एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ देहाती वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

11 साल की लड़की के बीएफ: एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो, दस मिनट चाटने के बाद कहने लगी- ओह यार… ये मैं क्या कर रही हूँ…मैंने हंस कर कहा- तुम केला खा रही हो.

बीएफ वीडियो होली

”समझी, मतलब कि आप दोनों ही मास्को से परिचित नहीं हैं… और अगर ये कोई सीक्रेट नहीं है तो क्या मैं एक सवाल पूछ सकती हूँ?” नताशा ने जिज्ञासा दिखाई- आप करते क्या हैं?कोई सीक्रेट नहीं है. भोजपुरी बीएफ वीडियो ओपनवह मेरे लंड को मुँह में लेकर आंड सहलाते हुए लंड को आगे पीछे करने लगी.

वैसे रोशनी के पीठ पीछे भी विक्की और गोलू पिंकी की चूत का पूरा आनन्द उठा रहे थे. साउथ के सेक्सी बीएफ वीडियोअब तक आपने पढ़ा था कि सेजल भाभी को आज रात और भी ज्यादा जंगलीचुदाई की भूखथी.

उन्होंने साइड से क्रीम की बोतल उठाई और मेरी गांड पर और अपने लंड पर लगा लिया.एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो: ” उसने हड़बड़ाते हुए बोला।साइज बराबर है ना?” उसने पूछा।हां… बराबर है.

हम दोनों ने ही काले चश्मे चढ़ा रखे थे, जबकि मेरे पैरों में काले चमड़े के जूते, और नताशा के पैरों में खूब लम्बी, नुकीली हील वाले हाई नैक बूट्स थे.आशीष बोला- मैं अब झड़ने वाला हूं। बता वन्द्या, मेरा लन्ड रस पिएगी या चूत में ही डाल दूं?मैं बोली- अपना लन्ड रस मुंह में मेरे डालो!और सच में आशीष ने मेरे मुंह में लंड डालकर अपना पूरा रस मेरे मुंह पर भर दिया, मैंने उसे चाट लिया.

जनानी या मर्दाना गांड मारने वाला बीएफ - एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो

मैंने उन्हें बांहों में कस लिया और धीरे धीरे लंड अन्दर बाहर करने लगा.इब हमके पैसा कमाए के चलते एको कम्पनी में असिस्टेंट की नौकरी कर के पडैयी।सब कर्मचारी आपन आपन काम खत्म करके निकल चुकल रहेले.

30 बज चुके थे। मां को सामान देकर मैं ऊपर कपड़े बदलने के लिए चला गया। नीचे रसोई में नाश्ते की तैयारी होने लगी और लगभग 10. एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो कुछ देर तक इसी प्रकार धक्के लगाने के बाद मैंने लंड बाहर निकला अलका रानी को पलट के पेट के बल कर दिया.

अलका रानी के पैर कितने सुन्दर हैं ये फिर से बताने की आवश्यकता नहीं है.

एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो?

जैसे ही मैंने थोड़ा ज्यादा मसल दिया तो लगा कि अभी ही ये वासना से बिखर जाएगी. मैं भाभी से कुछ ज्यादा बात न करके अपने घर आया, सीधा रूम में जाकर मुठ मारी, तब शांति मिली. फिर जहाँ कहोगे वहाँ डिनर करके तुम उसे अपने साथ ले जाना और मैं किसी और का बिस्तर गरम करने चली जाऊंगी.

आंटी की चुदाई के साथ-साथ मैं किस करते हुए उनके मम्मों को भी दबा रहा था. वो अपने पेट पे रम डालने लगीं, जो बह के उनकी चूत से सीधा मेरे मुँह में आ रही थी. मैंने पूछा- कमला तुम्हें मजा आ रहा है ना?वो बोली- हां, मजा तो बहुत आ रहा है, पर बहुत डर भी लग रहा है.

इसके बाद भाबी भी पानी में भैया के साथ मस्ती करने लगीं और बोलीं कि चलो एक गेम खेलते हैं, हम में से किसी एक इंसान की आँखों में ब्लैक पट्टी बाँधते हैं और उस इंसान को दूसरे इंसान को छू कर बताना है कि वो कौन है. जब रात का खाना हो रहा था तो चंदर ने मुझे आंख मार कर धीरे से कहा- याद है ना वो…मैंने भी आँख मार कर कहा- हां सब याद है. इसके बाद कमर को जोर देकर मैंने आधा लंड चुत डाला तो भाभी ने मेरी कमर को पकड़ा और अपनी दोनों टांगों को मेरी कमर पर कैंची सा जकड़ लिया.

मगर मैं नहीं माना, मेरी चुदास बाक़ी थी और मैं उनको और जोर से चोदने लगा. फिर उस लड़की ने किसी और को फोन मिला कर बोला- उसको बोलो जब अन्दर जाएगी तो पूरी नंगी हो कर जाए.

दूसरे दो पीस दोनों मम्मों पर रखे और एक पीस उसकी चुत के दाने पर रखा.

मैं- भाबी, आपकी चुत इतनी टाइट है कि ऐसा लग रहा है, जैसे मैंने ही आपकी चुत की सील तोड़ी हो.

थोड़ी देर लंड चूसने के बाद मामी बोली- यार, अब तो मुझसे भी नहीं रहा जा रहा है!मैं बोला- तो जानू, चलो बाथरूम में… वहीं जाकर तेरी चूत का भूत उतार देता हूँ. और एक बात मैंने पिछली रात को उस अनजान नंबर को बताया था कि मुझे रेड टॉप में गर्ल्स बहुत अच्छी लगती हैं। सोनू का रेड टॉप में आना मेरे शक़ को और मजबूत कर रहा था। वैसे मेरे दिमाग़ में एक लड़की और घूम रही थी जिस पर मुझे शक़ था. तभी झटकों के साथ एरिक के लंड ने नताशा के होंठों और चेहरे पर सफ़ेद बूंदें उगलनी शुरू कर दीं, जिन्हें प्यार की देवी ने चाटते हुए पीना शुरू कर दिया जबकि हाथों में उसने अभी तक अपने दोनों प्रेमियों के ढीले हो चुके लंड पकड़ रखे थे.

मुझे सोचने का वक़्त मिलता, उससे पहले ही उसने मेरे होंठ चूसने शुरू कर दिए, कभी वो अपनी जीभ मेरे मुँह में डालता, जिसे मैं चूसती, तो कभी मैं अपनी जीभ उसके मुँह में डालती तो वो चूसता. कितनी कड़क चूचियाँ हैं तेरी, तेरे लिए तू बहुत दमदार लड़का खोजना पड़ेगा. ’ चीखने लगीं, वो दर्द से कराहते हुए बोल रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… बहुत दर्द हो रहा है.

अब विवेक ने कामिनी को साइड से लिटा के अपना लंड घुसा दिया और बोला- टांगें चिपकाओ मेरी जान.

मुझे उसने अपने लंड को चूसने में लगा रखा था, जो तन कर और कड़ा और लंबा हो चुका था. वो दरवाज़े के पास ही खड़े थे, मुझे गोद में उठाया और फ़िर बिस्तर पे ले आए. मैं नीचे दबा था तो मैंने उसकी पैंटी को अपने हाथों से नीचे कर दिया और बहन की चुत और चुत के आसपास के जगह को सहलाने लगा.

एरिक आर्थर के सिर के ऊपर बेड के सिरहाने खड़ा होकर अपना लंड प्यार की देवी के मुंह में चलाने लगा. मैंने देखा कि भाभी नजर नीचे करके मेरे लंड महाराज को फूलता हुआ देख रही थीं और मेरी नजर भाभी की चुत पर और चुचियों पर टिकी हुई थी. उसकी गांड गजब के चिकने और गोल चूतड़ों के बीच थी जो चुदाई से गीली हो गई थी.

मैंने हमारी वाली सीट के पर्दे अच्छे से बंद कर दिए ताकि बाहर से कुछ ना दिखे.

फिर मैं अपनी गाड़ी धीमी कर देता और वो बड़े आराम से मेरा लंड निगल जाती. उसने अपनी टांगें चौड़ी ही की हुई थी, तो मैंने अपना लंड निशाने पर रखा और अन्दर डालने के लिए हल्का सा धक्का लगाया, क्योंकि उसकी चूत पहले से ही गीली थी तो आधा लंड फट से अन्दर घुस गया.

एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो तभी एरिक भी बात करने लगा, और मुझसे इंग्लिश में बोला- आपकी गर्लफ्रेंड बहुत सुन्दर है!थैंक यू!” मैंने जवाब दिया और नताशा को अनुवाद बताया. मैंने उसे फिर तैयार होने को बोला और वो मस्ती में एकदम से मुझे लिपट गई.

एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो मैंने वहाँ जाकर उसको कॉल किया तो उसने कहा- थोड़ी देर इंतज़ार करो, मैं आ रही हूं।मैं वहीं खेतों में खड़ा था, मुझे सर्दी लग रही थी तब ही थोड़ी देर बाद वो आ गयी।उसने मुझे अपना दुपट्टा दिया और और हम दोनों ने एक ही दुपट्टा ओढ़ लिया, हम दोनों एक दूसरे के बिल्कुल पास पास थे. अब नीलम भाभी नीचे बैठ गईं और पूनम खड़ी हो कर अपनी चुचियां चुसवाने लगी.

मैंने भैया को जगाया तो भैया बोले कि तू हमारे वाले रूम में ही सो जा.

चुदाई वाली ब्लू फिल्म

मैं इस वक्त बेबस थी, मेरी चूत में लंड घुसा हुआ था और हम दोनों एकदम नंगे होकर चुदाई का खेल खेल रहे थे. इस ऑडियो में लड़की बता रही है कि उसे पहली बार चुदाई कर रहे लड़के जिनको चुदाई करनी नहीं आती, वे बहुत पसंद हैं क्योंकि ऐसे लड़के सेक्स करते समय हड़बड़ाये से रहते हैं. लेकिन इस बार मेरा मुँह उसके मुँह पर जमा हुआ था जिससे वो चीख नहीं पाई.

दो दिन बाद मैं शाम को कॉलेज से वापस आया तो मैंने देखा कि एक बेहद ही खूबसूरत और स्टाइलिश लेडीज सैंडल का जोड़ा मकान मालिक के दरवाजे के पास रखा था. मस्त भरी हुई चूत थी… मोटी मोटी जांघों के बीच दबी हुई थी, मैं बोली- लग रहा है भाई साहब चोद नहीं पाते हैं इसे!वो बोली- नहीं यार, ये तो तरसती रहती है यार लण्ड लेने को! तुम अपना प्लास्टिक वाला लण्ड ले आओ, उसे ही डाल दो आज इसमें… और मिटा दो इसकी प्यास!फिर मैं उठी और अलमारी से अपना डिल्डो यानी रबड़ का नकली लंड निकाल लाई और फिर मैंने अपनी चूत पूनम के मुँह पे रख दी और पूनम की चूत को मैं चाटने लगी. इस प्रक्रिया में नताशा के दोनों पैर बिल्कुल खुल चुके थे और आर्थर का हब्शी लंड उसकी नन्ही सी गांड में घुसा होने के कारण चौड़े होकर बेड से नीचे कारपेट पर लटक रहे थे, जिनके बीच में खड़े होकर एरिक ने चिड़िया की चोंच की तरह खुल चुकी उसकी चूत में अपना लंड ठेल दिया और लहरा-लहरा कर धक्के मारता हुआ चुदाई करने में व्यस्त हो गया.

मैंने थोड़ी आँख खोल कर देखा कि भाबी नाश्ते की प्लेट रख कर मेरे फूले हुए लंड को निहार रही थीं, जो कि पहले से ही काफ़ी देर से खड़ा था.

वो अपनी साड़ी को खोल कर बोलीं- अब प्रेम से जहाँ मन हो आराम से रंग लगा. मैं बोली- भाबी गेम तो अच्छा था, मैं क्या मजा ले रही थी, वो तो गेम था, जिसमें आप भी तो अपने फुकने दबवा कर मजा ले रही थीं. वो अपने हाथ से अपना ब्लाउज उतार कर बोलीं- हाय, रंग लगाना ही है तो आराम से रंग लगाओ ना.

वो फिर भी मेरी छाती पर अपना हाथ फेरता रहा और मेरे निप्पलों को जो अभी चने के जितने ही थे, अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था क्योंकि आज कुछ सालों बाद ही यह मज़ा मुझे नसीब हुआ था. तभी जीजा जी की आंख खुल गई और वे हैरानी से मेरे नंगे बदन को देखने लगे। उन्होंने अपना लंड मेरे मुंह से निकालने की कोशिश की लेकिन मैंने अपना दबाव थोड़ा बढ़ाकर उन्हें ऐसा करने से रोक दिया.

फिर मैं अपनी गाड़ी धीमी कर देता और वो बड़े आराम से मेरा लंड निगल जाती. दो महीने बाद एक दिन सुबह भाभी का फोन आया- हैलो समीर, आज से एक्सर्साइज खत्म, आज रात का खाना साथ खाएंगे, रात को 8 बजे रेडी हो कर घर आ जाना.

मैं बस उनकी बात को सुनकर मुस्कुरा कर रह गया और धीरे से मन में कहा कि हाँ रानी अबकी बार तेरी चूत में मेरी पिचकारी चल जाए तो ही लंड को चैन आ पाएगा. मेरे दिमाग में एक शैतानी तरीका आया और मैंने बाहर से उसे आवाज लगाई- काम्या, जरा दरवाजा खोलो, मेरा हाथ जल गया है, टूथपेस्ट दे दो. फिर उसने मेरे सर को हटाते हुए कहा- नहीं… मैं ये नहीं कर सकती, मुझे कुछ हो जाएगा.

’शर्म से रेखा का गोराबदन सुर्ख हो गया, वो भर्रायी सी आवाज़ में बोली- आप बड़े वो हैं… जाइए मैं नहीं आपसे बात करती.

सभ्य महिला शब्द इसलिए लिखा है कि शारीरिक प्यास किसी भी सभ्य महिला को भी तन की प्यास बुझाने का अधिकार होता है. आप जानेंगे तो मदहोश होकर पागल हो जायेंगे, खुद पर कंट्रोल नहीं कर पायेंगे… और मुझे देखने के बाद तो आप रह ही नहीं पाओगे! यह दावा है मेरा!मेरी हॉट सेक्स कहानी आपको कैसी लगी? आप मुझे मेरी मेल आईडी पर मेल कर के बता सकते हैं।[emailprotected]. तो मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागहैंडसम पंजाबी मुंडे का सेक्सी लंड-2में आपने पढ़ा कि अर्जुन मेरे साथ सो रहा था और मैंने उसके लंड के साथ खेलना शुरू कर दिया.

उसने मुझे साफ़ किया, मुझे वापस लेटा दिया और मेरे मम्मों को चूसने लगा. फिर भी मैं नहीं रुका, कुछ देर में उसे भी मजा आने लगा और कस-कस के गांड पीछे करते हुए मदमस्त कर देनी वाली आवाजें निकालने लगी.

उसके हटने के बाद मैंने उसे पकड़ा और उसका एक हाथ मेरे चुचे पे रख कर उसके बाल पकड़ कर उसका मुँह मेरी बुर पे ले लिया और उसे चाटने को कहा. मेरा लंड का टोपा जैसे ही उसकी चूत में गया ऐसा लगा जैसे किसी भट्टी में घुस गया हो. फिर शादी में पूरा दिन निकल गया, पर मोहन ने मेरी गांड को हाथ तक नहीं लगाया.

सेक्सी सेक्स हिंदी में

एक दिन अचानक करीब दोपहर में हमारे यहां सप्लाई का पानी दो दिनों के बाद आया तो मैं और दी दोनों अपने अपने कमरे से दौड़ कर बाल्टी लेकर निकले, क्योंकि हमारे पीने के पानी का स्टॉक लगभग ख़त्म हो चला था.

प्रतिक्रिया के इंतज़ार में!आपका अपना,रितेश शांडिल्य[emailprotected]. खैर रात को मैं बिंदु के पास पहुँच गई और बोली- मैं भी आज तेरे साथ ही चंदर के पास चलती हूँ, देखती हूँ कि वो तुम्हारी आज कैसे बजाता है. उसका टुन्नू सा लंड मेरी प्यासी जवान काली झांटों में छिपी हुई चुत का लाल दाना देखते ही फेल हो जाता है.

अब जब वो पानी लेने मेरे रूम के सामने आतीं तो थोड़ा हंसतीं और अक्सर बिना दुप्पटे के आ जातीं, जिससे जब वो झुककर बाल्टी भरतीं, तो उनके सोने के रंग के चुचे मुझे अपनी और बुलाते. मैं- राम… सु…ख…!वह प्रसन्न हुआ बोला- चलो याद आ गया, भले देर से सही. बीएफ वीडियो कैसे चलाएंवैशाली भाभी ने दोबारा फोन किया, मैंने उठाया तो उन्होंने घर आने को कहा.

मैं खड़े खड़े ये सोच रहा था कि जो लड़की इतनी सुन्दर है, उसकी चूत कितनी रसीली होगी, जिस लड़की को देखने मात्र से मुझे इतना मज़ा आ रहा है, उसको चोदने में कितना मज़ा आएगा. इस बार चाचा चाची के बुलावे पर मैं होली के दो दिन पहले ही पटना पहुँच गया.

अब तक आपने पढ़ा था कि मैं भाभी को बेहद जंगली तरीके से चोदने की बात मान कर अपने दोस्त नीरज के पास आया था. क्योंकि सूरज ढलने लगा था और हम दोनों को घर पहुँचना था तो हम उस किले से जल्दी से बाहर निकल आए. अब भाभी उसको चुप करवाने की कोशिश कर रही थीं, लेकिन वो चुप ही नहीं हो रहा था.

भाभी की चुदास भड़क गई तो वो 69 में होकर मेरे लंड को मुँह में लेके चूसने लगी. तो साथियो, आपको कैसी लगी मेरी जान की चुत चुदाई की कहानी… अपनी राय मेल कर जरूर बताइएगा. भाभी नहाने चली गईं, मैं बाहर हॉल में बैठ कर टीवी पर कुछ देख रहा था.

मैं अब भाभी के नाम की रोज़ मुठ मारता था और उनको चोदने के सपने देखता था.

हम फिर से गर्म हो गए थे और फिर मैंने एक झटके से उसका टॉप निकाल दिया. मैंने अचानक अपना तौलिया उठा कर लंड के ऊपर रख लिया और भाबी से सॉरी कहने लगा.

मैंने पूछा- कौन?बाहर से आवाज आई- मैं सविता, मुझे तुमसे बात करनी है. उस दिन पार्क में उसके साथ बहुत कुछ तो नहीं हुआ लेकिन इतना जरूर हो गया कि मेरे और रीटा के बीच एक अनजान रिश्ते का बीज बुव गया था. वो मुझसे पूछने लगी- क्या ये आपकी बर्थ है?मैंने बोला- हां मैडम, इसमें एक बर्थ मेरे लिए है.

तो मैंने उसे अपनी सारी जानकारी दी और अंत में उसका नाम भी पूछ लिया तो पता चला कि उसका नाम नेहा है और वो यहाँ अपने ससुराल में रहती है. मैंने उसके लोअर निकलने के लिए जैसे ही हाथ लगाया, तो पता चला कि वो पहले ही नंगी हो चुकी है. वो भी मुझसे इतनी अधिक खुश रहने लगी थी कि वो हमेशा मेरा इन्तजार करती थी.

एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो तभी नवीन ने अपने हाथ से अपना लंड पकड़ कर मॉम की चुत पर टिकाया और एक ही झटके में पूरा लंड मॉम की चुत में घुसा दिया. इस तरह की बातें करते हुए उसने मेरी सास से पूछा- आप देर तक काम कर सकती हैं?उसने बिना सोचे ही कहा- हां, अगर आठ बजे तक मुझे घर जाने दिया जाए तो मैं कर सकती हूँ.

सेक्सी ब्लू फिल्म दिखाएं

अंकुश की मम्मी के जाने के बाद इतने साल से मैं भी अकेला रोज़ रात को अपने हाथ से ही काम चला रहा हूँ. उसने बोला- जाओ अपनी सबसे लंबी हील वाली सैंडल पहन कर आओ, जिसे पहन कर तुम मॉडल रैंप पर कैटवॉक करते हो. जब हमारी धड़कन कुछ संयत हुई तो उन्होंने मुझसे पूछा- तुम यह कब से चाहती थी?मैंने कहा- मैं आप से बहुत पहले से प्यार करती हूं और हमेशा आपको पाने की चाहत रखती थी लेकिन खुद को काबू में रखा लेकिन आज दीदी के आपसे खराब व्यवहार के बाद खुद को काबू में नहीं रख पाई। आप मुझसे वादा कीजिए कि दीदी के साथ-साथ आप मुझे भी इसी तरह से प्यार करते रहेंगे.

वहां बैठी एक 30 साल की बहुत ही सेक्सी औरत ने मुझे चाभी दी और कहा- दूसरी मंजिल, रूम नंबर 104 में मजे करो. मैंने उनकी चुत और अच्छे से चूसी और फिर उनके ऊपर आकर उन्हें किस करने लगा. हिंदी में ब्लू सेक्सी बीएफकहते हैं ना किसी भी औरत या लड़की को पटाने के लिए उसकी सुंदरता की तारीफ कर दो तो वह भी पागल हो जाती है.

उसने मुझे साफ़ किया, मुझे वापस लेटा दिया और मेरे मम्मों को चूसने लगा.

हालांकि वो गे नहीं है, पर जिनका तुम लंड चूस के आए हो, वो जरूर तुम्हरी गांड मार के वीडियो बना लेंगे. मैं भी अपनी पत्नी के देहांत के बाद लंड का पानी किसी भी चूत में नहीं निकाल पाता था.

पूजा बोली- पापा, मैंने अन्तर्वासना पर कई सेक्स कहानी पढ़ी हैं और तब मुझे ये लगता था कि ये सब कहानियां काल्पनिक हैं, रिश्तों में चुदाई कैसे संभव है. मैं भाभी की तरफ़ एकटक नजर लगा कर देखे जा रहा था और वो मुझसे बड़ी मासूमियत से बातें करे जा रही थीं. भाई बस भाबी को चुप कराने में लगे हुए थे, लेकिन भाबी चुप होने का नाम ही नहीं ले रही थीं.

जैसे ही मेरी नाभि के ऊपर कुर्ती गई, नाभि पेट नंगी हुई, वो पागल से होकर नाभि को चूमने चाटने लगे, मुझे कुछ-कुछ होने लगा और मैं उनके नाभि को किस करने के तरीके से पागल होने लगी.

अब उसके मुँह में खून लग चुका है, अब जब भी उसका दिल करेगा, वो आपको चोद देगा. उसकी माँ समझ गई कि मैं भी एक नंबर का हरामी हूँ, सो वो मेरे लंड को पकड़ कर तेज़ी से ऊपर नीचे करने लगी. क्या आप लोगों के लिए पहले ही बहुत ज्यादा नहीं हो चुकी?” मेरी पत्नी ने आँखें तरेरते हुए कहा.

एक्स एक्स एक्स एक्स एचडी बीएफ वीडियोकुछ पल बाद ही उसने मेरे लंड को किसी छोटे बच्चे के जैसे लॉलीपॉप समझ कर चूसना शुरू कर दिया. जब बाहर आई तो अशोक बैठा हुआ था और बोला- इधर आओ और यह अपने कपड़े लो.

sxxe वीडियो

मैं भी अपनी पत्नी के देहांत के बाद लंड का पानी किसी भी चूत में नहीं निकाल पाता था. दीदी ने तभी झपट्टा मारा और सारे कंडोम छिना कर अपने पास रख लिए, वे बोलीं- जब ये लगाने की जरूरत होगी, तब मैं खुद लगा दूंगी. मैं पेपर पढ़ने के लिए सोफा में बैठ गया, अचानक मेरी नजर भाबी के ब्लाउज पर चली गई.

दूसरे ही दिन उन्होंने मुझे फिर कॉल किया और बताया कि आज मेरे बाथरूम के शावर में पानी नहीं आ रहा है, प्लीज़ जल्दी आ जाओ. आज मैं अन्तर्वासना पर अपनी पहली कामुकता भरी कहानी लिख रहा हूँ जिसमें मैंने अपने पड़ोस की चुदासी आंटी को चोदा था. कुछ पांच मिनट की चुदाई में के बीच में ही भाबी ने अपना सारा पानी मेरे लंड पर छोड़ दिया.

आप सभी की मेल पढ़ कर मुझे बहुत अच्छा लगा और उसी के चलते आज मैं अपनी एक और कहानी लिख रही हूँ. उसने मेरे मम्मों को जोर जोर से दबाना शुरू कर दिया और उनकी घुंडियों को काटना शुरू कर दिया. वो खुद किसी कंपनी में काम करती हैं, उसी के प्रॉजेक्ट के लिए यहां आई हैं.

उसकी खून से और मेरे वीर्य से भीगी हुई उसकी पेन्टी को मैंने निशानी के तौर पर अपने पास रख लिया. भाबी बोली- जब तेरी शादी होगी तो जब नहीं पहनेगी क्या?मैं बोली- तब की बात और है.

कामिनी ने पूरी ताकत से पीछे से मेरे बाल पकड़ लिए और बोली- जल्दी कर साले चादर गन्दी हो जाएगी, जल्दी जीभ निकाल कुत्ते की तरह… जो तू है भी… और चाट जल्दी.

ऐसा कहते ही उसने उसे गले से लगा लिया और कहा कि तुम मेरी सबसे अच्छी दोस्त हो. गाना पर की बीएफअगले दिन मैं सिमरन को लेकर वापिस चंडीगढ़ आने लगा तो रश्मि ने कहा- जब भी दिल्ली आओ तो पहले मेरे पास आना है. मुसलमानी की बीएफ सेक्सीमैं उसको फोन करने ही वाला था कि रीटा का खुद फोन आ गया, वो मुझसे चुदने के लिए कहने लगी. अगले दिन मैंने बिंदु माँ से कहा- माँ, देखो आपका बेटा आपके साथ क्या कर गया.

उसके आगे अपनी चुत कर दी ताकि वो भी उसका पूरा नजारा देख कर उसमें अपना मुँह मारे.

जैसे ही हम फ्लैट में पहुंचे मुझसे सब्र नहीं हुआ, मैंने उसे दरवाजे से चिपका कर अपनी गोदी में उठा लिया ओर उसके गुलाबी होंठों को चूसने और काटने लगा. मैंने उसकी केले के तने जैसी टांगों को अपने हाथों में उठा कर कन्धों पर रखा और लंड को चूत के छेद पर टिका कर धीरे धीरे टाइट चूत में उतार दिया. तभी मेरे पीछे से आवाज़ आई- अगर ये अपना काम अच्छे से करते, तो इतनी गन्दगी भी नहीं होती और ट्रेन भी टाइम से चलती!अभी भी वो थोड़ी थोड़ी देर में मेरे गांड में अपना लंड घुसाते रहता था पर ऐसा लगता था कि वो जान बूझकर नहीं कर रहे हैं इसलिए मैंने अपने तरफ से कुछ एक्सट्रा नहीं किया.

उस वक़्त मेरी रजामन्दी न देखते हुए वो हट गया और हम लोग वहां से अपने अपने घर आ गए. हैलो फ़्रेंडस, मैं समीर आपको अपनीजिन्दगी की एक सच्ची चुदाईबताने जा रहा हूँ. मैं भी वैसे ही उसकी बांहों में पड़ी रही और मैं भी उसके गाल पर और उसके बदन पर किस करने लगी.

आदिवासी बीपी फिल्म

उसने किचन में आने के बाद भी अपने कपड़े नहीं पहने थे और नंगा ही बैठ कर दारू पी रहा था. यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, इस कहानी का अनुभव अगर अच्छा रहा तो आगे की अन्य कहानियां भी प्रस्तुत करता रहूँगा. मैंने काम्या से कहा- मैं अपनी बुर तेरे मुँह पे रख रही हूँ और तेरी बुर पे अपना मुँह.

मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, मैं दिखने में गोरा और 5’10” गठीला और छरहरा शरीर का हूँ, स्मार्ट और डैशिंग हूँ.

और आपके साथ…इतना कह कर मैं वहां से बाहर आ गया और उनके घर से निकल गया.

इससे वह पागल होने लगी और मुझे नोंचते हुए कहने लगी- डाल भी दे यार… वरना मैं मर जाऊँगी. उसकी चूचियों को ब्रा के ऊपर से ही जोर से दबाया तो उसकी सिसकारी निकाल गई जैसे पहली बार उसकी चूची को किसी आदमी ने दबाया हो. सील पैक बीएफ सेक्सी वीडियोमैंने पूछा- क्या शर्त है आपकी?इस पर उसने जो बोला, उसे सुन कर मैं थोड़ी देर के लिए सन्न हो गया.

मैंने पहले सब दरवाजे और खिड़की अच्छे से बंद कर ली और साली से कहा- इन कामों का बड़ा अनुभव लगता है. उसने कहा- ठीक है!तो सबसे पहले मामी गई बाथरूम में, फिर मैंने अपने घर का चक्कर लगाया और देखा कि सब सो रहे हैं या कोई जाग भी रहा है. एक दिन जब मैं अपने कॉलेज से लौट रहा था, अचानक मैंने दी को अपने आगे चलते हुए देखा.

चूंकि मेरा लंड चुदाई से पहले ही बहुत गरम हो चुका था और फिर उसने उसे चूस चूस कर बहुत तंग किया था, इस लिए वो चूत में जाकर कुछ ही समय बाद अपना पानी छोड़ गया. प्रिया ने हौले-हौले अपनी आँखें खोली तो मुझे सीधे अपनी काली कज़रारी आँखों में झांकते पाया।झट से प्रिया ने मेरी ही आँखों पर अपना हाथ रख दिया- आप मुझे ऐसे ना देखो प्लीज़… मैं तो शर्म से ही पिघल जाऊँगी.

मैंने भी जिद नहीं की लेकिन मैंने बोला कि फिलहाल इस खड़े लंड का क्या करूं?दीदी बोली कि इस खड़े लंड को मेरी दोनों चूचियों के बीच में डाल कर इसे चुत समझ कर चोद लो और रस टपका दो.

कुछ घण्टे बाद हमने फिर खेल शुरू किया और इस बार हमने डॉगी पोजीशन में सेक्स किया. मैं वार्डन से बाद में जाकर उसके कमरे में उससे बोला- सर बच्चा है, अभी नासमझ है. मुझे नेहा ने कोई बारह बजे उठाया और बोली- यह क्या हाल बना रखा है बिंदु?मैं बुरी तरह से चौंक उठी और बोली- क्यों क्या हो गया?नेहा मुझसे बोली- यही तो मैं पूछ रही हूँ, इस तरह से नंगी क्यों पड़ी हो.

सेक्सी बीएफ पिक्चर चुदाई ज़ाहिर था कि तीन तीन चुदाई की कहानियां पढ़ पढ़ के उस पर भयंकर कामवासना छा गई थी. फिर इस वक्त रोशनी भी कम थी… इसलिए मुझे उसको पहचानने में जरा देर लगी- माफ करना भाई पहचानने में देर हुई.

तो वो बोला- बिंदु जी इसी की तो मैं तलाश में था, आज जाकर ये नमकीन अमृत मिला है. आप मुझसे बात करना चाहते हैं तो मेरी मेल औऱ फेसबुक की आईडी यह रही![emailprotected]. जैसे ही मेरे होंठों ने उनके होंठों को छुआ, अजीब सा मज़ा आया और मैं पागलों की तरह भाभी के होंठों को चूसने लगा.

फक्किंग फक्किंग

सुन कर, अपने घर में उसको अकेले रहना पड़ेगा सोचकर वो थोड़ा घबरा गई।दूसरे दिन शाम को उसकी सासू माँ ’15 दिन बाद आती हूँ. उसके मम्मों को अपने दोनों हाथों से जितना मसल सकता था, खूब मींजा और लंड को उसकी चुत के संग कबड्डी खेलने की छूट दे दी. मनोरमा ने कहा- जब तुम आए थे तो इस पैन्ट में कुछ नहीं था, अब देखो इसमें क्या छुपाया है.

शाम को मेरी माँ काम्या के साथ घर आईं तो उसे देख मेरे अन्दर लगी आग को जैसे बुझाए जाने का जरिया मिल गया. जो अपने आप खुल जाते हैं और ज़ारबंद तो अक्सर सोते में खुल ही जाता है.

वैसे तो मैं एकदम सील पैक माल हूँ, पर चुदने की ललक सील तोड़ने में लगी हुई है.

मैंने कहा- आंटी जी, आप क्या कर रही हो?उन्होंने कहा- बेटा वो ही करने लगी, जो तुम बाथरूम में जा करते हो, मैं तुम्हारी यहीं पर मुठ मार देती हूँ. उससे थोड़ा ताकत के साथ मैं छूटकर हटी, तो वो उतनी ही तेजी से उठा और उसने मुझे गाड़ी से सटा दिया. उसने मुझसे दूध पिलाने का कहा तो मैं उसकी छाती पर चढ़ गई और उसको अपने चूचे चुसाने लगी.

शावर से ठंडा पानी निकलते ही कामिनी विवेक से चिपक गई और बोली- बहुत बद्तमीज हो यार. मैंने उनके साइज़ की ब्लैक रंग की जालीदार ब्रा और सफ़ेद रंग की पेंटी निकाली, जो उन्हें भी बहुत पसंद आई. क्या एजेंसी इस बात की पुष्टिकरण करती हैं कि ये बंदा किसी औरत को संतुष्ट करने में कुशल है या नहीं?नहीं, एजेंसी वाले किसी भी पुरूष को स्वीकार कर लेंगे, भले उसने अपने जीवन में महिला को छुआ तक नहीं होगा.

अब उसकी चूत पर ध्यान देने के इरादे से मैंने उसकी पैंटी से नाक लगा कर गहरी सांस लेते हुए सूंघा.

एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियो: कुछ देर बाद उसकी माँ मेरे कंधे पर सर रख कर सोने लगी, पर कुछ पल ही बीते थे कि फिर पैंट के ऊपर से मेरा लंड को सहलाना शुरू हो गया. बस उसके मटकते कूल्हे देख कर ही लड़कों का पप्पू खुशी के आँसू रोने लगता था.

मैंने उसकी पेंटी के अन्दर हाथ डाल कर चूत को सहलाया और पेंटी को खींच कर अलग कर दिया. मौसी की चूत काफी गीली थी तो मेरे लंड पर कोई खास रगड़ नहीं लग रही थी. मैं- अब मेरी बारी?वह- देर हो गई यार, लोग जाग गए हैं अगली बार करा लेना.

अब तक भाभी की वासना की कहानी के पहले भागकामुक भाभी की चुदाई का सुख-1में आपने पढ़ा था कि मेरे पड़ोस की सेजल भाभी ने मुझे सूदखोरों के चंगुल से बचाया था और अब वे मुझे एक अजीब तरह की सजा दे रही थीं, जो मेरे भेजे से बाहर थी.

मैं भी उनके लंड को स्पर्श करके दबा रहा था, फिर मैंने अंकल के लंड को चूसना शुरू कर दिया. बस स्टैंड पर पता चला कि एक बस दतिया तक जाएगी, वहां से अगली बस मिल जाएगी. उस ड्रेस में से भाभी की जांघें और गांड का आकार पूरी तरह से पता लग रहा था.