हिंदी में बीएफ एचडी फुल

छवि स्रोत,ब्लूटूथ सेक्सी वीडियो बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

जंगल का बीएफ हिंदी: हिंदी में बीएफ एचडी फुल, कोमल- क्या तुम सच में मुझे पसंद करते हो?मैं- अंह … हां मैं तुम्हें बहुत पसन्द करता हूँ.

चुदाई सेक्सी नेपाली

चाचा ने मुझसे कहा- बेटा, तुझे कोई दिक्कत तो नहीं है?मैंने कहा- मुझे क्या दिक्कत हो सकती है चाचा. वीडियो सेक्सी न्यू फिल्मउस दिन चाय पीकर मैं अपने रूम पर आ गया लेकिन मुझे तो चाची का वो सीन देखकर कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं.

वो कचरा निकालते वक्त बार बार झुक रही थीं, तब चाची के बूब्स साफ दिख रहे थे. गोल्डन सेक्सी मूवीचड्डी के अन्दर मेरा लंड भाभी के सामने एकदम कड़क मुद्रा में फूला हुआ रहा था और भाभी लंड को लालच भरी निगाहों से लंड के पहाड़ को देख रही थीं.

पर पायल का अब भी फिगर बिल्कुल वैसा ही था, जैसा मैंने उसे पहले देखा था.हिंदी में बीएफ एचडी फुल: बीस मिनट चूत चोदने के बाद मैंने कामिनी को दीवार के सहारे से खड़ा कर दिया.

थोड़ी देर बाद मैंने आंटी को सोफे पर कुतिया बना दिया और उनकी जल्दी जल्दी पैंट उतारने लगा.शमशुद्दीन जी उसकी कमर को पकड़ कर ताबड़तोड़ उसके चूत का भुर्ता बना रहे थे और अरुणिमा पूरा ध्यान राजशेखर के लंड पर केंद्रित करके चूस रही थी.

नई नवेली भाभी की सेक्सी - हिंदी में बीएफ एचडी फुल

उस दिन मैंने अपनी स्कूटर सर्विसिंग के लिए दी थी इसलिए मुझे ऑफिस से बस से जाना पड़ा.उसकी गहरी नाभि जो कि अब उसके लेटे हुए होने की वजह से और भी गहरी दिखने लगी थी.

आंटी ने पैंटी के अन्दर से मॉम की चूत को धीरे धीरे मसलना शुरू कर दिया. हिंदी में बीएफ एचडी फुल मैं उस टाइम अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेल रहा था तो मैंने उससे कहा- मैं बाद में बात करता हूँ.

घर में अकेले होने के कारण हम दोनों को कोई डर नहीं था इसलिए हम दोनों खुल कर सेक्स के मज़े ले रहे थे.

हिंदी में बीएफ एचडी फुल?

गगन- मैडम जी, अब तक तुमने हल्के फुल्के लंड ही देखे होंगे, हमारे लंड तो चूत को फाड़कर उसका भोसड़ा बना देते हैं. इंडियन चूत गांड चुदाई कहानी में मैंने पड़ोस की एक कुंवारी लड़की से दोस्ती करके उसके साथ फोन सेक्स किया. मेरा लंड फिसलता हुआ उसकी चूत की गहराई में उतरने लगा और प्रिया की अचानक से चीख निकल पड़ी ‘नहींई आआह मम्मीई.

दोस्तो, मेरा नाम अखिल है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ।कहानी मेरी और मेरी सबसे प्रिय मित्र की है यानि मेरी बेस्ट फ्रेंड जिसका नाम दिव्यांशी है।उसके बारे में बताऊँ तो वह एक काफी गोरी और सुंदर चेहरे वाली लड़की है. भाबी ने मेरे लौड़े को चूस चूस कर और बड़ा कर दिया था और कह रही थीं- यार, बड़ा मस्त लंड है तुम्हारा. जैसे ही मैं उनकी कुर्ती को उतारने जा रहा था कि उनका बेटा उठ गया और चाची को आवाज देने लगा.

उसके बाद हम रोज रात को फ़ोन सेक्स करने लगे जिससे हमारे जिस्म में और आग भड़क गई. जब मेरी बहन की नंगी चूचियां और गांड हिलती, तो मुझे बहुत मजा आ रहा था. ये हॉट Xxx गर्ल चुदाई कहानी 3 साल पहले की उस वक्त की है, जब पापा के बेस्ट फ्रेंड हमारे पड़ोस में रहते थे.

मेरे काम की वजह से मुझे रुकना पड़ा और उसी के बाद लॉकडाउन लगा दिया गया तो हम दोनों वहीं फंस गए. शायद लौड़े के बड़े और मोटे होने के कारण पूरा अन्दर तक लेने में उसको तकलीफ हो रही थी.

मैंने जोगी सर से जब इस बात की चर्चा की और उनसे बोली- रूम का किराया देना था और टिफिन का भी देना होता है.

तो आज क्यों नहीं?दिव्या- अच्छा पहले मैं खाना बना लूँ, खाना खा के कर लेना।मैंने कहा- प्रॉमिस?वो बोली- हाँ, बस तुम मेरे हाथ पकड़ लेना और छोड़ना नहीं, चाहे मैं कितना भी चीखूँ चिल्लाऊं।मैंने भी सोचा चलो ठीक है लड़की मान तो गयी.

दोस्तो, मैं अनन्त सिंह एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. अब शर्मा अंकल को सुबह की चाय, दिन का खाना, रात का खाना देने जाने की जिम्मेदारी मेरी हो गई. वे जब झाड़ू लगाती थी तो पूरी नंगी होकर! मैं लेटकर दरवाज़े के नीचे से देखता था.

जब मैं अपने चूतड़ों की खाई में उसके लंड को अन्दर को लेता, तो वो खुद अपना लंड अन्दर की तरफ घुसेड़ने लगा. ये सुनकर मेरे कान खड़े हो गए और मैं और ज्यादा ध्यान से उसकी बातों को सुनने लगा. राजशेखर जी बोले- चूत भी बहुत टाइट है साली तेरी बीवी की, मेरा लंड अन्दर दबा कर रगड़ रहा है.

जब मैं ट्यूशन पढ़ने जाने लगा तो सर्दी में मैं रात को आते वक्त अनजान लड़कियों का पीछा करता और साइकल पर लंड निकाल कर मुठ मारा करता.

वो बोलीं- पैरो को छोड़कर कुछ और भी चाट सकते हो?मैं समझ गया और मदांध हो गया. मैंने सीधे सीधे पूछा- तो क्या अब तक शिकारी ने शिकार किया ही नहीं!इस पर भाभी कुछ नहीं बोलीं. मैंने कहा- आप कहें, तो आप थक गई हैं, मैं आपके थोड़े पैर दबा दूं!उन्होंने कहा- अरे नहीं, रहने दो.

मैम को शराब और सिगरेट खूब रास आती थी तो शराब सिगरेट औरब्लू फिल्म का मजाभी मिलने लगा था. पहली बार कमीने दोस्तों से मुठ मारने की बात जब पता चली तो घर पर अपने बाथरूम में पहली बार इस कला को ट्राई किया. मैं उसे देखता ही रह गया क्योंकि उसने एक झीना सा गाउन अपने जिस्म पर डाला हुआ था; उसमें से उसकी रेड ब्रा और पैंटी साफ नज़र आ रही थी.

तुम्हें कभी भी किसी भी चीज की जरूरत हो, तो मुझे बोल देना, वह मैं तुम्हारे लिए हाजिर कर दूंगी.

मैंने कहा- जैसे मर्जी समझ लो!ज्योति बोली- बहुत मज़ा आया और आपका स्वभाव भी हमें अच्छा लगा. मैं उससे रास्ते भर बातें करता रहा, जिससे कि उसकी जो झिझक थी, वो कम हो सके.

हिंदी में बीएफ एचडी फुल फिर आंटी को ऐसे ही लेकर बेड पर लेट गया।कभी उनको ब्रा में देखना अच्छा लग रहा था … कभी बिना ब्रा के!ब्रा खोल के अपनी तरफ करके चड्डी और सलवार एक साथ उतार के मैंने लन्ड एक ही झटके में चूत में डाल दिया।इस बार उनके निप्पल मुंह में लिए और पेलता रहा दोगुनी ताकत से!आंटी गांड उठा उठा के, लपक के लन्ड ले रही थीं, आसमान में टांगें करके ले रही थीं. बोलो आशु तुमको क्या चाहिए?मैंने भी बोल दिया- आपकी चूत को चोदना चाहता हूँ.

हिंदी में बीएफ एचडी फुल मेरी दोनों सहेलियां उस दिन स्कूल नहीं गईं और मैं अकेली ही स्कूल गई थी. घड़ी में पता नहीं कितना टाइम हुआ था लेकिन मैंने खिड़की की तरफ एक आंख ऊंची करके देखा तो खिड़की के परदे के नीचे से सूरज की बहुत कम रोशनी आ रही थी.

तुम मुझे पेशेवर लड़की समझ बैठे हो शायद!मैंने कहा- हां शायद … क्या वो आदमी तुम्हारा पति था, जो घर की जगह कुछ मिनटों के लिए होटल लाया था?वो इस बात पर उदास स्वर में बोली- हां अब तुम शायद सही समझ रहे हो.

मुट्ठी मारने से क्या होता है

ज्योति मज़े से सिसकारती हुई अपनी चूत जोर जोर से मेरे लंड पर मार रही थी जिससे उसके चूतड़ मेरे टट्टों पर जोर जोर से टच कर रहे थे।मैंने पीछे से उसके बालों को पकड़ा हुआ था और पोजिशन ऐसे थी जैसे मैं किसी घोड़ी को भगा रहा हूँ. मैंने दरवाजा खोल कर उसके होंठों को चूमा और बाहर निकलने ही वाला था कि मुझे धक्का देकर कोई अन्दर घुस गया. विक्रम मॉम के कंधों और गर्दन की मालिश करने लगा और उसने मॉम से पूछा- आंटी कैसा लगा?मॉम मस्ती भरी आवाज में बोलीं- मेरा सारा दर्द चला गया … और ऐसा लगता है, जैसे मैं जन्नत में हूं.

राजेश मुझे दीवार के सहारे घोड़ी बनाकर जोर-जोर से लगातार चोद रहा था. फिर उसने मुझे दोबारा सीधा लेटाया और मेरे पैर अपने कंधे पर रख कर बुरी तरह चोदने लगा. अपने मुँह से मादक सिसकारियां भी लेने लगीं- आंह चाट के साले भैन के लंड!मेरी बहन ने खुद ही गाली भरे शब्दों ने मुझे खोल दिया था.

वो जोर जोर से चिल्लाने लगीं- आंह मार दिया कमीन ने … आंह बड़ा दर्द हो रहा है.

मैंने दीदी से कहा- एक बार मम्मी को बोल दीजिए कि टाइम लगेगा, मैं रात में यहीं रुक जाऊंगा. दोस्तो, मेरे अनुज दोस्त और वरूण की मम्मी का रिश्ता किस इरादे से आगे बढ़ा, यह भी आपको आगे की सेक्स स्टोरी में मालूम चल जाएगा. मैंने उसकी जांघों पर यहां-वहां किस किया और अंतत: अपना मुँह सीधे उसकी चूत पर लगा दिया.

मैंने आंटी का बट प्लग निकाल दिया और आंटी को काऊ गर्ल पोजीशन में बैठाकर उनकी गांड में लंड पेल दिया. मुझे खुश कर दिया तूने!मैंने देखा कि मेरी बीवी अपनी तारीफ़ सुनकर मुस्कुरा रही थी. शमशुद्दीन जी ने अरुणिमा का चेहरा पकड़ कर उसका मुँह अपने लंड से चोदना चालू कर दिया.

आपको मेरी पहले की कहानियां अवश्य पसन्द आई होंगी, आपकी मेल मेरा उत्साहवर्धन करती है कि मैं और अच्छी कहानियां लिख सकूं और आपको अपनी कहानियों के माध्यम से सेक्स का आनन्द महसूस करा सकूं. अब आगे आंटी सेक्स डबल चुदाई कहानी:इस कारण आंटी ने हमारे साथ कहीं घूमने का प्लान बनाने के लिए कहा.

आंटी बोलीं- चूत चूसते जाओ बस … मरी तरफ मत देखो … और जो भी परसाद मिले, उसे खा जाना. तो मेरे घर ही आना, मैं होटल का रिस्क नहीं लेना चाहती।मेरे लिए तो चांदी हो गयी, चलो रूम की टेंशन भी खत्म।मैं- ओके तो 3 दिन बाद मिलते हैं।हरिद्वार से पौड़ी गढ़वाल में उसका वो गाँव करीब 130 किलोमीटर था. मेरा कहने का आशय यह है कि स्वाति भाभी किसी पोर्न स्टार अश्लील अभिनेत्री की तरह दिखाई देती हैं.

तभी आंटी ने कहा- क्या देख रहा है साले … तेरी आंटी ने रोज़ाना जिम में जाकर और कसरत करके ऐसी गांड बनाई है बाकी गांड मरा मरा कर इसको मस्त आकार दिया है.

ये देख कर मैं भी खुद को रोक नहीं पाई और अपने चूत को कपड़ों के ऊपर से ही सहलाने लगी. मैंने कहा- हां चलो, मैं भी खाना लगाने में तुम्हारी मदद कर देता हूं. वो भी समझ गया था और मेरी बुर के दाने को अपने हाथ की उंगली से मसलने लगा.

अब उन्होंने मेरे लौड़े से उठ कर मुझे खड़ा किया और चड्डी के अलावा मेरे सभी कपड़ों को अलग कर दिया. शादी के 6 महीने बाद जब वो वापस कोटा आई तो मैंने उसे चौराहे पर देखा.

उस दिन भी समय कम होने के कारण भाभी बगैर चुदाई की वापस चली गईं और हमारी चुदाई एक बार फिर से अधूरी रह गई. फिर मैंने मेघा को अपने रूम में ले जाकर दरवाजा बंद किया और मेघा के होठों पे टूट पड़ा. मुझसे रहा न गया और मैंने उसे खींच कर लिटा दिया और उसके जिस्म के हर हिस्से को अपनी जीभ से चाटने लगा.

सेक्स वीडियो कैटरीना कैफ

आप सबने मेरी पहले वाली दोनों कहानियोंगर्लफ्रैंड की मस्त चुदाईऔरबुआ की ताबड़तोड़ चुदाईको सराहा, उसके लिए धन्यवाद.

जैसे कि मैं वहां जाता रहता था, तो मेरी सोनल के साथ सैटिंग पहले से ही चल रही थी. मॉम ने भी एक दिन पहले अपना मेनीक्योर पैडीक्योर और फुल बॉडी का वॅक्स करवाया था. वो गांड उठाती हुई बोली- आआहह मादरचोद, चोद मुझे भैन के लंड … साले पेल अपना लौड़ा और चोद दे मेरी चुदासी बुर को … आअहह फाड़ डाल मेरी चूत को.

मैंने अरुणिमा को बोल दिया कि किसी भी सूरत में मेरे मेहमान नाराज़ नहीं होने चाहिए, मेरा शहर में रसूख ही उन लोगों की वजह से ही है. मैंने अपना लंड उसकी चूत पर सैट किया और जोर लगाया, पर लंड चूत में गया ही नहीं. सेक्सी पिक्चर हिंदी दिखाइएविश्वेश्वर जी का लंड उसके मुँह के अन्दर था और वो मजे से लंड चूस रही थी.

मैंने भी हंस कर कहा- तो क्या तुम नीरज से चुदवा लोगी?वह बोली- मैं अपने शौहर को खुश रखने के लिए किसी से भी चुदवा सकती हूँ. मैंने बुआ से बताने के लिए जिद की, पर वो बस इतना ही बोलीं कि समय आने पर तुम समझ जाओगे.

फिर शर्मा अंकल मुझे बाहर आने का इशारा किया, मैं नजरें बचाकर लेडीज संगीत के कार्यक्रम से बाहर आ गई और शर्मा अंकल के साथ शर्मा आंटी के घर आ गई. वैसे भी विश्वेश्वर जी को ये डर सता रहा है कि तुम तमाशा कर सकते हो और उनके सामाजिक छवि को नुकसान हो सकता है. मुझे चुदाई का ऐसा नशा चढ़ गया था कि अगर हम दोनों को कुछ देर का भी समय मिल जाता, जैसे नदी के पास या स्कूल जाते या आते समय तो जल्दी से नीचे से चड्डी सरका कर चुदाई कर लेते.

चूत से निकल रहा उसका पानी मैं अपनी जीभ से चाट रहा था और वो बिस्तर पर मचल रही थी. तो मैंने हिमेश को मेरी सिम्मी से पंजाबी सेक्स की इजाजत दे दी।हिमेश फौरन उसके ऊपर चला गया और उसके बदन को किस करने लगा. अपने गोरे रंग पर उस काली ब्रा और पैंटी में मैं किसी रंडी से कम नहीं लग रही थी, जो तीन-तीन मर्दों का एक साथ मनोरंजन करने वाली थी.

मैं- मैं तुम्हें ऐसे ही अपनी बांहों में कसके जकड़कर तुम्हारी गांड को मसलूंगा और तुम्हारे होंठों को काट खाऊंगा, तुम्हारी चूचियों को भी उतना ज्यादा चूसूंगा, जब तक तुम्हारा दूध न निकल जाए.

उनके साथ जाकर मैंने सारे कमरों में देखा कि किस कमरे की लाईट नहीं जल रही है. उसने मेरी टी-शर्ट स्तन के ऊपर से अलग कर दी और मुँह से दूध को किस करने लगा.

करीब साढ़े छह बजे हमारी आंख खुली तो हमने एक दूसरे को किस किया और होंठों को भी चूसने लगे. मैंने पिछले एक महीने से चुदाई नहीं की थी और अभी रविवार को चार दिन बाकी थे. मैंने कामिनी कीखुली चूतको देखा तो उसकी चूत पर हल्के हल्के काले रंग की झांटें उगी थीं.

एक दिन उन्होंने मुझसे पूछा- ललिता तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है क्या?मैंने कहा- नहीं. मुझे अंदर ही अंदर उसका पास बैठना बहुत अच्छा लगने लगा और मुझे पता भी नहीं चला बस कब रवाना होकर शहर से बाहर निकल गई. किशोर ने अपने लंड को सहलाते हुए आगे पीछे किया और उसका बड़ा सा गहरे गुलाबी रंग का सुपारा बाहर निकल आया.

हिंदी में बीएफ एचडी फुल हमारे बंगालियों में अक्सर लड़कों kई शादी बड़ी उम्र में ही होती है और लड़कियां ज्यादातर कम उम्र की होती हैं. वो मुँह चोद रहे थे, ये इसलिए कह रहा क्योंकि वो लंड चूस नहीं रही थी बल्कि गुरबचन जी अपना लंड अन्दर धकेल रहे थे, जितना उनका मन हो रहा था.

बॉलीवुड क्सक्सक्स

लंड से 4 बार पानी गिराने के बाद मेरी हालत ऐसी हो गई थी कि मुझसे चला भी नहीं जा रहा था. दोस्तो, मुझे आशा ही नहीं वरन विश्वास है कि आपको मेरी इस सेक्स कहानी को पढ़ने में मजा आ रहा होगा. मेरा काम जल्दी खत्म हो जाने चार बजे की जगह बारह बजे ही उसके घर पहुंच गया.

वो मुझसे कह रहे थे- मैडम यार क्या माल हो तुम … साली सनी लियोनी भी फेल है तुम्हारे सामने. कामिनी ने मेरे हाथ कसके पकड़ रखे थे और लंड चूत में अन्दर रगड़ खाने लगा था. सेक्सी लगाने से क्या होता हैमैंने देर ना करते हुए लंड को जल्दी से निकाला और थोड़ा सहलाकर ऊपर नीचे करके जगाया, फिर लंड चाची के मुँह में दे दिया.

आंटी ने जैसे ही होश संभाला, तो आंटी मुझको धन्यवाद बोलती हुई मुझसे लग गईं.

दस मिनट में मेरी चुत की चमड़ी लटकने लगी और गांड के छल्ले बाहर निकलने लगे. मैंने उसके गुलाबी गालों को चूमते हुए उसके दोनों पैरों को अपने हाथों में फंसा लिया और अपने धक्के तेज करता चला गया.

यह कहते हुए अंकल ने मेरे कपड़ों के ऊपर से ही मेरे मम्मे दबाने शुरू कर दिए. मुझे डर लगने लगा कि कहीं भाभी इस हरकत को भाई से ना बता दें।तीन-चार दिनों तक भाभी ने मुझसे बात नहीं की।फिर एक दिन मैंने भाभी के रूम में कीहोल से देखा कि वह नहा कर केवल अपने बदन पर एक चुन्नी डाले हुए बाहर आई और शीशे में देख कर अपने शरीर को संवारने लगीं. हुसैना के भाई ने मुझे हमेशा ही अधूरी ही छोड़ा है, आज तुम मेरी पूरी प्यास को बुझा दो मेरे राजा.

जैसा मैं सोचकर आया था ठीक वैसा ही हुआ भी!अब बारी थी उसे चोदने की, अपनी हसरत पूरी करने की, जिसके लिए मैं उसे यहां लाया था.

इस पहले राउंड के बाद हमने बाथरूम में फिर टेबल पर और उसके बाद बिस्तर पर अपने ऊपर बिठा के भी मुझे इतनी उम्र के बाद रियल सेक्स का मजा दिया, चुदाई करनी सिखाई. अब भाभी ने जैसे ही मेरे लंड को हाथ लगाया, मेरे जिस्म में मानो बिजली सी दौड़ गई. मैं- फिर मैंने तुम्हें बिस्तर पर गिरा दिया और तुम्हारे ऊपर आकर अपने दोनों हाथों से तुम्हारी चूचियों की मालिश करने लगा.

देसी लुगाई की सेक्सी वीडियोमेरी भी सगाई बचपन में हमारे पड़ोसी रिश्तेदार वैशाली के साथ तय हो गई थी. स!इतना सब तो मैं भी बर्दाश्त नहीं कर पाया, मैंने स्पीड से चार पांच झटके एक साथ ज्योति की चूत में लगाए और जोर से लौड़े को बाहर निकाला.

चेहरा साफ करने वाला ट्यूब

मैंने मदहोशी में अपनी आंखें बंद कर लीं और जोगी सर मेरे होंठों को चूमने लगे. हम दोनों को ऐसा लगने लगा था मानो बिना शराब पिए, उसका नशा हमारे दिमाग में पहुंच गया हो. मैंने मना किया लेकिन वो नहीं मानाइस बार उन्होंने मुझे पलंग पर घोड़ी बनाया और पीछे से मेरा चूत में लंड डाल दिया.

वो ‘आह आह ओह ओह …’ करने लगी और मेरा लंड निकाल कर बोली- यार, क्या कर रहे हो, बड़ा दर्द हो रहा है. इस बीच राजेश मेरे पास आया और मेरे बूब्स दबाने लगा और बोला कि मुझे भी तुम लोगों को ज्वाइन करना है. प्रकाश- इसकी मां का यार … क्या सुपर माल है, राजेश भाई तूने तो हमारी लाइफ बना दी.

मैं उसके साथ मज़ा लेना चाहता था इसलिए ठीक से चैक कर लेना चाहता था कि उसका लंड कैसा है. Xx फ्रेंड सेक्स कहानी कॉलेज में दोस्त बनी लड़की के साथ आठ साल बाद भी आधे अधूरे सेक्स की है. फिर वो बोलीं- बेडरूम में चलो, इधर तुम्हारी बुआ कभी भी मन्दिर से आ सकती हैं.

मैं उनकी गर्दन पर किस करने लगा तो सलोनी भाभी धीमे से बोलीं- किस सही से करो न!अचानक से भाभी के मुँह से ये बात सुन कर मैं खुशी से पागल हो गया. अब मैं अपनी उंगली से उसकी चूत चोद रहा था, साथ ही साथ एक हाथ से उसके एक कड़क स्तन को मसलने लगा.

आप होश में तो हो! आप क्या कह रही हैं और यहां इतनी भीड़ में!मैं गुस्से में उससे बोली- अबे भोसड़ी के … ऐसे सकपका रहा है, जैसे कभी किसी लौंडिया की चूत ना मारी हो.

धीरे धीरे हमारी बातें मिलने पर पहुंच गई, पर मिलने के लिए वो साफ मना कर जाती थी. हिंदी सेक्सी मूवी मारवाड़ीसाली रंडी तेरे मम्मों और गांड देखकर लगता है कि तू रोज किसी से चुदती होगी. भाभी की सेक्सी वीडियो ओपनदीदी स्कूटी का सहारा लेकर घोड़ी बन गई थीं और मैं दीदी के कंधे पकड़ कर इतनी गन्दी तरह से उनकी चूत चोदने लगा था कि वो अपना सिर ऊपर करके बस मादक सिसकारियां ले रही थीं. मैं देख रही थी कि वहां जितने भी लड़के थे, सब मुझे ललचाई नजरों से देख रहे थे क्योंकि मैं श्रीदेवी की तरह तैयार होकर आई थी और गजब की सेक्सी लग रही थी.

[emailprotected]पोर्न मॉम सेक्स कहानी का अगला भाग:मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने मेरी मॉम को चोद दिया- 2.

कुछ देर तक लंड चूसने के बाद पापा ने मम्मी को सीधा लेटा दिया और अपने लंड को मम्मी के दोनों चूचों के बीच में रख दिया. प्रिया भाभी बस ब्रा और पैंटी में रह गई थीं और मैं कच्छे में रह गया था. मैंने ऐसा इसलिए किए क्योंकि मैं ज़्यादा से ज़्यादा टाइम वरूण की मम्मी के साथ गुजारना चाहता था.

‘याहू ह …’राजेश जोर से चिल्लाया और अपने सारे कपड़े खोल कर वह भी हौद में कूद गया. मैंने इस बात का ध्यान रखा और उसके घर के खुले दरवाजे से सीधे अन्दर घुस गया. उनके जाते ही मैंने सूरत में एक बेहतरीन होटल खोजा और उसमें एक कपल वाला रूम बुक कर दिया.

सेक्स कैसे करते हैं वीडियो दिखाएं

लगभग 20 मिनट लंड चूसने के बाद देवर मेरे मुँह में ही झड़ गया और मैं उसका रस पी गई. विक्रम ने अपने हाथ से सारा वीर्य मॉम के मुँह पर और चूची पर मसल दिया और अपना हाथ मॉम को दिखाकर बोला- चल कुतिया इसे चाट चाट कर साफ़ कर!मॉम ने साफ़ कर दिया. मेरे लौड़े के ठंडा होने पर जैसे ही लंड बाहर आया … पक्क जैसी चूत से आवाज आई और उसकी चूत से मेरे लौड़े से निकला लावा बहने लगा.

हम पंजाबी लोग हैं तो हम सूट और सलवार को ही ज्यादा अहमियत देते हैं।मेरी वाइफ का सलवार सूट उतारते ही वह उसके सामने सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी।नाईट बल्ब में सिम्मी बला की खूबसूरत लग रही थी।अब हिमेश ने उसको बेड पर लेटा दिया और उसके बूब्स और उसके जिस्म पर अपना अधिकार जमाने लगा.

करीब 10 मिनट के बाद उसने अपना लंड मेरे मुंह से बाहर निकाला और मुझे दूसरी तरफ घुमाते हुए मेरे चूतड़ों के नीचे एक तकिया रख के अपना लंड मेरी चूत पर रगड़ने लगा.

मैं बोला- तू मुझे संजीदा मत कर … मेरी गुलाम है तू … भूल गयी क्या!उसने अपने हाथ ऊपर कर दिए और 32 इंच के कड़क गोल आमों के दीदार हो गए. मैंने भी एकदम से बोल दिया- आपके बूब्स देख रहा था भाभी … सच में आप बहुत सेक्सी माल हो. इंग्लिश सेक्सी वीडियो इंग्लिश मेंकामिनी ने मेरे हाथ कसके पकड़ रखे थे और लंड चूत में अन्दर रगड़ खाने लगा था.

फिर मैंने उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और उसके खूबसूरत चूचों के जोड़े को देखने लगा. यहां तक अपने घर का झाड़ू पौंछा तक!ऐसा करते हुए 6 महीने से अधिक बीत गया और उसके दिमाग में घुस गया था कि ये तो मेरी सारी बातें मानता है. उसने वैसा ही किया,मैंने अपना सख्त लन्ड उसकी गीली चूत पर रखा और दबाया.

नीचे पड़ी मिसेज वर्मा ने भी अपनी टांगों और बांहों से मुझे जकड़ लिया. वो वेटर मेरी ओर आया और बोला- मैडम जी, आप मोकटेल लेंगी?मैंने हां में अपना सिर हिलाया और उससे मोकटेल का गिलास ले लिया.

अब वह काफी थक चुकी थी तो मेरे सीने पर अपनी तेज गर्म सांसों को छोड़ने लगी.

ये सब मैंने इसके पहले दो कहानियांचाची के साथ चुदाई की तमन्नापड़ोस की भाभी ने ब्लैकमेल कियालिखी थीं, उनमें सब बताया था. वरूण की मम्मी तलाकशुदा औरत हैं जिनका तलाक कुछ सालों पहले ही हुआ था. मैं यह सब बैठ के एक अलग कोने पर बैठकर देख रहा था।हिमेश मेरी सिम्मी के ऊपर लेट गया था और ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को जमकर चूस रहा था.

मुसलमानी एचडी सेक्सी अब तक सुबह हो गई थी और हम लोग एक दूसरे को साफ़ करके अपने अपने काम में लग गए. हम दोनों का सफर करीब डेढ़ घंटे का होने वाला था क्योंकि वो सड़क गांव की थी और बहुत सही हालत में नहीं थी.

आंटी ने एक छोटी सी ब्रा पहनी हुई थी, जिसमें उनके मम्मे लगभग पूरे नग्न दिख रहे थे, बस निप्पल बचे हुए थे. फिर एक दिन जब मैं नोट्स बना रहा था तो वो मेरे कमरे में आई।वो मेरे साथ बैठ गई और मेरे नोट्स देखने लगी।तभी मेरा पेन नीचे गिरा जो मेघा की कुर्सी के पास चला गया. मैंने कहा- अरे इतनी भी जल्दी क्या है डार्लिंग!वो कहने लगीं- डुग्गू के पापा तो आज फिर 3 दिनों के लिए बाहर जा रहे हैं.

बीवी कौन है

वो मान गई और मैंने उसके लिए नाश्ता बनाया और हम दोनों ने नाश्ता किया. चुदाई के बाद सब लड़कों को बताया गया कि यदि तुमको झड़ना रोकना है तो चुदाई रोककर लंड को बाहर निकालो, लंड की जड़ के पास कस कर पकड़ लो और लंबी लंबी सांस लो, झड़ना टल जाएगा. मैंने भी भाभी की बात मानते हुए अपना मुँह भाभी की चूत से हटा लिया और जल्दी से अपना लंड भाभी की चूत के मुँह पर ले जाकर टिका दिया.

दोस्तो, मैं अपनी चुदाई की कहानी के अगले पार्ट में बताऊंगा कि कैसे मुझे और स्नेहा को चुदाई करते हुए आंटी ने पकड़ लिया और मैंने उनको भी चोद दिया. अब तू आराम से बैठ कर बियर पी क्योंकि अब इस छमिया को अपने लवड़े पर सैर कराने की हमारी बारी है.

मुझे शर्म आने लगी क्योंकि वो पूरे कपड़ों में थी और मैं नंगा था उसके सामने!मैंने नज़रें झुका ली.

मैं दर्द से सिसक उठी- उई मम्मी रे मर गई … साले आराम आराम से चोद!वो बिना कुछ सुने लंड चूत में बाहर भीतर करने लगा. मैंने अपना मुँह दीदी की चूत पर रखा और दीदी की चूत में प्रेशर से लंड रस टपका दिया. इसका मतलब था कि वो भी पूरी तैयारी से आई थी, तभी उसने बाल साफ किए थे.

तो मैंने उससे कहा- बेबी, मैं फ्री होकर एक घंटे में तुम्हें कॉल करता हूँ. मुझे खुश कर दिया तूने!मैंने देखा कि मेरी बीवी अपनी तारीफ़ सुनकर मुस्कुरा रही थी. मेरे बार-बार वंदना के घर जाने से वंदना के मोहल्ले के लड़कों को हम दोनों के ऊपर शक होने लगा था क्योंकि मैं जब भी वंदना के घर जाता था, तो उसके मोहल्ले के लड़के मुझे बेहद शक की नजरों से देखने लगे थे कि वंदना और मेरे बीच में क्या रिश्ता है.

मैं उसकी ओर देखती हुई बोली- वाह बहुत अच्छे नाम है तुम्हारे, बहुत बढ़िया.

हिंदी में बीएफ एचडी फुल: जेनीका आंटी पार्लर चलाती है, तो वो अपने शरीर पर स्किन शाइन क्रीम लगाती है ताकि उसका पूरा बदन चमकता रहे. मेरा कहने का आशय यह है कि स्वाति भाभी किसी पोर्न स्टार अश्लील अभिनेत्री की तरह दिखाई देती हैं.

फिर मैंने और देखा तो अन्तर्वासना का पेज खुल गया; उसमेंभाई बहन के बीच चुदाईकी तमाम सेक्स कहानी पढ़ने को मिलीं. मैंने उसको बाथरूम से उठाकर बेड पर ले गया और उसको कुतिया बना कर खूब चोदा।और इस बार लंड का पानी उसके नंगे बूब्स पर डाला और मालिश करके, उसके बूब्स मसलने लगा. कोमल तुम गांड चुदाई के लिए क्रीम और 2 इंच मोटा वाला डिल्डो ले आ जाओ.

उन्होंने अपने मम्मों से मेरा सर लगा लिया, इसमें मुझे बहुत आनन्द आ रहा था.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम सौरव है और यह सेक्स कहानी मेरे जीवन में बीते कुछ हसीन पलों को लेकर है. फिर नीरज ने जैसे ही इशारा किया … हम दोनों ने अपनी अपनी पैंटी उतार दी और 69 के पोज में आ गईं. फौजिया को मेरे घर आते हुए इतना समय बीत चुका था तो फौजी चाचा भी बेफिक्र रहा करते थे.