सेक्स बीएफ राजस्थानी

छवि स्रोत,मोदी जी का सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

चुदाई की बीएफ सेक्सी: सेक्स बीएफ राजस्थानी, चेहरे पर पश्चाताप के भाव लिए वह नताशा के नजदीक आया, और नताशा ने तुरंत उसके ढीले पड़ चुके लंड को अपने मुंह में डाल लिया!अब मैं अपनी बीवी के चूतड़ों के ऊपर खड़ा हुआ उसकी भक्काड़ा गांड में हुचक-हुचक धक्के लगाने लगा और सामने घुटनों पर खड़ा दीमा हौले-हौले नताशा के मुंह को चोदने लगा.

सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो कांड

मैं लेट गया, वो खड़ी हुई और दोनों तरफ टांगें करके उसने अपनी चूत को सीधा लंड के ऊपर सैट किया और नीचे बैठने लगी, जिससे उसे भी दर्द होने लगा और मुझे भी … क्योंकि लंड सूख चुका था. 14 साल की लड़कियों की सेक्सी फिल्मआप मुझे अपनी दुआ ज़रूर देना कि मेरा सेक्स टाइम बढ़ता जाए और मैं अपनी भविष्य की होने वाली बीवी को खूब खुशी दूँ, जी भर के चोदूँ, संभोग करूँ, खूब मैथुन क्रिया में लिप्त रहूँ और रात्रि टाइम में रति क्रीड़ा में व्यस्त रहा करूँ.

तूने मेरा फोन चैक करा था?मैं- अरे आप मुझसे मांग लेतीं, मेरे पास तो खजाना भरा पड़ा है. वेस्टइंडीज सेक्सी सेक्सीफोन रखते ही गाड़ी के अन्दर की एक लाइट जलाई और दोनों मुझे बकरे के जैसे देखने लगे.

मुझे पता था कि उनको बहुत दर्द हो रहा है … लेकिन मैं मौका हाथ से खोना नहीं चाहता था.सेक्स बीएफ राजस्थानी: उनकी खुरदरी जीभ का अहसास पाते ही मैं उछल पड़ी और गरम होकर मुन्ना अंकल का लौड़ा ढूंढने लगी.

वो शांत होने के बाद बोली- क्या प्रकाश ये क्या था? ये तो जिंदगी में पहली बार हुआ?नीचे जमीन पर उसकी चुत का पानी पानी था … वो उसपे ही लेटी थी.बारह बजे के करीब जब मेरी नींद खुली और जब तक मैं तैयार होकर अपने कमरे से बाहर आया तो दोपहर के खाने का समय हो गया था.

सेक्सी देहाती हिंदी एचडी - सेक्स बीएफ राजस्थानी

मैंने उनको सोफे पर थोड़ा सा और लिटाया और उनका गाउन थोड़ा सा ऊपर कर दिया.इस सत्य घटना को पढ़कर मुझे मेल जरूर कीजिए, अभी इस सिस्टर सेक्स स्टोरी में आगे बहुत सारे सच आपके सामने रखूँगा.

मैंने उससे बोला कि आज कुछ भी हो जाए … तेरे को नीचे बैठने का नहीं है. सेक्स बीएफ राजस्थानी करीब 5 मिनट उसने मुझे हौले हौले धक्के मारे होंगे कि मेरी पकड़ फिर ढीली हुई.

अगले ही पल मेरी पिचकारी इतनी जोर की निकली, शायद सीधे उसके पेट में गयी चली होगी.

सेक्स बीएफ राजस्थानी?

उधर अपनी चूत की फांकों में मेरे लंड की गर्माहट से नीता आंटी कामुक सिसकियां लेने लगीं- ह्ह्ह अह्ह्ह ह्ह्ह ओह्ह्ह!मैंने भी अपना लंड उनकी चूत में सैट किया और धीरे से उनकी चूत में डाल दिया. तब जाके मुझे थोड़ी राहत हुई, शायद वो अपनी दवा भूल गयी थी, वही लेने आई थी. मैं जीजू को ये चाहती थी कि वो मुझे सेक्स करने के लिए मनाएं और ऐसा ही हुआ.

शाम को करीब सात बजे मैं उनके घर गया, डोर बेल बजाई तो मैडम ने दरवाजा खोला. और शायद वो मुझे अब याद करती भी होगी? या नहीं …पता नहीलेकिन कभी कभी सोचता हूँ कि हमे उस दिन नही मिलना था… ये ज्यादा अच्छा न होतालेखक के आग्रह पर इमेल आईडी नहीं दिया जा रहा है. फिर बोले कि एक बात बोलूं आपकी बेटी सोनू बिल्कुल आप पर गई है … और वैसे तो सच यह है कि ये आपसे भी ज्यादा सुंदर है.

बस अगले ही पल मैं अपनी असल भाषा में चीख पड़ी- आररीए माई री माईए सी उउउ री माएई रे बाप रे … आअहह!मैंने अंकल की उंगली को बुर में मानो कस लिया और मेरा गर्म गर्म रज बुर में से अन्दर निकलने लगा. देखो अभी हम लोग धर्मशाला पहुंच जायेंगे, फिर बारात की तैयारी; रात भर शादी में रुकना पड़ेगा. मैंने मानसी को बिस्तर पर लिटा कर उसकी चूत में लंड घुसा कर धक्के लगाना शुरु कर दिया.

नताशा की आँखें बाहर को उबल आईं लेकिन उसने बिना विरोध किए हाथों से अपने गांड के छेद को और ज्यादा फाड़ते हुए सारी लम्बाई को अपनी नन्ही सी गांड में समेट लिया!मैं अपने एक हाथ से नताशा के फैले हुए पैरों को और फैला कर डिल्डो को धीमे-धीमे लेकिन खूब गहरे गांड में घुसेड़ने लगा. दस सेकेन्ड बाद मैंने दूसरा धक्का लगा दिया जिससे वो बिलबिला पड़ी, उसकी आँखों में आंसू आ गए और वो रोने लगी.

अंकल ने मुझे चूमते हुए कहा कि चिंता मत कर मेरी गुड़िया … ये मेरे लंड ने तेरी चूत में में खून से मांग भर दी है.

मनीष बगल में लेट गया, झड़ने के बाद भी उसका लंड अभी पूरा लूज़ नहीं हुआ था.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:गांव वाली साली की सहेली को चोदा-2. यह कहते हुए मेरी गांड को समाली अंकल चाटने लगे और मेरी गांड के छेद पर अपनी जीभ डाल दी. नीरू ने अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाया और पायल को दिखाते हुए बोली- देख पायल, मस्त है ना! अभी तुझे इसके दर्शन करवाती हूं.

जीजू मेरी चूत में अपनी दो उंगली डाल कर मेरी चूत में अन्दर बाहर करने लगे और उसके बाद वो अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मुझे चोदने लगे. मुझे नंगा करने के बाद अब जैसे ही सुलेखा भाभी की नजर मेरे तन्नाये नंगे मूसल लंड पर पड़ी, तो एक बार तो उनका पूरा बदन कंपकंपा सा गया. रात के जब 11 बजे, तभी चाची की चूड़ियों की खनक सुनाई दी … मेरे कान खड़े हो गए.

आओ मेरे बहनचोद भाइयो… चोद दो अपनी बहन को… और इतना चोदो कि मैं तृप्त हो जाऊँ… मेरी जवानी की प्यास बुझ जाये.

मैं पूजा की बातों को ना सुनते हुए अपना लंड उसकी गांड में पेले जा रहा था और थोड़ी देर के बाद पूछा- पूजा मेरी जान, तेरी गांड बहुत प्यारी है. मैं हरियाणा के जिला फरीदाबाद(दिल्ली के पास) के एक छोटे से गांव का रहने वाला हूँ. भाभी ने अपनी चूत पे थोड़ा थूक लगाया, मैंने भी उनको देखके अपने लण्ड पे थूक लगाया और भाभी की चूत में धीरे से घुसाया तो आधा अंदर लण्ड गया.

मैंने सीधे पूछा- क्या आप मेरे लंड का साइज़ जानना चाहती हो?वो हंस कर बोली- सही पकड़े हो. एक पल के लिए वह कसमसाई, पर इस नीचे जांघ हो रही हलचल ने उसे रोक लिया. उनके साथ वही हैंडसम सा लड़का था और ड्राइवर के बगल से आगे वाली में वह स्टोर वाला बैठ गया था.

मैंने जाकर उसे जकड़ लिया और बेड पर पटक दिया, उसकी चूचियाँ मसलना शुरु कर दिया।दीपक ने मानसी के ड्रेस का हुक खोल दिया.

उसने कहा कि क्या आपकी शादी हो गई है, जो मुझसे ये कह रहे हो? जब आप बिना शादी के सब जान सकते हो तो मैं भी जान सकती हूँ. अगले दिन हम दोनों ब्लू फिल्म देखने लगे और उससे बोला- मेरा देखना है तो अपनी दिखा.

सेक्स बीएफ राजस्थानी अपनी जीजी की आज्ञा का पालन करते हुए नीरू तुरंत ही बेड पर सिर रखकर डॉगी स्टाइल में खड़ी हो गई. मगर उस लड़की ने उन लड़कियों का पीछा छोड़ दिया, जिनके मम्मे ढीले बोले गए थे.

सेक्स बीएफ राजस्थानी उसने अपने दोनों हाथों की उँगलियों को अपनी गांड के छेद के गिर्द रख लिया. लगभग चार मिनट के बाद मैंने महसूस किया कि रेवती कि चूत का कसाव मेरे लंड पर कुछ ज्यादा बढ़ गया और रेवती की सिसकारियां और ज्यादा तेज हो गई थीं.

लेकिन इतने लोगों के लिए जगह कहां मिलेगी?वह बोला- हम एक दिन पहले आकर उसकी व्यवस्था वहीं कर लेंगे.

सेक्सी फिल्म हिंदी में ब्लू फिल्म

आंटी की इस तरह से लपक कर हामी भरने से आज तो मैं एकदम सातवें आसमान पर था. इस बार ये हरकत खुद भाभी की तरफ से हुई थी और उनके ऐसे करने से मेरा लंड मेरे पैन्ट में तम्बू बना रहा था. फक मी और जोर से चोद!मैंने भी अपने लंड के झटकों की स्पीड तेज़ कर ली.

मेरे प्यारे दोस्तो, मैं नवीन दिल्ली से आपके लिये पहली बार कोई कहानी लिख रहा हूँ. ओके?मैंने पप्पू महाराज को दो झटके दिए और कहा- यह बोल रहा है, ठीक है. मुझसे अब रहा नहीं जा रहा था इसलिए मैं अब सीधा ही उसके एक निप्पल को मुँह में भर कर गप्प कर गया और नेहा के‌ मुँह से एक‌ मीठी सीत्कार सी फूट पड़ी.

मैंने मनीषा के बारे में ऐसा पहले कभी नहीं सोचा नहीं था, लेकिन ना जाने क्यों उस दिन के बाद मैं हर समय मनीषा के बारे में सोचने लगा.

कभी कभी लगता है कि वाकयी यही दोस्ती है, जिसे मैं ईश्वर की सबसे बड़ी देन समझता हूं. श्श्शशश … आह्ह …” की एक‌ मीठी सीत्कार सी भरते हुए सुलेखा भाभी ने जोरों से मेरे सिर को अपनी चुत पर दबा लिया और मेरे नथुनों में उनकी चुत की वो मादक सी महक समाती चली गयी. इतने में देखा कि वो भाभी (मैडम) रेलिंग पर खड़ी थी और उनकी आँखों में आंसू थे.

कुछ देर बाद मैंने लंड बाहर खींच लिया और उनको पूरा नंगा करके उनको चित्त लिटा दिया और उनकी चूत में अपना लंड रगड़ने लगा. तभी मेरी पत्नी ने एक क्रीम की शीशी उठाई और मेरे लंड पर अच्छी तरह से उसको लगाया और कुछ क्रीम नीरू की चूत के मुहाने पर लगाई क्योंकि नीरू की चूत में बहुत हल्की सी दरार नजर आ रही थी, वह बिल्कुल बंद थी तो उसने उस दरार पर भी क्रीम लगा दी. बोल क्या बोलती है?मैं बोली- पक्का … चल बन गई तुम लोगों की पन्द्रह दिन की रखैल.

इस सेक्स स्टोरी में अब तक आप पढ़ चुके हैं कि इंडियन भाभी पूजा के संग मैं एक बार चुदाई का खेल खेल चुका था और दोनों सेक्स से तृप्त होकर एक दूसरे से लिपटे पड़े थे. मैंने उसे अपना लंड हिला कर इशारा किया तो झट से उसने मेरा लंड मुँह में भर लिया और 5 मिनट तक लंड चूसा.

मैं उसे कमरे में ले गया और वहां ले जाकर मैंने उससे बोला- मरवाएगी क्या? अभी पता चल जाता कि हम खिड़की से देख रहे थे तो भारी गड़बड़ी हो जाती. नेहा अब शर्माना छोड़कर खुलने लगी थी, इसलिए मैंने भी अब उसकी चुत को ऊपर से नीचे तक चाटना शुरू कर दिया. अब तक मैंने अपने देश की और विदेशी लड़कियों की गांड चुदाई वाली कई ब्लू फ़िल्में देखी होंगी.

इधर वो मेरे पास सट कर बैठी थीं, जिससे उनकी जांघ मेरी जांघ से सटी हुई थी.

माइक के ऐसे बर्ताव से मैं भी पिघल सी गयी और मैंने खुद ही लिंग को सही रास्ता दिखाने लगी. उसने पत्नी से धीरे से पूछा- मेम आपके कपड़े खराब हो जाएंगे, यदि परमिशन हो तो उन्हें थोड़ा ढीला कर दें?उसने कहा- नहीं, मुझे ऐसा अच्छा नहीं लगता. मैं खिंचाव के साथ मेरी योनि की भीतरी दीवारों से लिंग के सुपाड़े का रगड़ना महसूस करने लगी.

तो वो मेरी बात को अनसुना करते हुए बेशर्मी से बोली- मुझे निक्की ने बताया है कि तुम बहुत अच्छा चोद सकते हो … तुम्हारा लंड काफी बड़ा है. आप दूसरा टीचर देख लीजिए, मेरी वजह से किसी औरत को तकलीफ होती है, तो मुझे अच्छा नहीं लगता सोनल जी.

मैंने बस एक दो बार अपनी हथेलियों से उनके नर्म गुदाज और गोलाकर विशाल नितम्बों को सहलाया और फिर नीचे उनके पैरों की तरफ बढ़ गया. ‌ शायद वो‌ कुछ सोचने‌ लगी थीं … मगर अगले ही पल वो मुझे अजीब ही नजरों से घूर घूर कर देखने लगीं. जब मैंने उनकी ओर देखा तो भाभी ने मेरी और देख कर शर्मा कर अपनी आंखें झुका लीं.

ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೋಸ್

मैं तो समझ गयी कि कुछ देर अगर ये चला, तो मैं उसके मुँह पे ही अपना पानी उगल दूंगी.

वैसे इन लम्हों का तुम पर क्या असर पड़ रहा है?”यह अहसास ही काफी है कि मेरा नंगा जिस्म किसी की नजर में है. मैंने पूछा- क्या हुआ?तो बोली- न जाने कितने सालों बाद आज जिन्दा होने का अहसास हुआ है. नीरू के मुंह से हल्की सी आवाज निकली- जीजू, यार मार डालोगे क्या?मैंने कहा- क्या हुआ?नीरू बोली- अरे जीजू 7 इंच लंबा लौड़ा एक झटके में अंदर डालोगे तो थोड़ा दर्द तो होता है!मैंने कहा- अरे साली छिनाल … कितनी बार इस लोड़े को लेकर मजा ले चुकी है, अब भी दर्द होता है?नीरू बोली- हां जीजू, जब 7 इंच लंबा लंड एक झटके में डालोगे तो थोड़ा सा दर्द तो अभी भी होता है!मेरा पूरा लंड नीरू की चूत के अंदर समा चुका था.

धीरे धीरे नेहा अब खुलती जा रही थी उत्तेजना के वश उसने अब शर्म हया छोड़ दी और खुद ही अपनी चुत को मेरे मुँह पर घिसना शुरू कर दिया. फिर मैं पेपर उठाने नीचे झुका, तब तक सोनल नीचे झुककर पेपर उठाने लगी थी. इंग्लिश सेक्सी भाभी वीडियोमेरे ऊपर बैठ कर पूजा कुछ देर तक मेरे लंड से खेलती रही और फिर वो मेरे ऊपर लेट गयी.

मैं बोला- मेरे को कोई दिक्कत नहीं है, आप मेरे को इवनिंग में कॉल कर लेना. मैंने ये बोल कर टाल दिया कि तू इन सब बातों को जानने के लिए अभी छोटी है.

इससे पहले आगे चलूं, मैं आपको भाभी और उनकी सहेलियों के बारे में बता देता हूँ. अब मेरा भी होने को आया था, मैंने नेहा मैडम से पूछा- कहां निकालूँ?तो उन्होंने कहा- बहुत दिनों से प्यासी इस चुत को भर दो. इसलिए मैं भी उनकी‌ चूचियों को रगड़ रगड़ कर, मसल मसल कर और जोरों से निचोड़ निचोड़ कर उनके रस को पीने लगा और सुलेखा भाभी भी मस्ती से हल्की-हल्की सिसकारियां भरते हुए मेरे सिर को अपनी चूचियों पर दबा दबा कर मुझे अपनी चूचियों के रस को पिलाने लगीं.

चाची पलट कर पेट के बल हो गईं- टेबल पर तेल की बोतल है … तेल लगा लो पहले. मैं उसका पेट, नाभि, स्तन सहलाता रहा और अपने लौड़े को धीरे-धीरे हिलाता हुए अंदर भी रहा। इस तरह मैंने पूरा लण्ड अपनी बहन की चूत में धकेल दिया. और जब मैं उनको सब बताउंगी कि तुमने आज कैसे बार बार मेरे ऊपर चढ़ कर मेरी चूत और गांड की अच्छी तरह से धुनाई की है.

लेकिन मुझे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ा क्योंकि सेक्स सिर्फ प्यार के लिए होता है, जिसे कहीं से भी पाया जा सकता है.

कितनी गोरी चूत है नीरू तेरी! और कितना मोटा लंड चूत में समाया हुआ है. इतना कह कर छोटी चाची मेरा लंड चूसना छोड़कर चित लेट गईं और अपने दोनों पैरों को फैला कर आसमान की तरफ उठा लिए.

मम्मी का नाम सुनते ही मेरी पकड़ ढीली हो गयी और वो किसी मछली की तरह मेरी बांहों से फिसलकर अलग हो गयी. मैं बाहर से उनके कमरे का दरवाजा बंद कर आया हूं, बिल्कुल खुलकर आराम से करो, जो मन पड़े! कोई दिक्कत नहीं होगी. ये देखते ही वो बोली- क्या हुआ?मैं बोला- कुछ नहीं … किसी की चुदाई होने वाली है यहां!बेबी- पता था मुझे … अकेले आने पर तुम मुझे चोदने वाले हो.

सारा काम ख़त्म होने के बाद भी मेरी पत्नि बहुत देर तक लेटी हुई अपनी गांड के छेद को फैलाती, सिकोड़ती आराम करती रही जबकि दीमा और मैं बेडरूम से बाहर आ गए. गोरा चिट्टा बदन 18 साल की उम्र बूब्स आधे भरे हुए गोल गोल … मैं बयां नहीं कर सकता कि देखकर कितना मजा आ रहा था. लगभग एक घंटे के इस सफर में मुझे ये 20 सेकंड का सफर किसी अग्नि परीक्षा से कम न लगा.

सेक्स बीएफ राजस्थानी मैं समझ गया कि इसने मेरे जितना लम्बा लंड अपनी चुत में अब तक नहीं लिया था. तुम्हारा दिल नहीं करता उसको साथ रखने का?”वो पहले थोड़ा शरमाया, फिर बोला- पहले तो यहीं थी, वो क्या है ना मैडम जी कि वो पेट से है, तो मैं उसको कैसे अकेला रख पाता.

സെക്സ് തമിഴ്

मेरी बुर पूरी तरह से भीग गयी थी, जिससे उंगली बुर में सट सट जा रही थी. मुझे लगा मुनीर देखना चाहती थी कि कैसे माइक का लिंग तारा की योनि में तहलका मचा रहा. मैंने अभी तक माइक के लिंग को हाथ नहीं लगाया था, मैं इतनी डर गयी थी.

चूंकि गांव का ही घर था इसलिए उतना डेकोरेशन नहीं था पर हॉल बड़ा था, एक तखत में बिस्तर लगा था, एक खाली था लेकिन उस पर भी गद्दा मुड़ा हुआ रखा था, उसको अंकित ने बिछा दिया. करीब 2-3 मिनट स्मूच करने के बाद मैं खुद को उनसे अलग करते हुए बोला- यह रहा मेरी रात और सुबह के एक्सट्रा टाइम का मेहनताना. सेक्सी राजस्थानी एक्स एक्स एक्सहम दोनों को इतना मजा आ रहा था जितना जीवन में कभी नहीं आया था।हम लोग सुशीला और मानसी को बहुत देर तक नॉनस्टॉप पेलते रहे.

प्रशान्त का घर मेरे घर के पास ही में है। जिन दीदी(दुल्हन) की शादी में मैं आयी थी, उनकी मम्मी का प्रशान्त के घर आना जाना है, प्रशान्त भी कभी-कभी दीदी के घर आ जाता था.

तभी विशाल सर मेरे पीछे आ गए और बोले- तुम बहुत अच्छी हॉकी खेलती हो गीता. अब मैंने भी और इंतजार ना करते हुए अपना लंड थोड़ा बाहर खींचकर एक और जोरदार धक्का मारा तो मेरा लंड पूरा नीरू की चूत में समा चुका था नीरू की चूत से अब हल्का हल्का खून निकल रहा था और वह चिल्ला रही थी.

नशे में धुत प्रीतम ने एक एक करके मेरे कपड़े उतारे और मेरी जवानी देख प्रीतम भी आपा खो बैठा. चूत में उंगली घुसते ही सविता उछल पड़ी, बोली- अरे नीरू, क्या कर रही है दर्द हो रहा है!नीरू बोली- हय रे छिनाल … अभी तुझे दर्द हो रहा है, जो लोड़ा तू अपनी इस छोटी सी चूत में लेगी, वह तो बहुत मोटा होगा, उसको लेते वक्त तो अपनी गांड उछाल उछाल कर मजे लेगी. नेहा ने भी खिड़की से मेरी और प्रिया‌ की चुदाई देख ली थी, इसलिए शायद वो तब से ही उत्तेजित थी.

दर्द होने के कारण वह काफी तेज स्वर में सिसकारियां ले रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’तो मैंने उसे ज्यादा आवाज करने से मना कर दिया.

पर प्रकट रूप में कहा- थेंक्स !! आपने आते तो बहुत तकलीफ हो जाती मुझे. ठीक अपने वादे के मुताबिक नीरू पायल को अगले दिन शाम को हमारे घर पर लेकर आ गई. कुछ देर बाद मैंने अपना पैर भाभी में गांड के ऊपर रख कर धीरे धीरे नीचे सरका दिया.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो www.comअपनी उंगली साबुन से चिकनी करके अपनी चूत में हल्के हाथ से डालने की कोशिश करती औऱ दाने को रगड़ कर मजा ले लेती. जिनका वो घर था, उन अंकल ने मेरी नाक को अपने मुँह में भर लिया और मेरी नाक चूसते हुए बोले- वन्द्या तुम्हारी नाक बहुत सेक्सी है, तुम बहुत बड़ी माल हो, तुम्हें आज बहुत मजा आएगा.

गुजराती में बीपी सेक्सी

वो अपने हाथों से मेरा लंड सहला रही थी और मैं उसके मम्मों को चूस रहा था. उसने ऊपर से नीचे ब्रांडेड कपड़े पहने हुए थे, एप्पल के दो मोबाइल थे, फुल मेकअप, गॉगल्स, बड़े बड़े चुचे, बड़ी गांड, मेरा तो लंड खड़ा हो कर सलामी देने लगा था. मम्मीई … मेरे पास पहले की रखी हुई थी, जब मैं बीमार हुई थी ना … तब की बची हुई थी.

मनीषा की पेंटी अभी मेरे हाथों में ही थी और मेरा लंड मानो फिर से सलामी देने लगा. मैं मुनीर के रूप को बार बार निहार रही थी, तो उसने फिर बताया कि ये तो नकली लिंग है, बहुत से ऐसे लोग भी मिलते हैं जिनका आधा अंग मर्द का और आधा अंग औरत का होता है. मैं अब अपने पीछे गांड में होने वाले दर्द को भूल गई और दर्द कैसे गायब हो गया, मुझे खुद पता नहीं चला.

और इसी बीच मेरी पत्नी ने उसके बूब्स को सहलाना शुरू कर दिया था और उसके चूतड़ों पर प्यार से हाथ फेर रही थी. ये ये … त् तुम्म्म क्क्या कर रहे हो … छ छछोड़ मुझे … उउऊ ऊह्ह्ह …” सुलेखा भाभी ने मुझसे छुड़ाने की कोशिश करते हुए कहा लेकिन मैं अब कहां छोड़ने वाला था. मैं जब 12वीं क्लास में थी, तब मैंने अपने यौवन के पौधे का पहला फल अपने यार मन्नू को चखाया था.

मगर साथ ही अपने मुँह को भी हल्का सा खोल दिया, जिससे मेरे लंड का सुपारा उसके मुँह में थोड़ा सा घुस गया. इतनी उत्तेजना के बाद भी माइक कितना संतुलित था, उसने अपने धक्कों की सीमा वहीं तक रखी, जहां तक उसका लिंग घुसा था.

मुझे यकीन था कि उसका लिंग तारा की योनि की गहराई तक जा रहा होगा, तभी तो ऐसा लग रहा था कि अब वो रो पड़ेगी.

मगर उस लड़की ने उन लड़कियों का पीछा छोड़ दिया, जिनके मम्मे ढीले बोले गए थे. सेक्सी बीपी वीडियो मारवाड़ी देसीपहले वे चूत सूंघने लगे, फिर मेरी चूत में अपना मुँह रख कर चूमने लगे. हॉट सेक्सी वीडियो देखने वालीआज तक हमने कभी भी इतनी सेक्सी खूबसूरत और इतनी मस्त फिगर की लड़की नहीं देखी है. मेरी एक बड़ी प्रॉब्लम है कि मैं हर एक खूबसूरत स्त्री से प्रेम करने लगता हूँ, तो शायद उनसे भी करने लगा.

मैंने पूजा के चूतड़ों को पकड़कर उसे थोड़ा ऊपर उठाया और उसने फिर से एक धक्के के साथ मेरा लंड अपनी चूत में भर लिया.

मैंने उनसे पूछा कि भाभी आपको कैसे लड़के पसंद हैं?मैं सोच रहा था कि शायद इस सवाल पर भाभी कुछ भड़क जाएंगी क्योंकि वे तो शादीशुदा थीं. क्योंकि तुम्हारे अन्दर भी उतनी ही आग लगी थी, जितनी कि मेरे अन्दर लगी है. मैंने कहा- तुम क्या पागल हो?उसने कहा- हां तुम्हारे लिए … तुम्हारी ख़ुशी के लिए.

अब उसने फिर से मुझ पर चढ़ाई कर दी और मेरे होंठों को चूसने लगा, फिर होंठों से होता हुआ गले पर आया और मुझे खूब चाटा और काटा. अब तक आपने पढ़ा था कि शादी के बीच में लाइट चली जाने से मेरे कजन निहाल ने मेरी चूत में आग लगा दी थी और उसके बाद किसी एक और ने मेरी गांड भी गरम कर दी थी, तभी लाइट आ जाने से मैं चुदासी कुतिया से लंड ढूँढने में लग गई थी. आज मैं आप लोगों के समक्ष अपनी कहानी प्रस्तुत करके काफी गौरवान्वित भी महसूस कर रहा हूं.

पाकिस्तानी क्सक्सक्स वीडियो

विक्रम- जैसी आपकी मर्जी माँ…और विक्रम ने अपनी माँ को अपने दोनों हाथों से अपनी गोद में उठा लिया जो इस समय नग्न है, भीगी हुई है और उसके पूरे शरीर पर साबुन लगा है. अगर सुलेखा भाभी को सब पता चल ही गया है और मेरी पिटाई होना तय ही है, तो क्यों ना मैं सुलेखा भाभी को ही पटाने की एक आखिरी कोशिश कर लूँ?”वैसे भी सुलेखा भाभी के साथ ऐसा कुछ करने के विचार तो मेरे दिल में तब से ही थे, जबसे मैं यहां आया था‌ क्योंकि मेरे साथ सुलेखा भाभी का व्यवहार की कुछ ऐसा था. मैंने ऐसा ही किया और अपने लंड का सुपारा नीरू की चूत पर सेट कर दिया.

मैं भाभी की नंगी जांघ पर अपने होंठ रखे और मलाई जैसी जांघ को चूसने लगा.

तो चलिए शुरू करते हैं कहानी को।दोस्तो, भाई भाभी की शादी के लिए जो फार्महाउस बुक किया गया था, वह बहुत आलीशान था, सारा इन्तजाम उसमें था। बहुत से काम की ज़िम्मेदारी मुझे दी गयी थी.

हमने साथ चाय पी और वो अपने घर जाने लगीं, तो मैंने भाभी का हाथ पकड़ अपनी ओर खींच कर गले से लगा लिया. जब मेरी शादी फिक्स हो गयी और मैं अपने बॉस के घर किसी काम से गया, तो तब उसे पता चला कि मेरी और उसकी ऐज लगभग बराबर ही है. मां बेटे की सेक्सी नंगी चुदाईवैसे तो मैं भी अपनी बीवी की चूत मारकर बोर हो चुका था और मन कर रहा था कि कोई नई चूत मिल जाए.

मुझे भी इतनी अधिक चुदास चढ़ रही थी कि मैं भी उसके सर को पकड़ कर मुँह चुदाई करने लगा. भाई तो घर में रहता नहीं, पर भाई से दोस्ती करके उसके दोस्त सब मेरे घर में ही भीड़ लगाये रहते हैं. उन दोनों की मुस्कुराहट से ऐसा लगा जैसे उन्हें मेरे और भाभी के रिश्तों के बारे में शायद मालूम था.

मन ही मन डरा तो मैं भी हुआ था लेकिन इस वक्त गौतम को दिलासा देना ही मेरा फर्ज था।मैंने कहा- चल किचन में कुछ खाने का जुगाड़ करते हैं. कल रात में दीदी के मुँह में लंड चुसवा कर पानी उनके मुँह में छोड़ा था, अब उनकी सहेली के मुँह में मेरा लंड था.

मैं बहन को खिड़की तक ले गया, पहले मैंने अन्दर का नजारा देखा और बहन को बोल दिया- कुछ भी पूछना हो तो याद रख लेना और बाद में पूछियो.

दोस्तो, मैं पीहू (नाम बदला हुआ है) आपकोदीदी की सहली की चुदाई की कहानीसे आगे की घटना बताने जा रहा हूँ. एक दिन मैंने उसे प्रपोज किया, तो उसने मना कर दिया और मुझे डराया कि अगर मैंने दोबारा ऐसी गलती की तो वो मेरे घर में शिकायत कर देगी. जाते वक्त उसने बोला- मैं आपकी सदा आभारी रहूंगी … जो मुझे आपने खुशी दी है.

17 साल के सेक्सी वीडियो सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार … मेरा नाम केशव है और मैं नवाबों के शहर लखनऊ से हूँ. उधर आगे मेरी चूत में हिमांशु भी जोर से अपने लंड को अन्दर बाहर घुसा रहा था.

मर्द कब बंदिश में रहता है और कब परवाह ही करता है। दसियों जुगाड़ बनते रहते हैं. जैसे जैसे वो मेरी योनि से खेल रही थी, वैसे वैसे मेरी वासना की ज्वाला तेज़ होती जा रही थी. मैं तुरंत भाभी को गोद में उठाकर कमरे में ले आया और उनको पलंग पर लेटा दिया.

सेक्सी दिखाओ ब्लू फिल्म

सुलेखा भाभी की जांघों के पास आकर मैंने अब फिर से अपने प्यास से तड़पते होंठों को उनकी चुत पर लगा दिया. भाभी के बूब्स देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता था और पैंट में तंबू बना देता. तुमने ही मुझमें असली लंड की चाहत भी जगा दी है, तो अब तुम ही मेरी चूत के लिए इंतजाम करो, जो भी करना है.

मैंने यही किया और मॉम से बोल दिया कि मॉम सच में मुझे खुजली हो रही थी, घर पर कोई नहीं था तो पैन्ट खोल कर खुजा रहा था. मेरे जोर से चूसने पर वो चिल्ला उठी- यार आराम से करो ना … मैं तुम्हारे पास ही हूँ पूरे एक हफ्ते के लिए …इसके बाद मैंने उसकी पैंटी को ऊपर से सूँघा तो मादक खुशबू का अहसास हुआ.

फिर मैं अपने हाथ को भाभी की पीठ पर दोबारा से ले गया और फिर से उनके होंठ चूसते हुए पीछे से उनकी ब्रा भी खोल दी, जो ढीली होकर भाभी के बाजुओं में झूल गई.

मैंने देखा कि उसके बाद भी वो लोग काफी देर तक मम्मी के पास बैठे रहे और बातें करते रहे. हिमांशु ने मोबाइल निकाला और मेरी अलग अलग पोज़ में नंगी फोटो लेने लगा. करीब चार-पांच मिनट तक उसने मुझे इतनी स्पीड से चोदा कि मैं बिल्कुल हांफने लगी.

नाश्ते की टेबल पर जब हम मिले तो जग ने कहा कि अगर बुरा ना मानो तो एक बात कहूँ?मैंने कहा- तुम्हारी बातों का मैं कबसे बुरा मानने लगी? और तुम कब से मुझसे इज़ाज़त लेने लगे?फिर जग बोला- क्या मुझे आपकी ज़िन्दगी का एक दिन मिल सकता है?मैंने कहा- क्या. मेरी बॉडी भी बहुत अच्छी है, हाइट 6 फीट, वजन 80 किलो और चेहरा भी अच्छा ख़ासा है. पहले जब हमको कुछ नहीं पता था, तो उस वक्त हमारा उनके कमरे में यूं ही घुस जाना साधारण सी बात था.

मेरे एक-एक अंग को वह जमके चूसने लगा और बोला कि आई विल सक यू फर्स्ट.

सेक्स बीएफ राजस्थानी: बस 5 मिनट बाद मेरा माल निकलने का हुआ तो मैंने उसे बताया, तो वह हाथ से तेज तेज हिलाने लगी और मेरा माल निकल गया. उसने उसके ब्लाउज के हुक खोलकर ढीले कर दिए और धीरे धीरे आगे बढ़ने लगी.

मेरी उंगलियां उसकी छोटी सी मुनिया तक पहुंच गयी थी, जो कि कामरस से भीगी हुई थी. दूसरी तरफ मयूरी भाभी इतनी खूबसूरत थीं कि बस यूं लग रहा था कि उनको पूरा दिन चूसता चाटता रहूँ. चुत की फांकों के पास वाले बाल कामरस से भीग कर उनकी चुत से ही चिपक गए थे इसलिए चुत की गुलाबी फांकें और दोनों फांकों के बीच का हल्का सिन्दूरी रंग इतने गहरे बालों के बीच भी अलग ही नजर आ रहा था.

उसने मेरी जाँघों को बहुत प्यार से पकड़ रखा था और योनि में अपनी जुबान ऐसे फिरा रहा था, जैसे कोई बच्चा आइस क्रीम को चाट रहा हो.

इतना सुनकर अंकल ने फिर अपने दोनों हाथों से मेरी कमर और कूल्हों को पकड़ कर ऊपर की ओर उचक कर एक जोर से धक्का मारा तो उनका लंड एक इंच अन्दर घुस गया. एक स्तन मुँह में लेकर छोटे बच्चे की तरह चूसने लगा दूसरे स्तन के निप्पल को मरोड़ रहा था। ऐसा दस मिनट तक चला। फिर मैंने धीरे-धीरे उसके पूरे बदन पर चुम्बन करना चालू किया। उसके चूतड़ कयामत थे। सोचा साली के चूतड़ ही खा जाऊँ।वो मेरा लण्ड चूस रही थी, मैं उसकी चूत चाटने लगा। जैसे ही मैंने चूत पर मुँह रखा, वो उछल पड़ी और ‘हह. उसने बताया कि जब उसने मुझे जब पहली बार देखा था, वो तभी से मुझे पसंद करती थी.