हिंदी में बीएफ इंडियन

छवि स्रोत,जन्मदिन की शुभकामनाएं hd फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ मनाली: हिंदी में बीएफ इंडियन, कोमल जोरों से कामुक आवाज़ कर रही थी- ओहह उहह ओह या आहह उम्मह फक फक याह यस.

सोनी चिड़िया

आप सबके प्यार के लिए थैंक्स।कुछ लोगों ने मेरी गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स करने की बात भी कही. अंतरवस्नामैंने अपनी टीशर्ट निकाल दी और मेरी चौड़ी बालों वाली छाती नंगी हो गयी और मैं दीपिका के साथ अपनी नंगी छाती निकाल कर बेड पर लेट गया.

कुछ ही पलों में रोहित के लंड की मार इतनी जबरदस्त हो गई थी कि संजू की चुचियां कभी ऊपर, कभी नीचे हो रही थीं. हिजड़े के साथचूत पर आइसक्रीम लगते ही जैसे मेरी चुत में आग सी लग गयी और मैं जोर से तपड़ उठी.

उधर मैंने अपना लोअर निकाल कर देखा, तो लौड़े ने पैंट में उत्पात मचा रखा था.हिंदी में बीएफ इंडियन: फिर संजना एकाएक आंखें मूंदे ही बोली- आह बाबू … आज बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा है.

एकाएक तभी उसी पोजीशन में रोहित ने संजू की बुर पर अपना मुँह रख दिया और चूमने चाटने लगा.मैंने उसके उंडरवियर पर हाथ लगा कर देखा, तो सच में लंड टाइट हो गया था.

तब्बू सेक्सी वीडियो - हिंदी में बीएफ इंडियन

चूत में होती रसवर्षा के कारण बड़ी पिच पिच हो रही थी और हर धक्के पर फच फच की आवाज़ आती.पर इसके साथ साथ मुझे उस पर दया भी आ रही थी और उसका वो करुण रुदन देखकर अफ़सोस भी हो रहा था कि मेरी प्यारी साली मेरे कारण ही दर्द से छटपटा रही थी और इसका जिम्मेवार सिर्फ मैं था.

एक दो बार उसकी चूत को छेड़ा और चाटा और फिर अपना लंड उसकी चूत में लगा दिया. हिंदी में बीएफ इंडियन मैंने अपने हाथ से उसका पल्लू हटाया उसने ब्रा टाइप का ब्लाउज पहन रखा था जिसमें उसकी दूध सी गोरी चूचियां बाहर निकल रही थीं, ब्रा को फ़ाड़ देना चाहती थी।मैंने अपनी गर्लफ्रेंड का ब्लाउज उतारकर उसकी फ़िरोज़ी ब्रा खोलकर उसकी चूचियों को क़ैद से आजाद कर दिया.

धीरे धीरे दोनों के पेग ख़त्म हुए तो सुनील खड़ा हुआ रिंकी को लेकर और सबसे पहले उसने रिंकी को चूमा और फिर डांस शुरू किया.

हिंदी में बीएफ इंडियन?

जैसे जैसे लंड के धक्कों की स्पीड बढ़ने लगा, वैसे वैसे मेरा शरीर भी हिलने लगा और उस वजह से एक दूसरे के होंठों पर एकाग्रता बनाना मुश्किल होने लगा. बस इस बार माफ कर दो!”अब माफ तो तुझे एक ही शर्त पर करुंगा कि तुझे मेरी गर्लफ्रेंड बनना पड़ेगा। जब तू उसे फ़्रेंड बना कर यहाँ तक आ सकती है तो मैं तो तेरे गांव का हूँ. मैं फिर वहां से बाथरूम की खिड़की, जो थोड़ी ऊंचाई पर थी, वहां गया और बगल में रखी दो ईटों को नीचे रखकर उस पर चढ़ कर बाथरूम के अन्दर झांका.

वो बोली- रोहित, तुम बेड पर चित लेट जाओ ना!रोहित बात को समझते हुए बेड पर पीठ के बल लेट गया. ‘हैंअ … जब इसमें कुछ कुछ होता है, तो ये बड़ा हो जाता है … और जब कुछ कुछ नहीं होता, तो ये छोटा बन जाता है. अविनाश- मेरा जो दोस्त है, उसकी और उसकी वाइफ की एक अजीब फैंटेसी है, जो वो दोनों पूरा करना चाहते हैं.

साथ ही मैं आप लोगों का शुक्रिया अदा करती हूं कि आप लोग मुझे मेल और इंस्टाग्राम के जरिये इतना प्यार देते हैं. मैं जानती थी कि वो सब कुछ देख चुका है, तो मैंने एक झटके से अपना टॉप ऊपर उठा कर अपनी नंगी चूचियां उसके सामने कर दीं और कहा- तो टैक्स ले लो. जब इतने सारे जोड़े एक साथ इकट्ठा हो रहे हों और सबकी बीवियां किसी और के पति से चुदने वाली हों तो छोटी से छोटी बात भी जिज्ञासा लेकर खड़ी हो जाती है.

फिर जब मैंने अपनी टाँगों को चौड़ी कर उसके लिंग के लिए जगह बनाई तो लगा कि ये क्या?कल जहां तक रणवीर नहीं पहुंच पाया, वहां तक भी इसने कैसे पहुंच बना ली? उसका लिंग मेरी बच्चेदानी के अंदर तक पहुंचने लगा. फिर मैंने ड्रेसिंग टेबल से जैतून के तेल की शीशी से कुछ बूंदें तेल लेकर अपने सुपारे पर चुपड़ लिया और फोरस्किन को तीन चार बार आगे पीछे करके अच्छे से चिकना कर लिया.

मेम रानी बोली- यार रुस्तम, बड़ी प्यास लग रही है … ज़रा जा न किचन में … फ्रिज से एक लिमका ले आएगा? दोनों पिएंगे एक ही बोतल से.

दीदी और आलिया दोनों हॉट माल थीं, जिन्हें देखकर कोई भी मर्द घायल हो जाए.

अभी उसने टी-शर्ट और लोवर पहना हुआ था, जिसमें उसका फिगर और ज्यादा सेक्सी लग रहा था. नहाते समय एक ही बात ध्यान में थी कि सबने अपना वीर्य मेरी चुत में डाला है … कहीं मैं प्रग्नेन्ट न हो जांऊ. अब मेरा एक हाथ उसके एक दूध पर था दूसरा हाथ उसके चूतड़ों को सहला रहा था.

वे मुझे वटस्प पे ही बता देती हैं हर कहानी के बारे में, तो उनका भी मैं यहाँ पर धन्यवाद करता हूँ।मैं हर एक पाठक की ईमेल का रिप्लाई जरूर देता हूँ. जैसे आशा को देखकर मैं दंग रह गया था, वैसे ही मेरा लण्ड देखकर आशा दंग रह गई और बोली- विजय, तुम्हारा लण्ड तो ब्लू फिल्म के नायक जैसा है. लेकिन कपड़ों को बदल लेने या धो लेने से मन की बातें नहीं धुलतीं, मेरे साथ भी यही हुआ.

जैसा कि हमारी बीवियों को नहीं पता कि हम सब यहां है तो हम उन्हें बड़ा सरप्राइज देने वाले हैं। वो अपने अपने पतियों का इंतजार कर रही होंगी.

विक्रम- एक बार कोशिश करने में क्या हर्ज़ है? बुरा लगे तो मत करना!रीना थोड़ी देर तक सोचती हुई- अच्छा ठीक है. रकुल- तुम्हारा रात का क्या किस्सा है सीमा?सीमा- रात में मैंने पुराना लन्ड लिया और सुबह नए लन्ड का अहसास मिला. उन्होंने थरथराते हुए कहा- आआहहह बेटा … ये क्या कर रहे हो … अपनी माँ के साथ!मैं- आंटी ये आप क्या कह रही हो, आप सुनीता आंटी हो … मेरी माँ सुमन नहीं हो.

हम सभी ने खाना खत्म किया और उन तीनों के कहने पर हम बड़े कमरे में आ गए … जिसमें स्वैपिंग के लिए बड़ा से बेड का बंदोबस्त था. जब चाची की तरफ से कोई विरोध नहीं दिखा, तो मैंने आगे हाथ बढ़ाए और हल्के से उनके चुचे दबाने लगा. सुपारे को धीरे से खोल के नंगा कर दिया, टट्टे पकड़ लिए और ज़ोर से सांस लेते हुए लंड की गंध को सूंघा.

मैंने कहा- आज ही निचोड़ डालोगी?तो उसने माथा पीटते हुए कहा- कभी कभी तो बड़े भोले बन जाते हो और कभी कभी घटिया किस्म के ठरकी लगने लगते हो.

मेरा सारा परिवार वहां चला गया और मैं पढ़ाई का बहाना बना कर घर पर ही रुक गया। मैंने सपना को भी पहले ही बता दिया था तो मेरे घर वालों के जाते ही वो भी मेरे घर आ गयी। मैंने अच्छी तरह से घर के खिड़की दरवाजे बंद किये और उसे लेकर अपने कमरे में आ गया। कमरे में आते ही मैंने उसे बांहों में भर लिया औऱ बेतहाशा चूमने लगा. मैं उठकर अंकल के कमरे में गया मम्मी को उठाने के लिए … तो जैसे ही मैंने कमरा खोला, तो मैंने देखा कि अंकल कमरे में नहीं थे, मेरी मम्मी नंगी पड़ी हुई थी और वह अभी भी सोई हुई थी.

हिंदी में बीएफ इंडियन अब मुझसे बरदाश्त नहीं हो रहा था मगर फिर भी मैंने बर्दाश्त किया और अपने काम में लगी रही. मैंने भी जोश जोश में अपना लिंग उसकी योनि से मिला दिया और अन्दर डालने की कोशिश करने लगा.

हिंदी में बीएफ इंडियन मैं पैंटी को थोड़ा और ऊपर अपने चेहरे के पास लायी और अपनी नाक से उसे सूंघने लगी. बाकी सब तो परसों सवेरे 10-11 बजे के आस-पास दिल्ली से स्कूल की बस से वापिस डगशई के लिए निकलेंगे.

मुझे उम्मीद है कि अन्तर्वासना के प्रिय पाठकों को मेरी ये सेक्स कहानी बहुत पसंद आएगी.

सेक्स वीडियो बीएफ एचडी हिंदी

मैंने रोहिताश के हाथ को अपने लन्ड से हटाया और उसके सामने ही उसकी बीवी की चूत में एक बार फिर से डाल दिया. किसी को चोदते समय यदि पेशाब लगे, तो धक्के मारते हुए चूत में फिंगरिंग भी करो, तो वो पेशाब वहीं कर देगी. रोहिताश ने मेरा मेरा लोवर और अंडरवियर दोनों निकाल दिए और मेरे लंड को सहलाने लगा.

मैं चुपचाप पड़े आंखें बंद करें इस आनंद का मजा लेता रहा।फिर वे मेरे पेट कमर और नितंब की मसाज करने के बाद भाभी मेरी जान घर पर मसाज देती रही।15 मिनट मसाज करने के बाद भाभी ने मुझसे बोला- अब पीठ के बल लेट जाओ।मैं उनकी बात मानते हुए पीठ के बल लेट गया. मयंक ने अब सोनम की ब्रा को उतरवा दिया और उसके बूब्स एकदम से बाहर निकल आये. मुझे अपनी बांहों में जकड़ते हुए रीना बोली- ये क्या कर दिया, विजय? कहाँ ले आये मुझे? तुमने तो मुझसे बेवफाई करा दी.

क्योंकि अब सब हो ही गया है तो इसे अधूरा क्यों रखें, पूरा ही करते हैं।तो मैंने कपड़े पहनने का विचार छोड़ दिया और नज़मा को देखने लगी।पर वो अभी भी वैसे ही थी। ऐसा लगता था जैसे वो अब कभी कुछ भी नहीं बोलेगी।मैं उसके पास गई और उसे प्यार से कहा- यार, जो भी हुआ, वो अच्छा ही हुआ। तेरी मनोकामना भी कभी ना कभी तो पूरी होनी ही थी.

लेकिन आज वसुंधरा के फ़ोन के पत्थर ने शांत पानी में फिर से भंवर उठा दिए थे. जब भैया को पता लगा कि उनकी पत्नी पेट से है तो भैया बहुत खुश हो गये. लगातार दस मिनट तक धक्के लगाने के बाद वो अपना वीर्य मेरी चुत में छोड़ कर, अपनी पैन्ट सम्भालते हुए बाहर चला गया.

पिताजी ने जिया को कसम दी थी कि वो कभी तुमसे ना मिले … वरना पिताजी मर जाएंगे. और इधर यश चुदाई की भूख में इतना पागल हो गया था कि उसका लंड पानी न छोड़ने के कारण शबनम के दोस्ती तुड़वा चुका था।सपना भी उसको छोड़ के जा चुकी थी और अब शबनम भी। पर उसकी चुदाई की भूख अभी भी शांत नहीं हुई।आपको कहानी कैसी लगी दोस्तो? आप जरूर मेल कर बताना![emailprotected]. मैंने उनकी पैन्टी में हाथ डाल दिया और चुत को अपनी उंगली से छूने और रगड़ने लगा.

मैंने अपना लण्ड बहन की चूत के अन्दर बाहर करते हुए रुकैय्या से पूछा- मेरे साथ ऐसे ताल्लुकात कायम करने का ख्याल तेरे मन में कैसे आया?अपने चूतड़ उचका कर चुदाई का मजा लेते हुए रुकैय्या बोली- सोते समय अक्सर तुम्हारे पायजामे पर नजर पड़ती थी और तुम्हारा तम्बू तना होता था. वसुंधरा की वो बेलौस मुहब्बत, वो बेमिसाल समर्पण की भावना, वो त्याग, वो इंतज़ार और खुद वसुंधरा … सब कुछ किसी दूसरे जहान का लगता था … लगता था क्या, आज भी लगता है.

मैं ऊपर वाले से प्रार्थना करती हूं कि मेरे सारे पाठकों को मेरी जैसे ही चुदक्कड़ और हॉट बीवियां मिलें और आपके और आपके लंड के साथ हमेशा खेलती रहें. बिस्तर के दूसरी तरफ अम्मी अपनी गांड खोल कर घोड़ी बनी हुई थीं और अब्बू अपना लण्ड हिला हिला कर टाइट करने की कोशिश कर रहे थे. नजमा मेरे होंठों को चूस रही थी और मैं नजमा के मुंह से लार को खींच रही थी.

इतना कहते कहते नीरा ने मेरे लण्ड का सुपारा चाटना शुरू कर दिया और थोड़ी देर बाद अपनी टांगें फैला कर मेरे ऊपर आ गई.

ड्राईवर ने कहा- हां देखा … ये साली बोल रही थी कि धंधे वाली नहीं है. कुछ देर के बाद उसको भी थोड़ा थोड़ा मजा आने लगा। तब मैंने उसको जोर जोर से चोदना शुरू किया. मौसी ने इस स्थिति में मुझे उन्हें छोड़ने को कहा लेकिन वो लगातार कामोन्माद में कामुक आवाजें भी निकाल रही थीं- अहहह ऊमम्म हहह विशाल ह्म्म्म अहह प्लीज छोड़ दे … अहहह हम्म इसस.

’अगली रात मैं इंतजार करती रही पर बेकार … यह नजारा मुझे देखने को नहीं मिला. और फिर हम दोनों दरवाजे पर खड़े होकर रोहित का इंतजार करने लगे।कुछ ही पल में रोहित का ऑटो घर के दरवाजे पर आकर रुका.

कुछ मिनट उसके मम्मों को चूसने के बाद मैंने उसे पूरा नंगा कर दिया और उसके पांवों को चौड़ा करके उसकी चूत को चाटने लगा. जब हम दोनों एक दूसरे को प्यार करते थे, तब एक दिन सही मौका मिलते ही हम दोनों के बीच सेक्स संबंध बन चुका था. दीपिका का इशारा समझते ही मैंने दोनों चूचियों को बारी बारी से मुंह में भर कर चूसा और दोनों को ही चूस चूस कर साफ कर दिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो दे वीडियो

मैं- यस टेल मी?रिया- क्या कर रहे हो?मैं- कुछ नहीं बस एक रोमांटिक फिल्म देख रहा था.

उधर से मयंक ने भी अपने पैर को मेरी बीवी के पैर से रगड़ना शुरू कर दिया था. कोमल अब पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी, लेकिन मैं गोली के असर शुरू होने तक उसे और तड़पाना चाहता था. मैं बोली- वो छोड़ … तुझे अपनी मॉम को अपनी गर्लफ्रेंड बनाना है क्या?वो हिचकिचाता हुआ बोला- अगर हो सके तो जरूर!मेरा दिल खुश हो गया कि ये भी तैयार है.

मैंने अपने बैग से एक ब्लैक कलर की ड्रेस निकाली, जो कि मेरे सिर्फ गांड तक ही आ रही थी. कोमल- प्रोटेक्शन साथ लेकर आए हो?मैं- आज तो बिना कंडोम के चुदाई होगी. कटरीना कैफ की सेक्सीकोई दस मिनट बाद हम दोनों एक दूसरे से लिपट कर लेट गए और कुछ देर बाद फिर से चुदाई का खेल हुआ.

मैं सुधा को कुछ ज्यादा तड़पाने के बाद उसके ऊपर आ गया और उसकी चूत पर लंड की घिसाई शुरू कर दी. यहां पर संयोग वाली बात ये थी कि उसके बच्चे उसी स्कूल में पढ़ते थे जिस स्कूल में मैं भी पढ़ाता था.

मैंने उससे इस बात को विस्तार से जानना चाहा, तो उसने सारी बात मुझे बता दीं. उसके बूब्स बहुत टाइट थे और उसके निप्पल हल्के से ब्राउन थे, काफी प्यारे लग रहे थे. मनु- तुम ज्यादा घबराई तो नहीं?परमीत- हां पहले तो मैं एकदम से डर गई, फिर दीदी ने सब समझा दिया.

पहले तो लोग राह चलते देख कर निकलते रहे … फिर कुछ लोग रुक कर देखने लगे. जीजू ने अपने लण्ड का सुपारा मेरी चूत के मुंह पर रखा, बड़ा गर्म और चिकना सुपारा था. मैं- मौसी आप मजाक तो नहीं कर रही हो न!मेरी बात के जवाब के बदले में उन्होंने कहा- मैंने पैंटी पहनी ही नहीं है.

और जिस हिसाब से उसका नंबर बनता था उस हिसाब से वो घूम कर मोनू के पास ही जाने वाली थी क्योंकि उसके जिस्म पर सिर्फ ब्रा और पैंटी रह गयी थीं.

धीरे धीरे मुझे वे बहुत अच्छा लगने लगे क्योंकि उसकी बातें मुझे लुभाती थी।एक बार ऐसा हुआ कि बिजनेस के सिलसिले से मेरे पति को 1 हफ्ते के लिए बाहर जाना पड़ा. उनके लण्ड की एक झलक मैंने देखी लेकिन शर्म के मारे अच्छी तरह से नहीं देख रही थी.

उसके बाद लोग अदला-बदली की क्यों सोचते हैं?जीजा जी- वो क्या है न … शादी के बाद मर्द एक चूत चोदकर बोर हो जाता है और उसे किसी नई चूत की तलाश रहती है … ऐसा ही हाल औरतों का भी होता है. मम्मी दोनों के बीच में बैठी हुई थी और दोनों मम्मी की जाँघें सहला रहे थे. मेरी वर्जिन गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी? आप अपने सुझाव[emailprotected]पर मेल करें, गोपनीयता रखी जायेगी।.

फिर सुबह हम सभी ने उठकर नाश्ता किया और तैयार होकर अपना सामान लेकर माले एयरपोर्ट पर पहुंच गए. उनकी चुत से कामरस बह रहा था और मैं चूस चूस कर उनके दाने को चचोर रहा था. उन्होंने मेरे जिस्म की कोली भर रखी थी और मैंने उनकी। हमारे होंठ और जीभ एक दूसरे को इतनी बुरी तरह से चूस रहे थे कि मैं आपको बता नहीं सकती.

हिंदी में बीएफ इंडियन हम सभी ने खाना खत्म किया और उन तीनों के कहने पर हम बड़े कमरे में आ गए … जिसमें स्वैपिंग के लिए बड़ा से बेड का बंदोबस्त था. इसके बाद हम दोनों को जब भी मौका मिलता था, हम दोनों चुदाई कर लेते थे.

हिंदी बीएफ सेक्सी दिखाइए

मैं बोली- बेटा, एक राज की बात बताऊं?वो मेरी तरफ हैरान होकर देखने लगा- हां बताओ न मॉम. मेरा एक पैर कार की सीट के नीचे और एक सीट के ऊपर था … और मेरे दोनों हाथ पीछे दरवाजे को पकड़े हुए थे. मैं आँचल से और ख़ुशी से विदा लेकर मेहंदी वाली लड़की के साथ अपने कमरे की ओर चल दिया।यहाँ पर खुशी के चिड़चिड़े व्यवहार से मेरी तरह आप भी अचंभित होंगे.

मैंने कहा- ये जिनकी पार्टी हो रही है क्या आप उनकी रिश्तेदार हैं क्या?स्नेहा भाभी बोलीं- नहीं, मैं अपने पति के दोस्त की पार्टी में आई हूँ. मैंने मौसी के कानों के लव को मुँह में भर के चाटते हुए कहा- मैं जानता हूँ मौसी आप चुदाई के लिए कितनी तड़प रही हैं … मैंने आपकी गीली पैंटी देखी है. देसी आंटी रोमांसगुड्डी रानी ने जीभ निकाल के कुत्ते की तरह पहले बेबी रानी का हाथ और फिर अपने होंठों के आस पास लगा हुआ भी चाट लिया.

मैं स्खलित होने ही वाली थी कि वो अपना लंड निकाल कर बगल में लेट गए मैं उत्तेजना के चरम पर थी, सो बिना देर किए पलटी और साहब के खड़े लौड़े पर चढ़ गयी.

मुठ मारते मारते मेरे चेहरे के भाव देखकर उन्होंने रूमाल उठाया और मेरे लिंग के पास में कर दिया. ” उसने मजे में आकर कहा।उसकी परमिशन मिलने पर मैंने उसे पूरी नंगी कर दिया। उसकी जांघों को चूमते हुये मैंने उसकी गीली चूत को चूम लिया।चाटोगे?” आलिजा ने पूछा.

उसने मेरे दूध देखते हुए कहा- ओके मैम …मैंने सुहास से कहा- आज तुम मेरे लिए ये नाइटी पसंद करो. पर दूसरे ही पल उसने अपने आव-भाव सामान्य करते हुए मुझसे कहा- समझ गए ना!मैं तो अभी भी उसकी हरकत पर हतप्रभ था, मैंने यंत्रवत हां कह दिया. ‘ठीक ही ट्राई तो करते हैं … दर्द होगा तो कुछ और कर लेंगे … इतना तो ट्रस्ट है न मुझ पर कि मैं कुछ जबरदस्ती नहीं करूंगा … चल अभी पीते हैं पहले!’उन्होंने गिलास में वाइन डाली और आधे से ज्यादा खाली करके बाकी का मेरी तरफ बढ़ा दिया.

आप ही कुछ करो न!मौसी- सारे काम मैं ही करूंगी, तो तू क्या करेगा?मैं- आपका साथ दूंगा न मौसी.

मैंने कहा- आप एक काम करो, पिछली रात की तरह तुम लोग आज भी चुदाई करना. एक दिन भाभी की पिलाई होती थी और अगले दिन मेरी।और एक दिन तो मेरी पिलाई हो रही थी और भाभी आ धमकी और लाइट जला दी. मेरी सेक्सी कहानी आपको कैसी लग रही है? और मैं अपनी गर्म कहानी को और कामुक कैसे बना सकती हूँ, अपनी राय आप मुझे मेल करके जरूर बतायें।धन्यवाद.

रवीना टंडन की सेक्सी मूवीउन्होंने सिर्फ सेक्स की पूर्ति को तरजीह नहीं दी बल्कि वो सामने वाले का ख्याल रखना भी खूब जानते थे. ” कहकर मैं उसे चूमने लगा।धीरे धीरे करते हुए मैंने अपना पूरा लंड उसकी गांड में उतार दिया। हौले हौले शॉट्स मारते हुए मैं उसकी गांड के मजे ले रहा था।आज तो मजा आ गया, बॉडी की सर्विसिंग हो गयी.

हिंदी बीएफ खेतों की

एक घंटा पहले मैंने शिलाजीत गोल्ड के दो कैपसूल खाये थे जिनका असर दिख रहा था. आपने अब तक पढ़ा था कि उस लड़की से फोन पर मेरी चुदाई की बातें होने लगी थीं. मैंने उसे कहा- डियर मुझे जाना होगा!तो उसने कोई फोर्स नहीं किया, कहा- भाभी जी, अब आप जाओ.

कोमल ने भी अपनी टांगें पूरी तरह खोलते हुए चुत को लंड के दरबार में पेश कर दिया. शीला ने खुले दरवाजे की ओर इशारा करते हुए अपने को छुड़ाया और धीरे से दरवाजा बंद कर आई. फिर कुछ बीस मिनट के बाद मेरी बहन बैठ गई और उन्होंने अपने ससुर की नाइट ड्रेस को उतार दिया.

बात उसी जगह की है जहां मैं पढ़ाता था। उस समय मैं स्कूल के हॉस्टल में ही रहता था लेकिन कई महीने बाद मैं अपनी बीवी को वहीं लेते आया और एक मकान किराए पर लिया।जिस मकान में हमें रूम मिला उस मकान का मालिक उम्रदराज था और उसकी दो शादियां हो चुकी थी. मैं उसके पास जाने के लिए घर से निकल रही थी तो मेरी बहन ने मुझसे पूछा- कहां जा रही हो?मेरी बहन से मेरी खुलकर बात होती है इसलिए मैंने उसे बताया कि मैं अपने बॉयफ्रेंड से मिलने जा रही हूं. एक सिगरेट लेकर जलाई, कश लगाया … फिर फोन निकाल कर देखा … तो उसके 10-12 मिस कॉल पड़े थे.

पूरा मजा लेने के लिए मैंने दीप्ति को अपनी गोद में उठाया और उसको छत वाले कमरे में लेकर चला गया. अब तुझे चोदने के लिए मुझे इन्तजार करना पड़ेगा? मुन्ना का लण्ड तुझे ज्यादा पसन्द आ गया है क्या?अब्बू, आ तो गई हूँ.

कोमल- मंजूर है … हम भी तो देखें … तुम कैसे रिया की चुत में लंड घुसाते हो.

इस देसी सेक्स चैट कहानी में पढ़ें कि गाँव की एक देसी लड़की से मेरी बात होने लगी थी और हमारी बातें चूत चुदाई तक पहुँच गयी थी. y2mate डॉट कॉमवैसे आप सबको बता दूं कि मेरे पति का लंड साढ़े सात इंच लंबा और तीन इंच मोटा है. जय मां शेरावालीवहां रिंकी नीचे झुकी हुई थी और उसके हाथ सुनील के लंड से खेल रहे थे. सुहास मेरे पूरे बूब को मुँह में लेने की कोशिश कर रहा था, पर वो सुहास के मुँह में नहीं जा रहा था.

मैंने वहां जाकर चुपके से देखा, तो ससुर जी गांव की किसी औरत को काफी तेज गति से चोद रहे थे.

उसने कहा- दो लोग और हैं साथ में?मैंने कहा- कोई बात नहीं, इनके लिए भी मुफ्त. मैं वैसे ही खड़ी थी, तो उसने मुझसे कहा- मेरा लंड लटक गया है, उसे तुझे खड़ा करना पड़ेगा. भैया ने मेरे हाथ से गिलास लेकर साइड में रखा और इस बार सीधा बोतल से ही पीने लगे और मेरे मुँह में भी बोतल से ही पिलाने लगे.

मैं नंगी ही उठ कर दूसरे रूम में चली गयी और उनके रूम का दरवाजा ढाल दिया. निष्ठा, मेरी जान … सुहागरात में तुम्हारी दीदी भी तो इसी लंड को जैसे तैसे झेल ही गयी थी. उसको इतनी हड़बड़ी थी कि पांच मिनट के अन्दर ही सारा वीर्य अन्दर छोड़ दिया.

सेक्सी इंग्लिश बीएफ हिंदी

अब बोलने की बारी अम्मी की थी- रुकैय्या बेटी, पिछले पच्चीस साल में मैंने तेरे अब्बू से तमाम बार गुजारिश की कि मेरा गांड मराने को मन करता है लेकिन इन्होंने मेरी इच्छा कभी परी नहीं की. चुपचाप टांगें चौड़ी करके गांड को ढ़ीली छोड़ दे और गांड चुदवाने का मजा ले ले. शीला को भी ज्यादा काम नहीं था तो वो रात का खाना बनाकर 3-4 बजे तक चली जाती.

चूत में लंड जाते ही अपने आप ही मेरे शरीर ने उसकी चूत की ओर धक्के देने शुरू कर दिये.

साली जी, इसे एक बार अपने हाथों में लेकर प्यार तो करो थोड़ा सा, जैसे कल किया था.

मैं नीतू के मोम्मे चूसने लगा, कभी मसलता कभी उसके निप्पल को हल्का सा काट देता. और तुम दोनों किस विषय पर बातें कर रही हो?फिर मैंने मनु से कहा- और तू कमीनी ये सब कैसे जानती है?मनु ने मुस्कुरा कर मेरा कान पकड़ते हुए जवाब दिया- परमीत जो बता रही है, उसे मासिक धर्म का आना कहते हैं. हिंदी अंग्रेजी ब्लू फिल्मभाभी ने पहले से तो मुंह नहीं खोला लेकिन एक दो बार कोशिश करने के बाद उसने मेरा साथ देना शुरू कर दिया.

इस बार वो मना नहीं कर पायी।हम दोनों ने ही एक दूसरे को बांहों में भर लिया. मेरी नजरें कह रही थीं कि तुम भरोसा रखो, डांस तो क्या मैं तुम्हें कभी भी गिरने नहीं दूंगा … और उसकी नजरें कह रही थीं कि अब सब कुछ तुम पर छोड़ दिया है, चाहे गिरा दो, चाहे उबार लो!अब मैंने खुल कर नृत्य करना प्रारंभ किया, पायल नाम की अप्सरा से लिपटने या उसकी गोरी चिकनी कमर को पकड़ने में अबकी बार मैंने जरा भी झिझक नहीं दिखाई. वे जोश जोश में या जानबूझ कर बार बार अपने दांत मेरे मम्मों पर चुभो रहे थे … जिससे मुझे दर्द तो हो रहा था लेकिन एक नए लंड की ख्वाहिश ने इस मीठे दर्द से मुझे मज़ा दिलाना शुरू कर दिया था और मैं मीठी मादक सीत्कारें भरते हुए जीजू का साथ दे रही थी.

भाभी ने पहले से तो मुंह नहीं खोला लेकिन एक दो बार कोशिश करने के बाद उसने मेरा साथ देना शुरू कर दिया. लेकिन दूसरे ही पल खुद को सम्भालतीं और मुझे छूटने के विरोध करना शुरू कर देतीं.

पर आज माई बाबू के पुनर्मिलन की खुशी तथा उनकी चुदायी के सीन याद करते करते मैं सो गयी.

मयंक ने सोनम की नाइटी के ऊपर से ही उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया. उसकी चूत इतनी चिकनी थी कि लग रहा था कि वो सिर्फ चाटने के लिए ही बनी है. मेरा लंड खड़ा हो गया था और अन्दर की आग बढ़ रही थी, इसलिए मैंने फिर से दरवाज़ा खड़खड़ाया, लेकिन कोई ने भी दरवाजा नहीं खोला.

मेरा टाइम पास करो हर एक धक्के से मेरी सिसकी फूटने लगती और वो धीरे धीरे धक्के लगाता रहा. भाई ने मुझे झुकने के लिए कहा और मेरी गांड के छेद में सरसों का तेल लगा दिया.

मैंने उससे इस बात को विस्तार से जानना चाहा, तो उसने सारी बात मुझे बता दीं. मैंने अपनी रफ़्तार और तेज की और उसकी चीखें और ज़ोर ज़ोर से निकलने लगीं. मैंने जब जवानी में कदम रखा, तो गलत संगत में पड़ गया और मैं नशे की गोलियां का नशे करने लगा.

हिंदी बीएफ आ जाए

पहले केवल मर्द लोग ही घर का बना कुछ ले आते, पर धीरे धीरे औरतें भी आकर दे जातीं. आंटी- तू मुझे इतना क्यों घूर रहा है?मैं- ऑटी मैं आपकी साड़ी देख रहा हूँ कि आपने यह कैसे बांधी है. उसके बाद लोग अदला-बदली की क्यों सोचते हैं?जीजा जी- वो क्या है न … शादी के बाद मर्द एक चूत चोदकर बोर हो जाता है और उसे किसी नई चूत की तलाश रहती है … ऐसा ही हाल औरतों का भी होता है.

भाभी मेरे ऊपर चढ़कर मेरे ऊपर लेट गई और अपने शरीर को मेरे शरीर से रगड़ने लगी. जब मेरा माल बाहर निकला, तब चाची ने मुझे आवाज़ लगाई- ऐसा करने से पहले दरवाजा तो बंद कर लिया करो.

उनका वाइन पी जाने का इशारा साफ़ था … मैं भी मदहोश नजरों को और भी मदहोश करने की तलब से पी गया.

फिर भी क्रिया को थोड़ा दर्द हुआ। पहले मैं एक उंगली गांड में घुसा कर अंदर बाहर करता रहा फिर थोड़ी देर बाद मैंने गांड में दो उंगली डाल दी।क्रिया- प्लीज़ निकालो ना … दर्द हो रहा है. घूमने के बाद शाम को देर खाने के बाद होटल लौटे तो सब थके हुए थे तो सब अपने अपने कमरे की ओर चल दिए।क्रिया ने उस दिन लाल साड़ी पहनी थी और वो किसी भी नई दुल्हन से कम नहीं लग रही थी. संजना और शीना दोनों एक दूसरे की चूत को चाट रही थीं और मैंने अपना लौड़ा संजना की गांड में घुसाया हुआ था.

अरविन्द ने उसे चूमते हुए कहा कि अगर उसे पहले से मालूम होता कि इतना खिला गुलाब उसको मिल सकता है तो वो क्यों बासी को चूसता. उसने मुझे सिर से पैरों तक यूं लिपटा रखा था जैसे कि हम बड़े बरसों के बाद मिले हों और जल्दी ही दुबारा अलग होने वाले हों. दीदी- दरअसल हम उसकी अगली रात को वो वीडियो टीवी पर देख रहे थे, इसलिए वो कैमरा वहीं डाइनिंग टेबल पर छूट गया था … और नताशा ने रिकॉर्डिंग देख ली.

ब्रा ढीली हुई तो उसे आगे करके उन्होंने अपनी ब्रा निकाल कर मेरी तरफ फेंक दी.

हिंदी में बीएफ इंडियन: चूंकि घर में मेरी बहन, उनकी बेटी और ससुर रहते थे, तो उनको ये अच्छा नहीं लगता था कि वे सब एक ही बिस्तर पर सोएं. मैंने धक्का देते हुए कहा- जानेमन, लग तो नहीं रही न?उसने कुछ जवाब न दिया.

मगर कई बार जब मौसम खराब होता था तो घर वाले नीचे सो जाते थे मगर दीप्ति और मैं ऊपर ही सोते थे. उम्मीद करता हूं आपको भी ये पढ़ कर मजा आया होगा। जो लड़के पढ़ रहे हैं उनको अपना सलाम और जो लड़कियाँ पढ़ रही हैं उनको मेरे छोटे लंड का पैगाम।कहानी आपको कैसी लगी? नीचे कमेंट्स पर बता सकते हैं. अब सीन ये था कि स्नेहा भाभी बात तो उस लड़की से कर रही थीं, पर उनकी नजरें मेरी नजरों से मिल रही थीं.

मैं- साली रंडी कबसे बोल रही थी कि चुत फ़ाड़ दे … ले रंडी कुतिया ले … मेरा मूसल ले.

मैंने बोला- कोई वायग्रा नहीं खाई … ये देसी खाने का कमाल है … लहसुन (गार्लिक) की कड़ी खा ली. मेरे लिंग की पिचकारी चली और मैं शांत हो गया।कुछ देर ऐसे ही पड़ा रहने के बाद भाभी बोली- कुछ आराम मिला?मैं बोला- हां भाभी, अब दर्द लगभग खत्म हो गया है।अब मुझे भी लगने लगा था कि भाभी मेरे साथ संभोग करना चाहती हैं। पर मेरी अभी इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं संभोग कर सकूं।मेरा काम होने के बाद मैंने लोवर पहना और अपने रूम के लिए निकलने लगा. एक दो झटकों में ही लंड ने रफ्तार पकड़ ली और मैं पूरे जोश के साथ धक्का लगा कर कोमल की चुत चुदाई करने लगा.