एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर वीडियो में सेक्सी हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो कैटरीना: एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ, प्रीति को देख कर लग रहा था कि उस पर शराब का और मुझ पर उसका नशा छाने लगा है.

बीएफ सेक्सी गंदी फिल्में

मैंने बाथरूम में जाकर ड्रेस चेंज की और खुद को आईने में देखकर मेरे मुँह से आह निकल गयी कि कोई इतनी हॉट कैसे हो सकती है. सेक्सी पिक्चर जंगल में मंगलतो मैंने अनीता को बांहों में जोरों से जकड़ लिया और कहा- साली कुतिया, तुझमें बहुत आग है, चल मुझे अपनी अगन से पिघला दे.

फिर हमने एक ही तौलिया अपने तन पर लपेट लिया और धीरे धीरे एक दूजे को चूमते चाटते हुए एक दूसरे के शरीर को पोंछा। इसके बाद मैंने उसे अपनी गोद में उठा लिया. औरत के फोटोलण्ड की मसाज करके थोड़ी सी क्रीम मैंने अपनी हथेली पर ले ली और मनजीत के पीछे आकर उंगली में क्रीम लगाकर उसकी गांड में चलाने लगा.

उधर मेरे एक फ्रेंड का रूम है, हम लोग उस रूम पर मिले और दोनों ने बातें कीं.एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ: तुम्हारी मालिकन को सिर्फ ये ताड़ना पसंद नहीं है, उसको एक काबिल मर्द भी चाहिए.

चूंकि और कुछ ज्यादा करने को कुछ था नहीं तो इस बार नीचे के हिस्से की शामत आई रही.और उसके बाद जल्दी से कपड़े धो लेना फिर हम दोनों मिलकर तुम्हारी पसंद का नाश्ता बढ़िया बनाते हैं।”हो … ठीक है।” सानिया गंभीर हो गई थी शायद वह मेरे इस प्रस्ताव के बारे में जरूर सोच रही होगी। वह धीमे कदमों से बर्तन समेट कर रसोई में चली गई और मैं बाथरूम में।[emailprotected]इंडियन देसी हॉट गर्ल की कहानी जारी रहेगी.

घड़ी के बीएफ वीडियो - एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ

नेहा अपनी नजर की कटार और थिरकते होंठों से सैलाब लाने की कुव्वत रखती थी.मुझे सेक्स कहानियां पढ़ने का बहुत शौक था जो अभी भी वैसा का वैसा बना हुआ है.

मैंने बोला- बताऊं!उसने आखें नचाईं … तो मैंने आगे बढ़ कर उसके गाल पर चूम लिया और बोला- मुझे तो ये पसंद है. एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ मुस्कुरा कर मैंने अपना सर हां में हिलाया और स्टेज पर प्रतिभा के साथ पहुंच गया.

मैंने पहली बार उसके ललाट को चूमा और उसे कंधों से पकड़ कर अपने सामने रखकर कहा- एक बार फिर सोच लो, तुम एक अजनबी से दिल लगाने की गलती कर रही हो!नेहा ने एक लंबी गहरी सांस ली और आंखें मूंद कर कहा- जब मैं होटल में जॉब करने आई, तब पता चला कि होटल में लड़की को ग्राहक सिर्फ़ भोग का सामान समझता है.

एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ?

बातें करने पर पता चला कि हम दोनों की पसंद आपस में काफी मिलती जुलती थीं. कुछ देर इसी तरह लेटने के बाद भाभी ने मुझसे अपने ऊपर से उठने को कहा. मौसम ही इतना ठंडा है, इसमें उनकी क्या गलती?रिंकी- बदमाश … मैं वैसे भी तुम्हें अपनी गांड में लंड नहीं डालने दूंगी.

वो बीच बीच में मेरी चुत के दाने को अपने दांतों से पकड़ कर खींच देता था … जिससे मैं और बेकरार हो जाती. राजे तू तो एक अनोखा ही आइटम है … तूने यह टेस्ट देकर मुझे भावुक कर दिया … मैं बहुत किस्मत वाली हूँ जो तू मिल गया … कोई झूठा वादा नहीं, कोई चूत के पीछे पागलपन नहीं … मैं सदके जाऊँ तुझ पर राजे. मैंने सरोज से कहा- यह तो आपने कमाल कर दिया, बहुत ही पक्का अरेंजमेंट किया है.

पिछले कुछ महीनों से पहली बार सेक्स में मैं जल्दी स्खलित होने लगा था. मैंने बाद में नाम जानने की बात पूछी तो बताया गया कि हमें सभी मेहमानों की फोटो दिखा दी गई थी और पूरी सुविधा प्रदान करने के निर्देश दिये गये हैं।स्टेशन के बाहर लगभग दस एक जैसी महंगी गाड़ियां खड़ी थी, जिनमें से एक में मुझे बिठाया गया और तीन और गाड़ियों में उन मेहमान फैमिली को बिठाया गया. अंकिता भाभी ने मुझे वहां बाइक रोकने को कहा और बाइक रोड से उतार कर जंगल वाले एरिया में ले जाने को कहा.

इससे मेरा ध्यान उसकी बड़ी बड़ी चुचियों पर चला गया और मेरा लौड़ा खड़ा हो गया. वो भी मेरा बेसब्री से इंतजार कर रही थी इसलिए वो बहुत खुश हुई और मुझे जल्दी घर आने के लिए बोला। मेरा भी जाने का बिल्कुल मन नहीं कर रहा था.

मेरी थ्रीसम सेक्स हॉट स्टोरी में पढ़ें कि एक 60 साल के मैच्योर मर्द से मेरी दोस्ती हुई.

मैंने उसकी गर्दन को चूसते हुए बाइट के निशान दे दिए और लगातार पूरी गर्दन पर दांतों के निशान बना कर लाल कर दी.

भाभी- तुम मेरा बहुत ध्यान रखते हो, रजत के ना होने के बावजूद मैंने 6 महीने से अपने आपको कभी अकेला नहीं पाया. मैं चाहता था कि वो जल्दी से झड़े और मैं उसकी चूत का अमृत जैसा रस पी जाऊं. गर्मी के कारण मैंने अपना पलंग पंखे के नीचे खिसका लिया, जिससे मेरे और नीरजा के बीच दूरी खत्म हो गई.

मैंने बोला- पहले मैं सोच रहा था कि आपको योग बता दूं, फिर जो भी आप पिलाओगी, मैं पी लूंगा. जैसे जैसे मैं चुदाई की रफ़्तार बढ़ाता गया, प्रीति जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी- अह्ह्ह … उम्म … बहुत मजा आ रहा है अजय … हाये … चोद दो … मेरी चूत को खोल दो अजय … आह्ह अजय … ओह्ह अजय … फक मी … आह्ह … फक मी … जोर से।चुदते हुए वो बोली- अजय, लगता है तुमने तो सेक्स में पीएचडी कर रखी है. याद आया बुखार में अन्न को अवॉयड करना चाहिए, पर आप क्या ऐसे भूखे ही रहोगे, कहो तो कुछ और बना दूं?” उसने चिंतित स्वर में पूछा.

पम्मी मेरे सीने से चिपक गई और बोली अब मैं भी उससे लेस्बो नहीं करूंगी.

ईस्स्स … की मधुर आवाज और बदन की सिहरन के साथ ही नेहा के रोम रोम का झंकार बाथटब के जल को तरंगित कर गया. मैं भाभी की चूत में धीरे धीरे लंड को पेलते हुए चुदाई का मजा लेता रहा. मैं गुरुग्राम में एक बिल्डिंग के टॉप फ्लोर पर रहता था, जहां पर एक कमरा, छोटा सा किचन और टॉयलेट था.

यह कहते हुए मैंने अपनी जैकेट की पॉकेट से वोडका की बोतल निकाली और पास में रखे गिलास उठाये. क्योंकि दीपक ने भाभी की चूत का सत्यानाश कर रखा था।हम लोग चारों थोड़ी देर सोने की तैयारी कर रहे थे. मैंने भाभी से कहा- भाभी अब आगे कैसे प्रोग्राम होगा?भाभी मुस्कुरा दीं और बोलीं- देखते जाओ.

अब आगे:फिर मैंने मम्मी को घुटने के बल बिठाते हुए सीधा खड़ा कर दिया और मैं भी अपने घुटने के बल खड़े होकर उनके जिस्म से सट गया.

शायद आज मेरा सपना सच होने जा रहा था जो मैंने 2 साल पहले प्रीति को बताया था. सच बताऊं दोस्तो … मामी की चुत मारने से ज़्यादा मजा तो उनकी गांड मारने में आ रहा था.

एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ मैंने उसे पहले दिन से ही नोटिस करना शुरू कर दिया था और वो शुरू से ही मुझे घूर कर देखा करता था. सरोज ने गप्प से मेरा सुपारा अपने मुंह में ले लिया और प्यार से उसके ऊपर जीभ फिरा फिरा कर चूसने लगी.

एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ मेरे कानों से लेकर गांड के छेद तक और मेरी चूत से लेकर मेरे पंजों तक मेरे शरीर का कोई अंग उन्होंने चाटे बिना नहीं छोड़ा. चाचा ने अपनी बनियान उतार दी और हमें अपने पास खींचकर हमारा कुर्ता ऊपर उठा दिया.

इतने सुनील ने अपना कच्छा उतार दिया।मैंने देखा कि उसका लंड खड़ा होना शुरू हो गया है.

बीएफ का सेक्सी फिल्म

लेकिन ऐसा हो न सका और मैं आज भी उस पल के लिए तड़प रहा हूँ कि आपका हाथ अपने हाथ में लेकर अपने दिल की बात कह सकूं, आपकी गोद में सिर रखकर अपना मन हल्का कर सकूं. भाभी कहने लगी- राज, बताओ कमरा पसन्द आया?मैंने कहा- भाभी कमरा तो एकदम आलीशान है लेकिन इसका किराया कितना है?भाभी बोली- जो तुम देना चाहो दे देना. मैं जोर से सिसकार उठी- आह्ह … आऊऊ … ओह्ह … यस … लिक इट (चाटो इसे)। मैं अपने चूतड़ों को उसके मुंह पर रगड़ने लगी.

मैं नहाने के बाद काम से गया और वापस आकर एक बार फिर से भाभी के साथ चुदाई के मजे लेने लगा था. रमेश- हां होगी क्यों नहीं!रवि- हां पता है, तू तो यही बोलेगा कि नाम तेरी बेटी वाला ही है. आते ही हम दोनों एक दूसरे से लिपट गये और जोर जोर से एक दूसरे को चूसने लगे.

इस लाइव वीडियो सेक्स चैट के द्वारा मुझे मेरी कुछ दबी हुई बाप बेटी की चुदाई की कामुक लालसाएं जानने में मदद मिली.

जैसे ही उसने पहला घूंट मुँह में डाला, उसे समझ में आ गया कि इसमें बियर है. शीला के आदमी के आने के बाद, राजेश ने ये उसके आदमी से यह कह दिया कि जब तक लॉक डाउन है, शीला यहीं रहेगी. उसे कुछ तो करना पड़ेगा डैड को रोकने के लिए।सोच कर वो बोली- सेठ, मेरी चूत की कीमत ही सिर्फ दस हज़ार है.

मैं उसके ऊपर आ गयी और उसकी जांघों के बीच में बैठते हुए मैंने अपनी चूत में उसका लंड ले लिया और कूद कूद कर चुदने लगी. जीजा साली सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मेरी बड़ी साली की चुदाई के बाद हम दोनों की वासना ज्यादा भड़कने लगी. अगर मैं उस समय रुक जाता तो फिर हम चुदाई नहीं कर पाते। अब सच बताओ बाद में मजा आया कि नहीं?हां, थोड़ी देर के बाद बहुत मजा आया था। ये सुहागरात मुझे हमेशा याद रहेगी। लव यू जानू”अभी सुहागरात पूरी कहां हुई है। पूरी रात तो वैसे ही पड़ी है.

मैंने भी उनको किस किया और बोला- मामी मुझे इतना खुश करने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया. फिर …अच्छा जीजू सुनो तो सही एक मिनट!” निष्ठा ने मुझे पकड़ कर फिर से हिलाया.

अब आगे की हॉट बेडरूम सेक्स स्टोरी:अगले रोज सुबह मैं यूनिवर्सिटी चला गया और सायं 5 बजे वापिस आया. मैंने शुरुआत में धीरे धीरे धक्के मारे और पूरा लंड भाभी की चूत में बच्चेदानी तक उतारने लगा. दिन में उंगली डालने से मेरी चूत में जो दर्द हुआ था अब उतना नहीं हो रहा था और मैं मजा लेने लगी.

मैंने उससे बोला- एक बार फिर करते हैं!मेरे बोलते ही उसने जल्दी से अपने कपड़े निकाल दिए और मेरा लंड बाहर निकाल कर चूसने लगी.

मैं- लंड बाहर निकाल लूं क्या?नीरजा- नहीं बाहर मत निकलना, वरना फिर से अन्दर डालेगा … तो फिर दर्द होगा. खैर, मैं प्रीति को सबसे पहले ऊँट की सवारी (कैमल सफारी) कराने के लिए लेकर गया. मैंने उसके सिर को लंड की तरफ झुकाया। उसने झट से लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

ऐसा लग रहा था कि भाभी को भी इस पोजीशन में चुदना पसन्द आया। भाभी सिसकारियाँ लेते हुए फिर से झड़ गईं। मैं नहीं झड़ा था इसीलिए मैं धक्के लगाए जा रहा था तो भाभी ने मुझे रूकने के लिए कहा. पर वो दर्द हर लड़की के जीवन में एक बार सहना ही पड़ता है, तो आज ही क्यों नहीं.

बाथरूम की पीली लाइट्स की रोशनी में उसकी दूधिया त्वचा सोने के जैसी चमक उठी. मेरे चेहरे पर मुस्कान तैर गई, वैसे तो मैं किसी के साथ कुछ नहीं करना चाहता था क्योंकि मेरे लिए तो पहले ही बहुतों की लाइन लगी हुई थी. उनके पेरेंट्स को मनोचा दंपत्ति ने ये विश्वास दिलाया कि इन बच्चों को खाने-पीने की कोई दिक्कत वे नहीं होने देंगे.

हिंदी बीएफ फिल्म चोदने वाली

मगर अभी तक मैंने सिर्फ अपनी मां को केवल बाथरूम में नंगी नहाते हुए ही देखा था.

अपने उरोजों को दोनों हाथों से भींचा और मुझे चिढ़ाते हुए उनके साथ खेलने लगी. लंड से चुदते हुए उसके चेहरे पर आनंद के भावों के साथ एक तृप्ति के भाव वाली मुस्कान तैर रही थी. मैं- प्रीति जी, आपका आदेश सिर आंखों पर। आप भी जिंदगी भर राजस्थान की मेहमान नवाजी को याद करोगी और मुझे उस दिन का बेसब्री से इंतजार रहेगा जब आप यहां आयेंगी.

मुझे मालूम नहीं था कि अंकल और आंटी अपनी बड़ी लड़की से मिलने चंडीगढ़ गए थे और उनको 4-5 दिन बाद आना था. कुछ ही पल में उसने अपनी जीभ मेरे मुँह के अन्दर डालनी शुरू कर दी थी. बीएफ खुल्लम-खुल्ला चोदी चोदाजावेद- तो फिर उतारो अपना अंडरवियर!मैंने अपना अंडरवियर फौरन उतार कर पलंग के सिरहाने रख दिया और सलीम भाई के बगल में नंगा लेट गया.

आपने मेरी कहानियों को बहुत प्यार दिया, उसके लिए आपका शुक्रगुजार हूँ. सुनो, तुम मेरी कमर और जांघों को दर्द निवारक बाम से मसाज कर सकते हो क्या?मैं- हां जरूर, मैं आपकी ऐसी मसाज करूंगा कि आप आज रात को भी सिसकारने के लिए मजबूर हो जाओगी.

इसलिए मैंने रंजु की कमसिन चूत से टपकता वीर्य लेकर भाभी की गांड के छेद पर लगा एक ज़ोर का धक्का लगा दिया. अस्मि- हैलो हैंडसम! क्या तुम यहां पर बाप बेटी की चुदाई का मजा लेने आये हो?मैं- सौतेली बेटी! मैं अपनी सौतेली बेटी की चुदाई के लिए यहां पर आया हूं. बुआजी इतना बड़ा कैसे ले पाती होंगी?मैं बोला- जब तुम एक बार ले लोगी, तब तुमको मालूम पड़ जाएगा.

बिन्दू ने नीचे देखा तो कहने लगी- आप चलो, मैं बीच वाले पोर्शन में जाकर इसे प्रेस से सुखा कर आती हूँ. दोनों ने कुछ ही पल में मेरी लेखनी की जम कर तारीफ़ करते हुए कहा- आप लेखन में तो माहिर हैं ही, आदमी भी बहुत अच्छे हैं. इंडियन सेक्स हिंदी कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने भाभी की बड़ी बेटी को रसोई में काम करते करते ही चोद दिया.

मैं- तुम ये क्या बोल रहे हो विक्की?वो बोला- ओह्ह चलो भी यार, मैं जानता हूं कि तुम्हें एक गुलाम पार्टनर की इच्छा होती है.

मैंने कहा- ठीक है, थोड़ी देर रुको, मैं कुछ जुगाड़ करता हूं इसके लिये।सुमीना का फोन काटने के बाद मैंने शिवानी को कॉल किया. उसके कुछ देर बाद फिर से दोनों चूमा चाटी में लग गये और फिर से गर्म हो गये.

फिर मैंने नेहा से कहा- नेहा, तू साली पाजामा ही पहन कर बैठ गयी? जीन्स या कोई और ड्रेस पहन लेती?वो हँसते हुए बोली- कुछ भी पहन लो, क्या फर्क पड़ता है. उसके साथ सेक्स वीडियो चैट करके मुझे वो खुशी मिली जो मुझे बीवी के साथ मिल पाना बहुत मुश्किल था. थोड़ी ही देर के बाद उसका बदन अकड़ गया और सुमीना भाभी की चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया.

फिर मैंने अपनी दूसरी हील भी निकाल दी और वो दोनों पैरों को चाटने लगा. मैंने बता दिया: पहले वाली बेबी रानी की थी और बाद वाली गुड्डी रानी की. मैंने कॉल उठाया तो सामने से एक प्यारी सी आवाज आई- हैलो राज, मैं नैना बोल रही हूं.

एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ फिर गुड्डी रानी ने मेरा लौड़ा चाट के साफ़ किया और बेबी रानी ने गुड्डी की चूत को जीभ से साफ़ किया. दोस्तो, भाभी ने मुझसे बात करना शुरू किया … हम दोनों का इतना मन लगा कि रात के 3 बजे तक बातचीत होती रही.

चूत की चुदाई बीएफ सेक्सी वीडियो

अब उसके होंठ मेरे होंठों में कैद थे और उसके भीगे भीगे मखमली स्तन मेरे हाथों में कैद थे. ” सानिया ने कहा तो जरूर पर मुझे लगता है अब यह दर्द उसके लिए असहनीय नहीं रहा है।मैंने उसके गालों और होंठों पर फिर से चुम्बन लिया और फिर उसकी बंद आँखों पर भी चुम्बन लिया। मेरे ऐसा करने से उसके शरीर में झनझनाहट सी होने लगी थी।सानू जान मेरी प्रियतमा … अपनी आँखें खोलो. बेस्ट इंडियन सक्सी स्टोरी में पढ़ें कि एक शादीशुदा लड़की के बुलाने पर उसके घर जाकर मैंने उसे सेक्स का लाजवाब मजा दिया.

लड़की- और ये दूसरा सेठ दिखाई नहीं दे रहा?रवि- बाथरूम में गया हुआ है, बस आने ही वाला होगा बाहर। तुम बताओ क्या पिओगी? रम या वोदका?लडकी- नहीं सेठ, अपने को तो बीयर ही चलती है।रवि ने दो गिलास लगा दिये. मेरे हाथ उसकी पीठ और कमर को सहला रहे थे और हमारे होंठ एक दूसरे के होंठों में जैसे सिल गये. বেঙ্গলি বিএফ সেক্স ভিডিওचुदाई के दौरान उसकी जंघा और कूल्हों से मेरी जंघा और शरीर के टकराने वाली थाप और भी मनमोहक लग रही थी.

अब मैं बेतहाशा अपनी क्लिट को रगड़ रही थी और बहुत तेजी से उसके लंड पर ऊपर नीचे होकर चुद रही थी.

फिर मैंने अपना रूमाल निकालकर आंखों पर पट्टी बांध ली, मुझे सच में कुछ दिखाई नहीं दे रहा था. कुछ देरे नंगे चिपके हुए किस का मजा लिया और फिर मैंने भाभी को गोद में उठा लिया और बेड पर ले जाकर पटक दिया.

परेशान ही हूँ शायद! हमारी कंपनी का इनपुट बहुत डाउन आया है तो मैनेजर से मीटिंग है आज ईवनिंग में।”मुझे कौन सा उनकी कंपनी के शेयर लेने थे? मैंने अपना पसंदीदा डायलॉग बोला जो हर नार्मल स्टोरी में होता है- अगर आप बोलें तो चादर थोड़ी नीचे कर देता हूँ जिससे नीचे भी मसाज कर दूंगा।कम इन फ्रंट ऑफ मी! (मेरे सामने की तरफ आओ). आखिर में मैंने क्लब, जो किराए पर लिया था, उसकी पेमेंट किया और मैं भी निकल गया. मैंने अपने बूब्स को हथेलियों में थाम रखा था और अपने निप्पलों को उंगलियों के बीच में मसल रही थी.

मैं जिस वक्त नीचे हॉल में पहुंचा, उस वक्त सभी बारात स्वागत के लिए बाजे-गाज ढोल नगाड़ों के साथ निकलने की तैयारी में थे.

वो दोनों मेरे बदन को ऊपर नीचे और आगे पीछे से चूमने, चूसने और चाटने लगे. राजेश ने शीला को जाने को कह दिया और उसे 1000 रूपये अलग से दिए कि तुम्हें अपने लिए कोई कपड़ा लेना हो तो ले लेना. भाभी मेरे लंड के लिए तड़प रही थीं, ये देख कर मुझे बहुत मजा आ रहा था.

सेक्स करो सेक्स करो सेक्स’ करके आवाज निकाली और अपने कंधों पर ही उसके हाथ को पकड़ कर मसलने लगा. सच तो ये है कि जब तक मैं गर्म होती थी वो उससे पहले ठंडा हो जाता था.

अनिता भाभी का बीएफ

अब मैं अपने रूम में एकदम नंगी थी और नील के बारे में सोच सोच कर अपनी चूत सहला रही थी. मैंने भी अपना हाथ और मुंह फ्री होते ही गुड्डी रानी की चूत पर उंगलियां लगायीं. और हम छत के दरवाजों की कुंडी खोल के चुपके से नीचे आ गए और तुरंत अलग हो गए.

मैं बुरा नहीं मानूंगी।तुम्हें तो कई अच्छे से अच्छे लड़के मिल सकते हैं. और तुम्हारे बात करने का अंदाज बहुत प्यारा है और उससे भी ज्यादा तुम खुद प्यारी हो। अब तुम जा सकती हो।उसने चहक कर थैंक्यू सर कहा और जाने लगी. पम्मी मुझसे पूछने लगी- आपको मुझमें क्या अच्छा लगता है?मैंने कहा- जिंदगी में मैंने पहली बार किसी लड़की को बिना कपड़ों के देखा है … और जब से मैंने आपको देखा है, आपका हर एक अंग मेरी आंखों के सामने घूम रहा है.

उसने अपनी गांड के गोल और सांवले छेद को सामने लाकर खोल दिया, जिसमें वो उंगली कर रही थी. फिर मैंने उसकी कमर को अपनी बाजुओं में बांध कर जकड़ लिया और उसकी चुत की दीवार पर उसके मुँह से थूक निकलवा कर लगा दिया ताकि ग्रिप बन जाए. कोशिश करना कि ना करना पड़े! पीछे से दर्द होता है।सुनील मुस्कुराने लगा और बोला- लगता है सब किया हुआ है?मैंने कहा- हाँ, आज कल की दुनिया में सब ट्राइ करना चाहिए।सुनील ने कहा- ठीक है तो शुरू करें?मैंने कहा- ठीक है.

देसी बुर की चुदाई की इस कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी गर्लफ्रेंड की सहेली से मेरी दोस्ती हुई. गीत मेरी तरफ देखती हुई बोली- कैसे लगा हमारा अंदाज़?मैंने भी गीत को हाथ से इशारा करते हुए कहा- सुपर डार्लिंग.

वो लंड की चोटों से मस्ती से बोल रही थीं- आह कितना मजा आ रहा है … पूरा अन्दर तक जा रहा है … आह आज फाड़ दे मेरी चुत को अतुल … फाड़ दे इस निगोड़ी को.

उस लड़की ने कहा कि वो किसी और के साथ डेट पर चली गयी है और वो तुमसे ब्रेकअप कर रही है. बीएफ वीडियो सोंग लिरिक्स हिंदी फिल्मयह भाभी सेक्स कहानी तब की है, जब मैं इंजीनियरिंग करने के बाद गुरुग्राम में रहकर प्राइवेट नौकरी कर रहा था. लड़का लड़की का ओपन सेक्सजिनको उत्तर नहीं दे पाता हूँ … उनसे यहीं क्षमा मांगता हूँ कि कहानी को लिखने के कारण इतना समय नहीं दे पाता हूँ कि सभी को जबाव दे सकूं. मैं तुम्हारे घर नहीं आ सकती, क्या तुम मेरे घर आ सकते हो?मैंने कहा- अभी आता हूं.

पर हकीकत में कई लौंडे मेरे दोस्त यहां लाए गए और उन्होंने लंड का मजा लिया था और अब भी लेते रहते हैं.

एक कहावत सुनी है कि 12 साल में घूरे के भी दिन बहुर जाते हैं लेकिन इस नाचीज़ के दिन नहीं बहुरे. तो मैंने ब्रा पैंटी को वहीं छोड़ा और उसे पीछे से पकड़ कर बांहों में भर लिया. विक्की भी झड़ने के बाद हांफ रहा था और उसकी सांसें भी तेज चल रही थीं और उसका चिकना लंड अब अपने सोये हुए आकार में आकर एक तरफ गिर गया था.

जिससे पायल थोड़ी हड़बड़ा गई, क्योंकि वो भूल ही गई थी कि हम किस काम से आए हैं. इस तरह से 15 मिनट तक उसने अपनी चूची दिखा दिखा कर मुझे पागल कर दिया. मनजीत के चूतड़ उछालने और मेरे धकापेल ठोकने के बावजूद मेरा लण्ड डिस्चार्ज करने के मूड में नहीं था जबकि मनजीत दो बार पानी छोड़ चुकी थी.

गोरखपुर की सेक्सी बीएफ

मैंने पम्मी के कंधे पकड़ कर उसे इस बात का इशारा दिया कि मैं अब आने वाला हूँ, मगर पम्मी ने हाथ के इशारे से मुँह में ही झड़ जाने के लिए कह दिया. अगर मैं प्रीति भाभी के हुस्न को लफ़्ज़ों में बयां करना चाहूं तो कुछ ऐसे होगा-एक लाइन में क्या तारीफ लिखूं प्रीति की, पानी भी देखे उसे तो प्यासा हो जाए. अब मेरे मुंह से निकल गया- वो सब तो ठीक है! पर खुशी है कहां?भाभी जी थोड़ा और हंसी और आँखें मटकाते हुए कहा- संदीप जी, उसकी शादी है.

क्यों?”पता नहीं”एक बात बताऊँ?”क्या?”पिछली दो रातों में मुझे भी नींद नहीं आई.

रमेश रवि से मिलने होटल में पहुंचा तो उस लड़की को देख कर उसके पैरों के नीचे से जमीन खिसक गयी.

जैसे ही उसका हाथ मेरी चूत से लगा, मेरे शरीर में करंट सा दौड़ गया और ना चाहते हुए भी मैं उसके बस में होती चली गयी. और ये बात मैं उस लड़के के पास जाकर कर रही थी जिससे उसे सब ठीक से सुनाई दे सके. बीएफ सेक्सी नेपाली वीडियोइसके बाद मैंने स्वरा की झांटों में पानी लगाया, फिर फोम लगाया और उसकी झांटें रेज़र से साफ करने लगा.

भाभी मेरे लोअर में हाथ मारने लगी और लंड पकड़ कर बोली- ये आज क्यों सुस्त है?मैंने कहा- कल की तैयारी में है. विक्रम को देखने के बाद मैं सोच रही थी कि ये तो मेरी बेंड बजा देगा इतना पहलवान जैसा आदमी है ये!फिर मैंने सोचा कि अब जो होगा देखा जाएगा. मैं उसके ऊपर लेट गया। उसकी आँखों मे देखते हुए मैं उसके होंठों को चूमने लगा। हम दोनों की आंखें बंद हो गयी थीं। कुछ पल के बाद उसने टाँगें खोल लीं और एक हाथ से मेरे लंड को चूत के छेद पर लगा कर दूसरा हाथ मेरे सिर पर फिराने लगी।अब मैंने हल्का जोर लगाया और लंड एक बार फिर उसकी गर्म और गीली चूत में उतर गया.

उसने डांट खाकर टांय टांय करनी तो बंद कर दी मगर मुंह में कुछ कुछ मुनमुन करती रही. भाभी मुझे गाड़ी धीरे चलाने को बोल रही थीं और मैं कन्फ्यूज था कि पता नहीं इनके मन में क्या चल रहा है.

हम लोग एयरपोर्ट आए थे इधर से दो मेहमान प्रतिभा और सुमन को ले जाना था.

उनकी गर्दन की चुम्मियां मुझे बौरा रही थीं और उनके बालों की महक मुझे पागल किये दे रही थी. उत्तेजना में मैं हर चैट सेशन के नीचे का विवरण पढ़ना ही भूल गया लगता था. राजेश ने शीला को जाने को कह दिया और उसे 1000 रूपये अलग से दिए कि तुम्हें अपने लिए कोई कपड़ा लेना हो तो ले लेना.

सेक्सी बीएफ लाल साड़ी वाली मैं दीवान पर बैठ गया और लड़कियों का वहां से जाने का इंतजार करने लगा. पीजी में अगर कभी कोई इमरजेंसी होती है तो बाहर खड़ा गार्ड उनसे पूछकर ही गेट खोलता है और इस बात की रजिस्टर में एंट्री होती है.

कुछ देर में जब लंड अपने आप चूत से बाहर आ गया तो मैं नेहा के ऊपर से उतर कर उसके साथ लेट गया. मैं हंस दिया और उसकी चूचियों को मसलते हुए उसे बाहर चलने का इशारा कर दिया. नेहा ने अपना सिर मेरी गर्दन में उल्टी हो कर रख दिया और धीरे धीरे बोलने लगी- ना … करो, कोई … आ … जायेगा … तो मुसीबत हो जाएगी.

एचडी में सेक्सी बीएफ एचडी

जितना रेट मैंने आपके लिए फिक्स किया है उससे एक पैसा ज्यादा मत देना उस हरामखोर रत्नलाल को।तभी रवि ने रिया को रोकते हुए कहा- अरे सुन, तू ही अपना नम्बर दे दे. सलीम भाई- भैया अब तो आपको इसी की बात मानना पड़ेगी, उतारो अपनी चड्डी और उस पर चढ़ बैठो. वो दोनों की दोनों इतनी पास आ गयीं थी कि गीत और नेहा के चूतड़ आपस में टकराने लगे.

वो कौन थी, जिसने देवर भाभी की चुत चुदाई देख ली थी और उसके साथ क्या किस्सा हुआ, वो सब मैं अगली बार एक मस्त सेक्स कहानी लिख कर बताऊंगा. कुछ देर बाद मेरी हालत सामान्य हुई, तब उन्होंने एक नैपकिन पेपर उठाया और बिना अपना लंड बाहर निकाले मेरी चूत से निकल रहे खून को पौंछ दिया.

मैंने कहा- ये सब तो एक हफ्ते में सही हो जाएंगे … तुम बताओ, तुम्हें मजा आया या नहीं?वो खुश होकर हां बोलते हुए वहां से चला गया.

कुछ देर बाद मेरे लण्ड से पिचकारी छूटी और मनजीत की गांड मेरे वीर्य से सराबोर हो गई. हमने रात के 10 बजे ट्रेन पकड़ ली और हम सभी बहुत मस्ती और मस्त बातें करते जा रहे थे और गीत के साथ बिताये पल याद कर करके हम गीत को छेड़ रहे थे. मैं फ्रेश होने के बाद बाहर निकला और नेहा से कहा- यार, मेरी पीठ खुजला रही है, मैं नहाना भी चाह रहा हूँ, अगर तुम्हें कोई ऐतराज़ ना हो तो क्या तुम मेरी पीठ रगड़ दोगी.

अब राजेश को लगा कि वो निकलने वाला है तो उसने लंड बाहर निकालने की कोशिश की. मैं हैरान था कि वो यहां पर कर क्या रही है! उत्सुकता वश मैं उसी तरफ गया. अपनी बात खत्म करते हुए सुरेश ने कुछ मेडिकल पेपर वैभव को दिखाए, जो कि उन लड़कियों के थे.

नेहा भी तुरंत बोली- कोई बात नहीं, उससे ज्यादा हम इन्हें तड़पा देंगी.

एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ: मैंने भी बेशर्मी से अपने तम्बू बने पेंट को दिखा दिया- ये शांत नहीं हो रहा है. फिर मैंने पूछा- अब बताओ, उसको कैसे बुलाओगी?शिवानी बोली- तुम सुमीना को बोलो कि मैं उसके पास आ रही हूं.

जीजू, अब मैं कुछ नहीं करूंगी, कब से तो लगी हूं इसका कुछ हो ही नहीं रहा तो मैं ऐसे कब तक करूंगी?” वो थके स्वर में बोली. उसके स्पर्श का अब मेरे कोई भी विरोध ना करने के वजह से उसका हौसला बढ़ गया और वो अब तेज़ तेज़ मेरे दोनों चूचों को दबाने लगा. रमेश- क्या बात है, नाराज़ हो मुझसे?रति ने उसकी बात का कोई जवाब नहीं दिया.

उसके बाद मैंने फिर से उसके नितम्बों को अपने दोनों हाथों से भींच दिया.

मैंने उनको अपनी तरफ करके उनके होंठों पर किस की, तो भाभी जी ने भी मुझे किस किया. नेहा अब अपना मुंह धो कर आई थी और उसके आते ही मैंने उसे एक किस की और नेहा ने दूसरी किस संजय को भी की. इधर संजय और मैंने भी अपने ऊपर के कपड़े उतार दिए ताकि कपड़ों की शाइनिंग खराब न हो जाए क्योंकि हम घर से एक्स्ट्रा कपड़े 1-1 ही लेकर आये थे.