बीएफ पिक्चर साड़ी वाला

छवि स्रोत,बीएफ चुदाई के वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

भाभी जी का बीएफ: बीएफ पिक्चर साड़ी वाला, इतने में बॉस आकर मुझे पीछे से पकड़ लिया और मेरी गर्दन पर चूमते हुए मेरे गाऊन में हाथ डाल दिया और मेरी चूचियों को मसलना शुरू कर दिया.

मोटी औरत का बीएफ एचडी

फिर मैंने अपने हाथ उसकी 34 की साइज की चूचियों पर रखे और जोर से उन्हें दबाने लगा. हिंदी बीएफ सेक्स वीडियो डॉट कॉमपहले तो मैंने उसे रोकना चाहा, फिर ये सोचा देखती हूं कि ये क्या करती है.

मुझे भयंकर पीड़ा हो रही थी, ऐसा लग रहा था कि किसी ने गर्म सरिया मेरी चूत में घोम्प दिया हो. एक्स एक्स बीएफ सेक्सी ब्लू पिक्चरउस दिन एक बजे तक हम दोनों ने तीन बार सेक्स किया, फिर वो अपने कपड़े पहन कर चली गई.

उन्होंने मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से मेरी चूत में अपना लंड पेल दिया.बीएफ पिक्चर साड़ी वाला: एक दिन मनोज का ऑफिस से दीपा के पास फोन आया कि दो दिन बाद सुनील आ रहा है मुंबई.

इस हॉट कॉलेज गर्ल की कामुकता और सेक्स स्टोरी और मेरे बारे में अपने विचार नीचे दी गई मेल आईडी पर शेयर कीजिए.फिर उन्होंने अपना लौड़ा हाथ से पकड़ कर मेरी गांड के छेद पर रखा और धीरे धीरे घुसाने लगा.

बीएफ वीडियो बीएफ ब्लू - बीएफ पिक्चर साड़ी वाला

यहाँ क्लिक करके अन्तर्वासना ऐपडाउनलोड करके ऐप में दिए लिंक पर क्लिक करके ब्राउज़र में साईट खोलें.उसकी चुत के शहद को चूसते हुए मैंने रितिका की चुदाई शुरू की ही थी कि उषा ने पलटी मारी और अपनी गांड मेरे मुँह के सामने कर दी.

मैंने किस करते हुए पूजा की चुत को जींस के ऊपर से ही मसलना शुरू कर दिया. बीएफ पिक्चर साड़ी वाला अब दादा जी मेरे पीछे से डालने लगे और मैंने अपनी टांगें चिपका लीं, ताकि उन्हें लगे कि लंड चुत में जा रहा है और वैसा ही हुआ.

मौका पाकर अनीता मेरे पास आई और कहने लगी कि आपसे अकेले में मिलना चाहती हूं.

बीएफ पिक्चर साड़ी वाला?

अब तक की चुदाई में ऐसा दो बार हो चुका था और मैं उन दोनों बार ऐसा महसूस कर चुकी थी कि मोहन भैया के लंड के मेरी चूत में थम जाने से मैं पानी पानी हो गई थी. मैं बचपन से ही शहर में रहता था जबकि मेरे बाकी के मित्र गांव में रहते थे. मुझे पता चल गया था कि वो कबीर ही था जो बाथरूम में आकर मेरे मजे ले रहा था.

इस पर भाभीजी ने बताया- संजय का वीर्य काउंट कम है और इस वजह से मुझको बच्चा नहीं हो रहा है. मैं- तुमको कैसे पता, मेरे पहले कितने बड़े थे?विनय फिर शर्मा कर दूसरी तरफ देखने लगा. अब रोज चुदाई का काम चलता था, आज भी जब कभी अजमेर जाता हूं, तो जरीना से जरूर मिलता हूँ.

मैं उसका मुँह देखती रह गई और सोच रही थी कि यह आख़िर मुझसे ही क्यों यह सब पूछ रहा था. मैंने उनसे पूछा- भाभी जी क्या आपके घर में किराए के लिए कोई कमरा खाली है. नीचे से मेरे दोनों चूचों को अपने हाथों में भर कर विकी मेरी घोड़ी को दौड़ाने लगा.

मेरी चूत के पानी की वजह से भाई का लंड मेरी चूत में फच-फच की आवाज करते हुए मेरी चूत की चुदाई करने लगा. जब वह स्टूल पर खड़ी हो रही थी, उसकी स्कर्ट थोड़ी ऊपर उठ गयी, जिसकी वजह से उसकी दूधिया टांगों की छोटी सी झलक दिखाई पड़ी.

दर्द और आनन्द से उसके मुंह से एक लम्बी आह निकल गयी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…एक लम्बी चीख शबनम के मुंह से निकली.

तुम तो बहुत अच्छे घर की हो; तुम में इतनी भी तमीज नहीं कि किसी के कमरे में जाते वक्त दरवाजा खटखटाना चाहिए?मैंने यह सब थोड़ा गुस्से में ही बोला क्योंकि शीना ने अंदर आकर बिचारी संजना की हालत पतली कर दी थी और उसके साथ साथ मेरी भी.

मेरा भी यही हाल था!मेरी बीवी भी अब बेकाबू हो चुकी थी उसने मेरा लन्ड कसकर पकड़ लिया और मुँह में लेने लगी. फिर कुछ मिनटों के बाद, मुझे सोनिया नाम की एक लड़की से एक संदेश मिला. मैं- क्या हुआ … बिकनी पहनने में देर क्यों लग रही है?दीदी ने सिर्फ हंस कर कहा- जरा सब्र रखो यार … पूरा मजा लेना है या आधा?मैंने कहा- पूरा मजा लेना भी है और देना भी है दीदी.

वो- मेरे साथ आए हो, इतनी अच्छी कंपनी दे रहे हो, तो मुझे भी सोचना पड़ेगा. कोई भी लड़की कितनी भी मॉडर्न या इंडिपेंडेंट क्यों न हो, वह हमेशा यही उम्मीद करती है कि लड़का पहले उसे प्रपोज करे. और आप भी नहा लो आपते भी चेहले और सीने पल मेले प्रेम की तुछ निशानियाँ रह गई हैं जिन्हें दीदी ने देख लिया तो मुझे ओल आपको जान से माल डालेगी.

चुदाई हो जाने के बाद वो मुझसे बोली- जिस दिन तुम मुझे पहली बार दिखे थे, मेरा दिल तुम पर आ गया था.

संतोष ने मैडम को मजे देने के लिए उनकी चूत में उंगली करना चालू कर दी. सच मानो दोस्तों, उसके हल्के पसीने से आने वाली खुशबू और वो अहसास को शब्दों में बयान करना मुश्किल है. मैंने अपनी झाँटों को अच्छे से साफ किया रेजर से और तैयार होकर निकल लिया होटल के लिए.

मैंने उसे बेड पर धकेला और उसकी टांगों को फैला कर चूत की फांकों में अपने लंड को सैट कर दिया. इतने में भाभी ने खुद ही पूछ लिया- दरवाज़े पर ही खड़ा रहेंगे या अन्दर भी आएंगे. फिर एक दिन मैंने एक गर्ल को जाते हुये देखा, तो मैं भी ऊपर चली गई और खिड़की से देखने लगी.

अब मैं बाहर सड़क पर कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था इस लिए मैं अपने ऑफिस की तरफ चला गया.

कुछ देर बाद भाभी के बच्चे के रोने की आवाज आई तो भाभी नंगी ही नीचे जाने लगीं. वो अपना एक हाथ मेरी चूची पर रखे थे और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत में धक्के मार रहे थे.

बीएफ पिक्चर साड़ी वाला मैंने महसूस किया कि रचना के चेहरे से साफ़ लग रहा था कि वो मेरी गैरहाजिरी की बात सुन ख़ुश हो गयी है. उसको पता था कि अगर वो मेरे कहे अनुसार काम करेगी तो उसे पैसे मिलेंगे इसलिए वो वैसा ही कर रही थी जैसा कि मैं उसको बता रहा था.

बीएफ पिक्चर साड़ी वाला उसकी भरी हुई जांघें, वो चुत का त्रिकोण … वो आधे आधे किलो के दोनों मम्मे … वो दो तरबूज जैसे चूतड़ … हाय क्या मस्त चीज थी यार … साला आदमी का लंड एकदम से सलामी दे दे. उसने अचानक से मेरी पीठ पर हाथ रख कर बोला- मैडम जी यहां कहां पर? सागर जी आप भी यहां?चूंकि सागर ऑफिस में काम से आता था इसलिए वो भी उसे जानती थी.

अभी बस 1 रूपए के सिक्के के बराबर गोलाई नजर आ रही थी, जो पीछे की तरफ मोटी होती जा रही थी.

सेक्सी वीडियो पिक्चर भेजिए

उस दिन सुलेखा भाभी अपनी पड़ोसन के साथ बाजार गयी हुई थीं और घर में बस नेहा और प्रिया ही थीं. और ये तुम्हारे लिए है बेटा!” शबनम ने अपना अनुभव दिखाते हुए अंकित को हैरत में डाल दिया था. नेहा मेरा अब इतना विरोध तो नहीं कर रही थी, मगर वो अब भी कसमसा रही थी.

भैनचोद क्या चूचे थे … मतलब क्या बताऊँ मुझे ऐसा लग रहा था कि बस खा जाऊं इनको. वो चुपके से बाथरूम में आ जाता और चूमा-चाटी करने के बाद फिर से एक मैसेज पर्ची पर लिख कर छोड़ जाता था. उसकी रफ्तार तेज होने लगी और उसके मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… जैसी आवाजें निकलने लगीं.

आह चोदो मुझे … अह्ह्ह्ह और तेज करो … मैं झड़ने वाली हूँ … आह उहह उंघह पापा ममैं गईए अहह.

” अंकित ने शबनम के कान में फुसफुसाते हुए उसके कान को अपने मुंह में रख कर चूस लिया. मैंने उसे अन्दर आने का इशारा किया, तो वो बोली- नहीं, मैं तो बस फिल्म देख रही थी कि मम्मी कितना एंजाय कर रही हैं. बहुत समय बीत गया था कि मनोज ने फिर मुझे एक दिन मिलने के लिए बुलाया.

”वाह, क्या बात कही तूने, आज तो लंड को दोनों खुराक मिलेंगी?”हां बाबू, वो सिन्हा साहब थे ना … वो मेरी गांड पर ही फिदा थे. लेकिन उन्हें खुश करने के लिए आपके द्वारा किए गए बलिदान की मैं सराहना करता हूं. वो अपने लंड को मेरे मुँह के करीब लाया और बोला- मेरी कुतिया … ले इसे चूस.

अभी तीन चार साल पहले ही तो कहीं और शिफ्ट हुए हैं वे!”उनकी बीवी बड़ी चुदक्कड़ थी. यह एक सच्ची कहानी है, हालांकि मैंने वास्तविकता में कुछ मिर्च मसाला जोड़कर उसे और ज़्यादा कामुक बनाने की कोशिश की है.

वो मेरे हाथ को अपने दूध से सरका कर अपनी चूत पर रखवा कर चूत रगड़वाने लगीं. पर यह तो बात तय थी कि शीना हम दोनों की इस इस चुदाई वाली बात को किसी के साथ नहीं शेयर करेगी क्योंकि मुझे तो पता था कि शीना भी मुझसे चुदना चाहती है. ये मेरी सच्ची कहानी है, जो मैं अपने एक दोस्त के माध्यम से आप सभी तक भेज रही हूँ.

मैंने पूछा- क्या हुआ … तुम्हारे पति ने तुम्हें अब तक चोदा ही नहीं है क्या?तो वो बोली- अभी तक सिर्फ तीन बार ही हमारे बीच सेक्स हुआ है.

उसने मेरे लिए सबसे अच्छा खाना, जो कि उसके होटल में बनता था, पैक करा दिया. अगले कुछ पलों के बाद उसने कहा- आह्ह … मैं आ रही हूं!वो जोर से चिल्लाते हुए झड़ने लगी. आलिया- आह … राज निकाल ले, दर्द हो रहा है … आह रहने दे … निकाल राज प्लीज … आह राज ओह माँ … प्लीज …मेरी बहन दर्द के मारे जोर से चिल्ला रही थी.

लगातार चार पांच धक्के अपनी पूरी ताकत व तेजी से लगाने के बाद मेरा लंड भी उसकी चुत में लावा उगलने लगा … मैं भी अपना सारा वीर्य प्रिया की चुत में उगलने के बाद ढेर होकर प्रिया पर गिर गया और अपनी उफनती सांसों को काबू में करने की कोशिश करने लगा. मैंने उसकी जीन्स पर हाथ रख कर उसके तने हुए लम्बे और मोटे लंड को ऊपर से ही मसलना शुरू कर दिया.

पीजी के मेरे सीनियर भैया मेरी बात मान गए और उन्होंने सभी लड़कों को हिदायत दे दी कि कल नौ बजे से एक बजे तक पीजी किसी कारणवश बंद रहेगा. दीदी बोली- मुझे बहुत डर लग रहा है क्योंकि मैंने कभी किसी लड़के के साथ चुदाई नहीं की है. अचानक से मैं उठी उफ्फ्फ कितनी गर्मी है …” कहते हुए मैंने अपनी टी-शर्ट निकाल फेंकी.

कोलकाता का सेक्सी वीडियो दिखाइए

उस दिन वो मुझे सिर्फ हाथ मिला कर गई थी, लेकिन उसकी आंखों में उभरते प्यार की लालिमा को मैंने पढ़ लिया था.

अब आप आगे की कहानी पढ़ें कि कैसे झटपट शादी और सुहागरात के बाद हमने अपना हनीमून मनाया. अमायरा मेरी मम्मी की बहुत ही लाड़ली थी और वो मेरे घर कभी भी कहीं भी आ जा सकती थी. लेकिन मैंने उसकी चूत को ही निशाना बना के लंड घुसेड़ दिया और नीचे हाथ लेजाकर उसके मम्में दबोच कर उसकी पीठ चूम चूम कर उसे चोदने लगा.

कुछ देर बाद मौसी ने अपने पैर की दो उंगलियों से मुझे चिकोटी काटी, तो मैंने पूछा- क्या हुआ?वो धीमे से बोलीं- दोबारा से वो सब करो. मैं ब्रा के ऊपर से चाची के मम्मों को सहलाने लगा और ब्रा के ऊपर से ही मम्मों को काटने लगा. वीडियो हिंदी बीएफ हिंदी बीएफमैं भाई की गोद में बैठ कर बीयर पी रही थी और भाई मेरे बूब्स को दबा रहा था.

मैंने अपने ब्लाउज की तरफ देखा तो मेरी ब्रा की पट्टी ब्लाउज से बाहर निकल गई थी, वो उसे ही देख रहे थे. बस कमी थी तो अमित की कामुक इच्छाओं को पूजा के आगे रखने की … जिससे अमित का सपना पूरा हो सके!आगे की कहानी अमित ने कुछ इस प्रकार बयाँ की:मैं रोज की भांति बेडरूम में गया.

देख कम्मो, तुझे लंड को ऐसे चूसना है!” मैंने उसकी उंगली जोर से चूसी और छोड़ दी फिर जोर से चूसी और उसे समझाया. वो इतना ज्यादा पानी छोड़ रही थीं कि अब तो बेडशीट भी गीली होने लगी थी. फिर मैंने अपनी एक उंगली पूजा की गांड से लगायी, तो पूजा उछल पड़ी और बोली- साले भड़वे, क्या तेरे को मेरी चूत पसंद नहीं है? कब से तू मेरी गांड के पीछे पड़ा हुआ है.

मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागभाभी की सहेली ने चुदाई के लिए ब्लैकमेल किया-1में आपने पढ़ा कि एक दिन मैं भाभी की गांड मार रहा था तो उनकी सहेली आ गयी, उसने हमारी चुदाई देख ली और विडियो भी बना ली. उन्होंने फिर से मेरा मुंह दीवाल की ओर कर दिया और अपने लंड में थूक लगाने लगे. मेरे दिल में बहुत धक धक हो रही थी क्योंकि मैं उसे फोन करने वाली थी.

मेरी बुआ जी, जो कि 50 साल के लगभग की होंगी, उनके पति भी कुछ साल पहले भगवान को प्यारे हो चुके थे.

इसके बाद मैंने उससे अपना लंड चूसने को कहा और बोला- अगर लंड चूसोगी तो 500 रुपये की टिप अलग से दूंगा. बीच बीच में मैं बेहद धीरे धीरे कह रही थी- रशीद मुझे जाने दो … तुम्हारे अब्बू बहुत नाराज होंगें.

उसने अपने दोनों हाथों से मेरे लंड को लोवर के ऊपर से ही पकड़ा हुआ था. फिर मैंने एक ड्रिंक बनाया और खड़की का पर्दा हटा कर बाहर गार्डन में देखते हुए शराब की चुस्की लेने लगा. वे यही कोई अट्ठाइस तीस के होंगे, मेरी हाईट के, मोटे तो नहीं पर हल्के दोहरे बदन के! थोड़ा सा पेट दिखता था.

मैं सोनी की फुद्दी को ऐसे चूस रहा था, जैसे किसी कुल्फी को चूस रहा हूं. न जाने कितनी देर से मैं उसके लंड पर कूद रही थी।आखिर में मैं अपने दोनों हाथों से अपने दोनों निप्पल करीब लायी और एक साथ उसके मुँह में डाल दिये. पूरा कमरा ‘उम्म्म्म … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ज़ोर से … और ज़ोर से उम्म्म्म … आआहह.

बीएफ पिक्चर साड़ी वाला बस मुझे इसी बात का थोड़ा सा दुख रहता है कि बनाने वाले ने मुझे शक्ल तो अच्छी दी है लेकिन मेरे लंड को भी थोड़ा और बड़ा कर देता तो सोने पर सुहागा हो जाता. अगले दिन मैं जब वहां गई, तो वो पहले से ही नंगे ही पलंग पे पड़े अपना लंड हिला रहे थे.

सेक्सी नंगा सेक्सी पिक्चर

अगर तुम भी मुझे चाहती हो तो मुझे किस करने से मत रोकना।बेशक मैं नशे में थी मगर बेहोश नहीं थी, मैं वैसे ही लेटी रही. अभी मैं कुछ समझ पाती कि भोसड़ी वाले ने अपना लंड मेरी चूत में झटके से पेल डाला. यह बात मुझे तब समझ में आ गई, जब मेरी मुलाकात मेरे साथ कंपनी में काम करने वाली एक मैडम से हो गई.

फिर मैंने अपने हाथ उसकी 34 की साइज की चूचियों पर रखे और जोर से उन्हें दबाने लगा. एक दिन एक आदमी का पर्सनल लोन की 3 किस्तें नहीं चुकी थीं, तो मैं उसके घर गया. सुहागरात की बीएफ वीडियो मेंवो बोली- ऐसे कैसे जनाब … हमारे साथ आए हो, अकेले तो मैं नहीं जाने दूंगी.

मेरी बड़ी इच्छा थी कि मैं अपना लंड सोनी के मुँह में डालूं और मज़े लूं.

चाची तो बस सिसकारियां ‘आं ऊँ ऊं शस्श्ह ससस आआ आह आह … और तेज चोदो मुझे … बस चोदते रहो … काश तुम मेरे पति होते … आह आआआ … कोई बात नहीं आज से तुम मेरे चोदू भतीजे हो!इधर मुझे तो बस पूछो मत … मुझे चाची को चोदने में आनन्द आ रहा था। बीच बीच में रुक कर मैं चूत से लंड बाहर निकाल लेता और चाची को चूसने को बोलता. दिल्ली में मेरे कई दोस्त बन गए थे, जिनमें यश और रोनित मेरे बहुत ही अजीज दोस्त हैं.

”और वो कैसा है?”वो कौन?”वो कौन नहीं चौधरी साहब, आपका वो, जो मेरे अंदर बारिश करता है. ” कह कर गौरी जोर जोर से हँसने लगी।अब मैं क्या बोलता? गौरी ने बेडशीट बदली और अपने कपड़े और तौलिया उठाकर सोने के लिए स्टडी रूम में चली गई।दोस्त आप सभी सोच रहे होंगे वाह … प्रेम माथुर तुम्हारे तो मजे हो गए। एक कुंवारी अक्षत यौवना ने सहर्ष अपना कौमार्य तुम्हें इतना आसानी से सौम्प दिया।हाँ मित्रो … आपका सोचना अपनी जगह सही है पर एक बात बार-बार मेरे दिमाग में दस्तक दिए जा रही है. वो बेड पर थोड़ा पीछे खिसकी और अपनी उँगलियों से अपनी चूत के होंठों को खोलते हुए अंकित से कहा- आओ बेटा! डाल दो अब इसको अन्दर! और इंतज़ार नहीं होता! अपने बेस्ट फ्रेंड की माँ की चुदाई करना चाहते थे ना.

ऐप इंस्टाल कैसे करेंहाय दोस्तो, मेरा नाम गायत्री है और मैं बाड़मेर, राजस्थान से हूँ.

अब उसे नशा होने लगा था तो मैंने फिर से उसके चूचों पर हाथ रख दिया तो वो मुझे घूरने लगी और बोली- तुझे क्या लगता है कि मैं तेरी इन हरकतों से खुद सेक्स करने को बोलूंगी? भूल जा… ऐसा कुछ नहीं होने वाला।मैं बोला- कोई बात नहीं कम से कम कोशिश तो करूं मैं एक बार।वो बोली- कर ले, जो करना है कर ले।फिर वो अचानक से कहने लगी- मुझे नींद आ रही है. इसके लिए मैं आप सभी अन्तर्वासना के पाठकों का धन्यवाद करता हूँ और उम्मीद करता हूँ कि आप लोगों को मेरी कहानी ने मज़े दिए होंगे. सोनी की बॉडी लेंग्वेज से पता चल रहा था कि वो भी स्वर्ग की सैर कर रही थी.

हॉट सेक्सी व्हिडिओ बीएफफिर हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए, वह मेरे चूतड़ों की कोली भरकर मेरी चूत को जीभ से चोद रहा था और मैं भी उसका लंड चूस रही थी. उम्म!! मुझे ऐसा लग रहा है जैसे ज़िन्दगी में पहली बार किसी असली मर्द के साथ हूँ मैं बेटा.

ಸೆಕ್ಸ್ ಗಳು

रोहन- ये मेरे लिए बड़े सम्मान की बात है कि आपने मुझे इस लायक समझा … वरना मैं किस क़ाबिल हूँ. उसके लंड एकदम से अन्दर तक घुसने से मेरी सील टूट गई और खून बहने लगा. अगले दिन से ही जब भी मेरे पति घर पे नहीं होते तो उनका फ़ोन आने लगा। हम दोनों में काफी देर तक बातें होती रहती थी.

अशोक ने उसकी दोनों टांगों को पकड़ा और बीच में आकर अपना मोटा लंड चूत पर टिका कर झटका दे मारा. दोस्तो, चुत वाली आंटियों, भाभियों, लड़कियों और लण्ड वालों को मेरा नमस्कार।मेरा नाम प्रीतम है (बदला हुआ) और मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ। मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ।यह मेरी पहली कहानी है जो मैं आप पाठकों के लिए लिख रहा हूँ। यह कहानी मेरी और मेरी चचेरी बहन पुण्या (बदला हुआ नाम) की है।मेरी उम्र 22 वर्ष है और मेरी चचेरी बहन की 19 वर्ष है. उसकी आधुनिक ड्रेसेज के साथ उसके तन पर कई तरह के कॉस्मेटिक्स और डीओ दिखने लगे और उसके चहेरे पर एक अलग सी चमक दिखने लगी.

कुछ देर में पति आये और दो ग्लास और सोडा की बोतल और काजू लेकर चले गए. क्या आप मुझे अपनी नई स्कर्ट नहीं दिखाना चाहती हैं?सोनिया- ऐसा नहीं है. अभी तक मोहन भैया का लंड बाहर से ही मेरी चूत की फांकों से खेल रहा था.

मैं उसे तेज तेज झटके मारते हुए चोदने लगा और साथ साथ में किसी और मर्द से चोदने के लिए उत्तेजित करने लगा. अब जब घर में इतना मस्त माल हो, तो मैं भला और कहीं क्यों मुँह मारता.

अब तक की मेरी दीदी की इशिता के साथ की लेस्बियन सेक्स की कहानी में आपने पढ़ा था कि मेरे साथ फोन चैट के बाद मेरी दीदी गरम हो गई थी और उसने आज की रात इशिता के साथ लेस्बियन सेक्स करने का पक्का कर लिया था.

वो खास रात क्या थी और वो क्या सरप्राइज था, वो मेरे दिमाग में घूमता रहा. हिंदी में बीएफ फिल्म फुल एचडीजैसे ही मैंने दरवाजे की घंटी को बजाया, तो एक बहुत ही खूबसूरत महिला ने दरवाजा खोला. छोटी लड़की की सेक्सी वीडियो बीएफजीजू- ले साली ले …इतने में मैं झड़ने लगी थी, पर जीजा जी तो उफान पर थे. मैं तो खुद चुदाई से इतनी ज्यादा पागल हो गई थी कि आज मुझे सर के लंड की जरा भी याद नहीं आ रही थी, मुझे खुद फिलहाल चुदाई के अलावा कुछ नहीं दिख रहा था.

मेरे 4 साल का इंजीनियरिंग का समय रंगीन आंटियों और लड़कियों के बीच चला.

फिर कुछ ही देर में मैंने तुरंत उसकी ब्रा को भी उतार दिया और जब उसके वो बूब्स मेरे सामने आए तो मैं अब बिल्कुल पागल हो गया. उनको इतनी सुन्दर दुल्हन के रूप में देख कर मेरे मुँह से निकल गया- वाह … तुम तो बला की क़यामत हो मेरी जान. वैसे भी मैं तो उसी को ही पाने की कोशिश कर रहा था, प्रिया तो गलती से फंस गयी थी.

धीरज ने नायरा को बेड पर ही डौगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. उसने खुराफाती नजर से मेरे जिस्म को निहारा और कामुकता से होंठ काट लिए. मैं इतना अधिक उत्तेजित हो चुका था कि बस 3-4 मिनट में ही मैं झड़ गया.

त्याला दाखवा

हालांकि मेरे अन्दर भाभी के लिए फीलिंग थी, पर एक शादी-शुदा औरत के साथ भागना, वो भी भाभी के साथ … ये मुझे ठीक नहीं लगा. मुझे जो सुनाई दिया, उससे पता चल रहा था कि संजय की मम्मी हंसिका को बच्चा न होने पर बुरा-भला कह रही थीं. थोड़ी देर बाद मैंने फिर से मेरा लंड अमायरा के मुँह में दिया, तो लंड सलामी देने लगा.

साथ ही अपनी टांगों से मैंने उनके पैर और ज्यादा फैला दिए और उनकी चोटी खोल दी.

जब दिव्या की प्यास बुझ गई तो उसकी चूत के पानी से सने हुए लंड को भाई ने मेरी चूत में घुसा दिया.

ये सोचते सोचते मेरे हाथ अपने आप मेरी चूत पर लग गए और मैं गाऊन को हटा कर चूत में उंगली घुसेड़ने लगी थी. उन्होंने अपनी जीभ मेरी बीवी की चूत में घुसा दी और मेरी बीवी एक लंबी सीयी ‘आआह उम्म्म. भूटान के बीएफमगर जब भी कोई रिश्ता आता था, तो यही कह कर इन्कार कर दिया जाता था कि अभी तो इस नौकरी करके कुछ पैसे जोड़ने हैं वरना लड़के वालों को क्या देंगे.

मैंने उस दिन के बाद से उसे पहली बार के जैसे, अन्दर से उसे छुआ ही नहीं था. मैंने हाथ से चूत को सहलाना शुरू किया और धीरे धीरे उंगली अन्दर बाहर करनी शुरू की. अपने ‘ऑन बेंच … ’ पीरियड के शुरूआती दिनों के दौरान मैं हर दिन ऑफिस जाता था और अपने एचआर से मिलकर नए प्रोजेक्ट्स के बारे में पूछताछ करता रहता था.

फिर मेरे बहुत जोर देने पर उस इनकम टैक्स ऑफिसर ने बताया कि मेरी बीवी ने ही उसे ऐसा करने के लिए कहा था क्योंकि मेरे सामने रहने से मेरी बीवी खुल कर चुदाई के मजे नहीं ले पा रही थी. उन्होंने कहा- प्लीज़ दामाद जी एक बार मेरा पानी निकाल दो … अब मुझसे सहन नहीं हो रहा है … बहुत सालों बाद आज मज़ा आ रहा है.

आप मेरी आगे की कहानी का इंतजार करना।आपको मेरी यह कहानी पसंद आई या नहीं … तो लाइक करना और कमेंट करना।मेरी ईमेल[emailprotected].

मैंने जैसे ही धक्का लगाया, मेरे लंड का टोपा उसकी चूत में घुस गया, पर दर्द के मारे उसके आंखों से आंसू आ गए. प्लीज …रोहन- नो प्रॉब्लम मिसेज ब्यूटीफुल … लेकिन एक चीज है, जो आपको मेरे लिए अभी करनी पड़ेगी …सोनिया- क्या?रोहन- अपनी नई स्कर्ट पहनो और मुझे दिखाओ. उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया पहले की तरह और उसके ऊपर चढ़ गया। मैंने उसकी जाँघे फैला कर जैसे ही अपना लन्ड घुसाने की कोशिश की तो वह बोली- कितना करोगे, मार ही डालोगे क्या मुझे?मैं बोला- बस अब निकलने वाला है.

सेक्सी बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो चाची- आहह … मादरचोद अब मेरी गांड का भी भोसड़ा बनाएगा … आआआह…मैं एक हाथ से डिल्डो को अन्दर डाल नहीं पा रहा था … तो मैंने हिना आंटी को इशारे किया. मैंने चाट चाट कर उसकी चूत को साफ किया और उसके हाथों को आज़ाद कर दिया।उसकी आंखें अब भी बंद थी और फिर मैंने उसके स्तन के एक अंगूर अपने दाँत से काटा और उसको खिलाने के लिए बढ़ा.

हम दोनों साथ में एक ही बाइक पर काम भी करते थे, इससे हम दोनों को ही कम ख़र्च में काम चल जाता था. मैंने किस करते हुए पूजा की चुत को जींस के ऊपर से ही मसलना शुरू कर दिया. फिर मैंने कम्मो की चूत का जायजा लिया, उसकी चूत का चीरा खूब लम्बा था और बुर के होंठ भी खूब भरे भरे से गद्देदार थे.

பஸ் செக்ஸ் வீடியோ

सिर्फ कबीर ही वह शख्स था, जिसके साथ मैं खुल कर यह बात शेयर कर सकती थी. उस दिन एक कमसिन उम्र की लड़की की चुदाई की स्टोरी पढ़ कर फ्रिज पर रख दी थी. और हमारे आपके पारिवारिक सम्बन्ध भी अच्छे हैं तो मैं नहीं चाहता कि हमारी दोस्ती टूटे या पारिवारिक सम्बन्धों में कोई दरार पड़े.

मैंने भी गर्म गर्म वीर्य गांड में पाकर अपना चूत खोल दिया, जिससे उनका रस मेरी जांघों पर चूने लगा. दो मिनट की चुम्मा चाटी के बाद वो बोलीं- तूने समझने में इतना टाइम लगा दिया, मैं तो कब से तुझमें समाना चाहती थी.

बस मुझे कुछ अलग करना था इसलिए मैं हमेशा फोन में व्हाट्सएप ईमेल और अपनी सहेलियों के साथ बात करती रहती थी.

हम दोनों आज से चार्ली की दो पत्नियां हैं यह समझो!और अगर तुम इस बात को नहीं मानोगी तो मैं तुम दोनों का वीडियो सबको भेज दूंगी तो फिर देख लेना कि तुम्हारा क्या हाल होता है. फिर वो सब लोग सिर्फ अंडरवियर और बनियान में आराम से बैठ गए।विकी मेरे करीब आया और मुझे बांहों में भर कर मेरा टॉप उतारता हुआ मेरे होंठों को चूसने लगा। मैं भी नशे के सुरूर में थी. अंत में मेरे लिए जिस लड़की का रिश्ता आया, उसका नाम सोना (नाम बदला हुआ) था.

मैं उन पर एकदम टूट पड़ा और मैं उन्हें अपने दोनों हाथों से बहुत ज़ोर से दबाता रहा. फिर कई मिनट तक उसने चूसने के बाद दूसरे के लंड को भी मुंह में लेकर इसी तरह मस्ती में चूसा. मैंने अपना लंड पूजा की तरफ कर दिया तो उसने भी देर न करके मेरे लन्ड को पकड़ लिया और आगे पीछे करने लगी.

मैं उसे तेज तेज झटके मारते हुए चोदने लगा और साथ साथ में किसी और मर्द से चोदने के लिए उत्तेजित करने लगा.

बीएफ पिक्चर साड़ी वाला: वो समझ गयी कि मैं अब उसकी चूत चाटूंगा, तो उसने खुद ही अपनी टांगें चौड़ी कर लीं. लगातार चार पांच धक्के अपनी पूरी ताकत व तेजी से लगाने के बाद मेरा लंड भी उसकी चुत में लावा उगलने लगा … मैं भी अपना सारा वीर्य प्रिया की चुत में उगलने के बाद ढेर होकर प्रिया पर गिर गया और अपनी उफनती सांसों को काबू में करने की कोशिश करने लगा.

अपना नाम बता दीजिए?”तो उसने कहा- नहीं, यह मेरा नंबर व्हाट्सएप पर है, आप अपना लेटेस्ट इमेज भेजिए. इसलिए मुझे नहीं लगता कि तुमको राज के यहां पर होने से कोई प्रॉब्लम होगी. वे आश्चर्य चकित हो उठे थोड़े शर्मा गए- तू जग रहा था?मैंने कहा- नहीं, अभी आपकी आहट से जगा.

फिर मैंने सोचा कि अगर इसे किसी के सामने खोला, तो हो सकता है कोई मुसीबत ना आ जाए, इसलिए उसको मैंने छुपा कर रख दिया.

” परीशा बोली।मुकुल राय ने जैसे ही अपना लंड परीशा की चूत से बाहर निकाला तो उसकी आँखें फटी की फटी रह गई, उसका लंड खून और परीशा के चूत से निकल रहे कामरस से सना हुआ था।परीशा ने अपने पास रखे एक कपड़े को अपनी चूत पर दबा दिया ताकि उसमें से खून निकल कर बेडशीट पर ना गिरे. मैंने अलमारी से दो कपड़े निकाले और पहले दीदी की आंख पर पट्टी बाँध दी. उसके जाने के 15 मिनट बाद मम्मी ने मुझसे पूछा- समीरा आ गई?मैंने बोला- कहाँ से?माँ ने बोला- वो खाना देने गई थी दादाजी को … अभी तक नहीं आई, जा देख कर आ, ये लड़की कहाँ रह गई?मैं उठा और कुछ ही सकेंड में दादाजी के घर पर पहुंच गया.