डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ

छवि स्रोत,बड़ी गांड वाली सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी डाउनलोडिंग: डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ, अब मैंने 69 में होकर अपना लंड शीला के मुंह पर लगा दिया तो उसने झट से मेरा लंड मुंह में लिया और चूसने लगी.

বাঙালি সেক্স মুভি

फिर मैं अपने एक हाथ के अंगूठे से उनकी सलवार के ऊपर से ही उनकी चूत रगड़ने भी लगूंगा. जापानी सेक्सी मसाजइस कहानी में मैं अपने बारे में ज्यादा जानकारी दे देना चाहता हूँ क्योंकि पिछली कहानी में मैं अपने बारे में ज्यादा कुछ नहीं बता पाया था.

उसे मालूम था कि मनोज को चुसवाना बहुत पसंद है और दूसरे मर्द के वीर्य के ऊपर उसका पति नहीं निकालना चाहता. नेपाली चोदा चोदी वीडियोवो जब भी इसके बारे में सोचती, उसकी टांगों के बीच में एक बाढ़ सी आ जाती, और हर बार पिछली बार से ज्यादा.

करीब पांच मिनट में ही संजू की स्पीड झटका दे दे कर आने लगी और संजू निढाल होकर रोहित से चिपक कर सो गई.डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ: मगर बाहर आने के बाद मैंने उसके कान में कहा- तुम वॉशरूम में जाओ तो अपने चूत रस से भीगी हुई पैंटी को निकाल कर अपने पर्स में रख कर ले आना.

चाची मेरे ऊपर लेट कर मेरा लंड चूसे जा रही थीं और मैं चाची की चूत पी रहा था.मैं उसके होंठों को एक बार फिर से चूसने लगा और हाथ से उसकी चूचियों को सहलाने लगा.

बफ चुड़ै वाली - डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ

अपने लंड पर मेरे होंठों के स्पर्श मात्र से उसके मुँह से एक मदभरी ‘आह …’ निकल गई.उसने मेरे लोअर के इलास्टिक को खोलते हुए अपना हाथ अन्दर घुसा कर मेरी चूत को सहला दिया.

और फिर मेरी चूत में से फच्च … फच्च … कर के एक फव्वारा छूट गया और 2-3 फव्वारे और छोड़ती हुई एकदम ढीली पड़ गयी और बेड पे सीधी होके हाथ आगे फैला के लेटती चली गयी।उधर सचिन भी मेरी लबालब भरी चूत में फच्च फच्च करते हुए आखिरी झटके मारने लगा और एकदम से उचक के अपना वीर्य मेरी चूत में भरता हुआ मेरी कमर पे ही निढाल होकर गिर गया। फिर वो लंड निकाल के मेरे बगल में आकर गिर गया. डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ मैंने उनकी चूत हाथ से फैला दी और मेम को किस करते हुए उनकी चूत चाटने लगा.

मैं आशा करता हूँ कि आप लोगों को मेरी ये सेक्स स्टोरी बहुत पसंद आयी होगी.

डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ?

वह चिल्ला उठी- उईईईई माँ …उसने धीरे से मेरी हथेली पर हाथ मारा और एक बनावटी गुस्सा दिखाते हुए बोली- नॉटी ब्वॉय … मुझे हर्ट क्यों कर रहे हो. मैं फिर से अपने दोस्तों के लिए अपनी नई सेक्सी कहानी लेकर हाजिर हुआ हूँ. नमस्कार दोस्तो, मैं राकेश अपनी कहानी दो बहनों के साथ थ्रीसम का अगला भाग ले कर हाजिर हूँ.

अब आगे:बॉस को देखते हुए मैंने अपने बेडरूम में जाकर एक मिनी टॉप और छोटी सी स्कर्ट पहन ली. होली के कुछ दिन पहले ही मुझे पता चल गया था कि हमारे दूर के छोटे मामा की शादी होने वाली है. मैं एक बार फिर झड़ गयी और मेरा पानी निकलते ही सर ने मेरी चूत से लंड निकाल कर मेरी चूतके ऊपर पानी छोड़ दिया और मेरे ऊपर लेट गए.

इस बार भी रिया ने अपने हाथ को, जो जॉली के सीने पर था, उसे बड़ी कामुकता से नीचे की ओर सरकाते हुए जॉली के लंड पर रख दिया. मुझसे हर समय तुम्हारे बारे में ही पूछते रहते हैं … और एक तुम हो कि उनके बारे में बिल्कुल भी नहीं सोचती हो. जब साकेत भैया कुछ ज्यादा उत्तेजित हो गए, तो वो एक हाथ से दीदी के सर को पकड़ कर अपने लंड को तेजी से दीदी के मुँह में अन्दर बाहर करने लगे.

रोहन- तो फिर कहां?सोनिया- तुमने कबन पार्क देखा है?रोहन- हां देखा है … बस में सफर करते हुए, लेकिन मैं कभी गया नहीं. उसने कहा- अच्छा … मुझे बुला कर तू खुद किधर भी चला जाए और जब मैं आई हुई दिखूं तो बोले कि मुझे जल्दी है.

दरअसल शिल्पा दीदी की शादी जिस गांव में हो रही थी वो मेरे बॉयफ्रेंड आशीष का गांव था.

दर्द भी था … मजा भी था … बहुत अज़ीब सा अनुभव था वो!उनका मोटा लंड दनादन अन्दर बाहर हो रहा था। मेरी बुर से बहुत गन्दी सी आवाज आ रही थी.

वो जोर जोर से आहें भर रही थी- आ आ आ हहहह राज … बना लो मुझे अपनी बीवी और रोज मुझे चोदो … मैं बरसों से इस प्यास में तड़प रही हूँ … मेरे राजा मेरी प्यास बुझा दो … आ जाओे जान उम्म्म. उसी वक्त उसने एक धक्का मार दिया और उसका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया. खाना के बाद मैं बेड से उठी और अपने खिड़की का पर्दा हटाया, तो मैंने देखा कि हमारे रूम के नीचे स्विमिंग पूल बना हुआ था और वहां पर लोग मस्ती कर रहे थे.

उसके पिता और भाई तो घर पर नहीं रहते हैं और उसकी मां के पास बहुत से मर्दों का आना-जाना लगा रहता है. अब मैं कभी उसकी जीभ चूसता, कभी उसकी आंखों में देखता, कभी उसकी चूची को दबा देता. मैं पूछने लगा- घर पर कोई नहीं है क्या?वॉयलेट- मॉम फ्रेंड्स के साथ बाहर गई हैं.

मेरी अभी भी आह्ह्ह् निकल जा रही थी मगर दर्द कम था।उनकी पकड़ भी कम हो चुकी थी और कमर की रफ़्तार तेज़!मुझे भी अब सुखद अहसास हो रहा था, मेरी आहें अब तेज़ हो रही थी.

चूंकि अभी वो बच्चे को दूध पिला रही थी तो उसके चूचे और अधिक रसीले हो चले थे. उसने पूछा- तुम मुझे सारा सच बताओ, तुम्हारे कितने लोगों के साथ सेक्स संबंध रहे हैं. उसके एक बाद मैं और मेरे पिता जी कानपुर उनके बेटे के एक साल होने पर उसके जन्म दिन पर पर गए थे.

सोनिया- एक बात बोलूं जानू, मैं अपनी जिंदगी में कभी इतनी जल्दी नहीं झड़ी, तुमने मुझे बहुत ही ज़्यादा एक्साइट कर दिया था. चूंकि मोसी ने एक मैक्सी पहनी हुई थी, उस वजह लंड एकदम से उनके छेद पर टिका हुआ था. अब वह मेरे और उस लड़की के बीच में होने वाली जुगलबंदी को समझने लगी थीं.

मुझे पता नहीं क्यों … एक जुनून सा सवार रहता था कि मैं सारा दिन सिर्फ चाची के पास ही रहूँ.

इस तरह से फिर उनके पूरे यौवन भरे नंगे जिस्म के दीदार होंगे और फिर चुदाई शुरू हो जाएगी. मैंने देखा कि संजना अब हाफ पेन्ट और हाफ शर्ट, जो वो घर में मेरे सामने अक्सर पहना करती थी, पहने हुई थी.

डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ मुझे भी अगर मन नहीं लगता था, तो मैं भी भाभी के यहां ही समय पास करता था. मगर मैं वादा करती हूं कि उससे शादी करने के बाद भी मैं तुम दोनों अपनी चूत को चुदवाना बंद नहीं करूंगी.

डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ मैंने सर झुका कर माँ से कहा- मम्मी शान को जाने दीजिए प्लीज़ … उसकी कोई गलती नहीं थी. मेरे पति के बॉस मेरे जिस्म की आग को ठंडी करने वाले थे लेकिन उससे पहले वो उस आग को और भड़का रहे थे मुझे चूम चाट कर … मैं भी चुदाई को आतुर थी.

इसी के चलते मैंने इसे तुम्हारे बारे में बताया, तो इसके भी मन में फीलिंग उठने लगी.

अदा शर्मा xxx

फिर वो मेरे लंड को हाथ में भर कर धीरे से मेरे कान में बोली- यू आर ए जीनियस (आप तो कमाल के इन्सान हो)इतना कह कर उसने मेरे होंठों को एकदम से चूसना शुरू कर दिया. लेकिन मुझे उसकी चूत से चॉकलेट मिक्स चूतरस का इतना मस्त स्वाद आ रहा था कि मैं सब भूल ही गया था. ”निकालो बाहर इसे … और चले जाओ अपनी उसी चिकनी के पास!”हाय … मेरी रानी … तेरे को छोड़ के अब किधर जायेंगा? तेरे को प्रोमिज देता अपुन तेरे को रानी बनाके रखेगा.

अब तो मेरा और मनु का भी मन इस खेल में कूद जाने का हो रहा था, लेकिन हम लोगों ने पैरों को आपस में कस कर खुद को संभाले रखा. मैंने उससे कहा- आज तुम मुझे ना रोको … जो मेरा मन कर रहा है, करने दो. चूत में घुसा हुआ लंड भी अब अन्दर बाहर हो था और गांड में घुसा लंड भी.

ससुर और बहन तो नंगे ही थे, मैंने बहन को रोका और अपना लंड निकाल कर मूतना शुरू कर दिया.

वो नहीं जानती थी कि मैं उनको देख कर कितनी ही बार अपना माल बहा चुका हूं. उसने मेरा पूरा पानी पहले तो अपने मुँह में ले लिया, लेकिन बाद में उसने सारा लंड रस बाहर थूक दिया. मेरे लंड का लाल सुपारा उसकी गुलाबी चूत पर रखा हुआ बहुत ही सुंदर लग रहा था.

उसके लिंग और मजबूत जवान शरीर का ही दृश्य उसके दिमाग में तैर रहा था. ऐसा करते हुए वो मेरी चड्डी तक पहुँच गए और ऊपर से ही मेरी बुर पे एक चुम्बन किया. बस कुछ ही पलों में हम दोनों चुदाई करते करते झड़ने लगे और हम दोनों एक दूसरे को जोर से किस करने लगे.

जैसे ही चड्डी नीचे की, लंड महाराज बाहर निकलते ही उनके चेहरे से जा टकराए. जब पापा मुझे केक खिला रहे थे तो मैंने पापा को अपना बर्थडे गिफ्ट याद दिला दिया.

वो संदिग्ध नज़रों से मुझे देख कर बोला- क्या हुआ? क्या तुम ये सब करना नहीं चाहती? मेरी जान मैं तुम्हें जबरदस्ती नहीं करूंगा. हम तीनों के मुंह से आह्ह … ओह्ह … इस्श्स आह्ह … करके कामुक आवाजें आने लगीं. इतने सालों से प्यासी थी और ऊपर से नीलम भाभी भैया को हाथ भी लगाने नहीं दे रही थी इसीलिए हम दोनों जवानी की हवस में अंधे हो गये.

उस दिन मैंने स्लीवलेस टीशर्ट और जीन्स पहनी हुई थी, अंदर ब्रा और पैंटी दोनों थी.

आप लोगों के सामने बयान नहीं कर सकता, उस समय मुझे इतना अच्छा लग रहा था और मैं लगातार उनके होंठों को चूसे जा रहा था. मैंने अपना हाथ आगे बढ़ाया और दो उंगलियों से उसके खूबसूरत होंठों को टच किया. साइट पर मैंने कहानियों के अंत में पाठकों के जबरदस्त संदेश देखे और उनके संदेशों ने मुझे लोवर टी-शर्ट उतार फेंकने पर विवश कर दिया.

मेरी पिछली कहानीमेरे भैया मेरी चूत के सैय्यां-6में मैंने बताया था कि गंगरेल डैम पर नदी के किनारे बोट ड्राइवर ने अपने दो और साथियों के साथ मिल कर दिव्या और मेरी चूत को चोद दिया. तभी मेरी ओर आते हुए सीमान्त ने मुझे राहुल और रीमा के सामने ही अपनी बांहों में जकड़ लिया.

मैंने भी चूत खोल दी और चूत पर थपकी देते हुए बोली- आ जाओ मेरे शेरों … आज मेरी फुद्दी को तसल्ली करवा दो. मैं चाची की चुत को पैन्टी के ऊपर से ही चाटने लगा, तो वो जोर जोर से तिलमिला उठीं. मैं ऑफिस में जीन्स और टॉप पहन कर जाती हूँ और अधिकतर मॉडर्न कपड़े ही पहनती हूँ.

ओपन चोदा चोदी

महेश ने मौका देखकर अपना हाथ अपनी बेटी के हाथ से हटा दिया और ज्योति के एक हाथ से पकड़ी हुई उसकी साड़ी को जो उसने अपने सीने के आगे रखी हुई थी अपने हाथ से खींचकर छीन लिया।महेश ने साड़ी को बेड पर फ़ेंक दिया।पिता जी?” ज्योति अपने सीने के आगे से अपनी साड़ी के दूर होते ही होश में आते हुए अपने दोनों हाथों से अपनी चूचियों को ढकने लगी।बेटी इतना शर्माओ मत, अपने भाई का लंड भी तो आराम से ले लेती हो.

तो दोस्तो, यह थी मेरी कहानी! आगे की स्टोरी में जल्दी लेके आप लोगों के पास हाजिर होऊँगा कि प्रीति की चुदाई मैंने कैसे की. इस गांड चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि पिता ने अपनी बेटी की कामवासना जगा कर उसे चुदाई करवाने पर मजबूर कर दिया. वन्दना ने अपने दोनों हाथ अपनी चूत पर रख लिए।नीरू- ले अभी कम से कम ये तो पहन!नीरू ने उसे उसकी पैंटी देते हुए कहा।वन्दना ने हँसते हंसते पेंटी पहनी और ऊपर मेरी बनियान पहन ली।मैं- अच्छा, अब लंच का क्या प्रोग्राम है?नीरू- आप लंच आर्डर करो, तब तक मैं नहा लूं, सारा शरीर पसीने से भीगा हुआ है।मैं- नहाना तो मुझे भी है, वन्दना तुम लंच आर्डर करो तब तक मैं और नीरू नहा लेते हैं.

रिया ने अपनी नजर जॉली की महाकाय लंड पर फिराई और खुद घुटनों पर बैठ कर उसने बड़े प्यार से जॉली का लंड अपने गोरे हाथों में ले लिया. चूंकि मेरी गांड भी मारी गई थी, इसलिए मेरी गांड भी छिल कर खून से सनी हुई थी. सनी लियोन वीडियो सेक्सी एचडीकाफी देर तक चूमा-चाटी करने के बाद मेरा लंड तो तन कर ठोस हो चुका था.

मासी ने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और धीरे धीरे उसे चाटने लगीं. चाची ने कहा- हरामखोर मेरे सारे कपड़े निकाल दिए और खुद ने कुछ ना निकाला.

जॉली के लंड आगे की चमड़ी नहीं थी … जिस कारण उसका मोटा टोपा रिया के होंठों के चंद इंच दूरी पर था. जैसा हम सब के साथ होता है, ऐसे शहर में रहना जहाँ आप नए हों, हमेशा मुश्किल होता है. यह सुनकर रोहित और जोर जोर से चोदने लगा, जिससे संजू की चुचियां पूरी हिलने लगीं.

दोस्तो, उनका दूध से भी ज्यादा गोरा रंग और उसके ऊपर लाल रंग की ब्रा … आह मेरा तो लंड फटने को हो गया था. चाची मस्ती में बोले जा रही थीं- आआहह … उह्ह्ह ह्ह हां … और ज़ोर से चोदो … और ज़ोर से आईईई … दीपू प्लीज आह … मैं बस तुम्हारी हूं … हां और उह्ह्ह्ह ह्ह ज़ोर से चोद मुझे … उह्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह. वो तड़फने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मुझसे बाहर निकालने को कहने लगी.

कुछ देर बाद एक लेडी अन्दर आई और जगह फुल होने के कारण, वो मेरे पास आकर पूछने लगी कि यहां पर कोई आएगा?मैंने कहा- नहीं.

मैंने उसको मना कर दिया- अभी रात में चुदाई करना ठीक नहीं है क्योंकि पापा अभी देर तक जगे हुए हैं. मैं गिगिड़ाने लगा- मुझे माफ़ कीजिएगा … मैंने गलती से आपको कोई और समझ के.

मैंने मामी के मम्मे दबाता हुआ- उफ़ कितना माल भरा हैं इनमें … मार डाला आपने तो … आह … उह … मामी. उसके होंठ मेरे होंठों में ऐसे फंसे हुए थे कि मुझे सांस लेना भी भारी हो रहा था. अब जब भी मैं अपने घर पर पार्टी रखती थी, तो मैं उसको अपने घर जरूर बुलाती थी.

मैं बस अमृता के मौसा के बाहर जाने का इंतजार करता रहता था ताकि उनके घर में ही उस कुंवारी चूत की चुदाई कर सकूं. उनके बुर चाटने से ही मुझे ऐसा लग रहा था कि उनको चुदाई का कितना तजुर्बा है।मुश्किल से दो मिनट में ही मेरी बुर ने पहली बार पानी छोड़ दिया।वो फिर भी नहीं रुके और लगातार बुर की चुसाई चालू रखी।मुझसे तो बर्दाश्त ही नहीं हो पा रहा था, मैं अपने पूरे शरीर को बिस्तर पर यहाँ से वहाँ पटक रही थी. जब उसने मेरे लंड पर अपनी जीभ को फेरा, तो ये मेरे लिए चरमोत्कर्ष वाला आनन्द था.

डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ ” नीलम ने शर्म से अपना सिर वैसे ही नीचे किये हुए कहा।बेटी एक किस तो दे दो न … फिर चला जाऊँगा. वो अभी भी बड़बड़ा रही थी- स्लट, व्हेर इज माय स्लट?चल सो जा … तू बहुत नशे में है.

trisha kar madhu एक्सएक्सएक्स

उसकी कमीज़ से बाहर झांकते उनके बड़े बड़े मम्मों के क्लीवेज को चूम लेता. जैसा कि मैंने पहले भी बताया था कि अन्तर्वासना पर सेक्स स्टोरीज तो एक से बढ़कर एक आती ही रहती हैं इसलिए मैं अब सेक्स में कुछ नयी बातें लिखता हूँ और मुझे ख़ुशी है कि वो बहुत पसंद की जाती हैं. कभी कभी वो मुझे गले भी लगा लेती थीं, पर उस टाइम तो मुझको इन बातों की समझ ही नहीं थी.

यह कहते हुए जोर से मेरे दूधों को पकड़ कर अभय चूसने लगा और जोर जोर से अब लन्ड को रगड़ने लगा. मैंने उससे कहा कि हम लोग सुबह चुदाई करेंगे क्योंकि सुबह चुदाई करने का मजा ही कुछ और है. एक्स एक्स एक्स वीडियो फिल्म हिंदीउसकी छटपटाहट को देखते हुए मैंने वहीं पर लंड को रोक दिया और उसको किस करने लगा.

मैंने उससे कहा- अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है … प्लीज़ तुम मुझे कुछ करो.

उसने भी मस्ती में कहा- आपका ये दीवाना थोड़ी देर में आपकी खिदमत में हाजिर हो जाएगा जानेमन. हम दोनों झगड़ जरूर गए थे … मगर हम दोनों की मस्ती अभी भी कम नहीं हुई थी.

फिर उसने पैंट फिर से ठीक की और हम गाड़ी पे बैठके थोड़ी और दूर गए जहां थोड़ा और घना जंगल था।अच्छी जगह मिल गयी तो उसने उसका जैकेट नीचे बिछा दिया और मुझे लेटा दिया. महिला पाठक अगर इस नुस्खे का रस लेना चाहें तो मुझे मेल पर मैसेज कर सकती हैं. मेरे होंठ उसके लंड के पास थे जिसकी गर्मी मुझे अपने होंठों पर महसूस हो रही थी.

फिर उसने अपने लंड के टोपे को मेरी चूत के छोटे से द्वार पर रखा और वो अपने लंड को चूत के अन्दर डालने ही वाला था कि तभी एक धमाका हो गया.

मेघा, तुम बहुत सुन्दर लग रही हो! आँखें खोलो अपनी!”नहीं सर, मुझे शर्म आ रही है. फिर मैंने उससे कहा- लेकिन कुछ और है … जो तुम्हारे हाथों और तुम्हारे गालों से भी ज्यादा सॉफ्ट है. आप सभी तो जानते ही हैं कि कम अनुभवी लड़के गोरी लड़कियों की गुलाबी चूत के कैसे दीवाने होते हैं.

ஆன்ட்டி செக்ஸ் மூவிइसलिए मैंने उसे एसएमएस किया और उसे गुड मॉर्निंग बोला, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला. एकाएक वो उसी अवस्था में रोहित के तरफ पलटी और रोहित के गमछा को हटा कर उसके लंड को चूसने लगी.

.कॉम फुल फॉर्म

दो-तीन मिनट तक भाई ने मेरी गांड में उंगली की और फिर मेरी कमर को पकड़ कर मेरी गांड में लंड को घुसाने लगा. उस दिन से मुझे मुट्ठी मारने का ऐसा चस्का लगा कि मैं हर रोज मुट्ठी मारने लगा. मैंने उसकी योनि पर लंड को सेट किया और एक झटके में ही पूरा अंदर घुसा दिया.

इसके अलावा …दोस्तो, मैं फिर से आपके साथ अपनी मस्ती भरी जिन्दगी की कहानी लेकर हाजिर हूँ।अभी तक आपने पढ़ा कि कैसे मैंने और सुखविन्दर ने पहली बार चुदाई की. हिसाब करने के बाद सीनियर लीडर ने कहा कि हमारे पास कुछ पैसे बचे हैं, इनका हम जैसे चाहे उपयोग कर सकते हैं. मैंने नीचे से अपनी उंगली उसकी चूत में चलानी शुरू की और ऊपर से उसकी गांड की ठुकाई जारी रखी.

उसके बाद तुम्हारे जीजा, उस लॉज के मैनेजर और उस नौकर ने तुम्हारी चूत को को मिल कर चोदा था. मैंने कहा- लड़कियों के लिए ये एक बहुत ही मस्त प्रोटीन होता है … इसको थूक कर बर्बाद नहीं करना चाहिए … इससे तुम्हारी स्किन में बड़ा ग्लो आएगा. मैंने देखा कि माँ की साड़ी का आंचल ढलक गया था और उनके ब्लाउज से उनको चूचियां बड़ी तेजी से उठ-बैठ रही थीं.

मैंने पापा का हाथ पकड़ कर सहलाते हुए कहा- पापा कल रात में जो भी हुआ, मुझे बहुत मजा आया. अगले कुछ ही मिनट के अंदर हम लोग समुद्र की उफान भरती हुई झाग वाली लहरों के बीच में थे.

मैं उसको किस करने सामने आ गया और उसके होंठों के करीब अपने होंठों को कर दिया.

उसकी चुत के रस का स्वाद बड़ा ही अच्छा था, एकदम नमकीन मलाई की तरह टेस्टी था. देसी सेक्स कॉम”शैली ने अंशू की जाँघों के बीच घुस कर मुंह लगाया, अंशु ने उसका सर पकड़ के चेहरा अपनी चूत पे दबाया और खुशबूदार धार शुरू हो गयी; शैली पीने लगी चमकता हुआ चूतामृत।पी मेरी रानी, अब तू पवित्र हो कर ससुराल जाएगी. ब्लू फिल्म सेक्स सेक्सतभी दीदी ने साकेत भैया का हाथ पकड़ ली और बोली- नहीं … इसको मत खोलिए. उसने भाभी के चूचों को अपने हाथों में भर लिया और उसके चूचों को दबाने लगा.

शायद अब दीदी को भी मज़ा आने लगा था, वो भी आंखें बंद करके मजा लेने लगी थी.

रोहन- ओ जान … तुम्हारी चूचियां इतनी प्यारी इतनी सॉफ्ट इतनी मस्त हैं कि क्या बताऊं. सुबह जल्दी उठ कर मुझे याद आया कि मैंने भाई से भी सुबह चुदाई करवाने का वादा किया था. मैं तुम्हें बताऊँगी कि जब औरत अपने पर आती है तो वह क्या कर सकती है!” नीलम ने मुस्कराते हुए कहा और अपने कपड़ों को लेकर बाथरूम में चली गयी।ख़ाना डार्लिंग!” नीलम कुछ देर में ही बाथरूम से निकलकर किचन से खाना ले आई और उसे अपने पति के सामने रखते हुए कहा।क्यों आज तुम नहीं खाओगी?” समीर ने नीलम की तरफ देखते हुए कहा।डार्लिंग, मैंने अपनी हर भूख को तुम्हारे बिना ही मिटाने का बंदोबस्त कर लिया है.

इतने दिनों तक सेक्स नहीं कर सकने के तनाव ने मुझे तुम्हारे करीब ला दिया. फिर मैं उनके पास जाने का बार बार बहाना ढूँढता रहूंगा और उनके पास बार जाऊंगा भी. फिर वह दोनों एक दूसरे में बहुत समय तक इसी तरह खोए रहे और चुदाई चलती रही.

कैन सोसाइटी

उनके बुर चाटने से ही मुझे ऐसा लग रहा था कि उनको चुदाई का कितना तजुर्बा है।मुश्किल से दो मिनट में ही मेरी बुर ने पहली बार पानी छोड़ दिया।वो फिर भी नहीं रुके और लगातार बुर की चुसाई चालू रखी।मुझसे तो बर्दाश्त ही नहीं हो पा रहा था, मैं अपने पूरे शरीर को बिस्तर पर यहाँ से वहाँ पटक रही थी. प्रतिस्पर्धा की इस दौड़ का फायदा उठाकर उन दोनों ने एक ही बिस्तर पर अपनी बीवियों के स्तनों को चूसा और उनकी चूत में उंगली की. कहानी का पिछला भाग:टीचर से चुदाई की तमन्ना-1सुबह मैं जागी तो मुझे याद आया कि मेरा फोन स्विच ऑफ है, मैंने अपना फ़ोन ऑन किया.

एक बार फिर से भाभी ने लंड की तरफ देखा, मगर अब लंड की माँ चुद चुकी थी और वो टुन्नू सा बन कर अंडरवियर में पूरा बैठ गया था.

और हां मुझे माफ़ कीजिएगा … क्योंकि मैं सबको ईमेल का रिप्लाई नहीं दे पाती.

वो तो भला हो टीवी का … जिसकी आवाज़ से यहाँ से आने वाली पच पच की आवाज़ दब गयी थी।अब मैंने पूरे जोश में अपने लंड से चूत रगड़ना चालू कर दिया और उसी जोश में उनके पेट पर रखा हाथ सीधे उनके बूब्स पर रख कर दबा दिया. बाथरूम में जाकर उसने फव्वारा चालू कर दिया और पानी का तापमान सैट किया. सेक्सी कपड़े वाली”उसे कैसे पता कि तुम्हें कोई कमजोरी है?”वो उन्होंने मेरा खून ओल पेशाब टेस्ट करवाया था.

सोनिया- बहुत बदमाश हो तुम … न जाने क्या-क्या करवा रहे हो मुझसे … इतनी शर्म आ रही है मुझे. आज भी जब हम दोनों मिलते हैं और मौका मिलता है, तो सेक्स कर लेते हैं. उसी समय उसने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी गांड के अन्दर घुसा दिया.

काफी देर तक होंठों को चूसने के बाद उसने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. मैंने थोड़ी दूर जाने के बाद मेम से कहा- हम लोग पहले मूवी देखते हैं, बाद में डिनर करेंगे.

चुदाई के बाद मेरी माँ नंगी ही किचन से चाय बना कर ले आईं और हम तीनों ने साथ बैठ कर चाय पर चुदाई की चर्चा की.

दस दिन तक सुहास ने मुझे खूब चुदाई का मजा दिया और मैं भी सुहास के लंड से बहुत खुश थी. उसने कहा- तो मुझे अब कब मौका मिलेगा मेरी जान?मैं बोली- अभी तो मुश्किल है, विक्की आ गया है. उसमें एक बहुत अच्छी ड्रेस थी विद पैंटी … इस ड्रेस में ब्रा नहीं पहनते थे, इसलिए ब्रा नहीं थी.

रंडियों की सेक्सी वीडियो लेकिन मेरी चूत की अगली चुदाई मेरे पापा ने की घर में! बाप बेटी की चुदाई स्टोरी का मजा आप भी लें. मैंने पूछी- नामित कैसे … वो तो तेरा बेटा है न?नेहा बोली- कोई बात नहीं … बेटा से चुदवाना तो और ज्यादा मस्त रहता है.

जब मेरी नजर चाची पर गई, तो मैंने देखा कि वो एकटक मेरे खड़े लंड को देखे जा रही थीं. मैंने उनकी चोटी पकड़ ली और उनके चूतड़ों पर चमाट मारते हुए उनकी चुदाई करना शुरू कर दी. उम्मम्मम …”सश्सस स्स्स्स …”मेघा कितनी प्यारी खुशबू है!”उम्म्म्म सश्सस स्स्स्स … अअअअअ सर … कुछ हो रहा है!”सर की जीभ मेरी चूत के अंदर जा रही थी.

चोदा चोदी चोदा चोदी सेक्सी वीडियो

उसने कहा- सच बताऊं, तो तुम्हारे साथ करने पर बिल्कुल नहीं लगा कि तुम्हारा पहली बार है. मैं दिल्ली का रहने वाला हूं और मेरा लंड छोटा मतलब साढ़े चार इंच का है. किचन में आते ही सबसे पहले तो मैं मामी को अपनी बांहों में भर लूंगा और अपने दोनों हाथों से उनकी पीठ और गांड को रगड़ूंगा.

मैं ऊपर उठ गया और दुबारा से उनके होंठों पर किस करने लगा और उनके चुचे दबाने लगा. मैंने सोचा कि अब जो भी बात थी, वो पता चल जाएगी कि वो मुझसे चुदना चाहती थीं कि नहीं.

चाची बोलीं- संजय, तेरे चाचा की लुल्ली से मुझे मजा ही नहीं आता और उनका दो मिनट में ही पानी निकल आता है.

परमीत के मुँह में जितना समा सका, उसने मुँह में रखा और बाकी का रस उसके चेहरे और शरीर पर बिखर गया. मैं उनको ऐसे देखते हुए देख कर उसी समय उनका नाम ले कर जोर जोर से मुट्ठी मारने लगा. तभी दीदी कुछ देर सोचने के बाद बोली- कब मिलना है?श्वेता दीदी- ऐसे तो वो आज बोल रहे थे … तुम कब कहती हो.

जिस नजारे का हम दोनों दोस्त बेसब्री से इंतजार कर रहे थे अब वह हमारे सामने शुरू हो ही गया था. इससे पहले कि मैं कुछ बोल पाता, भाभी बोलीं- तुम्हें उसे चोदना है, खूब चोदो … लेकिन मुझे भी चोदते रहना प्लीज. सीमा ने जींस स्कर्ट के साथ शर्ट स्टाइल का टॉप लिया जिसके ऊपर के बटन काफी नीचे थे.

सोनिया- मेरे पास आ जाओ ना … तुम्हारी प्यास बुझाने के लिए मेरे पास बहुत सारा पानी है … आओ और जी भर के पियो.

डॉक्टर वाली बीएफ डॉक्टर वाली बीएफ: देखते-देखते मैंने पूजा को कमर से ऊपर नंगी कर दिया और पूजा के स्तनों मसलते हुए चूसने लगा. अब मैं मन ही मन में जेठजी का जल्दी पानी निकलने की प्रार्थना करने लगी थी.

दीपा को उसने हर एंगल से चोदा और इतना चोदा कि दीपा की सिसकारियों से मनोज की आँख खुल गयी. अब माहौल इतना गर्म हो गया कि नहाने की बजाय चूमा-चाटी होने लगी वहीं पर।चूंकि मेरी बीवी नंगी थी इसलिए मैंने दोस्त की बीवी को भी नंगी करने के लिए उसकी पेंटी में हाथ देकर उसको खींचना शुरू किया लेकिन वो मुझसे मिन्नतें करते हुए मना करने लगी. वो बोल रहा था- अब तो छोड़ दो भाई … कब तक मेरी गांड चुदाई करोगे?मैंने बोला- साले तूने ही तो कहा था न कि लौड़े की गर्मी को शांत कर लो … अब लंड शांत तो हो जाने दे भोसड़ी के.

महेश के लंड ने 3-4 बार ज़ोर के झटके दिए जिस वजह से उस में से प्रीकम की एक दो बूँद निकल गई.

हम दोनों ने अपने अपने फोन के स्पीकर ऑन कर दिए और एक दूसरे को आवाज सुनाते हुए हस्तमैथुन कर रहे थे. मैं- मादरचोद … तेरी माँ का भोसड़ा … चुप कर … भैन की लौड़ी … आह आह आह ऊईई आईई अअअअअ आह. वो मुझे अपने रूम ले गयी और बोली- खुल कर साफ़ बताओ … क्या बात है?मैंने नेहा को बताया कि पहले मैं 2 साल से नहीं चुदी थी और इधर मुझे न जाने क्यों किसी भी लंड से चुदने का मन हो रहा है.