बीएफ चोदा चोदी चलने वाला

छवि स्रोत,पंजाबी सेक्सी सेक्स करते हुए hd वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेकसी गाव: बीएफ चोदा चोदी चलने वाला, और मारे गुस्से के प्रियंका ने आयशा की चूत में सीधे दो उंगली घुसेड़ दीं.

राजस्थानी फिल्म सेक्सी हिंदी

’ज्योति ने मुझे समझाया कि मान लो अगर तुम किसी लड़की को पसंद करते हो तो तुम भी कोशिश करोगे उसके करीब जाने की. सीआईडी की सेक्सी फोटोछाती के दो बटन खुले हुए जिनमें से उसकी छाती के बाल बाहर आ रहे थे जो उसके मर्द होने का अहसास करा रहे थे।शर्ट के नीचे हल्के ब्लू कलर की जींस थी जिसमें उसकी मोटी मोटी जांघें thighs कसी हुई थी.

क्योंकि उसका भाई मम्मी के साथ कहीं गया हुआ था।उस दिन मैंने उससे बहुत बात सारी बातें की. सेक्सी पिक्चर दिखाएं दिखाएंऔर मैं उसे डायरी में पढ़ सकूँ।आप तो जानते ही हैं कि खड़े लौड़े के आगे ना दिमाग चलता है.

दूसरा लड़का चूत और तीसरे लड़का लड़की के मुँह में लण्ड डाल कर उसके मुँह की चुदाई कर रहा था।ऐसी चुदाई देख कर सोनिया बोली- यार कभी मुझको भी ऐसे चोदो न.बीएफ चोदा चोदी चलने वाला: चूत से क्या मस्त खुशबू आ रही थी।मैं उसकी गाण्ड के नीचे हाथ फेरता हुआ उसकी चूत की भीनी-भीनी महक को सूंघने लगा।फिर धीरे से मैंने उसकी चूत के बालों में अपना मुँह रगड़ना शुरू कर दिया.

उसे ‘हॉट-स्पॉट’ कहते हैं।इसी तरह आदमी के अंगों को छूने के बाद अगर लण्ड में हरकत होती है.जैसे लंड में करेंट लग गया हो।मैंने अपने कमरे के दरवाजे को ज़रा सा लॉक कर दिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी मद्रासी - बीएफ चोदा चोदी चलने वाला

वो आई और मेरे लौड़े पर बैठ गई और ऊपर-नीचे होने लगी।मैंने भी नीचे से जोर-जोर से धक्के लगाने शुरू किए। उसकी दोनों हथेलियां बिस्तर पर जमी थीं और दम लगाते हुए खुद चुद रही थी.पर इतने में उसका भाई आ गया और हमने ज़ल्दी से पीसी बंद किया और अलग हो गए, वो अपने घर चली गई।दोस्तो.

जिससे मेरा लंड भाभी की चूत में करीब 7 इंच तक घुस गया।उसके बाद अब तक मैंने जितनी ताक़त लगाई थी. बीएफ चोदा चोदी चलने वाला ? प्लीज़ मुझे रिप्लाई ज़रूर कीजिएगा।मुझे आपके मेल का इंतज़ार रहेगा.

तो मैंने भाभी से हिम्मत करके पूछ ही लिया- आप कल रात को क्यों रो रही थीं।भाभी ने पहले सही जवाब नहीं दिया.

बीएफ चोदा चोदी चलने वाला?

उनका नाम पंकज है। उनकी पत्नी की उम्र 24 साल है। बीच वाले भाई की उम्र 22 साल है. अन्दर जाकर सब एक जैसे ही होते हैं।वो हँसता हुआ धकापेल अपना लंड अन्दर-बाहर करने लगा, मुझे भी अब मज़ा आने लगा।तभी मैंने देखा. मैं तो सपने में भी नहीं सोच सकती थी कि तू इतना बड़ा हो जाएगा।मोनू बोला- आप भी तो पहले से बहुत बदल गई हैं।मैंने कहा- कैसे?तो वो बोला- आपकी छाती कितनी बड़ी हो गई हैं और बैक भी कितनी बड़ी हो गई है।मैं उसकी बातों से गरम होने लगी।मैं अपना मुँह उसके कान के पास ले गई और बुदबुदाई- मोनू तूने कभी किसी लड़की को चोदा है?मेरे मुँह से ‘चोदा’ शब्द सुन कर मोनू बुरी तरह शर्मा गया.

अब जल्दी अन्दर डालो।उसने अपना 6 इन्च का मोटा लंड मेरी कोमल सी गांड में डाल दिया, मुझ बहुत दर्द हुआ. जरा सुनो!वो बोला- क्या हुआ बोलो?मैंने कहा- आपकी जींस बहुत अच्छी है. मैं राहुल श्रीवास्तव मुंबई से… मैं एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करता हूँ और मेरी उम्र 30 साल है।मेरे ऑफिस में एक दोस्त हैं राजीव रंजन जी.

और दिन-रात उस मुए कंप्यूटर में आँखें और दिमाग लगाए बैठता है।मैंने उसे संवारते हुए कहा- मेरी रानी जाने दो न. मैं ऊपर से लेकर नीचे तक गनगना गई।मैं तो पहली बार से भी ज्यादा खुद को गर्म महसूस करने लगी और उनके लिंग को पकड़ कर अपनी योनि की दरार के बीच ऊपर-नीचे रगड़ने लगी।मैंने अपनी योनि को आगे की तरफ कर दिया. और डर मत ये नहीं टूटेगा।कह कर वो हँसने लगी।मैं उससे उम्र में जरूर छोटा था.

अब मैं उसको गोद में उठा कर उसके कमरे में ही ले गया। मैं उसे सीधा बाथरूम में ले गया और जोर-जोर से उसकी गर्दन और कान को चुम्बन करने लगा।मैंने प्रीत की होंठों पर चुम्बन किया. पर जॉब जयपुर में करता हूँ।मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और लगभग सारी कहानियाँ पढ़ चुका हूँ।आज मैं आप सबको अपनी पहली और सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हूँ।यह तब का किस्सा है.

कल दाग देने जाना है।तो जब शाम की तैयारी करने लगे। मेरी सभी बुआएं और चाचियाँ मुझसे बातें करने लगीं कि और कैसा है.

नहीं तो मैं आखिरी चैप्टर नहीं पढ़ाऊँगी।अवि- नहीं मैडम ऐसा मत करो। ये मेरी पहली चुदाई होगी।मैडम- ठीक है मेरे चोदू राजा.

जिस कारण मेरा लण्ड खड़ा ही था।भाभी ने तुरंत बिस्तर पर अपनी टाँगें चौड़ी कर दीं. दो बार तूने मुझे हर्ट किया है।काजल ने कहा- भैया मैंने बहुत कोशिश की. और मुझे ऋतु की चुदाई का रास्ता साफ़ नज़र आने लगा।अब ऋतु मेरे घर आकर पढ़ाई करने लगी। मगर उस टाइम पर हम सिर्फ पढ़ाई ही करते थे.

इस कारण मुझे शाम को ज्यादा देर हो गई, बस स्टॉप पर बस का इन्तजार कर रहा था परन्तु किन्हीं कारणों से बस नहीं आई।मेरे गाँव जाने वाले बहुत सारे लोग थे. चोदना चाहता हूँ।उसने ‘हाँ’ कहा और अपनी टाँगों को मेरी कमर के साथ कस दिया।उसकी चूत मेरे लंड पर सही बैठ गई. मैंने आहिस्ता-आहिस्ता हिलना शुरू कर दिया।कुछ देर बाद उसको भी मज़ा आने लगा और उसने भी आगे-पीछे हिलना शुरू कर दिया.

मैंने सोचा कि हाँ यार बुआ सही बोल रही हैं अभी सब हैं बाद में करेंगे और ये मौका भी गम का है.

अपनी नाज़ुक उंगलियों से छेड़ने लगी। तभी मुझे लगा कि मेरी बुर से रस निकलने लगा है। अपनी बुर पर मेरी पूरी हथेली चलने लगी और थोड़ी ही देर में मेरी पूरी हथेली मेरी चूत के रस से लबालब हो गई।अंकल के साथ चुदाई का सोच कर मुझे मज़ा तो बहुत आया और मैं जल्दी झड़ भी गई. कसम से आज पार्टी में तुम ही सब से खूबसूरत दिखाई दोगी।पायल- ओह्ह भाई थैंक्स. तो उन्होंने अपना पोज़ बदला और अपने घुटने हौले से मोड़ लिए और मुझ पर जैसे अपने घुटनों के बल बैठ गईं।पर जैसे ही भाभी ने इस आसन में पहला शॉट लगाना चाहा.

3″ और फिगर 34″ के चूचे 28″ कमर और 36 के चूतड़।पहले-पहल तो मेरी और उसकी कोई बात नहीं होती थी. मतलब सीधे नहीं देखा और मेरे लौड़े की एक झलक देखते ही अपनी नजरें एकदम से हटा लीं और आँखें बंद कर लीं. तभी एकदम से झरझरा कर मेरी बुर ने पानी छोड़ दिया और पता नहीं कब मुझे नींद आ गई।सुबह मेरी नींद तब खुली.

बता नहीं सकता था?मैंने बोला- सॉरी यार।मैंने उसे नीचे खड़ी करके घोड़ी बनने को कहा.

उसी तरह हर चूत पर चोदने वाले का नाम लिखा होता है।अब आप ही खुद देखो. जैसे-तैसे मैं बाथरूम में गई और तैयार होने लगी।मैं और सुधा उनकी गाड़ी से घर आ गए। मैं बहुत थकी हुई थी और हम दोनों जल्द ही सो गए।अब आगे.

बीएफ चोदा चोदी चलने वाला ’ की आवाज़ आ रही थी।करीब 10 मिनट चोदने के बाद मैंने उसको घोड़ी बनाया। अब मेरे लौड़े के सामने एक पंजाबन मकान-मालकिन किरण रंडी की गाण्ड थी। मैंने उसकी गाण्ड में थोड़ा सा उसकी चूत का पानी लगाया और अपना लण्ड उसकी गाण्ड के छेद पर रखा ही था कि वो मुझे मना करने लगी. तो मैं उसके हुक एक-एक करके खोलने लगी।जैसे ही मैंने अपना ब्लाउज निकाला.

बीएफ चोदा चोदी चलने वाला पिछले साल खबर मिली की उसकी बाइक को ट्रक ने टक्कर मार दी और सड़क पर गिरने से उसका सिर फट गया. मैं उसके लोअर और चड्डी को पकड़ा और उतारने लगा, आमिर ने भी अपनी गाण्ड उठाकर सहयोग दिया। वो पूरा नंगा हो गया था और मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में था।उसका खड़ा लंड उसकी नाभि तक लंबा था। उसके बदन के मुकाबले उसके लंड का रंग हल्का सांवला था.

बहुत ही प्यार से वो मेरे लन्ड को अपने मुँह में अन्दर तक मेरे पूरे लन्ड को ले रही थी।क़रीब 15 मिनट के बाद जब मेरा माल निकला.

हिंदी गाना वाला सेक्सी

तो मैं प्रीत को विश करने लगा!प्रीत मुझे देखे जा रही थी और फिर उसने मुस्कुराते हुए मोमबत्ती को फूंक मार कर बुझा दिया. क्या मस्त पटाखा लग रही थी।मैंने उसको अपने पास खींचा और उसके प्यारे से कोमल मुलायम होंठों को चुम्बन करने लगा।इतने में सोनी अपने होंठों को हटा कर बोली- हॉटशॉट बेबी. उसने बहुत सारा तेल अपनी गाण्ड पर लगा लिया और औरतों की तरह ऊपर टाँगें करके लेट गया।मैंने भी सही पोजीशन लेकर अपना लंड उसकी गाण्ड पर सैट किया और जैसे ही दबाया.

फिर मैंने उठ कर उसके मुँह में लण्ड डाल दिया और सोनी जोर-जोर से लवड़ा चूसने लगी।यार, जब लड़की लण्ड को चाटती या चूसती है. यह जो तुम्हारे सामने हूँ।’अम्मी उनसे लिपट कर बातें कर रही थीं। कभी तो वो मेरी नजरों के सामने आ जातीं. पार्टी खत्म हुई सभी अपने घर जाने लगे।तब वर्षा ने मुझसे मेरे बारे में पूछा कि कहाँ रहते हो.

तू नहा ले, फिर हम दोनों खाना लेते हैं।मैंने भाभी को एक प्यार भरी स्माइल दी और नहा कर फ्रेश हो गया। फिर हम दोनों ने खाना खा लिया।हम बातें करने लगे.

तू खुद अपने हाथों से उसको आज़ाद कर ले।कोमल नीचे बैठ गई और अर्जुन की पैन्ट को खोल दिया और एक ही झटके में अंडरवियर समेत पैन्ट नीचे को खींच दी।अर्जुन का लंबा लौड़ा एकदम से तना हुआ उसकी आँखों के सामने आ गया।कोमल- हाए राम. और आयशा प्रियंका के मम्मों को चूसने और दबाने लगी।वो बहुत जोर से मम्मों को मसल रही थी और मैं प्रियंका की चूत में उंगली करने लगा।उधर प्रियंका भी अपनी आँखें बंद करते हुए बोली- हाय जीजू. जिन्हें देख कर अर्जुन अपना होश खो बैठा और पायल के मम्मों को दबाने लगा।पायल ने अर्जुन को पीछे धकेला और जल्दी से अपना कुर्ता पहन लिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !पायल- सारा मज़ा अभी ले लोगे क्या.

क्योंकि मेरी भाभी बड़ी ही प्यारी और सीधी किस्म की औरत हैं लेकिन वो तो मेरी प्यार भरी चुदाई का ही असर है कि वो मेरे साथ सब कुछ भूल जाती हैं और चुदाई के लिए तैयार हो जाती हैं।ये बात भी मुझे उन्होंने ही बताई थी। मेरी उनके साथ चुदाई में सिर्फ वासना ही नहीं थी. किसी में सिटकनी नहीं थी।जब मैं नहा कर लौटा तो मेरे पूरे कपड़े गायब थे. तो अनामिका तैयार होकर कहीं जाने की तैयारी कर रही थी।सुरभि ने पूछा- कहाँ जा रही हो अनामिका?अनामिका- जी मैम.

उसकी छाती उसके चूचे पर जा टिकी और वो रवि को चूमने लगी पागलों की तरह और रवि की गांड को अपने हाथों से दबाते हुए लंड को चूत में धकेलने लगी।अब रवि की स्पीड भी बढ़ गई थी और गाड़ी हिलने लगी. उसकी फ़िगर बहुत ही मस्त है। उसकी हाइट 5’4″ होगी और साइज़ 32-28-32 होगी। वो दिखने में बहुत ही कमसिन दिखती है। लगभग पूरी क्लास उसकी दीवानी थी।वो मेरी लैब पार्टनर थी और हमारी बहुत गहरी दोस्ती हो गई थी और कब ये दोस्ती प्यार में बदल गई.

आप सभी लण्ड मनचलों और गरमा-गरम चूतों को मेरा एक और प्रणाम।अभी तक मैंने जितनी भी कहानियाँ लिखीं. क्योंकि जल्दी-जल्दी में मैं सिर्फ टी-शर्ट ही पहन कर आ गया था। उन्हें होश में लाने के लिए मैं पानी लेने गया. आखिर मैंने बहुत हिम्मत जुटाई और उससे कह दिया- तृषा तुम बुरा नहीं मानो.

ज़रा मैं भी तो देखूँ।सन्नी ने नौकर से कहा- बाहर जो गाड़ी में आदमी है.

तो राकेश जी ने मेरी ब्रा के हुक खोल दिए और मेरे दोनों दूध निकल कर सामने आ गए. और मैं भी अपने बच्चों में खोई रहती हूँ। आजकल तेरे जीजाजी मुझे बस हफ़्ते एक या दो बार ही चोदते हैं. तो मेरा दूसरा हाथ उसके स्तनों को निचोड़ रहा था।वो भी मस्त होकर एक हाथ से मेरा लंड दबा रही थी और दूसरे हाथ से मेरी छाती पर उंगलियों के जाल बुनने लगी थी।फिर मैंने एक झटके के साथ उसे अपनी ओर खींचकर उसके मुलायम से होंठों को अपने होंठों से कैद कर लिया। मेरे इस हमले से वो थोड़ा घबरा गई.

जिससे उसकी गाण्ड अब मेरी तरफ को हो गई थी और सारा पानी हम दोनों के ऊपर ही आ रहा था।यारों बाथरूम में पानी की बूंदों में एक हसीन लड़की की चुदाई करने से मजेदार बात और क्या होगी।अब मैंने अपना लण्ड सोनी की गाण्ड पर लगाया और जोरदार धक्का मारा, सोनी इस बार जोर से चीख पड़ी ‘आआहह. उसने मेरे बारे में कुछ नहीं पूछा, इससे मुझे लगा कि शाज़ी अंकल ने मेरे बारे में पहले ही सब कुछ उसे बता दिया था।उसने यह भी बताया- मैं ऐसे ही बड़े साहब लोगों के दस दूसरे घरों में भी केवल उनके बेडरूम और बाथरूम की सफाई का काम करती हूँ। इससे मुझे अच्छेक पैसे भी मिल जाते हैं और काम भी ज्यादा नहीं करना पड़ता। केवल राज़दारी शर्त है.

शायद आपको मैं पसन्द नहीं आई।मैं अब भी उससे शर्मा रहा था।शायद वो मेरी इस बात को भांप गई थी. साथ ही सीधी दो उंगलियों से उसकी चूत को पेलने लगा।इसी के साथ में दूसरे हाथ से उसकी क्लाइटोरिस को रगड़ने लगा।अब हम दोनों की चुदास की आवाज तेज होने लगीं. मगर चमकीली सी थी।उसने अब कुरते को अपने गले से ऊपर करते-करते अचानक नीचे किया.

एक्स एक्स काजल

अर्जुन तो एक ही स्पीड से लौड़े को अन्दर-बाहर कर रहा था और बस पायल का नाम लेकर गंदी-गंदी गालियां दे रहा था।इधर सन्नी को झटके देने की जरूरत ही नहीं पड़ रही थी.

पार्किंग का लड़का पर्ची देकर चला गया। मैंने मेघा की सलवार नीचे करके पैन्टी को एक साइड में कर दिया. तो उसने लौड़ा मुँह से निकाल दिया और लंबी सांस लेने लग गई।अर्जुन- अबे यार. वो आयशा को अपना मोबाइल निकाल कर दिखाने लगी।आयशा वीडियो देखते ही चुप हो गई.

हम दोनों इस बारे में बात ही कर रहे थे कि सामने बैठे छोटे लड़के भी पूछा- भाई स्कोर क्या हुआ है?तो दोस्तो, यहाँ से स्टोरी में ट्विस्ट आया।लड़के का नाम समीर था. मोटी मोटी काली आँखें और बारिश के पानी के बोझ से बार बार झपकती पलकें उसको और मासूम बना रही थीं. सेक्सी फिल्में वीडियो में चाहिएदेख रहा हूँ मेरी जान दिखती कैसी है।वो अपने मम्मों को उभारते हुए बोली- कैसी देखती है आपकी जान?मैं बोला- दिल करता है अभी खा जाऊँ तेरे को.

एक तो मेरी स्कर्ट भी जाँघ को पूरी तरह ढकने में सक्षम नहीं थी।तभी मैंने गौर किया कि संतोष की निगाहें मेरी जाँघ के पास ही है- और उसका लण्ड तौलिए में उठ-बैठ रहा है। मैं अपने एक पैर को मोड़े हुए थी. मेरे बदन में करंट दौड़ गया।उन्होंने मेरा पजामा एक ही बार में अंडरवियर के साथ नीचे कर दिया और मेरे लंड को हाथ में लेकर हिलाते हुए बोलीं- तेरा लंड तो कितना बड़ा है.

मैं कोई रंडी थोड़ी हूँ।तो बोला- ठीक है।उसने मुझे अपना बैग से एक चॉकलेट निकाल कर दी. ड्राइवर ने अपना पूरे 8 इंच का काला लंड मेरी चूत में डाल दिया, मेरी ‘अहहा. मैंने उसे ‘लव यू’ कहा और एक प्यार भरा चुम्मा दिया।अब हम दोनों एक-दूसरे के बदन को सहला रहे थे.

अभी बारहवीं में पढ़ता हूँ।आज मैं आपको अपनी सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ जिसे सुनकर आपका चोदने का सब्र ख़त्म हो जाएगा।यह बात अभी सिर्फ दो महीने पुरानी ही है। हम लोग भोपाल के एक मध्यम वर्ग वाले परिवार से है. और उसके मम्मों को मेरे मुँह पर मसल रही थी। मेरे झटके इतने तेज थे कि कुछ 10 से 20 झटकों में वो अकड़ सी गई. तुम लंच टाइम के समय में मेरी बुर को चोद लेना।मैं वहाँ से निकल लिया।अगले दिन स्कूल पहुँचा तो दीदी खड़ी थीं.

सो धीरे-धीरे रिचा ने उसको अपने ऊपर ले लिया और उसका ब्वॉय फ्रेंड भी उसके ऊपर चढ़कर उसके मम्मों को चूसने लगा। हमारी तो हालत खराब हो रही थी तो यहाँ हम भी स्टार्ट हो गए।मैंने अन्दर देखा कि रिचा की आवाज़ आई- उह्ह.

पर मस्ती करने के लायक थे और मम्मों के निप्पल तो बड़े मस्त थे और बड़े भी थे।मैं बोला- पायल मुझे तुम्हारे मम्मे चूसने है।उसने मेरा लण्ड छोड़ा और अपने कपड़े उतार दिए।अँधेरे में मुझे कुछ नहीं दिख रहा था कि उसका शरीर गोरा है या काला. अन्तर्वासना पर मैं आपको अपनी चूत की अनेकों चुदाईयों के बारे में बताने जा रही हूँ.

हमारी चुदाई दम से चली।फिर मैंने पूछा- अब बताओ मैं खिलाड़ी हूँ या अनाड़ी?बोली- अरे तुम तो चैंपियन निकले जान. तेरी प्यासी चूत की प्यास अब मेरा लौड़ा ही बुझाएगा।रॉनी की बात सुनकर मुनिया की चूत से पानी रिसने लगा. क्योंकि मैं नंगा था। मुझे लगा कि वह मुझे नंगा न देख ले और किसी से कह न दे।उसने मुझे देखते ही कहा- अरे राजू तू कब आया और आज अकेला ही है.

उसकी बात सुनकर मैं पूजा की तरफ देखकर धीमे से कहने लगा- ले तो मैंने भी ली है यार. बिलकुल किसी पॉर्न मूवी की तरह चुद रही थी।मैं 15 मिनट बाद कंडोम में ही झड़ गया।अब हम दोनों बुरी तरह से थक गए थे. जिससे सपना को कुछ राहत मिली।तभी मैंने अपना लंड बाहर निकाले बिना पूरा खींचकर पूरी ताक़त के साथ दुबारा पेल दिया.

बीएफ चोदा चोदी चलने वाला 2 मिनट तक ऐसे ही रहने के बाद फटाफट कपड़े पहने और उसे भी पहनाए।मैं एग्जाम के लिए जाने लगा और उसको भी अपने साथ चलने के लिये कहा लेकिन वो स्कूटी छोड़ कर जाने को तैयार नहीं हुई।उसको सॉरी बोलकर जाते हुए नाम पूछा तो बोली- अर्पणा. तुम जैसे घटिया आदमी के फ्लैट में मुझे रहना पड़ रहा है।सन्नी- अबे साले.

औरत की फोटो

और वो एकदम जंगली की तरह मेरे होंठों को चूसने लगी। मैं भी उसके होंठों को अपने होंठों मैं दबा कर चूसने लगा और काटने भी लगा।हम दोनों की जुबानें एक-दूसरे के मुँह मैं स्वछन्द होकर घूम रही थीं।उसके मुँह के अन्दर की गर्मी और वो गीलापन मुझे भी गर्मी दे रहा था और मेरे अन्दर भी कामाग्नि को भड़का रहा था।अब मेरे हाथ उसके टॉप के अन्दर उसकी पीठ पर घूम रहे थे। उसकी ब्रा का बद्दी बार-बार मेरे हाथों से टकरा रही थी. और हल्का सा नीचे झुकी और एक बार में मेरा आधा लण्ड अपने मुँह के अन्दर ‘गप्प’ से डाल लिया. ’मैंने उससे पूछा- तुम दोनों के बीच क्या रिश्ता है?उसने बोला- मैं सिर्फ़ उससे बात करती हूँ.

जैसे हम एक-दूसरे को छोड़ेंगे ही नहीं।मुझे याद नहीं कि हम एक-दूसरे को कितनी देर तक यूँ ही बाँहों में लिए रहे होंगे।फ़िर मैंने उसके चेहरे को हाथों में लिया और उसके अधरों पर अपने अधर रख दिए, हम एक-दूसरे के अधरों को बहुत देर तक यूँ ही चूमते रहे. पहली बार है।मैंने उसके दूध दबाने शुरू किए, वो सिसकारियाँ लेने लगी ‘आह सीआहह हहहह. हिंदी सेक्सी वीडियो फटाफटरवि तो अपनी सुहागरात मना चुका था लेकिन मैंने जो रवि को अंदर ही अंदर अपना पति मान लिया था, वो भावना मेरे भीतर घर कर गई थी जो मुझे हर पल बेचैन रखती थी.

रुकना पड़ा।मैं एक टीले नुमा पहाड़ी देख कर उधर गाड़ी को रुकवा कर बाहर आई और टीले की आड़ में थोड़ा ऊपर को गई।मैंने देखा कि वहाँ कोई नहीं था.

और अब वह तुम्हारा यह मोटा तगड़ा लौड़ा अपने भीतर समा लेने के लिए उतावली हो गई है. जिनको मैंने बहुत एन्जॉय किया।आज मैं भी आप लोगों के सामने अपनी एक सच्ची कहानी पेश करने जा रहा हूँ। आपको मेरी कहानी अच्छी लगे या नहीं.

मुझे तुमसे यही उम्मीद थी। इस टोनी से ज़्यादा मज़ा मैं तुम्हें दूँगा और तेरी ऐसी मस्त चुदाई करूँगा कि तू बस याद करेगी।पुनीत- सन्नी. इन्दु नानु अवला फक हागिल्ला – सुंदर औरत, आज मैं इसको फक करूंगा।)‘अभी आप डायना को नहीं देखा।’ उसने खिसककर पैंट में सख्त हो गए लिंग को एडजस्ट किया।‘वो भी तो आ रही है ना, देख लेंगे।’‘तुम उससे बहुत सुंदर है और sexy. तब काजल ने आँखें बंद कर लीं।यह देखकर मैं इतना खुश हुआ कि मैं बता नहीं सकता।मैं काजल के लबों को चूमने करने ही वाला था कि मेरी माँ ने रसोई में किसी बर्तन की आवाज़ कर दी.

जिसे काजल ऑलरेडी लॉक करके आई थी। फिर मैंने काजल के दोनों गालों पर अपने हाथ रखे और अपने होंठ काजल के होंठों के पास लेकर गया।काजल ने आँखें बंद कर दीं।मैंने अपने होंठों को काजल के होंठों पर रख दिया और काजल को पागलों की तरह किस करने लगा।मैंने अपनी जीभ उसके मुँह में डालकर उसकी जीभ को चूसना शुरू कर दिया.

जिससे कि मेरे लण्ड का टोपा उसकी चूत में फंस गया और जूही के मुँह से बहुत जोरदार चीख बाहर आ गई।मैंने तुरंत उसके मुँह को अपने मुँह से बंद कर दिया और चुम्बन करने लगा।जब उसका दर्द कुछ कम हो गया. ’ कमरे में गूंजने लगीं।मैं जीभ को अन्दर तक ले जाकर चाट रहा था। यह मेरा पहला अनुभव था इसीलिए मुझे ज्यादा मज़ा तो नहीं आ रहा था. अन्दर ही निकाल दूँ या बाहर निकालूं?मैं बोली- आज मेरी पहली चुदाई हुई है.

मुसलमान सेक्सी सेक्सपर मैंने उसके होंठों को चूस कर और उसकी चूत पर हाथ फेरकर उसका दर्द कम किया।कुछ पलों बाद जब वो शांत हो गई. जिसमें संजना भी मेरा साथ दे रही थी।किस करते हुए अब मेरे ऊपर पूरी तरह से सेक्स हावी होने लगा था.

বাংলাদেশের সেক্সের ভিডিও

तभी उसने एक झटके से मेरा लोवर नीचे सरका दिया। मैंने भी अपने पैरों से अपना पजामा निकाल दिया।अब मैं सिर्फ़ अंडरवियर में था। वो मेरे लण्ड के उभार को देखे जा रही थी. उसके गर्म पानी से मेरा लंड भी गर्म हो गया और मैं भी उसकी चूत में जोर-जोर से पिचकारियाँ मारते हुए झड़ गया।थोड़ी देर उसके ऊपर ही लेटा रहा. ’ भरने लगी।मैं चाटता गया और वो ज़ोर से अपनी गांड को मेरे मुँह में पुश करने लगी।तभी उसका शरीर ज़ोर से हिला और वो दूसरी बार झड़ गई।उसने कहा- अरे तुमने तो जादू कर दिया.

तुम्हें शादी के टाइम समझाना पड़ेगा।यह सुनते ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया।मैंने कहा- आप तो चाबी दे दो. पर वो कमीना कहाँ मानने वाला था वो तो उसे चोदे ही जा रहा था। कुछ देर बाद उसका भी और साक्षी का दोनों का पानी निकल गया और वो साक्षी के ऊपर निढाल होकर गिर पड़ा।साक्षी की भी हालत उसने खराब कर दी थी।कुछ पलों बाद वो खड़ा हुआ और उसने पानी पिया. पर थी तो वो भी लड़की।कंप्यूटर सेंटर में उसको एक लड़का पसंद आ गया।उसने मेरे ज़रिए उस लड़के से बात करना शुरू किया और बात करते-करते उनकी बातें कब प्यार में बदल गईं.

ये अंजलि का देवर है।प्रीत बोली- यश, ये सब भी आपकी भाभी हैं।मैंने सबको ‘हैलो’ किया और मैंने देखा कि प्रिया मुझे देख कर स्माइल कर रही थी।करीब 7 बजे तक हम सब वहीं रहे और मैंने सबको हँसा-हँसा कर पेट में दर्द कर दिया. लेकिन उसके साथ उसका कुछ हुआ नहीं था।उसकी चूत इतनी टाइट थी कि क्या बताऊँ. कोई आ जाएगा।उसने भी जल्दी से कपड़े उतार दिए। मैं भी नंगा हो गया।गौरी की चूत देखकर मेरा लन्ड सलामी दे रहा था। मैंने जल्दी से गौरी को सीधा लिटा दिया और लन्ड को चूत के मुहाने पर टिका कर एक झटका मारा.

आमिर भी शायद समझ चुका था कि मैं झड़ने वाला हूँ। वो और तेजी से मेरा लंड चूसने लगा। उसकी जुबान मेरे लंड के छेद पर रगड़ मार रही थी।मैं तो सातवें आसामान पर ही था। तभी आमिर ने मेरा आंड अपनी मुठ्ठी में पकड़ लिया और मैं झड़ने लगा। उसने चूसना बंद किया. पूरा लंड एक बार में ही जड़ तक अन्दर चला गया।मैंने एक हाथ से उसके लंड को पकड़ कर मुठ्ठ मारते हुए.

ये देख तेरी बुआ के दूध कितने बड़े हैं। मुझे उन पर गुस्सा आता है।राकेश- देख अवि.

हमेशा की तरह आज भी पूरे साफ़ हो।ये सब कहते-कहते उसने उसका टॉप उतार दिया और जीन्स को अनबटन करते हुए उसे पैन्टी के साथ ही नीचे खींच दिया।आज तक मैंने भी कई लड़कियों औरतों को नंगी देखा था. सेक्स वीडियो सेक्सी गर्ल्समैंने उसको घसीट कर अपने जिस्म से लिपटा लिया, फिर अपने होंठ उसके रसीले जलले हुए होंठों पर रख दिए।मैं वो मज़ा आज तक नहीं भूल सकी. देवर भाभी की चुदाई चुदाई सेक्सी’ये कहते हुए दोषी ने गाण्ड में लंड घुसाने की स्पीड बढ़ा दी।अब सौम्या जम कर चुदा रही थी, आज एक नया एक्सपीरियंस सौम्या को मिल रहा था।सारी रात सौम्या और मैं आशू और दोषी से अपनी गाण्ड का भुरता और चूत की चटनी करवाते रहे।तो यह थी मेरी पाठिका ने मुझसे शेयर की हुई कहानी।वो तो मुझसे चुदकर गई. तुम्हारी सेवा करना चाहता हूँ।फिर तो मैं भी महारानी के तेवर में आ गई और बोली- ठीक है फिर आज आप ही सेवा कर लो। चलो अन्दर और मेरी जीन्स निकालने में मदद करो और ये नाईट ड्रेस पहना दो।बॉस बोले- फिर अन्दर क्यों जाना.

मैं भी करीब ही था।आखिरकार मैं भी इंसान था, मैं भी झड़ गया, मैंने फ़टाफ़ट अपना लौड़ा बाहर निकाल लिया और दिव्या को सीधा करके उसके मम्मों के बीच में लन्ड रख कर हिलाने लगा।मैंने उसे कहा- प्लीज़ मेरे लिए अपना मुँह खोलो.

आज इसे ये क्या हो गया है कि मुझे किस करने को बोल रही है। पर करता क्या. लेकिन मैं अभी छूटने वाला नहीं था।मैंने उसको सीधे लिटा दिया और उसकी गांड के नीचे तकिया रखा और उसकी चूत में लण्ड पेल दिया।मेरा लण्ड अब आसानी से उसकी चूत में चला गया. तभी सन्नी और बिहारी उसको सामने से आते दिखाई दिए तो अर्जुन ने निधि को हॉस्पिटल भेज दिया और खुद वहीं रुक गया।जब निधि जा रही थी बिहारी बड़े गौर से उसकी गाण्ड को घूर रहा था।बिहारी- क्या मस्त गाण्ड है ससुर की नाती की.

तो मुझे एकदम से झटका लगा। मेरे बैग में मैडम के घर की किताब मिली। मैं उसे भूल ही गया था. अब तो रोज हम घन्टों फोन पर बात करते और बालकनी से उसको मैं देखता।ऐसे ही और एक हफ़्ता निकल गया। अब हम दोनों के बीच में हर तरह की बातें होने लगीं. तो कभी मैं चूसने अगता।कभी-कभी मैं उनके होंठों को काट लेता तो वो चिल्ला उठतीं और मैं ऊपर से ही उनके मम्मों को दबा रहा था।बाद में भाभी बोलीं- तुम मुझे सिर्फ़ श्रेया कहो.

वीडियो का चार्ट

लेकिन तेरा भोलापन पहले जैसा ही है।मोनू ने मेरे बेटे को गोद में ले लिया। घंटे भर बाद हम घर पहुँच गए। इस बीच मेरा बेटा मोनू से बहुत घुल-मिल गया।मोनू फ्रेश होने के लिए चला गया।मैंने चाय बनाई और दोनों चाय पीते हुए बातें करने लगे, उसके 12वीं के एग्जाम के बारे में पूछा. इसलिए तुझे उकसाने के लिए ये इशारे करता हूँ।यह बोल कर वो वहाँ से चला गया।मुझे उसकी बात समझ में नहीं आई. तो पहले ही बोल देती।सब सोच-समझ कर मैंने उसे आवाज़ दी, उसने पहली आवाज़ में ही जवाब दिया- क्या है? और तू क्या कर रहा है मेरे साथ?मैंने कहा- सॉरी.

तो आज इस साली फिरंगिन की चाल ना बदल दूँ तो मेरा नाम बदल देना।सन्नी ने एनी को कहा- मैं थोड़ा बाथरूम जाकर आता हूँ.

अच्छा भैया फिर मिलते हैं।बाकी अब अगले भाग में मित्रो, आप जरूर ईमेल करें.

कहानी का पहला भाग :खिलता बदन मचलती जवानी और मेरी बेकरारी-1कहानी का दूसरा भाग :खिलता बदन मचलती जवानी और मेरी बेकरारी-2अब तक आपने पढ़ा. उसका तो पता नहीं क्या होता होगा।सन्नी की बात सुनकर अर्जुन बस मुस्कुरा रहा था।एनी- तेरे को तो जानवर होना माँगता था. सेक्सी पिक्चर वीडियो में ब्लू फिल्मलेकिन उसके लिए मैंने कभी यह नहीं सोचा था कि मैं अपने ही भाई से सेक्स करूँ। मेरा कोई बॉयफ्रेंड भी नहीं था।एक दिन मैंने अपने भाई को देखा कि वो ब्लू-फिल्म देख रहा है और अपने लौड़े को हिला रहा है।मैं रात को जब सोने गई.

इसका बाप तेरे यहाँ आता था और तूने नीतू से कहा था कि एक दिन तेरे बेटी को इस कोठे पर बिठा लूंगी. तो मैं अपने कमरे में वापस चला आया और अपने खड़े हुए लंड को हिलाते हुए सो गया।फिर जब सुबह हुई तो मैं ब्रश कर रहा था. जो अपने दोस्त को नंबर देने के लिए मजबूर किया।मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा था.

मैंने फिर से एक बार उसके मम्मों का स्वाद चखना शुरू किया।अच्छे से चूसने के बाद मैं और नीचे खिसका और उसके पेट को चूमने लगा। गुदगुदी की वजह से आमिर बार-बार अपने हाथों से मेरे सर को पकड़ लेता था।मैंने उसके दोनों हाथों को अपने हाथों में ले कर कसके पकड़ लिया और अपने होंठों और जुबान से उसके पेट के मुलायम स्पर्श का आनन्द लेने लगा।वो झटपटाने लगा- आह. उसे लेकर मैं अपने कमरे में आ गया। अब मैंने कमरे में उसके लिए बिस्तर लगाया.

उस वक्त तक कई शॉपिंग माल्स खुले ही नहीं थे। मैंने इन्तजार किया तो मुझे लगा जैसे सब कुछ शाम को ही खुलेगा।मैं काफ़ी निराश होकर 2-3 चीजें लेकर बाहर आ गई.

मैं उस हसीन चीज को देखता ही रह गया।उसके चूचे एकदम नरम एकदम शेप में थे. सिमरन, गीत का इशारा पाकर तुरंत चली गई। उसके जाते ही गीत ने कहा- इधर ध्यान दो. फिर वो बिस्तर पर चित्त लेट गईं और उन्होंने अपनी दोनों टांगें ऊपर को खोलते हुए अपनी चूत पसार ली।‘हाय.

वीडियो सेक्सी देवी वो आपको मैं अपनी अगली कहानी में सुनाऊँगा।आपको मेरी कहानी कैसी लगी, मुझे ईमेल कीजिए।[emailprotected]. तो मैं बोला- भाभी मैं झड़ने वाला हूँ।तो वो बोली- अन्दर ही झड़ जा मेरे राजा.

मैं मुँह में लेकर चूसने लगा और अपना एक हाथ उनके साया में डालकर पैन्टी के करीब पहुँच कर उनकी बुर को सहलाने लगा।दीदी ने भी गर्म होकर मेरा लन्ड अपने मुँह में ले लिय, हम दोनों भाई-बहन गरम हो गए।मैंने दीदी का साया ऊपर करके उनकी पैन्टी को नीचे खींच कर अपना लण्ड उनकी बुर में पेलना शुरू किया।इतना चुदाने के बाद भी दीदी की बुर बहुत टाइट थी।दीदी बोलीं- मैं अपने भाई को टाइट बुर दे सकूँ. जब मैं अपना एसएससी का एग्जाम देने भोपाल गई थी। भोपाल में मेरा भाई रहता था. बहुत मज़ा आएगा।पायल ने सूसू करना शुरू कर दिया उसकी चूत से सीटी की आवाज़ निकलने लगी.

kumari सेक्सी वीडियो

तू इतने गुस्से में क्यों है?सन्नी ने दोनों को पूरी बात बता दी तो रॉनी भी गुस्सा हो गया. सब पूरा करते हुए अपना हर फर्ज निभाते हैं और सबसे बड़ी टेंशन गर्लफ्रेंड. तभी भैया आपसे इस आसन में चुदवाते हैं।फिर मैंने भाभी से कहा- और यह तो बताइए आपको कौन सा आसन सबसे ज्यादा पसंद है?तो भाभी ने कहा- मुझे तो नीचे लेटे हुए चुदवाने में ही ज्यादा मजा आता है.

मेरा दिल मचल गया कि भाग कर उसके पास जाऊँ और उसके खड़े लंड को मुंह में भर लूं. वो मुझे चोदने की मुद्रा में आ गया।इसके बाद दीपक ने अपना लण्ड मेरी चूत में डाल दिया.

नहीं तो मुझे फिर से सब को कहने में ज़रा भी देर नहीं लगेगी कि आज ये फिर से छत पर नंगा था.

’ करने लगी मानो मेरी जीभ से ही वो अपनी चुदास को मिटा लेना चाहती हो।मैं जोर-जोर से उसकी गरम चूत को चाटने लगा और उसकी चूत में दो उंगलियां डाल कर जोर-जोर से चूत में अन्दर-बाहर करने लगा।सोनी अब फुल मस्त हो गई. पर वो थोड़ी देर के लिए इसे नज़रअंदाज कर गई।वो मेरे पास आ कर बैठ गई।हमारे बीच थोड़ी बात हुई. आप मेरा यकीन करो।बदल सिंग- चुप कर ते ते कर्ण लग रा है मन्ने तू ये बता.

तभी मुझे गौरी सबसे पीछे आती हुई दिखाई दी।मैं झट से उसके पास गया और बोला- मुझसे प्यार करती हो या नहीं?उसने कुछ जवाब नहीं दिया, मुझे गुस्सा आ गया और मैंने उसे पकड़ कर चूमना-चाटना शुरू कर दिया, लगभग 5 मिनट तक मैं उसे चूमता रहा।फिर उससे पूछा- बोलो प्यार करती हो या नहीं?उसने डर कर ‘हाँ’ में जवाब दिया।फिर मैंने उसे जाने दिया।अगले दिन उसके घर गया। घर में वो अकेली थी. इस थन से जो दूध निकलता है उसका स्वाद वही जानता है जिसे उसको पीने का सौभाग्य मिला है. इसका मुझे बिल्कुल भी पछतावा नहीं है। अब तुम मेरी जोर-जोर से चुदाई करो और मेरी चूत का भुर्ता बना दो। कम ऑन विशु.

इस उम्र में ये सब हो जाता है… तू तो मेरी अच्छी बहन है ना… मैं किसी को कुछ नहीं बताउँगा, वैसे मम्मी और सोनम कहाँ गए है?‘वो मार्किट में गए हैं कुछ सामान लेने…’कहानी जारी रहेगी।[emailprotected].

बीएफ चोदा चोदी चलने वाला: तो कभी मैं उसके निचले होंठ को चूसता। हम एक-दूसरे के होंठों को छोड़ने का नाम ही नहीं ले रहे थे। ऐसा लग रहा था जैसे हमारे होंठ आपस में सिल गए हो। हम तो तब जाकर रुके. यह थी मेरी भाभी के साथ प्यारी चुदाई और अब आप सबकी तरह मैं भी उनकी पूरी रात की चुदाई का इंतजार कर रहा हूँ।दोस्तो, हो सके.

और फिर हम दोनों वो फिल्म एक साथ देखने लगे।फिल्म से उत्तेजना बढ़ने लगी और उसने अपना हाथ मेरे मम्मों पर रख दिया और दबाने लगा, मैंने भी उससे कुछ नहीं कहा।फिर उसने अपना हाथ मेरी टी-शर्ट के अन्दर डाल कर ब्रा के अन्दर डाल दिया और दबाने लगा।वो बोला- बाबू तुम्हारे मम्मे तो बहुत मुलायम हैं।मैंने उसका कुछ रिप्लाई नहीं किया. और गाली गलौच के साथ या तो सुलझेड़ा होकर गले मिल जाते हैं या फिर एक दूसरे का गला दबाने के लिए भागते हैं. मेरी उम्र 26 साल की है, मैं एक हसीं लड़की, जिसकी उम्र 24 साल है, से प्यार करता हूँ, वो भी मुझे दिलो जान से प्यार करती है, हम दोनों एक दूसरे के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित हैं.

बस पायल का नाम लेकर उसकी जम के चुदाई कर लेना। मैं भी तो देखूँ कि तुझमें कितना पॉवर है।अर्जुन- ऐसी बात है तो जल्दी चलो विदेशी मेम का नाम सुनकर लौड़ा और भी जोश में आ गया है। आज तो गोरी-गोरी चूत चाटने को मिलेगी.

तो मैंने उसके मुँह से अपना लण्ड निकाला और उसके होंठों पर किस कर दी।अब हम दोनों ही बिस्तर पर नंगे एक-दूसरे से चिपक कर लेट गए।कुछ देर के बाद हम उठ कर बाथरूम गए. वहीं सभी गाँव की औरतें भी हगने जाती थीं।हगने के लिए माँ मुझे अपने पास ही बिठाती थीं, हमेशा अपनी माँ की चूत गाण्ड रोज देखता था। हगने के बाद माँ मुझे नहलाया करती थीं। नहाने से पहले. कि वो ना के बराबर थी। ऐसा लग रहा था कि जूही मेरे सामने सिर्फ़ ब्लैक-पैन्टी में खड़ी है।उसे ऐसा देखकर तो मेरा भी लण्ड खड़ा हो गया।तभी हमारे दरवाजे की घण्टी बजी, मैंने कहा- जूही.