राजस्थानी भाभी की बीएफ

छवि स्रोत,सागर सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी रोमांटिक सेक्सी: राजस्थानी भाभी की बीएफ, कुछ देर बाद बाजू में संगीत बजने लगा और डीजे पर नाच गाना शुरू हो गया.

सेक्सी पिक्चर हिंदी चुदाई चुदाई

मैरिड गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक लड़की ऑफिस जाते वक़्त मुझे रोज रास्ते में मिलती थी. दिल्ली का सेक्सी वीडियो मेंमुझे ऐसा लगा कि कुछ मोटी सी चीज मेरी चूत को फाड़ती हुई अंदर सरकती जा रही है और मेरे पूरे बदन में बेचैनी सी फैल गयी.

मानस के मुँह को अपनी जांघों से दबाए रखते हुए उसने लगभग अपना सारा मूत और अपनी फुद्दी का चिपचिपा पानी उस चपरासी के मुँह पर फेंक दिया था. एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर दिखाओअब मैं अपने मुँह से उनके लंड को चोद रही थी और वो अपनी जीभ से मेरी बुर चोद रहे थे.

उन्हें लग रहा था कि किसी तरह से मेरे दोस्त सैम का लंड चुत में घुस जाए.राजस्थानी भाभी की बीएफ: मैं कहा- साली तू तो आज से मेरी रांड ही बन जा … तेरी चुत को भोसड़ा बना दूँगा.

वो चूमते हुए मेरे शरीर को सहला रहे थे, उनका हाथ मेरी पीठ सहलाते हुए गांड पर पहुंच गया.उधर तूने देखा कैसे पल्ली ने सरेआम विराज को हग करते हुए फ्रेंच किस किया, वो भी समीर के सामने ही.

पवार सेक्सी - राजस्थानी भाभी की बीएफ

इस पर उसने कहा- हम दोनों सिर्फ फ्रेंड हैं और हमारे बीच में ऐसा कुछ भी नहीं है.क्या बॉडी थी फरियाल की … एकदम काजू …फरियाल की पीठ से मसाज करते करते मैं उसकी गांड पर आ गया और उसकी गांड मसलने लगा.

मैं पूरी नंगी थी तो एकदम से उससे दूर हटी और खुद को चादर से ढक लिया. राजस्थानी भाभी की बीएफ मेरे पिता मेरी मां की शारीरिक जरूरतों को पूरा नहीं कर पाते थे इसीलिए घर में झगड़े होते थे.

मैं- हां?तमन्ना- जान रुका करो!मैं- उसकी चूचियां दबाते हुये बोला- चलो रुका हूं!कुछ ही देर में वो आहें भरती हुयी खुद ही धीरे-धीरे आगे-पीछे होने लगी.

राजस्थानी भाभी की बीएफ?

इंडियन कॉलेज गर्ल Xxx कहानी में पढ़ें कि एक लड़की को पड़ोसी लड़के के कमरे में पोर्न फोटो मिली. लूसी भी एक मंझी हुई चुदक्कड़ की तरह अपने भाई से चूत को चटवा रही थी. मस्त हवा चल रही थी, मुझे भी खाली सड़क पर गाड़ी चलाने में बड़ा मजा आ रहा था.

यदि भाभी का मूड ठीक लगता तो मुझे आगे की बात पता चल जाएगी कि भाभी से सैटिंग हो पाएगी या नहीं. तमन्ना- अले…ले…ले रूठ गये! देखो कितने क्यूट लग रहे हो रूठे हुये!मैं- तन्नू! छोड़ो दर्द हो रहा है!उसने गाल छोड़कर मेरे होंठों पर होंठ रख लिये और मेरे चेहरे को हाथों में लेकर किस करने लगी. कुछ ही देर में चाची कहने लगी- राज, यह लाइट बंद कर दो और वहीं गद्दे पर दरवाजे के पास चलो.

समाज और विवाह की सारी रेखाएं बांध कर उसने मन के एक कोने में रख दीं और हिम्मत करके वो जोर से उस चपरासी को देख कर चिल्लाई- ओए बहनचोद … ये क्या चल रहा है साले कुत्ते … ये काम करने आता है यहां पर मादरचोद? रुक … आज तो तेरी खैर नहीं हरामी … आज तो तू गया पुलिस स्टेशन!सोनम ने चिल्लाते हुए उस चपरासी की क्लास लगा दी. बस जल्दी से आ जाओ … मुझे आपकी बहुत जरूरत है, अब मुझसे सहन नहीं हो रहा है. क्योंकि मैं ज़ारा को समझा-बुझा कर उसकी शादी करवा चुका था तो मैंने उस सेक्सी टीचर को अपने पास ही बुला लिया.

उधर वो मेरे लंड पर कूदती कूदती झड़ गई और ‘आह दादू …’ कहती हुई मेरे सीने से लटक गई. एक रात मैंने शन्नो को अपने रूम में बुलाया … वो सेक्स कहानी मैं बाद में बताऊंगा.

पर आप और मम्मी की दोनों वीडियो में मम्मी की चूत बिल्कुल नीट एंड वलीन और आप के भी लन्ड पर भी अभी की तरह वीडियो में भी एक भी बाल नहीं.

जैसे ही उसने मेरी कमर का नाप लिया तो मेरी चूत से पानी रिसता हुए मेरी टांगों से बहने लगा.

जैसे ही अपनी जीभ उनके गीली चूत पर रखी, तभी भाभी ने एक लंबी आह भरी और मचल गईं. तब तक भाभी ने अपने ब्लाउज के चिटकनी बटन एक झटके में खोल कर मेरे सामने अपने दूध खोल दिए. क्या किया उसने?दोस्तो, मैं राजवीर एक बार फिर से आप सभी पाठकों का स्वागत करता हूं.

सुबह उठ कर कोमल ने खुद को साफ़ किया और दो घंटे बाद हम दोनों अपने घर के लिए निकल आए. उसके लन्ड से इतना माल निकला कि हम दोनों की हलक की प्यास बुझ गयी।हम दोनों समीर के बगल में लेट गई और कुछ देर बाद फिर अनामिका समीर का लन्ड चूसने लगी. उधर एक जादू वाला जादू दिखा रहा था तो मैंने घर चलने से पहले शहज़ाद से जादू देखने को बोला.

उनका बेटा अभी भी आगे वाली कुर्सी पर बैठा हुआ था और हम दोनों पीछे थे.

मैं मानती हूँ कि इस खेल में रोमांच तो है लेकिन कहीं ना कहीं मेरे मन में मजबूरी वाली भावना भी होती है. उसने चुंबन के लिए तो साथ दिया पर आगे कुछ करने से रोकते हुए कहने लगी- चाहती तो मैं भी थी कि उठकर एक और राउंड की चुदाई हो जाए! पर मुझे उठने में देर हो गई. मैंने अपनी शॉर्ट्स भी उतार दी और अपने ब्वॉयफ्रेंड को चुत दिखा कर अपनी चुत में उंगली करने लगी.

देविका- मैं ना तो कहीं पेमेंट कर पा रही हूं, ना ही पेमेंट ले पा रही हूं।मैं- ठीक है मैम, मैं आपका मोबाइल चेक कर लेता हूं।अभी तक हम यहां ब्यूटी पार्लर के रिसेप्शन पर बैठे हुए थे।मैं गर्मी में मार्केट से आया हुआ था तो मुझे पसीना बहुत आ रहा था।उन्होंने मेरा पसीना देखते हुए बोला- यहां बहुत गर्मी है। आप अंदर चल कर वहां बैठकर काम कर लीजिए। वहां पर ए. उसकी आवाज से रिज़वाना एकदम से झेंप गई और उससे बोली- ओके हनी, अब मैं तुम्हारा ध्यान रखूँगी. अब तक आपने जाना था कि चलती बस में पल्लवी विराज के सीने से लग कर उससे अपना प्यार जता रही थी.

गजब का माहौल था- बारिश, अंधेरा, उजाला, दो तपते जिस्म, बेफिक्री का आलम और किसी के आने का डर नहीं.

इस बात से उसने मुझसे थोड़ा फ़्लर्ट किया, तो मैंने भी उसके जवाब में बोला- मुझे भी तुम्हारी उम्र के लड़के बहुत ज़्यादा पसन्द हैं … और खास करके तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो. यह मेरी पहली और सच्ची बॉय एंड गर्ल सेक्स कहानी है, जो आज मैं आप लोगों के साथ साझा करना चाहता हूँ.

राजस्थानी भाभी की बीएफ मैं- आ जाओ फिर!मौसी- सच में यार बहुत मन कर रहा है, तुमने मुझे पूरा गीला कर दिया है. उसने तुरंत मेरी ब्रा फाड़ दी और मुझे उल्टा करके मेरी पैंटी भी निकाल कर मुझे पूरी तरीके से नंगी कर दिया और मेरी गांड पर बहुत जोर से थप्पड़ मारने लगा.

राजस्थानी भाभी की बीएफ एक बोला- मेरी रानी आज पूरी रात हम दोनों मिलकर तेरी चुदाई ही करेंगे. बात फाइनल हो गई कि मैं और मां घर रुकेंगे और बाकी सब लोग मौसी के घर शादी में जाएंगे.

मैं भी अकेला था और वो भी, शायद हम दोनों को एक दूसरे की ज़रूरत थी इसलिए उन्होंने बुरा नहीं माना.

नंगी नंगा

मुझे शुरू में दर्द तो बहुत हुआ, मैं बहुत ज्यादा चिल्लाई भी … मगर बाद में मजा भी बहुत आने लगा था. अब प्रिया को एक कमरे में बंद कर दिया और बाकी लोग फिर से अपनी अपनी चुत पकड़ कर चुदाई में लग गए. उनके जिस्म की रगड़ मुझे मिलने लगी और मेरी आंखें वासना से तप्त हो गईं.

फिर क्या हुआ?नमस्कार दोस्तो,मैं राकेश अपनी एक और कामुक और सच्ची फ्री सेक्स स्टोरी हिंदी आप लोगों के समक्ष ले कर आया हूँ, आशा करता हूँ कि आप सब लोग मेरी इस कहानी को भी उतना ही पसंद करोगे जितना आपने मेरी पिछली कहानियों को किया. उसको देख कर साफ़ पता चलता था कि वो बहुत ही आत्मविश्वास से युक्त लड़की थी. मेरे मुँह से शराब की गंध महसूस करके बोली- दादू मुझे भी पिलाओ न!मैंने कहा- चल कमरे में चलते हैं … उधर बोतल में बची है, पी लेना.

मैंने साहिल और राज का लंड पकड़ लिया और उनको अपने पीछे खींचने लगी जैसे कि वे मेरे कुत्ते हों.

अनिकेत- क्या बकवास कर रहा है तू?विवेक- मेरे पास फोटो भी है, अगर कहो तो अभी दिखाऊं?अनिकेत ने मेरी तरफ देखा और फिर बोला- नहीं, रहने दे. अन्तर्वासना के प्रिय पाठको, मैं विराज एक बार फिर से आपकी चूतों को चमचम … और लौड़ों को बांस बनाने के लिए हाजिर हूँ. मेरी पहली कहानीकिस्मत से मिली चुदाई की जॉबदो साल पहले आयी थी, जिसे आप लोगों ने बहुत प्यार दिया था.

पांच मिनट तक शन्नो ने मेरा लंड जमकर चूसा … फिर मेरे लौड़े ने वीर्य छोड़ दिया तो शन्नो एक कुतिया के जैसे लंड को चूसते चूसते सारा वीर्य पी गई. थोड़ी देर तक तो शेखर ने धारा की पीठ सहला कर उसे सम्भाला लेकिन फिर अगले ही पल उसने धारा की कमर पकड़ कर एक झटके में से बिस्तर पर पलट दिया. मैं जानता था कि सिर्फ मैं ही नहीं बल्कि नेहा और रोहन भी उतने ही बेचैन हैं.

वरना कल तेरा सामान बाहर फेंक दूंगा और चोरी के इल्ज़ाम में जेल की हवा अलग. मेरी बात पर भाभी हंसने लगीं और बोलीं- आपको कौन सा दूध पीना है?मैंने उनकी आंखों में आंखें डालते हुए कहा- वही, जो बड़े होने के बाद पिया जाता है.

दरअसल चाची नहीं चाहती थी कि मैं अत्यधिक खुशी जाहिर कर दूँ और मम्मी को शक हो जाये. स्नेहा- क्या चल रहा था दीदू?नेहा- चल बदमाश, अपनी मॉम अन्दर डैड से चुद रही थीं और क्या. फिर उसने धीरे से धारा के कानों में फुसफुसा कर कहा- अजी वाह … आँखें आपने मेरी बंद करवा रखी हैं और इस बात से शर्मा रही हैं कि कहीं मैं इन्हें देख ना लूँ.

अब मैं सिर्फ अंडरवियर में था और मेरा लंड उभार लिए हुआ था जिसे भाभी देख रही थीं.

मैं रात में सैम के साथ जमीन पर बिस्तर पर सोया था और मां पिछले कमरे में अपने बेड पर सोई हुई थीं. तो सूरज भईया बोले- अरे ये तो तुम्हारा देवर है … इससे क्या पर्दा करना. उसने मां का मुँह दबाते हुए कहा- धीरे … नहीं तो आपका लड़का जाग जाएगा.

उसका लंड एकदम गोरा सा थातभी राज ने मेरा सिर पकड़ कर मुझे नीचे बैठा दिया. वो बोला- अगर मैं ऐसे ही तेरे चूचों पर करूं … तो तुझे अच्छा लगेगा!मैंने उसे मना कर दिया.

तो मैंने क्या किया?नमस्कार मित्रो, मेरा नाम चन्दर है और मैं जयपुर की एक बड़ी कंपनी में हेड मार्केटिंग मैनेजर हूँ. शादी से एक दिन पहले सुषमा ने मुझे फिर से फ़ोन करके आने को बोला तो मैंने कहा- हां, मैं जरूर आऊंगी. मैंने अंदर से कुंडी बंद की और दो चार बातें पूछ कर कहा- तो प्रैक्टिकल इंटरव्यू शुरू करें?फ़लक ने सहमति में अपनी गर्दन से इशारा कर दिया.

एक्स एक्स एक्स हीरोइन

तो दीपा बोली- राजा, आज पूरी रात तुम्हारे साथ हूँ, सारी कसर निकाल लेंगे, जल्दीबाजी क्यों करते हो।मनीष वहीं सोफ़े पर बैठ गया और सिगरेट सुलगा ली।दीपा ने अपना टॉप उतार फेंका और मनीष की गोदी में जा बैठी.

तमन्ना ने मीठी सी सीत्कार ली- इस्स…जा…न!मैं- दर्द तो नहीं हुआ?तमन्ना- नहीं!अब शुरू किये मैंने झटके!थोड़ी देर बाद लंड निकाला और उसकी चूत को चाटने लगा. फिर तीसरा कारण था कि मैंने दिन में भी चुदाई की थी, इस कारण भी जल्दी स्खलन नहीं हो रहा था. और साथ ही एक और नई लड़की की चुदाई का मजा भी मिला जो आज से पहले मुझे कभी नहीं मिला था.

मैंने देखा चाची बाहर बरामदे में एक बड़ा सा बैग ले कर मम्मी के पास बैठी थी. नमस्कार दोस्तो, मैं प्रवीण कुमार रायपुर से आपके सामने अपनी सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ. सेक्स बंगाली सेक्स बंगाली सेक्सीमैंने बेख़ौफ़ लिख दिया- लंड की!वो बोली- हां, मगर इसकी किससे बात पक्की समझूँ?मैंने कहा- तुम्हारी चुत से.

थोड़ी देर बाद मीरा ने भी अपनी एक टांग उठा कर निखिल की कमर पर रख दी. कुछ ही देर बाद भाभी ने मेरी टी-शर्ट ऊपर कर दी और मेरी छाती की घुंडियों को अपने होंठों से चुभलाने लगी थीं.

मुझे उसकी हरकत थोड़ी अजीब लगी, वो दरवाजे पर गयी तो देखा कि एक गबरू जवान लड़का खड़ा था. आपको ये बीवी को चुदवाया स्टोरी कैसी लगी मुझे मेल में जरूर बताईयेगा. वो मुझे देख कर रुक गया और हमने एक दूसरे को रंग लगाया और बच्चों को ‘बाद में चलते हैं’ बोल कर मुझे घर में ले कर आ गया.

देसी इंडियन मैरिड सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुझे पता लगा कि मेरी गर्लफ्रेंड की भाभी को बच्चा नहीं हो रहा तो उसका इलाज करने के बहाने मैंने उसे कैसे चोदा?मेरी पिछली कहानीमेरे बेटे की नयी हिंदी अध्यापिकामें आपने पढ़ा कि मेरे बेटे विशाल की क्लास टीचर सितारा मेरे लण्ड की मुरीद हो चुकी थी. मैंने उससे कहा- आज से दसवें दिन आपको एक इंजेक्शन लगवाना है लेकिन वो इंजेक्शन या तो आपके घर पर लगेगा या आपको मेरे घर चलना पड़ेगा. वह लड़की भी मुझे देखे जा रही थी … लेकिन मेरी हिम्मत उससे बात करने की नहीं हो रही थी.

तुम्हें कोई भी बात करनी हो, सामान मंगाना हो तो मुझे नहीं, तुम यश को बोल देना.

इस सबके बीच एक बार फिर से शेखर और धारा के होंठ आपस में मिल चुके थे और दोनों एक दूसरे की जीभ आपस में लड़ा कर इस पल का भरपूर आनंद ले रहे थे. जैसे ही मैं बैठी, मेरी एक जांघ पूरी तरह नंगी हो चुकी थी जो किसी को भी पागल बनाने के लिए काफी थी.

लगभग 20 मिनट चुदाई करने के बाद उसके झटके तेज हो गए तो मैं समझ गई कि विशाल अब झड़ने वाला है. मैंने उसके बारे में मालूम किया तो वो मेरे पड़ोसी के यहां किराए से रहने आई थी. अब आगे स्टोरी ऑफ़ सेक्स इन रिलेशनशिप:लौड़े पर चाची का हाथ पहुँचते ही मैंने भी नाईट गाउन से बाहर आई चाची की जांघ पर अपना हाथ रख दिया.

अब फ़्रेंची तो फ़्रेंची है, पहले से ही टाइट होती है ऊपर से शेखर का लंड जो पिछले आधे पौने घंटे से वासना के सागर में डूब कर अकड़ू हो गया था, वो लगभग फ़्रेंची में फँस ही गया था. तब मेरी मां की उम्र 19 साल थी और मेरे पिताजी की उम्र लगभग 23 साल की रही होगी. पर तुम्हारे पापा तुम्हारी माँ पर ही गन्दे इल्ज़ाम लगाने लगे और उन पर शक करने लगे.

राजस्थानी भाभी की बीएफ फिर भी उसने धारा को कुरेदने के लिए सवाल किया- अरे हाँ … ये तो मैंने सोचा ही नहीं. मेरी जीभ की गर्मी पाकर आशारा की फूली हुई चूत और भी मस्त होने लगी और सांस लेती चूत का स्पष्ट अहसास पाकर मेरी हरकतें तेज होने लगीं.

नंगी पिक्चर वीडियो नंगी पिक्चर वीडियो

मैंने भी दाब दे दी, तो एक बार में ही मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया. लगभग 2 घंटे बाइक चलाने के बाद में उस स्थान पर आ पहुंचा, जहां पर उसने मुझे बुलाया था. मैं- रज्जी मेरी तरफ देखो न!रज्जी- हां बोलो?मैंने उनका हाथ अपने हाथों में लेकर उंगलियों में उंगली फंसाते हुए कहा- मुझे सब मंजूर है शोना … आई लव यू जान!रज्जी मुस्कुराती हुई बोलीं- पक्का न!मैं- तेरी कसम जान एकदम पक्का.

मेरी बात पर ताई एकदम से बोलीं- छी: उधर इतना गन्दा होता है … तू बीमार हो जाएगा. जिसने अभी तक ना पढ़ी हो … वो पहले इन्हें जरूर पढ़ लें, ताकि इस सेक्स कहानी का पूरा मजा आए. न्यू सेक्सी न्यू सेक्सी सेक्सीअब तक मुझे भी मज़ा आने लगा था … लेकिन मैं नाटक करते हुए उससे कहने लगी- नहीं तुम ऐसा मत करो; जाने दो मुझे.

चूत पर जीभ पड़ते ही नीतू के बदन में झुरझुरी दौड़ गई।मैंने दोनों चूतड़ों पर एक के बाद एक कई चांटे मार कर फिर से उसके चूतड़ लाल कर दिये।जब भी मैं उसके चूतड़ों पर चांटे मारता तो नीतू मुझसे और जोर से मारने को कह कर मेरा जोश बढ़ाती।मैं अपने घुटनों पर झुका अपनी कमर और नीतू की चूत को सीध में कर लिया।आपको मेरी लड़की लड़की का सेक्स कहानी में खूब मजा आ रहा होगा, ऐसा मेरा दृढ़ विश्वास है.

इस सेक्सी भाबी हिंदी कहानी पर आपके सुझाव आमंत्रित हैं … मुझे इंतज़ार रहेगा. इसमें कुछ स्त्रियां बहुत ज्यादा कामोत्तेजित हो जाती हैं … और कुछ को असीम आनन्द की अनुभूति होती है.

तो दोस्तो, आपको यह सेक्स विद बॉस इन ऑफिस कहानी कैसी लगी?आप अपने विचार[emailprotected]पर सेंड कर सकते हैं. प्रिया अपनी चुत में गगन का लंड ले रही थी और रोमा गगन के मुँह पर बैठ कर अपनी चुत उससे चटवा रही थी. मैं पहले से ही उत्तेजित था … अब तो बेकाबू हो रहा था इसलिए मैं भी उनका साथ देने लगा.

लंड की चमड़ी हटा कर उसने मानस के लौड़े की टोपी ऐसे चूसी कि मानस की भी आह्ह निकल गयी.

क्या आप मुझे मेरे घर हनुमानगढ़ पहुंचा सकते हैं, आप जितना पैसा लोगे, मैं दे दूंगी. Xxx भाभी हिंदी कहानी में पढ़ें कि पड़ोस की एक भाभी से मेरी दोस्ती है. गीला लंड फच्च फच्च करके अंदर बाहर करने लगा।मैंने उसे उठाकर घोड़ी बनाया और गांड़ में घुसा दिया और गपागप गपागप चोदने लगा.

हिंदी सेक्सी नंगी भाभीकिसी को नाभि के पास चाटने से तो किसी को योनि चाटने और किसी को गांड के उभार चटवाने पर गर्मी आ जाती है. एक बात और … हमारी गाली हम लड़कियों तक सीमित रहती है, वहीं लड़के अपनी गाली लड़कों तक इस्तेमाल करते हैं.

चोदा चौदी

भले ही आशारा कितनी भी अनुभवी क्यों ना रही हो … लेकिन उसके लिए ये अनुभव नया था. लूसी भी एक मंझी हुई चुदक्कड़ की तरह अपने भाई से चूत को चटवा रही थी. मैंने उनसे कहा- भैया तो आजकल हैं नहीं, तो रात को मुझे बुला लो!भाभी बोलीं- मैं मिस कॉल कर दूंगी.

उस समय भाभी को देख कर किसी का भी मन बेईमान हो जाए और लंड खड़ा हो जाए. ”आप कुछ भी कीजिये, मुझे बच्चा चाहिए, मैं अपनी सास के ताने सुन सुन कर तंग आ चुकी हूँ. तभी ‘उठो न …’ की आवाज ने मुझे नींद से लाकर वास्तविकता में पटक दिया.

यूं ही बेताबी से मेरे होंठों को चूमती हुई भाभी नीचे को आ गईं और उन्होंने मेरी गर्दन पर चूमना चूसना शुरू कर दिया. यह सुन कर मैं कुछ देर चुप रहा, फिर उसे बताया- देखो शीना, तुम्हारे पापा तुम्हारी माँ को खुश नहीं रखते. मैं उसका हाथ हटाकर नीचे हुआ और एक चूची को सहलाने लगा हुआ व एक को दबाने लगा.

फिर आंटी ने मुझसे पूछा- आजकल तू घर पर अकेला रहता है क्या … तुझे रात को डर नहीं लगता?मैंने कहा- आंटी मैं अब बड़ा हो गया हूँ. तब उन्होंने छोटे चाचा, जिनका नाम निखिल है, उनको फोन लगाया और घर बुला लिया.

इस पर मीरा मुस्कुराई और उसने निखिल को बताया कि मैंने तुमको रीमा की चुदाई करते देख लिया था.

इससे अच्छा है कि आज रात आप मेरे घर रुक जाओ, वैसे भी मेरा घर खाली है. ओपन सेक्सी ओपन सेक्सी ओपन सेक्समैंने भी लिख दिया- मुझे बड़ी ख़ुशी होगी कि मैं आपकी बदन तोड़ सेवा कर सकूँ. कश्मीर में सेक्सी वीडियोमुझे चंचल के आने से एक अनजाना सा डर लग रहा था लेकिन मैं ऋतु की लगातार चुदाई किए जा रहा था. मीरा ने धीरे से निखिल के कान में बोला- अपनी मौसी को चोद ले … सोने का ड्रामा मत कर.

उनके सेक्सी फिगर को लेकर मैं ही नहीं, बल्कि पूरे मोहल्ले के लौंडों का लंड खड़ा हो जाता था.

आप परिस्थिति समझ सकते हैं कि मेरी गांड फ़टी हुई थी … पैर और हाथ कांपने लग गए थे, होंठ सूख रहे थे. पापा ने मां से पूछा कि तुम चलोगी?मां ने कहा कि मुझे ट्रेवलिंग से प्रॉब्लम होती है. केबिन में जाते ही उन्होंने झट से अपने कपड़े उतार दिए और मुझे भी नंगी कर दिया.

में ना तो कहीं शेखर लिखा था और ना ही अभी तक उसने धारा को अपना नाम बताया था. मैंने चाची की चूत को अपनी मुट्ठी में भींच लिया, चाची की एकदम ‘आह’ निकल गई. मैं तो कई बार ऐसी जगहों पर भी केएलपीडी बोल चुकी हूँ, जहां मुझे नहीं बोलना चाहिए था.

छोटी बच्ची की छूट

अनायास ही मेरे गाल उसके कोमल गालों से टच हुए और मुझमें एक बिजली सी कौंध गई. उसने कहा कि ये सच है … हां शुरू में थोड़ा दर्द होगा, पर बाद में बहुत मजा आएगा. मैं- क्या समझी थी?फ़लक- यही कि … ये सब करने के लिए बुला रहे हो, और उस रात यह सब सोच सोचकर मैंने फिर उंगली से मज़ा लिया.

उसने अपनी बेटी को 3 घंटे में चार बार चोदा और उसने हर बार अपनी बेटी की चुत में ही अपने लंड का पानी छोड़ा.

जिसने भी ये पोज़ ईजाद किया है यानि 69 का … वही जानते होंगे इसकी खुशी.

बीच बीच मुँह से लंड निकाल कर मेरे लंड पर अपना थूक लगा कर सहलाते हुए चूसने लगती थीं. अभी समीर की टंकी खाली नहीं हुई थी।हम दोनों का पागलों की तरह एक ही लौड़े को चूसना किसी को भी जल्दी झड़ने पर मजबूर कर सकता था. अंग्रेजी सेक्सी वीडियो सेक्स वीडियोहम दोनों एकदम से बेदम हो गए थे और बिना चूत से लंड निकाले मैं यूं ही भाभी ले साथ सो गया.

अगर मैं टॉवल को बिना पकड़े खड़े होती, तो पक्का खुल जाती … जो कि मैं चाहती भी थी. इधर मेरे लन्ड में अकड़ थी कि उसे चूत में जाना है तो उधर मेरी बीवी की चूत भी बार बार गीली होकर नर्म गर्म थी कि कड़क लन्ड आ जाये तो बिना रोक टोक के गीली चूत में अंदर फिसलता हुआ चला जाये।मैंने उसे रात में पूछा- तुम्हारा मन नहीं कर रहा चुदने का तो?नेहा का जवाब था- कर तो बहुत रहा है लेकिन करूँ क्या?मैंने उसे थ्रीसम सेक्स वाली वीडियो भेज दी. उसने जाते समय मुझसे कहा कि अम्मी मुझे थोड़ा काम है, मैं थोड़ी देर से घर आऊंगी.

भाभी ने भी ये नोटिस कर लिया और पूछने लगीं- क्या देख रहे हो?मैं शर्मा गया और बोला- कुछ नहीं. अब इतनी खूबसूरत भाभी को मना करने का तो चांस ही नहीं था और भाभी ने मुझे यार कह कर मेरा लंड खड़ा कर दिया था.

एक बार फिर मुझे शरारत सूझी और इस बार मैंने ममता की चूत की एक किस्सी कर ली.

एकदम चाची बोली- राज, मेरा बस अब छूटने वाला है, दोनों साथ ही डिस्चार्ज होंगे. वो चीखी- आईईइ … शेखर … आह्ह … आराम से !!”शेखर को धारा के दर्द का अहसास होते ही उसने झुक कर उसकी एक चूची को अपने मुँह में लिया और दूसरी को अपने दूसरे हाथ से मसलते हुए धीरे-धीरे अपने लंड को चूत में धकेलने लगा. उधर भाभी अपनी चूत को आगे आगे करती जा रही थीं- आहह हहह आआआ ऊउम मादरचोद … कुछ कर अब … भोसड़ी के आह हहह!मैंने अपना हाथ भाभी के ब्लाउज पर डाला और एक झटके में एक तरफ से फाड़ दिया.

सेक्सी ब्लू फिल्म बंगाल अब उन्होंने भी मुझसे पूछा- आपको नहीं लगता?मैंने कहा- भाभी मुझे सेपरेट हुए कई साल हो गए हैं … और मुझे एक साथी की ज़रूरत है. नीतू ने रूपाली का हाथ पकड़ा और उसे बेड के करीब ले जा कर उसे धक्का दे दिया।धक्का लगते ही रूपाली बेड पर धम्म से पसर गई।नीतू भी बेड पर चढ़ी और घुटनों के बल चलते हुए उसके बदन पर हावी होने लगी।पहले उसने अपनी देवरानी रूपाली के होंठ को चूम लिया।वो रूपाली के दोनों हाथ ऊपर किए और पसीने से भीगी उसकी बगलों को नाक लगा कर सूंघने लगी.

यह सब सुन कर मेरे अन्दर नया जोश भर गया और मैंने दुगने जोश से फ़लक की चुदाई और शरीर की धुनाई शुरू कर दी. मैं अपनी मां को काफी देर से चोद रहा था और लगातार झटके मारे जा रहा था. कुछ देर बाद प्रिया उठ गई और उसने जया की चुत से रस चूस कर अपने मुँह में भर लिया था.

सेक्सी का वीडियो दे

अब हालात यह थे कि शेखर का एक हाथ धारा की कमर को थामे हुए था और दूसरा हाथ धारा की चूचियों और अपने खुद के सीने के बीच फँस सा गया था. शेखर ने बस एक चांस लिया था ये सोच कर कि शायद कुछ बात बन जाए और धारा उसे वो रोमांच देने को राज़ी हो जाए. कुछ देर यूँ ही बातें करने के बाद गगन उससे बाद में आने की कह कर चला गया.

अभी मेरे लंड का टोपा ही अन्दर गया था कि उसकी आंखों में आंसू आ गए और चीख़ निकल गयी. तुम्हारी उम्र के लड़के ज्यादातर गलत व्यसनों में पढ़कर अपने लण्ड को खराब कर लेते हैं पर तुम बहुत अच्छे थे.

वो बोली- तेरा इतना बड़ा है … मैं तो सोच ही नहीं रही थी कि तेरा इतना बड़ा होगा.

फिर मैंने बोला- कोई मिला नहीं या बनाया नहीं!उसने बोला- कोई ऐसा मिला ही नहीं, जिससे कुछ सोचा जाए. ये सब देख और सुन कर मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरा हाथ मेरी पैंटी में चला गया और मैं चूत की क्लिट मसलने लगी. मैं एक हाथ से उसके बाल पकड़ कर होंठों को चूस रहा था, दूसरे हाथ से उसके दोनों चीकुओं को बारी बारी से मसल रहा था.

वो बोली- हां हुजूर अब तो मैं एकदम से समझ गई हूँ कि साहब को मैं हॉट लगती हूँ. थोड़ी देर बाद हम पेग लगा कर फ्री हुए तो नीरू का पति पेशाब करने वाशरूम गया और शीना किचन में समान रखने जाने लगी. वो मन में सोचते हुए बड़बड़ाने लगा- पता नहीं किसकी बहन चुद गयी …चिराग चल कर बाहर निकला, तो देखा स्नेहा अन्दर की तरफ आ रही थी.

ज्योति- हट बेशर्म … सब लोग हैं यहां बस में … कोई देखेगा तो क्या सोचेगा?चिराग- बस इतना प्यार करती है मुझसे? और रही बात किसी के देखने की … तो कोई हमें नहीं देख रहा.

राजस्थानी भाभी की बीएफ: फिर भाभी उठ कर अपनी चूत व मेरे लंड को अपनी पैंटी से साफ करके मेरे पास ही सो गईं. थोड़ी देर बाद नार्मल हो कर नेहा बोली- चल आ जा अब मेरी बारी!ममता- रहने दे यार … मेरी चूत को लंड की आदत पड़ गई है.

मैंने कहा- भाभी मुझे साफ़ समझ आ रहा है कि मेरा मोबाइल आपकी ब्रा में है. ब्लू फिल्म देखती हुई शन्नो आंटी अपनी चूचियों को मसल रही थी और बोल रही थी- आह आहह हहह आउह हहह और तेज़ चोद … और तेज़ चोद साले आंटी को उसकी चुत फाड़ दे. उसकी टांगें फ़ैल गई थीं और उसने मेरे लंड को अपनी चुत की फांकों में लगा दिया था.

अब मैं नीचे था और वो ऊपर!ये देखकर मेरी हंसी छूट गयी!उसने लंड को पकड़ा और चूत में घुसाकर उछलते हुये हंसने लगी!मैं उसकी हिलती चूचियां पकड़कर दबाने लगा और वो झुककर मेरी नाक से नाक लड़ाने लगी!मैंने उसका चेहरा पकड़ा और किस करने लगा!अचानक उसने चेहरा छुड़वाया और मेरी छाती पर हाथ रखकर जोर-जोर से आहें भरती हुयी उछलने लगी.

मैंने अभी तक ये सारी सेक्स की बातें सिर्फ़ फ़ोन में देखी थी या फिर पढ़ी थीं. ये सोच-सोच कर शेखर की भी फटी पड़ी थी लेकिन कहीं ना कहीं उसे ऐसा यक़ीन था कि ऐसा कुछ नहीं होगा. मैंने आगे से चाची की चूचियों को पकड़ लिया जिससे चाची बिल्कुल गठरी की तरह मेरी बांहों में आ गई.