सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ सेक्सी अच्छी वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

मुस्लमान सेक्सी: सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो, अब वो समय बिल्कुल नजदीक था, जब मुझे मेरी ही पकाई हुई खीर को खाने का मौका मिलने वाला था.

बीएफ सेक्स कर्नाटक

दो मिनट किस करने के बाद जागृति मेम ने मेरी जींस का बटन खोला और लंड को हिलाने लगीं. बीएफ सेक्स वाला सेक्समैंने भाभी को औंधा कर दिया और पीछे से भाभी की चुत में धक्का मारा, तो आधा लंड चुत में घुस गया.

तो अजय ने बताया कि उन दोनों ये पहले कभी नहीं किया, उनका पहली बार है, होटल में मीना उतना सुरक्षित नहीं महसूस करती जितना घर पर होगी. हिंदी बीएफ जंगल वीडियो” सर निश्चिंत बैठे हुए थे, ये सोच कर कि मेरी ‘सहेली’ है तो मेरे ही जैसी होगी.

बिना बात किये सिर्फ इशारे पर चुदाई करना और रतिक्रीड़ा करना एक अलग ही अहसास देता है.सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो: तो दोस्तो, यह थी मेरी पहली सेक्स कहानी, आपको कैसी लगी, आप मुझे मेल करके जरूर बताना और यह भी बताना कि मुझे और आगे की स्टोरी लिखनी चाहिए या नहीं.

वो बोली- आज तुम घर पे ही हो, तो चलो शॉपिंग करने चलते हैं और डॉक्टर को भी दिखा आते हैं.मैंने कहा- कुछ नहीं होगा, बस तुम अपनी गांड को थोड़ी सी ढीली छोड़ दो.

बीएफ पिक्चर जानवर का - सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो

वह भी कहने लगी कि वह शुभी को चुदवाने के लिए ले आएगी मगर उसके बाद मैं उससे कभी नाराजगी से बात नहीं करूंगा.पिंकी कामुकता की अतिरेकता में अपनी आंखें बंद किए हुए अपनी गर्दन को अपनी सांसों के साथ ऊपर नीचे करने लगी.

साले बहनचोद ये परिवार वाले हमें चुदाई का मजा ज्यादा देर नहीं लेने देंगे और कहीं न कहीं ढूंढ रहे होंगे. सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो मैं और मेरा भाई, हम दोनों के अलावा उस दिन हमारे घर पर कोई भी नहीं था.

ठंड अधिक होने के कारण मैं तो अपने पैरों को मोड़कर लेटा हुआ था और जैसा आप सभी लोगों को पता है कि बिहार झारखंड के रोड के बारे में वहां की सभी बसें रोड बहुत ज्यादा खराब होने की वजह से बहुत हिलती हैं.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो?

मुझे किसी और की स्त्री को भोगने के आनंद …मीना को पराये मर्द के लन्ड का आनंदऔर अजय को अपनी बीवी को किसी गैर पुरुष से सम्भोग करते देखने का सुख मिल रहा था. मैंने पूछा- कैसी अधूरी इच्छा?तो नम्रता बोली- जो मैं चाहती थी, वो मैंने अपने पति से बोला, लेकिन वो माने नहीं. मगर एक बार जब वह खुल जाती है तो उनके अंदर सेक्स की ऐसी ज्वाला भड़क जाती है जो मर्दों से कई गुना ज्यादा आग फेंकती है.

मेरी तारीफ सुनकर मैं मुस्कुराई, फिर पलटकर उसकी फ्रेंची में हाथ डाल कर उसके लंड को पकड़ लिया. सच में किसी लड़की को कभी अधूरा पूरा संतुष्ट किये बिना नहीं छोड़ना चाहिए. उसने मेरा लंड अपनी मुठ्ठी में पकड़ा और चुत में सैट करके मेरा लंड अपनी चुत में लेकर बैठ गई.

एक बार तो मेरा दिल किया कि मैं रात को ही तुम्हारे कमरे में आ जाऊं, परंतु फिर सोचा कि कहीं कोई उठकर देख लेगा तो मुझे ढूंढेंगे, बड़ी मुश्किल से रात काट कर आई हूँ. फिर मैंने अपना अंतिम झटका उसकी चूत में मारा और लंड बाहर निकाल कर अपना माल उसके दोनों चूतड़ों पर गिरा डाला. मिनी ने मेरे माथे पर किस करके पूछा कि क्या तुम्हें ऐसे अच्छा नहीं लग रहा है … सेक्स करना जरूरी है?मैंने उसकी भावनाओं को समझते हुए बोल दिया कि मुझे बहुत अच्छा लग रहा है, सेक्स करना मेरे लिए जरूरी नहीं है.

उन्होंने मेरे लंड को बहुत देर तक मज़े लेकर चूसा और जब मैं झड़ा तो चाची मेरा सारा वीर्य भी पी गईं. आन्या के होंठ चूसने के साथ ही मैंने अपना एक हाथ नीचे उसकी शॉर्ट के अन्दर डाल कर उसकी चुत रगड़ने लगा.

[emailprotected]NRI भाभी X हिंदी स्टोरी का अगला भाग:मेरी सेक्स कहानी से मिली मुझे एक मस्त आइटम- 2.

मैं अभी भाभी को वासना भरी नजरों से देख ही रहा था कि उन्होंने मुझे देख लिया.

जाते हुए प्राची ने मिनी के होंठ पर किस किया और अच्छे से एन्जॉय करने को बोली. थोड़ी देर बाद माया भाभी रुक गयी, तो मैंने उसकी तरफ देखा तो वो आंखों ही आंखों में जैसे ये बोल रही थी कि यूँ ही देखते ही रहोगे या धक्के लगाकर चुदाई भी करोगे. मैंने अपने लंड को धीरे धीरे से दिलिया की चूत से बाहर करने की कोशिश चालू कर दी और वो भी ‘अह अह्ह येस्स अह्ह्ह येस और आह्ह अह्ह …’ करने लगी.

प्रिया अब सिर्फ़ पैंटी में थी और उसकी जांघें काफ़ी मोटी मोटी दिख रही थीं. उसने दबा कर मेरी चूत को चोदा, कभी मुझे लंड पर चढ़वाया और कभी खुद चूत पर चढ़ा, कभी गोद में ले कर चोदा तो कभी खड़ा करके चूत में लंड को पेला. मैंने उसे चार सौ रूपए दे दिए और उसने मेरे हाथ में दवाइयों की पर्ची देते हुए कहा- मेडिकल स्टोर से ये दवाइयां ले लेना.

शर्ट के बटन खोले और बाजुओं से कमीज को उतारते हुए पीछे दरवाजे पर टांग दिया.

प्रिया- उम्म्म्म आह भैया … मैं तो आपकी दीवानी हो गई हूँ … कितने अच्छे से प्यार करते हैं आप … आआ अहह … और कीजिए. वह बार बार उठने की कोशिश करतीं और मैं कमर पकड़कर उनको फिर से लंड पर बैठा लेता. लेकिन इतनी हिम्मत न तो मुझमें थी और ना ही सरनी में!फिर सरनी जाने को तैयार हुई.

बाद में कल्पना ने बताया कि नेक्स्ट टाइम वो अपना अधूरी फैंटसी पूरा करना चाहेंगी. मैंने धक्का देते हुए कहा कि यह कैसे हुआ … तुम्हें किसने चोदा?उसने मुझसे कहा- मैं पहली बार तुमसे चुद रही हूँ … चूत में मैं कभी कभी डिल्डो डालकर अपनी गर्मी शांत कर लेती थी. मैंने ऐसा थोड़ी ही देर ही किया था कि कल्पना भाभी अपना सर इधर उधर झटकने लगीं.

अब आंटी जो 3 डब्बे लाई थीं, वो उन्हें मुझे बारी बारी करके पकड़ाने लगीं.

मैंने उसके चूचों के निप्पलों को अपने दांतों में पकड़ कर काट लिया और उसकी जोर से एक कामुक सिसकारी निकल गई- उई मां … आह्ह् … मर गई. उसने दो तीन कलर्स की ब्रा उठाईं और मुझसे पूछने लगी कि इनमें से कौन सी वाली अच्छी है.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो उसने कहा- तुम अपने दोस्त से मेरी बात कब करवा रहे हो?मैंने कह दिया- मेरा दोस्त अभी कहीं बाहर गया हुआ है. विलियम ने दोबारा से मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चूत को अपने हाथों में भर लिया.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो रानी के कहे अनुसार मैंने भी जीभ निकाली और रानी की चूत के आस पास चाटना शुरू किया. अब मीना की कामेच्छा शांत हो गयी थी और नशे में ये सब होने के कारण वो नंगी ही बिस्तर में सो गई.

मैंने उसके निप्पल्स चूसते हुए धीरे धीरे उसके पेट में चूमना चालू किया और फिर धीरे से जीभ को उसकी नाभि से रगड़ता हुए उसकी चूत तक जा पहुँचा.

माया के सेक्सी वीडियो

क्या? कैसी है री तू? अंकल जी ने भी तो तेरी सूसू करने वाली जगह चाटी चूसी थी कि नहीं? अरे कोई चीज हमेशा गंदी थोड़ी ही रहती है. उसने मेरी बात मानी और लिंग पर थूक मल कर चिकना किया और फिर पहले की भांति लिंग घुसाने का प्रयास करने लगा. मैंने कहा- मेरा पहली बार है, इसलिए मैं तुमसे बिल्कुल अकेले में मिलना चाह रहा हूँ.

मैं ताई के घर पर ही टेलीविजन देखता था और देर रात ताई दूध लेकर जाया करती थीं. सर ने अपने लंड को मम्मी की चूत पर टिकाया और एक ही धक्के में लंड पेल दिया. कुछ पल बाद मैं हल्का सा ऊपर हुआ और उसकी नाभि पर अपनी जीभ को गोल गोल घुमाने लगा.

शायद वो सो गई थी इसलिए मैंने थोड़ी और हिम्मत की और हाथ उसके शर्ट के अन्दर डाल दिया.

वो मेरे लन से खेलने लगी, मेरे लन को हाथ से हिलाते हुए बोली- उस रात तो शर्म के मारे लन देख ही नहीं पायी अच्छे से!मैंने पूछा- आज मुँह में लोगी क्या?वो मेरी तरफ देख कर मुस्कराई और लन को अपने मुँह में डाल लिया. मैंने फ़ौरन वसुन्धरा को अपने बाएं हाथ से अपने आलिंगन में लेकर कस लिया और लगातार उसके चेहरे पर यहां-वहाँ चुम्बन लेने लगा. ये पोज बहुत ही आसान है, इस चुदाई के पोज में दोनों काफी रिलॅक्स में रहते हैं.

मेरी पहली कहानी थीबहन की सास और मेरी माँ से सेक्सयह कहानी मेरी एक मित्र की है. करण भी वही बैठा हुआ था।तभी मम्मी लिविंग रूम में आई और हम दोनों की तरफ देखा। हम दोनों मम्मी को घूर कर देख रहे थे।मम्मी ने हम दोनों की ओर देखा और कहा- तुम दोनों क्या देख रहे हो?मैंने अपने बड़े भाई की ओर देखा और कहा- मम्मी, क्या आपको पिछली रात पसंद आई थी?मम्मी थोड़ा हैरान दिख रही थी और उन्हें पता नहीं था कि क्या कहना है. चूसती रहो ऐसे ही ओह्ह …”चाची उसके लंड को मुंह में लेकर चूस रही थी और चाची के दूध हिल रहे थे.

जैसे ही मैं उनके पैर पर अपना मुँह रखते हुए उनकी जांघों के पास ले गया, उन्होंने अपने दोनों पैर खोल दिए. तभी अजय बोला- यार, बोतल खत्म हो गई है, मैं बाहर से एक हाफ़ और लेकर आता हूँ.

एक से एक खूबसूरत गोरी गुलाबी लड़कियां मेरे जीवन में आईं और उनका भोग भी लगाया लेकिन काली सलोनी लड़की पहली बार मेरे से टकराई थी. फिर धीरे-धीरे से मेरी गांड का दर्द हल्का कम हुआ, लेकिन मैं तो रोए ही जा रही थी. उसकी गांड को मैंने कैसे चोदा उसके बारे में मैं अपनी अगली कहानी में बताऊंगा.

आह्ह … उईई … माँ … आह्ह … आहह … ओह्ह!दर्द के साथ-साथ मैं तीनों लंड एक साथ लेने का अहसास भी कर रही थी जो मुझे मजा भी दे रहा था.

चूंकि मुझे रोहन के दोस्तों के लंड से चूत चुदवानी थी तो थोड़ी वैक्सिंग भी करवानी थी, इसलिए रोहन ने भी बोल दिया कि मसाज ब्वॉय को बुला कर मैं अपनी बॉडी की मसाज और वैक्सिंग करवा लूँ. यह पोर्न कज़िन्स सेक्स कहानी तब की है, जब मैं गर्मियों की छुट्टी में गांव गया था. ”अंकल बड़े ही बदमाश निकले, शायद उनको मेरे तने हुए स्तन बहुत अच्छे लग रहे थे.

मैंने अपनी चाची के साथ किस तरह से शारीरिक सम्बन्ध बनाए, मैं आपको ये बता रहा हूँ. बाद में मैं जब उठी, तो देखा कि मेरी सहेली का भाई मेरी चूत को चाट रहा था.

उस वक्त हमारे पास पर्सनल फोन तो होते नहीं थे तो उसने अपनी मम्मी का नंबर मुझे दे दिया. मगर अभी मुझे सब्र करना पड़ा क्योंकि पहले पता करना था कि वह कौन है और मुझसे क्या चाहती है. मैंने धीरे धीरे उसकी चूत पर अपने दूसरी उंगली से उसके क्लाइटोरिस तो सहलाना शुरू कर दिया.

सेक्सी बीपी फिल्म भेजो

पीछे से चूचियों का दबाव और साथ में नारी का स्पर्श मिलते ही लंड तुरंत खड़ा हो गया.

नहाने धोने के बाद हम दोनों पेपर देने चले गए और पेपर देकर वापस आ गए. क्या कल तुम मेरी थोड़ी हेल्प कर दोगे?तो मैंने उससे झट से हाँ बोल दिया. एक दो पल मैंने अपनी बहन की चुत को निहारा और जब न रहा गया तो मैंने अपना हाथ उसकी जांघ पर रख दिया.

मैंने संगीता की चूत को तो चोद दिया था लेकिन मेरी एक हसरत अभी अधूरी ही थी. कहानी पर कमेंट्स और अपनी राय के लिए नीचे दिए गए मेल आई-डी पर मेल करें. सेक्सी बीएफ हिंदी में बीएफ हिंदी मेंवो एक पल के लिए चुप हुई, तो मैंने उससे कहा- अभी चलना है या थोड़ी देर बाद?उसने कहा- कुछ देर के बाद में चलते हैं ना … और आज मेरे घर पर कोई नहीं है तो आराम से चलते हैं.

फिर उसने अपना लंड धीरे धीरे करके पूरा का पूरा अंदर डाल दिया और धक्के लगाने लगा. मेरा ध्यान अब भी उसकी चूचियों पे था और वो इस बात को भली भांति समझ रही थी, पर बोल कुछ नहीं रही थी.

मायरा ने अपनी मम्मी से कहा- मम्मी भैया किधर सोएंगे?उन्होंने कहा- तुम्हें अपने कमरे में ही भैया के साथ सोना पड़ेगा. मैं- फिर कहां दर्द कर रहा है?कल्पना ने झल्लाते हुए कहा- अभी थोड़ी देर पहले जहां आप मुँह मार रहे थे. वो बोला- मैं तुम्हारे बिना नहीं जी पाऊंगा और मैं तुम्हीं से शादी करूंगा.

मैं ऑफिस जाने के लिए घर से निकला तो मुझे जानकारी हुई कि स्कूटी की ब्रेक काम नहीं कर रहे हैं. मेरे कांख वाली त्वचा, एकदम कोमल है, वहां पर हाथ लगते ही मुझे गुदगुदी होने लगती थी. अब वे दोनों एक दूसरे के होंठों को फिर से चूसने चूमने लगे; दोनों ही अपनी अपनी लाज शर्म खो चुके थे.

करीब बीस मिनट के बाद जब मैं झड़ने वाला था, तब मैंने नफीसा से कहा- नफीसा मैं माल कहां निकालूँ?नफीसा ने माल को अपनी चुत में निकालने को कहा.

आदाब दोस्तो! मैं आमिर एक बार फिर से आपके लिए अपनी गर्म कहानी लेकर आया हूं. मतलब मैं सही बताऊं, तो उस समय मैं बहुत ज्यादा इमोशनल हो गया था और भूल गया था कि मैं यहां किस लिए आया हूं.

जीजू ने भी चोदने की स्पीड बढ़ा दी थी और जीजू अपनी पूरी ताकत से मुझे चोद रहे थे. मैंने बहुत देर तक तो कुछ नहीं किया फिर मुझे लगा कि बहन गहरी नींद में सो रही है तो मैं धीरे-धीरे अपने हाथ को ऊपर की तरफ ले गया और धीरे से उसकी बायीं चूची पर रख दिया और थोड़ी देर तक बिल्कुल हिलाया नहीं।जब मुझे यकीन हो गया कि वो गहरी नींद में सो रही तो मैं धीरे-धीरे उसकी चूचियों को दबाने लग गया. दिमाग कुछ सोच ही नहीं पा रहा था कि किस तरह से भाभी की जवानी का रस चख लूं.

कुंवारी भाभी की कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा था कि मुझे अपने ऊपर झुका देख कर मेरी इस हरकत का एहसास तो भाभी को भी हो गया था, पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं थी, तो मैंने भी मौके का फायदा उठाकर अपना एक हाथ उनके उभरे हुए वक्ष पर रख दिया. वह काफी माहिर थी चुदाई करवाने में और साथ में इस बात का भी ध्यान रख रही थी कि कहीं वह प्रेग्नेंट न हो जाए. फिर हम थोड़ी देर एक दूसरे से चिपक कर बातें करते रहे और एक दूसरे को किस करते रहे.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो वो भी मेरी चोट सहन करने के लिए राजी दिख रही थी, तभी तो उसने इस बार मेरा कोई विरोध नहीं किया था. हां इतना पता चला कि उसका आदमी अब वो मजा नहीं देता था, जो कभी दिया करता था.

सेक्सी वीडियो मम्मी पापा

मेरे पति ने इस्त्री को बाजू में रखकर अपने दोनों हाथ मेरे गांड पर रख दिए और मेरे चूतड़ों को प्यार से मसलते हुए हाथ फेरने लगे. कुछ पल बाद मैं फिर से जोर जोर से उसकी चूत में उंगली करने लगा था, साथ ही मैंने एक हाथ से उसके मुँह को दबाया हुआ था. मैंने सोने के लिए जगह देखने के लिए मोबाइल की लाइट जलाई कि मुझे किधर सोना है.

ऐसे मौकों पर पिंकी साड़ी के नीचे पेंटी नहीं पहनती ताकि चुदाई में आसानी रहे. जब मैं उसकी जीभ को अपनी जीभ से चूसता था तो चूत लण्ड को अंदर खींचने लगती थी जैसे चूत लण्ड को चूस रही हो. काजल राघवानी की बीएफ सेक्सफिर धीरे-धीरे मैं अपने हाथ को उसके लोअर के अंदर ले गया और उसकी पैंटी में उसकी चूत पर रख दिया जो कि बहुत गीली और फूली हुई लग रही थी।पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत में उंगली करने लग गया और पैंटी की साइड से चूत में उंगली करने लगा जो कि बहुत ही ज्यादा कामरस से भीगी हुई थी.

उन्होंने कहा- अरे इसे हल्के में मत लो … अभी कपड़े पहनकर चर्मरोग वाले डाक्टर के पास जाओ और उसे दिखाओ.

इसलिए बुर में और तेज उंगली चलाने लगा और साथ ही साथ उसके चूचे भी मसलता रहा. उसी समय बस ने एक ज़ोर का झटका खाया और मैंने चाची के मम्मों को ज़ोर से दबा दिया.

जब मैं घर पहुंचा तो स्नेहा खुश होकर चहकती हुई बोली- अरे वाह … भैया आखिर आप आ ही गए. मेरे दूध भी आराम से दबाइए ना … मुझे दर्द हो रहा है … आह हहहह … क्या कर दिया आपने अंकल … बहुत अच्छा लग रहा है. मैंने पांच मिनट के बाद अपनी पूरी स्पीड बढ़ा दी और कुछ ही धक्कों के बाद उसके पैर कांपने लगे.

हमारी बहुत बातें हुई हैं और मैं एक बात और कह देना चाहता हूँ तुम बुरा मत मानना, आई लव यू सुमन.

ज़रुर वसुंधरा ने साइडों से अपना लहँगा ढीले हाथों से पकड़ रखा होगा, नाड़ा कटते ही लहँगा वसुंधरा के पैरों में ऐसे गिरा जैसे किसी मूर्ति के अनावरण समारोह में मूर्ति का पर्दा नीचे गिरता है. उसने मेरी तरफ प्यार से देखा, तो मैं उसके बूब्स को देखते हुए उसको अपनी बांहों में जकड़ लिया. तो उसने बताया कि भाभी को बहुत अच्छा लगा, वो तुझसे बहुत खुश हुई, दो दिन बाद तुझे फिर से बुलाया है।मैं दो दिन बाद फिर गया और भाभी को चोद के आया और मेरे एक दोस्त को भी भाभी का मज़ा दिलाया।एक दिन मैंने उस आदमी से पूछ ही लिया- तू उसका पति है ना?उसने बताया- हाँ।और बोला- मुझे बहुत अच्छा लगता है कि मेरी बीवी किसी और से चुदे.

बीएफ सेक्सी चूत मारते हुएफिर मैंने दिलिया की जम कर चुदाई की और उनको जन्नत की सैर कराई।मैं दिलिया के ओंठ चूस रहा था. मुझे आपके मेल से पता चला कि मेरी कहानियों की कायल कुंवारी लड़कियां भी हैं.

सेक्सी गूगल में

तो दोस्तो, ये मेरी यंग सिस्टर सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी, प्लीज़ कमेंट में लिखकर जरूर बताएं. कपिल भी उसकी जीभ को, होंठों को चूमते हुए उसके निचले भाग की तरफ़ बढ़ने लगा. मैं- फिर आगे भी मौका मिलेगा आपको खुश करने का या नहीं?कल्पना- आज जिस तरह से तुमने किया है ना … उस हिसाब से तो आगे भी तुम्हें भी मौका मिलेगा, अगर तुमसे अच्छा कोई और मिला, तब का तब देखेंगे.

पांच मिनट बाद मैंने प्रिया को वाशबेसिन के सहारे डॉगी स्टाइल में कर दिया और पीछे से प्रिया की चूत को चोदने लगा. उस रात मैं उसे चोद नहीं पाया और मैंने अपने लंड को हिला कर झाड़ लिया और मैं अपना लोअर पहन कर करवट बदलकर सो गया।सुबह जब मैं जागा तब तक वो जाग चुकी थी, पर मैं उससे आँखें नहीं मिला पा रहा था, लेकिन वो पहले की तरह ही व्यवहार कर रही थी जैसे पहली रात को कुछ हुआ ही नहीं। फिर मैं फ्रेश होकर नाश्ते के लिए तैयार हो गया. पिछले भाग में आपने पढ़ा कि श्लोक और सीमा के अहमदाबाद जाने के बाद मैंने विक्रम को जयपुर बुला लिया.

मैं उन्हें देख कर शर्मा गयी और दूसरे रूम की ओर दौड़ी, तो ठोकर लगने से गिर गयी. रिया ने मुझसे हंसते हुए कहा- बस यूं ही हंस रही हूँ यार … और हां तुम जोकर ही लग रहे हो. फ्रेंड्स, आज मैं आप लोगों को एक सच्ची सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ.

लिहाजा उसने एक ही बार में पूरा पेग खत्म कर दिया और तन्दूरी मुर्गे के टांग को मुँह में डालकर काटने लगी!उस समय मेरे मन में यही ख्याल आ रहा था कि ‘मीना, तुम अभी मुर्गे की टांग खाओ, बाद में मैं तुम्हारी जाँघों को भी ऐसे ही चाट चाट कर खाऊंगा. मैंने उनकी बात काटते हुए कहा- कौन सी जगह? कुछ नाम है या …अपनी बात को मैंने अधूरा छोड़ दिया.

तभी मुझे थोड़ी देर में अहसास हुआ कि वो जागी हुई हैं और मेरे इस लंड के काम को एंजाय कर रही हैं.

मैं खड़ा हो गया तो सरिता ने मेरे होंठों को किस किया और मेरे होंठों को चूसकर अपने चूतरस का स्वाद अनुभव करने लगी. घड़ी का बीएफसेक्स कहानी की नायिका, मेरे हसीन सपनों की रानी सुमन के साथ मेरा प्रेम शुरू हुआ. बीएफ सेक्सी 2001 काहॉस्पिटल नर्स सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपने पापा की सेवा के लिए कई दिन अस्पताल में रुका तो मेरी दोस्ती एक नवविवाहिता नर्स से हो गयी. फिर मैंने रीना की आंखों से पट्टी हटाई। हमें पता था कि यह पट्टी हटते ही एक बार रीना चौंक जाएगी.

मैं दिखने में इतना सुंदर तो नहीं हूँ कि लड़कियां मुझे देखते ही अपनी खोल दें मगर जब उनकी खुलती है तो फाड़ने में कोई कसर भी नहीं रहती है.

मैंने पीछे से उसके चूचे पकड़ लिए और दबाना शुरू कर दिया जिससे वो कसमसाने लगी। मैंने उसकी गांड पर हाथ फिराते हुए उसे गर्म कर दिया और धीरे-धीरे साड़ी उतार कर उसे सिर्फ पैंटी में लाकर छोड़ दिया।फिर उसके बूब्स को पकड़ कर मैं सहलाने लगा और चूमने लगा. करीब 5-7 मिनट की सिकाई के बाद, पानी भी ठंडा हो गया और उनका दर्द भी कम हो गया था. उसने मेरे लंड को पैन्ट से बाहर निकाल लिया और हाथ में लेकर सहलाने लगी.

वो कुछ कोचिंग सेंटर में पार्ट टाइम पढ़ाया भी करती है जिससे अपना खर्चा खुद निकाल सके. सुषी ने कहा- कोई आ गया तो?मैंने कहा- कोई नहीं आएगा, अभी माँ को वापस आने में लगभग दो घंटे का वक्त और लगने वाला है, इसलिए तुम चिंता मत करो. वो सिसकारियाँ भरने लगी- आअहह … आआहह … मम्म्मम … आआ आआआ … आआआ … अह्ह।चाची सिसकारते हुए बोल रही थी- ओह भाई, ऐसे ही, ऐसे ही अपनी दीदी की चूत चुदाई कर, हाँ-हाँ और जोर से, इसी तरह से ज़ोर-ज़ोर से धक्का लगाओ भाई, इसी प्रकार से चोदो.

सेक्सी वीडियो बीपी ओपन सेक्सी

वो जोर-जोर से सीत्कारने लगीं- हां आह आह मजा आ गया … औरजोर से चोदो मुझे… आंह और तेज और तेज़. खैर … हम दोनों सम्भोग की दुनिया में डूबे हुए एक दूसरे को खा जाने की तरह किस कर रहे थे. मैंने भी वो चादर फेंक दी और फिर से जैसे ही बस आगे की तरफ हिली तो मैंने उनके मम्मों पर एक बार फिर से हमला बोल दिया और इस बार मैंने सोच रखा था कि मुझे उनके निप्पल को सहलाना है.

हमारी बात ऐसे ही चलती रही और वो अपने हस्बैंड से ज्यादा टाइम मुझे देने लगी.

लंड चूसते-चूसते राशि को बीच-बीच में टट्टे चूसने और चूतड़ चाटने का भी शौक है.

तो मैंने भी अपना सर हिला कर उसकी हां में हां मिलाया और मुस्कुराने लगी. रात में भाभी का कॉल आया और मैंने हैलो बोल कर उन्हें हाय सेक्सी कह दिया. बीएफ ब्लू फिल्म बीएफ वीडियोरोज़ी ने उसे बहुत रोका पर वो नहीं माना।वो तो उसे वहीं चोदना चाह रहा था.

उसे अपनी गोद में बिठा कर उसके चूचों को दबाने से मैं भी बहुत ज्यादा गर्म हो गया था. मैं- कुछ बोलेंगी भी या शर्माते ही रहेंगी? अगर आप बताओगी नहीं, तो मुझे कैसे मालूम पड़ेगा कि आपको कैसा लगा और जब तक मुझे मालूम नहीं पड़ेगा, तो आगे मुझे क्या करना है, ये कैसे मैं डिसाइड करूँगा. शारदा चाची- और ज़ोर से चोद मुझे, बहन की बुर को चोदने वाले बहन के लौड़े हरामी, और ज़ोर से मार, अपना पूरा लंड मेरी बुर में घुसा कर चोद कुतिया के पिल्ले … सीई … ईईई मेरा निकल जाएगा.

गुलाबो मुझे बेकरारी से चूमने चाटने लगी और चूमते चूमते हमारे मुंह में एक दूसरे का स्वाद घुल रहा था। फिर मैंने उसकी चूची सहलानी और दबानी शुरू कर दी वह सिसकारियां ले मजे लेने लगी. फिर अचानक…तीनों ने लौड़े बाहर निकाले और हमारी छातियों के बीच में दबाए, हमने अपनी चुचियां के बीच में दबा लिए.

आप समझ सकते हैं कि मेरे चेहरे पर उसके चूचे थे जिनमें से मादक मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही थी.

उसके निकलते ही मैंने आरती को फोन किया- आज अपनी चूत का ध्यान रखना, धीरज का लंड बौखलाया हुआ है तुमको चोदने के लिए. ये कहानी मेरी नहीं है, बल्कि मेरे एक पाठक की कहानी है, जिसे मैं अपने शब्दों के के साथ आप सब तब पहुँचा रहा हूँ. फिर कुछ पल बाद मैंने सोचा कि ये मेरे दोस्त की बहन है … इसके साथ मुझे ऐसा भाव नहीं लाना चाहिए.

देहाती चूत बीएफ आधा लंड तो आसानी से गांड में घुस गया, तब पूजा ने अपना चेहरा पीछे मेरी तरफ कर दिया और कहा- रुक क्यों गए … पूरा लंड मेरी गांड में घुसा दो ना. आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, इसके बारे प्लीज कमेंट करके जरूर बतायें और अगर आप मुझसे मैसेज पर बात करना चाहते हैं तो मेल करें.

उस एक बूंद के गिरते ही वो मेरे स्तनों के ऊपर गिर पड़ा और हाँफते हुए सुस्ताने लगा. उसने मेरी तरफ देखा और बोली- मुझे पीरिएड्स हो रहे है और यह कमर का दर्द इसलिये हो रहा है. मैंने कहा- ठीक है आंटी, मैं उससे बात कर लूँगा, आप चिंता नहीं कीजिएगा.

कॉलेज की लड़की का सेक्सी वीडियो एचडी

पता नहीं कितनी देर राशि गांड हिला-हिला कर मज़े लेती रही और मैं उसको चोदता रहा, पर जब हम दोनों झड़े तब हम दोनों पसीने से तर-ब-तर थे और राशि की आँखों में मदहोशी थी. मैंने कहा- क्या घुसा दूँ?वो बोली- अपना लण्ड मेरी बुर में घुसा कर फाड़ दो. इतने में सृजन भाभी ने अपने पर्स से 500 का नोट निकाला और मेरे पैसे भी दे दिए.

[emailprotected]हॉट भाभी Xxx चुदाई कहानी का अगला भाग:भाभी की प्यासी चूत और बच्चे की ख्वाहिश- 4. उसने अपनी एक उंगली मेरी चुत के छेद में डाली तो मैं एकदम से उछल गई और चिल्लाई- उईईई ईईई!उसने मुझे हिलने नहीं दिया और एक पूरी उंगली चुत में डाल दी.

मैं दर्द से तिलमिला उठा और मामा से कहने लगा कि मुझे छोड़ दो, लेकिन मामा तो चुदासे थे, तो उन्होंने मेरा मुँह बंद कर लिया और एक जोरदार धक्का मारकर पूरा लंड मेरी गांड में पेल दिया.

फिर धीरे-धीरे उंगली अंदर बाहर करने लगा और एक हाथ से ऊपर उसके बूब्स दबा रहा था और दूसरे बूब्स को मुंह से चूस रहा था. उफ्फ … भाभी का वह चेहरा अब मुझे याद आता है तो मेरी चूत में कुलबुली मच जाती है. इस इन्सेस्ट कहानी के पहले भागतलाकशुदा माँ की अगन-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी माँ और भी को सेक्स करते पकड़ा.

हम दोनों ने चुदाई के अपने अपने कपड़े पहने और पढ़ने का नाटक करने लगे. अपनी गर्दन घुमा कर मेरी तरफ गुस्से से देखा, जैसे आगे से वैसा न करने को बोल रही हों. मम्मी अपने दूध पिलाते हुए कहने लगीं- आआह … पी लो… मैं बहुत दिनों से प्यासी हूँ … आआह.

मेरा बदन इतना दुख रहा था कि कोई मेरी चूत में तीन लंड भी डाल दे तब भी मुझे पता न चले.

सेक्सी हिंदी बीएफ एचडी वीडियो: एक दिन जब कॉलेज खत्म हुआ, मैं उसको छोड़ने उनके रूम की तरफ जाने लगा, मैंने उससे कहा- आपके लिये मैंने कुछ किया है. अगली सुबह फिर यही रिपीट किया मैंने!अंकल जी ने मुझे देखा और आँखों से इशारा करके पूछा कि क्या बात है?मैंने सहमति में सिर हिलाया और सिर झुका कर बुत बन गयी.

मैं अंकल की कहानी बहुत चाव से सुन रहा था और अब मेरा लंड पूरी तरह सख्त हो चुका था. थोड़ी देर के बाद मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी टी-शर्ट और पिंक ब्रा भी खोल दी, फिर मैंने उसके लबों में लब डाल दिए और चूसने लगा और एक हाथ से उसके मम्मे दबाने लगा. कुछ देर तो मेरे दिमाग में चलता रहा कि कौन है ये और मुझसे क्या चाहती है.

फिर भी मैंने पूरी कोशिश की भैया और भाभी की फिल्म देखते हुए मजा लेने की मगर तुम्हारे लंड के अलावा इसको भला और कौन शांत कर सकता है मेरे राजा!बहुत देर तक भैया ने भाभी की चूत अपनी जीभ से चोदी और जब तीसरी बार भाभी झड़ी तब भैया ने दोबारा अपना लंड भाभी के मुंह में दे दिया.

राधिका इठलाते हुए मेरी जांघ पर बैठ गई और मैं दिशा और सोनल को दिखाते हुए अपने दोनों हाथ से राधिका के मम्मे दबाने लगा. आंटी बोलीं- मैं यहां बड़े वाले सोफे में ही बैठ जाती हूं, तुम मालिश कर दो. वसुंधरा के गर्म जनाना जिस्म से उठती गर्मी को मैं अपने पूरे शरीर में महसूस कर रहा था.