हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी

छवि स्रोत,पेशाब सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ देसी एचडी: हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी, ये कहते कहते उसने अपने कपड़े उतारने शुरू कर दिए और पल भर में शालिनी मेरे सामने बिल्कुल नंगी हो गई.

ચાલુ સેક્સ વીડિયો

पैन्टी ब्रा पहनाने के बाद वो बोला- भाभी, आप इस सेक्सी पैन्टी ब्रा में और सेक्सी लग रही हो. एक्स एक्स एक्स एक्स वीडियो हिंदी देहातीजैसे जैसे मेरे धक्कों की स्पीड बढ़ रही थी, वैसे वैसे ऐश्वर्या की कामुक आवाजें बढ़ रही थीं.

उससे मैंने अपनी गांड की प्यास शांत कराई?दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं। बहुत दिनों से मैंअन्तर्वासना पर सेक्सकहानियों को पढ़ रहा हूं. बीएफ एचडी में दिखाएंनताशा की आंखें हैरत से फ़ैल गईं, जिसे देख कर मेरे मन में एक गर्व का अनुभव हुआ.

अचानक एक ने दूसरे से कहा- बेचारी अलग से किनारे में खड़ी है … और हम सब जूस पी रहे हैं.हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी: तो दोस्तो, उस शादी में लंड का मजा लेने के बाद जब मैं घर आई तो मैंने देखा कि उस अपरिचित आदमी के लंड से गांड मरवाने से मेरी गांड लाल हो चुकी थी.

तो दोस्तो, यह थी हम दोनों की अन्तर्वासना भाई बहन की सेक्स कहानी … आप सबको कैसी लगी, कमेंट करके ज़रूर बताएं और मेरा उत्साह बढ़ाएं … जिससे मैं अपना नेक्स्ट पार्ट आपके सामने जल्दी लेकर आऊं.उसने दिन उसने सिर्फ ब्रा के ऊपर एक ढीली सी स्लीवलैस टी-शर्ट पहनी थी और नीचे लोअर डाला हुआ था.

भोजपुरी सेक्श वीडियो - हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी

धीरे-धीरे उसने अपना पूरा लंड मेरे अंदर उतार दिया और मैं उस पर अच्छी तरह टिक कर बैठ गई। कसम से दोस्तो, चूत में उसका लंड फंसवाकर मदहोशी सी छा रही थी.मेरे पेशाब करके आने के 5 मिनट बाद दिव्या भी बाथरूम गई और फिर थोड़ी देर बाद वापस आ कर सो गई.

मेरी बेटी आगे को आई तो उसने मेरी बेटी की गांड पर हाथ घुमाते हुए बोला- सब चाहिए … ठंडा गर्म नमकीन सब. हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी सोनम बोली- तो दुकेले हो जाओ न!मैंने कहा- इसी लिए तो तुमसे पूछ रहा था कि हॉस्टल में आने का तरीका बता दो.

मैं उसके नीचे दबी हुई अपनी चूत की धज्जियां उड़वाती रही, चीखती रही और उसके लंड का मजा लेती रही.

हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी?

मैंने लण्ड को उनकी चूत में डाल दिया और धीरे धीरे उनकी चूत की गहराई नापने लगा. असल में उसका भाई बहुत तेज जा रहा था … और वो उसकी अपेक्षा बहुत धीरे था. इसके अलावा आप हॉट ऑफिस सेक्स कहानी पर कमेंट्स में भी अपने सुझाव और विचार रख सकते हैं.

कुछ देर बाद एक बाराती चारों तरफ देखने लगा कि कहीं कोई आ तो नहीं रहा है. मैं काम से घर लौटता था और खाना खाने के बाद जब बेड पर पहुंचता तो मेरी बीवी राहुल को फोन करने के लिए बोलती. मैंने मामी जी को बुरी तरह से भींच लिया।उसके रसीले होंठों को काटना शुरू कर दिया.

लेकिन मैंने मेरा हाथ नहीं हटाया।मामी बोली- रोहित! मैंने तुझसे जो कहा था वो याद है या नहीं?मैंने कहा- मामी जी, मुझे आपकी चूत चोदनी है, मुझे तो बस यही याद है और कुछ याद नहीं आ रहा।मामी- नहीं, मैं तुझे ऐसा नहीं करने दूंगी. मनीष सुरेश से कह रहा था कि रूपाली बड़ी मस्त माल है। वो मेरे फिगर का दीवाना है पिछले कई दिन से मेरा नाम लेकर वो रोज रात को सरका मारता है।खुद सुरेश भी मेरा नाम लेकर सरका मारता है।तभी सुरेश मनीष से बोला- चल मान ले कि रूपाली तेरे से चुदने के लिये तैयार हो जाती है तो तू उसके साथ क्या करेगा?अबे करूँगा क्या … रूपाली ऐसी कली के महक को अपने जिस्म से समा लूंगा. वो मां के गाल को सहलाने लगे और बारी बारी से उनके कपड़े निकालकर मां को पूरी नंगी कर दिया.

तभी भाभी ने अपने जिस्म को कड़क किया और अपनी आंखें बंद करते हुए मुझसे चिपक गईं. ऐसे ही कुछ हफ्ते बीत गए और एक दिन मैंने हिम्मत करके उससे बात करने की सोची.

फिर भी मुझे रहना, तो इसी फैमिली में था और माया दीदी (जेठानी) और महेश जी (जेठ जी) के साथ सुरेश जी (मेरे पति) का नेचर इतना अच्छा था कि मुझे पता ही नहीं चला कि कब मैं उन दोनों की वाइफ बन गयी.

[emailprotected]इंडियन गांड Xxx चुदाई कहानी का अगला भाग:कॉलेज गर्ल की गांड चुदाई.

मगर मैं अल्पना की चूचियों को चूसते हुए उसका दर्द कम करने की कोशिश में लगी हुई थी. हम दोनों ने तो इतना मस्त लेस्बियन किया था कि कुछ नई पोजीशन्स का भी ईजाद कर दिया था. फोन बंद करके प्रीति मुझे किस करने लगी और मेरे हाथ पकड़ कर अपने चुचों पर रख दिए.

मैंने निगार आंटी को वॉट्सएप किया और हैलो लिख कर … उनसे उनके बारे में पूछा. वैसे भी होली की धूम में कहां ज्यादा घूम पाओगे!अब तक वे गाना बजाने करने वाली दोनों औरतें बाहर चली गई थीं. क्योंकि अंकल झड़ने के बाद एक तरफ लुढ़क गए थे और आंटी अपनी चुत में उंगली करते हुए खुद को शांत करने में लगी थीं.

मैंने मीना को घोड़ी बनाया और उसकी गांड में तेल गला कर गांड को चिकना कर दिया.

मैंने चाय नाश्ते की ट्रे टेबल पर रखी और माया दीदी की गांड में चपत लगाते हुए बोली- क्या दीदी आप भी ना! पहले मेरे भाई को थोड़ा आराम तो कर लेने दो. मैंने उसका हाथ खींच कर पास में किया तो हम दोनों साथ में ब्लू-फिल्म देखने लगे. उसको अपने ऊपर खींच कर मैंने उसका लौड़़ा अपनी चूत में घुसवा लिया और उसका पूरा लन्ड मेरी चूत में समा गया.

6 फीट है। मेरा शरीर भी अच्छा दिखता है क्योंकि मैं रोज हल्की कसरत करता हूँ. मैं- चल झूठे … मेरे लिए या फिर अल्पना के लिए, जिसने तुम्हारे लंड की और चुदाई की तारीफ की है?सनी- सच्ची … यार तुम्हारे लिए ही लंड खड़ा हुआ है … तुम्हारे साथ चुदाई का कुछ अलग ही मज़ा है जान … वैसे भी जिसकी चूत का मज़ा मिलना ही नहीं है मेरी जान, उसके लिए लंड क्यों खड़ा होगा … तुम ही बताओ!मैं- अच्छा अगर मिल गई तो? और अभी खड़ा मत करो … वरना हिलाना पड़ेगा. जैसे ही वो उठी मैंने उसको पीछे पकड़ कर अपनी बांहों में जकड़ लिया और उसकी मोटी गांड में अपना लंड सटा दिया और उसकी गर्दन पर चूमने लगा.

शाम को सात बजे सनी का फोन आया और उसने मुझसे सामान बताया कि उसने वोडका ले ली थी.

मुझे उसकी चूत चूसने में बहुत खट्टा खट्टा महसूस हो रहा था, पर मजा भी बहुत आ रहा था. उसने कहा- मालिक मैं जाऊं?राज बोला- नहीं, तुम रूको और काम सीखो, भविष्य में तुम्हें ही सम्भालना है.

हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी प्रिया के घर में रहते हुए तो कुछ हो ही नहीं पाएगा और प्रिया भी अपने घर में ऐसा रिस्क नहीं लेना चाहेगी. उसे इस बात की परवाह ही नहीं होती थी कि मेरे भी कुछ अरमान हैं और मेरा जिस्म भी संतुष्ट होना चाहता है.

हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी मैंने महसूस किया कि वो स्वेटर चैक करते हुए मेरी छाती को महसूस कर रही थी. मैंने उसे एडमिन बना लिया था ताकि वो सभी लड़कियों को भी ग्रुप में जोड़ ले.

दरअसल पुणे में चाचा और चाची देखभाल के मामले में मां-पापा की कमी महसूस ही नहीं होने देते थे.

𝐱𝐱𝐱 𝐡𝐝

भाभी ने मेरे सोये हुए लंड को एक बार फिर से मुंह में लिया और चूसने लगी. मामी जी कहने लगी- रोहित तुझे जो करना है अब जल्दी कर ले, नहीं तो कोई आ जाएगा।मैंने कहा- मामी जी आप चिंता मत करो, इतनी दूर खेत के बीचोंबीच कोई नहीं आ सकता है।वो बोली- तो सारा दिन यहीं लेटा रहेगा क्या? खेत में जाकर काम भी तो करना है. बेडरूम में जाते हम एक दूसरे लिपट गए और मैंने अपने होंठ भाबी के होंठों पर लगा दिए और किस करने लगा.

इस बार थोड़े ही देर मैंने उसकी चुत को चोदा होगा कि वह अपने बदन को ऐंठते हुए झड़ गई और शिथिल हो गई. ताकि मैं अजय के साथ मेरी अगली चुदाई की कहानी जल्द ही लिख कर आपके सामने पेश कर सकूँ।मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]. उसका फिगर 34-30-36 का था और रंग एकदम ऐसा सफेद था जैसे वो दूध से धुली हुई हो.

रविन्द्रनाथ ने अपनी जेब से एक बीस का नोट निकाला और नानी को देकर कर जा जल्दी से दुकान से ले आ.

मेरा लंड उसकी चूत में जितना गया था मैंने उतना ही डाले रखा और मैं वहीं पर रुक गया. आंटी जी ने उनके लिए खाना बनाया और मैंने उन दोनों से कुछ देर बात की. वो लंड के सुपारे से बहक गई और अपनी गांड ऊपर उठाते हुए अपनी चुत की फांकों में मेरे लंड के सुपारे को रगड़वाने लगी.

अगले दिन मैंने योगेश जी से कह दिया कि मैं होटल पूनम में नहीं जाऊंगी दोबारा. मुझे लग रहा था कि मैंने ही नाज़नीन को खुश किया, लेकिन आज तो नाजनीन ने मेरे लंड का रस पीकर मुझे भी खुश कर दिया था. कुछ देर बाद अल्पना का फोन आया और उसने बताया कि सनी कहीं रास्ते में है.

मैंने मीना को घोड़ी बनाया और उसकी गांड में तेल गला कर गांड को चिकना कर दिया. मां ने झट से मेरा हाथ निकाला और अपनी चूची को बाहर करके बिना हुक खोले ही मेरे मुंह पर रख दिया.

मैंने रूम को बाहर से लॉक कर दिया जैसा कि निखिल ने मुझसे करने के लिए कहा था. फिर कुछ पल बाद वो उठने को हुए, तो मैं भी उठ गई और मैंने अपनी सलवार पहन ली. पति का लंड इतना मोटा नहीं था और बहुत दिनों से मेरी चुदाई भी नहीं हो पा रही थी.

क्या तू मेरी मदद करेगी?मेरी बेटी बोली- क्या बात है मां? इतना परेशान क्यूं लग रही हो?मैंने उसको नवाब और मेरी चुदाई का वीडियो दिखाया.

तो मैंने हंस कर बोला- आंटी एक बार और चुदवा लो … सब दर्द गायब हो जाएगा. माँ बेटे की सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने माता पिता से मिलने के लिए गांव गया. उसकी तरफ से विरोध न होने पर मेरी हिम्मत थोड़ी और बढ़ गई और न जाने कब मेरे होंठ उसके होंठों पर पहुंच गए, इसका पता ही नहीं चला.

[emailprotected]हार्डकोर सेक्स स्टोरी इन हिंदी का अगला भाग:होली पर मेरी ससुराल में घमासान सेक्स- 4. मैंने ओके कहा और जल्दी से उनके लिए खाना बना कर टिफिन लगाया और विशाल को फोन करके सब बताया.

हम दोनों कहीं न कहीं किसी न किसी तरह से चुदाई करने का मौका ढूंढ ही लेते थे. मगर उनका फिगर देख कर तो ऐसा लगता था जैसे कि वो केवल 25 साल की ही है. इसी बीच मैंने अपनी पैंट की जेब से फोन निकाला और अपने फोन का कैमरा ऑन किया और वीडियो रिकॉर्ड करने लगा.

सविता भाभी के सेक्स वीडियो

मामी जी की गरमा गरम चूत को चाटने में मुझे बहुत मजा आ रहा था। अब मामी जी ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां भरने लगी।मामी की चूत जैसे एक गरम भट्टी की तरह तप रही थी। चूत को अच्छी तरह से चाटने के बाद अब मैं चूत में उंगली करने लगा.

फिर मैं उसके सर को धीरे धीरे से सहलाने लगा और दारू की चुस्की लेने लगा. फच-फच की आवाज में कोई कमी न थी।तभी मुझे लगा कि मेरी चूत के अन्दर की नसें खुल चुकी हैं. तभी मेरी ननद रिया अपने पति के साथ किचन में आई, तो मैं मज़ाक में बोली- क्यों ननदोई जी, आज मेरी ननद का पीछे से रिकॉर्ड बज़ा रहे थे.

इस बीच सनी के घर से फ़ोन आया औऱ उसे जल्दी किसी काम से जाना था, तो सनी निकल गया. मैं बेहोश हो गई और जब होश आया तो देखा कि दादा जी अपना लंड धीरे धीरे अन्दर बाहर कर रहे थे. हिंदुस्तानी एक्स एक्स वीडियोपांच मिनट बाद मैंने भाभी को कुतिया बनाया, फिर पीछे से लंड लगा कर भाभी को चोदने लगा- आह मेरी कुतिया … रांड साली … ये ले लंड खा.

जब मेरा दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैंने अपनी गांड उठाकर उसे सिग्नल दे दिया. पांच मिनट बाद वो बोली- प्लीज़ मैं अब और नहीं रुक पाऊंगी … मेरे साथ ही मेरे अन्दर आप भी लंड झाड़ लो … मैं आपका वीर्य अपनी चूत में लेना चाहती हूँ.

बोले- कुछ हुआ क्या?मैं बोली- नहीं, आगे बढ़ो।उसने दूसरा धक्का दिया और बोले- कुछ हुआ?चाचू का लंड अंदर नहीं जा रहा था. सफेद साड़ी वाली औरत मुस्कुरा कर बोली- आज होली है सुंदर … साल में एक बार ही ये त्यौहार आता है. उसके इन सब कामों में मुझे भी बहुत मज़ा आता था, इसीलिए मैं उसे मना भी नहीं करती थी.

वो हंस कर मेरा लंड चाटने लगीं और उन्होंने अमित से कहा- बेटा तू भी अपना माल अपनी मॉम के अन्दर ही डालना. वो बोलीं- मुझे अब जरा भी शरम नहीं है जान … तेरे लिए मैं कितना भी दर्द सह सकती हूं. एक दिन मैंने अपनी बीवी को अपने बड़े भाई से इशारे करते हुए देखा और फिर मैं उनकी जासूसी करने लगा.

उसने लंड को मुंह से बाहर निकाला और बोली- चोद दे हरामी, मत तड़पा मुझे.

अपनी चूत को मेरे लण्ड से रगड़ने के मकसद से शैली आगे पीछे होकर सेटिंग करने लगी तो मैंने अपने लण्ड का सुपारा उसकी चूत के मुखद्वार पर रखकर शैली को अपनी ओर खींचा तो मेरे लण्ड के सुपारे ने शैली की चूत का मुखद्वार लॉक कर दिया. बस रवि के मुँह से अहह अहह की आवाजें आने लगीं और दीपक की गों गों गों, ओंग ओंग की घुटी घुटी सी आवाजें आईं.

मेरे मुंह से सस्स … आह्ह … ओहह … स्ससस … हये … करके जोर जोर से सिसकारें निकलने लगीं. दिया को भी इस बारे में नहीं पता था कि उसके दादाजी और उसका भाई रात में मेरे साथ चुदाई का खेल खेलते हैं. अब मेरी बीवी ने धीरे धीरे अपनी आंखों को खोला और मुझे देख कर मुस्कुराई.

ससुर के लंड के गहरे गुलाबी सुपारे से कामरस की एक बूंद अब बाहर निकल कर उनके मूतने वाले छेद पर आकर बैठ गयी थी. मैंने उससे सीधे सीधे पूछा- क्या तुमने कभी उसके साथ सेक्स किया था?उसने कहा- नहीं … हमारे बीच सेक्स नहीं हो पाया था. जिया मेम की बात सुनकर मेरे अंदर की आग बढ़ रही थी और अब मैं भी काफी नॉर्मल फील कर रहा था.

हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी समीर कभी दीपक जी की गांड मार रहा था … तो कभी स्नेहा की गांड में लंड पेल रहा था. उसकी पीले रंग की नयी कमीज में से उसकी जालीदार लाल ब्रा भी दिख रही थी.

एक्स एक्स एक्स बिहारी सेक्सी वीडियो

अपनेटीचर से सेक्सके उतावलेपन में मैंने जल्दी से बाथ लिया और सारा सामान एक एक करके पहन लिया. बाहर आने के बाद मैंने देखा कि जेठानी ने जेठजी को चाय दे दी है और वह चाय पी रहे थे। आज वो व्यायाम भी नहीं कर रहे थे। मैंने उनकी तरफ देखा लेकिन उन्होंने मेरी तरफ नहीं देखा।मैं समझ गई कि कल रात मेरे न आने की वजह से वह मुझसे नाराज हैं। मुझे थोड़ा दुख हुआ कि मैंने जेठजी को नाराज कर दिया। अब मैं चाहती थी कि जल्दी से जल्दी मैं उनको अपनी जवानी का भरपूर मजा दूं. भाभी भी कुतिया की तरह गांड हिला कर साथ देते हुए बोलीं- मेरे कुत्ते राजा … घुसा दे अपनी कुतिया रानी की चूत में अपना लंड … आंह ऐसे ही चोद … हां ऐसे ही जान.

मैं भी सनी के पीछे से चिपक गई और पीछे से उसकी छाती को अपनी बांहों में कस लिया. मैंने आंख बंद करके उसे हामी भर दी और उजमा उस हब्शी की गोद में बैठ गई. मारवाड़ी सेक्सी चूत वीडियोदोस्तो, मैंने नजमी को कैसे चोदा और अपनी रखैल बनाया, ये अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा.

मेरे रूम की बाल्कनी बिल्कुल रेणुका भाबी के रूम की बाल्कनी के सामने पड़ती थी.

कुछ देर बाद ननद भाभी की चूत में उँगली कर करके चाटने लगी और इधर धीरे धीरे साधना भी आउट हो गई. शाम को सात बजे सनी का फोन आया और उसने मुझसे सामान बताया कि उसने वोडका ले ली थी.

फिर फ़रज़ाना अपने होंठों को मेरे कान के पास ले गयी और धीमे से बोली- आई लव यू रानी. थोड़ी देर बाद मैंने पूछा कि‌ क्या कल शुभम यहां पढ़ने के लिए आया था?वो बोली- मुझे क्या पता … आया होगा?मैंने कहा- आया होगा नहीं … वो आया था. बदले में उसने भी मुझे हल्का सा चूम लिया और मुझे अपने बैग से एक डार्क चॉकलेट निकाल कर गिफ्ट की.

उसके बाद भी मेरे साथ इस दौरान काफी कुछ हुआ लेकिन वो अभी नहीं बता रही हूं.

शिकायत भी किससे करूं साहब, अगर वो रूठ गयी, तो मेरी सांसें भी बन्द हो जाएंगी. एक मिनट से भी कम समय में उसके मुँह से आंह उन्ह … की आवाज आने लगी और वो हल्के हल्के से बोलने लगी- आंह मेरी जान आदी … चाट लो मेरे राजा … अच्छे से चाट लो … आह शांत कर दे इस बुर को … साली बहुत तड़पाती है … आज मेरी इस कुंवारी बुर को अपने लंड का मज़ा दे दो जानू. शायद एक ने मेरे दिल की आवाज सुन ली और अंकल से कहा- सुमीना, तो केक की तरह लग रही है.

ब्लू सेक्सी फिल्म हिंदी एचडीउसकी नाभि को चाटने के बाद एक बार फिर से मैंने उसके बूब्स पर हमला बोल दिया. मैंने जल्दी से घर के खिड़की दरवाजे बंद किये और घर को लॉक करके अंकल के यहां चली गयी.

कामसूत्र कहानियां

फिर कुछ ही मिनट में ऐश्वर्या को नग्न करके ससुर ने बेड पर लेटा दिया. अब सर ने ब्लाउज़ को उतारा और मेरे नंगे हो चुके हाथों, क्लिवेज और आर्मपिट को भी चूम चूम कर भिगोने लगे. उनकी कमर ने लंड से मुँह मोड़ना शुरू कर दिया उनके हाथ मेरी कमर को ऊपर को उठाने में लग गए.

मेरे लण्ड से पिचकारी छूटने को हुई तो मैंने मौसी से पूछा- माल कहां गिराना है?वो बोली- अन्दर ही गिरा मेरे लाल. उसकी पीले रंग की नयी कमीज में से उसकी जालीदार लाल ब्रा भी दिख रही थी. मैंने हंस कर उसकी टांगें फैला दीं और उसकी मक्खन सी मुलायम बुर पर अपनी जीभ लगा दी.

मैंने गुस्से को दबा कर सुभाष से पूछा- पिछले महीने मुझे लगा, तुम और तुम्हारे दो दोस्त ही पांच दिन तक अमिता के साथ थे. वो बोला- तो फिर अब पीने में क्या दिक्कत है तुझे?मैंने कहा- अच्छा ठीक है. उसकी कसी हुई सी चूची बाहर निकल आई और मैंने उसकी चूची को मुंह में लिया और चूसना शुरू कर दिया.

तभी रिया दी चिल्लाईं- देखो तो बहनचोद को … तुम दोनों के लंड का टेस्ट इतना अच्छा लगा कि लंड ने पानी छोड़ दिया. उसके बाद मैं उसकी गर्दन पर किस करने लगा और वह भी पागलों की तरह मुझे किस करने लगी.

चूंकि मुझे भी जींस उतार कर लैगी पहननी थी, तो मैंने कहा- ठीक है, पहले लैगी दो.

अंकल मेरी चूचियों को चूमते जा रहे थे और मैं बिस्तर पर लेटती ही जा रही थी।कुछ पल बाद मैं अपने आप ही बिस्तर पर लेट गई और अंकल मेरे ऊपर लेट गए। उन्होंने मेरी चूचियों पर बेतहाशा चूमना शुरू कर दिया। वो बहुत जोर जोर से मेरी चूचियों को मसल रहे थे. एक्स एक्स एक्स हिंदी वीडियो हिंदीवो चड्डी में थे और उनका लंड चड्डी से बाहर आने के लिए बुरी तरह छटपटाता हुआ मालूम पड़ रहा था. सेक्सी वीडियो खुला दिखाएंमैंने इस बात पर ज्यादा गौर नहीं किया क्योंकि मुझे जरा कम भरोसा हुआ. शायद एक ने मेरे दिल की आवाज सुन ली और अंकल से कहा- सुमीना, तो केक की तरह लग रही है.

मेरा मुँह दर्द से खुला … और मेरी जेठानी ने पूरा ग्लास मेरे मुँह में उड़ेल दिया.

उस दिन के बाद से जब भी मैं निशा के पास कुछ काम से जाता तो उसकी चूचियों को दबा कर आ जाता था. उन्होंने निकाह के दो साल तक बच्चा पाने के लिए मेरे साथ खूब सेक्स किया, पर वो सफल नहीं हुए, तो उन्होंने मुझको चोदना कम कर दिया. चुदासी तो वो भी थीं क्योंकि उन्होंने खुद ही मेरे सामने अपनी चुत में उंगली की थी.

उसने मुझे अपने सीने से लगा लिया और मेरे बालों को प्यार से सहलाने लगी. उसने मेरा सर अपनी चूत पर दबाया और अपनी उंगली मेरे बालों में घुमाने लगी. एक तवायफ भी अपने प्यार को बीवी मानता है, पर उसे हक जताने की अजादी नहीं होती, ना ही अपने यार की बेवफाई पर नाराज होने का हक.

हिंदी सेक्सी चुदाई वाली वीडियो

मेरा लंड तना हुआ था और बार बार वही सीन याद आ रहा था कि कैसे मेरा लंड उस जवान लड़की के हाथ में था. फिर मैंने उसकी कमर पर हाथ फेरा और उसकी पैंटी की इलास्टिक में उंगलियों को फंसाते हुए उसकी पैंटी भी उतार दी. उसका शायरी करके मेरी तारीफ करना … दिल से कहूँ तो अजय को देखते ही मुझे ‘लव ऐट फर्स्ट साईट’ हो गया था.

अब मां सोचने लगीं कि इन दोनों को ये सब कैसे मालूम था कि मां घर पर नहीं होंगी.

उसकी उत्सुकता देख कर रोहन बोला- सारा इंतजाम कर दिया है मैंने, लड़की अंदर बेडरूम में ही है.

अब भैया का क्या होगा?मैं बोली- भैया का तो कुछ नहीं होगा, लेकिन मैं देखती हूँ कि आप पर क्या असर होता है. इस पर मैंने दीदी से कहा- देखो दीदी, ये भी कितना बेताब है तुम्हारे मुंह में जाने के लिए।तो दीदी ने उसे पकड़ कर कहा- अब तो ये और भी बड़ा हो गया है. बुर चुदाईमैं कूद पड़ा और बोला- खाने का इरादा है क्या?वो बोली- अगर चूत में नहीं दिया तो खा ही जाऊंगी.

क्योंकि मेरी गांड तो चुदनी ही थी, लेकिन पूजा आंटी के होंठों और जुबान कमाल कर रही थी. वो बाथरूम में गयी और पैड लगा कर कमरे में आ गयी और पेनकिलर खाने लगी. मैं सोच में पड़ गया था कि क्या करूं, ये तो आज मुझे पेशाब पिला कर ही रहेगा और यदि मैंने नहीं पीया तो फिर ये दोबारा नहीं आयेगा.

अभी मैं चीख ही पाती कि उसने अपने होंठों का ढक्कन मेरे होंठों पर लगा दिया था और रुक गया. लंड की प्यासी मेरी मौसी की चूत की लेस्बियन सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी मौसी की कामवासना जानकर मौसी को समलिंगी लेस्बियन सेक्स के लिए उकसाया और मजा लिया.

मुझे नहीं पता कि वो ध्यान भी दे रहे थे या नहीं! लेकिन मैं बार बार उनके सामने जाती रहती थी.

उसने मुझे और भी बेहतर तरीके से चोदा।इसके बाद मैं लंड चूसने में धीरे धीरे माहिर होती चली गई। कुछ दिनों बाद तो मैं उसका लंड बिना कंडोम के ही अच्छे से चूसने लगी।मैं अपनी ब्रा के कप में रबर की बॉल्स डाल कर रखती थी बूब्स बनाने के लिए. मुकेश मेरे दोनों स्तनों से खेलने लगा और निप्पलों को एक एक करके चूसने लगा. दोस्तो, जैसा कि मैंने बताया कि वो थोड़ा मोटी थी, तो उसके चूतड़ बहुत ही मुलायम थे.

सेक्सी सी बीएफ मैं किस करते हुए उसके बड़े बड़े चूचों को दबाने लगा, जिससे उसकी सिसकारी निकलने लगी. क्योंकि ऐश्वर्या नहीं चाहती थीं कि वो अपने पति के बाप से प्रेग्नेंट हो जाए और अपनी चूत से उनकी एक औलाद को पैदा कर दें.

उसने कहा- हवेली में और कौन कौन है अभी!दरबान ने तीन चार लोगों का नाम गिना दिए. जुबैदा उस समय कुतिया बन कर लंड से चुत चुदवा रही थी और जोर जोर से गरम आवाजें लेते हुए मस्ती से चिल्ला रही थी. मैंने उसकी पीठ को सहलाते हुए अपने लंड पर उसके गरम पानी को महसूस करने लगा.

ब्लू पिक्चर सेक्सी वाली

दोस्तो, चुदाई में इतना आनंद आ रहा था कि उसको यहां बताना मुश्किल है. उसने कहा- हो सकता है कि मेरे और मेरे दोनों बिजनेस पार्टनर का तेरे शहर का दौरा हो. मैंने आंखों बंद किए हुए ही बोला- माया दीदी प्लीज़ …तभी मुझे अपनी गांड में उंगली महसूस हुई, मेरी आंखें एकदम से खुल गईं.

इसके बाद जिगर अपने लंड का पानी मेरी बेटी मुँह में छोड़ चुका था और मेरी बेटी भी झड़ गई थी. यहां पर रोचक बात ये है कि हम भाई बहन की चुदाई के इस रिश्ते के बारे में मेरी पत्नी को भी पता है.

अब मुझे भी ये सब देखने में मज़ा आने लगा था क्योंकि ये सब मेरे लिए एकदम नया अनुभव हो रहा था.

मैं मां को समझाने की कोशिश कर रहा था।मैंने मां से कहा- आप इतना मत सोचिए. तभी चपरासी जूस लेकर अन्दर आ गया और पांच गिलासों में जूस डाल कर चला गया. मैं- भाभी, आज कितने दिन बाद चुद रही हो!भाभी- आह अभी तो तू मेरी चुत चोद भोसड़ी के … इतिहास न पूछ.

तो सचमुच लसलसा कर गीली हुयी पड़ी थी।मेरा अब न तो पढ़ने में मन लग रहा था और न ही स्कूल में। बस मुझे घर जाना था।जैसे ही स्कूल छूटा, मैं घर आ गयी. आते ही मैंने उसको बांहों कस लिया और दोनों एक दूसरे को बेतहाशा चूमने लगे. मैंने मामी जी की कोई बात नहीं सुनी। मैं लगातार मामी जी की चूत में लंड को अंदर बाहर करने लगा। मामी जी की टांगें चौड़ी हो चुकी थी।अब मामी जी की टांगें हवा में लहरा रही थी। मैं लगातार मामी जी की चूत को चोद रहा था। मेरा लन्ड अब पूरी तरह से मामी जी की मखमली चूत को अंदर तक कुरेद रहा था.

रत्ना की मादक सीत्कारें निकलने लगी थीं और वो अपने दामाद को रोक भी नहीं रही थी.

हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी: आपको ही हम दोनों के साथ इसी बेड पर सुहाग दिन मनाना है, ओके?मैंने भी ओके बोल दिया. मैंने धीरे से मुकेश के सर को अपनी चूचियों पर दबाते हुए सहलाया, तो वो समझ गया कि मैं चुदाई का मजा लेने लगी हूँ.

और फिर नीचे से मेरी साड़ी और पेटीकोट को मेरी कमर पर लाकर मेरी पैन्टी के ऊपर से ही मेरी चूत पर थोड़ी देर तक हाथ फिराते रहे।मैं उनके स्पर्श को अपने ऊपर इस तरह पाकर बहुत ही रोमांचित होने लगी. लेकिन मैंने थोड़ी सब्र किया जिससे उनमें से कोई पहल करे!और ऐसा ही हुआ।कुछ ही देर में पीछे से मास्टर ने मुझे छोड़ कर अपना लंड सहलाने लगा। प्रिंसीपल भी मेरे जिस्म के साथ बहुत खेल चुका था. उसका फिगर 34-30-36 का था और रंग एकदम ऐसा सफेद था जैसे वो दूध से धुली हुई हो.

उस रात उस अफ्रीकन ने मेरी बीवी को कई बार चोदा और हम सुबह उठकर आगरा में घूमने निकल गए.

फिर उसके बूब्स को दांतों से हल्के हल्के काटने लगा और वो गर्म होने लगी. अब हम दोनों बिस्तर पर नंगे ही लेट गए और एक दूसरे के नंगे जिस्म को सहलाने लगे. उधर सनी को भी मैंने अल्पना की छोटी और कसी हुई चुत के बारे में बताया, तो वो भी अल्पना की चुत चुदाई के लिए गर्म हो गया.