बीएफ मूवी चलती हुई

छवि स्रोत,शिव सिंह सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी पिक्चर इंग्लैंड: बीएफ मूवी चलती हुई, मैंने यहां की बहुत सारी सेक्स स्टोरी पढ़ीं तो मुझे लगा कि मुझे भी अपनी सेक्स स्टोरी आप लोगों के साथ शेयर करनी चाहिए.

माधुरी दीक्षित फोटो सेक्सी

मैंने उसकी चूची मसलते हुए कहा- किसको क्या दोगी कुछ नाम भी तो लो जानेमन. गांव की सेक्सी वीडियो मारवाड़ीमैंने हैलो बोला, तो उधर से पायल की आवाज़ आई और उसने कहा- रिया है क्या?मैं तो पहले चौंका और फिर बोला- कौन रिया.

दोस्तो, आप समझ नहीं सकते कि मुझे लंड चुसाई में कितना आनन्द आ रहा था. सेक्सी बुर्का फोटोपर दीदी ने कहा- तुम अपने जीजा जी के साथ चली जाओ, मैं नहीं जाऊंगी।मैं मान गई और जीजाजी के साथ मॉल में घूमने के लिए चली गई।जीजा जी ने अपनी बाइक निकाली और मैं उनके पीछे बैठ गई.

भाभी की चुदास भड़क गई तो वो 69 में होकर मेरे लंड को मुँह में लेके चूसने लगी.बीएफ मूवी चलती हुई: आर्थर ने सिर्फ अपने कंधे उचकाए और मैंने मेहमानों को मेज के गिर्द बैठने का आमंत्रण दिया और कहा- कोई बात नहीं, जब जाएँगे, तो साथ ले जाइयेगा.

अचानक रश्मि उठी और घोड़ी बन गई, घोड़ी बनते ही बोली- चोदो मुझे, फाड़ दो मेरी चूत और गाण्ड.वो कम से कम 15-16 लंड अपनी चूत और गांड में ले चुकी है और हर रोज़ चुदाई करती है.

सेक्स वीडियो सेक्सी ओपन - बीएफ मूवी चलती हुई

पूजा हटने को हुई तो मैंने मना करते हुए सुहानी से कहा कि साली से कैसी शर्म.उसकी गांड बहुत टाइट थी और और लंड घुसेड़ने में मेरी गांड फटी जा रही थी.

मैंने सोचा कि कहीं आंटी वो झाग वाली बात न मालूम हो और मुझे रात को उसी बात को लेकर डांटेगी तो नहीं. बीएफ मूवी चलती हुई मॉल में जाकर मैंने और मकान मालिक ने बहुत देर तक शॉपिंग की और जब शाम हो गई तो उसके बाद हम दोनों लोग एक दूसरे के हाथों में हाथ डाले हुए कार में आकर बैठे और बड़ी देर तक कार में चूमा-चाटी की.

मुझे देखते ही बोलीं- चल मेरे शेर खाना खा ले, आज तूने बहुत मेहनत की है.

बीएफ मूवी चलती हुई?

मुझसे रहा नहीं गया, मैं दीदी को चेहरे से पकड़ कर मुँह में धक्के देना लगा. ?भाबी- उनका लंड तुम्हारे लंड का आधा है वैसे भी तुम्हारा लंड मोटा भी काफ़ी है, जिस किसी की भी चुत में जाएगा, फाड़ के रख देगा. फ़िर मैं उनके जिस्म को सहलाता हुआ उनके पीछे गया और उनकी गांड के छेद पर अपना लंड टिका दिया.

मुझे नेहा ने कोई बारह बजे उठाया और बोली- यह क्या हाल बना रखा है बिंदु?मैं बुरी तरह से चौंक उठी और बोली- क्यों क्या हो गया?नेहा मुझसे बोली- यही तो मैं पूछ रही हूँ, इस तरह से नंगी क्यों पड़ी हो. मैंने देर न करते हुए उसे सीधा लिटा कर उसकी गांड के नीचे तकिया लगा कर जो अपना लंड उसकी चूत में डाला, तो फक की आवाज़ के साथ लंड सीधे चूत की दीवार को चौड़ा करता हुआ पूरा अन्दर तक चला गया. माफ़ कीजिये दोस्तो, इस वक्त मैं एक शेर सुनाने से अपने आपको नहीं रोक पा रहा हूँ.

तो पता चलता है कि तुम कितने अच्छे हो जो अपनी गर्लफ्रैंड की कसम को मानते हो।और ऐसे ही कहते कहते वो रोने लगे गयी, उसकी आंखों में आंसू आने लग गए. मॉम ने ब्लैक कलर की जाली दार ब्रा, ब्लैक पेंटी एंड उसके ऊपर सनी लियोनी जैसे पेंटीहोज पहनी हुई थी. मैंने उससे पूछा- कहां जाना होगा?तब उसने मुझे बताया- पास के ही गाँव की रहने वाली है, वो आज अपनी भाभी के साथ वो पास वाले हॉस्पिटल पर आने वाली है.

भाभी- नहीं यार मत उतार… चल देखो कितना तना हुआ है… अलग अलग ढिबरी दिख रही हैं. मैं जान गया था कि पूरा बदन मैं चाटूँ उसके काफी पहले यह रांड लौड़ा चूत में घुसेड़ने के लिए शोर मचाने लगेगी.

वो कुछ देर तक हिला नहीं और जैसे ही मेरा दर्द थोड़ा सा कम हुआ तो उसने धीरे धीरे से लंड को आगे पीछे करना चालू कर दिया.

मैंने कहा- भाभी नसीब देखने के लिए क्या दिक्कत है… क्या मैं कोई मदद कर सकता हूँ?भाभी बोलीं- तुम ही मेरे नसीब को दिखा सकते हो.

भाईजान ने मेरी चूची को मेरी करवट के नीचे से निकालने की कोशिश की, पर निकाल ना सके. उसके बाद यह सिलसिला काफी समय तक चला।एक मैं उनके घर गया तो वो अन्दर खाट पे सोयी थी, मैं भी जाकर उनके कमर के पास उसी खाट पे बैठ गया, हमारी बातें शुरू हुई, कुछ बाद उन्हें खांसी होने लगी, वो अपने हाथ सीना दबाने लगी, इसी में उनके ब्लाउज का एक बटन खुल गया. इसके बाद मैं नीचे लेट गया और वह मेरे ऊपर चढ़ कर मेरे लंड को अपनी चूत में डाल कर ऊपर नीचे उछलने लगी.

दीदी बहुत सेक्सी तरीके से गांड हिलाते हुए मेरे पास आईं और पूछा- कैसी लग रही हूं?तो मैंने कहा- बहुत सेक्सी माल लग रही हो. एक दिन जब मैं बिल्डिंग में उससे टकराया तो उसने मुझे एक कातिल सी स्माइल दी. जब तक शक्ल ठीक ठाक है और मम्मे नहीं लटक जाते, तब तक चुत का धंधा चलता रहेगा और तू चलती रहेगी.

मकान मालिक बोल रहा था कि मैं तुमको बहुत दिनों से चोदना चाहता था लेकिन आज तुमको चोदने का मौका मिला.

मैं यहां ऊपर तुम्हारे साथ बेड पर सोऊंगा, चारपाई पर 2 लोगों से सोया नहीं जाता. पर दूसरे दिन राघव ने मुझे अपने प्यार से समझा ही लिया और बिना मेरी मर्जी सम्भोग करने ना करने का उसने वादा किया. भाभी भी उसी स्टेशन पर उतर गई मेरे साथ,मुश्किल से 4-5 लोग ही थे इस प्लेटफॉर्म पर भी.

भाबी का इस तरह लंड चूसना मानो कोई परमसुख की प्राप्ति हो, भाबी जिस तरह मेरे लंड को पकड़ कर मुँह में आगे पीछे कर रही थीं उससे लग रहा था कि वे मेरा सारा रस पी जाने को व्याकुल थीं. इसलिए मैं अपनी लाइफ की अनजान फीमेल के साथ चुदाई की कहानी आपके साथ शेयर कर रहा हूँ. दीदी ने गुलाबी रंग का पंजाबी सूट, पैरों में पंजाबी जूती और आंखों पर नज़र का चश्मा लगा था.

शुरुआत में उसे लंड का स्वाद थोड़ा अजीब लगा लेकिन बाद में वो उसको लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी थी.

उसने मुझसे पूछा- क्या मुझे किसी सेक्स उत्तेजना वाली कोई गोली, स्प्रे या कंडोम की जरूरत तो नहीं?मैंने मना कर दिया, उसने मुझे अपना कार्ड दिया और कहा- फ्री टाईम में बात करना. साथ ही अपने खड़े होते लंड को अपने हाथ से दबाने की कोशिश कर देता, जिससे लंड दबने की बजाए और फूला जा रहा था.

बीएफ मूवी चलती हुई और कुछ देर बाद ही दीक्षा की चूत ने भी काम रस छोड़ दिया।उसके बाद मेरे लंड और पोते चूसने की कमान दिशा ने संभाल ली और उसके दूध प्रीति दबाने और चूसने लगी, दीक्षा ने दिशा की चूत पकड़ ली, उसमें एक उंगली डाल कर अंदर बाहर करने लगी और चूत के दाने पर अपनी जीभ चलाने लगी जिससे दिशा भी सिसियाने लगी. फिर हमें मौका मिला, मेरे घर वाले सब शादी पर दूसरे शहर जा रहे थे, मैं घर पर रुक गया, कह दिया कि काम काफी है, छुट्टी नहीं मिल सकती.

बीएफ मूवी चलती हुई मैं उन्हीं आवाजों से सिसकारियों से और जोश में आकर उनकी चुत चोदने लगा. लगभग 10 मिनट तक मैंने उसकी गांड की चुदाई की और फिर एकदम से मैंने सहर को अपने से अलग किया और उसे पलट दिया और पीठ के बल बेड पर पटक दिया.

अशोक बोला- माय डार्लिंग तू अब मुझसे पूरा महीना चुदेगी और कोई नहीं चोदेगा तुमको.

बिहारी बीएफ भोजपुरी

ऐसा करते करते हमने कई बार पानी के अन्दर एक दूसरे को किस भी किया, हालांकि ज्यादा देर नहीं क्योंकि सांस भी लेनी होती है. अब मेरी मौसी नीचे से नंगी हो गयी थी, मौसी ने नीचे चड्डी नहीं पहनी थी. क्योंकि पहले उनको जो कुंवारा लड़का मिला था, उसके साथ रानी दीदी ने पहले चुदाई की थी.

वो मुझसे बोलीं- आज रात को अपने रूम का दरवाजा अन्दर से बंद ना करना क्योंकि आज तेरी सुहागरात मनवाई जाएगी. बस उसने बिना एक पल गंवाए अपनी माँ की चुत में एक ही झटके में अपना लंड अन्दर कर दिया. इसी बीच भाबी ने मेरा निक्कर उतार कर मेरे लंड पकड़ कर ज़ोरों से दबाने लगीं.

चूंकि वो बहुत ही सेक्सी थी, एक बच्ची हो जाने के कारण वो और भी ज्यादा निखर गई थी उसकी चूचियों में दूध भरा रहने के कारण और भी भराव आ गया था.

उस पर अंग्रेजी में Agent Arovocateur लिखा था लेकिन मुझे तो उस पैंटी में भी मैडम की तस्वीर दिखाई दे रही थी।इतने में मुझे कमरे से कुछ हलचल दिखाई देने लगी मैं बिना देर किए कमरे की खिड़की के पास आ पहुंचा जहाँ से मुझे अंदर का नजारा साफ दिखाई दे रहा था लेकिन मैं उससे तिरछा खड़ा हो गया जिससे कि मैं उनको ना दिख पाऊं. सोचा कि मौसी की चूत चोद कर मजा भी मिलेगा और पुण्य का काम भी हो जाएगा. फिर उसने शहद की शीशी में मेरा लंड डाला और उसको अपने मुख में लेकर चूसने लगी जैसे कोई बच्चा लालीपोप चूसता है.

उसके मस्त मक्खन मम्मों को मसलने से मेरी हालत और भी खराब होने लगी थी. मैंने उससे दोस्ती कर ली और उसे अपने जिस्म की नुमाईश करके पटा लिया और अपने घर बुला लिया. उसके बाद चंदर बोला- अपनी टांगें चौड़ी करके लेटो, अब मैं तुम्हारी चुत को चाटूंगा और खाऊंगा.

मैं अपनी सहेली से बहुत बार ये बात सुनी थी कि मकान मालिक अपनी नौकरानी को चोदता है और अपनी किरायेदारों की औरतों को भी चोदता रहता है. अब मुझे कोई मज़ा नहीं आ रहा था बल्कि मैं दर्द से रो रही थी,कुछ मिनट के बाद चंदर बोला- चलो अब चल कर दिखाओ.

कुछ देर बाद शिखा ने मेरे गाल को चूम कर मुझे उठाया- मेरे प्यारे मैगी इधर कहां सो गया? चल इतना बड़ा बेड है, उधर चल. मैं भी उनके पास में ही खड़ा रहा और हम दोनों के बीच सामान्य बातें होती रही. हम दोनों ने कभी हफ्ते 15 दिनों में उसे बुला कर ऐश करना शुरू कर दिया.

हां जाने से पहले मैंने अपनी चुत की झांटों को पूरी तरह से साफ़ करके चुत को पूरी मुलायम कर लिया.

मैंने भी खाना खाना शुरू कर दिया।दिशा का ध्यान मेरी थाली पर ना होकर मेरे पजामे के उस हिस्से पर था जहाँ लंड होता है और वो मेरे लंड वाली जगह पर बड़ी गौर से देख रही थी. फिर बोली- हां… अब खड़े लंड के टोपा को मुँह में ले और कुत्ते की तरह जीभ निकल कर पूरी मार. वो देख कर तो जैसे मेरे दिमाग़ में एक शरारत सूझी और मैं उनकी पैंटी पर बने हुए हर एक होंठ को अपने होंठों से चूमने लगा.

धीरे धीरे उनका दर्द वाला चेहरा बदलकर कामुक सिस्कारियों में बदल गया. रात को मॉम ने किचन में आकर नवीन के साथ अपनी चुदाई करवा ली थी और वे दोनों झड़ कर किचन के फर्श पर ही पड़े हांफ रहे थे.

फिर थोड़ी देर में आंटी झड़ गईं और उनका पूरा रस मेरे मुँह में चला गया, जो नमकीन और टेस्टी था. मैंने कुछ दिन तक दीदी को नहीं घूरा और कुछ दिनों के बाद वो मुझे गुस्से से देखने लगी थीं. अब मकान मालिक मुझे एक फिक्स होटल में लेकर जाता है, उधर उसने सैटिंग बना रखी है.

बीएफ कुंवारी लड़कियों की

मेरे साथ बेडरूम में आते ही नीलम ने मेरी शर्ट उतार दी, पूनम ने मेरी पैंट उतार दी.

फिर मैं ज्योति को लेकर सीधा उसके घर आ गया और उसके पापा को फोन करके उसके एडमीशन कराने की बात बताई. मैंने मामी जी के कान में बोला- मामी जी, चलो बाथरूम में चलते हैं, वहाँ पर मज़े करेंगे. मैंने जल्दी से बोतल को पिंकी की चूत पे रखा, उसकी चूत से टप टप करके जूस गिरता जा रहा था.

जैसे ही मैंने चारों और जीभ फेरी, उसकी एक मादक सीत्कार ने मेरा जोश और बढ़ा दिया. उसको चोदते हुए बहुत देर हो गई थी, पर मेरा पानी निकल ही नहीं रहा था. सेक्सी कार्टून फोटोशाम को मेरी माँ काम्या के साथ घर आईं तो उसे देख मेरे अन्दर लगी आग को जैसे बुझाए जाने का जरिया मिल गया.

मैंने धीरे धीरे अपना पूरा लंड पूनम की गांड में डाल दिया और पूनम के ऊपर चढ़ कर उसे चोदने लगा. जैसे ही मैंने कपड़े निकाले, उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और चूमने लगी.

तभी सामने से एक ट्रक वाला तेज़ी से निकल गया, जिसके कारण उस लड़की का बैलेन्स बिगड़ गया और वो सड़क के किनारे जा गिरी. जब वो चल रही थी तो उसकी मटकती गांड का नजारा किसी को भी उसका जबर चोदन करने को मजबूर कर सकता था. उन्होंने मुझे रोकते हुए कहा कि आप भी इधर ही रुक जाओ बारिश तेज है और आपने बताया कि आपका घर भी दूर है.

उसने कहा कि उसके माता पिता उसे कहीं और जॉब करने को कह रहे है! यहाँ की तनख्वाह उन्हें ठीक नहीं लगती और उसे यही काम करने का मन है लेकिन माता पिता की बात ही माननी पड़ेगी!वो तीन महीने और रूक कर जाने वाली थी. चाची अब जोर जोर से कराह रही थीं, लेकिन उनकी कराह वहां सुनने वाला कौन था? चाचा तो भांग पी कर बेहोश पड़े हुए थे. मैंने पूछा- कौन?बाहर से आवाज आई- मैं सविता, मुझे तुमसे बात करनी है.

थोड़ी देर पहले ही तो बेचारे डॉक्टर साहब मेरी नीना को कंडोम लगाकर चुदाई करने का उपदेश दे रहे थे, मगर नीना की चूत की गर्मी में ऐसे बेहाल हुए कि स्ट्रेचर पर मेरी प्यासी बीवी को अपने अलग अंदाज़ में बिना कंडोम के ही चोदने के लिए बेक़रार हो गए.

मैंने उसे फिर तैयार होने को बोला और वो मस्ती में एकदम से मुझे लिपट गई. हम लोग आपस में बतियाते हुए अपने चीज़ बर्गर खाने ही लगे थे कि अचानक बहुत सारी जनता रेस्तराँ में दाखिल हो गई और काफी भीड़ हो गई.

’मॉम अपनी कामुक आवाजों में नवीन को बड़बड़ाए जा रही थीं ‘घर क्यों जा रहा है कमीने. वो काफी अन्दर तक मेरे लंड को लेने की कोशिश कर रही थी, पर ले नहीं पा रही थी. मेरी वाइफ कभी मेरे लंड को मुँह में ही नहीं लेती, इसलिए मैं बाहर लड़कों से चुसवाता रहता हूँ.

मैंने भी देर नहीं की और अपने पूरे कपड़े खोल कर अपने लंड को चाची की चूत में घुसा दिया. मुझे नहीं पता, बस मैं पागल हो रहा हूँ…” इतना कह कर मेरी आँखों से आँसू टपक गए. विशाल भैया मेडिकल रिप्रेज़ेंटेटिव का जॉब करते थे, तो उन्हें काफ़ी बार ऑफिस के काम से सिटी के बाहर जाना पड़ता था.

बीएफ मूवी चलती हुई मैं सोच रहा था कि जब साली बेहद गर्म हो जायगी तभी चूत में लंड दूंगा. मैं उससे फिर बात करने लगा- सोनिया जग रही है या सो गई?सोनिया- जग रही हूँ भैया बोलिए?मैं- सोनिया मुझे कुछ चाहिए है.

बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई वाली

वो अपना चेहरा विंडो के पास लाकर बोली- मैं आपको कहीं छोड़ दूँ?तो मैंने एक बार उसे मना किया. मुझे अब खुद पर नियंत्रण करना मुश्किल हो रहा था, मैं बोला- तुम्हें पता होगा कि मैं शादीशुदा हूँ. उसने अपनी टांगों को और चौड़ा करके चूत को बिल्कुल लंड सामने ठोकने के लिए अड़ा दिया.

कुछ देर बाद मैंने उसको पास बुलाया और उसको समझाया कि तुम्हें मैं अपनी छोटी बहन समझते हुए बताती हूँ कि इन कामों से दूर रहो. दीदी ने कहा- तुम कोल्ड ड्रिंक लेकर आओ, मैं दस मिनट में बाथरूम हो कर आती हूं. मामी भांजे की सेक्सी कहानीआंटी ने फिर से मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगीं, जिससे मुझे मजा आ रहा था.

और कुछ देर बाद ही दीक्षा की चूत ने भी काम रस छोड़ दिया।उसके बाद मेरे लंड और पोते चूसने की कमान दिशा ने संभाल ली और उसके दूध प्रीति दबाने और चूसने लगी, दीक्षा ने दिशा की चूत पकड़ ली, उसमें एक उंगली डाल कर अंदर बाहर करने लगी और चूत के दाने पर अपनी जीभ चलाने लगी जिससे दिशा भी सिसियाने लगी.

इसी बीच हम दोनों ने थोड़ी दारु भी पी ली जो पूल के किनारे पर ही रखी थीहम दोनों के कपड़े धीरे धीरे हमारा साथ छोड़ रहे थे, मैं उसके और वो मेरे कपड़े उतार रही थी, ठन्डे पानी में भी हम एक दूसरे के जिस्म की गर्मी महसूस कर रहे थे. मेरा रिसपोंस मिलते ही उसने मेरी कमर में हाथ डाला और मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों को चूसने लगा.

मैं भी बस यही पल तो जीना चाहता था, तो मैं भी पूरी तरह से खुल गया और उसका साथ देने लगा. फिर 10-15 मिनट बाद उसने मुझे खींच कर अपनी गोद में डाल लिया और मेरे मम्मों को बुरी तरह से मसलने लगा. मामी की आवाज़ निकली ‘आह…’ और फिर एक और झटका मारा तो पूरा का पूरा मेरा लंड मामी की चूत में चला गया.

ये कहते हुए उसने उसे खुश किया और उससे फिर से पूछा- अगर आपको बुरा ना लगे तो मैं आपसे एक निजी सवाल पूछूँ.

दीदी से मुझसे पूछा- क्या तुम मेरी चुदाई करने के भी पैसे लोगे?मैंने कहा- अब आप ही बताइए कि अगर घोड़ा घास से यारी करेगा तो खाएगा क्या?दीदी ने हंस कर ओके कहा और बात बदलते हुए कहा- तो मेरा कूलर कब फिट करोगे?मैंने दीदी से कहा- दिल्ली से लौटने के बाद कर सब फिट कर दूँगा. अजय लो… मैं आ गई, अब बोलो कैसे क्या देखना है?”ओह कोमल बहुत सेक्सी लग रही हो. मैंने मैडम के साथ बैठ कर खाना खाया, खाने के बाद केसर का दूध का गिलास पिया.

सेक्सी भाभी सेक्स सेक्समैंने कहा- मैडम आपने पहले बताया नहीं… नहीं तो मैं आपके लिए कोई गिफ्ट ले आता. उसने अपनी गांड उठा कर लंड को झटका दिया तो मैं जोर जोर से धक्के पर धक्का मारने लगा.

भोजपुरी वाली बीएफ

अंकल ने पूछा- दिल्ली में इतनी सर्दी ही होती है क्या?मैंने कहा- हां अंकल. मैं नहीं चाहता कि मेरी बहन, चाहे वो मुँह बोली ही क्यों ना हो, किसी गंदे काम में लिप्त रहे. लंच के बाद हम लोग वापिस आ गए, अलका को उसके घर ड्राप किया और मैंने अपने घर आकर तीन कहानियां उसको भेज कर दीं और फिर अपनी सेक्रेटरी अनु जेम्स को चोदने के लिए बुला लिया.

और सुनो जैसे ही लंड का पानी लगे कि निकलने वाला है, उसे चुत से बाहर निकाल कर गीता के मम्मों और मुँह पर झड़वा देना. मामी बोली- तो अंदर ही झाड़ दे!मैं और ज़ोर ज़ोर से चुदाई करने लगा और थोड़ी देर बाद उसकी चूत में ही झड़ गया. मैंने पायल भाभी की गांड के छेद में उंगली करने लगा और पायल भाभी ‘आह आह.

इससे पहले मैं कुछ और डायलॉग मारता, जूसी रानी लौट आयी और आकर मेरी बग़ल में अपनी जगह पर बैठ गयी. मौसी जाग गई और एक बार तो हैरानी से मुझे देखा, फिर खुश हो कर मुझे अपने नंगे बदन से चिपका लिया. जो मुझे फील हुईं, लेकिन उस वक़्त मज़ा इतना ज़्यादा था कि मुझे ये सब अच्छा लगा.

खैर छोड़ो… कुछ भी बहाना बना दूँगी!मैंने भाभी से पूछा- एक बार और करें?भाभी बोली- तुम्हारे खून मुंहलग गया है, आज नहीं, कल करेंगे. दस मिनट तक उसी स्पीड में दौड़ने के बाद वो मेरे करीब आईं, मशीन को बंद किया और मुझको सहारा देकर चेयर पे बिठाकर बोलीं- बैठो यहां पे… मैं तुम्हारे लिए प्रोटीन शेक लाती हूँ.

अब तक आपने पढ़ा था कि मुझे एक पुलिस अधिकारी ने अपनी बहन बना कर मुझसे अपना काम करवा लिया था लेकिन उसने मुझे खुद हाथ भी नहीं लगाया था बल्कि उसने मुझसे राखी बंधवाने का इरादा भी जताया था.

लोग ख़ुशी से चहक रहे थे, वातावरण खुशनुमा था, सैनिक आर्मी बैंड की धुनों से कदमताल मिलाते हुए चल रहे थे और आसमान में महान रूस की पराक्रमी वायु सेना के विमान उड़ रहे थे. राजस्थानी सेक्सी घाघरामैंने उनकी टांग को उनके सर के साथ लगा दी और मैं ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. ganesh सेक्सीइसलिए वो चुत के अन्दर तो जीभ ना डाल सका मगर उसने मेरी चुत के होंठों को चाट चाट कर मेरा बुरा हाल कर दिया. तो मैं मना करने लगा लेकिन उसने कहा- मेरी तरफ से गिफ्ट समझ कर रख लो!तो मैंने वो पैसे ले लिये और अपने घर आ गया.

पिंकी की चूत से नॉन स्टॉप जूस निकलने लगा, विक्की का मुँह पूरा जूस से भर गया.

दीदी बेशर्मी से बोलीं- अभी तक 8 से सेक्स किया है और तुम नौंवे हो जिसके साथ चुदाई करूंगी. अब उसको पूर जितना भी खो ज सकता था, खोल कर अपनी ज़ुबान उसमें घुसा दी. मैंने पूछा- कमला तुम्हें मजा आ रहा है ना?वो बोली- हां, मजा तो बहुत आ रहा है, पर बहुत डर भी लग रहा है.

क्लब विजय नगर के एरिया में था, लेकिन पहले हम राजवाड़ा, सर्राफा होते हुए फिर क्लब पहुँचे. मैं बोला- कंपनी की गाड़ी बुलाई थी क्या?‘अब से ये कार ही लेने आएगी, विवेक बाहर गए थे, वो आ गए हैं. अब भाभी की गांड ऊपर को उठ गई थी और उनके ऊपर मैं चढ़ कर गांड मार रहा था.

हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी में बीएफ

मैंने लंड को उसकी चूत के छेद पर लगाया और धीरे से अन्दर की ओर धक्का दे दिया, जिससे लंड उसकी चूत में घुस गया और वो चिल्लाने लगी- आआऊउ एई… निकाल ले बाहर… वरना मैं मर जाउंगी…वो छटपटाते हुए मेरे बाल नोंचने लगी. मैं समझ गया था कि चाची अपनी सहेलियों के संग चूची और चुत में रंग लगा कर होली खेलने की बात कर रही थीं. भाभी के मुँह से सेक्स की बात सुनते ही मेरा लंड तन कर खड़ा हो गया और मेरा मन सेक्स करने को उत्तेजित हो गया.

शादी में उसकी बिगड़ी चाल देख कर कोई भी शक कर सकता था कि कहीं ये ठुक कर तो नहीं आ गई और हम फॅस सकते थे.

पर बदले में मुझे भी उसे ओरल की परमिशन देनी पड़ीजब आप प्यार में होते हो आप कुछ भी गलत या सही का अंदाजा नहीं लगा सकते.

फिर मैंने आंटी को बेड पर लिटा लिया और उनकी पेंटी को उनकी चिकनी जांघों पर से सरका कर उतार दिया. लाइट नहीं आ रही थी, अँधेरा था, मौसी आगे आगे चल रही थी और मैं पीछे पीछे… थोड़ी दूर चलने पर उनका घर गांव के किनारे था, आ गया. सेक्सी ब्लू स्टारवो एक हाउसवाइफ की मेल थी, उसका पति बिजनेस मैन था जो कि बिजनेस की वजह से अधिकतर समय बाहर ही रहता था.

मैं सामान्य हुआ तो वो फिर से मेरे चूतड़ों को हल्के हल्के से सहलाने लगा. मैं फिर से उसके गालों पर किस करने लगा और धीरे धीरे गालों पर से गले पर किस करने लगा. हम दोनों लोग एक दूसरे को देख कर मुस्कुराने लगे और केमिस्ट भी हम दोनों लोगों को देख कर मुस्कुरा रहा था.

उसने बोला- जाओ अपनी सबसे लंबी हील वाली सैंडल पहन कर आओ, जिसे पहन कर तुम मॉडल रैंप पर कैटवॉक करते हो. शायद उसको भी याद आ गया कि सील टूटने की कहानी में कई बार उसने इस बात को पढ़ा था और खून निकलना एक स्वभाविक क्रिया होती है.

आज हमें कोई कुछ नहीं कहने वाला आज हम अपनी मर्ज़ी से ही जो करना है करेंगे.

अब तक आपने पढ़ा था कि मैं भाभी को बेहद जंगली तरीके से चोदने की बात मान कर अपने दोस्त नीरज के पास आया था. फिर आंटी कामवासना से पागल होकर जोर जोर से चिल्लाने लगी- चोद दो मुझे… उम्म्ह… अहह… हय… याह… फाड़ दो मेरी चुत को!आंटी की ऎसी बातें सुनकर मैं भी और ज्यादा जोश में आ गया और आंटी के नंगे बदन के ऊपर आकर मैंने अपना 8 इंच लम्बा लंड आंटी की चूत में डाल दिया और धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा. वो मेरे और नजदीक आ गए और मुझे अब साफ साफ अपने चूतड़ पर लंड की गर्माहट, महसूस हो रही थी.

सेक्सी मारवाड़ी घाघरा वाली कुछ ही देर मैं भाभी के मम्मों का मीठा दूध मेरे गले को तर करने लगा, मैं दबा दबा कर भाभी के मम्मों का रस निचोड़ने में लगा हुआ था. खैर पिछले दो तीन दिनों से मैं माँ के व्यवहार में कुछ चेंज देख रही थी.

वो बोली- ठीक है मुझे मालूम है, मैंने सुना भी है और अन्तर्वासना पर पढ़ा भी है. साले ने पता नहीं कितनी चूतों को रगड़ा है, आपसे बड़ी बड़ी औरतों को चोद कर वो बहुत खुश रहता है. फिर मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया, ब्रा खुलते ही उसकी चूचियां खुली हवा में फुदकने लगीं.

प्रियंका चोपड़ा का बीएफ वीडियो एचडी

हम दोनों रिलेशन बनाए रख सकते हैं। मैं उस दिन वापिस आकर बहुत रोया। लेकिन उसी दिन मैंने खुद से वादा कर लिया कि जब तक वो मेरे साथ है वो कभी उदास नहीं होगी। हम एक साल तक रिलेशन में रहे और उसके बाद वो चली गई। उसके बाद हमारी कभी बात नहीं हुई।प्लीज मुझे मेल करके जरूर बताएं कि आपको मेरी रोमांस भरी सेक्स कहानी कैसी लगी।[emailprotected]. मैंने आपको अपनी पिछली कहानीमेरे दोस्त का भाई मेरा पति बन गयामें बताया था कि मैं अमित जी से कैसे चुदा. और सुन जाने से पहले यह सुनती जा कि कल जैसे ही मेरा फोन आए, बिना कुछ सोचे बिना चड्डी ब्रा पहने आ जाना.

मैं उसकी चूत मारना चाहता था पर वो यहां हो नहीं सकता था क्योंकि जंगल के अन्दर इस खुली जगह पर कोई भी आ सकता था. क्षमा कीजिए… मेरा नाम आर्थर है, और यह मेरा दोस्त एरिक!” उम्र में बड़ा दिखने वाला लड़का हमारी और देख कर बोला.

थोड़ी देर तक यूं ही नाभि का मजा लेने के बाद मैं नीचे की तरफ बढ़ा और उसकी चूत पे एक चुम्बन किया.

फिर मोहन ने सीधा होकर मुझे सीधा लेटा दिया और मेरे जाँघों को खोल कर अपने लंड पे थूक लगा दिया. उसने अपनी टांगें चौड़ी ही की हुई थी, तो मैंने अपना लंड निशाने पर रखा और अन्दर डालने के लिए हल्का सा धक्का लगाया, क्योंकि उसकी चूत पहले से ही गीली थी तो आधा लंड फट से अन्दर घुस गया. अब वो कहने लगी- अब सब्र नहीं होता… डाल दे मादरचोद डाल अपना लंड मेरी चूत में… मिटा मेरी प्यास.

भाभी की गांड देख मेरा रोम रोम सिहर उठा, मैंने जल्दी से अपने चारों ओर देखा कि कोई मुझे देख नहीं रहा है; फिर उनकी गांड देखने लगा; मेरा लंड फिर तन चुका था. मेरी हालत अब थोड़ा बिगड़ने लगी कि तभी बालू बोले- इधर तख्त पर आइये!अब हम दोनों तख्त पर चले गये. भाभी ने आँखें बड़ी करते हुए पूरा मुँह खोला और मुँह पर हाथ रखते हुए भाभी बोली- बाप रे!मैं- क्या हुआ भाभी? मुझे सचमुच कुछ बिमारी है क्या?मेरा 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लण्ड अपने पूरे आकार में था.

वो काफी देर तक मेरी गांड को चाटने के बाद मेरी चूची को दबाने लगा और मेरी चूची को चूसने लगा.

बीएफ मूवी चलती हुई: उसने मेरा मुँह अपनी चुत से हटा कर अपनी चुत को मेरे लंड के ऊपर रख दिया. उसने कहा- जी पूछिए?उसने कहा- मेरी एक चाची की लड़की है वो भी आपकी उम्र की ही है.

ये मुझे बाद मैं पता चला वो मुझसे माचिस मांगने के बहाने बातचीत बढ़ाने आयी थीं और मुझे अपने चुचे ज्यादा दिखाने लगी थीं. सैटरडे की लास्ट मेट्रो थी और गिने चुने ही लोग थे ट्रेन में!मैं भी थका हुआ था इसलिए लेडीज कम्पार्टमेंट में ही बैठ गया भाभी के साथ वाली सीट पर. अगर कही चुदाई कर ली तो मिलने के बाद सबसे पहले चुदाई की मस्ती पर चर्चा करते हैं.

वो शायद मनोरमा की बात समझ नहीं सका तो उसने उससे सीधा ही पूछा- मेरा मतलब है जो तुम्हारी टांगों के बीच में लटक रहा है, वो खत्म हो चुका होगा?मैडम जी, मेरी जवानी पर तरस खाइए और ऐसी बात ना करिए.

अभी मेरा लंड सुपारे से एक दो इंच ही ही अन्दर गया था कि वो फिर से मचली, मैं उसे ज़ोर से किस करने लगा. मैंने कहा- पूजा यार, मेरी लुँगी निकाल के पकड़ लो… अब क्या शरमाना! अगर हमने चूत चुदाई करनी ही है तो खुल के करें ना!मेरी बहू पूजा ने फौरन मेरी लुँगी निकाल दी और मेरा लंड पकड़ कर मसलने लगी, वो बोली- आपका तो बड़ा कड़क मोटा है, किसी जवान से क़म नहीं है. उसके बाद तो नेहा और उसकी सास को हमेशा साथ साथ ही चुदाई करता था और वो दोनों मुझ से इतना खुश थी कि हर चुदाई के बाद मेरे लाख मना करने के बाद भी 2000 रुपया दे ही देती थी.