वीडियो मे बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,पंजाबी लड़की की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

dii सेक्सी: वीडियो मे बीएफ सेक्सी, 5 इंच मोटा है, जो कि किसी लड़की को संतुष्ट करने के लिए काफी है। मैं एक साल से प्लेब्वॉय के पेशे में हूं। मुझे यह काम मजबूरी में शुरू करना पड़ा था। मुझे सेक्स करना बहुत पसंद है और मैंने यही काम करना सही समझा। इससे एक तो मुझे भी मजा मिलता है और दूसरा कुछ कमाई भी हो जाती है.

सेक्सी नंगी पिक्चर वीडियो में

फोन करने के बाद मैंने सोचा कि जीजा जी जायेंगे लेकिन वो दरवाजे को अंदर से लॉक करके आ गये. इंडियन सेक्सी बीपी ओपनमेरी कमर में मेरे बेटे के हाथों का कसाव बढ़ गया और उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया.

उसके मम्मों के ऊपर बहुत ही छोटे छोटे लगभग न के बराबर गुलाबी निप्पल और उनके चारों ओर गुलाबी रंग का छोटा सा घेरा बना हुआ था. एक्सएक्सएक्स सीजीमैं कितना भी छुपाने की कोशिश करूं लेकिन मेरे बड़े-बड़े चीनी जैसे मीठे दूध मर्दों की नजर में आ ही जाते हैं और उनके मोटे-मोटे लंडो को खड़ा कर देते हैं.

उसकी बात सुनकर रुमित ने हमें तुषार के घर छोड़ दिया … और वो दोनों कार लेकर चले गए.वीडियो मे बीएफ सेक्सी: तभी भाभी के मोबाइल पर किसी का फ़ोन आया और भाभी अलग हो कर बात करने लगीं.

नील- हां, सही कह रहे हो आप।राजवीर- तो हमें यह करना चाहिए कि तुम अपनी बीवी रकुल को अभी फोन करो और कहो कि होटल में तुम्हें किसी रईस ने देखा है और देखते ही वो तुम पर लट्टू हो गया है।उसे झांसा देते हुए कहो कि वो तुम्हें एक रात के लिये चोदना चाहता है और इसके लिए वो कुछ भी कीमत अदा करने को तैयार है.रमेश- क्या चाहिए कुत्ती खुलकर बोल? रमेश उसके बाल खींचते हुए बोला।रिया- लण्ड … आपका लण्ड मुझे मेरी गांड में चाहिए डैडी। मुझे अपने लंड का ईनाम दे दो डैडी।रमेश- भीख मांग लण्ड के लिए।रिया- प्लीज डैडी, मैं आपके लंड की भीख मांग रही हूं.

ब्लू फिल्म हिंदी में ब्लू फिल्म - वीडियो मे बीएफ सेक्सी

मैने उसकी चूची को नीचे बेस से पकड़ा था मगर धीरे-धीरे करके मैं उसकी चूची के शिखर तक पहुँच गया और उसकी पूरी चूची को ही अपनी हथेली मे भींच लिया।एक औसत आकार के सन्तरे से बड़ी चूची नहीं थी मोनी की.मैं उसकी जांघों पर बैठा और अपना लंड अमीषी की गांड की दरार में रख कर ऊपर नीचे करने लगा.

फिर उसे चुदाई का मजा आने लगा तो …अब आगे की सेक्सी साली की जवानी की चुदाई स्टोरी:बस हो गया न यार … दर्द तो पहली बार होता ही है साली डार्लिंग!” मैंने उनके आंसू अपने होंठों से चूम लिए और फिर उनके पैर जो मैंने अपनी कोहनियों से लॉक कर रखे थे उन्हें रिलीज कर दिया. वीडियो मे बीएफ सेक्सी थॉमस मुझे अब तक 35-40 मिनट तक चोद चुका था और मैं भी पूरे जोश में थॉमस से चुदवा रही थी.

जब दीपाली का दर्द कम हुआ, तब उसने अपनी गांड उठा कर आगे बढ़ने का इशारा दिया.

वीडियो मे बीएफ सेक्सी?

वह पीना नहीं चाहती थी, लेकिन मैंने अपने होंठों से उसके होंठों को बन्द करके रखा था. नम्रता- लेकिन तुम पहली बार मेरे घर आए हो, कम से कम एक गिलास पानी पी लो, उसके बाद अपना काम करना शुरू करना. उसे लेकर मैं तेजी से ऊपर वाले कमरे में गया, उनसे कहा- देखो मैं आपके लिए कुछ लाया हूँ।फिर लौकी उन्हें दिखाई.

मेरे काम का समय दस से नौ का होने के कारण मैं यहां कोई गर्लफ्रेंड नहीं बना पाया था. उसकी कमर को खींच कर उसकी चुत से अपने लंड के फ़ासले को इतना कम कर दिया कि बस कपड़े ना होते, तो दोनों की बीच कोई दूरी ना रह गयी होती. अमीषी जोश में बकने लगी- और चोद और चोद अपनी बहन को … अअअअअ आई आआआआ …फिर मैं उठा और लेट गया- अब अमीषी अपने भाई के ऊपर आएगी.

दस मिनट में ही शीना फिर से एक बार चरम के ऊपर पहुंच चुकी थी और वह अब झड़ना चाहती थी. मेरे हाथ सीधे ही उसके चूचों पर पहुंच गये और मैंने उसके चूचों को जोर से दबाते हुए अपना लंड उसकी गांड पर रगड़ना शुरू कर दिया. मुझे यह बाद में रानी ने बताया कि चुदाई के बाद अक्सर लड़कियों को सुस्सू आने लगती है.

मैंने एक हाथ से लंड पकड़ कर उसकी टांगें फैलाकर लंड को निशाने पर रखा और उसके होंठों से होंठ मिलाकर एक हल्का सा झटका मारा तो लंड का टोपा अन्दर घुस गया था, पर वो छटपटाने लगी. मैंने मुस्कराते हुए चाबी को वापस रख दिया। मैंने पापा की कार की चाबी ली और चल दिया।हम लोग कार में बातें करते हुए जा रहे थे। हम निश्चित कर रहे थे कि हमे कहाँ कहाँ घूमना है.

मेरी गांड फट गई यह सोच कर कि कहीं यह घर में किसी को इस बात के बारे में बता न दे कि मैं उसको छेड़ रहा था.

मुझे अपनी गोद में बिठाकर रवि अपने दोनों हाथों से मेरी निप्पल्स को मरोड़ने लगा.

मैंने अब शीना को अपने गले से लगा लिया था और उसकी चूत में झड़ रहा था. ”उसके बाद मैं बेडरूम में बने बाथरूम में आ गया। मैंने जिस फोल्डर से फाइल्स और डाटा कॉपी करने के लिए सुहाना को बोला था उसका रीनेम (बदलकर) टॉम कर दिया था और उसमें सुहाना और उस लंगूर के कुछ फोटो और वीडियोज भी सेव कर दिए थे।अब तो मेरी सुहाना नामक बुलबुल उन्हें देखकर इस्सस … ही कर उठेगी।कॉलेज गर्ल सेक्सी कहानी का मजा लेते रहें. मुझे नहीं पता था कि रंजना ने इससे पहले किसी के साथ संभोग किया था या नहीं, लेकिन मेरा तो यह पहली बार था.

आंखें मूंद कर कुछ पल इंतजार करने के लिए शाबासी और उपहार स्वरूप मुझे होंठों पर एक गहरा और मादक चुंबन मिला. वह बार बार अपनी चूचियों के कोमल निप्पलों को अपने अंगूठे और उंगली से मसलती और जोर से आहें भरती. मैंने पूछा- आपकी पत्नी चली गई क्या?वह बोले- नहीं, मैं बाथरूम से बात कर रहा हूँ.

रात के 10-11 बजे के करीब मुझे नींद आने ही लगी थी कि जीजा जी मेरे बिस्तर आकर मेरे ऊपर लेटते हुए मुझे अपनी बांहों में भरने लगे.

उसके बाद उन्होंने मेरे होंठों पर अपने होंठ रखे तो मेरे ही कामरस की गंध मेरी नाक में जाने लगी. अगले ही पल मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और उन्हें चूसने लगी। शुरूआत में उसे पता ही नहीं चला कि क्या हो रहा है पर मेरे होंठ उसके होंठों पर रगड़ खाते ही वे जोश में आ गया और मेरा साथ देने लगा।हम दोनों जोश में एक दूसरे को चूमने लगे, मेरा हाथ उसकी पैंट के ऊपर से उसके लंड को जोर जोर से मसलने लगा. वो बोली- मैं भी बहुत दिन से बाहर नहीं गयी हूँ और कुछ समय मैं तुम्हारे साथ अकेले बिताना चाहती हूँ.

मैंने चाची को चैलेंज करते हुए कहा- बस इतनी ही हिम्मत थी? आइंदा से मेरे साथ पंगा लेने की कोशिश मत करना चाची. आओ चलो रसोई चलते है, वो खाना खाते भी है, पीते भी हैं और …ये कहकर उसने बात अधूरी छोड़ दी और दो बियर केन उठाकर गांड मटकाते हुए रसोई की तरफ चल दी. तभी वसुन्धरा की पेंटी में अटका हुआ उस की चुनरी का सितारा, पेंटी के फैब्रिक से आज़ाद हो गया जिसका एहसास तत्काल वसुन्धरा को भी हो गया.

मेरी कराह निकली- उउइइ म्म्मा …और वो समझ गया कि मैंने चरमसीमा का अनुभव किया है.

मैंने अपनी पैंट से रुमाल निकाल कर उसकी बुर को अच्छी तरह से पौंछते हुए साफ किया और शलाका को अपनी गांड आगे-पीछे करते हुए घपा-घप धक्का देकर चोदने लगा. मैं शलाका को ज्यादा से ज्यादा मजा देकर खुद भी ज्यादा से ज्यादा मजा लेना चाहता था इसलिए बहुत ही धीरे-धीरे घुसा रहा था.

वीडियो मे बीएफ सेक्सी जो भी रस उसकी उंगली में लगा था, वो सब मेरी जीभ पर उंगली चलाकर हटा रही थी. कुछ देर तक ऐसे ही मेरे लंड से सारा वीर्य चूसने के बाद मोनी की कराहें अब हल्की होती चली गयीं और उसका बदन ढीला पड़ गया। तब तक मैंने भी अपना सारा ज्वार उस कॉन्डोम में उगल दिया था इसलिये एक दो धक्के लगाकर अब मैं भी शाँत हो गया और धीरे से अपने लंड को मोनी की चूत से बाहर निकाल लिया।मेरी खामोशी भरी सेक्सी कहानी अगले भाग में जारी रहेगी.

वीडियो मे बीएफ सेक्सी उसके बाद भाभी ने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैंने कहा- अभी तक आपके जैसी कोई मिली ही नहीं. मैं उनके पास भी नहीं जा सकती थी, क्योंकि अभी वंश की पढ़ाई भी चल रही थी और मुझे पति का बिज़नेस भी देखना था.

मैं भी चुदाई करते हुए कभी एक हाठ से चाची की चूचियों को दबाता था।अब मैंने नई पोज़ बनाई जिसमें चाची को लेटे हुए ही रहने दिया और मैं चाची का एक पैर उठाकर दोनों पैरों के बीच बैठकर चुदाई करने लगा.

सेक्सी ओपन नंगा

मैं बोर हो रही थी तो सोचा कि बहुत दिन हो गये गेस्ट हाउस की सफाई नहीं हुई तो जरा उधर की बैडशीट वगैरा बदल दूँ. जैसे ही लण्ड दीवार से टकराता, उसके मुंह से आवाज के साथ आँखें बता रही थी कि और जोर से पेलो. दीपाली- आह … उह … बस हो गया … यार तूने तो बात बात में ही मेरी चुत का पानी निकाल दिया.

मैंने भी उसे अपनी बांहों में जकड़ लिया और उसके धक्के का अहसास करने लगा. तभी मेरे कानों में एक खनकती हुई आवाज़ आई- यह सीट खाली है क्या?मैंने आवाज़ की तरफ देखा तो पाया कि वह एक खूबसूरत महिला थी, जिसकी उम्र चालीस के आसपास रही होगी. दोस्तो, मैं मॉनिक सक्सेना फिर से हाजिर हूँ आपके सामने अपनी सच्ची सेक्स कहानीमौसी की लड़की को पटा के चोदा-1का दूसरा भाग लेकर … जैसा कि मैंने पहली कहानी में बताया मैं उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ.

वह तब तक मेरे लंड को चूसती रही जब तक मेरा वीर्य उसके मुंह में निकल न गया.

मेरी हॉट सेक्सी कहानी आपको कैसी लगी?[emailprotected][emailprotected]कहानी जारी है. दवाई की ठंडक अन्दर गई … तो मैंने देखा कि भैया ने वही ट्यूब अपने लौड़े पर भी लगा ली है. वो बोला- तुम बीच में कहां गायब हो जाती हो?मैंने कहा- तुमने मेरी ऐसी हालत कर दी है कि मुझसे अब बोला नहीं जाएगा.

एक बार तुम मेरे नीचे आ गई हो, तो फिर तुम मेरी रंडी बनोगी … मेरी रखैल बनोगी. तभी मैंने उनकी कमर को अपने हाथों से पकड़ा और उनको अपनी ओर खींच लिया. अब दोनों 69 की पोज़िशन में एक दूसरे को चूस रहे थे और लंड चूत की चुसाई का मजा लेने लगे.

धीरे धीरे पापा मेरी चूत में उंगली करने लगे और मैं पापा का लण्ड दबाने लगी. वो कामोत्तेजक अवस्था में आकर बड़बड़ाने लगी, हांफने लगी- ओहहह सर आपने आज मुझे जन्नत दिखा दी … थैंक्यू सर … आह आई लव यू सर … आहहह.

मैंने भी अपना गिलास खाली किया और एक सिगरेट सुलगा कर अपनी बहन सोनल को लंड दिखाते हुए आंख मार दी. मैंने मिमियाते हुए पूछा- आपको भी लगी क्या?‘अरे नहीं रे … ये तो अब तेरे अन्दर तक दवाई लगानी है न … इसलिए लगा रहा हूँ. फ़ोन काट कर मैं जैसे ही उसके रूम में गई, उसने कैंडल सारे रूम में जला रखी थीं और बेड गुलाब के फूलों से सजा रखा था.

हम इस पोज में करीब 20 मिनट तक चुदते रहे, फिर मैं झड़ गया और हमने ब्रेक लेकर थोड़ा खाना खाया।खाना खाने के बाद चाची बेड पर लेट गई, मैं भी चाची के पीछे लेट गया। मैंने चाची की पैंटी उतारकर लंड चाची की चुत में डाल दिया और कंचन चाची के सामने लेट कर उनकी चूचियाँ चूसने लगी.

अभी तक आपने पढ़ा कि मैं मौसी को पटाने की कोशिश कर रहा था और शादी में जगह की कमी के कारण मौसी को मेरी बगल में ही सोना पड़ा. जैसे ही नम्रता लाईट जलाकर मेरी तरफ घूमी, अवाक होते हुए मुझे ऊपर से नीचे देखा. शर्मा क्यों रही हो … बताओ ना?” ये कहकर अपना हाथ मेरी पैंटी के अन्दर घुसाने लगे.

तभी मुझे ख्याल आया कि हम लोग खुले में असुरक्षित जगह पर हैं जहां कोई भी अचानक हमें देख सकता है. दोस्तो, आप सभी को यह चोदन स्टोरी कैसी लगी? अपनी प्रतिक्रिया मेरे ईमेल आईडी पर अवश्य दें.

मैंने जानबूझ कर उसको मेरे आमों की झलक दिखाई, जिससे मेरे पूरे निप्पल तक दिखे जा रहे थे. मैंने सब्जी काटने के बाद चुपके से उसके पास जाकर रख दी और उसके बाद पीछे से जाकर उसको गर्दन पर किस करने लगा. उसने एक पल रुक कर लम्बी सांस ली और बोली- आह … सर … मुझे आपका लंड बिना बुरके के ही क़ुबूल है … क़ुबूल है … क़ुबूल है.

ब्लू पिक्चर ब्लू फिल्म

चूंकि मुझे रात को अकेले रहने में डर लगता है और मेरे घर वाले देर रात तक आने वाले थे.

मैंने उत्तेजना वश पूछा- और क्या अंकल?और तुमने अन्दर जो पहना है वो … अगर पहना हो तो … वो भी उतारना पड़ेगा. आज उन दोनों के पास पूरी रात थी, तो वो भी बहुत आराम से चुदाई का मजा लेने को तैयार थे. उस गोरी के होंठ जैसे ही मेरे लंड पर लगे तो मुझे जन्नत महसूस हुई। वो कभी लंड को चूस रही थी तो कभी मेरी गोलियों को चूस रही थी.

भैया की तबियत अचानक बिगड़ती ही चली गई और 15 दिन बाद भैया की मृत्यु हो गयी. मैं अपनी उस मस्त कामवाली को और दो मिनट जोर जोर से चोदा और मैं उसकी चूत में ही झड़ गया. सेक्सी फुक्किंगएक बार हुआ ये कि सुधा को किसी काम की वजह से अपने घर जाना पड़ा, तो उसकी फ्रेंड मुझे रात को पानी भरने की जगह पर मिली.

दो-तीन मिनट में उसने हथियार डाल दिये और मैंने पूरा लौड़ा उसकी गांड में उतार दिया. मेरा नाम जिग्नेश है और में गुजरात के एक शहर में अपने पापा के साथ रहता हूं.

मैंने शिखा को अपनी तरफ खींच लिया और उसके होंठों पर किस करके उसके होंठों को चूसने लगा. मैंने न चाहते हुए भी उनसे पूछ लिया- आप वापस कब आओगे?मैं सोमवार को आऊंगा. तुम फ्रेश होकर चुत को अन्दर से ठीक से साफ़ करना … बाकी बाद में मैं तेरी झांट के सब बाल निकाल दूंगा.

कामवासना से जलती मेरी बिटिया की नंगी टांगें फैलाकर मैंने उसकी कोमल और कुंवारी चूत में अपना लंड अन्दर घुसाना चाहा लेकिन उसकी चूत बड़ी टाईट थी इसलिए मेरा लंड फिसल गया. उसके बाद वो मेरी गांड में भी अच्छे से अपनी जीभ चलाकर उंगली को मेरी गांड के अन्दर डालने की कोशिश करने लगे. वो पागलों की तरह मेरे जिस्म के हर हिस्से पर चुंबन की बरसात करने लगी.

अंकल ने किस तरह मेरे बदन को मसला था, किस तरह मेरे होंठों की चुसाई की थी, कितनी बेदर्दी से मेरे स्तनों को रगड़ा था और आखिर में किस तरह उन्होंने अपना विशाल लंड मेरी कमसिन चुत में घुसाकर मेरी चुदाई की … ये सभी प्रसंग याद आते ही मेरी चुत पानी छोड़ने लगती है.

उस टेबल पर गिलास रख कर वो घुटनों के बल मेरे पास नीचे बैठकर मेरी पैंट को खोलने लगी. फोन रख कर वो एक बार फिर घोड़ी बन गयी, इस बार वो अपने सिर और छाती को बिस्तर से टिका दिया.

इस बात पर उसने एक मुस्कान बिखेरी और जवाब के तौर पर लंड को यूं ही अपनी चूत में सैट कर लिया. मैंने नम्रता को कपड़े पहनने से मना किया और थोड़ा सा दूर खड़े होने के लिए कहा. इतना सुनने के बाद मैं उसके मुँह की तरफ आया और उसके सिर को अपनी हथेली पर लेकर उठाया और लंड को उसके मुँह पर ले गया.

उसके बाद वो फिर से हंसते हुए बोली- मानसी ने मुझे फोन पर पहले ही बता दिया था कि तू उसकी चूत को चोदने के लिए तड़प रहा है. लेकिन वो बहुत ही कड़क स्वभाव की थी, हर किसी से बहस करना और झगड़ना उसकी हॉबी थी. ” और गिलास जांघों के बीच लगाया।नहीं अंशु मैं गिलास में नहीं … डायरेक्ट पिलाऊंगी। आ जा कामिनी!”और उसने अपनी पैंटी उतार दी।मैंने डॉक्टर आशा की चूत पे मुंह लगाया और वो धीरे धीरे मूतने लगी। मैंने पूरा पिया।अंशु तू भी इसकी प्यास बुझा दे!”नहीं आशा, मैं यहाँ से जाने से पहले इसे नहला दूंगी.

वीडियो मे बीएफ सेक्सी पर मैंने अभी भी अपने कपड़े नहीं पहने थे, मेरी चुदाई की भूख अभी शांत नहीं हुई थी. गुप्ताइन ने मेरी ओर करवट ली और अपना हाथ मेरे लोअर में डालकर लण्ड सहलाने लगी.

डॉक्टर की एक्स एक्स एक्स वीडियो

आआआहह … उसकी उंगली मेरी चूत के दाने से टच होते ही थोड़ी ही देर मैं में चरमसीमा पर पहुंच गयी. उधर अंकल जी का लंड मेरे पेट से टकरा रहा था और उसकी कठोरता का मुझे स्पष्ट आभास हो रहा था. मेरे अकड़ते हुए जिस्म पर उसका पूरा ध्यान था, मेरे मुँह से ओह-ओह की आवाज सुनकर वो मेरे लंड से उतरी और 69 की पोजिशन पर आ गयी.

तभी अंकल जी ने मेरी कचौरी जैसी फूली चूत अपनी मुट्ठी में भर ली और उसे हौले हौले मसलने लगे, सहलाने लगे जिससे उसके भीतर का गीलापन बाहर तक बहने लगा और मेरी सलवार भीगने लगी. मेरे जोर देने पर उसने डिटेल में अपने भाई के साथ चुदाई का किस्सा बताया. एक्स एक्स वीडियो सॉन्गमेरे हर धक्के में उसकी कराह निकल रही थी, पर आज किसी बात का डर नहीं था.

ऊई माँ!! उम्म्ह… अहह… हय… याह… अई ऐईई सी … सी … सी! मर गयी बॉस!” मैं जोर से चिल्लाने लगी.

दीपिका ज़ोर जोर से आवाजें निकाले जा रही थी और शराब के सुरूर में अपना सिर इधर उधर पटकती जा रही थी. मैंने पैंट की ज़िप खोली और एकदम टाइट खड़े लंड को बाहर निकाल कर सहलाने लगा.

मेरी नज़र का अनुसरण करते-करते वसुन्धरा ने भी मेरे सूटकेस को देखा और मेरा मंतव्य समझ गयी. मैंने पैंट की ज़िप खोली और एकदम टाइट खड़े लंड को बाहर निकाल कर सहलाने लगा. … वो लड़का मुझे धोखा तो नहीं देगा … या मेरे साथ बाद में ब्लैकमेल तो नहीं करेगा … या फिर मुझे अपने दोस्तों में या कॉलेज में बदनाम तो नहीं करेगा? जैसा कि लड़कों की आदत होती है, वो अपने दोस्तों में डींग मारते हुए सब खोल देता है.

हाय फ्रेन्ड्स! कैसे हो? दोस्तो, आप सभी लोगों का मैं तहे दिल से शुक्रगुजार हूं कि आप मेरी कहानी पढ़ते हो और आनंदित होते हो। मेरी पिछली लिखी कहानीबहू के साथ शारीरिक सम्बन्धके लिये आप लोगों ने मुझे बहुत ही प्यारे मेल किये, जिसके लिये मैं आप सभी को धन्यवाद करता हूं।आज जिस कहानी को मैं आपके सामने लाया हूं, यह केवल एक कहानी ही है.

वो आई-पिल दिखाते हुए बोली- तुम बस जो चाहते हो, खुल के करो मेरे साथ, अब मैं सिर्फ तुम्हारी हूँ। तुम मेरे लिए पति से भी बढ़ कर हो।अपनी बड़ी बहन को ऐसा बोलते देख मैं उत्तेजित हो गया। मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों पर होंठ रख दिए. फिर मैंने उसकी चूत की एक फांक को अपने होंठों से खोला और उसे मुँह में ले कर चूसने लगा. घोष- कोई बात नहीं है, मैं तो इसलिए पूछ रहा था कि नई जगह है कभी अकेले में डर लगे?दीपिका- ओके, डोन्ट वरी, गुड नाईट.

ట్రిపుల్ ఎక్స్ సినిమాలుफिर मैं धीरे धीरे अपनी उंगलियों को मुँह से निकाल के उसकी चुचियों को सहलाने लगा. उन्होंने समीज को ऊपर कर दिया और बोले- साली बंध्या, तेरे दूध तो बहुत कड़क हैं और तेरे निप्पल तो बिल्कुल गुलाबी हैं.

देसी नंगी सेक्स

उसकी उभरी हुई गुदाज जाँघें और पकौड़ा सी चूत बिल्कुल मेरे लण्ड की टक्कर में आ गई. कुछ समय पहले जब मैं लखनऊ गया था, तब मेरे बंगले के बगल के दुकानदार से दोस्ती हो गई थी. उसने फिर से अपने जिस्म के पूरे दम से मेरी चूत की चुदाई शुरू कर दी और फिर पूरे दस मिनट तक उसने मुझे चोदा। मैं एक बार फिर से झड़ गई इस दौरान।अब पवन का जिस्म अकड़ने लगा और तभी पवन के लंड ने गर्मागर्म मलाई की पिचकारी मेरी चूत में मार दी। पवन ने अपना ढेर सारा गर्म वीर्य मेरी प्यासी चूत में भर दिया।इस चुदाई से मुझे जो सुख मिला वो अवर्णनीय है.

अब संजना सीधे से आकर मेरे मुँह के ऊपर अपनी चूत रख दी और आप मेरा सर अपनी चूत में दबाने लगी. मैंने उसकी पैंटी उसके मुँह से निकाल दी औऱ फिर उसके होंठ अपने होठों से दबाकर मैंने फिर से एक जोरदार झटके के साथ ही पूरा लंड उसकी बुर में उतार दिया. जिस गांव में मैं पढा़ने के लिए जाया करती थी वह गांव शहर से 25 किलोमीटर की दूरी पर था.

मेरी साँसें तेज़ हो चली थीं और माथे पर पसीने की बूंदें झलक आईं थीं. करीब 20 मिनट के बाद ससुर जी का पानी निकलने को हुआ तो सुमीना बोली- पापा, अन्दर मत निकालना … नहीं तो मुझे गोली खानी पड़ेगी. मैंने अपनी उंगली उसके मुँह में दे दी और वो भी बड़े प्यार से उनको चूमने लगी.

अब संजना सीधे से आकर मेरे मुँह के ऊपर अपनी चूत रख दी और आप मेरा सर अपनी चूत में दबाने लगी. वो फिर से तड़पने लगी और मेरे होंठों को चूसते हुए मेरे सोये हुए लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी.

आपने मेरी पिछली कहानियों को खूब पसंद किया जिसमें मैंनेजीजा के साथ सेक्सकिया था.

फिर उसकी चूत की मांसपेशियां सिकुड़ सिकुड़ कर मेरे लंड से वीर्य की एक एक बूँद निचोड़ने लगीं. पोर्न वीडियोस हदउस मैंने बताया कि आप तो कह रहे थे कि आप बहुत बढ़िया माल दे रहे हैं, लेकिन इस बार तो ब्रा पहनते ही इसकी स्ट्रिप टूट गई. आदिवासी लड़की को चोदापहले तो मैंने उसकी फांकों के आस-पास जीभ चलाना शुरू किया, फिर फांकों को फैलाकर अन्दर लालिमा युक्त घेरे पर अपनी जीभ चलाने लगा. जैसे ही उसकी जुबान मेरे सुपारे पर लगी, तो मेरे भी मुँह से आह निकली और मेरे लंड से पिचकारी निकल पड़ी.

मैं ये सब सुनकर गुस्से में तमतमा रही थी कि आज अमित ने दीदी के साथ इतनी बड़ी हरकत कर दी और मुझे मालूम ही नहीं चला.

थोड़ी देर बाद उसने भी काम ख़त्म कर लिया और उसकी भाभी भी रसोई में जाकर खाना बनाने लगी. सभी आंटियों, भाभियों और लड़कियों को मेरे खड़े लंड की ओर से तुनकी मारके नमस्ते. हम दोनों भाई-बहन खड़े होकर तिरछी नजरों से वह नजारा देख रहे थे मगर ये जाहिर नहीं होने दे रहे थे कि दोनों की ही नजरें सामने चल रहे कुत्ते और कुतिया की चुदाई के सीन पर हैं.

तभी पापा की नींद खुल गयी और उनके चेहरे पर कई महीने बाद मुझे एक मुस्कान दिखी तो मैं अपना सारा दर्द भूल गयी. अब मैं कभी उसके होंठ चूमता था, कभी उसके गाल काट लेता, कभी उसकी गर्दन को चाटने लगता. अब हालत यह थी कि एक तरह से वसुन्धरा मेरे आगोश … आंशिक ही सही लेकिन आगोश में थी.

पाकिस्तानी चूत

इसके बाद हम लोग नहाए और नीचे रेस्टोरेंट में जाकर खाना खाया और फिर थोड़ा टहल कर रूम में वापिस आये तो मैं चुदने के लिए मरी जा रही थी. आपने मेरी पिछली कहानियों को खूब पसंद किया जिसमें मैंनेजीजा के साथ सेक्सकिया था. तभी हम दोनों ने एक दूसरे की आंखों में देखा और किस करना शुरू कर दिया.

रात को नींद लेने के बाद अब सेक्स करने के लिए फिर से नई ताकत आ गयी थी.

गुप्ताइन ने पैकेट उठाया और देखा कि कॉण्डोम है तो रख दिया और बोली- इसकी जरूरत नहीं है, मेरा ऑपरेशन हो चुका है.

हाथ में लहंगा ले कर खुद सीधे होने की प्रक्रिया में मेरा मुंह और मेरी आँखें, न होने के जैसी छोटी सी पेंटी के पीछे वसुन्धरा की झिलमिलाती योनि से चंद इंच ही दूरी पर होनी थी. थोड़ा तेज आवाज में नम्रता के पति देव बोले- पहले मैं तुम्हें ठंडी समझकर तुम्हारे पास नहीं आता था और अब मैं खुद तुमसे चाह रहा हूं कि मेरी रानी मुझसे सेक्सी बात करे, तो तुम नखरे कर रही हो. हिन्दी xxx videoमुझे उसकी हरकतों से चुदास चढ़ने लगी और मैंने अपना पूरा शरीर ढीला छोड़ दिया.

भाभी ने कुछ ही मिनटों में मेरे लंड का वीर्य अपने मुंह में निकलवा दिया. मगर वक्त के साथ-साथ धीरे-धीरे मुझे उसके साथ बोर होने वाली फीलिंग आने लगी थी. जीजा ने मेरी टांगों को चौड़ी किया और अपना लंड मेरी चूत पर लगाते हुए कहने लगे- बता कैसे लेगी मेरा लंड?मैंने कहा- आशीष, जैसे तुम्हारा मन करे तुम वैसे चोद दो.

फिर मैंने कपड़ा बोला तो उसने चूतड़ टिका कर गांड ऊपर उठा दी और मैंने लंड पूरा निकाल कर उसकी चूत में पूरी ताकत से मार दिया. उधर वो भी अपने सीने को और ज्यादा उठा कर मेरे मुँह से अपनी चूची को चुसवाने का मजा ले रही थी.

दोस्तो, यहां पर कहानियां पढ़ने के बाद मेरा भी मन हुआ कि क्यों न मैं भी अपना पहला अनुभव आप लोगों के साथ साझा करूं.

कॉलेज गर्ल सेक्सी कहानी में पढ़ें कि मेरी पड़ोसन की जवान बेटी मेरे पास प्रोजेक्ट के लिए आयी. वो बोला- तू तो ऐसे कर रही है जैसे सच में ही मेरे लंड ने तेरी चूत को फाड़ दिया हो. उसके बाद मैं लोअर को उपर करके बाहर निकल कर आया और मामी के पास रसोई में जाकर कॉलेज न जाने के लिये बोल दिया और मामी ने भी अपनी सहमति जता दी.

इंडियन गर्ल बीपी अब हम एक दूसरे से खाना आदि खा लेने के लिए बात करने के बाद फैमिली, पढ़ाई में बात करने लगे. ऐसा कहने पर उसने करवट ले ली और मुझे फिर उसकी बगल में लेटने के लिए कहा.

जिसमें से एक में रसोई घर है और दूसरा कमरा बाकी सभी रहने सोने खाने के काम में आता है. मैं समझ गया कि वो इसको न करने के लिये मुझे पहले से ही चेतावनी देना चाहती है, पर मेरे दिमाग भी यह बात नहीं आयी. ” बोलकर अंकल ने मुझे पीठ के बल लिटाया, मेरे पैर घुटनों में फोल्ड करके फैला दिए और मेरी टांगों के बीच आ गए.

सेक्सी वीडियो चोदा चोदी फिल्म

गांड मटकाती हुई नम्रता रसोई में गयी, मैं भी उसके पीछे-पीछे हो लिया. मैं उसकी जांघों पर बैठा और अपना लंड अमीषी की गांड की दरार में रख कर ऊपर नीचे करने लगा. मेरा पढ़ाने का काम शुरू हुए अभी आठ महीने ही हुए थे कि वहां रिसेप्शन की जॉब के लिए अर्चना नाम की कयामत ढाने वाली बहुत ही ज्यादा खूबसूरत लड़की ने ज्वाइन किया.

कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको भाभी के बदन का नाप भी बता देता हूँ. फिर सबसे पहले उसने लंड के सुपारे को अपनी जीभ से जी भरके चाटा और लंड को मुँह में भर कर बहुत मस्त तरीके से चूसा.

मोनी ने अब भी अपने उरोजों को छुपाया हुआ था मगर फिर भी मैंने उसके हाथ के नीचे से अपना हाथ घुसा दिया और शर्ट के ऊपर से ही उसकी एक चूची के बेस को पकड़ लिया। सूट के नीचे मोनी ने ब्रा पहनी हुई थी.

इनके जिस्म पर पड़ती हुई अकड़न संकेत देने लगे थे कि कभी भी उनका लंड उल्टी कर सकता है. अनिल भैया ने पास ही के ड्रावर में से लिग्नोकान नाम की ट्यूब निकाली और मेरी गांड में उसकी पाइप को अन्दर तक डाल कर दवाई को अन्दर तक डाल दिया. उन्होंने मुझे किस करते करते मेरी सलवार और सूट को निकाल दिया और मैं ब्रा और पेंटी में रह गयी.

”आप क्या जानो …” कहते कहते वसुन्धरा सोफे से उठी और टेबल पर अपना कॉफ़ी का मग रख कर टेबल की अर्धपरिक्रमा कर के एकदम मेरे सामने, मेरे पास आ खड़ी हुई. 10 मिनट बाद मैंने उससे बोला- घोड़ी बन जा!उसे घोड़ी बना कर पीछे से लण्ड उसकी चूत में डाल दिया. अंकल ने मेरे पैर खोलने की कोशिश की पर खोल नहीं सके, पता नहीं मेरे अन्दर कौन सी ताकत आ गयी थी.

मैंने पास पड़ी हुई कुर्सी पर बैठते हुए कैंची को उठा लिया और उसकी झांटों के जंगल को कुतरने लगा.

वीडियो मे बीएफ सेक्सी: एक बात और बताना चाहता हूँ कि मैं कोई साहित्यकार नहीं हूँ, बस अपनी बात अपने शब्दों में लिखने की कोशिश करता हूँ. फिर कुछ देर की चुदाई के बाद हम दोनों एक बार फिर से एक एक करके झड़ गये और मैं वहीं पर थककर उसके पास लेट गया.

अदिति बोली- क्या करते हो?मैं उसकी पैंटी उतारने लगा, तो उसने अपनी टांगें ज़ोर एक दूसरे के साथ भींच लीं. मेरे दोस्त की बीवी का दूध जैसा सफेद जिस्म होटल के उस कमरे की चकाचौंध भरी लाइट में इतना जोर से चमक मार रहा था कि ऐसा लगा कि सामने कोई अंग्रेज विदेशी महिला नंगी हो रखी हो. मैंने उनसे पूछा- क्या हुआ? मैं जार पकड़ने की कह रहा हूँ … आप क्या सोच रही हैं?तो वो थोड़ा शरमा गईं.

उसने नजर भर कर मुझे पूरा से नीचे से ऊपर तक देखा, फिर घुटनों पर बैठ कर मुझे एक रिंग दिया और कहा- आई लव यू.

मेरे लंड से वीर्य की धार पिचकारी के रूप में चाची की चूत में पचर-पचर करके अंदर गिरने लगी. उसके लंड का टोपा इतना बड़ा था कि मेरी गांड के अन्दर जा ही नहीं रहा था. दी घर पे नई थी और उनको मालूम नहीं था कि घर में कौन सी चीज कहाँ पड़ी है तो वो बार बार मुझे आवाज लगाकर बुलाती थी और मैं जब भी उनके पास जाता, मैंने देखा कि वो मेरे एकदम नजदीक खड़ी रहती थी ताकि मैं उनकी बॉडी पूरी देख अकूँ और उत्तेजित होऊँ.