चड्डी वाली बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी हिंदी देवर भाभी की

तस्वीर का शीर्षक ,

ಸಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಸಕ್ಸ: चड्डी वाली बीएफ, फिर कुछ दिन बाद मेरा ट्रांसफर पुणे में ही एक दूसरे एरिया में हो गया.

ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियो नई वाली

वो डरी हुई थी क्योंकि मेरा भाई उसकी माँ और अनीता जो बहुत बुरी तरह चोदता है. अनुष्का सेक्सी पिक्चरमैडम बोलीं- मैंने इतनी देर से आपका नाम ही नहीं पूछा … क्या मैं आपका नाम जान सकती हूँ.

तो मैंने बोला- क्या?वो बोली- यार मेरी कुछ फ्रेंडज़ साहिल से मिलना चाहती हैं … और मैं भी एक बार और … तो बता तेरे घर आ जायें हम लोग?मैंने पूछा- मिलना मतलब?तो राजसी ने साफ बोल दिया- वो दोनों और मैं उससे चुदवाने आऊंगी. हिंदी सेक्सी पिक्चर कार्टूनमुझे तब तो समझ नहीं थी लेकिन बाद में जान गई कि वो हिला हिला कर लण्ड खड़ा करने की कोशिश कर रहे थे.

लगभग दस मिनट तक चूसने के बाद मेरे लंड में अब फिर से तनाव आने लगा था.चड्डी वाली बीएफ: इसलिए मैं आज अपनी इंडियन X माँ सेक्स कहानी आप सबके सामने लेकर आया हूँ.

उसने कहा- तुम्हारा काम तो हो गया … क्या मैं अब अपना काम भी कर लूँ?मैंने कहा- हाँ करो; लेकिन आराम से ही करना और धीरे धीरे ही करना.इस बार राज मेरी चुत चोद रहा था और पापा मेरी गांड में लंड पेल कर मुझे मजा दे रहे थे.

गाने भोजपुरी सेक्सी - चड्डी वाली बीएफ

कोई पांच मिनट के बाद उन्होंने कहा- अब और ना तड़पाओ … अब मुझे यौन तृप्ति दे दो.अब आगे जबरदस्त चुदाई कहानी:उसी दिन शाम के समय छोटी बहन आई और बोली- भईया, चलो खाना खा लो.

और मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगे।कुछ देर होंठों को चूसने बाद उन्होंने मुझे कहा- शईमा, अब तुम भी मेरे लन्ड को प्यार करो. चड्डी वाली बीएफ अगर बॉडी पर आयल की मालिश होती तो कत्ल हो जाते यहाँ।प्रिया ये सुनकर जोर जोर से हंसने लगी और बोली- अब मालिश कौन करेगा? अब मैं मसाज पार्लर नहीं जा रही।मैंने कहा- मैं कर सकता हूँ अगर तुम्हें कोई ऐतराज न हो तो?वो बोली- रहने दो.

वो बोली- चूत तुझे देखनी है, मुझे नहीं!फिर मैंने चड्डी को उतार दिया और मेरी आंखें फैल गयीं.

चड्डी वाली बीएफ?

अब जो आदमी कोमल की चूत चोद रहा था उसको सोनू ने गांड चोदने को कहा और खुद उसकी चूत चोदने लगा. उसने मेरे पास आकर कहा कि मैं जब भी आपको पुणे बुलाऊं … आप आ जाना!मैंने हामी भर दी और वहां से घर आ गया. एकदम वासना से तप्त नशीली आंखों को देखकर एक बार तो मैं भी हैरान रह गया.

कुछ देर बाद भाभी दो गिलास में पैग बनाने के लिए हुईं, तो मैंने उनसे कहा- भाभी एक ही गिलास में बनाओ, हम दोनों उसी से लेंगे. किसी कारण से हमें वो घर छोड़ना पड़ा और हम सभी को एक दूसरे किराए के घर में जाना पड़ा. इस तरह से उन दोनों का पानी मिल गया और एक कुंवारी कली इस चुदाई से खिल गई.

उसे पटाकर मैंने कैसे उसकी चूत मारी?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम यश है और मैं उत्तर प्रदेश के लखनऊ से हूँ। ये मेरी पहली टीचर सेक्स कहानी है इसलिए अगर कोई गलती हो तो उसे नज़रअंदाज़ करते हुए कहानी के मजे लीजियेगा।अन्तर्वासना की कहानी मैं कई सालों से पढ़ रहा हूं. फिर मैंने उसकी गांड पकड़ कर उठाया और उसकी चिकनी चमचमाती हुई चूत को पैंटी की कैद से आज़ाद कर दिया. पर जैसे ही मैं उनकी गांड के छेद में उंगली डालने लगा, तो चाची मना करने लगीं, बोलीं- आज तक मैंने कभी गांड नहीं चुदवाई है.

”एक मैं, एक अंकल और बाकी दो?”आगे टीचर सेक्स की स्टोरी:बाकी दो तब की बात है जब मेरे इण्टरमीडिएट के फाइनल प्रेक्टिकल हो रहे थे. उसने बोला- अब सब्र नहीं होता, कुछ करो।मैं बोला- चलो करते हैं अब कुछ.

वो मेरे दीवाने थे और मैं उनकी चोदने की स्टाइल की दीवानी थी, उनके लंड की दीवानी थी.

फिर जेठ जी ने अपना लंड मेरे मुँह से निकाल लिया और मुझे घुमाकर कुतिया जैसे झुका दिया.

कुछ देर बाद स्यू को याद आया कि उसकी सहेली निगार भी उसी एरिया में रहती है. लेकिन उस गधे को कुछ समझ ही नहीं आया कि मैंने उससे इशारे में क्या कहा था. गाउन और पैन्टी को अपने शरीर से अलग करके आंटी बेड पर बैठ गईं और बोलीं- तुम्हारा समय समाप्त हो गया.

उनकी अनछुई बुर का रस पीने का दिल करता है, तो बस देख कर मैं भी मज़ा ले लेता हूँ. राज ने अपने एक हाथ से मेरे दूध को मसलना चालू किया और मैं राज के लंड को लोवर के ऊपर से ही सहलाने लगी. जब मैंने उनकी सलवार निकालकर उनकी चूत पर अपनी जीभ रखी तो वो छटपटाने लगीं और मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगीं.

फिर मैंने आंटी को फोन करने की कोशिश की लेकिन उनका फोन बंद आ रहा था.

ब्लाउज के अंदर मैंने 28 नम्बर की ब्रा पहन रखी थी जिसमें मेरे आधे से ज़्यादा बूब्स बाहर निकले हुए थे. मैं- हाय … आह्ह … ओह्ह … मेरी रानी … तेरी चूत को बहुत गर्म है … कमाल है … आह्ह … तुझे चोद दूंगा … अपना माल भर दूंगा इसमें. एक दो बार कमर हिलाई और पूरे लंड को चुत में खाकर ऊपर नीचे होने लगीं.

मैंने कहा- चलो बढ़िया है, पर तुम्हारी वजह से मेरी पार्टी का खराबा हो गया ना!वो बोली- तेरी कौन सी पार्टी थी?मैंने कहा- घर से जब सब बाहर जाते हैं, तो मैं घर में ही दोस्तों को बुला कर मस्त दारू पार्टी करता हूं. उसके बाद प्रिंस कुछ नहीं बोला और दोनों हाथों से फोन पकड़ कर वीडियो देखने लगा. इस दौरान मेरी मामी स्यू की आंखें सिर्फ निगार मैडम की निगाहों को पढ़ती रहीं.

वो चौंक पड़ी और मेरी तरफ देखने लगी।मैं डर गया।उन्होंने हल्के से मेरे लंड पे दबाव बनाया जैसे लंड का नाप ले रही हो।वो समझ चुकी थी कि मैं जवान हो गया हूँ।खैर पैसे वहीं कहीं गिरे हुए मिल गये.

कुछ पंद्रह मिनट तक पापा ने अपनी बेटी की चुत को चोदकर चुत में वीर्य छोड़ दिया और मॉम डैड सेक्स के बाद लेट गए. जब बाथरूम जाकर वापस आया … तब मुझे ऐसा लगा कि रूम में से दो लोग गायब हैं.

चड्डी वाली बीएफ मुझे तब तो समझ नहीं थी लेकिन बाद में जान गई कि वो हिला हिला कर लण्ड खड़ा करने की कोशिश कर रहे थे. आंटी और उनकी बेटी अकेली ही रहती थी। वो मुझे अक्सर शाम को घर पर सलोनी को पढ़ाने के लिए बुला लेती थी.

चड्डी वाली बीएफ मेरा क्या होगा?”तुम कल सुहागरात मना लेना, विक्की बाबू तो आप पर मरे पड़े हैं. मैंने भी देर न करते हुए अपने एक हाथ से उसकी चूत के छेद पर लंड का सुपारा रगड़ा और छेद में डालने लगा मगर लंड चुत की फांकों से फिसल कर बार बार बाहर हुआ जा रहा था.

मम्मी ने इस बात से मना कर दिया और बोला- मैं अंकिता से बोल दूंगी, वो तेरा खाना बना जाया करेगी.

बहन के साथ सेक्सी वीडियो

साथियो, मैं आदित्य एक बार फिर से आपके सामने अपनी बहू सेक्स डॉल की चुदाई कहानी लेकर हाजिर हूँ. वो बोली- तेरे सामने वो हमें चोदेगा क्या?मैं बोली- तू पहले अंदर कमरे में जाकर देख! और मैं इधर वाले कमरे में चली आऊंगी. इसी बीच पूजा ने मेरे शरीर पर बियर डाल दी और एक ग्लास में ले कर मेरे लंड को बियर के ग्लास लटका लिया.

दोस्तो, मैं लकी अपनी सामूहिक चुदाई कहानी के पिछले भागबहन की सहेली और उसकी बहन संग मजा- 4में आपको बता रहा था कि पूजा ने अपनी सहेली रेखा को मुझसे चुदवाने के लिए पटा लिया था. नमस्कार दोस्तो, मैं विक्रांत अपनी सेक्स कहानी के दूसरे भाग में फिर से अपनी स्याली मामी के साथ अपने सेक्स सम्बन्धों को लेकर आपसे मुखातिब हूँ. मैं उसकी गांड और चूत को अच्छी तरह से चोद चुका था … लेकिन मेरा लंड अभी उसके चुचे मुँह और हाथ से झड़ना चाह रहा था.

अम्मी बोलीं- क्या बात आज बड़ी देर तक सोता रहा?मैंने कहा- हां वो मैं रात एक बजे तक स्टडी करता रहा, अभी तुम नहीं जगातीं, तो एक घंटे और सोता.

निगार मैडम के ब्राउन बाल, बड़ी बड़ी आंखें, गुलाबी होंठ बड़े ही दिलकश थे. मुझे मालूम था कि कुलजीत और हनी एक बेडरूम में सोते हैं और बबिता आंटी दूसरे बेडरूम में. मैं साड़ी के ऊपर से ही उसकी चूचियां दबाने लगा।अब मुझे उसकी साड़ी परेशान कर रही थी।मैंने उससे पूछा- बेडरूम कहां है?तो उसने दूसरे कमरे की ओर इशारा किया.

मैं देखना चाहता हूं कि उस पैंटी को पहनने के बाद तेरी चूत कितनी सेक्सी लगती है. मैंने किस को ब्रेक करते हुए संगीता की बेहद खूबसूरत और दूध जैसी सफेद अंडरआर्म्स को देखा, उसमें से उसकी पर्फ्यूम की महक आ रही थी, जो मुझे पागल कर रही थी. फिर डॉटेड कॉण्डोम का पैकेट व ड्रेसिंग टेबल से कोल्ड क्रीम की शीशी लेकर बेड पर आ गया.

मुझे सीधे लिटा कर मेरी चूत में साहिल ने थूका जिससे मेरी चूत गीली हो जाए. मेरी यह सच्ची सेक्स कहानी, आप सभी मित्रों को कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

धीरे धीरे मेरा दर्द कम हुआ तो उन्होंने मेरे कंधों को छोड़कर मेरे चेहरे को अपने हाथों में लेकर मेरे होंठों को चूसने शुरू कर दिया।अब धीरे धीरे मैं भी दर्द भूल गयी और वासना मुझपर हावी होने लगी. थोड़ी देर उसने मेरा लंड अपने हाथ से सहलाया और बोली- इतना बड़ा अंदर कैसे जायेगा?मैं बोला- ट्राई तो करने दे यार … चला जायेगा. पर शादी को 4 महीने के बाद अच्छे मुहूर्त में रखा गया था।हमारे यहाँ इंगेजमेंट के बाद लड़की लड़का एक दूसरे से नहीं मिल सकते है और एक दूसरे के घर भी नहीं आ जा सकते हैं।तो इंगेजमेंट के बाद उन दिनों में मोबाइल से घण्टों चैटिंग होने लगी.

तो उन्होंने कहा- बस कुछ देर और!उन्होंने अपने धक्कों की स्पीड और बढ़ा दिया।कुछ देर बाद उनके भी शरीर में अकड़न हुई और उनके लन्ड ने मेरी बुर में पानी छोड़ दिया.

वो भी मेरे साथ मेरे लंड को रगड़ते हुए अन्दर घुसवाने की कोशिश कर रही थी. मगर मैं ये नहीं जानता था कि मुझे जब स्वीटी को चोदने का मौका मिलेगा, तो उसकी बाकी की तीनों सहेलियों को भी मुझे चोदना पड़ेगा. लेकिन 15 – 20 धक्कों के बाद उसका बदन अकड़ने लगा और वो फिर से झड़ गया और उसने मेरी चूत को फिर से अपने लंड के रस से भर दिया.

नूपुर के ऐसा बोलते ही मैंने अपना लंड नूपुर की चुत में हिलाना शुरू कर दिया. फिर मैंने अपने दोस्त से पूछा- यही लड़का हमारे साथ जाएगा क्या?तो वो बोला- हां.

मैं एक रूम में सो गया और पुष्पा दूसरे में।हम दोनों ही अलग अलग रूम में बिल्कुल अकेले थे. वो बोली- उस बूढ़ी की चूत में ज्यादा मज़ा आया या मेरी चूत में!मैं बोला- तेरी चूत में. भाई साहब को मेरे होने का अहसास था, मगर वो कुछ कहते नहीं थे और न ही मैं.

असली सुहागरात

एक वार्डब्वॉय ने हमें बताया कि हम सब सुबह नौ बजे मामाजी से मिल सकेंगे.

तब दूसरी बोली- उस बाजू वो छोरा पानी भी चला रहा है, देख लिए, कहीं वो तेरी नंगी गांड न देख ले रंडी. भाभी ने मेरी उंगलियों से सिगरेट ली और एक बड़े ही मस्त अंदाज में कश खींचा. अब मैं रोज सुबह से चाय आदि पीने के बाद अपने कमरे में आकर अन्तर्वासना की साईट को खोल कर अपनी रात भर की गर्मी को शांत करने के लिए लंड हिलाते हुए सोचता रहता था कि कोई चुत चोदने मिल जाए, तो मजा ही आ जाए.

मैंने तुरंत उसकी साड़ी और साया और ऊपर कर दिया और अपना लंड ऐसे ही अंदर घुसेड़ दिया. कुछ देर चोदने के बाद मैंने चाची को घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड पेल कर उनकी चुत को चोदा. गुड्डी का सेक्सी व्हिडिओफिर मैंने उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखकर अपने लन्ड को उसकी चुत पर रखकर एक हल्का सा धक्का लगाया.

मेरे लगातार दोनों मम्मों को किस करने और चूसने से उनके दोनों मम्मे एकदम लाल हो गया थे. चूंकि मधु ने अब तक कभी किसी से अपनी गांड नहीं मरवाई थी, जिस कारण उसकी गांड का छेद एकदम कसा हुआ था.

उनकी दूसरी चूची को भी मैंने आजाद कर दिया और बारी बारी से दोनों को चूस चूस कर लाल कर दिया. अब मैं उठकर उसकी गोद में आ बैठा और उसके चेहरे को हाथों में थामकर अच्छी तरह से किस करने लगा. संगीता ने मेरे वीर्य की एक भी बूंद नीचे नहीं गिरने दी और मेरा निकला हुआ सारा वीर्य पी गई.

मैंने भी मना न करते हुए कहा- देखती हूं कितना दम है!मैंने यह बात बिना दिमाग लगाए कह दी थी. उसके बड़ी बड़ी आंखें और प्यारी सी सुतवां नाक किसी को भी उसका दीवाना बनाने के लिए काफी है. वे अपने हाथों से अपने मम्मों को मसलते हुए पापा को अपने दूध चुसवाते हुए कामुक सिसकारियां भर रही थीं ‘आह सस्स्शह … पी ले मेरे राजा अहह … उम्ह.

कॉलेज लड़की सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी बहन की सहेली की किसी काम में मदद की.

अब कालू ने जल्दी से लौड़ा चुत से निकाला और फिर से सुमन के मुँह में डाल दिया. ”फिर स्यू मेरे पास वापस आकर बोली- विक्की, निगार एक घंटे बाद आने वाली है.

वो भी मुझे पागलों की तरह चूम रही थीं और मेरे बालों में हाथ फेर रही थीं. मैंने लंड हिलाते हुए भाभी से पूछा- भाभी, कंडोम?भाभी ने एक ड्रावर की ओर इशारा किया. यह कहते हुए चाची ने मेरा हाथ पकड़ कर अपने मम्मों पर रख दिया और दबाने लगीं.

उसके बाद कोमल को घुटनों के बल बिठाया और पहले आदमी ने अपना 9 इंच लंबा और 3 इंच से भी ज्यादा मोटा लंड कोमल हाथ में पकड़ाया।कोमल उसके लंड को एक हाथ में नहीं पकड़ पा रही थी।तब पहला आदमी बोला- जान … तुम्हारे एक हाथ में नहीं आएगा मेरा हथियार, इसलिए दोनों हाथों से पकड़ो।फिर सब खिलखिलाकर हंसने लगे।कोमल ने दोनों हाथों से लंड पकड़ा जैसे कोई मोटा बांस पकड़ा हुआ हो. लेकिन मैं ये सोच कर रह गया कि ये आई तो मेरे लंड से चुदने के लिए ही है. फिर लंड को चुत पर सैट करके लंड का सुपारा चुत की फांकों में घिसने लगा.

चड्डी वाली बीएफ अब मम्मी भी फुल ज़ोश में आ गई थीं और अपने दामाद राज का लंड चूसे जा रही थीं. मैं और नूपुर मेरी बाइक पर उसके मम्मी पापा को ट्रेन में छोड़ कर घर वापस आ गए.

ब्लू मूवी फुल एचडी

बुधवार का प्लान बनाया गया था क्योंकि संडे को उनकी अपनी व्यस्तता थी. अब मैंने सायली को कैसे चोदा, ये अगले भाग में बताऊंगा, तब तक आप मुझे बताओ कि आपको मेरी ये कॉलेज स्टूडेंट्स सेक्स स्टोरी कैसी लगी. उसने मेरी आंखों में कामुक निगाहों से देखा और बेडरूम की तरफ इशारा करते हुए कहा- चलो.

मेरे सामने ये सब होता रहा था, पर मैंने कभी पाप की इस बात को नोटिस ही नहीं किया. उसने मेरे इशारे को समझा और अपनी टांगें मेरी टांगों के दोनों तरफ करते हुए मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़कर अपनी चुत पर सैट कर लिया. गर्भवती भाभी सेक्सीमैं बोला- चाची, आप ही खोल दो न!तो चाची बोलीं- साला अभी मुझे चोदने वाला है … और मादरचोद अभी भी चाची बोल रहा है.

इसलिए उन्होंने एक एन जी ओ, जो अनाथ बच्चों की देखभाल करती है, वहां से एक लड़की गोद ले ली.

ये सुन हम दोनों ज़ोर से हंस पड़े और मैंने अपना बियर का गिलास उठा कर एक ही सांस में पूरा पी लिया. इस सब के बीच फिर मेरी जिंदगी में एक ऐसे इंसान की एंट्री हुई जिन्होंने मेरे जीवन को बदल दिया.

उस दिन मैंने पहली बार दीदी की चूत को चूसा और उसने मेरे लंड को चूसा. मगर सच कहूँ दोस्तो, जो मजा लवर के साथ असली सेक्स में आता है, वो सब फोन पर नहीं मिल सकता है. मैंने भी समय न लेते हुए अपना लंड चूत पर रख दिया और चुत की फांकों में लंड का सुपारा घिसने लगा.

आंटी को अपने करीब खींचा और उनके गाउन के हुक खोलकर चूचियां चूसने लगा.

फिर तुरंत कप को टेबल पर रखा और मेरी जांघ पर हाथ से चाय की बूंदों को हटाते हुए बोली- जल तो नहीं रहा है अंकल?”इतने में ही मेरा लंड खड़ा हो चुका था. उनकी छाती के ऊपर से थोड़ी सी ब्रा दिख रही थी, तो भाभी ने मुझे फिर पकड़ लिया और बोली- अब कौन सा घास देख रहा है तू!मैं चुप हो गया कि कहीं भाभी गुस्सा ना हो जाए. भाभी ने मेरी उंगलियों से सिगरेट ली और एक बड़े ही मस्त अंदाज में कश खींचा.

फिल्मी गाने की सेक्सी वीडियो”अपने लण्ड के सुपारे को कुछ देर तक हनी की चूत के लबों पर रगड़कर मैंने निशाने पर रख दिया. 20 मिनट की धुआंधार चुदाई के बाद हमने अपने कपड़े पहने और अपने अपने कमरे में जा कर सो गये.

भोजपुरी में एक्स एक्स वीडियो

आपको क्या चाहिए मुझसे?वो बोले- जान … एक बार मेरा लंड चूस ले बस!अब मैंने पुष्टि करने के लिए खान अंकल से सवाल किया- आपने ये कैसे सोच लिया कि मुझे ये लंड चूसने वाले काम पसंद हैं?वो बोले- आ … अंदर आ, बताता हूं. उसको एकदम से झटका लगा और वो जोर से चिल्लाई- ऊईई ईईई … ऊईईईई … आह्ह … मर गयी।आंटी की नींद खुल गयी. मैंने उसके कानों को चाटते हुए हल्के से वहां बाईट कर दिया, तुरंत ही वो और ज्यादा कामुक हो गई और मुझे मेरी छाती पर लव बाईट देने लगी.

मैं महाराष्ट्र के धुळे जिले से हूं। मेरी उम्र इस समय 28 वर्ष है और मेरी हाईट 5. क्योंकि 15 दिन से बात करने के बाद इतना तो विश्वास हो ही गया था कि वो सच में सीरियस हैं. उसे दर्द हो रहा था लेकिन वो कह रही थी- जल्दी करो … आह्ह … जल्दी करो.

कोई आ गया तो क्या होगा?वो बोला- कुछ नहीं होगा, हम लोग छत पर चलते हैं. मधु बोली- कितना मस्त लंड है आप भी न … मेरे लंड को पता नहीं किसे किसे दे देते हैं. फिर मैंने भाभी के सामने खड़े होकर अपना लंड उनके सामने कर दिया और कहा- लो अब मेरे लंड को मुँह में ले कर चूसो भाभी.

तभी अब्बू ने अम्मी का एक दूध पर हाथ रख दिया और धीरे धीरे से दबाने लगे. एक दिन मैं यूं ही अन्तर्वासना की साईट पर वीडियोस के लिए सर्च कर रहा था कि तभी एक सेक्स स्टोरी सामने आ गई.

फिलहाल लॉकडॉउन में मैं गांव आया हूं, तो भाभी तो बसफोन सेक्स का मजादे पा रहा हूं.

चाची बोली- क्यों?मैंने कहा- वो दूध गिलास में पीने से मजा नहीं आता … वो तो. एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो शॉर्टअब आंटी और मेरे मुंह से आनंद भरी सिसकारी निकल रही थी- आह्ह … आह … आह … ओह्ह … आआ … आह।धीरे धीरे मेरी स्पीड अपने आप ही बढ़ने लगी. सेक्सी फोटो हीरोइन सेक्सीइसके बाद मैं पापा के सामने गई और अपने दोनों बूब्स उनके मुँह के सामने रख कर अपने हाथों से दबा दिए. मेरा दोस्त बोला- ठीक है, हम सब घर जा कर रात रुकने का बोल कर वापस आ जाते हैं.

ऐसे आग में कब तक जलोगी?फिर चाची ने हंसते हुए कहा- अच्छा बेटा, अब तू अपनी चाची को ही समझा रहा है? कैसे जीऊं खुलकर? तेरी तरह मुठ मार मारकर?मैंने उनके बदन को सहलाते हुए कहा- नहीं चाची, मेरे लंड को अपनी बुर में ले लेकर.

फिर भी जैसे तैसे करके मैंने उसका पूरा लंड गांड में ले लिया और उसे किस करने लगा. चूत का पानी निकल जाने के बाद रेखा ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मुझे किस करने लगी. उसके ऊपर आकर वो उसके होंठों को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा और उसके बूब्स को पूरा मसलने लगा.

मैं मैडम को देखने के चक्कर में ये भूल गया था कि मेरे जेब में नकल भरी पड़ी थी. चाय पीने के कुछ देर बाद वो चली गयी अपने घर!और अब हम दोनों घर में फिर से अकेले बचे।कुछ देर बाद मैं खाना बनाने चली गयी. उसी समय चाची ने आहिस्ता से मेरे कान में कहा- क्या हुआ अरमान … मज़ा नहीं आया क्या? प्लीज़ मेरी चुत में उंगली जारी रखो ना!उनकी यह बात सुनकर मुझमें बड़ी हिम्मत आ गई और मैंने सबसे पहले उनके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

सेक्सी सेक्सीxxx

हम दोनों भी अभी होश में नहीं थे, हमारी काम वासना इतनी भड़क चुकी थी कि हमें दूसरा कुछ दिख ही नहीं रहा था. मैंने उनके एक बूब के निप्पल को अपनी जीभ से कुरेदना शुरू किया, तो मुझे एकदम से सनसनी होने लगी. मैंने प्यार से लंड को अन्दर बाहर करते हुए पूरा लौड़ा अन्दर पेल दिया.

असल में मुझे अब पुर्जा से कोई समस्या नहीं थी, अब जो समस्या थी, वह ये कि मेरी जेब फट गई थी और ऊपर से मैंने अंडरवियर भी नहीं पहना था.

मैं सोते समय एक बरमूडा पहन कर सोता हूँ और मेरी बहन मैक्सी पहन कर सोती थी.

थोड़ी ही देर में जब मेरे निकलने को हुआ तो मैंने पूछा- कहां निकालना है?तो उसने कहा- अंदर ही निकाल दो! काफी दिनों सेमेरी चूत की गर्मीशांत नहीं हुई है; आज इसे शांत हो जाने दो. भाई साहब का लंड भी पानी से भीगा हुआ था, जिसे मैंने चाट कर साफ़ कर दिया. लंड से सेक्सीभाई साहब ने एक हाथ से मेरी कमर को पकड़ लिया और दूसरे हाथ से वो मेरी चूत में लंड डालने की कोशिश कर रहे थे.

मैं उस समय दर्द की पीड़ा में मर रही थी और कहे जा रही थी कि सर रुक जाओ सर … प्लीज़ बाहर निकाल लो … बहुत दर्द हो रहा है आआह उफ्फ्फ ईईई निकाल लो. मधु बोली- कितना मस्त लंड है आप भी न … मेरे लंड को पता नहीं किसे किसे दे देते हैं. मैंने अपनी जीभ उनकी चूत में डाल दी। अब वो अपनी चूत को मेरे मुंह पर दबाने लगी थी और मैंने अपनी जीभ से उसकी चूत को चोदना शुरू कर दिया।वो गपागप … गपागप … मेरे लंड को चूसती जा रही थी.

शालू एकदम से दर्द में कसमसाते हुए बोली- आईई … आह्ह … ईईई … सीसीसी … आराम से पापा. फिर अब्बू ने अपनी एक टांग उठा कर अम्मी की कमर को भी पूरी तरह से जकड़ लिया, जिससे अम्मी उत्तेजना में सिर्फ कमर गांड और पैर हिला पा रही थीं.

वो अपनी चूत को उचका उचका कर जीजू के लंड को अपनी चूत पर रगड़वा रही थी.

वो मेरी चूचियों और चूत से खेलने लगा और मैंने उसका लंड हाथ में ले लिया. मुझे पर्दे के पीछे देखकर मॉम को तसल्ली हुई कि मैं अपने रूम में नहीं हूं. फिर मैंने भी जल्दी से टॉप और स्कर्ट उतार कर बाजू में फेंक दिए और उसके लंड को मुँह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी.

चची का सेक्सी वीडियो लेकिन कुछ देर बाद उसने फिर से मेरे स्तन से अपने हाथ हटा कर मेरे पेट पर रख दिया. मैंने भी अपने लंड पर एक बार फिर से बटर लगा कर उसकी चुत में डालकर उसे चोदना चालू कर दिया.

तभी सर खड़े हो गये और परीक्षक महोदय से बोले- अच्छा धवन साहब, मैं कॉलेज जा रहा हूँ, आप आराम से आइये. मैं बुक्का फाड़ कर रोने लगी और बस यही कहे जा रही कि बस करो सर … अब मर जाएगी आपकी मोना … नहीं सर आज के बाद कभी यह नहीं कहूँगी … प्लीज़ छोड़ दो सर, मैं मरी जा रही हूँ. यह सब करने में मेरी फट भी रही थी कि कहीं किसी बहन ने विरोध किया, तो मेरा क्या होगा.

બ્લુ પિક્ચર

चाची ने मुझसे बातचीत शुरू तो की, मगर उन्होंने अपने ढलके हुए पल्लू को अपने सीने पर ठीक नहीं किया. कुछ देर बाद मेरी अम्मी ने भी दारू पीना शुरू कर दी और रौनकी के साथ नंगी हो गईं. वो गर्म सिसकारी भर कर बहुत आवाज निकाल रही थी ‘ओह शिवम … आह चूस ले … आह आह आह ओह.

रीति की चुत का कम उम्र में ही कोई ऑपरेशन हुआ था, जिससे वो खुली हुई थी. आपको मेरी कुंवारी चूत की चुदाई की ये कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताना.

फैमिली चुदाई वाली कहानी में पढ़ें कि मेरे भाई ने मेरे अब्बू अम्मी के साथ मिल कर मेरी कुंवारी चूत को फाड़ा.

बहुत सारा पानी निकला आंटी की चूत से।तभी मैं उठा और आंटी को घोड़ी बनने को बोला. भाभी मुझे घर के बाहर ही मिल गई और बोली- चलो घर में दूध निकलवा देना. मगर जीजू के द्वारा मेरे बूब्स दबाये जाने से मुझे बहुत मजा आ रहा था.

एक बार फिर से मैंने आंटी की गांड में लंड को पेलकर चुदाई शुरू कर दी. मैं सोचने लगा कि वाह भाभी मुझे तो खुद आपके साथ पहली नजर में ही प्यार हो गया था. यही सब प्यार मुहब्बत की बातें करते करते कब हमारी नींद लग गई, कुछ पता ही नहीं चला.

हीरोइन ने कहा- नहीं, मैं और आगे का सोचती हूँ, तो लगता है कि फिर मुझे काम नहीं मिलेगा … क्योंकि ये इंडस्ट्री ऐसी ही है.

चड्डी वाली बीएफ: तकरीबन दस मिनट बाद भी साहिल ने अपनी रफ्तार एकदम अंतिम कांटे तक पहुँचा कर मुझे 8-10 झटके देकर मेरी चूत पर अपना सारा लन्ड का माल खाली कर दिया।इस राउंड की चुदाई के बाद हम दोनों ने कुछ देर आराम किया. Xxx गांड चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी पहचान के लड़के से मेरी सहेली का मन चूत चुदाई से नहीं भरा.

लंड फिसला, तो चाची हंसने लगीं- अरे बुद्धू … जरा सब्र कर … काफी दिनों से लंड अन्दर नहीं गया तो निगोड़ी चुत कसी सी हो गई है. तो यहां का खेल ख़त्म हुआ, थोड़ा पीछे चलकर आप अपनी मस्त सुमन रानी की चुदाई की कहानी भी देख लो. मैंने बिना रुके उसके हाथ पकड़ कर उसे इंजिन के पिस्टन की तरह चोदना चालू कर दिया.

जिस स्टेप पर अंकित बैठा था, उसके नीचे वाली स्टेप पर सायली बैठी थी और अंकित पीछे से सायली को बांहों में लेकर अपने दोनों हाथों से उसके टॉप के ऊपर से ही मम्मों को दबा रहा था.

हमने खूब मस्ती की … साथ मैं मैंने अपने कैमरे से उनकी अच्छी अच्छी फ़ोटो भी लीं. मैंने बस इतना देखा था कि उस कार को एक महिला चला रही थी और वो कार में अकेली थी. फिर वो राहुल के लंड को हाथ में पकड़ कर उसे खींचते हुए मेरे रूम में ले गयी.