पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,मस्तराम पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो चाचा भतीजी: पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ, तभी अंकल ने एक तेज धक्का मार दिया और अपना पूरा लंड मेरी चुत में पेल दिया.

ब्लू २०१७ फिल्म

नर्स चली गयी।मम्मी ने साड़ी थोड़ी ऊपर की, अंदर हाथ डाला और अपनी पैंटी उतार के साइड में रख दी।थोड़ी देर में नर्स वापस आयी- अरे आपसे कपड़े खोलने को कहा था. bhauji को काबू में कैसे करेंमैंने मौके का फायदा उठाने की सोची क्योंकि कई दिन तक जब काजल घर पर नहीं आई थी, तब मैं ही जानता हूँ कि मेरे दिल पर क्या गुज़र रही थी.

फिर भी जबर्दस्ती से मेरे शौहर ने दे दिए, तो फिर उसने वो पैसे मेरी सास को दे दिए और कहा कि बेटा कभी माँ से पैसे नहीं लेता. पिक्चर डाउनलोड करना हैमौसी को दर्द हो रहा था … और होगा भी क्यों नहीं, कितने साल बाद उनकी चूत को लंड मिला था.

मैंने अपनी पैंट खोल कर अपनी पैंट को नीचे कर लिया और अंडरवियर भी उतार लिया.पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ: इससे पहले कि नैना को मेरे खड़े लंड का एहसास होता, मैंने उसे अपने बगल में बिठा दिया और पूछा- क्या बात है बच्चा आज बड़ा प्यार आ रहा है चाचू पे … क्या चाहिए तुझे?तो वो मुस्कुराने लगी और बोली- चाचू प्लीज़ आज मूवी दिखाने ले चलो ना.

हालांकि अभी जो स्टोरी लिख रही हूँ, ये स्टोरी मेरी नहीं हैं, बल्कि मेरे एक पाठक की है, जिसका नाम उस्मान है.मैं दिल्ली का रहने वाला हूं पर काम की वजह से अधिकतर बाहर रहता हूँ। मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं.

सेक्सी वीडियो गाना पर - पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ

मैंने अपने हाथ से अपनी चड्डी नीचे सरका दी और बोली- जरा यहाँ भी कर दो प्लीज! मुझे बहुत आराम मिल रहा है.मैंने अपनी जिंदगी में इतना मजा पहले कभी नहीं लिया था जितना तेरी चूत को चोद कर लिया है.

फिर इसमें गलत क्या है भाभी?इतना कह कर मैं भाभी के चूचों को दबाने लगा और मैंने फिर से भाभी के गालों पर हाथ रख कर उनके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ मैंने पूछा- तो कितने दिन में करते हैं भैया आपके साथ?भाभी- महीने में मुश्किल से बस एक या दो बार ही करते हैं.

अब वो बोले- लाओ जरा तुम्हारा जिस्म भी तो देखें कि अंदर से तुम कितनी सुन्दर हो.

पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ?

इधर मैं कभी उसकी चूत को पैन्टी के ऊपर से चाटता, तो कभी उंगली से पैन्टी के एक हिस्से को किनारे करके चूत को चाटता या फिर जांघों को चाटता. थोड़ी ही देर में दोनों ने एक दूसरे का अच्छे से चाटकर साफ कर दिया और उसके बाद एक दूसरे से चिपक गए. दिल ही दिल में मैं चाह तो रहा था कि उसके साथ कुछ टांका फिट हो जाये.

यह कहानी बाली रानी की स्वीटी डार्लिंग, सब रानियों की महारानी, मेरी बेग़म जान, प्राणों से भी प्यारी अंजलि रानी को समर्पित है. अब आगे:मैंने अपने लंड पर कॉन्डोम पहना था इसलिये मैं एकदम से ही मोनी से अलग नहीं हुआ. उसके मम्मों का इस तरह से उठाना गिरना, उस पूरे दृश्य को और भी कामुक बना रहे थे.

”और डॉक्टर ने मम्मी की चूचियाँ पकड़ लीं और दबाने लगी।तब तक राजेश आया, मम्मी के सिर के पास खड़ा हुआ, झुका और होंठों से होंठ जोड़ दिए। भरपूर चुम्बन के बाद मम्मी बोली- राजेश ये … ये ठीक नहीं है. अन्तर्वासना की सेक्सी कहानियों के सभी पाठक पाठिकाओं, लेखक, लेखिकाओं को देव कुमार का नमस्कार. पहली बार मैंने लिंग को हाथ में लिया तो लगा कि कोई गरम लोहे की रॉड पकड़ ली है मैंने.

तो तुम्हारा टाईट क्यों हो गया?”वो तो होगा ही … आप इतनी सुन्दर जो हैं. एक बात तो ये भी सच है कि आजकल का युवा सेक्स के लिए या सेक्स करते समय इतना उत्तेजित होता है कि वो ये सब सोचने की चेष्टा भी नहीं करता।अब आपका दूसरा प्रश्न हस्तमैथुन से जुड़ा हुआ- जहां तक बात हस्तमैथुन करने की है तो इस क्रिया का आनंद लेने में कतई बुराई नहीं है.

मैंने मुँह को हटाया नहीं और चूत को पूरी तरह से चाट के सारे पानी को चाट भी गया.

मैं- तो यार … खाना खाने के बाद तुरन्त चुदाई तो हो नहीं सकती न, अब तुम जो कहो, वो कर दिया जाए.

आह्ह … उसके मुंह में जाते ही मेरे लंड को आनंद की हैवी डोज मिलनी चालू हो गई. हम दोनों खुले आसमान के नीचे दरी पर एक दूसरे से गुत्थम गुत्था हो गए. रात को सोते समय मैंने अनजाने में हुई जागृति की गर्मा-गर्म चुदाई के बारे में सोचकर मुट्ठ मार डाली.

मैंने फिर से उसकी चूची मुंह में ले ली और उसकी चूत सहलाने लगा और उसका हाथ पकड़कर अपने लण्ड पर रख दिया. हालांकि जब मैं बुआ की चूचियों को ताड़ रहा था, बुआ ने भी समझ लिया था कि लौंडा गर्म हो गया है. जो कि कालांतर में मेरे लिए बहुत प्रॉफिटेबल और परमानेंट बिज़नेस की आधारशिला बनी.

मैं ऐसी फैमिली से हूँ, जिधर से बिना बुरके के बाहर जाने की इजाजत तक नहीं है.

जब मेरा धक्का लगता तो वह रुक जाती और जब मैं रुक जाता तो वह धक्का लगा देती. मां को मेरी बात का यकीन हो गया क्योंकि उसके मन में ऐसी कोई नहीं थी हमारे खुराफाती इरादे क्या हैं. मगर मां को ये अहसास नहीं होने दिया कि मैं आंटी की तरफ आकर्षित हो रहा हूं और उसको चोदने का प्लान बना रहा हूं.

बातों बातों में मैंने पूछ लिया- यार वनिता, तेरी सास को गुज़रे हुए कितना टाइम हुआ?तो वो बोली- करीब 3 साल हो गए … क्यों पूछ रही हो?मैं बोली- बस ऐसे ही पूछ रही हूँ, वैसे तुम ससुर राजेन्द्र जी का ख्याल बहुत अच्छे से रखती हो ना. भाबी के चूतड़ इतने भारी थे कि उनके दोनों चूतड़ आपस में सटे हुए थे, जिस वजह से भाबी की गांड का छोटा सा छेद वैसे ही दिखाई नहीं दे रहा था. भाबी- हां बिल्कुल … और अब तुम्हारे जैसा लंड इसे जल्दी नहीं मिला, तो पता नहीं इसका क्या हाल हो जाएगा.

इस बार राधिका को दो पॉइंट्स, दिशा के तीन और सोनल के पास भी तीन पॉइंट्स थे.

उनके करीब जाकर मैं बोली- हां अंकल बोलो क्या हुआ … और आंटी कहां गई हैं?अंकल बोले- बेटा वो पास में सिलाई के कपड़े डालने गई हैं. अगर इस कहानी को आप धीरे धीरे पढ़ेंगे, तो आप मेरे ज़िंदगी के नए पहलू से रूबरू होंगे.

पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ उसने मुस्कुराते हुए टॉवल उठा कर झट से लपेट लिया और दरवाजा खोलने चली गयी. मामी ने मुझसे कहा- तुम पढ़ाई करना और अर्पित आ जाए, तो दोनों खाना खा लेना.

पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ रफ्तार बढ़ी, आनन्द बढ़ा, लण्ड फूलकर और मोटा होने लगा, धकाधक दौड़ते दौड़ते मंजिल आ गई और लण्ड ने पानी छोड़ दिया. रितेश और मानसी अपनी चुदाई में इतने खोये हुए थे कि उनको ये भी पता नहीं लगा कि हेतल उनके कमरे में दाखिल हो चुकी है.

ये राधिका थी, उसके बाद सोनल और आखिर में दिशा की गांड मेरे हाथों ने मसली थी.

कुत्ते घोड़े की सेक्सी वीडियो

जीजा साली सेक्स की इस कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप नीचे कमेंट करें और मुझे मेल भी करें. उसने जैसे ही मुझे सीधा लेटाया, तो मेरे दोनों तने हुए मम्मों को देखकर वो बहुत ही उत्तेजित हो गया. स्कूल में कुल छह महिला टीचर थीं परन्तु बाली मैडम के बेपनाह हुस्न के क्या कहने! मैडम अपार सौंदर्य की मालकिन तो थी हीं, उनका व्यक्तित्व भी अत्यंत भव्य और प्रभावशाली था.

मगर एक समस्या थी कि उसकी ये जो शर्म और शराफत थी वो मेरे लंड के आगे आ रहा थी. तभी मुझे जोर का करेंट सा लगा;अंकल जी ने अपने होंठ मेरी नंगी चूत पर रख दिए थे और मेरा मोती अपनी जीभ से छेड़ रहे थे. मैंने देखा कि व्हाट्सैप उसके बहुत मैसेज आए हुए थे कि मैं आज साड़ी में पटाखा लग रही हूँ.

मेरी उम्र 28 साल है और अच्छी सेहत के साथ-साथ 6 इंच लम्बे और 2 इंच मोटे लंड का मालिक हूँ। यह मेरी सच्ची कहानी है जो 2 साल पहले एक भाभी के साथ घटित हुई थी। उस भाभी का नाम सायमा था.

भाभी लंड सहलाते हुए कहने लगीं- मैंने आज तक ऐसा औजार कभी नहीं देखा था. उसको भी ये पता चल गया था कि ये मेरे साथ कुछ नहीं करेगा, तो वो भी एकदम शांत होकर मसाज कराने लगी. लेकिन बाद में ये सब मामला खुला, तो भाभी खूब हंसीं और उन्होंने भी मुझसे इसी तरह से अपनी कुंवारी गांड का बाजा बजवा लिया.

आज वो साउथ अफ्रीका में एक कंपनी में अच्छी पोस्ट पर सर्विस कर रहा है. फिर धीरे धीरे मैं उसके होंठों से हटकर उसके गर्दन पर चूमने और चाटने लगा. मैंने धीरे-धीरे एक-एक करके उसके ब्लाउज के सारे हुक खोल दिये और उसकी चूचियों को ब्लाउज से बाहर निकाल कर नंगी कर लिया.

अब वो पूरी तरह से गर्म हो गयी थी लेकिन मैं उसको अभी लंड भी चुसाना चाहता था. मुझे जो हल्की थकान महसूस हो रही थी, वो भी वाइन के नशे से गायब हो चुकी थी.

उसने मेरे कंधे पर अपना सिर रख लिया और पूछने लगी- उस दिन तुमने अपनी कैपरी में हाथ क्यों डाला हुआ था? हाथ क्यों हिला रहे थे तुम पैंट में डाल कर. भाबी ने ये कहा और लंड को दबाते हुए मुझे छेड़ा- देखो तो कितना रॉड की तरह तना हुआ खड़ा है. इसी बीच मैंने अपना दूसरा फोन जेब से निकाला और आसपास के बीयर बार की लोकेशन देखने लगा.

हम दोनों फ़ोन पे बात करने लगे कि न्यू ईयर का क्या प्लान है, पार्टी करते हैं.

मैं उसे पकड़ कर बोलने लगी- यार मज़ा दे दिया तूने आज तो।और थोड़ी देर में उसका दुबारा खड़ा हो गया. कहने लगी कि उसके पिता रोज इसी तरह से घर में शराब पीकर आते हैं और फिर लड़ाई करते हैं. उसके निप्पल कड़े होकर बिल्कुल नुकीले हो गये थे और किसी पहाड़ी की चोटी की तरह से छत की तरफ देख रहे थे.

उसके बाद नहाते हुए मैं फिर से सुमन को चाटने लगी तो सुमन बोली कि मैं थक गई हूँ. दोस्तो, आपको ये सेक्स कहानी कैसी लगी … अपने विचार मुझे ज़रूर बताएं.

मेरा आनंद बढ़ रहा था तो मैं मजे में कामुक सिसकारियाँ ले रही थी जो काफी तेज हो गई थी. जब मैंने अपनी जीभ तुम्हारी गांड में टच की, तो एक अजीब सा स्वाद लगा और उसके बाद जब मैंने तुम्हारी गांड को अपने थूक से गीला करके चाटा, तो और मजा आया. मैंने उसके बाद धीरे से उसकी एक चूची पर चुम्बन दे दिया जिससे वो सिहर उठी.

शीला की सेक्सी वीडियो

आप पहले कृपया अपने सुझाव नीचे लिखे मेल करें, तब ही मैं इसके आगे की दास्तान आपके लिए लिखूंगा.

फिर नीचे मेरे बूब्स को देखा और बोला- तेरे दूध तो बहुत छोटे हैं लेकिन तेरे फिगर में बहुत मस्त लग रहे हैं. उसको मैं इससे पहले कितनी ही बार चोद चुका हूँ मगर जब भी उसको ऐसे नंगी देखता हूँ तो लगता है कि मैं पहली बार उसको नंगी देख रहा हूं. वो बोला- सॉरी डार्लिंग, इट्स जस्ट फॉर ए मिनट देन यू विल इन्जॉए अ लॉट.

उन दोनों को सगे बाप से चूचियों को दबवाते देखकर मुझे अजीब तो लगा, पर मज़ा भी बहुत आया. अगर तुम हमारा साथ दोगी तो हम तुम्हारे साथ कोई जबरदस्ती नहीं करेंगे. चरबी कैसे कम करेंवे बोलीं- ये क्या लाया है?मैंने कहा- बियर हैं, टेंशन हो रही थी तो ले आया.

तेरी उम्र तो बहुत कम है लेकिन तेरी चूत बता रही है कि तू बहुत चुदी है. उनके मुँह चीख निकल ही गई, लेकिन भाभी ने तुरंत ही खुद को सम्भाल लिया.

मैं ज्यादा जोर से चिल्ला भी नहीं सकती थी, वरना बदनामी मेरी ही होती. मैंने तुरन्त कहा- शनिवार को तो मैं लखनऊ जा रहा हूँ, दो घंटे का काम है. उसके कुछ देर के बाद नींद की गोली ने असर किया और मानसी बोली- मुझे नींद आ रही है.

राधिका को बहुत ज्यादा मदहोशी की हालत में देखकर मेरा लंड उसकी गांड को छू रहा था. मैं जानता हूँ कि इस उम्र में सेक्स करना गलत तो नहीं है लेकिन सुरक्षित सेक्स करना भी बेहद जरूरी है। आपका ब्वॉयफ्रेंड आपसे सेक्स करने की ज़िद कर रहा है तो उसे उसी समय त्याग दीजिये क्योंकि उसे आपसे नहीं अपितु आपके जिस्म से और सेक्स से ही प्यार है. फिर मैंने उसकी गांड का छेद भी चाटा बहुत अच्छा स्वाद था और बहुत नाजुक भी.

मगर उसकी चूत मारना इतना आसान काम थोड़े ही था! उसके लिए तो पहले मुझे इस चुड़ैल का पता लगा कर उसको अपने काबू में करना था.

वह उस समय बिल्कुल नंगी थी। उसके हाथ में एक ट्रे में कॉफी थी। वो मेरे पास आकर मुझसे नाश्ता करने के लिए कहने लगी. मैंने उसकी जांघों को अपने हाथों से पकड़ कर एक धक्का लगाया, वो सिहर सी गयी और मेरा लंड फिसल गया.

मैंने अपने लंड को उसकी चुत के अन्दर करने के लिए हल्का सा झटका दिया, तो वो सिसक उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने देखा कि लंड उसकी चुत में नहीं गया, वो फिसल कर बाहर आ गया. उम्म्ह… अहह… हय… याह… आंटी की चूत पर हल्के बाल थे जो उसने कुछ दिन पहले ही शेव किये थे. फिर मैंने अपने गर्म होंठ उसकी चूत पर रख दिये तो सुमन की जोर से आह … निकल गई.

मैं- रुको न मौसी, इतना क्या जल्दी कर रही हो आप?मौसी ने खीजते हुए कहा- तू समझ नहीं रहा है, अगर कोई आ गया तो बहुत बड़ी प्रॉब्लम हो जाएगी, इसलिए जल्दी कर रही हूं, बाद में फिर कभी आराम से करना. वो रो भी नहीं पा रही थी, बस अपने नाखूनों से मेरे पीठ में चुभा रही थी. मैंने भी अपने दोनों हाथों से उसे कस लिया और किस का जबाव किस से देने लगी.

पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ फिर कुछ कलर सिलेक्ट करने के बाद उसने एक दो लैगिंग ले ली और हम वापस आ गये. मैंने आंटी की साड़ी का पल्लू खींच दिया और आंटी का ब्लाउज दिखने लगा जिसमें उसके चूचे भरे हुए थे.

जानवर और लेडीस सेक्सी फिल्म

प्लीज मेरी आपसे इल्तजा है कि आप पहले मेरी पहली वाली कहानी पढ़ लें, फिर इस अगली कहानी को पढ़ें. जब वो अच्छे से पाद चुकी, तो मुझसे बोली- मेरे पादने का तुम बुरा तो नहीं माने न?मैं- नहीं मैं क्यों बुरा मानूंगा. मैं लंड को सहलाने लगा और बस मुठ मारने ही वाला था तभी भाभी की आवाज आई- प्रणय!उनकी इस आवाज से मेरा लंड एकदम से ढीला हो गया और मैं जल्दी से पेशाब करके तुरन्त बाथरूम से निकल कर भाभी के पास चला गया.

उसको दर्द होने लगता और उसकी आंखों में पानी आ जाता, दर्द से भाभी बोलती- आह धीरे करो मेरे को अन्दर लग रही है … मेरे हज़्बेंड का इतना लम्बा नहीं है … प्लीज़ थोड़ा धीरे करो. अचानक हुए इस हमले को मैं सह नहीं सकी और जोर जोर से चिल्लाते हुए रोने लगी. हिन्दी सैक्सभाभी बोलीं- देवर जी, आज तो तुमने मुझे ऐसा मज़ा दिया है कि मैं क्या बताऊं.

मेरे कई सारे ऐसे मर्द दोस्त हैं जो तेरी इस चुदक्कड़ प्यासी चूत की गर्मी को शांत कर सकते हैं.

मैंने बोला- अच्छा जी … सही है और बताइये क्या प्लान है?वो बोली- मेरा कोई प्लान नहीं है, मैं तो फ्री हूँ. चूंकि वो मेरे जिले का था, मैंने प्रॉब्लम नजरअंदाज करते हुए फाइल साइन कर दी.

ये अन्तर्वासना पर मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, अगर कोई ग़लती हो, तो प्लीज़ माफ़ कर देना. मैंने पूछा- क्यों ज्यादा दर्द हो रहा है?आतिशा बोली- हां, थोड़ा धीरे धीरे चोदिए. उफ्फ्फ … क्या मस्त 32-29-36 का फिगर था भाभी का … मेरे से तो रहा ही नहीं जा रहा था.

वहाँ जाकर उन्होंने बताया- यहाँ कोई काम से नहीं आये हैं हम … यहाँ बस मैं तुझे चोदने के लिए लाया हूँ.

उसका भरा हुआ बदन और नाज़ुक से रसीले होंठ मुझे अपनी तरफ बुला रहे थे. अब मैं केवल चड्डी में थी क्योंकि उस ड्रेस के साथ ब्रा नहीं पहनी थी. उन्होंने कहा कि हमने तो पहले भी वार्निंग दी थी, पर आपको तो मोटे लंड पसन्द हैं ना.

विश्व सेक्स वीडियोमैंने अपनी जीभ उसकी चिकनी चुत में लगा दी और कुत्ते जैसे उसकी चुत को चाटना शुरू कर दिया. उन दोनों को सगे बाप से चूचियों को दबवाते देखकर मुझे अजीब तो लगा, पर मज़ा भी बहुत आया.

हिंदी सेक्सी 18 साल की लड़की की

तभी मैंने देखा कि नीना अपनी चूत से बाप का मुँह अलग करके बोली- पापा, मेरी भी दीदी की तरह उंगली से चोदते हुए थोड़ी चूचियां पीजिए न. मेरा दोस्त ज्योति आंटी के मुंह में लंड डाल कर उनको अपना लंड चुसवाने लगा और मैंने आंटी की चूत की चुदाई शुरू कर दी. इस तरह की पॉर्न सामग्री में अधिकतर पुरुषों को सेक्स पिल्स देकर काम करवाया जाता है ताकि उनका लिंग लंबे समय तक योनि भेदन कर सके.

करीब 4 से 5 बार धीरे-धीरे यह कार्य करने के बाद रीना ने अपनी गति बहुत तेज कर दी और वह अपनी गांड को विक्रम का लंड अपनी चूत में समाहित किए हुए जोर-जोर से उठा कर गिराने लगी।रीना के कूल्हे और विक्रम की जांघों के बीच टकराने के कारण पूरे कमरे में पट-पट की जोरदार ध्वनि आने लगी। यह ध्वनि इतनी तेज थी कि बगल के कमरे में चुदाई कर रहे राजवीर और वीणा भी आसानी से सुन सकते थे. दिशा भी अब मेरे साथ चुदाई का मजा ले रही थी और मोन कर रही थी- आह आह ओह अआ अह आह ओह फक मी ओह जीजू!राधिका अपनी चूत में उंगली डाल कर बोली- वाह मेरे राजा … दो नई चूतें क्या दिला दीं, तुम तो अपनी बीवी को ही भूल गए. वसुन्धरा के हाथ अब अटैची-केस के हैंडल से हट चुके थे और अब वो सहजता से सीट की पुश्त से पीठ लगाए, गोदी में रखे अटैची-केस पर अपने दोनों हाथ टिकाये बाएं हाथ की तर्जनी उंगली पर दायें हाथ से दुपट्टा लपेट-खोल रही थी.

फाइनल ईयर में हूँ। यह कहानी मेरी और मेरी बहन की है। मैं अपनी बहन को काफी दिनों से चोद रहा हूँ। इसके बारे में मैं आपको अगली कहानियों में बताऊंगा कि हम दोनों के बीच सेक्स और चुदाई की शुरूआत कैसे हुई। जब से बहन के साथ सेक्स करना शुरू किया था उसके बाद से ही बात अब काफी बढ़ चुकी थी. फिर मैंने कहा- कसाई कैसा है?तो सारा ने कहा- अरे बड़ा जालिम है, लेकिन प्यारा और मस्त है. भाई ने ये कहते कहते मेरी टांगें फैला दीं और अपना लंड सैट करके मेरी चूत में डाल दिया.

हम दोनों ने अपने कपड़े पहने और जल्दी से घर जाने की तैयारी करने लगे. गुप्ताइन बोली- पता नहीं क्या हुआ, हमारा केबल खराब हो गया है और बिना टीवी के इनका खाना हजम नहीं होता.

अंकल जी, मैंने आपके लिए ही बचा कर रखी है अब तक!” मैंने शरमाते हुए कहा.

जितना भी मुँह में जा सकता उतना ले लेता फिर जीभ की नोक बना कर निप्पल पर ठोकर मारता तो कभी निप्पल पर गोल गोल जीभ घुमाता. भाई ने छोटी बहन कोहर औरत को पहली पहली बार दर्द तो होता ही है और उसे उस दर्द को बर्दाश्त करना पड़ता है. ક્સક્સક્સएक दरवाजा पीछे की तरफ भी बना हुआ है लेकिन हम लोग कभी साल-छह महीने में भी उसका प्रयोग नहीं करते हैं. पहले उसकी कुंवारी चूत की चुदाई के बारे में सोच कर मुट्ठ मारता हूँ और उसको याद करते हुए सो जाता हूँ.

मैं अनुमान लगा रहा था कि अब मेरी बहन यही सोच रही होगी कि मैं उसको अब यहीं पर चोदने वाला हूँ.

उसके बाद उसने कहा- तुम बार की लोकेशन ही सर्च कर रहे थे न? तुम्हें भी बीयर बार जाना है क्या?मैंने कहा- हां इधर बैठ कर क्या करूंगा. जीजू ने उसके चूतड़ों को दबाते हुए उसकी गांड के छेद को सहलाना शुरू कर दिया. लड़का चाहे +2 पास/फेल हो लेकिन अगर बिज़नेस में दो तीन लाख़ रुपया महीना कमाता हो तो उसको सी ए, एम बी ए, कॉलेज की प्रोफ़ेसर, यहां तक कि आई ए एस, पी सी एस लड़की भी आम मिल जाती है.

आंटी- अरे कुछ तो शर्म किया करो … उस्मान आपके बच्चे की उम्र का है और आप उसे ये सब सिखा रहे हो?अंकल- तू इसे बच्चा कह रही है. वो एकदम सिसक रही थीं और उनके मुँह से कामुकता से आह्ह … निकल रही थी. बियर खत्म होने पर मैंने उसकी उस कोमल चूत को चाटने लगा और साथ ही साथ उस प्री-कम रस का भी मजा लेने लगा, जो शायद उसके ज्यादा उत्तेजना के कारण निकल आया था.

हिंदी सेक्सी -youtube

मैंने टीवी बंद किया और उठा कर किचन की तरफ जाने लगा, तो किचन की ओर से आती हुई मामी अचानक मुझसे टकरा गईं. मैंने ऐसी माल, ऐेसी चुदक्कड़ लड़की अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखी थी. सुमेर बोला- इसे तुम जब मर्जी चोद लेना पर ये राज किसी पर जाहिर मत करना, बेचारी लड़की बदनाम हो जाएगी.

मैंने उसे बताया तो वो मुझसे लिपट गई और हम दोनों ने रात को साथ रहने की बात पक्की कर ली.

मेरा मन तो कर रहा था कि अभी लंड डाल कर चोद दूं, लेकिन फट भी रही थी कि बुआ जाग न जाएं.

इसके तुरंत बाद आंटी ने मेरी गोद से हट कर मेरा लोअर, चड्डी समेत नीचे खींच दिया. कुछ ही देर में मेरा मन करने लगा था कि दीदी ओर जीजा जी का सेक्स देखूँ. लेडीस पुलिस की सेक्सी पिक्चरउन्होंने कहा- इससे पहले कभी भी इतनी देर तक चुदाई नहीं हुई और न ही इतनी अन्दर तक मैंने लंड को महसूस किया.

महेश को उसकी कंपनी ने दिल्ली में फ्लैट दिया था, जिसमें वो अपनी बीवी और दो बच्चों के साथ रहता था. उसने दोबारा से मेरा लंड मुंह में ले लिया और मेरी गांड पर हाथों को दबाकर उसे जोर से चूसने लगी. और धीरे-धीरे मैंने अपनी दसों उँगलियों को ऊपर की ओर जुम्बिश देनी शुरू की और अपनी हथेलियाँ ठीक ऐसे ऊपर को उठाने लगा जैसे छतरी बंद करते हैं.

फिर उसने मेरे पूरे जिस्म को चूमना चाटना शुरू कर दिया, मैं भी उसका पूरा साथ देने लगी. मगर फिर सोचा कि देखूं तो सही ये हरामी आखिर है कौन जिससे सुमिना अपनी चूत चुदवा रही है.

मेरा बदन अब तक अच्छा खासा भर चुका था, मेरे चेहरे पर लुनाई आ गई थी, मेरी ब्रा का साइज़ भी बदल गया था और मैं पूरी तरह से माल बन चुकी थी.

कुछ देर तक उसके चूचों को चूसने के बाद मैंने उसकी पैंटी को निकलवा दिया और उसको नंगी कर दिया. मैं उसे निकालने को बोल रही थी, पर वो पूरे ज़ोर से मेरी गांड मारे जा रहा था. मैं आप सबको बताना चाहता हूँ कि यह कहानी बिल्कुल सत्य घटना है, कोई मनघड़न्त बकचोदी नहीं है.

क्सक्सक्स स माहौल कुछ हल्का हुआ तो मैंने बताया- मैं तुम्हें स्कूल के समय से ही पसंद करता हूँ. राधिका ने कहा- क्यों ना चुदाई से पहले हम सब थोड़ा थोड़ा कुछ खा लें, फिर बाद में हम चुदाई का दंगल शुरू करेंगे.

”प्रिया और मेरे सम्बन्धों के बारे में मेरी कहानीहसीन गुनाह की लज़्ज़त-1पढ़ें!ख़ैर! प्रिया के पापा, यानि मेरे साढू भाई के स्वर्गीय ताऊ जी के एक बेटे बहुत सालों से शिमला में सेटल्ड थे. पहले तो मैं थोड़ा घबरा रहा था क्योंकि मैं इससे पहले कभी किसी शादीशुदा औरत से नहीं मिला था. वो बोली- देखते ही रहोगे या कुछ करोगे भी?मैंने भी बोला- पहले देख तो लें कि स्टार्ट कहां से करना है.

वेस्टइंडीज सेक्सी वीडियो हॉट

भाभी की गुलाबी चूत देख कर मेरी लार टपक गई … उनकी चूत पे एक भी बाल नहीं था. पहले दिन ही स्वीटी को देखते ही मेरी पूरी बॉडी में करेंट सा दौड़ गया था. वैसे हम लोगों के रूम के आगे काफी बड़ा ग्राऊन्ड है, जो खाली पड़ा रहता है.

उस पूरे दिन में मुझे बुआ से अकेले में बात करने का कोई मौका नहीं मिला. फिर मैंने अपने आपको संभाला और बोला- ठीक है तो फ्रेंडशिप तो कर सकती हो न?इस पर उसने हां बोल दिया.

उस दिन हमारे प्यार में वो सुर्खी थी कि मैंने अपनी जान को उस दिन 4 बार चोदा.

मैंने जोर से अपनी आँख बंद कर ली क्योंकि मैं जान गई थी कि अब वो काला मोटा लंड मेरे शरीर के अंदर जाने वाला है।उन्होंने मेरे होंठों को आजाद कर दिया. मिलिट्री से अर्ली रिटायरमेंट लेकर शिमला में ही सरकारी ठेकेदारी में जम कर पैसे कूट रहे थे. रोजाना की तरह ही जब तक मैं नहा कर बाहर आया तो मोनी अपनी पड़ोसन के घर जा चुकी थी.

हर हफ्ते पार्लर जाती है और वैक्सिंग भी टाइम से कराती है। मुझे हर रोज फ्रेश मॉल मिलता है।मैंने आइस क्यूब को उसकी कांख पर रगड़ना चालू किया। वो उतेजना के मारे छपटाने लगी. रफ्तार बढ़ी, आनन्द बढ़ा, लण्ड फूलकर और मोटा होने लगा, धकाधक दौड़ते दौड़ते मंजिल आ गई और लण्ड ने पानी छोड़ दिया. अब उन्होंने मेरी टी-शर्ट थोड़ी सी ऊपर करके मेरी नंगी कमर में हाथ लगा दिया.

जैसे ही लंड अन्दर गया, माँ चिल्ला उठीं- क्या कर रहे होओ ओओह … इतनी टाइट चुत को फाड़ोगे क्याआ … धीरे डालो ना जरा … आअ अहह … आज तो मार ही दिया.

पिक्चर सेक्सी वीडियो बीएफ: जब निहारिका आई, तो मैंने उसको समझाया- निहारिका, जो रात को हुआ, मैं उसके बारे में कुछ नहीं बोलूंगी. उसको भी ये पता चल गया था कि ये मेरे साथ कुछ नहीं करेगा, तो वो भी एकदम शांत होकर मसाज कराने लगी.

मैंने पूछा- तुम्हारे हाथ काम्प क्यों रहे हैं? तुम शर्माओ मत … खुल के मालिश करो. मैंने पांच मिनट बाद अपना रस दिशा के चूतड़ों के ऊपर निकाला और खुद को साफ़ करके बाहर आ गया. उसने अपनी स्कर्ट कमर तक उठा ली और अपनी चूत को मेरे लण्ड से सटा लिया.

उसने मेरी चूत पर थूक लगाया, और अपना लंड मेरी गीली हो चुकी चूत के दरवाजे पर रखा और धक्का लगाया.

किन्तु लड़की को चोदने का मैं कच्चा खिलाड़ी था और अब तक यह जान चुका था कि गांडू लौंडों की गांड मारने और लौंडियों को चोदने में बहुत फर्क होता है. उसने मेरा हाथ उठाकर वापस रख दिया, अपना टॉप ऊपर करके अपनी दोनों चूचियां आजाद कर दीं और मेरा हाथ उठाकर फिर से अपनी चूची पर रख दिया. नम्रता के चुचे के उतार-चढ़ाव के देखते ही मेरे लंड में सुरसुराहट होने लगी.