फिल्म हीरोइन का बीएफ

छवि स्रोत,देहाती भाभी के सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

एचडी में बीएफ चोदा चोदी: फिल्म हीरोइन का बीएफ, क्या तुम चारों सजनी शादी करने के लिए राजी हो? उसके बाद हम सब एक साथ बड़े परिवार के समान रह सकते हैं.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी सनी लियोन वीडियो

वाइफ हॉट सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक दिन मैंने अपनी बीवी को चार अनजान लड़कों से एक साथ चुदाई करवाते देखा. बीएफ कानपुर कीधीरे धीरे मंजू ने मेरी साड़ी उतार दी और पेटीकोट भी, अब मैं सिर्फ पैंटी और ब्रा में रह गई थी.

मुझे न जाने कुछ ऐसा लगा कि यह झूठ बोल रही होंगी क्योंकि इतनी कम दूरी से किसी का रॉन्ग नंबर आना जल्दी संभव नहीं होता है. बीएफ कार्टून सेक्सी वीडियोहम दोनों का माल एक साथ मिक्स होकर बाहर आ रहा था और भाभी बड़े चाव से उसे साफ कर रही थीं.

उसने एक ठंडी सांस ली और तुरंत मेरा हाथ उठा कर अपनी जांघ पर रख दिया.फिल्म हीरोइन का बीएफ: मंजू मस्ती से बोली कि देखो बुआ तुमको देख कर लंड महाराज भी सर उठा रहे हैं.

मैंने भी अपने इर्द गिर्द खोजना चालू कर दिया कि कोई चूत मिल जाए लेकिन मुझसे कोई पटती ही नहीं थी.ये सब उनका वहम है क्योंकि अपनी पत्नी को किसी दूसरे से चुदवा देना, अपनी पत्नी के लिए एक आत्मसमर्पण है और अपनी पत्नी के प्रति प्यार है.

कॉलेज की लड़की ब्लू फिल्म - फिल्म हीरोइन का बीएफ

वो अम्मी से बोला- यास्मीन डार्लिंग, आज तुझे खूब खुल कर सेक्स करना होगा, तभी काला साया शांत होगा.थोड़ी ही देर में मेरी कजिन सेक्स का मजा लेती हुई उन्ह उन्ह आह करती हुई अकड़ने लगी.

मैं- हां मॉम मुझे पता है, लेकिन अभी क्या हुआ है?मॉम- तो अब और कितना दिन टालती रहूँगी. फिल्म हीरोइन का बीएफ भैया हम सब से बड़े हैं, दूसरे बेटे के लिए मेरे माँ बाप ने पांच लड़कियां पैदा कर ली.

हॉट GF चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि एक बार गर्लफ्रेंड को चोदने के बाद मैं उसे टाइम नहीं दे पाया.

फिल्म हीरोइन का बीएफ?

मैं बोला- तो क्या तुम्हारा मंगेतर तुम्हारी चूत नहीं चूसता?वो बोली- अर्जुन, तुम्हारे जैसा तो वो कभी नहीं चूस सकता. ज्योति- रवि यार … तुम रियली मस्त हो यार … तुम मेरे लिए माल हो … मेरी चूत का … ऐसे ही मुझे लूट ले आज … ले ले मेरी जवानी अपनी पकड़ में … आह आह उई दिख रही है मुझे जन्नत साले … अरे झटका धीरे लगा … मेरी बच्चेदानी से टकरा रहा है तेरा ये मूसल लंड. अगले दिन मेरी अम्मी ने हमारे पड़ोसियों से बोल दिया कि हम लोग कुछ दिन के लिए बाहर जा रहे हैं.

एक वक्त पे मेरी चोली में करीब आठ नौ हाथ थे।हाथ निकले तो चोली भी साथ ही निकल गई. फिर सुनील नीचे लेट गए, विक्रम ने अपना लंड डालकर मेरी चीख का मजा लिया. तुरंत मैंने उसे बेड पर उल्टा लिटाया और उसके नीचे तकिया लगाकर उसकी गांड को ऊपर उठाया.

मैंने हिम्मत करके उनसे पूछा- भाभी आप उदास क्यों रहती हो?भाभी ने भी भैया के जैसे मेरी बात को टाल दिया, शायद बताना नहीं चाहती थी. कुछ देर बाद जया का पैर मेरे पर आ गया तो मैंने उसके पैर को थोड़ा देर रखा रहने के बाद हटा दिया. वो मेरे एकदम से नज़दीक आ गया और उसने मेरे लंड को अपने हाथों में पकड़ लिया.

एक मिनट तक मेरी चूत पर लौड़ा रगड़ने के बाद उसने मेरी चूत में हल्का सा तेल लगाया और अपना लंड आधा अन्दर डाल दिया. और उसकी आंखों में देखती हुई बोली कि हां बचपन से हम दोनों एक दूसरे के लिए सब कुछ करना चाहते हैं.

एकदम से भाभी अपनी चूत की पकड़ तेज करने लगीं, मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और लंड जल्दी जल्दी अन्दर बाहर करने लगा.

इस पर वो बोली- झूठ मत बोलो, फहीमा में आए अंतर से साफ पता लग रहा है कि आजकल उसकी मस्त चुदाई चल रही है और ये भी मुझे पता है कि तुम ही उसकी चुदाई करते हो.

मैं जोश में आ गई और लॉलीपॉप की तरह मदन जी का 5 इंच लम्बा लंड गले तक लेकर चूसने लगी. मदन जी ने मेरा चेहरा हाथ में लेकर कहा- सजनी, तुम बहुत सुन्दर लग रही हो. अब ये तुम्हारी जिम्मेदारी है … तुम इस मोटी भाभी की टाइट चुत की चुदाई करके इसका भोसड़ा बना दो.

भाभी ने उछल कर उसे निकाल दिया और बोलीं- अरे यार, पहले बाइब्रेटर को थोड़ा धीरे से स्टार्ट करो. फहीमा ने भी धार निकलते ही अपना मुँह खोल लिया और जितना हो सकता था, उसने लंड का पानी अपने मुँह को खोलकर लेना शुरू कर दिया था. उन दोनों को अच्छा नहीं लगेगा और अगर मेरी हालत ख़राब हुई, तो तुम लोग खाना बनाना.

मम्मी के दोनों स्तन बहुत अधिक ऊपर नीचे होने लगे थे और उनके मुँह से ‘आ … ईस्स …’ की हल्की हल्की सिसकारियां निकलने लगी थीं.

मुझे लग रहा था कि मेरा अन्दर का दरवाजा बंद है, लेकिन जैसे ही मैंने खोला वो खुल गया. हम दोनों उस वक्त एक दूसरे का पूरा सहयोग कर रहे थे और दोनों ही एक दूसरे को पूरा मजा दे रहे थे. शायद वो चुद चुद कर एकदम हब्शी हो गई थी और साली को बहुत दिन से लंड मिला नहीं था इसलिए वो प्यासी थी.

मगर फिर भी मेरे कामयाब होने की बहुत कम उम्मीद थी, फिर भी मैंने कोशिश की. लेकिन आप बाहर जाओ और जब मैं कपड़े हटा कर अपना शरीर ढक लूंगी, तो आपको बुला लूंगी. जब मेरे से और नहीं रहा गया तो मैंने अपना लंड सीधे उनकी चूत लगा कर थोड़ा रगड़ा और एक ही बार में पूरा लंड चूत के अन्दर डाल दिया.

मैंने फिर से कहा- सोच लो, फिर मत बोलना कि डॉक्टर ने यहां हाथ लगाया.

आह सच में क्या चूचे थे … कसम से उसके चूचों को देखकर किसी बुड्ढे का लंड भी खड़ा हो जाए. सुबह 9:30 मुझे ऑफिस जाना था तो जल्दी करते हुए मैं तैयार हुआ और घर से लाए हुए नाश्ते को खाकर ऑफिस चला गया.

फिल्म हीरोइन का बीएफ मैंने उससे पूछा- क्या तेरी नौकरानी शराब पीती है? क्योंकि कविता के बारे में मुझे पता नहीं है. मैं पहले नहाने के लिए गया और कपड़े उतार कर मैंने अभी नहाना शुरू ही किया था, इतने में वो मेरे पीछे आकर मुझसे चिपक गई.

फिल्म हीरोइन का बीएफ इससे पहले कि वो कुछ कहती, मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और दोनों उंगलियां एक साथ उसकी चूत के अन्दर डाल दीं. मैंने अपने दोनों हाथों से उसके दूध अपने हाथ में ले लिए और उनको दबाने लगा.

मैं अनजान बन कर बोला- किससे करवा दूँ, लड़का कौन है?तब अम्मी ने कार्तिक और अनुपम के बारे में बताया.

सैक्सोफोन प्राइस इन इंडिया 2

वो बोली- अर्जुन मेरी सगाई को करीब 15 महीने हो गए हैं और मेरा मंगेतर हर महीने यहाँ आता है और मुझे चोद के जाता है. ब्रा उतरेगी तो स्तन नंगे हो जाएंगे और जींस उतरती है तो प्राइवेट पार्ट को खतरा. मैंने संजना से पूछा- होटल में एक रूम लेना है या अलग अलग?संजना ने कहा- जैसा आपको ठीक लगे.

मैंने उसे नीचे झुकाया और उसकी गांड अपने दोनों हाथों से चौड़ी करके फैला दी. हमने तो आज तक अपनी गांड में पेंसिल भी नहीं डाली है, तो फिर ये इतना मोटा डिल्डो कैसे जा सकता है?मैंने कहा- ठीक है, जिस चूतिये की भी गांड फट रही है, वो यहां से निकल ले. धीरे धीरे सेक्स भरी बातें हुईं और फिर वीडियो कॉल में सब कुछ प्याज के छिलकों की तरह खुलता चला गया.

निकिता कॉलेज के अलावा भी कुछ और काम में सम्मिलित रहती थी, तो उसी में से किसी काम के लिए उसे एक बार 15 दिनों के लिए शहर से बाहर जाना पड़ गया.

मुझे एक के बाद एक झड़ने का अनुभव होने लगा।धीरज और दीपक की पेला पेली में मैं तीन बार झड़ चुकी थी. उसके हाथ लंड पर रखते हुए मैं उसके हाथ से ही लंड ऊपर नीचे करवाने लगा. वो बोली- फिर सुहागरात तो शादी के बाद होती है न … पहले वाले संगम को क्या नाम दोगे जान?मैंने संजना से कहा- उसे हम लोग बिन फेरे हम तेरे सनम का नाम देंगे.

सुधा को बहुत बुरी तरह से नशा हुआ था और वह मुझे अनदेखा करते हुए अपनी टांगें फैलाए सोफे पर बैठी रही. मुझे उसके झटके इतने अच्छे लगने लगे कि मैं भी नीचे से अपनी गांड उठा कर पूरा लंड अन्दर लेने की कोशिश करने लगी. उन्होंने नाईटी नहीं पहनी, वो बस ब्रा पैंटी में ही मेरे पास आकर सो गईं.

फिर उसने मेरी टांगें हवा में उठा दीं और फैला कर खुद बिस्तर से नीचे खड़ा होकर मेरी चुदाई करने लगा. मैं अब पूरा नंगा हो चुका था, उसने थोड़ा चेहरा घुमा कर पूछा- हो गया?मैंने बोला- हां.

मैंने उसकी आंखों में वासना से देखा और पूछा- तुम्हें उधर हल्दी लगाते वक्त कुछ हुआ नहीं!वो जरा शरमाई लेकिन बोली- मैं एक बात बोलूं. और मैं करूं भी क्यों ना … जब माल खुद मुझे रोज चुदाई के लिए मिलने की बात कह रही थी. मैंने अपनी आवाज में नर्मी ला कर कहा- शाम को कितने बजे तक अरुणिमा को पहुंचवा देंगे आप?विश्वेश्वर जी बोले- क्या बात है, बड़ी चिंता हो रही है.

वो बोली- आपका तो बहुत बड़ा है साहब … मेरे मर्द का इतना बड़ा नहीं है.

भाभी भी हमेशा सज-धज कर रहतीं, जब भी मैं जाता, तो मुझे वो आकर्षक लगने लगी थीं. छह से उसने अपनी सबसे नजदीक वाली गोटी आगे बढ़ाई, तीन से मेरी भी एक गोटी उसके लिए आगे आ रही थी ताकि उसे रोक जा सके. अन्दर गुरबचन जी अरुणिमा की गांड मार रहे थे और बाकी लोग उसकी चूचियों की मां चोद रहे थे.

पिछली कहानीसब्जी वाले की बीवी बन कर गांड का उद्घाटन करायामें अब तक आपने पढ़ा था कि मदन जी पुणे में सब्जी की दुकान चलाते थे. [emailprotected]रोड सेक्स हिंदी कहानी का अगला भाग:मन्त्री जी के फार्म हाउस में मेरी बीवी- 2.

चूत से जूस चाटने के बाद मैंने अपने कडक लंड को उसकी गांड पर बह रहे जूस को, उसकी गांड पर अपने लौड़े से ही रगड़ा और अपने लंड का सुपारा उसकी गांड में घुसेड़ दिया. दोस्तो, मैं आपका दोस्त असलम, कैसे हो … उम्मीद करता हूँ कि आप सब ठीक होंगे. रास्ते में मैंने रूम की चाबी होटल मैनेजर को दे दी और उसे इशारे से समझा दिया.

डब्ल्यू पी एस ऑफिस

जैसे ही मैं हां कह कर पलटा, उसने कहा- आप मेरे साथ ट्रेन में आए थे है ना!मैंने कहा- जी.

कई बार मैंने उसकी चूचियां वीडियो कॉल करके देखी थीं और अकेले में उसकी चूचियों को चूसा भी था. दो बार चोदने में मेरी हालत खराब हो गई और उसके बाद हम दोनों ही सो गए. मैं सजनी से लड़की के रूप में कोर्ट में शादी कर लेता हूँ, मेरी कोई बीवी नहीं है.

जैसे ही मैं अन्दर गई, मुझे जोरों की पेशाब आ रही थी तो मैं सीधे बाथरूम में चली गई. उसका यह रिप्लाई देख कर मैं भी थोड़ा खुल गया और हम अब सेक्स की भी बातें करने लगे थे. बीएफ कैसे किया जाता हैनेहा की चूत का दर्द थोड़ी देर बाद कम हुआ, तो विकास ने फिर से हल्की-हल्की चोट मारनी चालू कर दी.

हम दोनों के हाथ उसकी चूत के ऊपर हलचल कर रहे थे जो शायद ज्योति की चूत के अंदर तक महसूस हो रही थी. फिर मैंने उससे पूछा- पहले कभी ऐसा किया था?वो बोला कि नहीं, ऐसा पहले कभी नहीं किया था.

अगले ही पल उसकी ब्रा पैंटी को अलग कर दिया था और उसे पूरी नंगी कर दिया था. मेरी मन में भी इच्छा थी, चौधरी जी भी नहीं थे कि उनका विशाल लंड देखकर मेरे बाकी पतियों के मन में कमी या कुंठा होती. मेरे रूम और उनका फ्लैट मुश्किल से पांच दस मिनट का पैदल रास्ता था तो उन लोगों जब भी कोई काम की वजह से मेरी जरूरत होती तो वो लोग मुझे बुला लेती थीं.

जितनी तेज गति से नेहा विकास के लंड पर टूटी थी, वो जोर-जोर से चूची चूसने लगा. उनके जोरदार धक्के मेरे चूतड़ों पर लग रहे थे, जिससे पूरा कमरा गूंज रहा था. … देख … अब तेरी टांगों को मैंने अपने कंधों पर रख लिया और तेरी चूत पर किस करने वाल हूँ अभी!ज्योति- हाँ हाँ … ज़ल्दी कर … चूस मेरी चूत … चूस ले मेरी फुद्दी.

प्रिया ने शर्माते हुए चड्डी उठा कर अपनी जांघ के नीचे दबा ली और चाय पीने लगी.

एस सेक्स के बाद उसका छेद मेरे लंड की मोटाई जितना चौड़ा हो गया था और उसके चूतड़ टमाटर जैसे लाल हो गए थे. इस दौरान करीब दस मिनट तक ऐसे ही हम दोनों एक दूसरे के लंड चूत चाटते रहे.

मैं बहुत जोर जोर से शॉट लगाने लगा था और उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मारने लगा था. मैं समझ गया कि मॉम ने कंडोम उठा लिया है क्योंकि वो मुझे वॉशरूम में कहीं नहीं मिला. मेरी बीवी ने मुझसे कहा- आप चुप क्यों हो यार … बताओ ना कि मैं क्या करूं?मैंने उससे कहा- उसकी उम्र है, अभी जवानी फूट रही है.

अब नेहा पूरी तरीके से गर्म हो चुकी थी, मैं अभी भी उसका जिस्म चाट रही थी. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम मदन है और आपका इस सेक्स ज्ञानवर्द्धक लेख में स्वागत है।मित्रो, 6 वर्षों तक मैंने एक नामचीन सेक्सओलोजिस्ट के यहां सहायक के तौर पर काम किया है. मगर मोनू ने मुझे पलंग पर झुका दिया और मुझे कुतिया बनाकर मेरी गांड चोदने लगा.

फिल्म हीरोइन का बीएफ मैं- सॉरी भाभी, पिंकी भाभी जो कर रही हैं, उसमें मुझे बहुत मजा आ रहा था, तो गलती से दांत लग गया. उससे अच्छा है कि तुम मेरी सहमति से मेरे सामने उन लोगों से भी शादी कर लो.

भाग्यशाली पैर कैसे होते हैं

मैं आशा करता हूँ कि आप लोगो को यह डाईवोर्सी भाभी की चुदाई कहानी अच्छी लगी होगी. थोड़ी देर तक वो ऐसे ही लेटी हुई मेरी चूत का रस अपने बॉयफ्रेंड के लंड को पिलाती रही. मैंने आसिफा की बात मान ली और अब हम दोनों बेड पर आ गए और चुदाई करने लगे.

मेरी नजर आसिफा की अम्मी पर पड़ी, पहले तो मेरी गांड फट गई … लेकिन मैं इस बार उनको नजर अंदाज करके और तेजी से आसिफा को चोदने लगा. और अपने माता पिता को कह दे कि मेरी बीवी मतलब उसकी मालकिन की तबीयत खराब है इसलिए कुछ दिन उनके घर पर ही रुकेगी. पंजाबी सेक्सी ब्लू मूवीशराब का दौर चलने के बाद खाना खाया और बर्तन रखने के बाद हम दोनों आपस में बात कर रहे थे.

संजना ने हंस कर अपनी बांहों को फैला दिया और मुझसे बोली- जान मेरी बांहों में आ जाओ.

मदन जी को याद आया कि जब वह मेरे बनाये खाने की तारीफ करते हैं और मुझको अपनी बीवी कहते हैं तो मैं किसी लौंडिया की तरह शर्मा जाता हूँ. मोहित मेरे पास आया और मेरे बूब्स दबाता हुआ बोला- मेरी जान, आज इन पर सिर्फ हम लड़कों का हक है, आज तो बूब्स दबा दबाकर चोदेंगे.

अरुणिमा मेरी वाइफ है और उसको इस तरह से बार बार, आप मेरी बात समझ रहे हैं ना?विश्वेश्वर जी बड़े आराम से बोले- हमारे रसूख से तुमने कितने दो नंबर के काम एक नंबर में करवाए हैं. अब वो अपनी सारी शर्म भूलकर मेरे साथ चुदाई के इस खेल का मजा ले रही थी और मैं भी यही चाह रहा था. उसके बाद चार लड़कों ने उन लड़कियों की चूत गांड के साथ क्या खेल खेला?प्यारे दोस्तो, मैं आपकी फेहमिना इकबाल एक बार फिर से आपके लंड खड़े करने के लिए हाजिर हूँ.

इस समय मेरा लंड उसकी चूत में पूरा घुस गया था और संजना उस पल के मीठे दर्द का इजहार अपने होंठ दबा कर कर रही थी.

एक दिन मदन जी ने रात को दारू पीते समय मुझको दो लड़कों के बीच सेक्स का वीडियो दिखाया. फिर करीब 40-45 झटके देने के बाद मैंने भाभी को कसके बांहों में जकड़ा और तेजी से चुदाई करने लगा. वो बोला कि मैं तो सिर्फ वीडियो देखता ही हूँ, जबकि मेरे फ्रेंड्स तो वीडियोज में जो होता है, वो सब कर भी चुके हैं.

देवर भौजाई का सेक्सकुछ देर बाद उन्होंने मेरी चूत के नीचे से हाथ डाला और मुझे उठाकर बिस्तर पर लेटा दिया. मैं समझ गया था कि मीनू को अंकल पसंद आ गए हैं इसलिए मैं उन दोनों से थोड़ा हट कर चलने लगा था.

कुत्ता सेक्सी वीडियो

उस वक़्त तो डरते हुए पूछा कि बुर के अन्दर अन्दर अपना लंड डाल लूं?वो इतनी गर्म थीं कि बोल नहीं पा रही थीं. बस मुझे भी अपनी चुदाई की एक ऐसी वीडियो बना कर रखनी है और अपने चेहरे के एक्सप्रेशन को कैमरे में कैद करके अपने मोबाइल में रखना है क्योंकि मैं अपने दर्द को और सहन करने की क्षमता को देखना चाहती थी कि मैं अपनी चुदाई देख कर मजा ले सकूं. ऐसे ही एक और पोजीशन में चोदने के बाद उसने कहा- जानू, अब मेरे ऊपर आ जाओ और जानवर बन जाओ.

वो बोली- 2 साल पहले और अब में कुछ तो फर्क आएगा, अब ऐसे ही देखते रहोगे या बेड पे आओगे. मैंने उसे और जोर से बांहों में भर लिया और धीरे से कहा- हां मैं तुझे पसंद करता हूँ. कुछ दिन से वो रात में अचानक से नींद में से उठ जातीं और जागती रहतीं.

वो इंटरनेट चलाने वाली लड़कियों में से थी, तो दुनिया के खेल को समझने लगी थी. कार्तिक बोला- अनुपम का अन्दर तक है, मेरा बाहर क्यों कर रखा है?अम्मी बोलीं- सबीना ने अपनी टांगें सीधी करके अनुपम की कमर से पैर मिला दिए थे ताकि अनुपम का पूरा वजन उसकी चूत के अन्दर तक जाए. मैंने भी उसकी उत्तेजना को समझ लिया और उसकी चूत में उंगली डाल कर उसे चोदने लगा.

बाबा ने अपने कुर्ते में से एक पुड़िया निकाली और उसमें से कोई पावडर दूध में मिला दिया. इस जबरदस्त चुदाई के बाद कुछ देर तो मेरी हिम्मत नहीं हुई कि पलट कर उससे दूर हो जाता.

मैंने अपनी गांड थोड़ी और ऊंची की जिससे वो सही से गांड का छेद चाट सकें.

फिर अचानक से उसने पैर सीधे किए और मुझे अपने ऊपर खींचती हुई बोली- जोर जोर से करो, मेरा होने वाला है. कलरफुल फोटोउसकी चूत से नीचे उसकी चूत से निकाल रही पेशाब की धार में मिलकर पेंच लड़ाने लगी. ब्लू पिक्चर सेक्सी नई नईहम दोनों ही कविता को देखकर मुस्कुराए और नितिन आगे बढ़ कर कविता के पास बैठ गया. उस वक्त मेरा लंड उनकी साड़ी के ऊपर से ही उनकी जांघ पर जैसे ही सटा, तो मैं पैंट के अन्दर ही झड़ गया.

हमने पता लगा कि यहाँ सब लड़के लड़कियां खुल कर आपस में चुदाई करते हैं होली पर!अब आगे लेस्बियन सिस डर्टी मस्ती:आयेशा के मुंह से उसकी चुदाई की कहानी सुनकर मेरी चूत ने भी पानी छोड़ना शुरू कर दिया.

कुछ मिनट उसके बदन से खेलने के बाद अरुणिमा ने उसका लंड चूस कर फिर से खड़ा कर दिया. लंड चूत के अन्दर डाल के मैंने संजना से कहा- जान, अब तुम मेरे लंड पर मूतो. मैंने देखा मदन जी कंप्यूटर पर कुछ देख रहे हैं और हस्त मैथुन कर रहे हैं.

मेरा कमरा घर के एकदम से आखिर में था, इस वजह से मेरे कमरे के तरफ घरवालों का कम आना-जाना रहता था. मैं लोगों की समस्या पर और उनके अनुभव की चर्चा आपस में मेल पर करता हूँ. अनुष्का ने कहा- यार, शुरुआत में थोड़ी देर दर्द होता है, फिर बहुत मजा आता है.

नेपाल सेक्सी फिल्म

मैंने बीच से मोबाइल हटाते हुए आगे बढ़ा और उसका हाथ थामते हुए अपनी ओर खींचा. जल्द ही पूरा बिस्तर जोर जोर से हिलने लगा और पूरे कमरे में ‘आआह्ह्ह ऊऊऊ उई …’ की आवाज गूंज उठी. क्या अरुणिमा का पांच सौ ग्राम कम हो गया क्या?मैंने कुछ जवाब नहीं दिया तो वो बोले- या फिर चूत दो इंच घिस कर छोटी हो गई या पतली हो गई?मैंने फिर कोई जवाब नहीं दिया.

मेरी मोटी गांड वाली आंटी की चुदाई स्टोरी आपको कैसी लगी, मुझे मेल कर बताएं.

इतना कह कर उन्होंने अरुणिमा को गोद में उठाया और सामने वाले कमरे की तरफ चल दिए.

मैंने उसको कैन्सल करने के लिए कहा और अपना खुद का इंतजाम करने को कहा क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि ऑफिस में किसी को पता लगे कि मेरे साथ फहीमा भी गई है. मैंने सवालिया निगाहों से उसे देखा, तो उसने अपनी सांस सँभालते हुए कहा- ये तीनों विश्वेश्वर जी के ख़ास आदमी हैं. एक्स एक्स एक्स बीपी सेक्स वीडियोउनकी तो जैसे सिसकारियां निकलने लगीं लेकिन मेरे होंठ उनके होंठों पर जमे हुए थे तो उनकी सिसकारियां दब गईं.

गजब की गोरी गांड थी उसकी!मैं थोड़ा सा झुका और उसके लोवर के बीच से देखने की कोशिश की तो अन्दर उसकी चड्डी तक दिख रही थी. पर टिकट की कुछ समस्या आ गई थी जिस वजह से हम दोनों को अभी वापस जाने में एक दो दिन और लगने वाले थे. मैंने हंसते हुए अपना ब्रा पैंटी ले ली और उससे खुद को छुड़ा कर टॉवल लेकर बाथरूम में भाग गई.

इतना कहकर उसने मुझे एकदम जोर से गले से लगा लिया और मेरी कच्छी में पीछे से हाथ डालकर मेरे चूतड़ दबाने लगी. वो भी शायद झड़ गई थी क्योंकि 5 मिनट पहले उसने मुझे रोका था कि अब निकाल लो लेकिन मैं माना नहीं था.

उसके इस तरह चूसने से मैं ज्यादा देर नहीं टिक पाया और मैंने उसके मुंह में अपना वीर्य गिरा दिया.

वो धक्के दिए जा रही थी, लेकिन लग रहा था कि थक गयी थी इसलिए उसके धक्कों की स्पीड कम हो गयी थी. दोस्तो, सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगी कि मेरे अलावा और जो लड़कियां थीं, वो लड़कों से किस तरह से चुदवा रही थीं और हम लोगों ने एक दूसरे के पार्टनर बदल बदल कर किस तरह से चुदाई का मजा लिया. उनकी एक लड़की है, जो लगभग मेरी ही उम्र की है मगर वो दिखने में सुंदर नहीं है.

বাঙালি বৌদিদের ওপেনচুদাচুদি एक हफ्ते में मैंने उस जगह पर बिस्तर टेबल का इंतजाम कर दिया और पंखा कूलर लगवा दिया. यह देखकर रिया ने अमित को बोला- साले थोड़ा तो इन्तजार कर ले या उसे यहीं पटककर चोदेगा?मैंने हैरानी से रिया की ओर देखा तो सब हंसने लगे.

मदन जी ने मेरे होंठ चूम लिए और धीरे धीरे मेरी गांड की चुदाई करने लगा. अरुणिमा मेरी वाइफ है और उसको इस तरह से बार बार, आप मेरी बात समझ रहे हैं ना?विश्वेश्वर जी बड़े आराम से बोले- हमारे रसूख से तुमने कितने दो नंबर के काम एक नंबर में करवाए हैं. उस रात मैंने भैया बहन सेक्स की तीन स्टोरी पढ़ीं और बहुत ज्यादा गर्म हो गई.

राजस्थानी सेक्स वीडियो पिक्चर

अब आगे वाइब्रेटर सेक्स का मजा:भाभी को करीब एक महीने में दस बार चोदा होगा और दूध तो हर दूसरे दिन पिया होगा. उसने अपनी पतली गोरी बांहें अंकल की गर्दन पर रख दीं और आंख मारती हुई बोली- जी मेरे राजा … अभी चूस देती हूँ. अचानक से मुझे अन्दर देखकर दोनों जल्दी से अलग हो गए और प्रिया ने अपने बदन पर चादर ढक ली.

उसने मेरे बाल पकड़कर कहा- साली हिलाना नहीं है … लंड मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दे. ये सुनकर आयेशा ने कहा- अबे यार, गुस्से में पागल मत बन, कहीं कुछ हो गया तो लेने के देने पड़ जाएंगे.

फिर हम दोनों ने 69 की पोजिशन ले ली और तकरीबन 20 मिनट की इस चुम्मा चाटी व चुसाई में चाची ने अपना रस मेरे मुँह में ही छोड़ दिया.

मगर उसके लिए जो मैंने सोचा था वो पूरा होना चाहिए और मेरा तीर अपने निशाने पर लगना चाहिये था. ”जब उन्होंने ये कहा तो मैंने उनकी तरफ़ नज़र उठा कर देखा, उनका चेहरा गंभीर था. मेरी अम्मी ने बाबा के लंड की मलाई चाट ली और लंड को चूस कर साफ कर दिया.

वाइब्रेटर सेक्स का मजा लेती हुई भाभी एकदम से उछल गईं और तेज़ी से सांस लेने लगीं. रोड सेक्स हिंदी कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी बीवी की चुदाई कर रहा था कि मन्त्री जी ने गाड़ी भेज कर मेरी बीवी को फार्म हाउस बुला लिया. वहां उसकी गांड और चूत का मिला हुआ स्वाद और सुगंध मेरी नाक और मुँह में जा रहा था.

भाई क्या चूत थी … पूरी साफ चूत, एक बाल भी नहीं!चूत के गुलाबी होंठ, हल्की फूली हुई और एकदम बंद, कोई ढीलापन नहीं, बिलकुल पोर्न स्टार जैसा, बिना चुदी हुई चूत लग रही थी.

फिल्म हीरोइन का बीएफ: एक बार मामी ने मेरी जांघ पर हाथ रख दिया तो …मित्रो, मेरा नाम विराज है, मेरी उम्र 19 साल की है और मैं 12वीं की पढ़ाई कर रहा हूँ. वो झटके से उठी और दूसरी सीट पर बैठ कर चूत को रूमाल से साफ करने लगी और कहने लगी- अगली बार ध्यान रखना, ये गलती न हो.

एक बार हम लोगों ने गर्मी के मौसम में बुलंदशहर जाने का प्रोगाम बनाया और शाम को बुलंदशहर पहुंच गए. मेरी पिछली कहानीक्रॉसड्रेसर की जिन्दगी 6 लंड के साथमें आपने पढ़ा था कि मेरे चार पति सुनील, विक्रम, अनिल, मोहन की मेरी सामूहिक चुदाई की इच्छा थी. उसके घर के लोग भी हम लोगों पर काफी विश्वास करते थे और उन्होंने कविता को मेरे घर पर रुकने की इजाजत दे दी.

मैंने पूरे फार्महाउस का एक चक्कर लगाया और जब मैं गेट पर वापस पहुंचा तो वहां ड्राइवर खड़ा था.

अब मेरी गोद में एक रसीली चूत उछल रही थी और मेरे मुँह में चाची के एक दूध का निप्पल फंसा था. उस दौरान मैं दो और लर्निंग इवेंट का हिस्सा भी रही।जिनमें से एक तो छह महीने बाद ही था जो कि ऐनुअल परफॉर्मेंस रिव्यू खत्म होने के तीन हफ्ते बाद हुआ और हमारी टीम फिर से ट्रिप पर गई. वो बोली- आंह बहनचोद, ये क्या कर दिया भोसड़ी वाले … मेरा जिस्म जल रहा है.