हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो

छवि स्रोत,चिनेसे वीडियो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी 49 कॉम: हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो, मेरी पिछली सेक्सी कहानीगर्लफ्रेंड की सहेली की चूत चुदाई की सेक्सी कहानीमें मैंने आपको बताया कि मैंने कैसे अपनी गर्लफ्रेंड की रूममेट को चोदा.

हिंदी सेक्सी वीडियो मेवाती

मैं शेल्फ पे झुकी हुई थी और वो मेरे कबूतरों को पकड़ के पूरी ताकत से धक्के दे रहा था।पर तभी घंटी बजी पर मैं करती क्या मेरी तो सिटी-पिटी गुम हो गई, ‘रवि पक्का तुम्हारे भैया होंगे’ पर उसे तो जैसे पहले ही सब पता था, बोला ‘पूछो कौन है’ और भाग कर बाथरूम में चलो. सेक्सी वीडियो खपाखप पिक्चरमैं भी उसे प्यार करने लगा था पर उसकी मज़बूरी को देखते हुए हमेशा उसका साथ देने का वादा किया.

मैं अन्तर्वासना में प्रकाशित हिंदी सेक्सी स्टोरी को काफ़ी समय से पढ़ रहा हूँ।मैं दिल्ली में रहता हूँ. हॉट सेक्सी मूव्हीजसबसे पहले मैं अपने बारे में बता दूँ, मैं दिखने में हैण्डसम और गोरा ऊँचे कद वाला लड़का हूँ.

मैं कोमल के ऊपर आ गया और उसके लब चूसने लगा, साथ ही साथ उसके बदन को सहला रहा था, कोमल अब मचलने लगी थी.हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो: यह हिंदी चोदा चोदी की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने भाभी के दोनों पैर एक साथ पकड़ उनके सिर की ओर कर दिए और फिर उनको उसी पोज़िशन में जम कर चोदने लगा।वो चुदाई की मस्ती में ग़ालियां देने लगीं.

र’और फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च की आवाजें!जब मेरा लंड चूत की जड़ तक जाता तो उसके चूतड़ से टकराकर आवाज़ आती पट पट… पट पट… पट पट… तो कभी फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… अह हहा हहह!अय्य… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आईईईई ईईईई, ऊऊऊ युयुयु ऊऊऊयू हाआआ अहा हह औय्या शहस हेहः ओह आह आहःवो उम्म्ह… अहह… हय… याह…ये दौर लम्बा चलना था… कोमल झड़ चुकी थी उसको अब उस अवस्था में खड़े रहना मुश्किल था.उसे देखते ही मेरा लंड और तन्ना गया। अब मेरे दिमाग में शैतान घूमने लगा… उस दिन से जब भी दीदी को अकेला देखता.

राधा की सेक्सी मूवी - हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो

अब वो भी धीरे धीरे मस्त होने लगी और जब उस का पानी निकलने का टाइम आया तो आ आ उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह आह करते हुये नीचे से धक्का मारने लगी और मैं भी जोर जोर से उसको चोदे जा रहा था.उनकी कमर भी 38 नाप की है। भाभी की हाइट 5 फुट 10 इंच है। अब आप लोग खुद ही उनके रूप का अंदाज़ा लगा लो कि वो कैसी दिखती होंगी।भाभी का रंग एकदम गोरा है और शरीर की बनावट ऐसी है जैसे हर वक्त सेक्स के लिए खड़ी रहती हों। अब मैं उस घटना पर आता हूँ, जिसके लिए मैंने इतनी भूमिका बाँधी।कुछ दिनों पहले भैया भाभी परिवार से अलग रहने चले गए। उनका बड़ा सा घर बना है। लेकिन जब से वो वहाँ शिफ्ट हुए हैं.

कहती- बेशरम हो पक्के।दोस्तो रात को 12 बजे मैं उसके रूम पे केक लेकर गया. हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो कोमल मचल रही थी, काँप रही थी, सिसकारियाँ भर रही थी- अय्य… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आईई ईई, ऊऊ युयुयु ऊऊऊयू हाआआ अहा हह उफ्फ शस हेहः ओह आह आहःकोमल मचली जोर से कांपी और शांत हो गई.

उसकी हालत देखते हुए अब मैंने झुक कर उसकी एक चूची को अपने होंठों में भरा और अपने लंड को बिल्कुल एक हल्की रफ़्तार लेकिन ज़ोर के साथ उसकी चूत के पूरे भीतर तक गाड़ दिया… बिल्कुल वैसे जैसे इंजेक्शन देते वक़्त सुई हमारे बदन में घुसती है.

हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो?

अब मैं उन्हें बहुत ज़ोर ज़ोर से फक कर रहा था और उनकी आहें तेज़ होती जा रही थी. तो उन्होंने मेरे होंठ को थोड़ा काट लिया। मैं उन्हें धीरे-धीरे चोद रहा था. रमा टेबल पर अपनी मोटी मोटी छातियों के बल पर लेट गई, उसका दिल इस समय इतनी ज़ोर से धड़क रहा था कि वो सांस भी ढंग से नहीं ले पा रही थी।‘बेटी हम तुम्हारी शुद्धि करने जा रहे हैं इस पवित्र जैतून के तेल को तुम्हारे बदन पर लगा कर थोड़ी ऊपर उठो ताकि इस अपवित्र वस्त्र को हम हटा सकें!’ गुरु जी ने नर्म आवाज़ में कहा.

क्या नज़ारा था बिल्कुल साफ चूत, कोई भी बाल नहीं जैसे अभी सफाई करके आई हो और पारदर्शी पेंटी में क्या मस्त नज़ारा था. फिर मैंने चूत चाटना शुरू किया और दीदी के झड़ने के बाद उनका सारा रस पी गया।फिर हम दोनों थोड़ी देर के लिए लेट गए और एक दूसरे को गर्म करने लगे।थोड़ी देर में मेरा लंड फिर से तन गया और दीदी ने कहा- पहली बार सेक्स करने पर दर्द होता है लेकिन बाद में बहुत मजा आता है इसलिए मैं कितना भी चिल्लाऊँ, आप पूरा लंड अंदर कर देना! मैंने कहा- ठीक है. ’ गुरु जी ने रमा की टांगें खोली और खुद उसकी टांगों के बीच आते हुए बोले- रमा, मेरी तो बड़ी इच्छा थी तुम्हारी इस चूत का रसपान करूँ पर ये लिंग में लगी आग पहले शांत करनी होगी!रमा कुछ नहीं बोली बस लेटी रही… उसके हाथ बंधे थे और वो कुछ कर भी नहीं सकती थी.

डंडा पूरा अंदर नहीं जा रहा था तो भाबी बोली- जरा ताकत से जोर जोर से कर न!तो मैंने भी स्पीड बढ़ा दी, थोड़ी देर मैं पाइप से एक छोटी बॉल शायद उनके बेटे की थी और एक कंडोम निकला जो कचरे से भरा था. आप सभी का मेरी कहानियों को और मुझे दिए गए प्यार का शुक्रिया, आशा है यह कहानी भी आप सबको पसंद आएगी. ’ बोला।हम लोग ऐसे ही बात करते-करते सेक्स की बातें करने लगे।फिर एक दिन ऐसा आया कि उसने मुझे अपने घर बुलाया क्योंकि उसका पति अक्सर बाहर ही रहता था। उस दिन जब मैं उसके घर गया तो वो एक सोफे पर बड़ी मादक अंदाज में बैठी थी। इस तरह बैठे हुए वो एकदम स्वर्ग की अप्सरा सी लग रही थी। क्या मस्त ड्रेस पहन रखी थी उसने.

फिर मैंने उसके पैर कंधों पर लिए और उसकी चूत में लंड डाला तो लंड फिसल गया, उसने अपने हाथ से लंड चूत पे लगाया, मैंने एक जोरदार शॉट मारा तो हम दोनों की चीख निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’उसकी दर्द के मारे और मेरे लंड की चमड़ी छिल गई!मैं धीरे धीरे उसे चोदने लगा, वो आह… आह… कर रही थी. ‘मत करो न… प्लीज!’ मैंने उसे फिर से रिक्वेस्ट की और थोड़ी देर और उसके लिंग को मसला.

इस बार तो उनकी चीख निकलते निकलते ही बची उम्म्ह… अहह… हय… याह… और वो दर्द से कराहने लगी.

अकेली है क्या??गगन- हाँ इसलिए तो तुझे बोलने आया हूँ कि जा देख ले नज़ारा।मैं- नहीं दोस्त.

जब मेरा होने को हुआ तो मैंने उससे कहा कि मेरा होने वाला है तो उसे और जोश आ गया, उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी. साथ ही लंड से उसकी गांड का मजा लेने लगा।उसे पता चल गया था कि मैं क्या कर रहा हूँ. मुझे पता है।मेरे मन में पता नहीं उस टाइम कितनी ख़ुशी थी।मैंने उसका नम्बर माँगा तो उसने बोला- मेरे पास मोबाइल नहीं है।मैंने उसे अपना नम्बर दे दिया।कुछ दिन तक हम दोनों कभी-कभी उसके पापा के मोबाइल से बात करते रहे।फिर मैंने उससे पूछा- कब मिल रही हो?उसने बोला- कुछ दिन में बताती हूँ।मैंने ‘ठीक है बाय.

माँ मर गई…’पर नशे में चूर बापू पर मेरी चीखों का कोई असर नहीं हुआ, उन्होंने एक और ज़ोर का धक्का दिया और मेरी चूत मूसल लंड से भर गई ‘आई… मर गई बापू मर जाऊँगी मैं… निकालो बाहर… बापू बापू…’पर बापू ने बिना कुछ कहे ही एक और झटका दिया. मैं इससे बात करके आती हूँ।फिर शालू और जीजा जी निकल गए।अब आंटी बोलीं- हाँ तो राहुल अब तू मुझे पूरी बात बता. मुझे रोते रोते अहसास हुआ कि मैं सुधीर के सीने से बहुत देर से चिपकी हुई हूँ.

मैडम मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर उस पर से आइसक्रीम चूसने लगी थी.

मेरी कमसिन चूत और लेस्बीयन लड़कियाँ हॉस्टल में-1अब तक आपने मेरी इस सेक्स स्टोरी में पढ़ा था कि मैं एक गर्ल्स होस्टल में पहली बार गई थी और ऊषा दीदी ने मेरी छोटी छोटी चुची चूस कर मुझे लेस्बीयन वासना की आग में धकेल दिया था।अब आगे. मेरे दो बड़े भाई हैं जिनमें से एक की शादी हो चुकी है और दूसरा बंगलौर में जॉब कर रहा था. वो आगे-आगे थीं, मैं पीछे-पीछे उनकी गांड में नजरें गड़ाए चल रहा था।मेरा सारा ध्यान उकी मटकती गांड में ही था। एक-दो बार मैंने टच करने की कोशिश भी की, लेकिन उन्होंने दूरी बना ली।जब वो मुझे अपना बाथरूम दिखाने ले गईं.

बस उससे बहन की तरह ही बुलाता रहता था। निशा घर के काम-काज में बहुत तेज है. लेकिन मुझे मालूम नहीं था कि बड़े होकर हम बहुत बड़े गेम्स भी खेलेंगे। वो बहुत आकर्षक है. लेकिन कुछ देर बाद मैं पेशाब करने उठा तो मैंने देखा कि वो जाग रही थी।तो मैंने पूछा- नीनू क्यों जाग रही हो?वो बोली- भैया मुझे डर लग रहा है कि वापिस काकरोच ना आ जाए।मैंने कहा- कोई बात नहीं.

और क्या बताऊँ कि सुनीता क्या गदर माल लग रही थी।मेरा लंड तो जीन्स के अन्दर से तंबू के बम्बू की तरह खड़ा हो गया। सुनीता का पूरा बदन एकदम गोरा था और उसके चूचे इतने रसीले थे कि मेरा जी कर रहा था कि अजीत को हटा कर सुनीता की चूचियों का सारा रस पी जाऊँ।फिर नीचे देखा तो उसकी चुत भी इतनी गुलाबी थी.

वो थोड़ी देर में चेंज कर के आई तो उसको देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया, वो एक लाल रंग की नाईटी में जो उसके घुटनों के ऊपर तक थी, पहन कर आई थी, मेरे बगल में बैठ गई, बोली- क्या देख रहे हो?मैं बोला- बहुत सेक्सी लग रही हो तुम!बोली- बस देखना ही है क्या?और एक सेक्सी मुस्कान के साथ आँख मार दी. उसने मुझे आसानी से उठाया और उसका मुँह मेरे फेस के सामने लाया और गालों पर और नेक पर किस करने लगा.

हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो मैं समझ गया था कि वो झड़ने वाली है, मैंने उनकी चूत के अन्दर अपनी जीभ डाल दी और चूसने लगा. आप बस कल्पना कर सकते हैं।मैं उसके साथ नीचे आ गया और मैं उसकी कमर में हाथ डाल कर चलने लगा। हम दोनों सी-बीच पर आ गए, शाम का टाइम होने के कारण वहाँ बहुत भीड़ थी। सुरभि भीड़ के पास बैठने को बोली.

हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो कर दूँगा।फिर मैंने उसे बाइक पर बिठा लिया। वो दोनों तरफ टांगें करके बाइक पर बैठ गई। मैं सिर्फ़ बाइक चला रहा था, अचानक मेरी बाइक के आगे से एक कुत्ता निकला. जिससे थोड़ी परेशानी हो रही थी। तभी मैंने महसूस किया कि उसका हाथ मेरे लंड पर आ रहा है तो मैंने भी झट से अपने कपड़े निकाल दिए।मेरा 7 इंच का मोटा लंड देख कर वो बोली- इतना टाइट लंड.

और मुदस्सर तू इतनी रात होटल मत जाना हमारे घर ही रुक जा आज!’उसने हाँ कर दी हम लोग वहाँ से निकल गए.

लड़कियों की नंगी फोटो वीडियो

कि फटाक से उनकी चैन खोलकर उसका आइटम देख लिया।उसका खड़ा लंड मुझे बहुत पसन्द आया और तुरंत ही उसको बाहर निकाल लिया। एकदम कड़क. पर यहाँ कोई देख लेगा।मैंने उससे बोला- इतनी रात को कौन जग रहा होगा।मैंने आस-पास की छतों और रेलिंग पर देखा और बोला- कहीं कोई नहीं है।मैं चालू हो गया और उसकी चुची को जोर-जोर से मसलने लगा। उसकी गांड की दरार में अपना लंड डालने की कोशिश करता रहा. उसके बाद मैंने काफी देर तक अपनी बहन को प्यार किया, उसके नंगे बदन को चूमा चाटा.

’वो शॉक्ड रह गईं फिर बोलीं- मैं तो मोटी और बूढ़ी होने वाली हूँ?तो मैंने कहा- क्यूँ मज़ाक करती हो यार. तो उसे दर्द हो रहा था। उसने मना कर दिया कि बहुत दर्द हो रहा है।मैंने थोड़ी देर के लिए अपना लौड़ा निकाल लिया. इधर मुझे अच्छा नहीं लग रहा है।उसकी इस बात से मुझे समझ में आ गया कि ये घर पर चुदने की बात कर रही है।मैंने हँस कर पूछा- अभी चलूं?तो बोली- अभी नहीं.

अपनी बहन के चूचे तो मसल दे… जल्दी मसल साले दबा-दबा कर इनको लाल कर दे मेरे बहनचोद भाई हाँन्न् ऐसे ही दबा इन्हें कुत्ते राहुल.

आयुषी मुझे अपनी नंगी वीडियो और चूत चुची की फोटो भेजती रहती है मैं भी उसे अपने लंड की फोटो भेजता रहता हूँ. मैंने रीना को रम का एक पेग कोल्ड ड्रिंक मिला कर हाथ में दिया और कहा- इसको पीकर देखो, मज़ा आएगा, बहुत अच्छा ड्रिंक है. थोड़ी देर चूसने के बाद मेरा लंड एकदम कड़क और लाल हो गया, फिर मैंने उस पर कंडोम चढ़ाया.

सुबह हमने साथ नाश्ता किया और उसने मुझे बस स्टॉप पे छोड़ दिया, उसके बाद वो अपनी ड्यूटी पर चला गया. तुम लोगो को भी चोदना है भूमिका को?सबने कहा- हाँ।‘तो जैसा मैं बोलता हूं वैसा करना तभी हम लोग भूमि का गैंगबैंग कर पाएंगे. मराठी मुलगी की प्यासी चूत में लंड की सेक्सी कहानी-2हम दोनों बात करते हुए एक दूसरे के बदन को सहला रहे थे! जिस्म दोनों के निर्वस्त्र थे हम दोनों के भीतर नई ऊर्जा का संचार हो चुका था, अब मेरी बारी थी.

अब अपने लंबे और मोटे लंड को मेरी गीली तड़पती चूत में सीधे डाल दो।उसने अपने पूरे कपड़े उतार दिए, हम दोनों नंगे हो चुके थे।उससे रहा नहीं गया और इधर मैं भी उसके मूसल लंड को देखकर पागल हो गई थी।वो अपना लंड मेरे मुँह के पास लाया. मैंने ठान ली कि जब तक भाभी खुद तड़प कर मुझसे चूत चाटने को ना बोले, मैं उनकी चूत नहीं चाटूंगा और मैंने वैसा ही किया.

मनजीत- इसमें सोचना क्या है, आप अकेली नहीं है जो हमारे साथ कर रही हैं कोलकाता में बहुत सी कॉलेज गर्ल, ऑफिस गर्ल या हाउस वाइफ हम से जुड़ी हुई हैं, उतना तो छोड़िये, बहुत सी मॉडल भी हमसे जुड़ी हुई हैं, किसी को कोई प्राब्लम हुई है क्या आज तक?मैं- कोई जान पहचान वाला मिल गया तो?मनजीत- उसके लिए आप टेंशन मत लो, हमारे ज्यादातर कस्टमर इंडिया के बाहर के होते हैं, 20% ही इंडियन होते हैं. मेरी उम्र 21 साल है मेरी हाइट 5’11” है और लड़कियां कहती हैं कि मैं हैंडसम भी बहुत हूँ. क्योंकि आंटी की चुत पर बाल बहुत थे। मन मार कर मैंने अपना काम चालू कर दिया और अपनी जीभ से उनकी चुत को चोदने लगा।वो भी मेरे लंड को चूस रही थीं और मस्ती में अपनी चुत को मेरे मुँह पर दबा रही थीं।कुछ देर में हम दोनों अलग हुए।आंटी बोलीं- राहुल.

कोई प्राब्लम नहीं होगी।सच कहूँ मैं इस बात से बहुत खुश हुई थी, मैं सोच रही थी कि अभी अपने कपड़े उतार दूँ और मेरे स्तनों को मीता के मुँह में भर के कहूँ कि ले खाले।तभी दरवाज़े पर खट-खट की आवाज़ हुई तो मुझे लगा मेरे सपनों में पानी फिर गया है। लेकिन दरवाज़ा खोला तो देखा कि उषा दीदी और मिनी दीदी खड़ी हैं।मिनी दीदी बहुत सेक्सी हैं, मेरी जैसी ही उनका बदन स्लिम है.

अपना पानी मेरी चूत में ही छोड़ दे। मैं तेरा बच्चा पैदा करूँगी।फिर मैं दीदी की चूत में ही झड़ गया।मैं थोड़ी देर तक दीदी के ही ऊपर लेटा रहा।फिर हम दोनों उठे. मैंने देखा कि उन्होंने स्लीवलेस ब्लाउज पहना था, मैंने देखा उनकी क्लीवेज दिख रही थी. और ज़ोर से चूस… मुझे मालूम है तू कितनी इस लंड की दीवानी है, चूस… चूस साली रांड… चूस!और तभी भाभी के लंड चूसने की आवाज़ और तेज़ हो गई.

तुम्हारे दुग्ध कलशों के मुख पर उत्तेजित चूचुकों को जब मैंने अपने बदन को छुआया, जैसे उन्हें एक सशक्त स्पर्श की आस थी… जैसे वे स्वयं पर मेरी उंगलियों का दबाव पाना चाहते थे… तुम्हारी ब्रा और उस पर तुम्हारी कुर्ती के बावजूद भी उनका उभार मुझे उन्हें छू लेने को बाध्य कर रहा था. अब चोद दो मुझे!मैंने भी देर ना करते हुए उसकी चुत पर अपना लंड रखा और रगड़ने लगा।‘आ.

बस सर नीचे करके खाना खाता रहा।कुछ देर बाद लकी, उसका दोस्त और मैं बियर पीने के लिए एकांत में चले गए।जब हम बियर पीकर वापिस आ रहे थे, तो वो लड़की अपनी एक सहेली के साथ अचानक मेरे सामने आ गई। वो सिर्फ मुझे देख रही थी. नहीं तो अपनी उंगली से ही काम चलाना पड़ता था।मैंने उनको बोला- आप का तो हो गया. वो तो पागल हो गई थी… ऐसा लग रहा था!मैंने भी उसकी गुलाबी चुत को लाल कर दिया था चूस चूस कर… उम्म्ह… अहह… हय… याह… वो पागल होकर मेरे बाल पकड़ कर मेरे सर को अपने चुत में डालने लगी और पागलों की तरह दबाने लगी.

सेक्सी बीपी वीडियो फिल्म

मुझसे अब अपने आप पर काबू नहीं हुआ और मैं जोर से अपनी कमर को हिलाते हुए संगीता भाभी के मुँह में ही अपना वीर्य उगलने लगा.

अब मैं उठा और कोमल के पास को आ गया। मैंने उसकी टी-शर्ट पर लगे दाग को छूकर पूछा- ये कैसे लग गया?मेरी उंगली उसके निप्पलों पर थी। मैं जानता था कि उसका भी मन यही करने का है शायद इसीलिए उसने मेरी उंगली को अपने निप्पल से नहीं हटाई थी और वो मुझे प्यार से देखे जा रही थी।उसका ये रुख देख कर मैंने उसकी टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाल दिया. मुझे क्या छिनाल समझता है?मैंने उसके गुस्से को दरकिनार करते हुए पूछा- मे आई डिज़र्व फॉर यू?वो घमंड से भर कर बोली- साले तू अपनी औकात देख. ‘उसने मुझे पीछे से जोर से पकड़ लिया और मेरे कान में बोला- बहुत बड़ा आर्डर मिला है, मुझे दिल्ली जाना पड़ेगा.

तो दोस्तो, चलिए मेरी और दिव्या की गर्म चुदाई पे!दिव्या ने एक अलग कमरा लिया था और जैसा उसने वायदा किया था, एक चाबी मुझे दी. पिछले साल मैं दिल्ली में जॉब कर रहा था तो वहाँ मेरी मुलाकात एक ऐसी हसीन परी से हुई, जिसका नाम कोमल था। वो पंजाबन थी और आपको तो पता ही है कि पंजाबी लड़कियां कैसी कड़क और एकदम माल जैसी दिखती हैं। कोमल भी एक ऐसी ही हसीना थी, जो उसे एक बार देख लेता. हिंदी सॉंग सेक्सीफिर तो मुझे और मजा आने लगा, चाची ‘आआ ऊऊ आआआ चोद चोद और चोद…’ बोल बोल कर चुदवा रही थी.

जरा दे दीजिएगा।मैंने दरवाजा खोला और उससे कहा- गोलू, तू खुद जाकर ढूँढ़ ले और ले जा।वो छत पर गया और बॉल खोजने लगा। पर शायद बॉल कहीं घुस गई थी और मिल नहीं रही थी। वो मेरे पास आकर बोला- भैया बॉल नहीं मिली।वो चला गया।मैंने जाकर देखी और उसकी बॉल को खोजा. और थोड़ी देर बाद वो भी झड़ गया।हम एक-दूसरे के साथ काफ़ी देर तक पड़े रहे.

वो भी मेरा साथ देने लगीं। करीब दो मिनट तक हम दोनों ऐसे ही एक-दूसरे में खोए हुए रहे। फिर मैंने उनके मम्मों को सहलाना शुरू किया। भाभी ने भी मेरा साथ देते हुए अपनी टी-शर्ट उतार दी। उन्होंने पिंक ब्रा पहनी थी. तो दोस्तो, कैसी लगी आपको यह चूत में लंड की सेक्सी कहानी… अपने विचार कहानी से सम्बंधित, अपने अनुभव से सम्बंधित, मेरे ईमेल पर जरूर भेजना. ’ कहा।मैंने कहा- जान, तेरा तो हो गया पर मैं तो अभी बाकी हूँ।बस इतना कहते है शीनम तुरन्त घोड़ी बन गई और उसकी गद्देदार गांड देख कर तो मेरा मन हुआ कि बस उसकी गांड ही मार लूँ। लेकिन आज पहली बार का मिलन था.

मेरी मॉम का प्रेमी आया, दोनों रूम में आए, कपड़े उतारे और चालू हो गए. सुबह हमने साथ नाश्ता किया और उसने मुझे बस स्टॉप पे छोड़ दिया, उसके बाद वो अपनी ड्यूटी पर चला गया. मैंने पूछा- तुम क्यूँ कपड़े पहन रही हो?तो वो कहने लगी- मैं नेहा के सामने नंगी नहीं रहूंगी.

मेरा नाम शिवानी (बदला हुआ नाम) है, मेरा 34-30-36 का साइज़ बड़ा ही मादक है। मैं मथुरा से हूँ… अपने बारे में मैं ज्यादा तो नहीं कहती, पर हाँ इतना जरूर कहूँगी कि जो लड़का एक बार मुझे देख ले.

मजा आ गया… स्वाति की दोनों चूचियां ऐसे उछल कर ब्रा से बाहर आई जैसे उन्हें कैद से मुक्ति मिली हो!स्वाति के निप्पल के घेरे ज्यादा बड़े नहीं थे और उसके निप्पल भूरे रंग के थे. ‘ओह…’ हाथ की गर्माहट पा मेरा लंड और जोश में आ गया।‘ओओओओ राज… कितना अच्छा लग रहा है!’ कहकर मेरी बहन अपनी उंगलियाँ मेरे लंड के ऊपर से नीचे फिराने लगी.

उसके बाद मेरा पढ़ाई में ध्यान नहीं रहा और अपनी बहन के बड़े बूब्स देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया. !और मैंने भी देर ना करते हुए एक ही झटके में अपना पूरा लंड उसकी गुलाबी चुत में उतार दिया।वो थोड़ा सा चिल्लाई भी. पर वो चोदू अभी भी चोद रहा था। कुछ देर बाद उसने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और मुझे चोदता रहा।कई मिनट की लगातार चुदाई के बाद उसने कहा- बोल.

वो आगे-आगे थीं, मैं पीछे-पीछे उनकी गांड में नजरें गड़ाए चल रहा था।मेरा सारा ध्यान उकी मटकती गांड में ही था। एक-दो बार मैंने टच करने की कोशिश भी की, लेकिन उन्होंने दूरी बना ली।जब वो मुझे अपना बाथरूम दिखाने ले गईं. मैंने कहा- ठीक है!तभी पीछे से उसने मेरी पीठ पर हाथ फेरना शुरू कर दिया, मैं समझा कि मजाक कर रही है. वो वॉक से लौटेगी और मैं उसके ड्रिंक में 25 एमजी मिक्स करके रखूँगा। बस फिर प्रोग्राम स्टार्ट होने के बाद मैं खुद अपना ड्रिंक ले लूँगा, जो कि मैंने बना के फ्रिज में रख दिया था।मैडम आईं.

हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो लेकिन इतनी देर से चल रहे इस खेल को अब अपने मंज़िल तक पहुँचाना बहुत ज़रूरी था. जब तुम पी करके मुझे चूमते हो।मैंने कहा- सब छोड़ दूँगा!हम दोनों एक-दूसरे को चूमते रहे, फिर मैंने उसकी टी-शर्ट ऊपर करना चाही, तो कहने लगी- अब शुरू मत हो जाना।मैंने कहा- रुका ही नहीं जा रहा है।मैंने उसकी टी-शर्ट को ऊपर करके ब्रा पर से उसे चूमना शुरू कर दिया।मैंने कहा- आई लाइक योर दिस ब्रा.

चूत में लंड घुसते हुए

जो मुझे मदहोश कर रही थी।मैंने आंटी को बिस्तर पर लिटाया और उनकी चुत को चाटने लगा। आंटी की चुत में मैं अपनी जीभ डाल कर घुमाने लगा और उनकी चुत के दाने को अपने होंठों और दाँतों में लेकर खींचते हुए काटने लगा। आंटी की चुत ने आन्दोलन शुरू कर दिया और आंटी सेक्स से पागल हो कर मेरे सिर को अपनी चुत में दबाने लगीं।वो बोलने लगीं- अह. नताशा जानती थी कि उसका पति कितना कामुक व्यक्ति है और उसने मेरा लंड चूसते हुए नर्म जीभ के साथ-2 अपने तीखे दांतों को भी मेरे लंड से मिलाना शुरू कर दिया. करीब दस मिनट तक गले लगा कर रखा क्योंकि उसके दूध मेरी छाती से टच हो रहे थे तो मैं उस रगड़ का पूरा मजा लेना चाहता था।फिर मैंने उसे अपने हाथ से पानी पिलाया.

इसे नियंत्रण में लेने के लिए हम कई बार अप्राकृतिक संसाधनों का उपयोग एवं अपने ही बदन के प्रत्यंगों की उत्तेजनाओं से खेलते हैं परन्तु इतना साहस नहीं जुटा पाते कि हम किसी ऐसे हमसफ़र को तलाशें जो हमारी इन अनियंत्रित भावनाओं के तूफ़ान को अपने में समेट ले. मेरी बहन की चूत गीली होने लगी।फिर वैभव ने भूमिका की दोनों टाँगें अपने कंधे पर रखीं और उसकी टाइट चूत में अपना लंड घुसाने लगा। भूमिका कामुकता भरी आवाज़ में ‘हम्म हम्म. हॉलीवुड की फुल सेक्सीजैसे ही मेरी उंगलियों ने उसकी चूत के अन्दरूनी हिस्सों को सहलाया, वो सिहर उठी.

अह्ह सच में मुदस्सर, तेरे मोटे तगड़े लंड ने तो मेरी गांड खोल ही डाली.

फिर मैं अपने कुछ दोस्तों से मिला और अपना काम खत्म करके मैं घर आ गया। फिर भाभी, मैंने और ताऊजी-ताइजी ने डिनर किया और फिर मैं ऊपर और ताऊजी-ताइजी नीचे चले गए। मैं टीवी देख रहा था, तभी भाभी का मैसेज आया कि वो बहुत बोर हो रही हैं. वो मुझे ज़बरदस्ती निकालने लगी। मैंने कपड़े पहने उसको चूमा और चला गया।फिर उसकी विंडो के पास आकर देखा वो अपनी बहन से बात कर रही थी।अगले दिन मॉर्निंग में हम दोनों उसकी कार में ऊटी के लिए निकल पड़े।वो काले रंग की साड़ी में थी.

अपनी पूरी लम्बाई और मोटाई वाले लंड के साथ। उसके सामने ऐसी खूबसूरती की मल्लिका खड़ी थी जिसका कोई मुकाबला नहीं था।मैं अपनी लुल्ली को जो कि इस वक्त किसी छोटे से बच्चे के जैसी दिख रही थी। सच ही तो है उस मूसल वाले लंड के सामने मैं खुद को काफ़ी हीन महसूस कर रहा था। मेरा प्लान पलट चुका था. नहीं तो वो नाराज होगी।ऐसा मैंने आंटी से इसलिए कहा था क्योंकि जब मैं उनके यहाँ नाश्ते के लिए गया था और मैंने उनके दूध देखे थे. ’ रमा बोली।रमा ने उसे वहीं खड़ा रहने को कहा और अपने कमरे से अपने पति का एक कच्छा ले आई और राहुल को देते हुए बोली- ले पहन ले इसे!राहुल ने भी बिना किसी शर्म के निक्कर रमा के सामने ही उतार दी और उसका तनतनाता लंड रमा को सलामी देने लगा.

मैं पहले उनकी चूचियों को पकड़ कर सहलाने लगा तो वो बोलीं- सिर्फ चाटने की परमिशन है!मैं बोला- फ्री में तो ये भी पकड़े जाते हैं.

सोचते सोचते रात के 1 बजे गये, दीपक हमारे कमरे में आ गया और मुझे बुलाने लगा. दिव्या अभी भी मुझसे बात नहीं कर रही थी।मैंने सोच लिया था कि आज तो इसे ऐसे ही जाने नहीं दूँगा।मैंने दिव्या से कहा- तुम मुझसे बात क्यों नहीं कर रही हो?तो उसने कहा- मेरा मन नहीं है। मैं फालतू लोगों से बात नहीं करती।तभी मैंने खाने को छोड़ दिया और कहा- ले जाओ खाना. कि तुम मेरा भरोसा नहीं तोड़ोगे।मैंने कहा- मुश्किल से कंट्रोल किया मैंने!इस पर वो हँसने लगी और बोली- कंट्रोल करो.

सेक्स ब्लू सेक्सी हिंदीमेरी बहन की चूत एकदम गरम थी, मैं उसकी चूत को धीरे धीरे सहलाने लगा, उसे मजा आ रहा था, वह सिसकारियाँ भरने लगी थी. पत्नी हूँ तुम्हारी मैं!’‘पत्नी को गई मर्द से चुदते हुए देखना एक फैंटेसी ही है.

एक्स एक्स व्हिडीओ एक्स एक्स व्हिडीओ

मैं वीरेन्द्र 24 साल का युवक हूँ और एक मल्टीनेशनल कम्पनी में काम करता हूँ। मेरी रिपोर्टिंग बॉस एक बहुत ही खूबसूरत लेडी है. पर मैं समझ गया। फिर रात में जब वो सो गई, तो मैंने अपना लैपटॉप निकाला और सेक्सी फिल्म देखने लगा। मेरा लंड बहुत मुठ मार कर परेशान हो चुका था. मैंने उसको अपने पास बुलाया और कुर्सी पर बैठे बैठे ही उसको लंड पर बैठने के लिए कहा, उसने जैसे ही बैठना चाहा, उसकी चीख निकल गई क्योंकि मेरा लंड मोटा और लम्बा है, अब वो उठी और नारियल तेल का डिब्बा ले आई, काफी सारा तेल उसने मेरे लंड और अपनी चूत पर लगाया और दोबारा चुदाई करने के लिए तैयार हो गई, अब धीरे धीरे उसने लंड पर बैठना चालू किया.

आज तुमने सही मायने में मुझे चोदा है। जितना तुमसे चुदवाने में आ रहा है. और शायद चाची ने मुझे उन्हें देखते हुए देख लिया था।फिर अचानक चाची के हाथों से चादर छूट गई और ऊपर को रखी पानी की बाल्टी पर ठोकर लगने के कारण पानी चाची के ऊपर गिर गया. उसे बहुत अच्छा फील हो रहा था, बोली- और करिये मिंटू!मैंने भी और जोर लगा कर उसकी कमर से उसकी गांड की मालिश शुरू कर दी.

मेरे रोकने की कोशिश के बाद तो उन्होंने रुकने की बजाय अपनी हरकत को और भी अधिक तेज कर दिया… अपने होंठों व जीभ के साथ साथ वो अब अपने हाथ से भी मेरे लंड को ऊपर नीचे हिलाने लगी. अब उसकी हाफ ब्रा कंधे से नीचे सरक गई थी जिसकी वजह से उसकी चुची बाहर निकल आई थी. तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी कहानी? मुझे मेल करें…[emailprotected].

लेकिन बहुत ही सॉफ्ट और तनी हुई हैं।आंटी की गांड तो बहुत ही मटकने वाली व लचीली है. दो-दो लड़कों के वीर्य से चिपचिपे हो चुके मेरी पत्नी के मुंह में घुसते ही मेरा लंड उत्तेजना के आधिक्य में टनटना कर नताशा की जीभ से टक्करें मारने लगा और कमरे में चपड़-2 की वासना से भरपूर अवाजें गूंजने लगी.

मुझे दर्द हो रहा है।तब मुझे पता चला कि भाभी के पति का लंड छोटा और मरघिल्ला सा है.

फिर भी चिपटा था पूरी ताकत से… जोर लगा रहा था… जाने कब से चुदाई का मौका नहीं मिला था, इस अवसर का पूरा मजा लेना चाहता था. सील तोड़ सेक्सी वीडियो हिंदीगांड के थोड़ा ऊपर धीरे-धीरे मसला तो भाभी को मजा आने लगा।अब मैंने जानबूझ कर थोड़ा तेल भाभी की गांड के छेद में डाल दिया तो भाभी एकदम से चिहुंक गई. मौका सेक्सीअब मेरी कजिन सिस्टर से रहा नहीं जा रहा था… ना ही मुझसे!मैंने धीरे से अपना पेनिस उनकी पूस्सी पे रगड़ा और अंदर डालने लगा. अब मैंने उसे औंधा कर दिया, उसके ऊपर चढ़ बैठा, उसने अपनी टांगें चौड़ी कर ली… पूरा लंड अंदर जाते ही वह गांड चलाने लगा, बार बार कसी ढीली कर रहा था, चूतड़ उचका रहा था.

पर मैंने उसके होंठ बंद कर रखे थे। मैं भाभी की चुची दबाता रहा, जिससे उसको मजा आने लगा और वो मेरा पूरा साथ देने लगी। भाभी नीचे से अपनी गांड को भी हिलाने लगी।अभी भी उसका कमर दर्द था.

मैंने आज तक तेरे अंकल से भी पीछे से नहीं डलवाया और फिर तेरा तो घोड़े जैसा है. मैं अभी यही सोच रहा था कि वो वापस आ गई और मेरे पास आकर बोलने लगी- ये सब गलत है. जब पहली बार देखा तो देखता ही रह गया, उसने पंजाबी सूट पहना था, और पंजाबन तो होती ही हॉट है.

अचानक एक दिन मुझे चाची ने बुलाया और कहा कि उनको बाहर जाना है और मैं उनको लेकर चलूँ!मैंने हामी भर दी. परन्तु उन्होंने कुछ नहीं बताया और बाद में भाई को ढूँढ कर चिल्ला दिया और इस तरह भाई की बारी आ गई।अब भाई दूर खड़ा हो गया और उसने अपनी आँखों पर हाथ रख लिए। मामा ने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे खेतों में बने एक झोपड़े में ले गए और मेरे पीछे खड़े हो गए। मैंने वहाँ से बहुत छूटने की कोशिश की. उसके चूमते ही सांप में हल्की सी हरकत हुई ‘उई माँ काटता है…’ रमा चिल्ला उठी.

सेक्सी वीडियो नंगा नंगा

मैंने मुंह हटा कर पूछा- कैसा लग रहा है?तो वो बोलीं- बहुत अच्छा!मैंने बोला- क्या मुझे भी और अच्छा लगवा सकती हैं आप?वो बोलीं- चुदाई नहीं… और कुछ बताओ, जो मैं तुम्हें भी अच्छा लगवा दूँ?मैंने कहा- मेरा लंड थोड़ा-2 खड़ा होना शुरू हो गया है, इसे आप लोलीपोप समझ कर चूस दो!मैंने अपनी पैंट को उतार दिया. और मुझे बाहर तक छोड़ने आई। मैं अगले दिन आकर भाभी की चुदाई करने का वादा करके अपने घर चला गया।तो दोस्तो यह मेरी भाभी की चुदाई की सच्ची कहानी आपको कैसी लगी. ’ राहुल ने अपने फूलते हुए लौड़े को घूरते हुए कहा।4-5 मिनट में ही राहुल का लंड 10 इंच का तम्बूरा बन चुका था और बड़ी मुश्किल से ही शेफाली मुट्ठी में आ पा रहा था.

मराठी मुलगी की प्यासी चूत में लंड की सेक्सी कहानी-3हम दोनों का दिल अभी भरा नहीं था.

मेरा कोई दोस्त मेरी पत्नी को बेहद जोर से चोद रहा हो!‘अमिता हम लोग हाई सोसाइटी में रहते हैं.

मुझे संदीप की फ़िक्र हो रही है। मैं तुम दोनों को बहुत चाहती हूँ, पर अभी कुछ भी नहीं कर पाऊँगी।तो मैंने भी यही सही समझा क्योंकि मैं भी संदीप के बारे में इतना ही इमोशनल था।तो मैंने उनसे कहा- हाँ आप सही कह रही हो। अभी तो मैं उसे सुला कर आया हूँ. देर रात में मेरी नींद खुली तो मैंने देखा मेरे ऊपर कोई हाथ रखा हुआ है. xxx.com सेक्सी वीडियो बीपीमैं भी उसे प्यार करने लगा था पर उसकी मज़बूरी को देखते हुए हमेशा उसका साथ देने का वादा किया.

यह कहानी मेरी चाची की चुदाई की है और मेरी अपनी ज़िन्दगी की पहली चुदाई की कहानी है. दिन बीतते गए, मुठ मारने का सिलसिला चलता रहा, मयंक की संगति ख़राब कर रही थी मुझे लेकिन जवानी का जोश ऐसा ही होता है. मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को बहुत बार गांड मरवाने के लिए बोला लेकिन वो मना कर देती थी लेकिन आज उसकी रूममेट की खामोशी ने मुझे ये मौका दे दिया.

पेंटर ने अपने कपड़े पहन कर काम करना शुरू कर दिया था, उसने प्राइमर का डिब्बा उठाया तो मेरी ब्रा उस डिब्बे में मिली, उसने ब्रा बाहर निकली, पेंटी पे उसने खुद रंग डाला था, और मेरी ब्रा निकाल कर उसने डिब्बे में डाली थी, इस तरह से उसने मेरे दोनों अंडर गारमेंट्स को रंग दिया था. मैं मिंटू हरियाणा से हूँ, उम्र 28 साल, लंड साढ़े 6 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है, अच्छे परिवार से हूँ लेकिन ज्यादा पैसे कमाने के लिए औरतों, लड़कियों, भाभियों की चुदाई और मालिश का काम भी कर लेता हूँ लेकिन सिर्फ हरियाणा में ही!ज्यादा चूतिया बातें ना करते हुए अपनी असली कहानी पर आता हूँ जो मेरी पहली ग्राहक की है जिससे मेरा संपर्क मेरी fb id से हुआ.

अभी तो तुम बस मुझे चोद दो।भाभी की चुदाई इच्छा बढ़ती जा रही थी तो मैंने उसे चित लिटाया और लंड पेल कर चुदाई शुरू कर दी।लंड घुसा.

क्योंकि आंटी की चुत पर बाल बहुत थे। मन मार कर मैंने अपना काम चालू कर दिया और अपनी जीभ से उनकी चुत को चोदने लगा।वो भी मेरे लंड को चूस रही थीं और मस्ती में अपनी चुत को मेरे मुँह पर दबा रही थीं।कुछ देर में हम दोनों अलग हुए।आंटी बोलीं- राहुल. ‘बापू मैं सच में यही चाहती थी पर डर भी रही थी इसिलए मना करने का नाटक कर रही थी. हम दोनों गए और डांस करने लगे। डांस करते समय जब उसका शरीर मुझसे सटता.

बंदर और औरत की सेक्सी वीडियो मैं बहुत परेशान रहने लगा, तब एक दिन आराधना ने पूछा- राज, क्या हुआ? परेशान क्यों रहते हो, दो दिन से ना हँस रहे हो, ना मजाक कर रहे हो, तबीयत तो ठीक है ना तुम्हारी?मैंने सकुचाते सकुचाते सारी समस्या आराधना को बताई, वो एकदम से परेशान हो गई और बोली- रुको, मैं कुछ करती हूँ. बिना चुन्नी के काफी बार झुकते हुए उसे देखा हुआ था पर कभी उम्मीद ही नहीं थी कि उससे आगे कुछ हो पाएगा.

नमस्कार मित्रो, यह मेरी पहली कहानी है पड़ोसन लड़की की चुदाई की…मेरा नाम राहुल है और मैं 21 साल का बंदा हूँ। मैं जवान गोरा और बड़े लंड का मालिक हूँ। मेरी पड़ोसन लड़की जिसकी नाज़ुक जवानी को देख कर हरेक का लंड फुंफफार मारने लगता है। उसका नाम कोमल था। जैसा नाम. जैसे ही मेरा लंड सुनीता की गांड में घुसा तो सुनीता ने सिसकारना शुरू कर दिया और मैंने अपनी एक उंगली सुनीता की चूत के दाने पर रख दी, जैसे जैसे मैं उसकी चूत का दाना अपनी उंगली से रगड़ रहा था, पीछे से वैसे ही उसकी गांड में लंड के झटके लगा रहा था, सुनीता को भी ऐसे चुदने में मजा आ रहा था. मैं तेजी से धक्के मारने लगा और दीदी की चूत में झड़ गया और दीदी के ऊपर ही लेट गया।थोड़ी देर बाद जब हम नार्मल हुए तो मैंने दीदी के माथे पे किस किया और साइड में लेट गया तो मेरी नज़र बिस्तर पर पड़ी, उस पर खून के धब्बे लगे हुए थे और मेरे लंड पर भी खून लगा हुआ था.

सेक्सी गर्लफ्रेंड

उधर वो धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करने लगा था, मुझे दर्द हो रहा था लेकिन हल्का ही… इतना चुदने के कारण मेरी चूत काफ़ी हद तक उसके लंड को संभाल रही थी पर वो अभी तक आधा ही अंदर गया था, फिर भी मुझे थोड़ा थोड़ा दर्द हो रहा था, वो चूत मैं एकदम कसा गया था. जो उनकी चूत की आग को पूरी तरह से नहीं बुझा सकता है।मैंने लौड़ा वैसे ही रहने फंसा रहने दिया और भाभी के मम्मों से खेलने लगा।साथ ही मैं धीरे भाभी के होंठ चूमने लगा। कुछ देर में ही भाभी फिर से गर्म होने लगीं और अपनी कमर हिलाने लगीं. बुआ भी रूम में आकर सो गई।यह मेरी पहली सच्ची कहानी है, लिखने में गलती हुई हो तो माफ करना और मेरी दूसरी चुदाई की दास्तान का इंतजार कीजिए।[emailprotected].

! संदीप तुम तो सच में मेरे साथ हो, मुझे तो अब भी यकीन नहीं हो रहा है।उसके आकर्षक नाखून नेल पेंट से सजे थे, और उसकी खरोंच से मुझे जरा भी चुभन नहीं हुई, बल्कि एक अच्छा अहसास हुआ। अब यह उसका आकर्षण था या फिर सच में वो इतनी ही नाजुक थी? यह मैं नहीं जानता।फिर उसने फोन निकाला और हम दोनों ने उसी के फोन से अंतर्वासना की कहानियों पे कमेंट किये। कल्पना मुझसे समाजिक गतिविधियों, सेक्स, राजनीति, कौमार्य, फैशन. तुम भी अपने ब्वॉयफ्रेंड को कुछ मत बताना।फिर काफ़ी आना-कानी करने के बाद उसने खुद ही कहा- ठीक है हम सेक्स करेंगे लेकिन ज़्यादा नहीं थोड़ा सा करेंगे।मैं आपको सब बताऊँगा कि वो कैसे मानी सेक्स के लिए थोड़ा आगे ओके।मैंने उससे पूछा- थोड़ा सा कैसे.

पिछले साल मैं दिल्ली में जॉब कर रहा था तो वहाँ मेरी मुलाकात एक ऐसी हसीन परी से हुई, जिसका नाम कोमल था। वो पंजाबन थी और आपको तो पता ही है कि पंजाबी लड़कियां कैसी कड़क और एकदम माल जैसी दिखती हैं। कोमल भी एक ऐसी ही हसीना थी, जो उसे एक बार देख लेता.

!मुझे अभी भी भाभी के कॉल का इंतजार है।आपको अनजान भाभी की चोदा चोदी की मेरी कहानी पसंद आई?मुझे मेल कीजिए।[emailprotected]. यह हिंदी चुदाई की सेक्सी कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!‘ऐ गली मत दो न!’ मैंने उसे रिक्वेस्ट की तो वो हंस कर बोला- मजा आता है… तुमको भी आ रहा है!वो मेरे ब्रा के हुक्स खोलते हुए बोला, मैं उसका साथ दे रही थी. लेकिन मैंने भी हार नहीं मानी और अपनी बील्डिंग में सभी लड़कियों को ‘हैप्पी न्यू इयर’ बोलने की ठान ली और बोला भी!न्यू ईयर की शाम को मैं गेट पर खड़ा हुआ था तो प्रीति निकली.

भाबी नहा रही होगी… मुझे इस बात का कोई अंदाजा नहीं था। चूँकि बाथरूम की कुण्डी थोड़ी टाइट थी जिसे भाबी ठीक तरह से नहीं लगा पाई होंगी।मैं कॉलेज से आया था, मुझे बहुत तेज पेशाब लगी थी तो मैंने किताबें रख कर बिना कुछ सोचे समझे झटके के साथ बाथरूम का दरवाजा खोल दिया. ‘बिज़नस डील होगी तो फोन पे कितना टाइम लगेगा, उसका भरोसा नहीं, मैं दिखाती हूँ बैडरूम!’ मैंने पीछे से उसे कहा तो वो पीछे देखने लगा और एक फुट के दूरी से आँखों से मेरा नाप लेने लगा. जैसे एकदम रसीले आम हों।मैं तो मम्मों को पीने और गंदे तरीके से मसलने लगा। उसको डर हो रहा था.

वो शारीरिक और मानसिक रूप से मेरी ही बनी रहती है।अब मैं मेरी सेक्स स्टोरी पर आता हूँ।बात करीब 9-10 साल पुरानी है.

हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो: पर एक दफा मेरे साथ थोड़ी प्रॉब्लम हो गई, घर पर कुछ ज्यादा ही पैसे की जरूरत पड़ी तो मैंने अपनी पूरी सेलरी और 5000 आराधना से उधार माँग कर घर भेज दिए, मगर इस आपा धापी में मैंने ना किराया दिया और ना ही खाने की व्यवस्था बनाई. योनि की दिवारें लिंग के स्वागत में रस बहा रही थी।सुधीर भी पागलों की भांति मेरे ऊपर टूट पड़ रहा था.

जो नई मम्मी की चुत की आग को बुझा पाते।मैं इसको दूसरी कहानी में लिखूँगा। मुझे मेरी इस सेक्स स्टोरी पर आपके ईमेल का इन्तजार रहेगा।[emailprotected]. एक तो मेरी सीट पर आकर बैठ गए हैं और हट नहीं रहे हैं।उसने कहा- कोई बात नहीं. ‘बापू क्या कर रहे हो? होश में आओ!’ मैंने विनती की पर बापू पर भूत सवार हो चुका था।बापू ने एक तकिया मेरे सिर के नीचे ठूँस दिया- साली बड़ा चुदने का शौक है न… अब अपनी आँखों से देख… कैसे चोदता हूँ तुझे!बापू ने अपना लौड़ा मेरी चूत पर सेट कर दिया और रगड़ने लगे। बापू का गर्म लौड़ा मेरी चूत के दाने से रगड़ खाने लगा, कुछ पलों में मैं जल बिन मछली की तरह तड़पने लगी- बापू.

हैलो, मेरा नाम पिंकी है। मेरी चुदाई की यह सेक्सी स्टोरी बिल्कुल सच्ची है। मैं अपने मॉम-डैड और भाई के साथ रहती हूँ। मेरी एक सहेली है, जिसका नाम नेहा है। वो और मैं दोनों साथ में पढ़ती हैं। मेरा फिगर 34-32-34 है और मेरी फ्रेंड का 36-34-36 का है।नेहा बहुत ही सेक्सी दिखती है.

मेरे मना करने के बाद भी दिन ऐसे ही कट गया और फिर रात हुई दोनों का प्रोग्राम चला!आज वो होने वाला था जो मैंने कभी सोचा नहीं था!वे दोनों नीचे उतर कर आये, मुझे लगा कि अब खाना खायेंगे. मुझे इतना गर्म महसूस हो रहा था कि आपको बता नहीं सकता!मैंने बहुत बुर चोदी थी पर इसके जैसी कोई नहीं थी. उनको खीर में मेरा माल खाना है।दूसरे दिन वो मुझसे बोलीं- बेटे मैं नहाने जा रही हूँ.