पंजाब पंजाबी बीएफ

छवि स्रोत,दूसरे का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मधु का वायरल वीडियो बीएफ: पंजाब पंजाबी बीएफ, इस तरह से सोनी भी पहली बार किसी लड़के के साथ इतना घूमने फिरने लगी थी.

सेक्सी वीडियो भेजो सेक्सी वीडियो एचडी

एक शनिवार की दोपहर मैंने कहा- वरुण बेटे, यहां आज कितनी गर्मी है, सोचती हूँ कि नहा लूँ. सेक्सी ब्लू वीडियो ब्लू फिल्मसाथ ही वह हरामजादा पदमा की निप्पल को भी नशे में दांत से काट रहा था, जिससे पदमा दर्द से व्याकुल होकर जोर जोर से ‘मर गई छोड़ो.

मैं तेल की शीशी निकाल लाया और चाची से पूछा कि कहां पर दर्द हो रहा है. पंजाबी वीडियो में सेक्सीमैंने उन्हें खड़ी करके उनकी मैक्सी को ऊपर उठा कर उतार दिया और अपने कपड़े भी उतार दिए.

मैंने कहा- अच्छा तो आज आपके दिमाग में वो ख्याल तो नहीं आ रहा है, जो मेरे दिमाग में तीन महीने से है?भाभी सीना उठाते हुए बोलीं- अगर तुम ‘वो.पंजाब पंजाबी बीएफ: तभी वो बाक़ी सभी औरतों से थोड़ा पीछे चलने लगी और मेरे तरफ देख कर हंसने लगी और तभी मैं उसके पास गया, उसका नाम पूछा.

मगर मुझे लंड को टच करना अच्छा लगने लगा और धीरे धीरे मैंने सुपारे को मुँह में भर लिया और चूसने लगी.भाभी बोलीं- आह… क्या कर रहे हो… आह…मैं बोला- मैं नहीं चाहता कि हमारे प्यार की एक बूँद भी वेस्ट हो.

सेक्सी वीडियो टॉप की - पंजाब पंजाबी बीएफ

हमारी बातें सुनकर जोया ने कहा- क्या इतनी जल्दी भी कोई चोदने के लिए तैयार हो सकता है?इस पर मोना ने कहा- क्यों नहीं, अभी साहिल ही तुम्हें चोदेगा.ऐसे ही कुछ टाईम बीत गयाकुछ देर बाद मैंने देखा बाजूवाले लड़के का हाथ मेरी बहन के हाथ पर रखा था.

दोस्तो, मैं राज सिंह आप लोगों के लिए एक गरमा-गरम देसी पोर्न कहानी लेकर आय़ा हूँ. पंजाब पंजाबी बीएफ मैं जैसे ही पलटा आंटी ने पैन्ट के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ लिया और ऊपर से ही हिलाने लगीं.

हुआ यूं कि नववर्ष का मौका आने वाला था तो सर ने सबसे कहा कि नई साल पर सबको आना होगा, उस दिन कोई छुट्टी नहीं होगी.

पंजाब पंजाबी बीएफ?

शाम को मैं वापस घर आया तब देखा कि भाभी ने ड्रेस बदल कर साड़ी पहन ली. पूजा ये देखो, पिंकी के नारंगी जैसे चुचे पहले ये छोटे से टमाटर थे और इसके ये लाल स्ट्राबेरी जैसे निप्पल पहले पहले एक छोटे से गोल रसभरी जैसे थे. कुछ देर बाद हम डॉक्टर को चिंटू को दिखा कर मार्केटिंग के लिए चले गए.

मोना- मैं मेरे पति को धोखा नहीं दे सकती और तुम्हारे बिना रहा भी नहीं जाता. ’ कर रही थीं, पर एक बार लंड मुँह में लेने के बाद वह लंड को मुँह में अन्दर बाहर करने लगीं. अब महेश मेरी चूत को चाट कर गीला कर रहा था और मैं उसके लंड को मज़े से चूस रही थी.

वेलेनटाईन डे भी हमने एक साथ मनाया लेकिन तब भी हलकी फुल्की किसिंग के अलावा कुछ नहीं हो सका था. उसका कद भी पांच फीट चार इंच तो होगा ही, उसकी फिगर 34-28-34 का था और उसका रंग एकदम दूध जैसा सफेद था. उन्होंने फिर अपनी आँखें बंद कर लीं और मैं आगे बढ़ कर उनको किस करने लगा.

वो मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर आगे बढ़ा, पर मैंने हाथ छुड़ा लिया और अकेले अकेले चलने लगी. इसमें मेरा फिगर साफ साफ नजर आ रहा था तो लगभग सभी लोग मुझे देखने आ गए थे.

और जैसे ही सोफा एक जगह से दूसरी जगह तक रखा, भाभी का पल्लू पूरा नीचे गिर गया था.

मैं राहुल अपनी कामवासना से भरी कहानी आपके लिए पेश कर रहा हूँ, पढ़ कर मजा लें!मैं 19 साल का हूँ.

उम्र के हिसाब से काफ़ी बड़ा और लंबा था, उसके लण्ड पर अभी तक एक भी बाल नहीं था. एसी की ठंडक में गरम पानी पीकर मुझे और जोश चढ़ गया और मैंने उन्हें संभलने का मौका न देते हुए अपनी उंगली उनकी चूत में डाल दी और अंगूठे से उनके दाने को रगड़ने लगा. पहले तू पूरी न्यूड हो के बैठ जा मेरे सामने मुंह करके!”धत्त, दिन में ही?” बहू रानी बोली.

फिर उस रात हमने खूब मस्ती की पर चूत चुदाई नहीं की, मैंने उसकी चूत चाट चाट कर उसे एक बार स्खलित करवा दिया. एक महीने पहले मेरा एक्सीडेंट हुआ था तो मुझे पूरा एक महीना घर बैठना पड़ा. मार डाला तुम कमसिन उम्र के नए गांडू गांड मराने के इतने उस्ताद खिलाड़ी कैसे बन गए.

मैं बिना कुछ बोले बैठ गई, पता नहीं मुझे क्या हो गया था कि मैं कुछ कह नहीं पा रही थी, उसके ऐसा करने से कहीं खो सी गई थी.

जब मुझे लगा कि मेरा लंड छूटने वाला है तो मैंने उसे हटाना चाहा, परंतु वो नहीं हटी. मैंने पूछा- क्या अभी भी आप मुझसे नाराज हो?तो बोलीं- तुझे ये बातें मुझे बतानी चाहिए थीं. चूत में घुस के आनन्द लूटता और लुटाता लंड का आनन्द देखने की चीज नहीं महसूस करने वाली बात है.

उसी के साथ एक तेज गंध मेरे नाक में घुसी, जिसने मेरी कामोत्तेजना को और बढ़ा दिया. फिर मैं झड़ने वाला था तो मैंने मामी से बोला तो उन्होंने कहा- अन्दर ही छोड़ दो. मेनका- अतुल, क्या मैं तुझे अच्छी नहीं लगती?मैं- लेकिन दीदी, आप मेरी दीदी हो!दीदी ने एक किस और की और कहा- भाई, प्यार रिश्ते नाते देख के नहीं होता, बस हो जाता है.

बहूरानी की बात को अनसुना करके और अपने मन में बहू के चुम्बन की इच्छा को दबा कर मैंने उसकी कमर में हाथ डाल के उसे अपने अंक में समेट लिया, पहले तो मैंने बहू को अपनी छाती से चिपटा लिया… अजीब सी शान्ति मिली मुझे बहू को अपने गले से लगा कर…फिर मैंने बहू के वक्ष पर अपना चेहरा टिका दिया और मेरी नाक उसके मम्मों की गहरी घाटी में धंस सी गई.

मैं तो हैरान रह गया कि मैंने मेरी पहली चुदाई सील पैक चूत के साथ की थी. किसी शानदार पोर्न एक्ट्रेस की तरह मेरी पत्नी अपनी जीभ द्वारा ओमार के ढीले हुए लंड को खड़ा करने का प्रयत्न करने में लग गई, जबकि पीछे से जमैका का लंड लोहालाट हुआ मेरी पत्नी की गांड के चीथड़े उड़ाने में लगा हुआ था.

पंजाब पंजाबी बीएफ अब आगे:मैंने दीदी के सर को अपने लंड पर दबा दिया और दीदी भी चुपचाप लंड को चूसने लगी. और तब मैंने रोहण से कहा- रोहण, मेरे बदन में बहुत दर्द हो रहा है तुम मेरी वैक्स और मसाज कर दोगे?रोहण ने कहा- ओके माँ!फिर मैं वैक्स का समान ले आयी अपने बैग से और मैं बाहर स्विमिंग बेड पर लेट गयी.

पंजाब पंजाबी बीएफ मैं- ओके और दूसरी बात?अवी- और तुम मेरे साथ गले लग जाओ और बहुत देर तक. फिर मैं ज्यादा कोशिश करने लगा, लंड का सुपारा तो अन्दर चला गया, पर भाभि को बहुत दर्द महसूस होने लगा, भाभी तड़फते हुए बोलने लगीं- आह.

इधर मेरे दोनों हाथ सुकुमारी भौजी की चूचियों पर, उधर सुकुमारी भौजी का एक हाथ उनकी चूत की रगड़ में और दूसरा हाथ मेरे बालों को खींचते हुए मचल रहे थे.

बीएफ भोजपुरी लोकगीत

उसका रंग एकदम दूध सा गोरा, काले लंबे बाल, गुलाबी होंठ, बड़ी बड़ी कजरारी आँखें, उसे देख कर बस ऐसा लग रहा था, जैसे धरती पर कोई स्वर्ग की अप्सरा उतर आई हो. पर पारदर्शी होने के कारण कुछ भी नहीं छुपा और वो ये बात भली भांति जानती भी थी. अब वो आराम से बैठ गई… क्योंकि अब गाड़ी के अन्दर का सब बाहर की रोशनी में दिखाई देने लगा था.

उसने मुझे देखा, मैंने भी उसे देखा, उसका ध्यान बाजू में गया और वो समझ गया. लंड चूसते हुए मैंने देखा, रिया ने अब एक जगह बैठ कर शराब की बोतल अपनी मुँह से लगाई हुई थी और वो तीनों उसके बदन को नोच रहे थे. ”अंकित को अब माया की गांड दिख रही थी और उसकी माया की गांड मारने की तड़प बढ़ती जा रही थी.

लेकिन दीदी ने आकर मुझे और मम्मी को संभाल लिया और घर का सारा काम संभाल लिया.

कुछ देर बाद मैंने देखा वो लड़का मेरी बहन की जांघ पर हाथ फ़िरा रहा था और बहन मजे ले रही थीं. हालांकि पहली नज़र में मुझे उसके प्रति कोई गलत भाव नहीं थाफर्स्ट फ्लोर में सिर्फ़ हम दोनों के रूम होने की कारण हमारा एक दूसरे के घर आना जाना चल रहा था. कुछ देर तक उसकी चूत के दाने को सहलाने के बाद वह फिर से थोड़ी शान्त हुई.

मेरी उंगलियाँ अब उनकी ब्रा की पट्टी को बार बार छू रही थीं और मीना जी मुझसे इधर उधर की बात कर रही थीं. मैं- ठीक है आप भी क्या याद करोगी लो आंटी देखो अब मेरे लंड की की जवानी. उनकी गर्दन के नीचे सहलाते हुए मैंने अपना हाथ थोड़ा नीचे की तरफ बढ़ाने लगा तो उनका पेटीकोट मेरे हाथ से थोड़ा नीचे की ओर खिसकने लगा और उनकी चुचियां धीरे धीरे नंगी होने लगीं.

मैंने अपना दांया हाथ उनके गले में डाल दिया जो कि उनकी छाती को छू रहा था. ये कहते हुए उसने मुँह छिपा लिया।मैंने उसके हाथ हटाते हुए बोला- कभी मना तो नहीं करोगी?नहीं.

सो उससे नहीं खुली। फिर मैंने अपने हाथों से वो भी खोल दी।मेरी ब्रा के खुलते ही. यह सब करने के बाद वो शादी में गये और फटाफट चाट टिक्की खाकर घर आ गए. इतना कहते ही उसे जोश आ गया, मुझ मासूम की चुदाई का जुनून सर चढ़ कर बोल रहा था.

दोस्तो मैं बता नहीं सकता कि मधुर मिलन की कल्पना से ही मेरा रोम रोम रोमांचित हो रहा था और सच कहूँ तो मेरी फट भी रही थी क्योंकि किसी लड़की के घर जाकर उसे चोदना, ऐसा मेरे साथ पहली बार होने वाला था, पर मैं पूरे विश्वास से लबरेज था कि जो होगा सही होगा, कुछ दारू भी हिम्मत बढ़ा रही थी.

मेरा नाम बबलू गुप्ता है, मैं शादीशुदा हूँ किंतु जॉब के कारण कोलकाता में अकेले रहता हूँ. मैं उसे फिर से किस करने लगा और एक हाथ उसके मोटे मोटे मम्मों को दबाने लगा, आज उसने मुझे नहीं रोका. उसके बाद हम रोज फोन पर बातें करते थे, रोज हम फ़ोन पर ही सेक्स चैट किया करते थे.

फिर आनन्द ने मोना को दीवार के सहारे खड़ा किया और उसके स्तनों को पकड़ लिया. जिसमें से उनके जवान जिस्म बहुत उत्तेजित करने वाले थे। हँसते हुए जब वे एक-दूसरे पर पानी उछालती थीं.

फिर उन लड़कों से मेरी हाथापाई वाली लड़ाई हो गई और मेरे हाथ में से भी खून आने लगा था. तभी उन्होंने मेरे को नीचे करके अपने चूत को मेरे मुँह पे रख दी और बोली- चूस मादरचोद अपनी माँ की चूत को चूस… और चूस और… और चूस खा ले अपनी माँ की चूत को… और और और! और और आह आह और और आहाहा… ऊह… ऊह… आह… ऐसे ही चूस और काट… और काट ले… चूस ले सारा पानी… आह. तभी सुरेश अंकल बोले- राजेंद्र ऐसा करते हैं कि मैं आरती की चूत को और तुम इसकी गांड को जम के चाट कर गीला करते हैं, जबरदस्त दोनों तरफ से चूमते चाटते हैं.

वीडियो में बीएफ भेज

फिर भाभी की चुत पर उंगली रख कर चूत सहलाई, भाभी को जैसे झटका लगा हो वैसे ही एकदम से उनकी सीत्कार निकल गई- उह्ह.

मैंने उसको चुदाई की पोजीशन में लिटाया और चुत पर लंड लगा कर धीरे धीरे अन्दर डालने लगा. मैंने भाभी से पूछा- कैसा लगा नया टेस्ट?भाभी बोलीं- आज तो चॉकलेट वाला मिल्कशेक पी लिया… मज़ा आ गया. इधर स्टीव मेरे टॉप के ऊपर से ही छोटी छोटी अम्बिया नुमा चुचियों से मसलते हुए खेल रहा था.

हम देवर भाभी ने कुछ देर आराम किया और फिर मैंने उन्हें ज़ोर से पलट दिया. अब बॉस लंड को अन्दर डाले ही मेरे पीठ पर लेट गए और हम दोनों अपनी सांसों को काबू में करने लगे. एक्स एक्स वाई सेक्सी फिल्म”कैसे देखोगी? जैसे आज मेरे मोबाइल में तुझे मालूम पड़ गया, वैसे तेरे मोबाइल से किसी को पता चल जाएगा तो प्रॉब्लम हो जाएगी.

मैं ज़ायरा भाभी को अपने साथ वापस एसएमएस हॉस्पिटल के सामने वाली धर्मशाला में ले गया और वहां कमरा लेकर कमरे में चला गया. वो मेरे बाजू में आकर बैठ गईं और मेरे कंधे पर हाथ रख कर बोलीं- इस उम्र में ऐसा होता ही है.

हमारी फ्रेंडशिप सी हो गई थी, इसलिए उसे भी मेरा आना जाना अच्छा लगने लगा. मैंने एक पल की भी देर नहीं की और अपना मूसल लंड दीदी की चूत में पेल दिया. हाय राम रे…यही मेरे मुँह से निकल रहा था और वो था कि मेरी चूचियां ही दबाता चला जा रहा.

वो मेरे बाजू में आकर बैठ गईं और मेरे कंधे पर हाथ रख कर बोलीं- इस उम्र में ऐसा होता ही है. प्रिया बोली- हां बोलो?मैंने उससे बोल दिया कि मैं तुमको पसन्द करता हूँ. बहूरानी के मायके वाले हमें रिसीव करने आये थे, सब लोगों से बड़ी आत्मीयता से हाय हेलो हुई और हम लोग अपने ठहरने की जगह की ओर निकल लिए.

उसका लंड ढीला पड़ गया, वो मुझे बोला- जान कितनी प्यास है तुझे?और मेरी लेगिंग नीचे सरका कर मेरी गान्ड मसलने लगा.

जैसे ही उसको दर्द होता तो मैं अपने लंड को वहीं रोक लेता और थोड़ी देर बाद फिर से लंड को अन्दर-बाहर करने लगता. बुआ तलाकशुदा है और शहर में एक छोटा सा प्ले वे स्कूल चलाती हैं जिसे उनका गुजारा हो जाता है.

लेकिन उसके बाद वो दोनों बच्चे की देखभाल में लग गई और कभी कभी ही मुझ से चुदती. हम दोनों जाकर हाथ मुँह धोकर टीवी के सामने आकर बैठ गए और टीवी देखने लगे. मैंने नीचे आकर दरवाजा खोला, तब तक देवर जी अपनी दुकान जाने के लिए तैयार हो गए थे.

अमित वो हाथ की ड्रेस पकड़ कर ही दूर हो गया था, तो साथ में वो ड्रेस भी पूरी निकल गई. मुझसे अब रहा ना गया… दोस्तो, झूठ नहीं बोलूंगा, कोई प्यार की बात नहीं हुई थी, मैंने सीधा ही उसके होंठों पर चुम्बन कर दिया था. मैं बोली- क्यों?वो बोली- क्योंकि तुम मुझे उकसा रही हो अपने जैसा बनाने के लिए.

पंजाब पंजाबी बीएफ मैं जैसे ही पलटा आंटी ने पैन्ट के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ लिया और ऊपर से ही हिलाने लगीं. उसने अपना मुँह नीचे कर लिया।मैंने थोड़ा गुस्से में कहा- अभी तुम्हारी मम्मी को बताती हूँ।वो- नहीं चाची जी, प्लीज़ मत बताओ।वो रोने लगा।मैं- तो फिर बताओ.

हिंदी सेक्सी बीएफ गाना में

अब बॉस लंड को अन्दर डाले ही मेरे पीठ पर लेट गए और हम दोनों अपनी सांसों को काबू में करने लगे. प्रिया के मन की तो प्रिया ही जाने लेकिन मैं भली-भांति जानता हूँ कि असली ख़ुशी ऐसे शाश्वत आनन्ददायक पलों को याद करने में ही होती है और अगर कोई उन सपनीले क्षणों को ज़बरदस्ती दोहराना चाहे तो गहरी मायूसी ही हाथ लगती है. तब मैं बोला कि यदि आपको बोलना होता कि आप अपनी दे दो, तो मैं अपने लिए बोलता.

वो मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर आगे बढ़ा, पर मैंने हाथ छुड़ा लिया और अकेले अकेले चलने लगी. मेरी दीदी एक बड़ी विदेशी कंपनी में काम करती हैं और स्वभाव से बहुत जिद्दी और गुस्सैल हैं. मराठी सेक्सी बीपी मराठी मराठीफिर वो झड़ गई और मुझे बिस्तर धक्का देकर मेरी टी-शर्ट और पेंट उतार दी.

चुदास चढ़ गई तो मैंने भाभी की टांगें चौड़ी की और अपना लंड उनकी चूत की फांकों पर रगड़ने लगा.

वो बोला- इतनी रात को क्यों फोन किया बेबी?मैंने उसे समझा दिया तो वो बोला- मैं बाइक से अभी 5 मिनट में आता हूँ. कमरे का माहौल एकदम हॉट हो गया था और हम तीनों ही चुदास से भरी सिसकारियां ले रहे थे.

यह घटना जब घटी थी, तब मेरी उम्र 19 साल थी यानि आज से 3 साल पहले की घटना है. है ना सही बात?मैं- अच्छा ठीक है यदि 15 दिन का काम है तो इतने दिन कर लूँगी. मैं आपके लंड को बहुत प्यार करती हूँ और आपके लंड के बिना एक पल भी रहने का मन नहीं करता है.

मैंने एक ज़ोर का झटका दिया और मेरा लंड पूरी तरह उसकी बुर में घुस गया.

कुछ देर बाद फूफा जी हाँफने लगे और आआह की आवाज के साथ झड़ गए और मम्मी के बगल में लेट गए. रीना जाने लगी तो उसके मटकते चूतड़ों को देखकर दीपक भैया अपना लंड मसलते रहे. इधर स्टीव मेरे टॉप के ऊपर से ही छोटी छोटी अम्बिया नुमा चुचियों से मसलते हुए खेल रहा था.

सेक्सी कपड़े उतारवो अपनी आंखें मूंद कर दोनों टांगें फैला कर जैसे जन्नत का मजा देने का कह रही थीं कि जान जल्दी से आ जाओ. प्यारे दोस्तो तथा सहेलियो, मैं फिर से हाजिर हूँ एक क्रास कनेक्शन की आप बीती लेकर!आपने मेरी पहली कहानीक्सक्सक्स फिल्म दिखा कर साली को मनाया चुदाई के लियेमें पढ़ा था कि मैंने कैसे अपनी नखरीली साली को चुत चुदाई के लिए राजी करके उसकी चुत को चोदा.

देसी हिंदी बीएफ देसी हिंदी

वो सिर्फ ब्रा में थी, उसके गोल मटोल सुडौल चुचे मुझे अपनी ओर बुला रहे थे कि मैं उनको अपने मुँह में दबा लूँ और उनको चूस चूस के पूरा खा जाऊं. दूसरे दिन मैंने रात को आकर मोना का फ़ोन चैक किया तो आनन्द से थोड़ी बात हुई थी. उसकी बुर में गजब की गर्मी महसूस हो रही थी, जो मुझे और एग्ज़ाइट कर रही थी.

ये सुनकर मेरे दिल को बड़ी तसल्ली हुई क्योंकि इसी लिए तो मैंने ये सब प्लान किया था. मैं जब तक पीछे मुड़ी तब तक वो इतनी दूर निकल चुका था कि मैं उसे पहचान ही ना पाई. माँ तुम्हारा क्या होगा?” और आप क्या कर रही हो?”कौमुदी के बाद में जो भी होगा सो देखूंगी.

सुबह 8 बजे मेरी नींद खुली तो देखा कि मामी नंगी ही किचन में नाश्ता बना रही थीं. फाइनली वे मुझे काम पे रखने के लिये रेडी हुई और उन्होंने मुझे मिलने के लिए उनके ही घर में बुलाया. अब उसके हाथ एक जगह नहीं थे, कहीं मेरे टॉप के अन्दर जा रहे थे, कहीं मेरी स्कर्ट पर जा रहे थे, कभी मेरे पेट पर घूम रहे थे.

मैंने दीदी के एक निप्पल को किस किया तो उन्होंने मेरा सिर पकड़ कर कसके अपने निप्पलों पर दबा लिया. मुझे हर बार इतना आश्चर्य होता है यह देख कर कि रोजमर्या के जीवन में इतनी कोमल, नाजुक लड़की, जिसके लिए पानी का भगोना उठाना, या सोफा चेयर खिसकाना भी बहुत मुश्किल का काम है, कितनी पारंगता के साथ विकराल लंडों को अपने शरीर में घुसवा लेती है!इस समय वो अपनी कलाई जितनी मोटाई वाले दो दो लंडों से अपने सारे छेद फोड़वाए जा रही थी! मैं उसे इस समय ओमार के मोटे-खूब लम्बे लंड पर कूदता देखते हुए गर्व से भर उठा!आआआआह.

वो खाने के बारे में, मेरी जॉब के बारे में बातें कर रही थीं, मैं कब अमेरिका आया, या कभी घूमने के लिए इंडिया गया कि नहीं, मेरी पसंद नापसंद वगैरह की बातें कर रही थीं.

फिर जीजू ने मेरी शर्ट के सारे बटन खोल कर मेरी शर्ट को पूरा उतार दिया और फिर मेरी जींस के बटन को भी खोल दिया, मेरी जींस को उतार दिया, मैं बस ब्रा और पेंटी में रह गयी. सपना चौधरी की सेक्सी हिंदी मेंतो मैंने उसे अपने हमारे पास गद्दे पर ही बिठा लिया।अब हम तीनों गद्दे पर बैठे थे, मेरा धर्य आप लोगों की ही तरह टूटता जा रहा था इसलिए मैंने आंटी की मांसल जाँघ में अपना हाथ रख दिया. चोदने वाली सेक्सी नंगीहम दोनों एक ही वाटर राइड पर सवार हो गए। आगे मधु बैठी थी और मैं उसके पीछे उसकी कमर को पकड़ कर बैठा था. यह मेरी सच्ची कहानी है तो हो सकता है सेक्स कम और अन्य बातें थोड़ी सी ज्यादा मिले जिसके लिए माफ़ी चाहूँगा आपसे पहले ही!वैसे यह अपने आप में ही काफी रोचक घटना है, उम्मीद है कि आपको पसंद आएगी। यह घटना जोधपुर की ही है.

मैंने पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- मुझे नहीं पसंद…मैंने कहा- कुछ भी करना था लेकिन सनी का इगो हर्ट नहीं करना था.

चूसते चूसते ही मैंने अपनी शर्ट उतार दी… फिर अपनी बनियान भी उतार दी. ”मैं भी झड़ने वाला था तो मैंने कहा- किधर लोगी?तो चाची बोलीं- मेरे मुँह में निकालो. खैर मैंने ढेर सारा थूक उसकी बुर पर लगाया और उसके मम्मों के ऊपर लंड लाकर कहा- मेरे लंड को अपने थूक से भर दो.

मेरे पास करण के फ़्लैट की चाबी थी तो मैं उसका मेन डोर खोल कर अंदर आ गई थी और उन दोनों को पता भी नहीं चला था. मैंने कहा- भाभी मैं आपको ऐसे उदास नहीं देख सकता, मैं आपको प्यार करके आपको खुश करना चाहता हूँ. ‌मुझे उन्होंने पूरी नंगी कर दिया और खुद भी पूरे नंगे हो गए और अपने लंड को मेरे मुंह में भरने लगे.

स्कूल की लड़कियों का बीएफ वीडियो

कुछ देर बाद मैं कमल की जाँघों पर अपने दोनों पैर रख कर ऊपर नीचे होने लगी और आवाजें निकालने लगी- आआहह. सेक्स की उत्तेजना, वासना जितनी लड़कों में होती है, उससे ज्यादा लड़कियों में होती है. यह सुनकर वो मुस्कुराने लगीं और बोलीं- क्या तू मेरे साथ सेक्स करेगा?यह सुन कर मैं बहुत खुश हुआ, मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि चाची मुझसे चुदना चाहती हैं.

मैंने अपना एक हाथ उसके पिछवाड़े पर फिराया और एक हाथ उसकी चूची पर!तभी वो बोली- फिर कभी मिलना, अभी नहीं!और वो चली गयी।अगले दिन मैं फिर उसी वक्त पर खेत में गया तो वो आज अकेली आयी थी.

मेरा एक हाथ उनकी पीठ से होकर उनके चूचे तक था और दूसरा उनकी कमर के नीचे था.

आने वाले आधा-पौना घण्टा कार में मैं और प्रिया बिलकुल अकेले होंगे, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था. ’मैंने देर ना करते हुए उसकी ब्रा उतार दी जिससे उसके सफ़ेद कबूतर उछल कर आज़ाद हो गए. फुल सेक्सी वीडियो हिंदी चुदाईतो मैं डरते हुए बोला- ठीक है!माँ ने दरवाज़ा लॉक किया और मेरे बग़ल में सो गयी.

मेरे पूरे तन बदन में करेंट दौड़ उठा, मेरी कामुकता जाग उठी… लेकिन ये मेरी दीदी थी, मैंने दीदी को हटाया. आँगन में खड़े दोनों बहन भाई अब प्रेमी बन चुके थे, और एक लंबे और प्रगाढ़ चुंबन में लिप्त थे. फिर वो नीचे आ गया और उसने मेरी नाभि पर किस की फिर उसने मेरी साड़ी को थोड़ा ऊपर किया और मेरी चिकनी जांघों को चाटने लगा।फिर वो ऊपर आ गया, उसने मेरी साड़ी का पल्लू निकाल दिया और मेरी साड़ी उतार दी और मुझे चूमने लगा.

इतने में उन्होंने मेरी बात काट कर कहा कि तुम अपनी ज्यादा चालाकियां मत दिखाओ. ओहहह…संजय- मजा आया नसीम मेरी जान?मैंने शरमाते हुए अपनी नजरें झुका लीं.

और जैसे ही उधर शालिनी ने अपनी पूरी की पूरी जीभ अकीरा की चूत में घुसाई… ठीक उसी वक्त चंडीगढ़ में ईशा विक्रान्त के बाथरूम में दाखिल हुई और अंदर का नज़ारा देखते ही वो स्तब्ध रह गयी, उसकी आँखें हैरानी से फटी की फटी रह गयी, कुछ देर दोनों में से कोई न बोल पाया.

इसकी बहुत पतली पतली ट्यूबलाइट जैसी जांघ थीं और दबे हुए पुठ्ठे थे, पर देखो अब कैसे ठुमक ठुमक कर चलती है. मैंने उसको लिटा कर अपना लंड उसकी चूत पर रखा और जोर का धक्का लगा दिया. मैं खुद किसी और दिन डलवा लूँगी; आज बस मेरी चूत की खुजली मिटा दो।उसने इतनी मासूमियत से कहा तो मैंने भी अपना प्लान बदल दिया; फिर उसकी कमर पकड़कर लण्ड पीछे से चूत पर रगड़ने लगा।थोड़ी देर बाद मधु अपना हाथ पीछे लाई और लण्ड को पकड़कर चूत पर लगा दिया। मैं उसे और तड़पाना नहीं चाहता था, इसलिए एक झटके में ही पूरा लण्ड चूत में ठोक दिया।मधु के मुँह से आहह्.

कॉलेज स्टूडेंट का सेक्सी वीडियो ये सुन कर मीना खूब हंसने लगीं और बोली- अरे इस ब्यूटीपार्लर में 3 घंटा फँसी रही और ऊपर से मुफ़्त में ये सरदर्द मिला. पहले मैं आपको उसके बारे में बता दूँ, उसका नाम सृष्टि (बदला हुआ) है.

मैंने भी यही ठीक समझा और हम दोनों ने मुंह हाथ धोए और कपड़े पहने और फिर से मिलने वादा करके वह निकल गई. आवाज मेरी बहूरानी अदिति की थी और वो मेरा लंड पकड़ के सहलाये जा रही थी. मैं डर रहा था कहीं करण की माँ या फिर करण घर पर ना आ जाए क्योंकि करण कॉलेज कुछ देर पहले ही निकला था.

सेक्सी एचडी बीएफ वीडियो सेक्सी

फिर वो बोलीं- क्या हुआ, तू इतना शर्मा क्यों रहा है?मैं कुछ नहीं बोला, वो भी मुझे देखने लगी. मैं अपने दोनों हाथ संजय के सर में डालकर अपनी चुत में जोर से दबा रही थी. ससुर बहू की कामुकता, शारीरिक आकर्षण, वासना, प्रेम और चुदाई की कहानी जारी रहेगी.

अब मैं अपना हाथ भाभी के पेटीकोट के नाड़े पर ले गया और उसे ज़ोर से पकड़ कर खींच डाला, जिससे भाभी का पेटीकोट एकदम से नीचे गिर पड़ा. चुत पर हल्के हल्के बाल थे जो जीरो वाट के बल्ब में भूरे भूरे से दिख रहे थे.

वो भी तनिक लजा कर बोली- मैं भी तुमको पसन्द करती हूँ पर कभी कह नहीं पाई.

मैं एक बार टेस्ट करके देख लूँ कि ठीक से पढ़ाता है कि नहीं?मैंने कल्याणी तरफ़ देख कर इशारा किया- ये क्या है?कल्याणी ने टेबल के नीचे से मेरा लंड पकड़ा और कान में बोली- खिला दो ना माँ को भी. मैंने सोचा कि दिया तो अवी ने ही है, उसे कोई दिक्कत नहीं है तो मुझे क्या करना. उसके पेट से होते हुए मैं जैसे ही उसके मम्मों पर पहुंचा, वो एकदम से काँप उठी, जैसे उसे कोई झटका लगा हो.

मैंने धड़कते दिल से भाभी के मम्मों पर हाथ रख दिया, क्या बूब्स थे एकदम नरम. फिर मेरा हाथ धीरे धीरे और ऊपर उनकी टाँगों के बीच स्पर्श करने लगा और चाची मदहोश होने लगीं और मेरा हाथ ज़ोर ज़ोर से दबाने लगीं. उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गयीईई… जल्दी डाल दो लंड… तड़पाओ मत!” उसका लंड 6 इंच का था, मैं पेन्ट के ऊपर से पकड़ कर बोली.

आखिरकार मैंने अलमारी से संजय का फेवरेट ब्लैक ड्रेस निकाल कर पहन लिया.

पंजाब पंजाबी बीएफ: और जैसे ही सोफा एक जगह से दूसरी जगह तक रखा, भाभी का पल्लू पूरा नीचे गिर गया था. अब हम दोनों में इतना खुलापन हो गया था, बिल्कुल गर्लफ्रेंड ब्वॉयफ्रेंड जैसी फ्रेंडशिप हो गई थी.

अंकित ने झड़ते हुए बड़बड़ाते हुए कहा- किसी दिन तुझे सैंडविच बना कर चोदने का मन है माया रानी. थोड़ी देर बाद जब सोनू सो गया तो उसे मेरे पास सुला कर बोलीं कि वो नहाने जा रही हैं और तब तक मैं सोनू का का ध्यान रखूँ. सच में बड़ा मजा आ रहा था और जब मेरा रस निकलने को हुआ तो मैंने उससे मेरा लंड मुँह में लेने को कहा तो उसने मेरा लंड से कंडोम उतार कर अपने मुँह में भर लिया और जोर जोर से लंड चूसने लगी.

भाबी की चुत किसी ने कभी चाटी नहीं थी, जो भाबी के हाव भाव से पता चल रहा था.

फिर आनन्द ने दोनों हाथों का इस्तेमाल करके मोना की योनि को थोड़ा सा खोल दिया. प्रिया के बायें उरोज़ के निचली ओर हल्के से बाहर की ओर, सफेद त्वचा पर शहद के रंग का एक बर्थ-मार्क था, दाएं उरोज़ के निप्पल के बादामी घेरे के बिलकुल ऊपर साथ में सफेद त्वचा पर एक काले रंग का तिल था. मेरे दोनों चूचे संजय के हाथों में खेल रहे थे और उसके गीले होंठ मेरी मखमली गरदन को मसाज दे रहे थे.