हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में

छवि स्रोत,सेक्सी सेक्सी फिल्म पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ पिक्चर सेक्स वाला: हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में, लेकिन नेक्स्ट टाइम जब आएगी और उसकी रजा होगी, तो ज़रूर चुदाई करूंगा.

सेकसी साडी

लड़कियां अक्सर इस बात से परेशान होतीं हैं कि उनकी चूत का छेद बहुत छोटा है तो फिर मोटा लंड चूत में कैसे जायेगा?इस प्रश्न के उत्तर में मैं कहना चाहता हूं कि शुरू में लंड लेने में थोड़ी परेशानी हो सकती है लेकिन जैसे जैसे चुदाई होती जाती है फिर चूत अपने आप ही खुलने लगती है. फोटो लडकी काजाने से पहले भाभी मेरी सैटिंग एक आंटी से करवा गईं कि वो मुझे चुदाई का सुख देती रहेगी.

वो पूछने लगी- दोस्ती, मगर किसलिये?मैं यहां वहां की बातें बनाने लगा और बातों ही बातों में उसकी खूबसूरती की तारीफ भी करने लगा. हाथ से खेलने वाला गेममैंने उसको ये नहीं बताया कि मैं उसी भाभी को उसके रूम पर चोदने वाला हूं.

साथ ही मीता के लिए उसकी मां से कह दिया कि इसे आज जल्दी भेज देना … आज दोपहर को यहां बहुत काम है.हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में: सारिका हमारी बातें बहुत ध्यान से सुन रही थी परन्तु कुछ पूछ नहीं रही थी.

दीदी बोली- ठीक है, डॉक्टर से तो नहीं लेकिन अपनी बहन से तो पूछ ही सकती हूं.मैंने अब उसके बालों को पकड़ा और उसके मुँह में लंड को अन्दर बाहर करने लगा.

ఎక్స్ వీడియోస్ ఎక్స్ - हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में

मैं बिना कुछ देर किए उठा और उसे अपनी गोद में ले कर उसके एक दूध को मुँह में लेकर उसकी चूची का रसपान करने लगा.मैंने शावर बंद करने की बजाय उसकी कमर को पकड़ उसे अपने पास खींच लिया.

मैंने उसको गोद में उठा लिया और वो हैरानी से मेरे चेहरे को देखने लगी. हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में प्लीज़ मुझे बतायें कि जवान पड़ोसन लड़की की चुदाई की स्टोरी आपको कैसी लगी.

मैं मैडम को देखने के चक्कर में ये भूल गया था कि मेरे जेब में नकल भरी पड़ी थी.

हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में?

जब राहुल ने मेरा एक पैर, सामने बांधने के लिए उठाया तो मैंने उसे मना किया. और जब पीछे से धक्का लगता तो उसका लन्ड अब मेरी गांड में चुभता और मेरी चुची उसके हाथ से दब जाती. आधा घंटा इन्तजार करने के बाद प्रिन्सिपल साहब ने बुलाया, मेरी बात सुनी.

मैं निढाल हो गया था … तो भाभी मेरे बाजू में लेट गईं और मेरे सीने पर किस करने लगीं. कुछ देर चोदने के बाद मैंने लंड को निकाल लिया और फिर उसके सामने आ गया. नीचे उनका पेटीकोट पहले ही निकला हुआ था और भाभी पैंटी को एक तरफ करके अपनी चुत में उंगली कर रही थी.

ये सोचते ही जैसे ही निप्पल के पास जीभ आयी, अम्मी चिल्ला उठीं- हायल्ला … मैं मर जाऊँगी. मेरे पापा दिल्ली में जॉब करते हैं और मम्मी और बहन आज मौसी के यहां गई हैं. उसकी उँगलियाँ मेरी चूत को सहला रही थी, चूत भट्टी की तरह धधक रही थी.

फिर अम्मी उठ कर पौंछा लगाने चली गईं और वो पौंछा लगाते वक़्त मुस्कुरा रही थीं, क्योंकि वो यही समझ रही थीं कि हो न हो उनकी चूत का रस या वीर्य ही टपक गया होगा, जो मेरे पैर में लग गया था. दोस्तो, एक बात कहना चाहता हूं कि अगर आप किसी के साथ भी सेक्स कर रहे हो और आपने उसकी चुत को नहीं चाटा या पिया तो सेक्स में कोई मजा नहीं.

यही सब प्यार मुहब्बत की बातें करते करते कब हमारी नींद लग गई, कुछ पता ही नहीं चला.

मेरी तलब भी जाग गई थी, तो मैंने उनके हाथ से सिगरेट ले ली और पीने लगा.

चूंकि पूरी चूची बाहर आ गई थी, तो उनका भूरे रंग का निप्पल भी मस्त दिखने लगा था. उसके बाद 5 मिनट तक हम ऐसे ही एक दूसरे को देखते रहे और किस करते रहे. बल्कि उनके इस गर्म मूड ने मेरी पीठ से अपनी चूचियों को रगड़ने के लिए भी उन्हें कामुक कर दिया था.

मामी जी गहरी नींद में सो रही थीं और उनकी नाइटी उनकी जांघों से काफी ऊपर चढ़ी हुई थी. फिर थोड़ा रुक कर मैंने अपने फ्रेंड को देखा, तो वो साला लंड हिला कर मुठ मार रहा था और रीति का नाम भी ले रहा था. कभी नहीं।ममता- तो जीजू को बोल कि तेरी चूत और गांड को चूसा करें, उसको चाटा करें, एक बार करवाकर देख.

चाची की चूत चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी चाचीजान कुछ दिन के लिए हमारे घर रहने आयी तो उनका सेक्सी जिस्म देख मेरा वासना जाग उठी.

‘ओह्ह जीजू … आह्ह … उम्म … ओह्ह …’ करते हुए मैं जीजू के सिर को अपने बूब्स में दबाने लगी. मैंने उसे और बोलने नहीं दिया और मुँह से मुँह लगा कर उसके होंठों को आम की तरह चूस चाट रहा था. भाभी शाम को मौसी के पास आईं और बोलीं- मौसी, मेरी तबियत ठीक नहीं है, आप आज रात मेरे कमरे में आ जाएंगी, तो मुझे काफी सहायता हो जाएगी.

जल्दी अन्दर पेल हरामी … अपनी मां को चोदेगा क्या हरामी?मैं बोला- नहीं मेरी जान, मुझे तो रेखा को चोदना है. मैं जीभ को चूत में घुसा देता फिर निकाल कर घुसा देता।अब बुआ मेरा सर चूत में दबाने लगी मैं तेज़ तेज़ चूसने लगा।बुआ की सांसें तेज हो गई और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया।मैंने उसकी चूत को चाट कर साफ़ कर दिया।अब मैं उसके ऊपर आ गया और लन्ड को उसके मुंह में डाल कर ऊपर नीचे करने लगा।थोड़ी देर बाद मैंने अपना लौड़ा बुआ की मखमली चूत में घुसा दिया. भाभी मेरे सामने घूम गई थीं और मैंने उनके मुलायम होंठों को किस करना शुरू कर दिया.

उसके कुछ देर बाद उसने फिर से धक्का मारा और एक बार फिर से जैसे मेरी जान निकल गयी.

मैं एक रूम में सो गया और पुष्पा दूसरे में।हम दोनों ही अलग अलग रूम में बिल्कुल अकेले थे. गीता वासना से भर गई थी मगर तब भी मोटे लंड से चुदने का डर उसकी आंखों में झलक रहा था.

हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में मैं ये देख कर खुश हो रही थी और बिना रुके लंड को अन्दर बाहर कर रही थी. अनुराधा की गांड को देखकर ऐसा मन करता था कि उसकी गांड में खड़े खड़े ही लंड घुसा दूं.

हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में काफी कोशिश करने के बाद भी नींद नहीं आई तो मैं उठ कर दीदी के रूम की तरफ जाने लगी. मैं बोली- कैसा गेम? वही जो आपने दीदी के साथ खेला था?वो बोले- नहीं, ये उससे थोड़ा अलग है.

मैंने सोचा कि अगर मैं इसको जई नहीं दी … तो ये अगली बार चूत नहीं देगी.

इंडियन सेक्सी ओपन व्हिडिओ

मम्मी पापा के ऊपर चढ़ गईं और उनके मोटे लंड को अपने हाथों से पकड़ कर चुत में ले लिए. वो मुझे चूमने लगीं और बोलीं- आह सच में मेरी चुदी हुई चुत को कुंवारा लंड मिल गया … ये तो मेरा नसीब है. सुयश ने कहा- कुछ भी??समता- जी … कुछ भी!सुयश- मैं आपको …समता- बोलो सुयश जी, आप मुझे क्या?सुयश- मैं आपको चाहने लगा हूं और आपको पाना चाहता हूं.

अपनी वह कहानी अभी बाद में लिखूंगी कि कैसे मैंने अपनी चुदाई अपने टीचर से करवाई।मैं राजेश का लौड़ा चूसने लगी और मैं लोड़े को गले तक ले जा ले जा कर चूस रही थी. जैसा कि मैंने आपको शुरू में ही बताया था कि अम्मी को हफ्ते में 3 बार तो लंड चाहिए ही होता था. अब उसने मेरा अंडरवियर पूरा उतार दिया था, धीरे से मैंने भी उसकी पैंटी उतार दी।उसकी चिकनी, गोरी, गुलाबी चूत देखकर मैं बस उसे चूसते ही रहना चाहता था.

भाभी ने मेरी आंख को देखा और हंस कर कहा- इसका मतलब ये हुआ कि मुझे ही सब सिखाना पड़ेगा.

और जब तुम अपने बालों को हाथ से सहलाती हो, तो मुझे तुम और भी प्यारी लगती हो. मैंने मौसी से कहा- आज मुझे ऑफिस का काम है, तो मैं रात को ऊपर वाले कमरे में सो जाऊंगा. आंटी- जब से तेरे फोन में पोर्न सेक्स विडियो देखी है तब से सब्र ही करती आ रही थी.

करीब 11 बजे जब साड़ी ब्लाउज पहने अम्मी किचन में खाना बना रही थीं, तो मैंने अम्मी से पूछा कि अम्मी क्या मैं एक दोस्त के यहां स्टडी के लिए चला जाऊं … मैं एक घंटे में आ जाऊंगा. मामी हंस दीं और मेरे ऊपर आकर उन्होंने मेरे लंड को अपनी चूत में सैट कर लिया. इससे सायली ने अपने पैर फैला दिए थे और वो मादक सिसकारियां लेने लगी थी.

हम दोनों अब तक डॉक्टर, नर्स, पुलिस, कामवाली, टीचर, बॉस सारे रोल तो प्ले कर लिए … आज कुछ नया सोचो. जब से पूजा ने अपनी सहेली रेखा को मेरे सामने वीडियो कॉल में पूरी तरह नंगी करके उसके गोरे और मालदार शरीर को भोग कर मुझे भी चक्षु चोदन का मजा करवाया था.

आह्ह … मुझे रंडी समझकर चोदो, मेरी गांड को फाड़ दो अंकल … आह्ह … अपना लंड घुसाकर फाड़ दो मेरा छेद।कुछ देर अंकल ऐसे ही चोदते रहे. एक दो बार कमर हिलाई और पूरे लंड को चुत में खाकर ऊपर नीचे होने लगीं. चुदते हुए वो चिल्ला रही थी- आह्ह राज … जोर से चोदो … आह्ह … और जोर से घुसाओ … फाड़ दो मेरी चूत को … ये तुम्हारे लंड की हमेशा प्यासी रहती है … इसी प्यास को बुझा दो.

आज मैं आपको अपने परिवार की मॉम डैड सेक्स स्टोरी बताने जा रही हूँ, जिसमें मेरे पति ने मेरे साथ मिलकर अपने सास-ससुर के साथ सेक्स के मज़े लिए.

तुम शुरुआत में एक सीधे और शांत लड़के की तरह ऐसे बने रहना, जैसे तुम्हें कुछ पता ही न हो. ”मुझे लगा कि ये पूछेगी कि कौन सी बात … पर इसने तो सीधा पॉइंट पकड़ लिया. मेरी बीवी का मुंह मेरे लंड को चूसने में कई सालों से अभ्यस्त था और वह मुझे आनंद के दरिया में ले गयी.

एक मिनट तक साहिल ने आराम से किया होगा; उसके बाद तो मानो सीधे साहिल ने अपने लंड का छठा गियर लगा के मुझे फुल स्पीड में चोदना शुरू किया. फिर मैंने आज तक कभी स्याली मामी को लेकर कभी कोई गलत विचार भी नहीं बनाये थे.

हम दोनों अपने सेक्स में इतने मशगूल हो गए थे कि मुझे यह भी पता नहीं चल रहा था कि इस समय मैं अपनी प्यारी सेक्सी भाभी की गांड पर अपने दोनों हाथ रखे हुए हूँ. कुछ देर यूं ही पड़े रहने के बाद हम अलग हुए और देखा पूरी बेडशीट पर खून के दाग़ लग गए थे. मैंने बेल्ट खोल दी तो हनी ने मेरी जींस और जॉकी नीचे खिसकाकर मेरा लण्ड पकड़ लिया.

ऐ खुदा सेक्सी वीडियो

इधर कॉलेज स्टूडेंट्स सेक्स देखने के बाद मेरा लंड भी झड़ने को आ गया था, तो मैं भी अपना हाथ जोर जोर से हिलाने लगा.

https://thumb-v0.xhcdn.com/a/XpjirjOuY7EoRwvQUos9SQ/019/355/770/526x298.t.webm. मैडम- अन्दर क्या कमरे भी हैं, जो वहां चल कर लेना पसंद करोगे?इतना कह कर मैडम हंस दीं. अब मैं मामी के दोनों मम्मों को बारी बारी से चूस रहा था और मामी की चूत में उंगली कर रहा था.

मैंने पूछा- उनसे मिलने कब चलना है?स्यू- ओके … हम आज ही निगार से मिलने जाएंगे. फिर मैंने उसकी पैंटी को चूत के दोनों तरफ से पकड़ कर उसकी चूत में जीभ डाल दी. तरंग मटका सटकामैंने भी अपने हाथों से कसकर उसके दोनों स्तनों को पकड़ लिया और जोर से मसलने लगा.

इतने में दीपक ने एक झटका मारा और उसका आधा लंड मेरी चूत में समा गया. फिर मेरी टांग अपने कंधे पर रखकर के मेरी चूत पर लोड़ा रख दिया और एक ही झटके में पूरा लौड़ा अंदर तक उतार दिया.

मैंने गेट की तरफ देखा तो वह मेरी पहचान वाला था। वह मेरे पति का बचपन से ही दुश्मन था। मेरे पति की और उसकी एक नहीं बनती थी।वह फ्लैट उसी का था. मेरे आंनद की अब सीमा न रह गई। वह अपने बाएं हाथ से लंबे लन्ड को पकड़कर आगे-पीछे कर रही थी और मैं जाम पीने में व्यस्त था. हम दोनों फट से उनके कमरे के दरवाजे के पास चले गए और की-होल से झाँक कर अन्दर देखने लगे.

बस दोस्तो, आज की सेक्स कहानी यहीं तक … अब आगे क्या होगा, वो मैं अगले भाग में लिखूंगी. उसकी गर्दन पर चुम्बन करने लगा।फिर उसने उसका साड़ी का पल्लू गिरा दिया. कभी मगर जब भी तेरी चुत में आग लगे, तो मेरे पास आ जाना … मैं मिटा दूंगा.

इतना कहकर बलराम ने अंडरवियर को छोड़कर सारे कपड़े निकाल दिए, जिसे देख कर गीता सकपका गई.

जैसे ही मैं कुछ बोलने की सोचता, उसके पहले ही संगीता ने मुझसे सॉरी कह दिया. सभी आपस में हंसी मजाक कर रहे थे और आधा घंटा कब बीत गया पता नहीं चला.

जब मैं बाहरवीं में था तो उस वक्त मेरे अंदर की ये क्रॉसड्रेसर की इच्छा बहुत तेज हो गयी थी. भाभी बोलीं- इस बार तो तुम्हारी रबड़ी मैं मुँह से खाऊँगी … अगली बार चुत में डालना. मैंने उन्हें दिन में, रात में और सुबह 7 बजे चुदवाते हुए खूब देखा था.

[emailprotected]फिल्म एक्ट्रेस सेक्स स्टोरी का अगला भाग:फ़िल्मी हीरोइन और रिसेप्शनिस्ट की चुदाई- 2. नूपुर ने मेरी पीठ पर अपने नाखून पूरी ताकत से गड़ा दिए, जिससे मैं भी बहुत जोर से कसमसा गया. उसने कोमल के पैर को ऊपर यू शेप में मोड़ा और छत से जो रस्सी लटक रही थी, उससे बांध दिया.

हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में मैंने उनकी तरफ देख कर पूछा- फिर?मामी बोलीं- तुम मेरे साथ मेरे कमरे में ही सो जाना … चलो!मैं मामी के साथ उनके कमरे में सोने चला गया. मैंने अम्मी की चूत पेलना जारी रखा और बगल ने नंगी होकर आ चुकी अपनी बहन नसरीन के मम्मे चूसने दबाने लगा.

जयपुर के सेक्सी वीडियो

दोस्तो, मुझे पता है कि मेरी इस सेक्स कहानी को पढ़ते वक्त कई लोगों का पानी छूटा होगा. ये कह कर मैं पूरा नंगा हो गया और अपने लंड को उसके मुँह के पास ले जाकर उसके मुँह के ऊपर रख दिया. फिर चाची ने मेरे साथ सेक्स की बातें शुरू कर दी और मुझे अपनी प्यास के बारे में बताया.

वो मेरी इस बात से बहुत खुश हुईं और बोलीं- आपकी इस बात से मैं बहुत खुश हुई हूँ. लंड का माल उसकी चुत में गिरा कर मैं भी थक कर उसी के ऊपर ढेर हो गया. न्यू सेक्सी वीडियो डॉट कॉमअब मैं ही अपनी बहन और अम्मी को पेलता हूँ और उन दोनों को अपनी बीवी बना कर रखे हुए हूँ.

उसको दर्द नहीं हुआ क्योंकि भाई पहले ही उसकी गांड खोल चुका था।मैंने अब धक्के लगाने शुरू किए और सोनम भी मज़े से चुदवा रही थी।फिर मेरा पानी निकल गया।वो बोली- तेरे साथ तो मज़ा आया। अब मैं तो तेरा ही लंड लूंगी। अब तो जाने दे … बाद में चोद लिए और।वो कपड़े पहन कर चल दी.

दसवीं के बाद आगे की पढ़ाई के लिए मैंने रोपड़ के एक प्राइवेट स्कूल में एडमिशन ले लिया था. मैं बोला- अच्छा तो पिछले 6 महीने से आप इसीलिए हमसे नहीं चुदवा रही हैं? अब समझ में आया कि ये सब इस पंडित का ही किया कराया है.

अब पेल दो न!मगर अब्बू ने निप्पल को एक बार चूस कर दुबारा अम्मी की तरफ देखा और फिर से जीभ आगे की, तो अम्मी समझीं कि शायद दुबारा ऐसे फिर करेंगे, मगर इस बार अब्बू ने पूरा दूध मुँह में भर लिया और निप्पल को जीभ से जैसे ही रगड़ा कि अम्मी ने जोर से सिसकारी मार दी. मैंने यहां पर दोनों के ही नाम बदल दिये हैं क्योंकि किसी की निजी जिन्दगी की घटना मैं सार्वजनिक रूप से असल नामों के साथ नहीं बता सकता हूं. अब मैं उसकी ब्रा का हुक खोलने की कोशिश कर रहा था लेकिन मुझे दिक्कत हो रही थी.

सुपारा चाटते चाटते हनी ने सुपारा अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

थोड़ी ही देर में जब मेरे निकलने को हुआ तो मैंने पूछा- कहां निकालना है?तो उसने कहा- अंदर ही निकाल दो! काफी दिनों सेमेरी चूत की गर्मीशांत नहीं हुई है; आज इसे शांत हो जाने दो. कुछ बीस मिनट में मैं दो बार झड़ चुकी थी जिस वजह से मेरी चुत ने काफी पानी छोड़ दिया था. मैं और हस्बैंड उन्हें बहुत समझाते, मगर आंखों की रोशनी जाने का दर्द इतना गहरा था कि उनको सम्भलने में काफी वक्त लग गया.

राजस्थान की सेक्सी वीडियोफिर उसने बर्फ का टुकड़ा मेरे मुँह में रखा और मेरे मुँह से बर्फ चूसने लगी. उसने मेरा लंड झट से अपने मुँह में भर लिया और उसे मस्ती से चूसने लगी.

गांव की कुंवारी लड़की की सेक्सी पिक्चर

मैंने कहा- अब्बू नहीं उठे, उठा दूं?अम्मी बोलीं- नहीं, मैं गयी थी उठाने … मगर वो बोले कि ज्यादा थकान हो रही है … अभी और सोने दो. आपने मुझे पहली चुदाई का इतना अच्छा अनुभव दिया है कि मेरी तृप्ति हो गयी. तो हीरोइन ने गुस्से में कहा- सोनू, तुझे मेरी चुत की कसम, जो तेरे लंड की दीवानी है, तू पहले इसकी चुत मार साले, तभी मेरे पास आना.

अब आगे की पड़ोसन सेक्स की कहानी:मैंने सॉरी बोला और उनके घर से निकल कर जाने लगा. सोचा कि यहां आपसे बातें भी हो जायेंगी और कुछ खाना पीना भी हो जायेगा. मैंने तुरंत मीनाक्षी को फोन किया और कहा कि कल किसी भी तरह से तुम्हें दिन में फ्री रहना है.

उसने तुरंत ही मेरी पैन्ट उतारी और मेरे लन्ड को हाथ में लेकर आगे पीछे करने लगी. मगर एक बात ध्यान रखना, पहली बार की चुदाई में दर्द बहुत ज़्यादा होता है. उसके पूरे बदन को किस करने के बाद मैंने उसको नीचे लिटाया और फिर उसकी टांगों को अपने कंधों पर रखवा लिया.

मैंने कहा- सुनो यदि मुझे चाहती हो, तो घर से स्कूल के लिए निकलना और मेरे घर में आ जाना. मैंने मन ही मन मैंने उसके कहे इस वाक्य पर गौर किया कि आज डिनर का मजा ‘भी …’ मिल जाएगा.

वह लपककर उनके पास गई और उनका लंड उनके हाथों से छीन अपने मुंह में लेकर चूसने लगी।अब डॉक्टर साहब की उह … अह ….

मैं बिना कुछ देर किए उठा और उसे अपनी गोद में ले कर उसके एक दूध को मुँह में लेकर उसकी चूची का रसपान करने लगा. नई वीडियो सेक्सीउधर हम दोनों लोग एक पब में आ गए और वहां बैठ कर हम दोनों ने बहुत शराब पी ली, जिससे मुझे और पूजा को काफी नशा चढ़ गया था. हिन्दी सेक्सी फिल्ममैंने कहा- हां, बियर में सोडा ही तो होता है … अल्कोहल तो नाम मात्र का होता है. मुझे अपनी चूचियों की साइज़ पता नहीं थी क्योंकि उस समय मेरी चूचियाँ संतरे जैसी थी, और मैं ब्रा नहीं टेप पहनती थी।बात सन 2002 की है.

मैंने कहा- भाभी अब मैं तुम्हारे बगैर कैसे रहूंगा?भाभी ने वादा करते हुए कहा कि जान एक हफ्ते की तो बात ही है, मैं रोज वीडियो कॉल करके तुम्हें मजा दूंगी और अपनी चुत दिखाऊंगी.

उसने कहा- क्या!मैंने कहा- आज कितना भी दर्द क्यों न हो, तुम मुझे रुकने के लिए मत कहना. दोस्तो, कंचन के साथ आगे क्या हुआ ये मैं आपको आपके फीडबैक के बाद बताऊंगा. मैंने पूछा- आपको क्या काम था?अंकिता ने बोला- हमें यहां पर आए काफी दिन हो गए हैं … पर अब तक हम दोनों ने जयपुर नहीं घूमा.

मैंने सोचा कि अगर इसको मल्लिका के बारे में पता लग गया तो और मुसीबत हो जायेगी. अगर मुझे टाइम मिला तो मैं और भी घटनाओं के बारे में लिखकर आपको बताऊंगा. पिछले भागजेठ जी का लंड देख सेक्स की इच्छामें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे जेठ जी ने मुझे सेक्स करने के लिए राजी होने हेतु कहा था, जिस पर मैं सोच विचार में पड़ गई थी.

കർണാടക സെക്സ്

फिर एक दिन रौनकी सेठ का एक्सीडेंट हो गया और इलाज के समय रौनकी की मौत हो गयी. अगर आपने नगरसेवक बना दिया तो आप जो कहोगे मैं करने के लिए तैयार हूं. आज मैं देसी चाची की चुदाई कहानी में आप लोगों को बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने एक विधवा महिला को चोदा.

उसने अंत में मेरे पूरे पेट और मेरी नाभि को भी बढ़े अच्छे से चूमा और चाटा.

जैसे ही लौड़ा बाहर आया … तना हुआ लोड़ा काफी लंबा और 3 इंच मोटा लग रहा था।देखते ही मेरे मुंह में पानी आ गया.

मैं बोला- अंकल भी तो थे?वो बोली- अब अंकल का लंड लेने का मन नहीं करता है. आपको क्या चाहिए मुझसे?वो बोले- जान … एक बार मेरा लंड चूस ले बस!अब मैंने पुष्टि करने के लिए खान अंकल से सवाल किया- आपने ये कैसे सोच लिया कि मुझे ये लंड चूसने वाले काम पसंद हैं?वो बोले- आ … अंदर आ, बताता हूं. कौन सी फिल्में चल रही हैमैं बोला- भाभी आपके पीछे बैठने की जगह नहीं है … ऐसे ज्यादा देर तक नहीं पकड़ सकता न!तो भाभी बोली- मैं आगे की तरफ सरक जाती हूं.

वो लंड पर जैसे ही बैठी तो मेरा गीला लंड फच्च … करके अंदर तक घुस गया।उसके मुंह से कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … आह्ह … उईई … आह्ह … चोदो अब … आह्ह।वो अब उछल उछल कर चुदने लगी. सायली- ज्यादा मुँह मत चला भोसड़ी वाले … लंड चला, बहुत दिनों बाद चूत में पानी गिर रहा है. उस वक़्त अम्मी के दोनों विशाल चूतड़ हर तमाचे पर और उसी के साथ अम्मी के हर झटकों पर बुरी तरह से हिलते दिख रहे थे.

सर ने दुबारा कोशिश की लेकिन फिर भी नहीं गया और लण्ड ढीला हो गया तो सर ने फिर से चूसने को कहा. मैं भी उसको मना नहीं कर पाया और मैंने उसको कहा कि अगले दिन वो मुझे फोन करे.

चूड़ी, पायल, मेकअप किट, लिपस्टिक, मस्करा, आईलाइनर, हेयर रिमूवल क्रीम, विग आदि सब था.

मैं अपने सारे कपड़े उतार कर नंगी होकर खाट पर लेटकर किताब देखते हुए अपनी बुर को दूसरे हाथ से सहलाते हुए मज़े ले रही थी।तभी अचानक अपना नाम सुनकर मैं चौक गयी. कई बार मस्ती करते करते मैं उसे पीछे से पकड़ लेता था जिससे मेरा लंड उसकी गांड की दरार में लग जाता था. मेरा सुपारा गचक करके अंदर घुस गया और आंटी के मुंह से चीख निकल गयी- आह्ह … मर गयी.

केमाल पाशा चा जन्म कधी झाला हालांकि हम एक्टिंग कर रहे थे, तो वो जानती थी कि मैंने वाह क्यों कहा. मैं अपनी आगे की पढ़ाई के लिए चाची के पास ही एक कमरा रेंट पर लेकर रहने लगा और उनको गाहे बगाहे चोद कर मजा ले लेता हूँ.

तब मैंने कहा- जब घर में ही लंड है, तो तुम क्यों बाहर में किसी से चुदती हो?मेरे इतना बोलने के बाद पूजा मुझे देखने लगी. पिछले भागभतीजे की बीवी की चुदाई का मौक़ा- 1में आपने अब तक पढ़ा था कि मेरा भतीजा रवि दारू के नशे में टुन्न होकर घर आया तो उसे उसके दो दोस्त सहारा देकर घर लाए थे. फिर जब मुझे लगा कि रस निकलने वाला है, तो भाभी मेरे लंड से उतर कर नीचे आ गईं और उन्होंने लंड को अपने मुँह में ले लिया.

देवर और भाभी की रोमांटिक सेक्सी

लंड देखते ही संगीता भी घुटनों के बल बैठ गई और उसने अपने दोनों हाथों से मेरा लंड पकड़ लिया. दो मिनट के बाद प्रिया धीरे से उठकर आदित्य की सीट पर आ चढ़ी और दोनों एक चादर में घुस कर लिपट गये. वो बोली- वो कैसे सर?मैंने उसकी शर्ट के ऊपर से चूचों पर ही मुँह रख कर चूसना शुरू कर दिया.

जैसे ही चाची ने मुझे देखा, तो उन्होंने झट से अपने पल्लू से अपनी खुली चूची को ढक लिया. कुछ मिनट के इस चुसाई के खेल में हम दोनों ने अपना अपना पानी एक दूसरे के मुँह में भर दिया था और अलग हो गए थे.

अगर मैं जीता तो आप मुझे किस करोगी और आप जीतीं … तो मैं आपको किस करूंगा.

उस दिन की चुदाई के बाद वो रोज उसको घर बुलाने लगी और फिर सचिव उसको बिना काम पर जाये हुए ही पैसे देने लगा. कुछ देर बाद हम तीनों ने उठ कर बाथरूम में जाकर एक साथ नहाया और कुछ खा पी कर सो गए. इसके बाद मैं उनसे उनके शहर का नाम पूछा, तो संयोग से वो मेरे ही शहर की निकलीं.

ये सब मैं सोच ही रही थी कि 20 मिनट के बाद तब तक दीपक का लंड फिर से तैयार हो चुका था. मैंने डिनर के बाद सारे कामों में उसकी मदद की और बातों ही बातों में रात का 1 बज चुका था. मैंने उसको एक निप्पल को अपने मुँह में भर लिया और एक बच्चे की तरह उसकी चूची को पीने लगा.

मामी मेरी पीठ को हाथ से सहला रही थीं और मेरी गर्दन को किस कर रही थीं.

हिंदी बीएफ एचडी वीडियो में: मैं भी तृप्ति का एहसास मिलने के बाद वहां पड़ा रहा और अपने हाथ से उसकी जुल्फों को सहलाने लगा. उसमें गाना चल रहा था मगर जैसे ही गाना खत्म हुआ, मूवी में हीरोइन उत्तेजित होकर कपड़े उतारते हुए सीधा मुझे बेड पर ले गयी.

मैंने हंस कर पूछा- आंटी, आपकी क्या गर्म हुई पड़ी है?तो आंटी भी हंस कर बोलीं- तू आ तो फिर बताती हूँ. पापा ने कहा- हां, तुम्हारी एक साथ दो लंड लेने की इच्छा मुझे मालूम है. सन्नो- अरे चली जा ना, बाबू जी को देख लेने दो, तभी तो वो सही से दवा दे पाएंगे.

मैं उसके फोन कॉल से खुश हो गया था और जल्दी से फ्रेश होकर रूम से निकला.

अब मैं जिम के वक़्त मैडम को सोचते हुए खूब जोश के साथ जिम किया करता था. जैसे ही संगीता चार्जर लेने मुड़ी, तो मैंने उसकी गोलाकार गांड को देखा. दोस्तो, अब इस सेक्स कहानी का आख़िरी भाग लेकर आपकी फ्रेंड पिंकी सेन हाजिर है.