बीएफ सुहागरात वाला

छवि स्रोत,सेक्सी एचडी में ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

फुल वीडियो सेक्सी हिंदी: बीएफ सुहागरात वाला, मैं उसकी टी-शर्ट में हाथ सरकाता हुआ उसके पेट पर फेर रहा था और अपने होंठों से उसके पेट और नाभि को चूम रहा था.

सिंपल लड़की का फोटो

मैंने धीरे से निशा भाभी का गाउन ऊपर करना चालू किया तो देखा कि उन्होंने जामुनी रंग की ही सेक्सी पेंटी पहनी है. ब्लू दिखाओ हिंदी मेंमैं जैसे तैसे सलमा के सोने का इंतजार करती रही और मुझे अब रशीद के खर्राटों की आवाज भी सुनाई दे रही थी.

ट्रेन से उतरते वक्त उसने मेरे गालों पे किस कर लिया और मुस्कुरा कर चली गयी. डॉक्टर की सेक्सी वीडियो दिखाएंउसने कहा- जी नहीं, मैं तो आपसे मिलने आया हूँ और आपकी राय सुनने आया हूँ.

मैं उनके सामने नंगी हो गयी और मुझे नंगा देख कर मोहन भैया ने भी अपना अंडरवियर निकाल दिया.बीएफ सुहागरात वाला: फिर?”बहन बोली- उन्होंने मुझसे बोला कि तुझे मोबाईल दिला कर मुझे क्या मिलेगा.

मेरी पिछली कहानी थीमेरा फर्स्ट सेक्स बॉयफ्रेंड के साथहम सब फ्रेंड्स कॉलेज ट्रिप के लिए मनाली के लिए निकले थे.मैंने अपना हाथ न जाने कौन सी अदृश्य ताकत से उठा दिया और उसके मम्मों को दबाने लगा.

सेक्स मोविज - बीएफ सुहागरात वाला

मैं अन्तर्वासना से पिछले 2 साल से जुड़ा हूँ और इसमें सेक्स कहानी पढ़ते आ रहा हूँ.दूसरे लड़के ने कहा- मैडम को दोनों चूची एक साथ पिलाने को मन कर रहा है.

” समीर ने नीलम से कहा।हाँ मेरा ही क़सूर है, मगर तुम अपनी बहन के साथ … छी! छी… मुझे सोचते हुए भी शर्म आती है. बीएफ सुहागरात वाला जीजू- ले साली ले …इतने में मैं झड़ने लगी थी, पर जीजा जी तो उफान पर थे.

वो समझ गयी कि मैं अब उसकी चूत चाटूंगा, तो उसने खुद ही अपनी टांगें चौड़ी कर लीं.

बीएफ सुहागरात वाला?

संजय ने मेरी तरफ देखा और पूछा- कैसी है हंसिका?मैंने बोला कि किस्मत वाले हो … जो ऐसी बीवी मिली है. हम दोनों साथ में एक ही बाइक पर काम भी करते थे, इससे हम दोनों को ही कम ख़र्च में काम चल जाता था. जब वो थोड़ी शांत हुई तो मैंने अपनी गांड को उसकी तरफ धकेलते हुए लंड को हरकत देनी शुरू की.

जैसे जैसे मेरा पेनिस भाभी की योनि के अंदर जा रहा था, भाभी को दर्द बढ़ता जा रहा था. वो चुदास भरी आवाज में बोल रही थी- जल्दी करो डार्लिंग … मेरे को नंगी कर दो प्लीज़. वो हँसते हुए ही बोली- घबराओ मत, मैं किसी से शिकायत नहीं करुँगी तुम्हारी.

फिर मैंने एक बार और उसे अच्छे से अपनी ग्रिप में लिया और एक धक्का और … इस बार पूरा लंड जड़ तक उसकी चूत में धंस गया और मेरी झांटें उसकी झांटों से जा मिलीं. मैंने कबीर से पूछा कि यह क्या कर रहा है यहां पर?इसके जवाब में कबीर ने कहा कि यह बस पार्टी को इंजॉय करने के लिए आया है. हम दोनों बातें करते हुए बियर पी रहे थे और थोड़ा आराम करने के बाद दोबारा से चुदाई करने में लग जाते थे.

हमारे ऑफिस में कई लोग दूसरी कम्पनियों के भी आते थे, जिनका काम हम लोगों से रहता था. कुछ देर बाद मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चूत में लंड पेल दिया.

उन्होंने एक हाथ से मेरे गर्दन को पकड़ रखा था और दूसरे से अपने बालों और मेरे चेहरे से खेल रही थीं.

कुछ देर बाद भाभी उठीं और उन्होंने अपनी ब्रा और पेन्टी को उतार दिया.

शबनम ने एक गहरी सांस ली और महसूस किया कि अंकित के हाथ उसके सारे अंगों तक एक एक करके पहुँच रहे थे. चाचा रात को ऑफिस से आये तो मैं उनके लिए परांठा बनाने लगी और चाचा डिनर करने लगे. फिर मैंने वन्दना को बेड पर पीठ के बल लिटा दिया और उसकी पैंटी निकाल दी.

मैं तो खुद ही चाह रही थी कि कहीं ये बात सुनकर उसके अब्बू का भरोसा न टूट जाए. मैंने भी छूटते ही कहा- हाँ भाभीजी, आपके मुकेश जी आपसे पहले इस नाचीज़ के साथ ही रात गुज़ारा करते थे. एना हेक्टर से कई बार चुद चुकी थी, इस लिए उसकी चूत का रास्ता खुला हुआ था.

मैं तो बस कबीर के लाल और रसीले होंठों को चूस कर मजा लेने में लग गई थी.

मेरी बहन का स्कूल छूटने के बाद उसका घर के निकलना घूमना, यहाँ तक मार्केट जाना भी बंद करा दिया गया था. फिर मैंने मेरे दोस्त की फेवरट व्हिस्की मंगाई और कहा- यार, अब पीकर कुछ गम हल्का कर लेते हैं. भाबी के हाथ भी मेरी कमर पर चलने लगे और उन्होंने अपना चेहरा मेरे सीने पर टिका दिया.

मेरे बूब्स 36 इंच के हैं, मेरी कमर 34 और मेरी गांड 38 इंच के लगभग की होगी. तब मेरे घर की आर्थिक स्थिति और भी खराब हो चुकी थी … क्योंकि सबकी पढ़ाई लिखाई में भी खर्चा आता था और फिर कुछ मंहगाई की मार भी पड़ रही थी. उसकी काली चोली में टाइट मम्मे … आह इसकी माँ को चोदूं … ऐसे दिलकश मम्मे मैंने पहली बार देखे थे.

अंकित ने मुश्किल से सांस ली, जब उसने अपने पूरे जीवन का सबसे कामुक दृश्य देखा.

लेकिन उसके लिए कोई भरोसेमंद अनुभवी पुरुष चाहिये जो मुझे (अमित) आप में (राज) में दिखता है. मैंने उसकी जीन्स पर हाथ रख कर उसके तने हुए लम्बे और मोटे लंड को ऊपर से ही मसलना शुरू कर दिया.

बीएफ सुहागरात वाला फिर वो बोला- मैंने तो ऐसा भी सुना है कि तेरी मां तुझसे धंधा करवाती है. मैंने कहा- अगर आप मुझे सही में दोस्त समझते हैं, तो वक़्त आने पर परख लीजिएगा कि मैं दोस्ती किस तरह से निभाती हूँ.

बीएफ सुहागरात वाला उसकी चूत में से निकले रस को मैं चाट चाट कर साफ़ कर रहा था और वो हांफ रही थी. वहां जाकर उसके जिस्म से छेड़छाड़ करना, अगर वो कुछ नहीं कहे तो उसके कपड़ों के अन्दर भी हाथ मारना.

आप सभी के प्यार की वजह से मुझे अगला भाग लिखने कि हिम्मत हो पायी है.

ग्वालियर की सेक्सी

ऐसा क्यों?रोहन- क्योंकि वो सिर्फ महिलाओं के ही होते हैं, मर्दों के नहीं. जब वो जाने लगा, तो मेरे पास से गुज़रते हुए बोला- शाम को मैं वहीं पर मिलूँगा. दूसरी ओर कबीर के मर्दाना जिस्म को चूसते हुए मेरा नशा और चूत की चुदास भी बढ़ने लगी थी.

मैंने कन्फर्म पर क्लिक कर दिया और उसके सामने ही उसका नम्बर डिलीट कर दिया. वे आश्चर्य चकित हो उठे थोड़े शर्मा गए- तू जग रहा था?मैंने कहा- नहीं, अभी आपकी आहट से जगा. मैंने यह बात खत्म की ही नहीं थी तब तक शीना बोली- अजी सुनते हो, मैंने यह शादी का घूंघट बस अपनी चूत देने के लिए ही नहीं पहना है … मैं तो अपना सब कुछ तुम्हारे ऊपर न्यौछावर करने के लिए यहां पर बैठी हूं.

मैं इतने मस्त कबूतरों को कैसे उड़ जाने देता, मैंने उन्हें झट से पकड़ लिया.

बाथरूम में जब मैं पेशाब कर रही थी, तब मेरी चुत से कुछ सफ़ेद सा गिर रहा था. मैंने भाभी से बोला- भाभी क्या हुआ है … आप रो क्यों रही हो? मैं आपसे दिल से प्यार करता हूँ, ये आपको मालूम भी है, पर आज आप मुझसे ये इस तरह क्यों जानना चाह रही हो?उन्होंने बोला- मैं तुम्हारे भाई और उनके घर वालों से बहुत परेशान हो गई हूं … या तो तुम इन सबको समझा दो … या मैं सुसाइड कर लेती हूँ. वो चाहती थी कि वो अंकित को इसी जगह कैद कर ले और ये वक़्त यहीं पर थम जाए.

मैंने दूसरे दिन मेरे फोन खूब सारे सेक्सी वीडियो डाल दिए और फोन पर से लॉक हटा दिया. अब आगे की कहानी:जब अगली सुबह दरवाजे की घंटी बजी, तो मैंने नंगी ही रह कर दरवाजा खोला. राहुल भी कहने लगा- तुझे तो हमारा लंड देखना था ना साली कि कितनी दम है हमारे लंड में, तो देख ना साली रंडी!उसने अपना पूरा लंड मेरी गांड में डाल दिया.

अब तक मेरे मन में उसकी जवानी के लिए वासना तो थी, पर इस वक्त उसके गले लगने से मेरे मन में कुछ नहीं आया था. और एक बात आपसे और कहना चाहती हूं कि मेरी फ्रेंड को 2 लोगों के साथ चुदना है.

कुछ मिनट बाद आलिया ने मेरे कमरे का दरवाजा खटखटाया- राज चलो कहीं बाहर घूमने चलते हैं. उन्होंने रोते हुए कहा- दीपक तुम अभी कहां हो?मैंने बोला- भाभी मैं घर पर हूँ. और जो हमारे बीच जो रेट तय हुआ है, वो आप मुझे गिफ्ट के तौर पर दे सकते हैं क्योंकि मैं अपनी फ्रेंड को आपको दे रही हूं.

फिर हम अलग हुए और मैंने उसकी फ्रॉक और पेंटी उतार दी और हम 69 की पोजीशन में हो गए.

मैं उसके गले में अपनी नाक से सूंघते हुए धीरे धीरे उसकी टी-शर्ट के गले के अन्दर तक चूमने लगा. लगभग 15 मिनट डॉगी स्टाइल में चोदने के बाद उसे नीचे लिटा कर उसके पैर अपने कंधे पर रखकर मैं घचाघच पेलने लगा उसको और वो चुदाई का मजा लेने लगी. पिछले कई दिनों से मैं इस मौके की तलाश में थी कि तुम दोनों को मैं रंगे हाथ पकड़ लूं और तुम दोनों का मजा ले सकूं.

और इस तरह निढाल हुई मानो उसकी सारी जवानी की फुर्ती उसकी चूत के रास्ते निकल गयी हो!कुछ देर बाद जब पूजा सामान्य हुई तो मैंने उससे पूछा- आज मज़ा आया?तो पूजा के चेहरे में मुस्कान थी, उसने जवाब दिया- बहुत मज़ा आया!मैंने एकदम से दूसरा प्रश्न पूछ लिया- अगर ऐसा सच में करें तो कितना मज़ा आयेगा. दस मिनट की चुदाई के बाद अब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने अपनी रफ्तार बढ़ा दी.

असल में सेक्स की बातें इतनी गर्म हो जाती थीं कि दीपा कि चूत भी गीली हो जाती थी. मैंने उसकी जीन्स पर हाथ रख कर उसके तने हुए लम्बे और मोटे लंड को ऊपर से ही मसलना शुरू कर दिया. उसने बताया- मैं नहाने जा रही हूं, अगर एक बार में फोन नहीं उठे तो आप दोबारा कॉल कर लेना.

इंग्लिश ब्ल्यू फिल्म लावा

अब जब भी कोई लड़का, जो सच में मुझसे प्यार करता होगा, मैं उसी से शादी कर लूँगी.

तू शादी के बहाने मेरे घर आ जाना और यहाँ से ही उनसे मिलने भी चली जाना. मेरे कॉलेज में एक प्रोफेसर प्रीति भी हैं, जो मुझ से काफी बातचीत करने का प्रयास करती थीं और मेरे आस पास मंडराती रहती थीं. ये नवरात्रि की बात है, हमारे मोहल्ले में नवरात्रि में गरबे का आयोजन हो रहा था तो सभी लोग सज धजकर आ रहे थे.

थोड़ा सा और जोर लगाकर मैंने पूरा लंड उसकी चुत में उतार दिया और शुरूवात में हल्के धक्के देने के बाद मैंने स्पीड पकड़ ली. मैंने एक आँख मूंदकर उसे पूछा- बाकी यानि?मेरे ये सवाल पूछने पर वो बिदक गयी- ओ साहब … कुछ ऐसा वैसा न समझना … हां बता दिया. भोजपुरी में सेक्सी सेक्सउसके रुकने की व्यवस्था करने के लिए हमारे पूर्व मकान मालिक के घर से खबर आई थी और उसके रुकने की व्यवस्था करने का आग्रह हमसे किया गया था.

अगर मैं बाहर जाता तो घर की बदनामी होती और दीदी भी कब से प्यासी थी अगर वह किसी गैर मर्द से नाता जोड़ती तो भी हमारे लिए शर्म का सबब बनती. अरे बेटी, तो आओ आज मेरी गोद में सिर रखकर सो जाओ न। बचपन में भी तो तुम सोती थी.

मेरे मुँह से चीख निकल गई- अह्ह्ह कौन है … लंड बाहर निकाल मादरचोद … मेरी गांड फट जाएगी. मैं उनके पैरों के बीच आ गया और उनकी चूत के दाने को जीभ से सहलाने लगा. इस वक्त मेरे अन्दर तो आग पहले से ही सुलगी हुई थी … मेरे सोचने समझने की शक्ति मानो खत्म हो चुकी थी.

मेरी इस हरकत से भाभी एक बार के लिए चौंक गईं, क्योंकि भाभी को मालूम नहीं था कि मैं भाभी की गांड के साथ खेलूंगा. मेरी बीवी तो अभी भी बिस्तर पर अपनी गांड उठा कर पड़ी हुई है … खर्राटे मार रही है, पर मेरे को कहां नींद आने वाली थी. मसाज वाली ने बोला- अगर आप बोलो, तो किसी आदमी से आपकी प्यास मिटवा दूँ … वो और भी अच्छे से आपकी चुदाई कर सकता है.

अगले दो दिन बाद हमें मिलना था, तो मुझे उससे मिलने की बड़ी बेचैनी होने लगी.

मैं अपनी सास को 6 दिन के लिए देवर के घर छोड़ने जा रही हूँ … ताकि मैं भी तेरे साथ नंगी ही रह सकूँ. मैंने हिम्मत करके आंटी के होंठों पर अपने होंठ रख दिए तो वो भी मेरा साथ देने लगीं.

डिनर के बाद हम बिस्तर में जाकर एक दूसरे से लिपट गए और बातें करने लगे. ” महेश ने अपनी बहू की बात को सुनकर कहा।नहीं पिता जी मैं यह नहीं कर सकती. शबनम ने उसका निचला होंठ अपने मुँह के बीच ले लिया और उसे चूसना शुरू कर दिया.

मैं धीरे से उसके पास गया तो मैंने देखा कि वो उस स्टोरी को पढ़ रही थी. अनीता ने अपना मुंह बेड के गद्दे में दबा लिया ताकि उसकी कराहना कमरे से बाहर न जा सके. उसने अपने लंड को हिला कर मुझे दिखाया और बोला- नेहा, मैं बहुत दिनों से तुम्हारी चूत को चोदने का सपना देख रहा था.

बीएफ सुहागरात वाला मेरे रोंगटे खड़े हो गए, मैं मस्त होने लगी और मेरी टांगें खुद ब खुद खुलने लगीं. उन्होंने कहा- तुम तो बिल्कुल भी नहीं बदले हो, वैसे के वैसे दुबले पतले ही हो … हां थोड़े गाल ऊपर आ गए जनाब के.

सेक्सी वीडियो ब्लू इंग्लिश

मैंने अपनी आंखें बंद करके खुद को सोफे के सिरहाने पर टिका दिया और एक लंबी सी आह भर दी. चूत ज्यादा गीली होने के कारण मुझे बस हल्का सा एहसास हुआ कि मेरी चूत में लंड डाला जा चुका है, अब मैं बस चोदन का मजा लेना चाहती थी. उनसे मेरा ऑफिस के काम को लेकर भी बातचीत होती, पर उनका अंदाज़ मेरे लिए अब पहले जैसा नहीं था.

उसकी इस बात पर हम दोनों हंसने लगे।शुरूआत में रीना और मेरे बीच में आज तक कभी ऐसे खुल कर बातें नहीं होती थी। ये इन तीनों अदला बदली की चुदाई का ही कमाल था कि वह इतनी बोल्ड हो गयी थी। वह अब बेहिचक अपनी इच्छाएं और अपने मन के भाव मेरे साथ शेयर कर लेती थी. उस टाइम मेरे ऑफिस में कुछ 10-12 मूड़े पड़े थे, जिनको जोड़कर मैंने बेड सा बनाया. माधुरी दीक्षित के बीएफ पिक्चरमैंने ओके कहा और भाभी जी के दोनों पैर पकड़ कर उनको बिस्तर पर चित लिटा दिया.

दीदी हंसते हुए बोलीं- हां … बिकनी के बगल से झांटें दिखतीं, तो क्या मजा आता.

सोनिया- हा हा हा … तुम्हारी हालत देखने के बाद तो मुझे तुम्हें सुपर चम्पू कहना चाहिए. वो मुझे डांटते हुए मेरे जिस्म को ऐसे देखते थे, जैसे उन्होंने मुझे खरीद लिया हो.

मैंने भी गर्म गर्म वीर्य गांड में पाकर अपना चूत खोल दिया, जिससे उनका रस मेरी जांघों पर चूने लगा. थोड़ी देर के बाद मैं पूजा की पीठ पर झुक गया और उसकी चूचियों को अपने दोनों हाथों से मसलने लगा. मैंने हंसते हुए उसके मुँह की तरफ अपना लंड किया और उसे चूसने को कहा.

मामी मुझे मजाक मस्ती कम करने को बोल रही थीं, क्योंकि अक्सर हम दोनों ऐसे मजाक करते रहते हैं.

मैंने भाभी जी के सपाट और चिकने एकदम बेदाग़ पेट पर किस करना चालू कर दिया. उसके हाथों की गर्मी पा कर लंड को अपने असली रूप में आने को बिल्कुल भी समय नहीं लगा. हम सब हंसते हुए सोफे पर बैठ गए और भाभीजी ने तुरंत ही स्नैक्स, आइस, गिलास और स्कॉच की बोतल ला कर रख दी.

सनी लियोन सेक्सी बीएफ वीडियो एचडीमैंने उससे पूछा- कल आप मुझसे बहुत बुरी तरह से बात कर रही थीं, तो आज आप मुझे लिखित में सॉरी दो, नहीं तो मैं आपकी शिकायत आपके अधिकारियों को कर दूंगा. सीमान्त जैसे ही मेरे सामने आया, मैं उसके लंड का टोपा ऊपर करके उसका लंड देखने लगी.

नंगी औरत की फोटो

पूजा की चूत एकदम साफ़ थी और उसकी चूत के चारों तरफ पेन से मेरा नाम लिखा हुआ था. मैं- चिकन लेकर जाएंगे और वहां पापा ने ग्रिल बनाई है … हम ग्रिल चिकन बना कर खाएंगे. वे कहने लगे कि तुम काम अच्छे से करो, मैं तुम्हारी सैलरी बढ़वा दूंगा … तुम्हारी फैमिली में कौन कौन है, तुमको किसी चीज़ की जरूरत हो, तो मुझे बताना.

मतलब इतनी उम्र होने के बावजूद भी उनका फिगर देखकर मेरे मुँह में पानी आ जाता है. जिससे मेरी चूत का पानी उनके लंड पर लग रहा था और मेरी चूत के पानी से उनका लंड भीग गया था. मैंने जोर-जोर से चोदते हुए अपना माल कंडोम में गिरा दिया और फिर उसके बगल में लेट गया.

मैंने अपना लंड पूजा की तरफ कर दिया तो उसने भी देर न करके मेरे लन्ड को पकड़ लिया और आगे पीछे करने लगी. मैं अब दिन रात बस हिना आंटी के बारे में सोच रहा था कि मैं उनकी चुत कैसे चोदूं. हम दोनों ने कपड़े पहन लिए और जाने से पहले दोनों से एक लंबा किस किया और बाहर आ गए.

संतोष ने उनको आगे भी चोदने का सोचा, तो मैडम ने उसे मेरी तरफ आने को इशारा कर दिया. उसने मेरे सामने ही अपने सारे कपड़े उतारे और पूरी नंगी मादरजात एक तौलिया लेकर बाथरूम में चली गयी.

हम तीनों ने एक-दूसरे की तरफ देखा और मुस्करा दिये क्योंकि हमारा प्लान तो कामयाब हो गया था.

कई बार मैं उसको अपने यहां बुला लेता हूं और कई बार हम बाहर मिल लेते हैं. जीजा साली सेक्स बीएफतभी दादाजी ने उसे 1000 रूपये का नोट दिया जिसे उसने अपनी ब्रा में खोंस लिया. फिल्म नंगी फोटोमैं दुर्ग के पास के एक गांव से हूँ … लेकिन अभी मैं शहर में रह रहा हूँ. फिर सबके हाल-चाल लिए, उसके बाद बोली- बताओ फिर क्या सोचा है?मैंने कहा- मुझे क्या सोचना है? मैंने तो फैसला तुम्हारे ऊपर छोड़ा था.

वह फिर उसे चूसने लगी।मैं सिसकारियां भरते हुए बोला- बातें चोदने के बाद करूँगा रानी!उफ … उफ … उसके मुंह में मेरे लंड का अंदर-बाहर जाना … आनंद की कोई सीमा न थी.

बहुत देर तक उसके होंठों को चूसने के बाद मेरा दिल भी कर रहा था कि मैं उसके लण्ड पर हाथ रख दूँ. रोहन- आप क्या करती हैं?सोनिया- मैं एक गृहिणी हूं … और आप?रोहन- मैं एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूँ. मेरा वहां हाथ गया, तो पता चला कि उनकी पेंटी, सलवार पूरी चुत रस से सनी पड़ी थी.

अब वो कमरा गुलाब के फूलों से सज़ा था और सेज़ पर प्रीति मेम दुल्हन के लिबास में बैठी थीं. रात को मनोज के साथ शौपिंग करते समय दीपा ने मनोज के कहने पर एक-दो शोर्ट ड्रेस भी लीं. मुझे तो 1 साल फुल मस्ती का मिल गया था जहाँ टीचर और स्टूडेंट सब से इज़्ज़त भी मिलती रहेगी।सभी बहुत खुश थे और इसीलिए रात में एक पार्टी का आयोजन किया हुआ था, घर में खाने की खुशबू उड़ रही थी.

फोटो नंगा फोटो

एग्जाम देकर जब वापस आ रहा था तो मेरे दिमाग में सरप्राइज देने की बात चल रही थी. मैं तो उन मुस्टंडों को देख कर डर ही गई लेकिन विकी ने कहा- डरने की कोई बात नहीं है. ” नीलम ने शर्म से पानी पानी होते हुए कहा।बेटी मैं कुछ करने की नहीं सिर्फ नाटक करने की बात कर रहा हूं” महेश ने अपनी बहू को समझाया।नाटक? हाँ पिता जी… आप सही कह रहे हैं, अगर मैं समीर के सामने आपके साथ नाटक करुं तो वे ज़रूर गुस्सा होंगे.

यह बात मुझे तब समझ में आ गई, जब मेरी मुलाकात मेरे साथ कंपनी में काम करने वाली एक मैडम से हो गई.

तुम एक मर्द हो और लड़कियां उन्हीं मर्दों को पसंद करती हैं, जिनमें मर्दों वाली बात हो.

मैं जब भी दादाजी के घर जाती, तो उनका पैसों से भरा पर्स पलंग के पास ही रखा होता था. तो दोस्तो, आज मैं पहली बार अपनी एक मस्त सेक्सी कहानी बताने जा रहा हूँ. बीएफ बीएफ व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओफिर एक दिन मैं घर पर अकेला था कि वो एक मूवी की सीडी के लिए मेरे पास आई और बोली कि मुझे विवाह मूवी देखनी है, आप ला दोगे क्या?तो मैंने कहा- ठीक है, कल ला दूँगा.

ज्यादातर कहानियों के नीचे कमेंट भी होते थे, मैं लोगों के कमेंट पढ़ती थी, सच में बहुत मजा आता था, कुछ नया मिलता था. ये दवा इम्पोर्टेड है … इससे 6 से 7 बार कर तक चुदाई सकते हैं … और बहुत देर देर तक … वो दवा जल्द ही आने वाली है. फिर थोड़ी देर बाद मैंने ही हिम्मत करके शीना से कहा- कम से कम दरवाजा खोलते वक्त आवाज तो किया करो.

फिर भी मेरा दिल इसको नहीं मान रहा था, उसका पति तो बाहर दूसरे जिले में है, तो फिर अंदर कौन है?मैंने बालकोनी की तरफ की खिड़की को धीरे से थोड़ा घसकाया।हे भगवान! ये क्या चल रहा है? दो बलिष्ठ आदमी मकान मालकिन के साथ मजे कर रहे थे। वह बिस्तर पर लेटी हुई थी और बार-बार सिसकारियां भर रही थी. वो कई बार भाभी को डॉक्टर के पास भी ले गया, पर साले ने खुद कभी अपने शरीर की कभी जांच नहीं करवाई.

दीपा फटाफट हल्का नाश्ता और चाय बना कर तैयार रहती और मनोज के आते ही बिना कपड़ों के उसकी बाँहों में आ जाती.

कुंवर साहब की उम्र 70 साल थी, लेकिन वे इतनी उम्र के लगते ही नहीं थे. अब हम तीनों ही एक लंबी चुदाई भरी रात के बाद निढाल होकर ऐसे ही नंगे-पुँगे एक दूसरे के जिस्मों में उलझे हुए वहीं गीले बिस्तर पर ही सो गए. उसके बाद उसी के एक खास दोस्त कबीर ने बताया कि उसका स्टेमिना बहुत कम है और वो तुम्हें खुश नहीं कर सकता है.

चूत चुदाई की ब्लू फिल्म दो मिनट की चुम्मा चाटी के बाद वो बोलीं- तूने समझने में इतना टाइम लगा दिया, मैं तो कब से तुझमें समाना चाहती थी. मैं खिड़की के और करीब सरक गयी, जहां शीशे के बीच से रशीद और सलमा दोनों दिख रहे थे.

मैंने उससे कहा कि तू जल्दी जल्दी ये पैग खत्म कर … तो फिर फ्री होकर बैठते हैं. वो खास रात क्या थी और वो क्या सरप्राइज था, वो मेरे दिमाग में घूमता रहा. कब उसने मुझे किस करते करते अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया, मुझे पता ही नहीं चला.

लाइव चुदाई

फिर उन्होंने एक झटके में अपना पैग ख़त्म करके गिलास साइड टेबल पर रख दिया. मैंने कहा- रूको जान … इतनी क्या जल्दी है … अभी अपने पास पूरा पूरा एक हफ़्ता पड़ा हुआ है. अंदर आते ही उसने मुझे अपनी बांहों में ले लिया और मुझे किस करने लगा.

साथ ही बाकी बची शराब को मेरे मुरझाये लंड पर डाल कर उसको चूसने लगीं. ”हम पीने लगे। इधर उधर की बातें होती रही।कुछ देर के बाद, हम दोनों जो नशा हो गया था, तो मैंने पूछा- आपने मुझे अपने साथ शराब पीने के लिए बुलाया था?नहीं, तेरे से सेवा करवानी है.

थोड़ी देर में मैं उन्हें देखकर सोचने लगा कि वो इतने दिनों से प्यासी थी.

और मैं उसे उसकी बीवी के जिस्म को देख कर अमित को उत्तेजना भरे शब्दों से उत्तेजित कर देता!एक दिन अमित ने मुझसे पूछा- यार, पूजा को राजी कैसे करूँ?मैं- उसको बस यह विश्वास दिला दो कि तुम उस पर पूर्ण विश्वास करते हो, उसको कभी छोड़ोगे नहीं. सोनिया- वो क्या?रोहन- आप सच में चाहती हैं कि मैं इसका जवाब दूँ?सोनिया- हां. मैंने लिखा है कि ये कहानी मेरी बुआ जी के छोटे लड़के की है, उनका एक बड़ा बेटा भी था … जो अब इस दुनिया में नहीं है.

मैंने लंड हिलाते हुए उसकी गांड पर घिसा, तो उसने मुझसे तेल की शीशी की तरफ इशारा कर दिया. रवि ने कहा- आपको कैसे पता कि मैं शादी के लायक हो गया हूं? मैंने तो अभी कुछ देखा ही नहीं है आप मुझे कुछ सिखाओ. तभी सनी ने बुआ जी से बोला- मम्मी, आप दुकान चल सकती हो क्या?बुआ ने पूछा- क्यों?भाई बोले- आज दुकान पर लड़का भी नहीं आया है.

मैंने उसको रिप्लाई किया कि मुझे अपने से ज्यादा बड़ी उम्र की लड़कियों में रूचि है.

बीएफ सुहागरात वाला: मेरा विचार है कि सेक्स में पहले औरत को खुश करो, फिर तुम वैसे भी खुश हो जाओगे. क्योंकि हमें आते आते थोड़ी सी शाम हो गयी थी, तो ज़्यादा लोग वहां नहीं रह गए थे.

” महेश ने अपना प्लान अपनी बहू को समझाते हुए कहा।पिता जी आपने सही कहा था, मेरे लिए यह मुश्किल है, मगर मैं अपने पति को पाने के लिए कुछ भी कर सकती हूं. सीमान्त- आह साली … लंड चूस माँ की लौड़ी … आज तो तेरी गांड को पूरा फाड़ दूंगा … साली तुझे बाजारू रंडी बना दूंगा … अह्ह्ह अह्ह्ह मेरी जान और जोर से लंड चूस अह्ह्ह …मुझे उसकी उत्तेजना देख कर पता नहीं क्या हुआ, मैं उसका एक गोटा पूरा मुँह में लेकर चूसने लगी, इससे वो और भी ज्यादा पागल हो गया. मैं शायद चाहता था उसे।गाँव गया तो प्लान बना मामाजी के घर घूमने का … तो मैं पापा की बाइक लेकर जा पहुंचा मेरे ननिहाल।जहाँ इंतज़ार कर रही थी एक कहानी अन्तर्वासना के एक पाठक को अन्तर्वासना लेखक बनाने का।जैसा कि होता है यहाँ मेरा जोरदार स्वागत हुआ… मामा-मामी और सब बड़ी खुशी से मिले.

”भोसड़ी के, काम वाली को भी नहीं छोड़ा?”वो चीज ही ऐसी है कि केला देने का मन बन गया.

वो जोर जोर से चिल्लाते हुए भाभी को पुकार रही थी- दीदी, बचा लो मुझे … नहीं तो ये मुझे मार डालेंगे … बहुत दर्द हो रहा है. दोस्तो, उसकी अजीब सी महक और एक अजीब सा स्वाद था, लेकिन मैं जोश में आकर लगातार चूसता रहा. मैडम को लगा कि सब उठ न जाएं, तब मुझे उन्होंने बाहर चलने के लिए कहा.