राजस्थान की सेक्स बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी कार्टून वाला बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

एटा की सेक्सी: राजस्थान की सेक्स बीएफ, काफी देर अपना लंड चुसाने के बाद आशीष में मुझे अपनी बांहों में जकड़ कर अपने नीचे लिटा लिया और खुद मेरे ऊपर चढ़ गया.

10 साल की लड़की की बीएफ फिल्म

दो ही मिनट बाद निशा ने एक बार फिर मुझे जोर से अपनी बांहों में जकड़ लिया और चूत से अपना रस गिरा दिया. सेक्सी पिक्चर खुला बीएफ’ करते हुए वो बोली- राज तुझे घर में मेरी बिल्कुल याद नहीं आई!मैंने उसकी चूचियों को पकड़ कर अपने हाथों में ले लिया और बोला- तेरी चूत को बहुत याद किया रानी!अब दोनों एक-दूसरे से लिपटकर होंठों को चूसने लगे और मैंने उसका लोवर उतार दिया; वो नंगी हो गई थी.

मैंने सोचा कि वो लंड के पानी को बाहर थूकेगी लेकिन शायद वीर्य उसके पेट में ही चला गया था. सेक्सी बीएफ फुल एचडी मूवी हिंदीमैं जैसे ही अपने रूम से निकल कर लिफ्ट वाली लॉबी में आया, तभी मैंने उसको लिफ्ट से निकलते हुए देखा.

बालों से भरी मेरी चौड़ी छाती देखकर शब्बो मेरे पास आई और अपना बुर्का निकाल कर बेड पर रख दिया.राजस्थान की सेक्स बीएफ: ये मुझे उस समय मालूम हुआ जब मैंने उससे पूछा कि इतनी रात हो गई है … तुम घर किसके साथ जाओगी!वो हंस पड़ी और बोली- नहीं यार, मैं भी इसी होटल में रुकी हूँ.

तब मुझे मैनेजर नवीन ने कहा- क्यों अंजलि, साहब को बहुत खुश रखती है … मुझे भी मौका दे दे खुश कर दे … आखिर मैंने ही तुझे इंटरव्यू में सिलेक्ट किया था.मेरा गुलाबी सुपारा अपने मुंड पर चमकती हुई बूंदों के साथ उसके मुँह की गर्मी पाने को आतुर हो गया था.

सेक्सी वीडियो बीएफ फुल चुदाई - राजस्थान की सेक्स बीएफ

कुछ देर बाद वो बिस्तर से नीचे उतर गई और बोली- राज तुम मुझे दुल्हन बनाकर चोदो.वो दोनों यूनिवर्सिटी में एम कॉम की पढ़ाई कर रहे थे और साथ ही में अपना खर्चा चलाने के लिए पार्ट टाइम जॉब भी करते थे.

मेरी बहन भी चुदवा कर निढाल हो गयी थी, उसके चेहरे पर पूर्ण संतुष्टि झलक रही थी. राजस्थान की सेक्स बीएफ जैसे ही हम दोनों ने कमरे में घुस कर उसे लॉक किया, हम दोनों एक दूसरे पर टूट पड़े.

मैंने कोमल को अपने नीचे आने का इशारा किया, वो थोड़ा घबराई और बोली- अभी नहीं प्लीज … ऐसे ही ठीक है.

राजस्थान की सेक्स बीएफ?

उसके मुँह से गुँ … गुँ … की आवाज़ निकलने लगी; साथ ही मोटे मोटे आंसू की लकीरें उसकी आंखों से निकलने लगीं. मैं अनन्या को अपनी आगे की साइड न दिखाकर उससे बोला- अनन्या अन्दर आओ … तुम बैठो और मुझे पांच मिनट दो, मैं बाथरूम से आता हूँ. मैं कामवाली बाई के दोनों मम्मों का बारी बारी से रसास्वादन करने लगा.

मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और उनके साथ नंगा नाचने लगा और श्रेया को किस करने लगा; उसको सोफे पर ले जाकर उसके दोनों मम्मों को खूब चूसा और फिर उसको उल्टा लिटा कर उसकी गांड को अपने दोनों हाथों से दबा दबा कर लाल कर दिया. मैंने पूछा- क्या हुआ?तो मॉम ने बताया कि तेरे डैड का फोन आया था और उन्होंने कहा कि मैं 5 दिन और नहीं आऊंगा!ये कहकर मॉम रोने लगी. जैसे कि मैंने बताया था कि सौम्या काफी भोली भाली थी, विजय पूरा दिन काम के सिलसिले से बाहर रहता था.

वैसे तो उसने अपने मोबाइल से सारे मैसेज डिलीट कर दिए थे, पर मैंने उससे पहले ही उस चैट का स्क्रीन शॉट ले लिया था. मैं जानता हूं कि तुम भी अकेली हो और तुम्हें भी मेरा हर एक स्पर्श उतना ही पसंद आया है. मैं अपने दोनों हाथ से उनकी एक चुची दबा रहा था और एक चूची के निप्पल को दांत से काट रहा था, जिससे उनको भी बहुत मजा आ रहा था.

दूसरे दिन उसका कॉल आया, तो मुझे लगा कि उसी पढ़ाई के सिलसिले में फोन किया होगा. पिछली कहानीसरिता भाबी को लंड की जरूरत थीमें आपने पढ़ा था कि किस तरह से मोहल्ले के दो युवा लड़कों ने सरिता भाभी की गांड और चुत दोनों में एक साथ लंड पेल कर उसको सैंडविच चुदाई का मजा दिया था.

वो शायद मेरे इसी इशारे का इंतजार कर रहे थे, जो मैंने उनको अनजाने में दे दिया था.

मैं उस पर से उठा और नंगा ही भाग कर अपने बड़े भाई के कमरे में गया, उसकी अलमारी से कंडोम का पैकेट ले आया.

लेकिन अंकल ने मेरे दोनों हाथों को अपने एक हाथ से पकड़ लिया और देखने लगे. मैम ने सूट पहन कर अपनी एक फ़ोटो भेजी थी, जिसमें वो एकदम बवाल लग रही थीं. वह भी मेरे लंड को दोबारा मुंह में लेकर खड़ा करने की कोशिश करने लगी.

उसने मुझे देख कर एक स्माइल के साथ कहा- सौरभ, तुम इस समय यहाँ?मैंने कहा- जो मेरा काम बाकी राह गया था उस दिन … वो आज पूरा करना है. मैंने गेट के स्पाई होल से देखा, तो मुझे बाहर एक जवान मर्द खड़ा दिखाई दिया. उन्होंने सलवार समीज पहन रखा था, पर तब भी मैंने धीरे धीरे उनको किस करना जारी रखा.

मेरी सांसें तेज तेज चल रही थीं क्योंकि मैंने पहली बार किसी मर्द का लंड देखा था.

[emailprotected]सेक्स करने की कहानी का अगला भाग:पड़ोसन भाभी की बेटी की सीलतोड़ चुत चुदाई- 2. थोड़ी ही देर में हम दोनों ने एक दूसरे के पूरे कपड़े उतार कर अलग कर दिए. माँ बेटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने दो बेटियों को उनकी माँ के साथ ग्रुप में एक साथ चोदा.

उस दिन उनके पति जिनको मैं चाचा कहता हूँ, दुकान का सामान खरीदने के लिए भिवानी की मार्केट में गये थे. दो साल पहले जब रमजान चचा का इन्तकाल हुआ तो बकरी का काम शबाना ने सम्भाल लिया. सरिता भाभी ने उससे कहा- तुम कपड़े पहनो, मैं तुम्हारे लिए नाश्ता गर्म कर देती हूँ और चाय बना देती हूँ.

उनके मम्मे यूं लगते थे मानो वो एक आमंत्रण दे रहे हों कि आओ और हमें दबा दबा कर हमारा दूध पी जाओ.

तभी मुंतजिर ने मेरे लंड की तरफ आगाज किया और मेरी फूली हुई पतलून के ऊपर ही अपने होंठों को मेरे लंड पर लगा कर एक किस कर दिया. यह बात सुनने के बाद मेरे जान में जान आयी तो मैं गाड़ी चालू करके चलाने लगा.

राजस्थान की सेक्स बीएफ मैंने उठ कर पक्का करने के लिए कि सब सोए या नहीं, मैं वाशरूम गया और वापस आकर सभी को देखते हुए पानी पिया. मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा था कि अब क्या करूं!राजीव- रश्मि, मैं दरवाजे पर हूँ, प्लीज आओ.

राजस्थान की सेक्स बीएफ अचानक मुझे याद आया कि पेड़ के नीचे से आते समय अपने मोबाइल को डिक्की में रखते समय मेरे कॉलेज का आईडी कार्ड शायद वहीं गिर गया था. उसकी चुत चाटते हुए कुछ ही मिनट बाद मेरा लंड फिर से तैयार हो गया और मैंने उसकी चुत चाटना छोड़ करचुदाई का मनबना लिया.

कामवाली बाई के होंठ बहुत बड़े और ऐसे रसीले थे मानो उनका मजा हर एक घंटे में कोई लेता हो.

डॉक्टर का सेक्स

उसकी रफ्तार अब भी कम नहीं हुई थी और अब वो जोर से रुक रुक कर मुझे चोदने लगा था. मैं धीरे धीरे उसकी गीली जांघ सहलाने लगी और मैंने एकदम से अपना हाथ उसके खड़े लंड पर रख दिया. रास्ते में मुझे कुछ डर भी लग रहा थालेकिन मैं हिम्मत करके उनके घर की तरफ चला गया.

मैंने कहा- किस्मत वाला तो हूं तभी तो जाटनी को उसके घर में खानदानी पलंग पर तीन रात चोदा … वो भी कुंवारी जाटनी की सील तोड़ी. ये उस वक्त की बात है जब गर्मी की छुट्टियों में दीदी के घर घूमने गया था. मैंने एक बार उसके दोनों नंगी मम्मों को अपने हाथों से पकड़ कर मसला और उसकी एक मीठी आह सुनने के बाद मैं नीचे चूत की तरफ देखने लगा.

मैं ये सुनकर अपना हाथ उनके ब्लाउज़ के बटन पर ले गया और जैसे ही खोलने लगा.

मुझे किस करते करते कब उसने मेरी शर्ट उतार दी और मैंने उसकी … ये पता ही नहीं चला. मैंने आज से पहले कभी अंदाजा ही नहीं लगाया था कि चुत चूसने में इतना मज़ा आता है. उधर लता ने भी अपने हाथों से मेरे लंड को पकड़ लिया था और वो मेरे लंड को जोर जोर से दबा रही थी.

मैंने शरारत से कहा- अच्छा … सब कुछ क्या देखा था?नंदिनी- वही … जो आप दोनों करते थे. थोड़ी देर बाद जब वो अपनी गांड उठा उठाकर मेरे धक्कों का जवाब देने लगी तो मैंने कॉलेज गर्ल की चुदाई की स्पीड को बढ़ा दिया. उसके मस्त रसीले दूध देख कर मेरा लंड अंडरवियर से बाहर आने को मचलने लगा था.

‘आह … आह शरद आआह … ओ हहहह … और तेज़ शरद … और जोर से चोदो … आह आह … ओह शरद मैं कैसे रहूंगी तुम्हारे लंड के बिना जानू … आह आह. पार्टी शुरू होने में अभी टाइम था तो मैंने कुछ देर आराम करने का सोचा.

वो दोनों भी बहुत बड़े हरामी हैं, वो हमेशा मुझसे डबल मीनिंग बात करते थे और बस मेरे बदन को चोदने की नजर से घूरते थे. मैंने लैपटॉप बिस्तर में रखा और उससे कहा- देख मुझे क्या मिला!फिर मैंने फाइनेंस फोल्डर को क्लिक किया जो खाली था. आशीष का नंगा शरीर और उसका ताकतवर लंड देख कर मैं उसी सोफे पर पेट के बल लेट गयी और आशीष को सामने से पैरों को फैला कर बैठने को बोला.

उनका नाम लेकर अक्सर हस्तमैथुन भी कर लेता था लेकिन मेरी उनको छूने की कभी हिम्मत नहीं हुई, ना ही कभी उन्होंने ऐसा कुछ किया, जिससे मुझे लगे कि वो मुझे पसंद करती हैं या मेरे साथ सेक्स करना चाहती हैं.

श्याम- भैया, एक काम कर सकते हो क्या?मैं- बोलो श्याम, क्या बात है?श्याम- रानी को अपने पीहर जाना है और मुझे आज ही कंपनी के काम से 3 दिनों के लिए टूर पर जाना पड़ रहा है. उसकी चौड़ी गांड जैसे मुझे आमंत्रित कर रही थी कि आओ भाई डालो मेरी गांड में अपना औजार और चोद दो मुझे. फोन पिक किया तो उधर से राजीव सर बोले- हैलो रश्मि!मैं- जी सर, क्या हुआ इतनी रात को आपका कॉल!राजीव- रश्मि मैं तुम्हारे घर के सामने हूँ, प्लीज मुझे तुमसे अभी मिलना है.

नन्दिनी आगे बढ़ी और बोली- अरे क्या हुआ पहचाना नहीं क्या … हाय … मैं नन्दिनी!मैंने झट से उसे हाय कहा और हम गले लगे. अंकल थोड़ा अलग लहज़े में पूछते हुए बोले- मतलब लड़कों में तुम्हारा इंटरेस्ट ही नहीं है … तो किसमें है?मैंने बोला- अरे अंकल, मेरा मतलब था कि मेरी उम्र के लड़कों में मेरी कोई दिलचस्पी नहीं है, जिनको सिर्फ जिस्म ही दिखता है.

रानी- अपनी आंखें बंद करो और मेरी पैंटी उतार दो ताकि मैं पेशाब कर सकूं. उसके पानी का फव्वारा इतना तेज था कि उसकी चुत से टपकने वाला रस उसकी जांघों से होते हुए नीचे बहने लगा. उस दिन मैंने सफेद रंग की एकदम पतली सी शर्ट पहनी थी, जिसमें से मेरी पिंक ब्रा दिख रही थी.

भोजपुरी आर्केस्ट्रा नंगा

फिर चार दिन बाद मेरा जन्मदिन था, तो अब्बू ने मेरे घर में एक पार्टी रखी थी.

मुझे वो बर्दाश्त नहीं होता क्योंकि कोमल शाम से ही मुझे सिग्नल दे रही थी. उनकी पैंटी उतारने लगा ही था कि मैं उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर रुकने को कहा और बेड से उठ कर जाने लगीं. अमिता- आह हहाया ईई ऊऊऊ सौरभ … आअज मजा आ रहा है … ययय एईई ऊऊईईई!फिर मैं उसको गोद में वैसे ही पकड़ कर बिस्तर पर बैठ गया.

कुछ पल बाद मैं भाभी के चेहरे पर वो आंसुओं में बहती ख़ुशी देख रहा था, जिसके लिए एक औरत को मजबूत मर्द की जरूरत होती है. दो तीन बार मैंने ऐसे किया मगर अभी भी भाभी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, शायद उसे भी अच्छा लग रहा होगा. ठीक है बीएफमैंने जल्दी से अपनी पैंट और अंडरवियर एक साथ उतार दिया और उनकी गांड से नीचे को सरकी हुई पैंटी को एक झटके में निकाल फैंका.

मगर उसी समय मैंने उसकी आंखों में एक अजीब सी चमक और होंठों पर मुस्कान देखी. मैंने एक हाथ शीना भाभी के टाप में अन्दर डालकर चूचियों को जोर जोर से दबाना शुरू किया.

लगभग दो मिनट बाद मेरे लंड ने भी उसकी चूत में अपना ढेर सारे पानी के फ़व्वारे छोड़ने शुरू कर दिए. फिर मैंने सोचा कि अभी मॉम को चोदने का अच्छा मौका है, डैड काफी दिन बाद आएंगे. फिर चुदाई के बाद श्रेया ने उस लड़के से कहा कि आज के बाद हम कभी नहीं मिलेंगे … और वो सच में आज तक उससे नहीं मिली.

बुआसेक्स के सागर में गोतेलगा रही थीं- उम्म हाआआआ उह उह आहहह अहहह … आज तो मर गई रे … मस्त चूसता है रे … आह चूस ले इस निगोड़ी चुत को … कब से इंतजार था कि कोई तो मेरी चुत को चूसे. शब्बो की निप्पल्स को दांत से काटते हुए मैंने शब्बो से कहा- तू बकरी बन जा, मैं बकरा बनकर तुझे चोदना चाहता हूँ. पहले भी हम दोनों एक दूसरे के साथ फ़्लर्ट कर लेते थे … लेकिन ये थोड़ा ज्यादा था और ये हम दोनों जान रहे थे.

जब मेरा हाथ उसकी गर्म नाजुक जांघ पर छुआ, तो उसके चेहरे के भाव विस्मय बोधक हो गए.

दीदी भी मस्ती से अपनी चूत चुदवा रही थीं और हल्की हल्की आवाज भी निकाल रही थीं. ये कुछ मुझे उसकी चैट से मालूम हो गया था और बाकी सभी बाद में पता चला था.

देखिए न आज बादल भी लगे हुए हैं … अगर बारिश हुई तो हम दोनों बारिश का पूरा मज़ा उठाएंगे. मैंने भी उनके लंड से मूत की धार देखी और खुद भी मूत कर खुद को साफ़ किया. उसका नाम असीम है और वो हमारे ही मकान के पीछे सर्वेंट क्वार्टर में रहता है.

आह … हम दोनों की जीभों ने कुश्ती लड़ना शुरू की तो हम दोनों ही मदहोश हो गए. उसने काले कलर की साड़ी पहन रखी थी और स्लीवलैस ब्लाउज में वो बला की खूबसूरत लग रही थी. सरोज को मजा आने लगा था और उसने धीरे धीरे अपनी जीभ सुमन की चुत में चलाना शुरू कर दी.

राजस्थान की सेक्स बीएफ मैं उसे जाते हुए मचलती गांड को हिलते हुए देखने लगा फिर बेमन से गेट खोलने चला गया. मैंने कहा- ओके … आपकी किस स्ट्रीम से एमए कर रही हैं?उन्होंने बताया- इंग्लिश से.

चाय वाला गाना

नाश्ता करते समय भी अंकल मेरे जोबन को ही निहारते रहे, मैं भी अंकल को अपनी जवानी के दीदार कराती रही. मैंने दरवाजे से आवाज़ दी, तो दोस्त बोला- थोड़ी देर बाहर ही रूक … मैं चेंज कर रहा हूँ. मैं जैसे ही अपने रूम से निकल कर लिफ्ट वाली लॉबी में आया, तभी मैंने उसको लिफ्ट से निकलते हुए देखा.

मैंने एक आखिरी झटका मार कर उसकी चूत में अपने लंड को पूरा अन्दर तक घुसा दिया और उसके नर्म गुलाबी होंठों को प्यार से चूसने लगा. भाभी मेरे बालों को पकड़ कर मादक सीत्कार कर रही थीं- आआह एईई ऊऊऊऊ अनुज … आआह ईई. गावठी मराठी बीएफकरीब 5 मिनट किस करने के बाद मॉम ने मेरे सारे कपड़े उतारना शुरू कर दिया.

उन्होंने भी आव देखा ना ताव … फटाक से मुझे नंगा करके अपने बिस्तर में लेटा दिया.

उसने दो मिनट तक मेरी तरफ देखा और जब उसे लगा कि मैं नींद में ऐसा कर रहा हूँ, तो उसने भी धीरे से अपना एक हाथ अपनी चूत के अन्दर कर लिया. वो जल्द ही नीचे हाथ फेर कर मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चुत सहलाने लगा.

पहले तो एकदम से कड़क लंड हाथ में आ जाने से वो थोड़ा घबरा गई और उसने हाथ हटा लिया. मैंने अपना लिंग उनकी चूत में सेट किया और उनके चूतड़ों पर तीन-चार चपाट जोर जोर से मारे. इतने में आंटी पानी लेकर आईं और पूछने लगीं- क्या पियोगे बेटा!मैंने कहा- जी एक कप कड़क चाय मिल जाए तो मज़ा आ जाएगा क्योंकि सफर के कारण थोड़ा सा सर दर्द हो रहा है आंटी.

दोस्तो, गर्लफ्रेंड मॉम रेखा आंटी की चुत चुदाई का मजा कैसे ले सका और साथ में मैं अपनी गर्लफ्रेंड की मामी को रगड़ कर चोद दिया.

वो मुझसे बोला- वो सामने कुछ दूर पर एक कमरा जैसा कुछ है, हमको उसी में चलना चाहिए … वहां पानी नहीं आएगा. जैसे ही वो मस्ती के मूड में आ गईं, मैंने अपना लंड बंगालन आंटी की चुत से रगड़ना चालू कर दिया. अमिता की नजर मेरे लंड पर पड़ी, वो शर्मा गई और मुझे भी शर्म सी आने लगी.

हिंदी में बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफमैंने पूछा- कब तक आओगी?उसने मेरी बात का उत्तर देने की जगह कहा- मुझे भूख लगी है. आशीष का नंगा शरीर और उसका ताकतवर लंड देख कर मैं उसी सोफे पर पेट के बल लेट गयी और आशीष को सामने से पैरों को फैला कर बैठने को बोला.

सेक्स ब्यूटी

वो आह आह करने लगी तो मैंने उसकी टी-शर्ट को ऊपर उठा दिया और मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा. उसने लिखा कि जब वो इस वीकेंड अपने मम्मी पापा से मिलने ग्वालियर आएगी, तब मुझसे मिलेगी. जैसे ही मैंने लंड को चूत पर रखकर धक्का मारा तो वो दर्द की वजह से कराह उठी.

मैंने कहा- क्यों अभी तो आप कह रही थीं कि लंड चूसोगी?मगर सुशी जी ने लंड चूसने से मना कर दिया. उस दिन दो घंटे में मैंने मौसी को 3 बार चोदा और हम दोनों थक कर नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर लेट गए. ये देख कर मेरे होश उड़ गए कि मेरी जीएफ़ किसी और को ‘आई लव यू’ लिखती है.

फिर वो गांड हिलाती हुई पलट गई और दोस्त के लंड के ऊपर आकर अपने हाथ से लंड को गांड पर सैट करके धच्च से बैठ गयी. थोड़ी देर बाद मुझे महसूस हुआ कि पहले तो नील की गांड में धंसे हुए लंड को धीरे धीरे लहक लहक कर कसती और छोड़ती थी … लेकिन अभी भी नील धीरे धीरे ‘आह्ह अअह …’ करते हुए लगातार अपनी गांड को कसते और ढीला करते हुए सिसकारियां लेने लगा था. एक बच्चे की माँ बन गई हैं … मगर आज भी देखने में एकदम कुंवारी दुल्हन सी ही लगती हैं.

मैंने लंड का सुपारा चूत की फांकों में सैट किया और एक धक्का उसकी चूत में दे मारा. मैं पानी लेने के बहाने आंटी की गांड तरफ से निकला और उनकी गांड को दबा दिया.

अगले दिन शाम को अंकल का मेरे पास मैसेज आया कि क्या हाल-चाल है बेटा?मैंने भी बोल दिया- सब ठीक है अंकल.

मैंने बोला- स्वाति में नींद में था और मुझे नहीं पता कि ये सब कैसे हो गया. बीएफ सेक्स बीएफ वीडियो मेंलता के बारे में उसकी पर्सनल जानकारी हासिल कर ली; उसके बारे में काफी कुछ जाना. एचडी बीएफ 18 सालउसकी बातों से मुझे ये पता चला कि उसका पति उससे दस साल बड़ा है और इसकी वजह से वो अभी भी डिप्रेशन में रहती है. तुम्हारा चाचा मुझे चोदता ही नहीं है!कुछ और ताबड़तोड़ झटकों के साथ मैं चाची की चूत में झड़ गया और वह भी मेरे साथ एक बार और झड़ गई.

हम दोनों फोन सेक्स में इतने खुल चुके थे कि हमारे बीच में अब कोई औपचारिकता नहीं बची थी.

इस पर उन्होंने पूछा- आप इंदौर क्या करने जा रहे हो?मैंने कहा- घूमने. धीरे धीरे मैंने उसको किचन की पट्टी पर बैठाया और अपने लंड को उसकी चुत पर सैट करने लगा. जैसे ही अमित ने मेरी चूत में उंगली डाली … तो मेरे अन्दर जैसे 440 वोल्ट का करंट दौड़ पड़ा.

मैंने उससे कहा- क्या हो गया अमिता?उसने कहा- कुछ नहीं!और एक उदास वाली इमोजी भेज दी. उनकी साड़ी ऊपर करके उनकी पैंटी नीचे सरका दी और अपना लवड़ा दीदी की बुर में पेल दिया. बुर पर जीभ फेरने से मुमताज गमक कर चुदासी हो गई और बुर चटवाते समय चूतड़ उछालने लगी थी.

helpline सेक्स

वो आए दिन मेरे लिए खाना बना कर ले आती और मुझसे फोन पर कह देती कि आप खाना बनाने की जहमत मत उठाना. अब तो मुझे अपने आपको रोकना बहुत ही मुश्किल हो गया था … क्योंकि किसी भी आदमी का लंड जब कोई औरत अपने नर्म और मुलायम होंठों से चूसती है, तो बहुत मजा आता है. निशा ने मुझे अपनी नशीली आंखों से देखा और अपने पतले और लाल होंठों से मेरे मुँह पर लगे उसकी चूत के रस को चाटने लगी.

मैंने कहा- क्यों भूख क्यों नहीं लगी?वो बोली- तुमको भूख लगी होगी, चलो मैं पहले तुम्हारे लिए कुछ खाने के लिए लेकर आती हूँ, फिर बात करेंगे.

मैंने उसे अपनी बांहों में ले लिया और जल्दी ही नंगी अलीज़ा मेरे लंड के नीचे आ गई थी.

अपने लण्ड को मुठ्ठी में पकड़कर अब्बू ने मेरी बुर पर रखा और अन्दर धकेलने लगे. मैं भी उन्हें लगातार किस करते जा रहा था और उनकी चूचियों को दबाये जा रहा था. सेक्सी बीएफ वीडियो रोमांटिकमुझे किस करते हुए अब भी मेरे बूब्स उसके हाथों से मसले जा रहे थे और नीचे मेरी चूत उत्तेजना से गीली हो रही थी.

जब विजय ने देखा, तो सरिता भाभी कातिल मुस्कान देते हुए वहां से चली गई. अगले दिन मैं फिर एक बहुत शॉर्ट और सेक्सी टी-शर्ट पहन ली और घर से निकली. मैं पिछले 3 महीनों से किसी ऐसे लड़के की तलाश में पार्क जा रही थी, लेकिन कोई नहीं मिला.

जैसे ही मैंने चुत चाटनी चालू की, वैसे ही बुआ ने मेरा सर थाम लिया और उसको अपनी चुत पर दबाने लगीं. मैं अपने दोनों हाथ से उनकी एक चुची दबा रहा था और एक चूची के निप्पल को दांत से काट रहा था, जिससे उनको भी बहुत मजा आ रहा था.

रविवार की शाम मुझे उनके यहां जाना था, तो मैं शाम से ही तैयारी में लग गयी थी.

ये सब देख मैं भी चुपके से बाहर निकाल गया और कुछ देर बाद घर पर आया तो मैंने मां को आवाज दी- मुझे भूख लगी है … मेरे लिए मैगी बना दो. मुझसे रहा नहीं गया और मैंने बाथरूम के दरवाजे के पास जाकर एक झिरी से झांक कर देखा, तो आंटी नंगी नहा रही थीं. प्रियंका ने मुझे बताया कि वो खुद भी गमन की गर्लफ्रेंड थी और गमन अशी के साथ अफेयर कर के उसके साथ डबल क्रॉस कर रहा था.

हिंदी वीडियो बीएफ फिल्म सेक्सी उसने टांगें फैला दीं मैंने उसकी चुत की फांकों के बीच लंड सैट करने लगा. उसने अपने लंड पर कोई जैली लगा ली और लंड का सुपारा चुत में अन्दर पेल दिया.

मैंने अपनी टी-शर्ट को उतारा और लोअर में फूले लंड पर हाथ फेरा, तो वो मुस्कुरा दी. और उस समय मेरी नजर वाशरूम के दरवाजे से अंदर गयी तो में अचानक शॉक हो गया. वो उचक पड़ी … मगर मैं उसकी गांड को एक हाथ पकड़ कर अपनी उंगली को उसकी चुत में अन्दर बाहर करता रहा.

भाई बहन ब्लू फिल्म

वैसे मैं हूँ तो दिल्ली से … लेकिन काम की वजह से हैदराबाद में एक साधारण फ्लैट लेकर रहता हूं. कुछ देर बाद उन्होंने मेरे भी कपड़े उतार दिए और मेरी बनियान फाड़ दी. इसके बाद मैंने अर्शिया जब तक मेरे घर रही, उसकी चुत चुदाई का मजा लिया.

नजदीकियों का मतलब शारीरिक सम्बन्ध, उपभोग या जिसे आज की खुली भाषा में सेक्स कहते हैं, वो सब नहीं था. मैंने कहा- क्या काम था तुझे?वो बोली- अंदर आकर बैठ तो सही, बताती हूं.

मैंने लंड निकाल लिया और हम दोनों बाथरूम में जाकर एक दूसरे को साफ़ करके फिर से बिस्तर पर आ गए.

अब मैं रुकने वाला नहीं था क्योंकि बड़ी मशक्कत के बाद ऐसा आनन्द आ रहा था. मैंने दो मिनट तो आनाकानी की, लेकिन फिर मैंने सोचा कि जैसे एक से चुदने के मजा लेना है, तो दो से क्या घिस जाएगा. वो जल्द ही नीचे हाथ फेर कर मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चुत सहलाने लगा.

वह भी मेरे निकले हुए वीर्य को अंदर गटक गई और बोली- तुम्हारा रस बहुत टेस्टी है. मैं मोबाइल में टाइम पास करने लगा और ये भूल गया कि मेरी बीवी माल की तरह सजकर आई है … तो मेरा दोस्त भी इसका मजा लेगा और मेरी बीवी पक्के में उसको लाइन देना शुरू कर देगी. वो मेरे लंड को सहलाने लगीं और कुछ ही मिनट में भाभी ने लंड पर ऐसा जादू किया कि वो तो पूरा तन कर खड़ा हो गया.

इस तरह से मुझे कुछ थकावट सी होने लगी थी तो मैंने उसको फिर से बिस्तर पर लिटा दिया और दोनों पैरों को फैला कर हवा में उठा कर चुत चोदने लगा.

राजस्थान की सेक्स बीएफ: आप लोगों के सामने मैंने श्रेया का नाम बदल कर लिखा है, वैसे आप सभी आज भी उसे टीवी सीरियल में देखते हैं. मैंने झट से उसके गुलाबी होंठों पर अपने होंठ रख दिए और चूमना शुरू कर दिया.

बहुत सारे दोस्त मुझसे उस लड़की (कहानी की नायिका) की तस्वीर तथा नंबर मांगने लगे. उन्होंने बताया- जब तेरे डैड बाहर चले जाते थे तो मैं कॉलबॉय को बुलाकर चुदाती थी. ब्लू फिल्मों में चुत चुदाई, गांड चुदाई होती देखी थी, तो मैं सोचता था कि काश मुझे भी किसी की चुत गांड मारने को मिल जाए तो मैं भी करके देखूँ कि कैसा मजा आता है.

विक्की बोला- भाभी शर्म छोड़िए … दे दीजिए न … बहुत दिन से तड़पा रही हैं.

मैंने गेट पर जाकर बेल बजाई तो अंदर से वो ही निकली और मुझे अंदर ले गयी. फिर मॉम ने कहा- चुदाई शुरू करें?मैंने कहा- घर में करने का मेरा मन नहीं है, कहीं बाहर जाकर करें … जैसे किसी होटल में?मॉम ने कहा- ठीक है … तो फिर हम गोवा चलते हैं. ये सिलसिला करीब एक साल चला और इसी बीच मेरी छोटी बहन संजना रावत का स्कूल भी खत्म हो गया.