देसी चुदाई सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ खेत में

तस्वीर का शीर्षक ,

बाप बेटी का हिंदी बीएफ: देसी चुदाई सेक्सी बीएफ, असुविधाजनक स्थिति होने के बावजूद सभी टिके रहने की यथासंभव कोशिश कर रहे थे क्योंकि कोई भी हारना नहीं चाहता था.

सिस्टर ब्रदर बीएफ

परंतु वह कहने लगी- घर तक तो मेरी जान ही निकल जायेगी और फिर वहां मेरी बेटी भी आ गई होगी. बीएफ फिल्म व्हिडिओ हिंदीहम लोग फिर से एक दूसरे को प्यार करने लगे तभी कुछ देर बाद दूसरे पण्डित भी नीलम के साथ आ गये, हम दोनों जल्दी से हट गये।सब कुछ सामान्य सा दिख रहा था ऐसा लग रहा था जैसे कुछ हुआ ही नहीं था.

अब मैं इसी उधेड़बुन में था कि क्या किया जाये और नया लौड़ा कहाँ से ढूंढा जाये. देसी गांव की बीएफ चुदाईअपने आप चुत की खुशबू लेते हुए तेरे पास आ जाएँगे समझी!मोना- नहीं यार.

फ्लॉरा ने आँखें खोलीं और अपने सामने जॉन के खड़े लंड को देख कर वो सन्न हो गई.देसी चुदाई सेक्सी बीएफ: मैं- मैं आपकी कुछ हेल्प कर सकता हूँ?भाभी- ओके वो जैल लगा कर थोड़ी कमर की मालिश कर दो प्लीज़.

जब माला के मुंह से सिसकारियाँ निकलती, तब मेरी उत्तेजना बढ़ जाती और उसके मुंह में मेरा लिंग-मुंड फूल जाता जिस से उसकी आवाज़ निकलना बंद हो जाती.रिया ठहाके मार के हंस पड़ी मगर तभी यकायक उसकी हंसी कही बिखर गयी, चेहरे पर कड़वापन छा गया.

आवाज में बीएफ वीडियो - देसी चुदाई सेक्सी बीएफ

दोस्तो, मेरा नाम राज है… मैं हरियाणा का रहने वाला हूँ… मैं भी आप लोगों की तरह अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ.अब यश अपने मेरे निप्पल चूसते हुए मुझे झंझोड़ रहा था, मेरे दूसरे मम्मे पे तड़ातड़ चांटे मार रहा था.

अभी तक तो कुछ फ़र्क नहीं लगा, हाँ टीना ने बताया तू अब फास्ट हो गई है. देसी चुदाई सेक्सी बीएफ वाह भाभी वाह… मजा आ गया… तेरी यह मस्त चुदाई तो बहुत मज़ेदार थी।”ओह यस मेरे राजा… तू तो सच में बहुत मस्त चोदू है। क्या मस्त टोपा चुदाई का मजा दिया है। आज तो सच में चुदाई का मजा आ गया।” नयना नीचे उतार कर अपनी जांघों को अपने पेटीकोट से पौंछ कर साफ करने लगी।मैंने भी अपना पजामा पहन कर नयना को चूमा और अपने फ्लैट में आ गया।[emailprotected].

उसकी गांड देखने से बनती है और आँखें भी शराब की प्याली के जैसी हैं उसकी.

देसी चुदाई सेक्सी बीएफ?

थोड़ी देर बाद ही मानसी के हाथ मेरे बालों में घूमने लगे और उसने अपने पेट को हल्के से हिलाना भी शुरू कर दिया था. अभी तो मैं तुम्हें तुम्हारे हर छेद में पूरी रात चोदूँगा।मेरीकामुकता भरी कहानीजारी रहेगी. मैंने घर लॉक किया और अनुराधा को बांहों में उठा कर सीधा बेडरूम में ले आया.

तिवारी थोड़ा असहज महसूस करता है और अनीता से पूछ पड़ता है- क्या देख रही हैं आप भाबी जी?‘जी कुछ नहीं तिवारी जी, बस आपको अपना लंड सम्भालने में हो रही दिक्कत को देखकर थोड़ी हंसी आ गई. हमने रूम साथ में बुक कराया और कमरे में घुसते ही मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया. और उसके चेहरे पर उसकी मुस्कान तो उफ़ माशाल्लाह…जब वो हँसती थी तो चेहेरे में उसके डिंपल पड़ते थे, जो उसकी सुंदरता को और बढ़ा देते थे.

उंगली अन्दर-बाहर करने लगा। मेरी उंगली उसकी चुत में इतनी तेज़ स्पीड से जा रही थी कि रूम में सटासट सटासट की आवाज़ गूँज रही थी। फिंगर फकिंग का मज़ा उसकी आँखों में भी दिख रहा था. 10-15 मिनट लेटे रहने के बाद वह उठी और चूत धोकर, अपने कपड़े पहन कर बाहर आ गई. उसने मेरी आँखों में बड़े प्यार से देखा तो मैंने आगे बढ़ कर उसके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और चूसने लगा.

’तभी मैंने टीवी की ओर देखा तो पता चला कि वो मादरचोद लड़का उस लड़की की छोटी से चुत में अपना घोड़े सा लंड घुसा रहा था. मेरी हालत देखकर वह मेरा हाथ पकड़ कर अपने ब्लाउज पर रखकर मुझे इशारा करती थी- पागल, तुझे मेरे बूब्स के दर्शन करने हैं ना? मेरा स्तनपान करना है ना? तो बेकार में ब्लाउज में हाथ डालकर समय क्यों नष्ट कर रहा है? फट से मेरा ब्लाउज उतार, मेरी ब्रा भी निकाल और शुरू हो जा! मैं कितने दिन से तुझे देखती आई हूँ, तू मेरी और निखिल की चुदाई का नजारा चुपके चुपके देखता है.

मोना- नीतू सच में तूने कमाल कर दिया मगर ये कमाल तुझे कल दिखाना होगा.

वो मेरा इशारा समझ गया और अपने हाथ से मेरी चूत की कलियों और दाने को सहलाने लगा.

यह नौकरी एक बहुउपयोगी बिल्डिंग में मिली थी, जिसका मुख्य काम घरेलू और औरतों की सभी चीजें डायरेक्ट उनके घर में सप्लाई करना था. वह भी जरूरत पड़ने पर मुझे जगाती थी, बहुधा मैं जाग ही जाता था, फिर भी नीलम का स्पर्श पाने के लिये सोने का नाटक करते हुए बिस्तर में पड़ा रहता था. पण्डित जी ने इस बार जोरदार साथ दिया और मेरे होठों का खूब रसपान किया.

वह मेरी चूचियों को तेजी से मसल रहा था और मेरी गांड में लंड पेले जा रहा था जिससे मैं मचलने लगा था और वह भी मदहोश हुए जा रहा था. ‘आह कितना मस्त मजा आ रहा है चिल्ड बीयर से मस्ताना को… कितनी ठंडक मिल रही है. इधर सुमन अपने पापा को गरम करने के लिए हर मौके का इस्तेमाल करने की सोच चुकी थी.

इस सबका नजारा आपको सविता भाभी की सचित्र कॉमिक्स में पढ़ने को मिलेगा.

मैंने आँखें तरेर कर पूछा- ए, क्या इरादा है तेरा?रिया के होटों पे एक कमीनी सी हंसी आई और उसने कहा- रंडी बनने का!रिया ने मेरा हाथ पकड़ा और वो मुझे फिर से डांस फ्लोर पे ले गयी. मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी गोरी मांसल खुली टांगों के बीच उसकी गुलाबी रंगत वाली चूत को खोल कर देखा, छेद इतना तंग लग रहा था जैसे इसमें कभी कुछ गया ही नहीं था. शीघ्र ही आपको अपनी अगली कथा प्रेषित करुँगी जिसमे पण्डित जी ने मेरे गुदामैथुन किया था.

फिर रोहन और मैं परेशान होने लगे और मॉडल का इंतज़ाम करने लगे, पर हमें कोई मॉडल नहीं मिली. कई चित्रों में चूत में लंड घुसा था और चूत की शान में कई शायरी भी लिखीं थीं. सच बता उसके पजामे में क्या फील किया?सुमन- अब आपसे कुछ छिपा तो है नहीं दीदी… शुरू में तो अजीब लगा मगर बाद में उसका लंड पकड़ने में अच्छा लगा।टीना- गुड… ये हुई ना बात तो यार पजामा खिसका कर आराम से दबा देती… थोड़ा चूस भी लेती तो ज़्यादा मज़ा आता।सुमन- क्या दीदी आप भी ना.

ऋतु गपागप लंड चूस रही थी, मैं समझ गया कि अगर ज्यादा देर इसने चूसा तो मेरा माल झड़ जाएगा जो मैं नहीं चाहता था.

मैंने माँ के बालों को पकड़ लिया और उनके सिर को दबाते हुए अपना लंड उनके मुँह में ठेलने की कोशिश करने लगा. सबने बारी-बारी से परिचय दिया, उसके बाद वो औरत बोली- मैं इस फिल्म की प्रोड्यूसर हूँ, मेरा नाम सलोनी है और मेरे साथ मि.

देसी चुदाई सेक्सी बीएफ बस ये बात सुमन के दिमाग़ में नहीं आई वो तो वासना की आग में सब कुछ भूल गई थी. मैं उनसे बोला- सफीना जी, मैं लंबी यात्रा के बाद थक गया हूं। थोड़ा सा इंतजार तो करें.

देसी चुदाई सेक्सी बीएफ अब मैंने उनके पैरों को पकड़ा और चुमते हुए ऊपर उनकी जांघों तक पहुंचा. मैंने लंड को योनि के छिद्र पर टिका कर हल्का सा धक्का लगाया तो लंड का सुपारा योनि के अन्दर घुस गया, योनि का छिद्र मेरे लंड पर रबर के छल्ले की भांति फंस गया.

चाहे जो मिल जाए।मोना की सेक्सी बातें सुधीर को पागल बना रही थीं। उसका लंड पैन्ट में तन रहा था जिसे मोना भी महसूस कर रही थी।सुधीर- यार मोना, ये मुझे समझ नहीं आता तुम साफ-साफ बोलो.

ಇಂಗ್ಲಿಷ್ ಸೆಕ್ಸ್ ಇಂಗ್ಲಿಷ್ ಸೆಕ್ಸ್

उसने कहा- अच्छा… मुझे भी तो बता ज़रा कैसे प्यार किया उसने तुझे… कौन है वो और कहाँ का रहने वाला है, क्या नाम है?इतने में ही बस के चलने के आवाज़ सुनाई दी और हम दौड़कर बस में चढ़ गए. ‘कैसा वादा भाबी जी?’ तिवारी ने आँखे चौड़ी करते हुए पूछा, मानो कोई लाख पते की बात उसको पता चलने वाली हो. तभी उसने बेड स्विच से लाइट ऑन कर दी, मैंने घबरा कर अपनी आँखें बंद कर की और अपने हाथों से अपने बूब्स को ढक लिया, अपनी दोनों टांगों को एक दूसरे से क्रॉस करवा कर अपनी चूत को भी ढक लिया.

सब कहाँ गए?उसने कहा- मम्मी बाहर गाँव गई हैं और पापा दुकान गए हैं, आप अन्दर आइए ना. ये तो टीना की बातें और पिछले दिनों की कुछ गंदी हरकतें थीं, जो उसमें इतनी हिम्मत आ गई. मेरे पूछने पर उसने बताया कि उसके पास गाड़ी है और स्कूटी है, परंतु चलाना नहीं आता.

मेरा लंड रॉड की तरह सख्त हो चुका था और दर्द भी करने लगा था, पर उस समय मेरे पास चुपचाप लेटे रहने के सिवाए और कोई रास्ता नहीं था.

शायद जल्दी ही मिलेगी, उसके बाद लिखेंगे कुछ हुआ तो!तब तक आप बताओ कि मेरी रियल सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी?मेल आईडी[emailprotected]कहानी का अगला भाग:ऑनलाइन लड़की पटा कर रूम पर चोदा-2. मैंने हिम्मत करके एक किस उनकी जाँघों पर और एक गाल पे किया और फिर सो गया. उसने एक झटका मारा और उसका मस्त सुपारा मेरी गांड में चला गया और मुझे बहुत तेज दर्द हुआ मानो किसी ने गांड में बेलन फंसा दिया हो.

मैंने उसका न्योता स्वीकार किया और अपने दोनों हाथों से उसके नितम्बों को पकड़ कर उसे नीचे खींच कर उसकी योनि पर अपना मुंह गाड़ दिया. जब पाँच छह दिन हो गए और जब मैं एक दिन कोचिंग से वापस आया, तो क्या देखा कि अंकल और पूजा घर आये थे, उनको देखकर मेरी खुशी आसमान छूने लगी. अन्तर्वासना पर मेरी यह पहली सेक्स स्टोरी है। यह कहानी 4 साल पहले शुरू हुई थी, तब मैं एग्जाम की तैयारी कर रहा था.

फिर उनकी जांघें फैलाई और थोड़ा झुक कर खड़े खड़े अपना दनदनाता मूसल मम्मी की चूत में पेल दिया. मैं लण्ड को पूरा चूत में ठोक कर उसके ऊपर पसर गया और सोनू को अपनी बाहों में जकड़ लिया.

मगर जॉन को इसकी क्या परवाह थी, उसको तो बस कच्ची बुर चोदने से मतलब था. चूंकि मैं पढ़ने में काफ़ी अच्छा हूँ इसलिए मैं 11वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स को टयूशन भी पढ़ाता हूँ. वो इस तरह चूस रही थी कि कोई लंड चुसाई में माहिर औरत भी क्या लंड चूसेगी.

मैं भाभी के नितंब और स्तन ऐसे मसल रहा था, जैसे मेरी उन्हें उखाड़ लेने की मंशा हो.

कितना आनन्द आ रहा था तुम्हारी रेशम जैसी चूत में अपना लंड डालने में. सरिता के मुख से ‘ग्ग्ग्ग ग्ग्ग्ग गी गी गी गोगो गोग…’ जैसे आवाज निकाल रही थी और रमेश को स्वर्ग का सा मजा आने लगा- आह्ह्ह इह्ह ह्ह ओह ह्ह्ह ओह्ह… आह्ह ह्ह्ह्ह इह्ह. ‘और ऊपर से हम भी तो हैं आपकी मदद के लिए हर वक़्त तैयार, अपना हथियार हाथ में लिए हुए… आप जब चाहें हमें अपनी खातिरदारी के लिए बुला सकती हैं, आपको पेल कर हमें कितनी ख़ुशी मिलेंगी हम आपको बता नहीं सकते.

दीदी जीजाजी की तरफ घूम कर बच्चे को सुला रही थी और जीजाजी खिड़की (जो आँगन में खुलता है) के पास बिस्तर पर अध लेटे हुए लॅपटॉप पर पोर्न मूवी देख रहे थे. वो बार बार बात करते करते मेरे मम्मों को देखता था, मुझे थोड़ी शर्म आई.

अपनी सपाट चूत को सहलाती हुई रसियन लड़की घुटनों के बल अपने चूतड़ कारपेट पर टिका कर बैठ गई और बाएँ हाथ से अपनी खुली चूत को सहलाने लगी. सास संगीता ने अपनी टांगों से जमाई की क़मर को जकड़ रखा था, उनके मुँह से चीख निकल रही थी मगर टांगों की जकड़न चन्दन की क़मर को अपनी चूत की तरफ खींच रही थी. मोना ने थोड़े कड़क अंदाज में ये बात कही, तो नीतू झेंप गई और चुप होकर लेट गई.

హాట్ సెక్సీ

मगर उसे तो कोई परवाह ही नहीं थी, उसने मुझे झट से घुमाया, मैंने दीवार का सहारा लिया और अपनी गांड बाहर निकाल ली.

मेरी और मेरी सहेली की चूत की कामुकता-1मेरी और मेरी सहेली की चूत की कामुकता-3मेरी फ्री सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि मैं अपनी सहेली के साथ गोवा गयी मस्ती करने, वहां पांच लड़कों से पूरी रात चुदाई के बदले एक लाख रुपये तय किये. मैं- मैं तो, पहले जब आप कपड़े धूप में डालने आती थीं, उस टाइम रोज आ जाता था. इस बात को सुनते समय प्रेम सविता भाभी के फूले हुए मम्मों में कहीं खो सा गया था.

इस बार सुलेखा और मुझे गर्म होने में देर नहीं लगी, क्योंकि सुलेखा वैसे ही हॉट ज़ल्दी हो जाती है. वो कुछ देर बाद जब भाभी वापिस ठीक हुईं तो मैंने अपना पूरा लंड भाभी की चुत में पेल दिया. कैमरा सेक्सी बीएफमैं बोला- मैं समझा नहीं?भाभी ने मेरे हाथ पकड़ कर मुझे अपनी ओर खींचा और मुझे अपनी टांगों में फंसा लिया.

आपने चोद चोद कर मेरी हालत खराब कर दी, तब कहीं आपका पानी निकला और वो भी इतना ज्यादा कि जैसे किसी घोड़े का पानी हो. उससे चुदाई के समय मुझे कुछ ऐसा करना था, जिससे उसे लगे कि वो एक नई जवान लौंडिया चोद रहा है और इसके लिए मुझे उससे चुदवाते समय कुछ ज्यादा ही चीखना होगा.

थोड़ी देर बाद जब लौड़ा अच्छी तरह गांड में अड्जस्ट हो गया तो फ्लॉरा का दर्द भी मज़े में बदल गया. नजदीक आते ही सुमन की नज़र सीधे संजय के लंड पे गई, जो अभी आधा ही खड़ा था यानि पूरा कड़क नहीं था. दो रूम बुक थे, हम एक रूम में पहुंचे, पहले बीयर की बोतलें खुली, चिकन, चबेना, रायता, सलाद सब आ गया.

अब सबीना टॉवल स्टैंड को पकड़ के पीछे को झूल गई जिससे जमीला सबीना की चुची भी चूसने लगी अभी किस करती कभी चुची दबाती कभी चुचियों को चूसती. भाभी ने एक मीठी मुस्कराहट बिखेरी और अपने मम्मों को बड़ी कामुकता से हिलाया. घर का दरवाज़ा बाहर से बंद था और मेरी बीवी पड़ोस के फ्लैट में गई थी.

अब हम दोनों रोज रात मैं घण्टों बात करने लगे, मैं उससे बहुत प्यार करने लगा बहुत ज्यादा.

मैं अपनी जीभ उसके मुँह में डालकर घुमा रहा था, जिसमें वो मेरा पूरा साथ दे रही थी. दोनों के बदन का एक भी हिस्सा ऐसा ना था जहां पर इंसानी वीर्य के दाग ना हों.

सासू माँ जमाई के सर को जोर-जोर से अपनी चुत पर दबाने लगीं और जमाई भी जोश में आकर सास की चूत को चूसने लगा. तभी जो दो लंड मेरी चुत में थे, उन्होंने भी पानी छोड़ दिया।आधे मिनट के बाद उनके लंड सिकुड़ कर बाहर आ गए. मैं बस 5 मिनट में आया।मॉम के जाने के बाद पूजा बोली- मामू आपको मालूम तो है कि मैं किस क्लास में हूँ।पूजा की बात सुनकर संजय को हँसी आ गई.

मैं समझ गया कि ये मेरी बहन मुझसे कितना प्यार करती है और मैं भी अपनी सिस्टर को प्यार करता था. उसने सारा चुत रस जीभ से चाट कर साफ किया और फ़ौरन वो सुमन की टांगों के बीच बैठ गया, जिसकी उम्मीद सुमन को नहीं थी. वो फिर से शर्मा गई और उसने मुझसे चिपके रह कर दुबारा पूछा- क्या पीओगे?मैंने कहा- वही.

देसी चुदाई सेक्सी बीएफ मैंने पूछा- जबरदस्ती?तो वो बोली- नहीं… बस चाचा ने मुझे पटा लिया था. क्यों सुमन तू बता ना?सुमन- हाँ मॉंटी, तू नींद में बहुत परेशान हो रहा था मैं इसी लिए तो आई थी.

ব্লু ফিল্ম ওপেন

उसने डीवीडी प्लेयर जल्दी से बंद कर दिया और नॉर्मल टीवी चालू करके निकलने लगी।मैंने उसे रोका और बोला- अरे बैठो ना. फिर उनकी पैंटी को भी उनके जिस्म से अलग करने के बाद मैं उनकी चूत को पहले अच्छे से निहारने लगा. नीलम उन्हें जल्दी उठाने को कह सकती थी, फिर भी न जाने क्यों वह मुझे ही जगाने को कहती थी.

तभी राजीव ने अपने लंड को मेरी हाथ से छुड़ाकर मेरी चूत में और मॉन्टी ने मेरे मुंह में लंड डाल दिया और फिर से दोनों चोदने लगे. उनके बड़े चूचे साफ दिख रहे थे और उन पर काले निपल्स एकदम उठे हुए थे. बीएफ वीडियो हिंदी साड़ी वालीअब तुझे बस उस आग को भड़काना है, हो सके तो अपने चूचे भी उनको दिखा देना.

पूरे लिंग का एक ही झटके में योनि के घुसते ही माला तडप उठी और पैर पटकती ही बहुत ऊँची एवम् लम्बी चीत्कार मारती हुई बोली- आह्ह… ओह्ह.

निकाह की पहली रात ही मैं समझ गई थी कि मेरा शौहर मुझे चुदाई का पूरा सुख नहीं दे सकता है. ताकि कोई अगर देखे तो उसको सोने दे, जिससे मैं रात में उसके साथ कुछ कर सकूं.

फिर मैंने उसे बाहों में बांध के करवट ली और वो मेरे ऊपर आ गई और अपना मुंह खोल दिया इस तरह उसका मुखरस मेरे मुंह में अमृत की बूंदों की तरह गिरने लगा और फिर हमारे होंठ फिर से जुड़ गए. फिर रोहन और मैं परेशान होने लगे और मॉडल का इंतज़ाम करने लगे, पर हमें कोई मॉडल नहीं मिली. मैंने भी तुरंत अपने सारे कपड़े निकाल कर अपना मुँह उसकी चूत पे रख दिया.

मैं तुरंत उसके दोनों उरोजों को हाथों से सहलाने लगा और उनकी चूचुक को उंगलियों एवम् अंगूठे के बीच में लेकर मसलने लगा.

सौभाग्य से नीचे वाली महिला, नहीं, उसे महिला कहना अनुचित होगा, लड़की के टॉप का गला कुछ ज्यादा ही बड़ा था जिससे उसके अधनंगे बूब्स के दर्शन मुझे बहुत पास से बड़ी अच्छी तरह से हो रहे थे, मतलब आँखें सेंकने यानि चक्षु चोदन का पूरा पूरा इंतजाम था. यहाँ कमरे में एक ही बिस्तर लगा था, हम दोनों इसी में दीवार की टेक लेकर बैठ गये. किसका क़त्ल करने का इरादा है?मैंने एक कातिल मुस्कान के साथ कहा- देखे कौन फंसता है आज?मगर दिल ही दिल में मैंने तो फैसला कर लिया था कि मैं तो आज इससे चुदकर ही रहूंगी।जब मैंने अपनी खरीदारी के पैसे दिए तो उसने मेरे शॉपिंग बैग्स उठा लिए और कहा- चलो तुम्हें तुम्हारी कार तक छोड़ दूँ.

सोनम कपूर का बीएफदोस्तो, ऐसे लिखने में ना मुझे मजा आ रहा है और ना आपको पढ़ने में आएगा तो चलो फिर से एकदम आराम से सब के पास चलते हैं. गुलशन जी ने जैसे तैसे ममता के सवालों का जवाब दिया और उसको कहा कि घर जाकर सब बातें करेंगे, अभी नहीं.

ब्लू सेक्सी फिल्म फुल एचडी

कुछ मिनट तक मैंने भाभी के चूचे चूसे और साथ में उन्हें किस करता रहा. वो पानी की बोतल लेकर मेरे पास आई और धीरे से बोली- सर, आपके लिए बोतल यहीं रख दूँ?मैंने सोने का नाटक करते हुए उसे कोई जवाब नहीं दिया. तू कह तो रहा है उन्होंने तेरी भी मारी। चलो मेरी भी मार दी कोई बात नहीं।फिर वह- बोला सर, पर मुझे चैन नहीं पड़ेगा.

मेरी वाली बर्थ के नीचे वाली लोअर बर्थ पर एक चौबीस पच्चीस साल की आकर्षक नयन नक्श वाली खूबसूरत महिला थी उसने ब्लैक टॉप और जीन्स पहन रखा था. वह भी शायद मुझे पहचान गई थी, पहले तो वह थोड़ा झिझकी परन्तु जब मैंने साथ वाला दरवाजा खोला तो वह बैठ गई. मुझे लगा कि ये छूटने वाली है, मैंने चूत को चाटना बंद किया और जल्दी से उसकी टांगें उठा कर अपना बड़ा और मोटा लौड़ा उसकी चूत में पेल दिया.

उसने देखा उसके बॉस का फोन था, उसको एक मीटिंग के लिए तुरंत बुलाया था. मीना- यार एक बात समझ नहीं आ रही, तू तो बड़ी सीधी है फिर तुझमें इतना सेक्स कहाँ से आया, जो तेरी प्यास मिटती ही नहीं?मोना- ये सब भी गोपाल ने किया है. शहज़ाद ने दोनों हाथों से मेरी कुंवारी चूत को फैला कर देखा फिर उसने अंदर उंगली डाल दी.

मैं धीरे से बेड के पास बैठ गया और धीरे से हाथ उनकी चिकनी टांगों पे रख दिया और धीरे-धीरे सहलाने लगा. लंड पर मामी के हाथ के स्पर्श से मुझमें एक अजीब सी सिहरन हुई, पर धीरे-धीरे मुझे भी मजा आने लगा.

अन्यथा तुम मत आना।उसने कहा- ठीक है।रात को 9 बजे पति के जाते ही मैंने अपनी चुत को चिकना किया और शादी के जोड़े को पहन कर अपने बेडरूम में सुहागरात जैसी दुल्हन बन कर बैठ गई और दूधवाले को फोन का इन्तजार करने लगी।उसका फोन आया तो मैंने उसे समय पर आने के लिए कह दिया।वो समय से 15 मिनट पहले ही आ गया.

तुझे ये सब करने को मिलना था क्या आखरी बार? अब तू जा और दोबारा कभी मत मिलना मेरे से. सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारअब देर ना करते हुए मैं खड़ा हुआ मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ा, वह फिर ऐंठ गई, उसके पूरे बदन में एक बार झनझनाहट आ गई, ऐसा लगा वह अभी अभी झड़ी है. अरे हिंदी सेक्सी बीएफबी-ग्रेड मूवी में क्या-क्या होगा, उसने मुझे बताया और साथ में यह भी बोला कि तुम्हारा फिजिकल एक्जामिनेशन भी होगा. ’मेरी चहकती आवाज सुन कर वो दौड़ कर बेडरूम में आया और उसने मुझे दुल्हन के लिबास में सजी हुई देखा तो वो मचल गया।‘आज तो तुम बहुत ही मस्त लग रही हो रानी।’‘तेरे लिए ही सजी हूँ राजा.

उसके आने से पहले ही हम माँ बेटे की चुदाई कैसे हो गई, पढ़ें!आलोक को आने में समय लगना था, उसका घर दूर था.

मैंने अपना एक हाथ चाची के मम्मों पर रखा तो चाची कुछ नहीं बोलीं तो मैं धीरे-धीरे चाची के मम्मों को दबाने लगा और चाची मेरे 8 इंच लंबे लंड को गौर से देखते हुए दोनों हाथ की मुठ्ठियों से पकड़ कर मुठ मारने लगीं. जल्दी ही मेरी और भी सेक्स स्टोरी आपके सामने आने वाली हैं तो मेरी इस सेक्स स्टोरी एन्जॉय कीजिएगा. टीना- यार अब वक़्त आ गया है, सबको दिखाने का कि तू सारे टास्क को पूरा करके एकदम फास्ट बन गई है.

मैंने उसको गाल पर किस कर दिया, वो थोड़ी सी शरमाई और फिर उसने मेरी गाल पर कर दिया. अब तो हमारी यही रूटीन बन गई, शाम को डिनर बाहर करते, घूम फिर कर रात को आते और कभी वो मेरे कमरे में और कभी मैं उसके कमरे में. मेरा वीर्य पीना पसंद करोगी या फिर चुत में ही झड़ जाऊं?मैं बोली- चुत में फिर कभी, आज तो माल पिला दो.

বাংলাদেশের bf

उस वक़्त मॉंटी घर पर नहीं था और टीना की माँ तो हैं, नहीं हैं, एक बराबर है. फिर उन्होंने हाथ बढ़ाकर कपड़े को पकड़ लिया और उसके छोर को उंगली में लपेट लिया. मेरी पतिव्रता नारी पूरी मस्ती में अमेरिकन कॉक के साथ व्यस्त थी जब मेरा ध्यान उसकी छोटी सी गांड की तरफ गया.

अब सबीना टॉवल स्टैंड को पकड़ के पीछे को झूल गई जिससे जमीला सबीना की चुची भी चूसने लगी अभी किस करती कभी चुची दबाती कभी चुचियों को चूसती.

जल्दी से उन्होंने लुंगी को ऊपर की तरफ़ समेट लिया, जिससे लंड का उभार दिखाई देना बंद हो गया.

यों ही बात करते-करते अब मेरे और सरिता के विचार क्लियर हो चुके थे एक दूसरे के लिए, हम दोनों ही हवस में पागल थे, बस मौका ढूंढ रहे थे एक दूसरे को पा लेने का और वह मौका मिला मुझे रात के खाने के बाद. गुलशन और सुमन जैसे ही अनिता के घर के बाहर पहुँचे, तभी वहां जॉय और फ्लॉरा भी आ गए. बीएफ जाते हैंरानी के मुंह पर पीड़ा के चिह्न उभरे लेकिन वो दर्द को पी गई पर मुंह से कुछ न बोली.

मैं गाँव में 12वीं की पढ़ाई कर रहा था। उन दिनों मैंने नया नया इंटरनेट सीखा था, मैं इन्टरनेट पर हिंदी सेक्स. काफी लम्बी चुदाई के बाद स्मृति ने कहा- यार, कुछ हो रहा है मुझे…उसका जिस्म अकड़ने लगा था यानि वो अब झड़ने की कगार पर थी. मैं वास्तव में भी नीलम को चोदने का अधिकारी बन गया और मैंने नीलम पर मानो जादू ही कर दिया था.

उन्होंने मेरा पेंट उतार कर मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और धीरे से अपने मुँह को मेरे लंड के सुपारे पर लगाने लगीं. दोनों की चीखें गूंज रही थी कमरे में ‘आआआ आआआआ अहह ह हह हहह… सीईईई ईई… चाआआअटो… और तेज… और तेज… आआअह आआआह आआअह!तभी ‘मैं तो गईईईईई ईईईई ईईईई’ बोलते हुए ऋतु झड़ने लगी और विकास ने सारा रस पी लिया.

इस वक्त उनकी सहेलियां सविता के स्कूल टाइम में क्लास में साथ पढ़ने वाले मुदित की बात कर रही थीं कि किस तरह सावी ने मुदित का लंड क्लास में ही चूस लिया था.

ऐसा करने से लंड जैसे सरिता की बुर के अंदर घुसा तो और वो अब उतावली हो के रमेश को बुर फाड़ने के लिए कहने लगी- और जोर से चाचा जी. मैं दूसरी मंजिल पर गया और यहाँ कोई मर्द ढूंढने लगा इसके बाद पहली मंजिल पर गया. मैं- तो ठीक है, अगला शो कब का रखें, पूजा कब आ सकती है दुबारा तुम्हारे साथ रात को रुकने के लिए?ऋतु- उसको जो मजे कल रात मिले है.

मराठी बीएफ एक्स नमस्कार दोस्तो, मैं आप आप सभी को धन्यवाद करता हूं कि आपने मेरी पिछली कहानीभाभी ने कुंवारी लड़की की चूत चुदवा दीको पसंद किया. उसकी दाईं तरफ झड़ चुका चंगेज़ अभी तक अपने लंड को मुठ मार रहा था, और दाईं तरफ उगलने को तैयार रुस्लान!! रुस्लान ने भी भयंकर गर्जना के साथ अपना लंड मुट्ठी में भींच कर नताशा के मुंह को निशाना बनाया, और वीर्य की धार की पिचकारी अन्दर पहुंचानी शुरू कर दी.

उसने स्कूटी की चाबी मुझे पकड़ा दी और स्कूटी का कलर और नंबर बता दिया. मैं समझा नहीं तुम ठीक से बताओ वरना मैं फिर कोई ग़लती कर दूँगा।मोना- हा हा हा तुम बहुत स्वीट हो यार. उसकी चूत में से एक परिचित विशिष्ट गंध आ रही थी जो मुझे हमेशा अच्छी लगती है.

सेक्सी बीपी मराठी नवीन

चुत के पानी छोड़ने से अन्दर तक चिकनी हो गई थी, इसलिए लंड आराम से पूरा अन्दर चला गया. तब शहज़ाद ने बोला कि उसने इससे पहले कभी चूत नहीं देखी इसलिए उसे देखना चाहता है. आप इतने टेंशन में क्यों आ गए कल शाम संजय ने टीना को प्लान बताया तो था मौके पे चौका मारना याद आया ना.

मुझसे सहन नहीं हुआ और मैं उसके लंड को निकालने की कोशिश करने लगा लेकिन उसने मुझे अपनी बांहों में भर रखा था इसलिए मैं हिल भी नहीं पा रहा था. ‘चलो अच्छा ही है’ मैंने भी मन ही मन सोचा और मुझे राहत भी मिली, आखिर गलत काम करने का दोषी तो मैं भी था.

जैसे ही उसने अपना मुँह खोला मैंने लंड के सुपारे को उसके मुँह में डाल दिया.

उस दिन मैंने ख़ुशी के कारण खाना ना खाया, और ना सही से सो पाया मैं मन ही मन मुस्कुराता रहा, रात भर उसी के बारे में सोचता रहा और उसके बारे में सोचते हुए रात में 3 बार मुट्ठ मारी. उनका लंड तो अकड़ कर उन्हें इशारा दे रहा था कि कली सामने है और तू जा रहा है. सेक्स मैंने इतना किया कि पूछो मत, मौसी ने मुझे बहुत से तरीके सिखाये कि कैसे मैं लड़कियों और औरतों की मनोदशा समझ के उनको पटा सकता हूँ.

कुल मिला कर मुझे ऐसा लगता था कि मेरे अंदर कोई खास आकर्षण नहीं था जो कोई मुझ पर लाइन मारे. अन्तर्वासना की पुरानी कहानी का पुनः सम्पादन करके पुनः प्रकाशनदोस्तो, आपने मेरी पिछली कहानीपापा ने अपनी सगी बेटी को चोद दियापढी. मेरा लंड जब उसके मुँह में जा रहा था तब बहुत ही सुख का अनुभव हो रहा था.

एक बार हम भारत आये तो हम एयरपोर्ट पर उतरे तो मामा जी गाड़ी लेकर बाहर खड़े थे.

देसी चुदाई सेक्सी बीएफ: मगर उसे मेरे ऊपर तरस नहीं आया, वो बस अपने हैवानी लौड़े से तूफान मचा रहा था. फिर उन्होंने हाथ बढ़ाकर कपड़े को पकड़ लिया और उसके छोर को उंगली में लपेट लिया.

तो वो बोला- अभी तो तू मेरे लंड को बड़े मज़े से चूस रहा था… और अभी कह रहा है कि किसी और के बारे में सोचता भी नहीं?मैंने कहा- लंड चूसना अलग बात है, वो तो मैंने आपके लंड को अपनी आंखों के सामने खड़ा होते हुए देखा तो मुझसे रहा नहीं गया इसलिए चूस लिया लेकिन गांड तो मैं उसी को दे सकता हूँ जिसने परसों रात मुझे इतना प्यार दिया कि मैं कभी उसको नहीं भूल पाऊँगा. मैं फिर दोस्तो में बिज़ी हो गया, वहाँ मेहमान खाना ख़ाकर चले गये थे, मेरे दोस्त की फॅमिली और दुल्हन की फॅमिली के लोग ही बचे थे, हम सबको खाना खाने बोला गया मुझे ज़ोर से पेशाब लगी थी तो मैं अपने दोस्तो से बोला- तुम लोग प्लेट्स लो, मैं आता हूँ. अब मैंने उनके पैरों को पकड़ा और चुमते हुए ऊपर उनकी जांघों तक पहुंचा.

मैंने भाभी की मालिश शुरू की, तभी उन्होंने हाथ पीछे करके ब्लाउज और ब्रा को खोल दिया.

वो मेरे पास आई और मेरे सामने अपने मम्मे, नाभि, चूत और गांड पर हाथ फेरते हुए बोली- रवीश, तुम्हारा फिजिकल एक्जामिन होना है!इतना कहने के साथ ही वो घूमी और थोड़ा झुकते हुए अपनी पैन्टी को गांड की दरार से अलग करती हुई बोली- तू अपने फिजिकल एक्जामिनेशन के लिये तैयार हो जा!इतना कहने के साथ ही उसने अपनी पैन्टी के दोनों तरफ का बन्धन खोल दिया, उसकी पैन्टी एक झटके में उसके जिस्म से अलग हो गई. एक चूं चूं करती खटिया, दीवार में अलमारी बनी थी, एक कुर्सी छोटी सी टेबल थी।भाई साहब को कुर्सी पर बिठाया. मैं बोली- क्या कर रहे हैं आप ये?मामा बोले- कुछ नहीं!और मुझे उठा कर बेडरूम में ले गये, बेडरूम में जाते ही मैं आश्चर्य में पड़ गयी, मामा ने फर्श पे बेड शीट बिछा रखी थी, एक तकिया भी रखा था, बगल में कॉंडम और वेसलिन भी रखी हुई थी.