सेक्सी बीएफ गांव का

छवि स्रोत,बीपी सेक्सी इंडियन वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

इंग्लिश पिक्चर नंगा: सेक्सी बीएफ गांव का, मैंने उनके नंगे बदन की कल्पना करके न जाने कितनी ही बार मुट्ठी मारी थी.

बफ मूवी इंडियन

अब तेरे पर कोई पहरा नहीं है तू बिलकुल आज़ाद है। इधर आ मेरा पास!मैं जब उसके नजदीक गयी तो उसने अपने बगल में लेटे हुए आदमी की चादर हटा दी. क्सक्सक्स बुरइस बार वो कराहने लगीं- आह आह आह प्लीज़ आशु बस रुक जाओ … मेरी चुत फट रही है!मगर मैंने एक नहीं सुनी और भाभी को चोदता रहा.

सोनम का अच्छा व्यवहार, अच्छा खाना, समर्पण और यौन के प्रति उत्साह, प्रकाश को भा गया. मोटी लुगाई की सेक्सी वीडियोमुझे पता था कि चाची चुदक्कड़ हैं, लेकिन मैंने उनके साथ अब तक ऐसी कोई हरकत नहीं की थी, जिससे उनको कुछ कहने का मौका मिल सके.

शनाया ने आकर हम दोनों को देखा और कर पूछा- वंश नहीं आया क्या? आज भी तुम दोनों ही मुझे एक साथ चोदोगे या अलग अलग?हमने कहा- एक साथ ही चोद देंगे.सेक्सी बीएफ गांव का: वो मेरे खड़े लंड को देख हैरान हो गयी और बोली- इतना बड़ा लंड है तेरा!मैं बोला- हां जान, ये तेरे लिए ही है.

हैलो फ्रेंड्स, कैसे हैं आप सब लोग … उम्मीद करता हूँ कि मस्त चुदाई कर रहे होंगे.हम लोग फिर से डांस करने लगे लेकिन इस बार राज मेरे साथ फ्री होकर डांस कर रहे थे.

बीपी ट्रिपल सेक्स - सेक्सी बीएफ गांव का

अब मैं और रवि एक दूसरे को बेतहाशा चूमते हुए एक दूसरे के नंगे बदन को सहलाते हुए प्यार करने लगे.उसकी सांसें तेज हो गयी थीं लेकिन उसके चेहरे पर मुस्कान फैल गई थी जो मेरी सोच से बिल्कुल भी अलग था.

अच्छे से उसका दूध पीने के बाद उसने मुझसे कहा- मेरे दूध तो पी लिए, अब अपना दूध भी तो पिलाओ. सेक्सी बीएफ गांव का लंड विलास के होंठों को रगड़ने लगा तो विलास ने अपने होंठों से मेरा सुपारा पकड़ लिया.

मैं और कामुक हो गया और उसके दोनों स्तनों को बारी बारी से तब तक चाटता रहा जब तक चॉकलेट का स्वाद खत्म नहीं हो गया.

सेक्सी बीएफ गांव का?

कुछ ही देर में मैंने भाभी की नाइटी उतार दी और उन्हें टू पीस में कर दिया. भाभी अपने पैर आपस में रगड़ने लगीं, इससे मुझे पता चल गया था कि अब भाभी भी पूरी चार्ज हो गयी हैं. आज करीब तीन सालों से शबाना शर्माजी के घर पर काम कर रही है और इस बीच उसकी ढली हुई जवानी फिर से निखर कर बाहर आ गयी है.

अब हम दोनों अपने चरम पर आ गए थे; एक दूसरे के बदन को हमने कसके जकड़ लिया था. वो चादर को धोते समय उसे अपने हाथों से फुलक रही थीं इससे उनकी चूचियां मस्त हिल रही थीं. थोड़ी देर बाद उन्होंने मेरी गांड से उंगलियों को निकाला तो मुझे मेरी गांड थोड़ी खाली खाली सी लगने लगी.

उसने मुझे अपनी छाती पर गिर कर जोर जोर से मेरी गांड मारनी शुरू कर दी. अब मेरी धड़कनें बढ़ गईं कि भाभी को सब पता चल गया होगा कि मैंने क्या किया है. तभी भाभी ने दूध चूसने का इशारा किया, तो मैंने भाभी के एक निप्पल को अपने होंठों में दबाया और चूसने लगा.

क्योंकि मैंने आज तक सेक्स नहीं किया था और ये मेरा पहला मौका था जब मैं किसी महिला से मिलने जा रहा था. मेरी गांड में पहले कुछ दर्द हुआ मगर फिर तेल के कारण आराम से तीनों उंगलियां अन्दर बाहर आने जाने लगी थीं.

मैंने उसका कमीज और ब्रा ऊपर करके चूचियों को बाहर निकाला और चूसने लगा.

सरिता के कोमल हाथों के स्पर्श से मेरा बदन कामवासना में डूबता जा रहा था.

मैं इतना महंगा गिफ्ट देख कर खुश हो गया क्योंकि मैं इस फोन को लेने के लिए सोच ही रहा था. हमारे परिवार ने उनकी काफी हेल्प की और उसके बाद आंटी की भी एक हॉस्पिटल में जॉब लग गई. मैं समझ गया था कि मेरा जीजू पूनम को चोदना चाहता था और बदले में कोमल को उसके पति मोनू को दे रहा था.

जब भी मुझे मौका मिलता, अपने घर में मैं लड़कियों के कपड़े पहन कर देखा करता था. फिर मैं दीदी के पैरों में बैठ गया, दीदी की चूत पर मुंह लगाकर उसकी चूत को चाटने लगा. मैंने पूछा- क्यों ठीक नहीं समझा?वो बोली- अरे यार मैं ज्यादा कुछ पूछती तो मम्मी को शक नहीं हो जाता कि मैं ज्यादा क्यों पूछ रही हूँ.

ये एक ऐसी दमदार सेक्स कहानी है, जिसे पढ़ कर लड़की की चुत टपकने लगेगी और लड़के का लंड खड़ा होकर फटने को हो जाएगा.

उनकी गोरी गोरी जांघें मुझे मस्त करने लगीं और उनकी नशीली आंखों में एक अजीब सी मस्ती दिखने लगी. बाद में बाहर आकर देखा तो जीजू तो जॉब पर जा चुका था क्योंकि उसके लिए कोई लॉकडाउन नहीं था. आज जीजाजी के बदले मैं अपनी जिया दीदी के गुलाबी होंठों को चूम रहा था.

दीदी मेरे लंड को बहुत तेजी से चूस रही थी और मुझसे अब कंट्रोल नहीं हो पा रहा था. कुछ देर इधर उधर घूमने के बाद मैंने देखा कि एक मेरा एक सहकर्मी जो बैंगलोर से था, उस लड़की के साथ कुछ ज्यादा ही चिपक रहा था. मैं उसको पीछे से पकड़कर बोला- आज की सारी प्लानिंग तुम्हारी थी ना?इस पर वो बोली- हां … लेकिन तुम्हारी शर्तों ने मुझे कुछ ज्यादा ही परेशान कर दिया.

वहां जाकर देखा, तो चपरासी ने ऑफिस खोल दिया था … पर कोई और आया नहीं था.

खाना खाने के बाद मैंने उनसे कहा- भाभी, आप बेडरूम में चलो … मैं अभी आता हूँ. उसका स्पर्श पाते ही मेरा लंड खड़ा हो गया जो शायद लवी को भी पता लग गया था.

सेक्सी बीएफ गांव का उसने दीदी को ये भी लिख कर भेजा था कि वो भी जल्दी से किसी का लंड चख ले. भाभी से मेरी सेटिंग कैसे हुई और मैंने उसे कैसे चोदा?नमस्कार दोस्तो, मैं अन्तर्वासना साइट का एक नियमित पाठक हूं और आज यहां अपना पहला सेक्स अनुभव लिख रहा हूं.

सेक्सी बीएफ गांव का इतना बोलते हुए जैसे ही उसने इस बार कम्बल खींचा तो मैंने जानबूझ कर कम्बल को छोड़ दिया. यदि तू कहे तो मैं तुझे दो तगड़े पैग बना कर पिला देती हूं, जिससे तुझे मजा भी बहुत आएगा और दर्द भी ज्यादा नहीं होगा.

जवान लौड़े की खुशबू और मर्द के पसीने से शब्बो जैसी औरत बाजारू रांड बन चुकी थी।वीरू के लौड़े को हाथ से हिलाते हुए उसने अपनी ज़बान बाहर निकाली और वीरू की गांड को चाटने लगी.

फेसबुक वाली बीएफ

दोस्तो, मेरा नाम आशीष है, मैं राजस्थान के कोटा से हूँ और अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ. कुछ ही देर में रीना का हाथ हसित के अंडरवियर के ऊपर पहुंच गया तो हसित ने रीना के ब्लाउज के ऊपर से ही उसके मम्मों को दबाने लगा और दूसरे हाथ से रीना को अपने पास खींच लिया. ’लेकिन पति कहां कुछ सुनने वाले थे; उन्होंने फिर से एक और तगड़ा हमला मेरी बच्चेदानी पर कर दिया, तो मैं दर्द से चिल्ला उठी.

उस चुदाई के बाद जब भी मौका मिलता, रवि मुझे चूमने का मौका नहीं छोड़ता. शिल्पा ने देखा पीछे मुड़ कर देखा, उसके बाद वो पीछे ही नहीं मुड़ रही थी. आंटी ने मम्मी के हाथ से मेरे लिए कई बार हलवा आदि बना कर भेजा था तो मैं अपने कमरे में आंटी के हाथ का बना हलवा ले जाता था और अपने लंड पर लगा कर आंटी को याद करके मुठ मार लेता था.

उन दोनों में चुदाई पूरी हो गई थी और वो दोनों हांफते हुए एक दूसरे के ऊपर गिर कर चूमाचाटी करने लगे थे.

मैंने अपनी दीदी की चूत को चोद कर उसको अपनी पत्नी ही बना लिया है और मुझे अपने किए पर कोई पछतावा भी नहीं है. वो मेरे पास आई और झट से मेरी गोद में बैठ गई, मेरे गाल पर किस करके बोली- आई लव यू शुभम! आज के बाद मुझे कभी अकेले में मम्मी मत कहना अब!मैंने कहा- तो क्या कहूं मेरी जान?मेरा नाम लिया करो मेघा … जैसे हर कोई पति अपनी पत्नी का लेता है. फिर मैंने पूछा- तुम्हारा गांव और कॉलेज कहां है?शिल्पा ने अपने गांव का नाम बताया और कॉलेज का पता बताया.

शब्बो पहले से ही इतनी घायल हो चुकी थी कि अब उसका विरोध बिल्कुल ना के बराबर था और ऊपर से वीरू जैसा गबरू जवान उसकी कमान संभाले हुए था. मैं उसे देखकर भौंचक्का रह गया कि ये कौन है?मैंने उससे पूछा, तो उसने बताया कि बाबू जी मैं यहां की नई नौकरानी हूँ. फिर मेरा अंडरवियर भी उतार दिया और लंड को सहलाने लगी, उसको हाथ में लेकर आगे पीछे करने लगी जैसे मुठ मारते हैं।मैंने सासू माँ को लिटा दिया उनकी पैंटी को उतार दिया.

वो कुछ नहीं कह रही थी बल्कि आह आह करके कह रही थी कि और करो मुझे अच्छा लग रहा है. मैंने बाइक बाहर निकाली और आज जब मैंने लवी को देखा तो चौंक गया क्योंकि उसने लैगी कुर्ती पहनी थी और बड़ी मस्त लग रही थी.

क्लास के सारे लड़के और कोई कोई टीचर भी भी मुझे चोदने की फिराक में रहने लगे थे. दोस्तो, मेरा नाम विनोद है। मेरी उम्र 25 वर्ष है। मैं उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले से हूं।यह मेरी पहली कहानी है दोस्तो … आपका प्यार व सहयोग मिला तो फिर हाजिर होऊंगा नई नयी कहानियों के साथ!मेरे घर में मैं, मेरी मौसी मां, पिताजी, दो बड़ी बहनें हैं। असल में मेरी माँ की मृत्यु मेरे बचपन में हो गयी थी तो मेरे पिताजी की शादी मेरी मौसी से हो गयी थी. अब आप तो ससुर जी को खुश नहीं रख पा रही हो तो किसी को तो उनकी खुशी का ध्यान रखना होगा।यह बोल मैं वहाँ से चली गयी.

इस बार उसकी गांड कुछ खुल सी गई थी तो पहले धक्के में आधा लंड उसकी गांड में अन्दर चला गया.

हॉट सेक्सी गर्ल सेक्स स्टोरी पिछले भागरिश्ते में लगी बहन को मुझसे प्यार हो गयामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं लवी से व्हाट्सैप पर चैट कर रहा था. मेरे बहुत डराने धमकाने पर बोलने लगा- यार, मुझे तुम्हारी अम्मी बहुत पसंद हैं. दीदी- सच बता तूने कितनी लड़कियों के साथ सेक्स किया है?मैं- बस एक के साथ ही.

चाचा की उंगलियां मेरी उंगलियों से थोड़ी मोटी थीं इसलिए तीसरी उंगली जाते ही मुझे थोड़ा दर्द हुआ. यह मेरी पहली चुदाई की कहानी थी पंजाबी भाभी के साथ!आपको कैसी लगी, ज़रूर बताना.

मैंने कहा- क्यों, वो कहां चला गया है?वो बोली- मैंने उसे किसी सामान के लिए बाहर भेजा है. उसका दूध जैसे जैसे गले से नीचे उतर रहा था, वैसे वैसे मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा था. मैंने सरिता से पूछा- सरिता, तुम्हारी चूचियां अभी तक इतनी कड़क और गोलमटोल कैसी हैं.

कर्नाटक के बीएफ वीडियो

जब वो मेरी चुत में धक्के लगा रहा था, तभी मैंने देखा कि एक अपने लंड पर क्रीम लगा रहा था.

कोमल के मम्मों की साइज बहुत मस्त थी और मोनू उन्हें लगभग नौच रहा था. पन्द्रह मिनट तक मुझे यूं ही चोदने के बाद पति देव ने मुझे पीठ के बल लेटने के लिए कहा. सबके चेहरे पर तो मैंने, मेरे आने की ख़ुशी देखी, लेकिन बड़ी वाली भाभी का रिएक्शन मुझे निगेटिव सा दिखा.

चुदाई के बाद भाभी मुझसे लिपट गईं और चुदाई की कहानी कहने लगीं- पता है राज … मैंने तुमसे क्यों चुदवाया. अब मुझे आपके पिता को गुलाब के लिए एक आधुनिक लड़का खोजने में मदद करनी चाहिए. एचडी पोर्न पोर्नवो छटपटा रही थी और ‘हाय ऊं ऊं हुँ हूँ …’ की आवाज के साथ सिसकारियां ले रही थी.

उसका स्पर्श पाते ही मेरा लंड खड़ा हो गया जो शायद लवी को भी पता लग गया था. बस का दूसरा स्टाफ लड़का पीछे गया और लगभग 3-4 मिनट बाद वापस बाहर बस के केबिन में आया और बोला- सबसे पीछे का ऊपर का डबल स्लीपर पूरा खाली पड़ा है.

शब्बो अब कुतिया की तरह उसके सामने बैठकर उसका लौड़ा चूस रही थी।वीरू का हाथ अब भी शबाना की गांड का छेद मसल रहा था, दूसरे हाथ से शब्बो का सिर अपने लौड़े पर दबा रहा था. फिर हम दोनों ने उसका पूरा मेकअप किया लड़कियों वाला … उसके होंठों लिपस्टिक भी लगायी. जब मैंने देखा कि सभी अब घर से जा चुके हैं तो मैं जल्दी से नहा धोकर तैयार हो गया।10 बजे तो हमारे दरवाजे पर एक दस्तक हुई.

उस समय मैं अपने रूम में था और दरवाजा थोड़ा बंद करके लंड हिला रहा था. हुआ ये कि एक दिन मेरा दोस्त मुझसे बोला- यार मेरी गर्लफ्रेंड की चुदाई करने के लिए जगह का इंतजाम नहीं हो रहा है. मैं- हिम्मत तो तुम्हारे अन्दर नहीं है … और मुझसे कह रही हो कि हिम्मत है या नहीं.

मैं भी चित हो गया तो वो अपनी चड्डी उतार कर मेरे ऊपर चढ़ गया, अपनी गांड मेरे लंड पर रख कर उचकने लगा.

इस बात से आप अंदाज लगा सकते हैं कि हम दोनों किस हद तक अच्छे दोस्त हैं. मेरा अंडरवियर गीला हो गया था इसलिए कुछ देर तक मैं सहज नहीं हो पाया।फिर धीरे धीरे नॉर्मल हो गया।अब मैंने उससे बातें शुरू की, उससे पूछा- आपकी शादी को कितने महीने हुए हैं?उसने कहा- महीने? … अरे साल हो गए हैं.

करीब डेढ़ घंटे एक दूसरी को नंगी नहलाने के बाद हम बाथरूम से किस करती हुई बाहर निकली और बिना शरीर को पौंछे ही बिस्तर पर गिर गयी।आधे से ज़्यादा घंटे तक हम दोनों अपने बिस्तर पर ऐसे ही नंगी पड़ी रही।फिर सीमा उठी और नंगी ही मैग्गी बनाने लगी. हम दोनों बस किस करने ही वाले थे कि तभी मुझे कुछ आवाज़ आई जैसे कोई कार आ रही हो. जिसका मैं हंसकर विरोध कर देती थी और उन्हें आगे और किस लेने के लिए इनवाइट करती.

जिया दीदी- मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि जिसे मैं छोटा भाई समझती हूँ वो आज मेरे साथ रोमांस करेगा. जिया दीदी- तुमने आज मेरी हालत कुछ पल के लिए बिगाड़ दी थी, तो पता नहीं तुम कोई वर्जिन गर्ल के साथ सेक्स करोगे तो उसका क्या हाल होगा!मैं- आपकी वजह से आज मेरी इच्छा पूरी हो सकी है. साले लगता है … तुम लोग मुझे सड़क छाप रांड बना कर छोड़ोगे!मैंने कहा- तेरा मन नहीं है तो ना बोल दे ना.

सेक्सी बीएफ गांव का शब्बो की चूत तो उसका शौहर ठीक से खोल नहीं पाया तो गांड खोलने का सवाल ही नहीं पैदा होता।ऐसी तंग चुस्त गांड को फाड़ने के लिए उसको बड़ी मेहनत करनी पड़ेगी ये सोच कर वीरू ने अपने कमरे में रखी तेल की शीशी उठायी. Xxx भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि पार्क में एक भाभी से मेरी दोस्ती हो गयी.

बीएफ डॉग कुत्ता

फिर मैंने सोचा क्यों न कोई ऐसा आइडिया लगाया जाए जिससे मम्मी मुझसे चुदने के लिए राजी हो जाएं. मामी ने किस करते करते मुझे खटिया पर लेटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गईंमेरे साथ किस करते हुए मामी की साड़ी उतर चुकी थी. वह पास में पड़ी चेयर पर बैठ गई, जिसका मुँह ठीक ठेले वाले की तरफ होता था.

वो चहरे की तुलना में अधिक गोरी थी।मैं खुद को रोक नही पाया और लाइट आफ करके लेट गया।कुछ देर ऐसे लेटने के बाद करवट ली और हाथ उनकी चूचियों पर रख दिया, जाघें उनकी जांघ पर।हाथ रखने पर महसूस हुआ कि उन्होंने ब्रा नहीं पहनी है।मैं उनके निप्पल अपनी हथेली पर महसूस कर रहा था।मेरी धड़कन ऐसे चल रही थी जैसे दिल में कोई गेंद उछल रही हो।जैसे ही धड़कन कुछ शांत हुई, मैं अपना हाथ हिला कर उनकी चूची सहलाने लगा. वो नींद में थी और मुझे दीदी को ऐसे नींद में खुली चूत के साथ देखकर बहुत उत्तेजना हो रही थी. एक्स एक्स हिंदी देहातीमैंने लंड मुँह में ठेला तो उसने थोड़ा सा लंड मुँह में लिया और चूसने लगी.

उसने हंसते हुए बोला और अपनी पैंटी और मेरी ब्रीफ धोने बाथरूम में चली गयी.

हुआ यूं कि उसकी शादी के एक साल बाद ही वो उसके शौहर के साथ रहने के लिए हमारे ही शहर आ गयी और हमारी ही कॉलोनी में रहने लगी. मेरे घर के बगल में मेरे बड़े पापा यानि कि मेरे पापा के भाई रहते हैं.

तभी मैंने ध्यान दिया कि शौचालय में कोई भी देखरेख करने वाला नहीं है. उस दिन मैंने अपने मोबाइल में चुदाई का सेक्स वीडियो डाउनलोड कर लिया था ताकि बाद में नेट स्लो होने पर मेरा प्लान खराब ना हो जाए. उन्होंने आंख दबाते हुए कहा- मेरा कोई इरादा भी नहीं है अपने देवर से छूटने का … आ जाओ सब साफ़ सफाई मिलेगी.

सोहल ने हनी की चुदास को समझ लिया और वो उसकी टांगों को खींच कर उसे बेड के किनारे पर ले आया.

कोई 5 मिनट की चूत चुसाई के बाद वो उठा और कोमल से बोला- जान, अब आप डॉगी पोजीशन में आ जाओ. आज शबाना की जिंदगी का सबसे बड़ा दिन था।जिंदगी में पहली बार उसकी चूत में 7 इंच का लौड़ा घुसा था, पहली बार उसकी गांड फट गयी थी किसी लौड़े से!उसे एक साथ गांड और चूत की चुदाई का मजा मिल रहा था. जब वो झुक कर झाड़ू लगातीं या साफ सफाई करतीं, तब मुझे गहरे गले वाले ब्लाउज में से उनके बूब्स के दर्शन हो जाते थे.

தெலுங்கு ஆன்ட்டி செக்ஸ் படம்उससे पूछा- यदि मैं अपनी बीवी को तलाक़ दे दूँ, तब क्या तुम मेरी बीवी से शादी करोगे?प्रेमी ने कहा- हां ज़रूर करूंगा. मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और चाटें मार मार भाभी की गांड लाल कर दी.

ओपन सेक्सी बीएफ इंग्लिश

मैंने लंड का सुपारा चूत में फंसाया और झटका मारा तो भाभी की दर्द भरी आवाज निकलने लगी. मैंने दीदी की बात का कोई जवाब नहीं दिया और उसकी चूचियों से अपनी छाती को सटाये हुए लेटा रहा. मैं उनको चुप करवा ही रहा था कि तभी उन्होंने मुझे गले से लगा लिया और बोलीं- तुम मेरी हेल्प करो.

रात को मैं उनके कमरे में ही सोता था और मेरी मौसी और उनके पति सोफा कम बेड में सोते थे. वो लंड चाटती हुई बोली- हाय हर्षद, कितना मीठा और मलाईदार है तुम्हारा अमृत. मैं समझ गया कि ये पीती तो है, मगर आज घर जाने की वजह से मना कर रही है.

जिया दीदी- ये तो तुम थे … अगर ऐसी बात किसी और ने की होती तो उसके गाल पर मैं तमाचा जड़ देती. जब मेरा लंड गर्म हो गया तो उसने चोदने को कहा लेकिन गर्भवती होने के कारण उसने धीरे-धीरे लंड पेलने को कहा. वहां पहुंच कर मैंने गेट खटखटाया तो दिव्या भाभी ने पूछा- कौन है?मैंने कहा- मैं हूँ भाभी … शुभ.

रीना ने अंगड़ाई लेते हुए हसित से कहा- चलिए आइए भाईसाब, अब फाइनल खेलिए. मगर बाहर जाते वक्त मैं ब्रा पैंटी निकाल देती थी, जिससे मैं लोगों को ज़्यादा उत्तेजित कर पाऊं.

पीछे मेरी गांड चुद रही थी और इधर नरपत ने सारा माल मेरे मुँह में खाली कर दिया.

अन्दर बहुत अंधेरा था, उजाले के नाम पर एक लालटेन जल रही थी जो बस खुद ही को रौशन किए हुई थी. नेपाली एक्स एक्स वीडियोमैं कुछ नहीं बोला और लवी डांस करती हुई मेरे पास आई और मेरा हाथ पकड़ कर डांस करने लगी. हिंदी रंडी सेक्स वीडियोअब आगे भाभी हॉट लेस्बियन सेक्स:कुछ देर बाद वो तीनों मेरे ऊपर से हट गए. हनी को अपनी गांड पर सोहल की उंगलियों का चलना बेहद रोमांचक लग रहा था इसलिए उसने सोहल से कुछ नहीं कहा.

मेरे केसर के ढेर से गोल गोल चूतड़ चिकनी जांघें देख कर वे मेरी जांघों पर हाथ फेरते रहे.

थोड़ी ही देर बाद सोनाली ने अपना कमोड पर रखा पैर नीचे रखा और वो सीधी खड़ी हो गयी. भाभी कह रही थीं- आह मेरे राजा … और जोर से और जोर से … आंह आज मेरी चुत फाड़ डालो … आह आह आह और जोर से आह चोद डालो. दूसरे दिन जब सुबह सुबह मैंने देखा कि दीदी नहाने जाने की तैयारी कर रही है.

मैं अलमारी से कंडोम का पैकेट निकाल लाया जो मैंने तीन महीने पहले खरीदा था. हमारे पास लगेज के नाम पर सिर्फ एक एक लैपटॉप वाला बैग था जो हमने पीछे लटकाया हुआ था. मुझे अपना सर हटाना था पर उसकी पकड़ इतनी बलशाली थी कि मैंने भी मूड बना लिया कि आज इसको पूरी तरह से सुख दे ही देता हूँ.

बीएफ इंग्लिश अंग्रेजी

मामी ने किस करते करते मुझे खटिया पर लेटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गईंमेरे साथ किस करते हुए मामी की साड़ी उतर चुकी थी. फिर वो बोली- मेरी मम्मी की बातों से तुमने और क्या क्या जाना!मैंने कहा- मैंने उनके मुँह से तुम्हारा सिर्फ नाम सुना था. इसके बाद मैं एक और धमाकेदार असली सेक्स कहानी लेकर आऊंगा जिसमें मैंने और दीदी ने हमारी मम्मी को किसी पराए मर्द से चुदवाते देखा था.

मैं अपनी सगी बहन संगो को अपने लौड़े के नीचे ला नहीं पा रहा था, तो मैं बाथरूम में उसकी उतारी हुई पैंटी को ही चाट कर उसकी रसीली चुत का स्वाद ले लेता था.

मेरे वीर्य का दाग उस पर लगा हुआ था, उसे देखते ही उन्होंने चड्डी फेंक दी.

पहली बार किसी गोरे अंग्रेज का हाथ मेरे बूब्स था और मेरा हाथ उसके लंबे मोटे लण्ड पर!मुझे विलियम पर बहुत प्यार आ रहा था क्योंकि उसने बिना सेक्स की ही मुझे झड़ा दिया. तो मैं उसके लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी, अपने होंठों से उसके लौड़े की खाल को आगे पीछे करने लगी।उसके लंड में से एक मादक से खुशबू आ रही थी।मैं भी मजे में अपनी आंखें बंद करके अपने चोदू यार का लंड चूसने में लगी थी. bhojpuri एक्सएक्सएक्सफिर मैंने दुकानदार से लड़की के लिए कुछ अच्छे कपड़े दिखाने के लिए कहा.

मैंने उसके पिंक लिप्स पर एक प्यार भरी किस की तो उसे बहुत अच्छा लगा. बहुत दिनों बाद भरी दुपहर में मेरी चुत और गांड की मस्त चुदाई जो हुई थी. अब जब भी मैं उसे श्वेता के यहां लेकर जाता, तो वो मुझे कसके हग करके बैठी रहती और हम रोजाना रात को छत पर मिलने लगे, किस करने लगे.

अब मैं मुड़कर गाड़ी की डिक्की में ही बैठ गई और अंकल के हवा में लहराते हुए लंड को देखने लगी. मगर मेरी साली गुलाब कहने लगी- ये मेरी भूल थी कि मैं आप दोनों के बीच में पड़ी.

[emailprotected]न्यूड गेम X कहानी का अगला भाग:टास्क गेम: नंगे बदन पर जेवेलरी के साथ फोटोशूट- 2.

अब मैंने भी नींद का दिखावा करते हुए अपनी दोनों टांगें दोनों तरफ फैला दीं. मैं जैसे तैसे उसका लंड चूसती रही और अचानक उसने मेरे मुँह में ही पानी छोड़ दिया. मैंने कहा- ऐसी कोई बात नहीं है फूफा जी … मैं अभी किसी के बारे में जानता नहीं हूँ, इसलिए बात करने में थोड़ा नर्वस महसूस कर रहा हूँ.

नंगी ब्लू पिक्चर नंगी ब्लू पिक्चर भाभी- फ़क मी जय … फ़क मी और जोर से चोद … और जोर से … आह भोसड़ा बना दे मेरी चुत का आज आह … चोद जय चोद अपनी प्यारी भाभी को … आह … उउ ऊऊह … मैं फिर से गई. मैं अभी कुछ करता कि अचानक से उन्होंने अपने होंठ मेरे होंठ पर रख दिए और मुझे चूमने लगीं.

मैं उसे घोड़ी बनाकर पीछे से अन्दर-बाहर करने लगा, झटके पर झटके मार रहा था. मैं नंगी पड़ी बस उनकी तरफ देख कर मुस्कुरा दी और मैंने अपने सूखे होंठों पर जीभ फिराई. मैंने अपने लंड को भी हिला कर खड़ा कर रखा था ताकि दीदी को मेरा लंड फुल साइज़ में बड़ा दिखे.

सेक्स एक्स एक्स एक्स बीएफ वीडियो

इस पर उन्होंने भी मुझे गले लगाया और ज़ोर से मुझे अपने सीने से चिपका लिया. कुछ सोचने के बाद मैं तैयार हो गया क्योंकि मुझे भी मामा के घर गए हुए ज्यादा दिन हो गए थे. अच्छा हुआ, हमने आस प्लग लगाकर सोनू की गांड का छेद थोड़ा ढीला कर दिया, साली को दर्द थोड़ा कम होगा.

मैंने जैसे ही थूक लगाया, उसने कहा- रूको बाबू … आज थूक से काम नहीं चलेगा … मेरा पहली बार का मामला है. मैंने पहली बार जिस दिन भाभी को देखा था, उसी दिन सोच लिया था कि कैसे भी करके भाभी को चोदना ही है.

अब हम लोग एकदम फ्री हो चुके थे जिसके कारण मैं उनके हाथों में हाथ डालकर चल रही थी और हम दोनों किसी गर्लफ्रेंड ब्वॉयफ्रेंड की तरह घूम रहे थे.

अपने तने हुए लंड का सुपारा उसकी चूत के मुँह पर रख कर एक ही जोरदार प्रहार देकर पूरा लंड चूत की गहराई में डाल दिया. मैंने पूछा- मैडम का क्या नाम था?वो बोला- उसका नाम कंचन था, आज मेरे लिए तू ही कंचन है. चूंकि आने जाने पर किसी को कोई पाबन्दी नहीं थी इसलिए जब भइया ऑफिस चले जाते थे तो मैं अक्सर भाभी के पास नीचे रूम में चला जाता था.

उनको इस तरह देखकर मेरा दिमाग खराब हो गया और मेरा रोकना मुश्किल हो गया. मैंने कहा- भाई जान, यदि इच्छा हो तो एक बार और!वे बोले- हां, हो जाए. ये मुझे बहुत प्यार करती है और मेरा ख्याल रखती है। बस कुछ चीजें इससे चूक जाती हैं वो तुम पूरा करती हो।मुग्धा को देखते हुए मैंने कहा- ठीक यही बात तुम पर भी है.

मैं सोनू जलगांव महाराष्ट्र से साल आपके सामने मैं एक सच्ची सेक्स कहानी लेकर उपस्थित हूँ.

सेक्सी बीएफ गांव का: विलियम का हाथ मेरे बूब्स पर पड़ते ही और उसको दबाते ही मेरा भी दबाव उसके लण्ड पर हो गया, मैंने भी विलियम के लण्ड को जोरदार दबा दिया. मैं उसकी चूत को सहलाने लगा और वो बेकाबू होकर सिर इधर-उधर पटकने लगी.

इधर भाभी को किस करने के बाद मैं मुस्कुरा दिया और उधर वो एक कदम पीछे को हटकर गुस्सा हो गई. मैंने कहा- ऐसी कोई बात नहीं है फूफा जी … मैं अभी किसी के बारे में जानता नहीं हूँ, इसलिए बात करने में थोड़ा नर्वस महसूस कर रहा हूँ. मैंने उसकी कमर पकड़ ली और नीचे से अपनी गांड उठाकर एक जोर से धक्का मारा.

उसने मेरा लंड फिर अपने मुँह में लेकर चूसने लगा मेरा लंड उसके गले की गहराई में जाकर वापस आ रहा था.

हॉर्नी सिस्टर Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मेरा बॉयफ्रेंड से ब्रेकअप हुआ तो मुझे दूसरे लंड की जरूरत पड़ी. तो मैंने उसके होंठों पर किस किया और उसके सर को अपने हाथों से पकड़ कर होंठों को चूसने लगा. अब तक मैंने उसकी पैंटी को भी निकाल दिया और अपनी जीभ उसके बुर पर रख कर चुत चाटने लगा.