हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स

छवि स्रोत,वीडियो बीएफ सेक्सी इंग्लिश में

तस्वीर का शीर्षक ,

नेपाली सेक्सी स्कूल: हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स, मैं उसके लिंग के सुपारे को खोल चूसने लगी और एक हाथ से उसके अण्डकोषों को दबाने ओर सहलाने लगी.

या खलीफा के बीएफ

मुझे जगा देख कर भाभी बोली- राज, मेरे पति का वीर्य कमजोर है और वो बच्चा पैदा नहीं कर सकते हैं. डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो सेक्सीमैं पूरी तरह गर्म हो चुकी थी … सो मैंने भी उसके बॉक्सर के ऊपर से लंड पड़कर कर बोल दिया- जल्दी करो … निकालो इसे.

वो जोर से चिल्लाने को हुई, पर मैंने उसके मुँह पर हाथ लगाकर बंद कर दिया. ससुर बहू की बीएफ हिंदी मेंवहां सभी मदिरा पीने वाले थे, पर मैंने आज तक कभी मदिरा को चखा भी नहीं था.

कुछ देर के बाद देखा, तो कांतिलाल कविता के पास जाकर उसे छूने टटोलने लगा था.हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स: कोई एक मिनट बाद मैंने उसके हाथ को पकड़ा और पास पड़े सोफे पर उसको लिटा दिया.

मैंने साराह की ब्रा भी उतार दी और मैंने उसके मम्मों पर किस करना शुरू कर दिया.मैंने अपनी बहू की चूत में जीभ दे दी और मेरी बहू मेरे सिर को अपनी गर्म चूत में दबाने लगी.

बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी ब्लू - हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स

कविता ने कांतिलाल का लिंग चूस कर एकदम कठोर बना दिया था और अब कांतिलाल अपने लिंग को योनि से मिलाप कराने को व्याकुल होने लगा.जो शांत स्वभाव की थी और दिखने में किसी स्वर्ग की अप्सरा से कम नहीं थी.

फिर हम कुछ बियर लेकर रिजॉर्ट में जाने लगे, जहां हम आज रात ही रुकने वाले थे. हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स अब उसका एक हाथ मेरे बाबा (लंड) पर था और मेरा एक हाथ उसके बोबे पर हरक़तें कर रहा था.

अनु की चूत से नमकीन रस निकलने लगा था जिसको मैं साथ साथ चाट लेता था.

हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स?

वो भी एक मदमस्त कली थी, जिसके नीबू जैसे टिकोरे देख कर मेरा लंड फनफनाने लगा था. वो दर्द से बिलख पड़ीं ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’पूरा लंड पेलने के बाद मैंने उनको कुछ देर तक ऐसे ही जकड़े रखा. मैंने मेम से कह दिया कि मेम आपने सर को तो वो वाली बात नहीं बताई ना?मेम ने कहा- नहीं बताई है … लेकिन बताने वाली हूँ.

मैंने धीरे से मामी के तन से चादर को हटाया और उनके बदन पर हाथ फिराने लगा. काव्या ने बोला- अच्छा जी … मेरे साथ फ्लर्ट कर रहे हो, आप तो कुछ ज़्यादा ही एड्वान्स निकले. अनु की चूत से नमकीन रस निकलने लगा था जिसको मैं साथ साथ चाट लेता था.

फिर मुझे महसूस हुआ कि काफ़ी देर हो चुकी है, कोई इसे खोजता हुआ आ ना टपके, तो मैंने सोचा कि क्यों ना बाकी का भी काम निपटा लिया जाए. मुझे उसके फीगर का नाप बाद में पता चला था जब मैंने उसके साथ सेक्स किया था. तो फिर मैं उससे बोली- ओह्ह … फुद्दी साफ करनी होगी मैडम को … जाओ जाओ बाथरूम तो जाना ही पड़ेगा.

मैं बिना रुके एक सौ बीस की स्पीड से लगातार डॉली की चूत को फाड़ कर कीमा बनाने में लगा था. हम दोनों लोग कभी कभी एक दूसरे से बात नहीं कर पाते थे, तो एक दूसरे को देख कर स्माइल कर देते थे.

मैंने अपनी दोनों मोटी मोटी जांघों को फैलाया और टांगें रवि के अगल-बगल कर अपनी योनि को उसके मुँह के सामने अड़ा दिया.

नीचे राजेश्वरी और राजशेखर पूरी ताकत से एक दूसरे को चरमसीमा तक पहुंचाने का प्रयास कर रहे थे और बगल में रमा अधूरे मन से रवि को चरमसुख देने में लगी थी.

आंटी की चूत को चोदते हुए मुझे मजा आने लगा और आंटी के मुंह से भी कामुक सिसकारियां निकलने लगीं. फिर उन्होंने हल्के से टी-शर्ट को ऊपर करके अपनी चुत दिखायी और टी-शर्ट को अपने मम्मों के ऊपर कर लिया. बिना कुछ कहे ही कांतिलाल ने मुझे छोड़ दिया और कमलनाथ ने अपना हाथ मेरी ओर बढ़ा दिया.

अपनी जिस चूत को मैंने अब तक अपनी उंगलियों से ही छुआ था, आज वो मेरे यार की उंगलियों के स्पर्श से मस्त हुई जा रही थी. मेरे लंड का टांका, तो मुठ मारने से टूट चुका था, जिससे चूत की गर्मी से मेरी अब उत्तेजना बढ़ने लगी थी. इस बार मैंने थोड़ी जोर से ट्राई किया और मेरा लंड का सुपाड़ा उनकी चूत के अन्दर चला गया.

उसने तुरंत अपना मुँह मेरी योनि से चिपका लिया और ऐसे चाटने लगा, जैसे मेरी योनि कोई खाने की वस्तु हो.

मुझे नहीं पता था कि मौसी सच में सो रही थी या फिर वो यह सब नाटक रही थी. मैं उसको तत्काल सर्विस तो नहीं दे सकता था क्योंकि वो नागालैंड में थी. मैंने उसका अंडरवियर नीचे कर दिया और उसका मोटा लंड खुल कर मेरी आंखों से सामने आ गया था.

जिधर उसको कोचिंग लेनी थी, उधर की क्लास में एडमिशन दो दिन के बाद लेना था. वो मेरी सगी दीदी नहीं थी लेकिन उसका घर हमारे बिल्कुल पास में था और गांव में पास के घर की लड़कियों को लड़के दीदी ही कह कर बुलाया करते थे. उसने राजेश्वरी को बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी टांगें फैला कर बोला- ये जो तुम्हारी चुत है, ऐसा ही छेद तुम्हारी दीदी का भी है … और जैसा मेरा लंड है, वैसा ही मेरे भइया का है.

गर्म चिकनी चूत की चुदाई का जो मजा भाभी उस रात को मुझे दे रही थी उसको अपने शब्दों में मैं लिख नहीं पा रहा हूं.

मेरा लौड़ा खड़ा हो गया और मैंने ठान लिया कि लौड़े की प्यास इसकी चूत चोद कर मिटानी है. हम दोनों कुछ बोल नहीं रहे थे, बस एक दूसरे से लिपट चिपट कर रगड़ सुख ले रहे थे.

हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स अपनी सलवार व पैन्टी नीचे खिसकाकर मैंने एक खीरा अपनी बूर में ठोंक दिया, चार छह बार खीरा बूर के अन्दर बाहर किया और पैन्टी ऊपर खिसकाकर सलवार पहनकर बाहर आ गई. उसकी जिद के आगे मैंने हथियार डाल दिए और उसके कहे अनुसार उसके मुँह से मुँह लगा कर चॉकलेट ले ली.

हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स ’ की आवाज़ करते हुए मेरे लौड़े को मुँह से बाहर निकाल दिया और जल्दी से एक कपड़े से साफ करने लगीं. उसके होंठ खुल गये और मुंह से सिसकारी निकल गई- आह्ह … आराम से करो।मगर मुझे आराम कहां था.

मेरी बीवी की गांड में सुरेश का लंड जाने में उसे तकलीफ़ होती, तो सुरेश ऊपर से गांड पर थूक देता और चोदने लगता.

भोजपुरी नंगा डांस

बल्लू ने भाभी को अपनी गोद में उठा लिया और फिर कमरे में अंदर ले गया. मेरे पति के दोस्त ने अपना मोटा लंड दिखा कर मेरी कामवासना कैसे जगायी. इधर रमा कांतिलाल से रुकने की विनती करने लगी थी, पर कांतिलाल बहुत ही आक्रामक संभोग में उसकी एक न सुन रहा था.

फिर मैं उठा और दीदी को एक थप्पड़ मार कर बोला- चल साली, मेरे कपड़े खोल और मेरा लौड़ा चूस ले. इतने में वो पलट गई और मुझे अपने पैर और ऊपर तक दबाने के लिए बोलने लगी. आंटी- तो तुम नहीं गये?मैंने कहा- नहीं आंटी, मुझे कॉलेज के प्रोजेक्ट का कुछ काम है इसलिए मैं नहीं गया.

उसने अपने मुँह को मेरी चूत पर लगा दिया और मेरी चूत का सारा पानी चाट चाट कर साफ कर दिया.

यदि आपकी बहू आपके साथ ऐसा व्यवहार कर रही है तो यह बिल्कुल ही उचित नहीं है. कुछ देर तक कमरे में घमासान धुआंधार चुदाई चलती रही … कब मैं स्खलित हो गई, मुझे पता ही नहीं चला. मुझे पता नहीं लग रहा था कि वो ऐसे क्यूं कर रही है।मैं किसी तरह एक बार उससे बात करने का मौका ढूंढ रहा था.

उस दिन जब मैंने लंड की मुट्ठ मार कर वीर्य निकाला तो मैं बता नहीं सकता कि मुझे कितना मजा आया. सो मैंने उसके लिंग को पकड़ कर हाथ से ऊपर नीचे किया, तो सुपारा खुलकर निकल आया. फिर मैंने फुल स्पीड में धक्के मारते हुए उससे कहा- मेरा पानी निकलने वाला है.

लेकिन जब वो सिसकारियाँ ले रही थी तो पता नहीं क्यों मुझे अंदर से सुकून मिल रहा था. खैर … जब रवि ने संकेत समझा … तो धीरे धीरे करके 3-4 बार में अपना लिंग पूरी तरह से निर्मला की योनि में प्रवेश करा दिया.

तो उसने मेरा लंड अपने मुँह से निकाल लिया और ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी और मेरा सारा माल अपने चूचों पर गिरा लिया।फिर वो सोफे पर बैठ गयी और हम फिर से किस करने लगे।फिर वो बोली- चलो नहाते हैं. मैंने उसे कसके पकड़ लिया था और लंड को वहीं खड़े खड़े उसके पेट में गड़ाने लगा. तभी मैं अचानक से चीख पड़ी- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … माँ मर गई!मैं झटके मारते हुए झड़ने लगी.

मैंने सोचा था कि उसकी कुँवारी चूत आज ही चोदने को मिल जायेगी लेकिन मेरे सारे सपने टूट गये।उस रात को मैंने अपनी साली को सोच कर दो बार मुठ मारी और अपनी वासना शांत कर ली.

यदि पुरुष ने ऐसा कर लिया, तो स्त्री पीड़ा से प्यार करने लगेगी और पीड़ा सहते हुए भी अपने पुरुष साथी को चरम सुख प्रदान करेगी. मुझे शुरू में दर्द हो रहा था लेकिन जब उसने अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया तो मैं जोर जोर से सिसकारियाँ लेने लगी. अब मैं भी चुदाई में मदहोश होकर उनका साथ देने लगी।मेरा पूरा बदन पसीने से भीग चुका था.

उस दिन बाहर खेतों में काम अधिक था इसलिए शाम को आते ही वह खाना खाकर सोने छत पर चली गयी। छत पर सबका बिस्तर लगा हुआ था. वहां बड़ा सा आइना लगा था, सो मैं उसमें ऊपर से नीचे तक अपने आपको देख सकती थी.

खेल के बीच में ही इमराने के किसी दोस्त का फोन आ गया और वो मुझे घर पर उसकी मां के साथ ही छोड़ कर चला गया. मेरी बीवी के मुँह से ये सुनकर सुरेश ने उसे सीधा कर दिया और उन दोनों ने एक दूसरे के सारे कपड़े उतार दिए. वे सिसकारियां लेते हुए बोलीं- मेरे राजा और मत तड़पा अपनी भाभी को … जल्दी से डाल दो अपना लंड … अपनी भाभी की चूत के अन्दर पेल दे.

योनि की तस्वीर

पर रमा ने बोला- लगता है कान्ति ने तुम्हें पूरी तरह निचोड़ कर रख दिया.

मैं और मेरा बॉयफ्रेंड हम दोनों लोग नंगे थे और वो मुझे अपनी बाँहों में लेकर मेरी चूची को दबा रहा था. दो बार मॉम की चुदाई करने के बाद मैं सोने के लिए अपने कमरे में जाने लगा. जैसे ही मैं उसकी जांघ तक पहुंचा, उसने आंख खोल कर बोला- भाई, मेरे को बहुत गुदगुदी हो रही हैं.

हम दोनों कुछ देर ऐसे ही न्यूड पड़े हुए एक दूसरे के साथ चिपक कर लेटे रहे. उसका सुपारा काफी मोटा था और उसका लंड मेरी चूत में पूरा फिट हो गया था. बीएफ नई दुल्हनवो सर्दियों के दिन थे, एक दिन शाम को मैं मरी पत्नी और मेरी भांजी बैठे हुए बातें कर रहे थे.

मैं जोर से उसके होंठों का रस पी रहा था और साथ में ही उसके कसे हुए जिस्म के मजे भी ले रहा था. उसी समय काजल की बहन रितिका का वीडियो कॉल आ गया, तो मैंने अटेंड करके उससे बोल दिया- आज हमारी सुहागरात है.

फिर मैंने उनकी साड़ी उतार दी और ब्लाउज के ऊपर से उनकी चूचियों को दबाने लगा. कुछ देर तक ऐसे ही उसको चाटने और चूसने के बाद मैंने पूरी ताकत लगा कर उसको गोदी में उठा लिया और खुद नीचे बैठ गया. यह बोलकर उसने मुझे कमर से पकड़ अपनी ओर खींचते हुए अपने सीने से मुझे लगा लिया.

फिर एकदम से हम दोनों की नजर मिल गई और दोनों ही एक दूसरे को देखने लगे. आज भी मैं उसके बारे में सोचता हूं तो मेरा मुठ मारने को मन कर जाता है. साथ में एक जवान लड़की अपनी चूत में उंगली कर रही हो तो भला किसे चैन आने वाला था.

जब मैं रूम में आया तो देखा कि मौसी ब्रा और पेंटी में ही बाहर आ रही थी.

मैं मास्टर डिग्री करने के बाद एक कॉलेज में पढ़ाता हूँ और मेरी बहन बेचलर डिग्री कर चुकी है. तभी मैंने अपने अनुभव का इस्तेमाल करते हुए अपने लंड को पूरा बाहर खींचकर एक जोरदार ठाप दे मारी, तो मेरा लंड उसकी चूत में पूरा समा गया.

पहले जो मुझे दीदी लगती थीं … वो अब चोदने के लिए एक माल लगने लगी थीं. अब मैं अम्मा की चुत में उंगली डाल कर सोया था और अम्मा मेरा लंड को पकड़ कर सोयी थीं. इतना सुनने के बाद वो अपने पजामे के ऊपर लिंग को हाथ से सहलाते हुए बोला- चल थोड़ा तैयार कर … बहुत दिन हो गए है मुझे.

इसी बीच वो फिर से चार्ज हो गई और गांड उठा उठा कर लंड के मजे लेने लगी. उन दोनों ने मेरी बीवी को दरवाज़े की तरफ मुँह करके घोड़ी बना दिया और उसकी गांड के छेद पर थूकने लगा. कुछ देर के बाद कविता ने असहजता दिखानी शुरू कर दी, क्योंकि उस अवस्था में संभोग कर पाना सबके लिए सरल नहीं होता है.

हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स मेरे वहां पहुचने से पहले ही उसने होटल का रूम, गाड़ी, खाना-पीना आदि सब इंतजाम किया हुआ था. उससे तो वे सारे मर्द पहले से ही थोड़े बहुत उत्तेजित थे ही, इस वजह से उन्हें लिंग कड़क करने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी.

पोर्न मूवीज

मैंने हम दोनों के ऊपर एक चादर ओढ़ ली और उसकी सलवार को ढीला करते हुए पैंटी को नीचे सरका दी. एक दिन की बात है मेरा साले ने फोन करके बताया कि आज मैं आपके घर पर नहीं आ पाऊंगा, काम का लोड ज्यादा है, इसलिए आप विशाखा का ख्याल रखना. मैंने फायदा उठाते हुए दीदी के पेटीकोट को थोड़ा ऊपर घुटने तक किया और लगाने लगा.

मैंने देखा कि आंटी अपने किसी काम में बिजी थी तो मैंने सोचा कि इमरान के आने तक ब्लू फिल्म देख लूं. फिर मैंने उन्हें चुप करवाया और आराम से पूछा- मैडम क्या हुआ?तब उन्होंने बताया कि उनका पति उन्हें तलाक देने की बोल रहा है क्योंकि मैडम प्रेग्नेंट नहीं हो रही हैं. एक्स एक्स एक्स बीएफ प्रियंका चोपड़ातब मुझे धीरे धीरे समझ आया कि ये लोग अच्छे खासे खुले और ऊंचे वर्ग के लोग हैं.

हाय दोस्तो, मैं कपिल रोहिणी (दिल्ली) से आपको अपनी एक और सच्ची कहानी बताने जा रहा हूं.

कभी मैं कहती कि आज वह ऐसी लग रही थी, आज उसने ब्लैक कलर की ड्रेस पहन रखी थी, तो उसमें वो बड़ी हॉट लग रही थी. अब मुझसे भी इंतज़ार नहीं हुआ और मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रख कर बोला- धीरे धीरे पेलूं या एक बार में डाल दूं?वो बोली- जैसे तेरी मर्ज़ी.

मेरे पति और मेरे घर वाले सब लोग ऑफिस चले जाते थे, तो मैं सुरेश के रूम में जाकर चुदवा लेती थी. बात करने के बाद द्वारका के सेक्टर 12 वाले मैट्रो स्टेशन पर मिलने के लिए समय तय किया गया. उसने मुझे फिर कहा कि जैसा वो करती हैं, करने दो … तुम चुपचाप सब करवा लो.

निर्मला ने पहना और चिड़चिड़ाने लगी और बोली- इसे पहनने से तो अच्छा है कि मैं नंगी ही रह जाऊं और वैसे भी वो लोग हमें नंगी कर ही देंगे तो पहनने का क्या फायदा.

ऐसे ही 10 मिनट तक लंड सहलाने के बाद मैंने उसको इशारा किया कि टॉयलेट में चलो. क्या तुझे कुछ नहीं हो रहा था?मैंने कहा- हां मुझे भी नींद नहीं आई थी. उनकी ऐसी कामेच्छा देख कर लग ही नहीं रहा था कि इनकी उम्र 56 साल की होगी.

बिहार का बीएफ सेक्सफिर नेता गिलास बगल में रखते हुए बोला- चल अब चोदने दे, मस्त माल है तू … तो मजा देगी न अच्छे से?मैं भी बोली- हां साहब, आपके लिए ही तो आयी हूँ, ऐसा मजा दूंगी कि दोबारा किसी औरत को नहीं देखोगे. मैंने अपनी पसंद के चार खीरे लिये और सामने स्थित सुलभ शौचालय में घुस गई.

पूरन सेक्सी

वो बोली- ये मेरा सौभाग्य होगा कि मैं आप जैसे इंसान की बीवी बन सकूंगी. कह कर मैंने आंटी की चूत में जीभ को अंदर डाल दिया तो आंटी और तेजी के साथ सिसकारियां लेने लगी. आपके मेल की प्रतीक्षा में आपका धर्मेंद्र[emailprotected]चोदाई की कहानी का अगला भाग:मेरी पहली चोदाई की कहानी-2.

फिर सामने की ओर राजेश्वरी को कांतिलाल ने पूरी नंगी कर दिया था और उसे चूम रहा था. फिर तेज़ी से अपनी कमर आगे पीछे करते हुए उसके मुँह में लिंग अन्दर बाहर करने लगा. अपनी बहन को पूरी नंगी देखकर मेरी आँखें फटी की फटी रह गई क्योंकि मैंने जीवन में कभी किसी लड़की को ऐसे नग्न हालत में नहीं देखा था।उसकी लंबाई 5 फिट 6 इंच की है। उसकी फिगर सही तो नहीं बता सकता पर पर उसकी चूचियाँ 32″ की व पेट से वो बहुत पतली सी है.

उन्होंने मेरे दूध छोड़ दिये।फिर अंकल उठे और मुझे पेट के बल लेटा दिया। फिर मेरी पीठ को चूमते हुए मेरी कमर और फिर मेरी गांड तक जा पहुँचे।मेरे उभरे हुए चूतड़ों पर अपने दांत गड़ाते हुए उसे हाथों से मसलने लगे। फिर दोनों हाथों से मेरे चूतड़ों को फैला कर अपना मुँह उसमें लगा दिया। मैं सिहर गयी. वो भले कुछ नहीं कह रहा था, पर उसकी आंखों से लग रहा था मानो मुझसे कह रहा हो कि बस थोड़ी देर और साथ दो … मैं अपना प्रेम रस तुम्हें देने ही वाला हूँ. तब तक मैं काव्या के पीछे चिपक कर खड़ा हो गया था और इससे पहले कि काव्या कुछ बोलती, राकेश ने दरवाज़ा खोला और बोला- थैंक्यू … मैं बस अभी आया, फिर तुम भी फ्रेश हो जाना.

ब्लाउज खोलते ही मुझे भी थोड़ी राहत मिली क्योंकि ब्लाउज थोड़ा ज्यादा ही कसा हुआ था. रवि के इस आक्रामक रूप देख कर मैं समझ गई कि अब वो चरमसीमा से ज्यादा दूर नहीं है.

मेरे चूतड़ गठीले और काफी बड़े दिख रहे थे और टॉप ऐसा था, जिसकी गर्दन बहुत अधिक खुली थी और उसमें से मेरे एक तिहाई स्तन साफ़ दिख रहे थे.

तीन लंड अपने तीनों छेदों में लेकर भाभी शायद गांड चुदाई के दर्द को भी भूल गई थी. बीएफ वीडियो में पंजाबीअब तक आपने मेरी इस दिलकश हॉट गर्ल अनल सेक्स स्टोरीकमसिन लड़की की कुंवारी गांड में सख्त लंडमें जाना था कि मैं नजमी को दुबारा भी चोद चुका था. बंगाली ब्लू पिक्चर बीएफमैंने पूछा- क्या मैं तुम्हें किस कर सकता हूं?उसने मेरी बात का कोई जवाब न दिया और शर्म से नजर नीचे झुका ली. मैंने सोचा कि इससे पहले कि ये चुत हाथ से निकल जाए, मैं खुल कर बोल ही देता हूं.

दो साल तक वो मेरी हर तरह से चुदाई करते रहे। दो साल के बाद उनका ट्रांसफर हो गया और हम दोनों का रिश्ता भी वहीं समाप्त हो गया। मगर मेरी चुदाई का सिलसिला अभी थमा नहीं था.

लंड को चूत में लगा कर मैंने एक झटका मारा और मेरा लंड मामी की चूत में घुस गया. मैं इस समय स्लीवलैस टी-शर्ट और हाफ पैंट पहने थी, जिसमें से मेरी पूरी जांघें दिख रही थीं. अरे गोवा सेक्स की नगरी है तो इतनी तैयारी तो बनती है ना!गोवा जाने की बड़ी चुल्ल थी.

मैंने आंटी की चूत में कई पिचकारी मारी और फिर मैं आंटी के ऊपर ही लेट गया. मेरे हाथ अब उसकी बगल से होकर उसकी चूचियों को हल्के से दबाने लगे थे जिसका वो कोई विरोध नहीं कर रही थी. उसके पूरे बदन को ऊपर से नीचे तक किस करने लगा और वो भी सिसकारियां लेते हुए मजा लेने लगी.

औजार मोटा करने की दवा

फिर मैंने उसे उसके दोनों मम्मों वाली तरफ से पकड़ लिया और उसने पुशअप लगाने स्टार्ट कर दिए. कांतिलाल ने कविता को सिर से लेकर पांव तक चूमा, फिर आगे से लेकर पीछे तक चूमा और स्तनों को जी भरकर चूसने के बाद उसकी टांगें फैला दीं, उसकी योनि पर टूट पड़ा. और वो अपनी ब्रा को एक किनारे रख कर मुझे अपने चूचियों से चिपकाने लगी.

ऐसे नैन नक्श की मल्लिका की थी इस कहानी की पात्र जिसका नाम था अंगिका।अंगिका को देखने के बाद पूरे 7 साल बाद मेरे शरीर में ऐसी हलचल हुई थी कि उसने मेरे दबे अरमानों को फिर से जगा दिया.

उस टाइम बिल्कुल भी ख्याल नहीं आया कि आवाज बाहर भी जा सकती है और बाहर कोई बैठा हुआ है.

फिर 5 मिनट बाद जब मेरा लंड थोड़ा शांत हुआ, तो उसने फिर से अपने हाथ से मेरा लंड खड़ा कर दिया और मैंने फिर से उसकी चूत में डाल दिया और उसे चोदने लगा. उसने मेरे हाथ से पैग लेते हुए बोला- मस्त है तू तो, कभी पहले नहीं दिखी, बाहर से आई है क्या?मैंने भी हां कहते हुए बोला- उत्तरप्रदेश से आई हूं. सीजी बीएफ फिल्मफिर भाभी ने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और अपनी चूत के मुंह पर लगा कर अपनी गांड को पीछे धकेल दिया.

उसकी गोल बड़ी बड़ी चुचियाँ और 36 इंच की कमर मेरे अंदर वासना का तूफान पैदा कर रही थी।वो बोली- मैं सब्जी लेकर आती हूँ. दोस्तो, सबसे पहले आपको अपनी सलहज विशाखा के फिगर के बारे में बता दूं. मैंने कहा- मैं आपकी निजी जिंदगी के बारे में क्या बोल सकता हूँ?वो बोली- छोड़ो, मैं भी क्या बात लेकर बैठ गई.

पता नहीं राजशेखर ने शायद निर्मला को इशारा किया या वो खुद अपनी मर्जी से आयी. मैं झड़कर उसकी गोद में ढीली होने लगी और कमलनाथ भी अपने हाथ छोड़ सोफे पे हांफता रहा.

मुझे बहुत मजा आने लगा था … क्योंकि जिंदगी में पहली बार मेरा लंड किसी चूत में घुसा था.

अम्मा ने कहा- हां बेटा सब दिखाऊंगी … लेकिन कल … अब तू रुकना मत और मेरी जम के गांड मार … मैं काफी टाईम से सेक्स की प्यासी हूँ. वो मेरे लंड पर हाथ चला रही थी और मेरे हाथ उसके गोल नर्म चूतड़ों पर चल रहे थे. सच में दोस्तो, कल्पना करो कि एक मस्त गोरी लड़की, जिसकी चुचियां 36 की और गांड 38 की हो, तो वो क्या लगती होगी.

सेक्सी सेक्सी बीएफ व्हिडिओ मैंने मेरा लंड अम्मा के मुँह में डाला और मैं अम्मा की चुत चाटने लगा. हम दोनों हांफते हुए अपने अपने चूतड़ हिला हिला योनि में लिंग रगड़ते हुए आगे बढ़ने लगे.

कमरे के दरवाजे पूरे खोल कर दारू की महक को बाहर निकाला, चादर को साफ किया और सिगरेट के टोटे बाहर फेंक कर आया. निर्मला इधर हाय हाय करती रही और फिर कराहते हुए बोली- हो गया … मजा आया न?कांतिलाल ने अपनी सांस छोड़ी और ढीले बदन से अपना लिंग उसकी योनि से निकाल कर सोफे पर बैठ गया. मेरी चूत में उसके लंड से ठोकर लग रही थी तो ऐसा लग रहा था कि मैं चूत में लंड को लेकर चुदती ही रहूं.

कपड़ा का डिजाइन दिखाइए

इतने में मैंने थोड़ा और प्रेशर लगा कर पूरा लंड संगीता की चूत में उतार दिया. अब वो मेरे तनतनाए हुए लंड को अन्दर तक लेकर बिल्कुल लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी थी. और आज अंडरवियर मत पहनना केवल लोवर ही पहन लेना।यह कहकर वह नीचे चली गई.

उसके बाद तो जब भी मुझे मौका मिलता रहा मैं माँ की चूत चुदाई का मजा लेता रहा. लंड का चुसाई समारोह शुरू हुआ तो मैं तो सातवें आसमान में पहुंच चुका था.

मैंने उसकी साड़ी को पीछे से उठा दिया और मैंने अपने लंड को उसके सीधा गांड में सैट करके धक्का मार दिया.

दरअसल ये सारी योजना मेरी एक सहेली, जो कि मुझे वयस्क साइट पे मिली थी और उसके पति अथवा कुछ और दंपतियों की थी. मैं- ठीक है … चलते हैं … क्या उन लोगों को भी बुला लें?राज- उन लोगों को क्यों … वो हमारे साथ क्या करेंगे … वो तो अभी भी सो रहे हो गए होंगे. अब वो लाइन अभी मुझे याद नहीं हैं इसलिए आपको नहीं बता सकता हूँ।फिर तभी मेरे को थोड़ी शरारत सूझी और मैं उससे यह पूछने लग गया कि क्या कभी उसने किसी के साथ चुम्बन किया है?तो उसने कहा- नहीं.

इसके बाद वो मुझसे रुकने का बोल कर मुझसे अपनी चूचियों को चूसने की कहने लगी. इधर काव्या मुझे गुस्सा दिखाने लगी- क्या कर रहे थे तुम? अगर राकेश देख लेता तो?मैंने बोला- देख लेता तो क्या? उसको भी पता है कि उसकी बीवी को देखकर कोई भी रुक नहीं सकता. इसके बाद कमलनाथ ने कहा कि संभोग़ से पूर्व मर्द और औरत को गर्म रहना चाहिए और इसके लिए उसे राजेश्वरी की योनि चाटनी पड़ेगी.

वो मेरी तरफ देख कर वो शर्म से पानी पानी हो रही थी और फिर वो चली गई.

हिंदी बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्स: उसने कविता को चित लिटाया और उसकी टांगें फैला कर उसके बीच में चला गया. लेकिन जब वे दोनों जाती थे तो निधि का चेहरा देख कर लगता था कि कुणाल निधि को खुश नहीं कर पाता था।एक दिन की बात है, कुणाल और निधि मेरे रूम पर चुदाई कर रहे थे.

वो बोले- क्या राहुल और रोशनी इस चीज के लिए मान जाएंगे?मैंने कहा- मैं कल रोशनी से बात करती हूँ. वो भाभी भी वैसे तो देखने में थोड़ी सी मोटी थी जैसी कि मुझे पसंद आती हैं. मैंने सोचा कि यही मौका है उसको सांत्वना देने के बहाने उससे प्यार करने का!तभी मैंने उसको चूमना शुरू कर दिया और उसके होंठों को चूमने लगा.

दोनों काफी उत्तेजक तरीके से एक दूसरे के बदन को टटोलते हुए होंठों से होंठ मिला कर एक दूसरे का रस पी रहे थे.

पहला लेख मैंने ही लिखा क्योंकि सबका यही विचार था कि सोनम अपने से ही शुरूआत करे. चूत में पूरा लौड़ा घुसते ही डॉली जोर से चिल्लाने लगी- आआअह्ह … मर गई … उईईई … मम्मी रे फट गई मेरी चुत … आह निकाल ले … मर गई रे मम्मी. अपनी बहन को पूरी नंगी देखकर मेरी आँखें फटी की फटी रह गई क्योंकि मैंने जीवन में कभी किसी लड़की को ऐसे नग्न हालत में नहीं देखा था।उसकी लंबाई 5 फिट 6 इंच की है। उसकी फिगर सही तो नहीं बता सकता पर पर उसकी चूचियाँ 32″ की व पेट से वो बहुत पतली सी है.