पुरानी वाली बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म चोदते हुए दिखाओ

तस्वीर का शीर्षक ,

रंडी सेक्स वीडियो बीएफ: पुरानी वाली बीएफ, जीभ से उसकी चूत का दाना चाटते हुए मैंने रेशमा की चूत मेरे उंगलियों से चोदनी चालू कर दी.

माणसाचा सेक्सी व्हिडीओ

दोस्तो, जैसा कि मैंने पहले भी बताया था कि भाभी ज्यादा सुंदर तो नहीं थी लेकिन उसकी बॉडी बहुत ही आकर्षित करने वाली थी. सेक्सी देहाती गांव काइतने में नीता ने आवाज लगाई- सो गए क्या हर्षद?उसने मेरी तरफ देखकर कहा.

उस वक्त मुझे ऐसा लगा कि कोई बहुत बड़ी चीज मेरी गांड से बाहर निकल गई हो. हिंदी सेक्सी पहेलियांदो मिनट बाद वो बाहर आयी तो उसने अपने चुचों के ऊपर से तौलिया लपेटा था.

लेकिन तब भी उसने कहा- मैं तुम्हें मना किया था न!मैं हंस दिया- हां हां मुझे सब पता है.पुरानी वाली बीएफ: उसने घुंडियों को चूसना छोड़ दिया और फिर से कुछ चुम्बन मेरे गालों पर दे दिए.

अंकिता ने मेरे बालों पर पकड़ और मज़बूत कर दी और अपनी टांगें मेरी पीठ पर कस दी थीं.बस में शायद बहुत कम लोग ही बचे थे और पीछे तरफ किसी का ध्यान नहीं था.

खेत में सेक्सी मूवी - पुरानी वाली बीएफ

फिर भी मैंने शरारती अन्दाज में सवाल किया- यह क्या कर रहे हो?वे भी मेरी तरह रंगीन मिजाज में आ गए थे.वो मुझे गाली देते हुए बोली- साले कमीने मादरचोद जीजू … अब चोदो मुझे भोसड़ी वाले.

वाईन पीने के बाद ऐसा लग रहा था, जैसे हम लोग सर्वशक्तिमान हो गए हैं. पुरानी वाली बीएफ वो भी मेरा साथ देने लगी थी और पीठ पर हाथ फेरते हुए अपनी कमर चलाने लगी थी.

एक पैंटी जैसी चमड़े की पेटी थी, जिसे पहना जा सकता था … और एक डिब्बी में चिकनाई के लिए क्रीम थी.

पुरानी वाली बीएफ?

उसका नाम विजय था। मैंने उसको गले से लगाया। मेरे लगाए हुए लेडीज़ पर्फ्यूम की खुशबू से वो मस्त हो गया।मैंने बिना कुछ सोचे समझे मुदित जी की पैंट पर धावा बोला और हुक व चेन खोलकर बड़ा सा लंड बाहर निकाल लिया।मैं जोर जोर से चूसने लगी।उधर विजय मेरे बालों पर हाथ फेरते हुए मेरे गालों को किस करने लगा. उसका टोपा बार बार मेरे मुँह तक आ रहा था तो मैं उसके टोपे को मुँह में भी ले रही थी. रमा ने उसे नसीहत दी- घबराना मत बेटा, हम तो हैं ही न घर में … हाँ और अंकल अगर तुझसे खुश हो गये तो तुझे कल बहुत सारे कपड़े देंगे खरीद कर.

डॉक्टर ने मेरे बदन से बेबीडॉल ड्रेस को निकाल दिया और मैं ब्रा और पैंटी में रह गई थी. अदिति कराहती हुई बोली- हर्षद, अब मैं और धक्के नहीं सह सकती … आंह अब मैं झड़ने वाली हूँ. इस ड्रेस के छोटी होने के कारण मेरी गांड की लकीर साफ दिख रही थी और आगे से भी काफी मामला खुला था.

मैं उस समय लंड हिलाते हुए सोचता था कि कोई तो इसके चुचे चूसता होगा, कोई तो इसको इतनी मोटी गांड मारता होगा. मम्मी के होंठ मेरे मुँह के अन्दर होने की वजह से वो चिल्ला नहीं पाईं, पर वो छटपटाने लगीं और उनकी आंखों से आंसू निकल आए. वो दो स्नेहा की फेवरेट आइसक्रीम लाया और एक उसको दे कर बोला- अब बोल?स्नेहा- भाई इस वीकेंड कहीं घूमने चलते हैं ना … अपने सब यार दोस्त मिल कर?चिराग- हुंउ … तेरी ये बात तो सही है.

जब उसकी तरफ से मुझे कोई प्रतिरोध नहीं मिला तो मैंने उसकी जांघ पर अपना हाथ रख दिया और सहलाने लगा. मैंने लाल रंग की साड़ी पहनी थी और मैं उसको यूं अपनी तरफ देखती हुई कुछ समझने की कोशिश कर रही थी.

मैंने उसके कान में कहा- तुम अपनी जींस से अपना एक पैर बाहर निकाल लो.

वो बाइक पर मुझे ले जाता था और रास्ते में जानबूझकर तेज ब्रेक लगाता था.

मैंने उसकी इसी बात का फायदा उठाकर उसे चोद कर चूत की चुदाई का मजा लेने का प्लान बनाया. अब मैं भी उसके लण्ड को खोजने लग गई और नेकर के ऊपर से उसके तने हुए लण्ड को पकड़ना चाह रही थी. आपको बस सेक्स KLPD स्टोरी कैसी लगी या आपका कोई सुझाव हो तो मुझे मेल करें.

आंटी ने कहा- अब सब कैसे होगा, मेरी तो कुछ समझ में ही नहीं आ रहा है. मैंने आँटी को खड़े खड़े अपनी बाँहों में जकड़ा और अपना लण्ड पुनः आँटी की जांघों में घुसा दिया. फिर मैं अपने ममेरे बहन भाइयों के साथ कनेक्ट हो गया और हम सब गप्प लड़ाने लगे.

मैं भी एक अनजानी सी खुमारी में डूबने लगा; मस्त आनन्द की गहराई में खोने लगा.

और कसम से मुझे नहीं मालूम कि कैसे बस यूं हो गया था कि जिधर चाहता, मुझे चूत मिल भी जाया करती थी. इस कहनी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं अपनी भाभी के भी के घर में उसके साथ वासना भरा खेल खेल रही थी. मगर मैंने चाची की एक ना सुनी और अपना लौड़ा चाची की चुत में धकापेल अन्दर बाहर करने लगा.

ज़ारा- क्या जान? इकट्ठे नहाते हैं ना!मैं- तुमने नहाना थोड़े है!ज़ारा- और बाथरूम में मैं कव्वालियां गाऊंगी?मैं- बाथरूम में तुमने नहाने के बहाने सेक्स करना है. तुम्हारे जैसी कोई दूसरी हो भी नहीं सकती।”ज्यादा तारीफ मत करिए; नहीं तो मेरा भाव बढ़ जाएगा।”ऐसा नहीं है. अब सोनम आगे की कहानी को बतायेगी:दोस्तो, मैं सोनम आगे की स्टोरी बता रही हूं.

कुछ मिनट तक इसी पोज में चोदने के बाद विक्रम बोला- प्लीज डार्लिंग, तुम मेरे ऊपर आओ ना!संजू को अभी मजा आ रहा था इसलिए उसने पोज बदल लिया.

इसलिए मैंने बिना कुछ कहे, साइड से अपना स्कूटर निकाला और स्टार्ट करने लगा. मैंने उनकी पीठ पर हाथ रख कर उन्हें सहलाया और चुप कराने का प्रयास किया.

पुरानी वाली बीएफ मैं फिर से एक बहुत कामुक गंदी सेक्स कहानी का रोमांच लेकर आ गयी हूं. एक छोटी सी शॉर्ट्स और टी-शर्ट पहन कर मैं रेशमा के साथ बात करते हुए दारू का मजा लेने लगा.

पुरानी वाली बीएफ मैं कभी उनके एक गाल पर होंठ रख कर चूमता तो कभी दूसरे गाल पर किस करने लगता. कभी अण्डकोषों को मुँह में भर कर चूसती और लिंगमुंड को जीभ से धीरे-धीरे सहलाती।उसके मुखमैथुन ने मुझे कामवासना के स्वर्ग में पहुंचा दिया.

कुछ देर चोदने के बाद वो झड़ने को हुआ तो सनी से बोला- कहां डालूं अपना माल मैं?सनी बोला- इसकी गांड में ही भर दे साले की.

बीएफ भाई बहन के बीएफ

अगर कोई आ जाता तो?वो बोली- अबे साले तुझे मजा आया कि नहीं बोल!मैं कुछ बोल ही नहीं सका. ”जानू, मुझे पता है तुम मुझसे बहुत प्यार करती हो, पर मुझसे तेरा दर्द नहीं देखा जाएगा. बस में हमें अब कोई के आने का डर नहीं था और ललिता भाभी भी अब खुल चुकी थी.

वे मेरी गर्दन के पीछे अपने होंठ रगड़ रहे थे। मुझे दारू की बदबू से मतली आ रही थी. उन्होंने आंख मारते हुए हां का इशारा किया और मैं 4-5 झटके मार कर लंड को उनके गले में फंसा दिया. योनिरस से भीगी हुई उंगली मैंने उस छिद्र में डाली तो रेनू का शरीर अकड़ सा गया.

मैंने उससे अपनी असहमति दिखाई, तो वो मुझे पलट जबरदस्ती मेरे होंठों को चूमने लगी.

फिर उसकी ब्रा को खोलकर चूचों को आज़ाद कर दिया। उसके चूचे मानो मुझे निमंत्रण दे रहे थे कि आओ शौर्य आज इन्हें दबा दबा कर इनका दूध निचोड़ डालो।ब्यूटी ने मुझसे कहा- शौर्य अब मैं तुम्हरी रंडी हुई, मुझे तृप्त कर दो मेरे सैयां जी।मैं उसकी चूचियों को चूसने लगा. तब मैंने पहली बार किसी लड़की के बूब्स को अपने मुँह में लेकर चूसा था. भाभी फिर से गर्म हो गयी थी, फिर हम 69 की अवस्था में आ गए और मैंने फिर से उनकी चूत में जीभ डाल दी.

सभी पहले से ही बुक हो चुके थे, कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या किया जाए. वह भी सिसकारी भर रही थीं और मेरे लंड को ज्यादा से ज्यादा अन्दर लेने का प्रयास कर रही थीं. भाभी चूत कहानी में आपको मजा आ रहा है ना?[emailprotected]भाभी चूत कहानी का अगला भाग:भाभी अपनी चूत चुदवाने मेरे पास आयी- 2.

तो निर्मला जी फिर से लिखा- वेलकम अमित … और अभी क्या कर रहे हो?भैंस की आंख, अब निर्मला जी ये क्यों पूछ रही थीं कि मैं क्या कर रहा हूँ!मैंने- कुछ नहीं आंटी जी, कल एक प्रपोजल देना है, उसी को बना रहा हूँ. रूम में रचना ने सभी तरफ दिए और मोमबत्तियां लगाई थीं, अलग अलग रंग की लाइट्स लगाई थीं, उसमें रचना का जिस्म और खूबसूरती से चमक रहा था.

मैंने भी लेटे-लेटे अपनी कमर को ऊपर उठाते हुए उसका मुँह चोदना चालू कर दिया. कुछ देर बाद मैंने अंकिता से कहा- अभी मसाज हो गयी है, अब चाहो तो अपनी बॉडी साफ़ कर लो. अचानक संजू नीचे से अपने कमर उचकाने लगी, मतलब उसका दूसरी बार झड़ने वाली थी.

लेकिन तब भी उसने कहा- मैं तुम्हें मना किया था न!मैं हंस दिया- हां हां मुझे सब पता है.

किसी विद्वान ने कहा है कि पुरुष को एकांत में माँ, बहन या फिर बेटी किसी के साथ नहीं रहना चाहिए क्योंकि सारी मर्यादाएं भंग हो जाती हैं. अब मैंने थोड़ा बेरुखी दिखाते हुए कहा- देखो यामिना, कहीं तुम इसलिए तो नहीं आई हो कि मैंने तुम्हारी लड़की की जॉब लगाने की बात कही है, उसका तो मैं वायदा कर चुका हूँ और उसकी जॉब मैं लगवा दूँगा, तुम उसके लिए मेरी मसाज के लिए तैयार मत होना, तुम जा सकती हो. मेरे मुंह से बस ऐसा निकल रहा था- आआह्ह आअह जानू … चाट मेरी चूत को … आअह खा जा साली को … उफ मार डाला … अम्मी आआह्ह … कैसा मर्द मिला है!वो ये सब सुनकर और जोश में आ गये और मेरी चूत को धीरे धीरे अपने दांत से काटने लगे.

वो भी मस्ती में टांगें खोल कर कमर उठाते हुए चुत चुसवाते हुए सिसिया रही थी- येस्स्स्स भैयाय्य्या ऐसे … यहीं पर और करो … आह. भाभी जोर जोर से सिसकारियां ले रही थी- आअह आआ इस्स्स्स स्शह्ह, ओह्ह दीपूउउउ … आह आह ओह ओह!थी और बोली- मैं कब से तरस रही थी इस प्यार के लिए।मैंने कहा- भाभी अब में हूँ ना आपके लिए, अब आपको कभी इस प्यार की कमी नहीं होने दूँगा।भाभी ने अपना एक हाथ नीचे लाते हुए मेरे लंड पर रख दिया और दूसरे हाथ से मेरी कमर को सहला रही थी.

इसके बाद मैं उन दोनों को अन्दर ले आई और उनको सोफे पर बैठने का बोल कर उनके लिए चाय और नाश्ता बना कर लेकर आई. शांत होने के बाद उसने पानी की टोंटी खोली और अपने हाथ में पानी लेकर मेरे हाथ को धोया. उसकी गांड मेरे लंड पर आकर सट गयी थी और लग रहा था कि जैसे वो कह रही हो- निचोड़ लो मेरे बूब्स को।वो एकदम से काफी गर्म हो गयी थी और उसके मुंह से आईई … स्स … आह्ह … जैसी आवाजें निकल रही थीं.

सेक्सी बीएफ 2028

आप सच बात बताओ कि आपको प्राब्लम क्या है?वो मेरी तरफ गुमसुम होकर देखने लगीं.

अब जो होगा सो देखा जाएगा, मां की लौड़ी खुद ही कह रही है कि इसे खसम की चिंता नहीं है … अपनी चुत में लंड की आग की चिंता है. मैं बुदबुदाता हुआ कराह रहा था- आअहह रंडी सतवंत … चूस मेरा लौड़ा आज़ा साली आअहह. मैं उसके एकदम करीब हो गयी और बोली- क्या मैं तुमको अच्छी लगती हूँ?वो बोला- हां बहुत ज़्यादा.

इतना कह कर नेहा किचन में गई और उसने एक नौकरानी के हाथ से पानी भेजा. मैंने साहिल नाम के युवक के साथ प्रेम विवाह किया था जो रिक्शा चलाकर घर का गुजारा करता था. और लड़की के साथ सेक्सी वीडियोजैसे ही लंड पिचकारी मारने लगा तो मैंने मौनी के होंठों पर होंठ लगा दिये और उसके होंठों का रस पीने लगा.

उस दिन के बाद मैं गांव चला गया और इधर सोनी अपनी शादी की तैयारी में बिजी हो गयी. सुमंत और महंत ने कभी लड़कियों के हुस्न का इस तरह दीदार नहीं किया था.

अंकल ने मुझे बिस्तर पर घुटनों के बल बैठा दिया और मुट्ठी मारनी शुरू कर दी. दोस्तो, मैं आपको बता दूं कि मेरे पापा का बिज़नेस है जिसके सिलसिले में वह बाहर ज़्यादा रहते हैं. मैं- आपको पहली बार शर्माते हुए देख रहा हूँ … क्या बात है, मैंने कुछ ग़लत कहा क्या?वो- नहीं नहीं, वो तो बस बहुत दिनों बाद किसी ने तारीफ की है जिससे मुझे ऐसा लगा.

मैं जानता था कि उसे बहुत ज्यादा तकलीफ हो रही थी … मगर वो तकलीफ कुछ समय के लिए ही थी. मेरे कदम अपने आप शैली की तरफ बढ़ गए हर कदम के साथ उसके शरीर से उठती लहर की तरह वह खुशबू मुझमें और जोश भर रही थी. लेखक की पिछली कहानी:जवान लड़की के दौरे का इलाजयह अन्तर्वासना मामी सेक्स स्टोरी तब की है जब इण्टरमीडिएट के इम्तिहान देकर दो महीने की छुट्टियां मनाने के लिए मैं अपनी ननिहाल गया.

उसके होंठों को मैं दो मिनट तक चूसता रहा और फिर उसकी चूचियों को दबाने लगा.

कभी वो दोनों अपनी बहन अर्चना की हर बात में मीन मेख निकालते थे, अभी गुलाम की तरह अनु दीदी के आदेश का अक्षरशः पालन करने लगे थे. मैं कराह उठा- ओह अदिति … आहिस्ता से चूसो … मेरे लंड में बहुत दर्द हो रहा है.

रूबी की बात सुनकर मेरा दिल तो किया कि इससे पूछ लूं कि साली तुझे प्यार की क्या जरूरत तू तो सीधे लंड चुत के मिल्न में ही भरोसा करती है. उसकी चड्डी में उसका लौड़ा पूरा गर्म होकर रॉड के जैसा सख्त हो चला था. मैंने फिर से पूछा- लग तो नहीं रहा है?वो बोले- यार कितनी बार पूछोगे? तुम पेलते रहो, मजा आ रहा है.

5’3″ की लंबाई, गोरा बदन, लंबे काले बाल, गुलाबी होंठ, नागिन जैसी बलखाती कमर, सुराहीदार गर्दन, 30″ के नए नए बाहर निकले जवान हो रहे चूचे, 26″ की पतली कमर और 32″ की गदराती गांड।जब वो सामने आती तो दिल करता कि वहीं इसे रगड़ कर चोद दूं।शादी के उस फंक्शन में वो मेरे बगल में खड़ी थी. जाते जाते उन्होंने मेरी गांड पर थप्पड़ मारा और बोले- रात को अपनी चूत और गांड चिकनी करने रखना. मैं- नहीं, अंकल अभी कहां!राजेश अंकल थोड़ा मुझसे चिपके, जिससे उनका खड़ा लंड मेरी गांड को छूने लगा.

पुरानी वाली बीएफ वो बोली- यार, तुम बहुत सीधे हो, तुम्हारे सामने मैं इतनी देर तक ऐसे ही नंगी लेटी रही और तुमने मेरे साथ कोई गलत हरकत नहीं की. अभी दो ही महीने हुए थे कि सोनल का बीबीए करने के लिए बंगलौर के एक कॉलेज में एडमिशन हो गया.

इंग्लिश पिक्चर बीएफ वीडियो एचडी

बाथरूम में चुदाई करने के बाद हम दोनों ही थोड़े थक से गए थे।हालांकि भाभी की चूत का पानी झड़वाने के चक्कर मे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था मगर उसकी हालत देख मैंने सोचा कि थोड़ा आराम करना ही बेहतर होगा।फिर हम दोनों वापस बेडरूम में आ गए और टॉवल से खुद को सुखाकर वापस नंगे ही बेड पर लेट गए। इतनी बेहतरीन चुदाई के बाद उनकी आंखों में एक खुशी साफ़ नज़र आ रही थी. पर विक्रम को कोई फर्क नहीं पड़ा और वो संजू को डॉगी पोज में चोदने लगा. मैं- चिंता ना करो भाभी … वैसे मैं प्रोफेशनल हूँ इस वक्त लॉकडाउन की वजह से इधर फंसा हूँ.

मैंने धीरे-धीरे उसका सारा योनि रस चाट लिया। जैसे ही मेरी जीभ योनिछिद्र के अन्दर जाती तो उसके नितंब स्वत ही उठ जाते थे।मैंने देखा कि योनिद्वार के नीचे एक छोटा सा छिद्र जो इस क्रिया में हल्का सा खुल जाता था. शैली की पकड़ मजे में ढीली होती जा रही थी, जिससे मैं उसके सीने से उठ कर प्रॉपर मिशनरी पोजीशन में आ गया और अब पूरी ताकत से धक्के लगाने शुरू कर दिए. वीडियो का सेक्सी वीडियो ओपनमुझे आपके प्यार भरे मेल मिले, जिसके लिए आपका राज दिल से धन्यवाद करता है.

स्नेहा ने जैसे ही चिराग की आवाज सुनी तो ब्रा उठा कर अपने स्तन पर ले ली और ब्रा ठीक से पहनते हुए बोली- तुझे इतना भी नहीं पता कि किसी लड़की के रूम में बिना नॉक किए नहीं जाना चाहिए?चिराग- ओये भूतनी … ये हमारे बीच कब से होने लगा और तेरे पास ऐसी कौन सी चीज बची है, जो मैंने नहीं देखी.

मैं- ठीक है, आप यामिना को देकर गेस्ट हाउस के रूम नंबर 1 में भेज दें. मैंने ललिता भाभी की साड़ी हटाई और ब्लाउज खोल दिया, उसने अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी.

हुआ यूं कि हमारी बैंक की ट्रेनिंग एक साथ आ गई थी और हम पहली बार ट्रेनिंग सेंटर पर मिले थे. राज ने आगे से मेरी कमर को पकड़ लिया और जय ने पीछे से हाथ डालकर मेरे बूब्स को पकड़ लिया. इसी क्रम में शामिल एक और सत्य किंतु जिंदगी भर अविस्मरणीय रचना आपको नजर कर रहा हूँ.

वसुंधरा भाभी मेरी छाती के बालों से खेल रही थीं, बार-बार मुझे चूम रही थीं, मेरे चेहरे को प्यार से सहला रही थीं.

विपिन बोला- क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं तुम चोदना शुरू करो भोसड़ी के … ज्यादा टाइम नहीं है. रुखसार- मैं ये सवारी नहीं रोकने वाली … कशिश, तू ही मेरे कपड़े उतार दे. हम पति-पत्नी दोनों इधर उधर एक हफ्ते तक हाथ पैर मारते रहे मगर रूपए नहीं मिले.

1 मई की सेक्सी वीडियोमेरे जिन दोस्तों ने अपना लौड़ा चुसवाया है, वह जानते ही होंगे कि लंड चुसवाने से बड़ी जन्नत किसी को नहीं मिल सकती. हम दोनों एक दिन जब डिनर ले रहे थे तो शेखर जी बोले- यह भूरा आपका बड़ा अहसानमंद है.

हिंदी बीएफ औरतों की

हम दोनों ऐसी सेक्सी बातें कर रहे थे और हम दोनों फिर से गर्म होने लगे थे. ये सच्चाई केवल या तो मुझे पता है या फिर मेरी बीवी को! या फिर उस आदमी को जिसकी वजह से ये सब कुछ हुआ था. ’ मैंने बोला और उनके जाने के बाद गेट बंद करके फिर से अमेज़न प्राइम देखने लगा.

लिंग खींचते समय उसकी गुदा की अंदरूनी त्वचा भी लिंग के साथ खिंचती हुई सी प्रतीत होती थी. तो भैया ने मेरा सिर पकड़ के जोर से झटके मारे, जिससे लगभग 2 इंच के तकरीबन लॉलीपॉप मेरे मुँह में घुस गया होगा. उन्होंने अपने दोनों हाथों से बेड की चादर को पकड़े हुआ था और अपनी गर्दन को ऊपर उठा रही थी.

डाक बंगला गांव से बाहर बना हुआ था जिसके आसपास के इलाके में काफी सुनसान सा पड़ा हुआ था. मैं- आपकी तो हर एक अदा ही तारीफ करने का दिल‌ करता रहता है, पर डर भी लगता है. वह मेरी आंखों में देखती जा रही थी और अठखेलियां करने के लिए पीछे सरकती जा रही थी.

मैं तुरंत चारपाई पर सीधी होकर लेट गयी और बोला- अब जल्दी से शुरू करो विपिन. मैंने अंकल से पूछा- राहुल की क्या खबर है वो कब तक आने वाला है?अंकल ने बताया कि वो आज रात की फ्लाइट से आने वाला है.

मैंने उस नौकरानी को भी कह दिया कि मेरी सिगरेट पीने वाली बात मां को नहीं पता लगनी चाहिए तो उसने भी मुस्कराकर हामी भर दी.

मैं भाभी पुसी चाटने में लगा रहा और थोड़ी ही देर में भाभी ‘ऊंह अक्की ऊम्म्म … मर गई … आंह …’ बोलती हुई मेरे मुँह पर झड़ गईं. सेक्सी 2022 हिंदीमैं अन्दर गया, तो उन्होंने मुझे पेशेवर चोदू समझ कर कहा- तुम्हें दो महिलाओं को चोदना है. औरत का सेक्सी वीडियो देहातीहमारी बातचीत शुरू हुई, तो मैंने पूछा- आप कैसी हो?भाभी ने बताया- आजकल सर में दर्द काफ़ी रहता है. मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ जमा दिए और बेदर्दी से उसकी चुत को चीर दिया.

आज भी वो माँसल नितंबों का घर्षण वैसा ही था जो किसी भी पुरूष का पुरूषत्व हिला दे।वो इठलाती हुई रसोई में चली गई.

बाहरवीं तो दोनों ने दिल्ली से ही की थी लेकिन फिर आगे की पढ़ाई के लिए उन्हें दिल्ली जाना पड़ा. ममता तो इसके लिए तैयार थी हीं … इसलिए उन्होंने भी मेरे साथ आने में कोई आपत्ति नहीं जताई. अदिति घुटनों के बल बैठ गयी और उसने तकिया का कवर निकालकर इससे अपनी चूत पौंछकर साफ कर दी.

कुछ देर बाद मैंने आँटी को नीचे उतारा और पूछा- कुछ ठीक लगा?आँटी कहने लगी- राज! ऐसा दो तीन बार कर दो. थोड़ी देर में ही उसकी चीख सी निकली- भैय्याआ अह मैं गई!उसने मुझे खुद से इतनी कसके चिपका लिया कि मैं खुद को लाचार महसूस करने लगा. उन्होंने बड़े प्यार से मुझसे बात की और रात को हम दोनों सोने चले गए.

बलिया के बीएफ

वो रुक गया और मेरे गाल चूमते हुए बोला- सोना डार्लिंग, कुछ नहीं होगा, थोड़ा सा सह लेना. अब वो अपने सख्त हाथों से मेरे मखमली बदन को मसलते हुए मेरी पीठ, कमर और मेरी उभरी हुई गांड को भी मसलने लगा. नेहा ने स्नेहा की तरफ इशारा करते हुए कहा- इनके लिए बढ़िया से बढ़िया ड्रेसेस दिखाओ … जिसमें जींस, स्कर्ट, टॉप, लेगिंग और शॉर्ट्स ब्रांडेड लेटेस्ट डिजाइन में और मेरे लिए भी.

बहुत से लड़के सेक्स के दौरान जबरदस्ती अपनी पार्टनर की गांड में या मुँह में अपना लंड ठूंस देते हैं … जो बहुत ही गलत होता है.

तभी मैं बोला- यार आज खाना तो घर में नहीं बन पाएगा क्योंकि तुमने मेरी बीवी को चोद चोद कर उसका बुरा हाल कर दिया है.

एकदम लिसलिसा रही थी उसकी चिकनी चुत … प्रीकम की बूंदें मोती सी झिलमिला रही थीं. मैं यहां पर कहानी रोक कर अपने साथी भाइयों को बताना चाहूंगा कि अगर आप औरत के साथ सेक्स में जल्दबाज़ी करेंगे तो सिर्फ आपको ही चरम सुख मिलेगा. जीजा साली सेक्सी वीडियो देसीउसने कहा- अक्की एक बार और हो जाए, पता नहीं इसके बाद मैं कब इस लंड से चुद पाऊंगी?मैंने उससे पूछा- क्या तुम इसके पहले भी चुद चुकी हो?उसने हां में जवाब देते हुए कहा- मेरे जैसी लड़कियों को कै बार अपना मतलब निकालने के लिए कई तरह के समझौते करने पड़ते हैं.

हम दोनों घर के लिए निकले, तभी शामली बोली- यार हम पीछे वाले रास्ते से चलते हैं. पापा से बात हो जाने के बाद मेरे दिमाग में फिर से एक खुराफाती आईडिया आ गया. अब वो खुद ही मेरे होंठों को काट रही थी और मेरी पीठ पर नाखून गड़ा रही थी.

मैंने डांटते हुए कहा- तुम्हें जॉब चाहिए तो चुपचाप वैसा करो जैसा मैं बोल रही हूं. मैं उठा और विक्रम के कमरे में गया, तो बड़ा ही उत्तेजक दृष्य देखने को मिला.

उसने मेरी आंखों में आंखें डालकर कहा- अच्छा, क्या पिलाओगे ऐसा?मुझे सेक्स चढ़ गया था और अब मेरा मन बस उसको चोदने के लिए कर रहा था.

अगले ही पल उसने मुंह खोला और वो मेरे लंड को अपने मुंह में गप्प से अंदर ले गई. मैं उसके पास गया, तो वो दूसरी तरफ पलट कर कंबल अपने सर तक खींच लिया. अंकल नीचे से जबरदस्त शॉट मार रहे थे और मेरी गांड का बाजा बजाए जा रहे थे.

बीपी बीपी सेक्सी एचडी लेखक की पिछली कहानी थी:सर ने मेरे दूध चूसकर मुझे दूधवाली बना दियाअब इस नई कहानी ‘सेक्स इन लव रिलेशन’ का मजा लें. रचना सातवें आसमान पर थी- बेबी रुको न … मेरा बदन इतनी कामुकता सहन नहीं कर पा रहा है.

उसने पीछे वाली सीट पर जा कर बकेट में सूसू कर की और मैं उसकी चूत से निकलने वाली आवाज को सुनकर उसे चोदने के सपने देखने लगा. इन्द्रेश अंकल लगभग रोते हुए अपने लंड को मां बहन करवा रहे थे- आह सन्ध्या भाभी, प्लीज़ थोड़ा आहिस्ता करो … मेरा लौड़ा दु:ख रहा है. उसका लण्ड मेरी नंगी गांड में दबते ही मेरे मुंह से जोर से ‘आहहह विजय!’ निकल गया.

बीएफ बढ़िया वाले

मगर शेखर जी का लंड गांड का भेदन करता हुआ अंदर घुसा ही चला जा रहा था. प्रियंका अनामिका के नजदीक जाकर उसके कान में बोली- मेरी जान, अभी तो बहुत मजा आना बाकी बचा है, तू बस जीजू के हाथों को एन्जॉय कर. वो मेरी आवाज सुनकर बाथरूम में पास आयी और देखा कि दरवाज़ा खुला है तो हल्के से दरवाज़े की ओट से मुझे देखने लगी.

मैंने उसकी दोनों हथेलियों को अपने हाथों में लिया और उसकी सिर के पीछे ले गया. उसे जगाने के बाद संगीता को अहसास हुआ कि उसकी चूचियां बिना ब्रा के कुछ ज्यादा ही हिल रही थीं.

सरिता आँटी वैसे तो पूरी तरह से चुदास से भरी हुई थी परंतु दिखाने के लिए उन्होंने मुझे जाने के लिए कह दिया.

मेरी नींद दस बजे खुली, तो मैंने देखा कि संजू अभी भी घोड़े बेच कर सो रही थी. कमरे में हमारे चुम्बनों की आवाजें आ रही थीं ‘पुच्छह … पुच्छह … च्प्प … उमम्ह च्प्प …’अब तो कोई ऐसी बात बची ही नहीं थी कि क्या होना है. वो साला उसकी कमर पर मेंढक की तरह चिपक गया था और सोनी की गोरी गोरी चिकनी जांघें नब्बे डिग्री के कोण पर फैली हुई थीं.

अब आगे जवान लड़की की सेक्सी कहानी:चिराग चाय पीकर सीधे बाथरूम में गया और नहा धोकर जल्दी से तैयार हो गया. अंकल मेरी शॉर्ट्स उतारने लगे तो मैंने फिर से रोक दिया और उन्हें अपने ऊपर खींच लिया और उनके किस करने लगी. मैं- पर … बहुत टेस्टी हैं, आज कहीं जाकर मुझे घर का खाना मिला है वरना रोज रोज होटल का खाना खाकर पेट खाली ही बना रहता था.

नीता की चूचियां अब मेरे सीने पर रगड़ने लगीं और नीचे मेरा लंड गाउन के ऊपर से चूत पर रगड़ खा रहा था.

पुरानी वाली बीएफ: थोड़ी देर बाद उसका दर्द कम हुआ, तो वो धीरे से मेरी पीठ को सहलाने लगी. अब आगे पार्क सेक्स का मजा:इसी बीच एक बार रोहण ने मुझे पकड़ कर नीचे घास पर लिटा दिया और अपना मुँह एकदम मेरे मुँह के पास ले आया.

भाभी की सहेली की चुदाई और भाभी की गांड मारने की कहानी मैं आपके लिए आगे लिखूंगा. उनके पेट की धुन्नी (नाभि) अंदर की तरफ धंसी हुई थी, मोटी मोटी गुदाज जांघें थी. उसकी चुत पर अपना मुँह मार कर पूरी तरह से चुसाई की और जब वो गांड उछालने लगी और उसकी चुत के लिप्स खुलने बंद होने लगे, तो मैंने झट से नकली लंड को उसकी चुत में एक ही झटके में डाल दिया.

रात तो भी यही प्रोग्राम चला और मैंने भाभी से बहुत सी सेक्सी बातें की.

फिर नेहा स्नेहा की तरफ देख कर बोली- मैं मोटी नहीं हूँ … बस थोड़ा शरीर भर गया है. मैंने गाड़ी की लाईट चालू ही रखी थी तो उसके उजाले में थोड़ा दूर जाकर मैं अपना लंड निकाल कर मूतने लगा. उस समय तो वो जैसे तैसे काम चला लेती थीं, पर इस बार कुछ ज्यादा समय हो गया है.