गांव की देहाती लड़की की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी डायन

तस्वीर का शीर्षक ,

बहन और भाई की चुदाई: गांव की देहाती लड़की की बीएफ, अब मेरे गालों पर प्यार की खुमारियों के निशान स्पष्ट देखे जा सकते थे.

ब्लू सेक्सी नंगी फिल्म दिखाओ

मुझे नहीं पता कि ये सब यानि ‘बाप बेटी की चुदाई’ ठीक हुआ या नहीं, मगर इस बारे में आप सब लोग मुझे बतायें कि क्या पापा के साथ ये सब करके मैंने कुछ गलत तो नहीं किया?मुझे आप लोगों के मैसेज और कमेंट्स का इंतजार रहेगा. सेक्सी वीडियो के वॉलपेपरअब मुझे बस यही पता लगाना था कि उसके मन में मेरे लिए भी कुछ चल रहा है क्या.

यही हम चारों के साथ हुआ क्योंकि जहां हम पहले चट्टानों के पीछे छुपने का सोच रहे थे वहां अब हालत यह थी कि हम नाम मात्र के कपड़ों में ही चूमा-चाटी कर रहे थे. हैप्पी बर्थडे मामी जीउसके बाद मैंने किसी के साथ कुछ नहीं किया और मैं अपनी ग्रेजुएशन के लिए दिल्ली आ गयी.

बिना किसी समस्या के और बिना अपनी पहचान बताने के साथ ही किसी और की पहचान बताये बिना भी अपनी बात रख सकते हैं.गांव की देहाती लड़की की बीएफ: मैंने कसकर गौरी की जांघें पकड़ ली। गौरी का शरीर अब कुछ ढीला सा पड़ने लगा था। उसने अपने घुटने मोड़ लिए थे। मैं उसके ऊपर हो गया और उसके होंठों को चूमने लगा।मुझे लगा वह इस आसन में थोड़ी असहज सी होने लगी है। अब आसन बदलने का समय था।गौरी मेरी जान आओ अब एक बार डॉगी स्टाइल में करते हैं.

मैंने पूछा- अब मियां बीवी के बीच में शर्त कब से आ गयी?वो बोले- ज्यादा सवाल न करो.कुछ देर में ही उसके लंड से सुनामी की धार निकली और तब जाकर वो शांत हुआ।उसने सीधे उठकर पैंट ठीक की और बाइक के पास जाकर खड़ा हो गया.

नया सेक्सी वीडियो ओपन - गांव की देहाती लड़की की बीएफ

मैं बोली- क्यों नहीं, अगर आपको अच्छा लगता है तो मुझे कोई प्रोब्लम नहीं!बॉस खुश हो गए और मेरे होंठों पे एक चुम्मा किया और कहा- तुम कितनी अच्छी हो यार!सब लोगों को बॉस ने वहीं रोका और सबके लिए एक एक गिलास वाइन और बनाई और अब इस बार बॉस सोनम के पास चले गए, अपने हाथ से उसको वाइन पिलाने लगे और उनका दोस्त मेरे पास आ गया और मुझे वाइन पिलाने लगा.मैंने अपना ध्यान हटाने की कोशिश की और अपने कमरे में जाने लगा तो उसने मुझे आवाज दी.

कुछ देर बाद मैं उनकी गांड पर हाथ फेरने लगा तो परी मैम ने अपनी पेंटी भी निकालने का कह दिया. गांव की देहाती लड़की की बीएफ बियर पीने के बाद उसको भी चढ़ गयी थी और वो अपने पुराने बॉयफ्रेंड को गालियां देने लगी.

और उसने ब्रा की स्ट्रिप्स खोल दी और साइड की मसाज के बहाने साइड से ही बूब्स की भी मसाज करने लगा.

गांव की देहाती लड़की की बीएफ?

” मैंने सिर झुकाकर कोर्निश के अन्दाज़ में सलाम बजाया तो दोनों हंस पड़ी।आप भी तैयार हो जाओ फिर सेलिब्रेट करते हैं. उसने आते ही मनोज को और सुनील को एक लाईट किस दिया और अपना पेग लेकर बेड पर बैठ गयी क्योंकि रूम में दो ही कुर्सी थीं. मेरा रूम थोड़ा सा अलग है, मुख्य दरवाजे पर किसी की नज़र नहीं पड़ती, तुम आम राहगीरों की तरह आना और चुपचाप मेरे दरवाजे में दाखिल हो जाना.

अक्सर हम दोनों किसी पार्क में जाकर बैठ जाते हैं और काफी देर तक बात करते रहते हैं. एक दिन हम दोनों रात में बात करते करते बार में चले गए और हम दोनों ने वहां पर बियर पी और उसके बाद मैं उसकी बाइक पर घूमने निकल गई. हालांकि मेरे मन में अभी ऐसा कोई इरादा नहीं था, लेकिन फिर भी उनको डर था.

फिर जहां लंड का मुँह दो छेदों में विभक्त होता है, एक धागा सा लगा रहता है, उधर आंटी अपनी जीभ से लंड को कुरेदने लगीं. फिर मैंने उसे लेटने को कहा और जैसे ही वो लेटी, मैं अपना सिर उसकी टांगों में ले गया और चूत चाटने लगा, वो चूतड़ उठा कर मेरा साथ देने लगी. मासी को देख कर ही मुझे ऐसा लगने लगता है कि इनको अभी ही पकड़ कर चुम्मी ले लूं.

मैंने शालिनी भाभी की कमर के नीचे से तकिया को निकाला और उनको अपनी बांहों में लेकर ताबड़तोड़ चुदाई करने में लग गया. )फिर मैंने उसे गोद में उठा कर बेड पर लिटा दिया और उसकी कच्छी उतार दी.

वहां से आवाज़ आयी- कैसा है रे मेरे छैल छबीले?मैंने पूछा- कौन?मौसी थीं, वो बोलीं- वही, जिसे तू आग लगा गया रे.

मैंने उनकी पैंटी की इलास्टिक में उंगलियां फंसाईं और उनके पैरों से नीचे लाते हुए उनकी पैंटी को हटा दिया.

आज वो हद से ज्यादा ही सेक्सी दिख रही थी और मेरे मन को ललचा रही थी।मैं उसे एक टक देखता ही रहा तो उसने बोला- क्या हुआ? लो तुम्हारा दूध तैयार है. ” महेश ने इस बार अपना हाथ अपनी बेटी की जाँघ पर उसके कपड़ों के ऊपर से ही रखते हुए कहा।अपने पिता की बात सुनकर ज्योति का सिर शर्म से झुक गया और वह बगैर कुछ बोले चुप होकर बैठी रही।क्या हुआ बेटी? बोलो न … तुमने तो अपने भाई के साथ ही प्रोग्राम सेट कर लिया?” महेश ने ज्योति की जाँघ पर अपने हाथ को फेरते हुए कहा।पिता जी मुझसे गलती हो गई. सीमा ने पिंकी से कहा- जरा दिखा तो कौन सा नया वाइब्रेटर लाया है तेरा कन्हैया?पिंकी हंसती हुई उठी और अलमारी से एक 10 इंच लम्बा और मोटा गुलाबी रंग का वाइब्रेटर निकाल लायी.

अब आगे:कोई 2-3 मिनट तक धक्के लगाने के बाद जेठजी थक गए और उन्होंने मुझे नीचे उतार दिया, पर अपना लंड उन्होंने निकाला नहीं. फिर पैंट की चेन खोलकर उसने अपना लंड बाहर निकाला और मेरे हाथ में दे दिया. मेरी मां भी अक्सर मेरी नयी भाभी के यहां चली जाती थी और कभी भाभी हमारे घर पर आ जाती थी.

काफी देर तक वो भाभी के चूचों को दबाता रहा और फिर उसने चूचों को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

जब मैं सो रहा होता था तो वो सुबह मुझे उठाने के बहाने मेरे लंड को हाथ में पकड़ कर देखा करती थी. मनु का इंट्रो पूरा भी नहीं हुआ था कि तभी हमारे पीछे से एक आवाज आई- क्यों क्या हो रहा है वहां?हम तीनों ने किसी टीचर के होने की उम्मीद से पलट कर देखा और उनके चेहरे तो पहले से ही उस आवाज की ओर थे. साथ ही चूत एक बार झड़ चुकी थी, तो मुझे उसे फिर से चुदाई के लिए तैयार भी करना था.

अब आगे:बॉस को देखते हुए मैंने अपने बेडरूम में जाकर एक मिनी टॉप और छोटी सी स्कर्ट पहन ली. उसने कहा- अगर मैं तुमसे चार-पांच लोगों के साथ सेक्स करने के लिए कहूं तो तुम कर लोगी?मैंने कहा- अगर तुम चाहते हो कि मैं किसी और के साथ करूं तो मैं वो भी करने के लिए तैयार हूं. मैंने कहा- तुम्हें तैयार होने की क्या जरूरत है? तुम तो वैसे ही इतनी खूबसूरत लग रही हो.

मैं तो मन ही मन कह रही थी कि खाना तो खाऊंगी ही … लेकिन साथ में अपनी चूत को शान का लंड भी खिलाऊंगी.

उसकी इस खुशी पर सीमा ने नकली रोनी सूरत बनाकर कहा- नो! ये नहीं हो सकता था. हम दोनों कभी कभी लाइब्रेरी में, कभी कभी पार्क में, कभी कैन्टीन में मिलते रहते थे.

गांव की देहाती लड़की की बीएफ पर वो चुदास से तड़प रही थीं, तो मैंने मेरा 5 इंच का मोटा लंड मोसी की चुत के अन्दर एक झटके में ही घुसा दिया. विक्की अपने कपड़े उतार दिए और मैं तो बस उसकी शर्ट पहन कर बैठी थी, सो मैंने भी उतार दी.

गांव की देहाती लड़की की बीएफ वो ज़ोर ज़ोर से सांसें ले रही थी और उसकी गांड भी ऐसे ज़ोर ज़ोर से हिल रही थी, जैसे कि उसकी गांड भी ज़ोर ज़ोर से सांस ले रही हो. शादी के पांच सालों में इतना जोश मैंने एकाध बार ही उनके अंदर महसूस किया था.

वैसे तो काफी थका हुआ था लेकिन अमृता के साथ हॉल में हुई कामुक हरकतों को याद करके एक बार फिर से लंड को हल्का किया और फिर सो गया.

सेक्सी कहानी व्हिडिओ

नीता और प्रिन्स दोनों बहुत उत्तेजित हो गये उनकी सिसकारियाँ निकलने लगी. कुछ देर बाद उस लड़के ने मुझसे धीरे से पूछा- क्या आपका कुछ मन कर रहा है?मैं कुछ नहीं बोला. मैंने उसके साथ पानी में सब कुछ किया, सिर्फ बीवी की चूत में लंड डालकर उसे चोदना ही बाकी रह गया था.

दस मिनट तक मेरे होंठों को चूसने के बाद उसने मेरे कपड़े निकलवा दिये. रोहन- कोई बात नहीं … मैं बस यही सोच रहा था कि आपने मुझे मैसेज करने से मना क्यों किया. घर वालों को इस बात की चिंता होने लगी और उन्होंने मेरी टयूशन लगवाने की सोची.

मैं तुझे शॉपिंग करने के लिए इतने पैसे दूंगा कि तू अपने मन मर्जी के कपड़े, ब्रा और पैंटी खरीद सकती है.

मैं कई बार इस घटना के बारे में सोच कर रोमांचित हो जाती हूं इसलिए मैंने अन्तर्वासना पर यह घटना आप लोगों के साथ शेयर की है. मैंने सोचा कि बस उसको उत्सुकता हो रही है, इसी लिए देखना चाहता होगा. मुझे तो मानो उड़ने के लिए सारा आसमान मिल गया था और मैं लंड चुसाई का मजा ले रहा था.

दीपा ने जल्दी से ढेर सारे स्नैक्स, बियर, व्हिस्की, सिगरेट और जो कुछ भी हाथ लगा पैक कर लिया. उसके बिस्तर पर गिरते ही शान्ति भाभी उसके एक दूध को सहलाने लगीं और दूसरे चूचे को चूसने लगीं. मैं भाभी की तरफ देखते हुए छुप-छुप कर भैया के लंड को भी देखने लगा … क्योंकि भैया का लंड लगभग 8 इंच का था और बहुत मोटा भी था.

धीरे धीरे ऐसा करते हुए मैंने उनका पूरा सूट उनके जिस्म से अलग कर दिया और उनको पता भी नहीं चला कि वो ऊपर से नंगी हो चुकी हैं. तभी किसी के आने की आहट हुई तो मैंने अमन को खुद से अलग किया और जल्दी से अपनी टीशर्ट पहन ली.

अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को बहुत समय बाद एक बार फिर से अरुण का नमस्कार. वन्दना की उस चुदाई की कहानी मैं आप को फिर कभी सुनाऊंगा। आपको यह कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताना. मैंने पैग खींच कर गिलास रख दिया और अपनी दोनों बाहें उसके गले में डाल दीं.

फिर अपने आपको कंट्रोल करते हुए मैंने कहा- मैम, चलिए काम शुरू करते हैं.

बगल में टेबल के ऊपर एक ट्रे रखी थी, उसको एक कपड़े के अन्दर छिपाया हुआ था. कोई दो मिनट लंड चुसाने के बाद मैंने परी मैम को खड़ा किया और उनकी एक टांग को अपने कधे पर रख कर उनको दीवार से लगा दिया. कुछ देर मस्ती करने के बाद फिर सोचा कि कुछ नया किया जाए इसलिए मैंने सुझाव दिया कि इन दोनों औरतों को थोड़ा दूर रेत में पूर्णतया नग्न अवस्था में ऐसी जगह लिटा दिया जाए जहां समुद्र की लहरें इन दोनों के ऊपर आएं और स्वयं ही फिर बह कर उतर जाएं.

मैं कपड़े पहन कर चाची के साथ ही सोफे पर उनकी जांघों से जांघें चिपका कर बैठ गया. मैंने कहा- मार ही डालोगे क्या आज, अब डाल दो अपना लौड़ा… आह्ह।मनोज ने कहा- ऐसी भी क्या जल्दी है जान, थोड़ा रस तो पीने दो तुम्हारी चूत का!मैंने कहा- इतनी देर से रस ही पी रहे हो.

”उसके बाद …अंशु ने उपिन्दर का लौड़ा पकड़ा और बोली- मालिनी और कामिनी देखो, मेरे प्रेमी का लण्ड कैसे मचल रहा है। इसके भोग के लिए नई दुल्हन को तैयार करो. मैं उनकी ब्रा को एक दो बार हटाया, तो मैम ने मुझे रुकने का कह कर अपनी ब्रा को निकाल दिया. ऐसे ही मेरे 12वीं क्लास के एग्जाम हो गए लेकिन उसने कभी मुझसे कुछ नहीं कहा.

सेक्सी दिखाइए खतरनाक

मुझसे रहा नहीं गया, मुझे पेशाब भी आ रही थी, मगर मेरा जाने का मन नहीं कर रहा था.

मैं खुद से पूछने लगी कि क्या मैंने अभी अभी अपनी बहन को सोच कर मुठ मारी? क्या हो गया है प्रीति तुझे, तू एक लड़की के बारे में ऐसा कैसे सोच रही है?इस तरह के कई विचार थे मेरे मन में, जिनके जवाब मेरे पास नहीं थे. फिर मैं उठा और अपना लंड देखकर उनको दिखाते हुए बोला कि इसका क्या होगा?वो आंखों में रंडियों जैसी चमक लाते हुए बोलीं- ला इसे … मैं अभी इसे ढीला करती हूँ … पूरा सबक सिखा दूंगी. काफी देर तक मैंने भाई का लंड चूसा और फिर भाई ने अपनी निक्कर को उतार दिया और नीचे से पूरा नंगा हो गया.

दूसरी ख़ुशी ये थी कि मुझे वो जानकारी मिली थी, जिसकी तैयारी में मैं अभी से लग गया था. पता नहीं अचानक उनको कहां से होश आ गया या पता नहीं क्या हुआ था, वो मुझे और आगे करने से मना करने लगीं. पैड कैसे लगाएमैंने मेम को कुतिया जैसे बनाया और पीछे से उनकी गांड में लंड पेलने लगा.

उसने बालों को पॉलीथिन कवर लगाया और फिर हम दोनों फव्वारे के नीचे चले गए. जिस दिन हमको मिलना था तो उस दिन मैं तो सुबह से ही वहां पर पहुंच गया था और उसके आने से पहले उसने जो फोटो व्हाट्स पर भेजी हुई थी उसी को देख कर मैं मुठ मार चुका था.

सुनील और मनोज ने खड़े खड़े ही दीपा को अपने बीच में सैंडविच बना रखा था. मेरे दाखिल होते ही मोहतरमा ने दरवाजे की कुण्डी लगा दी और मेरी तरफ देख कर मुझे चाय कॉफ़ी के लिए पूछा. मैंने अपने लंड को उसकी योनि पर सेट किया और हल्का सा दबाव उसकी योनि पर बना दिया.

हम दोनों चुदाई का प्रोग्राम बना कर घर आए तो घर पर अनिता भाभी के पति आ गये थे. कुछ देर बाद मैंने चाची का एक पैर टॉयलेट के कमोड पर रखा और फिर से उन्हें चोदने लगा. आज उन्हें वह मिलने वाला था जिसका वह कई वर्षों से इंतजार कर रहे थे, आज मनीषा उनकी होने वाली थी.

मैंने पहले एक उंगली अन्दर दी, फिर धीरे धीरे दो उंगलियां उनकी गांड में डाल दीं.

वो हमारी तरफ देख कर हँसती हुई बोली- बड़े जोर शोर से नहा रहे थे?तो नीरू बोली- आज तो थोड़ा कम शोर हुआ … असली शोर तुझे फिर कभी सुनाएंगे. वो अपने चूतड़ों को जोर जोर से ऊपर नीचे करके मेरा लंड अपनी चूत में जड़ तक ले रही थी.

थोड़ी देर और इंतजार करने के बाद मैं हॉल में आ गयी और वहां से भी जेठजी को आवाज लगाई. अब सोनम भी ब्रा और चड्डी में ही रह गई थी, उसका गोरा मांसल गदराया बदन देख के बॉस तो उस पर टूट गए थे. अंत में चाची ने हाथ जोड़ लिए और बोलीं- मेरे बाप … अब तो छोड़ दे मुझे … अब मुझसे चला भी नहीं जाएगा.

फिर उन्होंने मेरे कंधे पर से ड्रेस को उतारना शुरू किया और धीरे-धीरे सारी ड्रेस को मेरे बदन से अलग कर दिया. चित आया था, मतलब आंटी पहले करेंगी … लेकिन होगा क्या, ये मुझे पता नहीं था. मैंने उसकी चुत को चाट कर साफ़ कर दिया और इसके बाद भी चुत को चूसता रहा, जिससे चुत फिर से गर्म हो गई.

गांव की देहाती लड़की की बीएफ अपने बाल खिंचने पर शायद उन्हें दर्द हो रहा था और वो जोर जोर से चिल्ला रही थीं. पर अब दर्द एकदम से बढ़ गया और मैंने उसको छाती पे हाथ रख कर रोकने की कोशिश करी।उसने पूछा- क्या हुआ?मैंने कहा- अभी रुक जाओ, दर्द हो रहा है बहुत।सचिन बोला- ज्यादा हो रहा है क्या?मैं बोली- हाँ काफी चीस हो रही है।उसने कहा- अब तो एक ही तरीका है फिर।मैंने कहा- क्या?उसने कहा- एक गहरी सांस लो!तो मैंने ली.

गवार सेक्सी वीडियो

कुछ ही पल में मैं फिर से गर्म हो चुकी थी।अब उन्होंने मेरी बुर को छोड़ दिया और अपनी चड्डी को उतारने लगे. वो उम्र में तो 30-35 की थी लेकिन उसके चूचे एकदम 22-25 साल की लड़की की तरह तने हुए थे. 5 इंच से ज्यादा नहीं है और वो अन्दर डालते ही 8-10 झटकों में ही निकल जाते हैं.

मैं भी उसकी बात को मान कर उसके कपड़ों के ऊपर से ही जोर जोर से चूत और कभी बोबे को दबाने लगा. उधर सीमान्त और राहुल ने रीमा की चुत और गांड का पूरा भोसड़ा बना दिया था. सुहागरात एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियोवहां एक कैफे में बैठ कर खाने का ऑर्डर देने के लिए मैंने अमृता की तरफ मेन्यू कार्ड बढ़ाया.

उसके यौवन का दूर से लंड का रसपान करना देखना भी किसी अमृत पी कर तृप्त होने से कम ना था.

वो बोली- ये भी बता दो कि पैसे कितने लोगे?मैंने कहा- मुझे पैसों की कोई जरूरत नहीं है. बाप बेटी की चुदाई मुझे अच्छी लगी, यह बात सुन कर पापा के चेहरे पर स्माइल आ गयी.

अब उन्होंने अपनी गांड का रिदम बनाते हुए मेरी चूत को चोदना शुरू कर दिया. अब हम दोनों नंगे होकर बिस्तर पर एक दूसरे से जूझ रहे थे और एक दूसरे को किस कर रहे थे. ”क… क्या मतलब?”दीदी ने मुझे टेबलेट्स लाकर दी हैं?”क… कैसी टेबलेट्स?” मेरा दिल किसी आशंका से धड़कने लगा था।वो बोलती है तुम्हें कमजोरी बहुत है तो रोज यह दवाई और एक टेबलेट लिया करो.

मोसी शायद गहरी नींद में थीं, तो मैंने धीरे से मोसी के दूध को दबा कर देखा … रुका, फिर दबाया.

अब थोड़ी देर के बाद मैंने सेजल दीदी को नीचे उतारा और उन्हें टेबल के सहारे पीछे घुमा कर खड़ा कर दिया. मैंने मेम को देखा और कहा- मेम, क्या मैं आज रात फिर से आपकी चूत को चोद सकता हूँ. मेरे शौहर पहले से ही कम बात करते थे, अब तो उन्होंने मुझे हाथ लगाना भी बंद कर दिया था.

अरे सेक्सी ब्लूमैं गिगिड़ाने लगा- मुझे माफ़ कीजिएगा … मैंने गलती से आपको कोई और समझ के. उन्होंने दोनों हाथों से मेरी चूचियों को पकड़ लिया और जोर से ऐसे दबाने लगे जैसे उनका दूध निकाल देंगे दबा-दबा कर.

भाई का सेक्सी वीडियो हिंदी में

शान का लंड खड़ा हो गया था उसने मेरी माँ को बिस्तर पर चित लिटाया और उनकी चुत में लंड फंसा दिया. फिर मैंने चाची की ब्रा को पकड़कर फाड़ दिया और चाची के चूचों को आज़ाद कर दिया. इसी वजह से मुझे हल्का दर्द भी महसूस होने लगा था लेकिन इस सब पर ध्यान न देते हुए मैं रीमा की चुत चूसना देख रही थी.

अब तक की इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि रोहित की सेक्स पॉवर बढ़ाने वाली गोलियों की वजह से उसका लंड पानी निकालने को राजी नहीं था. ” नीलम ने अपने ससुर के गाल पर एक किस देते हुए कहा।बेटी यह क्या … अब तुम्हें किस करना भी सिखाना पड़ेगा क्या?” महेश ने अपनी बहू की तरफ देखा. मयूर ने मेरी चूचियों को कपड़ों के ऊपर से मसलते हुए मुझे बेड पर लेटा दिया.

‘सुहास … आह आह … साले एक बार में ही कितना अन्दर तक पेल देते हो … आह सुहास आह बेबी … चोदो मुझे. सीमा हंस पड़ी … बोली- मैं तेरी तरह कमीनी नहीं हूँ … जो तय हो गया वो हो गया. बॉस ने आंखें खोल कर देखा, विनय नीचे बैठ कर मेरी गांड को मन लगा कर चाट रहा था.

चूंकि परिवार काफी बड़ा था इसलिए खाना बनाने को लेकर अक्सर हमारे बीच में झगड़ा रहने लगा था. उसने लिखा था- क्या तुम इसे ले पाओगी … इसको खुश कर पाओगी?उसका लंड देख कर मैं एकदम से गरम हो गई थी और मेरी चुदास ने मुझे कुछ अलग ही करवा दिया.

मेरा पूरा बदन पापा के बदन के ऊपर था और हम दोनों के जिस्म गर्म हो चुके थे.

मैंने उससे कान में पूछा- कहां निकालूं?उसने अन्दर ही निकलने को बोला- मैं तुम्हारा बीज अपने अन्दर महसूस करना चाहती हूं. फुल मराठी सेक्सी व्हिडिओबोली- आज मेरी भूख शांत कर सकता है क्या?मैंने उसका मफलर पकड़ लिया और उसको सोफे पर गिरा लिया. सभी की सेक्सी वीडियोअब मेरी समझ में ये नहीं आ रहा था कि मैं जेठजी को कैसे बताऊं कि जो कुछ हुआ, वो मुझे भी अच्छा लगा. अब चाची लगातार कहने लगी थीं- प्लीज दीपू … यार अब सहा नहीं जाता … डाल दो अपना … मैं तुम्हारे मोटे और लम्बे लंड से चुद कर आनन्द लेना चाहती हूँ.

सभी ने ये भी तय किया कि कपड़े छोटे से छोटे रखने हैं और अपने अपने शौक के हिसाब से सामान रख लेना है.

विवेक मेरे चेहरे के सामने अपने चेहरे को लाकर मेरे चेहरे को घूरने लगे. कुछ महीनों बाद जब हमारे खेतों की फसल कटने वाली थी, तो उस समय मैंने भी गांव जाने का तय कर लिया था. मुझे गुस्सा आ गया और मैंने अपना पेशाब से भरा हुआ मुंह उसकी पकड़ छुड़ाया और फिर बाथरूम में जाकर थूक दिया.

मेरी चीख निकल गई … लेकिन अभी चीखने चिल्लाने से किसी बात का कोई डर नहीं था. ”मेरी जान … पहली बार में थोड़ा दर्द होता है उसके बाद तो बस एक मीठी और मदहोश करने वाली चुनमुनाहट सी ही होती है और अगले कई दिनों तक उसकी याद रोमांचित करती रहती है. फिर मैंने उनकी पटों यानि रानों पर चुम्बन करना शुरू किया और हल्के से काटने लगा.

मेरा सेक्सी फोटो

कुछ पल बाद मोसी ने मेरी चड्डी निकाल दी और मेरा लंड हाथ में पकड़ लिया. उस टाइम ना तो मेरे पास फ़ोन होता था और सेक्स फिल्म देखना तो बहुत दूर की बात थी. इन्हीं दूधों को देख कर उसके जीजा अपनी साली की चूत चुदाई की जिद पर अड़ गये थे, ये बात अब मुझे अच्छी तरह समझ आ गयी थी.

मैं- उम्म्ह… अहह… हय… याह…हिना- मादरचोद मज़े कर रहा है?वो मुझे ज़ोर से थप्पड़ मारने लगीं.

कोई 5 मिनट चूसने के बाद वो फिर से झड़ गई और सारा पानी मेरे चहरे पर आ गया.

अब आगे:थोड़ी देर हम ऐसे ही लेटे रहे, फिर ये मेरे बूब्स दबाते हुए बोले- आज तुम रंडी बनने वाली हो।मैं कुछ न बोली. जब मैं नहा कर बाहर आया, तब मैंने देखा चाची मेरी किताबों के पन्ने पलट रही थीं. türkçe altyazılı pornoपापा ने मेरी चूचियों को पकड़ लिया और गिरते-संभलते हुए मैं उनको कमरे की तरफ लेकर जाने लगी.

मैं कुछ समझ पाती … इससे पहले उसने मेरी गाल पर पप्पी दे दी। मुझे बहुत बुरा लगा. मैं सोचने लगा कि मेरा तो बहुत छोटा है … और मेरे उधर बाल भी नहीं है. फिर मोसी दर्द से तड़फने लगीं, तो मैंने लंड को वैसे ही रोके रखा और उन्हें किस करने लगा.

अब मेरे दोस्त ने जब ये देखा कि जब इन पति-पत्नी को इस तरह गैर की बांहों में मस्ती करने से कोई फर्क नहीं पड़ रहा है तो उसकी हिम्मत और बढ़ गई. तो क्या हुआ … मैं भी तो चुदाई करती ही हूँ उनसे! अगर तुझको मजा लेना है तो बता?”वो कुछ सोचने लगी, फिर बोली- अगर घर में पता लग गया तो?नहीं पता लगेगा.

वो शायद अच्छे से समझ रही थी कि मैं उसके होंठों के बारे में बात कर रहा हूं.

मैं बहुत ही खुश और बहुत उत्साहित था थोड़ी देर लेटने के बाद मुझे नींद आ गई. उस वक्त टीवी में सेक्स जैसी कुछ आवाज हो रही थी तो आशीष ने सोचा कि मैं अपने जीजा से चुदवा रही हूं. वो मुझे जो भी काम कहती थीं, मैं उसको तुरंत पूरा करता था, चाहे वो कैसा भी काम हो और किसी भी समय हो.

एक्स वाई सेक्सी मैंने यह कहते हुए मेम को खड़ा किया और उनकी साड़ी ब्लाउज और पेटीकोट को उतार दिया. फिर मैंने एक जोर के झटके के साथ अपना पूरा लंड अन्दर घुसा दिया तो चाची चिल्ला कर बोलीं- संजय धीरे धीरे करो … मेरा पीछे का पहली बार है.

देखो तुमने मुझे बनियान उतारने के लिए कहा, मैंने उसको फ़ौरन उतार दिया. झड़ने के बाद उसने मेरे लंड पर लगा सारा रस पी लिया और लंड का लॉलिपॉप की तरह चूस चूस कर फिर से खड़ा कर दिया. उसकी तरफ़ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हो रही थी, तो मैंने धीरे से अपने पैरों को उसके पैरों पर टच किया और अपने पैर को उसके पैर पर रख कर धीरे धीरे सहलाने लगा.

देसी एचडी वीडियो सेक्सी

मेरे लन्ड से निकली माल की धार वो पी गया और उसके बाद भी मेरे लन्ड को चूसता रहा. अब मेरे गालों पर प्यार की खुमारियों के निशान स्पष्ट देखे जा सकते थे. रात में उसने मुझे कॉल किया- गिफ्ट कैसा लगा?मैं- अच्छा था, पर साइज छोटा है.

साथ ही मैं अपने मुँह को उनके मुँह से सटा कर चूमता, चूसता और रगड़ता रहूंगा. मेरा नाम रजनी है और में मुंबई में रहती हूं, मेरी उम्र 27 साल है और मेरी लम्बाई 5’7″ है.

तभी उसने मेरे लंड को मुँह से निकाला और मुझसे पूछा कि पहला कौन सेक्स करेगा?मैंने कहा कि तुम ही पहले कर लो.

मैंने अपनी पहली कहानी में सबके बारे में जानकारी आप लोगों से साझा की थी कि किस तरह मैं और सबा एक दूसरे के करीब आए और एक साथ समय बिताने लगे. तुम्हारे फूल से चेहरे को देख कर कोई भी मर्द तुम्हारा दीवाना हो सकता है. मैंने और जोर लगा कर धक्का मारा तो उसकी चूत में लंड का सुपाड़ा घुस गया.

कसम से बड़ा कोरा सा लंड है तेरा … मन करता है कि चूस के इसका रस निकाल दूँ. मन ही मन तो मैं चाह रही थी उसके लंड के भी दर्शन हो ही जाएं, लेकिन उसने अंत तक अपनी शराफत नहीं छोड़ी. मैं सिकाई कर ही रही थी कि अचानक से मेन डोर की बेल बजी और मैं जल्दी से अपनी लोअर को ऊपर करके दरवाजा खोलने के लिए चली.

बुआ ने मेरे गाल पर तमाचा जड़ दिया और बोली- बातें मत चोद हरामी, मेरी चूत को चोद जल्दी.

गांव की देहाती लड़की की बीएफ: मुश्ताक ने सबको धीरे से कहा- सब चुपचाप जाकर सो जाना ताकि शाम को फ्रेश होकर मजे लिए जाएँ. ठीक है आंटी, लेकिन क्या मैं तब तक नहा लूं? मुझे लग रहा है इसकी मुझे बहुत जरूरत है.

दोस्तो, इसके आगे की कहानी मैं आपको सोनम की जुबानी बताऊँगी क्योंकि उसकी चुदाई सुनकर आप लोगों को और ज्यादा मजा मिलने वाला है. अभी तक आपने पढ़ा था कि मैंने परवीन आंटी की मदद से हिना आंटी को भी चोद लिया था. मैं बोली- पापा, मुझे अपनी चूत और गांड में एक साथ दो लंड से चुदाई करवानी है.

उसे इतना अधिक मज़ा आ रहा था कि अब वो राजे राजे की गुहार लगाने लगी थी.

प्लीज दीपू मुझे अपनी रंडी बना ले यार … आज से तू जो कहेगा, मैं वो करूंगी. फिर धीरे धीरे नीचे आते हुए उसने मेरे ऊपरी होंठ को अपने दोनों होंठों के बीच में दबाया और मेरे होंठों को चूमने लगा. यह सुन कर हम सब मुस्कुरा दिए।शैली चल बाथरूम में!”उसे फर्श पे लिटा के अंशु ने उसकी चूत पे अपने सुनहरी मूत की धार छोड़ी।फिर मैंने उसे पैंटी पहनाई, ब्रा पहनाई।शैली कपड़े पहनने लगी।कामिनी तू भी जल्दी से अजय बन जा, इसे बाहर लेके जाना है न!”मैं भी तैयार हो गया, शैली भी।बाहर से मम्मी की आवाज़ आयी- बस बस पानी पी के आ रही है.