हिंदी चुदाई बीएफ एचडी

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर देखने वाली वीडियो में

तस्वीर का शीर्षक ,

मराठी सेक्सी गीत: हिंदी चुदाई बीएफ एचडी, कुछ देर किस करने के बाद मैंने मॉम को बेड पर लिटाया और मैंने नीचे खड़े होकर अपना मोटा लंड मॉम की टाइट चूत में लगा दिया.

प्यारी चूत

मैंने उस दिन एक ट्रांसपेरेंट साड़ी पहनी और ब्लाउज एकदम टाइट वाला पहना था. आलिया भट्ट xxमेरा कद 6 फीट, उम्र 19 साल, रंग गोरा है और मैं सात इंच के लंड का मालिक हूं.

चूंकि मैंने अब तक किसी और मर्द की तरफ नहीं देखा था तो मुझे अपने पति के लंड से कोई शिकायत नहीं थी. काजल राघवानी का नंगी फोटोरेशमा- देखिए वीरू जी, मैंने तो आपको अपना समझ कर आपको अपनी इज्जत सौंप दी, पर आप हैं कि मुझे कुछ बता ही नहीं रहे हैं.

मैंने भाभी से पूछा- ये कौन हैं?तो भाभी ने बताया कि वो उनकी बड़ी बहन हैं और हम दोनों एक साथ मजा लेना चाहती हैं.हिंदी चुदाई बीएफ एचडी: फिर हम दोनों ने पहले कुछ पेट पूजा की और अब उसे चोदने कि बारी आ गई थी.

मगर सुमैत्री की चीख निकल गई और वो अपनी पोजीशन से हट कर बेड पर गिर गई.इस पर वो संजीदा हो गई थी और उसने मुझसे कहा था- काश मैं तुम्हारी गर्ल फ्रेंड बन सकती!मैंने कहा- क्यों ऐसे क्यों कह रही हो?तो वो चुप हो गई थी.

सेक्सी वीडियो पूरा ओपन - हिंदी चुदाई बीएफ एचडी

शेखर ने अपने दोस्तों से सुन रखा था कि गांड मारने का तरीक़ा बिल्कुल वैसा ही होना चाहिए जैसा किसी अनचुदी कुँवारी बुर को चोदने का होता है.आराम से ही चोद रहा हूं तुझे, मैं चाहता तो एक बार में ही पेल देता, चुपचाप लेटी रह रंडी.

मैंने तुरंत तेल का डब्बा खोला और भाभी के पूरे बदन पर तेल टपका कर उन्हें चमका दिया. हिंदी चुदाई बीएफ एचडी क्या हम एक घंटे से भी ज्यादा समय तक कामक्रीड़ा कर रहे थे? मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा है हर्षद.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में लिया और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को स्मूच करने लगे.

हिंदी चुदाई बीएफ एचडी?

इरोटिक गर्ल X कहानी एक कमसिन लड़की की सेक्स के प्रति उमड़ते भावों की है. आपको मेरी हिंदी सेक्सी चूत पोर्न कहानी पढ़ कर कितना मजा आया? मुझे कमेंट्स में जरूर बताएं. इस वक्त तक बॉस का लंबा चौड़ा लंड बिल्कुल शांत होकर ढीला पड़ चुका था.

मैंने उससे पूछा- तैयार हो काव्या?वो बोली- मैं नंगी लेटी हूं, अब तुझे किस चीज की इजाजत चाहिए?मैंने बैडरूम के ड्रेसिंग टेबल से एक क्रीम निकाली और उसकी बुर की फांकों को फैलाकर उस पर क्रीम मल दी. शिराज को भी पता चला कि अब उसकी बहन उसके सामने गैरमर्द का लंड चूसने वाली है तो उसने शर्म से आंखें बंद कर लीं. कभी पेट चाट रहा था, कभी भाभी के बड़े मम्मे को मुँह में भर लेता, तो कभी गर्दन को चाटने लगता.

मैंने- तुम ब्रा पैंटी नहीं पहनती क्या?वो बोलीं- पहनती हूँ, पर आज जानबूझ कर नहीं पहनी थी. ’‘साले तू ही नहीं चोदता था भैन के लौड़े … मैं तो कब से चूत खोल कर तैयार बैठी थी. आपको मेरी ये गांड गांड का खेल कहानी कैसी लगी, प्लीज़ कमेंट्स में बताएं.

इसके बाद नेहा ने एक रबर की टेप सी से मेरे छोटे से लौड़े को बिल्कुल शरीर से चिपका दिया. अब मुझे किसी भी हाल में लंड चाहिए था और वो भी मोहन बाबू का लंड चाहिए था.

भाभी की पतली कमर देखकर मेरा लंड उफान मार रहा था और भाभी के बड़े बड़े गोल स्तनों को देखते ही लंड में भाभी को चोदने की बेचैनी हो रही थी.

उन्होंने झट से अपना मुँह खोला और मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं.

कुछ ही देर में किरण की लार ने पाटिल जी का लौड़ा पूरी तरह से गीला कर दिया. फिर मैं पड़ोस में माही और निकिता के घर गया तो वहां पर पता चला कि वो सब खेलने के लिए कल्लू के घर गई हैं. मैंने देखा चाची जी ने काफी उदास मन से अपनी चूत में उंगली की … और चूत की शांत करके वो भी सो गईं.

क्योंकि उसका पति शराबी था, तो घर के खर्च के लिए सोनम चुदाई का धंधा भी करती थी. मुझे मौसी का दूध पीने में बड़ा मजा आ रहा था और इसी वजह से मैं बेकाबू होता जा रहा था. दोस्तो, आपको यह कॉलेज सेक्सी गर्ल देसी कहानी कैसी लगी मुझे ज़रूर बतायें.

फिर मैं उसकी नाइटी को ऊपर उठाते हुए उसके पेट, नाभि चाटते हुए उसके दूधों की तरफ बढ़ने लगा.

मैं फातिमा के प्यार में इस कदर डूबा था कि मैंने कहा- नहीं, सॉरी मैं तेरी बहन से प्यार करता हूँ और उसके अलावा किसी और के बारे सोच भी नहीं सकता. मेघना को गांड मरवाने में तकलीफ हो रही थी और वो बिस्तर पर मचलती जा रही थी. पाटिल जी- आज तो आपने हमें अपनाकर हमारा जीवन खुशियों से भर दिया रेशमा जी … और मुझे यकीन है कि आपको इस फैसले से कभी पछताना नहीं पड़ेगा.

आंटी ने बताया कि उन्होंने ललिता जी को मेरे रूम में आता देख लिया था और उनको पता चल गया था कि मैं ललिता जी को चोदता हूं. उसने डब्बा खोला तो उसमे मेरी त्वचा के रंग के नकली के बहुत नर्म रबर के दूध यानि उरोज रखे थे. धारा की नज़रों से वो दृश्य बच नहीं सका और उसने शेखर की ओर अपनी हवस भारी आँखों से देख कर मुस्कुराते हुए अपने होंठों पर अपनी जीभ फिरायी … मानो वो उस बूँद को अपनी जीभ से चाट कर खा जाना चाहती हो.

मैंने झेम्पते हुए कहा- अरे भाभी, वो तो ऐसे ही!भाभी ने एकदम से पूछ लिया- गर्लफ्रेंड की याद में देख रहे थे ना?ये सुन कर मैं एकदम से चौंक गया और हकलाते हुए बोला- न.

मैं- तो क्या हुआ, पहले तो अपने हसबैंड से कर चुकी हो ना!वो- हां की हूँ लेकिन उनका इतना बड़ा और मोटा नहीं है. फिर हम दोनों साथ में बैठ गए और एक दूसरे की तरफ देख कर बस तारीफ कर रहे थे.

हिंदी चुदाई बीएफ एचडी मेरे मुँह से सिसकारी निकलने लगी- हहहह ओह्ह … आह … रुक जाओ ओह्ह!पर वो अब कहां मानने वाला था … उसने वहीं अपने सारे कपड़े निकाल दिए और पीछे से मेरा गाउन उठाया और अपना लंड मेरी गांड पर घिसने लगा. अगली सुबह में डरते डरते उठा और देखा कि कहीं मेरी बहन मेरी मम्मी को न बता दे.

हिंदी चुदाई बीएफ एचडी बस फिर क्या था, मुझे भी अपनी हवस मिटानी थी … तो मैंने उससे कुछ नहीं कहा. उसने भी अपनी कमर उठा-उठा कर धारा की चूत की गर्मी निकालनी शुरू कर दी.

मैं धीरे धीरे से धक्के लगाने लगा और वो भी गांड में रगड़ लगने से मजे ले रही थी.

বাংলা এটেল বিএফ

अब तक रूपा और मैं कई बार मिल चुके हैं और अब वो चुदाई के खेल में एक अच्छी खिलाड़ी बन गई हैं. भाभी- कैसे चोदोगे, क्या फोन से ही चोद दोगे?मैं- नहीं यार तुम्हारे ऊपर चढ़कर चोदूंगा. पर अब शायद पाटिल जी अपने आपको रोक नहीं पा रहे थे, उन्होंने वैसे ही नीचे लेटी रेशमा के भोसड़े से किरण का मुँह ऊपर उठाया और एक ही झटके में उन्होंने अपना पूरा लौड़ा रेशमा की चूत में आर-पार कर दिया.

लगभग दस मिनट के बाद भाभी का शरीर ऐंठने लगा और वो भैया के मुँह में झड़ गईं. फिर हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए और भाभी फिर से मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं. वो बोलीं- ये क्या बोल रहा है?मैंने कहा- सच बोल रहा हूं, आपकी चूत का दीवाना हो गया हूं.

लड़कियां मेरी तरफ आकर्षित तो होती हैं लेकिन मुझे किसी से दिल लगाने में दिलचस्पी नहीं है.

फिर मैंने सोचा कि कहीं साली का मूड फिर से न बदल जाए इसलिए पहले Xxx सिस फक़ का मजा ले लिया जाएं फिर सवाल जवाब करूंगा. उस वक्त मैं अपने आपको बेहद कमजोर आदमी समझ रहा था कि अपनी पत्नी को ऐसा सुख नहीं दे सकता. कभी मेरी मॉम मेरे टट्टे चाट लेतीं, तो कभी उनको मुँह में लेकर चुसकने लगतीं.

लड़कियां मेरी तरफ आकर्षित तो होती हैं लेकिन मुझे किसी से दिल लगाने में दिलचस्पी नहीं है. मैं उन्हें अनदेखा करके टीवी देखने लगा लेकिन मैंने तिरछी नजर से ध्यान दिया तो देखा कि मौसी का ध्यान बार बार मेरी पैंट में तम्बू बनाए हुए मेरे लंड पर जा रहा था. मैंने उससे कहा- क्या आगे मजा नहीं है?वो बोली- मजा तो आगे ही आता है मगर बच्चा पैदा होने का खतरा कौन मोल ले.

उसके बड़े बड़े दूध, बाल छोटे और गांड तो पूछो ही मत!पता नहीं कैसे उसकी पैंटी उसकी चूत को संभाल रही होगी. उन्होंने इस पोजीशन में चोदते हुए मेरे गदराए जिस्म को निचोड़ लिया था.

मैंने भी कुछ ऐसी तिरछी नजर करके भाभी को देखा कि उसका खूबसूरत मुखड़ा दिख जाए. कमरे में थप थप की आवाज़ बढ़ने लगी और ललिता ‘फक मी राज आआह …’ करके उछल उछल कर अपनी गांड पटकने लगी. फिर उन्होंने धीरे धीरे मेरे हाथों पैरों और छाती के सारे बाल साफ कर दिए; मेरे शरीर को बिल्कुल चिकना बना दिया.

ट्रिपल सेक्स की कहानी में मैंने दो सगी बहनों को चोदा होटल के कमरे में! उनमें से एक का पति सामने बैठ कर सारा खेल देख रहा था.

मैं एक निप्पल को चूस रहा था और दूसरे को उंगली और अंगूठे की मदद से मसल रहा था. फिर वह अलग हट गया और अब यशवंत भैया मेरे ऊपर चढ़ गए, उन्होंने मुझे चूम चाट कर फिर से गर्म कर दिया. करीब एक घंटे बाद मेरा भाई कोचिंग से वापस आया तो उसके साथ उसका दोस्त भी मेरे घर आ गया था.

मैंने भी बिना देर किए मेरे लौड़े से हलाल होने को आतुर रेशमा के गले का पट्टा फिर से अपने हाथ में लिया और दूसरे हाथ से मेरे लौड़े का सुपारा वैसलीन की डब्बी में घुसा दिया. वो फिर से हंसी और बोली- साले, जरा सी ढील दी और तूने हनी कहना शुरू कर दिया.

तभी उसने मेरी दोनों टांगों को उठा कर अपने कंधों पर रख लिया और अपना मुँह मेरी चूत से चिपका कर चूसने लगा. मैं बोला- हां मामी, ठीक है, वैसे भी भाभी उधर की खुली हवा में ही रुकने का कह रही थीं. आपको मेरी लंड गांड की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल व कमेंट्स करके जरूर बताएं.

लंड और चूत का खेल

मैं भी अपनी चाची की खूबसूरत जवानी को देख कर एकदम से कामातुर हो गया.

उसने देखा कि उसका नामर्द भाई गर्दन झुका कर किसी गुलाम की तरह एक कोने में खड़ा है. जब मैं वहां पहुंचा तो लिफ्ट रुकी हुई थी और वो लिफ्ट में थी, शायद मेरा इंतजार कर रही थी. भाभी कहने लगी- थोड़े दिन तक के लिए तुम ऑफिस से छुट्टी ले लो क्योंकि मुझे रोज़ ऐसी ही चुदाई चाहिए.

उसके दूध बिल्कुल अमरूद जैसे छोटे छोटे होंगे, ये देखकर ही पता चल रहा था. ऐसे ही एक दिन मेरी नजर उसके टी-शर्ट के अन्दर गयी तो उसके निप्पल नजर आ गए. पानी गिरेगा क्यामेरी उंगलियों को और हाथ को भिगोते हुए रेशमा का चूतरस पूरे बिस्तर को गीला करने लगा.

देविका ने मुझे लिटा दिया और मेरे दोनों पैर फैला कर बीच में खड़ी हो गयी. एक दिन उसने ड्रिंक करने की इच्छा जाहिर की तो मैंने उसे घर बुला लिया.

फिर वो सोने की कह कर चैट खत्म करके सोने चली गई … मगर कुछ मिनट बाद ही उससे मेरी चैट फिर से शुरू हो गई. नेहा ने मेरा कच्छा नीचे उतारा और बोली- आज तेरा लौड़ा खड़ा नहीं होना चाहिए … वरना मालिक बुरा मान जाएंगे. मैं आनन्द के सागर में गोते लगाती हुई उनकी पीठ को सहलाने लगी और बालों में हाथ फेरने लगी.

अब मैं उधर से जब भी निकलता और उस वक्त यदि वो मुझे दिख जाती,तो उसकी मोटी मोटी चूचियों को देखकर मेरा तो लौड़ा ही खड़ा हो जाता था. मैंने हंसते हुए कहा- अबे हिजड़े, ये क्या हालत हुई है तेरी मादरचोद? इसीलिए तो गांडू बन गया भोसड़ी के, देख साबिरा ये है औकात तेरे भाईजान की. अब मैंने जल्दी से अपनी चूत की सफाई की और किचन में आकर खाना बनाने लगी क्योंकि मेरे ससुर के खाने का समय हो गया था.

इसके अलावा भी मेरी कई कहानियाँ अन्तर्वासना पे पहले भी प्रकाशित हो चुकी हैं जिन्हें आप पढ़ सकते हैं.

अब आगे वर्जिन देसी चूत सेक्स कहानी:साबिरा के बदन की गर्मी का मज़ा ले ले कर मेरा लौड़ा भी खड़ा हो चुका था और कच्छे से बाहर आते ही हवा में लहराने लगा. डबल सेक्स का मजा लिया मैंने अपनी मौसी के बेटे और सगे भाई से एक साथ चुद कर.

फिर मैं उसकी नाइटी को ऊपर उठाते हुए उसके पेट, नाभि चाटते हुए उसके दूधों की तरफ बढ़ने लगा. ओह्ह … उम्म्म!” अचानक से अपनी गांड के छेद पर शेखर की ज़ुबान की नोक को महसूस करते ही धारा के मुँह से सिसकारी निकली और वो झड़ते हुए ही अपनी गांड के छेद को सिकोड़ने लगी. दोस्तो, प्लीज मुझे मेल करके बताना कि आपको यह भाभी की फ्री पोर्न सेक्स कहानी कैसी लगी?मेरी पिछली कहानीदिल्ली की हसीना की मालिश और चूत चुदा़ईआपने पढ़ी होगी.

मैंने भी लौड़े को सुपारे तक बाहर निकाला और ऐसे ही अपनी कमर ऊपर नीचे करके लंड के सुपारे को अन्दर रगड़ने लगा. मैंने जेब से एक हाफ निकाला और कहा- वादा भूल गई क्या?वो हंस दी और गिलास नमकीन ले आई. इस बार रेशमा के चेहरे पर सिर्फ दर्द की हल्की सी झलक दिखाई दी, पर उसकी चीख नहीं निकली.

हिंदी चुदाई बीएफ एचडी शर्ट काफी खुल गई थी जिससे मेरे काफी गहरी क्लीवेज साफ़ दिख रही थी और ब्रा न पहने होने की वजह से मेरे निप्पल्स एकदम खड़े और साफ दिख रहे थे. मैं- अरे … आपकी तो शादी हो चुकी है न!कोमल- हुई थी लेकिन अभी मैं अकेली रहती हूँ.

sunny लियोनी sex

इससे पहले मैंने कैमरे को अपने फोन से कनेक्ट कर लिया ताकि वहां जाने के बाद भी मैं अपने घर के बारे में जान सकूं. अब मैंने भाभी की बहन गांड से अपने लंड को बाहर निकाला और उनकी बहन की गांड में डाल दिया. अगर चुदायी के पहले इतना मादक खेल ना खेला गया होता तो शायद धारा अपनी गांड मरवाने को तैयार ना होती.

कुछ मिनट तक चूत का रस पीने के बाद उसने अपना लंड मेरी चूत की फांकों में फंसाया और एकदम से घुसा दिया. उसे यक़ीन नहीं हो रहा था कि उसके साथ कभी वासना का इतना मादक खेल भी खेलेगा कोई!अब धारा ने थोड़ा और आगे सरकते हुए अपनी चूत को शेखर के होठों के बीच रखा और अपनी उंगली जो शेखर के मुँह में थी उसे बाहर निकाला. अफगाणिस्तान सेक्सवास्तव में कहानी ऐसी होनी चाहिए, जिसे पढ़कर बदन का रोम रोम खड़ा हो जाए.

इस अचानक हुए हमले से मैं हड़बड़ा गयी और मेरे मुँह से एकदम निकल गया कि पहले रोटी तो बना लूं.

अब तक हम दोनों अपने सेक्स को समझ चुके थे कि ये जो भी अनजाने में हुआ है वो सही हुआ था. उन्होंने एकदम से मुँह हटाया तो उनके गाल पर लंड से निकला थोड़ा सा प्री-कम लग गया.

फिर मैंने पैंटी के चूत की तरफ के हिस्से को मुँह में डाला, तो चाची की चूत का माल स्वाद देने लगा. थोड़ी देर बाद मैंने सुची से उसके घर में अकेले में पूछा- जरा ढंग से बताओ कि किसी नई के साथ कैसे खेला जाता है. अब मैंने अपने हाथ में लंड को पकड़ा और छेद पर लगाकर जोर देना शुरू किया.

साबिरा के दोनों चूचे मुट्ठी में भरते हुए मंे उनको आटे की तरह गूंथने लगा.

मैं चाचा को देखने नीचे गया तो में हैरान रह गया आज चाचा ने बहुत ज्यादा पी रखी थी. ’तू भी तो इतनी गदराई हुई है, मेरा वजन नहीं झेल सकती?”‘कितनी गंदी बातें करते हैं साहब आप. उसके बाद मैंने उसे चित लेटाया और उसकी चूत पर लंड रख कर आहिस्ता-आहिस्ता अन्दर घुसाया ताकि उसे भी मजा आए.

जय मां शेरावालीइतने में मेरी गर्लफ्रेंड फ्रेंड गीता आकर मेरे साथ ही झुककर खड़ी हो गयी. मैंने कई लड़कियों को चोदा था पर आज मेरी मॉम मेरे लंड को सपर सपर करके चूस रही थीं तो मुझको कुछ ज़्यादा ही अच्छा लग रहा था.

ब्लू पिक्चर सेक्सी हिंदी में दिखाइए

आज एक भाई अपने बहन को नंगी देख रहा था और उसका दोस्त उसकी बहन को बाजारू रंडी की तरह चोद रहा था. जिस दिन मुझे कोई माल घूर कर नहीं देखती है उस दिन मुझे लगता है कि आज का दिन मेरे लिए अशुभ है. एजेंट ने कहा कि क्योंकि आप हर लड़की को दो दिन अपने पास रखते हैं इसलिए आपको इसके लिए पचास हजार लगेंगे.

मैं उसके निप्पल के ऊपर अपनी जीभ को घुमा रहा था और अपना एक हाथ उसकी चूत पर लेकर रगड़ने लगा. इस पोजीशन में उन्होंने मुझे करीब 10 मिनट तक बुरी तरह से चोदा, जिससे मैं झड़ गई और उनसे लिपट गई. चुदाई के कारण चूत थोड़ी खुल चुकी थी पर अभी भी उसके अन्दर की गलियां तंग थीं.

गीता ने अपने दोनों हाथों से अपनी चूत की दरार को दोनों तरफ खींच कर चौड़ा कर दिया. मॉम ने गुस्से में मुझसे कहा- शर्म नहीं आती, ये सब करते हो!मैंने सॉरी बोला लेकिन वो गुस्सा होकर रूम से चली गईं. धीरे धीरे मेरा लौड़ा बिना कोई रूकावट के साबिरा की चूत में रपटने लगा और साबिरा आंखें बंद करके खुद अपनी गांड ऊपर नीचे करने लगी.

दोनों का एक एक बार झड़ जाने के बाद मैं उसको अपनी बांहों में भर कर लेट गया और उसके होंठों का रसपान करने लगा. कुछ देर में ही बॉस ने भी अपना पानी चुत से लंड खींच कर बाहर निकाल दिया और दोनों निढाल होकर लेट गए.

मेरे सामने ही मेरी पत्नी एक अधेड़ आदमी के नीचे दबी हुई चुदाई करवा रही थी.

सच में भाभी की गर्म जीभ से चाटने पे मेरे लंड में लोहे के रॉड जैसे सख्ती आ गई।भाभी पूरा लंड अपने हलक तक उतार लेना चाहती थी. इंग्लिश पिक्चर नंगी फोटोमेरे भाई मुझसे बोले- रात को मुझे पहली बार में ही पता चल गया था कि तू मेरी बहन है लेकिन तुझे चोदने का मन कर रहा था इसलिए मैं चुदाई में लगा रहा. इंडियन चोदाचोदीहम दोनों की इच्छा अब दुबारा से वो सब करने की हो रही थी जो कुछ देर पहले इत्तेफाक से हुई थी. अब मैंने अपनी गति बढ़ा दी, तो लंड और चूत गीली होने के कारण पचा पच फच फचाक फच पचाक की कामुक आवाजें निकलने लगी थीं.

टीवी में भी शक्तिमान, चंद्रमुखी, चित्रहार, या संडे वाली फिल्म ही सब देखते थे वरना सब साथ में ही खेलते थे.

मैंने कहा- ठीक है जान, मैं तैयार हूँ तुम्हारे लौड़े से अपनी गांड चुदवाने के लिए रेडी हूँ. मैं- क्या आप कानपुर से अकेली आई हैं?भाभी- हां, क्यों?मैं- नहीं, बस ऐसे ही पूछ रहा हूं. फिर अपने शरीर के दबाव से जांघों को उसके पेट तक मोड़ कर दबाया और उसकी चूत में अपनी पूरी जीभ डाल कर चाटना शुरू कर दिया.

‘कहां ले जा रहे हैं साहब?’‘मैंने कहा था न आज से तू रोज मेरे साथ ही सोएगी. मेरे पूछने पर उन्होंने बताया कि अंकल नाइट ड्यूटी गए हैं, सुबह आएंगे. सुबह करीब 6 बजे मेरी नींद खुली तो देखा रीना पहले ही उठ गई थी और मेरे लंड के साथ खेल रही थी.

ஆன்ட்டி ஓல்படம்

आंटी- ऊईई ऊईई आह आह चोद और चोद मुझे मेरी चूत फ़ाड़ दे … कब से मेरी चुत लंड की भूखी थी. बड़ी मिन्नतों के बाद उन्होंने मुझे छोड़ा, नहीं तो वो वहीं मुझे चोद देते. टीवी पर गाने चल रहा था- आशिक़ बनाया आपने …मुझे तो नींद लग गयी, पर रितिका नहीं सोई थी.

कमाल की बात ये थी जब मैंने भाभी को पकड़ा और कमरे में ले जाने लगा तब तक उन्होंने कुछ भी नहीं कहा और ना ही मेरी इस हरकत का कोई विरोध किया.

उसने कहा- एक दिन इत्तफाक से तुम्हारी और मेरी फोन पर बात हुई तो तुमने कहा था कि अगर किसी की भलाई करने के लिए मुझे किसी से भी लड़ना पड़ेगा, तो मैं पीछे नहीं हटूंगा.

हाँ धारा … बस ऐसे ही … उफ़्फ़ … ओह्ह्ह … मेरी धारा!” शेखर भी मज़े में धारा का नाम लेकर बड़बड़ाते हुए उसकी गांड में अपना मूसल ठूँसने लगा. मैं आंटी की चूत में उंगली अन्दर बाहर करने लगा और वो फिर से ‘आह आह ऊईई …’ करके चिल्लाने लगीं. दिल्ली कॉलेज की सेक्सीउसकी दोनों चुचियां मसलने लगा तो देविका बोली- आंह हर्षद बहुत दर्द हो रहा है.

अब दोनों अपनी अपनी रफ़्तार से अपनी कमर चलाने लगे और चुदाई का भरपूर आनन्द ले रहे थे. मैं और जोश में आकर जल्दी जल्दी झटके लगाने लगा और भाभी की दोनों चूचियों को बारी बारी से चूसने मसलने लगा. मैंने भाभी को सीढ़ियों पर जाने को बोला और मैं दरवाज़ा खोलने चला गया.

उसने मुझे काफी देर तक मेरी चूत को चोदकर भोसड़ा बना दिया और बाद में जब वो झड़ने को हुई तो उसने मेरे चूत से लंड निकाल कर मेरे मुँह में लंड डाल दिया. मिहिरा- क्यों तुम्हारे साथ नहीं देख सकती क्या?मैं- नहीं, अडल्ट सीरीस है.

अन्दर देखा तो शिराज और उसकी अम्मी खाने की तैयारी कर रहे थे पर मैंने अम्मी को सलाम बोलकर शिराज को उसके कमरे में आने का इशारा कर दिया.

उस संगमरमर की मूरत में दाग के नाम पर उसकी चूचियों की भूरी घुंडियाँ और कैरम के गोटी के आकार का भूरा घेरा और दोनों जाँघों के बीच हल्के गुलाबी गीले पंखुड़ियों के बीच एक मद्धम सी लकीर ही थे. तभी मैंने देखा कि उसके घर में दूसरे वाले कमरे से कोई आ गया, शायद वह उसका पति था. उसने आगे जाकर सन्नाटे में मुझे नंगी करके चोदा और मुझे मेरे घर छोड़ गया.

यूट्यूब सेक्स काला सात इंच का चमड़ी चढ़ा लंड देख कर दोनों भाई-बहन आंखें बड़ी करके मेरे लंड को घूरने लगे. और वो मेरी उनकी मुलाकातों का पहला और आखिरी दिन बन जाता।मेरी तलाश जारी रहती!अब आगे मेरी Xxx सेक्सी हिंदी कहानी:ऐसी ही कुछ मुलाकातों में मैं एक आदमी से मिली, जिसका नाम नीरज था.

अब मैंने उसे घुटनों पर लाते हुए घोड़ी बना दिया और उसके चूतड़ों को पकड़ कर तेज तेज धक्के मारने लगा. हम दोनों एक दूसरे को देख रहे थे और कब हम एक दूसरे के होंठों को चूम रहे थे, हमें पता ही नहीं चला. भाभी ने मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चाटना चूसना चालू कर दिया और मेरा पूरा लंड अपने गले तक लेने लगीं.

देवर भाभी की चुदाई भोजपुरी

उसने मुझे झुकाया और मेरी जींस व पैंटी उतार कर लंड पेल कर मुझे चोदने लगा. ऊपर एक सफेद टी-शर्ट पहनी जो कि बिना बांह की थी और इतनी ज्यादा चुस्त थी कि क्या बताऊं. तो मैंने सोचा क्यों ना कोमल के जरिए अपनी बात भाभी के पास तक पहुंचा दी जाए.

पाटिल साहब- अरे बिल्कुल विराज जी, मैं कौन सा भाग रहा हूँ, बस ध्यान रहे इसके बाद आपका सारा बिज़नेस मेरे हाथ में है और मैं कुछ लिए बिना कुछ देता भी नहीं. लंड की नोक के पास पहुँच कर धारा की जीभ एक बार फिर बाहर आयी और इस बार धारा ने अपनी जीभ से शेखर के सुपारे को अच्छी तरह से सहलाया.

उसमें से भाभी का पानी निकल रहा था व चूत पूरी गीली हो रही थी जो इतनी मस्ती के बाद भी जायज भी थी।मैंने अपने होंठ भाभी की चूत पे लगा दिए व चूत के दाने को सहलाता हुआ, चूत से छेद में अपनी जीभ अंदर बाहर करने लगा.

वो रोती हुई बोली- आआह अंकल अंकल … रुको रुको अंकल प्लीज … अंकल थोड़ा रुको. रूपा इसी साल बारहवीं पास करके हमारे शहर में अपनी कॉलेज की पढ़ाई करने आई थी और एक किराए के रूम में अपनी सहेलियों के साथ रहती थी. कुछ देर बाद मैंने उसे अपने ऊपर लिटा लिया और लच्छो मेरे बदन को चूमने लगी.

घर में किसी को भी टॉयलेट या नहाने जाने के लिए गेट भी बंद नहीं करने पड़ें, सब कुछ खुला हो. मैंने उससे पूछा- तुम्हारे हज़्बेंड कहां हैं?उसने बताया- वो आउट ऑफ जयपुर हैं और 2 दिन बाद वापस आएंगे. मैंने थोड़ी गर्दन मोड़ कर उसे देखा, तो शिराज आंखें फाड़ फाड़ कर अपनी बहन का नंगा सीना देख रहा था.

उसने मेरे मुँह में अपना लंड भर दिया और अपना हाथ मेरी सलवार में घुसा दिया.

हिंदी चुदाई बीएफ एचडी: नीता की चूत मेरे लंड से वीर्य की एक एक बंद निचोड़कर अपनी प्यास बुझा रही थी. ये सोचकर मेरी फट रही थी कि मॉम इस बात को पक्का डैड को बोलेंगी और मेरी क्लास लगने वाली है.

मैं पलट गया और उसे बेड के साइड में ले गया, उसकी गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया. मैंने चुपके से मेघना का मोबाइल फोन, उसका पर्स, अलमारी सभी जगह चैक किया लेकिन मुझे कोई भी सुराग नहीं मिला. क्यों … तुमको अच्छा नहीं लगा क्या?मैं बोली- नहीं भैया, ऐसी कोई बात नहीं है.

मैं अन्दर आकर अपना क्लास पूछती हुई आयी तो मालूम चला मेरे ट्रेड की टीचर लेडीज थी लेकिन वो प्रग्नेंसी के चलते छुट्टी पर थी.

मैंने देविका से कहा- अब मैं थोड़ी देर में झड़ने वाला हूँ देविका!तो वह बोली- ठीक है. अब मेरे दिमाग़ में एक आइडिया आया कि क्यों ना मॉम को वो वीडियो भेजूं, जो मेरे पास थी. रेशमा- कुछ मत करो वीरू जी, बस कुछ देर ऐसे ही रूक जाओ, बहुत दर्द हो रहा है.