छोटी भाभी की बीएफ

छवि स्रोत,रणवीर सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी क्राइम अल: छोटी भाभी की बीएफ, मैं अंधेरे में आँखें फाड़ फाड़ कर सुमित को कीकू की चुदाई करते देखता रहा.

सेक्सी वीडियो इंडिया वाली

मैं अपने घुटनों के बल उसके सामने बैठ गया और उसकी जांघों को पकड़ कर अपनी जीभ उसकी बुर में डाल दी. सेक्सी वीडियो पूजा भाभीमैंने पीटर की तरफ देखा तो उसने भी बाथरोब उतार दिया था और वो अपने लंड को हिला रहा था.

फिर हम सब मिलकर पटाके छोड़ने लगे तो नेहा का एक कजिन जिसका नाम रोहन था वो बार बार आयेशा से चिपकने की कोशिश कर रहा था जिसे आयेशा और मैंने महसूस कर लिया था. सेक्सी राजस्थान सेक्सी राजस्थानक्या मस्त आनन्द आ रहा था… मन तो कर रहा था कि इन्हें खा जाऊं!मैं उसके बूब्स इतना खो गया था कि मुझे पता ही नहीं चला कि कब वो मेरा लंड अपने हाथों से सहलाने लगी.

नाख़ून अच्छे से तराशे हुऐ और उन पर पर्पल शेड की नेल पोलिश लगी थी जो उसके गोरे हाथों पर खूब जम रही थी.छोटी भाभी की बीएफ: क्योंकि यह हमारी पहली बार था और मैं दिशा को नाराज नहीं करना चाहता था.

ऐसा लग रहा था जैसे मेरा लंड उसकी चूत की सिलाई को ही फाड़ कर रख देगा.किसी से ठीक से बात भी नहीं कर सकती क्योंकि सबकी नज़र मेरे इन मुहाँसों पर ही होती है.

सेक्सी वीडियो बंगाली भाभी - छोटी भाभी की बीएफ

अगर फूफा जी को ज़ोर से धकेलने की कोशिश करती भी तो मेरी चूत में गड़ा हुया उनका लंड उनको हिलने नहीं देता.बस ऐसे ही लेटी रहने दो मुझे!’ वो बोली और अपनी चूत एक दो बार रगड़ी मेरे लंड पे और फिर शान्त होकर लेटी रही.

मुझे भी मजा आ रहा था, मैंने डॉक्टर की मेक्सी उतार दी, उसके चुचे ब्रा के बाहर निकले हुए थे, मैंने ब्रा को खोल कर चुचों को आजाद कर दिया. छोटी भाभी की बीएफ हमारे घर से थोड़ा ही दूरी पर एक 19-20 साल की कमाल की आइटम रहती है जिसका नाम है तमन्ना… साधारण परिवार से होने के कारण वो ज़्यादा मॉडर्न तो नहीं पर फिर भी उसके जिस्म का आकार और नैन नक्श किसी का भी लंड खड़ा करवा दे.

जो करना है कर लो मगर प्यार से करना।साहिल- विक्की साली को एक साथ चोदेंगे.

छोटी भाभी की बीएफ?

ऋतु कसमसाई और बोली- देखेंगे!अपना गाउन पहन कर उसने अपने डिल्डो को अंदर छुपा लिया और बोली- मुझे भी अपनी बुर पर तुम्हारे होंठों का स्पर्श काफी अच्छा लगा… ये अहसास बिल्कुल अलग है… और मुझे इस बात की भी ख़ुशी है कि मेरा अब कोई सिक्रेट भी नहीं है. उनके तने हुए मम्मों का साइज़ 34 इंच का था और उठी हुई और गांड का नाप 42 इंच का होगा. !मेरे चेहरे पर मुस्कान आ गई और आँख मार दी।अब हम अपने-अपने रूम पर आ गए। मैं पूरी रात ये सोचता रहा कि मैं दिव्या को प्यार करता हूँ, तो फिर मैंने किसी और को क्यों चोदा। ये बात मुझे गलत लगी.

मैं थोड़ा सा शरमा रही थी लेकिन उसी समय उन्होंने मेरी सलवार का नाड़ा खींच दिया और एक ही झटके में मेरी सलवार को नीचे उतार दिया, अब मेरे नीले रंग की पेंटी को भी उतारने लगी, मैंने उनको मना किया, मैं बोली- भाभी, आप रहने दो, मुझे बहुत शर्म आ रही है. फिर एक दिन मैंने उससे अपने प्यार का इजहार कर दिया… वो कुछ नहीं बोली और चली गई. मैं उसके नीचे पड़ी थी, उसकी इन सभी हरकतों से मेरी कामुकता जाग गई थी.

मैं भी पड़ी पड़ी अपने दोनों हाथों से कभी बूब्स कभी चूत को सहला कर चुदाई के मजे में मस्त थी. चाची मेरे ओर देखने लगी और बोली- अरे अशोक क्या ऐसा मजा हमें नहीं मिल सकता है. आप बताओ प्लीज़ कोई ऐसी बात या काम जो ग़लत हो और गोपाल ने किया हो?मोना की बात सुनकर सुधीर टेंशन में आ गया और इधर-उधर देखने लगा.

अगले एक सप्ताह तक सब ठीक-ठाक चलता रहा और माला सुबह से रात तक घर काम करती तथा आराम एवम् सोने के लिए स्टोर में चली जाती. अब दीदी अपने दोनों हाथों से मेरे दूध मसल रही थी और अपने मुंह से चूम रही थी, मेरे दूध को पीने की कोशिश कर रही थी.

मैंने कीकू को अपने हिसाब से सेट किया और अपना लंड उसकी चूत में डाला तो अंदर सुमित का माल भरा पड़ा था.

अचानक नीचे लेटा एंड्रयू झटके मारने लगा, उसने मेरी मिसेज के पैर कस कर पकड़ लिए और लंड को तेज गति से उसकी गांड में पेलने लग गया.

आज जब उसको देखा तब भी मेरी नजर में बच्ची ही लगी, लेकिन वो अब बड़ी हो चुकी है, पूरे 18 की! और दोपहर से शाम तक जो हुआ, पूछ मत यार मेरी क्या हालत हुई है!टीना- ओह गॉड अब समझी कुछ ना कुछ गड़बड़ तो हुई है. मैंने देखा तो वो भाभी थीं तो मैंने गेट खोल कर पूछा- क्या भाभी कोई काम है क्या?वो बोलीं- नहीं. क्या कमी है गोपाल में? जो तुझे राजू जैसे नामर्द के पास जाना पड़ा?मोना- काका अगर ऐसी बात है.

सुधीर- सॉरी मैं ज़ज्बात में बह गया था।मोना- कोई बात नहीं हम अब दोस्त हैं. भाभी फाड़ो इसकी चड्डी जो ये ऐसी हिमाकत फिर कभी न करे!और दोनों ने मिलकर मेरी चड्डी फाड़ दी. मैंने भी उसकी टांगों के बीच अपना खड़ा लंड लेकर पोजीशन ली और एक बार उसकी सुन्दर गुलाबी चूत को अपने होठों से चूम कर लंड को अंदर डालने लगा.

रहे होओ?मैंने टाँगे चाटते हुए उसका पैर उठाकर अपने चेहरे के सामने किया और उसकी पैर की छोटी-छोटी उँगलियों को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा.

मैं दबे पांव उसके रूम में गया और उसके बेड के किनारे जाकर खड़ा हो गया. फिर मैंने 2 और फिर 3 उंगलियों से उसे दम से कुरेदा… इस बीच वो दो बार झड़ गई. ये पहली बार नहीं हुआ जॉय ने फ्लॉरा को बहुत बार ऐसी हालत में देखा है। कई बार तो पूरी नंगी भी देखा है। अब कैसे और क्यों ये आपको बाद में पता लगेगा। अभी पीछे जाने का टाइम नहीं है.

देखो न कितनी मस्त हवा चल रही है’‘ठीक है जैसे आप चाहो!’ वो बोली और जीने का दरवाजा छत की तरफ से बंद कर के आई और मैक्सी उतार के फेंक दी और नंगी होकर मेरे सामने खड़ी हो गई. पूजा- ठीक है मामू मगर पुरानी टी-शर्ट का क्या करोगे आप?संजय- कल बता दूँगा. वो भी पूरी स्पीड में अपनी चूत चुदवाती हुई अपने मुंह से सिसकारियाँ निकाल रही थी, बोल रही थी- उई आः सी सी चोदो हाँ ऐसे ही.

गोपाल कुछ समझ पाता तब तक मोना ने उसके पजामे को नीचे किया और मुरझाए हुए लंड को मुँह में ले लिया.

लड़की भी आराम से उसके लंड को सहला रही थी… कभी उंगलियों से पकड़ लेती तो कभी पूरा हाथ रख देती थी. वो तो घुमायेगा या उसमें भी तुझे दिक्कत है कोई?मैंने देखा कि अब बात बन रही है पर मुझे तो सिर्फ मछली की आँख यानि मानसी की चुत दिख रही थी.

छोटी भाभी की बीएफ इस बार उसने मेरे सिर को अपने सिर से ऊँचा कर लिया था जिसके कारण मेरे मुंह से तेज़ी से बहती हुई लार उसके मुंह में जा रही थी. बात उस समय की है जब मैं एक प्राइवेट जॉब करता था एक ब्रांडेड शोरूम में जहाँ पर कॉसमेटिक के चाहे लॉरेल, लैक्मे, पॉंड्स, हर तरह का ब्रांड था.

छोटी भाभी की बीएफ मैंने अपने मुंह पर पूजा के रस का सैलाब महसूस किया और उसे पीने में जुट गया. मैं अपने बेड पर आकर बैठ गया और संकुचाते हुए अपनी जींस और चड्डी को उतार दिया और मुठ मारना शुरू किया.

माँ ने कहा- अशोक, कहाँ जा रहा है?मैंने कहा- माँ चाची को सूई देना है, बस दे के आ जाता हूँ.

देहाती सेक्सी पिक्चर वीडियो में

अन्दर उसने कुछ नहीं पहना हुआ था, जिसे देख कर राजू पागल हो गया। आनन-फानन में वो भी नंगा हो गया और मोना के पास जाकर उससे लिपट गया, वो मोना को किस करने लगा। मोना भी उसका साथ देने लगी। कुछ देर बाद दोनों अलग हुए तो मोना झट से नीचे बैठ गई और राजू के लंड को चूसने लगी।राजू- आह. उसकी माँ बहुत बीमार है, तो ये कह रही थी उससे मिलने जाऊं, मगर मैंने कहा ऐसे रात को जाना ठीक नहीं. पर मैं यह बात सोचकर डर गई कि उनके पास तो एक जवान पति है वो मेरे साथ ऐसा क्यों करेंगी.

इससे पहले हम वहीं चलते हैं।अजय- यार संजय किसी की चुत देखे हुए बहुत दिन हो गए. मगर काका की उम्र को देख कर उसको थोड़ा शक हुआ तो वो काका को उकसाने के लिए बोली- रहने दो काका. मैं बेहोश सा हो गया… उसके बाद का मुझे कुछ याद नहीं कि मेरे साथ क्या-क्या हुआ लेकिन जब आंख खुली तो मैं नंगा वहीं दरी पर पड़ा हुआ था, सारा सामान आस-पास बिखरा पड़ा था.

मैं तुरंत आंटी के होंठों को चूसने लगा और उनकी गांड पर तेज-तेज चाटें मारने लगा.

स्मृति और मैं एक दूसरे को पहले से ही जानते थे, मैं उनके घर यदा कदा जाया करता था तो स्मृति से हैलो होती ही थी परन्तु कभी ख़ास वार्तालाप नहीं हुआ. उनका लंड पहले से भी ज़्यादा बड़ा हो चुका था करीब 10-11 इंच का… मेरी चूत लगातार पानी छोड़ रही थी… फूफा जी सीधे लेटे थे और उनका लंड भी ऊपर की तरफ तना हुआ था. मेरे मुंह से सिसकारियाँ निकलने लगीं… जैसे-जैसे मैं उसके लंड के टोपे को आगे पीछे कर रहा था वैसे वैसे उसका लंड और कड़ा हो रहा था.

एक रंडी की तरह तुम हरकतें कर रही हो।गोपाल ने गुस्से में जो कहा उसे सुनकर मोना का पारा सर पर चढ़ गया। एक तो वैसे ही सेक्स उसके दिमाग़ में चढ़ा हुआ था. यह बोलते हुए उसने मेरी चड्डी अपने मुँह से खीच कर नीचे कर दी और बोली- वाह, सोचा नहीं था कि मेरे दोस्त के पास इतना अच्छा लंड होगा. मैं उन्हें धीरे-धीरे मज़े ले-ले कर पेलने लगा। फिर मैंने पीछे से उनकी चूची पकड़ी और उन्हें जोर-जोर से चोदने लगा। उनकी आहें सिसकारियाँ मेरी रफ़्तार बढ़ा रही थीं। मैं देसी भाभी को जम कर चोदने लगा।कोई 5-6 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई से वो झड़ गईं और निढाल होकर लेट गईं।मैं उन्हें अपने झड़ने तक के लिए कहने लगा- चोदने दो ना निशा प्लीज.

गुलशन- चुप साली आह… ले उहह उहह बदजात तू मेरी रखैल है… उहह उहह ले मुझे बाप बोलकर आह… ले उहह तू बचेगी नहीं ले उह. हम उस लड़की के पास पहुंचे, सुमित ने उस से पूछा- यू नीड हेल्प, मिस?उसने सुमित की तरफ देखा और बोली- हू द फक आर यू?मगर सुमित बोला- मैं नीरज का दोस्त हूँ.

आप बहुत खर्राटे मारती हो।पूजा की बात सुनकर सभी हंसने लगे। फिर संजय की माँ ने कहा- अच्छा जा सो जा!मगर आरती ने कहा- ये रात को संजय को परेशान करेगी, इसको हाथ-पैर चलाने की आदत है।मगर पूजा कहाँ मानने वाली थी, आख़िर उसकी मर्ज़ी ही चली और वो संजय के साथ उसके रूम में चली गई।पूजा ने एक ट्रॅक सूट पहना हुआ था. ऋतु भी धीरे-धीरे मेरे सामने आ कर बैठ गई, उसका चेहरा मेरे लंड से सिर्फ एक फुट की दूरी पर रह गया. मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और जब मैं झड़ने वाला था तो थोड़ा सा घूम कर अलमारी की तरफ हो गया और खड़े होकर अपनी धारें मारनी शुरू कर दी.

सबसे पहले मैंने सुबह की चाय के बाद अपनी बीवी को पकड़ के एक बार रगड़ रगड़ के चोद डाला.

अगले दिन सुबह ही हमारे घर की घंटी बजी तो मैं उठ कर गेट खोलने चली गई क्योंकि उस वक़्त हम दोनों ही सो रही थी. अब तक तो मेरी किरण से यह बात छेड़ने की हिम्मत ही नहीं हुई थी लेकिन अब हिम्मत आ गई है. मैंने फूफा जी को कस के अपनी बाहों में ले रखा था और फूफा जी ने मुझे… हम दोनों एक दूसरे को तेज़ी से चोद रहे थे.

हुआ यूं कि एक दिन हमारे पड़ोस के थाने से फ़ोन आया कि पुलिस ने मेरे पति को गिरफ्तार कर लिया है। किसी ने छोटी बच्ची को गाड़ी से टक्कर मार दी है और पुलिस ने शक के आधार पर इनको धर लिया है।मैं थाने भागी. !मैंने कहा- ऐसा मत करो।उसने कहा- क्यों? तुम्हें बुरा लग गया क्या?मैंने कहा- बुरा तो नहीं लगा लेकिन जब मैं ऐसा करने लगूंगा ना तो तुम्हें बहुत बुरा लगेगा।उसने कहा- नहीं ऐसी बात नहीं है।मैंने कहा- फिर ठीक है.

संदीप ने एक हाथ से मेरा कॉलर पकड़ कर अपनी तरफ खींच लिया, मैं चूतडो़ं के बल धड़ाम से ज़मीन पर जा बैठा. घर में कोई नहीं था, मेरा दोस्त कुछ काम के सिलसिले में पास के एक शहर में गया था. सुधीर कुछ बोलता तभी उसका फ़ोन बजने लगा और उसने 2 मिनट किसी से बात की.

4 साल लड़की के सेक्सी वीडियो

बबिता घर में से पैसे ले कर आई और मुझे दे कर बोली- ला देना!मैंने पैसे लिए और बोला- जो चाहिए मैं दे दूँगा आपको!अगले दिन मैं लिपस्टिक ले आया और उसे देकर उसके पैसे भी वापिस कर दिए उसने पूछा- ये पैसे वापिस क्यों?तो मैंने जवाब दिया- मुझे ये स्कीम में मिल गई तो इसके पैसे कैसे ले सकता हूँ.

मैंने बरबस ही झुक कर उसकी चूत को धीरे से चूम लिया और दरार को नीचे से ऊपर तक चाटा, कई कई बार चाटा और समूची चूत को मुंह में भर लिया और झिंझोड़ डाला. ’मैंने उसे एक पत्थर पर आधा लेटाया और चूत पर लंड लगा कर धक्का दे मारा… लंड थोड़ा सा अन्दर घुस गया. उनकी चूत इतनी गर्म थी कि मुझे लग रहा था कि मेरा लंड किसी ज्वालामुखी में घुस गया हो.

वो सिहर सी गई… काफ़ी दिनों से नहीं लिया होगा ना…यह चोद चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने उसको फिर बाहर निकाल लिया… वो पागल गई और मेरे को धक्का देकर मेरे ऊपर आ गई और अपनी चूत मेरे लंड पर रख कर उस पर बैठ गई और पूरा 5 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड अपनी चूत में ले लिया और अपने दांत भींच लिए. मैं जब पार्किंग में आया तो वो अपनी एक्टिवा से मेरे पास आई और बोली- आपको नौकरी मिली या नहीं?मैंने कहा- नहीं जी शायद नौकरी इस जन्म में तो मिलेगी नहीं!वो बोली- नौकरी के पीछे क्यों भागते हो? कुछ हुनर सीखो तो काम आएगा. वीडियो में हिंदी सेक्सी वीडियोकोई देख लेगा तो बहुत बुरा होगा।टीना- तेरे अन्दर से डर ही तो निकालना है.

मैंने विक्की की तरफ घूर कर देखा तो विक्की सहमता हुआ बोला- मैं चलता हूँ. फिर मैंने लंड का हल्का सा दबाव चूत पर बनाया और स्पीड से लंड का सुपारा चूत के चीरे में चलाने लगा.

संजय ने अपनी उंगली से बुर को कुरेदना शुरू किया, वो पूजा को एकदम मस्ती में लाकर चोदना चाहता था, साथ में वो उसकी जाँघों को भी चूस रहा था. पता नहीं अम्मा की बात सुन कर मुझे उन दोनों पर क्यों तरस आ गया और मैंने उन्हें कह दिया- ठीक है अम्मा, ऐसा करो, आप आज ही अपना और माला का सभी सामान ले कर यहाँ आ जाओ. लड़की हवस में पागल हो गई और कमर अपनी सीट से लगाकर आँख बंद करके आराम की मुद्रा में बैठ गई.

दोस्तो, आज गुलफाम कली को ऐसे ही देख अपनी वासना को शांत कर लें! क्योंकि सब ब्रा का फल मीठा होता है. अब मैं चाची से खुल चुका था, मैंने कहा- हाँ मेरी रानी… तुम भी तो कमाल की हो!चाची जोर से हंसने लगी. और थोड़ी देर बाद जमीला- आहहहहह…उम्म्म…साले अब फाड़ ना जोर जोर से अब कहाँ गया तेरा जोश ह्म्म्म…ओहहहहह…अब चोद फाड़ साली को बहूत आग लगी है साली फुद्दी में.

भाभी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे गाल पर किस करके चली गईं।मैंने पूरे दिन रात होने का वेट करता रहा। फिर काफी देर बाद उनकी कॉल आई। उन्होंने मुझे छत से नीचे अपने कमरे में आने को कहा।मैं काफ़ी हिम्मत के बाद नीचे पहुँचा। मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था। भाभी भी बस यह कहे जा रही थीं कि जो करना है.

मैं बड़ी मुश्किल से उनको अंदर लेकर गई और ससुर जी को कहा- पिता जी, आप जाओ, मैं फूफा जी का लिटा कर आ जाती हूँ. साथ में ही भैसों का भूसा पड़ा हुआ था और वो जगह इस तरह से बनी थी कि मेन गेट से सीधा कुछ दिखाई नहीं देता था.

इस क्लीनिक में सारी लेडीज़ पेशेंट ही आती थी, जिनमें गर्भवती, बच्चे न होने वाली और अन्य डिप्रेशन आदि की शिकार. सहलाने लगा। फिर हाथ ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने लंड के ऊपर अंडरवियर के ऊपर रख दिया। मैं हाथ चुपचाप रखे रहा. रिया एक उम्दा सा, ट्रांसपैरंट, बेबीडॉल नाइटी और पैरों में हाय हील पहन कर, बेड पे सेक्सी मुद्रा में बैठी थी.

बेचारा मॉंटी इस हमले से बेख़बर था, उसका पूरा चेहरा चूत रस से भर गया और ना चाहते हुए भी उसने सुमन का रस पी लिया. फिर अचानक से मॉंटी का कंट्रोल बिगड़ा और लंड सीधा सुमन की चूत के मुख से जा टकराया. आज साइन्स ने बहुत तरक्की कर ली है, सब ठीक हो जाएगा, बस तू एक बार शहर जाकर दिखा आ।राजू- सच्ची.

छोटी भाभी की बीएफ इस देवर भाभी सेक्स कहानी में आप पढ़िए कि कैसे मेरे सुडौल देवर ने मेरी चूत की चुदाई करके मेरी कामवासना शान्त की. जोकि बहुत ज़रूरी होता है।डॉक्टर ने बोला कि या तो वो स्पर्म बैंक से स्पर्म ले सकती है या फिर अगर कोई आपत्ति ना हो तो वो अपने किसी सगे का वीर्य भी ले सकती है.

सेक्सी वीडियो दिखाइए पति पत्नी

मैं तो अपनी जन्म-जन्मांतर की हमसफ़र के ऊपर लेटा उसकी चूत मार ही रहा था… एक बदलाव की खातिर मैंने अपने लंड को एंड्रयू के लंड द्वारा चुद रही नताशा की गांड में घुसेड़ने की कोशिश की तो हर बार मेरा लंड फिसल कर दुबारा चूत में ही घुस जाता था!इसका मतलब भगवान को ही मंजूर नहीं… और मैंने अपनी बीवी की चूत मारना जारी रखा. थोड़ी देर ऐसे ही रहने के बाद चाची मेरे ऊपर आ गईं और उन्होंने मेरा लंड चूस कर साफ कर दिया और मेरी छाती पे सर रख लिया. कमरे में हम जमीन पर बिस्तर बिछा कर लेते, सबसे पहले बुआ की बेटी, उसके साथ मैं, मेरे साथ में मौसी की बेटी, उसके बाद मधु, पड़ोस की एक लड़की, वह बढ़िया मस्त चीज थी, वह स्मृति की दोस्त बन गई थी तो उसको स्मृति ने अपने साथ रोक रखा था, और आखिर में स्मृति लेटी हुई थी.

तब मामा ने अपने दोनों हाथ से मेरे दोनों चूतड़ कस कर पकड़ कर फैला दिए और मेरी गांड के छेद को जीभ से सहलाने लगे. उसने मुझे पीछे से गले लगा लिया।वे बोली- ठीक है मैं तैयार हूँ।दीदी की चुदाई की यह हिंदी कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और जोर-जोर से चूमने लगा। मेरे होंठ उसके होंठों पर थे और मैं खूब जोर से उसे चूस रहा था। फिर मैंने अपनी जीभ उसके मुँह के अन्दर डाल दी, पहले तो उसने मना किया. नाइट का सेक्सी वीडियोजो चुदाई का मज़ा दे सके।प्लीज़ दोस्तो, मुझे ज़रूर बताना कि मेरी येआंटी सेक्स स्टोरीकैसी लगी?[emailprotected].

अब मैं सोचने लगा कि माँ को कैसे बाहर भेजू ताकि सीमा दीदी को चोद सकूं.

एक दिन सरोज मुझसे बोली- कोई गर्लफ्रेंड बनाई या नहीं?तो मैंने कहा- एक पसंद तो है, लेकिन उससे बोलने की हिम्मत नहीं है. अरमान तुरंत बोल उठा- अरे वाओ, हम तो सोच ही रहे थे कि कैसे किया जाये, क्या तुमने भी कोई प्लान बना रखा है?अंशिका बोली- हाँ जी, हमने भी बनाया हुआ है प्लान!कहकर वो दोनों नीचे भाग गईं और नेहा उठ कर टेबल को गद्दों के पास करने लगी.

पर जब ऋतु बोली- अगर तुम्हें लगे कि यह ‘शो’ अच्छा नहीं हैं तो तुम पैसे मत देना. मेरे जीवन में घटी घटनाओं पर आधारित रचनाओं की शृंखला को जारी रखते हुए मैं अपनी अगली रचना वहाँ से शुरू कर रहा हूँ, जहाँ मेरी उपरोक्त रचना का अंत हुआ था. पर मुझे मत भूलना।मैंने भाभी के माथे पर चूमते हुए कहा- तुम्हें तो मैं जिंदगी भर नहीं भूलूंगा जान।फिर मैं वहाँ से निकल कर घर जा के सो गया।अगली कहानी में बताऊंगा कि कैसे पिंकी को पटा कर मैंने उसकी सील तोड़ी।मेरी देसी भाभी सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे बताएं![emailprotected].

वो क्या है और मुझसे क्या नहीं होगा?टीना- हमारी पार्टी में बियर पीना, डांस करना, चुदाई करना ये सब होता है.

मेरे अंदर सामने के नज़ारे ने तूफान भर दिया और मैं भी बेशर्मों की तरह उनके इस खेल को देखने लगा. इस प्रक्रिया में एंड्रयू का लंड पूरा तो नहीं, लेकिन आधा-अधूरा गोरी रुसी लड़की की गांड के अन्दर-बाहर होने लगा. तुम सबीना की चूत चाटो और मैं तुम्हारी गांड चोदूँ! वैसे तेरा दिल सबीना की चुदाई के वीडियो देख कर उसकी चूत और चुची चूसने का और चोदने का जरूर करता होगा?रफीक- यार, मेरे भी मन में आती है कि हम चारों ग्रुप सेक्स करें, मैं सबीना की चूत और गांड दोनों चाटूँ और चूसूं… पर हिम्मत नहीं होती.

सोशल सेक्सीवहां जाकर संजय ने उसको कुछ समझाया कि पहले वो अन्दर जाएगा फिर पीछे से तुम आ जाना. हम बात कर ही रहे थे कि इसी बीच वेटर ने नोक किया और पूछा- सर कुछ चाहिए?मैंने उसको 2 कॉफ़ी लाने का बोला एक इस रूम में और दूसरी दूसरे रूम में!लगभग 10 मिनट बाद उसने कॉफ़ी सर्व की फिर में अपने कमरे में चला गया और लैपटॉप पर अपना काम करने लगा.

शैतान की सेक्सी वीडियो

सब चला जाएगा।मैंने लंड को अपने मुँह में लिया तो वो जा ही नहीं रहा था। उनके लंड का बस ऊपर का हिस्सा ही मेरे मुँह में गया और रुक गया।भाई ने कहा- क्या हुआ?मैंने भैया से कहा- भैया सच में आपका लंड बहुत बड़ा है. मामा जी खड़े हो गये और अपने लंड पे ढेर सारा थूक लगाया, मेरी गांड और चूत पे भी ढेर सारा थूक लगा दिया. जैसा मैंने पिछली वाली कहानियों में बताया था, रीना रानी की चुदक्कड़ माँ सुलेखा कई सालों से मेरे पीछे पड़ी हुई थी.

जैसे आज तो दूध ही निकाल देगा। उसने अपने एक हाथ से मेरी चूत को सहलाना शुरू किया।ओह्ह्ह्ह्ह. यह सुनते ही रफीक ने पीछे मुड़कर देखा तो सबीना नंगी खड़ी है, उसकी चिकनी चूत बिना बालों के चमक रही है और उसके बड़े मम्मे कड़क हो रहे हैं. उन्होंने किस करते हुए गोदी में बैठा लिया और मम्मों को बारी-बारी से पीने लगे। मम्मों पे किस करने लगे.

मैंने भी अपनी लुल्ले की तरफ इशारा कर के कहा- मौसी यहाँ भी दुखता है. अभी तक आपने मेरी पिछली कहानीकामुकता का इलाज, पड़ोसी से चुत चुदाईमें पढ़ा कि कैसे मेरे पड़ोसी राज ने रात में मेरे घर आकर मेरी चूत की चुदाई की. चाची बोली- बेटा अशोक, सब ठीक है न?मैं- हाँ चाची, सब ठीक है… कुछ दिन में ठीक हो जायेगी आप!फिर मैंने सीमा को कहा- सीमा दीदी, अब चाची को घर ले जाओ, मैं शाम में आकर देख लूँगा, और इंजेक्शन दे दूँगा!मैं रिक्शा ले आया और चाची और सीमा को घर भेज दिया.

’फिर वह खड़ी होकर मेरे सामने साड़ी ठीक करने लगी, मुझसे रहा नहीं गया मैंने भी उसे पकड़ लिया और अपने सीने से लगा लिया. कुछ ही दिनों में माला ने मेरे घर का काम ऐसे संभाल लिया था जैसे वह वर्षों से काम कर रही हो और अम्मा की तरह मेरे लिए हर काम बड़ी सफलता से समय पर कर देती.

कभी कभी मेरे निप्पल को काट लेता और मैं दर्द के मरे सिहर सी जाती मगर मुझे मजा भी आ रहा था।धीरे धीरे वो निचे की तरफ चला गया और मेरी चूत को चाटने लगा.

मैंने रुक कर उसके मम्मों को दबाया और उसे किस करता रहा ताकि उसका दर्द कम हो जाए. सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी ऑडियोवो रात को हमेशा नाईटी में रहती थी और वो ब्रा पहनती नहीं तो उनके बूब्स साफ़ दिखाई देते थे. इंग्लैंड का सेक्सी वीडियो दिखाइएसंजय ने अपनी उंगली से बुर को कुरेदना शुरू किया, वो पूजा को एकदम मस्ती में लाकर चोदना चाहता था, साथ में वो उसकी जाँघों को भी चूस रहा था. मैंने चूची को छोड़ कर अपनी पैन्ट उतार दी और लंड अपना लंड बाहर निकाल लिया, फिर उसकी साड़ी को खोल कर साया भी खोल दिया और लंड को गांड के दरार में सेट कर चूची को दबाने लगा.

तो कोमल ने सारे पर्दे लगा दिए जिससे कोई हमको देख न सके। फिर कोमल ने 30 मिनट रेस्ट किया और खाना बनाने लगे गई।मैंने मेरे अहमदाबाद वाले कपल को फोन किया और बताया कि मैं गुजरात में ही हूँ कल शायद अहमदाबाद आऊँगा, यदि आप लोग फ्री हो तो बिमलेश जी की और आपकी सेवा कर दूँगा.

तभी मैंने फिर सवाल कर दिया- क्या आप सभी सैक्स कर चुकी हो?तो वो सब हंसते हुए कहने लगी- पागल कहीं की. आज मुझे देख कर तेरा मन बदल गया है और इसलिए तू ये नाटक चोद रहा है हरामी. अब तो वही था कि अंधे को क्या चाहिए दो आँखें… और मेरे लंड को चूत… जो शायद मुझे मिलने वाली थी पर अब भी एक तरफ इतनी हिम्मत तो कर दी थी पर खुले में इतनी रात कोएक भाभी मेरे ऊपर गिरी हुई और मैंने उसे पकड़ा हुआ था, अगर कोई देख ले तो शायद उस औरत को तो कोई बाद में पूछता सबसे पहले मेरी पिटाई करता और बात पड़ोस की होने की वजह से पिटाई भी ज़्यादा ही होती.

इसके बाद मैं थोड़ा सा पीछे की ओर झुक गई, जिससे मेरी चूत निखर कर सामने आ गई और उसमें बड़ी आसानी से गौरव ने अपना लंड डाल लिया।मेरे मुंह में विकास का लंड था क्योंकि अगर मैं चूसने से मना करती तो वो कमीना अपने हब्शी लंड से मेरी गांड फाड़ देता जिसके लिए मैंने साफ मना कर दिया था।अब मैं उहह आहहह ओहहह जैसी आवाजों कामुक आवाजों के साथ चुदने लगी. कुछ के साथ अदल-बदल भी किया। अब इस को लम्बा न खींच कर इतना कहना चाहता हूँ कि ये सब जानने के लिए मेरी पुरानी कहानियों में पढ़ें जो अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम में प्रकाशित हुई हैं।मेरा ग्वालियर शहर में पाँच साल के डिग्री कोर्स में एडमीशन हो गया। मैं ग्वालियर नए कॉलेज पहुँच गया. मैंने गुस्से में उन्हें नीचे पटक कर टांगें फैला दीं और एकदम जोर से चुत को पीने लगा, उनकी आह निकल गई.

राजस्थानी मारवाड़ी खुला सेक्सी वीडियो

हमारे पास काफी पैसे जमा हो चुके थे इसलिए अब हम एन्जॉय करना चाहते थे. अब माँ नोर्मल हो गई- अरे अशोक क्या कह रहे हो… भूल जाओ, मैंने कुछ नहीं देखा है… पापा से कुछ मत कहना!मैं- ठीक है, नहीं कहूँगा!मैं चाय पीने लगा. रात हो चुकी थी और बाइक पर चलते हुए संदीप ने अपना खड़ा लंड मेरे हाथों से रगड़वाया और एक वीराने रास्ते पर ले जाकर चलती बाइक पर मेरे मुंह में दे दिया.

उसके चेहरे पे ख़ुशी थी कि गोपाल के राज भी पता लग जाएँगे और साथ में आज रात लंड का भी इंतजाम हो गया.

मौसी थोड़ी से पीछे को हुई, तो मैंने उसके दोनों बोबे पकड़ लिए और खूब ज़ोर से दबाये, जितना मुझे जोश आता, मैं उतनी ज़ोर से दबाता.

आयेशा ने मेरी तरफ देखा तो मैंने उसे इशारे से साइड में बुला लिया, वो आते ही बोली- यार रोहन अकेले में मुझसे मिलना चाहता है. उसने कीकू की स्कर्ट में हाथ डाल कर उसकी चड्डी उतार दी और मेरी तरफ फेंकी, मैंने वो चड्डी कैच की और अपने मुँह के पास ले जा कर सूंघी. हद सेक्सी हिंदी मेंटीना- क्यों मेरी जान, तुझे असली लंड से चुत रगड़वाने में मज़ा आया ना!सुमन- हाँ दीदी.

इसमें सुमन का वो वीडियो भी है जब वो पूरी नंगी होकर मॉंटी के साथ मज़े ले रही थी. जब मैं बाथरूम में गयी और पेंटी निकाल कर चूत धोने बैठी तो मेरी चूत से मादकता भरी खुशबू आ रही थी जैसे कि मामा जी का लंड मेरे आस पास ही हो. पर कहते हैं ना किचुदाई की आगलगी हो तो चूत अपने लिए लंड का इंतज़ाम खुद ही कर लेती है और ये सब बहुत ही आसान है आज के वक्त में एक चूत के लिए.

मम्मी ने मेरा गठीला शरीर देखा और बोली- ऐसे क्यों घूम रहे हो?तो मैंने कहा- मम्मी, अपने रूम में कसरत कर रहा था. बॉस 6’1″ से ज्यादा ऊँचा बहुत ही आकर्षक युवक था, उम्र अधिक से अधिक 28 साल होगी.

अब याद आया मुझे!’‘अंकल जी मैंने सोचा है कि एक बार वो भी ट्राई करके देख लूं जो आप कह रहे थे…’ वो बड़ी मुश्किल से कह पाई.

दोस्तो, आज गुलफाम कली को ऐसे ही देख अपनी वासना को शांत कर लें! क्योंकि सब ब्रा का फल मीठा होता है. दस मिनट तक चूसने के बाद पूजा का शरीर अकड़ने लगा और वो मेरे चेहरे को अपनी चूत में दबाने लगी. ओह्ह्ह… आअह्ह्ह्ह… मर गई!बहुत जोर से झटका मारा था मेरे देवर ने… मेरी आँखों से आँसू निकल आये, आज तक किसी ने भी इतनी जोर से मुझे झटका नहीं मारा था। आदी का आधा लंड मेरी चुत के अंदर था मेरे मुँह से जोर की चीख निकली मगर उस चीख को सुनने वाला कोई भी नहीं था.

अंतरवासना सेक्सी व्हिडिओ मैंने पूछा- चाची कैसा लग रहा है? दर्द में आराम है या नहीं?चाची ने मेरे आँखों में देखा और बोली- बहुत आराम है… तुम इसी तरह दबाते रहो!मैं चूची को दबाने लगा, मुझे लगा कि चाची मुझसे चुदना चाहती हैं… मैं मन ही मन खुश हुआ कि आज पहली बार किसी को चोदने का मौका मिलेगा. वो धीरे-धीरे प्यार से उसकी चूचियों को दबा रहा था और वो लड़की उसके लंड को पूरा हाथ में भर लेती थी और मसल रही थी.

वो आपको आगे पता चलेगा।उस वक्त मैं स्कूल में पढ़ता था, ये तब की कहानी है।मेरी छुटियाँ चल रही थीं. चाची की चूत बिल्कुल गीली हो चुकी थी, मैंने लंड को चुत के मुहाने पर रखा और डालने की कोशिश की, लेकिन लंड बार-बार फिसल रहा था. थोड़ी देर बाद मैंने उसको मेरे सीने की तरफ पीठ करके लण्ड पर बैठने को कहा तो वो खड़ा हुआ और पलट कर झटके से पूरा लण्ड गांड में ले गया क्योंकि अब गांड फ़ैल गई थी लण्ड के अनुसार, अब रफीक मेरे कंधों पर हाथ रख कर खुद ही अपनी गांड मेरे मस्ताना से चुदवा रहा था.

सेक्सी वीडियो हिंदी सुहागरात वीडियो

हाँ! तुमने मुझे क्या समझ रखा है?गोपाल- देखो मोना मेरा दिमाग़ मत खराब करो. पसीने की बहती हुई धारें उनकी छाती से शुरु होकर उनके पेट से होते हुए नीचे लोअर की इलास्टिक को भिगा रहे थे. मेरा शक गहराने लगा… लेकिन करता भी तो क्या, घबरा कर चुपचाप बैठा रहा, मेरा हाथ उसके लंड से हटने लगा.

अब तो तेरे चूत के पानी सेमेरा ये लंड आबाद हो…खैर वही हुआ जिसका इतने दिन से इंतज़ार था मुझे, बबिता भाभी करीब 11 बजे अपने कमरे से निकली और नल पर पानी लेने के लिए आई और पानी भर कर मुझे वहीं दूर से खड़ी हो कर मेरी तरफ़ देखने लगी पर मैं इतनी दूरी से अंधेरे की वजह से उसे साफ दिखाई नहीं दिया कि मैं जाग रहा हूँ या सो गया. वह किचन से एक कटोरी में तेल भर लाया मैंने कोमल को पेट के बल लेटने को कहा, कोमल पेट के बल लेट गई उसकी गोल खरबूजे जैसी गान्ड ऊपर की तरफ हो गई.

उसने मुझे सीधे बेड रूम में चलने को कहा तथा मेरे लिए एक टेबलेट तथा पानी का गिलास लाई और कहा कि इसे खा लो.

सीमा थोड़ा घबरा कर बोली- कौ काउ कौन सी किताब?मैं- दीदी बनो नहीं, मुझे पता है तुम क्या सब कर रही हो. इस वक्त उसने अंडरवियर भी नहीं पहना था तो बरमूडा तन के तंबू बन गया।संजय को पता था उसका लंड बेकाबू हो गया है. फिर उसने एक मादक अंगड़ाई ली, हाथों के साथ साथ उसके मम्में उठ गये और कांख के बाल दिखने लगे.

उसमें बैठ जाना, सुबह तेरा पति घर आ जाएगा।मैं चुपचाप घर चली आई। मैंने अपनी सास और ससुर को कुछ नहीं बताया। उनको बोल दिया- मेरी सहेली का भाई अच्छा वकील है. उसने खेल करना शुरू कर दिया था, एक बार गांड मारता, फिर चूत में घुसेड़ देता… शायद उसे इसमें मजा आ रहा था… न सिर्फ उसको, बल्कि मेरी जानेमन को भी… क्योंकि वो भी पूरे उत्साह के साथ अपने पिछवाड़े को उभार-उभार कर स्वान को अपना लंड उसके छेदों में बदलवाने में पूरी मदद कर रही थी. उसकी नाइटी पेट तक उठी हुई थी और उसकीफूली हुई चुतसाफ-साफ नज़र आ रही थी। जॉय ने जल्दी से नज़र हटाई और पास पड़ी चादर फ्लॉरा पर डाल दी। फिर उसके पास बैठ कर उसके बालों को सहलाने लगा।जॉय- फ्लॉरा उठो माय स्वीट बेबी क्या तुम्हें आज कॉलेज नहीं जाना?फ्लॉरा- उउउह क्या पापा.

फिर दीदी ने मुँह घुमा कर मेरे लंड को देखा और बोली- ओह माय लव, सच में तुमने मुझे बहुत सुख दिया.

छोटी भाभी की बीएफ: उसने जैसे ही मुझे देखा दौड़ती हुई आई और मेरे गले लग गई… उसने एक जोरदार किस मेरे होंठों पर कर दिया और करीब 5 मिनट तक मुझसे लिपटी ही रही. मैंने अपना लंड बिना किसी चिकनाहट के ऋतु की चूत पर लगा दिया औऱ जोर से धक्का देते हुए अपना लंड उसकी गीली चूत में भर दिया.

पर प्रेरणा पुस्तक को स्कूल में नहीं ला सकती थी, तो उसने लगभग दस दिनों बाद संडे के दिन मेरे घर पर आकर मेरी नोट्स देने के बहाने चुपके से लाकर दिया। उसने उसे पालीथिन के अंदर तीन बार पेपर से लपेट कर उसमे रबर बैंड लगा कर रखा था। अभी मैंने उसे देखा भी नहीं था और पुस्तक को सिर्फ छू कर उसे सम्हाल के रखने का डर और उसको देखने की उत्तेजना में दिल धक-धक करने लगा।प्रेरणा ने उसे जल्दी वापस करने को कहा. स्लैब पे बैठ कर मैंने भी मामा को अपने दोनों पैर से लॉक कर लिया और दोनों हाथ से मामा के गले को पकड़ लिया. उसे भी ये चीज़ पसंद आ रही थी इसीलिए वो अपनी टांगों को बिल्कुल मेरी पीठ पर घेर कर खुद को और मेरे लंड पर दबाने लगी.

मैंने उसकी एक चूची मुँह में भर कर चूसनी शुरू की और एक हाथ से उसकी पैंटी को नीचे खिसका कर चूत को मुठी में भर लिया.

शायद उसे भी पता था जिस बुर की खुशबू वो कई बार ले चुका है, आज उसमें जाने का वक़्त आ गया. मैंने कहा- पहले तुम सब कर आओ, फिर मैं जाऊंगा।सबने हाँ भर दी।अब सबसे पहले खुद राकेश गया और बाहर आकर उस रंडी की, उसकी चूत की, उसके बदन की तारीफ करने लगा।फिर नदीम और फिर अंकित सब चुदाई करके आ चुके थे. मैंने कहा- ठीक है मैडम!मैडम ने चार इंजेक्शन लिखे थे और कुछ दवाइयाँ भी.