बीएफ सेक्स लेडीस

छवि स्रोत,हैदराबाद बॉलीवुड सेक्स फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

ऑनलाइन बीएफ बीएफ: बीएफ सेक्स लेडीस, फिर मैंने उससे पूछा- तुम दोनों ने कभी कुछ किया भी है क्या?एक बार तो उसने जवाब नहीं दिया लेकिन फिर वो कहने लगी- हाँ, एक बार उसने मुझे पॉर्न मूवी दिखा कर गर्म कर दिया था तो मैंने उसके साथ एक बार कर लिया था.

वीडियो में सेक्सी फिल्में

मैं उसकी चूचियों को चूसकर और मसलकर लाल कर रहा था और वो अपनी चूत से मेरा लण्ड रगड़ रही थी. आयतल कुर्सी इन हिंदी”अच्छा रोटी जलने की चिंता है तुझे साली और जो तेरी इस कसी हुई चूत में मेरा लन्ड जल रहा है उसका क्या?” महेश ने उसकी गांड पर हल्के हाथों से मारते हुए कहा।नीलम- पिताजी निकालो न अपना लंड, देखो देर हो रही है … कोई आ जायेगा।महेश ने टाइम देखा तो बारह बज चुके थे.

मैंने गेट खोला, तो सामने अंकल खड़े थे मैंने पूछा- आप इस समय पर?तो वे बोले- मुझे तुमसे बात करनी है. सेक्सी वीडियो गांव की लड़कियोंमैंने पति के लंड को पूरा मुंह में ले लिया और उन्होंने मेरी चूत में जीभ को पूरी घुसा दिया.

मैंने पता नहीं कैसे बोल दिया- इतनी जल्दी?फिर मैं अपनी बात से खुद अचकचा गया और झेंप मिटाने के लिए उस आदमी से कहने लगा- मेरा मतलब मैं इतनी जल्दी खाना नहीं खाता हूँ, मेरे लिए नौ बजे खाना लाना.बीएफ सेक्स लेडीस: मुंबई से वापस आने के बाद पहली रात को मैं पति का लंड अपनी चूत में ही लेकर सो गई थी.

अब मैंने अपनी बहन सुमन के साथ अपने भाई से चूत चुदवाने के प्लान बनाने की सोची.दीदी मेरी चूत में डिल्डो चला रही थी तो जल्दी ही मेरा पानी निकल गया.

जोरदार सेक्स वीडियो - बीएफ सेक्स लेडीस

मैंने जगह का इंतजाम करने के साथ उसको नींद की गोलियां दे दी थीं … ताकि वो ये गोलियां अपनी फैमिली को खिला दे.किसी तरह मैंने उसकी जाँघे फैला दीं और उसके बीच में आ गया। वो बार बार मुझे कुछ भी करने से रोक रही थी, इस वजह से मैं अपनी पैंट भी नहीं खोल पा रहा था। कभी-कभी उसके चेहरे पर गुस्सा दिखता था और कभी शर्म। वो अपने सिर को यहां-वहां झटक रही थी और मेरे सिर के बालों को पकड़ कर खींच देती थी.

पांच मिनट में अपने अपने कपड़े संभालते हुए पाँचों अपनी बीवियों के साथ अपने अपने कमरों में चले गए. बीएफ सेक्स लेडीस ऐसे वक़्त में अगर मैं उसको चुदाई के लिए कहता तो शायद उसकी नज़रों में मेरी अहमियत कम हो जाती.

उसने लंड का नमकीन शीरा पिया और जो थोड़ा बचा, उसे वो मुँह में वैसे रखकर मुझे किस करने लगी.

बीएफ सेक्स लेडीस?

सोनिका ने उससे बात करना छोड़ दिया तो इस बीच मैं और मोहनीश एक दूसरे से बहुत करीब आ गए. लंड को तो हिला कर मैंने खुश कर दिया था लेकिन मन में एक अधूरापन सा था. मैं जितनी बार भी अपने लंड को हाथ लगा रहा था तो दीदी अपना मन मसोस कर रह जाती थी.

फ्रेश होकर सब नाश्ते के लिए इकट्ठे हुए तो अनीता ने देखा कोई सर्वेंट नहीं है. वो शनिवार सुबह चले जाएंगे और मेरे बेटे को संडे की छुट्टी होने के कारण उसके मामा उसे अपने घर लेके जाएंगे. पता नहीं, ये कौन सी क्रीम थी, पर उन्होंने क्रीम निकाल कर पहले अपनी उंगली पर लगाई और फिर उन्होंने धीरे से वो उंगली मेरी गांड के छेद में डाली.

वो पूरी ताकत के साथ मेरी चूत में अपने मोटे लंड के धक्के लगा रहा था. काफी देर तक उसके चूचों को चूसने और चाटने के बाद मैं नीचे की तरफ बढ़ा. पहले पहले मुझे बहुत शर्म सी आती, पर धीरे धीरे मेरी शर्म गायब होने लगी.

घर के अन्दर जाते ही मैं आंटी के ऊपर टूट पड़ा और वो भी मुझ पर टूट पड़ीं. मैं उल्टी पेट के बल लेटी हुई थी जिससे उसको मेरी उभरी हुई गांड दिखी और वह पजामे के ऊपर से ही बिल्कुल आराम से मेरी गांड दबाने लगा.

मगर उन सब ने मिल कर मेरे यार को तीन-चार थप्पड़ मारे और आशीष उनके चंगुल से छूट कर भाग गया.

लेकिन वो अपना मुंह इधर-उधर झटक दे रही थी और मेरे होंठ उसके होंठों से मिल नहीं पा रहे थे.

रजू दोबारा से मेरा साथ देने लगी और गर्म होकर उसने मेरे लंड पर हाथ रख लिया. इस तरह से मैंने गर्लफ्रेंड और चचेरी बहन को चोदा पूरे सात दिनों तक … मुझे मजा आ गया. स्मायरा बोली- एक बात सच सच बताना … आज से पहले कितनों को किस किया है?मैं बोला- मेरी बीवी के अलावा सिर्फ आप को.

मुझे बहुत दिनों बाद जबरदस्त लंड का मज़ा मिल रहा था और दर्द भी हो रहा था. मेरे सारे जिस्म को चूसते चाटते हुए मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं. वो मेरी चूची को मसलने के बाद अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे और कुछ देर के बाद वो अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को चोदने लगे.

मैं- हिना आंटी सबके लिए कपड़े लाई हो?हिना- हां हैं, सबके लिए टी-शर्ट्स लायी हूं.

इसके बाद हम दोनों हर संडे के दिन चुदाई करते हैं … और खूब मज़े करते हैं. ये देख कर मेरी आंखों में भी आंसू आ गए कि ये मेरे लिए क्या क्या कर रही है. फिर हल्के हल्के हाथों से ऊपर नीचे करके उनको हर अंग को दबा दबा के रगड़ता रहा.

मैं उसके एक निप्पल को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा, गालों पर भी हाथ फेर कर उसे प्यार करने लगा. मैंने भी अपने सिर को नीचे कर लिया ताकि गांड ऊपर उठ जाये और लंड पूरा अंदर तक चला जाये. मैं उसके होंठों को चूसने की कोशिश कर रहा था लेकिन वो अपने होंठों को आपस में चिपका कर भींच कर रखे हुए थी.

हम दोनों बातें करने लगे और फिर बातों ही बातों में हंसी मजाक भी होने लगा और उसको पता नहीं क्या शरारत सूझी कि उसने मेरे पेट में एकदम से गुदगुदी कर दी.

ये बोलते हुए स्मायरा अपने चूतड़ों को लंड के झटके की लय से लय मिलाते हुए उछाल रही थी. मैंने उनकी चूत चाटने के बाद अपना लंड चूसने के लिए इशारा किया, जिस पर उन्होंने झट से मेरा लंड मुँह में ले लिया और अच्छे से चूसने लगीं.

बीएफ सेक्स लेडीस मेरे अंदर की आग और भड़क गई और मैंने अमित को और कस कर पकड़ लिया। मेरी तरफ से हरी बत्ती मिलने पर उनका भी जोश बढ़ गया और वे और जोर से मेरे नाजुक अंग मसलने लगे।युवराज नीचे बैठ गया और मेरी साड़ी ऊपर कर के मेरी जांघे चूमने मसलने लगा तो ऊपर अमित ने मेरा पल्लू नीचे गिराकर मेरे स्तन मसलने लगा। इस दोहरे हमले से मैं पूरी चुदासी होने लगी थी।सस्सऽऽ… आह…” मेरे सीत्कार उनमें और जोश भर रहे थे. मैंने अपना हाथ बेख़ौफ़ स्वरा की पैंटी के अन्दर डाल दिया और उसकी चुत के दाने को छेड़ने लगा.

बीएफ सेक्स लेडीस मेरी सहेली इस बात से अनजान थी कि मैं उसके बॉयफ्रेंड के साथ बाहर घूमने के लिए जाती हूँ. समय निकाल कर वो भी मेरे रूम पर चली आती और हम एक दूसरे में लिप्त हो जाते, हमारे बीच चूत लीला शुरू हो जाती.

फिर एक जोरदार झटका मार दिया, जिससे मेरा आधा लंड मॉम की बुर में चला गया.

देवर भाभी देवर भाभी की बीएफ

आखिर दर्द तो उसको वैसे भी होता … लेकिन बिना मतलब के कोशिश करने का कोई फायदा नहीं था. अगर ये सब बाहर वालों को पता चलेगा, तो क्या होगा?चाची की एक्टिंग देख कर मैं भी ड्रामा करने लगा. कुछ मिनट बाद ही उसकी एक लंबी गर्म पिचकारी मुझे अपने अंदर महसूस हुई फिर तो बहुत सी पिचकारियाँ मुझे अपने अंदर महसूस हुई.

मेरे मुँह से काफ़ी सारा थूक निकल रहा था और अंकल मेरे मुँह की ज़बरदस्त चुदाई कर रहे थे. जिस्म वहीं बाथरूम में कैद था लेकिन मैं और मेरा मन कहीं अपने ही ख्यालों में उड़ रहा था. उसमें से भाभी की चुत, कामरस से भीगी हुई पिंक होंठ चिपकाए हुए बाहर निकल आयी.

मुझे लगा कि अब तो मैं इतनी दूर जा रहा हूँ तो सब कुछ ख़त्म!किन्तु उसी समय मेरे सिलेक्शन एक बड़े सरकारी अफसर के पद पर हो गया और किस्मत ऐसी कि पोस्टिंग भी उसी के शहर में मिल गयी।अब मैं उस जिले में सरकारी आवास में रहने लगा। मेरे आवास से उसका घर लगभग साठ किलोमीटर की दूरी पर था। ऐसे ही एक साल और बीत गया.

ऐसे ही एक बार जब वो मेरे घर पर आया हुआ था तो हम साथ में बैठ कर पढ़ाई की बातें कर रहे थे. शिवानी ने कहा- सागर तेरे लंड ने मेरी चूत के साथ क्या किया … या क्या करेगा, आज वो सिवा तुम्हारे और मेरे किसी को नहीं पता लगेगा. मैंने कुछ नहीं कहा जिससे उसको भी पता चल गया कि मुझे उसके साथ ये सब करने में मजा आ रहा है.

आज चारू जैसी हाउसवाइफ, जिसकी गांड पूरे 36 इंच की थी, आज मुझसे चुदवाने को तैयार थी. मुझे प्रिया के बारे में अपने मन के अंदर इस तरह के ख्याल नहीं लेकर आने चाहिएं. लेकिन अब उसमें पहले जितना मजा नहीं आता इसलिए मुझे नए लंड की तलाश जारी है.

ये वाला घर गांव से थोड़ा बाहर भी था, तो वहां ज्यादा लोग नहीं दिखते थे. लगभग 15 मिनट बाद मैंने अपना सारा माल उनकी गांड में भर दिया और निढाल होकर अंकल के ऊपर ही गिर गया.

इन दोनों रंडियों के कोमल हाथों की छुअन से मेरे लंड का पानी छूटने को हो गया था इसलिए मैं थोड़ा पीछे हो लिया. उसमें हमने एक बाइक को खाई में फेंक दिया और घरवालों को लगा कि हम भी खाई में गिर कर ऊपर पहुंच गये. ”अच्छा? फिल तैसे थीत हुए?” गौरी की आँखें जैसे चमक ही उठी। उसे लगने लगा था अब तो उसकी समस्या का समाधान अवश्य ही मिल जाएगा।यार प्राइवेट बात है.

पिंकी बोली- क्यों?सीमा बोली- यार मस्ती करनी है, जरा रगड़ेंगे, मजा आएगा.

मेरी सहेली इस बात से अनजान थी कि मैं उसके बॉयफ्रेंड के साथ बाहर घूमने के लिए जाती हूँ. मैंने उसकी चूत में अपनी 3 उंगलियों को एक साथ डाल दिया, जिससे वो चिल्ला उठी. हम एक दूसरे को इंटरनेट से नग्न तस्वीरें भेजते और सेक्स की बातें करते.

अगले दिन शिवानी ने मुझसे पूछा- पूनम बता सच बताना कि कल जब मैंने सागर को उंगली की थी, उसके बाद की चुदाई कैसी लगी?मैंने कहा- यार, सही में चुदाई का असली मज़ा तो कल ही आया था. उसने नीचे हिल पहनी हुई थी और उसकी पतली कमर पर ड्रेस बिल्कुल फिट होकर चिपकी हुई थी.

उन्होंने मेरा लंड हाथ में पकड़ा और बोलीं- तेरा लंड तो तेरे अंकल से भी बहुत बड़ा है और मोटा भी है. कुछ तस्वीरें तो इतनी अच्छी थीं कि रवि अनिल की आंखों में चमक सी आ गई उनको देख कर।उन्होंने मेरी बीवी की बहुत तारीफ की. उसके बाद उसने मेरे कमीज को निकलवा दिया और मेरी ब्रा को भी खींच कर अलग कर दिया.

लड़की के बीएफ सेक्सी वीडियो

मैंने कहा- हां यार …फिर चयन ने मेरे अंडरवियर में हाथ डाल कर मेरे लंड को बाहर निकाल लिया.

उसके पिताजी की ज़िद के चलते हमारी शादी नहीं हो पायी, इस बात का मुझे आज तक मलाल है. उस रात हम दोनों ने दो बार चुदाई का मजा और लिया क्योंकि मुझे आज की रात उसके साथ ही रुकने का कहा गया था. धीरे धीरे मेरी अपने बॉस से दोस्ती हो गयी और वो मुझसे फ़ोन पर भी बात करने लगा.

तब तक मैं और मेरी बीवी जो मेरे बाजू में सोफे पर बैठी थी, वो मुझसे चिपकी हुई थी. उसने अपने मुँह को मेरी चूत पर लगा दिया और मेरी चूत का सारा पानी चाट चाट कर साफ़ कर दिया. सेक्स टाइम बढ़ाने के लिए क्या करेंगर्मी का दिन था तो विवान भैया जब भी आइसक्रीम खरीदते थे तो मेरे लिए जरूर खरीदते थे.

बंगलो किसी शौक़ीन जमींदार का है इसलिए बेहतरीन सोफे भी उसी हॉल में पड़े थे. इसलिए मैं बाम की शीशी को उसके पास ही छोड़ कर अपने कमरे में वापस आ गया.

मेरी चूत का खून तो तुमने ही निकाला था अपने लंड से … आह पता नहीं कहां कहां से चूत ढूँढता रहता है अपने लंड के लिए … और बदनाम मेरी चूत को करता रहता है. उस वीडियो में एक 8 इंच के लंड वाला आदमी मेरी उम्र की ही जवान लड़की की चूत को बुरी तरीके से चोद रहा था. कुछ देर तक आंटी मेरे जिस्म को चूमती रही और फिर एकदम से आंटी के होंठ मेरे लंड पर जा सटे। आंटी मेरे अध-सोये लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

वो मुझे चोदते चोदते मेरे होंठों को चूसने लगा और मेरे होंठों का रसपान करते हुए मेरी चूत को अपने लंड से चोदने लगा. मैं भी मस्ती से उसकी चूत चाट रहा था और अपनी जीभ उसकी चूत में अन्दर तक घुसा देता. क्या बताऊं … वो इतनी गजब की खूबसूरत लग रही थी कि मेरा लंड खड़ा हो गया.

मैंने उसकी कमर पर हाथ फेरते हुए उसे इतने जोर से पकड़ लिया, जैसे मैं उसे अपने अन्दर समा लेना चाहता हूँ.

मैं उस दिन शिवानी के गले लग कर बहुत रोई, मगर यह सब आंसू खुशी के थे … ना कि दुख के. सभी जोरों से हंस पड़ी और नीता के पीछे पड़ गयी कि वो अपना एक कपड़ा उतारे.

” ज्योति ने अपने भाई के माथे को चूमते हुए कहा।बहन आप औरत हो, आप ही बताओ कि अगर मर्द का लंड लम्बा और तगड़ा हो और वह बहुत देर तक न झड़ता हो तो औरत को मज़ा आता है या तकलीफ होती है?” समीर ने अपनी बहन की तरफ देखते हुए कहा।मेरा लाला … औरत तो ऐसे मर्द के लिए तरसती है. परवीन- क्या देख रहा है?मैं- आपका जिस्म … आप बहुत ही सेक्सी हो आंटी. बुआ ने मुझसे कहा- तुम्हें एक या दो दिन वेट करना होगा, तब तुम्हारा इन्टरव्यू हो सकेगा.

पहले तो वो थोड़ा ना नुकर कर रही थीं, पर पर थोड़ी देर बाद वो भी मेरा साथ देने लगीं. हमें ऐसा नहीं करना चाहिए था, आखिर हमारे बीच सास और दामाद का रिश्ता है. मगर आराम भी मिल रहा था।कुछ देर आराम करने के बाद बाथरूम में जाकर वो कपड़े धोने लगी। फिर कपड़े धोकर नीलम छत पर उन्हें सुखाने आ गई। उनकी छत पड़ोस के घरों की छत से काफी ऊंची थी.

बीएफ सेक्स लेडीस अब तो मेरी सास की हालत बहुत खराब हो गई, वो ज़ोर ज़ोर से ‘आह आह आह ऊह ऊई …’ करने लगीं. उसने मेरी चूची चूसते हुए मेरे निप्पल पर अपनी ज़ुबान फेरी, तो मैं आंखें मूंद कर उसके बालों में हाथ फेरने लगी और मीठी मीठी सिसकारियां भरने लगी.

सेक्सी बीएफ फिल्म चूत

अनिल उसके दूधों को मुंह में भर कर पीने लगा और मैं उसकी चूत को चाटने लगा. राहुल ने देखा कि रीमा तो सलवार सूट पहने है, उसने हंस कर कहा- या तो आप फ्लोट कर सकती हैं या आपका सूट. मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स की कहानी को आगे बताने से पहले मैं आपको अपने शरीर के बारे में बता देती हूं.

मैं तो मायूस सा अनुभव कर रहा था, परन्तु वेरोनिका बहुत खुश नजर आ रही थी. लंच करने के बाद शरीर में सुस्ती सी आ गई और मैं अंगड़ाई लेते हुए उठ कर अपने कमरे में जाकर बेड पर गिर गया. जंगल वाली सेक्सअब तो धमाचौकड़ी सी मच गयी … बोतल को एक तरफ फेंक सब एक दूसरे के कपड़े उतारने में लग गयीं … बेड पर मानो भूचाल आ गया … तकिये सब नीचे जा गिरे.

चाची ने मेरा लंड हाथ में ले कर अपनी चूत में डालने का फिर से प्रयास किया.

जब भैया ने भाभी के मम्मों पर हाथ रखा, तो वो उनके हाथों में भी आ नहीं पा रहे थे. … ये इतना बड़ा कैसे है?मैं- इतना भी बड़ा नहीं है … पोर्न स्टार्स का तो 10 इंच होता है.

जब तूफान ठहरा तब उसने कहा- तुम तो ऐसे मुझे चोद रहे थे जैसे मेरी जान ही निकाल दोगे।मैंने कहा- क्या करूँ … अपनी पत्नी को चोद रहा हूँ किसी और को नहीं!हम दोनों ही हंसने लगे और फिर उसके हम बाथरूम चल दिये फ्रेश होने!वहाँ भी फिर एक बार तूफान आया और फिर हम फ्रेश हो कर निकले. मुझे मकान मालकिन की बीवी यानि मेरी भाभी पसन्द आ गयी थीं, मैं उन्हें चोदने के सपने देखने लगा. मैं उसके बुलाये बिना ही उसके पास चली गई और नीचे बैठ कर उसके तने हुए लंड को फिर से मुंह में लेकर चूसने लगी.

मैंने कहा- हां ये तो है … पर इस बात से तुम्हारा मतलब क्या है?उसने कहा- कुछ नहीं … आप लेटो, मैं रसोई का काम खत्म करके आती हूँ.

पर डर के मारे कभी कह न सकी।ऐसा कहकर वो अलीश को बेतहाशा चूमने लगी कभी गालों पर, माथे पर, गले पर और फिर अपने होंठों को अलीश के होंठ पे रख दिये।अलीश उसके होंठों को चूमते हुए उसके दूध को टॉप के ऊपर से ही दबाने लगा. ये सब बातें सुन कर मैं धीरे-धीरे उनसे और चिपक गया, जिस कारण उनके चुचे मेरे सीने से टच होने लगे. ” समीर ने लगभग रोते हुए कहा।हाँ शायद तुम सही हो मगर मुझे ऐसी राह पर धकेलने में भी तुम्हारा हाथ है और शायद तुम ने अच्छा ही किया क्योंकि उसके बाद ही मुझे ज़िंदगी के अनमोल मज़े का अहसास हुआ जो मुझे तुमने नहीं किसी और ने दिलाया.

सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो देखने वालावो ‘उई … मांम्म्म … जोर से करो … आह … बहुत मजा आ रहा है … आआहह … उईई. कभी कभी तो मैं मज़ाक करते करते उन्हें गुदगुदी कर देता जिससे वो थोड़ा शर्मा जाती थीं.

बीएफ वीडियो सेक्सी एक्स

इस सबसे वो काफी गर्म हो गई और उसने अपनी चुत का पानी अपनी पेंटी और मेरे हाथ में निकाल दिया. वो बोला- तुमको मज़ा आया?मैंने कहा- हां मजा बहुत आया, पर दर्द भी हुआ. उनके पति सरकारी नौकरी में किसी ऊंचे पद पर थे, तो वो अक्सर बाहर रहा करते थे.

मैंने आंखें बंद कर लीं और लेट कर लंड के टोपे को हाथ में दबोचे हुए आगे-पीछे करते हुए लंड की उस उत्तेजना का आनंद लेते हुए धीरे-धीरे मुट्ठ का आनंद लेने लगा. जैसे ही मेरी जीभ उसकी चूत पर लगी, तो उसके मुँह से ‘इ … स्सस …’ की आवाज निकल गई. वो भी अब बेशर्म होकर पैंट खोलने लगी और अगले ही पल वो केवल ब्रा और पैंटी में थी.

हम दोनों एक बार सेक्स करने के लिए उनके घर पर ही नंगे हो गए थे लेकिन सेक्स नहीं कर पाए क्योंकि विवान भैया की मम्मी पता नहीं कब घर में आ गयी. फिर मैंने बिना डरे उनके ब्लाउज का बचा हुआ एक बटन भी खोल दिया और दोनों चूचों को बारी बारी से सहलाने लगा. उनके मुंह से जोर की चीखें निकल रही थीं- और करो चोद दो मेरी चुत को, फाड़ डालो इसको, भर दो अपने वीर्य से इसको उम्म्ह… अहह… हय… याह…आंटी ने मुझे और जोर से चुदाई करने के लिए उकसा दिया.

दोपहर के एक बजे का समय हो चला था और मैं नहा कर बाथरूम से निकल आया था. मैं आज सब कुछ होने से पहले चाहती हूँ कि आप मेरी मांग भरो।मैं स्तब्ध एकटक उसको सुन रहा था.

जब उसने जांघें नहीं खोलीं तो मैं उसकी पैंटी को खोलने लगा तो कहने लगी- नहीं विजय, ये सब गलत है.

वो मुझे चिल्लाते हुए देख कर बोला- शट अप … यू बिच … (चुप कर कुतिया!)वो मुझे अपने लंड पर ऊपर नीचे करने लगा. सुडौल स्तनमुझे जब भी सेक्स करने का मन होता है तो मैं पोर्न मूवी देख लेती हूँ. हिंदी सेक्सी वीडियो कॉलेजगांड का तो पूछो मत, इतनी मोटी और कड़क गांड है उनकी कि चलती है तो ऐसा लगता है जैसे अपने पास बुला रही हो. किसी औरत को सच्चा दोस्त चाहिए होता है, किसी गे को साथी की जरूरत होती है, या फिर किसी को लड़की की आईडी बना कर लड़कों के साथ मजाक करना पसंद आता है.

तभी हिना आंटी ने मेरा लंड हाथ में पकड़ लिया और फट से मेरा अंडरवियर नीचे खींच दिया.

मेरे हर धक्के का जवाब भी उतनी ही तेज़ दे रही थी जितनी तेज़ मेरे धक्के थे।मेरे अंदर का तूफान आ चुका था, मैंने उससे पूछा- कहाँ निकालूं?उसने कहा- अब मैं तुम्हारी हूँ, जहां मन करे, निकाल दो!और इतना कहते ही मैं और वो एक ही साथ झड़ने लगे. मुंबई से वापस आने के बाद पहली रात को मैं पति का लंड अपनी चूत में ही लेकर सो गई थी. मोहनीश ने मेरी ब्रा और पेंटी को भी निकाल दिया और मेरी चूची को चूसने लगा.

मैंने फिर से देखा तो अब वो लड़की फिर से लडके के लंड को मुँह में लेने लगी थी. उसको मुम्बई जाना जरूरी था और स्मायरा की मम्मी की अचानक तबियत खराब हो गयी थी. मैंने देर न करते हुए भाभी की साड़ी पकड़ कर खींच दी और पेटीकोट नाड़े की गाँठ खोल कर नीचे गिरा दिया.

ब्लू बीएफ पिक्चर हिंदी में

हम दोनों सोफे से उतर कर फर्श पर आ गए और बिछड़े प्रेमियों की तरह लिपट कर किस करने लगे. उसने मेरी इस पहल पर मुझे कस कर पकड़ लिया और मुझे अपनी तरफ खींच लिया. फिर मैंने सोच लिया कि क्या वही एक मर्द रह गया है क्या इस दुनिया में, अभी तो मेरी जवानी चढ़ी है, अभी तो इसने और उफान पकड़ना है.

मैं एक और बार ज़ोर से अन्दर डाल दिया, पूरा डिल्डो अन्दर घुस चुका था.

जब किसी शादीशुदा मर्द को 7 महीनों से चुदाई करने ना मिली हो, तो वो कितना तड़पता होगा … ये बात इस वक्त मुझसे बेहतर कोई नहीं समझता होगा.

उसके ये बोलने पर वो हल्के से हँसी और उसका साथ देने के लिए अंकित भी मुस्करा दिया. करीब दस मिनट बाद मैंने देखा, वो लड़का मेरे पास वाली बेंच पर आके बैठ गया. छोटा ट्रैक्टर वालामैंने फिर से लंड सैट किया और हल्का सा धक्का मारा, तो लंड उसकी चूत में सैट हो गया.

मेरी पत्नी ने अपने दोनों पैरों को ऊपर किया और मैंने उसके पैरों के ज्वाइंट में अपने हाथ फंसा कर उसकी चूत को एकदम पूरी तरह से खोल दिया क्योंकि मुझे बोला गया कि मैं उसके दोनों पैरों को जितना ज्यादा चौड़ा कर सकता हूं, करके पकड़ लूं. समीर का लंड अपनी बहन की चूत को चीरता हुआ 3 इंच तक अंदर घुस गया।बहन क्या हुआ? आप शादीशुदा होकर भी इतना चीख़ रही हो?” समीर ने अपनी बहन से पूछा।भैया आपका लंड बहुत मोटा और लम्बा है और मेरी चूत 8 साल से चुदी नहीं है इसीलिए वह बंद हो चुकी है। प्लीज आराम से करना. कपड़े पहनने के बाद मैं खुद ही बाहर जाने लगी तो वो कहने लगा- मैं तुम्हें छोड़ देता हूं.

ये सुनते ही सर बोले- आशना … ऊपर सीढ़ी चढ़ते ही पहला रूम आएगा, वो मेरा बेडरूम है … वहां बाहर ही टेबल पर बोतल रखी है, उसे तुम ले आओ. मैं थोड़ा थूक लेकर भाभी की नाभि पर रगड़ने लगा और जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

जैसा कि आपने मेरी पिछली स्टोरी में पढ़ा था कि कैसे मैं सारिका की कजन यशिमा से मिला और हम दोनों में में सेक्स शुरू हुआ.

आज वो काफी जोश में लग रहा था क्योंकि इतने दिनों से हम लोगों ने एक-दूसरे को देखा भी नहीं था. उन्होंने मेरे हाथ को चूत से हटाया और अपने हाथ की उंगली मेरी चूत में डाल दी. शायद ये बात लड़कियों को मालूम थी पहले से क्योंकि आज सभी ने डीप नैक फ्रॉक पहने थी और आज मर्दों ने ड्रिंक्स भी नहीं ली थी.

सेक्सी फिल्म वीडियो बढ़िया वाली ऐसा कोई दिन नहीं जाता था जब मैंने उसके चूचों या उसकी गांड या उसकी चूत के बारे में सोच कर नहाते समय अपना माल न निकाला हो. मैंने भी चयन से यही कहा- काश तू पहले मिल जाता, तो मेरे दो महीने में तीन बार का मुठ यूं ही बाहर नहीं निकलता.

उसने मेरी ब्रा खोल दी और मेरे दोनों मम्मों को अपनी हाथों में लेकर जोर जोर से दबाने लगा. लेकिन ये क्या मैं ज्योति के पास जैसे ही पहुंचा, उसने मुझे पकड़ कर चूमना शुरू कर दिया. मैं भी यही चाहती थी। मैं उसकी इस बात पर शर्मा गयी।हर्ष थोड़ा सा उठा और उसने पजामे के साथ अपना अंडरवियर भी एक साथ उतार दिया उसका लंड मेरे सामने था.

सेक्सी हिंदी बीएफ सेक्स

मॉम ने मेरी तरफ हैरत से देखते हुए पूछा- जैसे कौन?मैंने कहा- जैसे राजनाथ. ”मेरी बात वो समझ तो गई थी लेकिन वो ऐसे रिएक्ट कर रही थी जैसे उसे कुछ समझ ही न आ रहा हो. मुझे उसके साथ ठीक वैसे ही बेहद मज़ा आ रहा था जैसे आपको यह सेक्स कहानी पढ़कर मजा आ रहा है.

उसके बाद उसने मेरी फ्रेंची में हाथ डाल दिया और मेरे लंड के टोपे को आगे पीछे करने लगी. उनके तने हुए मम्मे और झांट रहित चूत ने मेरे लंड को एकदम से खड़ा कर दिया.

और वो भी अपनी गांड उठा उठा कर अपनी चूत चुसवा रही थी।चूत के दाने को मैं मुंह में लेकर चूस रहा था और अपने एक उंगली से उसके छेद को सहला भी रहा था.

उनके कामुक अंग उनके शरीर में बड़ी खूबसूरती से पल्लवित थे, भाभी के ये कामुक जैसे उनकी खूबसूरत देह में चार चाँद लगा रहे थे. पर इतनी देर हम दोनों क्या करते … मैंने सुझाव दिया- चलो मार्किट हो के आते हैं. ये देख कर अनिल से भी कंट्रोल नहीं हुआ और वो ऋतु की लेफ्ट वाली चूची को दबाते हुए मसलने लगा.

परवीन- मेरी सांस रुक गयी … इतनी भी देर कोई लिप टू लिप करता है … आआह. अपनी स्पीड मैंने थोड़ी तेज कर दी तो उसने और तेज आवाजें करनी शुरू कर दी. मेरी दीदी बोली- मेरे भाई, जिस हाथ से तुझे राखी बांधी उसी से मैंने तुझे तमाचा मार दिया.

अगर कोई भी अपने पार्टनर न बदलना चाहे तो मुझे या धीरज को अभी कान में बता दे.

बीएफ सेक्स लेडीस: मेरी गांड की आग शांत हो चुकी थी, पर मेरे लंड की प्यास अभी रह गई थी. तब मैंने कहा कि देखती हूं, अगर किसी तरह कोई जुगाड़ बनता है तो मैं आऊंगी.

बुआ ने मुझसे कहा- तुम्हें एक या दो दिन वेट करना होगा, तब तुम्हारा इन्टरव्यू हो सकेगा. लेकिन भाभी ने मेरी कोशिश दोनों बार नाकाम कर दी कोई बहाना बना कर!अभी भी भाभी मेरे को घर का काम करते समय कभी कभार अपनी गांड, चूची और पेट, नाभि दिखाती रहती है। मैंने भाभी को बताया भी था कि मैं उनकी नाभि का दीवाना हूँ. उसका नाम अनिल शर्मा था जो काफी लम्बे समय से गार्मेन्ट के एक्सपोर्ट बिजनेस में था.

बल्कि ये तो मेरे लिए सौभाग्य की बात होगी कि मैं तुम्हें खुश कर सकूँ.

हम दोनों बस यूं ही एक दूसरे की नजरों को पढ़ते हुए अपनी वासना को तौलते रहे. कुछ देर तक हम दोनों वहीं पर नंगे ही पड़े रहे और हीटर के सामने पड़े हुए एक दूसरे चूमते रहे. उस दिन उसने काले रंग की मैच की साड़ी गहरे गले के ब्लाउज के साथ पहनी थी.