हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,गुजराती सेक्सी बीएफ चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ फिल्म ब्लू में: हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ, उनका सहारा बस दारू का नशा था, जिस वजह से मॉम चुदाई का मज़ा ले रही थीं.

हिंदी भाषा में नंगी बीएफ

फिर मॉम ने ब्लाउज और ब्रा को निकाल दिया और सुमन डार्लिंग की दूध जैसी चूचियों को आजाद कर दिया. सेक्सी बीएफ फिल्म गंदीफ्रेंड्स, मैं आपको एक कमसिन कुंवारी बुर की चुदाई की कहानी सुना रहा था.

उसके एक हफ्ते बाद कुक्कू को मैंने फिर चोदा और इस बार वह काफी कॉंफिडेंट थी. जंगल बीएफ चुदाईमैंने कहा- क्या इलाज है?कुछ देर बाद मेम ने मुझको एक गोली दी और कहा- लो इसे खा लो.

मेरी बुआ की काले रंग की टाईट ब्रा से चुचे बाहर निकलने के लिए तड़प रहे थे.हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ: मैंने दीदी से कहा- तो फिर मैं मालिश कैसे करूंगा?दीदी ने कहा- तुम पहले लाइट बंद करके आओ.

मैं- ज्यादा नाटक मत कर, रात को तो नंगा सोता है, ऊपर से सपने में मुझको चोद भी देता है … और अब मेरे सामने नाटक कर रहा है.अब मैं नीरज का लंड चूस रही थी और सुनील के ऊपर चढ़कर उससे चुदवा रही थी.

सेक्सी बीएफ महाराष्ट्र - हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ

उस दिन पहली बार मैंने मम्मी की जांघ को बड़े ध्यान से देखा था, वो इतनी गोरी थी कि जैसी मम्मी रोज़ाना दूध से नहाती हों.इस बार काफी देर तक चुदाई का मजा लेने के बाद मैडम बोलीं- कोई और पोजिशन ट्राई करें.

थोड़ी देर बाद मेरा लन्ड फिर उठ खड़ा हुआ।फिर मैंने उसे ओढ़नी पर लेटाया और उसके ऊपर आ गया।मेरा लन्ड उसकी चूत में जाने के लिए तैयार हो गया था. हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ तो मैंने कहा- आप चिंता मत करो, हम डाक्टर पास चलते हैं।हम डॉक्टर के पास गए, उसने कुछ दवाई दी और एक तेल दिया और कहा- इससे पीठ, कमर और पैर की हल्के हाथ से मालिश करनी है।फिर हम घर आए.

दोस्तो, मेरा नाम परम सिंह है और मेरा कद 5 फुट 6 इंच है, रंग गोरा है और मैं अच्छी सूरत का धनी हूँ.

हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ?

रवीना- अआआ आह … परम चूसो … और चूसो … खा जाओ इसे … आआह कब से तड़प रही थी मैं ये मजा लेने को … आआ आह … उऊऊ उफ्फ … चूसो मेरे राजा!और फिर उसकी चूत ने पानी निकाल दिया. मेरा दबाव भाभी पर बढ़ता जा रहा था और मैं उन्हें दीवार पर पुश कर रहा था. उस समय इतने लोग थे कि नई भाभी के लिए किसी के बारे में एकदम से सब कुछ जान पाना मुश्किल था.

कल आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपने अम्मी-अब्बू की चुदाई रोज छुपकर देखा करता था। एक दिन मैंने अपनी किरायेदार आंटी और अंकल की चुदाई देखी. वह मेरा लन्ड चूस रही थी और मैं उसकी कुंवारी बुर चाट रहा था।मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से चोद रहा था और उसके मुंह से हल्की हल्की सिसकारियां भी निकल रही थी।अब हम दोनों झड़ने वाले थे।2 मिनट बाद हम झड़ गए. ददी अभी सोई तो नहीं थीं लेकिन उन्होंने नाटक भी नहीं किया और पापा का साथ देने लगीं.

नमस्कार दोस्तो, आज की यह कहानी मेरी अन्तर्वासना की साइट से मिली एक आंटी की आपबीती है जिसमें शब्द मेरे और कहानी उनकी है।मैं सबसे पहले उनके बारे में बता दूं।उनका नाम अलका शर्मा है और वो जोधपुर में रहती हैं।उनका साइज़ 34-30-36 है और उनकी उम्र 35 के आसपास है।अब मैं कहानी पर आता हूं जो उनकी ही जबानी होगी. ये कह कर अनिता ने अमित के लंड को उसके हाफ पैंट के ऊपर से ही मसल दिया. आपको मेरी रियल गैंग बैंग सेक्स कहानी कैसी लगी जरूर बताइएगा।[emailprotected].

मैं पहली बार चूत और गांड में एक साथ लंड लेने वाली थी तो मैंने सोचा कि चलो आज ये भी करके देखते हैं. मैंने कहा- फिर जब से तू आयी है तूने एक बार भी मेरी तरफ प्यार से क्यों नहीं देखा।ज्योति मेरी तरफ पलट गई और धक्का देकर मुझे बिस्तर पर गिरा दिया.

मैंने उनकी नंगी चुचियों को कई बार उस वक्त देखा था, जब वो अपनी बेटी को दूध पिलाया करती थीं.

मैंने गेट खोल रखा था, थोड़ी देर में मैंने देखा कि उनका पति ऑफिस के लिए निकल रहा था.

तभी मैंने अपनी उंगली उसकी चूत पर लगाई तो वह तड़पने लगी और बोलने लगी- नो बेबी … प्लीज वहां पर नहीं … आह आ आह!मैंने एक पल के लिए सोचा कि चूत उठा कर मना कर रही है, अजब की अदा है. ये घटना मेरे साथ मामा के लड़के यानि मेरे ममेरे भैया की ससुराल में हुई थी. उसकी इस बात को जानकर मुझे काफी अच्छा लगा और ऐसा अलग कि इसके साथ दोस्ती करने का ये अच्छा मौका मिल गया है.

इस बार मेरा प्रहार इतना तेज था कि एक बार मैं ही मैंने अपना पूरा लंड उसकी चुत में घुसा दिया था. अब दोपहर के 3 बज चुके थे और मैं अब तक उन दोनों से चार चार बार चुद चुकी थी. उसकी आवाज से मैं और रोमांचित होता गया और मेरे धक्कों की स्पीड बढ़ती गई.

वो मस्ती से अपने चेहरे से वीर्य को मलने लगी कुछ अपनी चूचियों पर मल लिया.

उसने लगभग 5 मिनट तक मेरी चूत की जमकर चुदाई की और उसने भी अपना सारा पानी मेरी चूत में कंडोम के अंदर निकाल दिया. फिर तीसरे लड़के ने आकर उन दोनों लड़कों को बोला, तो वो दोनों लड़कों ने रानी के पैर को पकड़ कर हवा में खींच लिया. पूरी रात जाट ने कितनी बार से अपने मूसल से लौड़े से बहू की चूत को पानी पिलाया.

मैं ज़ल्दी से स्लाइडर डोर के पीछे चली गयी और ग्लास के पीछे से देखने लगी. प्रीति इतरा कर बोली- यदि मैं न कर दूँ तो?मैंने कहा- मुझे उम्मीद है कि तुम मुझे मना नहीं करोगी. थोड़ी न नुकुर के बाद वो मान गई वो गई और तेल से मेरे लण्ड की मालिश की.

अब चुदवा रंडी साली, ले मेरे पति का लंड लेकर अपनी चूत ठंडी, अपनी क्या अपनी माँ चूत भी ठंडी करनी है तो बोल, मादरचोद, भैन की लौड़ी मेरा पति तो तेरे सारे खानदान को चोद देगा आज.

उसकी गर्म सिसकारियों और उनकी बातों से मुझे बहुत ज्यादा जोश चढ़ने लगा. चूँकि मुझे बहुत जोर से मूत आ रहा था तो मैंने बहुत सारा टॉयलेट सलीम के मुंह में डाल दिया जिसे सलीम ने पी भी लिया.

हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ तब मैंने भी अपने चूतड़ उठा दिये और पैन्टी उतरने दी।तभी मुझे लगा निधि मेरी टीशर्ट उतार रही है. थोड़ी देर बाद मैंने ज्योति को घोड़ी बनाया और पीछे से एक ही बार में लंड अन्दर पेल दिया जिससे ज्योति को दर्द हुआ पर मैं ज्योति को चोदता रहा.

हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ बिहारी सेक्स स्वैप स्टोरी मेरी सहेली के साथ पति बदल कर चूत चुदाई की है. तभी कोमल दीदी और मोनिका स्कूटी पर आ रही थीं, मोनिका ने स्कूटी रोक ली तो मैंने दीदी को मनाने की कोशिश की.

मैं बोला- तो इस बार तुम अकेली ही जाओ और उससे चुदवा कर आना फिर मुझे बताना कि इसका लंड कैसा लगा.

स्लीपिंग हॉट सेक्सी वीडियो

वो दोनों हाथ पीछे करके बेड पर बैठी तो उसके मम्मे और भी बड़े-बड़े दिखने लगे थे. ममता ने पूछा- क्यों तबीयत ख़राब है क्या?वो बोली- नहीं पर अंकल से मैं कैसे मिल पाऊंगी?ममता बोली- अरे डर मत यार … मैं भी तो साथ रहूंगी. मैंने बोला- शर्ट भी उतार दो, मुझे ब्रा में कसे हुए बूब्स देखने हैं.

जिस तरह से दीप्ति मेरे लंड को देख रही थी, शायद पहली बार वो इतने बड़े लंड को देख रही थी. मैंने भी कहा- ओके मेम, आप भी अपना नम्बर दे दो, हो सकता है आप फ़ोन करना भूल जाओ, तो मैं ही कर लूंगा. अब आधे घंटे बाद पापा उठे और दीदी के बेड पर चले गए और उनके बगल में लेट गए.

मैं उसके उतरे कपड़ों में नाक घुसेड़ कर लंबी लंबी सांसें लेकर मज़े लेता था.

और तभी मैंने एक झटके में दाइशा की पैंटी को खींचकर बाहर निकाल भी दिया. जीभ निकालकर एक दूसरे की जीभ चूस रहे थेट्रेनर- इस तरह ग्राहक के होंठ और जीभ चूसने से बीमारी का ख़तरा है. मैं- मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या सोचती हो, मुझे बस इतना मालूम है, जीजा जी काफी महीनों से नहीं आए है.

दूसरे दिन जब मैंने देखा तो उसने मेरा निवेदन स्वीकार कर लिया था और वो मेरी दोस्त बन गई थी. मैंने लंड को आराम आराम से अन्दर पेलना शुरू कर दिया और उनकी एक चूची को चूसने लगा. बुआ मुस्कुराईं तो मैं उनके गले को चूमने लगा और उनकी चूचियों को ऊपर से ही मसलने लगा.

अब मैंने अंकिता की गांड पकड़ कर 10-15 तेज शॉट लगाए और उसकी गांड में झड़ कर उसके ऊपर गिर गया. थोड़ी देर बाद नींद में वो मेरे से चिपक कर सोने लगी तो मेरी नींद खुल गई.

कुछ ही दिनों में मैं मुंबई में अच्छी तरह से सैटल हो गया था और मेरा बिजनेस भी सही से चल रहा था. बस फिर क्या था … मैंने बिना रुके लंड को जितना अन्दर ले सकता था, भर लिया. प्लीज़ मेरी मदद करो, क्या फिलहाल इसे ले जाने के लिए आपके पास कुछ और रास्ता नहीं है?राहुल- जल्दी से पैसे की व्यवस्था करो … नहीं तो अच्छा नहीं होगा, समझी.

गांव वालों को जरूरत होती तो वो उस समय तीन रुपए सैंकड़ा की दर के ब्याज पर रुपया उधार देता था.

अब वो भी बड़े मजे से मेरा साथ दे रही थी।फिर अचानक पता नहीं क्या हुआ, भाभी छूटकर चली गई और मैंने भी भाभी को नहीं रोका।अब जब भाभी मुझे देखती तो तो एक सेक्सी स्माइल दे देती।फिर कुछ दिन बाद मेरे पापा अपने मामा के यहाँ चले गए।और फिर बाद में सभी लोग एक शादी में में चले गए. इसके अलावा इस सेक्स कहानी को लिखते समय मैंने एक दिल्ली वाली पाठिका से भी नेट पर बात की है तथा उसके साथ वीडियो सेक्स भी किया है. फिर वो छत से नीचे गई, मैं भी छत पर खड़ा होकर उसके आने का इंतजार करने लगा कि कब वो फिर से छत पर आएगी और मैं फिर से उसको देखूंगा.

मेम जोर जोर से लंड को मसलने लगीं,जिससे मेरा लंड खड़ा तो हुआ लेकिन उसमें काफी दर्द भी हो रहा था. जैसे ही वो मेरे गले से लगा, मुझे उस पर प्यार आने लगा और मैंने भी उसे अपने सीने से लगा लिया और उसकी पीठ पर हाथ फेर कर उसे सहलाते हुए चुप कराने लगी.

लूसी ने बताया कि उसे विदेशी लंड बहुत अच्छे लगते हैं और गोवा में विदेशी लंड खूब मिलते हैं. दोस्तो, किसी मर्द का लंड तब तक खड़ा नहीं होता है, जब तक वो किसी कामुक सपने को न देख रहा हो या किसी लड़की के बारे में वो कुछ सेक्स जैसा न सोच रहा हो. मैं पूरा दिन अकेली रहती हूँ या अपने कुछ सहेलियों के साथ कभी कभी पार्टी कर लिया करती थी।मेरा दिन अच्छा कट रहा था।एक दिन मेरे पति ने मुझे अचानक बताया कि उनके भाई का लड़का हमारे शहर में इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिये आ रहा है और वो हमारे साथ हमारे ही घर में ही रहने वाला है।मुझे यह सही नहीं लगा, उसके हमारे घर में रहने से मेरी पूरी आज़ादी छीन जाएगी.

हिंदी सेक्सी भेजो सेक्सी

अनिल ने मेरी मॉम को गले लगाया और उनके होंठों को कुछ मिनट चूस कर रस पिया.

इसके बाद दीदी खुद लंड के ऊपर चढ़ कर हम लोगों के लंड को बारी बारी से चूत के अन्दर ले लेती थीं और चुदाई शुरू हो जाती. उसने मुझे देखे बिना अपने रूम का दरवाजा खोला और अन्दर जाकर मुझे अन्दर आने का इशारा कर दिया. फिर 11 बजे अनन्या का मैसेज आया ‘क्या कर रहे हो?’मुझे गुस्सा तो बहुत आया पर मैंने खुद को संभाला और सोचा कि उसकी लाइफ है, वो जैसे जिए … मैं उसको क्यों कुछ बोलूं.

मगर यार आपा, आप इतने लोगों को एक साथ कैसे झेलोगी?मैंने कहा- हां यार, डर तो मुझे भी लग रहा है. इससे वो एकदम से चिहुंक गई, जिसे सामने बैठी लड़की ने नोटिस कर लिया और वो मंद मंद मुस्कुराने लगी. एक्स एक्स बीएफ हिंदी में सेक्सीमैं- पर तू तो रांड लग रही है साली भोसड़ी की!वो- कब का चुदने का मन कर रहा था, कोई चोदने ही नहीं आया.

दोनों की बीवियां दूसरे के मियां का लंड चाटने में एक बार फिर से जुट गईं. मैंने उसे फिर से अपने बाहुपाश में बांध लिया और हम दोनों एक दूसरे के मुख में अपनी जीभ चलाने लगे.

मैडम एक बार में ही पूरा लंड चुत में लेते ही तड़फ उठीं और आह आह करने लगीं. वाइफ हॉट सेक्स कहानी मेरी मम्मी की है जो अब मेरे चाचा से शादी के बाद उनकी बीवी बन गयी थी. थोड़ी देर बाद मैंने उससे कहा- घोड़े की तरह मेरी गांड मारेगा?वो बोला- हां चलो मारता हूँ.

वाइफ हॉट सेक्स कहानी मेरी मम्मी की है जो अब मेरे चाचा से शादी के बाद उनकी बीवी बन गयी थी. मैंने उनसे पूछा- कहां निकालूं?तो उन्होंने कहा- अन्दर ही डाल दो, बहुत दिनों से सूखी है … आज इसकी प्यास बुझ जाएगी. कुछ देर बाद ज्योति के शरीर में कंपकपी महसूस हुई और उसने अपनी बांहों में मुझे कसकर भर लिया।अब ज्योति थोड़ी शांत हो गई थी, उसकी पकड़ मेरे शरीर पर थोड़ी ढीली महसूस हो गई।तब मैंने भी बहुत जोर से उसकी चुदाई करना चालू कर दिया.

हम दोनों पूरी लेस्बियन बन चुकी थीं और उसकी आवाज आने लगी थी ‘आह आह जान मेरा होने वाला है रुकना मत … डालती रह प्लीज …’तभी प्रियंका ने मुझे हटाया और बिस्तर पर ही फारिग हो गयी.

लॉक डाउन में मुझे वर्क फ्रॉम होम मिल गया था तो घर का सारा काम ही मुझे करना पड़ता था क्योंकि कोविड के डर से कामवाली बाई वगैरह को हटा दिया था. मीरा के निप्पल कड़क होने लगे थे, जो इस बात का संकेत दे रहे थे कि मीरा गर्माने लगी है.

मैं दीदी के लिए फ्रूट जूस लाया लेकिन नीलम दीदी जूस पीने के लिए भी मना करने लगी थी. दीप्ति- अब मानव है नहीं यार … तो मुझे अकेले ड्रिंक करने में मजा नहीं आएगा. इतना कहकर वो कुछ इंतज़ाम करने बाहर चला गया और मैं वहाँ अकेली रह गयी.

हम दोनों ने अपने कपड़े उतार दिए और मैं चालू कार में उसका लंड चूसने लगा. मैंने उससे कहा- यार मीना, तुझे क्या लेना था, चल अभी चलते हैं … वरना 8 तक कुछ नहीं मिलेगा. मैंने उसके दोनों पैर हाथ में लेकर ऊपर को उठा लिए और लंड उसकी चूत पर घिसने लगा.

हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ मैंने भी मजे से उससे पूछ लिया- अनिता, तुम्हें थामस का लंड पसंद आ गया न?अनिता बोली- हां यार, बड़ा मस्त लौड़ा है. मैं और रिशू पास पास लेटे थे एक ही पलंग पर … और बुआ जी, फूफा जी, सब लोग नीचे लेटे थे जमीन पर बिस्तर बिछा के!सब लोगों ने थोड़ी देर बात की.

ब्लू फिल्म सेक्सी बढ़िया वाला

उसने मेरी तरफ देखा, तो मैंने उससे पूछा- तुम ऐसी हालात में हॉस्पिटल जाती हो, तो क्या तुम्हें डर नहीं लगता?उसने बताया- मैं अभी अभी ही यहां आई हूँ और जब तक मुझे वैक्सीन की पहले डोज़ नहीं लगती, तब तक वो हॉस्पिटल नहीं जा सकती. चूँकि मामा का घर हमारे शहर के पास ही है तो आना-जाना लगा ही रहता है. फिर मैंने उसकी नाइटी में हाथ डाल दिया और अपनी बहन के नर्म गर्म दूध दबाने लगा.

मैंने अपना लंड बाहर निकाला और 69 की अवस्था में अपना लंड उसके मुँह की ओर कर दिया. सर्दियों में बड़े दिनों की छुट्टियों में ही मेरा मामा के घर जाना होता है. छोटे बच्चन की बीएफआप सोच रहे होंगे कि ये सब यहीं खत्म हो गया, तो ऐसा बिल्कुल नहीं है.

अब चुदवा रंडी साली, ले मेरे पति का लंड लेकर अपनी चूत ठंडी, अपनी क्या अपनी माँ चूत भी ठंडी करनी है तो बोल, मादरचोद, भैन की लौड़ी मेरा पति तो तेरे सारे खानदान को चोद देगा आज.

प्रिया- यार मुझसे और रहा नहीं जाता, तुम जल्दी से अपना लोअर निकालो और अपने लंड से मेरे चूत की आग को शांत कर दो. लड़कों की सिर्फ गांड में और लड़कियों की गांड-चूत दोनों में चोदने की मशीन का डिल्डो डाल दिया गया.

फिर मैंने उन्हें बिस्तर पर घोड़ी बनाया और पीछे से दीदी की चूत में लंड घुसा दिया. बस फिर क्या था … मैंने बिना रुके लंड को जितना अन्दर ले सकता था, भर लिया. मैं दिल्ली में कमरा लेकर रहता हूं और एक मेड भी सुबह को काम करने आती है.

उनके जाने के बाद मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की बहन से कहा- अब मुझे तेरे साथ खेलना है.

जैसे ही रात के दो बजे, मैं अपने रूम से निकल कर सबसे पहले वॉर्डन के बैठने की जगह को देखा. मैंने उसको अपने रूम में छोड़ दिया और नहाने चली गई और वहां से तौलिया लपेट कर बाहर आ गई।उसके सामने ही मैं अपने हाथ पैरों में लोशन लगाने लगी. लड़कियों को जो माहवारी आती है, वो मेरी भी चालू हुई मेरे माँ बाप के गुजरने के कुछ माह बाद!इससे मैं घबरा गई.

सेक्सी वीडियो एचडी में बीएफ सेक्सीफिर जब मैंने इधर देखा और सेक्स कहानियां पढ़ीं, तो मेरा मन सेक्स करने का होने लगा. पर मेरा तो अभी शुरू हुआ था तो मैंने अपना लोअर और टीशर्ट अलग किया और अपना अंडरवियर भी उतार दिया.

सेक्सी जल्दी-जल्दी

दीप मेरे पास आया, मेरे हाथ से चाय वाली ट्रे पकड़ कर एक तरफ रखी और मुझसे लिपट गया. लंड पेले हुए वाला लड़का बड़ी तेजी से रानी की चूत पर धक्के मारे जा रहा था. उसने पीछे से लंड सैट किया और धक्का देकर अपना मोटा लंड मेरी गांड में डाल दिया.

वे जब मेरे कमरे में आईं तो मैंने गेट बंद किया और बिना कुछ सोचे समझे, बिना कुछ बोले भाभी की कमर में हाथ डाल कर उन्हें अपनी ओर खींच लिया और एक जोरदार किस कर दिया. मिताली हंसती हुई मेरी ओर मुड़ी और उसने मेरा पैंट, अंडी और टी-शर्ट उतार दी. मैं भी किसी कुत्ते की तरह अपनी जीभ से भाभी की के बुर का पूरा पानी चाट गया.

फिर से मैडम की मूतने की आवाज सुनकर मेरे अन्दर का हवस जग गई और मैं दरवाजे को हल्का सा हटा कर उन्हें देखने लगा. तभी अब्दुल ने मुझे गाली दी- हट मादरचोद, उधर कोने में जा और बैठ कर अपनी मॉम की मस्त जवानी लुटते देख. उसके सामने ऐसे केवल ब्रा और पैंटी में खड़े हुए ऐसे लग रहा था जैसे कुछ पहना ही ना हो.

भाभी जी ने कहा- क्या आप मुझे अभी मेरे घर छोड़ सकते हो?मैंने कहा- बिल्कुल छोड़े देंगे जी. बीस मिनट बाद हम दोनों का पानी निकल गया और हम दोनों अपनी सांसों को नियंत्रित करने लगे.

नमस्कार दोस्तो,मेरा नाम सुनीता है, मेरी उम्र 45 वर्ष है, रंग गोरा और मेरा फिगर 36-32-40 है।मैं इंदौर में अपने पति के साथ रहती हूँ।मेरे दो बच्चे हैं, दोनों दूसरे शहर में नौकरी करते हैं।मेरे पति एक MNC में काम करते हैं। मेरे पति सुबह 8 बजे ऑफिस चले जाते हैं और शाम 7 बजे के बाद ही आते हैं.

वैसे कोटा में चूत मिलना कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन मैं कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था. पेपर सेक्सी बीएफभाभी एकदम गोरी हैं, भाभी के दूध 38″ और गांड 40″ के करीब है।प्रियंका भाभी हमेशा सज-धज के रहती हैं और दिखने में एक बढ़िया माल हैं इसलिये हमारे मोहल्ले के बहुत से मर्द उन्हें पटाकर चोदने की फिराक में रहते हैं. बीएफ सेक्स हरियाणाउधर मोनिका नंगी ही अपनी लेफ्ट वाली चूची का निप्पल गुड़िया को चुसा रही थी. मैं- अभी बोलो न, क्या काम है?अनन्या- वो तो कल ही बताऊंगी, बस तुम कल सुबह जाना मत कहीं.

अब मैंने धक्कों की रफ्तार बढ़ा दी तो मैडम ने भी अपनी कमर हिला कर साथ देना शुरू कर दिया.

फिर वो मुझे देखने लगी।मैं अभी भी सोच ले डूबा हुआ था।मुझे ऐसे देखकर वो थोड़ा चिढ़कर बोली- अगर गाड़ी नहीं सिखाना … ऐसे ही सोचते रहना है … तो मुझे घर ड्रॉप कर दो।घर ड्रॉप करने के नाम पर मेरे शरीर में जैसे जोश आ गया था, अपने हाथों में आई इस चीज को में ऐसे तो नहीं छोड़ सकता था. दोस्तो, आपने मेरी पहली सेक्स कहानीचचेरी बहन को चोदा बस के स्लीपर बॉक्स मेंपसंद की. फिर धीरे धीरे मम्मी की टांगों को किस करते हुए उनकी चूत पर अपनी जीभ रख दी.

मेरे लंड और उसकी चूत के मिलने की खुशी उसके चेहरे पर साफ दिख रही थी. आखिर में जब मेरा झड़ता हुआ लंड विभा ने पिया और सुपारा चाटा, तो बहुत अच्छा लगा. मैं आज आपको अपनी गर्लफ्रेंड की बहन की चुदाई की कहानी बताने जा रहा हूँ.

सेक्सी ओपन व्हिडीओ

अगले दिन सुबह उठ कर मैं रोहन के साथ ऐसे ही छोटे मोटे कामों में लगा रहा. मैडम की चूचियां गजब हिल रही थीं और मैं उनके मम्मों के बीच में अपना चेहरा रगड़ कर उन्हें मजा दे रहा था. अनन्या- प्यार भी करते हो?अब मैंने खुद को रोक नहीं सका और अनन्या को गले से लगा लिया.

कुछ देर बाद ज्योति के शरीर में कंपकपी महसूस हुई और उसने अपनी बांहों में मुझे कसकर भर लिया।अब ज्योति थोड़ी शांत हो गई थी, उसकी पकड़ मेरे शरीर पर थोड़ी ढीली महसूस हो गई।तब मैंने भी बहुत जोर से उसकी चुदाई करना चालू कर दिया.

अन्दर जाकर मैंने उनको पकड़ कर दस मिनट तक किस और हग किया, साथ में उनकी चूची और बुर को भी दबाया.

30 बजे थाणे पहुंचा और मुझे ख्याल आया कि रेलवे के रिटायरिंग रूम भी होते हैं. भाभी रविवार के दिन बहुत उदास रहती हैं, क्योंकि उनको मेरे पास आने का मौका नहीं मिलता है. सलमान का बीएफगुड़िया को लगा जैसे अपनी मम्मी का दूध पी रही हो … हालांकि मोनिका की चूची में से कुछ नहीं निकल रहा था पर गुड़िया अब चुप हो गई थी.

कुछ देर भाभी की गांड मारने के बाद मैंने भाभी को लिटा दिया और पीछे से एक टांग ऊपर करके चूत में लंड डाल दिया. मैं हथेलियाँ भी अंजलि के प्यारे-प्यारे मम्मों को दबाने लगा, उसकी घुमटी को कस-कस कर मसलने लगा. मैंने मीना से कहा- साली साहिबा, जैसे अपने मेरे लंड पर प्यारा सा किस किया है … वैसे ही अब मेरी भी इच्छा आपकी प्यारी सी बुर पर चुम्बन की हो रही है, तो क्या मैं भी ये कर सकता हूँ?मीना- अरे जीजू, अभी तो मुझे इसे देख लेने दो, थोड़ा प्यार कर लेने दो, फिर उसके बाद आपके बारे में सोचा जाएगा.

मैं चुदाई में अनाड़ी था तो इंजन के पिस्टन की तरह चुत चुदाई में लग गया. मैंने फोन उठाया तो आवाज आई कि सर कोई मिस्टर साहिल आपसे मिलना चाहते हैं.

वो कभी कभी चूत को मसल भी देता था जिससे मेरी पत्नी के मुँह से एक सेक्सी आवाज भी निकल जा रही थी.

मैं अब ज्यादा देर नहीं कर सकता था तो मैंने खड़े होकर अपनी निक्कर भी निकाल दी. यंग भाभी कहानी में पढ़ें कि मैंने अपने दोस्त की बीवी की अन्तर्वासना जान कर उसे सेट करके चोदा. यह दोस्त सेक्स कहानी है मेरे ग्रॅजुयेशन के पहले साल की!मैं होस्टल में नई नई रहने आई थी.

बीएफ सेक्सी वीडियो फुल बीएफ मैं अपने हाथों से मिताली की गांड मसल रहा था, जिसे देखकर सब मानो जले जा रहे थे. चाचा ने एक बार मम्मी को देखा और फिर से मम्मी की चुत के दाने पर जोर से अपनी जीभ रगड़ने लगे.

उसकी चूत का मुँह इतना फ़ैल गया था कि इस वक्त यदि उसके पति का लंड उसकी चूत में घुसता तो शायद उसे पता भी ना चलता. मैंने तुरंत उसको अपने कब्जे में ले लिया और उसे मजे से मसलने लगा, पीछे की चैन खोलने के लिए उसको थोड़ा घुमा दिया. जब मैंने महसूस किया कि मेरे लंड के भी परखच्चे उड़ गए हैं, कई जगह से मेरा लंड भी छिल गया है और उसकी बुर के साथ मेरे लंड से भी थोड़ा बहुत खून आ गया है.

अरे सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो

भैया ने कहा- अभी रुक कर खाएंगे, पहले हम दोनों ड्रिंक एन्जॉय करेंगे. मेरे जोर देने पर वो बस से नीचे आ गई और हम दोनों स्टाफ रूम में जाकर खाना खाने बैठ गए. मैं सोचने लगा कि अंधेरे में चुदाई के चक्कर में मैंने उसके मुँह पर तो ध्यान ही नहीं दिया, बस दूध और चूत पर ही ध्यान देता रहा.

उसके बूब्स काफी मुलायम थे तो मुझे भर भर कर मसलने में खूब मजा आ रहा था. ऐसे ही एक बार हम दोनों मूवी देखने गए थे तो मैंने कपल वाली टिकट्स ली थी, वो भी कॉर्नर वाली.

दीप्ति को अनुमान हो गया था कि जब तक मेरा पानी नहीं निकलेगा, तब तक मैं रुकने वाला नहीं हूँ.

मेरी बहन सो रही थी, तो मैंने उसे उठाया- कैसी हो हीर?हीर- ठीक हूँ भैया. मैंने अपने होंठ उसके होंठों से हटा लिया और उसके एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया. आप गांव की जिंदगी के बारे में जानते ही होंगे कि मध्यम वर्ग के परिवार में प्रेम प्रसंग शुरू होने में कितनी दिक्कतें आती हैं.

मैंने दर्द से चिल्लाने की कोशिश की मगर मामा ने अपने होंठों से मेरे होंठों को दबाया हुआ था. मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी कि मैं कुछ आगे बढूँ, लेकिन मैं कुछ नहीं कर सका. बीस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई में मैंने उसे लंड की सवारी कराई, कुतिया बना कर चोदा और अंत में जब वो मिशनरी पोजीशन में मेरे लौड़े से चुदी तो तेज तेज आवाज लेती हुई झड़ गई.

इसके बाद राहुल ने मेरे मुँह में शहद डाल दिया और मुझे लिप किस करने लगा.

हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ: दूसरे दिन चाचा का फोन आया- कितने बजे की बस है?मैंने कहा- शाम सात बजे ऑफिस पर पहुंच जाना. अब मैं उसके सर में अपनी उंगलियां ऐसे फेर रही थी मानो वो मेरा बेटा ही हो.

दीदी हंसने लगीं- अच्छा तो उसकी गांड भी बजा दी इसने!मैं अब थक गया था और बोलना चाहता था कि जल्दी आओ दीदी और चूसो इस मोटे लंड को. वो बोला- बाबू, अब देखो मैं कैसे इन्हें दबा दबा कर प्रगति के पथ पर ले जाता हूं. मुझे सेक्स की जानकारी तो पूरी है कि दर्द होगा और ये भी पता है कि बाद में मजा भी आएगा.

बीच-बीच में मेरी जाँघों पर भी जीभ चला लेती और टट्टों को अपने हाथों में दबा लेती या फिर अपने मुंह में भर लेती और फिर मेरे लंड को पूरा का पूरा अपने हलक के अन्दर ले ले कर चूसने लगी.

फिर उसकी सहेली ने उसे बताया- शायद वो तेरे साथ दोस्ती करना चाहता है. वो अपने शहर में पीजी में कमरा लेकर रहती थी तो मिलना मुश्किल हो रहा था. पहले तो वह काफी देर नखरे करती रही, मना करती रही पर थोड़ा जोर देने पर वह मान गई.