सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए

छवि स्रोत,राजस्थानxxx

तस्वीर का शीर्षक ,

गन्दी बात 5: सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए, बुआ ने आते ही दरवाजा बंद किया और चित लेट गयी, फिर उन्होंने अपने घुटने मोड़ कर अपनी साड़ी और पेटीकोट नीचे खिसकाई.

बिहार्मस्ती

रियल सेक्स स्टोरी का पहला भाग :सेक्स कहानी प्यार में दगाबाजी की-1कहानी का दूसरा भाग :सेक्स कहानी प्यार में दगाबाजी की-2अब तक की रियल सेक्स स्टोरी में आपको मालूम हुआ था कि आज मेरी गैंग बैंग चुदाई की कहानी का खेल शुरू होने वाला है. काजल एक्स एक्सदोस्तो, ये मेरी रियल सेक्स स्टोरी थी, आपको कैसी लगी, मुझे कमेंट्स करके जरूर बताएं!अभि.

गुलशन जी अब सिर्फ़ जाँघों की मालिश कर रहे थे और एक-दो बार उनकी उंगली चुत से टच भी हुई, जिसका असर सुमन की कामुक सिसकी से पता लग रहा था कि वो कितनी उत्तेजित हो गई है. वैष्णो माता की आरतीसुमन- ओह पापा… आप कितने अच्छे हो इस्स… इतना प्यार कर रहे हो मुझे बहुत अच्छा लग रहा है… उई… काटो मत ना पापा.

वैसे तूने बताया नहीं कि कितने लड़कों ने तेरा यह जिस्म सहलाया है और तुझे उन लड़कों को अपनी ब्रा का साइज़ बताने में क्यों शरम आती है?नीता को पहली बार मर्द के सामने अपना नंगा सीना दिखाने और निप्पल को मर्द से मसलवाने में मज़ा आने लगा था.सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए: ’ करते हुए अपने हाथ मेरे सर पर रखे और मेरे सर को अपनी चुत पर दबाने लगी.

अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पर मेरी सेक्सी कहानी पढ़ कर मुझे एक मेल आई जिसमें मुझे उनकी सेक्सी स्टोरी अन्तर्वासना पर प्रकाशित करवाने का आग्रह किया.गोपाल सवालिया नज़रों से मोना को देखने लगा कि साली कहाँ से पैदा हो गई.

मोगली इंसानी बच्चा - सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए

नीता को नहाते देखने के ख्याल से और रूपा द्वारा लंड चूसने से वो यह सोच कर गर्म हुआ कि है तो साली बीस साल की, पर जिस्म एक भरी हुई औरत जैसा है.कुछ देर बाद मैंने उसे टेबल के सहारे झुका दिया और उसकी चूत चोदने लगा.

फोन पे हुई रूपा की बात सुन के पप्पू खुश हुआ और रूपा को झुका के उसके मम्मे बारी बारी से चूमते हुए पप्पू बोला- ये अच्छा किया तूने कि सहेली से कहा कि तुझे देर होने वाली है. सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए पायल की आज नाईट शिफ्ट है तो वो हॉस्पिटल चली गई है मुझे तुम्हें देखना है, तुम छत पर आओ.

मैंने फिर उनकी कमर पकड़ कर उनकी गांड के छेद पर अपना सुपारा रख कर एक ज़ोर का झटका मारा.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए?

नमस्कार अंतर्वासना के प्रिय पाठकगण, मैं भगवान दास अपने जीवन की एक और देसी सेक्स स्टोरी लेकर हाजिर हूँ,आपने मेरी पिछली सेक्स स्टोरीमामी की चुदाई के बाद उनकी बेटी को चोदामें पढ़ा कि किशोरावस्था से ही मामी अपनी वासना पूरी करने हेतु मेरा जमकर इस्तेमाल करती रही थीं, जिसके कारण मैं चुत का आशिक बन गया था. अब मैं अपने लंड को चूतड़ों को ज़ोर से हिलाते हुए शीतल की चूत में पेल रहा था और वो भी अपने चूतड़ हिला कर मुझे पूरा साथ दे रही थी. रात को बाहर क्यों आऊं?मैंने उसी पल अपने दोनों हाथों से उसका चेहरा पकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

लेकिन एक बार जय से चुदवाने के बाद मैं अपने आप को रोक नहीं पाई क्योंकि इसने मुझे बहुत ही अच्छी तरह से चोदा था. ऐसे बेरहमी से घुसा दिया जैसे कोई बदला निकाल रहे हो मेरी चूत से!” बहू रानी चिढ़ कर बोली. पापा मुझसे बोले- माया बेटा तुम्हारी कोई सहेली है, तुमसे बात करना चाहती है.

उसने नीचे की ओर इशारा किया, मैं समझ गया और मैंने उसे खड़े होने को कहा. मैं बोली- अच्छा तो तुम्हारा ध्यान तुम्हारी बहन की गांड पर भी है क्या?सागर बोला- क्या करूँ डियर कितनी खूबसूरत गांड है मेरी बहन की. गुलशन जी सीधे दुकान गए, वहां अपना काम निपटा कर वो अनिता के पास चले गए.

”भभी मेरा लंड पूरा अंदर तक जा रहा है ना?”हां राहुल… पूरा अंदर है! बस तुम मुझे चोदते जाओ!”कोई दस मिनट की चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था और इस बीच भाभी भी एक झड़ चुकी थीं. हमने अपने हाथ उठाकर उसे हाय किया तो उसने पलटकर हमें हाय किया और एक प्यारा सा फ्लाइंग किस भेजा।तभी फिर से म्यूजिक शुरू हुआ और घोषणा हुई, फिर से सब लोग उठ कर एक दूसरे के साथ हो लिए.

कहानी का पहला भाग :चाचा ससुर के साथ चुदाई का रिश्ता-1कहानी का दूसरा भाग :चाचा ससुर के साथ चुदाई का रिश्ता-2अब तक की चुदाई की कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं कार की पिछली सीट पर अपने चाचा ससुर का लंड चूस रही थी.

जय जब अपना लंड मेरी चुत में अन्दर घुसाने लगता तो वो मेरे पैरों को मेरे कंधे पर जोर से दबा देता था.

मेरी ये हालत मौसी से देखी नहीं गई, सो उन्होंने मुझे छोड़ दिया और बोलीं- तुम्हें जवान होने में अभी कुछ दिन और लगेंगे. मैं- चूसो ना इसे…जोशना- पहले साफ़ करना पड़ेगा!वो मुझे बाथरूम में लेकर गई और लंड को प्यार से धोने लगी. और आप यहाँ कैसे?तो वो बोलीं- यार आज मैंने एक बहुत ही ख़राब सपना देखा और मैं बहुत डर गई हूँ, इसीलिए यहाँ तुम्हारे पास सो गई.

लगभग 15 मिनट की चुदाई के बाद जय ने अपना लंड निशा भाभी की गांड से निकाल कर भाभी की चूत में घुसा दिया और कुछ देर में झड़ गया. पूजा ने चहक कर कहा- मामू आप आ गए… मैं कब से आपका इन्तजार कर रही थी. ?वो बोली- आप गंदी मूवी देखते हो और वो भी इतनी तेज आवाज में?मैंने कहा- तो इसमें बुराई क्या है?वो बोली- मैं ये सब मम्मी को बताऊंगी.

जब हम दोनों का नहाना हो गया तो एक दूसरे को पौंछने लगे और एक दूसरे की मालिश करने लगे.

मुझे ये मानने में भी कोई संकोच नहीं होगा कि चूँकि ये मेरा पहला अनुभव था तो मुझे चुदाई का ‘चु’ भी नहीं पता था. दोस्तो, इसी तरह ये सब बातों के मज़े लेते रहे, उसके बाद सबने पेट भर खाना खाया. वो बनावटी गुस्से में आकर मुझसे बोली कि चलो अब हटो, बहुत बातें हो गई.

मैंने दुबारा पूछा तो उसने कहा- हाँ जी ब्वॉयफ्रेंड है, बोलो क्या करना है?उसका जवाब सुनकर मुझे ऐसा लगा कि जैसे मुझसे अब कुछ छीन लिया गया हो. मेरे फ्री होते ही चाचाजी ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरी गरदन होंठ गाल कान सब पे चुम्बनों की बौछार शुरू कर दी. मेरी वाइफ की और भी ज्यादा उससे दोस्ती हो गई क्योंकि बेबी की वजह से उसे दूध मंगवाना पड़ता था और वो था भी हंसमुख और साफ़ सुथरा.

तू इस नम्बर को किसी को देना नहीं और जब तुम्हें फोन करना हो तब ही करना.

बल्कि मैं ये चाहता हूँ कि क्या कोई विवाहित महिला मेरे जैसे कुंवारे लड़के के साथ सेक्स करना चाहती है. एक बार साली कायदे चुद जाए और इसे लंड का चस्का लग जाए फिर तो ये मेरी पर्सनल रंडी बन जाएगी.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए लेकिन किस्मत मेहरबान तो गधा पहलवान, उसी वक़्त मामी का भी काम तमाम हो गया. रूपा समझी कि पप्पू सच कह रहा है, इसलिए वो भी बेबस हो कर मुस्कुराते हुए कुछ नहीं बोली.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए अब मैंने अपनी पत्नी के सर को बिस्तर पे टिकवा दिया और गांड को और ऊँचा कर दिया. मेरी बहन की चूचियां एकदम गोरी थी, चिकनी दिख रही थी, एक निप्पल भी दिख रहा था, निप्पल मटर के दाने जितना गुलाबी रंग का था.

नीलिमा बोली- मुझे जल्दी से बाथरूम लेकर चलो, मुझे जोर की सुसु लगी है.

कार्टून स्केच

और अपने स्तन के ऊपर साड़ी का पल्लू भी नहीं डाला, वैसे ही खुला रहने दिया. उसने मम्मी को घोड़ी बना कर खुद घोड़े की तरह मम्मी के पीछे आ गया और अपने मोटे सुपारे को चूत के छेद पर रख कर धक्का मारा कि मम्मी का मुँह तो जमीन पर टिक गया. फिर वो मुझे वापस बिस्तर पर लिटा कर मेरी बुर में धक्के लगाने लगा और करीब 10 मिनट बाद उसने मुझसे कहा- पायल, मैं अब झड़ने वाला हूँ, तो बताओ मैं कहाँ झडूं?मैंने उसको बोल दिया- तुम मेरी बुर में झड़ जाओ!और वो 5 मिनट बाद मेरी बुर में ही झड़ गया और उसके झड़ने के साथ ही मैं भी एक बार फिर से झड़ गई.

अब बारी आती है उस चीज की, जिसके लिए ये कहानी लिखी गई है मतलब सेक्स की. रूपा समझी कि पप्पू सच कह रहा है, इसलिए वो भी बेबस हो कर मुस्कुराते हुए कुछ नहीं बोली. वो दर्द के मारे जोर जोर से रोने लगी और मैं पागलों की तरह सुरैया भाभी की गांड जोर जोर से चोदने लगा.

मैं आंटी के ऊपर आकर दोनों हाथों से उनके मम्मे मसलते हुए मम्मे चूसने लगा.

उसने मामी की चूत चूसते हुए अपने हाथ की तीन उंगली मामी की चूत में डाल दी थीं. मैंने अपना लंड आंटी की गांड पर सैट करके करारा धक्का मारा और मेरा आधा लंड आंटी की गांड में घुसता चला गया. वह अजनबी सलमा के गोरे बदन पर हाथ चला रहा था और सलमा अपनी टाईट चुचियों को उसके चौड़े सीने पर रगड़ रही थी.

उसने पूछा- चूसैगा मेरा लौड़ा?मैंने हम्म करते हुए उसके आंडों में मुंह दे दिया और उसने कहा- ठीक है, उतार दे फ्रेंची…मैंने उसकी मोटी मांसल गांड में फंसी फ्रेंची नीचे सरका दी. नहीं लगा सकता ना अंदाज़ तू? तो सुन दोनों अभी-अभी 20 साल की हो गई हैं. मैंने उन सब से पूछा- आप लोगों को जरा सी भी शर्म नहीं आती है जो इस तरह से एक दम से नंगी होकर लेटी हो?तो उन सब ने एक साथ जवाब दिया- अभी जीजू आने वाले हैं और उन्होंने हम में से किसी को कपड़े पहने हुए देख लिया तो उस को 500/- रूपये जुर्माने के रूप में देने पड़ेंगे इसलिये हम पाँचों घर में बिना कपड़ों के रहते हैं.

आज भी अक्सर वीकेंड में उसका पति जब आउट ऑफ़ टाउन होता है, मुझे इस हॉट आंटी के साथ सेक्स करने को मिलता है. मैंने कहा कि मुझे नींद आ रही है और अब चल कर ट्रेन में ही सोना चाहता हूँ.

जब वे सेक्सी सा ब्लाउज पहनती हैं तो उनकी आधी चूचियां बाहर निकलने को बेताब सी दिखती हैं. तब उसने मुझे गाली दी, मुझे गुस्सा आया तो दूसरे दिन शाम को मैंने और रमेश ने उसे सूनी गली में पकड़ कर तेरी माँ को हमने खूब सहलाते हुए गालियाँ दी, यहाँ तक कि 2-4 झापड़ भी मारे, उसका शर्ट खोल कर मम्मे मसले, स्कर्ट ऊपर करके चूत रगड़ कर उसमें उंगली भी की. उन्होंने अपनी नाइटी एक ही झटके में उतार दी उनकी बड़ी बड़ी चूचियां मेरी आँखों के सामने बिल्कुल नंगी थीं.

अब धीरे धीरे मेरी ममेरी बहन होश में आने लगी और मेरी पकड़ से निकलने की बेकार कोशिश करने लगी.

भाभी ने उसे ऐसे घुमाया कि मेरा लंड पूजा के मुँह में और पूजा की चूत रीतिका के मुँह पर ओर रीतिका की चूत मेरे मुँह पर थी. फिर हम दोनों बाथरूम में जा कर साथ में नहाए और रात भर साथ में नंगे सोए थे. एक दिन वैशाली ने फ़ोन पर बताया कि आज सायम् को उन्होंने शिवानी और उस के हस्बैंड को खाने पर बुलाया है, मैंने मेरे पति से बात कर ली है कि हम लोग आज राज को भी बुला लेते हैं.

उसने बैग रखा और कुर्सी पे बैठ कर मोना को आवाज़ लगाई- मोना कहाँ हो यार. इतना सुनते रागिनी एक बार मुझसे फिर लिपट कर चूमने लगी और धीमे-धीमे चूमते हुए मेरे लंड को पकड़ कर मुँह में ले कर सुपारे को चूसने लगी.

मुझसे रुका नहीं गया, मैंने उसको वहीं लिटाया और उसके ऊपर आकर लंड मोनिका की चूत पर सैट किया. अरे एक ही चूत को चोदकर अगर तुम्हें कुछ अच्छा नहीं लग रहा तो मैं अपनी एक फ्रेंड को बुला लूँ?”मैं चौक गया. मेम चुत पसारते हुए कामुक सिसकारी लेने लगीं- अआह ओह्ह्ह मेरे चोदू राजा… चूस ले मेरी चूत को… अह… खा जा साले मेरी चूत को… मैं कई दिनों से प्यासी हूँ.

सेक्सी फिल्म नई सेक्सी

पर आपसे एक इल्तिजा है कि आप मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें क्योंकि मैं एक सेक्स स्टोरी की लेखिका हूँ, बस इस बात का ख्याल करते हुए ही सेक्स स्टोरी का आनन्द लें और कमेंट्स करें.

मेरी ये सेक्स स्टोरी उस वक्त की है, जब मैं 18 साल का था और 12 वीं में पढ़ता था. फिर उसने मुझे बेड पर गिरा दिया और मुझे इस तरह दबा लिया, जिससे मैं हिल भी न पाऊं. अब तुम भी इस बात को समझ जाओ तो अच्छा रहेगा, नहीं तो सारी लाइफ मेरे बारे में सोचकर परेशान रहोगे.

दिखने में रूपा अपने नाम के मुताबिक रूपवती थी और उसकी फिगर भी एकदम मस्त थी. थोड़ी ही देर में अंजलि तेज तेज सीत्कार निकालते हुए झड़ गई और मेरे ऊपर गिर पड़ी. सेक्सी फोटो कीसीई…”यह कहते हुए मैं उनसे गिड़गिड़ाने लगी पर वो नहीं माने और उन्होंने मेरे मम्मों पर अपने होंठों लगा दिए.

मुझे मस्ती सूझी और मैंने उसे उसी का सेक्सी वीडियो दिखाना शुरू किया। वो अपनी चुचियों की वीडियो देख कर गुस्सा हो गई. अब मैं सुरैया भाभी की गांड को चोदने के लिए पूरा रेडी हो गया और जीभ से गांड के छेद को चाटने लगा.

किसी अनजान या यहाँ तक कि किसी जानकार को भी अनजान बनाते हुए अपने, अपनी साथी के नंगे बदन को, या बदन की नग्नता से भरपूर झलक दिखने का अहसास… यह अहसास सच में बहुत ही उत्तेजक होता है. फिर पापा ने मकान तुड़वाने का और बनवाने का काम एक कांट्रेक्टर को दे दिया, जो हमारे पैतृक गांव का था. उस्मान माया के चूचों का दीवाना हो गया था और उन्हें पूरी तरह निचोड़ लेना चाहता था.

चट फच्च की आवाज को सुना था तथा सुबह जब ये दोनों उठे तो बाकी कसर हमारी नौकरानी ऊषा ने पूरी कर दी थी, उसने चिल्ला कर बोल दिया था- हाय री दैया ये चादर कड़ा कड़ा क्यों है. फिर मैं उसे किस करने लगा और धीरे से दूसरा झटका मारा, मेरा पूरा लंड अब उसकी चूत में था. कुछ देर वो ऐसे ही पड़े रहे, उसके बाद उन्होंने गांड मारनी शुरू की और दे दनादन पेलते रहे.

हर लड़की या औरत का एक सेन्सिटिव पॉइंट होता है, वैसे ही सुमन का पॉइंट उसकी गांड का छेद था.

क्या तू ऐसे ही अपनी बीवी को भी मसलता है? तो उसे रोज़ जन्नत नसीब होती होगी? अरे मेरा सीना हर किसी को दिखाने के लिए थोड़े ना है. फिर हम लोग तैयार हुए, हमने अपने नंबर एक्सचेंज किए और बाईक से उसके घर के लिए निकल पड़े.

उस की सहेली पायल घर आई और उस के बारे में पूछने लगी।जब मैंने उसे उस के जाने के बारे में बताया और उस को कहा- अगर तुम चाहो. मैंने उससे ‘हाँ’ कह दिया- पर कोई प्राब्लम तो नहीं होगी, किसी को पता तो नहीं चलेगा?उसने कहा- डोंट वरी बेबी. करीब 2 मिनट के बाद चाचाजी ने मेरे होंठों से होंठ मिलाए और हमने अपनी जीभें लड़ा का लम्बा किस किया.

हॉल में टीवी चल रहा था और किसी म्यूजिक चैनल पर बॉलीवुड के गाने बज रहे थे. मैंने भी देखा कि मम्मी की चूत पर आज एक भी बाल नहीं था, एकदम सफाचट चूत थी. मैं जब दूध पी रहा था तो उसने मेरे निक्कर के ऊपर से लंड से खेलना शुरू कर दिया.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए मैं धीरे धीरे स्कूटर चला रहा था, मेरी साली ममता पीछे काफी सतर्क हो कर बैठी थी. लंड अन्दर जाते ही मैंने अपने पैरों से शिशिर की गर्दन कस ली और उसके पूरे लंड को खाने के लिए कमर को उछालने लगी.

सेक्सी पिक्चर जानवरों की सेक्सी पिक्चर

रूपा ने पप्पू की यह बात मानी और कुछ ही दिनों में पप्पू को अपने घर में मुँह बोला भाई बना के ले आई. झट से एक लंड मेरे मुँह में आ घुसा, तभी किसी ने अपने लंड से भरभरा कर पानी छोड़ा जिसने मेरा सारा चेहरा गीला कर दिया। दो लंड ने मेरी चुत और गांड में पनाह ली और एक बंदा जिसके लंड को कोई जगह नहीं मिली उसने तो हद कर दी. और फेंक दिया बिस्तर पर!वो सीधी लेटी थी… उस के गोरे गोरे चिकने पैर दिखने लगे थे मुझे.

आंटी का बदना गोरा था, गदराया हुआ था, उनकी जांघें मोटी मोटी थी, चूचियां बड़ी बड़ी थी, पेट थोड़ा सा निकला हुआ था, चूतड़ भी पीछे की ओर उठे हुए थे. दीदी ने जीभ का स्पर्श चुत पर पाया तो और वे टांगें फैला कर चुत चुसाई का मजा लेने लगीं. सेक्सी मॉडल फोटोदोनों चुची को जम कर चूसने के बाद मैंने कविता को फिर होंठों से चूसना शुरू किया और फिर धीरे धीरे नीचे सरकते हुए नाभि तक जीभ से चाटा, वो तो इतनी गर्म हो गयी कि वो बार बार अपने होंठों को अपनी जीभ से चाट रही थी, कभी वो तकिये को अपनी मुट्ठी में कस के पकड़ती, तो कभी उफ्फ फफ्फ़ उफ फफ्फ़ आह… आआआ आआहह की आवाज़ करती.

सुमन ने नाइटी पहनी हुई थी और खाना तैयार कर रही थी और पापा जी तो वही अपनी लुंगी में मस्त थे.

उस आदमी की बात से रूपा समझ गई कि ये भीड़ का पूरा फायदा लेने वाला है और अब वो पीछे हटने वाला नहीं. मगर वो ये भूल गई कि सबके साथ बरखा की पहली मुलाकात है, इसको अड्जस्ट होने में थोड़ा तो टाइम लगेगा ही.

उधर बरखा को संजय ने गोद में उठा लिया और वहीं ज़मीन पे पड़े बिस्तर पर लेटा दिया, उसके बाद वो उसके चूचे को चूसने लगा. क्या ऐसी फैमिली हो सकती है जहाँ शौहर अपनी बीवी को किसी दूसरे के सामने परोसता है. मैं बोला- स्टाफ में वॉड ब्वॉय तो हैं, कोई जरूरत होगी तो आप उससे बोल देना, वो मुझे बुला लेगा.

लेकिन अब जबसेक्स की ज़रूरतमुझे है तो कोई चुत, कोई मौसी नहीं मिल रही है.

समझ रहे हो ना आप, तो बस वैसे ही गुलशन जी की अंतरात्मा भी बाहर आकर उनसे बात कर रही है. मैं जल्दी से बाथरूम में गई, साड़ी उठाई, पैन्टी उतारी और चूत पर हाथ रखते ही मेरी उंगली चूत के अन्दर जा घुसी और चूत को शीशे में देखकर खूब रगड़ा. लंच के बाद दोनों बैठे हुए बात कर रहे थे तो गुलशन जी ने सुमन के मम्मों को पकड़ लिया और सहलाने लगे.

चोदने का चित्रमेरे प्यारे साथियो, आप मुझे मेरी इस हिन्दी सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं. कोई दो मिनट बाद ही बहूरानी मेरे ऊपर से उतर गई- पापा जी, मेरे बस का नहीं है ऐसे.

सेक्सी पिक्चर फुल एचडी में हिंदी

लेकिन अब भोला भी अपनी कमर को आगे पीछे करने लगा और कुछ ही देर में अपनी स्पीड बढ़ा कर पेलने लगा. अब जो होना था वही हुआ… लंड महाराज अकड़ने लगे और धीरे धीरे अपने विशाल रूप में आ गए. बस फिर क्या नीतू वहां से चली गई और गोपाल खड़ा लंड लिए वहीं पड़ा रहा.

मैं भी उनकी मनोदशा के अनुकूल सेक्सी बातें करने लगा, जिसने उनकी दिलचस्पी को और बढ़ा दिया. अपने कमरे को फूल से सजाया, बिस्तर पे नई सफेद चादर बिछाई, उस पर गुलाब की पत्तियां बिखेर दीं और सुमन के लिए खास लाल लहंगा चोली लेकर आए. फिर उन्होने एक लंबा बैंगन निकाला और अपने मस्तायी चूत में घुसाने लगी.

ममता ने इशारे से चुप रहने के लिए कहा, फिर पैरों की तरफ इशारा करके आवाज नहीं निकालने की सलाह दी. करीब 1 घंटा रुकने के बाद हम निकल ही रहे थे कि चाचाजी ने इरफान से कार चलाने को कहा और चाची से पूछा कि तुम पीछे आ रही हो कि यहीं बैठोगी. मेरे ससुर जी ने मम्मी को लिटा दिया और उनके ऊपर चढ़ कर उनके ब्लाउज के बटन खोलने लगे.

आप वहां कुछ ना कहना ओके!मोना- अच्छा ठीक है नहीं बोलूँगी, अब चल नहा ले जल्दी से. उसने मेरा लंड पकड़ के अपने मुँह में ले लिया और मोअन करते हुए उसे चूसने लगी.

फिर वो थोड़ी देर रुका और धीमे धीमे धक्के लगाना शुरू किया और 5 मिनट बाद उसके धक्कों ने शताब्दी की तरह स्पीड पकड़ ली और वो मुझे तेज़ी से चोदने लगा।करीब 10 मिनट बाद फिर से मेरा बदन ऐंठने लगा और मैं फिर से झड़ गई लेकिन वो फिर भी मुझे लगातार पेलता रहा.

उसके बाद तो वो लड़का जैसे पागल हो गया, वो मुझे चूमना और चोदना चाहता था लेकिन मैंने उससे कुछ दिन तड़पाया। उसके बाद मैं उसके घर आ जाती तो अजय मुझे किस करना चाहता पर मैंने उसे भाव नहीं दिया. उल्टी आने पर क्या करेंमैं पेशाब उसके मुँह में छोड़ने लगा और समीर उस पेशाब को मुंह में लेता गया मगर उसने पिया नहीं. लड़कियों की नंगी फोटो दिखाइएरात एक बजे बेबी के रोने से मेरी नींद खुल गई, बेबी रो रही थी और आंटी सो रही थीं. इधर कोमल भाभी की भी साड़ी खुल कर नीचे पड़ी थी, उनके ब्लाऊज के सारे बटन टूट चुके थे और पीछे वाला आदमी खड़े खड़े उनकी ब्रा ऊपर कर उनकी चूचियों को बेरहमी से मसल रहा था.

संजय- क्या बात है आज पहली बार तेरे मुँह से चुदाई के बजाए पढ़ाई शब्द सुन रहा हूँ.

आह क्या मस्त चूचे थे, एकदम तने हुए ऐसे लग रहे थे जैसे उनके पति ने कभी चूचियां मसली ही न हों. मेरी पिछली कहानीजीजू ने आधी रात में छत पर चोदामें अपने पढ़ा कि मेरे पड़ोस में मेरी मुंह बोली बहन है, उसके पति मेरे जीजू हुए, मुझे जीजू से चुदाई करवाने में मजा आता है, एक रात बारिश हो रही थी और जीजू ने मुझे छत पर बुला कर चोदा. अब मेरे मन में एक ही गाना बज रहा था, फिल्म बाजीराव मस्तानी के ‘आयत’ गीत का पैरोडी गीत ‘तेरा दूध पी लिया है, शरबत की तरह.

कुछ देर बाद मैंने उसे टेबल के सहारे झुका दिया और उसकी चूत चोदने लगा. उसकी गांड चुदाई के बाद भाभी ने मुझे जोर से पकड़ लिया और पागलों की तरह चूमने लगी और प्यार करने लगी. मैंने अपना अगूँठा उसकी गांड में डाल दिया… तभी एकदम से उसके शरीर में कंपकंपी सी उठी और वो झड़ गई.

नेपाली लड़की सेक्सी

आप बताओ न।तो उसने बोला- तुम्हारा वो पेनिस बड़ा टाइट है।मैंने बोला- यार हिन्दी में क्या कहते हैं उसे?वो बोली- ओ के. फिर उन्होंने मुझे छोड़ा और कुछ खाने को दिया और एक ग्लास जूस भी दिया. मनोज का लौड़ा भी अब जवाब दे चुका था और फिर कुछ ही देर के बाद उसने अपना लंड नेहा की चूत से बाहर निकाल लिया और उसने सीधी पिचकारी नेहा के मम्मों पर मार दी.

बरात उसके घर तक जाने तक मैं उधर रुका, उसके बाद मुझसे वहाँ रुका नहीं गया और मैं अपने घर आ गया.

एक तरफ सीढ़िय़ाँ ऊपर की तरफ जा रही थीं और दूसरी तरफ एक रसोई बनी हुई थी.

थोड़ी देर बाद जब हम लोगों में जान वापस आई तो मैं आयशा को किस करने लगा और मेरा एक हाथ उसकी पीठ पे और दूसरा हाथ उसके चूतड़ों पे रेंगने लगे. तुम्हारे साथ तो कोई रंडी भी नहीं सोएगी…सागर बोला- साली तू भी तो मेरी रंडी ही है ना. करिश्मा सेक्स वीडियोफिर मैं एकदम से खुश हो गया कि आज मुझे चूचियों से सीधे दूध पीने को मिलेगा और दूसरी बात कि आयशा शादीशुदा है तो फिर कंडोम की भी जरूरत नहीं, क्योंकि मैंने आज तक अपनी गर्ल फ्रेंड्स को कंडोम के साथ ही चोदा था, हाँ पर उनकी गांड मैं बिना कंडोम के ही मारता था.

अब फ़ुर्सत से तुझे चोदूँगा रानी, तेरी जैसी औरत को मस्ती से चोदना चाहिये… तब पूरा मजा मिलेगा. उस दिन तो तो मैं डिनर के बाद वापस लखनऊ आ गया लेकिन अब अपने लंड को नियंत्रण में रखना मेरे लिए संभव में नहीं था लिहाजा मैंने लखनऊ की अपनी सहेली पर जाते ही चढ़ बैठा और भरपूर ठुकाई की. फिर बड़ी मुश्किल से एक क्लीनिक मिला जो ये बच्चे गिराने का काम करता था.

काफ़ी देर तक ऐसा होने के बाद मेरे साथ जो हुआ, मैं कभी सोच भी नहीं सकता था. मेरे पति ने मेरे मम्मे बहुत मसले हैं, शादी से पहले ही मसलता था, जब हम मिलते थे, अब मेरे मम्मों के साइज़ से तो अंदाज़ लगा कि मुझे वो कितना मसलता था.

कुछ देर खड़े खड़े स्मूच करने के बाद मैंने शिवानी से पूछा- कुछ अपने बारे में बताओ, तुम आज यहाँ क्या सोच कर आई थी?शिवानी मेरी बाँहों में खड़ी खड़ी बोली- वैशाली से आपकी बहुत तारीफ़ सुनी थी, इसलिए मिलना चाहती थी, मैंने सोचा था कि अगर ठीक लगा तो तुमसे दोस्ती कर लूंगी.

फ्लॉरा- यार तेरे पापा रात के गए अभी तक नहीं आए, कहीं कोई गड़बड़ तो नहीं ना?सुमन- अरे नहीं नहीं, वो अक्सर ऐसे काम से जाते रहते हैं… आ जाएँगे. जैसे ही बरखा संजय के विशाल लंड पे बैठी, संजय का पूरा लंड उसकी चुत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया. मेरी यह आप बीती आज से करीब दो साल पहले की है, जब मैं ग्रेजुएशन कर रहा था.

आटी सेकसी पिचकारी ने पूरी पानी मेरी गांड के अंदर उड़ेल दिया, मैं ऐसा महसूस कर रही थी कि जैसे गांड के अंदर सैलाब आ गया हो. मेरा सब्र टूट रहा था कि तभी पीछ से मुझे सुनाई दिया- अनुराधा, जाकर लड़की वालों को लंच के लिए बुला ला.

मैंने अपनी नजरें घुमा कर देखा तो सब तरफ शांति थी, कोई भी दिख नहीं रहा था. फिर वो मेरे ऊपर धम्म से गिर पड़ा, उस समय हम दोनों की साँसें ऐसे चल रही थी जैसे कि कोई इंजिन चल रहा हो. मुझे पता था कि जीजू मुझे चोदना चाहते हैं क्योंकि मैं जब भी बाथरूम में नहाती थी और बाथरूम से बाहर आती थी, तो जीजू बाथरूम में जाकर मेरी ब्रा और पेंटी में मुठ मारते थे और मैं ये बात जानती थी.

बेबी पिक्स

” मैंने कह दिया।उसके बाद जो हुआ उसने मेरे मन में उसके आंटी के सम्मान की छवि को खत्म कर दिया। वो मादरचोद रंडी साली कुछ और चाहती थी। उसने अपनी चूत मेरे मुँह पर लगा दी. मेरा लंड छूटने वाला था तो मैंने अपना सारा माल माही के मुँह में ही छोड़ दिया और वो पूरा माल पी गई. मैंने कहा- शर्माओ मत जान, ये तुम्हारा ही है, देखो इधर तुम्हें बुला रहा है.

टीना- अब पार्टी का मज़ा आ रहा है, जब तक नशा ना चढ़े, कुछ मज़ा ही नहीं आता. मामाजी की तीन शिफ्ट में ड्यूटी लगती रही थी और जब भी नाइट शिफ्ट लगती, तो हम तीनों की लॉटरी हफ्ते भर के लिए निकल पड़ती थी.

मेरी जिस सहेली ने पार्टी रखी थी, उसे आवाज़ देने लगी लेकिन पार्टी में म्यूज़िक तेज आवाज में चलने के कारण कोई किसी की नहीं सुन रहा था, सभी अपने अपने आप में मगन थे, मतलब सभी लड़कियाँ अपने अपने बॉयफ्रेंड की बाँहों में बाँहें डालकर म्यूज़िक की धुन पर थिरक रही थीं.

वो कराहने लगी और मुझसे छूटने की गुहार करने लगी, पर मुझ पर हवस का नशा चढ़ चुका था. इधर उस्मान अपनी गांड उछाल उछाल कर माया को चोद रहा था, लेकिन वो जानता था कि उसे क्या करना है. आप कोई भी हो, मेरे लिए आप सिर्फ़ मेरी क्लाइंट हैं और मैं अपनी क्लाइंट की प्राईवेसी का पूरा ख्याल रखता हूँ.

उनको पता लग गया कि तुम मान गए हो, इसी लिए वो आज सुबह सुबह आ गए और कुछ जरूरी चीजें बता कर गए हैं. मैंने भी उसे अपने जिस्म से अलग नहीं होने दिया और उसके जिस्म की मदहोश खुशबू में डूब गया. दोस्तो, मैं माया फिर से एक नई और रियल सेक्स कहानी लेकर आपकी समक्ष हाजिर हूं.

मामी मेरी बुर में अपनी पूरी जीभ घुसा कर एक एक बूंद को चाट गईं, बोलीं- कुवांरी बुर की महक ही गजब की होती है.

सेक्सी बीएफ हिंदी में दीजिए: गर्म रस जब गुलशन जी के लंड से टकराया तो उन्होंने स्पीड और बढ़ा दी और सुमन को हावड़ा एक्सप्रेस की स्पीड से चोदने लगे. बुआ के लड़के दीपक(22) और दो बहनें रीनामुनी(20) एवं रंजुमुनी(18) के साथ गांव सैर सपाटे में खूब मजा आता है.

ये बोलकर वो मेरे गले लग गई और कान में बोली- आप कुछ नहीं बोलोगे?मेरे अन्दर एकदम से करंट सा दौड़ गया, मैंने उसे कस कर हग किया और ‘आई लव यू टू मेरी जान. मैंने उठ कर दरवाज़ा बंद कर दिया और उसके पास आकर बैठ गया और उससे कहा- यहाँ देखो. अब मामी भी उत्तेजित होने लगीं और अचानक उन्होंने उठ कर अपनी लहंगा एवं चोली निकाल दी और पूरी नंगी हो गईं.

फिर शाम को जो दर्जी मेरा साइज़ ले गया था, वो आया और उसने दीदी को एक शेरवानी दी.

फ्लॉरा- वाउ यार… काश अभी वो आ जाएं तो मुझे उनके बड़े लंड के दीदार हो जाएं. पप्पू ने यह भी सोचा कि यह भी उसकी माँ जैसी ही गर्म और नमकीन होगी बिस्तर में. उस दिन तो तो मैं डिनर के बाद वापस लखनऊ आ गया लेकिन अब अपने लंड को नियंत्रण में रखना मेरे लिए संभव में नहीं था लिहाजा मैंने लखनऊ की अपनी सहेली पर जाते ही चढ़ बैठा और भरपूर ठुकाई की.