सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में

छवि स्रोत,राजा रानी का रिजल्ट

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फिल्म जल्दी भेजो: सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में, उसके बाद मैंने भाभी की दोनों चुचियों को बारी बारी से खूब चूसा और इतना दबाया कि उनकी गोरी चूचियां लाल हो गईं.

देहाती सेक्सी वीडियो देहाती सेक्सी

कुछ देर बाद वो भी झड़ने वाला था। उसके चोदने की रफ़्तार का कुछ पता ही नहीं चल रहा था।मेरी चूत ने भी अपना माल निकाल दिया। उसने माल चूत में लगे लगे ही कुछ देर तक चोदा। उसके बाद मेरी चूत से अपना लंड निकाल कर वो भी मुठ मार कर मेरी चूचियों पर ही झड़ गया।और उसके बाद कभी भी उससे चुदाई का मौक़ा नहीं मिला मुझे! ना ही मैंने कोई कोशिश की उस लंड से चुदने की. काउंसलर के कार्यमैं एक स्टूडेंट हूँ और आगरा का रहने वाला हूँ व कानपुर में रह कर पढ़ाई करता हूँ.

उन्होंने मुझे फिर से प्यार से कहा- नवीन प्लीज़ ये सब गलत है … ऐसा मत करो. सेक्सी वीडियो होली केफिर अगले दिन जब मैं दुकान पर अकेला था, उस वक्त वो मेरा गिफ्ट हाथ में पहन कर आई और दुकान में बैठ गयी.

अपनी राय मुझे देने के लिये बहुत बहुत शुक्रिया।दोस्तो, मैंने बताया था कि मेरे दोस्त की बहन सुशी मुझे बेहद पसंद करती है और वो मेरे लिए कुछ भी कर सकती है।अब असली कहानी पे आता हूं।बात कुछ दिनों की पहले की है जब आप लोगों ने मुझे यह सुझाव दिया कि मैं सुशी की पूरी बात उसके भाई को बता दूँ.सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में: मैं मुठ मारने में बिजी था, तभी अचानक मुझे लगा कि कोई टॉयलेट का गेट खोल रहा है.

कानपुर स्टेशन पर मिली एक आंटी की गांड का मजा मैंने उनके घर जाकर कैसे लिया, पढ़ें इस कहानी में! ट्रेन में आंटी से दोस्ती हो गयी थी और थोड़ा मजा मैंने ट्रेन में ले लिया था.उसकी लम्बाई 5 फुट 5 इंच थी और उसका 34-28-34 का फिगर बड़ा ही शानदार था.

मराठी सेक्सी शॉट - सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में

इंशा ने पूछा- ये क्या कर रही है?शिफा बोली- अरे यार चूत में आग लगी है, बहुत दिल मचल रहा है.मोनिषा आंटी ने कहा- ठीक है … आज के बाद तुम्हें मुठ नहीं मारनी पड़ेगी.

वो नंगी औरत बेड पर लेटी हुई अब कामुक अंदाज में सेक्सी आहें भर रही थी. सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में अब वो गांड हिलाते हुए कह रही थी- आह … मुझे इतना चोदो कि मेरी चुत की सारी खुजली मिट जाए.

इसलिए जैसे जैसे उसका बड़ा मूसल सा लंड मेरी चूत में घुस रहा था, मुझे जोर का दर्द हो रहा था.

सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में?

उर्वशी ने मिहिर को देख कर एक प्यारी सी स्माइल दी और उसे अंदर आने के लिए कहा. उसने मुझसे कहा- भाई मोनिषा आंटी बहुत ही ज्यादा हॉट और सेक्सी हो रही हैं. सर्दी का मौसम था तो सब अपने कम्बल में दुबके हुए थे लेकिन मेरे अंदर हवस की गर्मी बढ़ती जा रही थी.

मैंने दो मिनट तक कुछ नहीं किया, बस ऐसे ही उसकी चूत में लंड को डाल कर उसके ऊपर लेटा रहा. उसके बाद उसके घर वाले जब भी घर में रहते थे … उस समय सिर्फ उसको किस कर पाता था. मैं- सोनीपत में कहां आना है?रीता- मैं सोनीपत से हूँ उधर रहती नहीं हूँ.

मैं मजे से अपनी आंखें बंद करके अपने लंड को पूरी मस्ती से अपना लंड चुसवा रहा था. वो एकदम से बोली- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड भी है क्या?मैंने कहा- अभी तक तो नहीं. काफी देर तक मैं सुलु भाभी की चूत में उंगली करता रहा और उसकी चूत ने एकदम से पानी छोड़ दिया और मेरा पूरा हाथ भाभी की चूत के रस में भीग गया.

सरस्वती- सुरेश … साले तुमको हम दोनों को बढ़िया सा गिफ्ट देना होगा … हमने तुम्हें पत्नी की कमी महसूस नहीं होने दी. असल में चाची के उभरे चूचों को देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था और मैं मौके की तलाश में था.

मैंने धीरे धीरे अपना हाथ उनकी चूत की तरफ बढ़ाया और चुत पर उगी लंबी लंबी झांटों पर फेरने लगा.

मेरी बीवी मौसी से बोली- ठीक है, पर मुझे अभी चुदवाओ … मैं न जाने कब से तड़प रही हूँ.

बहन से सेक्स का ऐसा कामुक नजारा देख कर मेरा लंड भी बेकाबू होने लगा था. वो बोली- जब तक तुम्हारी शादी नहीं हो जाती, तब तक तुम्हें मेरी चूत को चोदना पड़ेगा. गांड ढीली कर … अब तो मान जा मेरा भैया! मेरा दोस्त!वह थोड़ा पिघला, उसने टांगें चौड़ी कर लीं.

राजशेखर का लिंग अब तक की काम क्रीड़ा देखकर पहले से ही खड़ा था, इसलिए वो सीधे धक्के लगाने लगा. मुझे मालूम हुआ कि ये दोनों बुड्डे आदमी बहुत सी लड़कियों को चोद चुके थे. जब वो बाहर नहीं आईं, तो मैंने दरवाजे के पास जाकर आवाज देते हुए पूछा- मैम आप ठीक तो हैं ना!तब उन्होंने कहा कि हां मैं ठीक हूँ … बस औरतों वाली दिक्कत है … और कुछ नहीं.

मनोज मामा ने मम्मी से कहा- अच्छा हुआ मंजू कि तुम आ गई भाभी मायके गयी हुई हैं तो तुम चाचा चाची का ध्यान रख लोगी।फिर मम्मी घर के काम में लग गई और रात हो गई हम सो गये।सुबह हुई तो मनोज हमारे घर आ गया था और वो और मम्मी कुछ बातें कर रहें थे।मनोज ने नाना जी से कहा- चाचा जी, मैं शहर जा रहा हूँ कुछ काम से … शाम को वापिस आऊँगा.

भाभी जब मेरे रूम में आईं, तो मैं तुरन्त उनकी चूची को ब्लाउज के ऊपर से दबाने लगा. हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर एक साथ लेट गए और एक दूसरे में खो गए थे. क्योंकि साहब की उम्र भी 55 साल के करीब थी इसलिए उनको चिंता हो रही थी.

सरस्वती- इतना समय था भी कि चोपा देती और लेती?चोपा का यहां मतलब था मुखमैथुन यानि लिंग और योनि को मुँह से सुख प्रदान करना. एक्सीडेंट के बाद हमारी सेक्स लाइफ भी खत्म हो गई थी, बहुत कोशिशों के बाद भी उनका लिंग पूरी तरह कठोर नहीं हो रहा था. तो ज़रीना बोली कि जो भी करना हो, कर लो … पर मेरी नीचे की खुजली ठीक कर दो.

उसे भी मेरे साथ सेक्स करने में मजा आता था, लेकिन मैं उससे बोर हो गया था.

उसने कहा- मैं क्यों बुरा मानूंगी … कहो न क्या कहना है?मैंने सोचा कि ये इसे पटाने का सही मौका है … वैसे भी अभी ये गर्म है. मेरी पत्नी के नग्न वक्ष अब मेरे दोस्त की चौड़ी मर्दाना छाती पर सटे हुए उसकी छाती की गर्मी को महसूस करके और ज्यादा रसीले होने लगे.

सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में ’ कहा और उसके होंठों को चूमने लगा … साथ साथ उसके मम्मों को भी आहिस्ते आहिस्ते सहलाता रहा. भाभी चुत चुदवाते हुए कहने लगीं- तुम्हारे भईया ने खुद मेरी बुर का भर्ता बना दिया था.

सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में वो मुस्कुराई और बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- तुम्हें देख कर दिल कर रहा है कि ज़िन्दगी भर सिर्फ तुम्हें चोदता रहूँ. अब मुझसे रहा न गया और मैंने अपने हाथ से उसके हाथ को अपने लंड पर दबा दिया.

अब किसी से नहीं करता करवाता।मामा जी- इसका मतलब खूब सारे दोस्तों से करवाई। मेरे से भी हो जाए?मैं- मामा जी, अब बहुत दिनों से नहीं कराई।मामा जी- आखिरी बार कब?मैं- यही कोई चार पांच साल पहले, जब मैं अट्ठारह उन्नीस का रहा होऊंगा.

सेक्सी वीडियो ओपन नेपाली

तभी मैंने सुना कि मौसी मेनका को आवाज दे रही थी- अरे नंगी ही बैठे रहेगी क्या … कपड़े पहन ले. उसने अपना हाथ मेरे मुँह पर रखा और ठोकर देते हुए कहा- धीरे ही तो डाल रहा हूँ मेरी जान … धीरे से चिल्ला मेरी रानी … मैं अपने संबंध जिंदगी भर जारी रखना चाहता हूँ … और तुम चिल्ला कर सारे मोहल्ले को बता देना चाह रही हो. मैंने ध्यान से देखा कि मम्मी की चूत बिल्कुल साफ़ थी … वहां एक भी बाल नहीं था.

उन्होंने पूछा- ट्यूशन क्यों नहीं आ रहे थे?मैंने कहा- तबियत ठीक नहीं लग रही है. मगर मुझे मालूम था कि दुबारा के सेक्स में ज्यादा समय लेगा और अभी रात काफी हो चुकी थी. मैंने सोचा कि मामा का लंड तो मामी की चूत की प्यास को बुझा नहीं पायेगा.

मैं- भाभी मेरा निकलने वाला है … कहाँ डालूं?भाभी बोलीं- मेरी चूत की गहराई में ही डाल दे.

तभी वो मेरी तरफ देख कर मूतने लगा और हंस कर लंड हिलाता हुआ वापस ट्रक में आ गया. इसके बाद दस्तूर ने मुझसे कहा- तुम लेटो अब … मैं तुम्हें अपने मुँह का कमाल दिखाती हूँ. अंदर आकर बैठते हुए मिहिर ने वो गुलदस्ता उर्वशी की तरफ बढ़ाते हुए कहा- एक खूबसूरत महिला के लिए मेरी तरफ से खूबसूरत सा गिफ्ट!मिहिर के मुंह अपनी तारीफ सुन कर उर्वशी शरमा गई.

उन्होंने मेरा लंड झट से अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं. वो चुदास भरी आवाज में बड़बड़ा रही थी- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … जानू आज मुझे वो रात याद दिला दो. मैंने गुस्से में कहा- यार, ये कैसी पढ़ाई है?वंदना ने हंस कर कहा- ये कामसूत्र है.

उसके 34 इंच के उन्नत चूचे, पतली कमर, दूध जैसी गोरी चमड़ी … दिलकश आंखें … लम्बे काले लहराते हुए बाल. मैंने कहा- गर्लफ्रेंड को नहीं चोदेगा तो क्या अपनी अम्मा को चोदेगा?अब भी उसने कुछ नहीं किया तो मैंने उसके चेहरे पर एक तमाचा मार दिया.

मैंने नाश्ते के लिए उन्हें मना कर दिया तो उन्होंने कहा- डॉक्टर साहब रात को मैंने आपकी बात मानी … आप नाश्ता नहीं कर रहे हैं … ये ठीक नहीं है प्लीज़ ना न करें. तभी मेरे दोस्त आयुष ने मुझे रोकते हुए कहा- तारीफ़ ही करता रहेगा या फिर कम्प्यूटर भी सही करेगा?मैंने कहा- यार, कम्प्यूटर ही तो सही करने आया हूं. बुआ मेरे लंड को टटोलते हुए बोलीं- हां, तू भी तो पूरा मर्द हो गया है.

मगर जब मैंने आंखें खोल कर देखा तो वो अपनी सलवार के ऊपर से ही अपनी चूत को मसल रही थी.

मेरी चाची सेक्स के लिए दुबारा तैयार थी, मेरे लंड को खड़ा करके चाची ने कहा- बता अब कहां डालेगा?मैं समझ गया कि चाची अपनी गांड में डालने को कह रही हैं. इस गांडू कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि क्या मास्टर साहब का लंड मेरी गांड में घुस पाया या नहीं. मैंने अपने चूतड़ों को थोड़ा उठाया और उसके सख्त लिंग को पकड़ कर उसे अपने छेद का रास्ता दिखा दिया.

कुछ देर बाद मुझे अहसास हुआ कि कोई मेरी गांड पर कुछ रगड़ रहा है जो कि आप लोगों को पता है क्या होगा; होगा ना किसी मादरचोद का लंड!मैं उससे दूर होने की बहुत कोशिश कर रही थी लेकिन भीड़ बहुत थी. मोनिषा आंटी ने कहा- कैसी मेहनत?मैंने कहा- आंटी अब आप अनजान बनने की कोशिश मत करो, आप जैसी हॉट सेक्सी औरत के नाम की मुठ मारने के बाद ही लंड इतना बड़ा हो सकता है … ये बात तो आप भी जानती हैं.

मैं अपने एक केमिस्ट मित्र से नींद की दवाइयां लाकर अपनी कामुक बहन के खाने में मिलाकर खिला देता. कई बार तो मैंने उसके हाथ को अपने तने हुए लंड पर लगाने की कोशिश की लेकिन मैं कामयाब नहीं हो पाया. सरस्वती ने बहुत देर तक बात कर हमें परेशान किया और बार बार वीडियो कॉल करने की जिद करने लगी.

एचडी सेक्सी व्हिडिओ फुल

ये सुनकर वो एकदम से मेरे पास आई और मुझे अपने पास खींचते हुए बोली- अरे अमित एक दो किस तो करो … पूरे सफर से तुम मुझसे दूर दूर ही हो.

वो ऐसे कर रहा था, जैसे कोई मजदूर भारी भरकम बोरी को जगह पर लाने के लिए करता है. इसी बेड पर कुछ दिन पहले सुनील ने मेरी वासना को जगाया था और आज इसी बेड पर मेरी चूत की चुदाई करके उसी वासना को शांत भी करने वाला था. इसी डर से कि कहीं वो जाग न जाएँ, मैं पीछे हट जाता हूँ और बस मुठ मार कर सो जाता हूँ.

जब मैंने वापस जाने के लिए बाइक घुमाई तो वो बोली- जानू, कोल्ड ड्रिंक पीकर जाना. इसकी नानी भी पढ़ी लिखी नहीं हैं, आप ही बताइए मैं क्या करूं?तब मैम ने कहा- अगर आप कहें, तो मैं इसे होम ट्यूशन दे सकती हूं. सेक्सी वीडियो देहाती भोजपुरीमैं थोड़ा नर्वस था कि कहीं दिन में जो हुआ था उस तरह फिर से कहीं मेरा पानी जल्दी ना निकल जाये।आंटी ने थोड़ी देर मेरे लंड को चूसा और फिर से मेरे ऊपर आ गयी और अपने हाथ से अपना एक बूब पकड़ कर मेरे मुंह में दे दिया.

उसके बाद मैंने करीब जाकर बहन की पेंटी को सूंघा, तो एक मनमोहन खुशबू आ रही थी. उबकाई इस बार भी आयी, लेकिन उसने चूसना बंद नहीं किया और बड़े प्यार से मेरे लंड के सुपारे पर जीभ फिराने लगी.

अभी इससे पहले कुछ और वो बोलती, मेरा हाथ उसके पैरों से होता हुआ, साड़ी के अन्दर चला गया. चारों तरफ बीच जंगल में हम बैठे हुए थे और जुगनू हमारे चारों तरफ घूम रहे थे. अब मैं अपनी उंगलियों को उसकी चुत पर फिराने लगा और वो वासना से भरी हुई सिसकारियां लेने लगी.

मैंने उसकी पीठ पर दबाव दिया तो वो दर्द के कारण तड़प उठी।मैंने पूछा- क्या हुआ?तो उसने कहा- क्रीम लगा कर हल्के हाथ से मसाज करिए! मर्दाना ताक़त मैं सहन नहीं कर पाऊँगी. उसके बड़े बड़े दोनों चूतड़ मुझे मार डालने के लिए जरूरत से ज्यादा घातक थे. मौसी ने अपने गुंडों को आवाज दी और कहा- इस मेनका को रंडी बनाने के लिये रेडी करो.

तब मैं भी उसके पीछे जाने लगी कि उसके जाते ही मैं दरवाजा बंद कर दूँ.

लेकिन भाभी ने लिपस्टिक नहीं लगाई थी, तो मैंने बोला- भाभी लिपस्टिक नहीं लगाई आपने?भाभी बोली कि चलो … तुम ही लगा दो. वो अपने चूतड़ों को उठा-उठा कर चुदवा रही थी … सच में बहुत ही मजा आ रहा था.

उसने जैसे ही दरवाजा बंद किया, मैं उसको पीछे से कसके पकड़ कर उसके स्तन दबाने लगा. थोड़ी देर के बार दस्तूर थोड़ी नॉर्मल हुई और नीचे से अपनी गांड उछाल उछाल कर मेरा पूरा लंड खाना चाह रही थी. पर जिया को सब पता था।उसने मेरी हेल्प की, उसकी मदद से मैंने रिया की मसाज करना शुरु किया.

मैंने अपने कमरे का दरवाजा बंद कर लिया और वापस आकर अपने बेड पर लेट कर मैं अपने तने हुए लंड पर हाथ फिराने लगा. उसके गले तक डालने के बाद मुझे लगा मैं जीत गया, लेकिन अभी भी मुझे कुछ कमी लग रही थी. मैंने तुरन्त उस शॉप से निकलने का सोचा और मम्मी से बहाना बनाकर उनके पीछे गयी.

सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में इस फ्री हिंदी चुदाई कहानिया में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने पड़ोस की सेक्सी प्यासी भाभी की चूत को चाटा, मेरा लंड चूस कर मेरा रस पीया. करीब दस मिनट बाद मैंने उसको धीरे से उसके कान में बोला कि तुम ढक्कन उतार दो रानी … अब खेल शुरू करते हैं.

एचडी की चुदाई सेक्सी

कुछ देर तक ऐसे ही उसके चूचों को दबाने के बाद उसने दीदी की ब्रा को भी खोल दिया और उसके चूचे अब नंगे हो गये थे. मेरे मामा के वहां पर जाकर मैं मामा के परिवार से मिला और कुछ बातें कीं. कुछ देर तक ऐसे ही उसके चूचों को दबाने के बाद उसने दीदी की ब्रा को भी खोल दिया और उसके चूचे अब नंगे हो गये थे.

”क्या हुआ डार्लिंग … अभी भी दर्द हो रहा है क्या?”नहीं मेरे राजा … बहुत अच्छा लग रहा है … इतना मजा मुझे पूरी जिंदगी में नहीं मिला. कुछ लड़के दीदी की चूत में उंगली डालने लगे और बारी बारी से दीदी को चोदने लगे. booba बढ़ाने की विधिमैंने एक हाथ से उसके आंसू पोंछ दिये और अपनी गांड को आगे पीछे करते हुए उसकी चूत में लंड को चलाने लगा.

मेरे मामा मेरी मामी की चूत को पैंटी के ऊपर से ही चाटने में लगे हुए थे.

मैंने बिना कोई जवाब दिए, अपने एक हाथ को धीरे-धीरे उसके गोल-गोल स्तनों पर घुमाना शुरू कर दिया. अब तो मैंने लगातार उसे ऐसे चोदा कि वो मदहोश हो गयी और उसके मुख से तरह तरह की आवाजें आने लगी थी.

उसके बाद मामा बेड पर आये और मामी के ऊपर लेट कर उनके होंठों को चूसने लगे. ये कहानी जिसके बारे में है, वो मेरे पड़ोस में रहने वाली क्यूट सी लड़की और मेरी जुगाड़ है. मुझे याद आया कि मैंने टॉयलेट में पानी फ्लश नहीं किया था और मेरा वीर्य पूरे कमोड पर और फर्श पर पड़ा होगा.

जब मैं झुक कर झाड़ू लगा रही थी तो मेरा ध्यान मेरे हिलते हुए चूचों पर गया.

फिर कुछ देर बाद मोनिषा आंटी ने मेरे लंड को खूब चूसना शुरू किया और करीब 20 मिनट लंड चूसने के बाद मेरे लंड का रस एक बार फिर निकल गया. वो नीची नजर से मेरे लंड के उभार को देख कर फिर से अपनी नोटबुक में देखने लगती थी. मैंने उसे कैसे मनाया और और कैसे उसकी चूत को चोदा?अभी तक इस कहानी के पहले भागमेरी कुँवारी रसीली बहन-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी बहन के साथ होटल के कमरे में था.

6 महीने की प्रेगनेंसीजब मैं साहब के घर पर पहुंची तो उनका बेटा अपनी जॉब पर जाने की तैयारी कर रहा था. मैंने चुत की गुलाबी फांकों में लंड का सुपारा फंसा दिया और उसकी आँखों में देखा.

नेपाली सेक्सी मसाज

मुझे भी उसकी इन मासूम और शरारती नजरों से प्यार हो गया था और मैंने उसे हल्के से आंख दबा दी. जब मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया, मुझे तेज पेशाब आ रही थी, सो मैं आधी नींद में ही पेशाब करने चली गयी, पर जब बैठी, तो पेशाब की पहली धार में मेरी योनि में जलन महसूस हुई. मैं खुद भी बहुत उत्तेजित थी, मैंने ज्यादा देर नहीं लगाई और उसके सुपारे पर जीभ फिराते हुए थूक से गीला कर दिया.

मुझे ऐसा करते देख निर्मला मुझसे लिपट गई और मेरे होंठों को चूमने लगी. जब मम्मी उसके साथ कमरे में होतीं, तो मैं चोरी चोरी देखता और उनकी चुदाई देख कर मुठ मारता. जब कभी भी हमें कुछ खाने की इच्छा होती, तो माँ हमें लाला की दुकान में भेज देतीं और लाला भी हमें फ्री में चॉकलेट या चिप्स वगैरा खिला देता.

तुम्हारा वह दोस्त अनिल तो बहुत नखरे करता है।उन्होंने एक जोरदार धक्के के साथ पूरा पेल दिया. उसकी गर्मी को देखते हुए मैंने उसकी चुचियों को कपड़ों के ऊपर से ही चूसना जारी रखा और उसकी गांड को दबाते हुए से अपने लंड का अहसास कराने लगा. सुरेश दसवीं के बाद ही बाहर चला गया था, पर जब कभी गांव आता तो हम सबसे जरूर मिलता.

उसने जैसे ही दरवाजा बंद किया, मैं उसको पीछे से कसके पकड़ कर उसके स्तन दबाने लगा. इस तरह हमारा रोमांस चलता रहा लेकिन चुत मिलने की कहानी हमेशा दूर लगती रही थी.

मैंने अपने लंड को वहीं पर पैंट से बाहर निकाल लिया और उन दोनों की रासलीला देखते हुए मुठ मारने लगा.

इतना बोलते ही उसने मेरा कंडोम चढ़ा लंड अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगी. सेक्सी गांव काउस रात को एक भाई ने बहन की चुत मारी दो बार! यह मेरे जीवन की पहली चुदाई थी. मणिपुर सेक्स वीडियोमैंने धीरे धीरे अपना हाथ उनकी चूत की तरफ बढ़ाया और चुत पर उगी लंबी लंबी झांटों पर फेरने लगा. हुआ यूं कि मैं जिम खत्म करके बाहर निकला, तो मेरे जिम में ही वर्क आउट करने वाली एक लड़की अपनी कार के पास खड़ी होकर फोन पर बात कर रही थी.

अपनी बहन के मुंह से 10-12 लंड से चुदने की बात सुन कर मैं भी हैरान रह गया.

दस मिनट बाद मेरा लंड उसकी बुर में फिर से हरकत करने लगा … तो वो भी अपनी कमर धीरे धीरे आगे पीछे करने लगी. उसकी लार मेरे मुंह में जा रही थी और मैं उसकी लार को खींच कर पी रही थी. मैं बहुत ही ज्यादा सीधा था, तो मैं हमेशा यही कोशिश करता कि कोई भी टीचर मुझसे नाराज़ न हो.

कुछ ही मिनट की मसाज के बाद रिया बोली- अब दर्द कम है, यदि आपको बुरा ना लगे तो मेरे पैरों की भी मसाज कर दो।मैंने कहा- सेवा करने में बुरा क्या मानना।थोड़ी सी क्रीम ले कर मैंने उसकी जाँघों और पिंडलियों पर लगायी और हल्के हल्के मसलने लगा. मैं भी अब पूरी तरह से उत्तेजित हो गयी थी, जिसके वजह से उसे अपना दूध पिलाने में सहयोग करने लगी. मैं शेविंग किट उठा लाया और उसकी चुत पर शेविंग क्रीम लगा कर हाथ से झाग बनाना शुरू कर दिया.

सेक्सी फोटो सेक्सी मूवी

उसने कहा कि आपका लंड इतना टाइट और बड़ा है … लेकिन कुछ निकल क्यों नहीं रहा. मैंने कहा- तुम अकेले सो सकती हो नीचे?वो बोली- नहीं, मुझे तो बहुत डर लगता है. वो मेरी आंखों में देखते हुए अपनी ब्रा और पैंटी को भी उतारने के लिए तैयारी कर रही थी.

उनके मम्मों की दूधिया घाटी देख कर उनके दोनों मम्मों को पकड़ कर चूसने और निचोड़ लेने का मन कर होने लगता था.

मैंने उससे बोला- सुरेश जोर जोर से चोदो न मुझे … झड़ने वाली हूँ मैं … आह … आह … ओह्ह … ओह्ह …बस फिर क्या था.

उसके लंड को चूसते हुए वो बहुत गर्म हो गया और उसने मुझे बेड पर गिरा कर मेरी चूत मार ली. किसी तरह इतना संघर्ष करने के बाद एक बार के धक्के में उसका सुपारा योनि में घुस गया, पर मेरी चीख निकल गयी- आआ ईईई!अपने होंठों को भींचती हुई मैं कसमसाने लगी. योगा क्लास सेक्स वीडियोजैसे जैसे ही मैं झड़ने के करीब आ रही थी, वैसे वैसे मैं अपनी कमर ज़ोरों से हिला रही थी.

मैंने अपने लंड पर थोड़ा था थूक लगाया और पूर्वी ने लंड पकड़ कर अपनी चुत पर रखा. मैंने उससे पूछा- आख़िर बात क्या हुई, अपनी बहन पर ही हाथ क्यों उठा रहा है?वो गाली निकालते हुए बोला- ये साली होटल में एक लड़के से अपनी माँ चुदवा कर आ रही है. कुछ फिल्म बीत जाने के बाद मैंने पूजा से बोला कि क्या मैं तुम्हारे गले में हाथ रख सकता हूं.

उसने पूछा- क्या मैं कपड़ों में खूबसूरत नहीं लगती हूँ?मैं हंस दिया और अपनी बात को पलटते हुए बोला- यदि तुम कपड़ों में खूबसूरत नहीं दिखतीं तो हम दोनों में प्यार कैसे हो सकता था. मेरी बीवी के चूचों को दबाते हुए उसने अपने शरीर का भार सामने पड़ी मेरी नंगी बीवी के बदन पर डालते हुए उसकी योनि में मेरे दोस्त ने अपने लंड को प्रवेश करा दिया.

पर चाहे जितनी भी बंदिश हों … लोग, जिनको मौका मिलता है, अपने तरह से छुप-छिपा कर मौज मस्ती कर ही लेते हैं.

फिर एक जोर का झटका मार कर अपने लंड को मोनिषा आंटी की गांड में उतार दिया. चूंकि सोनू के अलावा उनकी कोई और औलाद नहीं थी तो आंटी को अंकल के साथ ही जाना था. मौसी की लड़की को देख कर वासना ऐसी भड़की कि मन कर रहा था कि उसके दूधों को पकड़ कर अभी मसल दूं.

हॉट सेक्सी इंग्लिश उस दिन के बाद से मैंने नोटिस करना शुरू कर दिया कि मामा और मामी के बीच में कुछ खास बात नहीं हो रही थी. मैंने उसके कमसिन जिस्म का पूरा आनन्द लिया और उसने भी कैसे मेरे घर में आकर मेरा पूरा साथ दिया.

ये सब कैसे हुआ? पढ़ें मेरी इस रिश्तों में चुदाई की इस कहानी में!नमस्कार दोस्तो, कैसे हो आप लोग! मेरा नाम सावन है, मैं राजस्थान के जयपुर का रहने वाला हूँ. अब जब भी वो अमरावती की तरफ आता है … मुझे फोन करता है और हम दोनों रात भर मजे करते हैं. भाभी बोलीं- अबे चूतिये … साले गंडफट … तेरी भाभी तो कब से तेरी रंडी बनने को तैयार थी … तू ही चूतिया था … इतने दिन लगा दिए अपनी भाभी को रंडी बनाने में … आह अब जरा धीरे चोद … मेरी चूत चोदना है … फाड़ना नहीं है.

मोटा मोटा लैंड वाला सेक्सी वीडियो

मम्मी इतने गजब की फिगर की मालकिन थीं कि कोई भी उनसे शादी करने के लिए तड़प जाता. मैंने उनका गाउन ऊपर करके पेंटी के ऊपर से चूत में हाथ लगाया, तो वो पूरी तरह से गीली हो चुकी थी. फिर कुछ मिनट के बाद साड़ी के अन्दर हाथ डाला, तो देखा कि मॉम ने पेंटी नहीं पहनी थी.

मैंने उसके लिंग को पकड़ 8-10 बार हिलाया, तो उसका लिंग वापस पूरे तनाव में आकर कड़क हो गया. वो अब मेरे ऊपर आ गया था और मेरी दोनों जांघें फैला कर वो बीच में आ गया.

पूजा और संध्या के मम्मी पापा ने मेरी मम्मी और मेरा काफी सत्कार किया.

उस वक्त मुझे यह जान कर अजीब लगा था क्योंकि मुझे उस बात पर यकीन नहीं हो रहा था. मैंने उसके पेट पर जैसे ही अपने हाथ को रखा, तो एकाएक उसकी सिसकारी छूट गई- आआआह उम्म्मह. और फिर इसके कुछ महीनों बाद पढ़ाई के कारण मैंने वो शहर ही छोड़ दिया। फोन पर हमारा सम्पर्क बना रहा लेकिन धीरे धीरे हमारी बातचीत कम होती गयी.

कुछ मिनट बाद अनिल ने अपना लंड निकाल लिया और मॉम को किनारे पर कुतिया बना कर सैट कर दिया. मैं बोली- खड़ा हुआ या नहीं सूअर की औलाद?वो मेरी तरफ हैरानी से देख रहा था. उर्वशी ने अपने गीले बालों से तौलिया हटाया और उनको अपने दोनों कंधों पर बिखेर कर दरवाजा खोला.

अंदर आकर बैठते हुए मिहिर ने वो गुलदस्ता उर्वशी की तरफ बढ़ाते हुए कहा- एक खूबसूरत महिला के लिए मेरी तरफ से खूबसूरत सा गिफ्ट!मिहिर के मुंह अपनी तारीफ सुन कर उर्वशी शरमा गई.

सेक्सी बीएफ हिंदी में एचडी में: उसने समर्पण की मुद्रा में अपने दोनों हाथ फैला कर मुझे आगे बढ़ने का इशारा किया. मैंने एक टांग को उठा कर दूसरी पर रखते हुए तने हुए लंड को छिपाने की कोशिश की तो वो मेरी तरफ देख कर मुस्कराने लगी.

इस पर पूजा बोली- अमित उसके बाद की भी सुनो … उसने मुझे स्कूल में अपने दोस्तों के बीच बदनाम कर दिया कि उसने मुझे जम कर चोद दिया. फिर अचानक से पूजा मुझसे दूर हुई और मेरा हाथ पकड़ कर उसने अपने मम्मों पर रख दिए. गर्लफ्रेंड के पास जा रहा है क्या?वो बोला- नहीं अम्मा, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

मैं रोज सेक्स का मजा करना चाहती हूँ, लेकिन मेरे पति रोज मेरे साथ सेक्स नहीं करते हैं.

मैंने उसकी चूत की चुदाई को जारी रखा और अगले दो मिनट तक मजे लेकर उसकी चूत में धक्के मारे. दिन भर घूमने के बाद हम दोनों शाम को वापस घर जा रहे थे, तो मैडम ने कहा- चलो आज मेरे घर चलते हैं. मुझमें फिर से मस्ती चढ़ने लगी और मैंने हल्के हल्के कराहना शुरू कर दिया.