नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी

छवि स्रोत,भोजपुरी बिहारी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

कुत्र्यांचा सेक्स: नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी, नेहा छूट गई तभी डॉक्टर साहब ने भी पिचकारी छोड़ दी।नेहा सीधी हुई, उन्होंने एक-दूसरे को फिर से जैल लगाया और नहा कर बाथरोब पहन कर बाहर आ गए।आपके ईमेल की प्रतीक्षा रहेगी।[emailprotected]कहानी जारी है।.

देहाती बीएफ बिहार

जिन पर सलवार के ऊपर से ही मेरे होंठों ने कब्जा सा कर लिया था।कुछ ही पलों में मैंने उसे पलट दिया और उसकी पीठ पर चूमते हुए उसके नरम-नरम बुरड़ों को चूमने लगा। मैं अपनी ठोड़ी से नितम्बों को दबाते हुए मजा ले रहा था।वो भी मेरी कामुक हरकतों का मजा लेती हुई, हर एक लम्हे को एंजाय कर रही थी, कभी उसकी आँखें खुलतीं. बीएफ आदमी जानवर’ बोल रही थीं, पर मैं जान गया था कि ये ‘ना’ नहीं है, ये बस ‘करता जा.

योगी ने मेरी कैपरी उतार दी और मेरी कोमल चिकनी चुत को चूसने लगा जो कि पहले से ही पानी छोड़ रही थी।कुछ ही पलों में मैं झड़ चुकी थी. बीएफ सेक्सी वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियोवह मस्त हो उठी और कामुक सिसकारियां भरने लगी।अब मैंने दुबारा एक धक्का लगाया, तो मेरा पूरा लंड उसकी चुत में चला गया। उसे फिर से दर्द होने लगा.

और मेरी प्यास बुझा दो।पर मैं थोड़ा मस्ती के मूड में था, मैंने भाभी को सीढ़ियों पर लेटा सा करके उनकी चुत पर अपना लंड रख दिया और उनकी चुत के ऊपर ही लंड को घिसने लगा।भाभी बहुत तड़प रही थीं ‘उउउम्म.नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी: दिमाग में अब भी उथल पुथल चल रही थी लेकिन वंदना के मखमली जिस्म की गर्माहट मुझे किसी और दुनिया में खींच कर ले जा रही थी.

जो मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि कभी मेरे साथ ऐसा होगा। मैं उम्मीद करता हूँ कि यह घटना आपको पसन्द आएगी, बात 4 महीने पुरानी है।हमारे पड़ोस में एक आंटी रहती हैं। उनका फिगर क्या बताऊ दोस्तों.तो उसकी ब्रा दिखने लगी।अब तो मैं कंट्रोल से बाहर हो गया और मैंने उसका टॉप खींच कर खोल दिया। फिर उसकी ब्रा की स्ट्रिप नीचे करके उसके एक स्तन को अपने मुँह में ले लिया।थोड़ी देर बाद उसे भी मजा आने लगा, बोलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और जोर से चूसो, तुम्हारा लंड कहाँ है.

बीएफ फिल्म लगाइए - नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी

लेकिन सेक्सी और बिल्कुल बोल्ड थी।कुछ देर के बाद मेरे कमरे में दीदी और उसकी सहेली आई, मेरे सामने आकर बैठ गई। दीदी ने मुझसे कहा- राज.पर हमारा कॉलेज अलग था।हम दोनों ने डोमिनोज में पिज़्ज़ा खाया। वो मेरी फर्स्ट डेट थी.

मुझे आने में कुछ दिन लग सकते हैं।मैंने टीनू से कहा- आज तुम मेरे साथ चलोगी?तो उसने हंसते हुए ‘हाँ’ कर दी।हम दोनों ने कमरे पर पहुँच कर फिर से चुदाई शुरू कर दी।इसमें आंटी की चाल थी. नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी तो मैंने भी उसे रिक्वेस्ट की कि वो भी ब्लैंकेट से अपने पैर ढक ले।उसने मेरी बात मानते हुए अपने पैर भी मेरी ब्लैंकेट में डाल दिए।अब बात करते टाइम कभी-कभी हमारे पैर एक-दूसरे को टकरा जाते थे.

हम स्कूल के लिए निकले थे और बंक मार के सीधे श्वेता के घर पे थे इसलिए इस समय हम लोग ड्रेस में यानि सलवार सूट में थे।मेरी सलवार के नाड़े को सैम ने मेरे सामने घुटनों के बल बैठ कर खोला था.

नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी?

वो उम्म्ह… अहह… हय… याह… करने लगी मैं अपने हाथ उसके चूतड़ों पर ले गया और उन्हें मसलने लगा. आ रहा हूँ ना… तेरे पास ही आता हूँ।मैंने कहा- जान आओ ना!उसने मेरी पेंटी एक तरफ रख दी, मेरे ऊपर आ गया, मेरे होंठों पे, मेरी गर्दन पे, मेरे बूब्ज में, मेरे शरीर के हर एक अंग पे उसने किस किया।उसने मेरा एक निप्पल अपने मुंह में ले लिया. ’ कहा और उसने मुझे वापिस वहीं पर ड्रॉप कर दिया।रात को मैंने भाभी को कॉल की और उससे नाराज होकर बोला- तुमने तो मुझे टच तक नहीं करने दिया।भाभी ने कहा- चुदवाना तो मैं भी बहुत चाहती हूँ पर मुझको डर लगता है।फिर मैंने भाभी को जैसे-तैसे समझाते हुए घर पर मिलने को कहा पर उसने कहा- मेरे बच्चे भी साथ होते हैं.

?ये कह कर उन्होंने मेरे माथे पर चूम लिया। फिर मैंने भी उनके गालों को चूमा और धीरे से उनके होंठों की ओर अपना मुँह कर दिया।दोस्तो. उफ़… सच में बहुत गज़ब कर डाला राजा… ऊपर से मेरा मूड इतना मस्त था।रवि नोरा की अभी की मस्ती देख रहा था, उसने अपना खड़ा लंड निक्कर से निकाल नोरा के नज़दीक खिसक कर उसकी नंगी जांघ पर रख कर स्कर्ट से ढक दिया।‘ओह माय गॉड… अब क्या करने का इरादा है मेरे जालिम चोदू राजा. ग़लती मेरी ही है, मुझे ही देख के चलना चाहिए था, मैं सड़क के बीच में चल रहा था।उसने बोला- आप काफ़ी परेशान नज़र आ रहे हैं.

तो उसने अपना नाम स्नेहा बताया।इसी तरह हमारी मेल पर ही बातें होने लगीं।मैं उससे कभी डबल मीनिंग बातें लिख देता. अभी तो दम है।और मैं फिर से लंड को उसकी गांड में अन्दर-बाहर करने लगा। उसने अपनी गांड बिल्कुल ढीली कर ली थी, मैं धकापेल लंड पेल रहा था, वह गांड उचकाए जा रहा था, तभी वो बोला- थोड़ा रुक!मैंने कहा- क्या लग रही है?वह बोला- नहीं यार. देख मेरे टट्टे तेरी चुत में नहा रहे हैं साली मादरचोद… कुतिया… आज तेरी चुत और गांड फाड़ कर छोड़ेंगे… देखते हैं कौन बस बोलता है पहले कुतिया आह आह उई सी सी सी…यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!तभी सारिका ने विनय को कस कर पकड़ लिया और ऐसा लगा जैसे सारिका का शरीर अकड़ गया हो- उई आह अह सी सी मैं आई… गई आह… आ.

लंड पर चूमा लिया और कहा- अब अगली बार पूरी तैयारी के साथ आऊँगी।मैं कुछ समझा नहीं. और अब नखरे दिखा रही है, शांति से पड़ी रह, इसी में सबकी भलाई है। देख.

उनकी चूत पर काफ़ी बाल थे, मेरे पूरे हाथ में मानो बाल ही बाल आ रहे थे।पहले दो चार मिनट तो मैंने चाची की चूत को सहलाया।दोस्तो.

यह अब मेरी जिद भी थी और ख्वाहिश भी थी।मैंने उसको किस करते करते अपना लंड उसकी बुर पर सैट किया और थोड़ा सा झटका मारा क्योंकि उसकी बुर बड़ी गीली थी और चाटने के कारण थोड़ी सी खुल भी गई थी तो मेरे लंड का टोपा उसकी बुर में जा कर अटक गया.

आप सबको मेरा नमस्कार!मेरा नाम राजेश है, मेरी उम्र अभी 21 वर्ष की है, रंग गोरा है और मैं बिलासपुर (छत्तीसगढ़) के एक गाँव से हूँ। मैं अन्तर्वासना को पिछले दस साल से पढ़ता आ रहा हूँ. और हाँ संदीप, मैंने आज से अपनी जिन्दगी तुम्हारे नाम कर दी है, अब कभी मुझसे दूर न होना।इतना सुनकर मेरे अन्दर का जोश बढ़ गया. सीमा की बुर से खून निकल आया और वो दर्द से तड़पने लगी।मैं थोड़ी देर रुका रहा और उसके चूची को मुँह में लेता तो कभी होंठों को चूसता। जब उसका दर्द कम हुआ तो वो अपनी कमर हिलाने लगी, उसने मुझे इशारा किया कि अब धक्के लगाओ।मैं धीरे-धीरे से उसकी बुर में धक्के लगाने लगा, वो जोर की ‘आहें.

एक चौथाई हिस्सा हमें दे देते हैं।गाँव में मेरा दिल तो नहीं लगता है. अब चल रंडी की तरह ज़मीन पर बैठ जा और मेरे सोते हुए लंड को साफ करके खड़ा करना शुरू कर दे. उसका लंड भी खड़ा था। मैंने उसका लंड पकड़ लिया।कैलाश बोला- अब यार तू इसकी मार ले।वह बोला- नहीं.

मैंने उसके दोनों कूल्हों को काट लिया।‘अरे इतनी ज़्यादा पसंद आ गई क्या!’उसने पैर थोड़े से फैला दिए, जिससे मुझे उसकी चुत दिख सके ‘अब तड़पाओ मत, डालो.

पहली बार करा रही हूँ।मैंने कहा- ठीक है मेरी जान!मैंने बाजी की बुर को फैला दिला और अपना मूसल सा खड़ा लंड उनकी बुर के मुँह पर रख दिया। इसके बाद मैंने उनकी आँखों की तरफ देखा, तो बाजी ने बड़ी अदा से मुझे आँख मार दी। बाजी का आँख मारना क्या हुआ कि मैंने धीरे से एक झटका दे दिया।वो धीरे से चीखीं- अहहा. वहाँ से किचन दिख रहा था।मैं आप सभी को बता दूँ कि उस वक़्त मम्मी ने एक सिल्क की नाइटी पहनी हुई थी और अब तक जितना मैंने देखा था कि मेरी माँ घर में नाइटी के अन्दर कुछ नहीं पहनती हैं। क्योंकि मैंने कई बार उनके निप्पल्स एकदम उभरे हुए देखे हैं और जब माँ काम करते वक़्त झुकती हैं तो मुझे उनके पिछवाड़े से पता चल जाता था कि उन्होंने अन्दर पैंटी भी नहीं पहनी है। ऊपर से सिल्क इतना पतला होता है कि बस पहना न पहना. इतने में मामी आईं और बोलीं- क्या कर रहा है?मैंने कहा- मैं तो बोर हो रहा हूँ.

उसने मुझे किस किया और थैंक्स बोला।तो मैंने कहा- मेम थैंक्स तो मुझे आपको बोलना चाहिए. ये सब तो चलता रहता है।मैंने उसके हुक खोल दिए और उसकी कमर सहलाने लगा। पीठ पर हाथ फेरते हुए कभी-कभी मैं उसके चूचों के किनारों को छू लेता तो वो कुछ नहीं बोलती। इससे मेरी हिम्मत बढ़ गई. फिर मुझे ध्यान आया कि मेरे साथ एक और बंदा भी है। तो मैंने थोड़ा ठीक होते हुए ‘थैंक्स.

मुझे कोई काम नहीं है।उसने मुझे बैठा लिया और कपड़े धोने बैठ गई। उसने इधर-उधर की बात करनी चालू की, मैं उसकी बातें सुनता रहा।मैंने देखा कि वो बार-बार अपना पल्लू गिरा कर मुझे अपने मम्मे दिखा रही थी। उसके रसीले मम्मे देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया।पहले तो मैंने काफी संयम किया.

गीता की बुर का छेद बहुत छोटा था और मैं उसे समझा रहा था कि क्या क्या दिक्कतें आ सकती हैं और इसके लिए क्या करना होगा।अब आगे. खैर, अब तक वंदना ने मेरे सीने का हर हिस्सा अपने नाज़ुक होंठों से नाप लिया था और मेरे शरीर में झुरझुरी सी भर दी थी.

नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी और ना ही उसकी आवाज़ निकली। बस उसके आँसू आ गए। उसकी बुर की सील टूट चुकी थी।फिर विकास ने एक और झटका मारा और शिवानी की बुर में अपना पूरा लंड पेल दिया। तभी विकास ने मुझे एकदम से हटा दिया उसी वक्त शिवानी की चीख निकल पड़ी- आआहहह अहह. तो वो अपनी कमर हिलाने लगी, तो मैं भी धक्के लगाने लगा।वो मादक सीत्कार करने लगी- आह.

नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी फिर मैं कृष्णा की गांड में और जोर से धक्के देने लगा। कुछ ही देर में मेरा माल निकलने वाला था, मैंने कृष्णा से पूछा- रस किधर निकालूँ?उसने कहा- गांड में ही डाल दे।मैंने अपना सारा माल उसकी गांड में डाल दिया. तुम अपना काम करो।वो बोले- अभी लो मेरी जान।फिर डॉक्टर साहब ने नेहा का बेबी डॉल उतार के मेरी तरफ उछाल दिया और बोले- इधर आ मुंडू.

क्या हीरे सी चमक रही है।’सरला भाभी ने हँसते हुए और इस खेल का मज़ा लेते हुए अपनी जांघों को खोल दिया, कमल ने भाभी के चूत के दाने को रगड़ दिया। सरला भाभी सिसिया कर मचल उठीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… हाय राजा, आज तो बहुत फड़क रही है.

राजस्थान लड़की का सेक्सी वीडियो

इसीलिए उसने इधर-उधर हिलना कम कर दिया और अपनी बुर को मेरे लंड पर दबाने लगी थी।अब मुझे लगने लगा था कि रोमा की बुर भी फड़क उठी है और आज नहीं तो कल ये मेरे लंड पर झूल ही जाएगी।मेरी सेक्स स्टोरी अगले भाग में समाप्त होगी।[emailprotected]. पर मेरी अनछिदी गांड में लंड अन्दर नहीं गया।अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था, मेरे मुँह से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाजें आने लगीं। वो समझ गया कि मैं गांड मराने के लिए उतावला हूँ, पर उसका लंड अन्दर नहीं जा रहा था।मैं ज़्यादा गर्म हो गया. सिर्फ काव्या को चोदा है और मैं भी यही सोच रहा हूँ कि निशा कैसे मानेगी?तो भावना ने कहा- उसके लिए पहले उसके ब्वायफ्रेंड को पटाना होगा। निशा का एक लड़के के साथ अफेयर पिछले एक साल से है.

कितना अच्छा है तुम्हारा!मैंने कहा- क्या अच्छा है मेरा?भाभी आँख दबा कर बोलीं- तुम्हारा लंड. नीचे कुछ नहीं करने दूँगी।मैंने उसे बहुत बार मना किया।वो बोला- प्लीज मैम. आदि इत्यादि!मैंने तो कभी सोचा भी नहीं था कि वो इतनी आसानी से तैयार हो जाएंगी। ऐसा भी नहीं था कि वो अपने पति से सैटिस्फाइड नहीं थीं.

’ बोल दिया।उस रात में एक बजे तक हम दोनों बातें करते रहे। ऐसे ही दो दिन निकल गए।अगले दिन मैं अपनी जॉब पर चला गया.

आज आपकी सील टूट गई और अब आप हमारी पूरी घर वाली बन गई हो।मैंने ये सुनते ही जीजू को बांहों में भर लिया. उनका साइज 34-30-32 का एकदम जानलेवा है। इस फिगर में वो बहुत ही गर्म माल लगती हैं।श्रेया भाभी को नाइटी में देख कर मेरा उनको चोदने को मन करने लगा।दो दिन बाद भाभी ने लड़के को अपने मायके में छोड़ दिया. या सब भैया को ही दे दिया?तो भाभी शर्मा कर बोलीं- क्या चाहिए आपको?तो मैंने उनकी चुची की तरफ इशारा कर दिया।वो बोलीं- एक शर्त पर.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… वाह!’कैलाश भी जोरदार झटके दे रहा था, वो लंड आधा निकाल कर. बस तुम हाँ तो करो।’जब जीनत अन्दर आई थी तो उसने दरवाज़ा लॉक कर दिया और बिस्तर पर जाकर बैठ गई।अच्छा खासा, रंग-रूप, सुंदर शरीर, टॉप और शॉर्ट्स में जीनत बड़ी प्यारी लग रही थी।मैं उसके पास जाकर बैठ गया, वो उठ कर खड़ी हो गई, मैंने उसका हाथ पकड़ लिया, मैंने पूछा- जीनत तुमने चुदाई तो पहले ही की होगी?‘हाँ मेरी मम्मी के दो यार हैं, पहले वह मम्मी को चोदते थे. मेरी माँ की एकदम दूध सी गोरी गदरायी सुडौल टांगें थीं। तभी नाइटी मम्मी के शरीर से अलग हो गई।आआअह्ह.

मैंने फिर अपने होंठों को सारिका के होंठों से भिड़ाते हुए कहा- बहनचोद, अभी तो कुछ किया ही नहीं, अभी से छोड़ो. तभी किमी ने मेरे बाल पकड़ के खींचे, मैं समझ गया कि अब खुद पर काबू करना इसके बस का नहीं.

तो ये मेरा लंड भी मुँह में ले लेगी।यही सोच कर मैंने अपना लंड उसके मुँह में लगा दिया।अब वो कुछ ना बोली और वो मेरा लंड इस तरह चूसने लगी जैसे ब्लूफिल्म में सन्नी लियोनी चूसती है।मुझे बहुत मज़ा आ रहा था… उफ्फ़. मेरा लौड़ा तन कर एकदम खड़ा था और घड़ी के 12 जैसे बजा रहा था।तभी मेरी नजर दरवाजे पर गई जो कि अभी तक खुला ही था. और लंड की नाप भी औसत से अधिक है।मुझे विश्वास है कि महिलाएं मेरी स्टोरी को पढ़ कर अपनी चूत में उंगली जरूर करेंगी और लड़के पक्का मुठ्ठ मारकर अपने आपको शांत करेंगे।मैंने सेकण्ड इयर के एग्जाम के बाद छुट्टियों में आर्मी एरिया में एसबीआई के एटीएम पर प्राइवेट सेक्यूरिटी गार्ड की जॉब ज्वाइन कर ली ताकि मैं अपना खर्चा निकाल सकूँ.

हम दोनों ने वो पिया, थोड़ी देर के लिए लेट गये और वो मेरे बाईं ओर थी, मैंने उसकी तरफ करवट ले ली और एक दूसरे के परिवार के बारे में बातें करने लगे.

सब ठीक हो जाएगा।मैंने उसे लंड चूसने के लिए बोला, तो पहले वो मना करने लगी. अरविन्द भैया ने गाड़ी स्टार्ट की और फिर दोनों मेरी तरफ हाथ हिलाते हुए आगे बढ़ गए और धीरे-धीरे आँखों से ओझल हो गए. मेरी चीख मेरे मुँह में रह गईं… मेरी आँखें बाहर आ गई, सब कुछ धुंधला सा हो गया… मैंने छटपटाते हुए निकलने की कोशिश की पर मेरी एक न चली।यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!फिर एक झटका फिर लगा, मैं दर्द से बिलबिला उठी… अपना होश खो बैठी… लग रहा था कि मेरे गले तक कुछ फंस गया था… मैं रोना चाहती थी, चिल्लाना चाहती थी पर मेरी आवाज़ मेरे मुँह में ही रह गईं.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार, यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है तो सभी पाठकों से अनुरोध है कि इस चुदाई की कहानी में कोई ग़लती दिखे, तो मुझे माफ़ कर दीजिएगा।मेरा नाम राज है और मैं मध्य प्रदेश के इंदौर का रहने वाला हूँ। मैं दिखने में एक स्मार्ट बंदा हूँ और मेरा कद 5’4” है। मेरे लंड का साइज भी लंबा और मोटा है।मेरी दोस्त जिसका नाम मानसी है. फिर भी कोशिश करूँगा।वो बोला- तो ठीक है, मैं जा रहा हूँ।मैंने भी कह दिया- हाँ ठीक है.

जिससे अब मुझे भी मजा आने लगा और मेरी कामुक आवाजें निकलने लगीं। उसका लंड मेरी गांड में अन्दर-बाहर हो रहा था।कई मिनट तक मेरी गांड मारने के बाद उसने अपना गरम-गरम लावा मेरी गांड में छोड़ दिया और निढाल होकर मेरे ऊपर गिर गया।कुछ पल बाद मैंने उठकर मेरी गांड देखी तो गांड की जगह एक बड़ा सा छेद हो गया था।उस रात उसने मेरी गांड 3 बार मारी. पर मैंने अपना सब कुछ तुम्हें सौंप दिया है।इतनी बातें सुनकर मैंने काव्या को गले लगा लिया, भावना भी उठ कर पास आ गई और हम तीनों एक साथ चिपक गए।भावना ने कहा- अब से हम दोनों ही संदीप की गर्लफ्रेंड हैं। भविष्य में क्या होगा. क्योंकि मेरे मम्मी-पापा कल बाहर जा रहे हैं। वे लोग परसों वापस लौटेंगे और मैं घर में अकेली ही रहूँगी।मैंने कहा- ठीक है मैं आ जाऊँगा.

बिहार का फुल सेक्सी

आपकी जवानी के रस के लिए कोई कुछ भी कर ले।अब मैंने उसे हल्का सा धक्का दिया.

तो उसने बुझे मन से मामी का सर दबाया और कुछ ही देर में कम्प्यूटर पर जा बैठा।मामी बड़बड़ाने लगीं तो मैं बोला- मैं दबा देता हूँ मामी जी!वो बोलीं- नहीं रहने दे!पर मेरे दोबारा आग्रह करने पर बोलीं- ठीक है, दबा दे।शायद उनके सर में ज्यादा दर्द था. मैंने शर्मा कर हाथ वापस खींच लिया।जीजू ने मेरा हाथ फिर से पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और बोले- इसे सहलाओ. पर वो कहीं गई थी।थोड़ी देर बाद जब आई तो मैंने कहा- हाय पायल भाभी, क्या हो रहा है… आज कहाँ घूम रही हैं.

फिर होंठों पर हमला बोला। बड़ी देर तक सर यही करते रहे, पर इस बार उन्होंने मुझको पलट दिया। अब मैं पलंग पर औंधा पेट के बल लेटा था. तो नाईट सूट के पजामे से लंड का आकार साफ-साफ दिखता है। मैं नोट कर रहा था कि भाभी भी मेरे लंड की ओर चोरी-चोरी देख रही थीं।फिर उसी रात को मैंने भाभी को मैसेज किया व काफी देर तक सामान्य बातचीत की. बीएफ इंडियन बीएफ इंडियन बीएफ इंडियनइधर मेरा हाल ख़राब हो रहा था। मेरा लंड साला पैंट फाड़ने को तैयार था और मैं बार-बार अपने लंड को रगड़ रहा था।बिल्लू ने रजिया को लिटा दिया और उस की समीज़ को ऊपर कर दिया और दोनों चूचियों को सहलाने लगा। हल्के अँधेरे की वजह से साफ़ तो नहीं दिख रहा था, मगर जो दिख रहा था.

’ की आवाज आने लगी।डॉक्टर साहब नेहा को गोदी में उछाल-उछाल कर नीचे से लंड के धक्के देते रहे।फिर डॉक्टर साहब ने नेहा को नीचे उतार कर उसको झुका दिया। नेहा दीवार के सहारे झुक कर खड़ी हो गई और डॉक्टर साहब ने नेहा को पीछे से पेलना चालू कर दिया।ऊपर शावर से पानी गिरना चालू था। जिस वजह से चुदाई में ‘फट. चीने कबूतर की तरह नीचे गिर गई और सामने रह गए सारिका के दो नंगे दूधिया मम्मे!वाओ.

वहाँ पर कुछ लड़कियां भी काम करती थीं।उधर काम करते हुए दिन बीतते गए।मुझे उनमें से एक लड़की बहुत पसंद थी. हम दोनों तो खूब कपल एक्सचेंज करके सेक्स करते हैं।वो कहने लगी- कुछ होगा तो नहीं?मैंने कहा- कुछ नहीं होगा यार और अब तू भी कल अपना बुर चोदन करवा ही ले।वो मान गई।मैंने उसको समझा दिया कि अपनी बुर को एकदम चिकनी करके आइयो. मैं भी उनका साथ देने लगा।भाभी मेरे लंड को कसके पकड़े हुए थीं। वो अपना हाथ लंड की जड़ तक ले गईं जिससे लंड का गुलाबी सुपारा बाहर आ गया। बड़े आंवले की साइज का गुलाबी सुपारा देख कर भाभी हैरान रह गईं, उन्होंने पूछा- अरे बाबा.

कभी भी, तेरे प्यार और मस्ती के लिए! पर अपने इस मस्त चोदू यार का क्या करेंगे?’ सोनी कमल को चूम रही थी- इसका मस्त लंड तो तन कर खड़ा हो जाएगा ना?सोनिया को भी कमल और नेहा को देख कर बहुत अच्छा लग रहा था, दोनों बहुत खुश थे।‘क्यों कमल, तू क्यों हंस रहा है। तेरा तो मजा आ गया, अब तो दो-दो मस्त माल मिलेंगे प्यार करने के लिए. मैंने पानी पिया और हम दोनों इधर-उधर की बातें करने लगे। मैं अब भी बहुत डर रहा था और आधे घंटे बाद ही वहाँ से चल दिया।मेरे उठने कर चल देने से वो कुछ उदास सी हो गई और वो मुझे कुछ देर और रुकने को कहने लगी।मैंने बोला- नहीं. हम दोनों वहाँ बहुत सारी बातें करके अपनी बोरियत दूर कर लिया करेंगे।‘तुम्हारा घर किधर है?’‘दो मकान छोड़ कर.

इसलिए मैंने भाभी की जाँघों के बीच से अपना सर निकाल लिया और रेखा भाभी की तरफ देखने लगा।उन्होंने आँखें बन्द कर रखी थीं, उत्तेजना के कारण उनके होंठ कंपकंपा रहे थे और गोरा चेहरा बिल्कुल गुलाबी हो रखा था।जब कुछ देर तक मैंने कोई हरकत नहीं की.

तो मैं हंसता हुआ उसकी पीठ को रब करता रहा। कुछ देर बाद शायद उसे भी अच्छा लगने लगा था।रास्ते में कुछ सन्नाटा सा था. कैसी लगी मेरी पेशाब तुझे?मैं- आपकी पेशाब बहुत ही स्वादिष्ट है।मेरे से उनकी पेशाब को चखने के बाद रुका नहीं गया। मैं झट से अपना मुँह पायल आंटी की चूत के पास ले गया और उनकी पूरी चूत को चूसने लगा। उनकी चूत से निकलता हुआ पेशाब उनकी चूत से ही डायरेक्ट पीने लगा।पायल आंटी- हाय रे.

तो मैं थोड़ा गर्म हो गई।फिर उन्होंने अपनी ज़िप खोली और मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया। मैं धीरे-धीरे जीजू का लंड हिलाने लगी।थोड़ी देर चूमा चाटी करने के बाद मैं वहाँ से चली आई। मुझे बहुत मज़ा आया था लेकिन फिर बाद में मुझे बहुत बुरा लग रहा था कि मैंने ये क्या कर दिया।यह चूमा चाटी और बदन सहलाने का काम 2 साल तक चला। इसके बाद मुझे कॉलेज में एक आसिफ़ नाम के लड़के ने प्रपोज किया।मुझे भी वो पसंद था. कभी पार्क में गलबहियां कर लेते, पर कभी उसको चोदने का मौका नहीं मिला।उसके चूचे मुझको बहुत पसंद थे. प्रिय अन्तर्वासना पाठकोफरवरी महीने में प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए….

इतनी जल्दी क्यों उठा दिया?रोमा- मुझे बाइक सीखने जाना है।मैं- पर अभी तो बाहर अंधेरा है!रोमा- मैं मैदान में नहीं. इस चूत चुसाई के सफर की शुरुआत का मजा लेती रही।मैं अपनी जीभ को कभी उसकी चूत के अन्दर करता और कभी बाहर करता। फिर मैंने उसकी चूत को जोर से जीभ से चोदना शुरू कर दिया।उसकी चूत गीली हो गई थी और वो सिसक रही थी, उसका शरीर अकड़ने लगा था। वो बस सिसकारियाँ लेती हुई इस वक्त चूत चुसाने का आनन्द ले रही थी।मैं भी मस्त हो गया था, मैं उसकी गांड को नीचे से पकड़ कर उसकी चूत को तनिक उठा कर कभी अपनी होंठों से चूमता. मैं समझ गई कि ये भी मिली हुई है।दीदी अपने कमरे में सो रही थी, मैं डर रही थी कि वो मत उठे क्योंकि वो इन बातों को जानकर सह नहीं पाती!उसने फिर कहा- सुधीर जरा आना तो.

नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी पर मैंने मामी को पेंटी नहीं दी। मामी नंगी ही कमरे में मेरे पीछे दौड़ते हुए लेने की नाकाम कोशिश करती रहीं और फिर बिना पेंटी के सलवार पहनते हुए बोलीं- रख ले. उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करते हुए सिसिया रही थी। मैं उसकी गर्दन पर चूमे जा रहा था।कुछ मिनट तक ऐसा ही चलता रहा, फ़िर मैंने उसको सीधा किया। उसके ब्लाउज को खोल दिया। वो काली ब्रा पहने हुए थी.

বাঙ্গালী পানু ভিডিও

पर मैं कुछ नहीं बोलती थी।इससे उसकी हिम्मत बढ़ गई और उसने बात करते-करते ब्लैंकेट के नीचे मेरे पैरों पर हाथ रख दिए और धीरे-धीरे सहलाने लगा। इसी के साथ हम दोनों ने बातें करना भी जारी रखा।मेरे तरफ से कुछ भी विरोध न पाते देख उसने हाथ धीरे-धीरे ऊपर की ओर खिसका कर मेरे नंगे टाँगों को घुटनों तक सहलाना चालू कर दिया।मेरा तो मन कर रहा था कि जाऊँ और उसकी गोद में बैठ जाऊँ. कब घूरता हूँ? ऐसा तो कुछ नहीं है।जूही- अच्छा, जब मैं कपड़े बर्तन धोती हूँ. तो वो अपनी कमर हिलाने लगी, तो मैं भी धक्के लगाने लगा।वो मादक सीत्कार करने लगी- आह.

पर यह बात ठीक नहीं है, तूने मेरा माल तो देख लिया और अपनी मुनिया नहीं दिखाई अभी तक. तो मैंने आयशा को अपनी गोद में उठाया और उसके बेडरूम में ले जाकर उसे बेड पर गिरा गया।वो बोली- बहुत गर्मी लग रही है!मैंने जल्दी से एसी का बटन ऑन किया और फिर आयशा के पास आ गया।उसने मेरी तरफ मुस्कुरा कर देखा और अपनी बांहें फैला दीं. बीएफ एचडी बंगाली’ ही कर रही थी।मैं धीरे-धीरे आगे की ओर बढ़ते हुए उसके शॉर्ट के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा। वो मदहोशी में बस ‘उफ्फ़ आहह.

लेकिन उसने बोला कि पार्टी के बाद करेंगे, मैंने उससे जिद नहीं की।उसके बाद हमने कपड़े पहने एक-दूसरे को किस किया और बेडशीट को हटा दिया.

मैं और पापा अपने कमरे में सोने गए और चाची और गुड्डू उनके कमरे में चले गए।नींद लगी ही थी कि आधा घंटे के बाद लाइट चली गई, बहुत गर्मी के कारण सब कमरों से बाहर आकर बैठ गए।चाची ने मोमबत्ती जलाई।मैंने देखा कि चाची की साड़ी का पल्लू कुछ हट सा गया था, तो चाची के चुचे और चाची का सपाट चिकना पेट साफ दिख रहा था। उन्होंने अपने चिकने पेट पर नाभि के काफी नीचे से साड़ी पहनी हुई थी. तब मैंने एक ज़ोर का धक्का मारा और मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुसता चला गया ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उसने ज़ोर से चीखना चाहा.

रुक तो!और बिल्लू उसकी एक चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा और मैं खड़ा हुआ लंड हिला रहा था।रजिया बार-बार मेरी इस हरकत को देख रही थी. तो मैंने देर ना करते हुए अपनी पेंट एक पैर से उतारी और अपना लम्बा लंड बाहर निकाल कर आज़ाद कर दिया। वो मेरे लंड को देख कर घबरा गई और मना करने लगी, वो बोली- इतने बड़े से मुझे बहुत दर्द होगा. बल्कि मैं अपने संकोची स्वाभाव के कारण लड़कियों से खुल कर बात नहीं कर पाता था.

दीदी भी उसके नीचे लेटी रहीं, दीदी स्माइल के साथ उसके कंधे पर किस करने लगीं।दीदी- मेरी जान तुम्हारी यह ख्वाइश भी आज पूरी कर दी.

’ करते हुए इशारा किया, पर आँखें बंद रखीं और मुँह से भी कुछ नहीं कहा।पापा मुस्कुराए और ब्रा ऊपर करते हुए चाची की एक चूची को मुँह में लेकर चूसने लगे।चाची फिर पापा को सहलाने लगीं। तभी मैं फिर से चौंक गया क्योंकि चाची ने धीरे से कहा- प्लीज़ यार, मत करो, बाजू में बच्चे है. मैं और पापा अपने कमरे में सोने गए और चाची और गुड्डू उनके कमरे में चले गए।नींद लगी ही थी कि आधा घंटे के बाद लाइट चली गई, बहुत गर्मी के कारण सब कमरों से बाहर आकर बैठ गए।चाची ने मोमबत्ती जलाई।मैंने देखा कि चाची की साड़ी का पल्लू कुछ हट सा गया था, तो चाची के चुचे और चाची का सपाट चिकना पेट साफ दिख रहा था। उन्होंने अपने चिकने पेट पर नाभि के काफी नीचे से साड़ी पहनी हुई थी. कुछ ही पलों बाद वो बालकनी में आईं। आज उन्होंने हल्के रंग का सूट सलवार पहना था। मैं उन्हें चुदासी नजरों से देखने लगा।तभी मैंने देखा कि उन्होंने ब्रा नहीं पहनी हुई थी.

बीएफ फिल्में सेक्सी बीएफ!चाची ने पापा को ऊपर से हटाने की कोशिश की, क्योंकि चाची हम दोनों भाईयों की मौजूदगी में हद में रहना चाहती थीं।पर पापा कहाँ मानने वाले थे, पापा ने चाची के चुचे जोर से दबाने शुरू किए. उन्हें भी पिलाई और इसके बाद हम दोनों नें धुआंधार कई बार चुदाई की।कुछ देर आराम करने के बाद मैं अपने किसी काम से चला गया। बाद में जब मैं उस होटल में गया.

सविता भाभी वीडियो सेक्सी

इसलिए खाना खाते ही वो पढ़ाई करने लगी। रेखा भाभी घर के काम निपटा रही थीं. पर मजा आ रहा था। फिर मैंने एक झटके में पूरा लंड अन्दर डाल दिया।‘मुम्मय्ययययई मर गई. पायल आंटी का पति वहीं अपनी सीट में लेटा हुआ था।पति- कहाँ चले गए थे तुम दोनों?पायल आंटी- कुछ नहीं अनमोल को साथ लेकर गई थी.

तभी पीछे से किसी ने मुझे पकड़ लिया और टॉयलेट में अन्दर खींच कर उसने गेट लगा दिया।पहले तो मैं डर गया. ’वो गाना इतना गरमागरम है कि देख कर ही जूली को कुछ होने लगा। मैं समझ गया कि इसको चुदास चढ़ गई है।क्योंकि वो पहले से चुदी हुई थी. सुबह आँख खुली तो मैं बिस्तर में था, मेरी बगल में मेरे हुस्न की मल्लिका हिना बिल्कुल नंगी सो रही थी।फिर हमने दो दिन बहुत चुदाई की और कुछ पिक्स भी ली जो मेरे फेसबुक पर हैं.

बहुत मजा आ रहा है।तभी अंकल बोले- आगे और भी मजा आएगा मेरी जान!अब अंकल मम्मी की चुत चाटने लग गए और उन्होंने अपने कपड़े उतारना स्टार्ट किया और पूरे नंगे हो गए। अंकल का 6 इंच का लंड खड़ा हो गया था। मम्मी उनके लंड को देख कर बोलीं- मैंने कभी और किसी का इतना मोटा और लंबा लंड नहीं देखा।फिर अंकल हँसने लगे और बोले- मेरा तो खूब देख लिया न. पर पहले दरवाजे को कड़ी लगा दो।मैंने लाइट ऑन की और दरवाजे की कड़ी लगा दी। मैं फिर बाजी के पास आ गया, उनकी नाइटी उतार दी, अब वो सिर्फ़ ब्रा में थीं।बाजी के दो बड़े-बड़े कबूतर उस छोटी सी ब्रा की कैद से बाहर आना चाहते थे। मैंने ब्रा उतार दी और बाजी के मम्मे एकदम से उछलने लगे ‘उम्म्म्म. रात को मुझे महसूस हुआ कि कोई मेरे लंड को पकड़े हुए है।मैंने देखा वो सीनियर कृष्ण था, वो बहुत स्मार्ट था.

तो मैं मामी की ब्रा में कसे हुए उनके मम्मों को देख कर मेरा लंड फटने को हो गया।जैसे ही मैंने मामी को पूरा नंगा करके उनकी चुत की तरफ देखा. फिर जल्द ही लिंग को मुंह की गहराइयों तक ले जाकर चूसने लगी।मन तो किमी का पहले ही उसे चूसने का हो रहा होगा.

और इसी सोच के चलते उसके बारे में जानकारी लेनी चाही, मैंने वहाँ के वेटर से पूछा- ये कौन है?उसने बताया कि ये दूल्हे की बहन है।मैंने उसका नाचने आने का इंतज़ार किया और सोचा यहीं बात बढ़ाऊंगा।मैंने कुछ देर ऐसे गाने लगाए, जिससे उसका ध्यान मेरी तरफ आए। कुछ देर बाद वो मेरी आँखों में आँखें डालकर देखने लगी और अगले कुछ ही पलों में वो डांस करने आ गई।मैंने उसे आँख मारी.

इसलिए बेचैनी है।फिर वो 69 में होकर मेरे लंड से खेलने लगी।मैंने उससे कहा- इससे अब तुम अपने मुँह में ले लो।वो बोली- नहीं. बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ एक्स एक्स एक्सतो क्या मस्त आइटम दिख रही थीं वो! मेरा तो दिमाग काम नहीं कर रहा था। वो मेरी तरफ बड़े सेक्सी निगाहों से देखने लगीं।मैंने उन्हें नंगी ही उठा कर बिस्तर पर पटक दिया. बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदीअब बड़े कैसे हो गए?अब भाभी भी थोड़ा खुल कर बात कर रही थीं। उन्होंने कहा- आपके भाई रोज़ दबाते जो हैं. किताबें देखीं। एक किताब को देख कर लग रहा था कि इसे हड़बड़ी में रखा गया था।मैंने छुप कर नीचे देखा.

क्योंकि वो काबू में नहीं आ रही थी। मेरे हर धक्के में पूरा लंड उसके अन्दर जा रहा था और मैं उसके बाल पकड़ कर उसकी गांड की घुड़सवारी करने लगा। फिर धीरे-धीरे वो लेट गई और मैंने उसके मम्मों को पकड़ कर जोर-जोर से मसलते हुए पूरे दम से धक्के मारता रहा।शुरू में तो उसका बुरा हाल था.

जो अक्सर मुझसे बातें किया करती थी। शुरू में तो मैं भी उससे नॉर्मली बातें करता था. वो मेरे पति सुधीर थे, मैं बिस्तर पर बैठ गई और सर पर पल्लू डाल लिया।वो मेरे पास आकर बैठ गए और अपना कान पकड़ते हुए मुझसे कहा कि सुहागरात के दिन आपको इस तरह इंतजार कराने के लिए माफी चाहता हूँ, आप जो सजा देना चाहो, मुझे कुबूल है!उस वक्त मैं नजरें झुकाए बैठी थी, मैंने पलकों को थोड़ा उठाया और मुस्कुरा कर कहा- अब आगे से आप हमें कभी इंतजार ना करवाइएगा. इसलिए खाना खाते ही वो पढ़ाई करने लगी। रेखा भाभी घर के काम निपटा रही थीं.

मैं पसीना-पसीना हो गया था। मैंने हकलाते हुए बोला- कुछ नहीं आंटी जी बस. तब मुझे कुछ अजीब सा लग रहा था। मैं मन ही मन में ख्याल आने लगे कि इतनी हसीन लड़की के बारे में मैंने पहले कभी क्यों नहीं सोचा!उनका फिगर तो मैंने मापा नहीं, लेकिन अंजलि मैडम फ़िल्मी अदाकारा काजल अग्रवाल से किसी भी मामले में कम नहीं लग रही थीं। उनके गालों पर बालों की एक लट. और कहा- आपको मुझे सैटिस्फ़ाई करना है।तो मैंने कहा- तो फिर देर किस बात की है!मैंने उसका हाथ पकड़ा और उसे अपनी और खींचा और उसके होंठों पर जोरदार चुम्बन कर दिया। उसे मेरे पहले किस से ही अंदाज हो गया था कि उसे कोई जबरदस्त मर्द मिला है।उसने भी मेरा भरपूर साथ दिया.

साउथ सिल्क साड़ी

जब मिलोगे तब देखना!मैंने उससे कहा- बताओ कब मिलना है?तो उसने कहा- आप अपना मोबाइल नंबर दे दो. ‘आइये शम्भू जी, अन्दर आइये, चाय पीते हैं फिर आप चले जाना!’ मैंने औपचारिकता निभाते हुए शम्भू जी को घर के अन्दर आने को कहा. चल जल्दी आ अब मादरचोद बड़बड़ करता रहता है।मैं उन दोनों के पास गया, डॉक्टर सचिन ने अपने हाथ ऊपर कर दिए, मैंने उनकी टी-शर्ट और बनियान उतार दी, अब वो बिल्कुल नंगे हो चुके थे।नेहा मुझसे बोली- सुन ढक्कन.

दौड़ लगते रहे। ऐसे करते-करते एक महीने में हम दोनों धीरे धीरे चार कि.

तो रिया चिल्लाने लगी। उसकी छोटी सी बुर के हिसाब से मेरा लंड बहुत बड़ा था.

इसलिए वो ऐसे ही मेरे पास नहीं आएंगी, मेरे घर में रहते हुए वो अकेली कमरे में भी नहीं जाएंगी।तभी मेरे दिमाग में एक तरकीब आई, मैंने रेखा भाभी को कुछ भी नहीं कहा और चुपचाप पानी की बाल्टी भरकर सीधा लैटरीन में घुस गया. एक रविवार शाम के खाने पर मोहन ने मुझे और रोशनी को खुश होते हुए बताया कि उसे कंपनी की तरफ से एक ग्रुप को ले कर 20 दिनों के यूरोप टूर पर जाना है।यह मौका खुद व खुद सामने से मेरी तरफ आ गया था, अब अगला दांव खेलने की बारी थी।कुछ दिनों बाद वो दिन आ गया. बीएफ वीडियो 18 सालमानो वो कोई गाय की तरह चुदने के लिए रंभा रही हों।मेरा हाथ खुद अपने लंड पर चला गया।एक औरत जब कामुक होती है, तो उसकी आवाज में जो कामुकता भरी होती है.

फिर जीजू मेरे एकदम पास आ कर मुझसे बोले- ऋतिका मैं तुम्हें किस करना चाहता हूँ।मैं- क्या जीजू आप भी. मैंने भी उसकी गांड में जोर-जोर से झटके लगाने शुरू कर दिए ताकि वो झड़ने का पूरा मजा ले सके।झड़ने के बाद वो पस्त सी हो गई, मैंने और अंकुर ने उसकी गांड और चूत में पूरी स्पीड से चुदाई शुरू कर दी, हमारे दोनों लौड़े एक साथ उसकी माँ-बहन एक कर रहे थे।तभी वो फिर बोली- अह्ह्ह्ह सालों आ जाओ अब. इसलिए जल्दी ही झड़ गया। मैंने अपने लंड का सारा पानी भाभी के मम्मों पर झाड़ दिया। मैं उसके ऊपर ही गिर गया और 2 मिनट तक लेटा रहा।कुछ ही देर में मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा। मैंने आँचल भाभी से कंडोम लगाने को कहा.

मुझे जाना पड़ेगा।इस तरह वो मेरे पास आ गई, आते ही उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने के बाद खुद ही नंगी हो गई।मैंने दूध मसकते हुए पूछा- उसका लंड कैसा लगा?वो बोली- बढ़िया था. कुछ ही झटकों में उसने मेरी चूत से दोबारा रस निकाल दिया। फिर कुछ देर तक और चोद कर अपनी पिचकारी भी मेरी चूत में छोड़ दी थी। उसके बाद हम दोनों ने अपनी सफाई करके.

मैंने उसके होठों को चूसना शुरु कर दिया।तभी दरवाजा खुलने की आवाज हुई और हम दोनों ठीक हो कर बैठ गए, दोनों की सांसें बहुत भरी हो चली थी।मैंने समीर को इशारा किया और वो कुछ हिना के कान में बोला और फिर मुझे बोला- मुझे नींद आ रही है दोस्त, मैं चला सोने!मैंने कहा- ठीक है, मैं और हिना तो फिल्म पूरी देख के ही सोएँगे.

इसलिए मैंने एक बार बड़ी जोर से उनके गुफा के मुहाने को चाटा और अपनी जीभ को लम्बा करके भाभी की गुफा में पेवस्त कर दिया।इस बार फिर ना चाहते हुए भी उनके मुँह से एक हल्की ‘आह. ! बोल मैं कैसे तेरी इसमें हेल्प करूँ?’‘मेरे पास पापा को खुश करने का एक प्लान है। बस तुझको मेरे लिए थोड़ी सी एक्टिंग करना होगी। मेरे पापा का बर्थ-डे है. तो लंड तो निकल गया लेकिन मेरे लंड की चमड़ी थोड़ी छिल गई।भाभी ने कहा- तुम अन्दर कमरे में जाओ.

दिल्ली सेक्सी वीडियो बीएफ ये तो पानी छोड़ने वाली है। तेरा लंड मेरा दाना बहुत मस्त रगड़ रहा है।‘हां मेरी रानी हां… उह्ह्ह बहुत मज़ा आ रहा है। अपना लंड भी बहुत मस्ती में है। तेरी गर्म-गर्म चिकनी-चिकनी रस भरी चूत में घुस कर अकड़ रहा है। अह्ह. मुझे अच्छा लगेगा।[emailprotected]कॉलेज गर्ल की सेक्स कहानी जारी है।.

तू बहुत चालू है और मस्त चोदू भी है। अच्छा अब तूने मुझे इतना चुदक्कड़ और जंगली बना दिया है तो बता कि तू मुझे दिन में कितनी बार चोद सकता है और एक चुदाई में कितनी देर तक चोद सकता है?’गीता सिसकार कर कमल की मस्त बातों का और उसकी मस्त जवानी का असली मजा ले रही थी।कमल ने उसको होंठों पर चूस लिया- हाय…क्या बात है. मेरी सेक्स स्टोरी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मेरी इंग्लिश टीचर ने मुझे ट्यूशन पढ़ने के लिए अपने घर आने को कहा, वो अकेली रहती थी, उनके पति बाहर जॉब करते थे. मैंने भी उसको सीधा किया और अपने लंड पर थोड़ा थूक लगाकर उसकी चुत के मुहाने पर रख कर एक जोर सा झटका दे दिया, उसकी चुत गीली होने से लंड आधा अन्दर चला गया।पर मेरे लंड की साईज और मोटाई रोशनी की चुत बर्दाश्त नहीं कर पाई और वो जोर से चिल्लाई- मार दिया मादरचोद.

हिंदी सेक्सी जीजा साली की

’ करने लगी।वो बोली- ये क्या कर रहे हो यार, मेरे पति तो कभी ऐसा नहीं करते हैं, तुमने तो आग सी लगा दी. तो मेल पर इतनी बोल्ड बातें कैसी कर लेती हो?उसने कहा- मैंने आज तक ऐसी बातें नहीं की. जो रोमा पहने थी। इधर मेरा लंड तो नंगा ही था।रोमा कुछ बोल तो नहीं रही थी.

! इसे कहाँ छुपा रखा था इतने दिन तक?मैंने कहा- भाभी यहीं तो था तुम्हारे सामने. उन्होंने नेहा की चूत की साइड में जीभ मारने लगे और उसकी पेंटी नीचे कर दी। अब वो नेहा की संगमरमरी चूत में जीभ मारने लगे। फिर उसकी चूत में जीभ अन्दर गहराई तक डाल कर नेहा की चूत के ऊपर के क्लाइटोरिस को चूसने लगे, नेहा सिसकारियां भरने लगी- अह्ह्ह.

लगता नहीं कि दो बच्चों की माँ हो। सच में कुंवारी लड़की भी क्या चिपक कर चूत देती होगी जो तुम देती हो।वो भड़क गई और बोली- जाओ कुंवारी की चूत ले लो.

धीरे धीरे उसने भी नीचे से धक्के लगाना शुरू कर दिए, उसने मेरे निप्पल पकड़ लिये तो जब मैं उछलती तो वो पूरे खिंच जाते थे तो दर्द भी होता, मजा भी आता!उछलते उछलते जब मैं थक गई तो लंड पर बैठ कर चूत रगड़ने लगी. उसकी चूत इतनी गीली हो गई थी कि मेरा पूरा हाथ उसकी भोसड़ी के पानी से गीला हो गया। अब तो मैं और ज्यादा उत्तेजित हो गया था। वो भी अपनी गांड हिला रही थी कि बस उसकी चूत में अपने लंड को डाल दूँ।इसके बाद मैंने जल्दी से उसकी पेंटी भी निकाल दी. इनके अन्दर तो दो-दो लंड और जाने चाहिए।तभी पूजा बोली- हाँ जरूर साले.

तेरी चुत में उसका लंड घुसवा ही दूँगा।यूं ही चुदाई होती रही और सोनू से चुदवाने की बात पक्की हो गई।अगले दिन मेरा दोस्त और मैं ड्रिंक ले रहे थे।वो बोला- यार एक बात बोलूं, बुरा मत मानना. पर तब भी शायद 36-30-34 का रहा होगा।आँचल भाभी अपने पति के साथ रहती है. चौथे महीने में सीढ़ियों से फिसलकर गिर जाने की वजह से हमारी दूसरी संतान इस दुनिया में आने से पहले ही…इस घटना ने मुझे जिन्दा लाश बना दिया था, मेरी हंसती खेलती दुनिया वीरान सी लगने लगी थी.

जिनकी गिनती बहुत ज्यादा है।इस घटना के बाद मैं आज तक 18 आंटी, भाभी और लड़कियों को भोग चुका हूँ जिनमें से कई को तो न जाने कितनी बार चोदा होगा और अब भी चोदता रहता हूँ।मैं उनकी चुदाई की बहुत सारी कहानियां लिख सकता हूँ.

नेपाली बीएफ पिक्चर सेक्सी: मैं आप सभी के सामने अपनी एक रियल सेक्स स्टोरी सुना रहा हूँ।हैलो मेरा नाम शोभित है (काल्पनिक नाम) मैं 28 साल का हूँ और इंदौर में रहता हूँ। यह कहानी उस समय की है जब मैं 12 वीं क्लास में था।उन दिनों गर्मियों की छुट्टियाँ थीं और मैं अपने मामा के यहाँ घूमने गया हुआ था।एक दिन मेरे मामा के घर में सिर्फ मैं और मेरी ममेरी बहन यानि मेरे मामा की बेटी थी. मैं उससे इस बारे में बाद में बात करूँगा।उधर कमरे में जीनत बिस्तर पर बैठी थी.

कंडोम हटाया और उसकी गांड के छेद और चूत के मुँह के ऊपर सब उगल दिया।हिना भी वहीं ढेर हो गई, उसके शरीर में जान नहीं बची थी. किताबें देखीं। एक किताब को देख कर लग रहा था कि इसे हड़बड़ी में रखा गया था।मैंने छुप कर नीचे देखा. आंटी जोर से मेरे सर को अपनी चुत के अन्दर दबाने लगीं, आंटी सेक्स भरे, चुदास भरे स्वर में कहने लगीं- पियो मेरे राजा.

हालांकि रंग थोड़ा सांवला है। मेरा कद 5 फुट 10 इंच है। मैं थोड़ा मोटा हूँ.

उसकी आँखों से आँसू टपकने लगे। मैं उसके करीब बैठकर उसे समझाने लगा- इसमें रोने की क्या बात है?मैंने उसके आँसू पोंछते हुए कहा. वैसे मैंने काव्या को बता दिया है और वह राजी भी है। वो भी निशा को पटाने में मेरी मदद करेगी।मैंने कहा- चलो अच्छी बात है. साली बहुत तड़फाती है।मैंने भी खूब चोदा।उस दिन घर पर कोई नहीं था, तो मैंने खुल कर चोदा और उसको कई पोजिशन में लेकर चोदा.