता. बाद में मैंने उससे लंड चूसने के लिए बोला, तो इस बार वो रंडी की राजी हो गई थी.

अब आगे:पच्चीस सेकेंड तक मेरे लंड से वीर्य उसकी चूत में पिचकारियां देता चला गया.

मैं कॉलबॉय हूं मुझे आंटियां भाभियाँ और अकेली रह रही लड़कियां या विधवा बुलाती हैं. ‘कुणाल कहां खो गया बे!’मैं हड़बड़ा कर चौंका और जैसे ही उधर देखा, तो अब तक वो भाभी भी घर से बाहर आ चुकी थी और मुझे ही घूर रही थी. बार बार मेरी आंखों के सामने वही नजारा आ जाता था जब पापा मेरी मां को पीछे से चोद रहे थे और मेरी मां की मोटी मोटी चूचियां हवा में झूल रही थीं.

मेरे दोस्त कीबीवी की चुदाईसे उसको मेरे बड़ा लंड का चस्का लग गया था और मैं ज्यादा समय तक भी चोदता हूँ. वो बोली- मुझे क्यों याद कर रहे हो?मैंने कहा- पहले आप ये बताओ कि आज आपने मुझे इस तरह से कॉल क्यों किया? इससे पहले तो कभी आपका कॉल नहीं आया था कॉलेज में ऐसे।वो बोली- बस ऐसे ही कर लिया. लेकिन उन्होंने यह नहीं किया और मैं कामुकता की चरम सीमा तक पहुंच गई थी और निढाल पड़ गई.

अपने भाई से बाथरूम में चुदा कर में बाहर निकली। कुछ देर में मम्मी भी आ गयी। हम भाई बहन रात में चुदाई करना चाहते थे पर मम्मी घर में थी.

अगली बार रवि का हाथ जैसे ही जाँघों पर आया तो उसके हाथ मेरी नग्न जाँघों पर पडे़. चूत चाटने से वो बहुत गर्म हो गयी थी और बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गयी थी.

सेक्स बीएफ आंटी इसी दरम्यान मैंने नसरीन को लैपटॉप चलाना सीखने की सलाह दी और उससे कहा कि आज के दौर में कंप्यूटर सीखना कितना जरूरी है. ’मैंने कहा कि मैं आर्यन हूँ … मुझे आपका नम्बर पंकज ने दिया है, आप कल्पना बोल रही हो ना?उसने कहा- हां हां बोलो ना.

सेक्स बीएफ आंटी यह वीडियो आधे घंटे का रेकॉर्ड किया हुआ था, जिसमें दीदी और रिया दोनों लेस्बियन रोमांस कर रही थीं. दीदी ने एक बार मेरे लंड की चमड़ी को हटा कर सुपारे को बाहर निकाला और अपनी जीभ से मेरे सुपारे को चाट लिया.

उसने मुझे नीचे से ही घूर कर देखा, फिर उसको पूरा मुँह में लेकर चूसने लगी … मेरा पहली बार कोई चूस रहा था तो मैं सातवें आसमान में था.

ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म ब्लू सेक्सी

सुबह जब मैं उठा तो दीदी का मेरी ओर देखने का नजरिया बदला बदला सा था. मैं अपने हाथ से माया के शरीर को सहला रहा था और उसे बेहताशा पागलों की तरह चूम भी रहा था. वो शावर लेकर आई थी और उसके बदन पर सिर्फ़ एक तौलिया ही था, जो उसके मोटे उठे हुए चुचों को मुश्किल से छुपा पा रहा था.

सुनसान रास्ता हो गया था एक जगह मुझे अंधेरा मिला मैंने भाभी को पकड़कर दीवार पर चिपका दिया और जबरदस्त किस करने लगा. इससे भी उसका मन नहीं भरा तो उन्होंने मेरे कूल्हों को उठाकर अपनी गोदी में रख लिया. वाओ … बहुत मजा आ रहा था उन्हें चोदने में!मैंने उन्हें जी भर कर चोदा, उनकीवासना को शांत किया.

मैं रात भर यही सोचता रहा कि वो काम वाली दिखने में न जाने कैसी होगी.

करोना को भी चिन्ना की इन बातों में मजा आने लगा था और वह अब बेशर्म होकर चिन्ना की आँखों में आँखें डाल कर देख रही थी. तो हम दोनों भी तैयार हो गये और नीरज नाम का वो लड़का भी तैयार हो गया. मुझे उसमें से बाहर का नजारा देखना अच्छा लगता है, तो मैंने विंडो खोल दी थी.

अगर हम ही शर्मायेंगे तो फिर बाकी लोगों का क्या होगा। लाओ मैं तुम्हारी शर्म दूर कर देता हूँ. फिर भाभी बोली- अच्छा, क्या याद करते हो मेरे बारे में?मैंने कहा- सब कुछ, जो जो मेरा मन करता है … आपको उस तरह से याद करके हिला लेता हूँ. और नीचे एक ऐसी पेंटी पहनी थी जिसमें उसकी चूत पूरी खुली गयी थी और चूत की लाइन पर एक मोती से बनी माला थी.

चूंकि मैं और अजय तो काफी दिनों से एक दूसरे के साथ बातें कर रहे थे इसलिए एक दूसरे के बारे में काफी कुछ जानते थे और एक दूसरे के साथ काफी खुले भी हुए थे. मैंने कहा- क्या हुआ बहू? हंस क्यों रही हो?तो वो बोली- कुछ नहीं डैडी जी!उसके बाद बहू ने शावर लिया और मैं सोफे पर बैठकर टीवी देख रहा था.

नीलम मेरी पीठ सहला रही थी, नीलम ने पहले मेरी टी शर्ट उतारी और फिर लोअर उतार दिया. इसके बाद जब भी हमें मौका मिलता था हम चुदाई कर लेते थे।दोस्तो, यह मेरी पहली सेक्स कहानी है इसलिए मेरी गलतियों को माफ करना. क्या पता यही वह वजह हो कि जो वे देखते हैं, वही मुझ पर प्रयोग करते हैं.

कभी वो मेरे लंड के टोपे पर जीभ को अंदर अंदर फिरा रही थी और कभी पूरे लंड को मुंह में पूरा गले तक उतार कर चूसने लग जाती.

सेजल के घर में अभी गैर मर्द आते थे जब उनकी बेटियां घर पर नहीं होती थी और वह सेजल का सेवन करते थे. जब आप पहली बार किसी लड़की या रंडी के साथ सम्भोग करोगे, तो जल्दी ही आपका भी खड़ा होगा. मैं उत्तर प्रदेश के एक शहर का रहने वाला हूं और एक जिम ट्रेनर की नौकरी करता हूं.

मैंने फिर से दूसरी आई डी बनाई और प्राथना की कि मुझे ब्लॉक न करे।मैं अलग अलग तरीके ढूंढने लगा. तभी उसके घर के नीचे वाले कमरे से किसी औरत की आवाज़ आई- अनिल आओ खाना खा लो.

नीचे आकर मैं उनके पैरों को किस करने लगा और पैंटी को उतार के फेंक दिया. मैंने कहा- आह्ह … कोमल एक बार करने दे बस… बहुत दिन हो गये हैं यार… जब से तेरी भाभी गयी है तब से ही मैं सेक्स के लिए तरस गया हूं. मैंने अन्दर कमरे में जाकर अपने सारे कपड़े उतारे और बाथरूम में जाकर शावर लिया और तौलिया बांध कर बाहर आ गयी.

छोटी छोटी लड़की की सेक्सी पिक्चर

नितिन ने मुझसे पूछा- कहां चलें?मैंने मुस्कुराते हुए कहा- जहां तुम्हें करते हुए शर्म न आए.

मैंने कहा- ठीक है कल्पना, कल सुबह मैं आपकी बताई जगह पर पहुंच कर कॉल करता हूँ. अबकी बार उन्होंने मुझे दीवार के सहारे खड़ा कर लिया और पीछे से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मेरी कमर को पकड़ कर आगे पीछे हिलाने लगे. जब मैं नया नया जवान हुआ था तो मैंने तभी उनकी चूत देखने की ठान ली थी.

जैसे ही वो पलटी, मुझे उसकी गांड देख कर मेरा लंड शॉर्ट्स के अन्दर से ही झटके मारने लगा. चिन्ना- ऐसे कैसे निकाल लूँ बहन की लौड़ी … इतना आगे जा कर मेरा लण्ड कभी वापस नहीं आता. नई नवेली दुल्हन का सेक्सी बीएफफिर उसने कपड़े पहने, हल्का मेकअप लगाया और बोली- भैया मैं कैसी लग रही हूँ.

लेकिन उस सलमा ने मुझे डांट दिया और कहा- ऐसा कभी नहीं हो सकता।लेकिन मैंने भी हार नहीं मानी थी. उनके हाथ में लकड़ी से बना हुआ लंड के जैसे आकार लिये हुए कुछ चीज़ थी.

कुछ देर बाद लंड चुत की चिकनाई पाकर सटासट अन्दर बाहर होने लगा … तब उन्होंने मेरे मुँह से अपना मुँह हटाया. मैं खाना लेकर जा रही थी, अचानक मुझे चक्कर आ गया मैं दीवार का सहारा लेकर गिरती चली गई और मैं बेहोश हो गई. तो भाभी ने अपने जेठानी की लड़की को अपने साथ जाने के लिए जैसे तैसे पति को मना लिया.

उसकी गीली बुर के लकीर में मैंने एक उंगली से उसकी क्लिट को रगड़ना शुरू किया, तो वो ‘अहह ऊंह. दूसरे वाले ने अपने सारे कपड़े उतारे और वो सीट पर सीधा होकर पीठ के बल लेट गया. खाना खाने के दरमियान हम दोनों ने एक दूसरे से बहुत सारी मस्ती भी की.

पांच मिनट बाद ही मैंने उसकी चूत को अपने रस से भर दिया और हम दोनों बेड पर ही लेट गए.

मैंने अपने दोनों हाथों से बिस्तर को पकड़ा हुआ था मेरा शरीर अकड़ने लगा था, मेरा पानी इतना निकल रहा था कि बिस्तर पर टपकने लगा था. उसके मुँह से ये सुनते ही मैंने अपनी बहन को घोड़ी बनाया और अपना लंड उसकी गांड के छेद पर रख कर थोड़ा सा जोर लगाया.

और कहा कि चूंकि उनका निर्वाचन क्षेत्र बहुत पिछड़ा हुआ है और दौरे के दौरान रहने के लिए कोई रेस्टहाउस या होटल नहीं हैं, इसलिए यह व्यवस्था की गई है. लेकिन बच्चों और बुजुर्गों के लिए, खासकर फेफड़े के रोग जैसे दमा (अस्थमा) से ग्रसित व्यक्तियों के लिए यह रोग ज्यादा खतरनाक हो सकता है. यहां तक कि महिलाओं को इस बात की अनुभूति भी हो जाती है कि जो स्पर्श उनके शरीर पर किया गया है उसके पीछे का प्रयोजन क्या रहा होगा.

मुझे आप लोगों के रेस्पोन्स का इंतजार रहेगा कि आपको तनवी मैम की चुदाई की ये कहानी कैसी लगी. वो बोली- रुकना मत, हिलाते रहो!फिर 5-10 सेकेंड के बाद मेरा वीर्य निकल गया. मेरी सेक्स कहानी के पहले भागट्रेनी अफसर बनी मेरे लंड की रानी-1में अब तक आपने पढ़ा था कि नताशा की चुत का पानी मैं चाट लिया था, अब नताशा की बारी थी.

सेक्स बीएफ आंटी मैं कुछ देर सोच कर बोली- ठीक है पापा, अभी लगा दो बहुत दर्द हो रहा है. मेरे मुँह को चोदते चोदते नवीन सर ने मेरे मुँह में ही अपना लंड खाली कर दिया.

जूलिया सेक्सी वीडियो

उसने कहा- प्लीज बोलो?तो मैंने कहा- कल मेरा लहंगा चोली मेरी ब्रा और कच्छी पैक करके अपने लड़के के हाथ भेज देना दोपहर तक … नहीं तो तुझे लेने पुलिस आएगी. एक दो चाल के बाद उसका हाथ फिर मेरी जाँघों पर था पर इस बार वो हल्का हल्का मेरी जाँघों को सहला रहा था. इस बीच मैंने पूछा- सिम्मी तुम इतनी खूबसूरत हो, तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड नहीं था क्या?सिम्मी ने कहा- नहीं।मैंने पूछा- ये तो हो ही नहीं सकता.

… उउह … चोद डालो मुझे … आह भोसड़ा बना दो आज मेरी चूत का … फक मी … फक मी हार्ड…’ इतना ही कह रही थीं. फिर भाभी उठी और बोली अपनी सहेली से- तू उसका लंड चाट, मैं इसके मुंह पर बैठकर चूत चटवाती हूं. सनी लियोनी सेक्स व्हिडिओ एचडीउनकी चूत तो भाभी से भी मजेदार लग रही थी और मैं उनकी चूत कुत्ते की तरह चाट रहा था.

उसकी चूत पर छोटे छोटे भूरे बाल थे जिससे मेरी बहन की चूत बहुत सेक्सी दिख रही थी.

फिर मैं उसे लेकर बिस्तर पर लेट गया। मैंने अपना काम करना शुरू किया। पहले मैंने उसको किस किया और साथ साथ उसके चूचों को दबाने लगा. सीमा मुझको एक्टिवा से लेने आ गई और मैं उसके साथ एक्टिवा पर बैठ कर उसके घर चला गया.

उसके बाद तुम जिसकी चूत चोदने की इच्छा करोगे मैं तुम्हारे लिए करने के लिए तैयार हूं. मैं उनकी चूत को अपनी उंगलियों से फैला कर जीभ अंदर डालकर चूसने लगा, चाटने लगा. दीदी के जाते ही मां ने पापा के अंडरवियर में से उनके लंड को निकाल कर चूसना शुरू कर दिया.

तब हम एक दूसरे के बदन को चूम चाट रहे थे।यह सब करने से मेरी वासना जाग उठी थी तो फिर मैं उनका लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

मैंने उससे 69 में आकर चुत चाटने की कही, तो वो मेरे कहे अनुसार बिस्तर पर आ गई. जब मैंने अपने लंड की तरफ देखा तो वो बिल्कुल लाल हो गया था खून से सन कर!मीनू की चूत की सील टूट गई थी. उसने रेड कलर की टी-शर्ट पहनी हुई थी और मैचिंग लिपस्टिक लगाई हुई थी.

xxnx कहानीबहू बोली- डैडी जी, रानी को कब पटा लिया आपने?मैंने कहा- जब यहाँ आया था उसके अगले दिन बाद मैंने उसे 1000 रुपये दिए और वो मान गयी. भाई की जीभ मेरे होंठों के बीच में घुस गयी और मैंने उसे चूसना शुरू कर दिया.

सेक्सी डांस वीडियो भोजपुरी

उसकी मोटी मोटी चूचियां और गदरायी हुई गांड देखकर मेरा मन मचलने लगा और मैं अपनी बहन को गन्दी नज़रों से देखने लगा. अब आप कल्पना कीजिए कि एक भाई अपने बहन की बुर की झांट के बाल साफ करने जा रहा है. जैसे ही डोर बेल बजी, हम दोनों घबराए पर फिर उन्होंने गाउन पहना जल्दी से और बोली- मैं खाना लेकर आती हूं, तुम बेडरूम में चलो.

आंटी की गर्म और गीली चूत में लंड जाने के बाद मैंने तेजी से आंटी की चूत में धक्के लगाने शुरू कर दिये. बाहर से हल्की रोशनी आ रही थी जिसमें उन दोनों की हरकत का साफ साफ पता लग रहा था. तब बहू मुझसे पूछने लगी- डैडी जी, गांव में कौन है वो औरत? क्या मैं उसे जानती हूँ?मैंने कहा- बताऊंगा बहू, तुम्हें बता दूंगा.

इसलिए जब मैंने उसकी झांटों की बीच से उसकी चुत की फांकों पर जब हाथ लगाया, तो उसने मेरा हाथ बाहर निकाल दिया. मैंने दो मिनट के बाद हाथ छोड़ दिया, वो अब भी मेरे लंड को सहलाती रही. अब तो वैसे भी वो चुदने के लिए मेरे नीचे मेरे कमरे में आ ही गई है तो मना नहीं कर पाएगी।उल्टा होकर वो लेटी ही थी, गांड लंड के सामने थी तो मैं उसके ऊपर लेट गया। अपने लंड को उसकी गांड पर स्पर्श करने लगा। मैंने उसकी गांड पर और अपने लंड पर अच्छे से थूक लगाया और अपना लंड उसकी गांड के छेद पर टिका दिया.

रात के ठीक बारह बजे मम्मी ने मेरे मोबाइल पर कॉल की और पूछा- नींद नहीं आ रही है ना? आ जाओ, मेरे बेडरूम में. मैंने कैसे उसे राजी किया मेरे साथ सेक्स करने के लिए?मेरा नाम सोनू है और मैं दिल्ली में रहता हूं.

कल्पना मेरी बात सुनकर हंसने लगी और उसने कहा- मुझे पता था कि तुम्हारा कॉल आएगा … पर इतनी जल्दी कॉल करोगे, ये नहीं सोचा था.

मैं कॉलेज में आगे पीछे दोनों तरफ से लंड ले चुकी थी, इसलिए मुझे चुत गांड मरवाने में कोई दिक्कत नहीं थी. एक्स एक्स एक्स बांग्ला बीएफ वीडियोएक कामोद्दीपक सुगन्ध मेरे नाक में भर गयी और मेरा लंड मेरे छोटे भी की बीवी के मुख में झटके मारने लगा. बीएफ सेक्स वीडियो देसीजल्दी से चोद डालो मुझे … बुझा दो आज मेरी चूत की आग … आह साली बहुत तड़पाती है … निगोड़ी कहीं की. रचना बोली- इस जीवन में मैंने अपना पूरा शरीर अबन … तुमको हमेशा के लिए सौंप दिया.

उसने अपने चूतड़ों में शॉवर जैल लगाया और मेरे मुँह से लेकर मेरे पैरों तक हिप मसाज देने लगी.

और जब उन्होंने सेक्स किया तब पता चला कि उनका लिंग अपेक्षाकृत छोटा और पतला है. मुझे भी शरारत सूझी, तो मैं ठीक उसके ऊपर लेट गया और लंड का दबाव उसकी बुर पर देते हुए, उसे जोर से पकड़ कर पहले गाल पर किस करने लगा. मैंने एक दो बार लंड को उसकी चूत के मुंह पर रख कर रगड़ा तो वो अपने दांतों के तले अपने होंठों को चबाने लगी.

मैं नसरीन की दोनों चुचियों के चूचुकों को बारी बारी से मुँह में लेकर बच्चे की तरह चूसने लगा. उसकी बहन कविता की तरह ही एकदम से गोरा हाथ था जो अब मेरे हाथ में था. मेरी उम्र 40 साल है, मेरे लंड का साइज 6 इंच है।मैं एक कॉल बॉय हूं मुझे आंटियां भाभियाँ और अकेली रह रही लड़कियां या फिर कोई भी विधवा कॉल करके बुलाती हैं.

सेक्सी वीडियो हिंदी साड़ी वाला

मेरी बीवी राजस्थान के एक गाँव में हमारे पुश्तैनी घर में मेरे माँ बाप के साथ रहती थी. दूसरा अगर मैं कहूंगा तो तुम चुदवाने से मना नहीं करोगी और तीसरा अगर तुम्हारी चुदवाने की इच्छा होगी तो बेझिझक चली आओगी. करोना की आँखों में हवस के लाल डोरे तैर रहे थे।परन्तु अनुभवी लंडैत चिन्ना इस खेल तो इसी प्रकार धीरे धीरे आगे बढ़ा कर करोना को बिल्कुल ऐसी हालत में ले जाना चाहता था जहाँ पढ़ी लिखी ऊँचे घराने की नाजुक सी करोना हाथ जोड़कर अनपढ़ अपराधी प्रवृति के शातिर औरतखोर चिन्ना से अपनी कुंवारी नाजुक चूत का उद्घाटन उसके बमपिलाट काले लौड़े करवाने के लिए मिन्नतें करने लगे.

मुझे मालूम था कि दीदी का एक ब्वॉयफ्रेंड है, मगर उससे उनकी किस हद तक की दोस्ती है, ये मैं नहीं जानता था.

फिर जो करना है कर लेना अपनी मनमर्जी। मैं तो आज से तुम्हारी ही हूँ।फिर हम दोनों बाथरूम गए एक दूसरे को साफ किया और वापस नंगे ही कमरे में आकर लेट गए.

उसने मुझे कस के पकड़ लिया और मेरे लंड पर जोर जोर से उछलने लगी।मैंने भी अपने हाथ उसकी चूची पर रख दिए और उन्हें जोर जोर से मसलना शुरू कर दिया. उस दिन पहली बार मैंने उसकी बीवी दीपिका को अपनी आंखों के सामने देखा. ब्लू सेक्स करते हुए दिखाओउसके मुँह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- ओह ओह अहा अहा … कितना अन्दर तक मजा दे रहा है.

पापा बोले- बाल हटाने वाली क्रीम कहां है?मैंने कहा- बाथरूम में पड़ी है. भाभी के जाने के बाद मैं सोचने लगा कि भाभी हंसी क्यों … क्या ये मुझसे पट जाएंगी … अगर वो मुझे पसंद नहीं करतीं … तो कुछ कह-सुन न देतीं … या फ़िर चुप कुछ कहे बिना चली जातीं … लेकिन वो हंसते हुए मेरे कलेजे में नैनों के बाण चलाते हुए गांड मटकाते अन्दर चली गईं. अभी उसका पीरियड स्टार्ट तो नहीं हुआ था … लेकिन चुत में उभार आ चुका था.

खैर … दूसरी सुबह जब वो काम वाली घर पर आई दोस्तो … मैं क्या बताऊं … मैं तो बस उसे देखता रह गया. मैं दीदी की चुत चाटने लगा, इससे दीदी सीत्कार करने लगीं और छटपटाने लगीं.

आह इतने दिनों बाद अपनी बहन को अपने बांहों में भरकर कितना मज़ा आ रहा था.

मैं बोली- ठीक है … रात में कोई बाधा नहीं है … लेकिन इतनी सुबह ब्रेकफास्ट बनाने आने में मुझे देर हो जाएगी. दीदी- जनाब झूठ मुझसे मत बोलो आपके जाने के बाद चाची आयी थीं … और चाची के जाने बाद मैंने तेरा फ़ोन देखा था. मेरी इस डबल मीनिंग बात से नवीन जी ने मेरी तरफ देख कर अपना लंड सहला दिया और कहा- मुझे तुमसे मिलने वाली ख़ुशी का इन्तजार रहेगा.

হিন্দি বিএফ এইচডি मेरे चाचा और चाची ऊपर वाले फ्लोर पर हैं जबकि हम लोग नीचे वाले फ्लोर पर रहते हैं. पिंक पैंटी और ब्रा में कसे हुए उसके जिस्म को मैं ललचाई निगाहों से देखने के लिए थोड़ा अलग हुआ.

अंत में उसकी बुर की लकीर के अगल बगल ही बाल बच गए थे, तो मैंने उसकी बुर की लकीर के अन्दर से उंगली करके उसकी बुर की फांकों को फैलाया. मजे में सिसकारते हुए उसने कहा- आह्ह … चोद दो यार आज … अब तक ये चूत कुंवारी थी और मैं भी कुंवारी थी. अब उससे मिलकर चुदाई का क्या सीन होता है, वो चुदाई के मजे लेने के बाद आपको लिखूंगा.

सेक्सी भाषा हिंदी

तभी उसकी नजर मेरे लोअर पर गई जिसमें से मेरा आठ इंच का लंड साफ नजर आ रहा था. ये उस समय की बात है जब मैं मेरे पापा के किसी दोस्त के घर की शादी में जा रही थी. सुबह जब मैं उठा तो दीदी का मेरी ओर देखने का नजरिया बदला बदला सा था.

उसकी गर्दन पर किस, एक हाथ से चूची को सहलाना … और तीसरे चुत को सहलाना. मुझे अब एहसास हुआ कि मेरा लंड उसकी गांड के छेद के पास चुभ रहा है पर अब मैं उसके साथ थोड़ा खेलने के मूड में आ गया था।मैं- ऐसे किधर चुभ रहा है?शिल्पा- जैसे कि तुम्हें पता नहीं है.

चिन्ना की हरकतों और इन अश्लील बातों से करोना का दर्द अब कुछ कम होने लगा और उसकी जगह एक नई मस्ती ने ले ली थी.

मैंने बिना देर किए पीछे से एक झटके में लंड उसकी चूत में उतार दिया और उसकी चुदाई शुरू कर दी. वो बोली- धत भैया आप भी!फिर मैंने आफ्टर शेव अपनी हथेली में लेकर उसकी बुर पर लगाया, तो वो मचल उठी. दीदी भी उस दिन बाहर गई थीं, इसलिए मैं कमरे उस वीडियो को देखकर अपने लंड को लोवर के ऊपर से सहला रहा था.

उसने सोचा कि फंस गई मैं आज तो!और इस स्थिति में उसने कहा- ठीक है, मैं मदद करूंगी लेकिन केवल 15 मिनट के लिए! क्योंकि मैं भी थक गई हूं. रूम में पहुंच कर सारिका चेंज करने के लिए बाथरूम गई तो मैंने पेप्सी की बॉटल में दो पेग व्हिस्की मिला दी. उसकी लार धीरे धीरे मेरे लंड पर से बहती हुई मेरी जांघों पर आने लगी थी.

हाथ से चुत में उंगली और होंठों से चुम्बन का सुख हम दोनों की चुदास को लगातार बढ़ाता जा रहा था.

सेक्स बीएफ आंटी: वो मेरी हर बात का खयाल रखता है और मैं भी उसको अपने पति के जैसे रखती हूं. तनु ने बिना देर किये मेरे लंड के गुलाबी सुपाड़े को मुंह में भर लिया.

अब अजय अंकल माँ को उसी पोजीशन में लेके सोफे में बैठ गए और विशु ने माँ के मुह में लंड दे दिया. उसने मेरे चूचुक देखे और बोला- बहन की लौड़ी साली … कल मैंने कहा था, अगर निप्पल खड़े नहीं होंगे, तो फिटिंग ठीक नहीं आएगी. मैंने पूछा- क्या हुआ?बहू बोली- डैडी जी, मैंने आपको खाने में एक गोली दी थी.

मेरे दिमाग में अब सिर्फ मेरी बहू का नंगा जिस्म था और मुझे उसे चोदना था.

एक दिन राजेश मास्टर अपने गांव जा रहा था और वो अपनी बेटी को हमारे घर पर छोड़ने के लिए कहने लगा. मैंने भी पुष्पा आंटी के बताए प्रोग्राम के अनुसार अपनी भी सीट बुक करवा ली मॉम और पुष्पा आंटी की सीट के पीछे लाइन में!सन्डे आ गया. वो बोली- मैं कैसे पेलूं … लंड तो आपके पास है?तब मैंने कहा- बेटू मैं लेटता हूँ, तू मेरे ऊपर बैठ कर ऊपर नीचे आगे पीछे करके अपनी बुर लंड पर रगड़ कर मजा ले.